पीछा छुड़ाने के लिए नेशनल दुनिया के एडिटोरियल डाइरेक्‍टर बनाए गए आलोक मेहता

नेशनल दुनिया प्रबंधन ने इस समूह के एकलौते एडिशन के समूह संपादक आलोक मेहता को एडिटोरियल डाइरेक्‍टर बना दिया है. हालांकि उपरी तौर पर इसे आलोक मेहता का प्रमोशन के तौर पर प्रचारित किया जा रहा है, जबकि अंदरखाने की बात यह है उनके तरीके से किनारे कर दिया गया है. इस पद पर करने के लिए कुछ खास बचा भी नहीं है. वैसे भी तमाम मीडिया समूहों में इस तरह की नीतियां पहले भी अपनाई जाती रही हैं. जब वरिष्‍ठों को प्रमोट करके किनारे किया जाता है.

एसएल चौधरी, अंकित माथुर, अजय कुमार, गोपाल शर्मा समेत कई ने दी रंगदारी

भड़ास4मीडिया को रंगदारी मिलने का सिलसिला लगातार जारी है. हजार रुपये रंगदारी देकर भड़ास पढ़ने और भड़ास को सपोर्ट करने के आह्वान का असर देश भर में देखने को मिल रहा है. चंडीगढ़ से गोपाल शर्मा ने हजार रुपये रंगदारी जमा कराई है तो गुड़गांव से अंकित माथुर समेत तीन लोगों ने रंगदारी भड़ास को दी है. बिहार के सहरसा से अजय कुमार ने हजार रुपये भड़ास के खाते में जमा कराए हैं. अभी अभी एसएल चौधरी ने सूचित किया है कि उन्होंने भड़ास के खाते में हजार रुपये जमा करा दिए हैं, रंगदारी के.

‘अंत न होगा यशवंत का, यह खबरों में बना रहेगा’

प्रिय यशवंत, 'भड़ास' में तुम्हरी जेल डायरी पढ़ी. तुम्हारी हिम्मत भी देखी. बहुत कुछ लिखने का कोई मतलब नहीं. तुम्हारे लिए एक ग़ज़ल कही है लेकिन यह उन सबके लिए भी है जो सच की राह पर चलते हैं…

समाचार प्‍लस के पत्रकार साहिल को सपा नेता ने दी जान से मारने की धमकी

: शिकायत के बाद भी पुलिस चुप : संत कबीरनगर से से खबर है कि समाचार प्‍लस चैनल के संवाददाता साहिल खान को सपा नेता ने हाथ-पैर तोड़वाने तथा जान से मारने की धमकी दी है. सपा नेता नगर पंचायत हरिहरपुर का चेयरमैन भी रह चुका है. साहिल खान अपने एक साथी पत्रकार के साथ सपा नेता व पूर्व चेयरमैन रवींद्र प्रताप उर्फ पप्‍पू शाही के कार्यकाल में लाखों रुपये खर्च कर बनाए गए एक शादी घर के अचानक धराशाई हो जाने की घटना को कवरेज करने पहुंचे थे. तभी पप्‍पू शाही ने साहिल खान को फोन पर हाथ-पैर तोड़ने त‍था वापस बचकर न जाने की धमकी दी.

सहारा में दुर्गेश उपाध्‍याय से ली गई एसाइनमेंट हेड की जिम्‍मेदारी

: संभालेंगे वेब डिविजन की जिम्‍मेदारी : सहारा से एक और खबर आ रही है कि उपेंद्र राय के खास माने जाने वाले दुर्गेश उपाध्‍याय से एसाइनमेंट हेड की जिम्‍मेदारी ले ली गई है. साथ ही एसाइनमेंट का कांसेप्‍ट भी बदल दिया गया है. उपेंद्र राय के दौर में दुर्गेश उपाध्‍याय वेब डिविजन के संपादक होने के साथ ही एसाइनमेंट हेड की जिम्‍मेदारी भी निभा रहे थे. अब उनके पास से एसाइनमेंट हेड की जिम्‍मेदारी ले ली गई है. इसके लिए सर्कुलर जारी कर दिया गया है. दुर्गेश के पास अब केवल वेब डिविजन की जिम्‍मेदारी रहेगी. फिलहाल एसाइनमेंट की जिम्‍मेदारी दीपिका भान और राजेश कुमार को दी गई है.

कुछ ही दिन में सहारा से आउट हुए वाशिन्‍द्र मिश्र

अभी कुछ दिन पहले ही जी न्‍यूज यूपी-उत्‍तराखंड को छोड़कर सहारा पहुंचे वाशिन्‍द्र मिश्र की सहारा से विदाई हो गई है. बताया जा रहा है कि उन्‍होंने ने ही सहारा की स्थितियों से तंग होकर चैनल छोड़ दिया है. हालांकि अभी इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पा रही है. परन्‍तु विश्‍वसनीय सूत्रों का कहना है कि वाशिन्‍द्र मिश्र यहां से बेसहारा होकर जा चुके हैं. पिछले काफी समय से जी न्‍यूज से सहारा समूह से जुड़ने की चर्चाओं के बीच बड़े अरमानों के साथ वाशिन्‍द्र सहारा के नेशनल चैनल के हेड बनकर पहुंचे थे, पर इतनी जल्‍दी विदाई हो जाएगी शायद इसका अंदाजा उन्‍हें भी नहीं रहा होगा.

हिंदुस्‍तान के पत्रकार शशिकांत पर रेप समेत कई धाराओं में मामला दर्ज

हिंदुस्‍तान, गोरखपुर में कार्यरत शशिकांत जायसवाल पर मेरठ में मामला दर्ज हुआ है. शशिकांत पर एक युवती से शादी के नाम पर झांसा देकर यौन शोषण करने का आरोप है. सिविल लाइंस पुलिस ने शशिकांत के खिलाफ आईपीसी की धारा 498ए, 316, 328, 376 एवं 506 के तहत मामला दर्ज किया है. वह फिलहाल मामले की जांच कर रही है. शशिकांत के खिलाफ एफआईआर मेरठ की रहने वाली स्‍वाति अग्रवाल ने दर्ज कराया है.  

सरकार के नियंत्रण से बाहर यूपी की नौकरशाही!

बार-बार सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव द्वारा अपनी ही सरकार को आईना दिखाने और नौकरशाही पर उंगली उठाने का प्रभाव अखिलेश सरकार के तौरतरीकों पर दिखने लगा है। अखिलेश सरकार के मंत्रियों के तौर तरीकों और कामकाज की समीक्षा होने लगी है तो नौकरशाही को पुचकारकर लाइन पर लाने की कोशिश कर रहे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अब ब्यूरोकेट्रस के साथ ‘भय बिना प्रीत न होय’ के फार्मूले पर चलेंगे जैसे की बसपा राज में होता था। इस बात का अहसास अब अखिलेश की बातों से होने भी लगा है। छह वर्षों के बाद लखनऊ में आयोजित ‘आईएएस वीक’ में मुख्य अतिथि के तौर पर पहुंचे अखिलेश ने आईएएस के मंच से ही उनकी क्लास ले ली।

रवि प्रकाश के लेख ने रचा इतिहास, इसे पढ़ने वाले 30 लोग करेंगे देहदान

लिक्खाड़ों और कट-पेस्टरों के लिए कभी हिन्दी साहित्य के प्रसिद्ध आलोचक, कवि-कथाकार राजेन्द्र कुमार ने ये लाइनें लिखी थीं- हम जो लिखते हैं, दवातों को लहू देते हैं/कौन कहता है लिखने को बस कलम काफी है… कट-पेस्टरों के लिए लेखन हंसी-मजाक हो सकता है लेकिन गंभीरता से लिखने वालों के लिए यह किसी तपस्या या अपनी जान निकाल देने जैसा होता है। ऐसे लोगों की जा कलम चलती है तो हजारों-लाखों को प्रेरणा देती है, उनकी जिंदगियां बदलती है और एक इतिहास भी रचती है।

विवेकानंद का कानपुर तबादला, केतन वैद्य बने पॉलिटिकल एडवाइजर

अमर उजाला, गोरखपुर से खबर है कि विवेकानंद त्रिपाठी का तबादला कानपुर के लिए कर दिया गया है. वे यहां पर डीएनई के पद पर कार्यरत थे. संभावना है कि एक फरवरी को विवेकानंद कानपुर में अपनी जिम्‍मेदारी संभाल लेंगे. वे लम्‍बे समय से अमर उजाला को अपनी सेवाएं दे रहे हैं. कुछ समय पहले ही उन्‍हें पश्चिमी यूपी से गोरखपुर भेजा गया था. संभावना है कि फरवरी माह में अमर उजाला के ज्‍यादातर यूनिटों में फेरबदल होंगे.

महराजगंज प्रशासन का कारनामा : बना डाला विदेशी का अधिवास प्रमाण पत्र

महराजगंज। यह देखिये महराजगंज प्रशासन का कारनामा जो एक नेपाली नागरिक का अधिवास प्रमाण पत्र जारी कर दिया। जब यह मामला खुला तो जनपद में खलबली मच गयी। जनपद के नौतनवा तहसील के उपजिलाधिकारी, लेखपाल व कानूनगो की रिपोर्ट पर पड़ोसी मुल्क नेपाल के एक नागरिक का अधिवास प्रमाण पत्र जारी कर दिया गया, जिसके बारे में खुफिया विभाग के उच्चाधिकारियों को मौखिक रूप से अवगत करा दिया गया है। अधिवास प्रमाण पत्र जारी कराने में हल्का लेखपाल की भूमिका संदिग्ध बतायी जा रही है।

बाड़मेर में मिले 60 जिंदा बम, शहर में अघोषित कर्फ्यू के हालात

बाड़मेर। बाड़मेर में एक साथ 60 बम मिलने से शहर भर में सनसनी फ़ैल गई है, लोग भयाक्रांत हैं और प्रशासन खौफ खाए है कि कहीं थोड़ी सी लापरवाही शहर को श्मशान ना बना दे। यही नहीं एक एक बम की मारक क्षमता ढाई किलोमीटर का इलाका है तो प्रभाव 8 किलोमीटर तक हो सकता हैं। सेना के इस खुलासे से ही डर बढ़ गया है। बाड़मेर में लगातार बम मिलने से शहर भर में सनसनी फ़ैल गई है। कुछ दिन पूर्व ही बाड़मेर शहर स्थित बार्डर होमगार्ड परिसर में आधा दर्जन बम मिले थे। उसका भय मिटा ही नहीं कि फिर से इसी जगह एक साथ साठ जिन्दा और बम मिल गये हैं।

फरियादियों से नहीं मिलते महराजगंज के पुलिस अधीक्षक!

महराजगंज। जहां अखिलेश सरकार में गुंडों के हौसले बढ़ रहे हैं वहीं नौकरशाहों का मिजाज भी बदला हुआ है। कोई घटना घट जाय पर महाराजगंज के अधिकारियों के कानों पर जूं तक नही रेंगता। ऐसे ही हालात हैं महाराजगंज के पुलिस अधीक्षक लक्ष्मीनारायण श्रीवास्तव की, नाम के अनुसार जब कुछ मिलता है तभी लक्ष्मीनरायण सुनते हैं। दूर दराज नौतनवां तहसील के कुनसेरवां गॉव के एक फरियादी अमित जायसवाल एवं सिसवां ब्‍लाक के फेकू गुप्ता की जमीनों पर एक बाहुबली व्यक्ति ने कब्जा कर लिया था।

शहीदी दिवस पर नेताजी के सहयोगी निजामुद्दीन को कुलपति ने किया सम्मानित

आज़मगढ़। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो सुन्दर लाल ने शहीदी दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय सेवा योजना द्वारा आयोजित सम्मान समारोह मे आजाद हिन्द फ़ौज के कर्नल निजामुद्दीन को उनके गाँव ढकवा मे सम्मान पत्र, मेडल और स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर कुलपति प्रो सुन्दर लाल ने कहा कि आज मैं अपने को भाग्यशाली समझता हूँ कि नेता जी से जुड़े व्यक्ति के साथ बैठने और संवाद करने का मौका मिला। आज का दिन देश के प्रति समर्पित लोगों को याद करने का दिन हैं। सुभाष चन्द्र बोस और उनसे जुड़े लोगों को मन से चाहने वालों की संख्या हमारे देश मे कम नहीं हैं।

कुंभ मेला से लापता संन्यासी का 29 दिन बाद भी सुराग नहीं लगा

: बदइंतजामी को लेकर परिपूर्णानंद सरस्वती कर रहे अनशन : इलाहाबाद। कुंभ नगरी से रहस्यमय दशा में गायब दंडी स्वामी परिपूर्णानंद सरस्वती को 29 दिन बाद भी पुलिस खोज नहीं सकी। इस मामले में पुलिस का रवैया बेहद गैरजिम्मेदाराना बना हुआ है। पीपुल फॉर पीपुल सोसायटी और यूथ फॉर पीस संगठन के कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री को चिट्ठी लिखकर लापता दंडी स्वामी को खोजने की मांग की गई है। कहने को प्रयाग के महाकुंभ मेला में हाईटेक सुविधाओं से लैस पुलिस लगाई गई है, पर इस मामले में वह फिसड्डी ही साबित हो रही है। मेला क्षेत्र और उसके आसपास लापता दंडी संन्यासी की फोटो जगह-जगह चस्पा कर पुलिस ने चुप्पी साध रखी है।

नक्षत्र न्‍यूज से बिहार हेड आलोक पुंज का इस्‍तीफा

नक्षत्र न्‍यूज से खबर है कि बिहार हेड के रूप में कार्यरत आलोक पुंज ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे लगभग साल भर पहले ही नक्षत्र न्‍यूज से जुड़े थे. वे आस्‍था से इस्‍तीफा देकर नक्षत्र न्‍यूज से जुड़े थे. आलोक दिल्‍ली में आस्‍था को अपनी सेवाएं देने के पहले उत्‍तरी बिहार में जी न्‍यूज से जुड़े हुए थे. उनके करियर की शुरुआत जी न्‍यूज से ही हुई थी. वे सन्‍मार्ग अखबार को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

दैनिक भास्‍कर 21 फरवरी को लांच करेगा हल्‍द्वानी एडिशन!

हल्‍द्वानी से खबर आ रही ही है कि भास्‍कर समूह अब यहां भी अपने विस्‍तार की शुरुआत करने जा रहा है. हालांकि अभी अखबार की लांचिंग छोटे पैमाने पर किए जाने की तैयारी की जा रही है. सूत्रों का कहना है कि दैकिन भास्‍कर 21 फरवरी से अपना हल्‍द्वानी एडिशन लांच करने जा रहा है. इसके लिए भास्‍कर ने हल्‍द्वानी आवास विकास में अपना कार्यालय भी शुरू कर दिया है. हालांकि इस अखबार का प्रकाशन अभी हल्‍द्वानी से नहीं होगा, अखबार नोएडा से प्रकाशित होकर कुमाऊं आएगा.

लॉ कालेज में नकल का कवरेज कर रहे मीडियाकर्मियों पर हमला

बांदा में डॉ. बीआर अंबेडकर विधि महाविद्यालय में प्रथम सेमेस्टर की परीक्षा में फोटो खींचने पहुंचे मीडिया कर्मियों पर छात्रों ने हमला कर दिया। कैमरा तोड़ने के साथ ही मीडियाकर्मियों से मारपीट भी  की गई। कई मीडियाकर्मियों को चोटें आई हैं। हमला किए जाने के विरोध में मीडियाकर्मी कालेज के गेट पर धरने पर बैठ गए हैं। दूसरी तरफ कालेज के निदेशक का कहना है कि दो मीडियाकर्मी बिना अनुमति के बाउंड्री फांद कर कालेज के अंदर घुसे तथा कक्ष निरीक्षक के साथ अभद्रता भी किया। 

चैनल का रिपोर्टर छेड़छाड़ के आरोप में गिरफ्तार

मेरठ पुलिस ने छेड़छाड़ के आरोप में एक पत्रकार को गिरफ्तार किया है। वो खुद को एक न्यूज चैनल को रिपोर्टर बता रहा था। पत्रकारिता की आड़ में वह पुलिस वालों को भी धमका रहा था। पुलिस ने छेड़छाड़ की धाराओं में चालान कर उसे थाने से ही जमानत पर रिहा दिया। बताया जा रहा है कि पुलिस को टीपी नगर में देह व्‍यापार की सूचनाएं मिली थी। इसके बाद एसओ टीपी नगर ने मंडी चौकी इंचार्ज अनूप सिंह को दबिश देने के लिए नई बस्‍ती भेजा।

झारखंड में खबर छपने से नाराज माओवादियों ने पत्रकार को दी धमकी

लातेहार : विरोध में छपी खबर से बिफरे माओवादियों ने गारू के पत्रकार को अपहरण करने धमकी दी। साथ ही माओवादियों ने पत्रकार को खबर नहीं लिखने की चेतावनी दी। माओवादी अपने महिला दस्ते के गिरफ्तार नक्‍सली साथी रेखा के खुलासे पर आधारित खबर लिखने से नाराज हैं। रेखा ने पुलिस को बयान दिया था कि माओवादी गांवों से नाबालिग लड़कियों को उठा कर ले जाते हैं तथा अपने साथ रखते हैं। उनका यौन शोषण किए जाने के अलावा उनसे कई और काम लिए जाते हैं। इसके बाद उन्हें प्रशिक्षित कर महिला दस्ते में शामिल किया जाता हैं।

आजतक की पत्रकार सौम्‍या विश्‍वनाथन का हत्‍यारोपी पुलिस रिमांड पर

तिहाड़ जेल से फिरौती का रैकेट चलाने के मामले में गिरफ्तार अमित शुक्ला को तीन दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है। तीसहजारी कोर्ट के मुख्य महानगर दंडाधिकारी विद्या प्रकाश के समक्ष पुलिस ने खुलासा किया कि पत्रकार सौम्या विश्वनाथन हत्याकांड मामले में गिरफ्तार शुक्ला ही जेल से फिरौती की रकम मांगता था। शुक्ला पत्रकार की हत्या करने के मामले में तिहाड़ जेल में बंद था।

कांडा की कंपनी के कसीनो वाले जहाज को गोवा सरकार करेगी नीलाम

पणजी : हरियाणा के पूर्व मंत्री गोपाल कांडा की कंपनी के कसीनो (जुआघर) वाले जहाज को अगर जल्दी ही मंडोवी नदी से स्थानांतरित नहीं किया गया तो गोवा सरकार उसे नीलाम कर देगी। इस जहाज के लाइसेंस की अवधि खत्म हो चुकी है। गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने आज विधानसभा को यह जानकारी दी। सदन को बताया गया कि गोल्डन ग्लोब होटल्स प्राइवेट लिमिटेड के स्वामित्व वाले जहाज एमवी लीला को राज्य सरकार एक लावारिस जहाज मानकर अपने अधिकार में ले लेगी।

”टीवी एंकर देश के लोकतंत्र के लिए सबसे बड़ा खतरा”

हमारे जो टीवी एंकर हैं वो लोकतंत्र के सबसे बड़ा ख़तरा बनते जा रहे हैं. क्यों कि लोगों को भड़काते है और उनका सत्य से कोई लेना देना नहीं है. ख़ास तौर पर एक-दो वो टीवी एंकर जिनकी टीआरपी सबसे ज़्यादा है. यह एंकर हर नौजवान एंकर को यह बुरा सबक सिखा रहे हैं कि आप शिष्टता को एक तरफ छोड़िये ज़ोर ज़ोर से चीखिये. सवाल ऐसे कीजिये जैसे मुजरिम खड़ा है अपने कठघरे में. सामने वाले के बारे में मत सोचिये कि उसकी नज़र में उसका खुद का कोई सम्मान होगा. आपके टीआरपी रेटिंग उठ जायेंगे.

प्रेस की आजादी के मामले में भारत की स्थिति और खराब, 140 वें नम्‍बर पर पहुंचा

प्रेस की आजादी के मामले में 179 देशों की सूची में और नीचे गिरकर भारत 140वें स्थान पर पहुंच गया है. वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम इंडेक्स में भारत वर्ष 2002 के मुकाबले नौ स्थान नीचे गिरकर 140वें नंबर पर पहुंच गया और चिंतकों का कहना है कि यह दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के हिसाब से शोचनीय हालत है. रिपोर्टर्स विदाउट बार्डर्स ने वर्ष 2013 के लिए वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम इंडेक्स में कहा है कि एशिया में, पत्रकारों के खिलाफ बढ़ती हिंसा के मामलों में कार्रवाई नहीं करने की बढ़ती प्रवृति तथा इंटरनेट सेंसरशिप के चलते भारत इस पायदान पर 2002 के बाद से सर्वाधिक नीचे पहुंच गया है.

आनंद कौशल, दानिश, रंजीत समेत कई पत्रकार नक्षत्र न्‍यूज से जुड़े

हमार टीवी में लगातार चल रहे उठापटक के बीच चैनल की पूरी टीम ने नक्षत्र न्यूज़ का दामन थाम लिया है। नक्षत्र टीवी ने पटना के आशियाना नगर स्थित रामनगरी मोड़ के पास अपना स्टूडियो स्थापित किया है। फ़रवरी के पहले सप्ताह से चैनल ने बिहार में केबुल नेटवर्क के माध्यम से ऑन एयर होने की पूरी तैयारी कर ली है। शीघ्र ही डीटीएच पर भी चैनल को उपलब्ध कराने का काम प्रगति पर है। बंदी की मार झेल चुके हमार टीवी के दुबारा शुरू होने के बाद भी स्थिति में ख़ास फ़र्क नहीं आया। आख़िर में पूरी टीम ने हमार टीवी को अलविदा कह डाला।

नेशनल दुनिया ने आलोक मेहता से पीछा छुड़ाया!

प्रदीप सौरभ के नेशनल दुनिया का संपादक बनने के बाद तय हो गया है कि आलोक मेहता को जाने का संकेत दे दिया गया है. वैसे अपुष्‍ट सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि आलोक मेहता की विदाई कर दी गई है. जिस तरीके से पिछले कुछ समय से नेशनल दुनिया के मालिक शैलेंद्र भदौरिया फ्रंट पर आकर अपनी योजनाओं को घोषित कर रहे थे उससे काफी पहले ही बदलाव की सुगबुगाहट होने लगी थी. जिस तरीके से अखबार की छवि निष्‍पक्ष न रहकर कांग्रेस के मुखपत्र की हो गई थी, उससे भी प्रबंधन आलोक मेहता एंड कंपनी से नाराज चल रहा था.

प्रदीप सौरभ बने नेशनल दुनिया के संपादक

नेशनल दुनिया से खबर आ रही है कि वरिष्‍ठ पत्रकार एवं उपन्‍यासकार प्रदीप सौरभ अखबार के साथ जुड़ गए हैं. उन्‍हें अखबार का संपादक बनाया गया है. प्रदीप सौरभ 1 फरवरी से अपना कार्यभार ग्रहण कर लेंगे. प्रदीप सौरभ दिल्ली के चर्चित व बेहतरीन पत्रकारों में शुमार किए जाते हैं. इलाहाबाद के रहने वाले प्रदीप सौरभ करीब 28 वर्षों से हिंदुस्तान अखबार के साथ जुड़े हुए थे. शशि शेखर के प्रधान संपादक बनने के बाद उन्‍होंने इस्‍तीफा दे दिया था.

एनडीए का डीएनए बदलने की फिराक में कांग्रेस

नरेंद्र मोदी के मामले में कांग्रेस एनडीए का डीएनए बदलने की फिराक में है। गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी पीएम पद के लिए अपनी हवा बनाने में कामयाब हो गए हैं। लेकिन अच्छे अच्छों की हवा निकालने में माहिर कांग्रेस ने भी अपनी रणनीति तैयार कर ली है। वह सीधे तो मोदी पर प्रहार नहीं करेगी, लेकिन एनडीए के साथियों की सांसों में जहर घोलकर बीजेपी को बहुत परेशान जरूर करेगी। कांग्रेस की कोशिश है कि कैसे भी करके एनडीए के सहयोगियों को अपने हितों की याद दिलाकर माहौल की रफ्तार को रोका जाए। बीजेपी के साथी दलों के सरोकारों की समझ को बढ़ाया जाए। एनडीए इसी से कमजोर होगा।

जम्‍मू में स्‍टेट टाइम्‍स की मुहिम रंग लाई, 26 जनवरी को नहीं छपे अखबार

राष्ट्रीय पर्वों (15 अगस्त व 26 जनवरी) में जहाँ देश के लगभग सभी अख़बार के दफ्तरों में अवकाश होता है फलस्वरूप अगले दिन (16 अगस्त व 27 जनवरी) को उनका प्रकाशन नहीं होता है, परन्तु जम्मू के स्थानीय समाचार-पत्रों ने लगभग 15 वर्ष पहले इस प्रथा को समाप्त कर राष्ट्रीय पर्वों पर भी नियमित रूप से अपना प्रकाशन करना आरम्भ कर दिया था.

स्‍टार प्‍लस को हटाकर नम्‍बर एक बना जी टीवी

इंटरटेनमेंट चैनलों का चौथे सप्‍ताह का टैम रेटिंग जारी हो गया है. 20 से 26 जनवरी के लिए जारी हुए आंकड़े में जी टीवी ने बाजी मारी है. सीएस4 प्‍लस, एचएसएम मार्केट दोनों श्रेणियों में जी टीवी ने अपना डंका बजाया है. जी टीवी ने जी सिने अवार्ड एवं अन्‍य कई प्रोग्रामों की बदौलत स्‍टार प्‍लस को एक नम्‍बर से हटाकर खुद अपना कब्‍जा जमा लिया है. जबकि कलर्स और सोनी टीवी क्रमश: तीसरे और चौथे स्‍थान पर हैं.

IRS 2012 Q3 : टॉप टेन भाषायी अखबारों में सात ने खोए अपने पाठक

इंडियन रीडरशिप सर्वे 2012 के तीसरे तिमाही में प्राप्‍त आंकड़े भाषायी अखबारों के लिए उत्‍साहजनक नहीं हैं. क्षेत्रीय भाषाओं के टॉप टेन अखबारों में सात अखबारों ने अपने पाठक खोए वहीं मात्र तीन अखबारों की पाठक संख्‍या में बढ़ोत्‍तरी देखने को मिली. तीसरी तिमाही में मात्र एक बदलाव के अलावा कोई बड़ा बदलाव नहीं देखने को मिला. दैनिक थांती ने लोकमत को दूसरे स्‍थान से हटाकर अपना कब्‍जा जमा लिया.

आरटीआई एक्टिविस्‍ट श्रीचंद जैन को बिजली चोरी में एक साल की सजा

नई दिल्ली : बिजली मुद्दों पर जनहित याचिका यानी पीआईएल दाखिल कर, मीडिया में सुर्खियां बटोरने वाले श्रीचंद जैन खुद बिजली चोरी मामले में फंस गए हैं। कड़कडड़ूमा स्थित बिजली की स्पेशल कोर्ट ने उन्हें 11.5 किलोवॉट बिजली की चोरी करने का दोषी करार दिया है। कोर्ट ने उन्हें एक साल की कैद की सजा सुनाई है। साथ ही उन पर सिविल लायबिलिटी के तौर पर 3. 62 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है। वह औद्योगिक कार्यों के लिए बिजली की चोरी करते पकड़े गए थे।

उप्र श्रमजीवी पत्रकार यूनियन, शाहजहांपुर के नवनिर्वाचित पदाधिकारियों ने ली शपथ

शाहजहांपुर -"हमारा संगठन पत्रकारों के हितों की रक्षा के लिए सदैव संघर्षरत रहा है और रहेगा"। यह उद्गार उप्र श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के प्रांतीय अध्यक्ष हसीब सिद्दीकी ने शाहजहांपुर इकाई के शपथ ग्रहण समारोह में व्यक्त किए। श्री सिद्दीकी ने कहा कि जिला स्तर से लेकर हर स्तर तक पत्रकारों के लिए उनकी यूनियन ने सरकार से भी कई बार विभिन्न मांगों को लेकर संघर्ष किया और उसके सार्थक परिणाम भी निकले।

सोशल मीडिया के पॉवर को समझने में सरकार नाकाम : कपिल सिब्‍बल

केंद्रीय दूरसंचार मंत्री कपिल सिब्बल ने स्वीकार किया कि सरकार अभी भी सोशल मीडिया के मामले में कमजोर है. उन्होंने कहा, ‘यह एक नया माध्यम है जो तेजी से बढ़ रहा है. हमें नहीं पता की इसके साथ कैसे पेश आया जाए.’ उन्होंने कहा, ‘हमें सोशल मीडिया के पॉवर को समझना होगा. कोई भी सरकार के पास इसके पॉवर की पूरी जानकारी नहीं है और ना ही वो ये जानती है कि इसके साथ कितना संबंध रखा जाए. हालांकि सरकार को इसका उपयोग आवाम को और शक्तिशाली बनाने में करना चाहिए ना कि कमजोर करने में.’ कपिल सिब्बल टाउन हॉल में हेडलाइंस टुडे के कार्यक्रम ‘राइट टू बी हर्ड’ के दौरान युवाओं को संबोधित कर रहे थे.

