आपसी मतभेद भुलाकर अब भड़ास के मंच पर आएं सभी वामपंथी

प्रिय भाई यशवंत जी, आपकी नई पार्टी बनाने की योजना का स्वागत करता हूँ लेकिन एक विचार मन में उत्पन्न हुआ, जो लिख रहा हूँ। यदि अच्छा लगे तो उस पर चिंतन और मनन करते हुए एक विचार गोष्ठी के लिए सभी गणमान्य लोगों आमंत्रित करें और उस पर कार्य हो। हम लोग आरम्भ से ही वामपंथ से जुड़े रहे और आज आवश्यकता है देश के सभी वामपंथी सभी भेदभाव भूलकर एक मंच पर आयें, सभी लोग मिलकर एक ही पार्टी बनायें। 

राज बड़े गहरे हैं : राजनाथ सिंह के पुत्र पंकज सिंह के साथ ‘नेशनल दुनिया’ के मालिक की जोड़ीदारी

इस तस्वीर में आप पंकज सिंह को नेशनल दुनिया अखबार के मालिक शैलेंद्र भदौरिया के साथ देख सकते है। पंकज सिंह भाजपा के महासचिव हैं और गृह मंत्री राजनाथ सिंह के सुपुत्र हैं। पंकज सिंह के चलते राजनाथ सिंह सवालों के घेरे में भी आ चुके हैं।

यही हाल रहा तो ‘आज तक’ के मंच पर जो हुआ, वो हर मंच पर होगा

सवाल ये कि ऐसी डिबेट्स में पार्टी कार्यकर्ताओं, नेता व प्रतिष्ठित लोगों को ही क्यों रखा जाता है। आम आदमी रिक्शे वाला, ढकेल वाला या युवा छात्र, गृहिणी व अन्य जमीन से जुड़े लोगों की राय कोई मायने नहीं रखती क्या? उन लोगों के बीच जाकर बहस क्यों नहीं करायी जाती। 

इबलीस की शैतानी ताकत के खिलाफ एकजुट हों आध्यात्मिकतावादी

केरल के बाद अब दिल्ली में भी मैगी की बिक्री को पंद्रह दिन के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है। उधर सेना ने भी अपने डिपार्टमेंटल स्टोरों से मैगी की बिक्री पर रोक लगा दी है। मैगी को लेकर जबरदस्त हंगामा मचा हुआ है। इसकी शुरूआत उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जनपद से हुई जहां मैगी के नमूने प्रयोगशाला में परीक्षण के लिए भेजे गए थे जिसमें यह रिपोर्ट आई कि मैगी में जस्ते की मात्रा सुरक्षा मानकों से काफी ज्यादा है। इसके बाद उत्तर प्रदेश के अन्य जिलों में और साथ ही दूसरे राज्यों में भी ताबड़तोड़ मैगी के नमूनों का परीक्षण कराया गया। लगभग सभी जगह अभी तक की रिपोर्ट के अनुसार मैगी के नूडल्स को खाना स्वास्थ्य के लिए हानिप्रद माना गया है। हालांकि बंगला देश ने मैगी को क्लीन चिट दे दी है। 

यूपी में जंगलराज : 60% जले पत्रकार ने मंत्री राममूर्ति वर्मा पर कई गंभीर आरोप लगाए

आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर ने 01 जून 2015 को दिन में उनके आवास विकास कॉलोनी, सदर बाज़ार, शाहजहांपुर स्थित मकान में सदर कोतवाल श्रीप्रकाश राय द्वारा दी गयी दबिश के दौरान आग लगने से लगभग 60 फीसदी जल गए सोशल मीडिया पत्रकार जगेन्द्र सिंह से सिविल अस्पताल, लखनऊ में जा कर मुलाक़ात की. मुलाकात के दौरान श्री जगेन्द्र ने कहा कि यह सब श्रीप्रकाश राय द्वारा राज्यमंत्री राममूर्ति वर्मा के इशारों पर किया गया.

यूपी में जंगलराज : सपा सांसद चंद्रपाल यादव ने तहसीलदार को चोर कहा और ट्रांसफर करा दिया, सुनें टेप

तहसीलदार गुलाब सिंह और सांसद चंद्रपाल यादव


सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर ने सांसद चंद्रपाल यादव द्वारा झाँसी के तहसीलदार गुलाब सिंह राजपूत को अवैध खनन का ट्रैक्टर पकडे जाने पर हड्काने के मामले में ऑडियो-टेप आने के बाद मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से तत्काल श्री यादव के खिलाफ सरकारी सेवक को कार्य में बाधा और डराने के मामले में एफआईआर दर्ज कराने के आदेश देने की मांग की है. मुख्यमंत्री को भेजे पाने पत्र में उन्होंने इस घटना के बाद तहसीलदार के झाँसी से कानपुर हुए ट्रान्सफर को भी निरस्त करने की मांग की है. उन्होंने कहा कि वे सांसद और तहसीलदार के बीच के ऑडियो टेप की प्रति लोकायुक्त को भी गायत्री प्रजापति जांच में देंगी जिससे यह स्थापित हो जाए कि प्रदेश में अवैध खनन किस हद तक है और इसमें राजनेताओं की कितनी अधिक भूमिका है.

यौन हमले की पीड़ित टीवी पत्रकार को इंसाफ नहीं, आरोपी बेखौफ

मुंबई : एक चैनल में काम करने वाली पत्रकार इन दिनों खुद ही एक विचित्र परेशानी से जूझ रही है। उसने कस्तूरबा मार्ग पुलिस थाने में कुछ लोगों के खिलाफ उस पर यौन हमले की शिकायत दर्ज करवाई लेकिन एक महीना होने के बावजूद पुलिस अधिकारी कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। अभी तक न तो पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार किया है, न ही उनका पता-ठिकाना लगाने की कोई कोशिश की है।

जागरण ललितपुर ब्यूरो चीफ के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को चोट पहुंचाने का मामला दर्ज

ललितपुर (झांसी) : जिले के सबसे बड़े पेपर का रुतबा रखने वाले दैनिक जागरण के ब्यूरो चीफ रवींद्र दिवाकर पर हिंदू देवी-देवताओं पर अभद्र टिप्पणी करने के मामले में ललितपुर कोतवाली में 120 बी, 67आईटी एक्ट सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया है।

