तानाशाह रहे परवेज मुशर्रफ को हो गई ‘रेयर बीमारी’, दुबई के अस्पताल में भर्ती! देखें तस्वीर

परवेज़ मुशर्रफ को अब से कुछ घंटे पहले दुबई के अस्पताल में गंभीर हालत में भर्ती किया गया है. वे खड़े नहीं हो सकते. रीढ़ की हड्डी डैमेज हो चुकी है. बहुत दिनों तक उनकी बीमारी छिपाई गयी. बस यही कहा गया, उन्हें “रेयर बीमारी” हो गयी है. Share on:कृपया हमें अनुसरण करें और हमें …

The first casualty, when war comes, is truth!

Nitin Thakur : युद्ध की चाह रखनेवालों को बधाई! आपके प्रिय चैनल जो कल्पना में गढ़ रहे थे वो असल में हो रहा है. इमरान खान पाकिस्तान में परमाणु हथियारों पर नियंत्रण रखनेवाली बैठक के साथ बैठक में हैं. भारत के तीनों सेनाओं के चीफ सुबह से रक्षामंत्री, गृहमंत्री और प्रधानमंत्री के साथ अलग-अलग बैठकों …

वायु सेना और सरकार के पराक्रम के बीच पत्रकारिता का पतन झांक रहा है : रवीश कुमार

Ravish Kumar : वायु सेना, सरकार के पराक्रम के बीच पत्रकारिता का पतन झाँक रहा है। आज का दिन उस शब्द का है, जो भारतीय वायु सेना के पाकिस्तान में घुसकर बम गिराने के बाद अस्तित्व में आया है। भारत के विदेश सचिव ने इसे अ-सैन्य कार्रवाई कहा है। अंग्रेज़ी में non-military कहा गया है। …

पाकिस्तानी परमाणु ब्लैकमेल की धमकी बेअसर हो गई

भारत ने वही किया, जो उसे करना था… प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मेरी हार्दिक बधाई कि उन्होंने हमारी फौज को वह करने दिया, जो उसे करना ही चाहिए था। पिछले डेढ़ हफ्ते में मैं चार बार लिख चुका हूं और कई टीवी चैनलों पर कह चुका हूं कि भारत को आतंकवादियों के अड्डों पर तत्काल …

गोलीबारी और सर्जिकल स्ट्राइक कर सिर्फ गाल बजाने से काम नहीं चलेगा मोदी जी

आतंकी हमले नहीं होंगे, यह कौन सुनिश्चित करेगा… जम्मू के सुंजवान में शनिवार तड़के आतंकियों ने एक बार फिर नापाक हरकत की। सुंजवान सैन्य शिविर में केवल सैनिक ही नहीं बल्कि उनके परिजन भी थे। इस हमले का संदेह जैश-ए-मोहम्मद पर ही जा रहा है। इससे पहले उरी और पठानकोट पर भी आतंकियों ने इसी तरह हमला किया था। पिछले साल सेना ने 213  आतंकियों को मार गिराया, यह उनकी हताशा का परिचायक है। लेकिन इस तथ्य से मन को बहलाया नहीं जा सकता है। पाकिस्तान की ओर से सीमा पर गोलीबारी, घुसपैठ का सिलसिला थम नहीं रहा है। शायद ही कोई दिन बीतता हो, जब हमारे जवान शहीद न होते हों। इस बार हमले में शहीद हुए लेफ्टिनेंट मदन लाल चोधरी की एक रिश्तेदार गर्भवती थीं, वे भी घायल हुई पर उन्हें किसी तरह बचाया गया और उन्होंने एक बच्ची को जन्म दिया।

IFWJ Criticises Abhorring Behaviour of Pakistani Journalists

New Delhi, 28 December: Indian Federation of Working Journalists (IFWJ) has strongly condemned the unethical, unprofessional and slavish behaviour of Pakistani journalists, who taunted and jeered at the mother and wife of Kulbhushan Jadhav, when they were coming out from Pakistani jail after meeting him on 26th December.

