न्यूज चैनल पर ऑन एयर हुआ पोर्न वीडियो, अंजान बना रहा एंकर

ग्रीक टेलीविजन दर्शक उस वक्त आश्चर्यचकित रह गए, जब उन्हें एक स्थानीय चैनल पर न्यूज बुलेटिन के दौरान पोर्न वीडियो दिखाई दी। यह शर्मनाक घटना बीते मंगलवार रन टीवी प्रसारण के दौरान हुई। बुलेटिन के दौरान प्रस्तुतकर्ता जब देश की ताजा घटनाओं की जानकारी दे रहा था, उस दौरान न्यूज रीडर के पीछे लगी स्क्रीन पर पोर्न फिल्म चल रही थी।

सैयद अहमद मेहंदी बने लखनऊ हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार

लखनऊ। उच्च न्यायालय में अपनी ईमानदार छवि से पहचाने जाने वाले तेज तर्रार सैयद अहमद मेहंदी लखनऊ बेंच में रजिस्ट्रार नियुक्त किये गये हैं। श्री मेहंदी की नियुक्ति से उच्च न्यायालय के कर्मचारियों के साथ वकीलों में भी खुशी की लहर दौड़ गयी। मालूम हो कि फैजाबाद के निवासी सैयद अहमद मेहंदी ने साकेत डिग्री कालेज के साथ शिया डिग्री कालेज लखनऊ से एलएलबी किया था। आईएस मेन भी क्वालीफाइ कर चुके थे।

दूसरे माध्‍यम से आजीविका कमाकर ही हो सकती है निष्‍पक्ष पत्रकारिता : अनिल यादव

मुगलसराय : पत्रकारिता दिवस पर ग्रामीण पत्रकार एसोसियेशन, मुग़लसराय इकाई द्वारा ''पत्रकारिता व पत्रकारों का विकास'' विषयक संगोष्ठी का आयोजन नगर के एक लान में आयोजित की गयी। जिसमें मुख्य वक्ता ग्रापए के पूर्व जिलाध्यक्ष डा. अनिल यादव, जिलाध्यक्ष तारकेश्वर सिंह व उपजा के जिलाध्यक्ष विनय वर्मा रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता नगर अध्यक्ष संजय अग्रवाल व संचालन जिला महामंत्री कमलेश तिवारी ने किया।

टीवी ने भले ही खबरों की पहल छीन ली हो लेकिन नेटवर्क में अखबार आज भी आगे हैं : शंभूनाथ

बिजनौर : उत्तर प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार यूनियन ने पत्रकारिता दिवस पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया. बिजनौर के ऐजाज अली हाल में आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता नरेन्द्र मारवाड़ी व संचालन संयुक्त रूप से वसीम अख्तर, ज्योति लाल शर्मा ने किया. इस मौके पर वरिष्ठ पत्रकारों को सम्मानित व युवा पत्रकारों को पुरस्कृत किया गया. कर्यक्रम के मुख्य अतिथि जाने माने पत्रकार शम्भूनाथ शुक्ल रहे. जिलाधिकारी अजय दीप सिंह बतौर अतिथि शामिल हुए.

पत्रकारों की भीड़ में अब आसिम दा जैसे लोग नहीं होते!

Shambhunath Shukla : 1983 में मैं दिल्ली आया जनसत्ता में उप संपादक बनकर। तब मुझे यहां प्रभाष जी ने संपादकीय पेज पर रखा। इसकी रिपोर्टिंग सीधे उन्हीं के पास थी। आईटीओ स्थित एक्सप्रेस बिल्डिंग में घुसते ही रिशेप्शन के बगल से एक गलियारा था जिसके बाएं किनारे पर हाल बने थे, जिसमें डेस्क व रिपोर्टिंग थी तथा दायीं तरफ केबिन बने थे। दायीं तरफ दो बड़े केबिन थे जिनकी खिड़कियां सड़क की तरफ खुलती थीं।

अमित को फंसाए जाने के विरोध में अनशन पर बैठे झांसी के पत्रकार

: ना‍बालिग लड़कियों के दुपट्टा खींचने के आरोपी दारोगा को निलंबित करने की मांग : झाँसी में इलेक्ट्रानिक मीडिया के पत्रकार को फर्जी मामले में जेल भेजे जाने के विरोध में पत्रकार अनिश्चित कालीन अनशन पर बैठ गए हैं। जनपद के पत्रकार इलाईट चौहराहे पर अनशन पर बैठ हुए हैं.

डायबेटिक अखबारनवीसों का आंकड़ा लगातार बढ़ता ही जा रहा

Ghanshyam Srivastava : सन् २००० में जब मैंने हिन्दुस्तान अखबार, रांची में ज्वायन किया था, तब हमें कंपनी की ओर से वर्किंग आवर में तीन बार चाय मिलती थी। कैंटीन वाला थाली में चाय की कप सजा कर लाता था। उनमें पांच फीसदी फीकी चाय, बाकी मीठी चाय होती थी। २०११ आते-आते यह अनुपात ६०-४० का हो गया। मतलब १०० प्याली में से साठ मीठी, चालीस फीकी। मैंने देखा किस तेजी से डायबेटिक अखबारनवीसों का आंकड़ा लगातार बढ़ता ही गया। आदमी उतने ही लेकिन फीकी प्यालियों की संख्या बढ़ती गयी।

रायपुर का अखबारी हाल देखकर लगा जैसे मौत के नाच में भी बिरादरान बाजार का खयाल रखते हों

Om Thanvi : नक्सली / माओवादी हमले को लेकर रायपुर में स्थानीय स्तर पर जो रिपोर्टिंग हुई, उसमें बहुत-सी पतंगबाजी से आगे कुछ नहीं थी। कहीं कोई स्रोत नहीं। फिर भी जानकारी इस तरह, जैसे गोलीबारी के वक्त रिपोर्टर किसी पेड़ पर बैठा घटनास्थल को निहार रहा था। एक खबर का अंश देखिए — "गोलीबारी में घायल हो गए विद्याचरण शुक्ल को लेकर नक्सलियों को अपने कमांडर से डांट भी खानी पड़ गई।" इसी तरह और भी कई बातें, जिनका कहीं कोई स्रोत नहीं मिलेगा।

जो खुद को मार्क्सवादी कहलाने को बेताब हैं वे ‘तख़्त’ पर और जो इनसे इनकार कर रहे हैं उनके लिए ‘तख्ता’

Virendra Yadav : ये मार्क्सवाद भी क्या अजीब शै है! अब देखिये कि मनसे (शिवसेना का नया अवतार) का एक कारकून कहता है कि मैं मार्क्सवादी हूँ क्योंकि कवितायेँ लिखता हूँ… डीपीटी (एनसीपी) कहते हैं कि मैं तो प्रचंड के सम्मान में भोज ही देता हूँ तो तो मार्क्सवादी हूँ ही. अशोक वाजपेयी प्रचंड को गुलदस्ता भेंट करते हैं इसलिए वे तो हुए ही. सलवाजुडूम कीर्ति के विश्वरंजन मार्क्सवादी न होते तो फैज़ पर आयोजन ही क्यों करवाते!

बलरामपुर प्रेस क्‍लब की प्रथम स्‍मारिका विमोचित

बलरामपुर। हिन्दी पत्रकारिता दिवस के अवसर पर गुरूवार को यूपी प्रेस क्लब बलरामपुर की ओर से वर्तमान परिदृश्य में मीडिया की भूमिका विषय पर एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस दौरान क्लब की ओर से प्रकाशित प्रथम स्मारिका का विमोचन भी हुआ। स्थानीय तहसील सभागार में आयोजित गोष्ठी का सुभारम्भ मुख्य अतिथि सीडीओ राकेश मिश्र, विशिष्ट अतिथि सीओ सिटी श्रीश्चन्द्र व प्रख्यात समाजसेवी आजाद सिंह एवं कार्यक्रम अध्यक्ष एमएलके महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ0 ओपी मिश्र नें माँ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण करके किया।

बांझ अदालतें

मैं 2004 से एक बुजुर्ग महिला का मुकदमा लड़ रहा हूँ। उनके पति ने अपने पुश्तैनी मकान में रहते हुए एक और मकान बनाया था। उसे एक फर्म को किराए पर दे दिया। फिर फर्म के एक पार्टनर के भतीजे ने उसी नाम से एक फर्म और रजिस्टर करवा ली। मूल फर्म तो शहर से कारोबार समेट कर चल दी और भतीजा उस मकान में पुरानी फर्म का साइन बोर्ड लगा कर नई फर्म का कारोबार करता रहा।

नभाटा ने इवेंट का विरोध किया और टाइम्‍स ऑफ इंडिया ने तवज्‍जो दी

: टाइम्स समूह के प्रकाशनों की विपरीत राय का एक और उदाहरण : भड़ास पर “क्‍या टाइम्‍स समूह में सचमुच ऐसा ही होता है” पढ़कर धर्मयुग से प्रभात खबर, नवभारत टाइम्स, पटना, ब्रिटिश उच्चायोग, नई दिल्ली, नवभारत टाइम्स, जयपुर (स्थानीय संपादक) होते हुए दैनिक हिन्दुस्तान, पटना से रिटायर होकर रांची में रह रहे विजय भास्कर की पुस्तक की याद आई। “बिहार में पत्रकारिता का इतिहास” नामक उनकी पुस्तक प्रभात प्रकाशन से इसी साल आई है। इसमें बिहार के साथ-साथ झारखंड की पत्रकारिता के इतिहास का अच्छा वर्णन है।

जब अन्याय और अत्याचार चरम पर पहुंचता है तो नक्सलवाद जन्मता है!

छत्तीसगढ में नक्सलियों के हमले में अनेक निर्दोष लोगों सहित वरिष्ठ कॉंग्रेसी नेताओं के मारे जाने के बाद देशभर में एक बार फिर से नक्सलवाद को लेकर गरमागर्म चर्चा जारी है। यह अलग बात है कि नक्सलवादियों द्वारा पिछले कई वर्षों से लगातार निर्दोष लोगों की हत्याएँ की जाती रही हैं, लेकिन इस बारे में छोटी-मोटी खबर छपकर रह जाती हैं। हाल ही में छत्तीसगढ में नक्सलियों द्वारा किये गये कत्लेआम से सारे देश में दहशत का माहौल है, जिस पर समाचार-पत्रों, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया और सोशियल मीडिया में अनेक दृष्टिकोणों से चर्चा-परिचर्चा और बहस-मुबाहिसे लगातार जारी हैं। कोई नक्सलियों को उड़ा देने की बात कर रहा है तो कोई नक्सलवाद के लिये सरकार की कुनीतियों को जिम्मेदार बतला रहा है।

पत्रकारिता दिवस पर सम्‍मानित किए गए वयोवृद्ध पत्रकार गिरिजा शंकर शुक्‍ल

बाराबंकी। हिन्दी पत्रकारिता दिवस पर गुरुवार को जिले के वयोवृद्ध पत्रकार गिरिजा शंकर शुक्ल को पत्रकारों द्वारा सम्मानित किया गया और इस सम्मान के दौरान श्री शुक्ल ने जिले की पत्रकारिता से जुड़े संस्मरणों से पत्रकारों को रूबरू कराया।

राजीव शुक्ला की ‘मैनेजरी’ गड़बड़ाई, मंत्री पद छिनेगा!

राजीव शुक्ला से कांग्रेस आलाकमान आईपीएल विवाद के चलते नाराज़ है जिसकी वजह से उन्हें संसदीय कार्य राज्यमंत्री के पद से हटाया जा सकता है. अंग्रेजी अखबार टेलीग्राफ के हवाले से खबर है कि स्पॉट फिक्सिंग के मामले को लेकर राहुल गांधी और सोनिया गांधी राजीव शुक्ला से नाराज़ हैं. वहीं दूसरी और राजीव शुक्ला ने सफाई देते हुए कहा कि इंडियन प्रीमियर लीग में स्पॉट फिक्सिंग और अन्य विवादों के चलते वह दोबारा इस पद को स्वीकार नहीं करेंगे.

श्रीनिवासन होंगे सरकारी कोप के शिकार, राजीव शुक्ला की दिक्कतें बढ़ने लगी

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के प्रमुख एन. श्रीनिवासन अब किसी वक्त केंद्र सरकार के कुछ ‘बड़ों’ की नाराजगी का शिकार बन सकते हैं। आईपीएल मैचों में स्पॉट फिक्सिंग के मुद्दे पर विवाद बढ़ गया है। फिक्सिंग के चक्कर में श्रीनिवासन के दामाद गुरुनाथ मयप्पन्न शिकंजे में पहले ही आ गए हैं। गिरफ्तारी के बाद वे इन दिनों पुलिस रिमांड में हैं।

कम से कम आप तो वादा कर लें कि आज से तंबाकू का सेवन नहीं

दोस्तों, आज विश्व तम्बाकू निषेध दिवस है. हम इस तथ्य  के प्रत्यक्ष साक्षी है कि तम्बाकू हमारे स्वाथ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डालती है. हमारे घर-परिवारों में जो भाई-बहिन या बुजुर्ग इस बुरी  लत के लती हैं वे या तो गंभीर बीमारियों से ग्रस्त हो चुके हैं या फिर उनके आने वाले कल के लिए रोग उन्हें दस्तक दे रहे हैं. ये लत ऐसी है कि जिसे लग जाती है उसका पीछा फिर शरीर के साथ ही छूट पाता है. इस के इस्तेमाल से कैंसर, दांतों के रोग, मानसिक रोग अदि घातक रोग होना लाज़मी है. जो लोग तम्बाकू खाते हैं उनका या तो मुंह कम खुल पाता है या गालों के भीतरी सतह पर सफ़ेद दाग पड़ना और बीडी-सिगरेट के प्रयोग से फेफड़ों का कम काम कर पाना जैसी बीमारियों का सामना करना पड़ता है. डाक्टरों द्वारा कहा तो यहां तक जाता है कि कैंसर के चालीस प्रतिशत रोगी तम्बाकू के कारण होते हैं.

जनसंदेश टाइम्‍स, संतकबीर नगर के ब्‍यूरो प्रभारी बने राजकुमार तिवारी

: कौशलेंद्र को नहीं मिला पांच माह का वेतन : जयप्रकाश लंबी छुट्टी पर गए : जनसंदेश टाइम्स, गोरखपुर यूनिट के संतकबीरनगर जिले में हर माह ब्‍यूरो प्रभारी बदलने का खेल चल रहा है। अप्रैल माह में गोरखपुर यूनिट में कार्यरत मुकेश पाण्डेय को यहां का ब्‍यूरो प्रभारी बनाया गया था। लेकिन कार्यालय में बिजली और इंटरनेट की व्यवस्था नहीं थी। जिसको ठीक करने के लिए वह प्रबंधन पर बराबर दबाव बना रहे थे, लेकिन व्यवस्था में कोई सुधार नहीं हुआ। वहीं लगातार विज्ञापन का दबाव दिया जा रहा था। इससे खिन्न होकर उन्होंने अखबार से ही इस्तीफा दे दिया।

अजीत सिंह का जन जन जागरण से इस्‍तीफा, हिंदुस्‍तान में सफी आजमी का तबादला

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भापोल से प्रकाशित होने वाले समाचार पत्र जन जन जागरण में शुरुआत से काम कर रहे वरिष्ठ पत्रकार अजीत सिंह ने जन जन जागरण को अलविदा कह दिया है। अजीत सिंह की गिनती प्रदेश के वरिष्ठ और योग्य पत्रकारों में की जाती है। इसके पहले वे दैनिक भाष्कर, दैनिक जागरण और पत्रिका तथा पीपुल्स समाचार, प्रभात खबर में भी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी निभा चुके हैं।

बिहार में हम पत्रकारों के मेन एडिटर तो आप ही हैं ना!

हिंदुस्‍तान से जुड़े कार्टूनिस्‍ट पवन हजारों-लाखों लोगों के फेवरेट हैं, लिहाजा उन्‍हें सिर्फ अपना फेवरेट बताना नाइंसाफी होगी. पवन अक्‍सर अपने कार्टूनों के सहारे इतनी बड़ी बातें कह जाते हैं, जिनको कहने की हिम्‍मत कलम से लिखने वाले सिपाहियों में नहीं होती है. बिहार में लंबे अरसे से सीएम नीतीश कुमार की भूमिका पर उंगली उठती रही है कि वे तमाम बड़े अखबारों को सरकार विज्ञापनों के जरिए नियंत्रित करते रहे हैं.

सुब्रत रॉय के विरोध के बाद भी श्रीनिवासन ने अपनाया अडि़यल रवैया

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के विवादित अध्यक्ष एन. श्रीनिवासन अब खुलकर अड़ियल रवैया अपना रहे हैं। तमाम दबावों के बावजूद वे अपनी कुर्सी थामकर बैठे हुए हैं। अब यह संदेह बढ़ चला है कि क्रिकेट में स्पॉट फिक्सिंग का मायाजाल आईपीएल के कुछ मैचों तक ही सीमित नहीं रहा। इस गंदे खेल की जड़ें बहुत गहरी लगती हैं। स्पॉट फिक्सिंग के मामले में चेन्नई सुपर किंग्स के मालिक गुरुनाथ मयप्पन्न पूरी तौर पर शक के घेरे में आ चुके हैं।

गिरते सर्कुलेशन से परेशान जागरण को वेंडिंग मशीनों का सहारा

जागरण प्रबंधन अपने समूह के प्रकाशनों की लगतार घटती संख्‍या से बुरी तरह परेशान है. पिछले आईआरएस सर्वे में जागरण समूह के दो अखबारों के तीन लाख के आसपास पाठक कम हो गए थे. यह समूह लगातार अपने पाठकों को खोता जा रहा है. इस स्थिति से निपटने के लिए जागरण प्रबंधन वैकल्पिक उपायों के जरिए अखबार का सर्कुलेशन बढ़ाने की कवायद कर रहा है. लंबे अरसे से जागरण समूह अपने हॉकरों का कमीशन भी सीमित कर रखा है, जिसके चलते भी उसके अखबार रद्दी बनते रहते हैं.

तारकेश्‍वर सिंह बने ग्रापए जिलाध्‍यक्ष, कमलेश तिवारी महामंत्री

चंदौली : ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के चंदौली जिला इकाई का चुनाव 25 मई को बबुरी स्थित अशोक इंटर कालेज के प्रांगण में हुई, जिसमें ग्रापए के जिला पदाधिकारियों का चयन किया गया. चुनाव मुख्य अतिथि ग्रापए के प्रदेश संगठन मंत्री महेन्द्र प्रताप सिंह की देखरेख में संपन्न हुआ. एसोसिएशन के सदस्यों ने सर्वसहमति से तारकेश्वर सिंह को जिलाध्यक्ष व कमलेश तिवारी को जिला महामंत्री मनोनीत किया गया. 

हिंदुस्‍तान टाइम्‍स से जीएम निरंजन प्रकाश का इस्‍तीफा, टाटा सर्विसेज से जुड़े

हिंदुस्‍तान टाइम्‍स, दिल्‍ली से खबर है कि निरंजन प्रकाश ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर स्‍ट्रैटेजिक मार्केटिंग में जीएम के पद पर कार्यरत थे. निरंजन पांच सालों से एचटी के साथ जुड़े हुए थे. उन्‍होंने अपनी नई पारी टाटा सर्विसेज में रिसर्च कंसल्टिंग में प्रैक्टिस कंसल्‍टेंट के पद पर ज्‍वाइन किया है. वे टाटा मैनेजमेंट ट्रेनिंग सेंटर, पुणे में अपनी जिम्‍मेदारी संभालेंगे.

गौरांग महाप्रभुओं के विरोध में एक संपादकीय लिखकर अखबार और संपादक दोनों महान हो जाते थे

हिंदी पत्रकारिता दिवस की आज फेसबुक पर चर्चा जोरों पर है। जुगल किशोर जी को याद किया जा रहा है। गांधी जी को महान पत्रकार बताया गया। तकनीकी विकास पर गर्व व्यक्त किया गया और मिशन बनाए रखने की अपील हुई। इन तमाम तथ्यों से स्वयं को संबद्ध करते हुए कहना चाहता हूं कि तब के दौर में पत्रकारिता सिर्फ गौरांग महाप्रभुओं के विरोध पर टिकी थी। उनके विरोध में एक संपादकीय लिखकर अखबार और संपादक दोनों महान हो जाया करते थे।

साकेत राजन ने विद्याचरण शुक्‍ल के हाथों पत्रकारिता की डिग्री लेने से इनकार कर दिया था

क्‍या आपने साकेत राजन का नाम सुना है? आज पत्रकारिता दिवस पर उन्‍हें याद करना बहुत मौजूं है। साकेत राजन उर्फ कॉमरेड प्रेम- जिन्‍होंने अस्‍सी के दशक में IIMC से पत्रकारिता की पढ़ाई की और दीक्षांत समारोह में इमरजेंसी के लिए कुख्‍यात उन्‍हीं विद्याचरण शुक्‍ल के हाथों डिग्री लेने से इनकार कर दिया जो आज मेदांता अस्‍पताल में मौत से जूझ रहे हैं.

जागरण, महाराजगंज से महेंद्र का तबादला, विश्‍व दीपक को प्रभार

दैनिक जागरण, महाराजगंज से खबर है कि महेंद्र त्रिपाठी का तबादला गोरखपुर के लिए कर दिया गया है. वे यहां पर जिला प्रभारी के रूप में कार्यरत थे. बताया जा रहा है कि प्रबंधन को इनके खिलाफ कई शिकायतें मिली थीं, जिसके बाद प्रबंधन ने महेंद्र को गोरखपुर बुला लिया. इनकी जगह फिलहाल किसी को नियुक्‍त नहीं किया गया है. फरेंदा तहसील के प्रभारी विश्‍व दीपक मिश्रा को फिलहाल जिम्‍मेदारी सौंपनी की बात आ रही है.

फिर टूटेगा चकराता रोड, एमडीडीए व सरकार पर भी उठे सवाल

 देहरादून : एक लम्बे अर्से से चकराता रोड़ प्रयोग का प्रतीक बनी हुई है। पिछले वर्ष भाजपा सरकार के कार्यकाल में चकराता रोड़ का ‘बोटलनेक’ खोला गया। इससे आम जनता को निश्चित रूप से राहत मिली है पर शासन प्रशासन का जो रवैया रहा है उससे व्यापारी अब तक नहीं उबर पाये हैं। जिन व्यापारियों को एमडीडीए कम्पलैक घंटाघर में दुकानें मिली भी हैं, वह अब तक अपना कारोबार वहां नहीं शुरू कर पाये हैं। इससे पहले उनके कारोबार पर गाज गिरी थी और अब तक उनका कारोबार पुराने स्तर पर नहीं पहुंच पाया है।

जनसंदेश न्यूज चैनल का शटर गिरा!

चर्चा है कि जनसंदेश न्यूज चैनल का शटर गिर चुका है. सौ से ज्यादा लोगों की छंटनी हो चुकी है. इस चैनल में बस इसके हेड सैयदेन जैदी और दो-चार अन्य मीडियाकर्मी बचे हैं, और ये भी नौकरी ढूंढने में लगे हुए हैं. बताया जा रहा है कि चैनल को फिर से लाने की बात कही जा रही है, पर यह सब आश्वासन के सिवा कुछ भी नहीं. जनसंदेश न्यूज चैनल का बीच में नाम बदल दिया गया था. फिर भी चैनल नहीं चढ़ा क्योंकि काम पहले जैसा ही होता रहा.

दैनिक जागरण, पटियाला के संपादक ने बोला जातिसूचक शब्‍द, बजरंग दल ने घेरा कार्यालय

सादर नमस्ते जी, आज 28 May 2013 पटियाला पंजाब में दैनिक जागरण, पटियाला के इंचार्ज निश्चल भटनागर का बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने जुलूस निकाल दिया. असल में निश्चल भटनागर जबसे पटियाला में आये हैं तबसे अपनी बदतमीजी की वजह से पटियाला शहर में काफी नाम कमा चुके हैं.

‘आनंदलोक’ और ‘रोबबार’ का संपादक घोड़े बेचकर सो गया, अब उन्‍हें कोई आवाज न दे!

महज उनचास साल की आयु में हाल के वर्षों में बंगाल के सबसे सक्रिय और सबसे चर्चित फिल्मकार ऋतुपर्णों घोष गहरी नींद में चले गये। मृत्यु के बाद उनके मुखमंडल में इतनी शांति है जैसे इतनी ज्यादा कर्मव्यस्तता के बाद वे घोड़े बेचकर सो रहे हों और किसी की जुर्रत नहीं है कि उनको पुकारे भी। अब जब तक यह लेख प्रकाशित होगा, उनकी अंत्येष्टि हो चुकी होगी। अभी बंगाल या भारत के दिग्गज फिल्मकारों से ऋतुपर्णों की तुलना करने का शायद वक्त नहीं है, लेकिन कुछ लोग उन्हें ऋत्विक घटक के उत्तराधिकारी भी बताने लगे हैं।

अरुणा राय ने छोड़ा राष्ट्रीय सलाहकार परिषद

नई दिल्ली. सामाजिक कार्यकर्ता अरुणा रॉय ने राष्ट्रीय सलाहकार परिषद (एनएसी) से इस्तीफा दे दिया है. राय महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा) के तहत न्यूनतम मजदूरी के बारे में परिषद की सलाह न माने जाने से नाराज़ थीं इसीलिए उन्होंने अपना कार्यकाल नहीं बढ़ाने का निर्णय लिया है.

इंडिया टुडे में असिस्‍टेंट एडिटर बने सौरभ द्विवेदी

दैनिक भास्‍कर, लुधियाना से इस्‍तीफा देने वाले सौरभ द्विवेदी अपनी नई पारी की शुरुआत इंडिया टुडे समूह से की है. उन्‍होंने इंडिया टुडे पत्रिका में असिस्‍टेंट एडिटर के पद पर ज्‍वाइन किया है. उन्‍होंने 27 मई से अपनी जिम्‍मेदारी संभाल ली है. आईआईएमसी टॉपर सौरभ ने अपने पत्रकारीय करियर की शुरुआत ट्रेनी के रूप में स्‍टार न्‍यूज से की थी. इसके बाद वे लाइव इंडिया के लिए भी रिपोर्टिंग किया. लाइव इंडिया से इस्‍तीफा देने के बाद वे नवभारत टाइम्‍स से जुड़ गए.