 

फोकस न्यूज पर शुरू होगा नया क्राइम शो- ‘किलर’

​6 जून से फोकस न्यूज़ पर शुरू हो रहा है एक क्राइम शो – किलर। हिंदी न्यूज चैनल पर चल रहे क्राइम शो से हटकर बनाने की कोशिश की गयी है। अपराध की कहानियां भी ऐसी है और उनको बताने का तरीका भी नया है। सनसनी और बेवजह का ड्रामा नहीं बनाया गया है।

राजदीप सरदेसाई के खिलाफ मानहानि मामले की कार्यवाही पर सुप्रीम कोर्ट की रोक

सुप्रीम कोर्ट के न्यायमूर्ति प्रफुल्ल सी पंत और न्यायमूर्ति अमिताव रॉय की पीठ ने वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई  और सात अन्य सहयोगियों की उस याचिका को पहले से ही लंबित मामले के साथ संलग्न कर दी, जिनमें भारतीय दंड संहिता की धारा 499 (मानहानि) और धारा 500 (मानहानि के लिए सजा) की संवैधानिकता को चुनौती दी गई है। 

कामसूत्र की तस्वीर छापने के विवाद में संपादक का इस्तीफा

दोहा। कतर के लोकप्रिय दैनिक अखबार के संपादक ने कामसूत्र की तस्वीर छापने के बाद विवाद के कारण इस्तीफा दे दिया। अल शर्क के संपादक जबर अल-हार्मी ने कहा, ‘यह गलती जानबूझ कर नहीं हुई है, लेकिन नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए मैं इस्तीफा देता हूं।’

Clean up, removal of fake journalist from press club Jammu demanded

Jammu : After much hyped elections of Jammu Press club wherein Ashwani Kumar group made a clean sweep on the bases of the promises made by them including the promise of clean up of press club so as to restored its prestige and glory, senior journalist and Bureau Chief Sahara Samay Jammu and Kashmir Nirmal Singh Pachnanda alias Jyoti who secured 174 votes (For executive member post) in recently Press club election today demanded immediate clean up of Press club by immediate removal of fake journalists registered in Press club.

पूंजीपति, अखबार मालिक, माफिया और सरकार में गठबंधन : रमेश शंकर पांडेय

शाहजहांपुर : हिन्दी पत्रकारिता दिवस पर उप्र श्रमजीवी पत्रकार यूनियन पंजीकृत एवं प्रेस क्लब ऑफ शाहजहांपुर के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित गोष्ठी में वक्ताओं ने कहा कि हिन्दी पत्रकारिता दिवस की सार्थकता तभी है,जब कलम का सार्थक दिशा में उपयोग हो।  

न्यूयॉर्क टाइम्स के संवाददाता गार्डिनर हैरिस के दिल्ली प्रवास के शर्मनाक अनुभव से हम कोई सबक लेंगे!

क्या हम अपने देश और समाज के स्वस्थ विकास के प्रति सजग हैं? इसका एक नितांत खेदपरक उदाहरण सामने आया है। अपना तीन वर्ष का कार्यकाल समाप्त होने पर अगले ही दिन अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स के संवाददाता गार्डिनर हैरिस दिल्ली छोड़ वाशिंगटन के लिए रवाना हो गए। अपना कार्यकाल आगे बढ़ाने के लिए उन्होंने असहमति जताई। यह एक महत्वपूर्ण खबर है भले ही टीवी चैनलों पर इसकी चर्चा न हो। वह अपने बच्चे को लेकर बेहद चितिंत थे, क्योंकि दिल्ली में प्रदूषण की वजह से उनका बेटा बीमार हो गया था।

मेरठ में लुटता रहा पत्रकार, देखती रही पुलिस

मेरठ। संवेदनहीन हो चुकी उत्तर प्रदेश पुलिस के दौराला इंस्पेक्टर ने तो संवेदनहीनता की तमाम हदों को पार कर दिया। चौकी से चंद कदमों की दूरी पर लूट का शिकार हुआ पत्रकार जब चौकी पर मौजूद इंस्पेक्टर को अपनी पीड़ा सुनाने पहुंचा तो इंस्पेक्टर साहब ने कार्यवाही करने के बजाय उल्टे पत्रकार पर सवालों की झड़ी लगा दी और पत्रकार के साथ अभद्रता भी की। दौराला इंस्पेक्टर की संवेदनहीनता और अभद्रता यहीं पर नहीं रुकी। उन्होंने कहा कि तुम्हारे साथ लूट हुई अच्छा है। पत्रकारों के साथ ऐसा ही होना चाहिए। लुटेरों का पीछा करना तो दूर उन्होंने वायरलेस पर मैसेज तक फ्लैश करना गवारा नहीं समझा। इंस्पेक्टर के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर मेरठ के तमाम पत्रकार आईजी मेरठ जोन आलोक कुमार शर्मा से मिले।

सुबह अखबार बांटनेवाला सूरज लाया 9.2 सीजीपीए

रांची : अखबार बिक्री कर पढ़ाई करने वाले सूरज कुमार ने 10वीं  बोर्ड की परीक्षा में 9.2 सीजीपीए हासिल किया है. गोविंद सीनियर सेकेंड्री स्कूल, रामगढ़ के छात्र सूरज के पिता अनिल कुमार साहु सेल्समैन व मां शकुंतला देवी गृहिणी हैं. सूरज प्रति दिन सुबह चार बजे घर से निकल कर इलाके में अखबार बांटता है. 

प्रदेश के पत्रकारों की ठेकेदारी कर रही यूनियन के पास कितने पत्रकार ?