IRS 2012 Q3 : हरिभूमि ने रचा इतिहास, छत्‍तीसगढ़ में दिग्गजों को पछाड़ बना नंबर वन

कार्पोरेट और मल्टीएडीशन के शोर के बीच हरिभूमि ने सबको पीछे छोड़ते हुए कामयाबी का कीर्तिमान रचा है। दैनिक भास्कर, पत्रिका, नई दुनिया, नवभारत जैसे दिग्गजों की मौजूदगी में हरिभूमि बना है नंबर वन। यह प्रगति तब हुई है जब पत्रिका छत्तीसगढ़ पहुंचा और नई दुनिया जागरण की झोली में जाने के बाद रीलांच किया गया। IRS 2012 की रिपोर्ट के अनुसार 9 लाख 26 हजार पाठक संख्या के साथ हरिभूमि छत्तीसगढ़ राज्य का सर्वाधिक पाठक संख्या वाला अखबार बन गया है।

IRS 2012 Q3 : 1.98 करोड़ पाठकों के साथ ‘दैनिक भास्कर ग्रुप’ देश का सबसे बड़ा समाचार पत्र समूह

जयपुर : दैनिक भास्कर जयपुर में 10.52 लाख पाठकों के साथ फिर सबसे आगे है। यह तादाद प्रतिद्वंद्वी अखबार से 34 फीसदी ज्यादा है। राजस्थान के शहरी क्षेत्रों में पढ़ा जाने वाला सबसे बड़ा अखबार भी यही है। प्रदेश के किसी भी शहर में 10 लाख से अधिक पाठक संख्या वाला दैनिक भास्कर एकमात्र अखबार है। पाठकों का यह समर्थन बताता है कि अखबार की ओर से दी जाने वाली खबरें, विश्लेषण और फीचर उनकी जिंदगी को प्रभावित कर रही हैं।

IRS 2012 Q3 : राजस्‍थान में पत्रिका नम्‍बर वन, एमपी में भी तेज बढ़त

मुम्बई। भारतीय पाठक सर्वेक्षण (आईआरएस) की मुम्बई में जारी ताजा सर्वेक्षण रिपोर्ट के मुताबिक पत्रिका समूह की कुल पाठक संख्या एक करोड़ 98 लाख 62 हजार हो गई है। अपनी विश्वसनीय खबरों के लिए देशभर में पहचान रखने वाले राजस्थान पत्रिका को इस रिपोर्ट में एक बार फिर राजस्थान का सिरमौर घोषित किया गया है। मध्यप्रदेश में भी पत्रिका ने करीब 33 हजार कुल नए पाठक जोड़े हैं। अन्य सभी प्रमुख अखबारों की पाठक संख्या में इस अवधि में गिरावट आई है। राजस्थान पत्रिका ने इस अवघि में 62 हजार औसत पाठक जोड़े हैं जो देश के दस शीर्ष अखबारों में सर्वाधिक बढ़त है।

IRS 2012 Q3 : अमर उजाला की श्रेष्ठता बरकरार, पाठक तीन करोड़ के पार

अपनी श्रेष्ठता को बरकरार रखते हुए अमर उजाला की बढ़त का सिलसिला जारी है। अखबार उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में नंबर वन के स्थान पर बरकरार है। आईआरएस 2012 की तीसरी तिमाही के लिए जारी कुल पाठक संख्या (टीआर) आंकड़ों के मुताबिक इस अवधि में अमर उजाला के पाठकों की संख्या देश भर में तीन करोड़ एक लाख से ऊपर हो गई है।

IRS 2012 Q3 : प्रभात खबर लगातार सबसे तेज बढ़ता अखबार

: बिहार में जबरदस्त बढ़त, एक साल में 129 फीसदी औसत पाठक बढ़े : प्रभात खबर पाठक संख्या के मामले में देश के शीर्ष 10 हिंदी अखबारों में लगातार सबसे तेज वृद्धि दर्ज करने वाला अखबार बना हुआ है. 2012 की तीसरी तिमाही के लिए आइआरएस पाठक सर्वेक्षण (आइआरएस 2012 – क्यू 3) के नतीजों के मुताबिक प्रभात खबर ने पिछली तिमाही के मुकाबले एवरेज इशू पाठक संख्या में 5.34 फीसदी और कुल पाठक संख्या में 3.52 फीसदी की मजबूत बढ़त दर्ज की है. एवरेज इशू पाठक संख्या के मामले में शीर्ष दस अखबारों में से आठ अखबार एक फीसदी की वृद्धि भी नहीं दर्ज कर पाये.

IRS 2012 Q3 : 5.6 करोड़ पाठकों के साथ जागरण 24वीं बार नम्‍बर वन

नई दिल्ली। 'दैनिक जागरण' ने 5.6 करोड़ सुधी पाठकों के साथ लगातार 24वीं बार देश के नंबर वन समाचार पत्र का दर्जा प्राप्त कर नया कीर्तिमान बनाया है। वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में दैनिक जागरण ने 45 हजार नए पाठक जोड़े हैं। इंडियन रीडरशिप सर्वे 2012 के तीसरी तिमाही के नतीजों के मुताबिक दैनिक जागरण के पाठकों की संख्या अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी समाचार पत्र के मुकाबले 1.7 करोड़ अधिक है।

IRS 2012 Q3 : दूसरे नंबर पर और मजबूत हुआ ‘हिन्दुस्तान’

देश के तेजी से बढ़ते अखबार ‘हिन्दुस्तान’ की कुल पाठक संख्या अब बढ़कर 3.90 करोड़ हो गई है। नवीनतम इंडियन रीडरशिप सर्वे (आईआरएस क्यू3-2012) के मुताबिक, ‘हिन्दुस्तान’ ने देश के अग्रणी अखबारों में अपने दूसरे स्थान को और मजबूत किया है। वहीं, ‘हिन्दुस्तान’ के निकटतम प्रतिद्वंद्वी दैनिक भास्कर को इसी अवधि में पाठक संख्या के मामले में नुकसान हुआ है और इस समय इसकी पाठक संख्या 3.51 करोड़ है। सर्वे के मुताबिक ‘हिन्दुस्तान’ और दैनिक भास्कर के बीच कुल पाठक संख्या का अंतर बढ़कर 38 लाख हो गया है।

प्रेस फोटोग्राफर मदन साहू समेत कई पर फायरिंग करने वाला सुरक्षा अधिकारी गिरफ्तार

जमशेदपुर में बर्मामाइंस थाना अंतर्गत टाटा स्टील यार्ड गेट के पास बीते 24 दिसंबर को कंपनी सुरक्षाकर्मियों द्वारा की गई फायरिंग मामले के आरोपी टाटा स्टील के सुरक्षा अधिकारी एसपी सिंह को पुलिस ने मंगलवार को कोर्ट में पेश किया. कोर्ट ने उन्‍हें न्‍यायिक हिरासत में जेल भेज दिया. उल्‍लेखनीय है कि ऑक्‍शन यार्ड गेट पर बवाल होने के बाद सुरक्षाकर्मियों ने फायरिंग कर दी थी, जिसमें कई मजदूरों के साथ एक प्रेस फोटोग्राफर मदन साहू भी गंभीर रूप से घायल हो गए थे.

जौनपुर में पत्रकार आशीष सहित उनके पिता-भाई पर मुकदमा दर्ज

: न्‍यायालय के आदेश पर पंजीकृत हुआ मामला : जौनपुर। जौनपुर न्यायालय एसीजेएम तृतीय के आदेश पर थाना बदलापुर पुलिस ने ग्राम पुरानी बाजार निवासी कथित पत्रकार आशीष पांडेय सहित उनके पिता अवनीश कुमार पांडेय भाई राजेन्द्र प्रसाद पांडेय पर आईपीसी की धारा 419, 420, 323, 504, 506 सहित हरिजन बनाम सवर्ण का मुकदमा पंजीकृत किया है। घटना 10 अगस्त 2009 की है। ग्राम हकारपुर निवासी सर्वजीत पुत्र रामकरन के मुताबिक उसे सफाईकर्मी के पद पर नौकरी दिलाने का झांसा देकर आशीष, उसके पिता व भाई ने उससे दस हजार रुपया लिया था। 

देश में तेजी से बढ़ रहा है रीजनल चैनलों का बाजार

देश में रीजनल यानी क्षेत्रीय भाषा के टीवी चैनलों का बाजार तेजी से बढ़ रहा है। इस सेग्मेंट में कारोबारी संभावनाएं और अपनी हिस्सेदारी को मजबूत करने के लिए रिलायंस ब्रॉडकास्ट नेटवर्क हिन्दी भाषी राज्यों में चैनल विस्तार की योजना बना रहा है।

न्‍यूज एक्‍सप्रेस चैनल में कर्मचारियों को मिला इंक्रीमेंट

मंदी और घाटे वाली पत्रकारिता के इस दौर में न्यूज़ एक्सप्रेस में पत्रकार खुश हैं. प्रबंधन ने चैनल के कर्मियों को इंक्रीमेंट एवं प्रमोशन दिया है. न्यूज़ एक्सप्रेस के नोएडा दफ्तर में 28 जनवरी को इस बाबत ज्‍यादातर कर्मचारियों को लेटर दे दिए गए हैं. सभी की सैलरी एक जनवरी से बढ़ा हुआ माना जाएगा. सैलरी बढ़ने के बाद सभी पत्रकारों के अंदर खुशी है. न्यूज़ एक्सप्रेस में दो साल में पहली बार तनख्वाह में बढ़ोतरी की गई है.

ब्रांड ट्रस्‍ट रिपोर्ट में आजतक बना सबसे विश्‍वसनीय ब्रांड

ब्रांड ट्रस्ट रिपोर्ट 2013 की मीडिया श्रेणी में आजतक को देश का सबसे विश्वसनीय ब्रांड बताया गया है. इस रिपोर्ट को तैयार करने में साल भर से ज्यादा का समय लगा है. देश के 16 शहरों से इक्कट्ठे किये गए आंकड़ों के हवाले से इस रिपोर्ट को तैयार किया गया है और लोगों ने एक बार फिर आजतक पर अपना भरोसा बनाए रखा है. आजतक की इस बादशाहत पर ट्रस्ट के सीईओ को भी कोई आश्‍चर्य नहीं हुआ.

‘रायल बुलेटिन’ अखबार को पत्रकारों, प्रबंधकों, आपरेटरों की जरूरत

कई शहरों से प्रकाशित 'रायल बुलेटिन' अखबार को पत्रकारों, प्रबंधकों, आपरेटरों आदि की जरूरत है. 'रायल बुलेटिन' का आफिस नोएडा सेक्टर 26 में है. अखबार को कई जिलों में ब्यूरो प्रमुखों की भी जरूरत है. नीचे रायल बुलेटिन के विज्ञापन का प्रकाशन किया जा रहा है. इच्चुक लोग अप्लाई कर सकते हैं.

वीरेन डंगवाल की एंजियोप्लास्टी हुई, परसों घर लौटेंगे

मशहूर कवि और अमर उजाला के निदेशक वीरेन डंगवाल की दिल्ली के एस्कोर्ट हास्पिटल में एंजियोप्लास्टी की गई. करीब घंटे भर तक चली एंजियोप्लस्टी के तहत दो स्टेन डाले गए. सब कुछ बेहद कामयाब रहा. सर्जरी टीम का नेतृत्व जाने-माने कार्डियोलाजिस्ट डा. अशोक सेठ ने किया. उनके साथ करीब चार डाक्टरों की टीम थी. वीरेन डंगवाल कल तक आईसीयू में रहेंगे और संभवतः परसों दिल्ली में अपने पुत्र के घर चले जाएंगे.

राहुल गांधी से याराना के कारण राज्यसभा जा सकते हैं शाहरुख खान!

फ़िल्मी सफलता ने शाहरुख का दिमाग सातवें आसमान पर पहुंचा दिया है. वे हर बात को अपने मुसलमान होने से जोड़ने के आदी हो चुके हैं. चाहे उनके मकान '' मन्नत '' के नवीनीकरण का मामला हो या फिल्म स्वदेश के प्रदर्शन का या फिर अमेरिकी विमानतलों पर दो – दो बार हुई उनकी नंगाझोरी या तलाशी या फिर लम्बी पूछताछ का. उनके मकान ''मन्नत'' के अनधिकृत हिस्से पर वृहन मुंबई नगर पालिका की कार्यवाही का सवाल हो या पडौसी दिलीप कुमार को होने वाली असुविधा का उन्होंने बहुत अकड दिखाई थी. भला हो राहुल गांधी का जिन्होंने ये मामले सुलटवाये.

दारू पीकर महिला पत्रकार को छेड़ने वाले बीएसएफ जवान की पिटाई

नई दिल्ली: कोलकाता में सोमवार शाम एक महिला पत्रकार से छेड़खानी का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि यह हरकत बीएसएफ के एक जवान ने की, जो नशे में धुत था। इसके दो और साथी भी वहां मौजूद थे। बीएसएफ के जवान ने जब बदतमीजी शुरू की तो महिला ने मदद के लिए आवाज लगाई और देखते ही देखते काफी लोग वहां आ गए।

पत्रकार हत्या मामले में नेपाली प्रधानमंत्री भट्टाराई सुप्रीम कोर्ट के समक्ष पेश

एक पत्रकार की हत्या की जांच में कथित रूप से दखल देने पर अवमानना के मामले मे नेपाली प्रधानमंत्री सुप्रीम कोर्ट के समक्ष पेश हुए. नेपाल में 2004 में एक पत्रकार की संदिग्ध माओवादियों के हाथों हत्या की जांच में कथित रूप से दखल देने के मामले में प्रधानमंत्री बाबूराम भट्टाराई ने दावा किया कि उन्होंने जांच को रोकने की कोशिश नहीं की थी. शीर्ष अदालत ने उनसे सफाई मांगी थी जिसके बाद भट्टाराई ने कहा कि उन्होंने ऐसा कुछ भी नहीं किया जो अवमानना के मुकदमे की वजह बनता हो.

दीपक चौरसिया, राणा यशवंत का इम्तहान 14 फरवरी से होगा शुरू

जी हां. दीपक चौरसिया की परीक्षा 14 फरवरी से शुरू होने वाली है. इस दिन इंडिया न्यूज नेशनल चैनल रीलांच किया जाएगा. दीपक के लिए अपने जीवन व करियर का सबसे बड़ा इम्तहान है यह. उन्होंने अपना अच्छा खासा करियर दांव पर लगाकर पैसे की खातिर इंडिया न्यूज का दामन थाम लिया. हालांकि आजकल करियर का दूसरा नाम पैसा ही है, और इंडिया न्यूज में दीपक को भरपूर पैसा मिला है, साथ ही मालिकाना हक भी उन्हें मिला है.

IRS 2012 Q3 : Top 10 Hindi dailies : प्रभात खबर ने सबसे ज्यादा पाठक बनाए

इंडियन रीडरशिप सर्वे 2012 की तीसरी तिमाही के टाप टेन हिंदी अखबारों के नतीजों पर नजर डालें तो जो चीज तुरंत नोट करने लायक समझ में आती है वो ये कि प्रभात खबर ने सबसे ज्यादा पाठक बनाए हैं. जाने-माने पत्रकार हरिवंश के संपादकत्व और प्रबंधन की तरफ से केके गोयनका के नेतृत्व में निकल रहे इस अखबार ने दैनिक जागरण, दैनिक हिंदुस्तान, दैनिक भास्कर जैसे बड़े अखबारों के साथ जंग लड़कर न सिर्फ खुद को आगे रखा बल्कि पाठकों में सबसे ज्यादा लोकप्रियता व पकड़ बनाए रखने में कामयाबी हासिल की.

IRS 2012 Q3 : Top 10 Publications में अंग्रेजी का सिर्फ एक अखबार

देश के टाप देन सबसे बड़े पब्लिकेशन्स में अंग्रेजी का सिर्फ एक अखबार है. वह है टाइम्स आफ इंडिया. बाकी सारे अखबार हिंदी या क्षेत्रीय भाषाओं के हैं. इससे पता चलता है कि यह देश भले ही अंग्रेजीदां लोग चला रहे हों लेकिन देश की जनता को अपनी भाषा में पढ़ना, सुनना और समझना पसंद है. तब भी दुर्भाग्य देखिए की रीडरशिप सर्वे के आंकड़े अंग्रेजी में ही जारी किए जाते हैं. टाप टेन पब्लिकेशन्स में नंबर वन पर है दैनिक जागरण अखबार. दसवें नंबर पर है मातृभूमि अखबार. टाइम्स आफ इंडिया छठें नंबर पर है. आईआरएस 2012 क्वार्टर तीन यानि तीसरी तिमाही में इन टाप टेन अखबारों का पूरा हाल इस प्रकार है-

IRS 2012 Q3 : Top Ten English Dailes : द हिंदू ने सबसे ज्यादा पाठक जोड़े

अंग्रेजी अखबारों के लिए आईआरएस 2012 की तीसरी तिमाही शानदार रही. टाप टेन अंग्रेजी अखबारों में सात अखबारों ने एआईआर (एवरेज इश्यू रीडरशिप) में वृद्धि की है. द हिंदू अखबारों ने सबसे ज्यादा पाठक बनाए हैं. टाप टेन अखबारों के क्रम में कोई बदलाव नहीं हुआ है. टाप टेन अंग्रेजी अखबारों में में तीसरे पायदान का अखबार द हिंदू ने दूसरी तिमाही के मुकाबले तीसरी तिमाही में 50,000 नए पाठक जोड़े हैं. द हिंदू का ताजा एआईआर 22.58 लाख है. पिछली तिमाही में 22.08 लाख एआईआर था. पिछली तिमाही (Q2) में द हिंदू को 25,000 पाठकों का नुकसान उठाना पड़ा था. Top Ten English Dailes के लिए IRS 2012 Q3 का हिसाब-किताब अंग्रेजी में इस प्रकार है….

IRS 2012 Q3 : टाप टेन अखबारों में ‘अमर उजाला’ को नुकसान, ‘राजस्थान पत्रिका’ सबसे तेज

इंडियन रीडरशिप सर्वे 2012 तीसरी तिमाही (IRS 2012 Q3) के नतीजे आ गए हैं. मीडिया रिसर्च काउंसिल ने सर्वे के आंकड़े जारी कर दिए हैं. इंडियन रीडरशिप सर्वे 2012 की तीसरी तिमाही के डाटा के अनुसार अमर उजाला की पाठक संख्या में कमी आई है. शीर्ष तीन अखबारों जागरण, भास्कर और हिंदुस्तान के पाठक बढ़े हैं. दैनिक जागरण, दैनिक भास्कर और हिन्दुस्तान समाचारपत्रों के पाठकों में 0.3 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है. दूसरी तरफ, अमर उजाला, डेली तांती, लोकमत और मातृभूमि के पाठकों की संख्या में कमी आई है.

विजय राय सहारा मीडिया में फिर वापस आने की जोड़तोड़ में जुटे!

: कानाफूसी : चर्चा है कि विजय राय सहारा मीडिया में वापसी के लिए खूब प्रयास कर रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक वे जल्द वापस आ सकते हैं. हालांकि विजय राय की सहारा से विदाई उनका फोटो समेत विज्ञापन छापकर की गई थी जिसमें उन पर कई तरह की गड़बड़ियों के कारण सहारा से निकालने की बात कही गई लेकिन सहारा का इतिहास है कि यहां कई लोग विज्ञापन छापकर निकाले जाने के बाद वापस ले लिए गए. तो संभव है कि विजय राय की वापसी हो जाए.

आलोक मेहता का विकल्प तलाश रहे हैं शैलेंद्र भदौरिया!

: कानाफूसी : यह चर्चा बहुत तेज है कि नेशनल दुनिया के नए प्रधान संपादक की खोज शुरू हो चुकी है. नेशनल दुनिया अखबार के मालिक शैलेंद्र भदौरिया अब फ्रंट फुट पर आकर खेलने लगे हैं. उन्होंने आलोक मेहता एंड कंपनी को किनारे लगाने के लिए रणनीतिक तरीके से काम शुरू कर दिया है. सबसे पहले तो उन्होंने खुद 26 जनवरी को अपना बयान अपने अखबार में छपवा कर और मेरठ एडिशन की लांचिंग की घोषणा कर इन खबरों को विराम दे दिया कि नेशनल दुनिया अखबार बंद होने वाला है.

नेशनल दुनिया में छपने वाली झूठी खबरों को शैलेंद्र भदौरिया पढ़ते हैं या नहीं? देखिए एक कटिंग

जो लोग पाठकों की स्मृति को कमजोर मानते हैं या खुलेआम अपने पाठकों की आंख में धूल झोंकने को अपना अधिकार मानते हैं उनमें से एक आलोक मेहता भी हैं. आलोक महेता और उनके लोग किस तरीके की एजेंडा पत्रकारिता करते हैं और अनाप-शनाप खबरें छापते हैं, इससे हर कोई वाकिफ है. पर शर्मनाक स्थिति तब पैदा होती है जब अपने ही झूठ को सच साबित करने के लिए ये लोग फिर से एक बड़ा झूठ बोल देते हैं.

नेशनल दुनिया का प्रकाशन 30 मार्च से मेरठ से भी : शैलेंद्र भदौरिया

नेशनल दुनिया हिंदी अखबार के 26 जनवरी के अंक में इस अखबार के मालिक शैलेंद्र भदौरिया का भाषण छपा है. भाषण में उन्होंने ढेर सारी घोषणाएं की हैं. प्रताप यूनिवर्सिटी वाले शैलेंद्र भदौरिया ने जानकारी दी है कि वे 30 मार्च से मेरठ से नेशनल दुनिया का प्रकाशन शुरू करने वाले हैं. 30 मार्च से ही नेशनल दुनिया का दिल्ली कार्यालय नोएडा के सेक्टर 11 में शिफ्ट हो जाएगा. भदौरिया का पूरा लेक्चर नेशनल दुनिया अखबार के पेज नंबर एक पर छपा है.

प्रमोद महाजन को रिश्वत देते हुए पकड़े गए थे मुकेश अंबानी

श्री मुकेश अंबानी

रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड

मेकर्स चैम्बर्स – IV, नरीमन पाइंट

मुंबई – 400021

श्री मुकेश अंबानी जी, अभी हाल ही में आपने देश के सभी टी.वी. चैनलों को मानहानि का नोटिस भेजा है। इनका जुर्म यह है कि इन्होंने 31 अक्टूबर, 2012 और 9 नवम्बर, 2012 को मेरी और प्रशांत भूषण की प्रेस कांफ्रेंस का सीधा प्रसारण किया था। हमने अपनी प्रेस कांफ्रेंस में देश के लोगों को बताया था कि किस तरह से आपने गैरकानूनी तरीके से सरकार पर दबाव डालकर गैस के दाम बढ़वाए।

महिला पत्रकार के साथ अबकी बीएसएफ जवान ने छेड़छाड़ की

जब महिला पत्रकार ही सुरक्षित नहीं हैं तो आम महिलाओं की स्थिति क्या होगी, इसे खुद ब खुद समझा जा सकता है. नोएडा में एक महिला मीडियाकर्मी के साथ डाक्टर ने छेड़छाड़ की थी. महिला मीडियाकर्मी ने हिम्मत दिखाई और पुलिस को सूचित किया जिसके कारण डाक्टर को गिरफ्तार किया जा सका. ऐसा ही कारनामा कोलकाता में हुआ है. यहां बीएसएफ के जवान ने महिला पत्रकार के साथ छेड़छाड़ की है. इस बारे में टाइम्स आफ इंडिया में विस्तार से खबर प्रकाशित हुई है, जो इस प्रकार है….

घनश्याम पटेल खबर भारती के इंदौर ब्यूरो चीफ, रजत और अजीत का भास्कर से इस्तीफा

इंदौर शहर के पत्रकार घनश्याम पटेल ने 28 जनवरी को खबर भारती चैनल में बतौर ब्यूरो चीफ ज्वाइन कर लिया है. वे करीब 12 बरस तक जी न्यूज़ के इंदौर-उज्जैन ब्यूरो चीफ रहे हैं. वरिष्ठता के चलते ही जी न्यूज़ के लिए उन्होंने गुजरात में आये ऐतिहासिक भूकंप को कवर किया था. उनके जी न्यूज़ के कार्यकाल में अनेक ऐसी ख़बरें सबसे पहले उनहोंने भेजी और बाद में दूसरे चैनलों पर आई.

रवींद्र शाह की पहली पुण्यतिथि पर म्यूजिकल श्रद्धांजलि देने की तैयारी

रवींद्र शाह की पहली पुण्यतिथि के मौके पर इंदौर में म्यूजिकल श्रद्धांजलि देने की तैयारी की गई है. पिछले साल 20 फरवरी को रवींद्र शाह का निधन एक सड़क दुर्घटना के दौरान हो गया था. रवींद्र शाह संगीत के बहुत बड़े प्रेमी थी. इसी कारण उनके चाहने-जानने वालों ने उनकी याद में संगीत कार्यक्रम का आयोजन किया है. इस बारे में एक मेल फारवर्ड कर सभी को सूचित किया जा रहा है. अगर आप तक मेल न पहुंची हो तो नीचे दिए गए संदेश को पढ़ें और प्रोग्राम के लिए खुद को निमंत्रित महसूस करें…

रीलांच हुआ नमस्‍ते बरेली, पाक्षिक के रूप में होगा प्रकाशन

बरेली से खबर है कि दैनिक जागरण के पूर्व सीजीएम चंद्रकांत त्रिपाठी के अखबार नमस्‍ते बरेली रीलांच किया गया है. अखबार की रीलांचिंग 26 जनवरी को की गई. अब इसे दैनिक की बजाय 16 पेज का पाक्षिक अखबार बना दिया गया है.  गौरतलब है कि कुछ समय पहले चंद्रकांत त्रिपाठी ने अपने मध्‍याह्न अखबार नमस्‍ते बरेली का प्रकाशन धूमधाम से किया था, परन्‍तु जनवार्ता के सरदार कमलजीत सिंह से विवाद हो जाने के बाद इसे बंद कर दिया गया था.

मालिक के कमीनेपन के कारण तीन महीने से भिखारी की जिंदगी जी रहा हूं

भड़ास वाले यशवंत जी नमस्कार, मैं न्यूज इलेवन में काम करनेवाला एक मामूली कर्मचारी हूं, मन लगाकर काम करता हूं कि महीने के अंत में पैसा मिलेगा, लेकिन इस कंपनी के मालिक के कमीनेपन के कारण तीन महीने से भिखारी की जिंदगी जी रहा हूं। आपसे निवेदन है कि आप मेरे नीचे लिखे पत्र को प्रकाशित करें और चैनल की स्थिति से लोगों को अवगत करायें, ताकि कोई दूसरा अरुप का शिकार न हो पाये, मेरे जैसे कई कर्मचारियों को सैलरी नहीं मिल रही, लेकिन इस पत्र के प्रकाशन के बाद तसल्ली जरुर मिलेगी।

एक पीड़ित पत्रकार न्यूज इलेवन का

भ्रष्‍टाचार उजागर करने वाले, कलेक्‍टर की नजरों में नक्‍सलवादी

प्रिय पत्रकार साथी, हाल ही में बड़वानी कलेक्‍टर का सरकार का लिख पत्र सार्वजनिक हुआ है जिसमें उसने अपने अधिकारों की लड़ाई लड़ रहे लोगों को नक्‍सलवाद से जोड़ने का प्रयास किया है। मजेदार बात है कि पुलिस ने इससे इंकार किया है। इसी संदर्भ में जागृत दलित आदिवासी संगठन की प्रेस विज्ञप्ति संलग्‍न है। इस संबंध में अधिक जानकारी हेतु संगठन के कार्यकर्ता हरसिंह जमरे, वालसिंह सस्तिया, माधुरी बहन आदि से madhuri.jads@gmail.com या 9179753640 संपर्क करें।

सधन्‍यवाद

रेहमत

राजस्‍थान में महारानी के लिए मुखौटे की तलाश

राजस्थान में बीजेपी नए अध्यक्ष के लिए मशक्कत कर रही है। कहा तो यही जा रहा है कि ऐसा अध्यक्ष चाहिए, जो अगले विधानसभा चुनाव में न केवल कांग्रेस के सर पर सवार हो सके। बल्कि बीजेपी को भी सत्ता के करीब लाने में सक्षम हो। पर, सच यह है कि राजस्थान में बीजेपी को कोई अध्यक्ष – वध्यक्ष नहीं चाहिए। असल तलाश मुखौटे की है। मुखौटा, जो, महारानी साहिबा श्रीमती वसुंधरा राजे की उंगलियों की कठपुतली और हुकुम का ताबेदार हो। वरना, अध्यक्ष के रूप में अरुण चतुर्वेदी क्या बुरे हैं। बहुत बढ़िया काम कर रहे हैं। ईमानदार है, सक्षम हैं और अपेक्षाकृत जवान भी। बहुत अच्छे से पार्टी को चला रहे हैं। और अपने कई पार्टी पूर्वजों के मुकाबले बीजेपी को कई गुना ज्यादा जोरदार शक्ल बख्शने में भी सफल रहे हैं।

‘Yes, we spent money on paid news ads’

: Confessions by politicians to EC belie claims of innocence by top newspapers : The political class is more honest than the media when it comes to ‘paid news’ during elections, judging by the fact that several poll candidates have owned up to this corrupt practice. At least, after the Election Commission and the Press Council of India shot off notices to them and held inquiries into the matter.

