आप बताइए, क्या मेरे दिमाग का स्क्रू ढीला है ?

मैंने कुछ सामाजिक मुद्दे ही तो उठाये हैं, जिसको व्यापक जनसमर्थन मिला है। क्या यह मेरा पागलपन है ? आप बताइए क्या मेरे दिमाग का स्क्रू ढीला है ? किसी ने यू ट्यूब पर विडियो पोस्ट किया है, जिसमें मेरा स्क्रू ढीला बताया है। इसमें तीन बाते हैं –

Rape Case : आईपीएस अमिताभ ठाकुर के पहुंचते ही सीओ ऑफिस से खिसके, पेशकार को पत्र रिसीव कराया

लखनऊ : आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने और उनकी पत्नी नूतन ठाकुर अपने खिलाफ दर्ज बलात्कार झूठे मामले को राजनीति से प्रेरित बताते हुए साक्ष्यों के साथ सीओ के दफ्तर पहुंचे तो सीओ चुपचाप खिसक लिए। आखिरकार उन्हें सीओ के पेशकार को अपना सफाई पत्र रिसीव कराना पड़ा। ठाकुर ने पत्र में तीन नंबरों की कॉल डिटेल से मुकदमा दर्ज कराने वाली महिला और मंत्री के परिचित, एक महिला आयोग की सदस्य समेत एक अन्य के बीच बातचीत का ब्योरा मिलने का दावा किया है। साथ ही उन्होंने इस मामले में पूर्व में पुलिस द्वारा दिए गए तथ्यों को भी हथियार के रूप में इस्तेमाल किया है।

मान्यताप्राप्त संवाददाता समिति का चुनाव टालने पर राजधानी के पत्रकारों का गुस्सा फूटा, शासन और सरकार को नोटिस देंगे

लखनऊ : सिर्फ एक साल के गठित उत्तर प्रदेश मान्यताप्राप्त संवाददाता समिति का चुनाव पिछले तीन सालों से मनमाना तरीके से संगठन के पदाधिकारियों द्वारा ही लगातार टाले से राजधानी के वरिष्ठ पत्रकारों में भारी रोष है। एनेक्सी मीडिया सेंटर में इस संबंध में हुई एक बैठक पत्रकारों ने तय किया कि इसके खिलाफ मुख्यमंत्री, राज्यपाल, प्रमुख सचिव सूचना, प्रमुख सचिव विधानसभा आदि को लिखित नोटिस देकर पूछा जाएगा कि क्या किसी कार्यकारिणी को स्वतः अपना कार्यकाल बढ़ाने का अधिकार है। यदि नहीं तो क्यों न कार्यकारिणी को निष्क्रिय मानते हुए उनके पदाधिकारियों को किसी भी सरकारी कांफ्रेस अथवा प्रोग्राम में अधिकृत तरीके से न बुलाया जाए। गौरतलब है कि हेमंत तिवारी समिति के प्रदेश अध्यक्ष एवं सिद्धार्थ कलहंस सचिव हैं।

   

बलात्‍कारी, उगाहबाज, ठग और धोखेबाज गिरोह से पत्रकार हेमन्‍त तिवारी की गलबहियां

लखनऊ: देहरादून की युवती के साथ बलात्‍कार और उगाही के आरोपी वरिष्‍ठ पत्रकार की पहुंच समझनी हो तो आइये। इस फोटो को निहारिये, और फिर आपको अपने आप ही पता चल जाएगा कि बलात्‍कार, ठगी, उगाही, धोखाधड़ी जैसे जघन्‍य अपराधों और अपराधियों की असल शरण-स्‍थली क्‍या और कहां है।

बाकी की तो छोड़िए, आईएएस वरूण ने बेटी को गोली मारी थी, गणेश ने उसकी बेटी परोसी थी!

लखनऊ: आप सरकारी अफसर-मुलाजिम हैं ना। फिर ठीक है। आइये, अब मैं ताल ठोंक कर दावा करता हूं कि आप में से काफी लोग अपनी बेटी-बहन के प्रति या तो इतना अत्‍याचार करते हैं, कि उनकी नृशंस हत्‍या तक कर सकते हैं, उसके साथ अमानवीयता की पराकाष्‍ठा तक पहुंच जाते हैं। और तो हमारे इसी समुदाय के कुछ लोग तो अपनी भूख शान्‍त करने के लिए उस लड़की के पास पहुंच जाते हैं जो खुद अपनी ही बेटी होती है। उनमें से कुछ लोग उस वक्‍त क्‍या करते होंगे, यह तो मैं नहीं बता सकता, लेकिन कुछ लोगों के बारे में तो मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि वे अपनी ऐसी कमीनगी का ठीकरा अपनी ही ऐसी बहन-बेटी की हत्‍या के तौर पर फोड़ते हैं। मकसद यह कि हम पाक-साफ हैं और हमेशा रहेंगे।