जहां शासन कमजोर होता है, वहां पर कोई भी उसकी छाती पर चढ़ बैठता है… पत्रकारों के स्वयंभू नेताओं के मामले में भी कुछ ऐसी ही स्थति है… श्रमजीवी पत्रकार संघ में राष्ट्रीय अध्यक्ष से लेकर प्रदेश अध्यक्ष तक का कार्यकाल आजीवन है…. इस कारण लगभग सभी पत्रकार इस यूनियन का साथ छोड़ चुके हैं…. कांग्रेस के ज़माने में इस यूनियन को लखनऊ के चाइना मार्किट में दफ्तर उपहार में मिल गया था, जिसकी कीमत अब करोड़ों में है…

राजेंद्र शर्मा ने टीओआई ज्वाइन किया, सूर्यकांत ने भूपेंद्र को हटाया

ज़ी न्यूज़ मप्र-छग के चैनल हेड और संपादक रहे राजेंद्र शर्मा ने टाइम्स ऑफ़ इंडिया भोपाल में पॉलिटिकल एडिटर के पद पर आमद दी है. पिछले 16 साल से ज़ी न्यूज़ में काम करने के बाद राजेंद्र शर्मा ने मार्च में ज़ी समूह से इस्तीफ़ा दे दिया था. इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से प्रिंट मीडिया में लौटना शर्मा जी के लिए नया नहीं है. 1999 के पहले वे इंडियन एक्सप्रेस में कई साल काम कर चुके हैं.

Mumbai scribe dies 25 days after constable’s son knocked him down

A-53-year-old journalist died last morning from the injuries that he had sustained from a hit-and-run incident involving a bike driven by a constable’s son, in Mira Road on May 4. Harshad Patel was a resident of Mira Road, and a journalist with Mumbai-based Gujarati newspaper Janmabhoomi. On that fateful day, Patel was walking back home on 90 Feet Road in Mira Road when the speeding bike slammed into him. The rider of the bike (MH- 04-CX-4977) was a constable’s son, identified as Sagar Rajaram Inchnade (22). His father, Rajaram Inchnade, is attached to the main police control room.

चारुल मलिक, इंडिया टीवी और ढेर सारे सस्पेंस!

खबर इंडिया टीवी मुम्बई से है. आज तक को बाय बाय बोलकर इंडिया टीवी जाने वाली चारुल मलिक अपनी ‘सास बहू’ वाली इमेज को बरकरार रखेंगी। जैसा अंदाज़ा लगाया जा रहा था कि चारुल मलिक आज तक की तरह सास बहू और साज़िश की तर्ज पर ही इंडिया टीवी के लिए शो बनाएंगी। और हुआ भी कुछ ऐसा ही। सूत्रों के हवाले से खबर है कि मुम्बई ब्यूरो के बगल के एक आफिस को इंडिया टीवी ने ले लिया है।

मेरा संपादक श्याम शर्मा और एचआर विकास विजयवर्गीय मुझे मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहे हैं : रणजीत सिंह राजपूत

आदरणीय यशवंत सिंह
संपादक
भड़ास4मीडिया

महोदय मैं रणजीत सिंह राजपूत, सब एडिटर, दैनिक भास्कर भीलवाड़ा में हूं. वर्तमान में मुझे यहां कार्यरत संपादक श्याम शर्मा एवं एचआर विकास विजयवर्गीय प्रताड़ित कर रहे हैं. मेरे खिलाफ तरह तरह की बातें और अफवाह फैला रहे हैं. ये दोनों यह लोगों को यह कह कर भ्रमित कर रहे है कि रणजीत सिंह राजपूत ने रिजाइन दे दिया है. ये लोग मुझे  इरादतन मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहे हैं ताकि मेरा मानसिक संतुलन बिगड़ जाए या मैं उत्पीड़न से परेशान होकर नौकरी छोड़ दूं.

विनय बिहारी सिंह के केस से सबक लें और आप भी सेक्शन 17 (2) के तहत लेबर आफिस में आवेदन करें

विनय बिहारी सिंह के कोलकाता के वरिष्ठ पत्रकार हैं. इंडियन एक्सप्रेस समूह के हिंदी अखबार जनसत्ता में लंबे समय तक कार्य करने के बाद रिटायर हुए. लेकिन मालिकों ने उन्हें मजीठिया वेज बोर्ड के हिसाब से एरियर नहीं दिया. विनय बिहारी सिंह रिटायरमेंट के बाद इंडियन एक्सप्रेस के मालिकों को लगातार मजीठिया का लाभ देने …

लेबर इंस्पेक्टर के यहां मजीठिया वेज बोर्ड के लिए कंप्लेन करें

उच्चतम न्यायालय में 28 अप्रैल 2015 की सुनवाई के दौरान बहुत सी बातें उठीं. यह भी बताया गया कि मजीठिया का लाभ मांगने वाले कर्मचारियों को प्रबंधन द्वारा धमकाया और डराया जा रहा है. उनसे जबरदस्ती लिखवाकर लिया गया है कि वो मजीठिआ का लाभ नहीं चाहते. अदालत को यह भी बताया गया कि प्रबंधक …

सैलरी न मिलने से दुखी एक इंप्लाई का पत्र नेशनल दुनिया के मालिक के नाम

अखबारों के मालिक किस तरह से अपने कर्मचारियों का शोषण कर रहे हैं, उनके स्वाभिमान को चोट पहुंचा रहे हैं, इसकी ताजा मिसाल है नेशनल दुनिया के पत्रकार अनिरुद्ध चौहान की आपबीती, जिसका उन्होंने भड़ास4मीडिया को प्रेषित एक पत्र में ब्योरेवार खुलासा किया है। सैलरी न देना, जब मन करे, जहां तबादला कर देना, ऐसा इन दिनो बड़े मीडिया हाउसों में धड़ल्ले से चल रहा है। खबर बेचने का तामझाम फैलाकर ‘चौथा खंभा’ के ये धंधेबाज कितने फितरती हो चले हैं, उस सच्चाई का भी भेद खोलता है ये पत्र –   

संदीप बामजई ने दो माह में ही ‘फोकस न्यूज’ का संपादक पद छोड़ा

वरिष्ठ पत्रकार संदीप बामजई ने ज्वॉइन करने के दो माह के भीतर ही फोकस न्‍यूज संपादक पद छोड़ दिया है। यहां से पहले वह मेल टुडे में संपादक थे। कोलकता में ‘द स्टेट्समेन’ से उन्होंने पत्रकारिता में कदम रखा था। वर्ष 1986 से डेढ़ दशक तक ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ मुंबई में रहे।

