BJP is expected to lose to Congress in Madhya Pradesh, Rajasthan and Chhattisgarh

ABP News-C Voter Opinion Poll for Madhya Pradesh, Rajasthan and Chhattisgarh Madhya Pradesh Incumbent Chief Minister of Madhya Pradesh Shivraj Singh Chauhan is set to face a humiliating defeat against Congress in upcoming elections according to the survey conducted by ABP News and C Voter. कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

भड़ास सर्वे : आपका पसंदीदा नेशनल हिंदी न्यूज चैनल कौन है?

Yashwant Singh : आपका पसंदीदा नेशनल हिंदी न्यूज चैनल कैटगरी में अभी जो शुरुआती सर्वे के नतीजे आए हैं, 200 लोगों के वोट करने के बाद, उसके टाप 4 परिणाम यूं हैं.

1- एनडीटीवी

2- जी न्यूज

3- कोई नहीं

4- आजतक

ABP न्यूज ने ‘तर्क’ से जिताया मोदी को

पाठकों की राय को दरकिनार कर ABP न्यूज ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को साल 2014 का व्यक्ति विशेष बना डाला। ABP न्यूज ने अपनी वेबसाइट ABP live पर साल 2014 के व्यक्ति विशेष का पोल करवाया। इस पोल में दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बुरी तरह पछाड़ दिया। मगर, ABP न्यूज ने निम्न तर्क देते हुए अरविंद केजरीवाल को हरा दिया।

विश्व मीडिया के 90 प्रतिशत भाग पर 6 यहूदी कंपनियो का नियंत्रण

पिछले दिनों ‘विश्व मीडिया पर नियंत्रण किसका’ ‘शीर्षक नामक एक सर्वेक्षण सामने आया था। जो दुनिया भर में मीडिया पर प्रत्यक्ष नियंत्रण करने वाली कंपनियों और उनके मालिकों के संबंध में जानकारी दी गई थी। रिपोर्ट में पेश किए गए आंकड़े चौंकाने वाले हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि विश्व मीडिया के 90 प्रतिशत भाग पर इस समय यहूदीयो का नियंत्रण हैं जो समाचार एजेंसी, समाचार पत्र, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, अंतरराष्ट्रीय पत्रिकाओं के मालेकाना अधिकार यहूदियों के पास है और यह संस्था दुनिया भर को सामग्री प्रदान कराती हैं।

बुढ़ापे में पैसे के लिए पगलाया अरुण पुरी अब ‘पत्रकारीय वेश्यावृत्ति’ पर उतर आया है…

Yashwant Singh : फेसबुक पर लिखने वालों, ब्लाग लिखने वालों, भड़ास जैसा पोर्टल चलाने वालों को अक्सर पत्रकारिता और तमीज की दुहाई देने वाले बड़े-बड़े लेकिन परम चिरकुट पत्रकार इस मुद्दे पर पक्का कुछ न बोलेंगे क्योंकि मामला कथित बड़े मीडिया समूह इंडिया टुडे से जुड़ा है. बुढ़ापे में पैसे के लिए पगलाए अरुण पुरी क्या यह बता सकेगा कि वह इस फर्जी सर्वे के लिए बीजेपी या किसी अन्य दल या कार्पोरेट से कितने रुपये हासिल किए हैं… इंडिया टुडे वाले तो सर्वे कराने वाली साइट के पेजेज को खुलेआम अपने एफबी और ट्विटर पेजों पर शेयर कर रहे हैं. इससे पता चलता है कि मामला सच है और इंडिया टुडे वालों ने केजरीवाल को हराने के लिए किसी बड़े धनपशु से अच्छे खासे पैसे हासिल किए हैं.

इंडिया टुडे वालों के फर्जी सर्वे की खुली पोल, केजरीवाल ने पूछा- क्या यही है पत्रकारिता?

इंडिया टुडे समूह के फर्जी सर्वे और घटिया पत्रकारिता से अरविंद केजरीवाल नाराज हैं. अरविंद केजरीवाल ने अपने ट्विटर अकाउंट पर ट्टवीट करके लोगों से पूछा है कि क्या इसे ही पत्रकारिता कहते हैं? साथ ही केजरीवाल ने एक वीडियो लिंक दिया है जिसमें इंडिया टुडे के फर्जी सर्वे की असलियत बताई गई है. अरविंद केजरीवाल के पेज पर शेयर किए गए लिंक से यू-ट्यूब पेज पर जाने पर एक वीडियो मिलता है. इस वीडियो में दिखाया गया है ‌कि देश का नामी इंडिया टुडे ग्रुप द्वारा न्यूजफिल्क्स डाट काम नामक एक वेबसाइट के जरिए एक सर्वे कराया रहा है जिसमें लोगों से पूछा गया है कि वह केजरीवाल को कितना नापसंद करते हैं और ये कि क्या आप केजरीवाल को दोबारा मौका देंगे?