पद्म पुरस्‍कार विवादों पर हाईकोर्ट में रिट याचिका

पद्म पुरस्कारों में उठते तमाम विवादों के दृष्टिगत सामाजिक कार्यकर्ता नूतन ठाकुर ने इलाहाबाद हाई कोर्ट, लखनऊ बेंच में एक रिट याचिका दायर किया है. उन्होंने प्रार्थना की है कि गृह मंत्रालय एवं प्रधानमंत्री कार्यालय को सुप्रीम कोर्ट द्वारा सुझाए गए राष्ट्रीय चयन समिति का गठन और मात्रात्मक एवं गुणात्मक रूप से स्पष्ट अर्हता निर्धारित करने हेतु निर्देशित किया जाये. उन्होंने यह भी प्रार्थना की है कि पद्म पुरस्कारों के प्रोफोर्मा में धर्म और जाति (एससी/एसटी/ओबीसी/सामान्य) का जिक्र हटाया जाये. 

पढि़ए.. कैसे मीडिया में लड़कों के साथ होता है भेदभाव?

अक्सर कहा जाता है कि भारत में महिलाओं एवं लड़कियों के साथ भेदभाव होता है। लेकिन यर्थाथ में जो होता है वो बिल्कुल अलग होता है, भेदभाव के शिकार अक्सर लड़के होते हैं। आज विष्णु गुप्त से इसी पर बात हो रही थी कि किस तरह से मीडिया में सुंदर दिखने वाली उन लड़कियों को रख लिया जाता है जिन्हें कुछ नहीं आता है। मेरे पास भी कई उदाहरण हैं। एक उदाहरण खुद एक लड़की ने बताया था। एक मीडिया स्कूल में उसके साथ पढ़ने वाले एक लड़के ने अपने किसी जानने वाले के रेफरेंस से एक प्रमुख हिन्दी चैनल में वरिष्ठ पद पर काम करने वाले पत्रकार से मिलने का समय मांगा था।

इनक्लूसिव मीडिया फेलोशिप के लिए छह राज्‍यों के आठ पत्रकार चयनित

हिन्दी और अंग्रेजी भाषा के आठ पत्रकारों का चयन विकासशील समाज अध्ययन पीठ (सीएसडीएस) द्वारा दी जाने वाली इनक्लूसिव मीडिया फेलोशिप के लिए हुआ है। चयनित पत्रकार देश के छह राज्यों से हैं। खोजी और सार्थक पत्रकारिता की श्रेष्ठ परंपरा का निर्वाह करते हुए चयनित फैलो ग्रामीण समुदाय की चिन्ताओं और समस्याओं को जन-सामान्य के बीच लाने और उस दिशा में नीतिगत हस्तक्षेप की जमीन तैयार करने के लिए, उनके बीच कुछ समय बितायेंगे।

माओवादी समर्थकों की धमकी के बाद जान बचाकर भागे 22 पत्रकार

काठमांडू:  नेपाल के एक मीडिया अधिकार समूह ने कहा है कि देश के पश्चितोत्तर हिस्से में प्रधानमंत्री की राजनीतिक पार्टी के समर्थकों की ओर से धमकी मिलने के कारण 22 पत्रकारों को एक कस्बे से भागना पड़ा है। ‘फैडरेशन ऑफ नेपालीज जर्नलिस्ट’ के जगत नपाल ने कहा कि सुरखेत शहर के निकट दैलेख कस्बे से बीते सप्ताह पत्रकारों को भागना पड़ा क्योंकि सीपीएन-माओवादी के समर्थकों से उन्हें धमकी मिली थी।

ईरान में छह महिला समेत 13 पत्रकार हिरासत में

ईरान में फ़ारसी भाषा के विदेशी मीडिया संगठनों के साथ सहयोग करने के आरोप में कम से कम तेरह पत्रकारों को हिरासत में लिया गया है. इनमें सात पुरुष और छह महिला पत्रकार शामिल हैं जो अलग-अलग मीडिया संगठनों के लिए काम करते हैं. ख़बरों में कहा गया है कि उन्हें रविवार को हिरासत में लिया गया था. ईरान बीबीसी की फ़ारसी सेवा और अमरीका की वॉयस ऑफ अमरीका को शत्रु संगठन के तौर पर देखता है.

सेक्‍स स्‍कैंडल उजागर करने वाले खोजी पत्रकार पर गिरी पुलिस की गाज

बीजिंग। चीन में सरकार अक्सर अभिव्यक्ति की आजादी पर रोक लगाती है। इसके पहले भी कई उदाहरण सामने आ चुके हैं। सत्ताधारी पार्टी के नेता का सेक्स स्कैंडल इंटरनेट पर सार्वजनिक करने वाले खोजी पत्रकार को चीनी पुलिस ने सोमवार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने धमकी दी अगर उसने अपने पास रखे अन्य वीडियो टेप पुलिस के हवाले नहीं किये तो उस पर सुबूतों को छिपाने का मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

राखी बख्शी ने इस्तीफा नहीं दिया बल्कि उन्हें टर्मिनेट किया गया, ये है प्रमाण

लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार की मीडिया एडवाइजर राखी बख्शी ने मीडिया एडवाइजर पद से खुद इस्तीफा दिया या उन्हें टर्मिनेटड किया गया, इसको लेकर कायम भ्रम की स्थिति अब खत्म हो गई है. भड़ास4मीडिया के पास वो टर्मिनेशन लेटर है जिसमें कहा गया है कि राखी बख्शी को मीडिया एडवाइजर पद से लोकसभा अध्यक्ष 31 दिसंबर 2012 की शाम से टर्मिनेट मानती हैं.

नहीं लांच हो पाया अल्फा ग्रुप का न्यूज चैनल ‘नेशन टुडे’

26 जनवरी के दिन अल्फा ग्रुप के नेशनल न्यूज चैनल 'नेशन टुडे' को लांच करने की घोषणा सच साबित नहीं हुई. बताया जाता है कि चैनल की क्वालिटी सही न होने और फिनिशिंग टच न दिए जाने के कारण लांचिंग को टाल दिया गया. अब मध्य फरवरी में यह चैनल लांच होगा. चैनल के एडिटर इन चीफ शैलेश हैं जो आजतक में लंबे समय तक वरिष्ठ पद पर रह चुके हैं. शैलेश पर इस चैनल को खड़ा कर ले जाने की बड़ी जिम्मेदारी है जिसके कारण वह हर कदम फूंक फूंक कर रख रहे हैं. उन्होंने 'नेशन टुडे' को सफलता दिलाने को अपनी प्रतिष्ठा का प्रश्न बना लिया है.

विनीत मित्तल की गिरफ्तारी पूर्व एमएलसी राकेश से धोखाधड़ी करने के कारण हुई

: धोखाधड़ी के मामले में कोर्ट से था वारंट : मोहनलालगंज पुलिस ने पकड़ा, कोतवाली में प्रदर्शन : लखनऊ : मोहनलालगंज पुलिस ने धोखाधड़ी के एक मामले में रायबरेली रोड स्थित लखनऊ कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट के फाउंडर चेयरमैन विनीत मित्तल को गिरफ्तार कर लिया। इंस्पेक्टर मोहनलालगंज योगेंद्र सिंह के मुताबिक धोखाधड़ी के मामले में सीओ मोहनलालगंज ने विनीत मित्तल व अन्य के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया था। विनीत के खिलाफ कोर्ट ने गैरजमानती वारंट जारी किया था।

I&B Ministry issues notice to PTC for airing ads on gurdwara polls

Chandigarh : The Union Ministry of Information and Broadcasting has issued a showcause notice to PTC news channel, following allegations of the channel airing advertisements canvassing for votes in favour of a particular political party in connection Delhi Sikh Gurudwara Management Committee. These advertisements were reportedly aired on January 26 — a day after the campaigning for the elections had ended.

नोएडा में महिला मीडियाकर्मी को छेड़ने वाला पतंजलि का डाक्टर गिरफ्तार

नोएडा : उत्तरप्रदेश के नोएडा में रामदेव की पतंजलि आयुर्वेदिक क्लीनिक के एक चिकित्सक के खिलाफ छेड़खानी के आरोप लगाए जाने के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। नोएडा पुलिस के अनुसार पीड़िता एक मीडियाकर्मी है और उसने अशोक भदौरिया नाम के चिकित्सक के खिलाफ सेक्टर 32 स्थित क्लिनिक में छेड़खानी करने की प्राथमिकी दर्ज कराई है।

‘पत्रकारिता के नटवरलाल’ सरीखी एक कहानी ये भी

Priy Yashwant Bhai Ji, Jai Ram ji ki. Bhadas khub achha nikal raha hai. Din ki shuruvat chay aur bhadas se hi hoti hai. Ek story bhej raha hu. Dekh lijiye. 100% satya hai. Agar pasand Aa jaye to chhap dijiye. Badi meharbani hogi. Agar apne amulya samay me se iska link bhej denge to ham ye mail kai logo ko forward kar denge. Aur na bhi bhejenge to koi bat nahi. Ham bhadas din me 5 bar padhte hai. -Apka ek Gumnam pathak

माधवकांत उर्फ मार्तंडपुरी बने महामंडलेश्वर

पत्रकारिता-जगत से संन्यास-जगत में दाखिल होने वाले माधवकांत मिश्र अब महामंडेलश्वर स्वामी मार्तण्ड पुरी महाराज बन गये हैं। उन्हें श्री पंचायती महानिर्वाणी अखाड़ा के शिविर में शुक्रवार को महामंडलेश्वर पद से विभूषित किया गया। निर्वाण पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर विश्वदेवानंद जी के सानिध्य में आयोजित भव्य समारोह में मार्तण्ड पुरी जी का विधि-विधान से पट्टाभिषेक किया गया। इस मौके पर भारी तादाद में मौजूद महामंडलेश्वरों, श्री महंतों, आचायरे और संत महापुरुषों ने उन्हें आशीर्वाद प्रदान किया।

समकालीन रंगमंच पत्रिका का जयपुर में अशोक वाजपेयी ने किया लोकार्पण

जयपुर। राजस्थान की राजधानी गुलाबी नगरी जयपुर में चल रहे साहित्य उत्सव के दौरान रंगमंच पर आधारित पत्रिका समकालीन रंगमंच का भी शहर में संस्था रंगशीर्ष के सहयोग से लोकार्पण हुआ। पत्रिका का विमोचन प्रख्यात साहित्यकार और चिंतक डॉ. अशोक वाजपेयी ने किया। पिंक सिटी प्रेस क्लब में आयोजित एक कार्यक्रम में रंगमंच की आवाज़ बनने का मिशन लिए इस पत्रिका और रंगकर्मियों के साथ साथ समाज के बीच ऐसी पत्रिका की आवश्यक्ता और रंगमंच के वर्तमान परिदृश्य को लेकर एक परिचर्चा भी हुई।

ईटीवी के 11 साल : बाजारवाद में पूरा बाजारू हो गया ये चैनल

संपादक, भडास फार मीडिया से आग्रह है कि इसे बिना नाम के ही छापें, अन्य़था लेखक के पेट में लात पड़ते देर नहीं लगेगी। बात मैं ईटीवी के बारे में बताने जा रहा हूं। इस चैनल के 11 साल पूरे हो चुके हैं, 27 जनवरी के दिन। खुद को रीजनल चैनलों का सरताज कहने वाला ईटीवी न्यूज चैनल पैसा कमाने की होड़ में इस कदर आगे बढ़ चुका है कि उसे ये तक ख्याल नही है कि वो न्यूज चैनल है या विज्ञापन चैनल?

स्ट्रिंगर पर शोध कर रहे हैं उज्जवल कुमार, कुछ मामले इन्हें बताएं

उज्जवल कुमार ने भड़ास4मीडिया को मेल करके सूचित किया है कि वे स्ट्रिंगरों पर शोध कर रहे हैं. उन्हें केस स्टडी के लिए कुछ मामले चाहिए. स्ट्रिंगर के दुख-दर्द के प्रकरण चाहिए. अगर कोई स्ट्रिंगर साथी चाहता हो कि उज्जवल की मदद करे तो नीचे दिए गए उनके नंबर या मेल आईडी पर उनसे संपर्क कर सकता है. उज्जवल कुमार ने अपने मेल में जो लिखा है, वह इस प्रकार है-

गोंडा के वरिष्ठ पत्रकार केसी महंथ का निधन

गोंडा के वरिष्ठ पत्रकार केसी महंथ नहीं रहे। उनके जाने से उनके घर के लोग दुखी होंगे। शहर वाले भी कुछ देर के लिए, पर अफ़सोस, यह ख़बर की दुनिया की बड़ी ख़बर नहीं। क्यों? क्या महज इसलिए कि केसी महंथ ने ज़िंदगी भर बड़े दांव नहीं खेले, वो सितारा बनने के लिए ज़रूरी कवायदों में शामिल नहीं रहे? पर महंथ जी, आप हमारे लिए बेहद ज़रूरी थे. आपके होते हुए उस शहर में एक गांव बचा हुआ नज़र आता था… आपको याद करते हुए कुछ लिखा है – आपको ही नज़र कर रहा हूं…

कलयुग की द्रौपदी का ‘चीरहरण’, कल रात प्राइम टाइम में देखें

कलयुग की द्रौपदी का चीरहरण, कल रात प्राइम टाइम में देखें। बुलेट न्यूज चैनल पर कार्यक्रम का विज्ञापन चल रहा था। चलो अच्छा है, इलेक्ट्रानिक मीडिया ने किसी ज्वलंत मुद्दे पर ध्यान लगाया है। नहीं तो टीआरपी के रेलमपेल में 'नरक के सातवें द्वार पर हमारा कैमरा टीम पहुंचा', 'किस हिरोईन की नवजात बच्ची की शक्ल पहली बार दिखी', 'किसने छींका' और 'किसमें-किसमें कट्टी हुई' ही दिखाते थे। अब जाके बच्चू अग्नि सत्य के वसीभूत हुए है।

कहां गायब हो गई संसद?

छब्बीस  जनवरी का सूरज जब रायसीना हिल्स के पीछे डूब रहा था, तभी एक न्यूज़ चैनल पर ब्रेकिंग न्यूज़ चलनी शुरू हुई…..संसद गायब…..सरकार खामोश….दिल्ली पुलिस को कुछ पता नहीं…..सरकार एवं मुख्य विपक्षी दल बीजेपी का प्रतिक्रिया देने से इंकार। एक के बाद एक सारे चैनलों पर इसी तरह की सुर्खियाँ छा गईँ। पूरे देश में हंगामा मच गया।

मैं भीष्म प्रतिज्ञा करता हूं कि फिर कभी किसी महिला की मदद नहीं करूंगा

कुछ दिनों पहले मैंने सब टीवी पर प्रसारित लोकप्रिय धारावाहिक ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ देखा। उस समय इसका प्रमुख पात्र जेठालाल एक अजीब उलझन में फंसा हुआ था। घटना के अनुसार, एक बार वह घूमने के लिए किसी पहाड़ी स्थल पर जाता है। वहां एक फिल्म की शूटिंग होती है, जिसमें जेठालाल दूल्हे का रोल कर बैठता है, क्योंकि उसे अभिनय का बेहद शौक है। कई साल बाद फिल्म की वह दुल्हन गुलाबो मुंबई आकर जेठालाल से पत्नी होने का अपना हक मांगने लगती है और फिल्मी शादी को असली शादी बताती है।

सहारा के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर रह चुके विनीत मित्तल लखनऊ में गिरफ्तार

लखनऊ से खबर आ रही है कि मोहनलालगंज इलाके से विनीत मित्तल को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है. विनीत मित्तल सहारा समूह में एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर हुआ करते थे लेकिन सुब्रत राय से उनकी ऐसी खटकी कि न सिर्फ उन्हें बर्खास्त कर दिया गया बल्कि उनके खिलाफ कई मुकदमें भी दर्ज करा दिए गए थे. उन्हीं मुकदमों के सिलसिले में पुलिस ने मित्तल को अरेस्ट किया है.

बीकानेर में प्रेस क्लब का गठन, श्याम मारू अध्यक्ष बने

बीकानेर। गणतंत्र दिवस पर बीकानेर में प्रेस क्‍लब का गठन किया गया। एडहॉक कमेटी के वरिष्‍ठ सदस्‍य केके गौड ने प्रेस क्‍लब की कार्यकारिणी की घोषणा की। बीकानेर प्रेस क्‍लब के अध्‍यक्ष पद पर श्‍याम मारू, महासचिव पद पर अपर्णेश गोस्‍वामी और कोषाध्‍यक्ष पद पर बीजी बिस्‍सा को सर्वसम्‍मति से मनोनीत किया गया। साथ ही नीरज जोशी व ह‍रीश बी शर्मा को वरिष्‍ठ उपाध्‍यक्ष, भवानी जोशी व रवि बिश्‍नोई को उपाध्‍यक्ष, जयनारायण बिस्‍सा व कमल कान्‍त शर्मा को संयुक्‍त सचिव तथा राकेश आचार्य को कार्यालय सचिव बनाया गया।

राजस्थान के चैनल एचबीसी में फिर गहराया सेलरी संकट

राजस्थान से प्रसारित प्रादेशिक चैनल एचबीसी में एक बार फिर से स्ट्रिंगरों के वेतन का संकट आ गया है. जबसे यह चैनल लांच हुआ है तभी से यह चैनल स्ट्रिंगरो की सेलरी को लेकर कुचर्चा में रहा है. अभी भी तीन तीन महीने तक सेलरी के लिए स्ट्रिंगरों को मुंह ताकना पड़ रहा है.

गणतंत्र दिवस पर चैनलों ने छुट्टी खत्म की, फिर दोगुनी तनख्वाह पर गिराई गाज

26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस देश के तीन राष्ट्रीय अवकाशों में से एक है और संस्थान चाहे सरकारी हो या निजी, सभी में इस दिन छुट्टी रखना जरूरी होता है। अगर अत्यावश्यक सेवाओं जैसे अस्पताल, अग्निशमन, पुलिस आदि में इस दिन छुट्टी नहीं दी गयी तो उन संस्थानों में काम करने वाले कर्मियों को कंपन्सेट्री ऑफ यानी बदले में अवकाश देने का प्रावधान है। पहले अखबारों के जमाने में तो तीनों दिन अखबार नहीं छपते थे, लेकिन धीरे-धीरे खबरिया टीवी चैनलों का जमाना आया।

भोपाल से पत्रिका ‘राइजिंग बुंदेलखंड’ लांच, ‘फेम इंडिया’ को चाहिए पत्रकार

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से बुंदेलखंड जैसे पिछड़े इलाके को आधार बनाकर मासिक पत्रिका 'राइजिंग बुंदेलखंड' शुरू की गई है। इस पत्रिका में बुंदेलखंड की जन समस्याओं को उजागर किया जायेगा। भोपाल में आयोजित एक कार्यक्रम में मध्य प्रदेश महिला आयोज की अध्यक्ष उपमा राय, प्रदेश कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष शोभा ओझा, टी वी पत्रकार श्वेता सिंह और बुंदेलखंड की प्रसिद्ध गुलाबी गैंग की महिलाओं ने पत्रिका का विमोचन किया।

वाराणसी पत्रकारपुरम् विकास समिति का गठन, विधायक ने दिए पांच लाख रुपये

काशी पत्रकार संघ के रवैये और उदासीनता से खफा बनारस के पत्रकारों ने पत्रकारपुरम् के विकास हेतु 26 जनवरी के दिन वाराणसी पत्रकारपुरम् विकास समिति का गठन किया है. इसका संयोजक दैनिक जागरण के पत्रकार राकेश चतुर्वेदी को बनाया गया है. समिति में धर्मेन्द्र सिंह, विकास पाठक, विनोद बागी, हरिवंश तिवारी, रामात्मा, अजय राय, चेतन उपाध्याय, अरविन्द उपाध्याय, सुभाष सिंह, यशवंत सिंह, डॉ. दयानंद, जितेंद्र श्रीवास्तव, गिरीश दूबे, सुरेश प्रताप, संजय सिंह, हिमांशु उपाध्याय समेत दर्जनों पत्रकार शामिल हैं.

उदय कुमार का संपादक के रूप में जाने लगा नाम, भूपेश उपाध्याय का इस्तीफा

देवप्रिय अवस्थी यानि डीपी अवस्थी का नाम अमर उजाला, नोएडा की प्रिंटलाइन से हट गया है. उनकी जगह अब उदय कुमार का नाम संपादक के रूप में जाने लगा है. उदय कुमार का हाल में ही नोएडा तबादला किया गया है. वे इससे पहले चंडीगढ़ में बतौर नार्थ हेड कई वर्षों से अमर उजाला का काम देख रहे थे.

आज तक की पत्रकार श्वेता सिंह का भोपाल में हुआ सम्मान

भोपाल। अपोलो मीडिया सोल्यूशन द्वारा 64वें गणतंत्र दिवस के मौके पर ''दामिनी के नाम शहीदों को प्रणाम'' कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर, महिला आयोग की अध्यक्ष उपमा राय और विशिष्ट अतिथि महिला कांग्रेस की पूर्व प्रदेश अध्यक्ष शोभा ओझा मौजूद रहे।

उत्तराखंड के दूरस्थ ग्रामीण इलाकों में भगवान भरोसे है आम जन की ज़िंदगी

सभी नागरिकों को बेहतर चिकित्सा और स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराना जनपक्षधरता का बुनियादी सरोकार है। एक लोक कल्याणकारी सरकार की नैतिक और संवैधानिक जिम्मेदारी भी। अच्छा स्वास्थ्य हासिल करना हरेक नागरिक का बुनियादी हक है। शिक्षा, चिकित्सा और स्वास्थ्य सेवाएं समाज की उन्नति और विकास का पैमाना होती है। पर नवोदित राज्य उत्तराखण्ड के संदर्भ में ये बातें अर्थहीन है। उत्तरप्रदेश से अलग होते ही हिमालय की इस तलहटी को स्वर्ग बना देने के सपनों और दावों की कोख से जन्मा उत्तराखण्ड राज्य अपने नागरिकों को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य जैसी बुनियादी सहूलियते मुहैय्या कराने में भी बुरी तरह नाकाम साबित हो रहा है। प्रदेश की सार्वजनिक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य व्यवस्था दिन-ब-दिन पंगु होती जा रही है। विकास के तमाम खोखले दावों के बीच उत्तराखण्ड सरकार चुपके से अपने बुनियादी दायित्वों से मुंह मोड़कर जाने-अनजाने चिकित्सा और स्वास्थ्य सेवाओं को बाजार के हवाले करने पर आमदा है।

हिंदुस्तान, देहरादून में स्ट्रिंगर को सीनियर रिपोर्टर बना दिया गया

हिंदुस्तान के देहरादून एडिशन से खबर है कि स्ट्रिंगर विमल पुरवाल को तहसील से उठाकर राजधानी में सीनियर रिपोर्टर बना दिया गया. संपादक गिरीश गुरूरानी के इस फैसले का हिंदुस्तान के कई रिपोर्टरों ने विरोध किया है और प्रबंधन से शिकायत दर्ज कराई है. सूत्रों का कहना है कि देहरादून में उषा रावत, अंशुल दांगी कई साल से स्ट्रिंगर हैं और पैसा भी 5 हज़ार से ज्यादा नहीं मिल रहा लेकिन संपादक ने अचानक विमल पुरवाल को सीनियर रिपोर्टर बना दिया और उषा रावत व अंशुल दांगी की अनदेखी कर दी.

समाजशास्त्री नंदी का हंगामे से विचलित होकर सफाई देना उचित नहीं लगता

: विचारों के गणतंत्र की सच्चाई! : प्रख्यात समाज शास्त्री आशीष नंदी ने जयपुर साहित्य सम्मेलन के रिपब्लिक आफ आइडियाज अर्थात ‘‘विचारों का गणतंत्र’’ नामक सत्र में बोल रहे थे। दलितों व पिछड़ों को सबसे ज्यादा भ्रष्ट तो बताया ही, साथ ही पश्चिम बंगाल का उदाहरण देते हुए यह भी कहा कि वहां भ्रष्टाचार सबसे कम इसलिए है क्योंकि वहां पिछले 100 साल में दलितों व पिछड़ों को सत्ता के नजदीक आने का मौका ही नहीं मिला। नंदी के यह बयान देते ही हंगामा मच गया।

किसी से प्रेम कर बैठे तो ये न सोचना कि अब उसी से शादी करनी पड़ेगी

दो दिन पहले पुणे से मेरी दोस्‍त अनु आई थी। हम दोनों अलग-अलग शरीरों में जैसे एक-दूसरे की कार्बन कॉपी हैं। हमारे दिल-दिमाग एक, हमारे सपने एक, यहां तक कि हमारी लड़ाइयां और हमारी गालियां भी एक। लेकिन अभी मैं अनु नहीं, उसके पापा के बारे में कुछ बताना चाहती हूं। वो एक गर्ल्‍स इंटर कॉलेज के प्रिंसिपल हैं और हरियाणा के एक गांव में रहते हैं। पता है, वो अपनी दोनों बेटियों से, अपने स्‍कूल और अपने गांव की लड़कियों से क्‍या कहते हैं –

‘इंडिया टीवी के सुधीर पांडेय के भीतर का बाभन जाग गया’

एक महान किस्म के टीवी कर्मचारी हैं. इण्डिया टीवी में काम करते हैं. अब साब काम क्या करते होंगे, जादू टोना ही दिखाया जाता है उसपे. कल रात में आशीष नंदी प्रकरण पर उनके भीतर का बाभन जाग गया. भीतर छुपा संघ भी. नाम है सुधीर पाण्डेय. दिलीप मंडल जी के वाल पर कुछ व्यक्तिगत टीका टिपण्णी की शुरुआत की उन्होंने. जैसा कि संघियों की आदत में शुमार है. उसके बाद जनाब ने एक लम्बा सा नोट लिखा मेरे बारे में. स्क्रिप्ट बिलकुल इण्डिया टीवी जैसी, 'ये देखिये, ये बिल्ली है' 'ये देखिये अब ये बिल्ली रंग बदलती है'…

बिहार में एसपी स्तर का अफसर पैसों के लिए इस कदर हुआ हुआ बर्बर

: डीजीपी साहब! इस बर्बरता को क्या कहेंगे आप? : राज्य के पुलिस प्रमुख पुलिसकर्मियों को जितना पुलिस फ्रेन्डली होने का पाठ पढ़ा रहे हैं उनकी पुलिस उतनी ही ‘अनफ्रेन्डली’ होती जा रही है। ताजा उदाहरण शेखपुरा के बरबीघा का है। शेखपुरा एसपी बाबु राम के निर्देश पर बरबीघा पुलिस ने 24 जनवरी को बरबीघा थाना के तेईपर मोहल्ले से एक पच्चीस वर्षीय युवक मुकेश उर्फ छोटी को अवैध शराब बिक्री में संलिप्ता के कथित आरोप में गिरफ्तार कर लिया। मुकेश को एसपी आवास ले जाया गया जहां उसे छोड़ने के एवज में भारी राशि की मांग की गई।

बलात्कारी पुलिस अधिकारी को राष्ट्रपति पुरस्कार से नवाजने की घोषणा

Himanshu Kumar : छत्तीसगढ़ के एक और बलात्कारी पुलिस अधिकारी को राष्ट्रपति पुरस्कार से नवाजने की घोषणा करी गई है. इस बलात्कारी पुलिस अधिकारी का नाम है एसआरपी कल्लूरी. लेधा नामक एक आदिवासी महिला के साथ कल्लूरी और उसके सिपाहियों ने एक माह तक बलात्कार किया था. कल्लूरी साहब ने लेधा के गुप्तांगों में मिर्चें भर दी थीं. लेधा ने जिला जज के सामने अपने बयान में यह सब दर्ज करवाया था. लेकिन कल्लूरी ने पीड़ित महिला लेधा और उसके परिवार पर दबाव बनाना शुरू किया तो मानवाधिकार कार्यकर्ता उस बलात्कार के मामले को छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट में ले गये.