पढ़ाई-लिखाई से टीवी पत्रकारों का कोई वास्ता नहीं

ना जाने क्यों टीवी एंकर्स के चेहरों पर दो किस्म के भाव रहते हैं। अव्वल तो यह मान कर टीवी एंकर्स चलते हैं, सामने वाला शख्स मूर्ख है और मैं यह भी तय करूंगा कि सामने वाले को क्या बोलना है। दूसरे, कुछेक एंकर्स ऐसी अदा से कैमरे को ताकते हुए मेहमान पर मुस्कराते हैं मानो कह रहे हों, जरा इस लल्लू को देखो तो..या फिर इस कदर आक्रामक हो उठते हैं..लगता है कि दर्शक मेहमान को नहीं, एंकर को सुनने टीवी खोल के बैठा है। 

इजरायल में चापलूस अखबारों का आतंक बढ़ा, मीडिया का गला घोंटने की तैयारी

इजरायल में मीडिया के बुरे दिन शुरू हो गए हैं . मौजूदा प्रधानमंत्री बिन्यामिन नेतान्याहू ने उन मीडिया संस्थानों को दुरुस्त करने का काम शुरू कर दिया है जो उनकी जयजयकार नहीं कर रहे हैं. सरकार और उनके चापलूस अखबारों का आतंक इतना बढ़ गया है कि आम तौर पर इजरायल के शासकों का पक्ष …

सोशल मीडिया का राजा फेसबुक, 380 करोड़ लोग हुए इसके दीवाने

फेसबुक सोशल मीडिया का नया राजा बन गया है. वर्चुअल वर्ल्ड में फेसबुक की लोकप्रियता ने दिन दूनी और रात चौगुनी तरक्की की है. ऐसी कामयाबी सोशल मीडिया में दुनिया में किसी को अब तक हासिल नहीं हुई. फेसबुक स्मार्टफोन पर अपने सभी प्रतिद्वंद्वी ऐप्स में बढ़ते यूज़र्स के कारण अव्वल दर्जे का हीरो बन गया है. फेसबुक के यूज़र्स की संख्या 3.8 बिलियन यानी 380 करोड़ तक पहुंच गई है, जो कि दुनिया की जनसंख्या का 50 फीसदी है.

अभिनेत्री रह चुकीं मंत्री ने सीधे सवाल को महिला-मुद्दा बनाकर स्टूडियो में मौजूद ‘जनता’ को ‘आजतक’ के खिलाफ भड़काया

Om Thanvi : सीधे सवाल पर ड्रामा जवाब से भागती ईरानी का, उलटा आरोप पत्रकार पर! अशोक सिंघल ने आजतक पर स्मृति ईरानी से पूछा कि मोदी ने आपको क्या खूबी देख कर (केबिनेट) मंत्री बनाया। स्मृति का हुनर देखिए कि जिस सवाल पर पहले कोई हैरान नहीं हुआ था, जवाब देने की जगह अभिनेत्री रह चुकीं मंत्री ने उस सवाल को महिला-मुद्दा बनाकर स्टूडियो में मौजूद ‘जनता’ के बीच कुछ इस अंदाज से उछाला कि लोग भड़क गए, इतना कि मंच पर पत्रकार पर हमला तक करने जा पहुंचे। तब मंत्री ने उठकर पत्रकार को बचाने जाने का उपक्रम भी प्रदर्शित किया! गौर करने की बात है कि आमंत्रित की गई भीड़ ‘मोदी-मोदी’ के नारे लगा रही थी।

विदेश दौरों में खोए प्रधानमंत्री मोदी के नाम एक भारत वासी की चिट्ठी

सेवा में आदरणीय नरेंद्र मोदी जी,

प्रधान सेवक / चौकीदार / चीफ ट्रस्टी

भारत सरकार, नई दिल्ली,

विषय :- भारत के नागरिकों की समस्याओं के समाधान के बावत ।

महोदय,  

आप दुनिया के जिस भी देश में जाते हैं वहां कुछ न कुछ भारत के खजाने से देते हैं जो कि हम भारतीयों की खून पसीने की कमाई से इकठ्ठा  किया गया धन है, आप उसे इस तरह बाँट रहे हैं जैसे आपको ये धन पारिवारिक बंटवारे में मिला हो । आपने चुनाव के समय कहा था मुझे एक मौका दीजिये मैं भारत की संपत्ति दुनिया के लुटने नहीं दूंगा और उसकी चौकीदारी करूँगा,पर ये क्या आपको मौका मिलते ही अरबों खरबों डालर ऐसे बाँट डाले जैसे भारत को अब इस धन की जरूरत ही नहीं है। आपने तो सत्ता मिलते ही कहा था कि पूर्ववर्ती सरकार ने देश का खज़ाना खाली कर दिया है फिर इतना पैसा जो आपने भूटान नेपाल श्रीलंका मंगोलिया सहित दर्जन भर देशों को दिया है ये कहाँ से आया या आपने रातों रात कमा लिए।

मजीठिया वेतनमान मांगने पर हिसार भास्कर ने दो को सस्पेंड किया, गोली मारने की धमकी

मुन्ना प्रसाद हिसार (हरियाणा) दैनिक भास्कर में 26 वर्ष से काम कर रहे हैं। इस समय वह भास्कर में सीटीपी ऑपरेटर हैं। मुन्ना प्रसाद ने मजीठिया वेतनमान के लिए सुप्रीम कोर्ट में केस कर रखा है। जब भास्कर प्रबंधन को ये बात पता चली तो उसने मुकदमा वापस लेने के लिए उन पर दबाव बना दिया। पेपर में जो छोटी-छोटी गलतियां होती रहती हैं, उन्हीं को आधार बनाकर भास्कर प्रबंधन ने मुन्ना प्रसाद और उनके एक अन्य सहकर्मी सुरेंद्र कुमार को सस्पेंड कर दिया। 

सुरेंद्र कुमार को भास्कर प्रबंधन द्वारा जारी सस्पेंशन लेटर

अमर उजाला के पत्रकार को छह लाख रुपये के विवाद में मारी गई गोली

उत्तर प्रदेश के शामली जिले के कांधला में पत्रकार विनय बालियान पर जानलेवा हमला छह लाख रुपये के लेनदेन को लेकर किया गया था। पुलिस ने एक हमलावर को पकड़ कर यह खुलासा किया है। इस प्रकरण में अभी दो हमलावरों सहित शातिर पुलिस की पकड़ से बाहर हैं। एसपी शामली विजय भूषण ने अपने कार्यालय में पत्रकारों से वार्ता कर घटना का खुलासा किया। एसपी के अनुसार, 25 मई की रात दुकान से घर जाते समय पत्रकार विनय बालियान को बाइक सवार तीन शातिरों ने गोली मारकर घायल कर दिया था।

DD National : six new shows

: DD Dopahar Apke Ghar – Doordarshan National induces fresh flavours and emotions in its afternoon slot : New Delhi, 02.06.2015: The aptly designed time band, titled ‘DD Dopahar Apke Ghar’ which DD National introduced last year was an instant hit with the viewers and has since then added to the popularity of the channel. This 3 hour non-stop package of shows, from 12 to 3 pm was much appreciated by the viewers which thus reflected in the channel’s high TAM ratings.

