बिहार के महामहिम, बाड़मेर की महिला, दलित उत्पीड़न का केस और वरिष्ठ पत्रकार की गिरफ्तारी…. सच क्या है?

Shrawan Singh Rathore : बाड़मेर के वरिष्ठ पत्रकार दुर्गसिंह राजपुरोहित को बाड़मेर पुलिस ने गिरफ्तार किया और बिहार पुलिस को सौंप दिया। न कोई नोटिस , न सुनवाई का मौका न FIR की जानकारी। व्हाट्सएप पर पटना के एसएसपी के नम्बर से बाड़मेर एसपी मनीष अग्रवाल को एक वारंट की फोटोकापी मिली। किसी आतंकी को …

बिहार में मीडिया पर घोषित प्रतिबंध

Vinayak Vijeta : मुख्यमंत्री का सख्त निर्देश, ईटीवी को कोई बाईट नहीं दें जदयू नेता… राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जदयू नेताओं और अपने प्रवक्ताओं को यह सख्त निर्देश दिया है कि वह ईटीवी को न तो कोई बाईट दें और न ही ऑन या ऑफ द रिकार्ड इस चैनल के किसी संवाददाता से बात करें। सुत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री का इस चैनल पर गुस्सा पिछले दिनों पंचायत प्रतिनिधियों के सम्मेलन को लेकर था। बताया जाता है कि इस सम्मेलन के प्रचार के लिए सूचना और जनसंपर्क विभाग ने पटना के तीन निजी चैनलों को विज्ञापन दिया था। पर ईटीवी ने इस विज्ञापन को इसलिए स्वीकार नहीं किया कि विज्ञापन का दर चैनल के निर्धारित दर से काफी कम था।

जिस हत्यारे शहाबुद्दीन को फांसी होनी चाहिए, उसे सलामी देने जेल में अपना मंत्री भेजते हैं नीतीश कुमार, सोशल मीडिया चुप्पी साधे है

Yashwant Singh : दो भाइयों को तेजाब से नहला कर मारने और तीसरे की गवाही देने जाते वक्त हत्या करने के आरोपी कुख्यात शहाबुद्दीन को फांसी देने की जगह इसके जेल के दरबार में हाजिरी लगाने जाते हैं नीतीश कुमार के एक मंत्री… आप चुप हैं क्योंकि ये मामला भाजपा और मोदी से जुड़ा नहीं है… इस पर भी बोलिए लिखिए अभियान चलाइए जनाब… बिहार के सीवान जिले के चंदा बाबू जिस हत्यारे शहाबुद्दीन और उसके गिरोह के कारण तीन बेटे गंवा चुके हैं, उस शहाबुद्दीन से जेल में मिलने बिहार के एक मंत्री महोदय जाते हैं. जेल में बाकायदा चाय नाश्ता होता है. फोटो सोटो खींचे खिंचवाए जाते हैं. शहाबुद्दीन सांसद रहा है, हार्डकोर क्रिमिनल है, दर्जनों मामले उस पर हैं. वह लालू और नीतीश कुमार का प्रिय पात्र माना जाता है. यही कारण है कि नीतीश-लालू की मिली जुली सरकार के मंत्री महोदय बाकायदे हाजिरी लगाने जेल में जाते हैं और शहाबुद्दीन से मिलकर आते हैं.