दक्षिण मुंबई और दबंग दुनिया ने दिया हमारा महानगर को झटका

मुंबई में लंबे समय से प्रकाशित हो रहे हमारा महानगर की स्थिति खराब हो गई है. इसी महीने शुरू हुए अखबार दक्षिण मुंबई और जल्‍द लांच होने जा रहे दबंग दुनिया ने हमारा महानगर को जोरदार झटका दिया है. हमारा महानगर से कार्यकारी संपादक सुधांशु झा समेत दो लोग दक्षिण मुंबई से जुड़ गए हैं. अभी अखबार इस झटके से उबरा ही नहीं था कि लगभग 8 अन्‍य कर्मचारी दबंग दुनिया और दक्षिण मुंबई से जुड़ने जा रहे हैं. 

शगुन से एक्‍जीक्‍यूटिव प्रोड्यूसर अवतंस चित्रांश का इस्‍तीफा

देश के पहले मेट्रीमोनियल चैनल शगुन से खबर आ रही है कि अवतंस चित्रांश ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर एक्‍जीक्‍यूटिव प्रोड्यूसर के पद पर कार्यरत थे. अवतंस इसके पहले खबर भारती के साथ आउटपुट हेड के रूप में कार्यरत थे और वहीं से इस्‍तीफा देकर सगुन पहुंचे थे. इनके इस्‍तीफा देने के कारणों का पता नहीं चल पाया है.

ईटीवी पर ऐसी ऐसी ब्रेकिंग चलाते हैं कि हंसी आने लगती है…

Harsh Vardhan Pande : मूर्धन्य पत्रकार जगदीश चन्द्रा की जन सरोकारी पत्रकारिता पर मैं फिदा हूँ। ब्रेकिंग चलाने का अगर उनको उस्ताद कहा जाए तो कोई अतिश्योक्ति नहीं …. ईटीवी पर ऐसी ऐसी ब्रेकिंग चलाते हैं कि हंसी आने लगती है… पिछले दिनों उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी की उजबेकिस्तान यात्रा के दौरान जगदीश चंद्रा ने पूछा सवाल- आपकी उजबेक यात्रा का मकसद क्या है? तो मुस्कुराने लगे हामिद अंसारी …

सरकारें बिलकुल नहीं चाहतीं कि लोग पढ़ें

Dayanand Pandey : बीते 19 मई को दिल्ली में अखिल भारतीय हिंदी प्रकाशक संघ के वार्षिक सम्मेलन में बतौर मुख्य अतिथि जाना हुआ। इस सम्मेलन में मैं ने लेखक-पाठक-प्रकाशक संबंध ख्त्म होते जाने की चिंता जताई और कहा कि अगर सवा अरब के देश में कोई प्रकाशक हिंदी में कुछ सौ या हज़ार किताबें छापता है तो यह सिर्फ़ और सिर्फ़ शर्म का विषय है। चेतन भगत अगर सालाना सात करोड़ रुपए की रायल्टी अंगरेजी में लिख कर ले लेते हैं और एक हिंदी का प्रकाशक इतने का सालाना व्यवसाय भी नहीं कर पाता तो यह बड़ी चिंता का विषय है।

बनारस के मूर्धन्‍य पत्रकार मनोहर खाडिलकर का निधन

वाराणसी : मूर्धन्य पत्रकार और काशी पत्रकार संघ के मानद सदस्य मनोहर खाडिलकर का आज सुबह मुंबई में निधन हो गया। सूत्रों ने बताया कि 75 वर्षीय खाडिलकर पिछले कुछ दिनों से फेंफड़े में संक्रमण से पीड़ित थे। उनके परिवार में पत्नी, एक पुत्र व दो पुत्रियां हैं।

ख़बर है कि शुक्ला जी के फिरे दिन वापस फिर गए हैं

Mayank Saxena : ख़बर है कि शुक्ला जी के फिरे दिन वापस फिर गए हैं…और वो वहीं लौट सकते हैं जहां दिन फिरने से पहले थे…हालांकि शुक्ला जी का फिरने का इतिहास रहा है…कभी उनके दिन फिरे थे तो वो बड़े पत्रकार हो गए थे…उसके बाद दिन फिरे तो शादी करवा दी गई…दिन और फिर गए तो सांसद बने…लेकिन जब जब दिन वापस फिरे से शुक्ला जी मुसीबत में आते रहे…लेकिन बॉलीवुड और क्रिकेट के सबसे काले राज़ जानने के बावजूद किसी स्कैंडल में बड़े बड़े उन पर आंच नहीं ला पाए…

न्‍यू मीडिया के दौर में भी प्रिंट मीडिया की स्वीकार्यता बढ़ी : अरविंद सिंह

जौनपुर: राज्य सभा चैनल के नेशनल ब्यूरो चीफ अरविंद कुमार सिंह ने कहा कि हमेशा से समाज को दिशा देती चली आ रही प्रिंट मीडिया की स्वीकार्यता संचार युग में भी बढ़ी है। हालांकि समाज के अन्य क्षेत्रों की तरह इस क्षेत्र में भी गिरावट आई है। यह कहने में मुझे कोई गुरेज नहीं है। इसे रोकने के लिए वरिष्ठ पत्रकारों को आगे आना होगा। वे नई पौध को व्यावहारिक प्रशिक्षण देकर उन्हें कुशल पत्रकार बना सकते हैं। वे गुरुवार को कलेक्ट्रेट स्थित संघ भवन में जौनपुर पत्रकार संघ द्वारा हिंदी पत्रकारिता दिवस पर आयोजित संगोष्ठी में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे।

एसपी ने पत्रकारों के कैमरे जब्‍त किए, जेल में बंद करने की धमकी दी

जगदलपुर : दरभा में नक्सल हमले की जांच के लिये पहुंची एनआईए की टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंचे पत्रकारों और फोटोग्राफरों के कैमरे पुलिस ने जप्त कर लिये. जिले के एसपी अभिषेक शांडिल्य ने पत्रकारों को जेल में बंद करने की भी धमकी दी. इधर एनआईए की टीम सबूतों के नष्ट हो जाने की आशंका से परेशान है.

क्‍या निशीथ जोशी पर रुद्रेश के ये आरोप सही हैं या साजिश?

अमर उजाला, नोएडा में जूनियर सब एडिटर के पद पर कार्यरत रुद्रेश सिंह ने बनारस के पूर्व संपादक निशीथ जोशी पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं. रुद्रेश ने यह आरोप अपना तबादला वाराणसी से नोएडा होने तथा ज्‍वाइन करके वापस बनारस आने के बाद लगाए हैं. अब ये आरोप कितने सही हैं और कितने गलत हैं यह तो जांच का विषय है, लेकिन सवाल यह भी उठ रहा है कि कहीं यह निशीथ जोशी के खिलाफ कोई साजिश तो नहीं है. सवाल दोनों तरफ से खुले हुए हैं कि इस मामले में सही कौन है और गलत कौन है? आप भी पढि़ए रुद्रेश का पत्र… 

क्‍या एक दिन के अवकाश से बदल जाएगा पुलिस का व्‍यवहार?

क्‍या एक दिन की साप्‍ताहिक अवकाश और कार्यशाला पुलिस की कार्यप्रणाली में सुधार ला सकती है. आजकल इसी बात को लेकर लखनऊ में खासा चर्चा है. लखनऊ में पुलिसकर्मियों के व्‍यवहार तथा कार्यप्रणाली में सुधार लाने के लिए यह प्रयोग होने जा रहा है ताकि साल के सभी दिन काम करने वाले पुलिसकर्मियों को तनाव से मुक्ति मिल सके. और वे बेहतर काम करने के साथ बेहतर व्‍यवहार भी करें. इसकी शुरुआत लखनऊ के गोमतीनगर थाने से होगी.

अपनी ही नातिन को गर्भवती कर हत्‍या करने वाले ‘भैया राजा’ को उम्र कैद

भोपाल। पिछले साढ़े 4 साल से सुर्खियों में रहे वसुंधरा हत्याकांड में आरोपी पूर्व विधायक और मध्यप्रदेश के बाहुबली नेताओं में शुमार अशोक वीर विक्रम सिंह उर्फ भैया राजा को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। इस मामले में तीन अन्य आरोपियों पंकज शुक्ला, भैया राजा के नौकर अभिमन्यु और ड्राइवर हल्के उर्फ भूपेंद्र को भी उम्र कैद की सजा सुनाई गई है। कोर्ट ने भैया राजा की भतीजी रमती बाई और नेहा को बाल संरक्षण गृह भेजने के आदेश दिए हैं।

आजतक टॉप पर, इंडिया टीवी की दुर्गति जारी

21वें सप्‍ताह की टीआरपी आ गई है. आजतक फिर से नम्‍बर एक पर काबिज है. 18वें सप्‍ताह में आजतक दूसरे नम्‍बर पर चला गया था, लेकिन उसके बाद मजबूती से वापसी करते हुए इस चैनल ने दुनिया डूबाने वाले इंडिया टीवी को डूबाकर तीसरे नम्‍बर पर कर दिया था. इंडिया टीवी इस झटके से अब तक उबर नहीं पाया है. वो एबीपी न्‍यूज से पिछड़कर तीसरे स्‍थान पर बना हुआ है. पिछले सप्‍ताह भी इंडिया टीवी तीसरे नम्‍बर पर था. भूत-प्रेत, स्‍वर्ग-सीढ़ी भी इस चैनल के काम नहीं आ रहे हैं. सबसे दिलचस्‍प तथ्‍य यह है कि जब जब टैम के आंकड़ों पर सवाल उठते हैं इंडिया टीवी की टीआरपी गिर जाती है.

राजुल माहेश्‍वरी से रुद्रेश ने कहा – न्‍याय नहीं मिला तो कर लूंगा आत्‍महत्‍या!

ऐसा लग रहा है कि अमर उजाला को भी दैनिक जागरण वाली बीमारी लगती जा रही है. जागरण में परिपाटी रही है कि अगर आपने अपने किसी सीनियर की गलतियों के खिलाफ आवाज उठाई तो बिना कोई सुनवाई हुए आपको बाहर का रास्‍ता दिखा दिया जाता है. शायद इसके पीछे कारण यह माना जाता है कि जागरण में कार्ड रुपी दाग देकर पत्रकारों को सांड़ की तरह छोड़ दिया जाता है कि जमकर चरो और खाओ और हमको भी खिलाओ, जो भी इन सांड़ों की खिलाफत या शिकायत करता है, जागरण के काजी शिकायतकर्ता को ही बलि का बकरा बना डालते हैं.

नक्सल समस्या : आधे-अधूरे संकल्प का दुष्चक्र

बस्तर (छत्तीसगढ़) की जीरम घाटी में हुए भयानक नक्सली हमले के बाद एक बार फिर हुंकार भरी जा रही है कि अब हिंसक नक्सलियों का सफाया कर दिया जाएगा। केंद्र सरकार से लेकर राज्य सरकार के आला हुक्मरान तरह-तरह के लोक लुभावन संकल्प जताते दिखाई पड़ रहे हैं। केंद्रीय सुरक्षा बलों ने बस्तर में हमलावरों की तलाश में एक सघन ‘सर्च आपरेशन’ भी शुरू कर दिया है। प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह एक बार फिर भरोसा दे रहे हैं कि अब सरकार नक्सल समस्या के निपटारे के लिए नए सिरे से निर्णायक पहल शुरू करेगी। ताकि, आदिवासी बाहुल्य इलाकों में भी विकास की रोशनी जमकर फैल सके।

स्‍टार प्‍लस नम्‍बर वन, 12 सप्‍ताह बाद कलर्स पहुंचा दूसरे नम्‍बर पर

12 सप्‍ताह के लंबे अंतराल के बाद कलर्स टीवी ने दो पोजिशन पर वापसी की है. वो जी टीवी के साथ संयुक्‍त रूप से दूसरे स्‍थान पर बना हुआ है. जनरल इंटरटनेमेंट चैनलों की कटेगरी में स्‍टार प्‍लस 21वें सप्‍ताह भी नम्‍बर वन बना हुआ है. आईपीएल के ऑफिसियल ब्राडकास्‍टर सोनी मैक्‍स और सोनी सिक्‍स को इस सप्‍ताह नुकसान हुआ है. टैम रेटिंग के अनुसार सीएस 4प्‍लस में स्‍टार प्‍लस दूसरे नम्‍बर पर मौजूद चैनलों से बड़ी बढ़त ले ली है.

यूपी में ईटीवी, जी न्‍यूज एवं समाचार प्‍लस के बीच कड़ा मुकाबला

यूपी के रीजनल चैनलों की 21वें सप्‍ताह की टीआरपी आ गई है. यूपी में तीन चैनलों के बीच जमकर प्रतिस्‍पर्धा हो रही है. पिछले सप्‍ताह नम्‍बर एक पर रहा जी न्‍यूज यूपी-उत्‍तराखंड अब दूसरे नम्‍बर पर पहुंच गया है. वहीं ईटीवी ने एक बार फिर पहले स्‍थान पर कब्‍जा कर लिया है. 18वें सप्‍ताह में दूसरे नम्‍बर रहा समाचार प्‍लस आंशिक नुकसान के साथ तीसरे स्‍थान पर आ गया है. ईटीवी, जी न्‍यूज और समाचार प्‍लस के बीच पिछले कुछ सप्‍ताह में जोरदार मुकाबला चल रहा है.

हिंदुस्‍तान में भी बंटने लगा इंक्रीमेंट और प्रमोशन लेटर

दैनिक जागरण के बाद अब हिंदुस्‍तान में भी इंक्रीमेंट और प्रमोशन का लिस्‍ट जारी होने लगा है. संभावना है कि सभी यूनिटों तक अगले महीने की दस तारीख तक सभी को इंक्रीमेंट तथा प्रमोशन लेटर पहुंच जाएगा. फिलहाल अभी दिल्‍ली में इंक्रीमेंट एवं प्रमोशन लेटर बंटने की शुरुआत हुई है. शुरुआती खबरों से पता चल रहा है कि इंक्रीमेंट और प्रमोशन लोगों को संतुष्‍ट कर पाने में बहुत समक्ष नहीं है. हालांकि अभी तो शुरुआत है, पूरी स्थिति अन्‍य यूनिटों को लेटर पहुंच जाने के बाद पता चलेगी.

मीडिया तो अब काले धन की गोद में बैठी है

मीडिया के बाबत कुछ कहते हुए अब हिचक होती है। अब कुछ कहते हुए कलेजा कांपता है। पर सच है तो कहना भी ज़रुरी है। इस की तफ़सील बहुत सारी हैं पर जो एक लाइन में कहना हो तो कहूंगा कि मीडिया अब काले धन की गोद में बैठी है। मीडिया मतलब अखबार, चैनल, सिनेमा सभी। काले धन की जैसे हर जगह बाढ आ गई सी है।

हो सकता है कल राहुल गांधी लिख दें कि – ”कहां हैं संविधान और कोर्ट बनाने वाले…”

Yashwant Singh : राहुल गांधी फेसबुक पर लिखते हैं- ''कहां हैं ह्यूमन राइट्स इंडस्ट्री चलाने वाले…'' कल को वो लिख सकते हैं- ''कहां हैं समानता और बराबरी का ठेका लेने वाले… '' हो सकता है वो परसों के दिन लिख दें कि– '' कहां हैं संविधान और कोर्ट बनाने वाले….''

अब रियलटी शो में लगेगी कौमार्य की बोली!

आमतौर पर रियलटी शो में प्रतिभागी करोड़पति बनते है, कुछ शादी करते हैं तो कुछ हिम्मतवाले साबित होते हैं। लेकिन रियलटी शो में कौमार्य की बोली लगने की घोषणा ने लोगों को चौंका दिया है। जी हां, ऑस्ट्रेलियाई फिल्ममेकर जस्टिन सिसले, 'वर्जिन वांटेड' नाम का रियलिटी शो चलाने पर विचार कर रहे हैं। इस रियलटी शो में अपना कौमार्य नीलाम करने को इच्छुक लोग शुमार होंगे और टीवी पर ही उनके कौमार्य की नीलामी होगी।

झांसी में हॉकरों ने दैनिक जागरण का सर्कुलेशन किया ठप

: जन जन जागरण को मिल रहा है सर्वाधिक फायदा : झांसी से खबर है कि चार दिन से दैनिक जागरण अखबार लोगों तक नहीं पहुंच पा रहा है. इसकी वजह बताई जा रही है हॉकरों की कमीशन बढ़ाने जाने को लेकर की जा रही हड़ताल. जागरण समूह खुद तो जमकर पैसा पीट रहा है लेकिन हॉकरों का पैसा बढ़ाने के लिए इसके पास धन की कमी है. कमीशन बढ़ाए जाने को लेकर दैनिक जागरण अखबार के मालिक व हॉकरों के मध्य विवाद की स्थिति पैदा हो गई है, जिससे नाराज हॉकरों ने अखबार उठाना बंद कर दिया है. परिणाम यह है कि अखबार लोगों तक नहीं पहुंच पा रहा है. सर्कुलेशन गिरने से अखबार रद्दी बनकर रह गया है.

समय के साथ बदल गया मीडिया का चरित्र : यशवंत

आज की मीडिया स्टिंग आपरेशन कर बड़े बड़े घोटाले उजागर कर रहा है. बैंकों द्वारा काले धन को सफेद करने के गोरखधंधे को भी मीडिया ने उजागर किया. यह राष्‍ट्रद्रोह का कार्य था. आज का युवा सर पर कफन बांध मीडिया में कार्य कर रहा है. बदलते जमाने के साथ ही मीडिया का चरित्र भी बदल गया है. राजनेता और नौकरशाही की भ्रष्‍टाचारी में पत्रकार भी शामिल होने लगे हैं. भ्रष्‍टाचार की खबरों को रोक लिया जाता है, खबरों को रोकना भी एक तरह से पेड न्‍यूज है.

समाचार प्‍लस के साथ तेरह लोगों ने शुरू की नई पारी

समाचार प्‍लस से खबर है कि एक दर्जन से ज्‍यादा लोगों ने अपनी नई पारी शुरू की है. इनमें नौ वीडियो एडिटर तथा चार कैमरामैन शामिल हैं. जिन लोगों ने वीडियो एडिटर के रूप में अपनी नई पारी शुरू की है उनमें असीम खान, प्रदीप कुमार, गोपाल कृष्‍ण पाल, राजीव कुमार, शोएब खान, राकेश कुमार, गौरव गुलाटी, नरेंद्र शर्मा और अजहर अख्‍तर शामिल हैं. जबकि धर्मेद्र कुमार, सोनू पवार, सुनील कुमार एवं अविनाश चौधरी ने कैमरामैन के पद पर ज्‍वाइन किया है.

खुले आसमान में चलती है साइकिल वाले गुरु जी की क्‍लास

लग जाती है, गुरु जी की कक्षा कभी भी, कही भी, मकसद सिर्फ शिक्षा। गरीबों को निःशुल्क शिक्षा देने वाले साइकिल शिक्षक का एक ही संदेश है, शिक्षा में क्रान्ति लाना। फर्रूखाबाद के एक गांव से करीब 18 वर्ष पहले राजधानी आए आदित्य का केवल एक ही मकसद रहा है कि गरीब बच्चों को मुफ्त शिक्षा मिले और उनके मन से अंग्रेजी का डर खत्म हो। झुग्गी -झोपड़ियों के बच्चे संकोचवश स्कूल जाने से कतराते हैं ,उन बच्चों के घर तक आदित्य की ‘‘पाठशाला’’ पहुंची।

हरियाणा में नगर निगम चुनाव : मतदान केंद्र में मीडिया की इंट्री पर बैन

हिसार में 2 जून को होने वाले नगर निगम चुनाव में पहली बार मतदान केंद्रों पर मीडिया की इंट्री पर पाबंदी रहेगी. इतना ही नहीं चुनाव कवरेज के लिए पास भी केवल मान्‍यता प्राप्‍त पत्रकारों को ही जारी किए जाएंगे. इस निर्णय के बाद मतदान के दिन मीडियाकर्मी अब मतदान केंद्र के अंदर होने वाली किसी भी प्रकार की गतिविधियों से अंजान रहेंगे. उन्‍हें केंद्र के आसपास की कवरेज पर ही निर्भर रहना होगा. पत्रकारों को पास जारी नहीं किए जाने का निर्णय मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त धर्मबीर सिंह ने लिया है.

प्रसिद्ध फिल्म निर्देशक ऋतुपर्णो घोष का निधन

कोलकाता: बांग्ला फिल्मों के प्रसिद्ध निर्देशक ऋतुपर्णो घोष का गुरुवार सुबह करीब साढ़े सात बजे कोलकाता में हार्ट अटैक से निधन हो गया। कुल 12 नेशनल अवॉर्ड जीत चुके ऋतुपर्णो घोष की उम्र महज 49 वर्ष की थी। पिछले साल उन्हें 'अबोहोमन' के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार हासिल हुआ था। उन्होंने 1992 से फिल्मी पारी की शुरुआत की थी और 'हीरेर आंग्ती' नामक बांग्ला बाल फिल्म बनाई थी।

नो टीवी डे, इ का है बे

: मुंबई में एक जून को हिंदुस्‍तान टाइम्‍स कर रहा है आयोजित : हमारे इनबॉक्स में मेलर आते रहते हैं। इसके ज़रिये लोग अपने कबाड़ टीवी कार्यक्रमों या ग़ैर मीडिया इवेंट की जानकारी देते रहते हैं। मेलर सबसे अनुपयोगी प्रचार तंत्र है और संचार क्षेत्र मे लगे लोगों को व्यक्तिगत रूप से भेजा जाता है। ख़ैर मुद्दा ये नहीं है।

नंगे पैर गांव-गिरांव की सेवा करने वाले पत्रकारों की कमी नहीं, पर इन्हें पूछता कौन है?

अनेक दिवस-दिवसों की तरह 30 मई को हिंदी पत्रकारिता दिवस सिर्फ एक कर्मकांड नहीं है। साल-दर-साल अपने पेशे यानी पत्रकारिता को कसौटी पर कसने, मूल्यांकन करने और आत्म-निरीक्षण का यह दिन हमें अपनी परंपरा के प्रति जागृत करता है और आगे का रास्ता भी तय करने का अवसर देता है।

”कमलेश, कुलदीप, ओम थानवी के बाद अब फेसबुक के पण्डों के निशाने पर हैं अशोक वाजपेयी”

Om Thanvi : कमलेश, कुलदीप कुमार, ओम थानवी, प्रताप राव कदम के बाद अब फेसबुक के पण्डों के निशाने पर हैं प्रतिष्ठित कवि अशोक वाजपेयी। कोसा जा रहा है कि वे मुंबई में एक दक्षिणपंथी मंच पर एकल कविता-पाठ करने क्यों गए थे? एक पण्डे ने इस पाठ के लिए उनकी "सख्त भर्त्सना" भी कर दी है!

सुल्‍तानपुर में ब्‍लाक प्रमुख ने पत्रकार को सरेआम पीटा, एनसीआर दर्ज

सुल्तानपुर : सपा के शासनकाल में पत्रकारों पर हमले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। पत्रकारों को कभी नेता पीट रहे हैं तो कभी पुलिस वाले। सुल्‍तानपुर में भी कानून व्यवस्था का मखौल उड़ाते हुए चांदा थाना क्षेत्र के महारानी पश्चिम गांव में मंगलवार की रात ब्लाक प्रमुख ने अपने साथियों के साथ मिलकर एक पत्रकार को जमकर पीटा। देर रात थाने में दोनों पक्षों की ओर से पुलिस ने तहरीर दी गई। पुलिस ने पत्रकार की तरफ से एफआईआर दर्ज करने की बजाय दोनों तरफ से एनसीआर दर्ज कर ली। ब्लाक प्रमुख बचाव में हर तरह के हथकंडे अपना रहा है। संभव है पत्रकार को न्‍याय न मिले।

आरटीआई के दायरे में आता है सहारा समूह?

मुंबई। सहारा ग्रुप की दो कंपनियों द्वारा गलत तरीके अपना कर फंड जुटाए जाने के लंबे समय से चल रहे मामलों के मद्देनजर लोग सेबी से इस ग्रुप के बारे में तरह-तरह के सवाल पूछने लगे हैं। सेबी से सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत इसी तरह का एक सवाल किया गया है कि क्या लखनऊ का यह ग्रुप आरटीआई के दायरे में आता है?

‘टैबलेट’ लौटाकर सरकार को ही ‘दर्द’ दे दिया ‘चुनिंदा’ पत्रकारों ने

सपा शासनकाल में केवल पत्रकारों का उत्‍पीड़न ही नहीं बढ़ा है बल्कि अंग्रेजों की तरह पत्रकारों के बीच फूट डालने की कवायद भी की जा रही है. पर कई सवालों के घेरे में खड़ी पत्रकारिता के दौर में कुछ पत्रकारों ने इस कवायद को ऐसा जोरदार तमाचा मारा है, जिसका दर्द सरकार और उनके कारिंदों को लंबे समय तक होता रहेगा. खबर यह है कि सूचना विभाग के कुछ अधिकारियों ने चोरी छुपे लखनऊ के कुछ चुने हुए पत्रकारों को खुश करने के लिए किताबों-डायरियों के साथ सैमसंग का टैबलेट गिफ्ट में भिजवाया.