यूपी में जंगलराज : मंत्री और पुलिस के उत्पीड़न से पेरशान बेबाक पत्रकार ने पेट्रोल डालकर खुद को जलाया

उत्तर प्रदेश का बुरा हाल है. पेड मीडिया की नजर सिर्फ केजरीवाल की आलोचना करने पर रहती है क्योंकि अभी केजरीवाल ने मीडिया को खिला पिलाकर मुंह बंद करना नहीं सीखा है. यही कारण है कि उत्तर प्रदेश से लेकर ढेर सारे प्रदेशों तक में चल रहा जंगल राज मीडिया की नजर से जानबूझ कर गायब रहता है क्योंकि इन सरकारों ने आन दी रिकार्ड और आफ दी रिकार्ड विज्ञापनों / पैसों से मीडिया का मुंह सिल रखा होता है. उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में जो कुछ हुआ है, वह दहला देने वाला है. एक बेबाक पत्रकार को सोशल मीडिया पर लिखने की कीमत यह चुकानी पड़ी कि एक मंत्री उसे परेशान करने लगा और मंत्री के इशारे पर पुलिस गिरफ्तार करने के लिए पीछे पड़ गई. ऐसे में पत्रकार ने पुलिस के सामने खुद पर पेट्रोल छिड़क कर आग लगा लिया.

भड़ास पर खबर आने के बाद सहारा वालों ने मेरी माता को भुगतान कर दिया

 

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृहग्राम हरनौट में दिनकर प्रसाद सिंह की सत्तर वर्षीय मां सरोज सिंह के जमा अवधि पूरी कर चुके अमाउंट के 3,20,000 रुपए सहारा ने बिना उनकी अनुमति के अन्य स्कीम में हड़प कर लिया था। दिनकर प्रसाद सिंह ने बताया कि भड़ास4मीडिया पर यह खबर प्रसारित होने के बाद सहारा प्रबंधन ने पूरे रुपए का भुगतान सरोज सिंह को कर दिया है। 

न्यूयॉर्क टाइम्स के पत्रकार गार्डिनर हैरिस की सलाह- अगर आपके पास दूसरे शहर का विकल्प है तो दिल्ली छोड़ दीजिए

गार्डिनर हैरिस


: न्यूयॉर्क टाइम्स के पत्रकार ने दिल्ली को अलविदा कहने के बाद अपने फैसले पर जताई खुशी : न्यूयॉर्क टाइम्स के दिल्ली में रह रहे दक्षिण एशिया संवाददाता गार्डिनर हैरिस दिल्ली को अलविदा कहने के बाद से बहुत खुश हैं। हैरिस अकेले पिता नहीं है जो अपने बच्चों पर दिल्ली के भयंकर टॉक्सिक वातावरण के प्रभाव को लेकर बहुत चिंतित हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली में रहना एक सजा के सामान है। उन्होंने कहा कि यदि आपके पास दूसरे शहर का विकल्प है और आप अपने रोजगार से भी अधिक अपने बच्चों से प्यार करते हैं, तो आप दिल्ली से दूर रहकर, किसी दूसरे शहर में रोजगार पाकर ज्यादा खुशी पा सकते हैं।

विकास के मनमोहन-मोदी मॉडल से तौबा !

साल भर पहले मनमोहन सिंह अछूत अर्थशास्त्री थे । साल भर पहले पहले जातीय राजनीति करने वाले बीजेपी के लिये अछूत थे । साल भर पहले कश्मीरी पंडितों की घरवापसी बीजेपी के लिये सबसे अहम थी । साल भर पहले किसानों के दर्द पर बीजेपी जान छिड़कने को तैयार थी । साल भर पहले सत्ता के दलालों के लिये बीजेपी में गुस्सा था । साल भर पहले बीजेपी को विश्व बैंक की नीतियों पर गुलाम बनाने वाली प्रतित होती थी।  साल भर पहले बीजेपी अपनी जीत पर इतराती हुई एकला चलो के नारे को लगा रही थी । और साल भर में सबकुछ बदल गया ।

उद्योगपतियों के मीडिया-प्रभुत्व से पत्रकारिता की गरिमा तार-तार : अम्बिका चौधरी

उत्तर प्रदेश के काबिना मंत्री अम्बिका चौधरी ने हिन्दी पत्रकारिता दिवस पर मीडिया को आईना दिखाते हुये कहा कि अपनी आंतरिक व वाह्य बुराइयों को खत्म करने के लिये मीडिया कर्मियों को संगठित होकर आगे आना होगा। विकलांग व पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री चौधरी उत्तर प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार यूनियन की बलिया इकाई से सम्बद्व प्रेस क्लब बिल्थरा रोड के बैनरतले हिन्दी पत्रकारिता दिवस पर आयोजित ‘ वैश्विक परिवेश में पत्रकारिता और चुनौतियां‘ विषयक संगोष्ठी में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। 

समारोह में अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट करने की एक झलक