बिहार के जहानाबाद में आईबीएन7 संवाददाता पर प्राणघातक हमला

जिला युवा राजद अध्यक्ष धर्मपाल यादव पर हमले का आरोप

बिहार में नई सरकार के गठन के बाद यूं तो अपराध में बढ़ोतरी हुई ही, अब पत्रकारों की भी जान सुरक्षित नहीं दिख रही। बुधवार को जहानाबाद नगर थाना क्षेत्र के टेनीबिगहा गांव में आईबीएन-7 के जिला संवाददाता मुकेश कुमार पर जानलेवा हमला किया गया। गंभीर रूप से घायल मुकेश ने हमले का आरोप अपने गांव टेनीबिगहा के ही रहने जिला युवा राजद के अध्यक्ष धर्मपाल यादव और उसके एक करीबी अनिल यादव पर लगाते हुए नगर थाना में भादवि की धारा 307, 341 व 323 के तहत प्राथमिकी (32/16) दर्ज करायी है।

काटजू ने ऐलान किया- बिहार में होगी महागठबंधन की एकतरफा जीत

Sweep in favour of the Mahagathbandhan in Bihar

Markandey Katju : I predict not just a bare victory but a sweep in favour of the Lalu-Nitish alliance in the coming Bihar elections. This is based on simple mathematics. As I had said in an earlier post, voting in most states in India, including Bihar, is on the basis of caste and religion. The exception to this rule is when there is a wave.

बिहार में सामूहिक दलित संहार पर कोबरा पोस्ट का स्टिंग – ‘ऑपरेशन ब्लैक रैन’

‘कोबरा पोस्ट’ ने बिहार में दलित जन-संहार पर ‘ऑपरेशन ब्लैक रैन’ स्टिंग किया है। उसने राज्य के छह सामूहिक दलित संहार के अपराधियों पर कैमरा फोकस करते हुए खुलासा किया है कि किस तरह मध्य बिहार में रणवीर सेना मिलिशिया तक कानून के लंबे हाथ पहुंचने से बच रहे हैं। उन्हें किस तरह राजनीतिक संरक्षण प्राप्त है और ऐसे संहारों के लिए उन्हें एक खास वर्ग से लगातार आर्थिक सहयोग और समर्थन भी मिल रहा है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रेस क्लब किया पत्रकारों के हवाले

पटना : राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पंद्रह अगस्त को प्रदेश के पत्रकारों की प्रेस क्लब की मांग पूरी कर दी. उन्होंने पटना में प्रेस क्लब का उद्धाटन किया.

बिहार-झारखण्ड भास्कर के एडिटोरियल हेड बने ओम गौड़

ओम गौड़ ‘भास्कर’ बिहार-झारखण्ड के स्टेट एडिटोरियल हेड बनाये गए  हैं. सम्पादकीय  सारे कार्य इनके निर्देशन में होंगे. 

सीएम के जिले में थानेदार की गुंडई, कोर्ट का आदेश ठेंगे पर रखकर पत्रकार की जमीन पर कब्जा करा दिया

नालंदा (बिहार) जिले का नगरनौसा-चंडी अंचल क्षेत्र सुशासन बाबू के नाम से मशहूर बिहार के सीएम नीतिश कुमार के गृह जिले की राजनीति का एक प्रभावशाली अंग माना जाता है लेकिन यहां सुशासन का जो ताजा दृश्य सामने है, वह आम जनता की अंतरात्मा को अंदर तक झकझोर जाता है। एक गुंडा थाना प्रभारी ने कोर्ट के आदेश को परे रखकर पत्रकार की जमीन पर कब्जा करा दिया। 

पत्रकार आयोग के गठन पर विचार करेगी बिहार सरकार

विक्रमगंज (रोहतास) : पत्रकारों की मांग पर बिहार सरकार ने नियमावली में संशोधन कर, पत्रकार आयोग के गठन और कैशलेस मेडिक्लेम दुर्घटना बीमा योजना लागू करने सहित 18 सूत्री मांगों को संज्ञान लिया है। बिहार वर्किंग जर्नलिस्ट एसोसिएशन के संयोजक एवं वरिष्ठ पत्रकार दुर्गेश किशोर तिवारी ने बताया कि सरकार के संज्ञान लेने से आंचलिक पत्रकारों में हर्ष व्याप्त है। –

