केजरीवाल का पर्दाफाश : विशाल लाठे ने आम आदमी पार्टी के चेहरे से नकाब हटाई

दिल्ली : मीडिया की सुर्खियों में आने के बाद आम आदमी पार्टी के नेता विशाल लाठे ने एक चिट्टी लिखकर हकीकत से पर्दा उठाने का प्रयास किया है। ऐसे समय को उन्होंने आम आदमी पार्टी का काला दिन करार दिया है। उन्होंने सविस्तार अपने पत्र में अरविंद केजरीवाल का पर्दाफाश करते हुए आम आदमी पार्टी के चेहरे से नकाब हटा दी है। 

योगेंद्र यादव और विशाल लाठे

अमर उजाला का एक और गैरकानूनी कारनामा, डीएनई के शपथपत्र पर हाई कोर्ट में दायर करवाया जवाब

मजीठिया वेज बोर्ड को लागू करने का दावा कर रहे अमर उजाला प्रबंधन का एक और कारनामा सामने आया है। हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय में रविंद्र अग्रवाल की याचिका पर चल रहे मामले में अमर उजाला की ओर से करीब सात माह बाद दिए गए जवाब में प्रबंधन ने नई चाल चल दी है।

पुस्तक समीक्षा : जीवन का मूल स्वर है गजल संग्रह ‘दर्द का कारवां’

आम जीवन की बेबाकी से जिक्र करना और इसकी विसंगतियों की सारी परतें खोल देना यह विवेक और चिंता की उंचाइयों का परिणाम होता है। आज जो साहित्य रचा जा रहा है, वह लेखन की कई शर्तों को अपने साथ लेकर चल रहा है। एक तरफ जिन्दगी की जहां गुनगुनाहट है, वहीं दूसरी तरफ जवानी को बुढ़ापे में तब्दील होने की जिद्द भी है।

 

मजीठिया देने में तो अखबारों की घिग्घी बंध जा रही मगर आईआरएस रिपोर्ट आने के बाद पढ़ने लगे ‘नंबर-1’ होने का पहाड़ा

मजीठिया वेजबोर्ड की सिफारिशें लागूं करने में तो घिग्घी बंध जाती है लेकिन इंडियन रीडरशिप सर्वे (आईआरएस) 2014 के आंकड़े जारी होने के बाद कारपोरेट मीडिया में बाजार कब्जियाने के लिए शब्दों की बाजीगरी के साथ नंबर-1 से टॉप-10 तक की दावेदारियां हो रही हैं। स्वार्थ इतना भर है कि बड़े बड़े दावे कर किस तरह एक-दूसरे को दांव देते हुए विज्ञापन बाजार को अपने-अपने पाले में खींचा-घसीटा जाए। मसलन, रिपोर्ट आने के बाद दैनिक हिंदुस्तान ने पहले पेज पर अपनी पीठ इन शब्दों के साथ थपथपा ली – ‘हिंदुस्तान की बादशाहत बरकरार, देश का दूसरा सबसे बड़ा अखबार।’ अंग्रेजी के हिंदुस्तान टाइम ने फ्रंट पेज पर लिखा- ‘HT is No-1.’ राजस्थान पत्रिका ने विज्ञापन के माध्यम से लिखा- ‘2 लाख 40 हजार पाठकों ने दैनिक भास्कर को छोड़ा।’ और तो और, सातवें से नौवें नंबर पर जा चुके ‘हरिभूमि’ ने कुछ इस तरह अपनी पीठ ठोंकी – ‘हरिभूमि एक बार फिर से देश में सर्वाधिक पढ़े जाने वाले टॉप 10 हिंदी समाचार पत्रों में काबिज है।’ फिलहाल, इतना तो सच है कि सभीन अखबारों की पाठक संख्या में इजाफा हुआ है और मीडिया इंडस्ट्री इंडिया में ग्रोथ कर रही है।

 

भ्रष्टाचार की जांच के दौरान पत्रकारों पर सचिव ने किया लाठियों से हमला

रायसेन। जिले के बाड़ी विकासखंड की ग्राम पंचायत जामगढ़ और भगदेई में हुए व्यापक भ्रष्टाचार की जांच के दौरान सचिव, उसके पिता और परिजन इतने बौखला गए कि इन्होंने लाठियों से हितग्राहियों और पत्रकारों पर हमला कर दिया। इस हमले में पत्रकार कमल याज्ञवल्क्य सहित अन्य पत्रकार भी घायल हो गए।

मां की हत्या के बाद इंसाफ के लिए भटक रहा देश का सेनानी, सरकार नहीं सुन रही, अब सोशल मीडिया से गुहार

नांदेड़ (महाराष्ट्र) : देश की रक्षा करने वाला सैनिक तीन वर्ष पूर्व अपने गाव के ही भू-माफिया से अपनी माँ को नही बचा सका. देश के सैनिको के प्रति हमारे देश का बच्चो-बच्चो में सम्मान है लेकिन पुलिस सैदव से ही मानवता को ताख पर रखकर कार्य करती है. कुछ ऐसा ही मामला है महाराष्ट्र के नांदेड जनपद थाना लोहा का. 

