सड़क हादसे में सुदर्शन न्यूज़ के गेस्ट कोआर्डिनेटर और एसाइनमेंट हेड विवेक चौधरी का निधन

सुदर्शन न्यूज़ के गेस्ट कोआर्डिनेटर और एसाइनमेंट हेड विवेक चौधरी के निधन होने की सूचना मिली है. विवेक पिछले कई सालों से अलग-अलग न्यूज़ चैनलो में अपनी सेवायें दे चुके है. वे श्री न्यूज़, चैनल वन न्यूज़, साधना न्यूज़ आदि चैनलों में गेस्ट कोआर्डिनेटर के तौर पर काम कर चुके हैं. बताया जाता है कि कल रात विवेक का निधन एक सड़क दुर्घटना में हो गया.

‘पत्रिका’ के स्टेट एडिटर अरूण चौहान दुर्घटना में बाल बाल बचे

इंदौर । आज उज्जैन में क्षिप्रा स्नान व महाकाल दर्शन कर वापस इंदौर लौटते समय साँवेर के पास सड़क दुर्घटना मे “पत्रिका” MP-CG के “राज्य संपादक” श्री अरुण चौहान बाल बाल बच गए। खुद गाड़ी ड्राइव कर रहे श्री चौहान सड़क पर अचानक कार के सामने आ गये श्वान को बचाने के चक्कर मे संतुलन खो बैठे तथा कार डिवायडर से टकराते हुवे सड़क से नीचे उतरकर 3 से 4 पलटी खा गयी।

हस्तक्षेप डाट काम के संपादक अमलेंदु की चोटें गंभीर, हाथ में क्रैक और कंधे पर जख्म

-पलाश विश्वास-

हमारे लिए बुरी खबर है कि हस्तक्षेप के संपादक अमलेंदु को सड़क दुर्घटना में चोट कुछ ज्यादा आयी है। आटो के उलट जाने से उनके दाएं हाथ में क्रैक आ गया है और इसके अलावा उन्हें कंधे पर भी चोटें आयी है। भड़ास के दबंग यशवंत सिंह ने यह खबर लगाकर साबित किया है कि वे भी वैकल्पिक मीडिया के मोर्चे पर हमारे साथ हैं। हम तमाम दूसरे साथियों से भी साझा मोर्चे की उम्मीद है ताकि हम वक्त की चुनौतियों के मुकाबले डटकर खडे हो और हालात के खिलाप जीत भी हमारी हो। हमारी लड़ाई जीतने की लड़ाई है। हारने की नहीं।

हस्तक्षेप डाट काम के संपादक अमलेंदु उपाध्याय सड़क दुर्घटना में घायल

कल शाम दिल्ली में हस्तक्षेप के संपादक अमलेंदु उपाध्याय एक भयंकर दुर्घटना में बाल बल बच गये हैं। वे जिस आटो से घर लौट रहे थे, वह एक बस से टकरा गया। आटो उलट जाने से अमलेंदु और दो साथियों को चोटें आयीं। अमलेंदु के दाएं हाथ में काफी चोटे आयी हैं। उनके दुर्घटनाग्रस्त होने से हस्तक्षेप डाट काम के संचालन पर असर पड़ रहा है और साइट अपडेट नहीं हो पा रही है क्योंकि हस्तक्षेप अपडेट करने के लिए कोई दूसरा नहीं है। ऐसे समय में यह हमारे लिए भारी झटका है। उम्मीद है कि जल्द से जल्द वे काम पर लौटने की हालत में होंगे।

हरदा रेल हादसा प्राकृतिक था तो पुल-पटरियां भगवान ही बचाए

एक ओर मीडिया की आंखों से देश को दिखाया जा रहा एक लाख करोड़ की बुलेट ट्रेन का सपना। दूसरी ओर एक ही रात में दो दो ट्रेन हादसे, दर्जनों लोगों की मौत। अंग्रेजों के ज़माने के रेलवे पुल, जर्जर पटरियां और लचर परिचालन। इतने बड़े देश के रेलवे की गिनती दुनिया की सबसे घटिया रेल व्यवस्था में। रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा कह रहे हैं कि हरदा ट्रेन हादसा प्राकृतिक था। ये तो वही बात हुई कि प्राकृतिक आपदा है तो पुल और पटरियां भगवान ने बनाई थीं, वही जाने ? रेल मंत्रालय बुलेट ट्रेन चलायेगा हवा में।

Mumbai scribe dies 25 days after constable’s son knocked him down

A-53-year-old journalist died last morning from the injuries that he had sustained from a hit-and-run incident involving a bike driven by a constable’s son, in Mira Road on May 4. Harshad Patel was a resident of Mira Road, and a journalist with Mumbai-based Gujarati newspaper Janmabhoomi. On that fateful day, Patel was walking back home on 90 Feet Road in Mira Road when the speeding bike slammed into him. The rider of the bike (MH- 04-CX-4977) was a constable’s son, identified as Sagar Rajaram Inchnade (22). His father, Rajaram Inchnade, is attached to the main police control room.

