अमर उजाला के संपादक के खिलाफ बुलंदशहर में एफआईआर दर्ज

बुलंदशहर नगर कोतवाली में अमर उजाला के संपादक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है। सिंचाई विभाग के अवर अभियंता की तहरीर पर जिला प्रशासन की तरफ से यह एफआईआर दर्ज कराई गई। संपादक के खिलाफ आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने पर यह एफआईआर दर्ज कराई गई है।

सच्चे ब्लैकमेलर पत्रकार ऐसे होते हैं… पढ़ लीजिए और पहचान लीजिए…

सोनभद्र में साधना न्यूज के पत्रकार विष्णु गुप्त के खिलाफ ब्लैकमेलिंग और बलात्कार का मुकदमा दर्ज

यूपी के सोनभद्र जिले के दुद्धी से खबर है कि प्राईवेट अस्पताल में कार्यरत एक महिला ने पत्रकार विष्णु गुप्त के खिलाफ स्थानीय थाना में कई धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है. महिला ने अस्पताल में अनियमितता का भय दिखाकर सत्तर हजार रुपये ब्लैकमेल करने और भयाक्रांत कर मर्जी के खिलाफ शारीरिक सम्बन्ध बनाने का आरोप लगाया. पत्रकार विष्णु के खिलाफ स्थानीय थाना में 376, 385, 228, 504, 506 आदि धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया जा चुका है. पत्रकार विष्णु खुद को साधना न्यूज चैनल समेत कई न्यूज चैनलों और अखबारों का संपादक बताता है. वह अश्लील वीडियो क्लिप भी लोगों को दिखा कर महिला को बदनाम कर रहा है.

पत्रकार से शिक्षिका बनीं डा. शोभना ने बीएचयू के प्रोफेसर कुमार पंकज के खिलाफ दर्ज कराया मुकदमा

बनारस हिंदू विश्‍वविद्यालय के कला संकाय के डीन, पत्रकारिता विभाग के प्रभारी और हिंदी के वरिष्‍ठ अध्‍यापक डॉ. कुमार पंकज के खिलाफ़ शनिवार की दोपहर बनारस के लंका थाने में एक दलित शिक्षिका ने एफआईआर दर्ज करा दी. दलित शिक्षिका का नाम डॉ. शोभना नर्लिकर हैं जो पत्रकारिता विभाग की रीडर हैं. वे 15 साल से यहां पढ़ा रही हैं. डॉ. शोभना पत्रकारिता शिक्षण में आने से पहले पांच वर्ष तक लोकमत समाचार और आइबीएन में बतौर पत्रकार काम कर चुकी हैं.  

‘क्विंट’ की इनवेस्टीगेशन एसोसिएट एडिटर पूनम अग्रवाल के खिलाफ भारतीय सेना ने कर दिया मुकदमा

Mithilesh Priyadarshy : तमाम हथियारों के अलावे सेना के पास एक और हथियार है ‘ओसा’ (ऑफिशियल सिक्रेट एक्ट ). इसका प्रयोग सेना की जासूसी करने वाले लोगों पर किया जाता है. पर इसके अलावे ऐसे लोगों पर भी ‘ओसा’ लगाया जाता है जो सेना के भीतर के सड़ांध को ज़ाहिर करते हैं. पूनम अग्रवाल क्विंट की इनवेस्टीगेशन एसोसिएट एडिटर हैं. इन्होंने सेना में ‘सहायकों’ के दुरुपयोग पर एक स्टोरी की कि कैसे शांति वाले स्टेशनों पर भी आर्मी ऑफिसर के परिवारवाले जवानों से नौकरों वाले काम कराते हैं.

हाथ पर प्लास्टर चढ़ाए नीरज पटेल पहुंचे उरई कोतवाली (देखें तस्वीरें)

न्यूज़ नेशन चैनल में यूपी इनपुट पर कार्यरत रहे नीरज पटेल हाथ पर पलस्तर चढ़ाए बीते दिनों यूपी के उरई कोतवाली पहुंच गए. वहां उन्होंने कोतवाली उरई के निरीक्षक संजय गुप्ता को बताया कि उनका हाथ प्रिंस कुशवाहा ने तोड़ा है, उसके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की जाए. नीरज पटेल पूरी तैयारी से आए थे. वे अपने साथ मेडिकल रिपोर्ट वगैरह भी लाए थे. पुलिस ने उनसे पूछा कि जब आपका हाथ तोड़ा गया तब आपने खबर नहीं की. एक रोज बाद मेडिकल कराकर वह यहां पहुंच रहे हैं.