आईएएस सूर्य प्रताप को पता ही नहीं, हिंदुस्तान लखनऊ में छप गई चार्जशीट की खबर

सुनो सर जी, मार डालो पर.. डराओ मत,सर जी….! आज एक समाचार छपा …”आईएएस सूर्य प्रताप सिंह को चार्जशीट दी गयी ” बड़ा सामायिक है ..पर भैया है कहाँ ये सब ….क्या डरा डरा कर मार डालोगे, सर जी | कोई भी विभागीय कार्रवाई गोपनीय होती है, यही जारी होने वाली नोटिस/चार्जशीट को जारी करने से पहले ही सम्बंधित विभाग द्वारा ‘लीक’ कर दिया जाता है, तो सम्पूर्ण कार्यवाही पूर्वाग्रह से ग्रसित मानी जाएगी| वह भी, किसी एक अखबार को exclusive खबर क्यों? प्रेस कांफ्रेंस या प्रेस नोट क्यों नहीं जारी कर देते, क्या अन्य अख़बारों से डर लगता है कि वे दोनों पक्ष का मत लेकर सच्चाई लिख देंगें? मैं ये सब सरल मन से पूछ रहा हूँ…कोई अहंकारवश नहीं |

‘नालंदा’ एनजीओ की गड़बड़ियों का भेद खोलने पर टर्मिनेशन लेटर थमा दिया

लखनऊ : मैं लगभग सवा साल से लखनऊ में नालंदा नामक एक एन.जी.ओ. में काम कर रहा था, जो प्राथमिक शिक्षा में सुधार के लिय काम करता है. इस एन.जी.ओ. में आर्थिक और प्रशासनिक स्तर पर कई तरह की गड़बड़ियां चल रही थीं, जिनके बारे में हम तीन मित्रों ने मिलकर संस्था के प्रेसीडेंट बिश्वजीत सेन को मेल करके बताया था. हमें नहीं पता था कि इतनी-सी बात के लिये हमें अचानक ही नौकरी से हटा दिया जाएगा. बिना किसी आधार के मुझे अचानक 12 जून को नौकरी से हटा दिया गया. टर्मिनेशन लेटर में लिखा गया कि मेरा परफ़ार्मेंस ठीक नहीं था. 

नालंदा प्रबंधन की करतूतों पर प्रकाशित समाचार 

हालात से निबटने के लिए सहारा प्रबंधन ने तालाबंदी की अफवाह फैलाई

लखनऊ : राष्ट्रीय सहारा की नोएडा मुख्यालय समेत ज्यादातर यूनिटों में सोमवार देर शाम को भी कार्य बहिष्कार से गतिरोध बरकरार रहा। लखनऊ कार्यालय में संपादक और जनरल डेस्क इंचार्ज में कहासुनी होने की खबर है। 

नोएडा में आज सहारा के चेयरमैन से जो आज वीडियो कांफ्रेंसिंग होने वाली थी लेकिन किन्हीं कारणों से नहीं हो सकी। शाम को नोएडा से सहारा प्रबंधन के लोगों ने सभी यूनिटों में एक अफवाह प्रसारित कर दी कि यदि बहिष्कार या हड़ताली जारी रही तो संस्थान तालाबंदी कर देगा। 

सहारा कर्मियों के संघर्ष में हस्तक्षेप करें प्रमुख सचिव श्रम, न्याय दिलाएं : उपजा

लखनऊ : उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन (उपजा) की लखनऊ इकाई के अध्यक्ष अरविन्द शुक्ला ने प्रदेश के प्रमुख सचिव श्रम से मांग की है कि वह तत्काल सहारा मामले में हस्तक्षेप करें और श्रमिकों को उनका हक दिलायें। सहारा प्रबंधन द्वारा अखबार कर्मियों को पिछले कई माह से वेतन नहीं दिया जा रहा है। वेतन न मिलने से अखबारकर्मियों ने हड़ताल का रुख कर लिया है। लखनऊ के कर्मचारियों ने कार्यबहिष्कार कर दिया है ।  

अमनमणि और उसके गुंडे दोस्तों का मीडिया पर हमला, उपजा ने की सीएम से कार्रवाई की फरियाद