बिल गेट्स के सुरक्षाकर्मियों ने पत्रकारों से की धक्‍का मुक्‍की

नई दिल्ली। पिछले माह पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और वित्त मंत्री अमित मित्रा के साथ हुई बदसलूकी के बाद योजना आयोग का दफ्तर एक बार फिर हंगामे का गवाह बना। बुधवार को योजना भवन आए अमेरिकी व्यवसायी बिल गेट्स के सुरक्षाकर्मियों ने यहां पत्रकारों के साथ धक्कामुक्की की।

अमर उजाला में मदन को देहरादून और विपिन को मेरठ भेजा गया

अमर उजाला, हल्द्वानी यूनिट में तैनात डिप्टी न्यूज एडिटर मदन गौड़ का देहरादून तबादला हो गया है. मदन गौड़ पिछले १५ सालों से अधिक समय से हल्द्वानी में तैनात थे. एक जून को देहरादून में उन्हें ज्वाइन करना है. मदन गौड़ सिटी इंचार्ज के रूप में हल्द्वानी में अमर उजाला देख रहे थे. मदन को बिपिन बनियाल की जगह देहरादून लाया जा रहा है. विपिन अमर उजाला, देहरादून में चीफ सब एडिटर के पद पर कार्यरत थे, जिनका तबादला मेरठ के लिए कर दिया गया है.

जनसंदेश टाइम्‍स, इलाहाबाद : एक खबर हो रही है दो दिन प्रकाशित

जनसंदेश टाइम्‍स, बनारस यूनिट से जुड़े जिलों में अखबार भगवान भरोसे ही चल रहा है. बनारस यूनिट से संबद्ध इलाहाबाद में खबरों का टोटा है या फिर अयोग्‍य लोगों की ज्‍यादा भर्ती हो गई है, कारण चाहे जो भी हो यहां एक ही खबर दो दिन लगाया जा रहा है. पहले दिन जो खबर सिंगल कॉलम में छपती है, अगले ही दिन वह खबर तीसरे पेज की लीड बन जाती है. जनसंदेश टाइम्‍स, इलाहाबाद में 28 मई को पेज नम्‍बर तीन पर सिंगल कॉलम में खबर छपती है 'चुभती जलती गर्मी का आया मौसम'.

हिंदुस्‍थान समाचार प्रवर समिति गठित, संजय बने अध्‍यक्ष

देहरादून। समाजसेवी एवं पत्रकारिता को दिशा देने वाले संगठन हिन्दुस्थान समाचार बहुभाषी संवाद समिति की प्रादेशिक प्रवर समिति का गठन किया गया है। श्री लक्ष्मी नारायण भाला, डा. हरीश, लक्ष्मी प्रसाद जायसवाल की उपस्थिति में जिस कार्यकारिणी की घोषणा की गई, उसमें संजय जैन को अध्यक्ष, विमल कुमार को समिति उपाध्यक्ष समाजसेवी व एवं चिकित्सक डा. बिनोद मित्तल को समिति का सचिव बनाया गया है। 

कैसे लगा कि भारत में भगवान को मानने वाले कम हो रहे हैं?

एक बेहद अविश्वसनीय खबर पढ़ने को मिली। मुझे इस सर्वे पर शंका हो रही है। आइए पहले खबर पढ़िए- ''भारतीयों की धर्म में दिलचस्पी घट रही है। कई लोगों का भगवान में यक़ीन नहीं है और वो ख़ुद को धार्मिक नहीं मानते। हालांकि ख़ुद को पूरी तरह नास्तिक कहने वालों की तादाद में गिरावट आई है। ग्लोबल इंडेक्स ऑफ़ रिलीजियॉसिटी एंड अथीज़्म की ताज़ा रिपोर्ट से ये जानकारी सामने आई है।''

एनबीटी ने लखनऊ में शुरू किया धुंआधार प्रचार, कई बड़े अखबार हिले

नबाबों की नगरी लखनऊ में अगले कुछ महीनों में जबर्दस्‍त अखबारी लड़ाई छिड़ने वाली है. इसकी शुरुआत हो चुकी है. अगले दो महीनों के भीतर टाइम्‍स समूह का अखबार नवभारत टाइम्‍स लखनऊ एडिशन के साथ यूपी में दुबारा अपने कदम रखने जा रहा है. इसके लिए धुंआधार प्रचार भी शुरू हो गया है. लखनऊ के चप्‍पे-चप्‍पे पर नवभारत टाइम्‍स के होर्डिंग नजर आने लगे हैं. नवभारत टाइम्‍स के आने की खबर के बाद से सारे अखबारों का प्रबंधन परेशान है, लेकिन दैनिक जागरण के होश सबसे ज्‍यादा उड़े हुए हैं.

पाकिस्‍तान में क्राइम रिपोर्टर की गोली मारकर हत्‍या

A Pakistani newspaper reporter was shot dead on Friday (24 May) apparently for helping police in an investigation, reports the Karachi-based Express Tribune. Police said Ahmed Ali Joiya – who freelanced for several local papers and magazines – had been assisting officers while working on a crime story.

मुंहलगे पत्रकारों को लैपटॉप बांट रहे हैं यूपी सरकार के बड़े अफसर

Kumar Sauvir : सूचना विभाग का अंधा अफसर बांटे रेवड़ी, अपने-अपने लोगों को दे, और दूध फड़वाये पत्रकार-बिरादरी का। खबर है कि अपने-अपने मुंहलगे पत्रकारों को लैपटॉप बांट रहे हैं यूपी सरकार के बड़े अफसर। जी हां, उप्र के सूचना विभाग के अफसरों ने अपने-अपने लोगों को उपकृत करने का चुपचाप रेवडि़यों बांटने का तरीका खोज लिया है।

हिमाचल आजकल चैनल के खिलाफ चेक बाउंस का मामला कोर्ट में

बिलासपुर। हिमाचल प्रदेश के शिमला से प्रसारित होने वाले हिमाचल आजकल चैनल प्रबंधन के खिलाफ चेक बाउंस का मुकदमा बिलासपुर की सीजेएम कोर्ट में दाखिल किया गया है, जिसकी सुनवाई 30 मई को निर्धारित की गई है। याचिकाकर्ता द्धारा इससे पहले चैनल प्रबंधन के मैनेजिंग डायरैक्टर राजेश्‍वर सभ्रबाल को लीगल नोटिस भेजा गया था, जिसे प्रबंधन ने लेने से इन्कार कर दिया। जिसके बाद मामला कोर्ट में चला गया है।

करोड़ों की जमीन आधी कीमत पर सौरव गांगुली को!

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और मां माटी मानुष की सरकार की भूमि नीति की वजह से राज्य में औद्योगीकरण खटाई में है। पर राजारहाट जैसे बेशकीमती पाश इलाके में भारतीय टीम के पूर्व कप्तान को राज्य सरकार आधी कीमत पर जमीन दे रही है। सौरभ गांगुली को राजारहाट में स्कूल खोलने के लिए 10 करोड़ 98 लाख कीमत की जमीन 55 पीसदी छूट के साथ दी जा रही है। एक मुश्‍त करीब छह करोड़ की छूट के लिए हालांकि राज्य सरकार ने शर्त यह लगायी है कि इस स्कूल में गरीब बच्चों के लिए 25 फीसदी सीटें सुरक्षित रहेंगी। इसके अलावा इन बच्चों से कोई फीस नहीं लेनी है।

लादेन को अमेरिका ने नहीं मारा, उसने खुद को बम से उड़ाया!

वॉशिंगटन : अमेरिका आज भी अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन को मारने की वाहवाही लूटता है। लेकिन अब एक नई जानकारी के मुताबिक ओसामा को अमेरिका ने नहीं बल्कि ओसामा ने खुद को मार लिया था यानी खुद के हाथों खुदकुशी कर ली थी।

दिल्‍ली उच्‍च न्‍यायालय कर रहा है राजभाषा अधिनियम की खुली अवहेलना!

महामहिम राष्ट्रपति महोदय, राष्ट्रपति भवन, नई दिल्ली, मान्यवर, दिल्ली उच्च न्यायालय द्वारा राजभाषा अधिनियम की खुली अवहेलना।

बिना अनुमति के चैनल का प्रसारण करने वाले दो लोगों पर मामला दर्ज

रेवाड़ी : पायरेसी रोकने के लिए गठित की गई दिल्ली की एक एजेंसी ने सोमवार को शहर के दो केबल कार्यालय पर छापामारी कर बिना अनुमति के चैनल का प्रसारण करने पर शहर थाना पुलिस में दो केबल आपरेटर के खिलाफ मामला दर्ज कराया है।

पत्रकारों को अभिव्‍यक्ति के खतरे तो उठाने ही होंगे!

आम तौर पर यूनियनों का मतलब चंदाखोरी ही नहीं होता है। पर यह बात सौ आना सच नहीं है। यूनियनों के गठन का उद्देश्य वैचारिक एवं सैद्धांतिक प्रतिबद्धता से भी जुड़ा होता है और होना चाहिए।  मेरी समझ से यूनियनों के गठन के मुद्दे को व्यापक परिपेक्ष्य में देखे जाने की दरकार है। यह निर्विवाद सत्य है कि खुली अर्थ व्यवस्था के मौजूदा दौर ने पत्रकार यूनियन ही नहीं सभी ट्रेड यूनियनों को हाशिये में धकेल दिया है। इनमें पत्रकारों की ट्रेड यूनियनों की हालत सबसे ज्यादा ख़राब है।

ठाकरे के नाम पर रखा गया वानखेड़े मीडिया बॉक्स का नाम

मुंबई : वानखेड़े स्टेडियम के मीडिया बाक्स का नाम शिवसेना के पूर्व सुप्रीमो स्वर्गीय बालासाहेब ठाकरे के नाम पर रखा जाएगा। मुंबई क्रिकेट संघ ( एमसीए ) ने इसकी घोषणा की। एमसीए के संयुक्त सचिव डा. पी वी शेट्टी ने कहा, ‘मैं और एमसीए अध्यक्ष (रवि सावंत ) मीडिया बाक्स का नाम बालासाहेब ठाकरे के नाम पर रखने के लिये अनापत्ति प्रमाणपत्र लेने के लिये शिव सेना के कार्यकारी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से मिले।

सेना की गोली से हुई थी इतालवी पत्रकार की मौत

बैंकाक। थाईलैंड में साल 2010 में लाल शर्ट प्रदर्शनकारियों पर हुई सेना की कार्रवाई को कवर करते समय मारे गए इतालवी फोटो पत्रकार फैबियो पोलेघी की मौत एक सैनिक की बंदूक से चली गोली से हुई थी। अभियोजन पक्ष के वकील कैरम पोथकलाग ने कहा कि अदालत ने आज दिए अपने फैसले में कहा कि फैबियो की मौत एक सैनिक की गोली से हुई थी।

बढ़ गई ‘लाल गलियारे’ की धमक

छत्तीसगढ़ के दरभा इलाके में नक्सलियों ने बड़ा हमला बोलकर जता दिया है कि सरकार के तमाम बड़े-बड़े दावों के बावजूद उनके हौसले बुलंद बने हुए हैं। इस बार जिस तरह से सशस्त्र नक्सलियों ने कांग्रेस के काफिले को निशाना बनाया, इससे उनकी रणनीति में एक बड़ा बदलाव दिखाई पड़ा है।

महाराष्‍ट्र में पांच महीने में 35 पत्रकारों पर हुआ हमला, सरकार बेफिक्र

मराठवाड़ा स्थित माजलगांव में एक और पत्रकार पर हमला हुआ. बीड शहर से प्रकाशित होनेवाले हिंदू जागृती के मांजलगाव के रिपोर्टर ने अपने अखबार में गोविंदपुर के सरपंच के पति मोहन गायकवाड़ पर सरकारी जमीन पर अतिक्रमण करके घर बांधने की खबर छापी थी. इस खबर के साथ घटनास्थल के तस्वीरें और डाक्यूमेंट भी प्रकाशित किया गया था. इस तरह अपना पोल खुलने से नाराज होकर गायकवाड़ ने रिपोर्टर बालासाहब अड़ागले पर जानलेवा हमला किया.

ACC सीमेंट कंपनी ने किया करोड़ों का फर्जीवाड़ा

प्रदेश में एसीसी कम्पनी द्वारा बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ है। कम्पनी ने अपने ही डीलरों को करोड़ों का चूना लगाकर धोखबाजी की। बस्ती सहित गोरखपुर के दर्जनों डीलरों ने एसीसी कम्पनी को कोर्ट के जरिये लीगल नोटिस जारी किया है और अब कम्पनी पर धोखेबाजी का केस करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। बस्ती के एक डीलर सत्य प्रकाश जायसवाल और गोरखपुर के डीलर राजेश बंका ने एसीसी कम्पनी पर आरोप लगाया कि कम्पनी पीडी और लक्ष्‍य स्कीम के नाम पर लाखों का गबन कर उनके साथ धोखा की है।

कैलाश दत्‍त एवं अशोक मंगुटकर दबंग दुनिया से जुड़े

मेट्रो सेवन डेज के मुद्रक प्रकाशक कैलाश दत्‍त ने अपनी नई पारी दबंग दुनिया के साथ शुरू की है. उन्‍हें अखबार में प्रशासकीय प्रबंधक के पद पर लाया गया है. इनके साथ अशोक मंगुटकर ने भी दबंग दुनिया ज्‍वाइन कर लिया है. उन्‍हें अखबार में प्रसार प्रबंधक बनाया गया है. दोनों लोग इसके पहले भी …

चचेरी बहन को नौकरी दिलाने के बहाने लाया और करने लगा रेप

नई दिल्‍ली : पहले अपनी चचेरी बहन को नौकरी का झांसा देकर झारखंड के गुमला से दिल्ली लेकर आया, काम तो दिलाया लेकिन दोस्त के साथ मिलकर उसका रेप करने लगा। पीड़ित किशोरी किसी तरह उसके चुंगल से भाग निकली। सोमवार रात कश्मीरी गेट मेट्रो स्टेशन स्थित हनुमान मंदिर के पास बेहोशी की हालत में मिली। पुलिस पूछताछ में उसने इस बात का खुलासा किया। मेडिकल जांच में दुष्कर्म की पुष्टि हो गई है।

महेंद्र कर्मा पर महिला नक्‍सलियों ने किया 78 बार चाकुओं से वार

रायपुर : छत्तीसगढ़ के सुकमा के नक्सली हमले में मारे गए कांग्रेस नेता महेंद्र कर्मा पर महिला नक्सलियों ने 78 बार चाकुओं से वार किया था. टाइम्स ऑफ इंडिया में खबर छपी है कि हमले वाले दिन वहां मौजूद दो लोगों ने सीआरपीएफ को ये जानकारी दी है. चश्मदीदों के मुताबिक नक्सली कर्मा पर ऐसे हमला कर रहे थे जैसे कि निजी दुश्मनी निकाल रहे हों.

‘इप्टानामा’ के प्रथम वार्षिकांक का दो जगहों से हुआ लोकार्पण

भारतीय जन नाट्य संघ की वेब-पत्रिका 'इप्टानामा' के प्रथम वार्षिकांक का लोकार्पण जन संस्कृति दिवस के अवसर पर 25 मई 13 को एक साथ दो स्थानों पर किया गया। नयी दिल्ली के हिंदी भवन में जन संस्कृति दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में पत्रिका का लोकार्पण विश्वनाथ  त्रिपाठी, जितेन्द्र रघुवंशी, जया राय व अमिताभ पांडेय ने किया। इससे पूर्व इप्टा की संस्थापक सदस्या कामरेड सरला शर्मा का उनके घर में ही जाकर सम्मान किया गया। 93 वर्षीया कामरेड सरला शर्मा ने मुंबई में 25 मई 1943 को इप्टा के स्थापना सम्मेलन में दिल्ली की प्रतिनिधि सदस्या के रूप में भागीदारी की थी।

इसमें भी मेरे “अलोकतांत्रिक” होने का सुराग मिल गया है : ओम थानवी

Om Thanvi : मुझे नहीं समझ पड़ता कि अगर मेरी वाल पर आ-आकर कोई मेरा और आपका वक्त बरबाद करे और मैं उससे हाथ जोड़ लूं — यानी ब्लॉक कर दूं — तो इसमें आपत्तिजनक क्या है? कुछ फेसबुकिया शोहदों को इसमें भी मेरे "अलोकतांत्रिक" होने का सुराग मिल गया है और फतवाते फिर रहे हैं। हालांकि उनमें ब्लॉक होने का सौभाग्य प्राप्त करने वालों की संख्या अभी दर्जन भर ही होगी, लेकिन सुना है उन वीरों ने मिलकर एक मंडली (प्रीमियर लीग) बना ली है।

क्‍या टाइम्‍स समूह में सचमुच ऐसा ही होता है?

टाइम्‍स समूह अपनी स्‍थापना के 175 साल पूरे कर रहा है. इस मौके पर टाइम्‍स ऑफ इंडिया के संपादकीय पर सौबिक चक्रवर्ती और कौशिक मुरली ने एक लेख लिखकर बताया है कि किस तरह टाइम्‍स समूह में संघीय व्‍यवस्‍था लागू है. कभी स्थिति इस तरह की होती है कि टाइम्‍स ऑफ इंडिया जो खबर प्रकाशित करता है तो इसी समूह का अखबार नवभारत टाइम्‍स इसके ठीक विपरीत खबर प्रकाशित कर देता है. वहीं मुंबई मिरर की स्‍टोरी बिल्‍कुल भिन्‍न होती है.

मध्‍य प्रदेश में पत्रिका के पांच साल पूरे, दो नए एडिशन लांच करने की तैयारी

राजस्‍थान पत्रिका को मध्‍य प्रदेश में पांच साल पूरे हो गए हैं. 2008 में भोपाल एडिशन के साथ मध्‍य प्रदेश में कदम रखने वाला यह अखबार अब राज्‍य का प्रमुख अखबार बन चुका है. राज्‍य में अखबार नौ एडिशन प्रकाशित कर रहा है, जिसमें भोपाल, जबलपुर, होशंगाबाद, इंदौर, उज्‍जैन, रतलाम, खंडवा, सतना और ग्‍वालियर शामिल हैं. पत्रिका प्रबंधन जल्‍द ही मध्‍य प्रदेश से दो और एडिशन लांच करने की तैयारी कर रहा है.

राजस्‍थान में रीजनल चैनल लांच करेगा जी न्‍यूज, तैयारियां अंतिम दौर में

राजस्‍थान, मध्‍य प्रदेश तथा छत्‍तीसगढ़ में विधानसभा चुनावों को देखते हुए कई चैनल इन राज्‍यों में लांच होने की तैयारी कर रहे हैं. राजस्‍थान में समाचार प्‍लस के अलावा जी न्‍यूज भी चैनल लांच करने जा रहा है. जी न्‍यूज गोयल ग्रुप से अलग होने के बाद पहले एमपी-सीजी में चैनल लांच किया अब उसकी तैयारी राजस्‍थान के लिए चल रही है. संभावना है कि अगले एक पखवाड़े में जी न्‍यूज राजस्‍थान में अपना रीजनल चैनल लांच कर देगा.

रेप के प्रयास के आरोप में आजतक का पत्रकार अरेस्‍ट

झांसी। मंगलवार दोपहर घर में घुसकर महिला से छेड़छाड़ करने, कपड़े फाड़कर फोटो खींचने व बलात्कार का प्रयास करने के आरोप में आजतक चैनल के पत्रकार को कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। कोर्ट ने उसे न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया।

एपी न्‍यूज एजेंसी के पत्रकारों के फोन किए गए टेप

वॉशिंगटन : अमेरिका में सरकार द्वारा न्यूज मीडिया पर चोरी-छिपे निगाह रखने का मामला सामने आया है। अमेरिकी जस्टिस डिपार्टमेंट ने न्यूज एजेंसी असोसिएटेड प्रेस (एपी) से जुडे़ जर्नलिस्टों के दो महीने के टेलिफोन रेकॉर्डों को गुपचुप तरीके से हासिल किया। न्यूज एजेंसी ने इस कदम को जबर्दस्त और अभूतपूर्व दखलअंदाजी बताया है।

राजनीति समाज सेवा का अच्‍छा मंच : रामेंद्र त्रिपाठी

देवरिया। समाजवादी पार्टी से आगामी लोकसभा के लिए देवरिया संसदीय क्षेत्र के लिए घोषित किए गए प्रत्याशी पूर्व आईएएस रामेन्द्र त्रिपाठी का कहना है कि राजनीति रिटायर्ड अधिकारियों के लिए समाज सेवा का एक अच्छा मंच है। उनका मानना है कि राजनीति में जो भी विसंगितियां व्याप्त है उसे दूर करने में रिटायर्ड आईएएस या आईपीएस अधिकारी बड़ी भूमिका निभा सकते हैं।

जब तक समाज में बंटवारा है, तब तक साहित्य में भी बंटवारा रहेगा

: दलित बहुजन साहित्य पर राष्ट्रीय सेमिनार : बारा चकिया (मुजफ्फरपुर, बिहार )। देश भर के जाने-माने दलित साहित्यकारों और विद्वानों ने दलित बहुजन साहित्य के सामाजिक सरोकारों पर खुलकर चर्चा की।

देखने गया था एमएस धोनी का घर, बन गया विजिलेंस का अधिकारी!

क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी के एक प्रशंसक को अपने दीवानगी की कीमत जेल जाकर उस वक्त चुकानी पड़ी जब घर लौटते वक्त उसके पास पैसे कम पड़ गए। ट्रेन के टीटीई आजाद ने युवक पर आरोप लगाया है कि उक्त युवक खुद को रेलवे के सतर्कता विभाग (विजिलेंस) का अधिकारी बता कर वसूली कर रहा था जबकि युवक सारे आरोपों को निराधार बता रहा है। आरोपी युवक धर्मेन्द्र ने बताया कि वह दिल्ली का रहने वाला है और एमबीए की पढ़ाई भी कर रहा है, साथ ही वह क्रिकेट स्टार महेन्द्र सिंह धोनी का प्रशंसक भी है। और इसी जूनून में वह धोनी के घर को देखने रांची जा पहुंचा।

नारद जयंती पर लखनऊ के कई पत्रकार हुए सम्‍मानित

विश्व संवाद केन्द्र लखनऊ एवं हिन्दुस्थान समाचार एजेंसी के संयुक्त तत्वावधान में सोमवार को हिन्दी संस्थान के यशपाल सभागार में आद्य पत्रकार देवर्षि नारद जयंती एवं पत्रकार सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में बतौर मुख्यवक्ता हिमालय परिवार, भारत तिब्बत सहयोग मंच एवं मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के मार्गदर्शक इन्द्रेश कुमार उपस्थित रहे। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में लखनऊ के महापौर डा. दिनेश शर्मा और विशिष्ट अतिथि के रूप में राष्ट्रीय स्वरूप के संपादक व पूर्व सूचना आयुक्त वीरेन्द्र सक्सेना तथा पीटीआई के ब्यूरो चीफ प्रमोद गोस्वामी उपस्थित रहे।

यूपी में आईजी कार्मिक तनूजा श्रीवास्तव पर सूचना आयोग ने पच्चीस हजार रुपये का दंड लगाया

मुख्य सूचना आयुक्त रणजीत सिंह पंकज ने आईजी कार्मिक तनूजा श्रीवास्तव पर 25,000 हज़ार रूपए का अर्थ दंड लगाया है. पंकज ने यह आदेश आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर को जानबूझ कर सूचना नहीं देने के मद्देनज़र लगाया. ठाकुर ने सितम्बर 2012 में अपने काव्य संकलन “आत्मादर्श” के सम्बन्ध में डीजीपी कार्यालय से कुछ सूचनाएँ मांगी थी. लगातार सूचना नहीं मिलने पर मुख्य सूचना आयुक्त ने पिछली सुनवाई 02 अप्रैल को सूचना धारक आईजी कार्मिक को उपस्थित हो कर स्थिति स्पष्ट करने के निर्देश दिये थे.

पेड न्‍यूज : दैनिक भास्कर और पंजाब केसरी ने पत्रकारों के हाथ में थमाया कटोरा!

: रिपोर्टर तो रिपोर्टर संपादक भी भीख मांगने उतरे, रात में होती है सेटिंग : हरियाणा में नगर निगम चुनाव क्या आए अखबारों की पौं बारह हो गई है। गंदा है पर धंधा है, धंधा करने के लिए टारगेट फिक्स हो चुके हैं। अभी तक ईमानदारी का चोला ओढ़ कर पत्रकारिता की दुहाई देने वाला दैनिक भास्कर भी अब पंजाब केसरी के पदचिन्हों पर चलने लगा है। पेड न्यूज पर चुनाव आयोग के डंडे ने तो पेड न्यूज तो रोक दी और नहीं भी रोकी। इस डंडे से भी बच जाएं और धंधा भी हो जाए।

केंद्र सरकार की छवि चमकाने वाले एड कंपेन के पीछे पंकज पचौरी का दिमाग है!

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के मीडिया सलाहकार और वरिष्ठ पत्रकार पंकज पचौरी एक बार फिर चर्चा में हैं. ये चर्चा मीडिया में चल रहे 'भारत निर्माण' के विज्ञापन कैम्‍पेन को लेकर है. लोकसभा चुनाव नजदीक होने के कारण केंद्र सरकार की छवि को चमकाने वाले, ओवरहालिंग करने वाले विज्ञापनों पर एनडीटीवी के चर्चित चेहरे रहे वरिष्ठ पत्रकार पंकज पचौरी की छाप स्‍पष्‍ट दिख रही है.

आज समाज के ब्‍यूरोचीफ ने दी इं‍स्‍टीट्यूट संचालक को जान से मारने की धमकी!

आज समाज, जींद के ब्यूरो चीफ राकेश पानू ने पानीपत में एक इंस्टीच्यूट के संचालक अनिल भान को जान से मारने की धमकी दी है. अनिल ने इसकी शिकयत पानीपत पुलिस को की है. राकेश पानू पर जाति सूचक गलियां देने के भी आरोप लगे हैं. पुलिस को की गई शिकायत के अनुसार राकेश पानू 24 मई को अपने 4 साथियों के साथ पानीपत में अनिल भान के कार्यालय में आये. वह और उसके साथी हथियारों से लैस थे. इन लोगों ने उसको जान से मारने की धमकी दी.