गैर-जिम्मेदार रिपोर्टिंग पर सुधीर चौधरी और उनकी रिपोर्टिंग टीम के खिलाफ मुकदमा

पश्चिम बंगाल के धुलागढ़ में सांप्रदायिक हिंसा की गैर-जिम्मेदाराना रिपोर्टिंग से नाराज मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जी न्यूज के संपादक सुधीर चौधरी, रिपोर्टर पूजा मेहता और कैमरामैन तन्मय मुखर्जी के खिलाफ FIR दर्ज करा दिया है. मुकदमा 153(A) जैसी गैर जमानती धाराओं में लिखा गया है. सुधीर चौधरी ने एफबी पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है- ”मुख्यमंत्री ममता बनर्जी मीडिया के दमन की कोशिश कर रही है, वो लोकतंत्र के लिए बड़ा खतरा हैं. आगे से कोई भी मीडिया हाउस दंगों की कवरेज करने से बचेगा. ये पत्रकारिता पर अंकुश लगाने की साजिश है.”

फर्जी इंस्टीट्यूट ‘राधा गोविंद इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी’ के खिलाफ एफआईआर का आदेश

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद से बड़ी खबर। न्यायलय ने दिया फर्जी इंस्टीट्यूट के खिलाफ एफआईआर का आदेश। एक छात्र पारस ने अपनी शिकायत जिले के पुलिस अधीक्षक से लेकर मुख्यमंत्री तक की लेकिन विडंबना देखिए कि उसकी किसी ने नहीं सुनी। उसकी शिकायत थी कि वह जिस इंस्टीट्यूट में पढ़ रहा था वह फर्जी है। उसके अनुसार उस जैसे हजारों विद्यार्थियों का भविष्य बर्बाद किया जा रहा है। वह कहता रहा लेकिन सुनने वाला कौन था। आखिरकार उसने एक आरटीआई लगाई और फिर सच प्रामाणिक और लिखित तौर पर सामने आया। इसके बाद न्यायालय की शरण ली और जहां से इंस्टीट्यूट के खिलाफ मामला दर्ज करा सका।

रीता बहुगुणा को परेशान करने के लिए फेसबुक पर कट्टरपंथी हिंदूदवादी ग्रुप ने किया कारनामा, मुकदमा दर्ज

कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता व विधायक रीता बहुगुणा जोशी ने फेसबुक और कुछ अन्य सोशल मीडिया पर अपने खिलाफ आपत्तिजनक सामग्री डाले जाने के आरोप में शुक्रवार को अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। रीता ने यहां संवाददाताओं को बताया कि कुछ शरारती और कट्टरपंथी तत्वों ने एक सुनियोजित साजिश के तहत उनकी फोटो सहित झूठा बयान फेसबुक और कुछ अन्य सोशल नेटवर्किंग साइटों पर पोस्ट किया गया है। इसमें अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हुए उनका निजी मोबाइल नंबर डाला गया है और लोगों से अपील की गई है कि वे इस पोस्ट को शेयर करें और रीता जोशी को फोन करके परेशान करें।

वाट्सएप पर मुस्लिमों के बारे में घटिया टिप्पणी करने वाले कथित पत्रकार के खिलाफ आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज

छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले में एक कथित पत्रकार पर आई टी एक्ट के तहत मामला दर्ज़ हुआ है. कोरिया जिले के मनेन्द्रगढ़ थाणे में राजेश मंगतानि नाम के व्यवसायी पर मुस्लिम समुदाय पर अभद्र टिप्पणी करने के मामले में आई टी एक्ट की धारा 66क लगी है। घटना के संबंध में मनेन्द्रगढ़ के शिकायतकर्ता ने बताया की राजेश मंगतानि ख़ुद को “सहारा समय mp cg का पत्रकार बताता है।

मुलायम को फेसबुक पर बुड्ढा लिख दिया तो कानपुर में दर्ज हो गई एफआईआर!