लखनऊ : मीडिया द्वारा फोटो खींचने पर अमनमणि त्रिपाठी व उनके समर्थकों द्वारा लखनऊ मीडिया पर हमले की उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन ने कड़ी निंदा की है। एसोसिएशन की लखनऊ इकाई के अध्यक्ष अरविन्द शुक्ला ने प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मांग की है कि घटना में शामिल सभी आरोपियों को तत्काल गिरफ्तार किया जाय।

निर्माण निगम के भ्रष्ट एमडी आरके गोयल की लोकायुक्त से शिकायत

लखनऊ : निर्माण निगम के भ्रष्ट एमडी आरके गोयल के कारनामों की कलई अब खुलने लगी है। इसने अपना साम्राज्य खड़ा करने के लिए मैनेजमेंट का बड़ा सहारा लिया। किसी जमाने में मायावती का दुलारा रहा गोयल अब सपा नेताओं को अपने पैसे के दम पर मैनेज करना चाहता है। मगर अब धीरे-धीरे इसके भ्रष्टाचार की परते खुलने लगी हैं। 

जब आईपीएस अमिताभ ठाकुर को आया एक मंत्री का फोन

अमिताभ ठाकुर : आज जब मुझे फोन पर एक व्यक्ति ने कहा कि आपसे यूपी के बेसिक शिक्षा मंत्री श्री राम गोविन्द चौधरी बात करना चाहते हैं तो मैं काफी अचंभित और कुछ परेशान हुआ क्योंकि अपने परिवर्तित स्वरुप और सामाजिक अवतार में अब मुझे सत्तानशीं किसी भी व्यक्ति का फोन नहीं आता है, चाहे वह नेता हों, अधिकारी हों या सत्ता के गलियारे का कोई अन्य शख्स. 

जंगल राज के खिलाफ लखनऊ में प्रदर्शन करेगा रिहाई मंच

लखनऊ : रिहाई मंच ने कहा है कि पत्रकारों और उनके परिजनों पर हो रहे हमले साफ कर रहे हैं कि सूबे में कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो गई है। पत्रकार जगेन्द्र सिंह और आरटीआई कार्यकर्ता गुरू प्रसाद शुक्ला हत्याकांड, बांदा में किसान देवी दयाल को जिंदा जला देने, राज्य मंत्री कैलाश चैरसिया द्वारा आरटीओ चुन्नी लाल प्रजापति पर थप्पड़ तानने व गंगा में मारकर फेकवा देने की धमकी, झांसी में अवैध खनन को रोकने वाले तहसीलदार को सपा राज्य सभा सांसद चन्द्र पाल सिंह यादव द्वारा धमकी, सीतापुर में गैंग रेप में सपा नेता, बीडीओ और जेई की संलिप्तता, बरेली में अफरोज का अपहरण, पीलीभीत के पत्रकार हैदर, कानपुर के पत्रकार दीपक मिश्रा समेत बस्ती, मिर्जापुर, रायबरेली में पत्रकारों को निशाना बनाना सपा सरकार की विफलता है। सूबे को मंत्री, विधायक और नेताओं ने आपातकाल से भी बदतर स्थिति में पहुंचा दिया है, जहां खुलेआम मुख्यमंत्री तक हत्यारोपियों का संरक्षण कर रहे हैं। मंच सपा सरकार के खिलाफ आपातकाल की बरसी पर जीपीओ, लखनऊ में धरना-प्रदर्शन करेगा ।

ला मार्ट छात्र राहुल के भाई का एसएसपी को पत्र, कल कोर्ट में मुक़दमा

लखनऊ : ला मार्ट छात्र एस राहुल की हत्या के सम्बन्ध में उनके भाई रोहित द्वारा परसो थाना गौतमपल्ली के एसओ एसके कटियार को फरियाद पत्र देने के बाद भी अब तक एफआईआर दर्ज नहीं होने के बाद रोहित ने एसएसपी लखनऊ को धारा 154 (3) सीआरपीसी में डाक से प्रार्थनापत्र भेजा है.

एसएसपी को दिए गए रोहित के पत्र की छायाप्रति

पंकज वर्मा साधना न्यूज के प्रेसिडेंट एवं ग्रुप एडिटर बने

लखनऊ : लगभग ढाई दशक से प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में उच्च पदों पर रहे वरिष्ठ पत्रकार पंकज वर्मा ने साधना न्यूज टेलीविजन को प्रेसिडेंट एवं ग्रुप एडिटर के रूप में ज्वॉइन कर लिया है। वह लखनऊ से नया पदभार संभालते हुए साधना न्यूज के छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, बिहार, झारखंड, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश के न्यूज नेटवर्क को प्रबंधित-संचालित करेंगे लेकिन मुख्य रूप से यूपी-उत्तराखंड पर उनका दायित्व केंद्रित होगा। 

‘कैनविज टाइम्स’ लखनऊ में रातोरात 10 पत्रकारों के पेट पर लात मारने की साजिश !