कराची प्रेस क्लब अपनी कार से जा रहीं वरिष्ठ पत्रकार नरगिस का हार्ट अटैक से निधन

KARACHI: Renowned journalist Nargis Khanum died of a heart attack on Tuesday afternoon. She was coming to the Karachi Press Club (KPC) in her car when she felt uncomfortable. She managed to stop the car after which she passed away. Khanum was born in 1943 in Pune in pre-partition India. Her family shifted to Pakistan after independence. She did her MA in English Literature from the University of Karachi.

पाकिस्तान में पत्रकारों की सेफ्टी से संबंधित विधेयक नामंजूर

ISLAMABAD: A parliamentary committee on Thursday rejected the government’s bill on the safety of journalists and set up a three-member subcommittee to draft another bill in consultation with stakeholders which will be tabled as a private member’s bill in case the government does not own it. The decision was taken during a meeting of the Senate Standing Committee on Information, Broadcasting and National Heritage, which was chaired by Senator Kamil Ali Agha.

PTV current affairs director sacked after allegations of harassment, misuse of authority

Pakistan Television (PTV) on Friday sacked its suspended director of current affairs, Agha Masood Shorish, following allegations of sexual harassment and misuse of authority by multiple staffers at the state-run broadcaster. A total of five inquiries had been initiated against Shorish, including three for sexual harassment. PTV’s 14 producers had also filed a complaint against him in the Islamabad High Court, and the issue was also taken up in the National Assembly.

Pakistan Press Foundation awards 19 investigative journalism fellowships

Karachi : The Pakistan Press Foundation has awarded 19 journalists from across Pakistan fellowships to pursue investigative stories on a range of social, political and economic issues. The fellows were selected from a pool of over 150 applicants in a rigorous selection process conducted by a panel of 17 reporters and editors who evaluated their pitches. The fellows come from all four provinces of Pakistan as well as its Federally Administered Tribal Areas, Gilgit-Baltistan and Azad Kashmir.

इतिहास में पाकिस्तान जोड़ेंगे, तभी बदलेगा भूगोल

-अनेहस शाश्वत-

अपने देश में किसी भी आदमी से पूछिए, मुग़ल सम्राट शाहजहाँ ने जामा मस्जिद कहाँ बनवाई? तत्काल जवाब मिलेगा दिल्ली में। शाहजहाँ ने एक और भव्य जामा मस्जिद सिंध के थट्टा इलाके में भी बनवाई। ध्यान रहे, शाहजहाँ के राज्य में न केवल आज का पाकिस्तान और बांग्लादेश वरन अफगानिस्तान का भी एक बड़ा हिस्सा शामिल था। ग्यारह सौ किलो सोने और सैकड़ों किलो जवाहरात से बने मयूर सिंहासन पर बैठने वाला शाहजहाँ तत्कालीन दुनिया का सबसे धनी और शक्तिशाली सम्राट था, जिसकी पगड़ी पर अमूल्य कोहिनूर हीरा झिलमिलाता रहता था।

Pakistan’s Publishers body condemns cancellation of licenses of two newspapers

The administration of Islamabad, Pakistan’s capital city, cancelled the publication licenses or ‘declarations’ of Urdu the dailies “Sahafat” and “Dopahr” on October 20, 2017. Khushnood Ali Khan, editor in chief of both newspapers, said the order was given when he submitted a request to upgrade his printing press and to change the printers. When he did not receive a response from the Islamabad administration, Khan said he wrote a letter to the deputy commissioner Islamabad.

पाकिस्तान में खोजी पत्रकार पर हमला

Ahmad Noorani, an investigative journalist of the English-language daily “The News International” was assaulted by unidentified men in broad daylight at the busy intersection of Islamabad, the capital city of Pakistan. Noorani’s car was intercepted by six assailants riding on three motorbikes. They severely beat up Noorani and his driver with iron rods after throwing out the keys from the ignition.

पाकिस्तान में पत्रकारों की सुरक्षा से संबंधित विधेयक लाने की तैयारी जोरों पर

Journalists’ safety bill will soon be discussed by cabinet body : minister

ISLAMABAD: Briefing the Senate committee on Information, Broadcasting and National Heritage on different issues related to media, the Minister of State Marriyum Aurangzeb said the first draft of the Bill for safety, security and protection of journalists, prepared in consultation with all the stakeholders including All Pakistan Newspaper Society (APNS), Council of Newspapers. Editors (CPNE), Pakistan Federal Union of Journalists (PFUJ) and inclusive of the recommendations of the committee members and the UN guidelines, would soon be presented before the cabinet legislative committee for its approval.