इमरोज़ खान युवा पत्रकार हैं. जनता की आवाज़ नामक ऑनलाइन पोर्टल चलाते हैं. उन्होंने फेसबुक पर अपने पोर्टल की एक स्टोरी शेयर करते हुए मुलायम की फोटो के साथ लिख दिया कि ”बुड्ढे का पागलपन बढ़ता हुआ”. बस, इसी पर उनके खिलाफ कानपुर में एफआईआर दर्ज हो चुकी है. इस बारे में इमरोज ने भड़ास को एक मेल भेजकर पूरे मामले की जानकारी दी है, जिसे नीचे प्रकाशित किया जा रहा है.

Samruddha Jeevan Fraud : महेश किशन मोटेवार समेत तीन डायरेक्टरों की संपत्ति कुर्क करने के आदेश

लाइव इंडिया न्यूज चैनल संचालित करने वाली चिटफंड कंपनी समृद्धि जीवन के डायरेक्टरों महेश किशन मोटेवार, संतोष पायगोडे और राजेंद्र भंडारे की संपत्ति कुर्क करने के आदेश ग्वालियर की एक अदालत ने दिए हैं. इन तीनों डायरेक्टरों की संपत्ति कुर्क करने के आदेश रोकने को लेकर दाखिल याचिका को अदालत ने खारिज कर दिया है. तीनों के खिलाफ मजिस्ट्रेट कोर्ट से स्थायी गिरफ्तारी वारंट जारी हो चुके हैं.

होशंगाबाद भास्कर के जीएम सुरेंद्र राय के खिलाफ लड़कीबाजी के चक्कर में हुई एफआईआर

अपने रंगीनमिजाज अंदाज के लिए पहचाने जाने वाले होशंगाबाद दैनिक भास्कर के जीएम सुरेंद्र राय पर भोपाल में एफआईआर दर्ज हुई है। जीएम ने दैनिक भास्कर में कार्यरत एक पूर्व महिला कर्मचारी के इश्क में पड़कर उसके मंगेतर को जान से मारने की धमकी दे डाली। भोपाल के कमला नगर थाने में हुई रिपोर्ट के अनुसार जीएम ने मंगेतर को महिला कर्मचारी से शादी करने पर जान से मारने व अन्य प्रकार की धमकियों के लिए कई बार फोन किया था।

सहारा छोड़ने के बाद एलएन शीतल ने नव भारत (मध्य प्रदेश) ज्वाइन किया

LN Shital : प्रिय मित्रों, मैं अब सहारा इण्डिया परिवार में नहीं हूँ . मैंने आज 7 सितम्बर से नव भारत (मध्य प्रदेश) पत्र-समूह में सीनिअर ग्रुप एडिटर एवं इस समाचार पत्र समूह की प्रकाशक कम्पनी- ‘Engage Media Pvt. Ltd.’ के Director के रूप में ज्वाइन कर लिया है. मेरी अपने सर्वस्व तथा परम ईष्ट देव हनुमान जी से दण्डवत प्रार्थना है कि वे अपनी कृपा बनाये रखें. आप सबसे अपना स्नेह और शुभ कामनाएं बनाये रखने की गुज़ारिश है. (LN Shital के फेसबुक वॉल से.)

‘समाचार प्लस’ के पत्रकार पर छेड़खानी समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज

उत्तर प्रदेश के ज्यादातर जिलों में समाचार प्लस नामक चैनल द्वारा जिला संवाददाता उन्हीं को बनाया गया है, जो केबिल ऑपरेटर थे। इसी के चलते ललितपुर जिले में भी केबिल ऑपरेटर शैलेन्द्र जैन को समाचार प्लस का जिला संवाददाता बनाया गया था। लेकिन शैलेन्द्र जैन साहब खबरों के अलावा अन्य सभी कार्यों के लिए जाने जाते हैं। इन्हीं कार्यो के चलते कल इनके खिलाफ ललितपुर कोतवाली में एक लड़की के साथ छेड़खानी और लड़की के साथ मारपीट का मुकदमा दर्ज किया गया है।

मंत्री प्रजापति के खिलाफ एफआईआर के लिए डीजीपी दफ्तर के सामने प्रदर्शन

आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर और सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर ने आज मंत्री गायत्री प्रजापति द्वारा महिला आयोग अध्यक्षा जरीना उस्मानी, सदस्य अशोक पाण्डेय और कुछ पुलिसवालों के साथ कूटरचना कर और फर्जी महिला खड़ी कर उन दोनों को बलात्कार और मारपीट जैसी गंभीर मामलों में फंसाए जाने के सम्बन्ध में एफआईआर नहीं दर्ज करने के सम्बन्ध में डीजीपी कार्यालय के सामने अपना विरोध प्रदर्शन किया.  

