IFWJ Condemns Murder of Journalist Jagendra Singh

Ram P. Yadav (Secretary-IFWJ) : Indian Federation of Working Journalists (IFWJ) has strongly condemned the murder of Jagendra Singh, a brave and fearless journalist and social activist of Shahjahapur. In a statement, the IFWJ’s Secretary General Parmanand Pandey has demanded that the Akhilesh government of Uttar Pradesh must immediately sack the State Minister Ram Murti Singh Verma at whose instance the Police Inspector Prakash Rai burnt Jagendra Singh after sprinkling petrol on his body.

भास्कर होशंगाबाद के पाँच कर्मचारियों को वापस काम पर रखने के सख्त आदेश

दैनिक भास्कर होशंगाबाद के कर्मचारियों द्वारा गुजरात हाई कोर्ट में मजीठिया का केस लगाने के बाद भास्कर प्रबंधन ने 25 में से 5 कर्मचारियों का अलग-अलग राज्यो में ट्रांसफर कर दिया था। साथ ही वहां ज्वॉइन कराने को लेकर प्रबंधन लगातार दबाव बना रहा था । कर्मचारियों ने ट्रांसफर को चुनौती दे दी। श्रम आयुक्त ने सुनवाई करते हुए भास्कर प्रबंधन को आदेश दिया कि आप कर्मचारियों को परेशान न करें। जब तक कोर्ट से केस का फ़ैसला नहीं आ जाता, ट्रान्सफर किये गए सभी 5 कर्मचारियों से पहले की तरह होशंगाबाद में काम लें और उनका रुका हुआ वेतन दें। 

मतंग सिंह और दयाशंकर मिश्र के बारे में सूचनाएं

नेटवर्क 18 समूह की वेबसाइट न्‍यूज 18 हिंदी के हेड रहे दयाशंकर मिश्र ने अपनी नई पारी एनडीटीवी ग्रुप के साथ की है. दयाशंकर ने एनडीटीवी की हिंदी वेबसाइट को बतौर संपादक ज्वाइन किया है. दयाशंकर को हिंदी पत्रकारिता में 13 वर्षों का अनुभव है. वे नेटवर्क18 से पहले दैनिक भास्कर, अमर उजाला, राजस्थान पत्रिका आदि में काम कर चुके हैं.

एनडीटीवी भी हुई मुकेश अंबानी की!

Anil Singh : खबर बड़ी सनसनीखेज़, लेकिन सच लगती है। इसे लिखा है हर्षद मेहता कांड का भंडाफोड़ करनेवाली जानीमानी पत्रकार सुचेता दलाल ने गहरी पड़ताल के बाद। खबर का सार यह है कि मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज़ से जुड़ी कंपनी, विश्वप्रधान कमर्शियल प्रा. लिमिटेड ने जुलाई 2009 में एनडीटीवी के मालिक प्रणय रॉय, उनकी पत्नी राधिका रॉय और उनकी निजी होल्डिंग कंपनी आरआरपीआर होल्डिंग प्रा. लिमिटेड को बैंक का कर्ज उतारने के लिए 350 करोड़ रुपए का ब्याज-मुक्त ऋण दिया था।

अमर उजाला के पचास करोड़ रुपये के आईपीओ को सेबी ने दी मंजूरी

पूंजी बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति और विनियम बोर्ड (सेबी) ने पिछले हफ्ते तीन कंपनियों के प्रारंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) को अपनी मंजूरी दे दी है। यह तीनों कंपनियां अपने कारोबार विस्‍तार और कार्यशील पूंजी की जरूरतों के लिए संयुक्‍त रूप से 1,000 करोड़ रुपए की राशि बाजार से जुटाएंगी। इसके साथ ही इस साल सेबी द्वारा आईपीओ की मंजूरी हासिल करने वाली कंपनियों की संख्‍या बढ़कर 17 हो गई है।

पीसीआई की फैक्ट फाइंडिंग टीम शाहजहांपुर जाएगी

प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया (पीसीआई) के चेयरमैन जस्टिस सीके प्रसाद ने कहा कि यूपी के शाहजहांपुर में पत्रकार की जलाकर हत्या के मामले में पीसीआइ की फैक्ट फाइंडिंग कमेटी को मौके पर भेजेगी. उन्होंने कहा कि यूपी सरकार से निष्पक्ष जांच के लिए स्पेशल इंवेस्टीगेशन कमेटी गठित करने की अपेक्षा की है. उन्होंने पत्रकार हत्याकांड की घोर निंदा की.

साथी की हत्या के विरोध में सड़क पर उतरे जौनपुर के पत्रकार

जौनपुर। शाहजहांपुर जनपद के पत्रकार जगेन्द्र सिंह की गत दिवस आग लगने से हुई मौत को लेकर बुधवार को जनपद के पत्रकारों ने मोटरसाइकिल जुलूस निकालकर जमकर विरोध प्रदर्शन करते हुये कलेक्ट्रेट पहुंचकर जिलाधिकारी के प्रतिनिधि अतिरिक्त उपजिलाधिकारी पुष्पराज सिंह को पत्रक सौंपा। 4 सूत्रीय मांगों का यह ज्ञापन मुख्यमंत्री के नाम सम्बोधित था जिसको जिलाधिकारी के माध्यम से भेजकर पूरी करने की मांग की गयी।

जो इस्तीफा दे चुका है उसे श्रम विभाग नोएडा ने पार्टी बनाकर नोटिस जारी कर दिया! (पढ़ें प्रसून शुक्ला का पत्र)

द्वारा, प्रसून शुक्ला, पूर्व एडिटर इन चीफ  एवं सीईओ, न्यूज़ एक्सप्रेस चैनल

08.06.2015

श्री शमीम अख्तर

सहायक श्रम आयुक्त

गौतमबुद्ध नगर, उत्तर प्रदेश

संदर्भ :  प्रसून शुक्ला, (पूर्व सीईओ एवं एडिटर इन चीफ) को भेजे गये 06.06.15 की नोटिस का जवाब

शमीम जी,

दिल्ली पुलिस की अफरातफरी और राजनीति का गंदा खेल : वक्त बताएगा किसने क्या खोया और क्या पाया…

Om Thanvi : किसी एफआइआर पर पुलिस मंत्री क्या पार्षद के खिलाफ भी इतनी अफरातफरी में हरकत में नहीं आती। तोमर पर लगे आरोप नए नहीं हैं, अदालत में मामला पहले से है। अगर उन्होंने फर्जीवाड़ा किया है तो निश्चय ही सजा मिलनी चाहिए, मंत्री पद से छुट्टी तो होनी ही चाहिए। वैसे आप सरकार भी इसकी दोषी तो है कि अब तक न भीतरी लोकपाल नियुक्त किया है न बाहरी। तोमर की ‘असली’ डिग्रियां पेश करने का वादा भी अब तक पूरा नहीं किया गया है। लेकिन इसके बावजूद दिल्ली पुलिस की आज की नाटकीय गतिविधि संदेह के घेरे से बाहर नहीं निकल आती। सवाल यह है कि कल कोई एफआइआर शिक्षामंत्री स्मृति ईरानी पर डिग्री (यों) वाले उनके फर्जी हलफनामों के लिए दर्ज होती है तो क्या पुलिस इसी जोशोखरोश में पेश आएगी?

फर्रुखाबाद के पत्रकारों ने जगेंद्र मर्डर केस की सीबीआई जांच की मांग की

उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट एशोसियेशन (उपजा) की फर्रुखाबाद शाखा की तरफ से राज्यपाल को एक ज्ञापन भेजा गया. इसमें पूरे मामले की सीबीआई जांच की मांग की गई. ज्ञापन की कापी इस प्रकार है…

फिर चैनल लाएंगे राघव बहल, जर्मनी की कंपनी से हाथ मिलाया

राघव बहल टीवी मीडिया के बड़े खिलाड़ी हैं. नेटवर्क18 बनाकर उसे अंबानी को भारी भरकम मुनाफे में बेच दिया. अब बहल फिर टीवी चैनल लाने की प्लानिंग में जुटे हैं. इसके लिए जर्मनी की एक मीडिया कंपनी दा विंची मीडिया के साथ हाथ मिलाया है. राघव बहल की खुद की नई कंपनी का नाम क्विंटीलियन मीडिया है.

मीडिया ट्रायल रोकने के नाम पर मीडिया पर बैन?

मुंबई और महाराष्ट्र में मीडिया का काम कठिन होने वाला है। खासकर अपराध से जुड़ें मामलों में। महाराष्ट्र सरकार ने बॉम्बे हाईकोर्ट मे एक हलफनामा दायर कर बताया है कि आरोपी और पीड़ित की निजता बनाए रखने के लिए पुलिस को दिशा-निर्देश जारी किया है, जिसमें आरोपी का नाम, उसकी तस्वीर और उससे जुड़ी कोई भी जानकारी मीडिया को देने के लिए मना किया गया है। यह हलफनामा बॉम्बे हाईकोर्ट में दायर एक जनहित याचिका के जवाब में दिया गया है। जनहित याचिका दायर करने वाले वकील राहुल ठाकुर के मुताबिक, किसी पर भी मामला दर्ज होते ही पुलिस उसकी पुरी जानकारी, तस्वीर मीडिया को दे देती है। नतीजा ये होता है कि दोष साबित होने के पहले ही वह शख्स अपराधी मान लिया जाता है, जो अन्याय है।

न्यूज24 और ई24 चैनल में नौकरी करना बहुत ही खतरनाक!

{jcomments off}न्यूज24 चैनल से कभी भी किसी को भी बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता है. यहां लोगों को जब भर्ती किया जाता है तो उन्हें महीनों बाद बताया जाता है कि वे ट्रायल पीरियड पर हैं और उन्हें बाहर किया जा रहा है. इस तरह हायर और फायर की पालिसी यहां खूब जोरशोर से लागू की जा रही है. ट्रायल पीरियड के नाम पर लोगों को ट्राई करके निकाल देने का काम यहां बहुत ज्यादा होता है. ऐसा करके यहां से हाल में ही तकरीबन चार लोगों को निकाल दिया गया. यहां हर वक्त कर्मचारियों के सिर पर तलवार लटकी रहती है. जाने कब राजीव पराशर के खासमखास एचआर की तरफ से नौकरी जाने का फोन आ जाए. हर कोई भयग्रस्त रहता है कि या तो वो निकाल दिया जाएगा या फिर उनका ट्रांसफर कर दिया जाएगा.

मुकेश कुमार गजेंद्र ने दैनिक भास्कर छोड़कर आजतक ज्वाइन किया

दैनिक भास्कर के वेब पोर्टल की लखनऊ में कमान संभाल रहे पत्रकार मुकेश कुमार गजेंद्र ने अपनी नई पारी अब आजतक की वेबसाइट के साथ शुरू की है. पिछले आठ साल से पत्रकारिता कर रहे मुकेश कुमार गजेंद्र ने टीवी, न्यूजपेपर, मैगजीन और ऑनलाइन में काम किया है. दिल्ली विश्वविद्यालय से हिंदी साहित्य और मास कम्युनिकेशन में पोस्टग्रेजुएशन के साथ ही हिंदी पत्रकारिता में डिप्लोमा, खेल और विज्ञान में स्पेशलाइजेशन किया है. वे टाइम्स समूह, एक्सप्रेस समूह और लोकसभा टीवी में काम कर चुके हैं.