लखनऊ : ‘कैनविज टाइम्स’ की लखनऊ यूनिट में इन दिनों भयंकर अराजकता का महौल है। शीर्ष प्रबंधन का पैगाम लेकर गुरुवार को लखनऊ पहुंचे एचआर हेड कपिल शर्मा ने अचानक पूजा झा, प्रभात तिवारी, अमिता शुक्ला, जगत, साक्षी सिंह परिहार समेत लगभग दस लोगों को कल से (शुक्रवार से) ऑफिस आने के लिए मना कर दिया। 

फर्जी मुठभेड़ों के खिलाफ लखनऊ में प्रदर्शन, सीबीआई जांच की मांग

लखनऊ : तेलंगाना के नालगांडा, वारंगल और आंध्र प्रदेश के चित्तूर में पिछले चार दिनों में 28 लोगों के फर्जी मुठभेड़ों में मार दिए जाने के खिलाफ गत दिवस गांधी प्रतिमा, हजरतगंज में विभिन्न राजनीतिक व सामाजिक संगठनों ने विरोध प्रदर्शन किया और सभी मामलों की सुप्रीम कोर्ट के वर्तमान जज की देर रेख में सीबीआई जांच की मांग की।

जिंदगी की जंग लड़ रहे पत्रकार की भाजपा विधायक ने की मदद, सपा सरकार बेखबर

लखनऊ : भारतीय जनता पार्टी के विधायक सत्यदेव पचौरी ने गत दिनो संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (एसजीपीजीआई) में अपना इलाज करा रहे वरिष्ठ पत्रकार उदय यादव से भेंट कर उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी प्राप्त की। उदय को दोनों किडनियां खराब होने के बाद इलाज के लिए भर्ती किया गया है। वहीं दूसरी ओर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और उनके दूसरे मंत्रियों ने उदय की ओर ध्यान तक नहीं दिया है। 

बेइन्तहा पैसे वाली हो गई डाक कर्मचारी की बेटी मायावती पर टिकट बेचने को लेकर चौतरफा हमला :

: बसपा से बिदकते नेताओं की भाजपा पहली पसंद : बसपा सुप्रीमो मायावती के ऊपर एक बार फिर टिकट बेचने का गंभीर आरोप लगा है।यह आरोप भी पार्टी से निकाले गये बसपा के एक कद्दावर नेता ने ही लगाया है।मायावती के विरोधियों और मीडिया में अक्सर यह चर्चा छिड़ी रहती है कि बसपा में टिकट वितरण में खासकर राज्यसभा और विधान परिषद के चुनावों में पार्दशिता नहीं दिखाई पड़ती है। विपक्ष के आरोपों को अनदेखा कर भी दिया जाये तो यह बात समझ से परे हैं कि बसपा छोड़ने वाले तमाम नेता मायावती पर टिकट बेचने का ही आरोप क्यों लगाते हैं। किसी और नेता या पार्टी को इस तरह के आरोप इतनी बहुतायत में शायद ही झेलने पड़ते होंगे। कभी-कभी तो ऐसा लगता है कि धुआ वहीं से उठता है जहां आग लगी होती है। आरोप लगाने वाले तमाम नेताओं की बात को इस लिये भी अनदेखा नहीं किया क्योंकि यह सभी नेता लम्बे समय तक मायावती के इर्दगिर्द रह चुके हैं और उनकी कार्यशैली से अच्छी तरह से परिचित हैं।

असद पर हमला दरकिनार, रेस्‍टोरेंट वाले की ईंट से ईंट बजाने पहुंचे पत्रकार नेता

लखनऊ। दो दिन पहले राजधानी के कैसरबाग इलाके में सहारा समूह से जुड़े पत्रकार सैयद असद पर कार सवार बदमाशों ने जानलेवा हमला किया. उन्‍हें गंभीर चोट आई. उनका इलाज ट्रामा में कराया गया, फिलहाल वे खतरे से बाहर हैं और घर पर आराम कर रहे हैं. दूसरी घटना गोमतीनगर के विभूतिखंड में एक रेस्‍त्रां में हुई. न्‍यूज नेशन (स्‍टेट नेशन) एवं एक अन्‍य चैनल के पत्रकारों से मधुरिमा रेस्‍टोरेंट के कर्मचारियों ने मारपीट की. आरोप लगा कि पत्रकार मिलावटी खाने के आरोप पर दबाव बनाकर पैसे मांग रहे थे, जबकि पत्रकारों का जवाब था कि वे बाइट लेने गए थे. सच्‍चाई समझना बहुत मुश्किल नहीं है? 

