हिमाचल प्रदेश के पत्रकार अजय पठानिया का उनके ही दोस्त ने किया मर्डर

अजय पठानिया

कुल्लू (हिमाचल प्रदेश) घाटी के कसोल के समीप जरी में पालमपुर के 30 वर्षीय पत्रकार अजय पठानिया का दोस्त ने ही मर्डर कर दिया. पेशे से इलेक्ट्रीशियन बताया जा रहा आरोपी सुभाष कौंडल उर्फ बंटू फरार है. इसकी तलाश नजदीक के जंगलों में की जा रही है. प्रारंभिक जांच में खुलासा हुआ है कि पालमपुर से अजय, सुभाष व रमेश घूमने के लिए मणिकर्ण आए हुए थे. इसी दौरान कसोल के नजदीक होटल में कमरा बुक किया गया.

सोशल मीडिया में उछले गैंगरेप कांड को पुलिस ने झूठा करार दिया

धर्मशाला (हिमाचल) में गत दिनों पहले हुए गैंगरेप की जांच में एसआईटी को कुछ भी नहीं मिला है। पुलिस ने घटना को झूठा करार दिया है। पुलिस का दावा है कि उसने शिकायतकर्ता तथा  कथित पीडि़ता दोनों को ढूंढ़ निकाला है। 

काले कानून से अरुणाचल के दिल में नफरत पैदा न करे मोदी सरकार

अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री के आवास के समक्ष कार से उतरा तो सामने एक सज्जन को खड़े देखा, जिन्होंने अपना जैकेट इस प्रकार पहन रखा था कि उसका एक छोर ऊँचा तथा दूसरा नीचा दिखाई दे रहा था। मेरे साथ खड़े एक पूर्व संसदीय सचिव ने उन्हें देखते ही नमस्कार किया तथा बोल पड़े-‘अरे आपका जैकेट तो ऊँचा-नीचा हो रखा है। उनकी बात सुनते ही वे झेंप गये और पुन: जैकेट के बटन खोलकर ठीक किया और उन्हें धन्यवाद देते हुए मुख्यमंत्री के आवास में प्रविष्ट हो गये। उनके जाते ही पूर्व संसदीय सचिव ने कहा-‘ये यहाँ के गृहमंत्री हैं। उनकी बात सुनते ही मैं अचरज में पड़ गया। एक राज्य के गृहमंत्री और इतने सीधे-सादे, इतनी सादगी, न कोई ताम-झाम, न कोई हो-हल्ला?

हिमाचल में मजीठिया मामले पर सक्रिय हुआ श्रम विभाग, अखबारों का असहयोग

वरिष्ठ पत्रकार रविंद्र अग्रवाल का कहना है कि हिमाचल प्रदेश में मजीठिया वेज बोर्ड लागू करने को लेकर श्रम विभाग हरकत में तो आया है, मगर अखबार प्रबंधन के भय और सहयोग न करने की आदत के चलते श्रम निरीक्षकों को वांछित जानकारी नहीं मिल पा रही है। राहत वाली खबर यह है कि जो श्रम निरीक्षक अखबारों के दफ्तरों की तरफ देखने से भी हिचकिचाते थे, वे आज वहां जाकर जानकारी मांगने को मजबूर हैं। 

हिमाचल स्टेट ब्यूरो को बचाने में जुटा अमर उजाला

अमर उजाला हिमाचल से एक और मजेदार खबर सुनने को मिल रही है। राजेश मंढोत्रा को स्टेट ब्यूरो के पद से हटाए जाने के बाद से खस्ताहाल चल रहे स्टेट ब्यूरो को बचाने के लिए ऐसे व्यक्ति को दोबारा शिमला लाने की जुगत की जा रही है, जो मंढोत्रा के बाद कुछ दिन तक ही यहां टिक पाया था।

हिमाचल में मजीठिया संघर्ष मंच ने सीएम को ज्ञापन सौंपा, कर्मचारियों से एकजुटता का आह्वान

धर्मशाला (हिमाचल) : प्रदेश में मजीठिया वेज बोर्ड की सिफारिशें लागू करने की लड़ाई तेज करने के लिए मजीठिया वेज बोर्ड क्रियान्वयन संघर्ष मंच का गठन किया गया है। रविंद्र अग्रवाल ने अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाली है। बाकी आंदोलनकारियों के नाम फिलहाल गोपनीय रखे गए हैं। मंच ने पूरे प्रदेश के मीडिया कर्मियों से एकजुट होने के आह्वान के साथ ही मुख्यमंत्री से वेज बोर्ड की सिफारिशें लागू करने की गुहार लगाई है। 

हिमाचल में दैनिक जागरण ने इस्तीफा मांगा तो राजेश्वर ठाकुर ने मजीठिया के लिए मुकदमा कर दिया

दैनिक जागरण हिमाचल से खबर है कि वरिष्ठ संवाददाता और बिलास पुर ब्यूरो प्रभारी राजेश्वर ठाकुर से इस्तीफा मांगा गया है. हालांकि अभी तक उन्होंने इस्तीफा नहीं दिया है और छुट्टी पर चले गए हैं. जागरण प्रबंधन ने इस  पर उनको स्थानांतरित किए बिना ही उनकी जगह धर्मशाला से विरेन को बिलासपुर भेज दिया है. सूत्रों के मुताबिक राजेश्वर ठाकुर ने भी दूसरी अखबार में जगह तलाश ली है, मगर वे जागरण को सस्ते में नहीं छोड़ना चाहते. पता चला है कि उन्होंने मजीठिया वेज बोर्ड के तहत बकाया राशि वसूलने के लिए हाईकोर्ट में केस कर दिया है. इस संबंध में जल्द सुनवाई शुरू होने की उम्मीद है.