क्या ऐसी ही तेजी 225 सांसदों और 1258 विधायकों के खिलाफ पुलिस दिखाएगी : पुण्य प्रसून बाजपेयी

11 मई को शिकायत। 27 दिनों में जांच पूरी। 8 जून को एफआईआर दर्ज और 28 वें दिन गिरफ्तारी। फिर 4 दिन की पुलिस रिमांड। वाकई दिल्ली पुलिस ने पहली बार एक ऐसा रास्ता देश के तमाम राज्यों की पुलिस के सामने बनाया है जिसके बाद देश के हर राज्य में अगर पुलिस इसी तेजी से काम करने लगे तो क्या संसद और क्या विधानसभा कही भी कोई दागी नेता ना बचे। यानी पुलिस शिकायत लेने के बाद जांच तेजी से करें और एफआईआर दर्ज करने के चौबीस घंटे के भीतर आरोपी को गिरफ्तार करने लगे तो तो कोई दागी सांसद या कोई दागी मंत्री या विधायक बच नहीं पायेगा। क्योंकि अब सवाल सिर्फ दिल्ली के एक मंत्री के फर्जी डिग्री के मामले में दिल्ली पुलिस की पहल भर का नहीं है।

पत्रकार रविशंकर रवि सहित पांच लोगों को मिलेगा विष्णु प्रभाकर सम्मान

नई दिल्ली। इस साल का विष्णु प्रभाकर समाजसेवा सम्मान मध्य प्रदेश के विदिशा रेलवे स्टेशन पर पिछले बत्तीस सालों से लगातार जनसाधारण को निशुल्क जल वितरण करने वाली संस्था सार्वजनिक भोजनालय समिति को देने का फैसला किया गया है। संस्था को यह सम्मान विष्णु प्रभाकर के 104वें जन्मदिन के उपलक्ष्य में 20 जून को नई दिल्ली में गांधी हिंदुस्तानी साहित्य सभा, विष्णु प्रभाकर प्रतिष्ठान और अनिल संदेश(राष्ट्रीय मासिक पत्रिका) की ओर से होने वाले समारोह में दिया जाएगा।

पत्रकार जगेंद्र सिंह के साथ अमानवीय व्यवहार करने वाले यूपी के मंत्री राम मूर्ति को फांसी देने की मांग बिहार में उठी

हाजीपुर : उत्तर प्रदेश सरकार के पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री राम मूर्ति वर्मा द्वारा शाहजहांपुर के पत्रकार जगेंद्र सिंह को बांध कर पेट्रोल छिड़क कर आग लगा देने की अमानवीय व्यवहार की निंदा करते हुए विभिन्न सामाजिक राजनीतिक-सामाजिक संगठनों एवं बुद्धिजीवियों ने उस मंत्री को बरखास्त कर फांसी की सजा देने की मांग की है.  पत्रकार प्रो चंद्र भूषण सिंह शशि की अध्यक्षता में संपन्न एक बैठक में घटना की निंदा करते हुए दोषी मंत्री के बरखास्तगी की मांग की गयी. वहीं, जिला कांग्रेस कमेटी विधि प्रकोष्ठ के अध्यक्ष मुकेश रंजन ने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में ऐसा आचरण असहनीय है. किरण मंडल के महासचिव वरीय अधिवक्ता विनय चंद्र झा ने कहा कि मीडिया पर हमला लोकतंत्र पर हमला है.

बजरंगी भाईजान की धमकी, नकारात्मक बातें होती रहीं तो ट्विटर छोड़ दूंगा

‘बजरंगी भाईजान’ यानी सलमान खान ने ट्विटर छोड़ने की धमकी दी है। अपने फैन्स को जमकर लताड़ लगाई है। सलमान के फैंस जितना उन्हें प्यार करते हैं, उतना ही वह भी अपने फैंस पर जान छिड़कते हैं, लेकिन कुछ फैंस ने सल्लू को नाराज कर दिया है। उनकी कुछ ऐसी हरकतें हैं, जो सलमान को बिलकुल पसंद नहीं हैं। उन्होंने ट्वीट कर अपने इन फैंस को कहा है कि ऐसे लोग उनके प्रशंसक नहीं हो सकते हैं, जो फर्जी अकाउंट बनाते हैं। 

कल्पतरु एक्सप्रेस अलीगढ़ से दो मीडियाकर्मियों ने दिया इस्तीफ़ा

आगरा से प्रकाशित हिंदी अखबार कल्पतरु एक्सप्रेस में सत्ता परिवर्तन के बाद संस्थान में बढ़ रहे ब्राह्मणवाद के चलते अन्य जातियों के कर्मचारियों ने किनारा करना शुरू कर दिया है। आगरा कार्यालय के बड़ी संख्या में कर्मचारियों द्वारा त्यागपत्र देने के बाद अब अलीगढ़ ब्यूरो कार्यालय से भी दो लोगों ने इस्तीफा दे दिया। रिपोर्टर …

भड़ास की खबर ने फिर दिखाया असर, भर्ती में भ्रष्टाचार पर घिरे राज्य सभा टीवी अफसर

भड़ास फॉर मीडिया की खबर ने एक बार फिर अपना असर दिखाया है. राज्य सभा टीवी में हुई भर्ती में भ्रष्टाचार की खबर भड़ास पर प्रसारित होने के तत्काल बाद राज्य सभा टीवी के कर्ता-धर्ता  पूरे मामले पर लीपा-पोती की कोशिश में जुट गए हैं. 

ऑनलाइन टिकट के नाम पर लूट रहे आईआरसीटीसी और रेलवे

वाराणसी (उ.प्र.) : आईआरसीटीसी (irctc) और रेलवे मिलकर ऑनलाइन टिकट के नाम पर लोगों को लूट रहे हैं। अगर आपने ऑनलाइन टिकट को बुक कराकर कैंसिल किया तो कोई गारंटी नहीं कि वो पैसा आपके खाते में वापस आये।

फर्जी डिग्री व रिमाण्ड तो एक बहाना है… असल में कुछ और निशाना है…

दिल्ली के कानून मंत्री जीतेन्द्र सिंह तोमर की गिरफ्तारी ने कई विवाद खड़े कर दिए हैं। गिरफ्तारी की अन्दरूनी सच्चाई भले ही कुछ भी हो लेकिन देश हित में जीतेन्द्र सिंह तोमर की गिरफ्तारी ने सवालों की झड़ी लगा दी है। सवाल यह नहीं कि देश की राजधानी का कानून मंत्री खुद शिकंजे में है। सवाल यह भी नहीं कि डिग्री फर्जी है या नहीं। सवाल यह है कि गिरफ्तारी का जो तरीका अपनाया गया वह कितना जायज है। 

जगेंद्र हत्याकांड : जांच में सबसे बड़ा रोड़ा सत्ता की खाल में छिपे दलाल पत्रकार

उत्तर प्रदेश की अखिलेश यादव की सरकार में पिछड़ा वर्ग कल्याण राज्य मंत्री राममूर्ति सिंह वर्मा, कोतवाल श्रीप्रकाश राय और मंत्री के चार अन्य गुर्गों के खिलाफ पत्रकार जगेंद्र सिंह को जिंदा जलाकर मारने के मामले में खुटार थाने में रिपोर्ट दर्ज तो दर्ज हो गई, अब देखिए इस मामले का अंत किस तरह होता है। चाहिए तो था कि हत्या की रिपोर्ट दर्ज करने के साथ ही मंत्री को सरकार से बाहर कर दिया जाता, और उसके बाद जांच अमिताभ ठाकुर जैसे किसी ईमानदार आईपीएस से कराई जाती। लेकिन ऐसा कहां संभव है। मंत्री हत्यारोपी है, उस पर और भी कई मामले पहले से सुर्खियों में हैं। हकीकत है कि सब हाथीदांत जैसा चलता लग रहा है। जब सारे छंटे-छंटाए सियासत के टीलों पर सुस्ता रहे हैं, जिसकी नकाब हटाओ, वही अपराधियों के सरगना जैसा, तो फिर ऐसी जांच की संभावना कहां बचती है। 

 

जलाए गए पत्रकार जगेन्द्र सिंह की मौत के साक्ष्य देंगे अमिताभ ठाकुर

आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर ने शाहजहाँपुर निवासी सोशल मीडिया पत्रकार जगेन्द्र सिंह की मौत के बाद दर्ज किये गए एफआईआर को देर से उठाया गया कदम बताया है और इस बात पर कष्ट व्यक्त किया है कि जगेन्द्र के जीते जी उनका मुक़दमा दर्ज नहीं हुआ.

क्या अपने राज्यमंत्री को बर्खास्त करेंगे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

जी हां, जांबाज शहीद पत्रकार जगेन्द्र मामले में आरोपी राज्यमंत्री राममूर्ति वर्मा व घूसखोर इंस्पेक्टर श्रीप्रकाश राय के खिलाफ रपट दर्ज हो जाने के बाद भी अगर कार्रवाई नहीं हो पा रही है तो अखिलेश सरकार पर सवाल खड़ा होना लाजिमी है। क्या ऐसे ही मंत्रियो, बाहुबलियों, श्रीप्रकाश राय, संजयनाथ तिवारी जैसे लूटेरा व घुसखोर इंस्पेक्टर, भ्रष्ट आईएएस अमृत त्रिपाठी व आईपीएस अशोक शुक्ला आदि के सहारे समाजवादी पार्टी 2017 की वैतरणी पार करने का सपना संजो रखी है? अगर ऐसा नहीं है तो सच सबके सामने आ जाने के बाद इंस्पेक्टर समेत राज्यमंत्री को बर्खास्त करने में इतनी देर क्यों की जा रही है

डीजीपी ए एल बनर्जी और ए सी शर्मा ने मांगे एसएमएस से घूस : आईपीएस अमिताभ ठाकुर

आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर ने दावा किया है कि आगरा के जालसाज सपा नेता शैलेंद्र अग्रवाल का जिन दो पूर्व डीजीपी के साथ पैसे के लेन देन के संपर्क का खुलासा हुआ है वे ए एल बनर्जी और ए सी शर्मा हैं. 

अखबार मालिकों को सीएम और पीएम से बांस की आशंका थी तो जाकर लोट गए उनके चरणों में

जो हमें बांस करता है, हम उसी को नमस्‍कार करते हैं। इस समय सूर्य ने बांस कर रखा है तो सारी दुनिया उसे नमस्‍कार कर रही है। यही नहीं, जहां से हमें बांस होने की आशंका होती है, हम वहां भी नमस्‍कार करने से नहीं चूकते हैं। अखबार मालिकों को सीएम और पीएम से बांस की आशंका थी, तो लोट गए चरणों में। छाप दिया बड़ा-बड़ा इंटरव्‍यू। कर्मचारियों को जब अखबार मालिकों के बिचौलियों से बांस होने की आशंका थी तो घेर-घेर कर नमस्‍कार करते थे। …और जब दैनिक जागरण के कर्मचारियों ने बांस किया तो प्रबंधन ने सूर्य नमस्‍कार करना शुरू कर दिया और चार लोगों को वापस ले लिया। जिन लोगों ने बांस नहीं किया, उनको बाहर का रास्‍ता दिखा दिया। हमें बांस की आदत सी पड़ गई है।

सेलरी के लिए सड़क पर उतरे, प्रबंधन बोला- जून आखिरी सप्ताह में हो जाएगा फुल एंड फाइनल

न्यूज एक्सप्रेस चैनल के प्रबंधन ने ऐलान किया है कि उनके यहां कार्यरत लोगों का फुल एंड फाइनल पेमेंट जून लास्ट वीक में हो जाएगा. उधर, अब तक कानूनी लड़ाई के सहारे अपना हक मान रहे न्यूज एक्सप्रेस के कर्मचारी अब सड़कों पर उतर आए हैं. कर्मचारियों ने मंगलवार सुबह कंपनी दफ्तर के सामने प्रदर्शन किया और नारेबाजी की. प्रदर्शन के दौरान कर्मचारियों ने पोस्टर चिपकाए और गुस्से का इजहार किया. सैंकड़ों कर्मचारियों ने एक स्वर में मैंनेजमेंट से जल्द से जल्द बकाया भुगतान की मांग की. कर्मचारियों की तरफ से पूरे मामले की पैरवी रूबी अरुण, सचिन अग्रवाल और महेंद्र नाथ मिश्र कर रहे हैं.

पत्रकार जगेंद्र सिंह को जलाकर मारने के आरोप में मंत्री राममूर्ति वर्मा पर हत्या का मुकदमा

शाहजहांपुर (उ.प्र.) के जुझारू पत्रकार जगेंद्र सिंह को जिंदा जलाकर मार डालने के आरोप में प्रदेश के मंत्री राममूर्ति वर्मा, इंस्पेक्टर प्रकाश राय समेत कई के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो गया है। पीड़ित पक्ष ने यूपीसरकार के मंत्री राममूर्ति वर्मा पर पत्रकार की हत्या का आरोप लगाया था। आज पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 302 और 120 बी के तहत एफआइआर दर्ज कर ली। 

लोकतांत्रिक तरीके से चुना हुआ व्यक्ति भी तानाशाह हो सकता हैः नामवर सिंह

नई दिल्ली : आलोचना (त्रैमासिक) पत्रिका के अंक 53-54 के प्रकाशन के उपलक्ष्य में ‘भारतीय जनतंत्र का जायजा’ विषय पर साहित्य अकादमी-सभागार में आयोजित परिचर्चा में युवाओं की भागीदारी जबरदस्त रही। दिल्ली विश्वविद्यालय, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय सहित अन्य अकादमिक संस्थानों के छात्रों ने जमकर हिस्सा लिया। उपस्थिति  का आलम यह था कि सभागार में पैर रखने की भी जगह नहीं थी। जिसे जहां जगह मिली, वह वहीं पर बैठ गया। इस बीच युवाओं ने जनतंत्र से जुड़े सवालों की झड़ी लगा दी। एक युवा ने सवाल खड़ा किया कि आखिर क्यों ‘आलोचना’ पहले जैसी नहीं होती! जिसकी आलोचना होती है वह और मजबूत क्यों हो जाता है!

