चर्चित मैग्जीन ‘फ्रंटलाइन’ ने कवर स्टोरी में जताई आशंका- देश में फासिज्म की छाया!

एन. राम के संपादकत्व वाले ‘द हिंदू’ अखबार घराने की चर्चित अंग्रेजी मैग्जीन ‘फ्रंटलाइन’ ने अपने लैटेस्ट कवर स्टोरी में देश में फासिज्म की आशंका जताई है. कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

‘द हिंदू’ ने मोदी सरकार को नंगा करना जारी रखा, पढ़िए आज का खुलासा

किसके लिए रफाल डील में डीलर और कमीशनखोर पर मेहरबानी की गई… आज के हिन्दू में रफाल डील की फाइल से दो और पन्ने बाहर आ गए हैं। इस बार पूरा पन्ना छपा है और जो बातें हैं वो काफी भयंकर हैं। द हिन्दू की रिपोर्ट को हिन्दी में भी समझा जा सकता है। सरकार …

द हिंदू ने एक ज़िम्मेदार अख़बार की तरह कल की ग़लतियों को आज सुधार दिया

Manoj Malayanil : द हिन्दू अख़बार ने एक ज़िम्मेवार अख़बार की तरह कल की अपनी ग़लतियों में आज सुधार किया है। एन राम ने आज पूरी नोटिंगस छापी है। कल की रिपोर्ट में प्रधानमंत्री की निगरानी के मुद्दे पर रक्षा सचिव के डिसेंट पर रक्षा मंत्री ने जो जवाब दिया था उसे नहीं जगह दी …

डरी-सहमी और दरबारी पत्रकारिता को शर्मिंदगी से बचाने के लिए एन राम को शुक्रिया!

Nitin Thakur : एन राम ने मोदी सरकार के सामने वही स्थिति खड़ी कर दी है जो इंडिया टुडे ने शर्म अल शेख मामले में मनमोहन सरकार की बना दी थी। डरी-सहमी और दरबारी पत्रकारिता को शर्मिंदगी से बचाने के लिए एन राम का शुक्रिया किया जाना चाहिए। उनकी सलाह वर्तमान रक्षामंत्री को मान लेनी …

क्या ‘द हिंदू’ ने वाकई पुष्टि कर दी कि राफ़ेल डील में चौकीदार ही चोर है? पढ़ें कुछ वरिष्ठ पत्रकारों की टिप्पणियां

Yusuf Kirmani : द हिंदू अखबार के संपादक एन. राम को मेरा सैल्यूट जिन्होंने आज पुष्टि कर दी की राफ़ेल डील में चौकीदार ही चोर है… हिंदू अखबार ने आज पहले पन्ने पर दस्तावेजों के साथ जो रिपोर्ट छापी है, उसमें बताया गया है कि फ्रांस से अनिल अंबानी के लिए राफ़ेल डील सीधे पीएमओ …

राफेल पर ‘द हिन्दू’ के खुलासे से संसद से सड़क तक मचा हंगामा

रक्षा मंत्रालय के विरोध के बावजूद पीएमओ ने किया हस्तक्षेप… कांग्रेस बोली- वाड्रा व चिदंबरम की जांच करें पर राफेल पर देश को जवाब दें कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

‘द हिंदू’ के संपादक-मालिक एन. राम ने राफेल पर जैसा लिखा, वह हिम्मत कितने मालिकों-संपादकों में है?

Navneet Mishra : राफेल पर आज ‘द हिंदू’ की जिस रिपोर्ट पर घमासान मचा है, वह किसी सामान्य रिपोर्टर ने नहीं बल्कि उस अखबार के 73 वर्षीय चेयरमैन एन राम ने खुद लिखी है. रिपोर्ट के तथ्य और कथ्य पर बहस अपनी जगह , मगर यह बात दिल खुश कर गई कि जिस अखबार के …

इस सदाशयता के लिए ‘द हिंदू’ अखबार की सब कर रहे तारीफ

‘द हिंदू’ अखबार की तारीफ़ बनती है. चेन्नई में लगातार ड्यूटी कर रहे पुलिसकर्मियों को खाने को कुछ नहीं मिला था क्योंकि सब दुकानें बंद थी. तब ‘द हिंदू’ ने अपनी कैंटीन में खाना खिलाया उनको.

