इंडिया टीवी में तीन लोग बना दिए गए मैनेजिंग एडिटर! कइयों का हुआ प्रमोशन

इंडिया टीवी में एक दो नहीं बल्कि तीन लोग मैनेजिंग एडिटर बना दिए गए हैं. ये सभी पहले से ही इसी चैनल के हिस्से हैं. अब उन्हें प्रमोट करके नई जिम्मेदारी दी गई है. अजीत अंजुम के जाने के बाद मैनेजिंग एडिटर का पद खाली था. सीनियर एक्जीक्यूटिव एडिटर पीयूष पद्माकर को मैनेजिंग एडिटर (न्यूज) बना दिया गया है. वे न्यूज, एडिटोरियल और इनपुट, आउटपुट, डेली प्लानिंग, प्रोग्रामिंग आदि देखेंगे.

मीडिया में माफी और मार !​

सचमुच मीडिया से माननीयों का रिश्ता भी बड़ा अजीब है। मीडिया को ले हमारे  माननीयों का रवैया न  निगलते बने, न उगलते वाली है। सुबह किसी सेमिनार में प्रेस की स्वतंत्रता पर लंबा व्याख्यान दिया और शाम को उस मीडिया पर बरसने लगे। कभी फटकार तो कभी पुचकार। 

खतरे में है खबरों के केंद्रीकृत नियंत्रण की व्यवस्था

नई किस्म के कन्टेन्ट के लिए पारंपरिक मीडिया की तुलना में डिजिटल मीडिया ज्यादा अनुकूल है। यह न सिर्फ इंटरएक्टिव है बल्कि पोर्टेबल भी है। वह अलग-अलग डिवाइस के लिहाज से रूप बदलने में सक्षम है, फिर चाहे वह टेलीविजन की बड़ी स्क्रीन हो या फिर कंप्यूटर की छोटी स्क्रीन। वह टैबलेट की आयताकार स्क्रीन हो या फिर मोबाइल फोन की लंबवत या वर्टिकल स्क्रीन। उसके लिए कोई सबस्क्रिप्शन प्लान लेने की जरूरत नहीं है। चाहिए तो सिर्फ एक अदद इंटरनेट कनेक्शन। ऊपर से पाठक को खुद पत्रकार बनने की आजादी देने की स्वाभाविक प्रवृत्ति एक किस्म की क्रांति को जन्म दे रही है।

सतना में इन्द्रधनुष की मीडिया कार्यशाला 6 अप्रैल को

सतना : मिशन इन्द्रधनुष की ओर से 6 अप्रैल को आज दोपहर 12 बजे से जिला प्रशिक्षण केन्द्र सतना में मीडिया वर्कशाप का आयोजन किया गया है। जिले के प्रिंट मीडिया एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया प्रतिनिधियों से मीडिया वर्कशाप में अनिवार्य रूप से उपस्थित होने का आग्रह किया गया है।  कृपया हमें अनुसरण करें और हमें …

चमोली में आज तड़के भूकंप के जोरदार झटके से लोग सहमे

देहरादून : उत्तराखंड के चमोली जिले में आज तड़के भूकंप के तेज झटके महसूस किये गये। भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 5.1 दर्ज की गयी। मौसम विभाग के अनुसार यह भूकंप तड़के दो बजकर 54 मिनट पर आया और इसका केंद्र 30.2 डिग्री उत्तर तथा 79.4 डिग्री पूर्व में था। कुछ सेकेंड तक महसूस …

हिंदी पत्रकारिता में दलित चिंतकों की मजबूत हिस्सेदारी : अरविंद मोहन

नई दिल्ली : वरिष्ठ पत्रकार अरविंद मोहन ने कहा कि हिंदी पत्रकारिता में दलित चिंतकों की हिस्सेदारी इतनी मजबूत हो गई है कि यदि उनके सामाजिक-साहित्यिक मुद्दों को केन्द्र में नहीं रखा गया तो यह पत्रकारिता के पेशे से बेईमानी और इसकी व्यवसायिकता की हानि होगी। प्रो. राजकुमार ने कहा कि शिक्षा ही प्रतिरोध की शक्ति देती है। 