काश, कोई ‘हेमंत तिवारी’ जगेंद्र सिंह का केस भी सीएम तक पहुंचा दे

शाहजहांपुर के सोशल मीडिया पत्रकार जगेन्द्र सिंह का लखनऊ के सिविल अस्पताल में इलाज के दौरान निधन हो गया। जगेंद्र सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय थे और वो सरकारी तंत्र में व्याप्त भ्रष्टाचार को लेकर काफी मुखर थे। राजधानी लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार एन यादव का हृदयगति रुक जाने से निधन हो गया। वे हिंदी दैनिक आज के ब्यूरो प्रमुख पद पर कार्यरत रहे थे।

बांग्लादेश के ब्लॉगर हत्याकांड में फोटो जर्नलिस्ट गिरफ्तार

बांग्लादेश के ब्लॉगर अनंत बिजॉय दास हत्याकांड में पुलिस ने सोमवार को एक संदिग्ध फोटो जर्नलिस्ट को अरेस्ट किया है। पुलिसा का दावा है कि ब्लॉगर की हत्या में कथित तौर पर उस शख्स का हाथ है।

जेडे हत्याकांड में महिला पत्रकार जिगना वोरा सहित 10 के खिलाफ आरोप तय

मुंबई की विशेष मकोका अदालत ने जागरण समूह के अखबार मिड-डे के वरिष्ठ पत्रकार जे डे हत्याकांड में महिला पत्रकार जिगना वोरा सहित 10 आरोपियों के खिलाफ आरोप तय कर दिया। 11 जून 2011 को पत्रकार डे की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी।

जाली डिग्री मामले में दिल्ली के कानून मंत्री जितेंद्र तोमर गिरफ्तार, शाम को साकेत कोर्ट में पेश

सोमवार की रात फर्जी डिग्री मामले में दिल्ली सरकार के कानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर के खिलाफ धोखाधड़ी, आपराधिक षड्यंत्र समेत आईपीसी की कई धाराओं में रिपोर्ट दर्ज करने बाद मंगलवार सुबह गिरफ्तार कर लिया। उऩ्हें हौज खास थाने ले जाने के बाद वसंत विहार थाने भेज दिया गया। पुलिस ने शाम को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि उसकी जांच में तोमर की दोनों डिग्रियां फर्जी निकली हैं। गिरफ्तारी के बाद पुलिस उन्हें एम्स में मेडिकल टेस्ट के लिए लेकर गई। अभी तोमर को पुलिस साकेत कोर्ट में पेशी के लिए लेकर पहुंची। उधर, लखनऊ में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि दिल्ली के कानून मंत्री की गिरफ्तारी में गृह मंत्रालय का कोई हाथ नहीं है। गृह मंत्रालय किसी की गिरफ्तारी का आदेश नहीं देता।

‘न्यूज नेशन’ की उगाही कथा (7) : दिल्ली-एनसीआर के डाक्टर्स, डयग्नोस्टिक सेंटर्स संगठन एकजुट, आपात बैठक

Padampati Sharma : स्टिंग के नाम पर हिला देने वाले उगाही प्रकरण में दिल्ली एनसीआर के सभी डाक्टर्स और जांच केंद्रों से जुड़े समस्त संगठन लामबंद हो गए हैं. पता चला है कि इनके पदाधिकारियों की आपात बैठक बुलायी गयी है, जिसमें मुख्य एजेंडा उगाही का चेक लेते हुए रंगे हाथ पकड़ी गयी OXXY कंपनी की कर्मचारी शीतल कपूर और कंपनी के खिलाफ दिल्ली क्राइम ब्रांच की जांच की प्रगति और इसमें आगे की काररवाई रहेगा. 

शीतल कपूर

अब पांच साल से पहले पीएफ निकालना पड़ेगा महंगा

प्रॉविडेंट फंड में निवेश करने वाले वैसे लोग, जिनके पास पैन कार्ड नहीं है, उन्हें टैक्स की भारी मार झेलनी पड़ेगी। फाइनेंस बिल के नए प्रस्ताव के मुताबिक 5 साल से पहले पीएफ का पैसा निकालने वालों को 10.3 फीसदी से लेकर 30.9 फीसदी तक का टैक्स देना पड़ेगा। नया प्रस्ताव 1 जून से लागू हो गया है।

दैनिक जागरण की पोल-पट्टी खोलेंगे कुमावत, संसद में गूंजेगा मजीठिया वेतनमान का मुद्दा

दैनिक जागरण ने एक बार फिर एक होनहार कर्मचारी खो दिया है। कुमावत से मेरी विस्‍तार से बातें हुआ करती थीं। वह अक्‍सर यह कहते थे- मैं जागरण प्रबंधन को उसके हित की बातें बताता रहता हूं, लेकिन वे प्रबंधन के इगो, अहंकार और घमंड के प्रतिकूल हुआ करती थीं। इसलिए उन बातों को महत्‍व नहीं दिया जाता था। जागरण को तो विजय सेंगर और विष्‍णु त्रिपाठी जैसे चापलूसों की जरूरत है, जो कानून का एक अच्‍छर नहीं जानते और कंपनी को कानूनी उलझनों में फंसाते जा रहे हैं। 

गोरखपुर अमर उजाला में एडिटर और एनई के आतंक से भगदड़

गोरखपुर अमर उजाला में इन दिनो संपादक प्रभात सिंह और न्यूज एडिटर मृगांक सिंह के आतंक से मीडिया कर्मियों में भगदड़ सी मची हुई है। कई लोग तीन से छह महीने तक की मेडिकल छुट्टी पर चले गए हैं। कई पत्रकार अन्य अखबारों में चुपचाप नौकरियां खोजने में लगे हुए हैं। ब्यूरो स्तर पर कई जिलों में स्ट्रिंगरों में भी असंतोष बताया जाता है। मेन पॉवर डिस्टर्व होने से कार्यरत लोगों के जरूरी अवकाश भी मंजूर नहीं किए जा रहे हैं।  

पत्रकार जगेंद्र के पिता ने कहा- मंत्री और पुलिस ने मेरे बेटे को मार डाला, अब जांच क्राइम ब्रांच के हवाले

खुटार (शाहजहांपुर)। पत्रकार जगेंद्र सिंह की मौत के बाद उनके परिवार में कोहराम मचा हुआ है। उनके बुजुर्ग पिता सुमेर सिंह ने मंत्री राममूर्ति वर्मा और षडयंत्रकारी पुलिस कर्मियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जेल न भेजने पर सपरिवार डीएम कार्यालय पर आत्मदाह की चेतावनी दी है। उनका कहना है कि मंत्री और पुलिस ने मिलकर उनके बेटे को मार डाला है। उन्होंने पूरे मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग भी की है। 

पत्रकार जगेंद्र की मौत के बाद मंत्री के खिलाफ आक्रोश की लहर

सोशल मीडिया पर बेबाक और निष्पक्ष खबरें लिखने वाले जुझारू पत्रकार जागेन्द्र सिंह का पिछले कुछ दिनों से सत्ताधारी नेताओ द्वारा लगातार उत्पीड़न किया जा रहा था, जिसकी शिकायत जागेन्द्र सिंह ने स्थानीय थाने में की थी लेकिन पुलिस उल्टे जागेंद्र को ही गिरफ्तार करने पहुँच गई। जगेंद्र सिंह की मौत के बाद मंत्री राममूर्ति वर्मा के खिलाफ पूरे प्रदेश के पत्रकारों में रोष फैल गया है। सोशल मीडिया पर तो आक्रोश की लहर सी आ गई है।

पत्रकार जगेंद्र सिंह का उत्पीड़न कराने वाला मंत्री राममूर्ति वर्मा और उसका चहेता कोतवाली प्रभारी, जिसके षडयंत्र से गजेंद्र जिंदा जले

बिहार में माफिया, गुंडों और भ्रष्ट अफसरों से लड़ रहे आरटीआई कार्यकर्ता विपिन गिरफ्तार

मोतिहारी (बिहार) : हरसिद्धि क्षेत्र के आरटीआई कार्यकर्ता विपिन अग्रवाल को तीन जून को स्थानीय पुलिस ने एक बोरा सरकारी गेहूं की कालाबाजारी के प्रायोजित आरोप में गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया। इससे पूर्व बीडीओ लोकेन्द्र यादव के आवेदन पर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई थी। उल्लेखनीय है कि विपिन के कार्यों को लेकर वर्ष 2014 में मुजफ्फरपुर की संस्था सर्वोदय मंडल एक राष्ट्रीय समारोह में उन्हें ‘यूथ आइकोन’ के तौर पर सम्मानित भी कर चुकी है। वह लंबे समय से माफिया, गुंडों और भ्रष्ट अफसरों की अनियमितताओं के खिलाफ आरटीआई के मोरचे पर संघर्षरत हैं।

बिहार की जेल में बंद आरटीआई कार्यकर्ता विपिन अग्रवाल

राजस्थान में अब बढ़ेंगी भास्कर और पत्रिका की मुश्किलें

राजस्थान में दैनिक भास्कर व राजस्थान पत्रिका की मुश्किलें अब बढऩे वाली हैं। अभी तक तो ये दोनों अखबार श्रम विभाग के इंस्पेक्टरों को कोई तव्वजो नहीं देते थे। कागजात मांगने पर आनाकानी करते थे। संपादकों के जरिए सीएमओ से फोन करवा कर इंस्पेक्टरों पर धौंस जमाया करते थे। अब श्रम विभाग का यही इंस्पेक्टर इनकी मुश्किलें बढ़ाने वाला है।

सोलह साल बाद किसी भारतीय फिल्म को कान में पुरस्कार

भारतीय सिनेमा के लिए सचमुच यह खुशी की बात है कि दुनिया के सबसे प्रतिष्ठित कान फिल्मोत्सव के अधिकारिक चयन में इस बार दो फिल्में प्रदर्शित की गईं, गुरविंदर सिंह की पंजाबी फिल्म ‘चौथी कूट’ और नीरज घायवान की ‘मसान’। यह भी कम महत्वपूर्ण नहीं है कि लगभग सोलह साल बाद किसी भारतीय फिल्म को कान में पुरस्कार मिला। 68 वें कान फिल्मोत्सव में शिरकत के बाद वरिष्ठ फिल्म समीक्षक अजित राय की रपट:

सुरक्षा न मिलने पर आईपीएस अमिताभ ठाकुर पहुंचे हाईकोर्ट

लखनऊ : डीएम की अध्यक्षता वाली जनपदीय सुरक्षा समिति ने आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर और सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. नूतन ठाकुर को सुरक्षा दिए जाने से इनकार कर दिया है। दोनों ने समिति के इस निर्णय को इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच में चुनौती दी है।

कानपुर आइ-नेक्स्ट के जीएम पंकज पांडेय पहुंचे अमर उजाला

कानपुर आई-नेक्स्ट के महाप्रबंधक पंकज पांडेय ने जागरण समूह से अपना नाता तोड़ते हुए अमर उजाला को ज्वॉइन कर लिया है। उधर, महेश शिवा ने जनवाणी के सहारनपुर ब्यूरो कार्यालय का कार्यभार संभाल लिया है। वह जनवाणी की लांचिग के समय से ही संस्थान से जुड़े हैं। बताया गया है कि निवर्तमान ब्यूरो चीफ पवन …

माखनलाल यूनिवर्सिटी के छात्रों ने लड़ाई के लिए कमर कसी

माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय का आंतरिक विवाद गहराता जा रहा है। कभी फर्जी नियुक्ति का मामला, कभी छात्र विरोधी स्थितियां तो कभी शिक्षकों के शोषण का मसला। इस तरह के एक नहीं बल्कि सैकड़ों प्रकरण उलझे हुए हैं। ऐसा लगता है, जैसे माखनलाल विश्वविद्यालय और विवादों का आपस में चोली-दामन का साथ है। विगत पांच सालों से लागातार छात्र हित की अनदेखी की जा रही है। छात्रों ने अपने हित की लड़ाई के लिए कमर कस ली है।

निरस्त हो सकते हैं सन टीवी के 33 चैनलों के लाइसेंस

नयी दिल्ली : कलानिधि मारन के सन टीवी नेटवर्क के 33 टीवी चैनलों को सुरक्षा संबंधी मंजूरी देने के सूचना और प्रसारण मंत्रालय के प्रस्ताव को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने ठुकरा दिया है। इससे इन चैनलों के लाइसेंस निरस्त हो सकते हैं। यह फैसला मारन और उनके भाई एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री दयानिधि मारन के खिलाफ लंबित आपराधिक मामलों से प्रभावित माना जा रहा है।

दलाल पत्रकारों की साजिश में एक और पत्रकार की बलि

दलाल पत्रकारों की साजिस के चलते शाहजहांपुर में एक जांबाज पत्रकार जगेन्द्र भ्रष्ट मंत्री और भ्रष्ट पुलिस की साजिश का शिकार होकर दम तोड़ दिया  22 मई को सूबे के वरिष्ठ अधिकारियों को भेंजे पत्र में जता दी थी अपनी हत्या की आशंका। मंत्री के इशारे पर पुलिस ने रची जलाने की साजिश, अब इस पूरे मामले में सरकार मौन क्यों है?