यशभारती से सम्‍मानित वयोवृद्ध पत्रकार ने बिजली के लिए किया चक्‍का जाम

अपनी बेबाक लेखनी के लिए मशहूर यशभारती से सम्मानित गाजीपुर के वयोवृद्ध पत्रकार विजय कुमार को बिजली के लिए सड़क पर प्रदर्शन और चक्का जाम करना पड़ा। मामला शहर के बड़ीबाग इलाके का है। जहां पिछले चार दिनों से बिजली आपूर्ति पूरी तरह ठप है।

सरपंच ने पत्रकार को अगवा कर मारा पीटा, पुलिस आरोपियों को बचाने में जुटी

मध्‍य प्रदेश के शिवनी जिले के पत्रकार रोहित शर्मा का अपहरण कर पुष्‍पराज दुबे नाम के एक सरपंच ने मारपीट की. रोहित के दोस्‍त एक पुलिसकर्मी की मदद से मौके पर पहुंच कर किसी तरह बचाया, लेकिन सीएम शिवराज सिंह चौहान के गृह जिले की पुलिस इस मामले में लापरवाही बरतते हुए आरोपियों के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज नहीं किया है. पुलिस ने मारपीट की हल्‍की-फुल्‍की धाराओं में मामला दर्ज कर आरोपियों को बचाने की कोशिश कर रही है.

मोटी कमीशन देने पर ही विज्ञापन देता है रियल एस्टेट कंपनी का पीआर अधिकारी

बठिंडा। अखबारों में विज्ञापन देने के लिए इन दिनों रियल एस्टेट का काम करने वाली एक कंपनी के प्रतिनिधियों ने नया फंडा निकाल लिया है। इसमें तेल के व्यवसाय से नाम कमाकर रियल एस्टेट में पैर जमाने वाली एक कंपनी ने पीआर के लिए एक अधिकारी की नियुक्ति कर रखी है। यह अधिकारी विश्व की नामी एनजीओ में किसी समय प्रोजेक्ट प्रभारी का काम कर चुका है। हाल में जिस कंपनी में वह पीआर का काम करते हैं उसमें मोटा वेतन वसूलने के साथ पत्रकारों व अखबारों के विज्ञापन प्रतिनिधियों से विज्ञापन की एवज में मोटा कमिशन वसूल कर रहे हैं।

‘शैलेन्द्र चौहान संपादक, प्रकाशक, मीडिया, व्यवस्था किसी के भी प्रिय नहीं’

शैलेन्द्र चौहान की रचनाओं और व्यक्तित्व में ऐसा बहुत कुछ है जो साहित्यकारों को आसानी से हजम नहीं होता। उनकी रचनाएँ सर्वप्रथम जनसंघर्ष के प्रति उद्देश्यपरक मित्रता का सम्बन्ध रखती हैं। वे भावात्मक न होकर विश्लेष्णात्मक होती हैं। वहां नारेबाजी नहीं होती और वे छद्म व पाखण्ड से कोसों दूर होती हैं। शैलेन्द्र की रचनाएँ और भाषा उलझने वाली न होकर सहज होती है। उनकी रचनाओं में सघन व्यंजना होती है। उपमाएं, प्रतीक और बिम्ब शैलेन्द्र के यहाँ जादू न होकर वस्तु जगत के अनुरूप ही आते हैं।

गिरीश तिवारी और रामसिंह के निधन पर मीडिया कर्मियों ने जताया शोक

रुद्रपुर। उत्तराखंड के वरिष्ठ फ्रीलांस पत्रकार गिरीश तिवारी और बाजपुर के वरिष्ठ पत्रकार जीवन सिंह सैनी के भाई राम सिंह के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए पत्रकारिता, कला, संस्कृति एवं साहित्य तथा जनपक्ष से जुड़े लोगों ने श्रद्धांजलि दी। गांधी पार्क में आयोजित बैठक में अयोध्या प्रसाद ‘भारती’, कस्तूरीलाल तागरा, देवेंद्र अर्श, दीपिका, बल्देव धमीजा, एलएम तिवारी, हरकेश्वर राव आदि मौजूद थे।

इस जंग में अकेली क्यूं हैं वसुंधरा राजे!

श्रीमती वसुंधरा राजे को या तो दिख नहीं रहा हैं या फिर वे देखना नहीं चाहतीं। राजनीति में ज्यादातर समझदार लोग अकसर ऐसा करते हैं। पर, सभी को दिख रहा है कि राजस्थान बीजेपी की दीवारों की दरारें और खतरनाक होती जा रही हैं। और इसके उलट अशोक गहलोत रोके रुक नहीं रहे हैं। वे दिन ब दिन मजबूत होने की तरफ बढ़ते ही जा रहे हैं। लेकिन बीजेपी की मजबूरी यह है कि उसके पास गहलोत की रफ्तार को रोकने लायक कोई और है ही नहीं। श्रीमती राजे अपनी सुराज संकल्प यात्रा में मगन है। जिसके कोई बहुत अच्छे परिणाम फिलहाल तो दिख नहीं रहे हैं।

वो चाहता है कि जी भर कर उससे नफरत करो

: बख्शीश सिंह के लिए ये कविताएं नहीं जिन्दगी की जद्दोजहद और अनुभूतियों के सूक्ष्म अनुभव के आत्मीय वर्णन हैं :
वो तुम्हारी
मुखालफत ही नहीं
बेइंसाफी का भी
हिस्सेदार होना चाहता है

बस्‍ती में फर्जी पत्रकारों की बाढ़, कई चैनलों की आईडी लेकर कर रहे वसूली

मीडिया में बढ़ते ग्लैमर को देखते हुये पत्रकारों की बाढ़ सी आ गई है। पत्रकारों की इस भीड़ में कुछ तथाकथित पत्रकार अपनी रोटियां सेंकने में लगे हुये हैं। बस्ती जिला भी कुछ फर्जी पत्रकारों के काम से बदनाम हो रहा है। इसलिये जरूरत है उन्हें रोकने की। इन दिनों एक बड़े चैनल की आईडी लेकर तथाकथित पत्रकार ने वसूली की सारी सीमाओं को पार कर दिया है। कुछ दिन पूर्व यह फर्जी पत्रकार लोकल चैनल में भी वसूली की थी, मगर अब वह चैनल बंद हो जाने के बाद बड़े चैनल के एक सीनियर पत्रकार ने उसे माईक आईडी थमा दी है।

मीडियाकर्मी का लाखों रुपये से भरा बैग कांस्टेबल धर्मवीर ने लौटा दिया

दिल्ली पुलिस में आज भी ईमानदारी मरी नहीं है। हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन पर पदस्थ कांस्टेबसल धर्मवीर ने इसे साबित कर दिया। स्टेशन पर एक मीडिया प्रोफेशनल का बैग गायब हो गया, जिसमें न केवल पांच लाख रुपए ते बल्कि आईपैड और कैमरा भी थे। लेकिन इन्हें देखकर भी पुलिसकर्मी की नियत नहीं डोली और उसने बैग लावारिस मिलने के बाद सुरक्षित वापस लौटाया। मीडिया में काम करने वाले शैलेंद्र धर अपने गृह नगर बिलासपुर जाने के लिए छत्तीसगढ़ संपर्क क्रांति पकड़ने स्टेशन पहुंचे। उन्होंने स्कैनर पर बैग रखा, लेकिन उठाना भूल गए। बाद में जब वह लौटकर आए, तो बैग वहां नहीं मिला।

केबल ऑपरेटरों के विरुद्ध ट्राई पहुंची कोर्ट

केबल ऑपरेटरों के खिलाफ टेलीकॉम रेगुलटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (ट्राई) अदालत में चली गई है। उन पर आरोप है कि वे मल्टी सिस्टम ऑपरेटरों (एमएसओ) को सेट टॉप बॉक्स सब्सक्राइबर की डिटेल्स नहीं दे रहे हैं। ये डिटेल्स केबल टीवी सर्विसेज के डिजिटाइजेशन में जवाबदेही तय करने के लिए जरूरी है।

ज्‍यादातर अखबारों में संघी मार्का संपादक बैठे हैं, मुझे तो छापने से रहे

Shambhunath Shukla : लिखना मेरा शगल है। मुझे न क्रिकेट पसंद है न हॉकी न फुटबाल न टीवी देखना न मरने जीने की खबरें पढऩा लेकिन बिना कुछ लिखे मैं रह नहीं सकता। अब चूंकि कलम हाथ में पकड़कर लिखने का जमाना तो गया इसलिए लिखने की स्पीड भी बढ़ी है और टीवी देख-देखकर प्रतिक्रिया जताने की इच्छा भी बलवती हो गई। अब ज्यादातर अखबारों में तो संघी मार्का संपादक बैठे हैं जो मुझे छापने से रहे। लेख भेजने के बाद जवाब देना भी ठीक नहीं समझते इसलिए उनको चाहे जितना फोन करिए वे फोन ही नहीं उठाएंगे। शुक्र है फेसबुक का कि जो चाहो वह छाप तो सकते हो। और प्रतिक्रियाएं भी फौरन लीजिए। इसलिए मुझे लेखन का यह मंच सबसे अच्छा नजर आता है। मैं फिर अपना एक अनुभव शेयर कर रहा हूं।

नक्सली हमले की रिपोर्टिंग में खबर भारती और आईबीसी ने बाजी मारी

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की परिवर्तन रैली पर हमला हुआ और नुकसान हर किसी को हुआ। कांग्रेस को। बीजेपी को। देश को। पुलिस को। भले ही ये नुकसान अलग-अलग तरीकों से हुआ हो लेकिन अगर किसी को फायदा हुआ, तो वो है आईबीसी और खबर भारती चैनल को। वजूद की लड़ाई लड़ रहा खबर भारती पिछले कई महीनों से तरक्की के आसमान में उड़ना चाह रहा था लेकिन ना तो उसे मौका मिल रहा था ना वक्त की सुईयां उसके इशारे पर घुम रही थी।

पढि़ए.. कांग्रेसी नेताओं पर हमले के बाद माओवादियों द्वारा भेजी गई विज्ञप्ति

दमन की नीतियों को लागू करने में कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी की समान भागीदारी है और इसलिए संगठन ने कांग्रेस के बड़े नेताओं को निशाने पर लिया है। राज्य के गृहमंत्री रह चुके छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष नंदकुमार पटेल जनता पर दमनचक्र चलाने में आगे रहे थे। पटेल के समय में ही बस्तर क्षेत्र में पहली बार अर्ध-सैनिक बलों की तैनाती की गई थी।

आदिवासियों की बलि लेने वाले ‘सलमा जुडूम’ जैसे विवादित अभियान को कांग्रेस और भाजपा दोनों का समर्थन रहा है

: नक्सली हमले के बाद शुरू हो गई वोट बैंक की जंग : बस्तर (छत्तीसगढ़) में हुए बड़े नक्सली हमले के बाद कांग्रेस और भाजपा के रणनीतिकारों को अब वोट बैंक की नई रणनीति तैयार करने की खासी चिंता हो गई है। क्योंकि, कांग्रेस नेतृत्व इस हमले को राजनीतिक रूप से भुनाने के लिए तैयार है। योजना बनाई गई है कि पूरे राज्य में कांग्रेस अपनी इस ‘कुर्बानी’ की याद दिलाकर अपने लिए सहानुभूति की लहर चलवा ले।

टीवी टुडे समूह से 150 लोग किए जाएंगे बाहर!

: कानाफूसी : टेलीविजन न्‍यूज इंडस्‍ट्री के सबसे बड़े खिलाडि़यों में से एक टीवी टुडे समूह को लेकर चल रही चर्चाओं से काम करने मीडियाकर्मियों के होश उड़े हुए हैं. टीवी टुडे समूह से खबर आ रही है कि समूह अपने खर्च में कटौती करने की तैयारी कर रहा है. इसके लिए बड़ी छंटनी की लिस्‍ट तैयार की जा रही है. समूह के चारों चैनल आजतक, हेडलाइंस टुडे, तेज और दिल्‍ली आजतक से एक मुश्‍त डेढ़ सौ लोगों को बाहर करने की तैयारी चल रही है. इसमें एडिटोरियल समेत सभी विभागों के लोग शामिल होंगे.

प्रसार भारती पर 115 करोड़ रुपये का सम्‍पत्ति कर बकाया

सरकार कर जमा करके लोगों को ईमानदार बनने की नसीहत देती है, लेकिन सरकारी संस्थान खुद संपत्ति कर देने में फिसड्डी साबित हो रहे हैं। उत्तरी दिल्ली नगर निगम का वित्त वर्ष 2012-13 में इन सरकारी संपत्तियों पर करीब 509 करोड़ रुपये का संपत्ति कर बकाया हैं। चार और पांच सितारा होटलों ने भी 25 करोड़ रुपये का संपत्ति कर नहीं भरा है।

यशवंत सिंह के bhadas4media में वह पोस्ट यथावत सारी धमकी भरी टिप्पणियों के साथ पड़ी हुई है

Shambhunath Shukla : सोनी टीवी पर कल से शुरू हुए भारत के वीर पुत्र महाराणा प्रताप के संदर्भ में फेसबुक पर खूब हंगामा मचा। गाली गलौच तो दूर सीधे-सीधे मुझे देख लेने की धमकी भी दी गई। कुछ ने तो मुझे हिंदू या भारतीय अथवा ब्राह्मण तक मानने से मना कर दिया। यह सब स्वीकार किया जा सकता है लेकिन फालतू में हुंगामा खड़ा करना व्यर्थ है इसीलिए वह पोस्ट मैंने यहां से हटा ली हालांकि वीर बांकुरे श्री यशवंत सिंह के bhadas4media में वह पोस्ट यथावत सारी धमकी भरी टिप्पणियों के साथ पड़ी हुई है। जिसे देखना हो वह bhadas4media.com जाकर उसे देख सकता है। लेकिन इस संदर्भ में मेरा यह भी कहना है-

क्रिकेटरों को फांसने के लिए हाई फाई मॉडल्‍स भेजता था विंदू दारा सिंह!

मुंबई। स्पॉट फिक्सिंग की जांच में जुटी मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम नए-नए खुलासे कर रही है। सट्टेबाजी में फंसे विंदू दारा सिंह को लेकर कई चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक विंदू सेक्स रैकेट से भी जुड़ा हुआ था। वो क्रिकेटरों को फांसने के लिए हाई-फाई मॉडल्स को इनके पास भेजता था।

खामोश हुयी माओवाद के खिलाफ आखिरी आवाज

बस्तर में माओवादी आतंकवाद के खिलाफ महेंद्र कर्मा सही मायने में आखिरी आवाज थे। वे आदिवासियों की अस्मिता, उनके स्वाभिमान और उनकी पहचान के प्रतीक थे। भाजपा दिग्गज बलिराम कश्यप के निधन के बाद महेंद्र कर्मा का चले जाना जो शून्य बना रहा है, उसे कोई आसानी से भर नहीं पाएगा।

पटना से लांच हुआ जागरण समूह का उर्दू अखबार इंकलाब

जागरण समूह के उर्दू अखबार इंकलाब की लांचिंग सोमवार को पटना से हुई. इस मौके पर राज्‍य भर के उलेमाओं को आमंत्रित किया गया था. यह अखबार पटना के अलावा भागलपुर और मुजफ्फरपुर से भी प्रकाशित किया जाएगा. यह अखबार दैनिक जागरण के प्रेस से ही प्रकाशित किया जाएगा. अखबार की लांचिंग के मौके पर इंकलाब के एडिटर नार्थ शकील शम्‍सी और पटना के एडिटोरियल इंचार्ज अहमद जावेद भी मौजूद रहे.

नक्सलियों ने बताई हमले की वजह, निर्दोषों की हत्या पर जताया खेद

नई दिल्ली : नक्सलियों ने एक चिट्ठी लिखकर निर्दोषों, जैसे काफिले में शामिल ड्राइवर, कंडक्टर, कांग्रेस के छोटे नेताओं की हत्या के लिए माफी मांगी है। यह चिट्ठी बीबीसी को भेजी गई है। चिट्ठी के साथ-साथ रिकॉर्ड कराए गए बयान में माओवादियों ने कहा है कि कांग्रेस के काफिले पर हुए हमले में वाहनों के ड्राइवर, खलासी और कांग्रेस के निचले स्तर के नेताओं की मौत हुई है। उसके लिए हमें खेद है।

पटना में आई नेक्‍स्‍ट ने पांच साल किए पूरे

पटना से खबर है कि जागरण समूह के बाइलिंगुअल अखबार आई नेक्‍स्‍ट को पांच साल पूरे हो गए हैं. सोमवार को पांच साल पूरे होने पर आई नेक्‍स्‍ट तथा दैनिक जागरण के कर्मियों ने केक काटकर खुशी मनाई. पूजा-पाठ भी किया गया. इस दौरान आई नेक्‍स्‍ट के संपादकीय प्रभारी चंदन शर्मा समेत कई लोग मौजूद रहे. आई नेक्‍स्‍ट पटना के एफबी वॉल पर भी इसे शेयर किया गया है.

श्‍मशान पर सट्टा की खबर थी प्रायोजित, पुलिस ने कथित सट्टेबाजों की शिनाख्‍त की

वाराणसी : टीवी पत्रकारिता किस तरह के घटिया स्‍तर पर पहुंच गई है, इसकी बानगी है काशी में लाशों की संख्‍या पर सट्टा लगाए जाने की खबर. पुलिस जांच में सामने आया है कि कुछ चैनलों के पत्रकारों और स्ट्रिंगरों द्वारा यह खबर प्रायोजित की गई थी. पुलिस ने सात चैनलों को नोटिस जारी की थी, जिसमें से छह चैनलों के प्रतिनिधि अपना बयान दर्ज करा चुके हैं, जबकि सातवें चैनल की तरफ से अभी कोई नहीं आया है.

‘बेरोजगार’ संजय दत्‍त को मिला ‘रोजगार’, संभालेंगे अखबार

मुंबई। पुणे की येरवडा जेल में सजा काट रहे बॉलीवुड ऐक्टर संजय दत्त अभी तक 'बेरोजगार' थे। लेकिन अब खबर है कि उन्हें वहां पर न्यूज पेपर बाइंडिंग और पेपर फाइल बनाने का काम दिया गया है। फाइलों को एक से दूसरी जगह शिफ्ट करने की जिम्मेदारी भी उनको दी गई है। जानकारों का कहना है कि जेल अथॉरिटी ने सिक्युरिटी की वजह से संजू बाबा को दूसरे कैदियों से अलग रखते हुए यह कदम उठाया है।

कलानिधि मारन सन टीवी में बेचेंगे अपनी दो फीसदी हिस्‍सेदारी

सन टीवी नेटवर्क लिमिटेड के प्रवर्तक कलानिधि मारन ने ऑफर फॉर सेल (ओएफएस) के जरिये कंपनी में 5 रुपये प्रति शेयर की कीमत के हिसाब से 7,881,799 इक्विटी शेयर बेचने का प्रस्ताव रखा है। यह हिस्सेदारी कंपनी की कुल इक्विटी शेयर पूंजी का लगभग 2 फीसदी है।

सुकमा में कांग्रेसी नेताओं पर नक्सली हमला या राजनीतिक साजिश?

रायपुर : छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा के काफिले पर नक्सली हमले के पीछे क्या कोई राजनीतिक साजिश है? यह सवाल कांग्रेसियों के साथ-साथ अब आम जनता की जुबान पर रह-रह कर आ रहा है। आलम यह है कि अब तो प्रदेश के एकमात्र केंद्रीय मंत्री डॉ. चरणदास महंत और नेता प्रतिपक्ष रवींद्र चौबे को भी यही संदेह है, इन नेताओं ने घटना को लेकर कुछ बड़े सवाल भी उठाए हैं।

लोकमत के वरिष्ठ पत्रकार सतीश सुदामे का निधन

औरंगाबाद से प्रकाशित लोक मत के मुख्य  उपसंपादक सतीश सुदामे का एक हादसे मे  रविवार की सुबह निधन हो गया.सुदामा अपने घर की छत से  आम तोड रहे थे अचानक  वो 25 फिट नीचे गिर गए और उनके सिर में गहरी चोट आई.

न्‍यूज एक्‍सप्रेस के दो नए चैनलों की लांचिंग प्रकिया शुरू, होंगे दर्जनों तबादले

साईं प्रसाद मीडिया के चैनल न्‍यूज एक्‍सप्रेस के विस्‍तार की तैयारियां शुरू हो गई हैं. प्रबंधन जल्‍द ही हिंदी और मराठी में दो रीजनल चैनल लांच करने जा रहा है. न्‍यूज एक्‍सप्रेस नेशनल पहले से ही संचालित हो रहा है. दोनों रीजनल चैनलों के लिए पहले चरण की भर्ती प्रक्रिया पूरी की जा चुकी है. प्रबंधन मध्‍य प्रदेश-छत्‍तीसगढ़ बेस्‍ड हिंदी रीजनल चैनल न्‍यूज एसक्‍सप्रेस एमपी-सीजी और मराठी भाषी न्‍यूज एक्‍सप्रेस महाराष्‍ट्रा जल्‍द ही लांच करने जा रहा है.

उत्तराखण्ड के वरिष्ठ पत्रकार गिरीश तिवारी का दिल का दौरा पड़ने से निधन

देहरादून के वरिष्ठ पत्रकार गिरीश तिवारी का आज दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। गिरीशचन्द तिवारी साप्ताहिक उत्तरांचल नमन के मुद्रक व संपादक थे। वे लगभग 50 वर्ष के थे। राज्य गठन से पूर्व तिवारी लखनऊ में भी पत्रकारिता कर चुके थे।

इंदौर शहर के सिटी जर्नलिज्म पर पुस्तक का प्रकाशन करेगा इंदौर प्रेस क्लब

इंदौर। इंदौर प्रेस क्लब शहर की चार दशकों की नगरीय पत्रकारिता (सिटी जर्नलिज्म) पर एक पुस्तक का प्रकाशन करने जा रहा है। यह पुस्तक वरिष्ठ पत्रकार स्व. गोपीकृष्ण गुप्ता और स्व. विनय लाखे की स्मृतियों को समर्पित रहेगी। इंदौर प्रेस क्लब अध्यक्ष प्रवीण कुमार खारीवाल और महासचिव अरविंद तिवारी ने बताया कि देश के शीर्ष पत्रकारों की सूची में इंदौर के पत्रकारों और फोटोग्राफर्स ने चमकदार नाम दर्ज कराया है, इसी तरह इंदौर की नगरीय पत्रकारिता (सिटी जर्नलिज्म) ने भी इस देश में अपनी विशिष्ट पहचान बनाई है।

फरीदाबाद के अस्‍पताल में फर्जी पत्रकार पकड़ाया

फरीदाबाद के बादशाह खान अस्पताल में एक फर्जी पत्रकार को लोगों ने पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया. जब इससे पहले पूछा गया तो इसने अपने आप को एक अखबार का पत्रकार तथा  अस्पताल के पीएमओ का रिश्तेदार बताया लेकिन इसके ऊपर जब शक हुआ तो लोगों ने उसे पकड़ कर स्थानीय पुलिस के हवाले कर दिया. पुलिस ने जांच की तो इस फर्जी पत्रकार की पोल खुल गई.

खालिद मुजाहिद आतंकी था तो मुआवजा क्‍यों?, कोर्ट में चुनौती

Nutan Thakur : खालिद मुजाहिद के परिवार को मुआवजा को हाई कोर्ट में चुनौती. मैंने कथित आतंकी खालिद मुजाहिद के परिवार को छह लाख रुपये मुआवजा दिए जाने को चुनौती देते हुए एक रिट याचिका आज इलाहाबाद हाई कोर्ट, लखनऊ बेंच में दायर किया है.

महाराणा प्रताप को भारत के बारे में पता भी था या नहीं?

Shambhunath Shukla : आज से सोनी टीवी पर एक सीरियल भारत का वीर पुत्र महाराणा प्रताप का प्रसारण शुरू होगा। मुझे समझ नहीं आ रहा कि महाराणा प्रताप को भारत के बारे में पता भी था या नहीं? अगर पता होता तो वे अकबर के प्रस्ताव का विरोध न करते। असली भारत की अवधारणा इस देश में पहली दफे अकबर ने ही पेश की थी। उसके पहले के दिल्ली सुल्तान बस दिल्ली के ही सुल्तान थे जिसके तहत दिल्ली और इलाहाबाद तक का दोआबे का हिस्सा आता था। अगर किसी को भारतपुत्र कहलाने का हक है तो सिर्फ अकबर को।

सिर्फ मीडिया मेरा इस्‍तीफा चाहता है : श्रीनिवासन

चेन्नई : आईपीएल स्पाट फिक्सिंग प्रकरण के बावजूद अपना पद नहीं छोड़ने का फैसला करने वाले बीसीसीआई अध्यक्ष एन श्रीनिवासन ने कहा कि उनसे इस्तीफे की मांग ‘उनके पीछे पड़ा मीडिया’ कर रहा है। श्रीनिवासन के दामाद और चेन्नई सुपरकिंग्स के सीईओ गुरुनाथ मयप्पन को सट्टेबाजी के आरोपों में गिरफ्तार किया गया है।

Politics of Violence and Counter Violence will only Maim Adivasis

: NAPM Condemns the Ambush by Maoists in Bastar : Increased Militarisation in the Region would be no Solution : New Delhi : Once again in the ongoing politics of offensive and counter offensive between State and Maoists, adivasis have lost their lives. In an ambush on the convoy carrying Congress leaders, Maoists have reportedly killed 27 people and injured several others including senior Congress leader, V C Shukla.

यूपी के डीजीपी ने थानेदारों को मीडिया से दूर रहने की ताकीद की

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री समाजवादी अखिलेश यादव भले ही प्रदेश की पुलिस को आम जनता से जुड़ने व मीडिया फ्रैंडली होने का पाठ पढ़ा रहे हों। लेकिन उनके सिपहसालारों को शायद यह मंजूर नहीं है। शायद यही कारण है कि प्रदेश पुलिस के लिए एक बार फिर बसपा सरकार के दौर का तुगलकी फरमान जारी कर दिया गया है। डीजीपी की ओर से सभी जिलों के कप्तानों को भेजे गए पत्र में निर्देशित किया गया है कि वे अपने यहां के थानेदारों को मीडिया से दूर रहने की ताकीद कर दें। किसी थानेदार ने मीडिया से घनिष्ठता बढ़ाई तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। केवल राजपत्रित अधिकारी ही मीडिया से बात करेंगे और पीआरओ सेल सूचनाएं प्रदान करेगी।

मीडिया से क्‍यों बच रहे हैं महेंद्र सिंह धोनी?