सप्रे संग्रहालय को महर्षि वेदव्यास राष्ट्रीय सम्मान

भोपाल : माधवराव सप्रे स्मृति समाचारपत्र संग्रहालय एवं शोध संस्थान, भोपाल को ’महर्षि वेदव्यास राष्ट्रीय सम्मान’ से सम्मानित करने का निर्णय लिया गया है। संस्कृति विभाग, मध्यप्रदेश शासन ने शिक्षा के क्षेत्र में श्रेष्ठतम उपलब्धियों एवं योगदान को सम्मानित करने के उद्देश्य से यह सम्मान स्थापित किया है। महर्षि वेदव्यास राष्ट्रीय सम्मान के अंतर्गत दो लाख रुपये सम्मान निधि, प्रशस्ति एवं सम्मान पट्टिका प्रदान की जाती है। संस्कृति विभाग की संचालक सुश्री रेनू तिवारी ने वर्ष 2012-13 के सम्मान के लिए सप्रे संग्रहालय के चयन की सूचना दी है। 

जानिए वे कारण जिसके चलते भारी मतों से जीत गया जलाली-नदीम पैनल… (देखें जीत-हार का अधिकृत डाटा)

: प्रेस क्लब आफ इंडिया के चुनाव में राहुल-नदीम पैनल ने विरोधी पक्ष का सूपड़ा साफ किया : राष्ट्रीय सहारा के संजय सिंह ने लगातार पांच चुनावों में भारी मतों से जीतकर रिकार्ड बनाया :

हिंदुस्तान और डीएलए पेपर की स्ट्रिंगरशिप लेते ही अपने क्षेत्र का वो बेताज बादशाह हो गया!

अभी तक आदमी पुलिस के आंतक से परेशान सुना जाता था लेकिन अब पत्रकारों का आतंक भी जीने नहीं दे रहा है। ये हाल है रायबरेली के लालगंज तहसील और आसपास के गांव वालों का। दरअसल मानवेंद्र पांडेय नाम के एक शख्स ने किसी तरह से हिंदुस्तान और डीएलए नाम के पेपर की स्ट्रिंगरशिप ले ली। इसकी बाद से मानो वो अपने क्षेत्र का बेताज बादशाह हो गया है। किसी को भी सरेआम गाली देना, मुकदमे में फंसाने की धमकी देना, पुलिस से प्रशासन से बेइज्जती कराने की धमकी देना उसकी आदत हो गई है। 

पीएसीएल और पर्ल ग्रुप की संपत्ति बेचकर निवेशकों का पैसा लौटाने के आदेश, पेड मीडिया ने इस बड़ी खबर पर साधी चुप्पी

एक बड़ी खबर सुप्रीम कोर्ट से आ रही है. सहारा के घोटाले साइज से लगभग डबल साइज के घोटाले से घिरी पीएसीएल और पर्ल ग्रुप नामक कंपनियों की संपत्ति बेचकर निवेशकों का पैसा लौटाने का आदेश उच्चतम न्यायालय ने दिया है. इस बीच सीबीआई ने पीएसीएल और पर्ल ग्रुप के मालिक निर्मल सिंह भंगू समेत कंपनियों के कई निदेशकों के खिलाफ चीटिंग और साजिश की नया केस दर्ज किया है. पीएसीएल और पर्ल ग्रुप को करीब छह हजार करोड़ निवेशकों को छियालीस हजार करोड़ रुपये लौटाना है. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद इन छह हजार करोड़ रुपये के निवेशकों को उनका पैसा मिल जाएगा लेकिन कई लोगों का कहना है कि भंगू ने अपना पूरा कारोबार और ज्यादातर पैसा विदेशों में ट्रांसफर कर लिया है. इसलिए भारत में बेचने के लिए बहुत कुछ मिलने वाला नहीं है.

पंकज पचौरी को कोई समझाए कि प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री के प्रेस सचिव का पद गैर-राजनीतिक होता है या नहीं

Sumant Bhattacharya : UPA सरकार के दौरान प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के प्रेस सलाहकार रहे Pankaj Pachauri ने अपनी टाइम लाइन में लिखा- ”Any one who thinks I was in favour of UPA govt is wrong I was advisor to Prime Minister of India & not to Congress. I am a Journalist and non politico.”

जाम न लगाने की बात समझाने पर चालक-परिचालक ने मीडियाकर्मी को पीटकर दांत तोड़ दिया

ऊना (हिमाचल प्रदेश) : पंजाब रोडवेज के चालक और परिचालक ने एक मीडिया कर्मी की धुनाई कर दी. इससे मीडियाकर्मी का दांत टूट गया. उसे काफी चोटें भी आई हैं. घायल अवस्था में मीडिया कर्मी को अस्पताल में भर्ती करवाया गया.

फेलोशिप के तहत रिसर्च पूरी करने वाले अंतिमा, विवेक और सुरेंद्र 6 जून को होंगे सम्मानित

अमर उजाला फाउन्डेशन की ओर से पत्रकारों को मिली फेलोशिप के तहत उन्हें शनिवार यानि 6 जून को इंडिया इंटरनेशनल सेंटर दिल्ली में सम्मानित किया जाएगा. उनकी किताबों को रेल मंत्री सुरेश प्रभु लॉन्च करेंगे. इस स्कॉलरशिप में अमर उजाला की पत्रकार अन्तिमा सिंह, एक निजी चैनल में कार्यरत विवेक मिश्रा ओर पत्रकार सुरेन्द्र बंसल …

अंजना ओम कश्यप और आज तक का सच से सामना हो गया कल शाम

कल एक प्रोग्राम में उनके एक एंकर अशोक सिंघल ने मजमा ज़माने के लिये वह पूछ लिया जो सबके मन में है पर हर आदमी Avoid करना चाहता है क्योंकि सवाल के निशाने पर एक मंत्री तो है पर वह स्त्री भी है! नतीजे में पिटते पिटते बचे एंकर साहब और एंकर श्रेष्ठ कश्यप जी! इन्हीं महोदया ने चुनाव के ठीक पहले “आप” के आशीष खेतान को एक live कार्यक्रम में कहा था ” आपकी औक़ात क्या है ” पर खेतान ने सभ्य व्यक्ति की तरह मुस्कुराते हुए उन्हें टाल दिया था।