भ्रष्टाचार की भेट चढ़े पत्रकार की मौत पर आईपीएस अमिताभ ने जांच की मांग उठाई

शाहजहाँपुर निवासी सोशल मीडिया पत्रकार जगेन्द्र सिंह, जो 01 जून 2015 को दिन में अपने आवास विकास कॉलोनी, सदर बाज़ार स्थित मकान में सदर कोतवाल श्रीप्रकाश राय द्वारा दी गयी दबिश के दौरान आग लगने से लगभग 60 फीसदी जल गए थे, की आज सिविल अस्पताल, लखनऊ में मौत हो गयी.

घटना से चिंतित जगेंद्र सिंह के परिजन

यूपी में जंगल राज : शाहजहांपुर के जुझारू पत्रकार जगेंद्र सिंह ने लखनऊ के अस्पताल में दम तोड़ा

शाहजहाँपुर/लखनऊ (उ.प्र.) : उत्तर प्रदेश सरकार के एक मंत्री से लोहा लोने वाले जुझारू पत्रकार जगेंद्र सिंह की मौत हो गई। पुलिस द्वारा डाली गई दबिश के दौरान जलकर घायल हुए जगेंद्र सिंह ने आज लखनऊ के सिविल अस्पताल में आखरी साँस ली।

दूसरे चित्र में जलने के बाद गंभीर हालत में जगेंद्र सिंह

सन टीवी के शेयर एक ही दिन में 30 फीसदी तक गिर गए

केंद्रीय गृह मंत्रालय से सिक्युरिटी क्लियरेंस न मिलने की खबरों के बाद सोमवार को सन टीवी नेटवर्क के शेयरों के दाम 30 फीसदी तक गिर गए। इस समूह के मालिक कलानिधि मारन हैं। शेयर गिरने के बाद कंपनी ने एक स्टेटमेंट जारी कर कहा कि उसके चैनल ऑन एयर ही हैं। दोपहर 2.45 पर सन टीवी के शेयर 277.15 रुपए से 79.20 रुपए नीचे आ गए। यह गिरावट पिछली क्लोजिंग से करीब 22.23 फीसदी कम रही। सोमवार सुबह शेयर करीब तीस फीसदी तक गिर गए थे।

सहयोगी छात्र या सहपाठी?

Qamar Waheed Naqvi : आज एक हिन्दी दैनिक में छपी एक ख़बर में लिखा गया– सहयोगी छात्र! ‘सहयोगी छात्र’ के बजाय सही प्रयोग होता– सहपाठी. इसके साथ ‘छात्र’ शब्द जोड़ने की भी ज़रूरत नहीं है, क्योंकि सहपाठी का अर्थ है, साथ पढ़नेवाला. लिखते समय अकसर हम शब्दों की मूल बनावट पर ध्यान नहीं देते हैं, इसलिए अनजाने में ‘सहयोगी छात्र’ जैसे प्रयोग कर डालते हैं.

सहारा के तीन होटलों का साढ़े पांच सौ करोड़ रुपए में सौदा

लंदन : अरबपति बंधुओं डेविड और सिमोन रियुबेन ने सहारा समूह के लंदन स्थित ग्रोसवेनर होटल और अमेरिका स्थित दो अन्य होटलों प्लाजा और डाउनटाउन का 850 मिलियन डॉलर (5,500 करोड़) में अधिग्रहीत कर लिया है । 

भोपाल के सांध्य दैनिक ‘प्रदेश टुडे’ के मालिक दीक्षित बंधुओं में दरार !

भोपाल : आर्थिक संकट से जूझ रहे यहां के सांध्य दैनिक ‘प्रदेश टुडे’ में इन दिनों मालिक भाइयों अवधेश दिक्षित और हृदेश दीक्षित के बीच दरार पड़ने की खबर है। पता चला है कि इसके पीछे अखबार के सर्वेसर्वा सतीश पिंपले हैं। पिंपले की अखबार में हर जगह दखल है। मन-मर्जी के अलावा पिंपले खुद की कमाई का कोई मौका भी नहीं छोड़ता! 

पुलिस को ‘दबंग दुनिया’ के मालिक किशोर वाधवानी की तलाश?

इंदौर के अखबार ‘दबंग दुनिया’ के मालिक किशोर वाधवानी इन दिनों कुछ ज्यादा ही परेशान हैं। खबर है कि वाधवानी ने अपने उज्जैन ब्यूरो चीफ महेश पांडे पर आरोप लगाते हुए काम से हटा दिया था! इस बात की सूचना उन्होंने अखबार में महेश पांडे के खिलाफ ‘दबंग दुनिया’ में विज्ञापन छापकर दी। 

‘दबंग दुनिया’ अखबार की मार्केटिंग अब जल्द ही ठेके पर

मार्केटिंग के लफड़ों से परेशान होकर ‘दंबग दुनिया’ की मार्केटिंग को भी ठेके पर एक विज्ञापन एजेंसी को दिए जाने की चर्चा है। 

हम पत्रकार जर्रे हैं, नाचीज़ हैं, पेड हैं, दलाल हैं, मिस ईरानी क्या हैं ?

चोर को चोर कहना अच्छी बात है पर चोर को चोर कहने से आप ईमानदार नही बन जाते है. ये सही है कि मीडिया आज के दौर में अपनी साख खोता जा रहा है. ये सही है कि टीआरपी के नाम पर रोज़ रोज़ न्यूज़ चैनलों में तमाशा हो रहा है और उससे दर्शक उकताने लगे हैं. ये भी सही है कि पुलिस की तरह अब मीडिया से भी लोगों को नफरत होने लगी है ? शायद इसीलिए स्मृति ईरानी ने जब आजतक के एंकर और रिपोर्टर पर चढ़ाई कीं तो जनता का बड़ा हिस्सा मिस ईरानी के समर्थन में झुक गया. हालाँकि तमाशा ईरानी भी कम नहीं कर रही थीं.

टी न्‍यूज चैनल ने जारी किया ऑडियो टेप, आंध्रा की सियासत में भूचाल, राव पर रिपोर्ट, नायडू मोदी से मिलेंगे

नोट फॉर वोट की आंच ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू को लपेटे में लिया है। एक ऑडियो टेप में दावा किया गया है कि वोट के बदले नोट केस में पकड़े गए टीडीपी विधायक रेवंत रेड्डी को पूरी तरह से सीएम नायडू का समर्थन प्राप्त था। तेलंगाना में सत्तारूढ़ टीआरएस के दफ्तर से चलने वाले चैनल टी न्‍यूज ने रविवार को एक ऑडियो टेप जारी किया। चैनल का दावा है कि इसमें नायडू मनोनीत विधायक एल्विस स्टीफन्सन से ‘कमिटमेंट’ की बात कर रहे हैं। उनका खयाल रखने का भरोसा भी दिला रहे हैं। यह बातचीत तेलंगाना विधान परिषद की 5 सीटों पर हुए हालिया चुनाव के संदर्भ में हुई थी। नायडू के एडवाइजर पी. प्रभाकर का कहना है कि यह ऑडियो फर्जी है। नायडू के दो विधायकों ने अवैध फोन टैपिंग का आरोप लगाते हुए सोमवार को तेलंगाना के सीएम चंद्रशेखर राव के खिलाफ विजयवाड़ा में एफआईआर भी दर्ज कराई। 

ब्रह्माकुमारी संगठन के पैसे से माउंट आबू में मीडिया चिंतन

ब्रह्माकुमारी संगठन हर वर्ष मीडिया पर अपनी पकड़ बनाए रखने के लिए देश भर से पत्रकारों को माउंट आबू में आमंत्रित करता है। जमकर सेवा सत्कार होती है। इस तरह मीडिया को अपने अपने पाले में पालने पोषने के और भी कई तरह के जतन देश में जारी हैं। पत्रकारों को ऐश कराकर अपनी बातें कहलवाने, प्रसारित कराने का ये वहीं तरीका है, जो प्रधानमंत्रियों, मुख्यमंत्रियों, राजनेताओं, अफसरशाहों आदि के साथ सरकारी पैसे पर आयोजित यात्राओं पर होता है।

दम तो है केजरीवाल की तल्खी में

अरविन्द केजरीवाल की तल्खी और आरोपों को लगाने की दमदारी का मैं हमेशा कायल रहा हूं। एक सशक्त लोकतंत्र में जब तक इस तरह की बेबाकी नहीं होगी तब तक उसकी गूंज राजनीतिक गलियारों से लेकर मीडिया तक सुनाई नहीं देगी। सफल लोकतंत्र का तो सबसे बड़ा तकाजा भी यही बोलता है कि पक्ष से ज्यादा ताकतवर विपक्ष होना चाहिए तब ही जनता के हित सुरक्षित रह सकेंगे। इसमें भी कोई शक नहीं कि भाजपा ने विपक्ष का रोल पूरी दमदारी से निभाया और आज भी सत्ता पक्ष में आने के बावजूद वह अपने प्रचार-प्रसार और मार्केटिंग में कोई कोताही नहीं बरत रही है। इसके ठीक विपरित कांग्रेस की हालत यह है कि उसकी ट्यूबलाइट लगातार बुरी तरह हार के बावजूद आज तक नहीं जलती दिख रही है।

देवघर के जसीडीह में सहारा इंडिया के ब्रांच से 1.78 लाख की लूट

देवघर : देवघर के जसीडीह में शनिवार दिन में सहारा इंडिया के ब्रांच से  1.78 रुपये नकदी की लूट कर ली गयी और अपराधी चलते बने. अपराधी नौ की संख्या में सहारा इंडिया की शाखा में पहुंचे थे. पुलिस इस मामले की तहकीकात कर रही है और अपराधियों की धड पकड के लिए प्रयास किये …

रिटायर्ड आईपीएस वीएन राय ने हाशिमपुरा कांड पर किया एक और बड़ा खुलासा

मेरठ के हाशिमपुरा में 28 साल पहले हुए जनसंहार मामले में एक बड़ा खुलासा हुआ है। यह खुलासा मेरठ एक रिटायर्ड आईपीएस ने किया है जो उस वक्त मेरठ से सटे गाजियाबाद के एसपी थे। प्रख्यात लेखक और रिटायर्ड आईपीएस विभूति नारायण ने खुलासा किया कि हाशिपुरा जनसंहार मामले में तत्कालीन सरकार ने पीएसी फोर्स के विद्रोह के डर से समुचित कार्रवाई नहीं की थी।

आंसुओं से ब्लड शुगर मापने जैसा प्लान गूगल को बनाएगा लंबी रेस का घोड़ा

गूगल के कार्यकारी चेयरमैन इरिक स्किमिड ने कंपनी के 2015 के शेयर होल्डरों की बैठक में शेयर धारकों को भरोसा दिलाते हुए कहा कि डायबिटिक ब्लड शुगर को लोगों के आंसुओं के जरिए मापने जैसे प्लान गूगल को लंबी रेस का घोड़ा बनाएंगे। इरिक मानते हैं कि इस तरह के प्रोजेक्ट ही गूगल को आगे ले जाएंगे और भविष्य में सफलता दिलाएंगे।