उदयपुर में राष्ट्रीय बाल फिल्म उत्सव का रंगारंग आगाज

उदयपुर : रविवार से यहां राष्ट्रीय बाल फिल्म महोत्सव की रंगारंग शुरूआत हो गई। विभिन्न विद्यालयों के छात्र-छात्राओं ने ‘एक था भुजंग’ के प्रीमियर शो का भरपूर आनंद उठाया। कार्यक्रम की शुरुआत अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) छोगाराम देवासी एवं महाराणा प्रताप का किरदार निभा चुके बाल कलाकार फैसल खान के हाथों दीप प्रज्वलन से हुई। फैसल खान के अपने जीवन से जुड़े अनुभव बच्चों से बांटे। 

सहारा में अंदरूनी हालात विस्फोटक, सैलरी न मिलने से मीडियाकर्मियों में भारी असंतोष

सहारा के मीडियाकर्मियों का धैर्य खोता जा रहा है। नवंबर की सैलरी उन्हें फरवरी महीने में तब मिली, जब मीडियाकर्मियों ने जयव्रत राय से सामूहिक मुलाकात कर सवाल जवाब किया। उस समय जयव्रत राय ने कहा था कि अगले महीने यानी मार्च से हर माह (एक माह की) सैलरी देने की दो हजार फीसदी कोशिश की जाएगी। लेकिन उनके आश्वासन देने के कुछ ही दिनों के बाद उन्होंने सारे चैनल्स हेड को बुलाकर कहा कि वे इस्तीफा दे रहे हैं। अब सारा काम वरुण दास देखेंगे।

आप में दुर्दिन क्यों ?

दिल्ली की सत्ताधारी आम आदमी पार्टी को आज जो दुर्दिन देखने को मिल रहे हैं, उनके लक्षण स्पष्टतः पार्टी के जन्म से ही परिलक्षित होने लगे थे हालांकि वे दृष्टव्य होने के बावजूद अनदेखी किये जाने के फलस्वरूप नासूर बन गये। राम नवमी पर 28 मार्च को राष्ट्रीय परिषद – आप की बैठक में वह कथित नासूर विस्फोटक रूप ले सकता है।

टोना-टोटका के लिए मस्जिद में दो बच्चियों को जलाया

सहारनपुर : जिले के ननौता कस्बे की एक मस्जिद में मुअज्जिन ने टोना-टोटका करने में विफल होने पर दो बच्चियों को जिंदा जलाने की कोशिश की। एक बच्ची को गंभीर हालत में देहरादून के अस्पताल में भरती कराया गया है।

पत्रकारों को मान्यता देने में भाषायी भेदभाव

उत्तर प्रदेश में सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग द्वारा पत्रकारों को मान्यता देने में भाषायी भेदभाव किया जा रहा है। पत्रकार-हित की बात करने वाली संस्थाएं और उनके पदाधिकारी इस पर ख़ामोशी साधे हुए हैं और विभाग के उच्चाधिकारी भी आँख बंद कर अपने मातहतों के इस कारनामे पर मुग्ध लगते हैं। उर्दू अखबारों में कार्यरत जिन हिन्दू पत्रकारों ने अपनी मान्यता की पत्रावली प्रस्तुत की, उसमे सूचना विभाग के अधिकारियों द्वारा कहा गया है कि “उर्दू भाषा के ज्ञान का अभिलेखीय साक्ष्य प्रस्तुत कर अगली बैठक में प्रस्तुत करे।”

रुबी अरुण के बाद अलका सक्सेना भी न्यूज एक्सप्रेस से जुड़ीं, मैनेजिंग एडिटर बनाई गईं

न्यूज एक्सप्रेस चैनल में दो बड़े पदों पर महिला पत्रकारों की तैनाती हो गई है. रुबी अरुण के बाद अलका सक्सेना भी चैनल का हिस्सा बन गई हैं. वरिष्ठ पत्रकार अलका सक्सेना को न्यूज एक्सप्रेस में मैनेजिंग एडिटर बनाया गया है. अलका एक नवंबर से आफिस ज्वाइन कर चुकी हैं. वे एडीटर इन चीफ प्रसून शुक्ला को रिपोर्ट करेंगी. अलका सक्सेना कई दशकों से प्रिंट और टेलीविजन पत्रकारिता में सक्रिय हैं. उन्होंने अपने करियर का काफी बड़ा हिस्सा जी न्यूज के साथ प्रमुख एंकर के रूप में गुजारा है.