द हिंदू अखबार का खुलासा, मोदी का बड़बोलापन और शांत मनमोहन का हासिल…

Sheetal P Singh : Surgical strike पर चली बहस ने सेना के स्वर्णिम इतिहास के तमाम अब तक ज़मींदोज़ रहे घटनाक्रम सतह पर ला दिये । नित नई नई सूचनायें / कथायें प्रकाश में आ रही हैं । द हिन्दू ने ऐसी ही २०११ की एक शौर्यगाथा छापी है । प्रशान्त टंडन की पोस्ट पढ़ें…

द हिंदू के संपादक पद से मालिनी पार्थसारिथी का इस्तीफा, सुरेश नंबठ को अंतरिम प्रभार

इस प्रकरण के बारे में द हिंदू अखबार में छपी खबर इस प्रकार है>

Resignation of Editor & interim arrangements in place

Malini Parthasarathy has resigned as Editor of The Hindu with immediate effect. Suresh Nambath, National Editor, The Hindu, has been entrusted with the responsibility of managing the news and editorial operations of The Hindu until a new Editor is appointed.

अनिल अंबानी ने TOI पर ठोका 5 हजार करोड़ की मानहानि का मुकदमा

अनिल अंबानी ने टाइम्स ऑफ इंडिया पर पाँच हज़ार करोड़ की मानहानि का दावा ठोका है। भारतीय मीडिया के इतिहास में अब तक किसी मीडिया ग्रुप पर लगाया गया मानहानि का ये सबसे बड़ा दावा है। सीएजी यानी कैग की ड्राफ्ट रिपोर्ट के आधार टाइम्स ऑफ इंडिया ने 18 अगस्त को अपने अखबार में कई लेख प्रकाशित किए थे। जिसमें अंबानी की बिजली कंपनी बीएसईस के खातों में कई तरह की गड़बड़ियाँ पाए जाने की बात कही गई थी।

द हिंदू का मुंबई एडिशन होगा लांच, सचिन कालबाग बनाए गए स्थानीय संपादक

द हिंदू अब मुंबई से भी प्रकाशित होगा. चेन्नई बेस्ड यह चर्चित अंग्रेजी अखबार दिल्ली समेत कई एडिशन्स निकालता है लेकिन मुंबई अभी इससे दूर ही रहा. लेकिन इस दूरी को खत्म करने का फैसला द हिंदू प्रबंधन ने किया है. मुंबई के स्थानीय संपादक के बतौर सचिन कालबाग की तैनाती हो गई है. सचिन इसके पहले मुंबई के टैबलायड मिडडे के संपादक हुआ करते थे. जागरण प्रबंधन अब मिडडे के लिए नए संपादक की तलाश कर रहा है. सचिन कालबाग मिडडे के साथ वर्ष 2011 से हैं. अगले महीने वह मिडडे से मुक्त होकर द हिंदू के हिस्से बन जाएंगे. फिलहाल वे नोटिस पीरियड पर चल रहे हैं.

धार्मिक जनगणना के डाटा पर टीओआई और द हिंदू के इन शीर्षकों को गौर से पढ़िए

See how two of India’s leading newspapers have today reported the same data (of the latest Census)

Nadim S. Akhter : इसे देखिए, पढ़िए और समझिए. देश के दो प्रतिष्ठित अखबारों निष्ठा. किसकी निष्ठा पत्रकारिता के साथ है और किसकी चमचई में घुली जा रही है, खबर की हेडिंग पढ़ के समझा जा सकता है. मैंने कल ही फेसबुक की अपनी पोस्ट में लिखा था कि अलग-अलग चम्पादक, माफ कीजिए सम्पादक धार्मिक जनगणना के इस डाटा का अपने अपने हिसाब से इंटरप्रिटेशन करेंगे. आज फेसबुक पर एक ही खबर के दो एंगल, बिलकुल जुदा एंगल तैरता हुआ देखा तो आपसे साझा कर रहा हूं.