‘न्यूज नेशन’ की उगाही कथा (6) : शीतल कपूर के बारे में क्राइम ब्रांच को मिले सनसनीखेज साक्ष्य

Padampati sharma : [हे भगवान ! यह क्या हो रहा है…? मेरी वाल से पोस्ट कौन डीलिट कर रहा है ? कोई आईटी एक्सपर्ट मेरी वाल पर नजर गड़ाए हुआ है…स्टिंग में उगाही पर खेल को लेकर दस दिन पहले मेरी दो पोस्ट हटा दी गयी थीं और एक भारतीय टीम के चयन पर मैने लिखी थी वह भी गायब हो गयी…सात जून को कड़ी की चौथी पोस्ट डाली थी…काफी सूचनात्मक थी…..वह थोड़ी देर पहले ही हैक कर ली गयी…जबसे मैने स्टिंग राग छेड़ा है तब से लोग लग गए हैं पीछे. फोन आ रहे हैं, चेज कर रहे हैं, ऐसा लगता है कि मंशा ठीक नहीं है लोगों की….लेकिन यदि डराना चाहता है कोई तो मैं चुनौती देता हूं कि सामने आओ…मैं डरने वालों में नहीं हू. कौन जाने कि मेरी शहादत मीडिया की गंदगी साफ करने में सहायक बने…..] ….शीतल को शो के पहले ही स्टिंग की रॉ फुटेज, कैसे हाथ लग गयी थी…पुलिस की सघन जांच, में सनसनीखेज सुबूत हाथ लगे !! ‘आपरेशन जोंक’ में हुए Extortion मामले की जांच में जितना अंदर जा रहा हूं, उतनी ही उलझनें बढ़ती जा रही हैं. बीता दिन इसी चक्कर में निकल गया…शनिवार को ही एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी का फोन आया जिसमें उन्होंने मेरी मुकम्मल सिक्योरिटी को लेकर आश्वस्त भी किया. पर मैं तो चाहता हूं कि इस मुद्दे पर जान जाने से यदि मीडिया में गंदगी साफ होती है तो इससे बेहतर और क्या हो सकता है. 

वरिष्ठ पत्रकार एन यादव का हृदयगति रूक जाने से निधन

 
लखनऊ । राजधानी लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार एन यादव का आज रविवार को सुबह हृदयगति रूक जाने से निधन हो गया. वे हिंदी दैनिक  आज के ब्यूरो प्रमुख पद पर कार्यरत थे।
एन यादव के निधन पर यूपी जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन की लखनऊ इकाई के अध्यक्ष अरविन्द शुक्ला ने गहरा शोक व्यक्त किया है। मालूम हो पत्रकारों की कल्याणकारी संस्था जर्नलिस्ट्स वेलफेयर सोसाइटी में भी एन यादव काफी सक्रिय थे। 

आतंकी संगठन आईएसआईएस की मैगजीन ‘दबिक’ ऑनलाइन बेच रहा ऐमजॉन

विश्व के सबसे खतरनाक आतंकी संगठन आईएसआईएस की मैगजीन ‘दबिक’ यूरोप के कई देशों और अमेरिका में ई-कॉमर्स कंपनी ऐमजॉन की वेबसाइट पर ऑनलाइन बेची जा रही है। यह मैगजीन ब्रिटेन, फ्रांस, स्पेन, जर्मनी और इटली में बेची जा रही है। वेबसाइट पर इस मैगजीन की कीमत 27 पाउंड रखी गई है। पत्रिका के प्रकाशक के तौर पर आईएसआईएस की मीडिया शाखा अल-हयात मीडिया सेंटर का नाम दिया गया है। 

रिहाई मंच ने किया कस्बा-कस्बा, गांव-गांव तक सांप्रदायिकता के खिलाफ संघर्ष का आह्वान

सुल्तानपुर : सांप्रदायिकता, जातिगत हिंसा और भागीदारी के सवाल पर सलीम हायर सेकेन्डरी स्कूल, खैराबाद सुल्तानपुर में रिहाई मंच की ‘लोकतंत्र और इंसाफ का सवाल’ सम्मेलन में गांव व कस्बे स्तर पर इंसाफ मुहिम चलाने का आह्वान किया गया।

 

वाराणसी में पत्रकारों का प्रोत्साहन-सम्मान, रेल राज्यमंत्री को सौंपा 14 सूत्री मांगपत्र

वाराणसी में गांधीयन मिडिया ग्रुप एवं भारतीय जर्नलिस्ट वेलफेयर एसोसिएशन के स्थापना दिवस पर सराहनीय योगदान के लिए “गांधीयन अचीवमेंट एवार्ड 2015 ” से विशिष्ट जनों को नवाजा गया। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने पत्रकारों, साहित्यकारों और कलाकारों को सम्मानित किया। इस अवसर पर साहित्यकार पत्रकार व कलाकार के सर्वहित सवालों पर गहरी चिंता चर्चा की गई।

सम्मान समारोह की एक झलक

मंत्री गायत्री प्रजापति पर जबरिया कब्जे के प्रयास का आरोप

लखनऊ के पुरसेनी, मोहनलालगंज निवासी जगजीत सिंह ने खनन मंत्री गायत्री प्रजापति पर जबरदस्ती उनकी जमीन कब्जाने का प्रयास करने और मना करने पर धमकी देने का आरोप लगाया है. 63 वर्षीय जगजीत सिंह का कहना है कि उन्होंने 1995 से 2007 के बीच करीब तीन बीघा जमीन ख़रीदा जो उनके नाम दर्ज है और वे उस पर काबिज हैं. गायत्री प्रजापति की एमजीए कोलोनाइजर की बगल में जमीन है जिसे वे जबरदस्ती श्री जगजीत की जमीन से बदलना चाहते हैं.

गजेंद्र कांड : चंदौली में काली पट्टी बांधकर पत्रकारों का मौन मार्च

चंदौली : पत्रकार समन्वय समिति की बैठक शनिवार को जीटी रोड स्थित लाल बहादुर शास्त्री पार्क में हुई, जिसमें शाहजहांपुर के पत्रकार गजेन्द्र सिंह के साथ पुलिस और सत्तापक्ष के एक मंत्री द्वारा किये गये कृत्य की निन्दा की गयी। घटना की उच्च स्तरीय जांच के लिए पत्रकारों ने मौन मार्च निकाला। कोतवाली में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम कोतवाल के जरिये ज्ञापन सौंपा गया।

चंदौली में काली पट्टी बांधकर मौन मार्च करते पत्रकार

संस्कृत संस्थान में अनियमिता, स्मृति ईरानी से गुहार

लखनऊ स्थित सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर ने मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी से मानव संसाधन विकास मंत्रालय में सलाहकार नियुक्त किये गए चमुकृष्ण शास्त्री द्वारा राष्ट्रीय संस्कृत संस्थान में अनुचित और अवैधानिक हस्तक्षेप की कथित शिकायत की जांच कराये जाने की मांग की है. 

मप्र सरकार ने नियुक्त किया विशेष श्रम अधिकारी, अब मीडिया कर्मियों की परीक्षा

मजीठिया वेतन बोर्ड की अनुशंसाओं को लागू कराने के लिए चल रहे प्रयासों का दूसरा दौर प्रारंभ हो गया है। मप्र सरकार ने माननीय सर्वोच्च न्यायालय के आदेश का पालन करते हुए निर्धारित समय में श्रम अधिकारी की नियुक्ति कर दी है। अब गेंद पत्रकार और गैर पत्रकार साथियों के पाले में आ गई है। सरकार ने अपनी जिम्मेदारी पूरी की है।

आसाराम कांड के गवाह पर हमले की दस दिन पहले से जानकारी थी !

आसाराम मामले के पानीपत निवासी गवाह महेंद्र चावला पर हुए हमले की कुछ लोगों को दस दिन पहले से ही जानकारी थी और उन्हें हमला करने वालों के नाम भी मालूम थे. यह बात इंदौर निवासी आसाराम के पूर्व सहयोगी और अब उनके खिलाफ प्रमुख गवाह सतीश वाधवानी की एक व्यक्ति से फोन पर बात की रिकॉर्डिंग से सामने आई है.

संपादक का तुगलकी फरमान, खबरदार जो कुर्ता-पायजामा पहन कर कार्यालय आया

हिन्दुस्तान मेरठ अपने तुगलकी फरमानों के कारण फिर चर्चा में है। इस बार वरिष्ठ स्थानीय संपादक अनिल भास्कर ने पत्रकारों को कुर्ता-पायजामा और चप्पल-सैंडल पहनकर कार्यालय नहीं आने का फरमान सुना दिया है। इसके लिए बाकायदा सभी को ईमेल भेजकर सूचित किया गया है कि आफिस में केवल जूते पहनकर ही आए। ऐसा नहीं करने पर आफिस में नहीं घुसने दिया जाएगा। 

मेरठ हिंदुस्तान को झटका देकर अमर उजाला पहुंचे सर्वेंद्र

हिन्दुस्तान मेरठ के स्थानीय संपादक सूर्यकांत द्विवेदी को अपनी मनमानी का बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ा है। मुजफ्फरनगर में स्ट्रिंगर रहे सर्वेंद्र पुंडीर को प्रमोट करके सब एडिटर बनाया। इसके बाद बिजनौर से हर्यंश्व सिंह सज्जन को हटाकर सर्वेंद्र को वहां का ब्यूरो चीफ बनाया। सूर्यकांत के इस कदम का हिन्दुस्तान के भीतर जमकर विरोध हुआ था।

हिन्दुस्तान में भगदड़, 37 ने दिया भास्कर में इंटरव्यू, शशिशेखर मनाने पहुंचे बिहार

हिन्दुस्तान की मुश्किल कम होने का नाम नहीं ले रही है। इस बार उसकी परेशानी का कारण बिहार में दैनिक भास्कर बना है। बिहार में अपने विस्तार में जुटे दैनिक भास्कर ने हिन्दुस्तान को बड़ा झटका देने की तैयारी कर ली है।

एक ऐसे वक्त में : आंबेडकर-पेरियार स्टडी सर्किल पर पाबंदी और ये मीडिया की दुकानें

आंबेडकर-पेरियार स्टडी सर्किल पर लगी पाबंदी पर अरुंधति रॉय का बयान : कार्यकर्ता-लेखिका अरुंधति रॉय ने यह बयान आईआईटी मद्रास द्वारा छात्र संगठन आंबेडकर-पेरियार स्टडी सर्किल पर लगाई गई पाबंदी (नामंजूरी) के संदर्भ में जारी किया है. एक दूसरी खबर के मुताबिक, एपीएससी को लिखे अपने पत्र में भी उन्होंने यही बात कही है कि ‘आपने एक दुखती हुई रग को छू दिया है – आप जो कह रहे हैं और देख रहे हैं यानी यह कि जातिवाद और कॉपोरेट पूंजीवाद हाथ में हाथ डाले चल रहे हैं, यह वो आखिरी बात है जो प्रशासन और सरकार सुनना चाहती है. क्योंकि वे जानते हैं कि आप सही हैं. उनके सुनने के लिहाज से आज की तारीख में यह सबसे खतरनाक बात है.’ 

यशवंत सिंह की अगुवाई में भड़ास लड़ रहा मजीठिया की लड़ाई

मीडिया में सिर्फ एक फीसद मस्त-मस्त संप्रदाय सारस्वत है और बाकी लोग अस्पृश्य बंधुआ मजदूर …; बहरहाल मोदियापे में मशगूल मीडिया कर्मियों से हमारा सवाल है कि लंबे तेरह साल के इंतजार के बाद माननीय सुप्रीम कोर्ट ने जो मजीठिया अपनी देखरेख में लागू करने का फैसला किया है, उसमें समानता और न्याय कितना है, क्या वेतनमान मिला, ठेके पर जो हैं, उनको क्या मिला, ग्रेडिंग और कैटेगरी में कितनी ईमानदारी बरती गयी और दो-दो प्रमोशनों के बाद उनकी हैसियत क्या है, पहले इस पर गौर करें तो आम जनता पर क्या कहर बरप रहा है, उसका तनिक अंदाज आपको हो जाये। ‘भड़ास4मीडिया’ जैसे मंचों से उनकी बात सिलसिलवार सामने आ रही है और हमें इसके लिए यशवंत सिंह का आभार मानना चाहिए। लेकिन सिर्फ पत्रकार उत्पीड़ित नहीं हैं, जिनके लिए वे आवाज बुलंद कर रहे हैं। हम मीडिया उनके हवाले छोड़ आम जनता के मसले उठा रहे हैं।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले दो, सवाल एक मीडिया बड़ा या न्याय पालिका !