दंगल फिल्म दिखाने पर पाकिस्तानी चैनल को नोटिस

Pemra issues notice for airing Dangal

LAHORE – Pakistan Electronic Media Regulatory Authority (Pemra) on Wednesday issued a show cause notice to Urdu 1 channel for Aamir Khan’s Bollywood film Dangal. Urdu1 aired Dangal which was not given permission for screening by Board of Film Censors in Pakistan. Pemra has identified certain scenes which were deemed inappropriate for viewing in Pakistan as well.

पाकिस्तान में इस्लाम के खिलाफ सोशल मीडिया पर लिखने वालों की शामत

ATC indicts four for blasphemy on social media

ISLAMABAD: An Anti-Terrorism Court (ATC) on Tuesday indicted four out of seven suspects for allegedly publishing blasphemous content about Islam on social media. ATC Judge Shahrukh Arjumand arraigned the suspects, who pleaded not guilty and decided to stand trial. The suspects were brought to the court amid tight security. Subsequently, the court directed the Federal Investigation Agency (FIA) to start producing witnesses and evidence from the next date of hearing – September 25.

PAKISTAN Govt proposes law to gag print media

ISLAMABAD:The Pakistan Muslim League-Nawaz-led government has prepared a draft law to control media and impose more restrictions on the freedom of press. The speed with which the law is being prepared has sent alarm bells ringing in the journalist community, including the All Pakistan Newspapers Society (APNS) and Council of Pakistan Newspaper Editors (CPNE).

घुटने टेकने को तैयार रहने वाले भारतीय पत्रकारों को पाकिस्तानी पत्रकारों से कुछ सीखना चाहिए

Priyabh Ranjan : नेताओं और सेलेब्रिटीज के आगे घुटने टेकने के लिए हमेशा तैयार रहने वाले (कुछ) भारतीय पत्रकारों को जरा पाकिस्तानी पत्रकारों से कुछ सीखना चाहिए।  DAWN अखबार के एडिटर ने बयान जारी कर कहा है वो अपने अखबार में छपी हर खबर पर कायम हैं। उन दो खबरों पर भी जिनके मुताबिक नवाज़ शरीफ सरकार ने अपनी सेना को चेतावनी दी थी कि आतंकवादियों के खिलाफ सख्ती बरती जाए वरना पाकिस्तान दुनिया में अलग-थलग पड़ जाएगा।

पाकिस्तानी हैकरों ने भारत की कई हिंदी वेबसाइटों को बनाया निशाना

पाकिस्तानी हैकरों ने भारत की कई हिंदी वेबसाइटों को निशाना बनाया है. वरिष्ठ पत्रकार दीपक शर्मा द्वारा संचालित इंडिया संवाद और आज समाज अखबार की वेबसाइट आज किया आज समाज डाट कॉम को हैक कर इस पर पाकिस्तानी झंडा फहरा दिया. दीपक शर्मा ने फेसबुक पर खुद की चर्चित वेबसाइट हैक किए जाने की सूचना दी थी. उधर आज समाज की तरफ से भी इस बाबत एक खबर का प्रकाशन किया गया है. फिलहाल दोनों वेबसाइटों को पाकिस्तानी हैकरों के चंगुल से मुक्त करा लिया गया है. आज समाज की वेबसाइट पर प्रकाशित खबर इस प्रकार है…