कमर मटकाने और क्रिकेट खेलने वालों को क्यों मिलता है पदम भूषण और पदम श्री जैसे पुरस्कार?

बी.पी. गौतम :  इत्ती बात तो समझ आ गई कि पत्रकारिता से रोटी के साथ पुरस्कार भी नहीं मिलना है, जबकि कमर मटका कर बड्डा आदमी बनने के साथ पदम् भूषण और पदम् श्री की उपाधि आसानी से मिल सकती है … देखो न, फिल्म फेयर अवार्ड की तरह ही फिल्म वालों ने पदम् भूषण और पदम् श्री झटक लिए … कमर मटकाना महान काम है, क्रिकेट खेलना महान काम है, कपड़े सिलना भी महान काम है और पचास से अधिक लड़कियों का संग करने के बाद मर जाना भी महान काम है … अरे कोई है, जो मुझे कमर मटकाना सिखा दे…

पत्रकार इरफान शेख की किताब ‘राहुल- एक करिश्मा’ का शिंदे ने किया विमोचन

दिल्ली : केंद्रीय गृहमंत्री सुशील कुमार ने ''राहुल-एक करिश्मा'' नामक पुस्तक का विमोचन करते हुए राहुल गांधी की तारीफ की। वरिष्ठ पत्रकार मोहम्मद इरफान शेख की पुस्तक के विमोचन के मौके पर गृहमंत्री शिंदे ने कहा कि राहुल गांधी से बड़ी उम्मीदें हैं, वे एक नयी सोच को दिशा देंगे और युवाओं को राजनीति की मुख्यधारा से जोड़ेंगे।

सहरसा में कोसी क्षेत्र के साहित्यकारों का समागम : प्रसंग- ‘क्रांति गाथा’ का लोकार्पण

: साहित्य का धर्म बड़ा व्यापक है : दामिनी का कलंक इस संसार पर लगता रहेगा, हमारा काम इसे रोकना है : फुकियामा ने कहा था विचार का अंत नहीं हुआ है : जिसमें सृजन की चेतना है वही साहित्यकार है : 23 जनवरी को सहरसा विधि महाविधालय में डा. जी. पी. शर्मा रचित काव्य ग्रंथ ’क्रांति गाथा’ का लोकार्पण करते हुए  डा. रमेन्द्र कु. यादव ’रवि’ (पूर्व सांसद व संस्थापक कुलपति भू.ना.मं. विश्ववि. मधेपुरा )  ने कहा कि विगत चालीस वर्षों में ‘क्रांति गाथा’ जैसी पुस्तक पढ़ने का पहली बार मौका मिला, 1857 से 1947 तक के भारतीय मुक्तिा संघर्ष के इतिहास को काव्यात्मक शैली में पिरोकर कवि डा. जी. पी. शर्मा ने भारतीय जनमानस का बड़ा उपकार किया है। उन्होंने कहा कि सबसे बड़ा धर्म साहित्य का सृजन है, जिसमें सृजन की चेतना है वही साहित्यकार है। हम युग को बदलते हैं युगधर्म बदलते हैं। हम क्र्रांति को पालते हैं क्रांति का प्रचार प्रसार करते हैं।

भ्रष्ट अफसरों को संरक्षण देने वाले मुलायम का अखिलेश से बेहतरी की उम्मीद करना बेमानी है

सैफई में पिता ने पुत्र से कहा- तुम्हारा राज ख़राब चल रहा है, कुछ भी ठीक नहीं हो रहा है… यह सुनकर सबको लगा एक पिता का शायद पुत्र पर स्नेह है इस कारण सुधारने की कोशिश में लगा है. पर जब अगले 15 दिन में ही यह बात पिता ने बार-बार दोहरानी शुरू कर दी, तो लोगों को लगा कि शायद मामला कुछ गड़बड़ है. लोगों ने कयास लगाने शुरू कर दिए कि पिता ने पुत्र को गद्दी तो सौंप दी, पर अब शायद उन्हें कुछ अधूरा-अधूरा सा लग रहा है.

‘ADAAB TV’ Launched in Mumbai

Mumbai's 1st Digital Broadband Urdu TV Channel "Adaab TV" has been launched in Mumbai. The launch has chosen Pious and auspicious occasion of Eid-e-Milad-un-Nabi and our Republic Day to launch its services. A Press Conference was organised to announce the Launch of the channel the pre-eve of Eid-e-Milad-un-Nabi on the 24th January 2013, at Mumbai Marathi Patrakar Sangh, Azad Maidan, Fort, Mumbai.

स्ट्रिंगर बनाने के नाम पर उगाही में लिप्त है साधना न्यूज!

भोपाल : अगर आप यह सोच कर साधना न्यूज़ में अपना बायोडाटा बतौर स्ट्रिंगर काम करने के लिए इस पते info@sadhnanews.net पर भेज रहे हैं और यह सोच रहे हैं कि आप एक अच्छी पत्रकारिता कर सकते हैं, या आपको न्यूज़, स्टोरी के बदले में साधना न्यूज़ आप को भुगतान देगा तो आप बिलकुल गलत सोचते हैं. अगर आप को साधना न्यूज़ चैनल में काम करना है तो तैयार हो जाइए अपनी जेब ढीली करने के लिए है.

एनडीटीवी इंडिया का एक एडिटर कई आरोपों के घेरे में!

प्रिय यशवंत जी, मुझे आपकी वेबसाइट के बारे में अपने एक पत्रकार मित्र के ज़रिए जानकारी मिली। दो-तीन दिन आपके पोर्टल को पढ़ने के बाद ऐसा लगा कि मैं आपके साथ एक खबर को शेयर कर सकता हूँ। खबर को पढ़ने के बाद ये आप पर निर्भर करता है कि आप उस खबर को अपनी वेबसाइट पर जगह देंगे या नहीं। खबर NDTV INDIA न्यूज़ चैनल के एक एडिटर के बारे में है।

इस कदर मिर्च-मसाला लगाकर खबरें क्यों छापता है दैनिक भास्कर?

चंडीगढ से लड़की का अपहरण कर गैंगरेप के मामले में दैनिक भास्‍कर के बठिंडा एडिशन की खूब छीछालेदर हो रही है। विरोधी अखबारों से खुद को अव्‍वल साबित करने के चक्‍कर में बठिंडा भास्‍कर ने गैंगरेप की कहानी रचने वाली युवती के मामले में इतनी सनसनी खड़ी कर दी कि अब वे खुद मुंह छुपाते फिर रहे हैं। किसी भी छोटे मामले को बढा–चढाकर छापने में भास्कर पहले भी सवालों के कटघरे में रहा है। लेकिन अब बिल्‍कूल फर्जी कहानी को इमोशनल तरीके से अखबार बेचने के चक्‍कर में इतना सनसनीखेज बनाने पर भास्‍कर का बाजार में खूब मजाक उड़ रहा है।

रवींद्र रंजन की पुस्तक ‘द ग्रेट मीडिया स‌र्कस’ के कुछ रोचक अंश

"तमाशा स‌र्कस के पुराने चीफ की वापसी होने वाली है। वापसी का ऎलान हो चुका है। स‌र्कस के स‌भी छोटे-बड़े कलाकारों को इत्तिला कर दिया गया है। इस खबर स‌े स‌र्कस में मिला-जुला माहौल है। स‌र्कस के पुराने कलाकार खुश हैं। उन्हें इस चीफ की आदत पड़ चुकी है। जब तक चीफ की डांट नहीं खाते पेट ही नहीं भरता। चीफ की डांट खाने के बाद ही वह अच्छा खेल दिखा पाते हैं। लिहाजा उनका खुश होना लाजिमी है। चीफ की इस 'वाइल्ड कार्ड एंट्री' स‌े कुछ कलाकार परेशान भी हैं। ये वो कलाकार हैं, जिनके हाथ-पैर चीफ का नाम स‌ुनते ही कांपने लगते हैं। वह ये स‌ोचकर परेशान हैं कि अब पुराना वाला चीफ हर वक्त रिंग में होगा। जब-तब हंटर फटकारेगा। स‌र्कस में खौफ का माहौल बनाएगा। "

अनुप्रिया पटेल ने पीएम और सीएम को पत्र लिखकर शहीद परिवारों का पक्ष रखा

शहीद बाबूलाल के परिवार के आंदोलन के बाद मुख्यमंत्री अखिलेख यादव आज शहीद के गांव पहुंचे… शहीद परिवार को सम्मान और आर्थिक मदद देने की मांग को लेकर आन्दोलन करने वाली अपना दल की राष्ट्रीय महासचिव और विधायक अनुप्रिया पटेल ने पीएम और सीएम को पत्र लिखकर शहीद परिवारों का पक्ष रखा है… अनुप्रिया ने इलाहाबाद में पीसी कर ये पत्र प्रेस को जारी किया है…

स्ट्रिंगरों के पेट पर एएनआई की लात!

देहरादून। देश भर में इलेक्‍ट्रानिक चैनलों के स्टिंगरों के पेट पर एएनआई न्यूज एजेन्सी लात मारती हुई दिख रही है, जिसके कारण कई इलेक्‍ट्रानिक चैनलों के स्ट्रिंगर पत्रकार चौराहे पर खड़े होने की हालात में जा पहुंचे हैं। पिछले दो महीने से इलेक्‍ट्रानिक चैनलों के स्ट्रिंगरों से चैनल द्वारा कोई खबर नहीं ली जा रही। खबर नहीं लिए जाने से चैनल स्ट्रिंगरों को पेमेंट भी नहीं कर रहे हैं, जिससे उनके परिवार पर आर्थिक संकट के बादल मंडराते हुए नजर आ रहे हैं।

We are not virgin and we feel proud to not to be

Manisha Pandey : कल्पना कीजिए, आज से 50-100 साल बाद इक्कीसवीं सदी के प्रारंभ में हिंदुस्तानी समाज में महिलाओं की स्थिति का इतिहास लिखा जा रहा है और जानकारी के स्रोत के तौर पर फेसबुक अपडेट्स और कमेंट्स उपलब्ध हैं। तो इतिहासकार सौ साल बाद आज के समय के बारे में क्या लिखेंगे…

कई न्यूज चैनलों ने राजनाथ सिंह को ईमानदारी का प्रमाणपत्र दे दिया

Rajen Todariya : राजनाथ सिंह का उत्तराखंड से पुराना नाता है। उन्होंने ही मुजफ्फरनगर कांड के खलनायक और तत्कालीन जिलाधिकारी को अपना प्रमुख सचिव बनाकर प्रतिष्ठित किया। उनके पुत्र को भाजपा सरकार ने देहरादून में करोड़ों की सरकारी जमीन दी। उनके पुत्र की कंपनी पर आरोप है कि वह मीटर घोटाले से लेकर कुंभ घोटाले तक में लिप्त है। कांग्रेस सरकार में दम हो तो वह इन आरोपों की जांच कराए और सच जनता के सामने लाए। इसके बावजूद कई न्यूज चैनलों ने राजनाथ सिंह को ईमानदारी का प्रमाणपत्र दे दिया।

उस झूठे और करप्ट आईजी की फर्जी प्रेस रिलीज को किसी पत्रकार ने नहीं छापा

Himanshu Kumar : जब हम दंतेवाड़ा में काम करते थे तब एक बार वहाँ एक आई जी साहब की नियुक्ति हुई. एक बार उन्होंने पत्रकारों को अपने आफिस में बुलाया. अपने एक पत्रकार मित्र के साथ मैं भी वहाँ चला गया. आईजी साहब के कार्यालय में एक आदिवासी लड़का जिसकी उम्र करीब सोलह साल की होगी और साथ में एक आदिवासी लड़की जिसकी उम्र करीब पन्द्रह की रही होगी, सहमे हुए बैठे थे. दोनों ने नक्सलियों वाली एकदम नई हरी वर्दी पहनी हुई थी. मुझे शक हुआ कि जंगल से आने वाले नक्सली के पास एकदम नए साफ़ कपडे कहाँ से आये?

माखनलाल पत्रकारिता विवि में सांध्यकालीन पाठ्यक्रमों में प्रवेश शुरू, इस सत्र से ‘फिल्म पत्रकारिता’ भी

भोपाल : माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्‍वविद्यालय द्वारा संचालित सांध्यकालीन पाठ्यक्रमों में प्रवेश प्रारम्भ हो गया है। विश्वविद्यालय द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार सांध्यकालीन पाठ्यक्रमों में आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 जनवरी 2013 निर्धारित की गई है। विश्वविद्यालय ने शैक्षणिक सत्र 2012-13 में वैब संचार, वीडियो प्रोडक्‍शन, पर्यावरण संचार, भारतीय संचार परम्पराएँ, योगिक स्वास्थ्य प्रबंधन एवं आध्यात्मिक संचार तथा फिल्म पत्रकारिता जैसे विषयों में सांध्यकालीन पी.जी. डिप्लोमा पाठ्यक्रम प्रारम्भ किये गये हैं। इस वर्ष फिल्म पत्रकारिता का नया पाठ्यक्रम प्रारम्भ किया गया है। पाठ्यक्रम विभिन्न विश्वविद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थियों के साथ-साथ नौकरीपेशा व्यक्तियों, सेवानिवृत्त लोगों, सैन्य अधिकारियों तथा गृहिणियों के लिए भी उपलब्ध होंगे।

हरिभूमि का रायगढ़ एडिशन जल्द लांच होगा, अमर उजाला का युवान कल होगा रीलांच

राष्ट्रीय हिंदी दैनिक ‘हरिभूमि’ छत्तीसगढ़ में अपना विस्तार करते हुए रायगढ़ एडिशन जून में लॉन्च करने वाला है. इसको लेकर संस्थान में तैयारियां जारी है. यह जानकारी हरिभूमि के मैनेजिंग एडिटर डॉ. हिमांशु द्विवेदी ने दी. उनका कहना है कि वे इस एडिशन के माध्यम से झारखंड और उड़ीसा के हिंदी पाठकों को भी अपने साथ जोड़ने की कोशिश करेंगे. उड़ीसा में हिंदी अखबार की कमी है, हम उस कमी को पूरा करेंगे. छत्तीसगढ़ में पहले से अखबार का रायपुर एडिशन प्रकाशित हो रहा है. अखबार की योजना वर्ष 2012 में मध्यप्रदेश के भोपाल और ग्वालियर एडिशन लॉन्च करने की थी जो कि लांच नहीं हो पाया.

नेशनल दुनिया अखबार बंद होने की ओर अग्रसर!

लगता है शैलेंद्र भदौरिया को देर से ही सही, समझ में आ गया है. उन्होंने आलोक मेहता एंड कंपनी से निजात पाने की तैयारी कर दी है. प्रबंधन ने इस कड़ी में नेशनल दुनिया अखबार के सभी सप्लीमेंट को बंद करा दिया है. ये सारे सप्लीमेंट मुख्य अखबार का हिस्सा होंगे. संडे वाला 48 पेजी ‘संडे दुनिया’ अब मुख्य अखबार में 4 पेज का हिस्सा होगा. युवाओं के लिए सोमवार वाला सप्लीमेंट ‘यंग मार्च’ और बच्चों के लिए गुरुवार वाला सप्लीमेंट ‘बच्चों की दुनिया’ को मिलाकर एक कर दिया गया है और यह अब केवल गुरुवार को ही आयेगा. इसी तरह महिलाओं पर आधारित ‘इंद्रधनुष’ और ‘हमसफ़र’ सप्लीमेंट को मिलाकर एक कर दिया गया है और इसे 16 पेज के मुख्य अखबार का हिस्सा बना दिया गया है.

प्रशिक्षण के नाम पर इंडिया न्यूज के चैनलों से छंटनी की तैयारी!

: कानाफूसी : खबर है कि इंडिया न्यूज के चैनलों के सभी लोगों का एक वर्कशाप कराया गया है जिसमें ट्रेनिंग देने की जगह छंटनी के लिए आधार तैयार किया गया है. इस वर्कशाप में कर्मियों का कई तरह से टेस्ट लिया गया. स्क्रिप्ट लिखवाने से लेकर वीओ कराने तक की जांच की गई और इस आधार पर लिस्ट बनाई गई है जिसमें कमजोर कड़ियों का नाम शुमार किया गया है. दीपक चौरसिया के नेतृत्व में इंडिया न्यूज के आने के बाद भारी उथल-पुथल चैनल में मची हुई है.

वीरेन डंगवाल को दिल्ली लाया गया, हालत बहुत बेहतर

मशहूर कवि और अमर उजाला के निदेशक वीरेन डंगवाल को दिल्ली ले आया गया है. उन्हें एयर एंबुलेंस के जरिए दिल्ली लाकर फोर्टिस-एस्कार्ट हास्पिटल में भर्ती कराया गया है. उनकी हालत काफी अच्छी है. वे अच्छे से सभी से बातचीत कर ले रहे हैं. हार्ट अटैक का कोई साइड इफेक्ट नहीं है. छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में डाक्टरों ने उन्हें एंजियोप्लास्टी कराने की सलाह दी है.

लोकसभा चुनाव हाथ से जाता दिख रहा मुलायम को, यूपी में होगा बड़ा उलटफेर

: मुलायम की चिंता और भ्रष्ट नौकरशाही : पिछले कुछ दिनों से राज्य की प्रशासनिक व्यवस्था पर सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव की तल्ख़ टिप्पड़ी लगातार सुनने को मिल रही है।  कभी वे पार्टी के बैठक में तो कभी खुले मंच से मुख्यमंत्री अखिलेश को लगातार ये नसीहत दे रहे है कि प्रशासनिक व्यवस्था में काफी गड़बड़ी है जिसमे सुधार की आवश्यकता है। दरसल सपा प्रमुख एक ही प्रशासनिक अधिकारी को कई विभाग दिये जाने से नाराज बताये जा रहें है।  इसके अतिरिक्त, सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार सपा प्रमुख पंचम तल के भी  कुछ अधिकारीयों की कार्यप्रणाली से काफी ज्यादा नाराज है।

क्या से क्या हो गईं कैथर कला की औरतें

‘हर तरह के यथास्थितिवाद और पितृसत्ता से विद्रोह बिहार की महिलाओं की खास पहचान रही है। यह हमारी विरासत रही है। महिलाओं की बेहतरी के लिए अलग-अलग दौर में यहां कई तरह के आंदोलन चले। उनके मूल में हर समय सामंती मूल्य जड़ जमाए रहे, जिसको आजादी के पहले महिलाएं झेलतीं थीं। लेकिन सतर का दशक  आते-आते ये पुरातन मूल्य तिरोहित होने लगे जब किसान आंदोलन की एक नई लहर भोजपुर से शुरू हुई।’ ये बातें भाकपा माले की महिला इकाई ऐपवा की मीना तिवारी ने कहीं। 

यूपी पुलिस का हाल – अपहरण किया, खूब पीटा, जुर्म साबित न हुआ तो घर के बाहर पटक गए

यूपी पुलिस किस तरह अपना काम करती है, इसे बताने की जरूरत नहीं. अक्सर इनकी क्रूर, बर्बर, असभ्य और अमानवीय तस्वीर सामने आती रहती है. ताजा मामला आगरा का है. कुछ ऐसी तस्वीरें दिखाते हैं जिससे आगरा पुलिस की बर्बरता साफ नजर आती है….पुलिस ने एक युवक को इतनी बर्बरता से पीटा जिसे देख आपकी रूह कांप जाये… पुलिस इस युवक को चोरी के मामले में पकड़ लायी थी …

एंकरों की मौज हो गई है, जोंक की तरह स्क्रीन पर रेंगते रहते हैं : रवीश कुमार

Ravish Kumar : भारतीय मीडिया का 'कहा काल ' चल रहा है । इसमें हर कोई कह रहा है । कोई कहने से पहले तो कोई उस कहे के बाद कह रहा है तो कोई कहा कही के बीच में ही कहे जा रहा है । कहाँ से कह रहा है क्यों कह रहा इन सब बातों का कोई मतलब नहीं है । ऐंकरों की मौज हो गई है । जोंक की तरह स्क्रीन पर रेंगते रहते हैं । धंधे की एक बात बताता हूँ । टीवी में यही एक प्रजाति है जो कुछ काम नहीं करती । मुफ़्तख़ोर हैं सब ।

विभूति नारायण राय के नेतृत्व का बेशर्म और घोटालेबाज ‘हिंदी समय’ : सीएजी रिपोर्टों की चेतावनी

'हिंदी समय' को गढ़ने की जिद्द एक ऐसे 'पुलिसिया साहित्यकार' के द्वारा की जा रही है, जो अपनी 'अतृप्त वासनाओं' के साथ हिंदी की सत्ता पर आसीन होना चाहता है, अपनी कुंठाओं से हिंदी भाषा साहित्य और शिक्षा जगत को हांकना चाहता है। फरवरी में हिंदी विश्वविद्यालय में दूसरी बार 'हिंदी समय' का आयोजन हो रहा है, पहली बार तब हुआ था, जब इसके पुलिसिया कुलपति सत्ता पर आसीन हुए थे और दूसरी बार तब जब वह अपना कार्यकाल पूरा कर वहां से विदा होने जा रहे हैं और उनकी गिद्ध दृष्टि किसी दूसरे हिंदी संस्थान पर बनी है।

बीजेपी के फटे में संघ की टांग

सिर्फ कुछ को ही पता था। न तो नितिन गडकरी और न ही राजनाथ सिंह और न ही बीजेपी के बाकी नेताओं को इसका अहसास था कि इतनी जल्दी सब कुछ बदल जाएगा। पर, बदल गया। बदलाव जरूरी था। संघ परिवार तो आखरी सांस तक गड़करी के नाम की माला जप रहा था। दबाव डाल रहा था और हर तरह के हथकंडे अपनी रहा था। पर, एक नहीं चली। यह सब इसलिए हुआ, क्योंकि बीजेपी के बड़े नेताओं की अकल ठकाने आ गई है। सबको समझ में आ गया है कि सिर्फ संघ परिवार जैसा चाहेगा, वैसा ही होता रहेगा, तो फिर बीजेपी के राजनीतिक पार्टी का मतलब ही क्या है। बेचारी बीजेपी…।

दावोस से उपजे सवाल : विश्व के बड़े आर्थिक मंच पर भारत की घटती प्रासंगिकता

दावोस में हो रही विश्व आर्थिक फोरम की बैठक से खबर आई है कि इस बैठक में भारत को तवज्जो नहीं दी जा रही है जबकि भारत ने पिछले कुछ सालों में दुनिया का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया है। भारत के लिए यह कितनी विकट स्थिति है कि जब इस बैठक में अलग-अलग थीम पर 260 सेशन हो रहे हैं जिसमें मात्र एक सेशन भारत पर फोकस होगा। बात सिर्फ इतना ही नहीं है इस बैठक में 20 से भी कम वक्ताओं को शामिल किया गया है। दरअसल विश्व के बड़े आर्थिक मंच पर भारत की भूमिका उसकी घटती प्रासंगिकता का प्रमाण है।

साक्षी मीडिया समूह के मालिक जगन की जमानत याचिका खारिज

आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय ने आय से अधिक संपत्ति के मामले में गुरुवार को वाईएसआर कांग्रेस के प्रमुख वाईएस जगनमोहन रेड्डी की नियमित जमानत के लिए दायर याचिका को खारिज कर दिया. आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय 24 दिसंबर को भी जगन की एक जमानत याचिका खारिज कर चुका है. सीबीआई ने 22 जनवरी को अदालत के समक्ष आरोप लगाया था कि वह राज्य सरकार के असहयोग के कारण जगनमोहन रेड्डी के मामले में तेजी से जांच करने में समर्थ नहीं है.

विभू ने पायनियर ज्‍वाइन किया, सिद्दीक का तबादला

पत्रकारिता में लम्बी पारी खेलने वाले विभू मिश्रा ने अपनी नई पारी राष्ट्रीय राजधानी के पायनियर ग्रुप के साथ शुरू की है. विभू को पायनियर हिन्दी संस्करण में गाजियाबाद, नोयडा व ग्रेटर नोयडा की कमान सौंपी गई है. वे इससे पहले अमर उजाला, दिल्ली, सहारा समय न्यूज चैनल व स्टार न्यूज के लिए अपनी सेवाएं दे चुके हैं. विभू को प्रिंट से लेकर इलेक्ट्रानिक मीडिया का लम्बा अनुभव रहा है. अपने पत्रकार पिता स्व. वीके मिश्रा के साप्ताहिक समाचार पत्र मौन एक्सप्रेस से पत्रकारिता जगत में अपने करियर की शुरुआत करने वाले विभू मीडिया के अनेक संस्थानों से गुजर कर अब पायनियर ग्रुप में पहुंचे हैं.

‘यूपी में जज ने लड़की का सीना छुआ तथा सलवार उतारने को कहा’

गोंडा ज़िले में दो लड़कियों ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है कि एक जज ने अपने चैंबर में उनके साथ छेड़छाड़ की. पुलिस का कहना है कि मामले की जानकारी जिला जज और हाई कोर्ट को दे दी गई है और अगली कार्यवाही के लिए उनके निर्देश का इंतज़ार किया जा रहा है. इस बीच गोंडा के वकीलों ने जज के खिलाफ आंदोलन शुरू कर दिया है. पीड़ित लड़कियों में से एक की उम्र तेरह साल है, और दूसरी की इक्कीस साल. दोनों अलग-अलग परिवारों से हैं और दोनों के साथ यह घटना एक ही दिन पर अलग समय पर हुई.

अपडेटेड… लोकसभा अध्‍यक्ष की मीडिया सलाहकार राखी बख्‍शी का इस्तीफा

लोकसभा अध्‍यक्ष मीरा कुमार की मीडिया एडवाइजर राखी बख्‍शी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. राखी काफी समय से लोकसभा अध्‍यक्ष की मीडिया एडवाइजर के रूप में काम कर रही थीं. उनकी जगह अभी तक किसी को मीडिया एडवाइजर नियुक्‍त नहीं किया गया है.

उपेंद्र राय का नाम राष्‍ट्रीय सहारा के प्रिंट लाइन से हटा

सहारा से खबर है कि पिछले कुछ समय से हाशिए पर डाले गए उपेंद्र राय को फिर एक झटका लगा है. राष्‍ट्रीय सहारा अखबार के प्रिंट लाइन से अब उपेंद्र राय का नाम हटा दिया गया है. उनकी जगह गुरुवार से मीडिया हेड संदीप बाधवा का नाम प्रिंट लाइन में जाने लगा है. संदीप बाधवा के हेड बनने और उपेंद्र राय को कारपोरेट रिलेशन में भेजे जाने के बाद भी अखबार के प्रिंट लाइन में उनका ही नाम जा रहा था.

आईएएस प्रदीप शुक्ला की बेटी पौलनी शुक्ला को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया

यूपी के बहुचर्चित आई. ए.एस अफसर प्रदीप शुक्ला एक बार फिर मुसीबत में घिर गये हैं। बीती रात उनकी बेटी को स्टूडेंट वीजा में गलत दस्तावेज़ लगाने के आरोप में उस समय गिरफ्तार कर लिया गया जब वह अमेरिका जाने की तैयारी कर रही थीं। पौलनी शुक्ला अमेरिका में ही पढ़ाई करती हैं। उनके पकड़े जाने से नौकरशाही में हड़कम्प मच गया।

तत्कालीन सीएम अर्जुन मुंडा के साथ प्रभात खबर के मालिक राजीव झावर और समीर लोहिया क्यों गए थे विदेश?

हिंदी दैनिक 'प्रभात खबर' का नारा है- अखबार नहीं आंदोलन. पर इस अखबार के बैकग्राउंड में जो कंपनी उषा मार्टिन है, उसके किस्से अजब-गजब हैं. यह कंपनी मिनरल-माइंस के धंधे से जुड़ी है. इस कंपनी पर व्यापक पैमाने पर खनिज पदार्थों की कालाबाजारी और बिजली चोरी के मुकदमे दर्ज किये गये लेकिन, सब के सब सत्ता के खान में दब के रह गये.  कहते हैं कि राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने सत्ता मिलते ही उषा मार्टिन कंपनी पर बकाया 50 करोड़ का बिजली बिल माफ कर दिया. 