भारतीय लोकतंत्र की अन्योन्याश्रित चार प्रमुख शक्तियां हैं- विधायिका, न्यायपालिका, कार्यपालिका और मीडिया। लेकिन कई एक ताजा प्रसंग अब ये संदेश देने लगे हैं कि अभी तक सिर्फ राजनेता, अफसर और अपराधी ही ऐसा करते रहे हैं, अब भारतीय मीडिया भी  डंके की चोट पर सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का मजाक बनाने लगा है। मजीठिया वेज बोर्ड से निर्धारित वेतनमान न देने पर अड़े मीडिया मालिकों को जब सुप्रीम कोर्ट ने अनुपालन का फैसला दिय़ा तो उसे कत्तई अनसुना कर दिया गया। इस समय मीडिया कर्मी अपने हक के लिए दोबारा सुप्रीम कोर्ट की शरण में हैं। इस पूरे मामले ने ये साफ कर दिया है कि भारतीय मीडिया को न्यायपालिका के आदेशों की परवाह नहीं है। इस तरह वह हमारी लोकतांत्रिक व्यवस्था का खुला मखौल उड़ा रहा है। इतना ही नहीं, लोकतंत्र के चार स्तंभों में से एक होने के नाते उसकी यह धृष्टता भारतीय न्याय-व्यवस्था के प्रति आम आदमी की अनास्था को प्रोत्साहित भी करती है। मीडिया कर्मियों को मजीठिया वेतनमान देने की बजाए कई बड़े मीडिया घराने तो पुलिस की मदद से मीडिया कर्मियों का गुंडों की तरह उत्पीड़न करने लगे हैं। इसी दुस्साहस में वह सुप्रीम कोर्ट के हाल के एक और आदेश को ठेंगा दिखाते हुए सरकारी विज्ञापनों में नेताओं की फोटो छापने से भी बाज नहीं आ रहा है। भारतीय मीडिया (प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक दोनो) यह साबित करने की लगातार कुचेष्टा कर रहा है कि उसकी हैसियत देश के सर्वोच्च न्यायालय से ऊपर है।

मजीठिया मामले में जागरण ने कुमावत को बलि का बकरा बनाया

नोएडा : मजीठिया वेतनमान को लेकर दैनिक जागरण प्रबंधन का अपने कर्मचारियों पर दमन जारी है। प्रबंधन ने उपमहाप्रबंधक ( एचआर) आर कुमावत पर कई तरह के आरेाप लगाकर उनसे इस्‍तीफा ले लिया है। उनकी इस्‍तीफे की आशंका पहले से ही थी क्‍योंकि वह मजीठिया मामले में प्रबंधन द्वारा कर्मचारियों को परेशान करने के खिलाफ थे। 

डेक्कन मीडिया समूह के उपाध्यक्ष पीके अय्यर होटल से गिरफ्तार, सीबीआई के हवाले

भुवनेश्वर : ओडिशा पुलिस ने हैदराबाद के डेक्कन क्रोनिकल समूह के उपाध्यक्ष पी के अय्यर को कल रात यहां एक पांचसितारा होटल से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बताया कि अय्यर होटल में एक महिला के नाम पर बुक कमरे में ठहरे हुए थे। बैंक धोखाधड़ी के एक मामले में आरोपी अय्यर के खिलाफ सीबीआई ने गैर-जमानती वारंट जारी किया था जिसके बाद से वह फरार थे।

Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal meets Justice Majithia

The Chief Minister of Delhi, Mr. Arvind Kejriwal, met Justice G.R.Majithia at the Delhi Secretariat. The two discussed the Majithia Wage Board recommendations. Justice Majithia also shared several experiences with the Chief Minister of the times when the wage board was working. “I assure you that I will get the Majithia Wage Board recommendations implemented in Delhi,” the Chief Minister told Justice Majithia. 

बस्ती अमर उजाला ब्यूरो प्रमुख धीरज पांडेय घायल, हालत गंभीर

बस्ती (उ.प्र.) : अमर उजाला के ब्यूरो प्रमुख धीरज पाण्डेय बीती रात शहर में करतार सिनेमा के पास मार्ग दुर्घटना में गम्भीर रूप से घायल हो गये। धीरज के दोनों पैर बुरी तरह जख्मी हो गये हैं। दुर्घटना तेज रफ्तार सफारी की चपेट में आने से हुई। उन्हें बीती देर रात्रि बस्ती से लखनऊ ट्रामा सेन्टर रेफर कर दिया गया। आज दोपहर एक बजे तक उन्हें होश नहीं आ पाया था।

‘न्यूज नेशन’ उगाही कथा (5) : छत्तीस लाख फिरौती मांगने वाली शीतल कपूर आज भी आजाद

 Pampati Sharma : OXXY कंपनी है खेल खेलने वाली और उसकी प्रमुख खिलाड़ी है शीतल कपूर जो छुट्टा घूम रही। मैने यह बताया था कि कैसे एक महिला ने एक सेंटर के डायरेक्टर महोदय को फोन करते हुए सीधे सीधे एक्सटार्शन यानी उगाही यानी फिरौती मांगी कि यदि आप 36 लाख दे देते हैं तो स्टिंग में आपका सेंटर नहीं होगा. संचालक महोदय ने तत्काल पुलिस को सूचित किया. उस महिला का फोन 18 दिसंबर को आया था. उसने कहा था कि क्लीपिंग दिखा देंगे तब पूरा पेमेंट दीजिएगा जो चेक से होगा. हम अपना कमीशन काट कर बाकी की रकम चैनल में ऊपर के लोगों को पहुंचा देंगे. 

ये है शीतल कपूर

जागेंद्र प्रकरण : काली पट्टी बांधकर पत्रकारों का धरना-प्रदर्शन, कोतवाल लाइन हाजिर

शाहजहांपुर (उ.प्र.) : जागेंद्र सिंह आत्मदाह प्रकरण से क्षुब्ध पत्रकारों ने काली पट्टियां बांधकर ऑल प्रेस एवं राइटर्स एसोसिएशन के बैनर तले कलक्ट्रेट में प्रदर्शन और डीएम, एसपी से वार्ता न हो पाने पर दो घंटे तक धरना भी दिया। आखिरकार पत्रकारों के पांच सदस्यीय शिष्टमंडल से विकास भवन के फर्स्ट फ्लोर पर वार्ता करते हुए जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना ने ज्ञापन लेने के साथ ही आश्वासन दिया कि जगेंद्र का बेहतर इलाज कराया जाएगा और जांच पूरी होने तक उनकी गिरफ्तारी पर रोक रहेगी। इस बीच एसपी बबलू कुमार ने इसी मामले में कोतवाल श्रीप्रकाश राय को लाइन हाजिर कर दिया है। 

‘सांध्यप्रकाश’ ने ताजा खबर में छापी मोदी और शिवराज की पुरानी फ़ोटो

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से 44 वर्षों से प्रकाशित एक सांध्य दैनिक ‘सांध्यप्रकाश’ ने गुरुवार 4 जून को  प्रथम पेज पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक पुरानी फ़ोटो छाप दी।

अरविन्द केजरीवाल से बरखा दत्त का ये इंटरव्यू देखने सुनने लायक है

Sanjaya Kumar Singh : अरविन्द केजरीवाल और बरखा दत्त ने इस इंटरव्यू में भाजपा की राजनीति से लेकर मैगी तक की चर्चा की है। एलजी की तो ऐसी तैसी कर दी – यह कहते हुए कि ये तो कांग्रेस के नियुक्त किए हुए हैं। अपनी नौकरी बचाने के लिए काम कर रहे हैं और अमित शाह का चपरासी बुलाएगा तो रेंगते हुए जाएंगे। उपराज्यपाल के पद की गरिमा खराब कर रहे हैं आदि। दिल्ली सरकार के सौ दिन पूरे होने पर कनॉट प्लेस में पूरे मंत्रिमंडल ने आम जनता से बात की थी और अब करीब 52 मिनट का यह विस्तृत इंटरव्यू।

एनडीटीवी पर दो करोड़ रुपये का जुर्माना… सेबी ने मनी लांडरिंग मामले में दोषी माना…

एक बड़ी खबर बाजार नियामक सेबी से आ रही है. एनडीटीवी पर मनी लांड्रिंग समेत कई किस्म की आर्थिक गड़बड़ियों के आरोप लगे थे जिसकी सुनवाई सेबी में चल रही थी. सेबी ने इन मामलों को लेकर सूचनाएं और तथ्य छिपाने समेत कई आरोपों को सही मानते हुए एनडीटीवी को दोषी करार दिया है. सेबी ने इस कंपनी पर दो करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है. न्यू देलही टेलीविजन लिमिटेड नामक कंपनी के बैनर तले एनडीटीवी 24×7, एनडीटीवी इंडिया समेत कई न्यूज चैनलों का संचालन किया जाता है. कंपनी के कर्ताधर्ता प्रणय राय और राधिका राय हैं. इन पर कई किस्म की आर्थिक अनियमितताओं के आरोप लगे. एनडीटीवी की तरफ से आरोपों से इनकार किया जाता रहा है. पर अब सेबी द्वारा दोषी ठहराए जाने के बाद से एनडीटीवी की नैतिक स्थिति काफी कमजोर हो गई है. SEBI finds NDTV guilty of concealing information in money laundering matter… imposes fine of Rs. 2 crore… सेबी का आदेश यूं है…

कैनविज टाइम्स के मालिक कन्हैया गुलाटी ने युवाओं को ठगा, जांच के आदेश

लखनऊ और बरेली से प्रकाशित हिंदी दैनिक अखबार कैनविज टाइम्स के मालिक कन्हैया गुलाटी पर युवाओं को ठगने का आरोप लगा है. कई युवाओं द्वारा लिखित तौर पर लगाए गए आरोप के बाद बरेली प्रशासन ने पूरे मामले की जांच के आदेश दिए हैं. बताया जा रहा है कि कन्हैया गुलाटी कैनविज सेल्स मार्केटिंग नामक चिटफंड कंपनी चलाते हैं. इस कंपनी के तहत वह युवाओं को एजेंट बनाकर आकर्षक कमीशन देने के नाम पर आम जन से पैसे जमा कराते हैं और सभी को ठगते हैं.

सुब्रत राय की करीबी वंदना भार्गव के बेटे राजा भार्गव पर यौन शोषण का आरोप

लखनऊ। सहारा की ताकतवर डायरेक्टर वंदना भार्गव के बेटे राजा भार्गव पर गंभीर आरोप लगे हैं। गोमती नगर थाने में दर्ज एफआईआर में विराम खंड निवासी एक व्यवसायी की पत्नी ने आरोप लगाया है कि राजा भार्गव ने उसकी बेटी से जबरन शारीरिक सम्बन्ध बनाकर उसके अश्लील फोटो एमएमएस बनाये और उसके बाद उसको ब्लैक मेल कर रहा है। इस एफआईआर से सनसनी फैल गयी क्योंकि वंदना भार्गव बेहद रसूख वाली महिला हैं और सुब्रत राय की बेहद करीबी हैं।

यूपी में रातोंरात रजिस्टर्ड हुई नई एड कंपनी को करोड़ों का काम मिला और खेल मंत्री का गलत नाम छपवा दिया

लखनऊ : कुछ रोज पहले लखनऊ के सभी प्रमुख अखबारों ने पहले पन्ने पर फुल पेज का एक विज्ञापन छापा। विज्ञापन खेल से सम्बन्धित था और ऊपर ही मुख्यमंत्री के साथ खेल मंत्री नारद राय की फोटो छपी थी। विज्ञापन छपते ही लखनऊ में हडकंप मचा कि नारद राय खेल मंत्री कब बन गये। यह महत्वपूर्ण आयोजन था और सीएम का पसंदीदा विषय भी। इतने बड़े आयोजन में पहले पन्ने पर इतनी बड़ी चूक ने बता दिया कि यूपी के अफसर इतने काबिल हैं कि उन्हें नहीं पता कि यूपी का खेल मंत्री कौन है।

Scribe assaulted, media body demands protection law

A scribe of a local television channel was allegedly assaulted in Ganeshguri area of Assam on Tuesday night. According to the FIR lodged by the scribe at Dispur police station, he was attacked by some unruly youths when he was on official duty along with his colleague. The police detained one person who allegedly assaulted the journalist and tried to break the camera of the news channel.

