घपलेबाज कंपनी Usha Martin के खिलाफ ED की कार्रवाई से Tata Steel भी सकते में!

उषा मार्टिन ने दावा किया है कि ईडी द्वारा संपत्ति जब्त किए जाने के आदेश का उसके आपरेशंस पर या टाटा स्पंज के कामकाज पर कोई असर नहीं पड़ेगा. पर उषा मार्टिन का यह दावा सवालों के घेरे में आ गया है. उषा मार्टिन वायर रोप डिविजन के कामगार नेता अंजनी कुमार पांडेय का आरोप …

‘प्रभात खबर’ की संचालक कंपनी उषा मार्टिन अवैध खनन और गैर-कानूनी कार्यों में फंसी, 190 करोड़ की संपत्ति जब्त

उषा मार्टिन कंपनी की तरफ से ही प्रभात खबर अखबार चलाया जाता है. कंपनी की तरफ से खनन और लौह अयस्क बिक्री का काम भी किया जाता है. प्रभात खबर अखबार का गढ़ झारखंड और बिहार है. उषा मार्टिन कंपनी के काम का एरिया भी झारखंड है. आरोप है कि प्रभात खबर अखबार की आड़ …

प्रभात खबर अवैध तरीके से छाप रहा मुंगेर संस्करण, पुलिस तक पहुंची लिखित शिकायत

मुंगेर : बिहार राज्य के मुंगेर जिले में वर्षों से केवल मुंगेर जिले के पाठकों के लिए मुद्रित, प्रकाशित और वितरित हो रहे बिना रजिस्ट्रेशन वाले दैनिक प्रभात खबर के अवैध मुंगेर संस्करण के विरूद्ध कानूनी कार्रवाई करने की प्रार्थना करते हुए मुंगेर के अधिवक्ता श्रीकृष्ण प्रसाद ने मुंगेर प्रमंडल के डीआईजी, मुंगेर जिले के …

प्रभात खबर ने बिना टिकट मिले फ्रंट पेज पर फोटो समेत छापा नेताजी का नाम!

भाजपा ने अभी तक देश के किसी हिस्से में अपने प्रत्याशियों के नाम की घोसणा नहीं की है लेकिन प्रभात खबर, देवघर ने इससे आगे बढ़ते हुए खुद ही गोड्डा लोकसभा से सिटिंग संसद निशिकन दुबे का नाम फ्रंट पेज पर प्रकाशित कर दिया. लोग इसे दबाव की राजनीति मान रहे है. चूँकि बहुत से …

पुष्यमित्र ने प्रभात खबर छोड़ा, साकिब को मिली ‘लाइफ’ की जिम्मेवारी

वरिष्ठ पत्रकार पुष्यमित्र ने प्रभात खबर छोड़ दिया है. उनके जाने के बाद दैनिक भास्कर के रिपोर्टर साकिब खान ने प्रभात खबर ज्वाइन किया है. उन्हें ‘पटना@लाइफ’ की जिम्मेवारी दे दी गयी है. साकिब खान ने इस बाबत फेसबुक पर पुष्टि की है. सीनियर जर्नलिस्ट पुष्यमित्र ने एक महीना पहले ही अख़बार को नोटिस दे …

प्रभात खबर में खबरें अनुकूल नहीं छपी तो उपायुक्त ने कार्रवाई के लिए पत्र लिख दिया!

झारखंड के देवघर से खबर है कि प्रभात खबर अखबार के खिलाफ एक्शन लेने के लिए जिला उपायुक्त ने शासन को पत्र लिख डाला है. इसको लेकर पत्रकारों में नाराजगी है. उपायुक्त देवघर ने पत्र रांची में पदस्थ सूचना सचिव को लिखा है. पत्र में प्रशासन के अनुकूल खबर न लिखने की शिकायत की गई …

शर्मनाक : मरने के बाद अपने ही रिपोर्टर से प्रभात खबर ने मुंह फेरा!

प्रभात खबर अखबार की इन दिनों थू थू हो रही है. कभी सरोकार और ईमानदारी का दावा करने वाला ये अखबार आजकल धूर्तता और बेइमानी पर आमादा है. तभी तो अपने रिपोर्टर की मौत के बाद यह अखबार अब उसे अपना पत्रकार ही नहीं मान रहा है. Share on:कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद …

प्रभात खबर में कई बदलाव, पुनित का इस्तीफा, मिथिलेश का ट्रांसफर, रजनीश को नई जिम्मेदारी

प्रभात खबर के बिहार के बिजनेस हेड पुनित खंडेलिया ने प्रभात खबर से इस्तीफ़ा दे दिया है। अब झारखंड राँची प्रभात खबर के बिजनेस हेड विजय बहादुर को बिहार का नया बिज़नेस हेड बनाया गया है। वे दो अप्रैल को नए पद की जिम्मेदारी संभालेंगे।  Share on:कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

प्रभात खबर देवघर संपादक के नाम खुला पत्र

संपादक जी!