कोलकाता : चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी स्पॉट फिक्सिंग प्रकरण के चलते दो दिन में दूसरी बार मीडिया का सामना करने से बचे लेकिन कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने कप्तान का बचाव करते हुए कहा कि सभी जानते हैं कि वह एकांत में रहने वाला व्यक्ति है।

अंकुर ने मुंबई मिरर ज्‍वाइन किया, विद्या वर्मा हमार टीवी से जुड़ीं

मुंबई से खबर है कि अंकुर पाठक ने अपनी नई पारी टाइम्‍स ऑफ इंडिया समूह के अखबार मुंबई मिरर के साथ की है. उन्‍हें अखबार में इंटरटेनमेंट रिपोर्टर के पद पर ज्‍वाइन कराया गया है. अंकुर इसके पहले लोकापर्ण, देसीमार्टिन वेबसाइट तथा ऑल स्‍ट्रीट जर्नल के लिए भी फ्रीलांसिंग करते रहे हैं. इन्‍होंने ग्‍लोबल मूवी, सीएनएनआईबीन तथा पीपुल मैगजीन जैसे संस्‍थानों के साथ इंटर्न भी किया है. मुंबई के नेशनल कॉलेज से बीकॉम और जयहिंदु कालेज से मास कॉम में पासआउट अंकुर राष्‍ट्रीय सहारा के वरिष्‍ठ पत्रकार हरीश पाठक के पुत्र हैं.

एएसपी और एसडीएम ने हापुड़ में पत्रकारों का धरना समाप्‍त करवाया

हापुड़ में टीवी पत्रकार चंदन सिंह के साथ कोतवाल राजेंद्र कुमार यादव द्वारा की गई मारपीट के विरोध में चल रहा धरना पांचवें दिन खतम हो गया. हालांकि इसमें पत्रकारों की मांग नहीं मानी गई. धरना स्‍थल पर एसडीएम जयशंकर मिश्र और अपर पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने पहुंचकर पत्रकारों को समझाया बुझाया तथा आगे ऐसी घटना ना होने देने का आश्‍वासन दिया, जिसके बाद पत्रकारों ने अपना धरना समाप्‍त किया. हालांकि कोतवाल के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग पूरी नहीं हुई.

स्ट्रिंगरों का करोड़ों का मेहनताना साधना वालों ने हड़पा

आर्थिक बदहाली और भुखमरी के कगार पर पहुंच चुके साधना न्यूज के स्ट्रिंगर्स लामबंद हो रहे हैं. अब ये सभी साधना न्यूज चैनल के मालिकों के खिलाफ दिल्ली में धरना प्रदर्शन और आंदोलन करने जा रहे हैं. आर्थिक शोषण और उत्पीड़न के शिकार संवाददाता-स्ट्रिंगरों  ने साधना न्यूज चैनल के मालिकों और प्रबंधकों के कारनामों की पूरी फेहरिश्त तैयार की है. इस फेहरिश्त में कुछ 'आधिकारिक दस्तावेज' भी शामिल हैं. 

साहित्यिक पर्व में मनोज भावुक का एक कथा पाठ

कथाकार मनोज भावुक को बहुत कम लोग जानते हैं क्योंकि उनकी लोकप्रियता एक कवि एवं फिल्म समीक्षक के रूप में ही ज्यादा रही है. गत दिनों मैथिली-भोजपुरी अकादमी, दिल्ली द्वारा त्रिवेणी कला संगम, मंडी हाउस में आयोजित तीन दिवसीय ''साहित्यिक पर्व'' में मनोज कथाकार रूप नजर आए. वह एकल कथा पाठ के अंतर्गत अपनी प्रेम कहानियों का अभिनेयता के साथ पाठ कर रहे थे. 6 दिसंबर 1992 को बाबरी मस्जिद के ध्वस्त होने पर कैसे दो प्रेमी बिछुड़ते हैं और फिर किन विषम परिस्थितियों में उनका मिलन होता है, इसका बहुत हीं मार्मिक चित्रण मनोज ने अपनी प्रेम कहानी ''कहानी के प्लाट'' में किया है.

इन हत्याओं पर आंसू मत बहाइए, निर्णायक लड़ाई का संकल्प लीजिए

माओवादी आतंकवाद के विकृत स्वरूप पर बौद्धिक विमर्शों का समय अब निकल गया है। आईएसआई, कश्मीर में सक्रिय आतंकी संगठनों, नेपाल के माओवादियों और बंग्लादेश के रास्ते जाली करेंसी, अवैध हथियार लेने वाले इन नरभक्षियों के दिखावटी जनयुद्ध की बकवास पर चोंचें लड़ाने के बजाए इस आतंकी अभियान से निर्णायक जंग लड़ने का समय अब आ गया है। बस्तर के सुकमा जिले की दरभा घाटी में शनिवार की शाम माओवादियों ने जो कुछ किया अब उसके बाद हमारे राजनीतिक और प्रशासनिक तंत्र को समझ लेना चाहिए कि भ्रष्ट राजनीति और निकम्मी नौकरशाही की सीमाएं क्या हैं। लोकतंत्र को बचाने के लिए हमें क्या कीमत चुकानी पड़ सकती है उसकी यह एक मिसाल है।

दिल्‍ली को खेतमुक्‍त बनाना चाहती हैं शीला दीक्षित!

दोपहर तीन बजे का समय। साथ में बुजुर्ग किसान बाबा। मन में यह इच्छा हुई कि दिल्ली में किसी खेत को देखा जाए। मैंने बाबा से निवेदन किया कि अगर आपको तकलीफ न हो तो क्या आप खेत दिखा सकते हैं? मना नहीं कर सके थे मेरे निवेदन को बुजुर्ग किसान बाबा। मयूर विहार फेस- एक से आधा एक किलोमीटर पैदल चलकर खेत को आसानी से देखा जा सकता है, परखा जा सकता है छूकर भी और चलकर भी।

भाकपा (माले) ने कांग्रेसी नेताओं पर माओवादियों के हमले की निंदा की

छत्तीसगढ़ के बस्तर अंचल में 25 मई को कांग्रेस की ‘‘परिवर्तन रैली’’ पर माओवादियों द्वारा हमला किया गया, जिसमें महेन्द्र कर्मा सहित कई कांग्रेसी नेता मारे गए हैं और विद्याचरण शुक्ला सहित अनेक घायल हुए हैं। यह माओवादियों की आत्मघाती कार्यवाही है जिससे आदिवासी जनता पर राजकीय आतंक और भी तेज होगा।

चंद पैसों में बेच देते हैं अखबारों का आई कार्ड!

दिल्ली में कथित अखबार वाले खासतौर पर क्राइम, मानवाधिकार जैसे मिलते जुलते नामों के कथित अखबारों के मालिक अपने अखबारों का कार्ड चंद पैसों में बेच देते हैं और वो चाहे कार्ड लेने वाले अनपढ़ रिक्शे वालों से लेकर माफिया या बिल्डर हों, उन्हें कोई मतलब नहीं है. हालांकि समाचार पत्र का declaration dcp (L) को फाइल करते हुए समाचार पत्र के मालिक से लिखवाया जाता है कि वो कार्ड को बेचेगा नहीं और ना ही किसी भी तरह के सरकारी /पुलिस /फ़ोर्स आदि के लोगो (LOGO) को अपने कार्ड में use करेगा, लेकिन आज भी दिल्ली में कई कथित समाचार पत्र इस नियम की अवहेलना कर रहे हैं. 

अवैध है तारा न्यूज और तारा म्यूजिक चैनलों का अधिग्रहण!

बिना कानूनी प्रावधान के तारा न्यूज और तारा म्यूजिक चैनल का अधिग्रहण करने मुख्यमंत्री का दांव फेल हो गया। केंद्रीय सूचना और प्रसारण ​​मंत्रालय ने साफ साफ बता दिया है कि मौजूदा प्रावधानों के मुताबिक ऐसा हो नहीं सकता और इस तरह का अधिग्रहण अवैध है। यह अदालती फैसला नहीं है। अदालत तक मामला पहुंचने से पहले ही केंद्र सरकार ने लाल झंडी दिखा दी। ट्राई भी ऐसी इजाजत नहीं देता। अब क्या करेंगी दीदी?

‘आउटर’ पर बिक रहा पानी रिपोर्टरों के लिए क्‍यों एक्‍सक्‍लूसिव खबर है?

इंडिया टीवी इलाहाबाद के पत्रकार इमरान लईक ने आउटर पर बेरोजगार किशोरों की पलटन (रिपोटर्रों की भाषा में अवैध वेंडर) द्वारा बेचे जा रहे बोतल बंद पानी पर एक शानदार एक्सक्लूसिव खबर शूट की है। फेसबुक पर इसी स्टोरी का एक मुखड़ा व उसकी तीन-चार फोटूवें भी नजर आयीं। यह खबर हमें अंदरखाने यह बताती है कि तमाम लड़के जो बोतलबंद पानी इस समय यात्रियों को पिला रहे हैं, वह पेप्सी का एक्वाफिना नहीं है और न ही कोक का केनली। यह तो बोतल नकली है और शायद पानी भी, जो दूषित भी हो सकता है, आपका बना बनाया स्वास्थ्य चौपट कर सकता है।

दैनिक जागरण, पौड़ी से गौरव नौडियाल का इस्‍तीफा

गढ़वाल मंडल मुख्यालय पौड़ी में लंबे समय से दैनिक जागरण की जिम्‍मेदारी संभाल रहे गौरव नौडियाल ने इस्तीफा दे दिया है. गौरव जिले के तेजतर्रार पत्रकारों में शामिल हैं. बाम पंथी विचार धारा के गौरव जागरण प्रबंधन से नाराज चल रहे थे. उन से पहले नवीन खंडूरी भी दैनिक जागरण को छोड़ कर चले गये थे. इसके बाद जागरण ने कुछ समय पहले गोपेश्वर अमर उजाला से गुरविंदर को तोड़ कर गौरव के ऊपर लाकर बिठा दिया था, जिससे गौरव नाराज  चल रहे थे.

पत्रकार मारे जाते हैं तो हंगामा क्यों नहीं होता

Arvind K Singh : हंगामा है क्यों बरपा…अचानक कुछ प्रतिक्रयाएं पुलिस जवानों को लेकर आ रही हैं…नक्सली हिंसा में छत्तीसगढ़ और तमाम जगहों पर केंद्रीय राज्य पुलिस बल के जवान मारे जाते हैं तो हंगामा क्यों नहीं होता…पत्रकार मारे जाते हैं तो हंगामा क्यों नहीं होता.. तमाम जवान बारूदी सुरंगों से हवा की तरह उछल जाते हैं.. उनको देखने तक जाने की संवेदना किसी राजनेता में नहीं होती..न ही बड़े प्रबुद्ध और आज बहस चला रहे लोगों में…जब ऐसी घटनाएं होती हैं तो हम इंकलाब जिंदाबाद करने लगते हैं औऱ लगता है पूरी दुनिया बदल जाएगी.

एक स्वघोषित पत्रकार बंधु को लाइम लाइट में आने का शौक चर्राया

बीते दिनों एक पत्रकार बंधु (जैसा कि वे स्वयंघोषित रूप से खुद को कहते फिरते हैं) को लाइम लाइट में आने का शौक चर्राया। बड़ी-बड़ी फेंकने में माहिर इस पत्रकार का कुल जमा खाका ये है कि भले ही बस से जाएं, पर दिखाएंगे यूं कि मर्सिडीज से उतर कर आए हैं, जो उनके इंतजार में मय ड्राइवर कहीं खड़ी हो। एक शब्द का इस्तेमाल बार-बार करते हैं ‘वैकल्पिक मीडिया’। और यूं दर्शाते हैं मानों वे ही वैकल्पिक मीडिया के भावी कर्णधार हों (भले ही वैकल्पिक मीडिया का सिर-पैर तक न मालूम हो)।

जस्टिस आरवी रवींद्रन बने एनबीएसए के अध्‍यक्ष

नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज आरवी रवींद्रन न्यूज ब्रॉडकास्टिंग स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी (एनबीएसए) के अध्‍यक्ष नियुक्‍त किए गए हैं. एनबीएसए चैनलों के कंटेंट पर नजर रखने वाली एक इंडिपेंडेंट और सेल्फ-रेग्युलेटरी बॉडी है, जिसका गठन न्यूज ब्रॉडकास्टर्स असोसिएशन (एनबीए) और प्रमुख न्यूज चैनलों ने किया है. जस्टिस रवींद्रन 2011 में सुप्रीम कोर्ट से …

वरिष्‍ठ पत्रकार एनपी सिंह ने स्‍टार इंडिया ज्‍वाइन किया

पिछले दिनों प्रभात खबर, दिल्‍ली से इस्‍तीफा देने वाले नेशनल एडिटर एनपी सिंह ने सोमवार को स्‍टार इंडिया ज्‍वाइन कर लिया है. उन्‍हें कंपनी में वीपी कम क्रिएटिव डाइरेक्‍टर बनाया गया है. खेल पत्रकारिता में अपना लोहा मनवा चुके एनपी सिंह पिछले बीस सालों से पत्रकारिता से जुड़े हुए हैं. इनकी प्रिंट और इलेक्‍ट्रानिक दोनों माध्‍यमों पर अच्‍छी पकड़ है.

सीएमजे यूनिवर्सिटी ने फर्जी डिग्री बांटने के आरोपों को बताया निराधार

गुवाहाटी। सीएमजे यूनिवर्सिटी ने अपने ऊपर लगे फर्जी डिग्री बांटने के आरोपों को पूरी तरह से खारिज किया है। आज यहां गुवाहाटी प्रेस क्लब में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में यूनिवर्सिटी के प्रवक्ता तथा कानूनी सलाहकार एसपी शर्मा ने कहा कि सीएमजे पर लगाए जा रहे आरोप पूरी तरह से निराधार और मनगढ़ंत है। इन आरोपों का वास्तविकता से कोई लेना-देना नहीं है। क्योंकि छानबीन जारी है और मामला कोर्ट में विचाराधीन है।

मुरादाबाद में सेक्‍स रैकेट के खुलासा से पत्रकारिता में हड़कम्‍प, डायरी में कई पत्रकारों के नाम

मुरादाबाद से खबर है कि पुलिस ने एक बड़े सेक्‍स रैकेट का खुलासा किया है. इस सेक्‍स रैकेट की मालकिन पिंकी नाम की एक 28 साल की महिला है. पर इसमें चौंकाने वाली बात यह है कि पुलिस को पिंकी के पास से एक डायरी मिली है, जिसमें कुछ पत्रकार और पुलिसकर्मियों के नाम भी लिखे गए हैं. इसमें यह भी लिखा है कि किसको कितने महीने दिए जाते हैं. बताया जा रहा है कि इसके बाद से ही मुरादाबाद की पत्रकारिता जगत में हड़कम्‍प मचा हुआ है.

रिलायंस मोबाइल के मैसेज ने पति-पत्नी में कराया झगडा!

मुरादाबाद : जी हाँ, चौंकिये मत ये खबर सोलह आने सच है कि रिलायंस की मोबाइल कंपनी ने मुरादाबाद के एक हँसते खेलते परिवार में झगड़ा करवा दिया. हुआ यूँ कि २५ मई की शाम वसीम (बदला हुआ नाम) रोज़ की तरह अपने घर पंहुचा और फ्रेश होने के लिए बाथरूम में चला गया, उसके जाते ही उसके रिलायंस मोबाइल पर एक मैसेज आया, जिसमें लिखा था "आज घर पर कोई नहीं है, मुझे कॉल करो जल्दी- प्रिया" इस मैसेज को उसकी पत्नी ने पढ़ लिया और वो आग बबूला हो गई.

आजतक से जुड़े साईंराम, टीवी100 से ब्रजेश्‍वर का इस्‍तीफा

अहमदनगर से खबर है कि साईंराम गार्डे को आजतक का जिला प्रतिनिधि बनाया गया है. वे पिछले पन्‍द्रह सालों से पत्रकारिता में सक्रिय हैं. साईंराम इसके पहले न्‍यूज लाइन, मी मराठी, लाइव इंडिया जैसे चैनलों के प्रतिनिधि के रूप में भी काम कर चुके हैं. इनकी गिनती अहमदनगर के अच्‍छे पत्रकारों में की जाती है. साईंराम की नियुक्ति पत्र आजतक के गुजरात ब्‍यूरोचीफ पंकज खेलकर ने प्रदान किया.

सबने सीबीएसई रिजल्‍ट आने की तिथि छापी, आई नेक्‍स्‍ट ने कन्‍फ्यूजन छापा

अपने को खुद को युवाओं का अखबार कहने वाला आई नेक्‍स्‍ट किसके लिए प्रकाशित होता है भगवान ही जाने, आई नेक्‍स्‍ट, बनारस में एक खबर प्रकाशित हुई थी कि रिजल्‍ट निकलने की तिथि को लेकर असमंजस में हैं छात्र. जबकि सच यह था कि अन्‍य अखबारों में उसी दिन सीबीएसई के रिजल्‍ट निकलने की डेट आई थी, लेकिन जागरण का बच्‍चा अखबार में यह खबर प्रकाशित ही नहीं हुई. आसानी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह अखबार कैसे कर्मठ लोगों के हाथों में है.

राज एक्‍सप्रेस के बैतूल कार्यालय में नहीं जड़ा गया था ताला

कुछ दिन पहले राज एक्‍सप्रेस, बैतूल के पूर्व ब्‍यूरो चीफ दिलीप सिकरवार ने एक खबर लिखी थी कि किराया नहीं देने पर मकान मालिक ने बैतूल कार्यालय में ताला जड़ दिया है. इस खबर के बाद राज एक्‍सप्रेस की तरफ से प्रशासनिक अधिकारी महेश शर्मा ने भड़ास को एक पत्र भेजा है, जिसमें उन्‍होंने अपना पक्ष रखने के साथ यह भी बताया है कि बैतूल ऑफिस में ताला नहीं जड़ा गया था. दिलीप सिंह सिकरवार ने द्वेषपूर्ण रवैया अपनाते हुए गलत खबर लिखी है. नीचे महेश द्वारा भेजा गया पत्र…

जून के आखिर में होगा मर्डोक के न्‍यूज कार्पोरेशन का विभाजन

मीडिया मुग़ल रूपर्ट मर्डोक के नेतृत्व वाले न्यूज कॉर्पोरेशन का विभाजन जून के अंत में होगा। न्यूज कॉर्पोरेशन ने 24 मई को इसकी घोषणा की। यह योजना निदेशक मंडल द्वारा पारित की गई है, जिसके मुताबिक न्यूज कॉर्पोरेशन के अधीनस्थ मनोरंजन और प्रकाशन व्यापार दो संस्थाओं में विभाजित होगा।

मीडिया में क्यों खौलता है ज्वालामुखी!

मृत्युलोक के मीडिया में आजकल ज्वालामुखी धधकने लगे हैं। अदने और पैंदने लावा समूचे मृत्युलोक को राख का ढेर बनने को मैराथन बैठकों में माथापच्ची कर रहे हैं। इस जमात में वे कथित और तथाकथित लोग-लुगाई भी शामिल हैं, जिनके पास जुगाड़े हुये परिचय पत्र हैं। वह सब चलचित्रों एवं प्रिंट मीडिया के लिये क्या योगदान देते हैं, यह बहुत कम लोगों को जानकारी होती है। हजारों अफसर, सरकारी, गैर सरकारी कर्मचारी और जनता बस उनके वाहन पर प्रेस लिखा देख कर ही चकरघिन्नी की तरह नाचने लगती है। उन्हें चाहिये भी यही। ऐसे लोग-लुगाई प्रेस लिखे वाहनों में अपना गोरखधंधा शान के साथ करते रहते हैं।

“Puja threatened us that register our house and all other property on my name otherwise I will take poison”

Hello sir/madam,I am Pushpa Sharma R/O 13/454, Preet Vihar, Bulandshahr, (U.P.) aged 65 years and my husband is 70 years old. My only son named Rahul Sharma married Puja Sharma D/O Satya Prakash Sharma, village Bailon, Narora (U.P.) on 27th November, 2009. After 15 days of marriage, Puja threatened us that register our house and all other property on my name otherwise I will take poison and you all will be in jail in dowry case. At that time we were helpless as our nation law supports girls whether they are right or wrong. We tried to talk to her family as well but they were also supporting her only.

जो ‘रेड कारपेट’ की तस्वीरें यहां छपती है वह खरीदी गई होती है

आस्ट्रेलियाई निर्देशक बज़ हलमान की फिल्म ‘द ग्रेट गट्सबाई’ के प्रदर्शनके साथ दुनिया के सबसे बड़े फिल्म मेले कान फिल्मोत्सव की शुरुआत हो रही है। 15 से 26 मई तक चलने वाले इस फिल्मोत्सव में भारत को ‘अतिथि देश’ का दर्जा दिया गया है। इसकी वजह यह बताई जा रही है कि इस बहाने कान फिल्मोत्सव भारतीय सिनेमा के – सौ साल पूरे होने की ऐतिहासिक घटना का उत्सव मना रहा है। यह समारोह कान फिल्मोत्सव का 66वां संस्करण है।

स्ट्रिंगर विरोधी है गुजरात से लांच होने वाला न्यूज चैनल ‘जानो दुनिया’!

यशवंत जी प्रणाम, मैं आपको बताना चाहता हूँ कि खबरों की दुनिया में एक नया नेशनल चैनल शुमार हुआ है जिसका नाम है जानो दुनिया. जानो दुनिया गुजरात के अहमदाबाद से शुरू हुआ है. चैनल शुरू होते ही जानो दुनिया पर देश के चारों कोनों से ख़बरों का आना शुरू हो गया है, जो एक न्यू चैनल के अच्छी बात है. फिर भी मैं आप सब को यह बताना चाहूँगा कि इस चैनल ने तमाम चैनलों के उन स्ट्रिंगर्स/रिपोर्टर्स को शामिल किया है, जो पहले से कई चैनलों को अपनी सेवाएं दे रहे हैं. 

देखिए और पढि़ए.. स्‍वतंत्र ‘वीरू’ मिश्रा के किसी ”शुभचिंतक” की मेहनत

सहारा मीडिया के पूर्व हेड स्‍वतंत्र मिश्रा दो दिन पूर्व सुर्खियों में रहे. हालांकि वो चाहते तो शायद यह खबर सुर्खी नहीं बनती, लेकिन आदत से मजबूर मिश्रा जी ने मौके पर चौका मारने की सोची, परन्‍तु रन आउट हो गए. लखनऊ विश्‍वविद्यालय की एलएलबी परीक्षा में नकल करते पकड़े गए तो पत्रकार होने की हेकड़ी काम नहीं आई. पहले अध्‍यापकों को अर्दब में लेने की पहली रणनीति अपनाई. यह बेकार चली गई.

पत्रकार को जिलाबदर करने के डीएम के आदेश पर हाई कोर्ट की रोक

जनसंदेश टाइम्‍स, भदोही के पत्रकार सुरेश गांधी के खिलाफ जिलाधिकारी द्वारा गुंडा एक्ट के तहत की गयी जिलाबदर की कारवाई पर हाईकोर्ट की डबल बेंच ने रोक लगा दी है। यह आदेश न्यायमूर्तिगण सुरेन्द्र सिंह व मुशाफे अहमद की खंडपीठ ने अधिवक्ता केके राय व शम्स विकास के दलीलों को सुनने के बाद दी। अधिवक्ता ने बताया कि याची के निर्भीक व निष्‍पक्ष लेखन से कुपित होकर जिलाधिकारी अमृत त्रिपाठी ने जिस आरोप को आधार बनाकर जिलाबदर का आदेश पारित किया वह तर्क संगत नहीं था।

उन्‍हें क्या पता था कि मौत उनके इतने करीब खड़ी है

Sanjay Dwivedi : तुमको न भूल पाएंगे : अभी कुछ ही दिन तो हुए रायपुर गए हुए। श्री नंदकुमार पटेल के शंकर नगर स्थित बंगले पर उनसे मुलाकात हुयी। बहुत खुश थे वे। बेटे की शादी की खुशी। उन्होंने कहा “आना है आपको।” मैंने उन्हें अपनी पत्रिका “मीडिया विमर्श’ का सिनेमा अंक दिया। उन्होंने पूछा “कैसे इतना काम कर लेते हो यार।” मैंने कहा “आप जैसे नेताओं से तो कम ही करता हूं।” नाश्ता कराया। साथ में मेरे साथी पत्रकार बबलू तिवारी भी थे।

श्रीनिवासन को लेकर, सरकार देखेगी फिलहाल ‘तमाशा’

मई की इस तपिश ने देश के तमाम हिस्सों में नए रिकॉर्ड बनाने शुरू कर दिए हैं। सो, मीडिया में बढ़ते ताममान की सुर्खियां भी रोज बनने लगी हैं। इसी के साथ क्रिकेट के बहुचर्चित स्पॉट फिक्सिंग के मामले में प्रतिदिन कुछ नए-नए खुलासे हो रहे हैं।

पत्रकार बनाने के नाम पर पैसे वसूलने वाला गिरफ्तार

लखनऊ। हजार, डेढ़ हजार रुपए लेकर विभिन्न समाचार पत्रों के पहचान पत्र बनाकर ठगी करने वाले जालसाज को हजरतगंज पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जालसाज ने शनिवार को सैकड़ों लोगों को ट्रेनिंग के लिए दारूलशफा में बुलाया था। जालसाजी का भंडाफोड़ होने पर लोगों ने जमकर हंगामा किया। पुलिस ने मौके से ही जालसाज को गिरफ्तार कर लिया।

श्री टाइम्‍स ने दैनिक भास्‍कर से चुराकर छाप दिया सुजीत ठाकुर का लेख!

