‘नेशनल वायस’ के पत्रकार से भिड़े दरोगा को एडिटर इन चीफ ब्रजेश मिश्र ने सिखाया तगड़ा सबक

अपने पत्रकारों के लिए हमेशा ढाल की तरह अड़ने-लड़ने वाले नेशनल वायस चैनल के एडिटर इन चीफ ब्रजेश मिश्र ने एक ताजा मामले में अपने पत्रकार से बदतमीजी व मारपीट करने वाले दरोगा को तगड़ा सबक सिखाया है. दरोगा को न सिर्फ लाइन हाजिर कराया बल्कि सस्पेंड भी करा दिया. दरोगा के खिलाफ विभागीय जांच अलग से बैठा दी गई है. घटना मऊ जिले की है.

‘नेशनल वायस’ चैनल के एडिटर इन चीफ ब्रजेश मिश्र जख्मी, मुलायम समेत कई नेता पहुंचे हालचाल पूछने

नेशनल वायस चैनल के एडिटर इन चीफ ब्रजेश मिश्र पिछले दिनों एक दुर्घटना में घायल हो गए. उनके दाहिने हाथ की कलाई में चोट आई है. हाथ में प्लास्टर बंधा है. कुछ दिन स्वास्थ्य लाभ के बाद अब फिर से वे आफिस जाने लगे हैं और चैनल का कामकाज देखने लग गए हैं. 

तहसील स्तर के एक टीवी पत्रकार ने बृजेश मिश्रा को दिल से धन्यवाद कहा, पढ़िए पूरा पत्र

हम पत्रकारों और पत्रकारिता जगत के साथियों के साथ खड़े बृजेश मिश्रा जी का दिल से आभार….

साथियों

मैं बेचन रजक, आजमगढ़ जिले के मेहनगर तहसील का पत्रकार हूं. स्थानीय स्तर पर कई सालों से कई समाचार पत्रों में संवाददाता के रूप में कार्य करता रहा. साथ में ई0टीवी0 के इन्फॉर्मर के बाद नेशनल वॉइस चैनल के इन्फॉर्मर के रूप में कार्य करता हूं. एक सप्ताह पहले हमारे इलाके के एक नक़ल माफिया द्वारा सामूहिक नक़ल कराए जाने की एक वीडियो क्लिप वहां की छात्राओं ने भेजा। नकल माफिया के स्कूल का नाम ‘नान्हू यादव किसान बालिका महाविद्यालय’ है.

…तो इसलिए लोग ब्रजेश मिश्रा को ‘ब्रेकिंग मिश्रा’ कहते हैं!

यूपी में सर्वाधिक खबरें ब्रेक करने का अगर किसी को श्रेय जाता है तो वो हैं ब्रजेश मिश्रा. ईटीवी यूपी को अपने कुशल नेतृत्व और धारदार खबरों के जरिए नंबर वन न्यूज चैनल बनाने वाले ब्रजेश इन दिनों ‘नेशनल वायस’ चैनल के एडिटर इन चीफ हैं. ‘नेशनल वायस’ चैनल को ब्रजेश मिश्र न छू क्या लिया, चैनल के अचानक भाग्य फिर गए. यह अनजान-सा चैनल देखते ही देखते सुर्खियों में आ गया. खबरों के मामले में सबसे ज्यादा यूपी की रीजनल ब्रेकिंग खबरें इसी चैनल पर दिखने लगीं.