‘The Hindu’ continues on the path of growth : N. Ram

N. Ram, Chairman, Kasturi &Sons Limited addressing at The Hindu Office & National Press Employees Union 58th Anniversary Function on Tuesday. From left, Rajiv C. Loachan, MD & CEO, Kasturi & Sons Limited , E. Gopal, President, Hindu Office National Press Employees Union and M. Kamalnathan, Union General Secretary are in the picture. Photo: R. RaguN. Ram, Chairman, Kasturi &Sons Limited addressing at The Hindu Office & National Press Employees Union 58th Anniversary Function on Tuesday. From left, Rajiv C. Loachan, MD & CEO, Kasturi & Sons Limited , E. Gopal, President, Hindu Office National Press Employees Union and M. Kamalnathan, Union General Secretary are in the picture. Photo: R. Ragu

“The Hindu enjoys credibility and goodwill of the people. We will continue along the path of growth,” said N. Ram, Chairman, Kasturi and Sons Limited (KSL). He was speaking at the 58 anniversary celebration of The Hindu Office and National Press Employees’ Union here on Tuesday. “We have to increase revenues in an ethical manner and reduce expenses without harming people,” said Mr. Ram

एन. राम को पुरस्कार, दिवंगत शिवम को पांच लाख की मदद, रिपोर्टर गौरव अरोड़ा पर हमला

तिरूवनंतपुरम से खबर है कि वरिष्ठ पत्रकार और द हिंदू अखबार के पूर्व एडिटर इन चीफ एन राम को पत्रकारिता क्षेत्र में बेहतरीन योगदान के लिए एन रामचंद्रन फाउंडेशन अवार्ड के लिए चुना गया है. नामी मलयाली पत्रकार एन रामचंद्रन की याद में पुरस्कार की शुरुआत की गयी है. इस साल उनका निधन हो गया था.  फाउंडेशन की विज्ञप्ति में बताया गया है कि पुरस्कार के तहत 50,000 रूपये एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाएगा. यहां पर 25 नवंबर को एक समारोह में राम को देश के पूर्व प्रधान न्यायाधीश एम एन वेंकटचलैया पुरस्कार देंगे.

द हिंदू अखबार के कर्मियों को इस साल दिवाली में बोनस नहीं मिलेगा

लाइव मिंट डाट काम में सुचि बंसल की एक स्टोरी छपी है. शीर्षक है ”No Diwali bonus for employees of The Hindu this year”  इसमें  विस्तार से बताया गया है कि किस तरह मजीठिया वेज बोर्ड के कारण द हिंदू अखबार को संचालित करने वाली कंपनी कस्तूरी एंड संस को 65 करोड़ रुपये का घाटा उठाना पड़ा है और इसी कारण वह इस दीवाली में बोनस दे पाने में असमर्थ है. कंपनी ने द हिंदू इंप्लाइज के लिए जारी एक नोट में विस्तार से बताया है कि वह बोनस दे पाने में क्यों असमर्थ है. लाइव मिंट डाट काम की पूरी रिपोर्ट नीचे प्रकाशित है…

अमेरिकी कोर्ट ने मोदी के खिलाफ सम्मन जारी किया यानि सिर मुड़ाते ही ओले…. !!!!

नरेंद्र मोदी अमेरिका गए हैं और जाने से पहले अमेरिका और ओबामा की जमकर तारीफ कर गए हैं. पर अमेरिका है कि मानता ही नहीं. अमेरिका ने नरेंद्र मोदी को वीजा के लिए तरसा दिया. आने का न्योता तभी दिया जब मोदी पीएम बन गए. अब जब मोदी अमेरिका पहुंच गए हैं तो खबर आ रही है कि एक अमेरिकी अदालत ने मोदी के खिलाफ सम्मन जारी कर दिया है. तो ये है भारत के प्रधानमंत्री की औकात.