जिस दौर से पत्रकारिता गुजर रही है उस दौर में नैतिकता और सरोकार की बात करना तो बेमानी है. अब तो दौर चोरी और सीनाजोरी का है. नैतिकता का हाल यह है कि जो लोग पेड न्‍यूज छापते हैं वो ही अपने अखबारों में पेड न्‍यूज के खिलाफ लंबा चौड़ा भाषण लिखते हैं. यानी राजनीतिक के साथ पत्रकारिता के कई संस्‍थानों ने अपना शर्म बेच दिया है. ताजा मामला यह है कि सुजीत ठाकुर दैनिक भास्‍कर के वरिष्‍ठ पत्रकार हैं. ये अखबार के लिए भाजपा का बीट कवर करते हैं.

जिस जिले ने प्रदेश को रोशन किया वहां है सबसे ज्‍यादा अंधियारा

यहाँ मैं ऐसे जिले के बारे में जिक्र करने जा रहा हूँ जिससे सम्पूर्ण उत्तर प्रदेश सुविधाएँ लेता है। उत्तर प्रदेश के अलावा देश के अन्य भाग भी इससे सुविधायें प्राप्त करते हैं। मैं बात कर रहा हूँ उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले का। भौगोलिक दृष्टि से सोनभद्र देश का एकमात्र जिला है जिसकी सीमायें चार राज्यों को छूती हैं। सम्पूर्ण उत्‍तर प्रदेश व भारत के कई क्षेत्र यहाँ की बिजली परियोजनाओं से रोशन होते हैं। इस जिले में स्थापित सीमेन्ट फैक्ट्रियों, एल्युमिनियम फैक्ट्रियों, यहाँ के गिट्टी व बालू इत्यादि मटेरियल्स से सम्पूर्ण उप्र व देश में इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार होते हैं।

पत्रकारों को पेंशन या झुनझुना : अधिकारियों ने लगाया गहलोत के आदेश में अड़ंगा

प्रदेश में अब तक जितने भी मुख्यमंत्री रहे हैं, उनमें से पत्रकारों का तहे दिल से भला चाहने वालों में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का स्थान सर्वोपरि है। इस तथ्य को उनके कटु आलोचक भी नकार नहीं सकते। मुख्यमंत्री गहलोत ने अपने पहले मुख्यमंत्रित्व काल में ही इसका आभास करा दिया था कि पत्रकारों की भलाई के मामले में उनकी कथनी और करनी में कोई फर्क नहीं है। इसी भावना के तहत एक दशक पहले उन्होंने पत्रकारों के लिए रियायती दर पर आवासीय भूखण्ड आवंटन योजना शुरू कर रहवास की समस्या का समाधान किया था।

धोखाधड़ी-भ्रष्‍टाचार सिर्फ राजनीतिक गलियारों में होती है?

पिछले दिनों रेल मंत्री पवन बंसल अपने भांजे की वजह से मुसीबत में फंस गये। चुनाव सर पर है इसलिए इस्तीफा भी देना पड़ गया। भांजे ने मामा जी के रसूक का फायदा उठाकर प्रमोशन दिलवाने के लिए रिश्वत ले बैठे और और फंसे बेचारे मामा जी। अब ये और बात है कि आखों ही आखों में ईशारे हुए या नहीं ये तो खुदा ही जानता होगा या खुद मामा जी। लेकिन ये पहली बार तो नहीं है कि किसी मंत्री का रिश्तेदार उसके रसूक का फायदा उठाकर अपना उल्लू सीधा किया हो। भाई भतीजा वाद तो राजनीति की ह़की़कत है अगर यहां लिस्ट गिनवाऊ तो फेहरिस्त काफी लम्बी हो जायेगी।

पहली ही स्टोरी से मैं लाइम लाइट में आ गया : शंभूनाथ शुक्‍ल

Shambhunath Shukla : १९७१ से १९७७ तक के साल मैंने इस तैयारी में लगाए कि अब मुझे क्या करना चाहिए। सभी विकल्प खुले थे। राजनीति में जाने के, पत्रकारिता में जाने के और साहित्य के क्षेत्र में जाने के भी। हर रविवार को कामतानाथ जी के यहां होने वाली रविवारीय बैठक में मैंने प्रलेस को भी खूब देख लिया था और दूसरे गुट के साहित्यकारों को भी। एक रास्ता ट्रेड यूनियनों में जाने का भी था। पर हर एक की सीमा थी और अपने वैचारिक बंधन थे। इसमें पत्रकारिता का क्षेत्र मुझे कुछ अपने हिसाब से करने के लिए उपयुक्त लगा इसलिए मैंने इसी क्षेत्र को चुना।

ट्विटर का धोखा, विदेशी आईटी प्रोवाइडर देश के कानून से ऊपर!

जहाँ भारतीय इन्टरनेट सर्विस प्रोवाइडर देश के क़ानून का पालन करते हुए आईटी एक्ट के तहत बने नियम के अनुसार शिकायत अधिकारी नियुक्त कर रहे हैं, वहीँ विदेशी प्रोवाइडर देश के क़ानून को कुछ नहीं समझते. सामाजिक कार्यकर्ता अमिताभ और नूतन ठाकुर द्वारा इलाहाबाद हाई कोर्ट में दायर याचिका के सम्बन्ध में इलेक्ट्रानिक और सूचना प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा प्रेषित सूचना से यह बात सामने आई है.

युवा पत्रकारों को अपनी ताकत का एहसास नहीं है

तीस मई को हिन्दी पत्रकारिता दिवस मनाते हैं। ये दिवस बेहद अर्थवान हैं, खासकर पत्रकारिता के लिये। यहां मैं मीडिया शब्द से परहेज करने की कोशिश करूंगा क्योंकि मेरा मानना है कि मीडिया का अर्थ पत्रकारिता से एकदम जुदा है। बहरहाल, हम पत्रकारिता के संदर्भ में बात करेंगे। दादा माखनलाल की विश्व प्रसिद्व रचना है पुष्प की अभिलाषा। इस कविता में उन्होंने फूल की विन्रमता का बखान किया है और इससे जुड़ी बात कलम की मैं कहता हूं। कलम भी आपको विनम्रता सिखाती है।

अमर उजाला, रोहतक के यूनिट हेड बने बजरंग, पंकज के जिम्‍मे सर्कुलेशन

अमर उजाला समूह रोहतक में अपने 19वें यूनिट की लांचिंग में जोर शोर से जुटा हुआ है. रोहतक के एचएचआईडीसी के सेक्‍टर 31 में बन रहे इस यूनिट में नियुक्तियां भी शुरू कर दी गई हैं. अमर उजाला, अलीगढ़ में तैनात रहे बजरंग को रोहतक यूनिट का हेड बनाया गया है. सर्कुलेशन में पंकज को लाया गया है. उन्‍हें रोहतक यूनिट का सर्कुलेशन हेड बनाया गया है. संभावना है कि अगले दो महीनों के भीतर रोहतक से अमर उजाला की लांचिंग कर दी जाए.

4 रीयल से निकाले गए तो चैनल वन की फ्रेंचाइजी ले ली

यशवंत जी, प्रणाम, विषय – IPL की तरह चैनलों की फ्रेंचाइजी की भी भरमार लगी है। 4 रीयल न्यूज़ लखनऊ में कार्यरत सभी लोग चैनल वन न्यूज़ में शिफ्ट। महोदय, अभी बीते महीने लखनऊ में शुरू हुए 4 रीएल न्यूज़ में कार्यरत सभी लोग अब चैनल वन न्यूज़ में शिफ्ट हो गए हैं। बताया जाता है कि 4 रीयल न्यूज़ की फ्रेंचाइजी लेकर आये ब्यूरो तनवीर सिद्दीकी का चैनल में पैसों को लेकर विवाद हो गया था। जिसका नतीजा रहा कि चैनल प्रबंधन ने तनवीर को बेदखल कर दिया।

विपुल रेगे का सिटी लाइव से इस्‍तीफा

नईदुनिया के सिटी लाइव, इंदौर के कुप्रबंधन से परेशान होकर विपुल रेगे ने इस्तीफा दे दिया है। इधर सिटी लाइव की हालत दिन-ब-दिन कमजोर और दयनीय होती जा रही है। कमजोर लीडरशिप की बदौलत न खबरों में दम दिख रहा है और न ही हालात सुधरने के आसार दिख रहे हैं। शनिवार को प्रकाशित हुए सिटी लाइव में ऐसी खबर को लीड के रूप में लगाया गया है, जो पंद्रह दिन पहले इंदौर सहित पूरे देश के हिंदी अंग्रेजी अखबारों में प्रकाशित हो चुकी है।

लखनऊ में जागरण ने लांच किया ‘जागरण सिटी’ एडिशन

नवभारत टाइम्‍स के लखनऊ में आने की खबर से दैनिक जागरण प्रबंधन पूरे सकते में है. नवभारत टाइम्‍स ने तो नवाबों के शहर में कदम रखने से पहले ही नदीम जैसे पत्रकार को अपने साथ जोड़कर जागरण को बड़ा झटका दिया है. सबसे ज्‍यादा दहशत जागरण में ही है क्‍योंकि नदीम अब नवभारत टाइम्‍स के हिस्‍से हैं. नभाटा से खतरे को भांपते हुए दैनिक जागरण ने 26 मई से लखनऊ एडिशन के साथ चार पेज का 'जागरण सिटी' एडिशन लांच किया है.

‘हमवतन’ के संपादक और पत्रकार के बीच हाथापाई

नोएडा के सेक्‍टर 63 स्थित साप्‍ताहिक अखबार 'हमवतन' एक बार फिर सुर्खियों में है. खबर है कि एक कर्मचारी और संपादक के बीच जमकर थुका-फजीहत हुई है. इस पूरे मामले की जानकारी पुणे को भी दे दी गई है. बताया जा रहा है कि यह पूरा घटनाक्रम तबादले के मामले को लेकर हुआ है. वरिष्‍ठ संपादकीय कर्मी अनीत उपाध्‍याय का तबादला पिछले दिनों बनारस के लिए कर दिया गया है. उनको इस आशय की जानकारी स्‍थानीय एचआर हेड इश्तियाक ने दी.

सीरियाई हैकरों ने ब्रिटिश चैनल में लगाई सेंध

लंदन : सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद के समर्थक माने जाने वाले कंप्यूटर हैकरों ने ब्रिटेन के लोकप्रिय टेलीविजन चैनल (आईटीवी) के ट्विटर अकांउट को निशाना बनाया है। आईटीवी के ट्विटर अकाउंट को शुक्रवार शाम हैक कर लिया गया और इस पर एक संदेश छोड़ दिया गया।

छत्‍तीसगढ़ में नक्‍सली हमला, कांग्रेसी नेता महेंद्र कर्मा, उदय मुदलियार समेत कई की मौत, वीसी शुक्‍ला घायल

रायपुर : नक्सलियों ने शनिवार को एक बड़े हमले को अंजाम देते हुए छत्तीसगढ़ के जगदलपुर जिले में कांग्रेस नेताओं के काफिले पर हमला कर दिया जिससे पार्टी के वरिष्ठ नेता महेंद्र कर्मा की मृत्यु हो गई जबकि पूर्व केंद्रीय मंत्री विद्या चरण शुक्ल गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस ने बताया कि नक्सलियों ने जगदलपुर जिले में दरबा घाटी में कांग्रेस नेताओं पर हमला करने के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नंद कुमार पटेल और उनके बेटे का अपहरण भी कर लिया।

Serious allegations against The Present Director, CBI Mr. Ranjit Sinha.. EX.DG/RPF

Sub:-  Serious allegations against DG/RPF 1. Sh. Ranjit Sinha-an IPS Officer of Bihar Cadre had become friendly to the then C.M of Bihar Sh. Lalu Prasad after helping him in the infamous Bihar fodder scam. Sh. Ranjit used his influence and got appointed his Sarhu Bhai-Sh. M.K.Sinha (MKS)-an IPS Officer of the same Bihar Cadre as DG/RPF on 12.3.2007 through Sh. Prasad when he became Railway Minister. Sh. Ranjit being the ADG of ITBP acted from behind as DG/RPF which is proved from his frequent visits to Railway Board and the then MR’s official residence. After retirement of Sh. M.K.Sinha on 30.6.2008, he unfairly managed to keep the post of DG/RPF vacant for about five months and got himself appointed as DG/RPF on 12.11.2008 when he became eligible for this post getting ousted Sh. R.K.Mathur-IPS of M.P.Cadre, the then ADG/RPF looking after the work of DG/RPF.

मशहूर पर्यावरणविद् सुंदरलाल बहुगुणा हास्‍पीटल में भर्ती

देश के जाने माने पर्यावरणविद सुंदरलाल बहुगुणा को देहरादून के जालीग्रांट हास्‍पीटल में भर्ती कराया गया है. 87 वर्षीय श्री बहुगुणा को सोमवार की सुबह सांस लेने में तकलीफ होने के बाद अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है. डाक्‍टरों की सघन निगरानी में उनका इलाज चल रहा है. डाक्‍टरों का कहना है कि उनके स्‍वास्‍थ्‍य …

दैनिक भास्‍कर, चंडीगढ़ से चार का इस्‍तीफा, सेंट्रल डेस्‍क को लगा बड़ा झटका

दैनिक भास्‍कर, चंडीगढ़ की मुश्किलें खत्‍म नहीं हो रही हैं. नए संपादक की कार्यप्रणाली से नाराज लोगों का पलायन लगातार जारी है. खबर है कि इस बार सेंट्रल डेस्‍क की रीढ़ पर जोरदार झटका लगा है. सेंट्रल डेस्‍क पर कार्यरत चार लोग इस्‍तीफा देकर दूसरे संस्‍थानों से अपनी नई पारी शुरू करने जा रहे हैं. सूत्रों का कहना है कि ये लोग धीमान एंड कंपनी के रवैये से परेशान थे, लिहाजा पानी जब सिर के उपर होने लगा तो इन लोगों ने कंपनी को बाय कर दिया.

बिंदु दारा सिंह, गुरु मयप्पम : बदनाम हुए तो क्या नाम न हुआ?

जी हाँ..कुछ हिंदी फिल्मों में चंद मिनटों का काम और छोटे परदे पर थोड़ी कलाकारी करने वाले बिंदु दारा सिंह की सिल्वर स्क्रीन पर आज तक कुछ ज्यादा पहचान नहीं बन पायी.. अगर उनके नाम के साथ उनके स्वर्गीय पिता जी मशहूर पहलवान और फ़िल्मी कलाकार दारा सिंह का नाम न जुड़ा होता तो शायद बिंदु को वो थोड़ी पहचान भी न मिल पाती जो आज उनके पास है.. लेकिन उनके आज के कारनामों ने वो सब कुछ कर दिया जिसके वो भोगी थे.

मनोज भावुक की ‘तस्वीर जिंदगी के’ भोजपुरी का पहला ग़ज़ल एलबम

भोजपुरी गीत-संगीत के शौकीन श्रोताओं के लिए मुम्बई से एक अच्छी खबर आ रही है। भोजपुरी में पहली बार ग़ज़ल सुनने को मिलेगा। टी-सीरीज ने ‘तस्वीर जिंदगी के’ नामक भोजपुरी ग़ज़ल रिलीज किया है। इस ग़ज़ल को स्वर दिया है सरोज सुमन ने। सरोज सुमन की ख्याति एक अच्छे म्यूजिक डायरेक्टर के रूप में भी है। सरोज सुमन इसके पूर्व भी कई हिन्दी एलबमों में अपनी आवाज दे चुके हैं।

आंख की इस डाक्‍टर ने मनोज एवं उनकी बेटी को गालियां देते हुए केबिन से बाहर निकाल दिया

ये न्‍यू मीडिया की ताकत ही है कि अब लोग पारम्‍परिक मीडिया को छोड़कर अपने साथ घटी घटनाओं को न्‍यू मीडिया के पटल पर रख रहे हैं. मनोज सिंह और उनकी बेटी के साथ आंख की एक महिला डाक्‍टर भारती कश्‍यप ने अत्‍यन्‍त ही बुरा बरताव किया. एक डाक्‍टर का यह काम शायद उसके पेशे के भी खिलाफ है, पर यह खबर शायद ही कोई पारम्‍परिक मीडिया दिखाए या छापेगा. यही मुख्‍य धारा की मीडिया इस डाक्‍टर की बड़ी बड़ी बयानों वाला फोटो छापता है, जबकि इस डाक्‍टर ने मनोज की मासूम बेटी के साथ इतना बुरा बरताव किया, जो एक डाक्‍टर को कतई नहीं करना चाहिए था.

कमाई की सेटिंग बिगड़ने के चलते कोतवाल ने की थी पत्रकार से मारपीट!

हापुड़ : सपा सरकार बनने के बाद पत्रकारों के उत्पीड़न की घटनाएं बढ़ रही हैं। अधिकारी पत्रकारों को झूठे मामलों में फंसा रहे हैं। ऐसा ही एक मामला हापुड़ में हुआ और मीडियाकर्मी को आधी रात के बाद एएसपी सुधीर ने छुड़वाया। कोतवाल को राजेंद्र कुमार यादव को निलंबित करने की मांग को लेकर पत्रकार धरना भी दे रहे हैं। इलेक्ट्रोनिक मीडिया से जुड़े चंदन सिंह अपने एक सहयोगी के साथ आईपीएल मैच के सट्टेबाजों पर पुलिस छापेमारी की कवरेज कर रहे थे, तभी कोतवाल ने उनसे बदतमीजी और मारपीट की।

समस्‍तीपुर में इंडिया न्‍यूज के दबंग रिपोर्टर ने साधना के पत्रकार को पीटा

समस्तीपुर में इंडिया न्यूज़ के रिपोर्टर सुमन नारायण मिश्रा की दादागिरी सर चढ़कर बोल रही है। तभी तो आज दिन दहाड़े नगर थाना परिसर में साधना न्यूज़ के रिपोर्टर संजीव तरुण की जम कर पिटाई कर दी, जिसके बाद घायल तरुण का इलाज सदर अस्पताल में कराया गया। साधना न्यूज़ के रिपोर्टर तरुण ने इस घटना की लिखित शिकायत समस्तीपुर एसपी वरुण कुमार सिन्हा से की है।

नए जीएम की तारीफ पर भड़के हिंदुस्‍तान के संपादक!

हिंदुस्‍तान, अलीगढ़ के संपादक मनोज पमार एक बार फिर चर्चा में आ गए हैं. पुराने जीएम दीपक चौहान की फेयरवेल पार्टी में नए जीएम की तारीफ पर वह भड़क गए. उन्‍होंने ये तक कह दिया कि अलीगढ़ में हिंदुस्‍तान उनकी और पुराने जीएम की बदौलत खड़ा हुआ है, अब जो भी नया आएगा पका हुआ फल खाएगा. 

सोशल मीडिया और न्यू मीडिया अतिवादी ताकतों के हाथ में जा रहा!

सोशल मीडिया ने आज आम जनमानस को अपनी बात कहने का मौका दिया है. जहाँ पहले मुख्यधारा मीडिया का संपादक ही तय करता था की कौन सी बात बाहर आनी है और कौन सी नहीं वहां आज सोशल मीडिया पर सिर्फ खबर बनाने के लिए बातें नहीं हो रही हैं बल्कि उन समस्यायों के निवारण के लिए मिलकर आवाज़ उठाने का भी काम हो रहा है.

अमर उजाला, अमेठी के पत्रकार अरविंद शुक्‍ला का निधन

अमेठी के युवा पत्रकार अरविन्द शुक्ला का गत मंगलवार को किंग जार्ज मेडिकल कालेज, लखनऊ में निधन हो गया। तबियत खराब होने पर उन्हें पहले सुलतानपुर में एक अस्पताल में भर्ती करवाया गया फिर हालत बिगड़ने पर उन्हें मेडिकल कालेज के लिए रेफर कर दिया गया था। लगभग 40 वर्षीय श्री शुक्ला इस समय अमर उजाला से जुड़े हुए थे। इससे पूर्व वह दैनिक जागरण से भी जुड़े रहे थे। 

How the HDFC involved in CORRUPTION?

Dear Mr Chairman, This is all indian knows and think that you are against corruption and also you have given statement that 'political & industrial tie-ups are very dangerous corruption which is growing fast' may I know from you sir where did you stand in this told 'corruption' Tree, as you are the chairperson of HDFC i think you are also responsible of the acts done by your employees of so called HDFC Bank, did you take any responsibility of your employees activities as they are on roles of your organization or Mr aditya Puri will take for you as MD.

लक्ष्‍मी की मेहरबानी : चलता-फिरता ऑटो स्‍टैण्‍ड बना गोदौलिया चौराहा

वाराणसी। शहर भर में कई अवैध चलते-फिरते आटो स्टैण्ड खाकी की मेहरबानी से चल रहे हैं। जिसके चलते न र्सिफ लोगों को आवागमन में दिक्कत होती है, बल्कि जाम भी लग जाता है। शहर का सबसे महत्वपूर्ण चौराहा गोदौलिया भी इनमें से एक है, जहां खाकी की मेहरबानी से नो इन्ट्री में भी बकायदा आटो स्टैण्ड चल रहा है।

जी न्‍यूज 25 मई से रीलांच कर रहा है ‘क्राइम फाइल्‍स’

जी न्‍यूज अपने सबसे पुराने क्राइम प्रोग्राम 'क्राइम फाइल्‍स' को रीलांच करने जा रहा है. इसकी रीलांचिंग शनिवार 25 मई से होना जा रहा है. यह जी न्‍यूज के नेशनल चैनल पर रात साढ़े दस बजे दिखाया जाएगा. इसके अलावा इसका प्रसारण जी के रीजनल चैनलों पर भी होगा. क्राइम फाइल्‍स की रीलांचिंग जी न्‍यूज के क्राइम एडिटर नवीन कुमार के नेतृत्‍व में की जा रही है. खबर है कि रीलांचिंग का पहला एपिसोड आईपीएल, सट्टा एवं अंडरवर्ल्‍ड के कनेक्‍शन पर आधारित होगा.

”यहां प्रत्‍येक मलाईदार पद के लिए पचास हजार से दो लाख रुपये का रेट चल रहा है”

देश भर के न्‍यायालयों में भ्रष्‍टाचार की शिकायतें अक्‍सर आती रहती हैं. इस बार जनपद न्‍यायालय बुलंदशहर के प्रशासनिक अधिकारी के ऊपर न्‍यायालय में ही कार्यरत एक कर्मचारी की पत्‍नी ने गंभीर आरोप लगाए हैं. न्‍यायालय कर्मी प्रणव किशोर शर्मा की पत्‍नी लक्ष्‍मी देवी ने वरिष्‍ठ प्रशासनिक अधिकारी जयप्रकाश शर्मा पर भ्रष्‍टाचार समेत कई गंभीर आरोप लगाते हुए इसकी शिकायत सुप्रीम कोर्ट में मुख्‍य न्‍यायाधीश अल्‍तमस कबीर से की है.

ममता बनर्जी के लिए आसान नहीं है शारदा के दो चैनलों का अधिग्रहण

कोलकाता। घोटालों की वजह से बंद होने की कगार पर पहुंच चुके शारदा चिट फंड के दो चैनलों के अधिग्रहण की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की कोशिशों को कानूनी धक्का लग सकता है। वाममोर्चा ने सरकार की नीयत पर सवाल उठाया है, वहीं केंद्र सरकार ने अधिग्रहण की कोशिश का तकनीकी और वैधानिक आधार पर विरोध करते हुए इसे विवादित निर्णय करार दिया है। केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी ने शुक्रवार को सवाल उठाया कि वर्तमान लाइसेंस कानूनों के मद्देनजर कोई सरकार किसी भी चैनल का अधिग्रहण कैसे कर सकती है? यह निर्णय विवाद बढ़ाने वाला है।

श्रीनिवासन का दामाद गुरु फिक्सिंग में अरेस्‍ट, आज होगी कोर्ट में पेशी

मुंबई : बीसीसीआई अध्यक्ष एन श्रीनिवासन के दामाद और चेन्नई सुपरकिंग्स टीम के मालिक गुरुनाथ मयप्पन को आईपीएल सट्टेबाजी मामले में उनकी कथित भूमिका के लिए कल देर रात यहां गिरफ्तार कर लिया गया। आज मयप्पन की कोर्ट में पेशी होगी। इस सारे प्रकरण से बीसीसीआई प्रमुख श्रीनिवासन पर इस्तीफे का दबाव बढ़ गया है। आईपीएल के सबसे लोकप्रिय टीम चेन्नई सुपर किंग्स की फ्रेंचाइजी जारी रहने पर गंभीर शंकाएं उभरने लगी हैं।

विकास शुक्‍ला ने भास्‍कर तथा प्रशांत जोशी ने नईदुनिया ज्‍वाइन किया

जनसंदेश टाइम्‍स, कानपुर से खबर है कि विकास शुक्‍ला ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे अपनी नई पारी दैनिक भास्‍कर, जबलपुर के साथ कर रहे हैं. ये भास्‍कर के साथ उनकी दूसरी पारी है. इसके पहले भी वे धनबाद में दैनिक भास्‍कर को अपनी सेवाएं दे चुके हैं. विकास की गिनती अच्‍छे पत्रकारों में की जाती है. वे कई अन्‍य संस्‍थानों को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

‘आग’ और ‘इन्‍कलाबी नजर’ में पत्रकार हैं या बंधुआ मजदूर?

लखनऊ से प्रकाशित उर्दू दैनिक आग और हिन्दी दैनिक इन्कलाबी नजर में पत्रकारों से बंधुवा मजदूरों की तरह काम लिया जा रहा है. यहाँ के पत्रकारों को साप्ताहिक अवकाश के अलावा और कोई सुविधा नहीं है. यहाँ पर पत्रकारों का पत्रकारिता के नाम से उत्पीड़न किया जा रहा है. अगर किसी पत्रकार को कभी घर में कोई काम पड़ जाए या उसके घर कोई मर जाए या पत्रकार को ही कोई बुखार जैसी समस्या हो जाये तो संस्‍थान की बला से, संस्‍थान में कोई ऐसा प्रावधान नहीं है कि उसे अवकाश मिल जाए. 

