एक ऐसी वेबसाइट जो कार से संबंधित सारे कनफ्यूजन दूर कर देती है!

CAR HP अमेरिकी मार्केट की उभरती हुई ऑनलाइन ऑटोमोबाइल और इस सेक्टर की सूचना देने वाली साइट है। यहां अपने ग्राहकों को नई-पुरानी कारों की बेहतरीन और गहराई से रिव्यू, रेटिंग, तुलनात्मक समीक्षा के साथ लोकल लिस्टिंग देख-पढ़ सकते हैं। यहां से आप आसानी से अपनी पसंद की कार का चयन कर सकते हैं। इतना …

Goibibo Car Service Fail : दो घंटे तक नहीं आई कार, अब दे रहे रिफंड का लॉलीपाप

Yashwant Singh : पिछले कुछ समय में तकनीक ने लोगों का जीवन काफी आसान किया है. ब्ला ब्ला के जरिए कार शेयरिंग, ओयो के जरिए होटल, ओला-उबेर के जरिए रेंट पर कार आदि के विकल्प शुरू हुए. इनके एप्प इंस्टाल करिए स्मार्टफोन में और हो जाइए शुरू. गोइबिबो नामक कंपनी ने जो होटल दिलाने के लिए काम करती है, पिछले दिनों रेंट पर कार की सर्विस शुरू की. मैंने पिछले दिनों कार बुक किया. तय समय से करीब दो घंटे तक कार नहीं आई.

अस्सी हजार रुपये में बिक गई यशवंत की अल्टो कार, अब हुए पूरी तरह पैदल

Yashwant Singh : अस्सी हजार रुपये में बिक गई मेरी दस साल पुरानी अल्टो कार. आजादी थोड़ी सी और बढ़ गई. घुमक्कड़ी में अब आएगा ज्यादा आनंद. दिल्ली का भड़ास आफिस बंद करना और अब कार बेचना… दोनों काम खुद ब खुद हो गए… लेकिन ये दोनों काम और इन दोनों के कम हो जाने के बाद खुद को ज्यादा मुक्त व उदात्त महसूस कर रहा हूं. अगर कार रखने की जगह न हो, एकल परिवार में कोई दूसरा कार चलाने वाला न हो और आफिस वाफिस जाने का कोई झंझट न हो तो कार असल में हाथी की माफिक हो जाया करती है. उस पर भी दिल्ली में केजरीलाल ने आड इवन करके बे-कार जीने के रास्ते जबरन चला दिया था. केजरी भाई साहब के उस प्रयोग से मुझे बड़ा फायदा ये हुआ कि लगातार बस मेट्रो आदि की यात्राएं करने से कार के प्रति मोह आस्था यथास्थितिवाद खत्म हो गया.

मारुति-सुज़ुकी वाले अक्षरधाम Nexa Showroom का नाम Unfair Deal ज़रूर कर लें

Om Thanvi : मारुति-सुज़ुकी जैसी नामी कंपनी, बड़ा हाइ-फाइ Nexa Showroom, डीलर का नाम – Fair Deal Cars; दिल्ली में अक्षरधाम मेट्रो स्टेशन के ठीक नीचे। अच्छा होता कि नाम रखते – Unfair Deal Cars! हुआ यह कि अक्तूबर 2015 में हमने उक्त शोरूम जाकर ग्यारह हजार रुपये दे एक बलेनो कार बेटे के लिए बुक करवाई। पर चंद रोज बाद और खरीदारों की राय जान बेटे को लगा कि आजमाई हुई श्कोडा ही बेहतर होगी।

जोड़ दी दो स्कार्पियो कार, तैयार किया चलता फिरता बीयर बार, अफसर भौचक, देखें तस्वीरें

मुंबई से सटे नवीमुंबई में आरटीओ के अधिकारियों ने गुजरात नंबर प्लेट की दो ऐसी अनोखी कारें बरामद की हैं जिसमें से एक कार में पूरा बीयर बार बनाया गया है। इस कार की लंबाई 21 फीट है।  इसे दो स्कॉर्पियो को जोड़कर बनाया गया है। आरटीओ के अधिकारियों ने इस कार को पकड़ा तो उन्हें लगा कि ये लिमोजिन कार होगी, लेकिन पता चला कि स्कॉर्पियो कार को जोड़कर ये लुक दिया गया है। इस कार में बार के साथ साथ संगीत और टेलीविजन की व्यवस्था भी है।

तेज गति कार चलाकर फंसे अर्णब गोस्वामी! (देखें तस्वीरें)

टाइम्स नाऊ के बड़बोले एडिटर इन चीफ अर्णब गोस्वामी इन दिनों एक नए कारण से चर्चा में है. कुछ लोगों का आरोप है कि वे तेज गति से कार चला रहे थे. इसकी शिकायत पुलिस को पहुंची तो मुंबई की ट्रैफिक पुलिस ने तुरंत सक्रियता दिखाते हुए उनकी कार उठवा ली. अर्णब को जुर्माना भरने के बाद छोड़ा गया. वहीं, कुछ अन्य लोगों का कहना है कि कार कोई दूसरा शख्स तेज गति से चला रहा था, अरनब ने तो पुलिस को सूचना देकर इस कार को पकड़वाया. ये पूरा घटनाक्रम असल में इन दो तस्वीरों के कारण चर्चा में है जिसे किसे ने मौके पर क्लिक कर लिया.

दैनिक जागरण, हिसार के वरिष्ठ समाचार संपादक विनोद शील ने पीसी ज्वैलर्स के लकी ड्रॉ में कार जीती!

: पत्रकार को इनाम देकर कहीं उसका ईमान तो नहीं खरीदा जा रहा! : ये दीवाली का इनाम है या हरियाणा विधानसभा चुनाव का? यह सवाल है। इस सवाल का उठना भी लाजिमी है क्योंकि यह इनाम किसी आम आदमी को नहीं, किसी खास को मिला है। खास इसलिए कि पुरस्कार पाने वाले दैनिक जागरण, हिसार में बतौर वरिष्ठ समाचार संपादक कार्यरत हैं। नाम है विनोद शील। नोएडा से लेकर कानपुर तक में दैनिक जागरण की सेवा करते-करते हिसार आ गए हैं। इन्हीं के बारे में अभी-अभी खबर मिली है कि विनोद शील यानि दैनिक जागरण, हिसार के वरिष्ठ समाचार संपादक ने पीसी ज्वैलर्स के लकी ड्रॉ में कार जीती है।