केंद्रीय श्रम विभाग जयपुर ने भी भास्कर मैनेजमेंट को नोटिस जारी किये

दैनिक भास्कर को सरकारी नोटिसों का जवाब नहीं देने की आदत सी बन गई है। सुप्रीम कोर्ट से लेकर किसी भी कोर्ट या लेबर ऑफिस की ओर से भेजे गए नोटिसों पर प्रबंधन ने शायद यह नीति बना ली है कि नोटिसों का जवाब ही मत दो, बस टाइम मांग कर समय निकालो। अब यह नीति उन्हीं पर भारी पड़ने वाली है। जयपुर में एडिशनल लेबर कमिश्नर धनराज शर्मा ने दैनिक भास्कर जयपुर के सीओओ संजय शर्मा व एच आर हेड वंदना सिन्हा को अंतिम चेतावनी दी है कि या तो वे पत्रकारों को प्रताड़ित करने वाली याचिका पर जवाब दें अन्यथा एकतरफा कार्रवाई के लिए तैयार रहें।

चैनलों के कंटेट चुराने वाले गिरोह का सरगना आसिफ गिरफ्तार

पुलिस ने सैटेलाइट टीवी सिग्‍नल की पायरेसी में लिप्‍त गिरोह के सरगना मोहम्‍मद आसिफ सिद्दीकी को डाटा चोरी के उपकरणों समेत दबोच लिया है। इंटरटेनमेंट इंटरप्राइजेज लिमिटेड ने आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करा दी है। इसी सिलसिले में पुलिस ने लखनऊ के कल्‍यानपुर क्षेत्र में छापा मारकर अवैध टैपिंग पकड़ी है। वहीं से प्रमुख चैनलों का लाइव कंटेंट पायरेटेड वेबसाइट अपलोड किया जा रहा था।  

‘लोकमत समाचार’ ने छिंदवाड़ा और जलगांव संस्करण बंद किया, एमपी के सभी प्रतिनिधियों को हटाया

नागपुर के लोकप्रिय मराठी अखबार ‘लोकमत’ के हिंदी अख़बार ‘लोकमत समाचार’ को लेकर इन दिनों अच्छी खबर सुनने को नहीं मिल रही है। ‘लोकमत समाचार’ के छिंदवाड़ा और जलगांव संस्करणों को बंद किए जाने की सूचना है। इस अखबार ने मध्यप्रदेश में अपने आगमन का संकेत छिंदवाड़ा से ही दिया था! भोपाल में हाल ही में ‘लोकमत’ ने अपना नया ऑफिस भी बनाया था! अंदर की खबर है कि भोपाल ऑफिस भी बंद किया जा रहा है।

‘दबंग दुनिया’ के मालिक ने अपनी ही केबिन में अपने दो पत्रकारों को पिटवाया!

‘दबंग दुनिया’ किसी और के लिए दबंग हो न हो पर अपने यहाँ काम करने वाले पत्रकारों पर दबंगता जरूर दिखा रहा है. चर्चा है कि विवादों में रहने वाले इस अखबार के मालिक और गुटका किंग किशोर वाधवानी ने पिछले दिनों ‘दबंग दुनिया’ में कार्यरत दो पत्रकारों प्रमोद दभाड़े और रिपोर्टर संतोष को दफ्तर में सिर्फ इसलिए पिटवाया कि उन्होंने एक ऐसी खबर छाप दी थी जो किशोर वाधवानी के किसी ख़ास आदमी से जुडी थी.

टि्वटर हैंडलर मेहदी के 1.22 लाख ट्वीट्स, रीट्वीट्स, उस पर 3700 पेज की चार्जशीट दाखिल

 आतंकी संगठन आईएसआईएस के लिए टि्वटर हैंडल चलाने के आरोप में छह महीने पहले गिरफ्तार किए गए मेहदी मसरूर बिस्वास के खिलाफ सेंट्रल क्राइम ब्रांच ने 37 हजार पेज की चार्जशीट दाखिल की है। ब्रिटेन के एक निजी न्यूज चैनल ने गत वर्ष मेहदी की पहचान जारी कर दी थी , जिसके बाद गत वर्ष 13 दिसंबर को उसे गिरफ्तार कर लिया गया था। कोलकाता में पैदा हुए 25 वर्षीय मेहदी पेशे से इंजीनियर है और वह एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में काम करता था।

पीपली लाइव : मीडिया ने घेर रखा है अरुणा शानबाग के गुनहगार सोहन को, जीना हराम हुआ

चार दशक से ज्यादा समय तक कोमा में रहकर गत 18 मई को अपनी जान गंवाने वाली नर्स अरुणा शानबाग का गुनहगार सोहनलाल सिंह आखिरकार अब सबके सामने आ चुका है. सोहनलाल इन दिनों गाजियाबाद के पार्पा गांव में मजदूरी कर रहा है. मीडिया ने उसका जीना दुश्वार कर रखा है।

लेबर इंस्पेक्टर ने जागरण प्रबंधन को थमाया प्रतिकूल प्रविष्टि-पत्र

मजीठिया से बचने के लिए जागरण प्रबंधन द्वारा उठाया जा रहा अब हर पैंतरा उसी पर भारी पड़ रहा है। खबर है कि पूर्व में स्थानांतरित किए गए चार कर्मचारियों को ज्वाइन कराने पहुंचे लेबर इंस्पेक्टर को वहां के कर्मचारियों ने उस समय घेर लिया जब उन्हें पता चला कि कोई लेबर इंस्पेक्टर दफ्तर पहुंचा है। कर्मचारियों ने इंस्पेक्टर से ढेरों शिकायतें की। सूत्रों ने बताया कि यह सब सुन कर इंस्पेक्टर काफी नाराज हुआ और प्रतिकूल प्रविष्टि बनाकर जागरण प्रबंधन को थमा दिया है। अब विभिन्न मुद्दों पर लेकर जागरण प्रबंधन श्रमायुक्त के यहां चार तारीख को पेश होगा।

मीडिया सेंटर खाली करने वाले के लिए तो नहीं रुका जन संपर्क अधिकारी का तबादला!