रणवीर सेना और बिहार के अखबार

रणवीर सेना के संस्थापक बरमेश्वर नाथ सिंह (ब्रह्मेश्वर सिंह) ऊर्फ मुखिया की तीसरी बरसी पर पटना में 1 जून, 2015 को आयोजित कार्यक्रम के संबंध में बिहार के मीडिया में प्रसारित समाचारों का विश्लेषण करने से पूर्व समाचार की रचना प्रक्रिया और समाचार बनाने वालों की सामाजिक पृष्ठभूमि से उसके अंतर्संबंध से संबंधित कुछ मूलभूत बातों को ध्यान में रख लेना चाहिए।

यूपी, बिहार के व्यापम की तस्वीर तो और अधिक भयावह

जो कुछ “व्यापम” नाम से मध्य प्रदेश में हुआ और जो अन्य प्रदेशों में भी दूसरे नामों, दूसरे प्रकारों, दूसरी सीमा तक हो रहा है वह भयावह है । बिहार में एक बार में ही चौदह सौ अध्यापक स्वयं नौकरी छोड़ ग़ायब हो गये । ये सब अवैध ढंग से नौकरी में आये थे । उत्तर प्रदेश में एक चौथाई प्राइमरी स्कूलों में डुप्लीकेट अध्यापक तैनात हैं (नौकरी किसी के नाम है पढ़ाने कोई और आता है)।

हिन्दुस्तान में भगदड़, 37 ने दिया भास्कर में इंटरव्यू, शशिशेखर मनाने पहुंचे बिहार

हिन्दुस्तान की मुश्किल कम होने का नाम नहीं ले रही है। इस बार उसकी परेशानी का कारण बिहार में दैनिक भास्कर बना है। बिहार में अपने विस्तार में जुटे दैनिक भास्कर ने हिन्दुस्तान को बड़ा झटका देने की तैयारी कर ली है।

फुलवारीशरीफ में प्रेस फोटो ग्राफर के सिर में गोली मारी, हालत गंभीर

पटना : फुलवारीशरीफ थाना क्षेत्र में महावीर कैंसर अस्पताल के पास बदमाशों ने स्वतंत्र प्रेस फोटोग्राफर पवन सिंह को गोली मार दी। स्थानीय लोगों ने पवन को अस्पताल पहुंचाया। हालत चिंताजनक बताई गई है। घटनास्थल से पुलिस को जिंदा कारतूस बरामद हुआ है। नेशनल यूनियन ऑफ़ जर्नलिस्ट्स, बिहार, ने इस घटना की कठोर शब्दों में …

बांका के ऐसे मीडिया कर्मियों के तो दोनो हाथ में लड्डू

बांका (बिहार) : अखबार में एक नए अवैध परंपरा की यहां शुरूआत हो गयी है। सरकार में बहाल लोग मजे से अखबारों व चैनलों में संवाददाता की नौकरी कर रहे हैं। यह परंपरा मुख्यतः जिला और प्रखंड स्तर पर देखी जा रही है। हैरानी की बात है कि दैनिक जागरण, प्रभात खबर, हिन्दुस्तान जैसे बड़े अखबार यह जानते हुए भी कि उनके संवाददाता सरकारी नौकरी में हैं, उनको पाल रहे हैं। ऐसा करें भी क्यों नहीं। तकरीबन मुफ्त में या कम पैसे में इन्हें संवाददाता जो मिल रहे हैं। इस तरह के शिक्षक, कंम्प्यूटर ऑपरेटर अपने सरकारी कार्यालय से फरार होकर पूरे दिन समाचार संकलन में लगे रहते हैं। मुद्दा ये है कि अगर यह परंपरा चल निकली तो इसके परिणाम कितने भयावह हो सकते हैं इसका सहज हीं आकलन किया जा सकता है। 