लखनऊ में डीजीपी दफ्तर के सामने विरोध प्रकट करते आईपीएस अमिताभ ठाकुर और सामाजिक कार्यर्ता डॉ.नूतन ठाकुर

आदिवासी महिला ने शोषण के खिलाफ ‘खबर मंत्र’ पर किया केस

Aloka Ranchi : आदिवासी महिला के शोषण पर एसटी-एसी थाना में खबर मंत्र पर केस हुआ.. अखबार खबर मंत्र का प्रबंधन यहां कार्यरत लोगो से काम तो लेते हैं पूरे महीने लेकिन जब मानदेय मांगने कोई जाता है तो उसे कोल कुकूर जैसे जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल करके गाली देते हैं… इसी के बाद महिला आदिवासी कर्मचारियों ने अखबार खबर मंत्र के खिलाफ एसटी एसी थाना में केस ठोक दिया..

पीएफ, ईएसआई और मजीठिया मांगा तो पत्रकार पर कई धाराओं में कर दिया मुकदमा

Aloka Ranchi : सथियों इस देश में अपना हक मांगना सबसे बड़ा अपराध बनता जा रहा है. अगर आप किसी अखबार में काम कर रहे हैं तो श्रम कानून का हो रहे उल्लंघन के खिलाफ खड़े होंगे तो अखबार प्रबंधक आपको अपने पैसे और प्रभाव के बल पर कई आपराधिक मामलों में (जहां आप सोच भी नहीं सकते हैं) वहां फसा सकता है। यह घटना रांची से प्रकाशित दैनिक अखबार खबर मंत्र की है।

दिल्ली के अंग्रेजी अखबार में काम करने वाली महिला पत्रकार ने रेप का आरोप लगाया

दिल्ली के एक अंग्रेजी अखबार में काम करने वाली 34 वर्षीय महिला पत्रकार ने अपने दोस्त पर ही रेप करने का आरोप लगाया है. पुलिस इस समय 38 वर्षीय आरोपी को तलाश रही है जो बीती रात वसंत कुंज पुलिस थाने में इस संबंध में शिकायत दर्ज किए जाने के बाद से फरार है. पुलिस के अनुसार, तलाकशुदा और एक आठ साल की बच्ची की मां महिला पत्रकार ने अपनी शिकायत में बताया है कि वह करीब छह साल पहले एक क्लब में आरोपी से मिली थी जिसके बाद वे दोस्त बन गए थे.

गायत्री प्रजापति धमकी के एफआईआर में लखनऊ पुलिस ने किया खेल

मुझे और मेरे पति पति आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर को एक कथित टीवी पत्रकार द्वारा दी गयी धमकी में दी गयी शिकायत पर गोमतीनगर थाने में पूरी तरह गलत तरीके से एफआईआर दर्ज की गयी है. मेरे प्रार्थनापत्र के अनुसार मामला 506 आईपीसी तथा 66ए आईटी एक्ट 2000 का संज्ञेय अपराध बनता है लेकिन थानाध्यक्ष ने इसे सिर्फ धारा 507 आईपीसी के असंज्ञेय अपराध में दर्ज किया. आम तौर पर धमकी देने पर 506 आईपीसी का अपराध होता है जबकि 507 आईपीसी तब होता है जब कोई आदमी अपना नाम और पहचान छिपाने की सावधानी रख कर धमकी देता है.

अखिलेश यादव हैकर! : ‘पीके’ फिल्म डाउनलोड कर देखने पर थाने में दी गई तहरीर

यूपी के सीएम अखिलेश यादव ही जब खुद कानून तोड़ने लगे तो प्रदेश में भला कानून का राज कैसे कायम हो सकता है. यही कारण है कि यूपी में जंलराज की स्थितियां सदा बनी रहती हैं. गरीब-गुरबों का बुरा हाल रहता है. ताजी सूचना अखिलेश यादव से जुड़ी है. उन्होंने फिल्म पीके सिनेमा हॉल में जाकर देखने की बजाय इसे अवैध तरीके से इंटरनेट से डाउनलोड कर देखा. फिल्म ‘पीके’ को इंटरनेट से डाउनलोड करके देखने का मामला ‘पायरेसी’ का होता है. इसको लेकर लखनऊ के सोशल और आरटीआई एक्टिविस्ट संजय शर्मा ने विभिन्न जगहों पर शिकायत की है और अखिलेश यादव के खिलाफ एफआईआर लिखाने के लिए लखनऊ के थाना हजरतगंज में तहरीर दी है.