ऋण अदा न करने पर नागार्जुन के अन्नपूर्णा स्टूडियोज़ पर बैंकों का कब्जा

मुंबई : तेलुगू अभिनेता नागार्जुन और उनके परिवार के स्वामित्व वाले अन्नपूर्णा स्टूडियोज़ को सार्वजनिक क्षेत्र की दो बैंकों ने अपने कब्ज़े में ले लिया है। स्टार इंडिया, प्रसारण कंपनी मा टीवी के अधिग्रहण के लिए सहमत हो गया है। 

हुजूर! उन बयालीस लोगों के कातिल कौन?

 

वर्ष 1987 में मेरठ दंगे के दौरान हुए बहुचर्चित हाशिमपुरा कांड में 42 लोगों की मौत पर दिल्ली की तीस हजारी अदालत ने सबसे पुराने पेंडिंग केस में फैसला देकर सभी 16 आरोपियों को बरी कर दिया। 3 आरोपियों की मौत फैसले से पहले ही हो गई। फैसला हैरानी व नाखुशी दे रहा है।

हमलावर हाथ हिन्दुत्व के साथ, हिन्दू बनो संविधान तोड़ो

हिसार में चर्च पर हमले से दो काम हुए हैं, पहला 1857 के शहीदों का अपमान हुआ है, दूसरा धार्मिक हमलावरों की अंतर्राष्ट्रीय बिरादरी में हमलावरसेना शामिल हुई है। अब उनके आईएसआईएस और अलकायदा के बराबर दर्जा मिलने की संभावनाएं बढ़ गयी हैं। सारी दुनिया में मीडिया गौरवगुरु का पद उनको मिल गया है। अब वे अलकायदा आदि के बराबर 56 इंच का सीना तानकर खड़े हो सकते हैं। 

‘जश्न-ए-रेख्ता’ में होगा उर्दू का जश्न

नयी दिल्ली : यहां 14 मार्च से शुरू हो रहे दो दिन के समारोह ‘जश्न ए रेख्ता’ में उर्दू के बेहतरीन शायरों, अफसानानिगारों और फनकारों का जमावड़ा होने जा रहा है। उर्दू के इस जश्न में भारत, पाकिस्तान, अमेरिका और कनाडा से उर्दू के बेहतरीन शायर, अफसानानिगार, अदाकार और फनकार शिरकत करेंगे। जश्न में शिरकत …

‘आप’ का ‘मैं’ तक चेहरा व्यक्तिवादी

लगभग दो वर्ष पूर्व जब आम आदमी पार्टी की नींव रखी गई तो एक नई विचारधारा के राजनीतिक क्षेत्र में प्रवेश का दावा किया गया। इस विचारधारा के महिमा मंडन और हकीकत में इसके अनुसरण पर कई प्रश्र चिन्ह भी लगे परन्तु सभी प्रश्रों को निरूत्तर करते हुए आप ने अपनी ऐतिहासिक सफलता की इबारत लिखी।      इस सफलता की खुमारी अभी पुरी तरह से उतरी भी न थी कि फिर से पार्टी एक विवाद में फंस गई। विवाद आप पार्टी में लोकतंत्र के गौण और व्यक्ति के प्रधान होने का। विवाद प्रश्र उठाने और एतराज जताने के अधिकार का।

अखबारों का पेशेवर होना समाज के लिए घातक

आज अखबार इस तरह से पेशेवर हो गए हैं कि समाज के लिए घातक बनते जा रहे हैं। मीडिया में पिछले ढाई दशक से होने के बावजूद मुझे यह लिखने में कत्तई संकोच नहीं कि बड़े-बड़े अखबार चंद सिक्कों की खातिर देश और समाज के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। ऐसा आज लिखना पड़ रहा है तो इसके पीछे बहुत बड़ा कारण है।

केजरीवाल के करीबी ने किया पत्रकार का स्टिंग

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अक्सर जनता से अपील करते हैं कि भ्रष्टाचार को उजागर करने के लिए स्टिंग करो। अब खुलासा ये हुआ है कि केजरीवाल की टीम ने एक पत्रकार का ही फोन रिकार्ड कर लिया है। इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक केजरीवाल के करीबी बिप्लव कुमार नामक व्यक्ति ने पत्रकार …