वर्दी पहने एसएसपी ने सबके सामने सपा महासचिव रामगोपाल यादव का चरण स्पर्श किया

समाजवादी पार्टी के महासचिव और राज्यसभा के सांसद रामगोपाल यादव के एटा में हो रहे एक कार्यक्रम में कुछ ऐसा दिखा जो चौंकाने वाला था। ड्यूटी पर तैनात एसएसपी अजय मोहन शर्मा कार्यक्रम में नेताजी के पैर छूते नजर आए। दरअसल, रामगोपाल यादव इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि थे और सपा नेताओं में उनके पैर छूने की होड़ मची हुई थी। लगे हाथों एसएसपी साहब ने भी रामगोपाल यादव के पैर छू लिए।

मैं प्रधानमंत्री पद की रेस में नहीं : प्रचंड

नेपाल में राजनीतिक उठापटक का दौर चल रहा है. प्रधानमंत्री पद को लेकर नेपाल में बीते कई दिनों से राजनीति गरमाई है. इन सबके बीच उठे प्रधानमंत्री पद पर प्रचंड की दावेदारी को उन्होंने ही नकार दिया. प्रधानमंत्री बाबू राम भटराई ने भी  प्रचंड का विरोध किया है, जबकि प्रचंड ही माओवाद के नेपाल में जन्मदाता हैं.

महिला प्रोफेसर ने पत्रकार आवेश तिवारी पर यौन शोषण का आरोप लगाया

प्रोफेसर नीलम मिश्रा नाइजीरिया में हैं. वे बायोकेमिस्ट्री की प्रोफेसर और डीन हैं. प्रो. नीलम फेसबुक पर आरती शुक्ला नाम से मौजूद हैं. उन्होंने 19 जनवरी को अपनी असली आइडेंटिटी के साथ सामने आकर पत्रकार आवेश तिवारी पर कई आरोप लगाए. आवेश ने इन आरोपों पर अपनी प्रतिक्रिया कमेंट के रूप में महिला प्रोफेसर के फेसबुक वॉल पर ही दी है. नीचे वो स्टेटस और कमेंट्स…

प्रभात खबर, देवघर से एनई आरके नीरद का तबादला पटना

प्रभात खबर, देवघर संस्करण से एक बड़ी खबर है। न्यूज़ एडिटर के तौर पर कार्यरत आरके नीरद का तबादला पटना कर दिया गया है। नीरद रूरल डेस्‍क के इंचार्ज थे। दूसरी तरफ आरके नीरद के नजदीकी माने जाने वाले जेपी सिंह को शंट कर दिया गया है। नीरद लगभग 10 वर्ष से ज्यादा समय से …

छत्‍तीसगढ़ स्‍टेट हेड के रूप में आज कार्यभार संभालेंगे आनंद पांडेय

दैनिक भास्‍कर, रायपुर से खबर है कि स्‍टेट हेड आनंद पांडेय गुरुवार को कार्यभार संभाल लेंगे. वे आज रायपुर पहुंच रहे हैं और संभावना है कि शाम तक अपनी नई जिम्‍मेदारी संभाल लेंगे. उल्‍लेखनीय है कि अब तक इंदौर में स्‍थानीय संपादक की भूमिका निभा रहे आनंद पांडेय को प्रबंधन ने प्रमोट करके स्‍टेट हेड बना दिया है. उनकी जगह डीबी स्‍टार के नेशनल हेड रहे हेमंत शर्मा को इंदौर का स्‍थानीय संपादक बनाया गया था.

राहुलजी, बातें बनाने से वोट नहीं मिलते

जयपुर के चिंतन-शिविर में से निकला क्या? किसी भी कांग्रेसी से यह सवाल पूछिए तो वह कहता है, ‘राहुल गांधी’। क्या सचमुच राहुल गांधी को उछालने के लिए जयपुर-शिविर की जरुरत थी? राहुल तो पहले से ही उछले हुए थे, जयपुर या अ-जयपुर! राहुल के सिर पर उपाध्यक्ष की पगड़ी रख देने से क्या उनका कद ऊंचा हो गया है? कांग्रेस के महासचिव रहते हुए क्या उनके पास शक्ति की कोई कमी थी? क्या कोई ऐसा महासचिव भी था, जो यह दावा कर सके कि वह राहुल से ज्यादा शक्तिशाली था? क्या किसी महासचिव की इतनी हिम्मत थी कि वह अपनी उम्र और अनुभव का हवाला देकर अपनी श्रेष्ठता बघार सके? सर्वश्रेष्ठ और सर्व-शक्तिशाली महासचिव रहते हुए भी राहुल ने कोई ऐसा जलवा नहीं दिखाया कि पार्टी के कार्यकर्ताओं में आशा का संचार हो। बल्कि उलटा ही हुआ। बिहार और उप्र के चुनावों ने ‘युवा नेतृत्व’ की सारी कलई उतार दी।

समाचार प्‍लस छोड़कर जी न्‍यूज जाएंगे अतुल अग्रवाल!

जी न्‍यूज यूपी-उत्‍तराखंड छोड़कर वाशिन्‍द्र मिश्र के सहारा चले जाने के बाद अब प्रबंधन इस चैनल के लिए जाना-पहचाना चेहरा तलाश रहा है. इस समय चैनलों में बड़े नामों के इधर से उधर होने का दौर चल रहा है. दीपक चौरसिया एबीपी न्‍यूज से इंडिया न्‍यूज गए तो पुण्‍य प्रसून बाजपेयी जी से इस्‍तीफा देकर आजतक पहुंचे. महुआ से इस्‍तीफा देकर वरिष्‍ठ पत्रकार राणा यशवंत इंडिया न्‍यूज गए. आजतक से इस्‍तीफा देकर अभिसार शर्मा जी न्‍यूज पहुंचे तो जी न्‍यूज से इस्‍तीफा देकर वाशिन्‍द्र मिश्र सहारा से जुड़ गए. इस लिस्‍ट में अजय कुमार, आंचल आनंद, शीतल राजपूत जैसे कई नाम शामिल है.

एक अमेरिकी विश्वविद्यालय के सेक्स सर्वे के नतीजे

: IU study reveals sex to be pleasurable with or without use of a condom or lubricant : BLOOMINGTON, Ind. :  American men and women rated sex as highly arousing and pleasurable regardless of whether condoms and/or lubricants were used, according to a study led by Indiana University School of Public Health-Bloomington researchers and published in The Journal of Sexual Medicine.

जल्‍द लांच होगा नेशनल न्‍यूज चैनल ‘राष्‍ट्र खबर’

न्‍यूज चैनलों की भीड़ में एक और नाम शामिल होने जा रहा है. इस नेशनल न्‍यूज चैनल का नाम है 'राष्‍ट्र खबर'. एमएस बसोया मीडिया प्राइवेट लिमिटिड द्वारा लाए जा रहे नेशनल न्यूज़ चैनल ‘राष्ट्र खबर’ की चर्चा शुरू हो गई है. राष्ट्र खबर के सीएमडी श्री महेश बसोया और एमडी श्री राजीव लायल जी हैं. प्रबंधन का कहना है कि आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में जिस तरह से लोगों से कई खबरें छूट जाती है, ऐसे में बसोया ग्रुप द्वारा समाचार जगत में राष्ट्र खबर की दस्तक काफी सोची समझी है.

स्प्रिचुवल सेक्स! (1)

: Spiritual Sex – Beyond the Physical :  Spiritual sex encompasses sexual energy that goes beyond physical sensations of pleasure, genital orgasms and even the loving connection of sexual communion. Energy generated by sexuality can be transmuted into such experiences as: healing the body-mind-spirit, visualization, divining visions and balancing the genders through joining with universal energy. The more cosmic experiences utilizing sexual energy are most likely to occur in ecstatic consciousness states. The ancients believed that ecstatic union with the Source was the ultimate expression of sexuality.

फोकस टीवी से दीवान सिंह, रितेश एवं तरुण का इस्‍तीफा

महिलाओं पर आधारित फोकस टीवी से खबर है कि दीवान सिंह विष्‍ट ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर चीफ वीडियो एडिटर के पद पर कार्यरत थे. दीवान लगभग लांचिंग के समय से चैनल को अपनी सेवाएं दे रहे थे. बताया जा रहा है कि उन्‍होंने मैनेजमेंट के रवैये से नाराज होकर चैनल को अलविदा कहा है.

जोड़-तोड़ की राजनी‍ति में भटका झारखंड

पिछले कुछ दिनों से झारखंड में राजनीतिक उठा-पटक के बीच जो राजनीतिक दांव-पेंच लगाए जा रहे हैं वो झारखंड के 12 साल के इतिहास का एक बदनुमा अध्याय है। झारखंड के 12 साल के सफर को देखे तो वहां राजनीतिक अस्थिरता के ऐसे कई दौर आए हैं जहां लोकतंत्र की परिभाषा और उसकी गरिमा शर्मसार हुई है। आज झारखंड जिस मुहाने पर खड़ा है और जिस राजनीतिक संकट से जूझ रहा है उसका एकमात्र कारण झारखंड की राजनीतिक व्यवस्था और पार्टियां हैं।

पत्रकार पंकज मिश्रा के भाई की भुखमरी से मौत

पश्चिम बंगाल के चितरंजन- मिहिजाम के एक हिंदी अख़बार के पत्रकार पंकज मिश्रा के मानसिक विकलांग भाई नीरज की मौत ईलाज व भोजन का अभाव में होने की खबर है। पत्रकार पंकज मिश्र के बचपन में ही मां की मौत हो गई। पिता रेलवे की नौकरी में थे तो किसी तरह से दोनों भाइयों को पाला, लेकिन पंकज का बड़ा भाई मानसिक रोगी था, जिसका इलाज पिता के रहते सही से नहीं हो पाया। माँ की मौत के बाद पिता हमेशा दुखी रहते थे, लिहाजा 2008 में उनका भी निधन हो गया।

अरविंद ने मुकेश अंबानी पर कसा ताना – जब आरोप उन्‍होंने लगाए तो नोटिस चैनलों को क्‍यों?

: पत्र लिखकर दी मीडिया को न धमकाने की सलाह  : रिलायंस समूह के चेयरमैन मुकेश अंबानी की कंपनी द्वारा कई न्‍यूज चैनलों को नोटिस भेजे जाने पर आप पार्टी के अध्‍यक्ष एवं सामाजिक कार्यकर्ता ने अरविंद केजरीवाल ने ताना मारा है. अरविंद का कहना है कि जब आरोप उन्‍होंने लगाए तो उनकी बजाय न्‍यूज चैनलों को नोटिस क्‍यों भेजा गया है? इस मामले में अरविंद ने मुकेश अंबानी को एक पत्र भी लिखा है. केजरीवाल ने अपने पत्र में लिखा है कि जब उस प्रेस कांफ्रेंस में मैंने और प्रशांत भूषण ने आरोप लगाए तो फिर न्‍यूज चैनलों को नोटिस भेजे जाने का क्‍या मतलब है? आरोप हमने लगाए परन्‍तु हमें नोटिस नहीं दिए गए, जबकि उन्‍हें लाइव दिखाने वाले चैनलों को डराने के लिए कानूनी नोटिस भेजे गए.

एक लाख रुपये रिश्‍वत लेने वाले दरोगा के खिलाफ मुकदमा दर्ज

सैफई (इटावा) :  एक लाख रुपये रिश्वत लेकर मुकदमा खत्म करने वाले दरोगा के खिलाफ एसएसपी राजेश मोडक के आदेश पर थाना सैफई में वादी द्वारा भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम का मुकदमा लिखाया गया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजेश मोडक के निर्देश पर थाना सैफई पुलिस ने अपने ही थाने के निलम्बित एसआई अशोक कुमार सिंह के विरूद्ध धारा 7/13(1) भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम का मुकदमा दर्ज कर लिया है। मुकदमे के वादी मिथलेश कुमार पुत्र श्री पाल सिंह निवासी चौबेपुर, थाना सैफई ने बताया कि मेरे विरूद्ध औषधि निरीक्षक द्वारा 13 दिसम्बर 2011 को मुअस 117/11 धारा 420 दर्ज कराया गया था, जिसमे मुझे बसपा नेताओं के दबाव मे फॅसाया गया।

कोर्ट के आदेश के बाद सुधीर हिलसायन संपादक बनाए गए

दिल्ली उच्च न्यायालय के हस्तक्षेप के बाद सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय को संपादक पद पर नियुक्ति के लिए बाध्य होना पड़ा है। अदालती फैसले को देखते हुए मंत्रालय ने आखिरकार सुधीर हिलसायन को नियुक्त कर लिया है। श्री हिलसायन ने आज अपना कार्यभार ग्रहण किया। श्री हिलसायन भारतीय जनसंचार संस्थान, नई दिल्ली से प्रशिक्षित पत्रकार और दलित विषयों के जाने-माने जानकार हैं। वे फाउंडेशन की अंबेडकर सम्पूर्ण वाङमय परियोजना से बतौर सम्पादक जुड़े रहने के अलावा दलित विषयों से जुड़ी कुछेक पत्रिकाओं के भी संपादक रहे हैं।

बीबीसी के एक और एंकर पर दुष्‍कर्म का आरोप, पुलिस ने अरेस्‍ट किया

लंदन। ब्रिटेन और दुनिया की अग्रणी प्रसारण सेवा ब्रिटिश ब्राडकास्टिंग कार्पोरेशन [बीबीसी] के एक और कार्यक्रम प्रस्तोता स्टुअर्ट हाल पर दुष्कर्म का आरोप लगा है। लंकाशायर पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। हाल पर इसके अलावा 9 से 16 साल की लड़कियों के साथ यौन प्रताड़ना का भी आरोप है। ये मामले 1967 से 1986 के बीच के हैं। उस समय वह मशहूर कार्यक्रम 'इट्स ए नॉकआउट' के प्रस्तोता थे। उन्हें आर्डर ऑफ द ब्रिटिश इंपायर पुरस्कार से भी नवाजा जा चुका है।

सोशल मीडिया के जरिए कांग्रेस पर हमला करते हैं मोदी : दिग्विजय

नई दिल्‍ली : सोशल मीडिया के जरिए गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी कांग्रेस पर हमला करते हैं और इसके लिए उन्होंने एक संस्था बनाकर वहां प्रोफेशनल्स भी तैनात किए हुए हैं. एबीपी न्यूज के खास कार्यक्रम साक्षात में कांग्रेस के महासचिव दिग्विजय सिंह ने ये दावा किया है. क्या कांग्रेस को घेरने के लिए गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी एक खास योजना और इंतजाम के तहत काम कर रहे हैं? ये सवाल खड़ा हआ है कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह के उस बयान से जो उन्होंने एबीपी न्यूज के खास कार्यक्रम साक्षात में दिए.

ओएमजी, पान सिंह तोमर, शंघाई आदि को द्वितीय आईआरडीएस फिल्म अवार्ड्स

भारतीय सामाजिक और सांस्कृतिक जीवन पर सिनेमा के गहरे प्रभाव के दृष्टिगत लखनऊ स्थित इंस्टीट्यूट फोर रिसर्च एंड डोक्युमेंटेशन इन सोशल साइंसेज (आईआरडीएस) द्वारा सामाजिक सरोकार की फिल्मों को द्वितीय आईआरडीएस हिंदी फिल्म अवार्ड्स दिये जा रहे हैं. सर्वश्रेष्ठ हिंदी फिल्म पुरस्कार समाज में धर्म और धार्मिकता के सन्दर्भ को उठाती ओएमजी : ओ माई गाड को दिया गया.

निरीक्षण करने पहुंचे कथित पत्रकारों की लात-घूंसों और जूतों से पिटाई

बदायूं में पत्रकारों की बाढ़ आ गई है. अमर उजाला, दैनिक जागरण और हिन्दुस्तान ने ही गाँव-गाँव पत्रकार बना रखे हैं, साथ ही लखनऊ, दिल्ली, आगरा, मुरादाबाद के साथ आसपास के जनपदों से प्रकाशित तमाम अखबारों की दस-दस प्रतियों की एजेंसी लेकर लोग खुद को ब्यूरो चीफ लिख रहे हैं. गाड़ियों पर वरिष्ठ पत्रकार और ब्यूरो चीफ लिखने के साथ चमचमाते विजिटिंग कार्ड और लेटर पेड यूज कर ऐसे कथित पत्रकार रौब ग़ालिब करते कहीं भी दिख जायेंगे.

गीतिका को यौन शोषण के लिए दुबई से वापस लाना चाहता था कांडा

नयी दिल्ली : दिल्ली पुलिस ने यहां की एक अदालत को बताया है कि जांच में यह बात सामने आयी कि हरियाणा के पूर्व मंत्री गोपाल कांडा ने  विमान परिचारिका गीतिका शर्मा को अमीरात एयरलाइंस से वापस लाने का प्रयास उसका यौन शोषण करने के अप्रत्यक्ष उद्देश्य से किया।

सन टीवी को 189 करोड़ एवं जी एंटरटेनमेंट 194 करोड़ का मुनाफा

वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में सन टीवी का मुनाफा 12.5 फीसदी बढ़कर 189 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2012 की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में सन टीवी का मुनाफा 168 करोड़ रुपये रहा था। वित्त वर्ष 2013 की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में सन टीवी की आय 14.3 फीसदी बढ़कर 486 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में सन टीवी की आय 425 करोड़ रुपये रही थी।

साक्षी मीडिया समूह के मालिक जगनमोहन रेड्डी की जमानत पर फैसला सुरक्षित

हैदराबाद। आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय ने वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के नेता वाई.एस. जगनमोहन रेड्डी की जमानत याचिका पर फैसला गुरुवार तक के लिए सुरक्षित रख लिया। जगन अवैध सम्पत्ति मामले में कई महीनों से न्यायिक हिरासत में हैं। याचिकाकर्ता और केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के वकीलों की दलीलें सुनने के बाद अदालत ने फैसला कल तक के लिए सुरक्षित रख लिया।

जी न्‍यूज से इस्‍तीफा देकर सहारा नेशनल चैनल के न्‍यूज हेड बने वाशिन्‍द्र मिश्र

जी न्‍यूज यूपी-उत्‍तराखंड से खबर है कि वाशिन्‍द्र मिश्र ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर लंबे समय से चैनल हेड के पद पर कार्यरत थे. वाशिन्‍द्र ने अपनी नयी पारी सहारा समय के साथ शुरू की है. वाशिन्‍द्र के सहारा ज्‍वाइन करने के कयास काफी समय से लगाए जा रहे थे. उन्‍हें नेशनल न्‍यूज चैनल में न्‍यूज हेड बनाया गया है. अब तक नेशनल चैनल के हेड की जिम्‍मेदारी रजनीकांत सिंह निभा रहे थे. रजनीकांत सिंह अब उन्‍हें असिस्‍ट करेंगे.

आशंकाओं के ‘कुहासे’ में सीएम का आगमन, पर चमाचम होने लगा शहीद बाबूलाल का गांव

इलाहाबाद। शहीद के गांव शिवलाल का पूरा में मुख्यमंत्री का आगमन आशंकाओं के ‘कुहासे’ में घिर गया है। उन्हें शहीद के घर आकर परिजनों से मुलाकात करने में दो दिन बाकी रह गए हैं। 25 जनवरी को सुबह साढ़े नौ बजे मुख्यमंत्री अखिलेश के यहां आने का समय निर्धारित किया गया है, पर बेईमान मौसम ने ‘दगा’ देने की शुरुआत कर दी है। दो दिनों से अचानक मौसम खराब हो गया है। दोपहर के दो तीन घंटे को छोड़कर ज्यादातर समय घना कोहरा है। ऐसे में कयास इस बात के भी लगाए जा रहे हैं कि घने कोहरे के बीच मुख्यमंत्री का शहीद के घर आने का प्रोग्राम कहीं कैंसिल न हो जाए।

नितिन गडकरी के लिए क्‍यों अशुभ रहा लखनऊ?

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी का जाना कई सवाल खड़े कर गया। राजनैतिक हालात इतने तेजी से बदले की दूसरी पारी की उम्मीद लगाये बैठे गडकरी को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ गया। वैसे तो गडकरी की शर्मनाक विदाई से उत्तर प्रदेश भाजपा पर कोई खास असर नहीं पड़ेगा, बल्कि राजनाथ सिंह के अध्यक्ष बनने प्रदेश भाजपा को फायदा ही होगा, लेकिन लगता है कि गडकरी को लखनऊ दौरा रास नहीं आया, उनके लखनऊ की सरजमी पर कदम पड़ते ही उनके साथ एक के बाद एक अनहोनी होती गई। 

तीसरे सप्‍ताह भी आजतक नम्‍बर वन

 

टैम द्वारा नए साल की तीसरी टीआरपी जारी की गई है. आजतक इस सप्‍ताह भी नम्‍बर एक के पायदान पर काबिज है. जबकि इस बार दूसरे पायदान पर फिर इंडिया टीवी पहुंच गया है. तीसरे स्‍थान पर एबीपी न्‍यूज है. वहीं पहले सप्‍ताह में अपनी जोरदार उपस्थिति दर्ज कराने वाला जी न्‍यूज चौथे स्‍थान पर पहुंच गया है. आईबीएन7 पांचवें तथा न्‍यूज24 छठे स्‍थान पर है. ये सभी आंकड़े टीजी सीएस 15 प्‍लस श्रेणी के हैं. नीचे चैनलों की टीआरपी रेटिंग. 

जरूरी और मजबूरी के मंथन से निकले उपाध्यक्ष और अध्यक्ष

 

भूमिका बांधने या इधर-उधर की हांकने की अपेक्षा सीधे मुद्दे पर ही आ जाते हैं. जयपुर की ऐतिहासिक व रणबांकुरों की धरती पर कांग्रेस के रणबांकुरों ने २०१४ के आम चुनावों की तैयारी और अपने युवराज राहुलगांधी को महत्वपूर्ण रोल या पद देने व भविष्य के प्रधानमंत्री के नाते तैयार करने के लिए कांग्रेसजनों की पुरजोर अपील को अमलीजामा पहनाने के लिए चिंतन-मंथन का शिविर लगाया और राष्ट्रीय अध्यक्षा के एकलौते पुत्र को उपाध्यक्ष बनाने का निर्णय लिया. आवश्यकता तो इस बात की थी कि यदि वह अतिमहत्वपूर्ण हैं तो उन्हें अधिक महत्वपूर्ण दायित्व भी दिया जाता. दायित्व का अर्थ यह है कि सफलता के साथ-साथ असफलता भी उनके सर मढी जाए. 

सोशल मीडिया पर सौ करोड़ खर्च करेगी केंद्र सरकार

 

नई दिल्ली : जयपुर चिंतन शिविर में सोशल मीडिया पर यूपीए सरकार की खराब उपस्थिति की बात सर्वसम्मत तरीके से स्वीकार करने के बाद अब इस मोर्चे पर मेकओवर की प्रक्रिया तेज हो गई है। सूत्रों के अनुसार सरकार ने इसके लिए 100 करोड़ रुपये की योजना बनाई है। मिनिस्ट्री ऑफ आईटी इस पूरी योजना को संचालित करेगी। सूत्रों के अनुसार आईटी मिनिस्टर कपिल सिब्बल के नेतृत्व में एक्सपर्ट मीटिंग इसी हफ्ते बुलाई गई है, जिसमें नीति को अंतिम रूप दिया जाएगा। एक सीनियर अधिकारी के अनुसार सोशल मीडिया के कुछ दिग्गजों से संपर्क साधा गया है। वहीं निजी एजेंसी से भी इसमें मदद ली जाएगी।

अभिसार शर्मा ने जी न्‍यूज ज्‍वाइन किया

आजतक से इस्‍तीफा देने वाले अभिसार शर्मा ने अपनी नई पारी जी न्‍यूज के साथ शुरू की है. वे आजतक के साथ डिप्‍टी एडिटर के बतौर जुड़े हुए थे. बताया जा रहा है कि अभिसार अगले सप्‍ताह जी न्‍यूज से जुड़ जाएंगे. जी न्‍यूज के साथ यह उनकी दूसरी पारी है. अभिसार पिछले सत्रह सालों से मीडिया जगत में सक्रिय हैं. अभिसार ने अपने करियर की शुरुआत 1996 में न्‍यूज एंड करेंट अफेयर्स मैगजीन न्‍यूज ट्रैक के साथ की थी.

आतंकवाद का रंग है, बस काला!

हमारे गृह मंत्री श्री सुशील कुमार शिंदे ने दुबारा बर्र के छत्ते में हाथ डाल दिया। क्या हमारे हर गृहमंत्री को यह खसलत तंग करती है? डेढ़-दो साल पहले तत्कालीन गृहमंत्री चिदंबरम ने भी भगवा आतंकवाद का जुमला उछाला था और अपनी भद्द पिटवाई थी। अगर यही बात कांग्रेस या कम्युनिस्ट पार्टी का कोई दिग्गज नेता भी कह देता तो उस पर लोग ज्यादा ध्यान नहीं देते। यह माना जाता कि यह वोट-बैंक की राजनीति है। अल्पसंख्यकों को पटाने का एक पैंतरा है। लेकिन यही बात जब किसी गृहमंत्री के मुंह से निकलती है तो इसमें आग की-सी लपट उठती है। इसीलिए शिंदे ने मुंह खोला नहीं कि संघ और भाजपा के प्रवक्ता ने आसमान सिर पर उठा लिया।

प्रेस फोटोग्राफर से अभद्रता करने वाले हवलदार को एसएसपी ने सस्‍पेंड किया

 

पंजाब के बटाला ट्रैफिक नाके पर चालान काट रहे पुलिस कर्मचारियों की फोटो खींचने पर उन्‍होंने प्रेस फोटोग्राफर से बदतमीजी की. उसका कैमरा छीनने के साथ उससे अभद्र व्‍यवहार भी किया गया. इससे नाराज मीडियाकर्मियों ने गांधी चौक पर चक्‍का जाम कर दिया. यहां मीडियाकर्मियों ने पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. मामले की गंभीरता को देखते हुए एसएसपी ने एक पुलिसकर्मी को सस्‍पेंड करने का आदेश दिया, जिसके बाद मीडियाकर्मियों ने अपना प्रदर्शन समाप्‍त किया. 

ईपीडब्‍ल्‍यू ने लिखा – खतरनाक हैं भारतीय टीवी न्‍यूज चैनल!

मुंबई से प्रकाशित साप्‍ताहिक इकोनॉमिक्‍स एंड पॉलिटिकल वीकली ने टीवी चैनलों के किसी मुद्दे पर हाइपर हो जाने पर कड़ा संपादकीय लिखा है. इस वीकली ने 26 जनवरी के अपने अंक में लिखा है कि टीवी चैनल जितने तेज हैं ये समाज के लिए उतने ही खतरनाक होते जा रहे हैं. वीकली लिखता है कि जिस तरह से पाकिस्‍तानी सैनिकों द्वारा एक भारतीय सैनिक का सर काट लिए जाने मामले में लगभग सभी टीवी चैनल एक दूसरे को मात देने के चक्‍कर में हाइपर हुए वो समाज के लिए एक बहुत बड़ा खतरा है. नीचे साप्‍ताहिक में प्रकाशित संपादकीय.

नवीन जिंदल ने जी न्‍यूज पर एक और मामला दर्ज कराया

नईदिल्‍ली : जिंदल और जी के बीच टकराव एक बार फिर बढ़ गया है. जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड (जेएसपीएल) ने जी न्यूज पर धोखाधड़ी और मानहानि का आरोप लगाया है. कंपनी की तरफ से जी न्‍यूज पर भ्रामक और मनगढ़ंत खबरें प्रसारित करने पर दिल्‍ली पुलिस में आपराधिक शिकायत दर्ज कराई गई है. यह मामला 15 जनवरी को दर्ज कराया गया है.

हिंदुस्‍तान का विज्ञापन घोटाला उजागर करने वाले श्रीकृष्‍ण प्रसाद की आपबीती

मुंगेर। 200 करोड़ के दैनिक हिन्दुस्तान विज्ञापन फर्जीवाड़ा को पूरी दुनिया के समक्ष उजागर करने वाले शख्स आरटीआई एक्टिविस्ट, अधिवक्ता, पत्रकार और स्पोकन- इंगलिश के अध्‍यापक श्रीकृष्ण प्रसाद की लगभग तीस वर्षों की जिन्दगी मेसर्स हिन्दुस्तान टाइम्स लिमिटेड, नई दिल्ली के शोषण, जुल्म, आतंक और खूनी पंजों के प्रहार को झेलते-झेलते बीत गई। विगत वर्षों तक मुंगेर की चमत्कृत धरती का हर कोई शख्स एक ही बात दुहराता रहा – ‘कुछ नहीं होगा। कुछ नहीं होगा।‘ परन्तु, ईश्वर की अलौकिक ताकत से वह सब कुछ हो गया, जो पूरी दुनिया आज देख रही है और जो पूरे विश्व में कभी नहीं हुआ।

बेडरूम और रसोई से अलग औरतों की उपस्थिति किसी को याद नहीं रहती है!