हापुड़ के कोतवाल को हटाने के लिए मीडियाकर्मियों ने निकाला रोड मार्च

हापुड़ में टीवी पत्रकार चंदन सिंह से मारपीट करने के आरोपी कोतवाल राजेंद्र कुमार यादव के खिलाफ मीडियाकर्मियों ने जुलूस निकाला. कोतवाल के खिलाफ दंडात्‍मक कार्रवाई की मांग को लेकर पत्रकार आंदोलित हैं. पत्रकारों ने इस मामले में सपा जिलाध्‍यक्ष को भी अपना ज्ञापन सौंपा था, लेकिन वहां से आश्‍वासन के सिवा कुछ नहीं मिलने के बाद पत्रकार अब आर-पार की लड़ाई के मूड में आ गए हैं. हापुड़ के तमाम पत्रकार सड़क पर उतरकर कोतवाल का विरोध शुरू कर दिया है.

कोतवाल की गुंडागर्दी कैमरे में हुई कैद तो पत्रकारों के कोतवाली में प्रवेश पर लगा दी रोक

उत्‍तराखंड के उधमसिंह नगर के रुद्रपुर कोतवाली में एक युवक की कोतवाल साहब ने शिकायतकर्ताओं के सामने ही जमकर धुनाई कर दी. अपराधियों पर लगाम कसने में नाकाम उधमसिंहनगर की पुलिस ने आरोपियों को सजा देने के लिए अब खुलेआम मारपीट का रास्ता चुन लिया है. मानवाधिकारों का हनन करते हुए कोतवाल साहब ने अपनी हनक दिखाने के लिए आम पब्लिक के सामने ही आरोपी युवक पर टूट पड़े. उन्‍होंने पुलिस के पट्टे से युवक को बेरहमी से पीटना शुरू कर दिया. युवक दोनों हाथ जोड़कर अपना जुर्म कबूलता रहा लेकिन कोतवाल साहब वर्दी के रौब में वे उसे बेरहमी से मारते रहे.

‘लाशों की आईपीएल’ की प्रायोजित खबर दिखाने वाले आधा दर्जन चैनलों को नोटिस

वाराणसी में महाश्मशान पर लाशों की 'आइपीएल' हो रही है। अब तक क्रिकेट में स्‍पॉट फिक्सिंग पर ही सट्टेबाजी हो रही थी लेकिन काशी में कुछ सट्टेबाजों ने इसे भी पीछे छोड़ दिया। चौंकाने वाली बात यह है कि इस सट्टेबाजी को कुछ टीवी चैनलों द्वारा ही प्रायोजित किया गया था। इस सट्टेबाजी को आधा दर्जन समाचार चैनलों ने दिखाया तो पुलिस प्रशासन के कान खड़े हो गए। आनन फानन में गुरुवार की रात इस मामले में चौक थाने में जुआ एक्ट के तहत दो अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है।

शुक्‍ला जी न पत्रकार हैं, न नेता, न क्रिकेट प्रशासक, बस मैनेजमेंट गुरु हैं

Mayank Saxena : एक शुक्ला जी हैं…पत्रकार थे…फिर नेता बने…फिर राज्यसभा पहुंचे (नेता और राज्यसभा के क्रम को उल्टा भी पढ़ सकते हैं…) फिर बीसीसीआई में घुस गए…फिर टीम मैनेजर बने…फिर महासचिव…फिर कांग्रेस प्रवक्ता (इस क्रम को भी उल्टा पढ़ सकते हैं…) फिर आईपीएल के 'कमीशन'र बन गए…सॉरी सॉरी…कमिश्नर बन गए…फिर संसद के कामकाज के मंत्री बन गए…मंत्री बनने के बाद ही संसद में सोते दिखाई दिए…ख़ैर इस क्रम को भी उल्टा पढ़ सकते हैं.

सहारा समय एमपी-सीजी को श्रेष्ठ क्षेत्रीय चैनल का सम्मान

मध्य प्रदेश के होशंगाबाद में माधव ज्योति अलकंरण समारोह में लगातार तीसरी बार श्रेष्ठ क्षेत्रीय चैनल का सम्मान सहारा समय मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ को मिला. मध्य प्रदेश के होशंगाबाद में पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वर्गीय माधवराव सिंधिया की याद में हर साल की तरह इस बार भी माधव ज्योति अलकंरण समारोह का आयोजन किया गया.

श्रीनिवासन के अध्‍यक्ष रहते बीसीसीआई से नहीं जुड़ेगा सहारा : सुब्रत राय

नई दिल्ली : सहारा समूह प्रमुख सुब्रत राय सहारा ने शुक्रवार को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) प्रमुख एन श्रीनिवासन को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि वह श्रीनिवासन के बोर्ड प्रमुख के पद पर बने रहने तक बीसीसीआई के साथ नहीं जुड़ेंगे। बीसीसीआई के साथ वित्तीय विवादों के चलते आईपीएल से अपनी टीम पुणे वारियर्स को हटाने के बाद सुब्रत राय ने आज सीधे बीसीसीआई अध्यक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि श्रीनिवासन के कारण ही उनके और क्रिकेट बोर्ड के रिश्ते आज इस मोड़ पर पहुंचे हैं।

राजसंमद का पीआरओ रणछोड़ त्रिपाठी रिश्‍वत लेते गिरफ्तार

राजसमंद जिले में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने गुरुवार को जिले के सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी (पीआरओ) रणछोड़ त्रिपाठी को 3800 रुपए रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। पीआरओ ने दो महीने का वेतन दिलवाने की एवज में अपने ही कार्यालय में चतुर्थ श्रेणी पद पर कार्यरत महिला संविदाकर्मी से घूस वसूल रहा था।

चंदौली में प्रेम प्रसंग में बाधक बनी सास की बहु ने की हत्‍या

यूपी के चंदौली में एक शातिर दिमाग बहु ने प्रेम प्रसंग में बाधा बन रही अपनी ही सास को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया, और उसकी हत्‍या कर डाली, लेकिन अपराधी कितना भी शातिर क्यों न हो क़ानून की हाथों से नहीं बच पाता है। ऐसा ही हुआ इस कलयुगी बहू के साथ। शातिर दिमाग बहु पर उसकी चाल उलटी पड़ी, जिसने उसे सलाखों के पीछे पंहुचा दिया। मामला चकिया कोतवाली क्षेत्र का है जहां पति की मौत के बाद अपने ही देवर के साथ चल रहे अवैध सम्बन्ध को वैध करार देने में बाधक बन रही सास को अपनी जान हाथ धोना पड़ गया।

Rajiv Gandhi Lifetime Achievement Award to Debabrata Maji

Debabrata Maji of Mechanical Engineering Department of North Eastern Regional Institute of Science and Technology (NERIST), Nirjuli (Itanagar), Arunachal Pradesh has been selected for most prestigious “Rajiv Gandhi Lifetime Achievement Award” for his selfless service towards social upliftment, meritorious services, and excellence work in his field throughout his life. The lifetime Achievement is perhaps the highest accolade obtainable as it does not define a singular moment or achievement, but the cumulative success of an entire life …the very pinnacle of distinction.

सिद्धार्थनगर में फर्जी पत्रकारों की बाढ़, प्रशासन ने शुरू कराई जांच

सिद्धार्थनगर में इन दिनों फर्जी पत्रकारों की बाढ़ आ गयी है. ठेलावाला, खोमचावाला, ठेकेदार से लेकर कई आपराधिक प्रवृत्ति के लोग अपनी गाडि़यों पर प्रेस लिखवाकर तस्करी का काम करते हैं. शिकायत पर प्रशासन ने जांच शुरू करा दिया है. सभी थानों को निर्देश दिया गया है कि अपने क्षेत्र के पत्रकारों की सूची तैयार करना शुरू करें. पुलिस ने यह काम शुरू भी कर दिया है. सभी अखबारों के ब्यूरो कार्यालयों से भी पत्रकारों की सूची मांगी गयी है.

75 साल का हो गया अंग्रेजी अखबार डेक्‍कन क्रॉनिकल

आंध्र प्रदेश में प्रमुख स्‍थान रखने वाला अंग्रेजी अखबार डेक्‍कन क्रॉनिकल को 75 साल पूरे हो चुके हैं. आंध्र प्रदेश का नम्‍बर एक अखबार के 75 साल पूरे होने पर भव्‍य आयोजन हुआ. प्रबंधन ने पूरे 75 कलाकारों को आमंत्रित किया, जिन्‍होंने हैदराबाद शहर की स्प्रिट की सराहना की. इस मौके पर अखबार के संपादक एटी जयंती तथा मालिक टी वेंकटरमण रेड्डी ने अग्रलेख भी लिखा. नीचे दोनों लोगों द्वारा लिखा गया लेख.

9 साल की ‘कामयाबी’ भी कांग्रेसियों में नहीं भर पा रहा है नया जोश!

यूपीए सरकार ने नौ वर्ष पूरे कर लिए हैं। यूपीए-2 की पारी का चौथा रिपोर्ट कार्ड जारी हो चुका है। विपक्ष के तमाम कटाक्षों और जली-कटी टिप्पणियों के बाद भी सरकार के रणनीतिकारों ने जमकर उपलब्धियों का जश्न मना लिया है। देश को यह बता दिया है कि मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाली सरकार ने कैसे वैश्विक आंधी-तूफानों के बीच से भारत की आर्थिक नैया को पार लगा लिया है?

सर, एसपी चाहते हैं कि उनकी दो पेज की खबर छपे, पैसा देने को भी तैयार हैं

पत्रकार- सर हम ब्यूरो चीफ है। स्त्रैण आवाज में बोलते हुए ”सर हम आपकी पत्रिका से जुड़ना चाहते है।“ मैगजीन देखने के बाद और फिर आवाज को थोड़ा मजबूत करते हुए, ”आपकी मैगजीन में तो विज्ञापन दिख ही नहीं रहा। आप इस पत्रिका और अखबार को देखिये। यह अखबार तो चलता भी नहीं। इशारा करते हुए ”इस विज्ञापन को देखिये, ”यह 5 हजार का है“।
संचालक-अच्छा! ठीक है जुडि़ये। हमें साल में पचास हजार का बिजनेस चाहिये। और पत्रिका के लिये महीने में एक खबर।

मीडिया कंपनियों में अघोषित समझौता है कि वे एक दूसरे का पोल नहीं खोलेंगी

: न्‍यूज मीडिया के बड़े शार्क : “आपको प्रेस की स्वतंत्रता की पूरी गारंटी है, बशर्ते आप उसके मालिक हों.” – ए.जे लीब्लिंग, ‘द न्यूयार्कर’ से जुड़े रहे अमेरिकी पत्रकार. न्यूज चैनल सहित कई चैनलों और अखबारों के मालिक और पश्चिम बंगाल में सारदा चिट फंड घोटाले के मुख्य आरोपी सुदीप्त सेन की गिरफ्तारी के बाद से देश में मीडिया स्वामित्व, उसके स्वरुप, कारोबारी और दूसरे हितों और उसका न्यूज मीडिया के अंतर्वस्तु पर पड़नेवाले घोषित/अघोषित प्रभावों पर बहस तेज हो गई है.

पत्रकार विनय डेविड से घूस लेते हवलदार मूलचन्‍द्र द्विवेदी अरेस्‍ट

भोपाल। लोकायुक्त पुलिस ने गुरुवार 23 मई को एमपी नगर थाने के रिश्वतखोर हवलदार को छह हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया। हवलदार गिरफ्तारी वारंट के नाम पर रिश्वत ले रहा था। पत्रकार विनय डेविड का अदालत में धारा 138 के तहत एक मामला चल रहा है, जिसमें विनय को पूर्व में ही न्यायालय द्वारा जमानत दी हुई है और नियमित पेशी पर भी उपस्थित हो रहे हैं।

खुफिया घड़ी से पुरुष डाक्टर ने महिला मरीजों के सैकड़ों अश्लील वीडियो बनाए

कलाई घड़ी में लगे ख़ुफ़िया कैमरे के जरिए अपनी महिला मरीजों के दृश्य रिकॉर्ड करने वाले एक भारतीय मूल के डॉक्टर को 12 साल जेल की सजा दी गई है। देविंदर जीत बैन्स ने स्विंडन क्राउन कोर्ट में 39 यौन अपराध कबूल किए। देविंदर रॉयल वूटन बेसेट में चिकित्सक के तौर पर काम करते थे और इस दौरान उन्होंने जासूसी के लिए इस्तेमाल की जाने वाली घड़ी से फिल्में बनाईं।

श्रमजीवी पत्रकार यूनियन, उपजा समेत कई पार्टियों का सरकारी आवासों पर अनाधिकृत कब्‍जा!

राज्य संपत्ति विभाग, उत्तर प्रदेश द्वारा आरटीआई कार्यकर्ता डा. नूतन ठाकुर को प्रेषित सूचना के अनुसार उसके द्वारा विभिन्न कॉलोनी में 89 संघ, संस्था, सामाजिक कार्यकर्ता तथा  गैर सरकारी व्यक्तियों को आवंटित आवासों में 27 आवासों पर पूर्व आवंटी का अनधिकृत कब्ज़ा है.

गरीब किसानों का ट्रैक्टर डकार गए विधायक जी…

प्रदेश की सपा सरकार के मंत्री और विधायक तमाम सरकारी योजनओं के जरिए अपना घर भरने में जुटे नजर आ रहे है। ताजा मामला सामने आया है यूपी के गाजीपुर जिले में जहां गरीब किसानो का ट्रैक्टर गया विधायक जी के घर। ट्रैक्टर की चाभी कोई और नहीं स्वयं कैबिनेट मंत्री जी ने थमाया। वैसे तो शासन की प्रत्येक लाभकारी योजनाओं को गरीबों व पात्रों तक पहुंचाने की बात की जाती है किन्तु शायद ही वह उन तक सीधे पहुंच पाती हैं।

राज्‍य में तो कई अखबार-चैनल बंद हैं, फिर अनुकंपा शारदा मीडिया के लिए ही क्‍यों?

तृणमूल कांग्रेस के नेता मुकुल राय की ओर से शारदा समूह के अखबारों पर कब्जा की खबर पुरानी है तो चैनल१० का संचालन तृणमूल की ओर से पहले से जारी है। सुदीप्त की गिरफ्तारी के बावजूद चैनल टेन और तारा समूह के अबाधित प्रसारण से सवाल खड़े किये जे रहे थे, जबकि इन चैनलों को सत्तादल के माउथपीस बतौर इस्तेमाल किया जा रहा था। अब देश भर में नजीर कायम करके तारा मीडिया समूह के अधिग्रहण का फैसला किया है ममता बनर्जी की सरकार ने।

हिन्दुस्थान समाचार के पूर्व मुख्य संपादक बालेश्वर अग्रवाल का निधन

नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक एवं हिन्दुस्थान समाचार के पूर्व महाप्रबंक व मुख्य संपादक बालेश्वर अग्रवाल जी का बीती रात निधन हो गया। बालेश्वर जी 93 वर्ष के थे। खराब स्वास्थ्य के चलते उन्हें एक सप्ताह पूर्व अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

आवारा पूंजी का नकारा खेल है आईपीएल में मैच फिक्सिंग

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों शेन वॉटसन व ब्राड हैडिन के मुंबई अंडरवर्ल्ड के एक शख्स द्वारा उनसे संपर्क किए जाने के खुलासे के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के भ्रष्टाचार निरोधक दस्ते ने अपनी छानबीन शुरू की थी। आईसीसी के सूत्रों के मुताबिक उनके पास क्रिकेट आस्ट्रेलिया की तरफ से एक शिकायत आई थी। ये शिकायत क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने अपने देश की टीम के दो खिलाड़ियों शेन वॉटसन और ब्राड हाडिन की सूचना पर भेजी थी।

बलात्‍कार पीडिता की पहचान उजागर करने वाले पत्रकार एवं छायाकार फंसे

बदायूं में वर्ष 2010 के बलात्कार के एक प्रकरण में अदालत ने एसओ के साथ एक पत्रकार और छायाकार को पहचान उजागर करने का दोषी पाते हुये पुलिस को मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है। इस खबर को हिंदुस्तान ने प्रथम पेज पर प्रमुखता से छापा है, लेकिन अन्य अखबार इस प्रकरण को दबाने का प्रयास कर रहे हैं, बाकी अखबारों ने इस घटना को 2010 में भी दबाने का प्रयास किया था, जिससे आज जिले भर में लोग हिंदुस्तान की प्रशंसा कर रहे हैं।

रेलवे महिला कोच का वो दर्द भरा सफर : उस औरत ने मुझे जमीन पर भी नहीं बैठने दिया

Suchitra Singh : मैं अपना एक जरूरी काम निबटाकर कुछ दिन पहले मुरादाबाद से बरेली आ रही थी। करीब पांच बजे स्टेशन से बरेली जाने वाली ट्रेन का टिकट लिया। सोचा जो ट्रेन आ जाएगी उससे ही बरेली चली जाउंगी। टिकट लेने के बाद प्लेटफार्म की तरफ मुड़ी ही थी। तभी एनाउसमेंट हुआ कि लखनऊ से गोरखपुर जाने वाली ट्रेन वाया बरेली जाएगी। एनाउसमेंट सुनते ही घर जाने की जल्दी में ट्रेन पकड़ने के लिए दौड़ लगा दी। सीढ़ियों के पास ही महिला कोच लगा हुआ था। बस उसी कोच में चढ़ गर्इ। कोच तो महिलाओं का था मगर कोच के दोनों दरवाजों पर व कोच के अंदर पुरुषों का आधिपत्य था। चढ़ने की भी जगह नहीं थी।

बुढ़ापे तक मैं इंतजार नहीं कर सकता (कुछ पल यादों के सहारे : शंभूनाथ शुक्ल)

Shambhunath Shukla : यह मेरे संस्मरण हैं जिन्हें मैं लिख रहा हूं कुछ डायरी के सहारे और कुछ याददाश्त के सहारे। कई लोगों का कहना है कि मेरी याददाश्त बहुत अच्छी है। पर ऐसा नहीं है। हर आदमी की याददाश्त अच्छी ही होती है। आदमी जिंदा ही स्मृतियों के सहारे रहता है। अगर स्मृतियां न होतीं तो न दुख होता न सुख। अब इसे मैं फेसबुक पर साझा कर रहा हूं….

हिंदुस्‍तान और जागरण में भी पढि़ए नकलची ‘वीरू’ मिश्रा की कारस्‍तानी

सहारा मीडिया के पूर्व हेड स्‍वतंत्र मिश्रा की कारस्‍ता‍नी लखनऊ के कई अखबारों ने भी प्रकाशित की है. नकल करते पकड़े जाने के बाद स्‍वतंत्र मिश्रा ने जिस तरीके से विश्‍वविद्यालय के अध्‍यापकों तथा कर्मचारियों को शोले के वीरू के स्‍टाइल में छत पर चढ़कर कूदने की धमकी, उसे लखनऊ के ज्‍यादातर अखबारों ने प्रमुखता से प्रकाशित की है. अखबारों ने स्‍वतंत्र मिश्रा का असली चेहरा दिखाने की कोशिश की है कि किस तरह जब वे फंस जाते हैं तो अनाप-शनाप काम करने लगते हैं.

सहारा समय की रिपोर्टर शिल्पी सेन और एबीपी न्यूज के रिपोर्टर रविकांत परिणय सूत्र में बंधे (देखें तस्वीर)

Usmaan Siddiqui : संगम नगरी इलाहाबाद का वो वक़्त हमेशा के लिए यादगार बन गया जब मेरी बहुत अच्छी दोस्त…शुभचिंतक…वरिष्ठ और सहारा समय न्यूज़ चैनल की स्टार रिपोर्टर Shilpi Sen आज दिनांक 23 मई 2013 को हमारे बड़े भाई ABP न्यूज़ संवाददाता रविकांत के साथ परिणय सूत्र में बंध गयीं…

राजस्‍थान पत्रिका ने जिंदा खिलाडि़यों से मंगवाया ‘मृत्‍यु प्रमाण’ पत्र

राजस्थान पत्रिका के जोधपुर संस्करण में भाषा और समाचारों की गुणवत्ता में पतन का सिलसिला थम ही नहीं रहा। सभी पुराने लोगों को पत्रिका प्रबंधन ने बाहर का रास्ता दिखा दिया। अब जो लोग बचे हैं, उन में से ज्यादातर नए और अनुभवहीन हैं। जिस व्यक्ति ने फीचर लिखने और जस्ट जोधपुर जैसे फीचर पेज निकालने से ज्यादा कुछ नहीं किया, उसे कंपनी ने चीफ रिपोर्टर बना रखा है। उसे रिलीव करने वाले की काबिलियत सिर्फ यह है कि वह संस्करण के संपादक का खासमखास है।

राष्‍ट्रीय सहारा, कानपुर में दो कर्मी टर्मिनेट, तीन का डिमोशन

राष्‍ट्रीय सहारा, कानपुर से खबर है कि यहां एक गलत जांच रिपोर्ट देने के आरोप में एक कर्मचारी को सस्‍पेंड कर दिया गया है, दूसरे की सेवाएं समाप्‍त की गई हैं तो तीन लोगों को एक-एक पद का डिमोशन दिया गया है. बताया जा रहा है कि कुछ समय पहले सतीश नाम के एक कर्मचारी के मामले में सर्कुलेशन मैनेजर उदयवीर सिंह, विज्ञापन प्रभारी संतोष लखेरा, विज्ञापन प्रबंधन अनिल निगम, स्‍टोर इंचार्ज राजीव शुक्‍ला तथा स्‍थायीकर्मी ओम कुमार ने एक जांच की थी.

चैनल के डाइरेक्‍टर ने इलेक्‍ट्रीशियन को पीटा और चोरी में फंसाने की धमकी दी!

वीकान मीडिया एंड ब्रांडकास्टिंग समूह के चैनल कात्‍यायनी में शोषण पुरानी बात है. यहां तीन सालों से कर्मचारियों की सैलरी नहीं बढ़ी है, और जो इसके खिलाफ आवाज उठाता है, उसे नौकरी से निकालने की धमकी मिलती है. आफिस में कोई गार्ड नहीं है. यहां तक कि रात में भी नहीं जब कि यहां 24 घंटे ट्रांसमिशन होता है. कर्मचारियों की कोई सुरक्षा नहीं है. हद तो तब हो गई जब एक इलेक्‍ट्रीशियन ने तंग आकर इस्‍तीफा दे दिया. 

जनाब, यहां पुलिस से पहले पत्रकारों से सेटिंग करनी पड़ती है

किसी भी गैरकानूनी कार्य को प्रारम्भ करने से पहले कौन सा कार्य करना पड़ता है? पुलिस सेटिंग। लेकिन जनाब अनपरा में पुलिस सेटिंग से पहले पत्रकार सेटिंग करना पड़ता है। पिछले दिनों रेनुकूट सोनभद्र की खबर पढ़ी कि कैसे वहां के पत्रकारों ने अपनी कलम गिरवी रख दी। अनपरा का हाल तो वहां से कई गुना ज्यादे गंभीर है। यहां तो बाकायदा पत्रकार-पुलिस-नेता गठजोड़ बना हुआ है। पत्रकार और नेता ज्यादातर थाने पर बैठकी करते ही मिल जायेंगे।

सुशील ने अमर उजाला के पत्रकार की शिकायत राजुल माहेश्‍वरी से की

शाहजहांपुर निवासी सुशील शुक्‍ला ने अमर उजाला के पुवायां तहसील के संवाददाता (तहसील प्रभारी) हरिओम त्रिवेदी की शिकायत पिछले दिनों बरेली के संपादक दिनेश जुयाल से की थी. सुशील ने आरोप लगाया था कि वाहन दुर्घटना के एक मामले में आरोपी हरिओम संस्‍थान को अंधेरे में रखकर पत्रकारिता कर रहे हैं. उन्‍होंने इसकी पूरी जानकारी भी संपादक को दी थी, परन्‍तु संपादक स्‍तर से कोई कार्रवाई न होने के बाद सुशील ने अब इसकी शिकायत अमर उजाला समूह के एमडी राजुल माहेश्‍वरी से की है.

महुआ न्‍यूज में खेला गया इंक्रीमेंट का खेल!

महुआ न्‍यूज के कर्मचारियों को इंक्रीमेंट के नाम की गोली दी गई है. संस्‍थान के कर्मचारियों के साथ महुआ न्‍यूज प्रबंधन ने इंक्रीमेंट नाम का खेल खेला है. इस खेल ने महुआ के बंधुआ कर्मचारियों की ऐसी की तैसी कर रखी है. आइए आपको भी बताते हैं कि इंक्रीमेंट का यह खेल संस्‍थान में कैसे खेला जाता है. 

फरीदाबाद को ‘स्‍लम’ बनाने के लिए ‘एनबीटी’ का प्रोजेक्‍ट रेडी

कभी कभी एक शब्‍द की हेराफेरी पूरे अर्थ का अनर्थ कर देता है. नवभारत टाइम्‍स के वेबसाइट पर भी ऐसा ही एक कारनामा देखने को मिला है. दबाव और प्रतिस्‍पर्धा ने पत्रकारों के काम पर भी प्रभाव डाला है. मीडिया में कम पैसा और तनाव-दबाव ज्‍यादा होने के चलते प्रतिभाशाली लोग कम ही आ पाते हैं, लिहाजा औसत दर्जे के लोगों से काम चलाना पड़ता है. इसका असर यह होता है कि अक्‍सर अर्थ का अनर्थ होता रहता है.

असीम ने नईदुनिया, सुषमा एवं विवेक ने श्री न्‍यूज ज्‍वाइन किया

नवभारत, अंबिकापुर से खबर है कि असीम मुखर्जी ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे लंबे समय से नवभारत से जुड़े हुए थे. असीम ने अपनी नई पारी नईदुनिया के साथ शुरू की है. उनका जाना नवभारत के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है.