हमारा लोकतंत्र दलितों, आदिवासियों और मुस्लिमों को सिर्फ जेल दे पाया : शिवमूर्ति

लखनऊ । रिहाई मंच ने ‘अवैध गिरफ्तारी विरोध दिवस’ के तहत यूपी प्रेस क्लब लखनऊ में ’अवैध गिरफ्तारियां और इंसाफ का संघर्ष’ विषयक सेमिनार का आयोजन किया। आतंकवाद के नाम पर पकड़े गए खालिद मुजाहिद जिनकी पुलिस व आईबी अधिकारियों द्वारा मई 2013 में हत्या कर दी गई थी, उनकी 2007 में हुई फर्जी गिरफ्तारी की सातवीं बरसी पर यह आयोजन किया गया। सेमिनार को संबोधित करते हुए साहित्यकार शिवमूर्ति ने कहा कि आज जेलों में तमाम लोग 10-10 सालों से उन मामलों में बंद हैं जिसमें अधिकतम सजा ही दो साल है। इनमें बड़ी संख्या दलितों, आदिवासियों और मुसलमानों की है। इससे साबित होता है कि पूरी व्यवस्था ही इन तबकों के खिलाफ है। सबसे शर्मनाक कि सामाजिक न्याय के नाम पर सत्ता में आई पार्टियों के शासन में भी यह सिर्फ जारी ही नहीं है बल्कि इनमें बढ़ोत्तरी ही हो रही है। खालिद का मामला इसका उदाहरण है। यह सिलसिला तभी रुकेगा जब मुसलमानों को आतंकवाद के नाम पर फंसाने और उन्हें फर्जी एंकाउंटरों में मारने वाले जेल भेजे जाएंगे जैसा कि गुजरात में देखने को मिला।

शैलेंद्र सागर की रचनाओं पर लोग बिना तैयारी के आए और रूटीन ढंग से बोल गए

बहुत दिनों बाद लखनऊ में आज की शाम बड़ी सुखद बन गई। बीते कई सालों से कथाक्रम पत्रिका निकालने और कथा क्रम का आयोजन करने वाले शैलेंद्र सागर के रचना संसार पर कैफ़ी आज़मी सभागार में प्रगतिशील लेखक संघ ने एक संगोष्ठी आयोजित की। इस मौक़े पर शैलेंद्र सागर की रचनाओं के बहाने उन के व्यक्तित्व पर भी बात हुई। उन की नई पुरानी रचनाओं पर बात हुई, उनकी सादगी और संजीदगी की बात हुई, संकेतों में ही सही उनके शौक़ और आशिक़ी की बात हुई। लेकिन जो उनका सबसे बड़ा गुण है, उनकी संतई और उनकी तपस्या, इसी की बात नहीं हुई। जो ज़रूर होनी चाहिए थी।

श्री टाईम्स, लखनऊ के 30 पत्रकारों का दिपावली में निकला दिवाला

: लखनऊ के सैकड़ों पत्रकारों को पड़े वेतन के लाले :  लखनऊ। राजधानी लखनऊ में हिंदी अखबार श्री टाईम्स के पत्रकारों का दिपावली का दिवाला निकल गया है। यह श्री टाइम्स अखबार की ही हालत नहीं बल्कि श्री न्यूज चैनल की भी दुर्दशा है। पत्रकारों का पिछले तीन से चार माह तक की तनख्वाह बकाया है। मगर अफसोस की बात कि उन्हें दिपावली के शुभ अवसर पर भी उनकी खुशियों को प्रबंधन द्वारा फीका करने का काम किया गया है। श्री टाईम्स अखबार की हालत यह कि उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिला ब्यूरो कार्यालय पर ताला लग गया है।

दर्जनों मांगों का पिटारा लेकर राजवभवन पहुंचा पत्रकारों का प्रतिनिधिमंडल

लखनऊ। उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन व उसकी लखनऊ इकाई लखनऊ जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन के एक प्रतिनिधि मंडल ने प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक से शनिवार को राजभवन में एक शिष्टाचार भेंट की। प्रदेश महामंत्री रमेशचन्द जैन व लखनऊ के अध्यक्ष अरविन्द शुक्ला की अगुवाई में पत्रकारों के इस प्रतिनिधि मण्डल में वरिष्ठ पत्रकार अजय कुमार, एसोसिएशन के कोषाध्यक्ष प्रदीप कुमार शर्मा, फोटोग्राफर व लखनऊ उपाध्यक्ष सुशील सहाय तथा कोषाध्यक्ष मंगल सिंह मौजूद थे।