यमुना एक्सप्रेस-वे पर दो कार हादसों में 6 मीडियाकर्मियों ने दम तोड़ा

मथुरा/दिल्ली : यमुना एक्सप्रेस-वे पर बीते आठ घंटों के बीच हुए दो सड़क हादसों में छह मीडियाकर्मियों की मौत हो गई और तीन घायल हो गए। इन छह में से चार मीडियाकर्मी हिंदुस्तान टाइम्स में सरकुलेशन विभाग में थे। दूसरे हादसे में जिन दो मीडियाकर्मियों की मौत हुई वे एक न्यूज चैनल के पत्रकार थे।

यमुना एक्सप्रेसवे पर टायर फटने से एचटी के चार मीडियाकर्मियों की मौत

बेहद दुखद खबर यमुना एक्सप्रेसवे से आ रही है. यमुना एक्सप्रेस वे पर भीषण हादसे में चार मीडियाकर्मियों की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गयी और तीन लोग घायल हो गये. घायलों को उपचार के लिए भर्ती कराया गया है. दिल्ली से आगरा जा रहे चार लोग मथुरा में यमुना एक्सप्रेस वे पर हादसे का शिकार हो गये. दो कारों की टक्कर में चारों लोगों की मौत हो गई जबकि तीन लोग घायल हैं.

दैनिक जागरण बरेली के सिटी चीफ ज्ञानेंद्र सिंह ट्रेन से गिरकर घायल

बरेली से एक दुखद खबर है कि दैनिक जागरण बरेली में सिटी इंचार्ज की कुर्सी संभाल रहे ज्ञानेंद्र सिंह ट्रेन से गिरकर घायल हो गए। ज्ञानेंद्र को बरेली के सिद्धि विनायक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ज्ञानेंद्र इलाहाबाद अपने घर गए थे। वापसी में ट्रेन से उतरते वक्त गिर पड़े और घायल हो गए। कुछ लोगों का कहना है कि वह चलती ट्रेन से उतरने लगे जिसके कारण गिर पड़े।

विनोबा आश्रम की छात्रा के साथ रेप हुआ था लेकिन ताकतवर शख्स ने दुर्घटना का रूप दे दिया!

शाहजहांपुर। चार वर्ष पूर्व बंडा थाना इलाके में मिली लडकी की अर्धनग्‍न लाश की शिनाख्‍त शाहजहांपुर के विनोबा आश्रम में रहकर पढाई करने वाली रन्‍जना के रूप में हुई थी। उस वक्‍त पीएम रिपोर्ट में रन्‍जना की मौत का कारण दुर्घटना आया था। लेकिन अब मामले में कुछ और ही निकलकर सामने आ रहा है। यह दुर्घटना नहीं बलात्‍कार था। यह खुलासा किसी और का नहीं बल्कि विनोबा आश्रम में काम करने वाले एक कर्मचारी का है।

सड़क हादसे में मेरठ के कई मीडियाकर्मी घायल

मेरठ से जानकारी मिली है कि हिंदुस्तान अखबार के सिटी डेस्क इंचार्ज नीरज श्रीवास्तव, डिजाइनर गौरव सक्सेना, उनकी पत्नी और बच्चा एक सड़क दुर्घटना में घायल हो गए हैं. एक अन्य हादसे में डिजायनर अजय के हाथ में फ्रैक्चर हुआ है. कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

सड़क हादसे में कन्नौज के पत्रकार अर्पित पाल की मौत

कन्नौज। स्वतंत्र भारत के युवा पत्रकार अर्पित पाल की सड़क हादसे में उस समय मौत हो गई, जब वह बीते 19 नवम्बर को शाम अपनी बहन के यहां बाइक से जा रहे थे। पत्रकारों ने शोक संवेदना व्यक्त तक मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से अधिक से अधिक आर्थिक सहायता देने की मांग की है।

जी न्यूज संवाददाता शिवम भट्ट की हरियाणा में सड़क हादसे में मौत

एक दुखद खबर हरियाणा से है. जी न्यूज संवाददाता शिवम भट्ट का सड़क हादसे में निधन हो गया है. वे हिसार में रामपाल प्रकरण कवर करने गए हुए थे. सड़क हादसे में जयवीर रावत और रोहित खन्ना घायल हुए हैं. हादसा कैथल के पास हुआ. हादस आज यानि 20 नवंबर की सुबह हुआ. शिवम की उम्र लगभग 24 साल थी. शिवम कई दिनों से हिसार के बबराला में रामपाल प्रकरण को कवर कर रहे थे. कल रात रामपाल की गिरफ्तारी के बाद जी न्यूज की टीम वापस चंडीगढ़ जाने के लिए निकली.