डीडी न्‍यूज को सिर्फ आईआईएमसी पास आउट कैंडिडेट ही चाहिए

यशवंतजी, डीडी न्यूज ने अपनी वेबसाइट www.ddinews.gov.in पर कुछ वैकेंसीज निकाली है। नौकरी के दिए गए नोटिफिकेशन में शर्त लिखी गई है कि सिर्फ आइआईएमसी पास आउट कैंडिडेट ही अप्लाई कर सकते हैं। डीडी न्यूज में पैकेजिंग डेस्क के लिए ये वैकेंसीज मांगी गई है, लेकिन सवाल ये है कि उन बाकी लोगों का क्या होगा जो लाखों रुपए खर्च करके दूसरे संस्‍थानों से मीडिया का कोर्स कर रहे हैं या कर चुके हैं। 

नकल करते पकड़े गए सहारा मीडिया के पूर्व हेड स्‍वतंत्र मिश्रा बने शोले के वीरू

सहारा मीडिया के पूर्व हेड स्‍वतंत्र मिश्रा एक बार फिर चर्चा में हैं. लखनऊ विश्‍वविद्यालय में एलएलबी की परीक्षा में नकल करते पकड़े गए स्‍वतंत्र मिश्रा ने जमकर हंगामा काटा. विश्‍वविद्यालय के कर्मचारियों को अर्दब में लेने की कोशिश की, इसके बाद भी बात नहीं बनी तो अपने सदाबहार स्‍टाइल में शापित करने लगे, जब कर्मचारी श्राप से भी नहीं डरे तो वो शोले फिल्‍म के 'वीरू' स्‍टाइल में छत पर चढ़कर कूदने की धमकी देने लगे. किसी तरह प्राक्‍टोरियल बोर्ड ने उन्‍हें समझा बुझाकर नीचे उतारा. इस दौरान परिसर में तमाशा देखने वालों की भीड़ लग गई.

यूपी श्रमजीवी पत्रकार यूनियन, बलिया के अध्‍यक्ष बने अनूप हेमकर

उत्तर प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार यूनियन की बलिया इकाई के एक बार फिर अनूप कुमार हेमकर अध्यक्ष चुने गये हैं। शिविर कार्यालय पर हिन्दुस्तान के वरिष्‍ठ संवाददाता सुधीर ओझा की अध्यक्षता में हुई बैठक में नये सत्र के पदाधिकारियों का चुनाव सर्वसम्मति से हुआ। श्री हेमकर समाचार एजेंसी पीटीआई के पिछले एक दशक से अधिक समय से संवाददाता हैं।

दैनिक जागरण के पत्रकार की कारगुजारियों ने नाराज लोगों ने अखबार फूंका

दैनिक जागरण अखबार अपने तथा अपने कर्मचारियों की कारगुजारियों से आम लोगों की नजरों से गिरता जा रहा है. आए दिन इस अखबार की होली जलाई जाती है, संपादक का पुतला फूंका जाता है, इसके बाद भी इस अखबार के कर्ता धर्ता सुधरने की बजाय दिन प्रतिदिन गलत काम करने में ही लगे हुए हैं. ताजा मामला बिहार के औरंगाबाद जिले का है. यहां के श्रीकृष्‍ण नगर निवासी दैनिक जागरण के पत्रकार सनोज पांडेय के कार्यों से पीडि़त हैं.

न्‍यायपालिका के कटघरे में बेलगाम नौकरशाही

उत्तर प्रदेश की नौकरशाही में अदालत के रूख से हड़कम्प मचा हुआ है। न्यायपालिका और उसके आदेशों को हल्के में लेने वाले और बार-बार कोर्ट की अवमानना करने वाले अधिकारियों को अदालत ने जब उनकी हैसियत (सजा) बताई तो इन लोगों के पास मॉफी मांग कर जान बचाने के अलावा कोई रास्ता ही नहीं बचा। प्रदेश की नौकरशाही के रवैये से अदालतों की नाराजगी की गाज इतनी गहरी थी कि सूबे के सबसे बड़े अधिकारी (मुख्य सचिव जावेद उस्मानी) तक नहीं बच पाये। अन्य अधिकारियों में भी अनेक सचिव स्तर के नौकरशाह थे।

सिद्धार्थनगर प्रेस क्‍लब के चुनाव में रवींन्‍द्र त्रिपाठी अध्‍यक्ष बने

सिद्धार्थनगर प्रेस कलब के चुनाव में आकाशवाणी के रवीन्द्र त्रिपाठी अध्यक्ष, दैनिक जागरण के विजय यादव मंत्री व अमर उजाला के प्रदीप सिंह उपाध्यक्ष चुने गये. मंगलवार को संपन्न हुये चुनाव में कुल 109 मतदाताओं में से 103 ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. तीन उम्मीदवार तो वोट के बदले नोट भी बंटे. चुनाव के लिये अधिकारियों और नेताओं से चंदा वसूली भी की गयी.

बदायूं में दो पत्रकारों के विवाद में एनसीआर दर्ज

बदायूं से खबर है कि दो पत्रकारों के बीच फेसबुक पर कमेंट को लेकर हुए विवाद के बाद एक पत्रकार के खिलाफ दूसरे पत्रकार ने एनसीआर दर्ज कराई है. बताया जा रहा है कि पत्रकार बीपी गौतम तथा टीवी चैनल के पत्रकार अमित अग्रवाल बीच फेसबुक पर कमेंट को लेकर बहस हुई.

डिश टीवी को 43.6 करोड़ रुपये का घाटा

वित्त वर्ष 2013 की जनवरी-मार्च तिमाही में डिश टीवी को 43.6 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। वित्त वर्ष 2012 की चौथी तिमाही में डिश टीवी को 49 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। हालांकि वित्त वर्ष 2013 की चौथी तिमाही में डिश टीवी की बिक्री 7.4 फीसदी बढ़कर 554.6 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2012 की जनवरी-मार्च तिमाही में डिश टीवी की बिक्री 516.3 करोड़ रुपये रही थी।

खालिद के एस्‍कोर्ट में शामिल पुलिसकर्मियों के निलंबन पर पीआईएल

बम विस्‍फोट के आरोपी खालिद मुजाहिद के एस्कोर्ट में लगे नौ पुलिसकर्मियों के डॉक्टर नहीं होने के बाद भी मात्र उसे नजदीक के अस्पताल में नहीं ले जाने पर निलंबित किये जाने के क्रम में सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. नूतन ठाकुर ने मनमाने निलम्बनों के बारे में इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच में एक पीआईएल दायर किया है. 

अरबों रुपए खर्च कर ‘कामयाबी’ का ‘मनमोहनी’ राग बजा रही केंद्र सरकार

: अपनी ढपली-अपना राग! : यूपीए सरकार की दूसरी पारी के चार साल पूरे हो गए हैं। इस तरह से मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाली सरकार ने अपने सत्ता सिंहासन के 9 साल पूरे कर लिए हैं। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने अपनी सरकार के कामकाज का एक ‘रिपोर्ट कार्ड’ भी जारी किया है। अपनी ढपली-अपने राग वाले अंदाज में सरकार ने जमकर उपलब्धियां गिना दी हैं।

b4m 5thbday : भड़ास के पांचवें बर्थडे की दो बातें कभी नहीं भुलाई जा सकतीं

काफी साल शायद पांच साल बाद दिल्ली जाना हुआ। भड़ास का बर्थ डे था और यशवंत जी का आदेश, पालना तो करनी ही थी। तड़के 3 बजे उठा दुरंतो एक्सप्रेस पकड़ी, भड़ास का जन्मदिन मनाया और चेतक एक्सप्रेस से वापस रात करीब साढ़े तीन बजे घर लौट आया। और इस तरह एक ही दिन में अजमेर से दिल्ली जाकर लौट आने का नया काम कर लिया। करीब पंद्रह-बीस साल पहले तो साल में दो तीन दफा दिल्ली के चक्कर लग जाते थे। एक ओर की यात्रा बारह से चौदह घंटा लेती थी।

शारदा समूह के दो चैनलों को चलाएगी बंगाल सरकार

कोलकाता : पश्चिम बंगाल सरकार ने शारदा समूह के दो टेलीविज़न चैनलों को अपने हाथ में लेने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने संवाददाताओं को बताया कि यह फैसला तारा न्यूज और तारा म्यूजिक चैनलों के कर्मचारियों के सरकारी हस्तक्षेप की मांग के बाद किया गया है। उन्होंने बताया कि चैनल के 168 कर्मचारियों को प्रति माह 16,000 रुपये अनुग्रह राशि की अदायगी की जाएगी। राज्य सरकार चैनलों को चलाने के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष से 26 लाख रुपये मुहैया कराएगी।

डाक्यूमेंट्री शूट करने लखनऊ आए फोटोग्राफर की लाश होटल में मिली

लखनऊ : एक डाक्यूमेंट्री की शूटिंग के सिलसिले में राजधानी आये नेशनल डेयरी बोर्ड के फोटोग्राफर का शव गुरुवार को गोमतीनगर इलाके एक होटल में संदिग्ध परिस्थितियों में पाया गया। फोटोग्राफर राजेन्द्र शॉ हैदराबाद के रहने वाले थे। मामले की सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। अभी तक की पुलिस जांच में राजेन्द्र की मौत के कारणों का सही पता नहीं लग सका है।

हिंदुस्तान प्रबंधन अपने रिपोर्टरों को सम्मानजनक शब्दों को पढ़ना-लिखना सिखाए

हिन्दुस्तान हिन्दी दैनिक समाचार पत्र गोरखपुर में खबरें, फीचर, लेख की प्रस्तुति में भाषा लालित्य और सार्वजनिक रूप से लोगों के प्रति सम्मानजनक भाव नहीं दिखाई देता है। इससे कई लोग अनावश्यक रूप आहत महसूस करते हैं। दिनांक 18 मई 2013 को देवरिया पृष्ठ संख्या 3 पर छपे एक फीचर शीर्षक 'इंटरनेशनल कांफ्रेन्स में शहर का एक साफ्टवेयर इंजीनियर' के फीचर प्रस्तुति में 5 कालम के फीचर में कैलफोर्निया अमेरिका के सैन फ्रान्सको में हो रही एक इंटरनेशनल कांफ्रेंस में देवरिया के प्रतिभागी की उपस्थिति को खबर बनाया गया है।

डाक्टरों ने सोनी की योनि से पत्थर के दो टुकड़े और गुदा से एक टुकड़ा निकाला था

Himanshu Kumar : इस बार तीन जनवरी २०१३ को सोनी सोरी के मामले की सुनवाई सर्वोच्च न्यायालय में हुई थी. मैं सर्वोच्च न्यायालय में उपस्थित था. मेरे साथ एक बड़े अखबार की महिला पत्रकार भी थी. सोनी के वकील कालीन गोंसाल्वेस ने कहा कि सोनी सोरी को दिल्ली से पकड़ कर छत्तीसगढ़ ले जाया गया. रात को पुलिस अधिकारी ने उसे थाने में निवस्त्र किया और उसे नीचे गिरा दिया.

कुलदीप नैयर एवं एन राम को लाइफटाइम एचीवमेंट से सम्‍मानित करेगा मुंबई प्रेस क्‍लब

मुंबई प्रेस क्‍लब वरिष्‍ठ पत्रकार कुलदीप नैयर एवं द हिंदू के पूर्व एडिटर इन चीफ एन राम को रेडइंक लाइफटाइम एचीवमेंट अवार्ड से सम्‍मानित करेगा. इन लोगों को यह पुरस्‍कार इनकी पत्रकारिता में शानदार योगदान के लिए दिया जा रहा है. दोनों वरिष्‍ठ पत्रकारों को 25 मई को मुंबई प्रेस क्‍लब में आयोजित एक समारोह में सम्‍मानित किया जाएगा. इस खबर को द हिंदू ने भी प्रमुखता से प्रकाशित की है. नीचे द हिंदू में प्रकाशित खबर.

हे आप बाहर वालों… सुनो अब हम jnu वालों की…

Tara Shanker : बाहर वालों को बड़ी जलन होती है JNU से… खासकर यहाँ की 'लेफ्ट' विचारधारा से! हर बहस में बस एक ही रट कि "jnu वाले अपने 'कम्फर्ट जोन' से बाहर निकलो सिर्फ वहीं क्रान्ति करते रहते हो"…….तो आपके कूपमंडूक सोच के लिए बता दूं कि कौन है जो हर तीसरे दिन कभी जंतर मंतर, कभी पार्लियामेंट, कभी मण्डी हाउस, कभी पुलिस हेडक्वार्टर्स, कभी बिहार भवन तो कभी मुख्यमंत्री आवास पे प्रदर्शन करते हैं या धरने पे बैठे होते हैं…आप या हम jnu वाले?….और आप हमें कहते हैं कि 'कम्फर्ट जोन' से बाहर निकलें!

हापुड़ के कोतवाल ने टीवी रिपोर्टर से की मारपीट

हापुड़ से खबर है कि नगर कोतवाल राजेंद्र कुमार यादव ने एक टीवी पत्रकार चंदन सिंह के साथ मारपीट की है. इस कोतवाल की दबंगई से हर कोई परेशान है. पत्रकारों ने कोतवाल को हटाए जाने तक पुलिसिया गुडवर्क तथा सपा की नीतियों की खबरें ना दिखाने का निर्णय लिया है. इस मांग को लेकर इन लोगों सपा जिलाध्‍यक्ष को एक ज्ञापन भी सौंपा है. इस बात को पत्रकार हरीश शर्मा ने भी अपने एफबी वॉल पर अपडेट किया है.

प्रेमचंद ने कहा था- साम्यवाद के पूंजीवाद से भी भयंकर होने का खतरा

Om Thanvi : क्या प्रेमचंद मार्क्सवाद या साम्यवाद के अनुयायी थे? या उन पर जबरन लेबल लगाया जाता है? कवि Bodhi Sattva बोधिसत्व ने तो पिछले दिनों इस वाल पर यहाँ तक दावा किया कि प्रेमचंद ने प्रगतिशील लेखक संघ की स्थापना की थी। मैंने प्रमाण पूछा तो वे नहीं दे पाए। वास्तविकता यह है कि प्रलेस की स्थापना लन्दन में हुई थी। उसकी स्थापना में हिंदी का एक भी लेखक शामिल नहीं था। प्रेमचंद ने एक लेख लिखकर जनवरी 1936 में इसका स्वागत जरूर किया। फिर उसके पहले अधिवेशन की अध्यक्षता भी की, जिसमें एक बार भी मार्क्सवाद का नाम नहीं लिया। अगले रोज उन्होंने आर्य समाज के सम्मलेन की अध्यक्षता की।

यूपी में अखबार लांच करने की तैयारी में जुटा ‘पीपुल्‍स समाचार’

पीपुल्‍स समाचार से खबर आ रही है कि अखबार अब यूपी में विस्‍तार की तैयारी में जुटने जा रहा है. हालांकि पहले भी पीपुल्‍स समाचार के यूपी में आने की खबरें आती रही हैं, लेकिन प्रबंधन इस बार गंभीर है. इसके पीछे कारण माना जा रहा है कि रामेंद्र सिन्‍हा यूपी से ताल्‍लुक रखते हैं, लिहाजा वे यूपी में अखबार के विस्‍तार को लेकर काफी सजग हैं. अगर सूत्रों की माने तो प्रबंधन झांसी एडिशन से यूपी में कदम रखने की तैयारी कर रहा है. अगर सब कुछ प्रबंधन की योजना के अनुसार हुआ तो अगस्‍त तक अखबार की लांचिंग कर दी जाएगी.

फॉर रीयल न्यूज, लखनऊ के रिपोर्टर शाहिद अख्तर सिद्दिकी की गालियों-धमकियों से आफिस जाना छोड़ दिया मैंने : अंजलि दुबे

संपादक, भड़ास4मीडिया, सर, मैं  4real news channel, Lucknow branch, Uttar Pradesh में एडमिन क्लर्क के रूप में इसी साल के २५ फरवरी से काम कर रही थी. वहां के जिला संवाददाता मिस्टर शाहिद अख्तर सिद्दिकी जी मुझे काफी परेशान करते थे. वो सीनियर सर की वह बातें पूछते जो ऑफिस के काम को लेकर होती थीं और गोपनीय होती थीं, और ये आफिसियल गोपनीय बात किसी को बताने से मुझे मना किया जाता था. लेकिन शाहिद अख्तर सिद्दिकी वो गोपनीय आफिसियल बातें चुपचाप बताने के लिए कहते थे. 

उस फीचर प्रभारी ने फ्रीलांस महिला जर्नलिस्ट का जीना दूभर कर दिया

Viplav Vinod  : एक फ्रीलांसर ने कई जगहों से निकलने वाले हिन्दी के प्रमुख समाचार पत्र में लिखने की इच्छा से उसने वहां के फीचर प्रभारी को फोन किया और उस अखबार में लिखने की इच्छा जतायी। फीचर प्रभारी ने जल्द से जल्द मिलने को कहा। जब वह फ्रीलांसर मिलने गयी तो उसकी खूब तारीफ की और नियमित रूप से लिखने और मिलते रहने को कहा। उस दिन के बाद से उस फ्रीलांसर के लिये जीना दुभर हो गया। हर दिन उसके फोन पर अनाप—शनाप मैसेज आते रहते हैं। वह अब तंग आ चुकी है।

नेशनल दुनिया संपादकीय पेज पर छापेगा कविता, लेकिन स्‍तरीय कविताओं का सूखा

Pradeep Saurabh : इन दिनों कविताएं टनों में लिखी जा रही हैं। फेसबुक पर तो कवियों ने अपनी कविताओं का हमला बोल ही रखा है। हमने नेशनल दुनिया में एक नए प्रयोग के तहत संपादकीय पेज पर प्रतिदिन एक कविता प्रकाशित करने का निर्णय लिया है। लेकिन अफसोस है कि हमें स्‍तरीय कविताएं प्रकाशन के लिए नहीं मिल पा रही हैं।

समाचार प्‍लस राजस्‍थान चैनल का टेस्‍ट रन शुरू

उत्‍तर प्रदेश-उत्‍तराखंड में सफलता के बाद, अब 'समाचार प्लस' चैनल अगले कुछ दिनों में राजस्‍थान की जोशीली धरती पर कदम रखने जा रहा है. समाचार प्‍लस के राजस्‍थान चैनल का टेस्‍ट रन सिग्‍नल 22 मई से शुरू कर दिया गया है. अब यह चैनल राजस्‍थान में दिखने लगा है. जल्‍द ही इस चैनल को लांच कर दिया जाएगा. बीते आठ मई से समाचार प्‍लस राजस्‍थान चैनल इंटर्नल ड्राई रन पर चल रहा था. अब टेस्‍ट रन पर डाले जाने के बाद अब ये राजस्‍थान में कई केबल प्‍लेटफार्मों पर भी दिखने लगा है.

मैगजीन से अकारण ही त्याग-पत्र देने के लिए कहा गया, तो आप इसे मेरा इस्‍तीफा ही समझें

मैं पिछले 8 वर्षों से दैनिक भास्कर के मैग्ज़ीन डिवीजन में काम कर रही हूं और अपेक्षा के अनुरूप मेरे काम का स्तर भी ठीक रहा है। मेरी ज्वॉइनिंग के समय मुझे किसी भी प्रकार की स्पष्ट निर्धारण यानि गुजराती, हिंदी या अंग्रेजी भाषा के लिए अनुवादक या किसी संबंधित मैग्ज़ीन के लिए मेरी नियुक्ति गई है, ऐसा स्पष्टीकरण करके नहीं की गई थी। उस समय सिर्फ हिंदी अहा! ज़िंदगी ही अस्तित्व में थी और उसी के लिए मेरी नियुक्ति की गई थी।

सपा सरकार में थोड़ी भी शर्म बची हो तो फैजाबाद एसएसपी को निलंबित करे

लखनऊ : मौलाना खालिद मुजाहिद की हत्या में नामजद वरिष्‍ठ पुलिस अधिकारियों को टर्मिनेट व गिरफ्तारी, निमेष कमीशन की रिपोर्ट तत्काल जारी करने, आतंकवाद के नाम कैद बेगुनाह मुस्लिम नौजवानों को तत्काल रिहा करने, फैजाबाद में रिहाई आंदोलन से जुडे़ वकीलों के हमलावरों को तत्काल गिरफ्तार करने को लेकर रिहाई मंच ने आज अनिश्चित कालीन धरना लखनऊ विधानसभा के सामने शुरू कर दिया।

एक शीशी के अंदर पूरा हाथी उतार देते हैं गुलरेज

एक कलाकार के लिए जरूरी नहीं है कि वह कहीं से सीखा ही हो बल्कि कुछ लोगों में गाड गिफ्टेड चीजें भी होती हैं, जो समय के साथ-साथ उसके अन्दर आती चली जाती हैं। ऐसे ही एक कलाकार है  गुलरेज, जिन्होंने अपनी कला के जरिए लोगों को लोहा मानने पर मजबूर कर डाला है। लोग बड़े बड़े आइटम तो कहीं भी बना डालते हैं, लेकिन कोई बड़ी चीज जिसकी लम्बाई कई मीटर हो उसे गुलरेज ने मिली मीटर में बना डाला है। ऐसे कई आईटम हैं जो लोगों को सोचने पर मजबूर कर डालती है।

दैनिक जागरण और अमर उजाला ने जीते जी मार डाला एक युवक को

टीआरपी की अंधी दौड़ में न्‍यूज चैनलों ने समाचारों की विश्‍वसनीयता से खिलवाड़ किया ही है, अब सम्‍मानित कहे जाने वाले बड़े अखबार भी तथ्‍यविहीन और गलत खबरें छापने से गुरेज नहीं कर रहे हैं। ताजा मामला गाजीपुर की एक खबर से जुड़ा हुआ है। प्रदेश के अग्रणी दैनिक समाचार पत्र 'दैनिक जागरण' और 'अमर उजाला' ने एक ऐसी खबर छापी है, जिसमें दुर्घटना के दौरान घायल युवक को मृत घोषित कर दिया गया है।

हिंदुस्‍तान टाइम्‍स ने लांच किया हाइपर लोकल एडिशन ‘एचटी गुडगांव’

हिंदुस्‍तान मीडिया वेंचर लिमिटेड गुडगांव से अधिक से अधिक रिवेन्‍यू पैदा करने के लिए अपने अंग्रेजी अखबार हिंदुस्‍तान टाइम्‍स का स्‍पेशल गुडगांव एडिशन लांच किया है. अखबार गुडगांव में हाइपर लोकल बनकर बड़े और स्‍थानीय विज्ञापनों पर अपना ध्‍यान केंद्रित करने की योजना बना रहा है. एचटी इसके पहले फरवरी 2012 में अपने हाइपर लोकल लांचिंग के तहत 'एचटी नोएडा' लांच कर चुका है. इस प्रयास का बेहतर रिस्‍पांस मिलने के बाद अब इसे गुडगांव में भी ऐसी ही तैयारी है.

महाराष्‍ट्र में साढ़े चार महीने में 33 पत्रकारों पर हुए हमले : देशमुख

: जब तक सुरक्षा कानून नहीं बनता संघर्ष करते रहेंगे पत्रकार : जब तक महाराष्ट्र में पत्रकार रक्षा कानून और पत्रकार पेन्शन योजना शुरू नहीं की जाती तब तक महाराष्ट्र के पत्रकार संघर्ष करते रहेंगे. यह बात महाराष्ट्र पत्रकार हमला विरोधी संघर्ष समिति के अध्यक्ष एसएम देशमुख ने बुधवार को जलगांव में एक समारोह में कही.

छोटे शहरों की परेशानियों ने गिराई चैनलों की रेटिंग

स्पॉट फिक्सिंग मामले से इंडियन प्रीमियर लीग (ब्रांड) पर धब्बा लग सकता है, लेकिन यह खेल आयोजन फिलहाल जारी है। भले ही इसमें आरोप, विवाद और भ्रष्टाचार के मामलों के अलावा इस सीजन की रेटिंग में कमी की बात है, लेकिन विज्ञापनदाता इससे नाखुश नहीं है और उन्हें आईपीएल में अभी भी खासी संभावनाएं नजर आती हैं।

यूपीए की नौका बड़े भयंकर भँवर में फँसी नज़र आ रही है

Qamar Waheed Naqvi : यूपीए-2 के शासन चार साल पूरे होने पर एक टीवी चैनल ने अपने कार्यक्रम को नाम दिया– यूपीए-2 का चौका. वैसे कुल मिला कर यूपीए शासन के अब तक नौ साल हुए हैं. चार साल में चौका तो नौ साल में नौका! सचमुच यूपीए की नौका बड़े भयंकर भँवर में फँसी नज़र आ रही है.

पत्रकार जीतेंद्र की हत्‍या का आरोपी नक्‍सली मारा गया

खूंटी : झारखंड में पिछले महीने एक पत्रकार जीतेंद्र सिंह की हत्या में कथित तौर पर संलिप्त रहा एक माओवादी पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारा गया है. कुछ दिन पहले भी इस नक्‍सली से पुलिस की मुठभेड़ हुई थी, लेकिन यह बचकर भागने में सफल रहा था। हालांकि इस बार पुलिस ने उसे निकलने का मौका नहीं दिया।

बलराज साहनी की कहानी ‘फिरंगी’ पर बन रहे सीरियल में निगेटिव रोल कर रहे तहसीन मुनव्वर

मीडिया मामलों के जानकार तहसीन मुनव्वर इन दिनों दूरदर्शन के एक सीरियल में अभिनय कर रहे हैं. इसी सिलसिले में इन दिनों वह मुंबई की ख़ाक छान रहे हैं. वे बलराज साहनी की कहानी ''फ़िरंगी'' पर लिखे गए सीरियल में एक अलग-सी भूमिका निभा रहे हैं. एक समय तक तहसीन मुनव्वर थिएटर, टीवी और रेडियो के लिए अभिनय और लेखन भी करते रहे हैं लेकिन फिर सियासतदानों के साथ जुड़ाव के चलते उन्होंने इसे त्याग दिया था.

‘Regional TV better than English news channels’

: SERVICE BY THE PEOPLE :  Corruption in cricket, complete with bookies, greedy players and sleaze, contributes to the burgeoning middle class’s warped notion of ‘having arrived’. These bizarre aspirations, disconnected from the rooted cultures of India, are overwhelming and suffocating. Those who mindlessly ape what they see on television and in glossy magazines are alienated from the reality of India. This makes economically and socially mobile people fundamentally insecure in their own skin.