अमेठी में एक और पत्रकार पर हुआ जानलेवा हमला

उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले के उत्तर पश्चिमी छोर पर बसे शुकुलबाजार के तेजतर्रार और संघर्षशील पत्रकार साथी सुरजीत यादव पर दबंग ग्राम प्रधान भगौती प्रसाद दूबे और परिजनों ने गांव में ही प्राणघातक हमला बोल दिया। दबंगों ने पत्रकार परिवार को गांव में घेरकर जमकर पीटा। बताया जा रहा है कि पत्रकार सुरजीत अपनी ग्राम पंचायत में हो रही मनमानी और लूट खसोट की पोल खोलते रहते थे। सुरजीत गांव प्रधान की आंख में चुभने लगे।

यूपी में एक सजायाफ्ता अफसर करता है बाकी अफसरों की पोस्टिंग

लखनऊ। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव लम्बे समय के बाद उन तेवरों में दिखे जिनमें लोग उन्हें देखना चाहते हैं। कल के अपने दौरे पर खनन की शिकायतों पर उन्होंने इलाहाबाद के कमिश्नर से पूछा कि क्या पैसे देकर हुई है पोस्टिंग और जवाब न मिलने पर कमिश्नर को सस्पेंड कर दिया। मगर तस्वीर का एक और पहलू भी है। प्रदेश भर के अफसरों की नियुक्ति प्रमुख सचिव नियुक्ति करता है। यह इस प्रदेश का दुर्भाग्य है कि इस समय प्रमुख सचिव नियुक्ति खुद घोटालों में तीन साल की सजा पाया हुआ अपराधी है। पूरे देश में उत्तर प्रदेश ही एक मात्र ऐसा राज्य है जहां अफसरों की तैनाती का फैसला एक सजायाफ्ता मुल्जिम कर रहा है। अब जब अपराधी ही तय करेगा कि किस जिले में कौन अफसर तैनात हो तो जाहिर है सूबे के अफसरों का मिजाज तो बिगड़ेगा ही।

आर्थिक सुधारों के ढाई दशक में कृषि क्षेत्र ही सर्वाधिक उपेक्षित हुआ है : अखिलेन्द्र

: भूमि अधिग्रहण अध्यादेश नहीं समग्र भूमि उपयोग नीति की देश को जरूरत : आल इण्डिया पीपुल्स फ्रंट (आइपीएफ) के राष्ट्रीय संयोजक अखिलेन्द्र प्रताप सिंह ने वाराणसी में आयोजित स्वराज्य संवाद को बतौर अतिथि सम्बोधित करते हुए एनडीए की मोदी सरकार द्वारा तीसरी बार भूमि अधिग्रहण संशोधन अध्यादेश लाने के फैसले की सख्त आलोचना की और इसे मोदी सरकार का लोकतंत्र विरोधी कदम कहा। उन्होंने समग्र भूमि उपयोग नीति के लिए राष्ट्रीय आयोग के गठन को देश के लिए जरुरी बताते हुए कहा कि जमीन अधिग्रहण का संपूर्ण प्रश्न जमीन के बड़े प्रश्न का महज एक हिस्सा है। 2013 का कानून पूरे मुद्दे को सरकारी और निजी एजेसियों द्वारा उद्योग और अधिसंरचना के विकास बनाम जमीन मालिकों और जमीन आश्रितों के हितों के संकीर्ण व लाक्षणिक संदर्भ में पेश करता है। 2013 का कानून बाजार की तार्किकता के बृहत दायरे के भीतर ही इसकी खोजबीन करता है।

टीआरपी 21वां सप्ताह : इंडिया टीवी नंबर तीन पर खिसका

21वें सप्ताह की टीआरपी में कई उलटफेर हुए हैं. इंडिया टीवी नंबर दो से खिसक कर नंबर तीन पर पहुंच गया है. कई अन्य चैनलों की स्थिति में भी बदलाव आया है. इंडिया न्यूज इस हफ्ते जी न्यूज से पिछड़ गया है. वहीं पछले हफ्ते तेज चैनल न्यूज नेशन से आगे था. इस बार वो पीछे आ गया और न्यूज नेशन आगे बढ़ गया है…. देखिए टीआरपी के ताजा आंकड़े….

आलोक धन्वा की सुप्रसिद्ध कविता पढ़िए… ”भागी हुई लड़कियां”

भागी हुई लड़कियां
-आलोक धन्वा-

एक

घर की जंजीरें
कितना ज्यादा दिखाई पड़ती हैं
जब घर से कोई लड़की भागती है

क्या उस रात की याद आ रही है
जो पुरानी फिल्मों में बार-बार आती थी
जब भी कोई लड़की घर से भगती थी?
बारिश से घिरे वे पत्थर के लैम्पपोस्ट
महज आंखों की बेचैनी दिखाने भर उनकी रोशनी?

और वे तमाम गाने रजतपरदों पर दीवानगी के
आज अपने ही घर में सच निकले!

क्या तुम यह सोचते थे
कि वे गाने महज अभिनेता-अभिनेत्रियों के लिए
रचे गए?
और वह खतरनाक अभिनय
लैला के ध्वंस का
जो मंच से अटूट उठता हुआ
दर्शकों की निजी जिन्दगियों में फैल जाता था?

राजेंद्र द्विवेदी और सलाम खान ने ज्वॉइन किया ‘वॉयस ऑफ लखनऊ’

लखनऊ : राष्ट्रीय सहारा लखनऊ के प्रबंधक रहे राजेंद्र द्विवेदी ने अखिलेश दास के अखबार ‘वॉयस ऑफ लखनऊ’ को ग्रुप हेड के रूप में ज्वॉइन कर लिया है. वह ‘वॉयस ऑफ लखनऊ’ के हिंदी और उर्दू दोनों संस्करणों का दायित्व संभालेंगे. इसके साथ सहारा के उर्दू अखबार में कार्यरत रहे सलाम खान ने ‘वॉयस ऑफ लखनऊ’ के उर्दू एडिशन का संपादक पद संभाल लिया है.

अफसर प्रबंध संपादक बना तो स्थानीय संपादक ने दे दिया इस्तीफा

खबर छत्तीसगढ़ से है। दैनिक ‘सन स्टार’ रायपुर संस्करण के संपादक अनिल द्विवेदी ने स्थानीय संपादक पद से इस्तीफा दे दिया है। इसकी वजह कंपनी की खराब आर्थिक स्थिति होना बताया गया है 

दिवंगत पत्रकार सुरेन्द्र प्रताप यादव के आश्रितों को मंत्री गोप ने दी एक लाख की मदद

बाराबंकी (उ.प्र.) : दिवंगत पत्रकार सुरेन्द्र प्रताप यादव के छप्परनुमा घास-फूस के महल के नीचे पहुंचे प्रदेश के ग्राम्य विकास मंत्री अधीर हो उठे। उन्होंने स्व. यादव की पत्नी व बच्चों को सपा की ओर से एक लाख की मदद दी तथा कहा कि पूरा सपा परिवार दुःख की इस घड़ी में उनके साथ है। मुख्यमंत्री राहत कोष से भी परिवार को सहायता दी जायेगी क्योंकि पत्रकारों के सुख दुःख के प्रति प्रदेश की सपा सरकार प्रतिबद्ध है। 

सहारनपुर रेलवे पुलिस ने यात्रियों से वसूले पांच-पांच सौ रुपए, ट्रेन भी छूटी

लुधियाना (पंजाब) के रहने वाले रवि ने बताया कि सहारनपुर में रेलवे पुलिस ने लूट मचा रखी है। लखनऊ जाते समय सहारनपुर पुलिस पहले तो ट्रेन से उतारकर पचास यात्रियों को लाइन में रेलवे पुलिस थाने ले गई। वहां जेल भेजने की धमकी देकर यात्रियों से पांच पांच सौ रुपए वसूल कर छोड़ दिया। इस तरह की रिश्वतखोरी में उन सभी यात्रियों की ट्रेन भी छूट गई।  

इंडिया न्यूज़ के स्ट्रिंगर ने किया लाखों का फर्जीवाड़ा, रिपोर्ट दर्ज, आरोपी फरार

इंडिया न्यूज़ (म.प्र.) के स्ट्रिंगर अनिल पटेल के खिलाफ डिंडोरी जिले के शाहपुर थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज़ कराया गया है। आरोपी स्ट्रिंगर श्रमजीवी पत्रकार संघ का जिला महासचिव भी है। रिपोर्ट दर्ज होने के बाद वह अपने ठिकाने से फरार हो गया है। पुलिस उसे तलाश रही है। 

‘न्यूज नेशन’ उगाही कथा (4) : सफदरजंग पुलिस ने रंगे हाथ बरामद किया छह लाख का चेक

स्टिंग के नाम पर ‘उगाही’ को उद्योग बनाने वाले टेलीविजन चैनल “न्यूज नेशन” का मामला दिल्ली की क्राइम ब्रांच को सौंप देने के साथ ही सूत्रों के मुताबिक मामले की पूरी फाइल गृह मंत्री राजनाथ सिंह की टेबल तक जा चुकी है। वह पूरा प्रकरण दिल्ली के सफदरजंग थाने में 23 दिसंबर 2014 को शीतल कपूर के खिलाफ आईपीसी धारा 120बी और 384 के तहत एफआईआर संख्या 1013 में बी-6, सफदरजंग इन्क्लेव निवासी डॉ.संदीप शर्मा पुत्र गौरीशंकर शर्मा ने उजागर किया था। उन्होंने बताया था कि किस तरह शीतल कपूर ने 22 दिसंबर 14 को उनके डाइग्नोस्टिक सेंटर के स्टिंग से संबंधित सीडी न चलाने के एवज में 20 लाख रुपए मांगे। फिर अगले दिन 23 दिसंबर 14 को भी दोबारा फोन कर एडवांस के रूप में छह लाख रुपए मांगे गए। चेक ( न० ” 000741″ 110240101 00452029″ of A/C No 05862320000767 of HDFC Bank) से छह लाख रुपए का भुगतान किया गया, जिसे पुलिस ने छानबीन के दौरान शीतल कपूर से बरामद कर लिया।  

देश की दो दिग्गज कंपनियां इंडिया मार्ट और ट्रेड इंडिया ब्लैकमनी की हेराफेरी में लिप्त

दिल्ली : अगर आपके पास अथाह ब्लैकमनी है और आप को डर है कि पीएम मोदी उसे आप के स्विस बैंक अकाउंट से उड़ा लेंगे, तो डरने की जरूरत नहीं। आप की ब्लैक मनी को देश से बाहर ले जाने या देश में वापस लाने के लिए आप की सेवा में हाजिर हैं ‘इंडिया मार्ट’ और  ‘ट्रेड इंडिया’ जैसी देश की दो दिग्गज कंपनियां, जो ब्लैक मनी की हेराफेरी में लिप्त हैं। ये आरोप बुलंद शहर निवासी समाजसेवी राणा अजय सिंह ने लगाया है। 

o

दिनेश अग्रवाल

मीडियाकर्मियों पर पद की अवमानना का आरोप, स्पीकर ने सदन में आने पर रोक लगाई

पश्चिम बंगाल विधानसभा में मीडियाकर्मियों को सत्र शुरू होने के कुछ देर बाद सदन की पत्रकार दीर्घा में प्रवेश नहीं करने के स्पीकर के आदेश के मामले ने तूल पकड़ लिया। विपक्ष ने एक सुर से स्पीकर विमान बनर्जी के फैसले पर सवाल उठाए। 

मजीठिया : सुप्रीम कोर्ट के फरमान ने श्रम विभाग को सरपट दौड़ाया

  चौथे स्तंभ की बुनियाद के जीवों-प्राणियों में एक नई ऊर्जा, एक नए आत्मविश्वास, एक नए साहस-हिम्मत का संचार हो आया है। वे इठलाने-इतराने लगे हैं। उनकी उम्मीदें-आशाएं-आकांक्षाएं एक तरह से कुलांचे भरने लगी हैं। वे अरमानों के एक ऐसे परवान से खुद को लैस-सुसज्जित महसूस करने लगे हैं कि मानों मजीठिया वेज बोर्ड की संस्तुतियों के मुताबिक उनका हक-अधिकार पाने-लेने से फिलहाल अब कोई रोक नहीं सकता। हालांकि यह हरकत-गतिविधि इन नींव-आधारों के कुछ ही तबकों में खुलकर दिखाई पड़ रही है लेकिन बाकी तबका भी अपना कुनमुनाना-कसमसाना छिपा-दबा नहीं पा रहा है। वह भी अपनी दबी-कुचली या दबा-कुचल दी गई चाहत-इच्छा को अब गाहे-बगाहे नहीं, बल्कि अक्सर व्यक्त करने से खुद को रोक नहीं पा रहा है। इस तबके को, जो अपेक्षाकृत सबसे बड़ा-व्यापक  है, कहीं न कहीं लगने लगा है कि- अभी नहीं तो कभी नहीं। 

