वर्दी में गुंडई (11) : विपिन शर्मा को जेल भेजकर परिजनों से 35 हजार रुपये झटके और धारा 376 हटा दिया!

Manish Dubey : पुलिस नाम की व्यवस्था का ऐसा ‘रैकेट’ सुनने वालों के कानों में किलोल जरूर करता होगा. और, यदि नहीं करता तो आप निष्ठुर निष्क्रिय हैं. आज कोई और है, कल निश्चित आप ही होंगे.

वर्दी में गुंडई (10) : जेल जाने पर पता चला- थाने में होता है चालीस हजार रुपये में धारा 376 हटाने का खेल!

बलिया के भीमपुरा थाने की कार्यशैली व मेरी गिरफ्तारी जेल में रहते हुए कुछ दिन बीते थे कि हमारे बैरक 3A में एक लड़का आया. मुझसे दूसरे लड़के शैलेश यादव ने उसका परिचय कराया. मैंने उससे बात की तो उसने बताया कि वह हमारे गाँव के नजदीक खूंटा बहोरवा का रहने वाला है. उसका नाम …

वर्दी में गुंडई (9) : यांत्रिक ढंग से विवेचना के कारण सोशल एक्टिविस्ट को लंबे समय तक रहना पड़ा जेल में!

Shiivaani Kulshresthhaa : मन की बात….. इस दुनिया में सारे लोग गलत करेंगे तो सही कौन करेगा? मेरे मन में कई दिनों से विचार आ रहा हैं कि जेल में कितने ऐसे अभियुक्त बंद हैं जो फेक मुकद्दमों में भी बंद हो सकते हैं, पर वो अक्षम हैं। अपनी जमानत नहीं करा सकते। उनके पास …

वर्दी में गुंडई (8) : RTI एक्टिविस्ट का खुलासा- एक नया फर्जी केस लगाकर मुझे दुबारा जेल भेजने की तैयारी थी!

Singhasan Chauhan : बलिया की भीमपुरा पुलिस व कुछ अराजक तत्वों का मुझे एक हफ्ते के अंदर फिर जेल भेजने का प्रोग्राम था. मगर मीडिया की वजह से वो अपने इरादे में नाकामयाब हो गए. एक बार फिर मैं यशवंत भाई व उन सभी मीडिया बंधुओं का आभार प्रकट करता हूँ जिन्होंने सच्चाई को समझा …

वर्दी में गुंडई (7) : दलाल वर्दीधारियों के चंगुल में फंसे बलिया के एक थाने की हकीकत देखें

बलिया के आरटीआई एक्टिविस्ट सिंहासन चौहान को छेड़छाड़ के फर्जी मामले में फंसाकर जेल भेजने के मामले में भीमपुरा थाने के पुलिस वालों ने एक नई कहानी गढ़ दी है. इस कहानी का पता तब चला जब लखनऊ की जानी-मानी आरटीआई एक्टिविस्ट उर्वशी शर्मा ने सिंहासन चौहान प्रकरण में एक आनलाइन जनसुनवाई अप्लीकेशन डालकर कुछ …

वर्दी में गुंडई (6) : रैकेटबाज थानेदार मेरी पत्नी को देखकर चिल्लाया- ‘इस भोसड़ी को बाहर निकालो!’ (सुनें टेप)

बलिया के भीमपुरा थाने की कार्यशैली व मेरी गिरफ्तारी (पार्ट-2) थाने के ऑफिस में मुझे बिठा दिया गया. वैसे तो पूरे थाने का स्टाफ मुझे जानता है और सब जानते हैं कि मैं ईमानदार आदमी हूँ. इसलिए कोई बदतमीजी से बात नहीं करता, और न ही किसी ने की. थोड़ी देर के बाद फिर SO …

वर्दी में गुंडई (5) : निर्दोषों को जेल भेजने वाले दल्ला थानेदार की खबर दूसरे दिन भी 4पीएम अखबार में छपी

Yashwant Singh : दल्ले थानेदार के खिलाफ 4पीएम अखबार में लगातार दूसरे दिन भी खबर हुई प्रकाशित. सुपारी लेकर पहले छेड़छाड़ का फर्जी मुकदमा लिखता है. बाद में छेड़छाड़ को रेप में तब्दील कर देता है.

वर्दी में गुंडई (4) : रैकेटबाज थानेदार सत्येंद्र राय की दल्लागिरी की कहानी, पीड़ित सिंहासन चौहान की जुबानी

बलिया के भीमपुरा थाने की कार्यशैली व मेरी गिरफ्तारी (पार्ट-1) मैं सिंहासन चौहान पुत्र भदन उर्फ बुद्धन चौहान. मैं एक सामाजिक कार्यकर्ता व RTI एक्टिविस्ट हूँ। मेरी वजह से कुछ भ्रष्टाचारियों व लुटेरों को परेशानी होती है. इसकी वजह से मुझे झूठे केस में फंसाया गया है. जबकि घटना के समय मैं गाँव में मौजूद …

वर्दी में गुंडई (3) : थानेदार सत्येंद्र राय को जेल भिजवाने के लिए एकजुट होना जरूरी : यशवंत सिंह

Yashwant Singh : दूरदराज के जिलों के थानेदारों को अक्सर ये गुमान हो जाता है कि वे खुदा से कम नहीं. यही कारण है कि वे बेखौफ होकर कुछ भी कर गुजरते हैं. बलिया के थानेदार सत्येंद्र राय ने भी यही किया. इस थानेदार से फोन करके आप लोग पूछते रहें (बलिया के भीमपुरा थाने …

वर्दी में गुंडई (2) : बलिया के मनबढ़ थानेदार सत्येंद्र राय की करतूत दैनिक जागरण और 4पीएम अखबारों में छपी, देखें

पावर मिलने के बाद कम लोग ही अपना दिल दिमाग नियंत्रित रख पाते हैं. ज्यादातर तो वर्दी पहनने के बाद ही खुद को तीसमार खां समझने लगते हैं. बलिया के एक ऐसे ही इंस्पेक्टर ने अपनी करतूत से पूरे यूपी पुलिस का सिर शर्म से झुका दिया है. सत्येंद्र राय नामक इस थानेदार ने भ्रष्टाचार …

वर्दी में गुंडई (1) : अपना पक्ष रखने थाने पहुंचे RTI एक्टिविस्ट को थानेदार ने जेल भेजा

Yashwant Singh : बलिया के भीमपुरा थाने के एसओ सत्येंद्र कुमार राय (मोबाइल 9454402992) ने सोशल एक्टिविस्ट और आरटीआई कार्यकर्ता सिंहासन चौहान (मोबाइल 9839932064) को फ़र्ज़ी मुकदमे में उस वक़्त गिरफ्तार कर जेल भेजा जब सिंहासन खुद थाने जाकर यह बता रहे थे कि जिस समय छेड़छाड़ किए जाने की बात कही गई है एफआईआर …