: लिंगभेद भी भ्रष्‍टाचार ही है : कितना शुक्र है कि कुछ दुआएं, प्रार्थनाएं, आशीर्वाद इस देश में फल नहीं रहे। वर्ना ना तो इन पंक्तियों को लिखने वाली ही पैदा होती और ना ही उसके जैसी अन्य तमाम। ‘दूधो नाहाओ पूतो फलो‘, ‘तेरे बेटे-पोते बने रहें‘ पुत्रवती भव‘, ‘दूध,पूत, धन्य-धान से वंचित रहे ना कोय‘ और ऐसी ही तमाम दुआएं, प्रार्थनाओं और आशीर्वादों को बेफलित करती हई बेटियां पैदा हो रही हैं। ना सिर्फ पैदा हो रहीं हैं बल्कि हर गली-नुक्कड़, यहां-वहां, काम और बेकाम की जगहों पर उपस्थित हो रही हैं। हालांकि ऐसी तमाम दुआओं के समर्थन में विज्ञान, तकनीक, चिकित्सा और चिकित्सक भी उतर आए हैं कि बेटियां पैदा ना हों। लेकिन कुछ नेकदिल माता-पिताओं के कारण लड़कियां अभी भी हैं और रहेंगी पूरी धमक के साथ।

विजय यादव ने टीवी99 एवं नवीन सिंह ने हिंदुस्‍तान ज्‍वाइन किया

मुंबई से खबर है कि विजय कुमार यादव ने अपनी नई पारी टीवी99 के साथ शुरू की है. उन्‍हें मुंबई में चैनल का ब्‍यूरोचीफ बनाया गया है. विजय की गिनती मुंबई के अच्‍छे क्राइम रिपोर्टरों में की जाती है. विजय ने अपने करियर की शुरुआत दैनिक जागरण के साथ उत्‍तर प्रदेश में की थी. इसके बाद ये जनसत्‍ता, हमारा महानगर, मुंबई संध्‍या, मुंबई टाइम्‍स, उर्दू टाइम्‍स, जनसंदेश न्‍यूज चैनल, इन टाइम आदि समूहों को अपनी सेवाएं दीं.

विनीत मौर्या बने जनसंदेश टाइम्‍स, लखनऊ के यूनिट हेड

जनसंदेश टाइम्‍स, लखनऊ से खबर है कि विनीत मौर्या ने ज्‍वाइन किया है. वे यूनिट हेड के पद पर आए हैं. अखबार में यूनिट हेड का पद लम्‍बे समय से खाली चल रहा था. विनीत अभी तक दिल्‍ली में रीयल स्‍टेट के कामों से जुड़े हुए थे. विनीत का मीडिया फील्‍ड में यह पहला अनुभव है. युवा एवं एनर्जेटिक विनीत ने जनसंदेश टाइम्‍स के अंदर लंबे समय से चल रही गड़बडि़यों को प्‍वाइंट आउट भी करने लगे हैं.

गुडगाँव से जल्‍द लांच होगा हिंदी दैनिक गुडगाँव टुडे

: केके सलूजा बने संपादकीय प्रभारी : हरियाणा के वरिष्ठ पत्रकार और दैनिक जागरण में करीब 18 बरसों तक सम्पादकीय से लेकर ब्रांड तक विभिन्न पदों पर काम कर चुके अनिल आर्य जल्दी ही गुडगाँव से एक स्थानीय हिंदी दैनिक गुडगाँव टुडे का प्रकाशन करने जा रहे हैं.अखबार की डमी कॉपी की छपाई शुरू हो चुकी है. अगले सप्ताह लोकार्पण की तैयारी है. दैनिक जागरण में लम्बे अरसे तक समाचार संपादक रहे केके सलूजा गुडगाँव टुडे का सम्पादकीय प्रभार संभाल रहे हैं. जागरण के ही गुडगाँव प्रभारी रहे सुखबीर चौहान भी महत्वपूर्ण भूमिका में है. कुछ और नाम भी जल्दी ही जुड़ने वाले हैं.

पंजाब के नवरंग को लेकर क्रिएटिव हेड सुरोजित देबनाथ जताई आपत्ति

: मैगजीन बनाने की जिम्‍मेदारी फिर पंजाब की टीम के जिम्‍मे : खबर है कि कुछ समय पहले ही दैनिक भास्‍कर ने अपनी फिल्‍मी पत्रिका नवरंग को सेंट्रलाइज कर इसे जयपुर से बनाने का निर्णय लिया था, मगर कंटेंट और डिजाइनिंग के हिसाब से यह मैगजीन पंजाब के लोगों नहीं भा रहा है। इस संबंध में दैनिक भास्‍कर, पंजाब के क्रिएटिव हेड सुरोजित देबनाथ ने भी आपत्ति जताई है। उन्‍होंने उच्‍च प्रबंधन को इस संबंध में पत्र लिखा है। सूत्रों का कहना है कि उन्‍होंने प्रबंधन को जानकारी दी है कि यह नवरंग पंजाब के पाठकों के हिसाब से ठीक नहीं है। इसकी लेआउट आज से सात आठ साल पहले बनने वाले नवरंग जैसी है।

पिंक सिटी प्रेस क्लब के अध्यक्ष को चाहिए एक अदद नौकरी!

पिछले नौ महीने से प्रेस क्लब की कुर्सी पर बैठे किशोर शर्मा इन दिनों परेशान हैं। कारण यह है कि उनके पास नौकरी नहीं है। पहले वे एक बड़े अखबार में सर्वेयर हुआ करते थे लेकिन बाद में पत्रकारों के बीच घुसपैठ कर ली और तीन बार चुनाव हारकर चौथी बार ब्राह्मण होने का फायदा उठाते हुए चुनाव भी लड़ बैठे। पत्रकारिता में आज तक किशोर शर्मा के नाम से एक भी खबर प्रकाशित हुई नहीं देखी है, लेकिन अब राजधानी जयपुर के पत्रकार जब आपस में बात करते हैं कि प्रेस क्लब अध्यक्ष कौन से अखबार में है तो उनका खीजना जायज भी है। जब सचिवालय के गलियारों में बड़े अधिकारी उनसे पूछते हैं कि वे कहां नौकरी करते हैं तो उनके पास जवाब सिर्फ यही होता है कि वह प्रेस क्लब की ही नौकरी करते हैं।

मधुकर बने सहारा समय, यूपी के इनपुट हेड, अनिल शाही की विदाई

सूचना आ रही है कि सहारा मीडिया टीवी नेटवर्क के न्यूज चैनल सहारा समय, उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड से इनपुट हेड अनिल शाही की विदाई हो गई है. उपेंद्र राय के विश्वासपात्र अनिल राय की जोड़ी के अनिल शाही की विदाई से सहारा मीडिया में हड़कंप मच गया है. ब्रजेश कुमार मधुकर को अनिल शाही की जगह तैनात कर दिया गया है. करीब 8 साल से सहारा समय, उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड चैनल के साथ सक्रिय रूप में कार्यरत मधुकर मूल रूप से पटना के रहने वाले हैं.

दूरदर्शन वाले सिर्फ आईआईएमसी वालों को ही नौकरी क्यों देना चाहते हैं? देखें ये विज्ञापन

Vikas Verma : दूरदर्शन वालों की वेबसाइट पर जाब अपार्चुनिटी का एक पेज है. इस पेज www.ddinews.gov.in/Jobopportunity पर जाने पर एक जाब आफर दिखाई पड़ता है. पर इस जाब के लिए साफ तौर पर लिखा गया है कि आईआईएमसी के पास आउट लोग अप्लाई करें. लगता है दूरदर्शन वालो को मीडिया में सिर्फ एक ही कॉलेज दिखता है… और वो है IIMC… और इसका ताज़ा उदाहरण है ये विज्ञापन…

अयोध्या फिल्म फेस्टिवल के खिलाफ स्थानीय अखबार खूब फैला रहे अफवाह

अयोध्या/ फैजाबाद का हिंदी प्रिंट मीडिया का एक बड़ा हिस्सा अपनी पेशागत नैतिकताओं के विरुद्ध निहायत गैर-जिम्मेदाराना, पक्षपाती, शरारती, षडयंत्रकारी, सांप्रदायिक और जनविरोधी हो चला है। वह अपनी विरासतों/ नीतिगत मानदंडों का खुल्लमखुल्ला उलंघन करने पर उतारु है। जनपद में घटी हाल की घटनाओं पर रिपोर्टिंग से उसकी इसी नियत/ चरित्र का पता चलता है। इन अख़बारों ने विगत 23 जुलाई में मिर्ज़ापुर गांव की घटना, 21 सितंबर देवकाली मूर्ति चोरी प्रकरण, 13 अक्टूबर को मूर्ति बरामदगी आंदोलन में भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ के कूदने और 24 अक्टूबर को मूर्ति विसर्जन के दौरान हुए फसाद के आस-पास क्या क्या गुल नहीं खिलाए? जिसे देखकर आप माथा पीट लेंगे।

अथश्री ई टीवी कथा – रैना बीती जाए, नींद ना आए…

: कानाफूसी :  कारपोरेट और मीडिया गठजोड़ के जरिए भारत पर राज करने का सपना देखने वाले रिलायंस समूह ने बैक डोर से टीवी18 को आगे कर बूढ़े हो चुके दक्षिण भारत के मीडिया मुगल रामोजी राव की जिंदगी भर की कमाई (इज्जत-प्रतिष्ठा) की कीमत लगा दी तो इसके साथ-साथ दो जमात की नींद उड़ गई। इसमें से एक बड़ी जमात वह है जो अपने करियर के साथ-साथ बाल-बच्चों के भविष्य को लेकर सशंकित है। इन्हें रात भर नींद नहीं आती। वैसे नींद तो दूसरी चंद लोगों की जमात को भी नहीं आती लेकिन उसके कारण अलग हैं।

गणतंत्र दिवस पर नासिक से लांच होगा लोकमत टाइम्‍स

लोकमत समूह अपने अंग्रेजी अखबार लोकमत टाइम्‍स का विस्‍तार करने जा रहा है. मराठी, हिंदी तथा अंग्रेजी भाषा में अखबार का प्रकाशन करने वाला यह समूह लोकमत टाइम्‍स को नासिक से लांच करने जा रहा है. हाइपर लोकल होने के दौर में मराठी और हिंदी के बाद अब यह समूह अपने अंग्रेजी के प्रकाशनों की संख्‍या भी बढ़ा रहा है. अभी तक लोकमत टाइम्‍स का प्रकाशन औरंगाबाद और नागपुर से हो रहा है. समूह ने अंग्रेजी कंटेंट के लिए द एशियन एज से टाइअप कर रखा है.

आज खत्‍म होगी अमर उजाला के संपादकों की कार्यशाला

अमर उजाला प्रबंधन अपने संपादकों तथा सीनियरों से बेहतर सांमजस्‍य बैठाने के लिए तीन दिन से कार्यशाला का आयोजन कर रहा है. मंगलवार यानी आज इस कार्यशाला का आखिरी दिन है. प्रबंधन ने अपने सभी अठ्ठारह यूनिटों के संपादकों तथा वरिष्‍ठों के लिए रविवार से कार्यशाला का आयोजन किया था. इसमें इन लोगों को नई जानकारियां दी गईं तो इनसे तमाम समस्‍याओं के बारे में जानकारी भी मांगी गई. इस कार्यशाला में एमडी राजुल माहेश्‍वरी भी उपस्थित हुए. 

इंडिया न्‍यूज से एचआर हेड सुषमा सिंह तथा आज समाज से रवि डरार एवं पीयूष शर्मा का इस्‍तीफा

आईटीवी से खबर है कि एचआर हेड सुषमा सिंह का इस्‍तीफा हो गया है. प्रबंधन ने उनके इस्‍तीफा मांग लिया था. सुषमा एचआर के अलावा एडमिन एवं ट्रांसपोर्ट हेड की जिम्‍मेदारी भी संभाल रही थीं. उनकी जगह सरिता चौधरी को एचआर हेड बना दिया गया है. सरिता पहले भी इसी पद पर थीं, परन्‍तु सुषमा के आने के बाद उनसे यह जिम्‍मेदारी ले ली गई थी. बाकी जिम्‍मेदारियां परमेश्‍वर देख रहे हैं.

जागरण से इस्‍तीफा देने वाले विभूति रस्‍तोगी का पीएचडी में चयन

दैनिक जागरण, दिल्ली के साथ पिछले दस सालों पत्रकार विभूति कुमार रस्तोगी ने इस्‍तीफ दे दिया है। वे सेंट्रल यूनिवर्सिटी आफ राजस्थान से पत्रकारिता में पीएचडी कर रहे हैं। सेंट़ल यूनिवर्सिटी आफ राजस्थान में अखिल भारतीय स्तर पर लिखित परीक्षा और तीन दौर के साक्षात्कार के बाद विभूति का जर्नलिज्म में पीएचडी में चयन हुआ है। इसमें सिर्फ दो ही लोगों का चयन हुआ है, जिसमें एक आंध्र प्रदेश का छात्र है और दूसरे विभूति रस्तोगी हैं।

हरियाणा में पत्रकारों का होगा दस लाख का बीमा

हरियाणा यूनियन आफ जर्नलिस्ट्स (एचयूजे) के प्रदेशाध्यक्ष संजय राठी ने कहा कि लोकतंत्र का चौथा स्तंभ होने के नाते मीडिया की अहम भूमिका है। मीडियाकर्मियों को ऐसी खबरों से बचे जो समाज को तोड़ने का काम करे। पत्रकारिता का धर्म भी है कि वह समाज को जोडऩे में अपनी भूमिका अदा करे। सच को सच और झूठ को झूठ करने की हिम्मत रखने वाले ही पत्रकार है। ऐसी सोच रखने वाले निर्भीक पत्रकारों की ताताद बेशक कम है, लेकिन उन्हीं कुछ लोगों की बदौलत आज इसकी साख भी बची है। अपवाद स्वरूप ऐसे पत्रकारों को कई तरह की चुनौतियों का भी सामना करना पड़ा और अपनी जान जोखिम में भी डालनी पड़ी। ऐसे पत्रकारों की कमी नहीं जो पत्रकारिता को पेशा मानते हैं और अन्य कारोबार की तरह इसे करते भी हैं। ऐसे कथित पत्रकारों से बचना होगा तभी समाज का भला होगा।

ओम प्रकाश चौटाला एवं अजय चौटाला को दस साल की सजा

नई दिल्ली। रोहिणी की विशेष सीबीआई कोर्ट ने जेबीटी भर्ती केस में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला और उनके बेटे अजय चौटाला को 10-10 साल की सजा सुनाई है। इनके अलावा आईएएस संजीव कुमार और विद्याधर को भी 10 साल की सजा सुनाई गई है। कोर्ट के बाहर भारी हंगामे के बीच कोर्ट ने इन्हें ये सजा सुनाई है। सजा सुनाए जाने के दौरान चौटाला समर्थकों ने जमकर हंगामा किया और उत्‍पात मचाया। पुलिस ने लाठियां भांजकर स्थिति को काबू में किया।

सुजाता की नई पारी, इब्‍लीस का तबादला

साधना न्‍यूज से खबर है कि सुजाता ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर एंकर तथा सुजाता पिछले चार सालों से चैनल को अपनी सेवाएं दे रही थीं. वे एमपी-सीजी के अलावा बिहार-झारखंड चैनल के साथ भी जुड़ी थीं. उन्‍होंने अपनी नई पारी लाइव इंडिया के साथ शुरू की है. उन्‍हें यहां भी एंकर बनाया गया है.

वीरेन डंगवाल की हालत स्थिर, इलाज के लिए दिल्‍ली ला सकते हैं परिजन

मशहूर कवि और अमर उजाला के निदेशक वीरेन डंगवाल की हालत स्थिर बनी हुई है. वे अभी आईसीयू में ही भर्ती हैं. उनकी तबीयत में थोड़ी सुधार बताई जा रही है. गौरतलब है कि वे एक कवि सम्‍मेलन में भाग लेने के लिए रायगढ़ गए थे, जहां उनको हार्ट अटैक हो गया था. जिसके बाद उन्‍हें जिंदल फोर्टिज अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है. उनके इलाज के लिए आज कार्डियोलाजिस्‍ट पहुंच रहे हैं. उनके करीबियों का कहना है कि डाक्‍टर के आने के बाद अगर जरूरत पड़ी तो उन्‍हें दिल्‍ली भी शिफ्ट किया जा सकता है.

दिलीप अवस्‍थी बनाए जाएंगे दैनिक जागरण के फीचर एडिटर!

दैनिक जागरण से खबर है कि नोएडा में संतोष द्विवेदी के जाने के बाद से खाली पड़े फीचर एडिटर के पद पर दिलीप अवस्‍थी को लाए जाने की तैयारी है. नोएडा से जुड़े सूत्रों का कहना है कि संतोष तिवारी के ट्रिब्‍यून चले जाने के बाद से ही यह पद खाली पड़ा हुआ है, इसलिए …

अमर उजाला ने अतुल बरतरिया को बिहार ब्‍यूरो का हेड बनाया

अमर उजाला, देहरादून से खबर है कि अतुल बरतरिया को बिहार का ब्‍यूरो हेड बनाकर पटना भेज दिया है. वे पटना ब्‍यूरो की जिम्‍मेदारी संभालेंगे. अतुल डेढ़ दशक से ज्‍यादा समय से पत्रकारिता में सक्रिय हैं. 1996 में अमर उजाला, कुमांऊ से अपने करियर की शुरुआत करने वाले अतुल 2005 तक इस अखबार से जुड़े रहे. यहां से इस्‍तीफा देकर वे दैनिक जागरण चले गए. वहां वे स्‍टेट ब्‍यूरो हेड के रूप में अपनी जिम्‍मेदारी निभाते रहे. 2001 में वे दुबारा डीएनई बनकर अमर उजाला वापस लौट आए थे.

अंग्रेजी दैनिक द हितवाद के सिटी एडिटर राहलु पांडे सम्‍मानित

Veteran journalist M G Vaidya conferring Nasikrao Tirpude Memorial Award for excellence in journalism on Rahul Pande, City Editor of 'The Hitavada' at Tilak Patrakar Bhavan on January 16. The award has been instituted jointly by Yugantar Education Society, Nagpur Union of Working Journalists and Tilak Patrakar Bhavan Trust. Pradip Maitra, Trust President, Rajkumar Tirpude, …

मातृभूमि समूह लांच करेगा न्‍यूज चैनल ‘मातृभूमि न्‍यूज’

केरल की बड़ी मीडिया कंपनी मातृभूमि ने प्रिंट के बाद अब इलेक्‍ट्रानिक मीडिया में भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराने जा रही है. कंपनी ने मातृभूमि नाम से मलयालम भाषा में अखबार का प्रकाशन करती है. यह इस भाषा में मलयाला मनोरमा के बाद यह दूसरे नम्‍बर का अखबार है. कंपनी ने मातृभूमि न्‍यूज के नाम से चौबीस घंटे का न्‍यूज चैनल लांच करने जा रही है. इस बारे में बिजनेस स्‍टैंडर्ड ने भी खबर छापी है. नीचे बिजनेस स्‍टैंडर्ट में प्रकाशित खबर.

छोटे लोगों के दौर में बड़े दिल के आदमी थे रामश्रय बाबू

रामाश्रय बाबू नहीं रहे, यह खबर पीड़ा देनेवाली है। वे राजनेताओं की उस जमात का प्रतिनिधित्व करते थे जो राजनीतिक उठापटक के बीच भी व्यक्तिगत रिश्ते बनाने और उसे निभाने में विश्वास रखते थे। अपने सहज-सरल और आत्मीय व्यवहार से विरोधी को भी अपना बना लेने की उनमें अदभुत क्षमता थी। बात 1987-88 की है। मैं गया में नवभारत टाइम्स का रिपोर्टर था। पत्रकारिता में नया था। उत्साह, उमंग और कुछ कर गुजरने के जज्बे से भरपूर। यह वह दौर था जब उस इलाके में नक्सल आन्दोलन उफान पर था। शायद ही कोई महीना ऐसा गुजरता हो जब हिंसा की कोई घटना न होती हो।

बनारस से cmgtimes.com मीडिया पोर्टल लांच

बनारस में युवा पत्रकारों की टीम ने www.cmgtimes.com नाम एक मीडिया पोर्टल की शुरुआत की है. इसमें देश-विदेश से लेकर बनारस के खास खबरों पर ध्‍यान केंद्रित किया जा रहा है. इस पोर्टल की टीम का नेतृत्‍व हिंदुस्‍थान समाचार, महामेधा समेत कई संस्‍थानों के साथ काम कर चुके अमल कुमार श्रीवास्‍तव कर रहे हैं. उनके इस प्रयास को बनारस के मीडिया जगत के कुछ वरिष्‍ठ पत्रकारों का भी सहयोग मिल रहा है.

रुद्रपुर में मीडियाकर्मियों पर हमले के मामले ने तूल पकड़ा, पत्रकारों ने दिया धरना

कुछ दिन पहले रुद्रपुर में कवरेज के दौरान भाजपा विधायक राजकुमार ठुकराल के भाई दीपक ठुकराल और संजय ठुकराल द्वारा किए गए हमले के मामले ने तूल पकड़ लिया है. पुलिस की लापरवाही से नाराज जिले भर के पत्रकारों ने आंदोलन का रास्‍ता अख्तियार कर लिया है. इस मामले में पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं किए जाने से खफा उधमसिंह नगर के समस्‍त पत्रकारों ने रुद्रपुर स्थित जिलाधिकारी कार्यालय पर धरना-प्रदर्शन किया. पत्रकारों ने आरोपी हमलावरों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई किए जाने की मांग की.

Zee-Jindal कांड Indian Media की history में landmark “story”

'दी हिंदू' अखबार के संपादकीय पेज पर संदीप भूषण का एक राइटअप छपा है. इसमें उन्होंने जी-जिंदल प्रकरण के बहाने वर्तमान मीडिया परिदृश्य पर कुछ टिप्पणियां की हैं. बेहद पठनीय राइटअप है. मीडिया से जुड़े हर शख्स को इसे पढ़ना चाहिए. लेखक संदीप भूषण का परिचय ये है कि वे टीवी पत्रकार रह चुके हैं. इन दिनों जामिया मिलिया इस्लामिया में शिक्षण कार्य से जुड़े हुए हैं.

भाजपा नेत्री वसुंधरा राजे के इस ‘लिप लॉक किस’ पर संघ-भाजपा वाले क्यों नहीं आपत्ति करते?

उप्स … ये क्या… लिप लॉक किस!!! पश्चिम के भोंडेपन का प्रदर्शन … भारतीय सस्कृति का अपमान…. देखो तो… भाजपा नेत्री वसुन्धरा राजे ने संघ के दिये संस्कारों का पालन नहीं किया…. संघ प्रमुख मोहन भागवत जी को इन पर कार्यवाही का दबाव बनाना चाहिये था…

चम्पादक सीरीज़ – सरोकारिता पर सीआरपी हिट्स बैक

न्यूज़रूम में अचानक से बकबैक पर आकाशवाणी गूंजती है…. "अरे ये पैकेज किसने चलाया…कौन है धनडाउन पर…"

धनडाउन प्रोड्यूसर सकपकाते हुए जवाब देता है… "सर…वो मैं हूं चम्पकलाल…मैंने लिया है पैकेज…"

बकबैक से वापस आवाज़ आती है…. "चम्पक नहीं…महाचम्पक हो साले तुम सब…किसने कहा था ये पैकेज लेने को…मरी हुई स्टोरी है…अभी आता हूं, वहीं बात करता हूं…"

बिंदिया भट्ट अल्फा ग्रुप से जुड़ीं, रूपेंद्र ने डीएलए को अलविदा कहा, संजय की अमर उजाला में वापसी

न्यूज24 के वेब सेक्शन में कार्यरत पत्रकार बिंदिया भट्ट ने इस्तीफा दे दिया है. सूत्रों के मुताबिक वे अल्फा ग्रुप के नए लांच होने जा रहे न्यूज चैनल के साथ नई पारी शुरू की है. बिंदिया न्यूज24 से पहले भास्कर डाट काम में थीं और उससे भी पहले करीब पांच वर्ष तक न्यूज24 में रही हैं.

वाशिंद्र मिश्र की मुराद जी न्यूज में पूरी, अब सहारा नहीं जाएंगे

: कानाफूसी  : वाशिंद मिश्र का सहारा ज्वाइन करना फिर स्थगित हो गया. उनकी मुराद जी न्यूज में ही पूरी हो गई. जी न्यूज प्रबंधन ने वाशिंद्र का इस्तीफा स्वीकार नहीं किया. बताया जाता है कि वाशिंद्र की सेलरी बढ़ा दी गई है और उनके लिए कष्टकारक बने दो लोगों को जी न्यूज से निकाल दिया गया है. सूत्रों का कहना है कि सहारा में भी एक लाबी ने वाशिंद्र के आने का जमकर विरोध किया और ऐसी पुख्ता व्यवस्था करा दी थी कि वाशिंद्र सहारा न आ सकें. हालांकि वाशिंद्र ने कुछ बड़े नेताओं से लाबिंग कराकर सहारा में अपनी इंट्री की पुख्ता व्यवस्था कर ली थी पर जब जी न्यूज में ही उनका राज साम्राज्य निष्कंटक हो गया तो फिर उन्होंने अपना इरादा त्याग दिया.

रायपुर की रंग-ऊर्जा किसी भी महानगर के रंगमंच को टक्कर देने का माद्दा रखती है

: रायपुर इप्टा का 'मुक्तिबोधी' नाट्य समारोह : यह रायपुर इप्टा द्वारा आयोजित 'मुक्तिबोध राष्ट्रीय नाटय समारोह' (11-15 जनवरी, 2013) का 16वां आयोजन था। 16वां वर्ष किशोरावस्था से वयस्कता की ओर संक्रमण की अवस्था होती हैं। अपनी तमाम छोटी-मोटी कमजोरियों के बावजूद इस आयोजन ने एक बार फिर आश्वस्त किया कि रायपुर की रंग सक्रियता सिर्फ रंगमंच तक सीमित नहीं है, बलिक रंगकर्म के सरोकारों तक विस्तृत है।

‘बनारस समाचार’ की पहली वर्षगांठ पर अस्सी घाट बना सोशल मीडिया की ऐतिहासिक प्रतिध्वनि का साक्षी

: सीढियां थीं दर्शक दीर्घा :  फर्श था वक्ताओं का मंच : बिना ताम-झाम का आयोजन : नौ मार्च को फिर मिलेंगे : अस्सी घाट पर रविवार की सुरमई शाम सचमुच एक यादगार लम्हा बनी. कहने को तो यह 'बनारस समाचार' की प्रथम वर्षगांठ का अवसर था मगर इसकी प्रतिध्वनि ने दिखा दी भविष्य की मीडिया की झलक. जमघट ऐसा भी नहीं कि जाम जैसी स्थिति रही हो. अर्थात संख्या हजारों में नहीं, सैकड़ों में रही लेकिन उनका अंदाजे बयां यह स्पस्ट संकेत दे रहा था कि देश अब चुप बैठने वाला नहीं है. सूचना क्रांति की कोख से उपजा सोशल मीडिया के रूप में अब एक ऐसा अस्त्र देशवासियों के हाथ लग चुका है, जो देश की दशा और दिशा बदलने में निर्णायक भूमिका निभाने जा रहा है.

हम डीक्लास तो हो सकते हैं लेकिन डीकास्ट नहीं : शंभूनाथ शुक्ला

Shambhunath Shukla : मैं अनीश्वरवादी हूं, जातिवाद मैं नहीं मानता और मुझे एक ब्राह्मण परिवार में जन्म लेने पर शर्म है। लेकिन दिक्कत यह है कि हम डीक्लास तो हो सकते हैं लेकिन डीकास्ट नहीं। शुक्ल का पुछल्ला मेरे साथ लगा ही रहेगा। मेरी किसी धर्म से कोई शत्रुता नहीं है। मुझे इस्लाम या क्रिश्चियनिटी से कोई गुरेज नहीं है। मेरे चौके में सभी की दखल है और मेरी पांत में सभी हैं। लेकिन मैं हिंदू हूं और हिंदू ही रहूंगा तथा मरूंगा भी एक हिंदू रहते हुए भी। हालांकि मुझे जलाया जाए अथवा दफनाया इस पर भी मुझे आपत्ति नहीं है।

वीरेन डंगवाल को हार्ट अटैक, आईसीयू में एडमिट

मशहूर कवि और अमर उजाला के निदेशक वीरेन डंगवाल के बारे में सूचना मिल रही है कि उनका हार्ट अटैक हो गया है. स्थिति उनकी खतरे के बाहर बताई जा रही है. वे एक कवि गोष्ठी में भाग लेने छत्तीसगढ़ के रायगढ़ गए हुए थे. वहीं उनके सीने में दर्द उठा और हालत बिगड़ने लगी. उन्हें स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया.