मैं अपने इस पत्र की शुरुआत जॉन एलिया की इस पंक्ति कि ”बहुत से लोगों को पढ़ना चाहिए मगर वो लिख रहे हैं” के साथ करना चाहता हूँ। आपकी मौजूदगी, जानकारी और सहमति के साथ इन दिनों प्रभात खबर देवघर संस्करण जिस रास्ते की ओर चल रहा है, उस बाबत आपको यह पत्र लिखने के अलावा मेरे पास कोई दूसरा रास्ता नहीं बचा है। बड़े लोग कहते है सबसे मुश्किल होता है सत्य की रक्षा करना और आज के समय में सबसे आसान होता है अपने आप को दलाल बना लेना।

प्रभात खबर ने हरिवंश को दी विदाई, कमान आशुतोष चतुर्वेदी ने संभाली

प्रभात खबर को गढ़ने और मजबूत बनाने वाले प्रधान संपादक हरिवंश को प्रभात खबर के स्टाफ ने विदाई दी और नए ग्रुप एडिटर आशुतोष चतुर्वेदी को वेलकम कहा. अलविदा और स्वागत का आयोजन रांची में किया गया था. हरिवंश को विदाई देते हुए सबकी आंखें नम थीं. हरिवंश ने जदयू की तरफ से राज्यसभा सदस्य बनाए जाने के बाद संपादक पद से इस्तीफा दे दिया था.

विज्ञापनदाताओं को खुश करने के लिए कैसी कैसी खबरें छाप रहा है प्रभात खबर!

दिनांक 07. 10. 2016 को प्रभात ख़बर के बिजनेस पेज पर शीर्षक “सर्दियों के लिए लक्स ने उतरा नयी रेंज के इनरवियर” से एक खबर छपी. इसी तरह दिनांक 08.10.2016 के प्रभात खबर में बिजनेस पेज पर “ठंड के मौसम के लिए आया लक्स इनफ्रेनो प्रीमियम” शीर्षक से खबर का प्रकाशन किया गया. इन दोनों ख़बरों को विज्ञापन के लिहाज से लिखा जान पड़ता है.

‘प्रभात खबर’ के अधिकारियों ने हॉकरों की खून-पसीने की कमाई को हड़प लिया!

समस्तीपुर। जिले के रोसड़ा अनुमंडल में हॉकरों के साथ ‘प्रभात खबर’ के अधिकारियों ने छल किया है। इस धोखाधड़ी की चर्चा इन दिनों मीडिया में जोरों पर है। प्रभात खबर ने रोसड़ा अनुमंडल मुख्यालय के हॉकरों के लिए एक स्कीम निकाला था जिसमें नियमित कॉपी के अलावे अतिरिक्त पेपर उठाने पर प्रति कॉपी डेढ़ रूपया अतिरिक्त बोनस देने का वादा किया था। इससे प्रभावित होकर हॉकरों ने जी-जान लगाकर प्रभात खबर के अभियान को सफलतापूर्वक अंजाम दिया था। खून-पसीना बहाये डेढ़ से दो वर्ष व्यतीत होने को है लेकिन ‘प्रभात खबर’ द्वारा हॉकरों को उनके हक का बोनस देने में आनाकानी की जा रही है। माना जा रहा है कि प्रभात खबर के अफसरों ने हॉकरों के हिस्से का पैसा हड़प लिया है।

समाचार संपादक सत्य प्रकाश चौधरी ने ‘प्रभात खबर’ प्रबंधन के खिलाफ मजीठिया वेज बोर्ड न देने की याचिका सुप्रीम कोर्ट में दायर की

सत्य प्रकाश चौधरी प्रभात खबर, रांची में समाचार संपादक हैं. उन्होंने मजीठिया वेज बोर्ड लागू करने के लिए पहले प्रबंधन को पत्र लिखा. जब कोई कार्रवाई नहीं हुई तो 6 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट में अवमानना का मुकदमा दायर कर दिया. जैसे ही कोर्ट की वेबसाइट पर मुकदमा होने की बात सार्वजनिक हुई, सत्य प्रकाश का उत्पीड़न शुरू कर दिया गया. वह मुकदमे के बाद जब 7 फरवरी को दफ्तर पहुंचे तो बायोमेट्रिक सिस्टम से उनकी हाजिरी नहीं लग सकी, क्योंकि मशीन से उनके फिंगर प्रिंट का रिकॉर्ड उड़ा दिया गया.

‘प्रभात खबर’ ने लालू यादव को राबड़ी देवी और राबड़ी देवी को लालू यादव बना दिया!

प्रभात खबर का एक और कारनामा… इसने रातोंरात अपने अखबार में लालू यादव को राबड़ी देवी और राबड़ी देवी को लालू यादव घोषित कर दिया…. ऐसा विज्ञापन में किया गया है. न्यूट्रल पब्लिशिंग हाउस नामक कंपनी प्रभात खबर अखबार का प्रकाशन करती है.  कभी ‘अखबार नहीं आंदोलन’ और आज के दिनों में ‘बिहार जागे…देश आगे’ स्लोगन देकर यह अखबार बेचा जाता है. इस हिन्दी दैनिक ‘प्रभात खबर’ के बिहार संस्करण में विज्ञापन के नाम पर एक और कारनामा सामने आया है.  ‘प्रभात खबर’ के गया एडीशन में एक विज्ञापन छपा जो काफी चौकाने वाला है.

मुंगेर में ‘प्रभात खबर’ की कापियां फूंकी जा रही

मुंगेर (बिहार) : ‘संपादक हरिवंश हाय हाय’  ‘प्रभात खबर के आपराधिक प्रवृत्ति के पत्रकार राणा बिजय शंकर सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज करो और उसे गिरफ्तार करो’ ‘एनजीओ हक के सचिव  पंकज सिंह को गिरफ्तार करो’  ‘कासिम बाजार के तात्कालिक थाना-प्रभारी दीपक कुमार और सब-इंसपेक्टर सफदर अली को गिरफ्तार करो’ … इन नारों से बिहार के मुंगेर प्रमंडलीय मुख्यालय की सड़कें विगत सात दिनों से गूंज रही हैं. प्रतिदिन मुंगेर की सड़कों पर दैनिक प्रभात खबर की प्रतियां सरेआम जलायी जा रही हैं.