पैर गंवा चुकी स्नेहिल की चैनल से बातचीत चल रही है

Vineet Kumar : स्नेहिल से मेरी बात हुई. उन्हें इस वक्त हमारी जरूरत नहीं है..लिखने से लेकर बाकी चीजों की भी. वो अब इस संबंध में कोई बात नहीं करना चाहती. उनका कहना है कि चैनल से इस संबंध में बातचीत चल रही है. हमारी प्राथमिकता स्नेहिल की जिंदगी और उसके प्रति उत्साह बनाए रखना पहले है जो कि सचमुच एक चुनौती भरा काम है..लिहाजा, हम इस मामले को तूल देकर उनके हिसाब से शायद नुकसान ही करेंगे. रही बात चैनल की तो हम किसी की आइडी, ज्वाइनिंग लेटर की कॉपी जबरदस्ती साझा करने नहीं कह सकते.

मीडिया में सरोकार, जज्बे और जज्बात के जितने शब्द-एक्सप्रेशन हैं, सबके सब सिर्फ प्रोमो-विज्ञापन के काम लाए जाते हैं

Vineet Kumar : जिया न्यूज की मीडियाकर्मी स्नेहल वाघेला के बारे में जानते हैं आप? 27 साल की स्नेहल अपने चैनल जिया न्यूज जिसकी पंचलाइन है- जर्नलिज्म इन एक्शन, के लिए अपने दोनों पैर गंवा चुकी है. पिछले दिनों जिया चैनल के लिए मेहसाना (अहमदाबाद) रेलवे स्टेशन पर रिपोर्टिंग करते हुए स्नेहल फिसलकर पटरियों पर गिर पड़ी और उनके दोनों पैर इस तरह से जख्मी हुए कि आखिर में काटने पड़ गए. अब वो चल-फिर नहीं सकती.

शूट के दौरान जिया न्यूज की पत्रकार स्नेहल पटरियों पर गिरीं, दोनों पैर कटे, चैनल की तरफ से कोई मदद नहीं

कल एक फेसबुक मित्र से हाय हैलो हुयी. पहले वो रियल4न्यूज मे काम करती थीं. उसके बाद कल हालचाल पूछा तो पता चला कि जिया न्यूज में है. मैंने पूछा किस स्टोरी पर क़ाम चल रहा है तो बोलीं- फिलहाल रेस्ट पर हूं. मैंने कहा- कब तक. बोलीं- पता नही. मजाक में मैंने कहा- आफिसियल हालीडे. वो बोलीं- नो. मैंने कहा- शादी या प्रेग्नेन्सी. बोलीं- नहीं. फिर दिलचस्पी ली. एक और कयास लगाया की शूट के दौरान घायल? उसने कहा- हां.

कानपुर के अस्पताल ने आरोपी को बचाने के लिए एक्सरे और सीटी स्कैन से पांच फ्रैक्चर गायब करा दिए

जय प्रकाश त्रिपाठी : आज इतना बड़ा छल हुआ। हैरत और तनाव से रात भर नींद नहीं आई। क्या चिकित्सा जगत में अब ऐसा भी होने लगा! घटना के दिन तीस सितंबर को जिस अस्पताल (गुरु तेगबहादुर अस्पताल) में पत्नी को भरती कराया था, उसने सुनियोजित तरीके से एक्सरे और सीटी स्कैन में पांच फ्रैक्चर इसलिए गायब करा दिये कि आरोपी उसके समुदाय का है। उसके अस्पताल में भर्ती के समय सिर्फ तीन फ्रैक्चर बताये गये थे।

जोधपुर के पत्रकार बाबू भाई सड़क हादसे में घायल

जोधपुर। बीती रात सड़क हादसे में जोधपुर के वरिष्ठ पत्रकार इन्द्रसिंह उर्फ बाबू भाई गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें इलाज के लिए मथुरादास माथुर अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। सोमवार दोपहर तक उन्हें होश नहीं आया था। प्राप्त जानकारी के अनुसार पत्रकार इन्द्रसिंह रविवार रात को अपनी मोटर साइकिल पर घर की तरफ जा रहे थे उसी दौरान शनिश्चरजी के थान के पास कोई अज्ञात वाहन उन्हें टक्कर मारकर फरार हो गया।

स्‍कार्पियो की टक्‍कर से पत्रकार सूदनाथ मौर्य की मौत

चंदौली जिले से खबर है कि पत्रकार सूदनार्थ मौर्य की हादसे में दर्दनाक मौत हो गई. वे 48 वर्ष के थे. श्री मौर्य पायनियर अखबार से जुड़े हुए थे. हादसा मुगलसराय कोतवाली क्षेत्र के मवई कलां गांव में हुआ. पुलिस ने उनके शव को कब्‍जे में लेकर पोस्‍टमार्टम के लिए भेज दिया है. उनका अंतिम संस्‍कार उनके गांव के पास गंगा तट पर स्थित घाट पर ही किया जाएगा.