राजनीति को मनुष्य के पक्ष में काम करने की जरुरत है- डॉ. विभूति नारायण राय

लखीसराय (बिहार) : बिहार प्रगतिशील लेखक संघ के दो दिवसीय राज्य सम्मलेन विभूति नारायण राय ने कहा कि हम साहित्य को समाज से जोड़कर देखते हैं. पिछ्ला सौ वर्ष असाधारण समय रहा. दुनिया में नास्तिकता चौथे सबसे बड़े धर्म के रूप में उभरी है. पहले ईश्वर निर्विरोध होते थे. पिछले सौ वर्षों में ईश्वर के साथ-साथ परिवार को भी चुनौती मिली है. आज दुनिया के बहुत से देशों में समलैंगिकता को मान्यता मिल रही है. कुछ वर्ष पहले जिसे स्वीकारा नहीं जाता था, उसे स्वीकारा जा रहा  है.  संस्थाएं बनाना कठिन होता है, उसे तोड़ना आसान। बड़े सपने देखना राज्यविरोधी हो रहा है। राजनीति को मनुष्य के पक्ष में काम करने की जरूरत है.

शब्दों से खेलने के शौकीन नीतीश कुमार

‘न्याय के साथ विकास’ नीतीश सरकार का बहुप्रचारित नारा अब असली रूप में सामने आने लगा है. नीतीश सरकार दस वर्षों के शासनकाल के अंतिम पड़ाव पर है। मूल्यांकन का समय तो नहीं आया है, लेकिन छल की शिकार आम अवाम की आह को कौन रोक सकता है.

वाह रे भिखारी ठाकुर का बिहार ! गया में भिखारियों ने खोला ‘मंगला बैक’ और पटना में बनाई नाटक मंडली

बिहार तो बिहार है, हर फन में अलखनिरंजन। वहीं के थे भिखारी ठाकुर। वहां जेपी जैसे आंदोलनकारी और लालू जैसे नेता ही नहीं हुए, आज भी आला-निराला कुछ न कुछ आए दिन वहां सुनने-देखने को मिल ही जाता है। गया जिले में भिखारियों ने अपना ‘मंगला बैंक’ खोल लिया है तो पटना में खुद की नाटक मंडली बनाकर जगह जगह भिखारी नुक्कड़ मंचन कर रहे हैं।

Journalist Kashi Prasad honoured at Munger

Munger, March 04.The Munger Commissioner,Sunil Kumar Singh on March 03 evening honoured the seniormost journalist of Munger,Kashi Prasad by presenting him a ‘shawl’ as a token of love for his  contribution to the society for several decades at the launch of a city news channel  at Munger.The D.I.G(Munger Range),S.P.Shukla,the  District & Session Judge(Munger), Santosh Kumar Shrivastawa,the Collector(Munger), Amrendra Pd Singh and   other senior officials of Munger were present on the occasion. 

 

Munger Commissioner,Sunil Kumar Singh presents the seniormost journalist ,Kashi Prasad  a ‘shawl’ as a token of love  for his contribution to the society at Munger on March 03 evening.

इंटरव्यू के लिए ‘पहले मैं पहले मैं’ के चक्कर में नीतीश कुमार के सामने आपस में ही भिड़ गए न्यूज चैनल वाले

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के आवास सात सर्कुलर रोड इलेक्‍ट्रानिक मीडिया के लिए आपसी युद्ध का अखाड़ा बन गया। मीडिया वालों की आपसी तू-तू मैं-मैं इतनी तेज थी कि दर्शकों की भीड़ जमा हो गयी। यह सब हंगामा प्रदेश अध्‍यक्ष वशिष्‍ठ नारायण सिंह और नीतीश के पिछले कार्यकाल के सुपर सीएम माने जाने वाले सांसद आरसीपी सिंह के समक्ष हो रहा था। शपथ ग्रहण के बाद नीतीश कुमार का पहला प्रेस कॉन्‍फ्रेंस करीब सात बजे आयोजित था।