खौफनाक : डर-डर कर दिन बसर कर रहे पाकिस्तान के मशहूर टीवी पत्रकार हामिद मीर

सवाल बनता है कि क्या कोई पत्रकार हमारे देश भी हमीद मीर की तरह अपनी हिफाजत को लेकर इस कदर अपनी जिंदगी में दो चार हो रहा है।, शायद नहीं। तो फिर क्यों नहीं? क्यों कि हमारे देश में जनपक्षधरता के मसले पर अपनी अलोकतांत्रिक हरकतों के लिए कुख्यात नेताओं वाली सरकारों और सिर्फ पैसे के भूखे मीडिया घरानों को चला रहे पत्रकारों में कोई फर्क नहीं दिखता है। हमीद मीर इन दिनो डरे हुए हैं। वह अपना डर ‘वाशिंगटन पोस्ट’ से साझा करते हैं। वह अपनी हिम्मत और बेबाकी के नाते पाकिस्तान के टीवी मीडिया में शीर्ष हैसियत रखते हैं। उन पर एक बार आतंकवादी अटैक हो चुका है। वह आईएसआई की चेतावनी के बावजूद पीछे नहीं हटे। अब उन्हें अपनी जिंदगी की हिफाजत सता रही है। हमारे देश के मीडिया पर तो बड़ा सीधा सा फार्मूला लागू होता है कि जब कर नहीं, तो डर किस बात का। यानी जब कोई हिम्मत का काम कर गुजरे, तभी तो….हमारे यहां तो पत्रकारों का एक बहुसंख्यक धड़ा मंत्रियों, अफसरों की दलाली में जुटा रहता है।  

पाकिस्तान के दो गिरजाघरों में ब्लास्ट, 15 की मौत, 68 घायल

लाहौर : पाकिस्तान के लाहौर में बसी देश की सबसे बड़ी ईसाई कॉलोनी में रविवार को दो गिरिजाघरों में प्रार्थना के दौरान तालिबान द्वारा किए गए आत्मघाती हमलों में कम से कम 15 लोग मारे गए और 68 अन्य घायल हो गए।

पाकिस्तान के लाहौर में तालिबानी ब्लॉस्ट के बाद रोते-बिलखते मृतकों के परिजन

पाकिस्तान में ब्लॉस्ट के बाद रोते-बिलखते मृतकों के परिजन

वह चर्च जहां रविवार को ब्लॉस्ट हुआ

तालिबान को क्रूर किसने बनाया?

पाकिस्तान के पेशावर में तालिबान ने बच्चों को जिस बेरहमी से कत्ल किया है, उसको दुनिया का कोई धर्म, कोई कानून सही नहीं ठहरा सकता। कितना लचर तर्क दिया है तहरीक-ए-पाकिस्तान तालिबान ने कि हमने अपने बच्चों की हत्याओं का दर्द महसूस कराने के लिए बच्चों का कत्ल किया है। दिमाग को सुन्न कर देने वाली इस घटना का कुछ भी पसमंजर हो, लेकिन हकीकत यह है कि इंसानियत का कत्ल हुआ है। इस कत्ल के पीछे हमें जरूर यह लगता है कि इसे उन धर्मांध तालिबानियों ने दिया है, जो अपने आपको इसलाम का सच्चा पैरोकार मानने का दंभ भरते हैं, लेकिन सवाल यह है कि तालिबान को इतना क्रूर बनाया किसने, जिनके हाथ मासूमों का कत्ल करते हुए नहीं कांपते? अपने स्वार्थ के लिए भस्मासुर पालना आसान है, लेकिन जब वह ताकतवर हो जाता है, तो उसे खत्म करना उतना ही मुश्किल होता है। कुछ गलतियां को सुधारा नहीं जा सकता। अमेरिका ने अपने स्वार्थ की खातिर तालिबान को खड़ा किया था।

पाकिस्तान में भी चिरकुट और दोयम दर्जे के टीवी चैनल व पत्रकार हैं

आज सुबह-सुबह इंटरनेट पर एक लिंक मिला जिस पर लिखा था “Horrific Footage of Inside Army Public School“…यानी कि पाकिस्तान में बच्चों के कत्ल के बाद स्कूल के अंदर की तस्वीरें, उसका वीडियो. यह पढ़कर ही दिल दहल गया कि मीडिया को मिली उसकी अभिव्यक्ति की आजादी का दुरुपयोग सिर्फ अपने यहां नहीं, वहां भी हो रहा है. पाकिस्तान में भी ऐसे चिरकुट और दोयम दर्जे के टीवी चैनल और पत्रकार हैं, जो खून के सौदागर हैं. मासूम बच्चों का लहू बेचने से उन्हें भी गुरेज नहीं. चूंकि अब मैं टीवी नहीं देखता, ना न्यूज चैनल और ना एंटरटेनमेंट चैनल, सो पता नहीं कि हमारे यहां मीडिया में इसकी कैसी कवरेज की गई..पाकिस्तानी चैनलों ने जब -मौत के इस तमाशे- को बेचना शुरू किया होगा, तो कितने हिन्दुस्तानी चैनलों ने -साभार- दिखाते हुए unedited footage जस के तस भारतीय दर्शकों को भी परोसे होंगे…