अमर उजाला में चंडीगढ़ टॉप तो लखनऊ सबसे फिसड्डी यूनिट

: आगरा, धर्मशाला, मुरादाबाद एवं कानपुर टॉप फाइव में : कुछ दिनों पहले ही अमर उजाला प्रबंधन ने अपने यूनिटों की सालाना रेटिंग तय की है. अमर उजाला के 18 यूनिटों में चंडीगढ़ ने बाजी मारी है वहीं अक्‍सर विवादों में रहने वाला लखनऊ यूनिट फिसड्डी साबित हुआ है. चंड़ीगढ़ 3.1 अंक लेकर सबसे ऊपर है. उल्‍लेखनीय है कि चंडीगढ़ यूनिट की जिम्‍मेदारी नार्थ हेड उदय कुमार के पास थी. माना जा रहा है कि उदय कुमार के लगातार बेहतर परफारमेंस के चलते ही उन्‍हें प्रमोट करके न्‍यूज नेटवर्क हेड बनाया गया है. उनके नेतृत्‍व में ही अमर उजाला ने हिमाचल और जम्‍मू में भी अपना झंडा गाड़ रखा है.

फर्जी पत्रकारों ने छात्र को ब्‍लैकमेल कर दस हजार वसूला

रायपुर। अपने आप को पत्रकार बताने वाले आरोपियों ने भिलाई इंस्टीटयूट ऑफ टेक्नोलॉजी के एक छात्र को झूठी तस्वीर खींचने का झांसा देकर 10 हजार रुपये वसूले। वे और राशि वसूलने की फिराक में इंजीनियरिंग के छात्र पर दोबाव बनाने लगे। जिससे वह तंग आकर टिकरापारा थाना में मामला दर्ज करवाया। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मुख्य आरोपी सहित पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

”तोहका हॉकी मा हिरोइन के नाच देखय के फुर्सत बा, ढांढस बंधावय का दुइयो मिनट के टैम नाही बा”

: शहीद बाबूलाल के पिता ने सुनाई सीएम को खरी-खरी : 25 को शहीद के घर पहुंचेंगे अखिलेश : इलाहाबाद। शहीद बाबूलाल पटेल के परिजनों का आंदोलन रंग लाया। सरकार को अनशनकारियों के आगे पूरी तरह नतमस्तक होना पड़ा। शहीद के पिता और अदने से किसान परिवार की जिद के आगे मुख्यमंत्री को आने की सहमति देनी पड़ी। शहीद के पिता मुन्नीलाल से डायरेट मुख्यमंत्री ने मोबाइल पर बात की। डीएम राजशेखर ने पंद्रह मिनट कोशिश करने के बाद अपने मोबाइल का स्पीकर ऑन कर दिया। मुन्नीलाल को मोबाइल थमाते हुए बोले-लीजिए, मुख्यमंत्री आपसे बात करना चाहते हैं। गांव के अदने किसान ने अनमयस्क तरीके से मोबाइल अपने कान में लगाते हुए कहा-हैल्लो। अब बारी थी मुख्यमंत्री के बोलने की।

दैनिक भास्‍कर ने नवरंग पत्रिका को किया सेंट्रलाइज

: रसरंग पहले की तरह दिल्‍ली एवं पंजाब से होगा प्रकाशित : दैनिक भास्‍कर से खबर आई थी कि रसरंग का प्रकाशन सेंटर चेंज कर दिया गया है. पर असली खबर यह है कि फिल्‍मी पत्रिका नवरंग को सेंट्रलाइज किया गया है. रसरंग पहले की तरह दिल्‍ली और पंजाब से ही बनेगा. नवरंग पहले मुंबई, दिल्‍ली और पंजाब से बन रहा था. दिल्‍ली से बनने वाले नवरंग में प्रयोग के तौर पर हेल्‍थ से संबंधित कंटेंट दिया गया था, परन्‍तु प्रबंधन का यह प्रयोग सफल नहीं हुआ. इसलिए प्रबंधन ने अब इसको सेंट्रलाइज कर दिया है.

हिंदुस्‍तान विज्ञापन घोटाला : बिहार के राजनैतिक दल सबक सिखाने की तैयारी में

 

मुंगेर।  200 करोड़ के दैनिक हिन्दुस्तान विज्ञापन घोटाला के उजागर होने के बाद बिहार के सभी राजनीतिक दलों के शीर्ष नेताओं और पार्टी कार्यकर्ताओं की अखबारी गुलामी की जंजीर अब टूटने के कगार पर पहुंच गई है। जनता दल (यू), राष्‍ट्रीय जनता दल, लोक जनशक्ति पार्टी, कांग्रेस, भाकपा, माकपा और क्षेत्रीय दलों के शीर्ष नेताओं और पार्टी कार्यकर्ताओं की दैनिक अखबारों में दशकों से की जा रही उपेक्षा अब समाप्त होने की स्थिति में आ गई है।

आसान नहीं है नमो नमो नमो का मंत्र लोकसभा चुनाव में चलना

जनता की पुरजोर मांग के बाद तमाम अवरोधों के बावजूद आखिरकार भाजपा ने मोदी के नाम पर मोहर लगा दी। लगा कि इस देश को वाकई जनता या यूं कहें, कि सोशल नेटवर्किंग साइट्स चला रही हैं। गुजरात विधानसभा चुनाव में भाजपा की जीत की हैट्रिक लगने के बाद से ही ‘देश में नमो नमो नमो’ का नारा बुलंदी पर था। इसका कारण केवल मोदी का हिन्दू नेता होना नहीं था। एक ओर मोदी ने अपनी सांप्रदायिक छवि से हिन्दू धड़े को खुश किया और दूसरी ओर गुजरात को विकास का उदाहरण बनाकर धर्मनिरपेक्षों का भी मुंह बंद किया। जो मुसलमान गोधरा कांड के बाद मोदी को आतंकवादी के तौर पर देखते थे, उन्हीं मुसलमानों का एक बड़ा वर्ग इस विधानसभा चुनाव में मोदी की पैरवी करता दिखा।

वाह रे यूपी : कानून के रखवाले ही करने लगे हैं कानून का दुरुपयोग

बाराबंकी। कानून बनते हैं अपराध और अपराधियों पर लगाम लगाने के लिए लेकिन उसका दुरुपयोग अगर आम आदमी करे तो बात अलग है, अगर प्रशासनिक अधिकारी कानून का खुला उल्लंघन कर बेकसूर को जेल तक पहुंचाये तो अवाम में इस बेइंसाफी के खिलाफ आवाज उठना भी लाजमी है। वर्ष 2013 की शुरुआत में ही जिलाधिकारी के निर्देश पर एसडीएम सदर ने यश व सिटी डायग्नोस्टिक सेंटर पर स्टिंग आपरेशन कर अल्ट्रासाउण्ड करवाया और भ्रूण परीक्षण का इल्जाम लगाकर सीजीएम कोर्ट में परिवाद दर्ज कराकर वृहस्पतिवार को दो बेकसूरो को जेल भिजवा दिया।

अमर उजाला, बरेली के संपादक और बदायूं के ब्‍यूरोचीफ फंसे

अमर उजाला का बदायूं कार्यालय भ्रष्टाचार, व्यक्तिगत स्वार्थों की पूर्ति के लिए मनमानी ख़बरें प्रकाशित करने को लेकर पहले से ही कुख्यात है। इस तरह की ख़बरों से अब तक आम आदमी, नौकरशाह और राजनेता ही प्रभावित होते रहे हैं, जिससे अमर उजाला के संबंधित पत्रकारों का दुस्साहस लगातार बढ़ता जा रहा है। तभी, खुद को सर्वोपरि समझने वाले अमर उजाला के पत्रकारों ने न्यायालय को भी नहीं बख्शा। आम आदमी अपमानित होकर शांत बैठ जाता है, लेकिन इस बार अमर उजाला के पत्रकारों का पाला न्यायालय से पड़ गया है।

फर्रुखाबाद में अधिवक्‍ता पर हमला, सहारा के रमेश अवस्‍थी के परिजन भी नामजद

फर्रुखाबाद से खबर है कि तहसील परिसर में एक अधिवक्‍ता पर हुए जानलेवा हमले में भुक्‍तभोगी के परिवार ने राष्‍ट्रीय सहारा, कानपुर यूनिट के हेड रमेश अवस्‍थी के परिजन समेत गांव के कुल 11 लोगों के खिलाफ अमृतपुर थाने में मामला दर्ज कराया है. हमले में बचे अधिवक्‍ता ब्रह्मदत्‍त शुक्‍ला ने आरोप लगाया है कि इन लोगों ने दो लाख रुपये की सुपारी देकर इनकी हत्‍या का षणयंत्र रचा है. हालांकि पुलिस जांच में सामने आया है कि अधिवक्‍ता ने ज्‍यादातर लोगों को गांव की आपसी रंजिश की वजह से फंसाया है. दूसरे पक्ष की तहरीर पर भी पुलिस ने अधिवक्‍ता तथा उनके परिजनों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

कानपुर की एक सड़क अतुल माहेश्‍वरी के नाम पर

कानपुर नगर निगम ने अमर उजाला के निदेशक रहे स्‍व. अतुल माहेश्‍वरी के पत्रकारिता में दिए गए योगदान को देखते हुए शहर की एक सड़क को उनका नाम दे दिया है. बताया जा रहा है कि कानपुर में मरियमपुर से लेकर विजय नगर तिराहे तक जाने वाली सड़क का नाम अतुल माहेश्‍वरी मार्ग कर दिया गया है. इस मार्ग में तीन चौराहे पड़ते हैं. यह कानपुर का महत्‍वपूर्ण सड़क मानी जाती है. बताया जा रहा है कि इसके लिए नगर निगम ने बाकायदा अपने यहां प्रस्‍ताव पास किया, उसके बाद इस सड़क का नाम अमर उजाला के पूर्व निदेशक के नाम से कर दिया गया.

एक पत्रकार भी है घूस मांगने के आरोपी आईपीएस आलोक कुमार का बिचौलिया

एक शराब व्यवसायी से दस करोड़ रुपए की घूस मांगने या उसे बर्बाद करने की धमकी देने वाले सारण के डीआईजी व पटना के पूर्व एसएसपी आलोक कुमार के बिचौलिया व लोफर गांव निवासी उमेश सिंह विधान पार्षद संजय सिंह का साला है। कभी लोजपा प्रमुख रामविलास के निकट सहयोगी रहे संजय सिंह बाद के दिनों में जदयू में शामिल हो गए जिसके बाद उन्हें फिर से जदयू ने विधान पार्षद के साथ पार्टी में अहम पद दिया।

बिहार के इस कैंसर पीडित पत्रकार की मदद कीजिए

बिहार के पत्रकार मित्र देबाशीष बोस, जिनको कैंसर हो गया है, का इलाज टाटा मेमोरियल में चल रहा है…एक लाख से ज्यादा का खर्च कर चुके हैं…अभी भी लगातार खर्च हो ही रहे हैं…ऑपरेशन का बजट जो आज मालूम चलना था, वह अब बुधवार को मालूम चलेगा… देबाशीष जी की अनुमति से उनका नाम मैं सार्वजनिक कर रहा हूं… इस समय आप सभी मित्रों से अनुरोध है कि आप उनकी आर्थिक मदद करें अथवा करवा सकते हैं तो करवाएं.

भिवानी से प्रकाशित समाचार सेवक का होगा विस्‍तार

भिवानी से प्रकाशित होने वाले मासिक पत्रिका समाचार सेवक अपना विस्‍तार उत्‍तर भारत के कई राज्‍यों में करने जा रहा है. हिंदी भाषी राज्‍य हरियाणा के अलावा अब यह उत्‍तर प्रदेश, मध्‍य प्रदेश, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, दिल्‍ली, चंडीगढ़, उत्‍तराखंड, जम्‍मू कश्‍मीर, बिहार व राजस्‍थान में अपने पांव पसारने जा रहा है. प्रबंधन इन राज्‍यों के प्रत्‍येक जिले में ब्‍यूरो प्रमुख तैनात करेगा. पावनी एरा पब्लिकेशन के बैनर तले प्रकाशित होने वाले इस पत्रिका के प्रधान संपादक डा. सोमप्रकाश हैं.

विजय अरोड़ा सिटीजन रिपोर्टर के संपादक बने, अतुल की अमर उजाला संग नई पारी

दैनिक भास्कर, बठिंडा यूनिट से हाल ही में इस्तीफा देने वाले फोटोग्राफर विजय अरोड़ा शहर के नए लांच हुए लोकल न्यूज पेपर सिटीजन रिपोर्टर के संपादक बन गए हैं। विजय अरोड़ा ने दैनिक भास्कर में बतौर फोटोग्राफर दिसम्बर 2007 में अपनी पारी शुरू की थी। बताया जाता है कि काम के बोझ तथा कार्यालय के अंदरुनी राजनीति के चलते विजय अरोड़ा ने भास्कर को अलविदा कह दिया था। अब उन्‍होंने सप्ताहिक समाचार पत्र सिटीजन रिपोर्टर के साथ अपनी नई पारी शुरू कर दी है। अखबार के मालिक राजन सिंगला हैं।

रमेश अवस्थी को हटाकर योगेश दुबे को बनाया गया राष्ट्रीय सहारा, कानपुर का यूनिट हेड

सहारा मीडिया में उठापटक का दौर लंबे समय से जारी है. सहारा मीडिया में जब से संदीप वाधवा ने राव वीरेंद्र सिंह को ताकत दी है और स्वतंत्र मिश्रा को उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड हेड के साथ साथ प्रिंट की भी व्यवस्था देखने की जिम्मेदारी मिली है, उपेंद्र राय के लोगों पर गाज गिरने का क्रम शुरू हो गया है. ताजी सूचना है कि उपेंद्र राय के सबसे करीबी कानपुर यूनिट हेड रमेश अवस्थी को हटा दिया गया है. देर रात रमेश अवस्थी को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया और उनके स्थान पर उपेंद्र राय की ओर से साइडलाइन करके रखे गये योगेश दुबे को कानपुर यूनिट हेड बनाया गया है. देर शाम योगेश दुबे ने कंपनी के आदेशों के क्रम में यूनिट हेड का कार्यभार ग्रहण कर लिया है.

पुण्य प्रसून बाजपेयी के आजतक ज्वाइन करने के बाद की कुछ तस्वीरें

इंडिया न्यूज जाते जाते पुण्य प्रसून बाजपेयी आजतक पहुंच गए. सूत्रों का कहना है कि पुण्य ने इंडिया न्यूज की तरफ से आफर लेटर भी ले लिया था. आफिस वगैरह देख आए थे. अच्छी खासी सेलरी तय हो चुकी थी. पर इसी बीच आजतक में ज्वायनिंग की उनकी इच्छा पूरी हो गई और वे बिना देर किए आजतक पहुंच गए. सूत्रों के मुताबिक अभिसार शर्मा और फिर अजय कुमार के आजतक से इस्तीफे के बाद आजतक में अच्छे एंकर की कमी हो गई थी. इसी कारण आजतक प्रबंधन ने तीसरी बार पुण्य को आजतक के साथ पारी शुरू करने की अनुमति दी. हालांकि आजतक प्रबंधन से पुण्य की बातचीत काफी समय से चल रही थी लेकिन आजतक से दो एंकरों के इस्तीफे के बाद आजतक प्रबंधन ने पुण्य के प्रस्ताव को स्वीकार कर उन्हें तत्काल ज्वाइन करने को कह दिया.

…दो के बदले दस कटेंगे अब रहम ना पायेंगे… जैसलमेर सीमा से दुर्गसिंह राजपुरोहित की लाइव रिपोर्ट

जम्मू कश्मीर में सैनिकों के सर काट कर ले गए पाकिस्तानी सैनिकों ने भारत की सेना और यहाँ की अवाम को गुस्से से भर दिया है। अब वो कोई भी घटना होने के बाद सिर्फ अफ़सोस प्रकट करने की बजाए पकिस्तान को उसी की भाषा में जवाब देने को तत्पर हैं। भारत की सीमाओं की रक्षा में लगी सीमा सुरक्षा बल ने दिन-रात इस सीमा पर सुरक्षा में कई गुना बढ़ोतरी कर दी है। जैसलमेर सीमा से दुर्गसिंह राजपुरोहित की ख़ास खबर…

महराजगंज के युवक ने राजस्थान में रेप के बाद की हत्या

राजस्थान के राजसमंद जिले में महराजगंज के घुघली थाना क्षेत्र के 32 वर्षीय युवक मनोज प्रताप सिंह की दरिन्दगी से पूरा प्रदेश हिल गया है। युवक ने एक मंद वुद्धि लड़की से रेप के वाद सबूत मिटाने के लिये ईट से कुचल-कुचल कर हत्या कर दी। परिवार जनों के संदेह पर पुलिस ने मनोज से पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया। महराजगंज में रहने वाले आरोपित के पिता बेटे के कृत्य से सदमें हैं। उन्होने कहा कि फॉसी हो या उम्र कैद, बेटे की पैरवी नहीं करूंगा। राजस्थान के राजसमंद जिले में 8 वर्षीय वच्ची से रेप का अरोपित मनोज प्रताप सिंह राजस्थान के राजसमंद जिले में मार्बल का कार्य करता था।

पत्रकारिता के नटवरलाल (एक) : सुमेश दोषी

पर्ल ग्रुप की मैग्जीन 'शुक्रवार' के पत्रकार नरेंद्र कुमार वर्मा की एक किताब आई है. नाम है- 'पत्रकारिता के नटवरलाल'. इसमें दर्जनों पत्रकारों की सच्ची कहानियों को मिलते-जुलते नामों के साथ पेश किया गया है. कहानी का शीर्षक संबंधित पत्रकार के मिलते-जुलते नाम पर ही है. लिखने का अंदाज सरल, सहज और बातचीत वाला. पढ़ेंगे तो पढ़ते जाएंगे. ईमानदार और संवेदनशील लोग अगर इन कहानियों को पढ़ेंगे तो पढ़ते-पढ़ते उन्हें उबकाई आने लगेगी. संभव है पूरी पत्रकारिता और सारे पत्रकारों से घृणा होने लगे.

मां ने मुझे गले लगाया और रोईं, पॉवर को जहर बताया : राहुल गांधी

जयपुर चिंतन शिविर में राहुल गांधी ने अपने भाषण में बताया कि पिछली रात मेरी मां मेरे कमरे में आई. कांग्रेस का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाए जाने पर बधाई दी, गले लगाया और फिर रोईं. मेरी मां ने पॉवर को जहर के समान बताया. राहुल गांधी ने अपने भाषण में कांग्रेस को एक परिवार बताया और कहा कि अब मेरी जिंदगी कांग्रेस ही है. राहुल ने अपने भाषण के जरिए यह जता दिया कि वह अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस का नेतृत्व करेंगे और पीएम पद के दावेदार होंगे. भाषण खत्म होते ही राहुल गांधी को शीला दीक्षित ने गले से लगा लिया.

आईपीएस आलोक कुमार ने 10 करोड़ रुपया घूस मांगा!

: शराब कंपनी के कर्मचारी ने डीजीपी से की शिकायत : मोबाइल सर्विलांस पर मामला पाया गया सही : आर्थिक अपराध कोषांग में मामला दर्ज : पटना के सीनियर एसपी रह चुके हैं आलोक कुमार : इन दिनों सारण में डीआईजी के पद पर तैनात हैं : पटना के सीनियर एसपी रह चुके और वर्तमान में सारण प्रक्षेत्र के डीआईजी आलोक कुमार ने एक शराब कंपनी से दस करोड़ रुपए बतौर घूस के रुप में मांग की। दून वैली डिस्टीलर, जो सहारणपुर की कंपनी है को राज्य सरकार ने गोपालगंज, सारण और दरभंगा में देशी शराब आपूर्ति का ठेका सौंपा है। बीते दिनों डीआईजी के एक करीबी उमेश सिंह ने इस कंपनी के प्रतिनिधि को फोन कर कहा कि डीआईजी साहब ने आपके शराब में काफी खमियां पायीं हैं आप 10 जनवरी तक डीआईजी साहब से मिल लें नहीं तो आपकी कंपनी को इसका खमियाजा भूगतना पड़ेगा।

हथियार लॉबी बढ़ा रही है एलओसी पर तनाव!

एल.ओ.सी पर हालिया सैन्य झड़पों को लेकर शुरू से ही संदेह और सवाल थे…आज ‘टाइम्स आफ इंडिया’ की एक रिपोर्ट से वे संदेह और सवाल और मजबूत हो रहे हैं. इस रिपोर्ट के मुताबिक, वित्त मंत्रालय ने कुछ सप्ताह पहले इस साल के रक्षा बजट में हथियारों की खरीद के लिए आवंटित 79579 करोड़ रुपये में 10000 करोड़ रुपये यानी कोई १२ फीसदी और राजस्व बजट में 5 से 10 फीसदी की कटौती का फैसला किया था जिससे सेना और रक्षा मंत्रालय खुश नहीं थे.

”ओम थानवी जी आपसे ऐसी उम्‍मीद नहीं थी मुझे”

आ. Om Thanvi जी. नमस्कार. सर, आपलोग थोड़े-बहुत लोकतांत्रिक बचे हैं इसका भरोसा मैं आप ही का उदाहरण देकर दिलाता था लोगों को. निश्चित ही आपका कद जितना बड़ा है उसमें किसी प्रमाण पत्र की ज़रूरत नहीं है. लेकिन मेरे जैसे एक आम नागरिक का ये कष्ट बड़ा है कि आपने भी असहिष्णुता का ही परिचय दिया. सोशल मीडिया में कोई बड़ा-छोटा नहीं होता. बाहर कोई कितने भी बड़े तोप हों, उनके जाने-आने से फेसबुक पर कोई फर्क नहीं पड़ता. लेकिन आपके द्वारा अन्फ्रेंड करने पर अफसोस केवल यही है कि असहमति के प्रति इतने कठोर दिख कर आप भी ‘वही’ निकले.

नेशनल दुनिया ने संडे दुनिया पत्रिका का प्रकाशन बंद किया

आर्थिक दुश्‍वारियों और संपादकीय अराजकता से जूझ रहे आलोक मेहता के संपादकत्व वाले अखबार नेशनल दुनिया के रविवार को प्रकाशित होने वाले संडे नेशनल दुनिया मैग्जीन को बंद कर दिया गया है. आलोक मेहता नईदुनिया के दौर से संडे स्‍पेशल के तौर पर 48 पेज का मैगजीन प्रकाशित करते थे, जो उनके नेशनल दुनिया में आने के बाद भी जारी रहा. पर खबर है कि अब इसे बंद कर दिया गया है. सूत्रों का कहना है कि प्रबंधन चार दर्जन पेज के इस सफेद हाथी को पालने को अब तैयार नहीं है.

अगर मीडिया को कोई कार्पोरेट घराना ईंधन दे रहा है तो उसकी पूजा होनी चाहिए!

पहले भ्रष्टाचार के खिलाफ, फिर बलात्कार की घटना को लेकर और अब कश्मीर में दो भारतीय सैनिकों के सिर काटने की घटना को लेकर भारत–पाकिस्तान के संबंधों की शल्य-क्रिया करते हुए मीडिया ने खासकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया ने अपना काम पूरी निष्ठा व ईमानदारी से किया. यह अलग बात है कि किसी ने पाकिस्तान को सबक सिखाने की बात कही तो किसी ने शालीनता बरतने के साथ ही दौत्य साधनों के ज़रिये पाकिस्तान को सख्त सन्देश की बात कही.

हिंदुस्‍तान विज्ञापन घोटाला मामले में जांच अधिकारी बदला गया

: मोहम्‍मद सनाउल्‍लाह खां की जगह बीरेंद्र कुमार को दी गई जिम्‍मेदारी : मुंगेर। लगभग 200 करोड़ के दैनिक हिन्दुस्तान विज्ञापन घोटाला के जांच की जिम्मेदारी अब मुंगेर के कोतवाली पुलिस थाना के आरक्षी निरीक्षक बीरेन्द्र कुमार को सौंपी गई है। उन्‍हें इस मामले की जांच पूरी करके तीन महीने के भीतर अपनी रिपोर्ट सौंपनी है। अब इस मामले की जांच आरक्षी निरीक्षक मोहम्‍मद सनाउल्‍लाह खां कर रहे थे। नए आदेश के बाद अब बीरेंद्र कुमार पूरे मामले की जांच करेंगे। श्री खां ने इस कांड से जुड़ी संचिका और सभी कागजात नए पुलिस अनुसंधान पदाधिकारी सह आरक्षी निरीक्षक बीरेन्द्र कुमार को सौंप दिया है।

आजतक से एक्‍जीक्‍यूटिव एडिटर अजय कुमार का इस्‍तीफा

आजतक से खबर है कि एक्‍जीक्‍यूटिव एडिटर अजय कुमार ने इस्‍तीफा दे दिया है. नोटिस पीरियड पर चल रहे हैं. प्रबंधन ने उनका इस्‍तीफा स्‍वीकार कर लिया है. खबर है कि पुण्‍य प्रसून बाजपेयी को भी अजय कुमार के इस्‍तीफे के बाद ही एप्रोच किया गया है. क्‍योंकि सूत्र बताते हैं कि दो दिन पहले तक पुण्‍य प्रसून बाजपेयी ना केवल इंडिया न्‍यूज की बिल्डिंग और स्‍टूडियो घूम रहे थे बल्कि वहां ज्‍वाइन करने के लिए बातचीत भी कर रहे थे, पर अजय कुमार के इस्‍तीफे की घटना ने उनकी साख बचा दी. क्‍योंकि अभिसार शर्मा के बाद अजय का इस्‍तीफा आजतक के लिए बड़ा झटका है.  

लखनऊ के अंग्रेजी अखबारों में गलत कवरेज से मुस्लिम नाराज

लखनऊ में एक ही वर्ग के दो समुदायों के बीच हुई हिंसक घटनाओं में अंग्रेजी अखबारों की रिपोर्टिंग से मुस्लिम समुदाय के तमाम लोग नाराज हैं. रिपोर्टिंग में अंग्रेजी अखबारों ने सही तथ्‍यों को प्रकाशित करने की बजाय पुलिस द्वारा बताई गई कहानी को ही खबर बना दिया. इस समुदाय के लोगों ने खासकर हिंदुस्‍तान टाइम्‍स और टाइम्‍स आफ इंडिया की रिपोर्टिंग पर नाराजगी जताई है. गलत व एकपक्षीय खबर प्रकाशित करने वाले अखबारों के संपादकों तथा पत्रकारों के यहां नाराज लोगों ने मेल, फोन, एसएमएस आदि के जरिए अपनी आपत्ति दर्ज कराई है.

दिल्‍ली में हुए हादसे में जनवाणी के पत्रकार नितिन समेत चार की मौत

: मृतकों में पत्रकार के पिता-भाई भी शामिल : दिल्‍ली में शुक्रवार को हुए एक सड़क हादसे में मेरठ से प्रकाशित दैनिक जनवाणी के युवा पत्रकार, उसके पिता व भाई समेत चार लोगों की मौत हो गई. एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत ने सभी को झकझोर दिया है. मेरठ के सरूरपुर थाना के भूनी गांव के रहने वाले राजबीर त्‍यागी (50 वर्ष) अपने बड़े बेटे एवं जनवाणी के पत्रकार नितिन त्‍यागी उर्फ मोनू (26 वर्ष) एवं छोटे बेटे राजदीप उर्फ सोनू (24 वर्ष) तथा गांव के रहने वाले कार चालक जॉनी के साथ दिल्‍ली स्थित बुराड़ी अपने भांजे की शादी में भात देने गए थे.

आंचल आनंद ने इंडिया न्‍यूज ज्‍वाइन किया, शीतल राजपूत भी जुड़ेंगी

इंडिया न्‍यूज में ज्‍वाइन करने वालों की संख्‍या लगातार बढ़ती जा रही है. दूसरे चैनलों से कई बड़े लोग विनोद शर्मा के चैनल में ज्‍वाइन कर रहे हैं. खबर है कि आजतक से इस्‍तीफा देकर आंचल आनंद ने इंडिया न्‍यूज ज्‍वाइन कर लिया है. वे यहां पर एडिटर स्‍पेशल एसाइनमेंट के पद पर आईं हैं. आंचल स्‍पेशल खबरों पर काम करेंगी. वे आजतक में लीगल सेल की रिपोर्टिंग देख रही थीं तथा काफी समय से जुड़ी हुई थीं.

अमर उजाला, कानपुर के एनई मनीष शर्मा बरेली जाएंगे, उन्‍नाव से बिपिन शर्मा की वापसी

अमर उजाला, कानपुर से न्‍यूज एडिटर मनीष शर्मा का तबादला बरेली यूनिट के लिए होने जा रहा है. मनीष लम्‍बे समय से कानपुर में कार्यरत हैं. सूत्रों का कहना है कि संपादक दिनेश जुयाल के विशेष आग्रह पर प्रबंधन मनीष को बरेली भेज रहा है. दिनेश जुयाल के कानपुर के संपादक रहने के दौरान भी मनीष शर्मा यहां पर कार्यरत थे. इसलिए माना जा रहा है कि जुयाल उनकी क्षमता को देखते हुए उन्‍हें बरेली स्‍थानांतरित करने का आग्रह प्रबंधन से किया था. संभावना है कि वे अगले कुछ दिनों में वे बरेली जाएंगे. हालांकि अभी यह स्‍पष्‍ट नहीं हो पाया है कि उनकी जगह प्रबंधन किसे भेज रहा है.