व्यापार मेला देखने अवश्य जाएं और इस एडवाइजरी पर गौर करें

कुछ संभलकर ही ट्रेड फेयर जाएं क्योंकि जो दिखता है वही सुंदर नहीं है! यह पोस्ट मैं नहीं भी डाल सकता था क्योंकि यह एक सामान्य-सी निजी घुमक्कड़ी है जिसे आप चाहें तो विंडो शापिंग भी कह सकते हैं। लेकिन डाल रहा हूं। दरअसल मुझे इस बात से कभी संतोष नहीं होता कि एक सामान्य दर्शक की भांति एक पत्रकार व्यवहार करे। पत्रकार के कुछ सामाजिक दायित्व होते हैं और चुनौतियां भी। वह महज एक प्रचारक या जस का तस दिखाने वाला, बताने वाला संजय नहीं कि हर धृतराष्ट्र उससे पूछे कि बताओ संजय क्या हुआ कुरुक्षेत्र में।

पत्रकार विजय कुमार वर्मा का निधन

समस्तीपुर। बिहार में समस्तीपुर जिले के सरायरंजन प्रखंड के नरघोघी गांव में पत्रकार विजय कुमार वर्मा का ह्वदय गति रूक जाने से निधन हो गया । वह 50 वर्ष के थे । वर्मा पटना, रांची और कोलकता से प्रकाशित एक हिन्दी दैनिक से जुड़े हुए थे। नरघोघी स्थित आवास पर ह्वदय गति रूक जाने से उनका निधन हो गया।

बकरी चराने वाले को जिंदा जलाना और कूड़ा बीनने वालियों के साथ गैंगरेप

Mitra Ranjan : हमारे समाज में मौजूद जातिगत दर्जेबंदी ने किस कदर लोगों को वहशी बना दिया है उसके बारे में कुछ भी कहना कम है। अभी बिहार में हुई दो घटनाएँ इसी ओर इशारा कर रही हैं – किसी दबंग साहब के खेत में एक दलित परिवार की बकरी चले जाने पर १५ साल के किशोर के साथ मार-पीट और बाद में उसको जिन्दा जला देने का अमानवीय कृत्य और कूड़ा बीनने वाली ५ दलित बच्चियों /महिलाओं के साथ गैंगरेप की क्रूर घटना ! किस संवेदना की बात करते हैं साहब। और मीडिया- चैनल और प्रिंट, इन खबरों को संजीदगी एवं तत्परता से सामने लाने से मुंह चुराते रहे।

बिहार में आरटीआई कार्यकर्ता पर रंगदारी मांगने का आरोप लगाकर जेल भिजवाया

समस्तीपुर (बिहार) : पंचायत में चल रही विभिन्न विकासात्मक योजनाओं की जानकारी आरटीआई के तहत मांगे जाने से बौखलाये मुखिया ने वांछित जानकारी तो नहीं उपलब्ध कराई उल्टे आवेदक के खिलाफ रंगदारी की प्राथमिकी दर्ज कराकर उसे जेल जरूर भेज दिया. मामला समस्तीपुर जिला के हसनपुर प्रखंड का है.  फुलहारा पंचायत की मुखिया द्वारा हसनपुर थाना में रंगदारी मांगे जाने से संबंधित दर्ज कांड सं.-118/14 पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने आरटीआई कार्यकर्ता ओमशंकर पोद्दार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

चुनाव ख़त्म तो काम और धंधा ख़त्म, तैयारी साधना-हरियाणा न्यूज़ चैनल को बंद करने की

न्यूज़ चैनल मालिकों के लिए ये कोई नइ बात नहीं है। मन आया तो कभी भी न्यूज़ चैनल खोल लिया और जब मन हुआ चैनल बंद करके कर्मचारियों को रस्ते पर ला कर खड़ा कर दिया। जब साधना को जरुरत थी साधना-हरियाणा की तो साधना-बिहार बंद कर के रिपोर्टर्स को रस्ते पर ला खड़ा किया। …