राम मंदिर नहीं, राम राज्य की बात हो

हिन्दुस्तान में मंडल-कमंडल की सियासत ने कई सरकारों की आहूति ली तो कई नेताओं को बुलंदियों पर पहुंचा दिया।मंडल के सहारे वीपी सिंह ने अपनी सियासी जमीन मजूबत की।समाजवादी पार्टी के नेता मुलायम सिंह यादव,राष्ट्रीय जनता दल के नेता लालू यादव ने भी इस मुद्दे से खूब राजनैतिक रोटियां सेंकीं।राम मंदिर और बाबरी मस्जिद के विवाद में मुलायम ने खुल कर मुसलमानों की पैरोकारी की जिसकी सहारे लम्बे समय तक मुलायम उत्तर प्रदेश की सत्ता पर काबिज रहे आज भी अगर सपा का जनाधार मजबूत है तो इसके पीछे अयोध्या आंदोलन की जड़े ही हैं। उधर कमंडल(राम मंदिर आंदोलन) के सहारे भाजपा भी लगातार बढ़ती गई।कमंडल के सहारे ही लाल कृष्ण आडवाणी,कल्याण सिंह,उमा भारती,विनय कटियार, जैसे नेता उभर कर सामने आये।1992 में जब तक विवादित ढांचा गिरा नहीं दिया गया तब तक यह नेता लगातार चमकते रहे,लेकिन विवादित ढांचा गिरते ही इन नेताओं की सियासत पर भी ग्रहण लग गया।विवादित ढ़ांचा गिरते ही इन नेताओं के ही नहीं भारतीय जनता पार्टी के भी बुरे दिन आ गये।

महंगे होटल में मस्ती छानते रहे कांग्रेसी – राहुल भी बेदम

इंदौर : कांग्रेस के युवराज महू में अपना कोई असर नहीं छोड़ पाए… 15 मिनट का भाषण भी राहुल गांधी का बेदम रहा, जिसे मीडिया में भी अधिक सुर्खियां नहीं मिल सकी। इंदौर आए कांग्रेस के तमाम बड़े दिग्गज नेता भी मानों शक्ल दिखाने ही आए हों और महंगी होटल में आराम फरमाते – मस्ती छानते नजर आए। आम सभा के थोड़ी देर पहले ही होटलों से निकले ये दिग्गज कांग्रेसी विमान से दिल्ली रवाना भी हो गए। राहुल गांधी चाहते तो महू की इस यात्रा के जरिए वे मोदी सरकार पर जमकर हमले बोलते हुए अच्छा खासा पोलिटिकल माइलेज हासिल कर सकते थे। 

माखनलाल के एचओडी पुष्पेंद्रपाल सिंह पद से हटाए गए

माखनलाल पत्रकारिता विवि में एक बार फिर से हाफ चड्ढा छाप कुलपति ने सोशलिस्ट और छात्रों के हितों के रक्षक पुष्पेंद्रपाल सिंह को पत्रकारिता विभाग के एचओडी पद से ऐसे मौके पर हटाया, जब विवि परिसर छात्रों से खाली है। उसके बावजूद सोशल मीडिया पर ‪#‎लड़ाई‬ जारी है का हैशटैग लगा कर छात्र पिछले तीन दिनों से पीपी सिंह के साथ खड़े हैं। 

 

‘न्यूज नेशन’ उगाही कथा (3) : स्टिंग से बाहर करने की एवज में भुगतान चेक से किया गया

Padampati Sharma : ‘उगाही’ उद्योग बना तो पैसा भी चेक से दिया गया…!! अजीब दास्तां है ये, कहां शुरू कहां खतम !! याद आ रहा है पुरानी फिल्म का यह गाना जो विषय से काफी जुड़ा लगता है. देखिए जो यह कहते हैं कि मैं कहां था, मीडिया की काली दुनिया भयावह हो चुकी है, तो उनको जवाब है कि मैं यहीं था ओर हूं पर जिस तरह एक्सटार्शन यानी उगाही को एक उद्योग बना दिया गया, वह हैरतअंगेज है. मैं पूछता हूं कि क्या कभी आपने पहले यह सुना था कि स्टिंग से बाहर करने की एवज में भुगतान नंबर एक यानी चेक से दिया गया ? जी हां आपरेशन जोंक में यही तो हुआ. 

‘न्यूज नेशन’ उगाही कथा (2) : This channel, its reporters and stingers are extorting money

To, 

Chairperson, 

News Broadcasting Standard Authority

Sub:- Complaint against News Nation channel, 8TH Floor, Plot no 14,Sectror 126, Noida-201301, its Owners, Editors and reporters for manipulating and telecasting false and fabricated “sting operation” on 7th May 2015 with the sole intention to malign the Medical profession in a planned manner to increase their TRP and to instigate and mislead the masses and make them hostile towards the medical fraternity.

डकैतों का मीडिया इंटरव्यू : मलखान से निर्भय तक

आज बदनामशुदा अपराधियों के इंटरव्यू छापने से भी मीडिया को परहेज नहीं है क्योंकि भले ही उनके महिमा मंडित होने की वजह से समाज का भीषण अहित होता हो लेकिन उनका इंटरव्यू सेलेबिल होता है और व्यावसायिक पत्रकारिता के दौर में खबर को प्रमुखता देने का मानक यही है कि उसमें ग्राहक को आकर्षित करने की क्षमता कितनी है लेकिन जब पंजाब और जम्मू कश्मीर का आतंकवाद नहीं आया था जिसकी धमक अपने-अपने राज्यों तक सीमित नहीं रही बल्कि देश की राजधानी और शीर्ष सत्ता केंद्रों को भी इस आतंकवाद ने अपनी चपेट में लेने का दुस्साहस किया, तब तक क्राइम की इवेंट के रूप में राष्ट्रीय स्तर तक चंबल के डकैतों से जुड़ी समाचार कथाओं की न्यूज वैल्यू सबसे ज्यादा मानी जाती थी। 

‘न्यूज नेशन’ उगाही कथा (1) : स्टिंग ‘आपरेशन जोक’ के नाम पर जमकर माल कूटा!

हे परमात्मा !! जिसका अंदेशा था, वही हुआ. स्टिंग के नाम पर ‘उगाही’ को उद्योग बनाने वाला टेलीविजन चैनल वह है जिसको मैने भी अपने पसीने से सींचा था. दिल्ली नर्सिंग होम फोरम के सदर डाक्टर सी एम भगत ने जब मुझे बताया कि यह गंदा धंधा करने वाला चैनल “न्यूज नेशन” है और उसके खिलाफ एफआईआर ही नहीं हुई वरन ब्राडकास्ट यूनियन से भी चैनल के धतकरमों की शिकायत की गयी है, तब मेरे तो पैरों तले जमीन ही खिसक गयी.

अब टीवी पर पैगंबर मोहम्मद का कार्टून दिखाएंगे चीयर्ट विल्डर्स

नीदरलैंड्स के इस्लाम विरोधी नेता चीयर्ट विल्डर्स अक्सर इस्लाम और प्रवासियों को लेकर अपनी घृणा जताते रहते हैं. उन्होंने नीदरलैंड में क़ुरान पर प्रतिबंध लगाने की मांग भी की है. चीयर्ट विल्डर्स ने कहा है कि वो टीवी पर उनकी पार्टी ऑफ़ फ्रीडम (पीवीवी) के लिए निर्धारित समय में वे पैगंबर मोहम्मद का कार्टून दिखाएंगे. वो इन कार्टूनों को इसलिए दिखाएंगे क्योंकि संसद में उनके प्रदर्शन की इजाजत नहीं मिली है.

पूर्वांचल की पत्रकारिता की चुनौतियों पर अरविंद कुमार सिंह को शोध उपाधि

आजमगढ़ (उ.प्र.) : मासिक पत्रिका शार्प रिपोर्टर के संपादक एवं मनमीत मासिक के कार्यकारी संपादक अरविंद कुमार सिंह को देश की राष्ट्रीय महत्व के शोध संस्था उच्च शिक्षा एवं शोध संस्थान दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा द्वारा एमफिल शोध उपाधि प्रदान की गई है। अरविंद कुमार सिंह का चयन पिछले साल इस संस्थान ने किया था। संस्थान की तीस सीटों के लिए देश भर के शोधार्थियों ने प्रवेश परीक्षा दी थी। अरविंद कुमार सिंह का शोध विषय था – ‘क्षेत्रीय पत्रकारिता की चुनौतियां पूर्वांचल के विशेष संदर्भ में’।

गोबर के विज्ञापन के लिए क्रिकेटर, नेताओं-अभिनेताओं में घमासान

आपको पता ही होगा कि दारू से लेकर सीमेंट, मैगी, सरिया आदि के विज्ञापन में परेश रावल, सनी देओल, अक्षय कुमार, अमिताभ बच्चन, ऐश्वर्या राय, ओम पुरी, सलमान खान, हेमा मालिनी, विराट कोहली, शाहरूख खान से लेकर धोनी तक सब दिखायी देते हैं. परेश रावल और हेमा मालिनी तो माननीय सदस्य हैं.

महिला पत्रकार के झूठी खबर फैलाने पर बीबीसी ने माफी मांगी

एक महिला पत्रकार अहमन ख्वाजा द्वारा ट्विटर पर महारानी के निधन की गलत सूचना दे देने बीबीसी को माफी मांगनी पड़ी। उसने ट्विटर पर लिखा, ‘महारानी एलिजाबेथ का निधन हो गया.’ पत्रकार ने महारानी के निधन की खबर के प्रसारण की रिहर्सल में हिस्सा लिया था और वह इस खबर को सच मान बैठी थी. 

गूगल सर्च पर दस बड़े अपराधियों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फोटो गूगल सर्च इंजन में भारत के दस बड़े अपराधियों (Top 10 Criminals of india) में शो होने पर कंपनी ने एक बयान जारी कर माफी मांगी है। इसके बाद #TopLeaderNamo ट्रेंड के साथ ट्विटर पर टॉप पर आ गया। इस हैशटैग से मोदी समर्थकों ने गूगल द्वारा माफी मांगे जाने के बारे में बताया और प्रधानमंत्री मोदी से जुड़े कामों को पोस्ट किया। 

दशाश्वमेध घाट पर पत्रकारों एवं समाजसेवियों का सम्मान

काशी के दशाश्वमेध घाट पर बनारस के समाजसेवियों, पत्रकारों एवं स्वच्छता अभियान से जुड़ी 65 विभूतियों को नेशनल मीडिया क्लब द्वारा सम्मानित किया गया। क्लब की ओर से पत्रकार मनोज श्रीवास्तव, राकेश पाण्डेय, आशुतोश पाण्डेय, अजय राय, विनय सिंह, रामात्मा, पवन दीक्षित, दिनेश मिश्रा, सुशान्त मुखर्जी, अजय सिंह, अरविन्द सिंह, शैलेश चौरसिया, रवि पाण्डेय, सन्तोष चैरसिया, अमित मुखर्जी, अशोक सिंह, सुजीत पटेल, उमेश गुप्ता, आशुतोष सिंह आदि को सम्मानित किया गया। 

राजनीति में आपके लिए ये चुनौतियां हैं यशवंत भाई

यशवंत भाई, 

राजनीतिक पार्टी शुरू करने के लिए बधाई। आपके जन सरोकारी विचारों का हम आदर करते हैं। लेकिन मेरे मन में कुछ बातें हैं जिन्हें साझा करना चाहता हूं। पहला तो यह कि यदि आप ईमानदारी से आगे बढ़ेंगे तो बेईमान प्रजाति के लोग आपके ऊपर हमला करने से नहीं चूकेंगे। आपको मटियामेट कर देना चाहेंगे ताकि उनका खेल चलता रहे,  बेहिसाब गति से अकूत संपत्ति आती रहे और वे ताकतवर भी बने रहें।