शोध आधारित पत्रकारिता पर आलेख आमंत्रित

इंदौर। इंदौर प्रेस क्लब शोध आधारित पत्रकारिता विषय पर स्मारिका का प्रकाशन करने जा रहा है। इंदौर प्रेस क्लब में फरवरी माह में राष्ट्रीय स्तर के शोध केंद्र की स्थापना होने जा रही है। इस अवसर पर स्मारिका का विमोचन होगा। इंदौर प्रेस क्लब ने देशभर के तमाम संपादक, वरिष्ठ पत्रकार एवं लेखकों से अनुरोध किया है कि पत्रकारिता में शोध कार्य के महत्व को प्रतिपादित करते हुए वे एक आलेख मय छायाचित्र इंदौर प्रेस क्लब को भेजे।

रांची वनडे में मीडियाकर्मियों के टिकट की कालाबाजारी!

रांची वनडे मैच में पश्चिमी सिंहभूम जिले के मीडियाकर्मियों को टिकट बांटे गए. जिला क्रिकेट एसोसिएशन की ओर से ये टिकट मीडियाकर्मियों को मुफ्त उपलबध कराए गए थे. लेकिन पर्दे के पीछे एसोसिएशन के एक पदाधिकारी ने एक गेम प्‍लान तय कर कुछ मीडियाकर्मियों को टिकट नहीं दिया, बल्कि इन टिकटों की कालाबाजारी करके खुद …

सहारा ने नहीं दिए पूरे कागजात : यूके सिन्‍हा

सेबी को सहारा मामले से जुड़े पूरे कागजात अभी तक नहीं मिले है। इसकी जानकारी खुद सेबी प्रमुख यू के सिन्हा ने दी है। यूके सिन्हा के मुताबिक सेबी सहारा मामले से जुड़े सभी दस्तावेज जांचने के लिए पूरी तरह से सक्षम है और वो ये तय कर सकता है कि निवेशक फर्जी है या सही। बर्शते सहारा उसे निवेशकों से जुड़े सभी दस्तावेज जल्द से जल्द दे।

राजुल माहेश्‍वरी ने अमर उजाला के 19वें यूनिट के लिए रोहतक में किया भूमि पूजन

तमाम मुश्किलों और परेशानियों से जूझते हुए अमर उजाला ने अब अपने विस्‍तार की रणनीति पर काम शुरू कर दिया है. इसी क्रम में अमर उजाला प्रकाशन ने शुक्रवार को अपने उन्‍नीसवें यूनिट के लिए रोहतक में भूमि पूजन किया. अमर उजाला के प्रबंध निदेशक राजुल माहेश्‍वरी ने वैदिक रीति रिवाज से पूजा करके प्रेस के निर्माण कार्य का शुभारंभ किया. पूजा में अमर उजाला के युवा निदेशक एवं अतुल माहेश्‍वरी के पुत्र तन्‍मय माहेश्‍वरी भी शामिल रहे. यह यूनिट रोहतक के एचएसआईडीसी के सेक्‍टर 31 स्थित अमर उजाला के प्‍लाट नम्‍बर तीस में बनाया जा रहा है. भूमि पूजन पंडित संपूर्णानंद शास्‍त्री ने पूरी कराई.

पुण्य प्रसून बाजपेयी ने आजतक न्यूज चैनल के साथ तीसरी पारी शुरू की

: एक्जीक्यूटिव एडिटर बने : आज शनिवार की शाम जिन भी लोगों ने आजतक न्यूज चैनल देखा, वे थोड़े चौंके. स्टूडियो में पुण्य प्रसून बाजपेयी को एंकरिंग करते देखकर. जी हां, पुण्य प्रसून बाजपेयी आजतक न्यूज चैनल के साथ जुड़ चुके हैं. आजतक में उन्होंने एक्जीक्यूटिव एडिटर के बतौर ज्वाइन किया है. आजतक के साथ तीसरी पारी शुरू करने के साथ ही उन्होंने इंडिया न्यूज ज्वाइन करने के दीपक चौरसिया के दावों की हवा भी निकाल दी है. साथ ही, उन्होंने यह भी साबित कर दिया कि वे अपने सिद्धांतों-सरोकारों के साथ समझौता करने के लिए तैयार नहीं हैं. 

खबर भारती से अमिताभ अनुराग और साधना कौशल का इस्‍तीफा, प्रज्ञान भट्टाचार्या के खिलाफ तहरीर और नोटिस

खबर भारती से ब्‍यूरो हेड अनुराग अमिताभ का इस्‍तीफा हो गया. वे पिछले पंद्रह दिनों से कार्यालय नहीं जा रहे थे. कुछ महीने पहले ही उन्‍होंने खबर भारती ज्‍वाइन किया था. परन्‍तु वहां अचानक बदली परिस्थितियों में उन्‍होंने खुद को असहज महसूस करते हुए अपना नाता तोड़ लिया. अनुराग अमिताभ मध्‍यप्रदेश के खांटी पत्रकार हैं. सी वोटर के अलावा उन्‍होंने सीएनईबी के भोपाल ब्‍यूरो को लंबे वक्‍त तक हेड किया. अनुराग ने मध्‍य प्रदेश के अलावा महाराष्‍ट्र के विदर्भ गुजरात और बुंदेलखंड इलाके में भी काम किया और अपनी स्‍पेशल स्‍टोरीज से अलग पहचान बनाई है. संभावना जताई जा रही है कि वे यशवंत देशमुख की टीम में ज्‍वाइन कर सकते हैं.

अमर उजाला से सौरभ का इस्तीफा और बिपिन का ट्रांसफर, फारवर्ड प्रेस से सोहन व जतिन्‍द्र जुड़े

अमर उजाला, गाजियाबाद से खबर है कि सौरभ पांडेय ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर जूनियर रिपोर्टर के पद पर कार्यरत थे. सौरभ ने अपनी नई पारी गाजियाबाद में ही हिंदुस्‍तान के साथ शुरू की है. उन्‍हें यहां क्राइम रिपोर्टिंग की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है. हाल के दिनों में सौरभ सातवें मीडियाकर्मी हैं, जिन्‍होंने अमर उजाला से इस्‍तीफा दिया है. वे करीब ढाई सालों से अमर उजाला को अपनी सेवाएं दे रहे थे. बताया जा रहा है कि सौरभ प्रमोशन ना होने से नाराज थे. विनीत सक्‍सेना के संपादक बनकर आने के बाद से अमर उजाला, गाजियाबाद का यह नौवां विकेट गिरा है. इसके पहले पांच लोग ए‍क साथ अमर उजाला छोड़कर हिंदुस्‍तान चले गए थे.  

नवीन गुप्‍ता बने दैनिक सवेरा टाइम्‍स के एक्‍जीक्‍यूटिव एडिटर

राजेश शर्मा के अखबार पंजाब की शक्ति के संपादक रहे नवीन गुप्‍ता ने इस्‍तीफा दे दिया है. उन्‍होंने अपनी नई पारी जालंधर में दैनिक सवेरा टाइम्‍स के साथ शुरू की है. उन्‍हें अखबार में एक्‍जीक्‍यूटिव एडिटर बनाया गया है. नवीन पिछले दो दशक से पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रिय हैं. पंजाब की शक्ति की लांचिंग लुधियान से नवीन गुप्‍ता के नेतृत्‍व में ही हुई थी, परन्‍तु मालिक के कानूनी पचड़े में फंस जाने से अखबार आर्थिक रूप से बदतर स्थिति में पहुंच गया, जिसके बाद नवीन से इसे अलविदा कह दिया.

हैथवे से अलग हुआ भास्‍कर, बीटीवी का संचालन बंद

बीटीवी और हैथवे के बीच करार खतम हो गया है. इसके साथ ही भास्‍कर समूह ने अपना बीटीवी बंद कर दिया गया है. बीटीवी का संचालन भोपाल, इंदौर एवं जयपुर से किया जा रहा था. खबर है कि हैथवे ने बीटीवी का पूरा स्‍टेक लेकर उसे भुगतान कर दिया है. केबल बिजनेस में भास्‍कर समूह बीटीवी के माध्‍यम से अपनी दखल रखता था और हैथवे के साथ मिलकर तीन जगहों से बीटीवी का संचालन कर रहा था. परन्‍तु इस करार के टूट जाने के बाद तीनों जगहों से बीटीवी का बोरिया बिस्‍तर गोल हो जाएगा.

‘Because chastity is very important for Indian women’

बचपन में मेरी जिन आदतों और हरकतों से दादी की जान जलती थी, उनमें से एक था मेरा घुमक्‍कड़ी स्‍वभाव। घर में मेरे पैर कभी टिके नहीं। मुझे हर समय घूमने को चाहिए। अब जितना मौका था, उतना ही घूमती थी। ऐसा तो नहीं कि मुंह उठाया और इलाहाबाद से बनारस पहुंच गई, बनारस से मुंह उठाया और लखीमपुर खीरी पहुंच गई। एक मुहल्‍ले से दूसरे मुहल्‍ले में ही तो जाती थी। फिर भी इतनी तकलीफ। दादी समेत तकरीबन सभी पारंपरिक परिवारों को इतिहास, मनुस्‍मृति और धर्मग्रंथों से मिला ज्ञान ये कहता है, जिसे वह पैदा होने के साथ ही पोलियो के टीके की तरह अपनी लड़कियों के खून में इंजेक्‍ट कर देते हैं कि-

दैनिक ‘हिकीज गजेट’ और ‘संवाद प्रभाकर’ के स्मारिका का लोकार्पण किया राष्ट्रपति ने

: तथ्यों की पवित्रता को बनाए रखे प्रेस- प्रणब : कोलकाता : राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि प्रेस को तथ्यों की पवित्रता बनाए रखना चाहिए और पत्रकारों को सच्चाई तथा विश्वसनीयता के उसूलों पर टिकना चाहिए। मुखर्जी ने भारतीय पत्रकार संघ (आईजेए) के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, ‘पत्रकारिता के बहुत से दिग्गज इन उसूलों पर सख्ती से टिके हैं कि मैं अपने विचार देने के लिए आजाद हूं लेकिन मैं तथ्यों के साथ स्वच्छंदता नहीं बरत सकता। तथ्यों को उसी रूप में फिर से पेश किया जाना चाहिए जिस रूप में वे हैं।’

फोटोग्राफर जगदीश माली सड़क पर मिले, बेटी अंतरा माली ने मुंह फेरा, सलमान खान ने की मदद

नई दिल्ली : बीते जमाने के जाने-माने फोटोग्राफर जगदीश माली सड़क पर पाए गए। इसकी सूचना जब उनकी बेटी और एक्ट्रेस अंतरा माली को दी गई तो उसने पिता की मदद करने व खबर लेने से इनकार कर दिया। ऐसे में सलमान खान ने जगदीश माली की पूरी मदद की। बॉलीवुड के 1980-1990 के दशक के मशहूर फोटोग्राफर जगदीश माली ने कई एक्ट्रेसेस की खूबसूरती की बेहतरीन तस्वीरों को कैद किया है। जगदीश माली को हाल में ही में मुंबई की सड़कों पर पाया गया।

मिथिलेश द्विवेदी ने मंच से दो पत्रकारों को बताया दलाल, सोनभद्र में बवाल

उत्‍तर प्रदेश के सोनभद्र जिले से खबर है कि एक वरिष्‍ठ पत्रकार ने दो पत्रकारों पर ऐसा आरोप लगा दिया, जिससे कई पत्रकार नाराज हो गए तथा उनका पुतला फूंक दिया. इस घटना के बाद से सोनभद्र के पत्रकारों में आपसी तनाव की स्थिति बन गई है. मामला यह है कि सोनभद्र के वरिष्‍ठ पत्रकार और पुरोधा मिथिलेश द्विवेदी, जो राष्‍ट्रीय पत्रकार महासंघ के वरिष्‍ठ पदाधिकारी भी हैं, ने अपने जन्‍म दिन पर 17 जनवरी को एक मीडिया सम्‍मेलन आयोजित किया था.

पत्रकार की हत्‍या के मामले में नेपाल के पीएम को समन

नेपाल में पत्रकार देकेंद्र राज थापा की हत्या मामले में सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री बाबूराम भट्टाराई को समन जारी किया है. सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री से कहा है कि 2004 में पत्रकार की हत्या की जांच में अपने कथित हस्तक्षेप के मामले में वह अदालत में उपस्थित हों. साथ ही अदालत ने उन्‍हें सात दिन के भीतर लिखित स्पष्टीकरण देने का भी निर्देश दिया है. भट्टराई के अलावा नेपाल की सबसे बड़ी अदालत ने एटॉर्नी जनरल मुक्ति नारायण प्रधान को भी समन भेजा है.

छत्‍तीसगढ़ के स्‍टेट हेड राजीव सिंह का दैनिक भास्‍कर से इस्‍तीफा

दैनिक भास्‍कर, रायपुर से खबर है कि स्‍टेट हेड राजीव सिंह ने इस्‍तीफा दे दिया है. उनकी जगह इंदौर में दैनिक भास्‍कर के संपादक रहे आनंद पांडेय को स्‍टेट हेड बनाकर भेजा जा रहा है. प्रबंधन ने अब छत्‍तीसगढ़ को मध्‍य प्रदेश से संबद्ध कर दिया है. अब तक छत्‍तीसगढ़ के नए स्‍टेट हेड मध्‍य प्रदेश के हेड नवनीत गुर्जर को रिपोर्ट करेंगे, जबकि इसके पहले छत्‍तीसगढ़ के स्‍टेट हेड की रिपोर्टिंग सीधे कल्‍पेश याज्ञनिक को होती थी.

दैनिक भास्‍कर, इंदौर के संपादक बने हेमंत शर्मा

दैनिक भास्‍कर, इंदौर से खबर है कि हेमंत शर्मा को नया संपादक बना दिया गया है. उन्‍होंने शनिवार को अपनी जिम्‍मेदारी संभाल ली है. हेमंत अभी तक भोपाल में डीबी स्‍टार में नेशनल एडिटर के पद पर कार्यरत थे. हेमंत इसके पहले भी इंदौर में काम कर चुके हैं. इंदौर भास्‍कर के पुलआउट सिटी भास्‍कर को निकालने का श्रेय हेमंत को ही है.

अन्ना, केजरीवाल, रामदेव समेत देश के 56 समूहों का महा गठबंधन मार्च में : गोविन्दाचार्य

: गोविंदाचार्य ने काशी में भरी हुंकार… : देंगे देश को नया राजनीतिक विकल्प  : सोनिया प्रकरण पर पूर्व राष्ट्रपति देश को सच बताएं : अब्दुल कलाम साहब का लेखन अनैतिक :  धूर्त नौकरशाहों ने राहुल की राह आसान की : न्यायिक सुधार के लिए 7 हजार करोड़ नहीं, ड्रीम लाइनर के लिए हैं ३० हजार करोड़ :  केन्द्रीय बजट का ७ प्रतिशत पंचायतों को मिले : सत्ता नहीं, व्यवस्था परिवर्तन है समाधान : पाकिस्तान शत्रु देश घोषित हो : सभी नीतियां माँ गंगा के परिप्रेक्ष्य में बने :

हरियाणा साहित्‍य अकादमी ने बढ़ाई पुरस्‍कार राशि, 14 लोग होंगे पुरस्‍कृत

पंचकूला : हरियाणा साहित्य अकादमी ने वर्ष २०१२ के साहित्य सम्मान पुरस्कारों की घोषणा कर दी है। इस बार पुरस्कारों की संख्या के साथ राशि भी बढ़ाई गई है। हिंदी-हरियाणावी साहित्य के वर्ग में ढाई लाख रुपए का पंडित माधव प्रसाद मिश्र सम्मान रोहतक के डॉ. पूर्ण चन्द शर्मा को मिलेगा। महाकवि वर्ग में डेढ़ लाख रुपए का सूरदास सम्मान रोहतक के ही डॉ. राजबीर सिंह धनखड़ को मिलेगा। हिंदी साहित्य वर्ग में एक लाख रुपए का बाबू बालमुकुन्द गुप्त सम्मानसांपला के मधुकांत को, साहित्य पत्रकारिता में एक लाख रुपए का लाला देशबंधु सम्मान चंडीढ़ के अरुण नैथानी को, एक लाख रुपए का लखमीचंद सम्मान सोनीपत के सुमेर चंद को, एक लाख रुपए का जनकवि मेहर सिंह सम्मान भिवानी के डा. विश्वबंधु शर्मा को दिया जाएगा। 

“समकालीन रंगमंच” के लोकार्पण समारोह की घटना पर आयोजक की टिप्पणी

: अरविन्द गौड़ की संवेदनहीन, कुंठित, कायरतापूर्ण और हिंसक कार्रवाई : 15 वें भारत रंग महोत्सव के दौरान विगत 14 जनवरी 2013 को राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय परिसर में भारतीय रंगमंच पर केन्द्रित त्रैमासिक पत्रिका "समकालीन रंगमंच" के लोकार्पण समारोह में देश के जाने माने रंगकर्मियों ने पत्रिका का गर्मजोशी के साथ स्वागत किया और इस मौके पर रंगमंच की समकालीन प्रवृत्तियों एवं चुनौतियों पर अनुभवी वक्ताओं ने महत्वपूर्ण विचार रखे। उन्होंने एक स्वर से यह माना कि रंगमंच अपने आप में एक जोखिम का काम है और इस पर पत्रिका निकालना उससे भी बड़ा जोखिम का काम है। नाटक अपने समाज के प्रति बहुत व्यापक दृष्टिकोण की मांग करता है, खास कर उन लोगों से जो इससे जुड़े हैं।

अरविन्द गौड़ के व्यवहार पर ‘समकालीन रंगमंच’ के संपादक राजेश चन्द्र ने अनुराधा से माफी मांगी

: ये है वो पत्र जो राजेश चंद्र ने अनुराध को भेजा है : आदरणीय अनुराधा जी, नमस्कार। कल 14 जनवरी 2013 को शाम 5 बजे राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय के परिसर में भारतीय रंगमंच पर केन्द्रित पत्रिका " समकालीन रंगमंच " के लोकार्पण समारोह में जिस तरह की अनपेक्षित, दुर्भाग्यपूर्ण और अशोभनीय घटना हुई तथा आमंत्रित रंगकर्मियों में से कुछ ने जिस प्रकार मंच, समारोह के प्रयोजन और अवसर को दरकिनार कर अपनी राजनीतिक कुत्सा की निर्लज्ज अभिव्यक्ति की – उसने इस समारोह के आयोजनकर्ता और एक रंगकर्मी होने के नाते मुझे काफी व्यथित, लज्जित और हतप्रभ किया है।

अनशन : शहीद बाबूलाल की मां और पत्‍नी की हालत बिगड़ी

 

: बरसात में भी डंटे हुए हैं अनशनकारी : इलाहाबाद। झारखंड में नक्सलियों के हाथों शहीद हुए बाबूलाल पटेल के परिजनों की भूख हड़ताल तीसरे दिन शनिवार को भी जारी रही। कल देर शाम बरसात होने के बाद भी शहीद के परिजन सैकड़ों लोगों के साथ बरसात के पानी में भीगते हुए लखनऊ-इलाहाबाद राजमार्ग के किनारे धरने पर डंटे रहे। शहीद के पिता मुन्नी लाल ने साफ शब्दों में कहा है कि जान दे देंगे पर मांग पूरी न होने पर अनशनस्थल से नहीं हटेंगे। उधर, अपनादल की नेता अनुप्रिया पटेल ने कहा है कि शांतिपूर्ण ढंग से चल रहे धरने की तरफ शासन ध्यान नहीं दे रहा है। अगर हालत बिगड़ती है तो इसके लिए प्रदेश और केंद्र सरकार को पूरी तरह जिम्मेदार माना जाएगा।

आखिर थाने में धरने पर क्‍यों बैठे कांग्रेसी सांसद हर्षवर्धन?

 

जनसरोकार के मुद्दों पर लड़ाका घोषित कांग्रेसी सांसद हर्षवर्धन इस बार दो दिन खूब ता धिन ता किए, जिससे जिले में हड़कंप मचा रहा। लेकिन माना जा रहा है कि इस बार उनका ता धिन ता मजबूरी का नृत्य था। कांग्रेसी सांसद हर्षवर्धन बृजमनगंज थाना में रात को धरना पर बैठ गए। उनका आरोप यह था कि थानेदार थाना परिसर में जंगल की लकड़ी छिपा कर रखा था। अगले दिन उन्होंने वहां धरना भी दिया। एसपी ने मामले की जांच एडीशनल एसपी को सौंप दी है, लेकिन यह चर्चा अब भी है कि सांसद ने ऐसा क्यों किया? आखिर वह सांसद हैं तो क्‍या उनको इस तरह का काम करना चाहिए?

‘उत्तराखंड लॉयन्स’ गोल्फ टीम ने डेरिन क्लॉर्क को खरीदा

देश में गोल्फ को नई उंचाइंयों तक पहुंचाने के मकसद से शुरू हो रहे गोल्फ प्रीमियर लीग 2013 में ‘उत्तराखंड लॉयन्स’ ने झंडे गाड़ दिए हैं। 9 टीमों वाले अंतर्राष्ट्रीय स्तर के इस टूर्नामेंट में ‘उत्तराखंड लॉयन्स’ ने सबसे महंगे खिलाड़ी डेरिन क्लार्क को रेकॉर्ड 55 हज़ार अमेरिकी डॉलर में खरीद लिया है। डेरिन क्लार्क दुनिया के शानदार गोल्फरों में से एक हैं और मौजूदा ब्रिटिश ओपन चैंपियन भी हैं। इंटरनेशनल सर्किट में क्लार्क ने वर्ल्ड नंबर वन रहे टाइगर वुड्स को भी हराया था।

दैनिक जागरण, मुगलसराय के खिलाफ की गई शिकायत पर पीसीआई ने लिया संज्ञान

 

वाराणसी यूनिट से संबद्ध दैनिक जागरण, चंदौली के खिलाफ की गई एक शिकायत को प्रेस काउंसिल आफ इंडिया ने संज्ञान लिया है. यह शिकायत पत्रकार एवं सामाजिक कार्यकर्ता राजीव कुमार ने पीसीआई को भेजी थी. राजीव ने आरोप लगाया था कि दैनिक जागरण, मुगलसराय का संवाद सूत्र उनके व्‍यक्तिगत खुन्‍नस रखते हुए खबरों का प्रकाशन कर रहा है, जिससे उनकी सामाजिक छवि को गहरा धक्‍का पहुंच रहा है. खबर के अनुसार राजीव कुमार अपने सहयोगी कमलजीत सिंह के साथ मुगलसराय में व्‍याप्‍त बिजली अनियमितता के खिलाफ अनशन किया था, पर जागरण ने पूरी खबर प्रकाशित नहीं की.

विष्णु खरे की धारणाएं कुंठित व्यक्ति के तर्कहीन और अविश्वसनीय विचार लगते हैं

वरिष्ठ कवि-आलोचक विष्णु खरे ने कवि चंद्रकांत देवताले को अकादेमी पुरस्कार मिलने पर एक टिप्पणी लिखी थी. उस टिप्पणी में उन्होंने कहा कि लीलाधर जगूड़ी, राजेश जोशी, मंगलेश डबराल, वीरेन डंगवाल और अरुण कमल को 'निर्लज्ज षड्‌यंत्रों' से अकादमी पुरस्कार दिया गया जिसे उन्होंने 'मैचिंग बेशर्मी' से स्वीकार कर लिया और यह 'अक्षम्य' है. इसका प्रतिवाद वरिष्ठ कवियों लीलाधर जगूड़ी, राजेश जोशी, वीरेन डंगवाल, मंगलेश डबराल के हस्ताक्षर से जारी किया गया है, जो इस प्रकार है-

मयंक गुप्ता साधना न्‍यूज के ग्रुप मैनेजिंग एडिटर नियुक्त

साधना न्यूज के सभी चैनलों की कमान अब चेयरमैन दिनश गुप्ता के पुत्र मयंक गुप्ता को सौंप दी गई है. मयंक को ग्रुप मैनेजिंग एडिटर बना दिया गया है. हिंदी पट्टी के छह राज्य मध्य प्रदेश-छत्तीसगढ़, बिहार-झारखण्ड और उत्तर प्रदेश–उत्तराखण्ड में चैनल संचालन के बाद प्रभातम ग्रुप साधना न्यूज का विस्तार राजस्थान में करने जा रहा है.

जनसंदेश टाइम्स, गोरखपुर के सिटी चीफ राजीव हिंदी दिवस पर कनाडा में होंगे सम्मानित

कनाडा की साहित्यिक संस्था ‘हमारी हिन्दी’ ने जनसंदेश टाइम्स, गोरखपुर के सिटी चीफ राजीव रंजन तिवारी को सम्मानित करने का निर्णय लिया है। उन्हें संस्था का यह सम्मान 14 सितंबर को हिन्दी दिवस के अवसर पर कनाडा में दिया जाएगा। राजीव रंजन तिवारी लंबे समय तक दैनिक जागरण मेरठ और देहरादून यूनिट से संबद्ध कार्यालयों में कार्यरत रहे हैं।

शुभ और कौशलेंद्र की वजह से डिबेट में माखनलाल नंबर वन

भोपाल। गोविंद वल्लभ पंत कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय पंतनगर में आयोजित वाद-विवाद प्रतियोगिता में लगातार दूसरी बार माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के छात्रों ने प्रथम स्थान प्राप्त किया है। विश्वविद्यालय के शुभ तिवारी और कौशलेंद्र सिंह की टीम को पुरस्कार स्वरूप एक ट्रॉफी प्राप्त हुई है। इस प्रतियोगिता में व्यक्तिगत कौशल के लिए कौशलेंद्र सिंह को तृतीय पुरस्कार प्राप्त हुआ है।

भास्‍कर बठिंडा से विजय अरोड़ा का इस्‍तीफा, अखिलेश पाठक अमर उजाला में बने रिपोर्टर

दैनिक भास्‍कर, बठिंडा में पिछले 5 वर्ष से कार्यरत विजय अरोड़ा ने इस्तीफा दे दिया है. बताया जा रहा है कि इसके पीछे वजह आफिस की अंदरुनी राजनीति है. भास्‍कर में चेतन शारदा के संपादक रहते विजय की खूब तूती बोलती थी. विजय को सिटी इंचार्ज नरिंदर शर्मा का काफी नजदीकी माना जाता है. चेतन शारदा के भास्‍कर छोड़ने के बाद आफिस के अंदर हालात कुछ ऐसे हुए कि विजय को इस्तीफा देना पड़ा.

अमरेंद्र ‘फारवर्ड प्रेस’ के हरियाणा ब्यूरो चीफ बने, शरद शंखधर का अमर उजाला जम्‍मू तबादला

अमरेन्द्र कुमार आर्य ने लोकमत समाचार से इस्तीफा देकर फारवर्ड प्रेस ज्वाइन कर लिया है. अमरेन्द्र कुमार आर्य पहले लोकमत समाचार के जलगांव संस्करण में सब एडिटर के तौर पर नियुक्त थे. अब वे फारवर्ड प्रेस के हरियाणा ब्यूरो प्रमुख के रूप में नियुक्त हुए हैं. फारवर्ड प्रेस ने हरियाणा के हिसार में ब्यूरो कार्यालय शूरू किया है. इससे पहले अमरेन्द्र कुमार आर्य राष्ट्रीय सहारा, प्रभात खबर, जागृति टाइम्स और दैनिक हिन्दूस्तान में रिपोर्टर के तौर पर कार्य कर चुके हैं.

साधना न्‍यूज से इस्‍तीफा देकर चैनल वन में पॉलिटिकल एडिटर बनीं अग्निमा

साधना न्‍यूज से अग्निमा का संबंध खत्म हो गया है. वे यहां पर पॉलिटिकल एडिटर थीं. अग्निमा ने अपनी नई पारी चैनल वन के साथ शुरू की है. उन्‍हें यहां भी पॉलिटिकल एडिटर बनाया गया है. अग्निमा पिछले दो सालों से साधना न्‍यूज के साथ जुड़ी हुई थीं. उन्‍होंने लखनऊ में भी साधना न्‍यूज की जिम्‍मेदारी संभाली. अग्निमा पिछले दो दशक से पत्रकारिता में सक्रिय हैं. वे लगभग डेढ़ दशक तक दिल्‍ली में दैनिक भास्‍कर को अपनी सेवाएं दे चुकी हैं.