युवा लेखक विक्रम सिंह बालँगण की पाकिस्तान पर लिखी छोटी-सी कहानी ‘इंतिहां!’ पढ़ें

घने कोहरे और ठण्ड़ के चलते रज्जाक अभी रजाई में ही दुबका पड़ा था। मन ही मन अपनी आंखें मूंदे शायद यह सोच रहा था कि आज स्कूल न जाना पड़े और छुट्टी का कोई बहाना मिल जाये। मगर अम्मीजान के बनाए परांठों की महक आते ही तपाक से उठ खड़ा हुआ। अब कोई बहाना नहीं था..देर सबेर अपना बस्ता तैयार करता रज्जाक फिर भी न जाने कितने बहाने कर रहा होगा स्कूल न जाने के। कभी अब्बूजान के चक्कर लगाता तो कभी बहन नज़मा के इर्द गिर्द मिन्नतें करता रहा कि कैसे भी हो कोई बहाना मिल जाए उसे, आज तो अल्लाह से भी कई बार दुआ कर चुका था। अपने स्कूल के दिनों शायद हर कोई ऐसे ही नाटक करता है।

बाघा बार्डर पर जिस जुनदुल्लाह ने आत्मघाती हमले की जिम्मेदारी ली है वह तहरीके तालिबान से अलग हुआ धड़ा है

Sanjay Tiwari : विशेषज्ञ इसे भारत के लिए चिंता की बात बताएं, इससे पहले बता दें कि बाघा बार्डर पर जिस जुनदुल्लाह ने आत्मघाती हमले की जिम्मेदारी ली है वह तहरीके तालिबान से अलग हुआ धड़ा है. वही तहरीके तालिबान जिसके सफाये के लिए पाकिस्तान नये सिरे से वजीरीस्तान इलाके में सैन्य अभियान संचालित कर रहा है. पाकिस्तान में दो तरह के तालिबान हैं. वजीरिस्तान के तालिबान और पंजाब के तालिबान. अकेले पंजाब में करीब आधा दर्जन तालिबान हैं जबकि वजीरिस्तान में अमीबा की तर्ज पर एक तालिबान से दूसरा तालिबान पैदा होता रहता है. जो भी नया तालिबान पैदा होता है वह पंजाब के तालिबान को अपना दुश्मन नंबर एक मानता है फिर भले ही उनकी रहनुमाई सैन्य संपर्कों वाला हाफिज सईद ही क्यों न करता हो.

पाकिस्तान में न्यायपालिका के खिलाफ कार्यक्रम दिखाने वाला चैनल 15 दिन के लिए सस्पेंड, एक करोड़ रुपये जुर्माना

पाकिस्तान ने न्यायपालिका के खिलाफ अपमानजनक कार्यक्रम प्रसारित करने वाले एक चैनल को 15 दिन के लिए निलंबित कर दिया है और उसपर एक करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया है. पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रेगुलेटरी अथॉरिटी (पीईएमआरए) ने ‘एआईवाई न्यूज’ का लाइसेंस 15 दिन के लिए निलंबित कर दिया है और उसपर एक करोड़ रूपए का जुर्माना लगाया है.

पाकिस्तान में एक टीवी पत्रकार की गोली मार हत्या

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में निजी टीवी चैनल के एक पत्रकार की रविवार को आज अज्ञात बंदूकधारियों ने गोली मारकर हत्या कर दी। एक्सप्रेस न्यूज के संवाददाता याकूब शहजाद गुजरावालां शहर में एक कार्यालय में एक दोस्त के साथ बैठे थे, उसी दौरान कुछ सशस्त्र लोग आए और उन्होंने उन पर गोलियां चला दीं। उन्हें तीन गोलियां लगी और मौके पर ही उनकी मौत हो गई। उनके बगल में बैठा एक अन्य व्यक्ति घायल हो गया। पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर सबूत जुटाए।