‘न्यूज11’ के खिलाफ गलत खबर चलाने का मुकदमा

रांची में चुनाव आयोग ने झारखंड के एक कुख्यात न्यूज चैनल ‘न्यूज 11’ के खिलाफ चुनाव के दौरान गलत समाचार प्रसारण करने पर मामला दायर किया है। चुनाव आयोग ने खबर को आचार संहिता के खिलाफ और बदनीयती माना है। आयोग की ओर से चैनल के खिलाफ परिवाद पत्र राजेश पांडेय ने दाखिल किया है। साथ ही हजारीबाग के डीसी से भी इस पर प्रतिवेदन मांगा है।

पत्रकार से मारपीट करने तथा अपमानजक होर्डिंग लगाने के आरोपी पुलिस पकड़ से बाहर

: भूख हड़ताल के बाद दर्ज हुई थी तीन एफआईआर : शाहजहांपुर में एक पत्रकार के खिलाफ अपमानजनक टिप्‍पणी लिखे होर्डिंग्‍स लगाए जाने के मामले ने तूल पकड़ लिया है. आरोपी व्‍यापारियों के खिलाफ तीन-तीन एफआईआर दर्ज होने के बावजूद उनकी गिरफ्तारी में लापरवाही के बाद पत्रकार फिर से आंदोलन करने की तैयारी कर रहे हैं. पुलिस के सामने होने के बाद भी पुलिस आरोपियों को अरेस्‍ट करने की बजाय सेवा करने में लगी रही. गौरतलब है कि अपमानजनक होर्डिंग्‍स लगाए जाने तथा एक पत्रकार पर हमले के खिलाफ पत्रकार जगेंद्र सिंह भूख हड़ताल पर बैठ गए थे, जिसके बाद सिटी मजिस्‍ट्रेट ने कार्रवाई का आश्‍वासन देकर उनका हड़ताल तुड़वाया था. 

देहरादून में आज तक और आईबीएन7 के रिपोर्टरों दिलीप सिंह राठौर व संजीव शर्मा पर मुकदमा दर्ज

देहरादून से एक बड़ी खबर आ रही है. दो न्यूज चैनलों के स्थानीय रिपोर्टरों पर मुकदमा दर्ज हो गया है. ये दो हैं आजतक के रिपोर्टर दिलीप राठौर और आईबीएन7 के रिपोर्टर संजीव शर्मा. आरोप है कि आज तक के रिपोर्टर ने बीते दिनों मीडिया सेंटर में एक-दूसरे व्यक्ति के साथ मार-पीट व गाली-गलोच कर दी थी.  बीच-बचाव करने आये दूसरे पत्रकारों को भी नहीं बख्शा. इस कारण कई लोग दिलीप से नाराज हो गए. पीड़ित विरेंदर सिंह द्वारा दी गई शिकायत पर धारा चौकी में पुलिस ने आजतक और आईबीएन7 के रिपोर्टरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है.  

आज तक के स्ट्रिंगर शरद के खिलाफ डकैती का मुकदमा झूठा निकला

यशवंत भाई आदाब,  अभी कुछ समय पहले ‘भड़ास 4 मीडिया’ पर एक समाचार प्रकाशित हुआ था जिसका शीषर्क था- ‘आज तक के स्ट्रिंगर के खिलाफ डकैती का  मुकदमा दर्ज’.  ये खबर मुरादाबाद से आज तक के जिला संवादाता शरद गौतम के लिये उनके चाहने वालों ने भड़ास पर पोस्ट कराई थी और उनकी मंशा ये रही होगी कि इस खबर से आजतक समूह  शरद गौतम को बाहर का रास्ता दिखा देगा लेकिन हुआ इसका उलट. 14  oct 2014 को ये  मुकदमा संभल जनपद के चंदोसी कोतवाली में दर्ज हुआ और 18 OCT 2014 को जाँच अधिकारी ने मुकदमा झूठा पाया और एक्सपंज कर दिया.