बैतूल (म.प्र.) : प्रदेश सरकार के सुशासन की पोल तब खुल कर रह गई जब एक सहायक सूचना अधिकारी को सूचना अधिकारी के रूप में पदोन्नति मिलने के बाद उसे दतिया भेजने के बजाय उसका तबादला निरस्त करवा दिया गया। भोपाल में बैठे अधिकारी इसे कलक्टर, विधायक, जनप्रतिनिधि तथा पत्रकारों की अनुशंसा बता रहे हैं। 

दरोगा के सीने में गोली मारी, सिपाही पर भी हमला

आगरा : बदमाशों ने दारोगा सुधीर कुमार को गोली मारकर घायल कर दिया और सिपाही पर पत्थरों लाठियों से हमला कर घायल कर दिया। घायल दारोगा और सिपाही थाना निबहोरा में तैनात हैं और मुकद्दमों में वांछित अपराधी विनोद पर गैर जमानती वारंट तामील करने आज रात उसके गांव शाहवीर गए थे। 

इंदौर में ‘हैलो हिंदुस्तान’ का प्रकाशन पिछले तीन माह से बंद

इंदौर : यहां से निकलने वाली हिन्दी समाचार पत्रिका ‘हैलो हिंदुस्तान’ पिछले करीब तीन माह से प्रकाशित नहीं हो पा रही है। इतना ही नहीं इसके कर्ता-धर्ता प्रवीण शर्मा, जो सांध्य दैनिक अखबार भी निकाल रहे थे, कई माह से अपने कर्मचारियों को तनख्वाह तक नहीं बांट पाए हैं। इस बारे में जब कर्मचारी सवाल …

पांच साहित्यकार एवं तीन पत्रकार सम्मानित होंगे

जोधपुर : साहित्यिक एवं सांस्कृतिक संस्थान जोधपुर प्रदत्त राज्य स्तरीय कथा अलंकरण श्रृंखला के अंतर्गत इस वर्ष हिन्दी एवं राजस्थानी के पांच लब्ध प्रतिष्ठ साहित्यकारों एवं तीन पत्रकारों को अलंकृत किया जाएगा। संस्थान की ओर से सितम्बर माह में एक समारोह में ये अलंकरण प्रदान किए जाएंगे।

जगदीश किंजल्क को राष्ट्रीय कामता प्रसाद गुरु अलंकरण सम्मान

जबलपुर : साहित्यिक एवं सांस्कृतिक संस्था ‘वर्तिका’ के 30वें वार्षिक राष्ट्रीय साहित्य अलंकरण सम्मेलन में आयोजित एक भव्य समारोह में सुप्रसिद्ध साहित्यकार, पत्रकार एवं मीडियाकर्मी जगदीश किंजल्क को “राष्ट्रीय कामता प्रसाद गुरु अलंकरण “से नवाजा गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता सुप्रसिद्ध विद्वान आचार्य डॅा. कृष्णकान्त चतुर्वेदी ने की एवं मुख्य अतिथि रहे शैलजाकान्त मिश्रा।

श्रीलंका में ब्लॉगर सम्मेलन : सात विभूतियों को परिकल्पना सम्मान

 ब्लॉगरों को रचनात्मक मंच प्रदान करने के उद्देश्य से विगत पांच वर्षों से कार्यरत लखनऊ की प्रमुख सामाजिक, सांस्कृतिक और साहित्यिक संस्था परिकल्पना द्वारा विगत दिनों आयोजित पांच दिवसीय पंचम अंतर्राष्ट्रीय ब्लॉगर सम्मलेन एवं परिकल्पना सम्मान समारोह श्रीलंका की राजधानी कोलम्बो तथा सांस्कृतिक राजधानी कैंडी में पूरी भव्यता के साथ संम्पन हुआ। समारोह का उद्घाटन श्रीलंका के वरिष्ठ रंगकर्मी डान सोमरत्ने विथाना ने किया। मुख्य अतिथि रहे उत्तर प्रदेश के पूर्व नगर विकास मंत्री नकुल दुबे और मानद अतिथि रहे निदेशक भारतीय डाक सेवा राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र जोधपुर के कृष्ण कुमार यादव तथा विशिष्ट अतिथि रहे उत्तर महाराष्ट्र विश्वविद्यालय के हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ सुनील कुलकर्णी। 

हां, मैंने ट्रीटमेंटिस्टिक जर्नलिज्म किया है

वो सच में परिवर्तन के दिन थे। मेरे निजी जीवन के परिवर्तनों के साथ-साथ सामाजिक परिवर्तनों ने भी दस्तक देना शुरु कर दिया था। अब यह बात और है कि मेरी ही तरह बाकी लोग भी इन परिवर्तनों को नजर अंदाज कर रहे थे या इनकी गंभीरता को हल्के से ले रहे थे।

प्रेमिका ने छत पर गहरी नींद में सो रहे प्रेमी पर उड़ेला तेज़ाब

बलिया (उ.प्र.) : अक्सर सुना जाता है कि प्रेमी ने प्रेमिका पर तेजाब फेंक दिया, लेकिन बलिया में ठीक उल्टा हुआ। आरोप है कि प्रेमिका ने ही प्रेमी पर सोते समय देर रात को तेज़ाब फेंक दिया, जिसे गम्भीरावस्था में वाराणसी के लिए रेफर कर दिया गया। प्रेमिका को शायद इसका अंदाजा नहीं रहा होगा कि वह कितना गंभीर जुर्म करने जा रही है और उसका अंजाम क्या होगा। पुलिस ने उसे धर लिया है। घटना की जांच की जा रही है।

रेडियो पर मन की बात और अंत: कक्ष में धन की बात

श्री नरायन यादव लिखते हैं- रेडियो पर मन की बात, अंत:कक्ष में धन की बात। डीडी – किसान चैनल पर किसान भाइयों के लिए ‘फिलम शो’ चल रहा है (8 PM)। खेती – किसानी की जानकारी नीचे स्क्रोल पर चल रही है। 

टीवी मीडिया तो विकसित होने से पहले ही पसर गया, बस सेठजी की रखैल टाइप खबर आना रहा बाकी

व्यावहारिक पत्रकारिता में कई आयाम एक साथ काम करते हैं। उसमें संपादकीय टीम की दृष्टि, ध्येय, प्रस्तुतिकरण और प्रतिबद्धता के साथ भाषा का मुहावरा भी शामिल है। इनसे मिलकर ही एक मुकम्मल सूचना उत्पाद बनता है, जिसे आप प्रारंभिक तौर पर अखबार या मैगजीन के रूप में पहचानते हैं। हमारी पत्रकारिता की शुरुआत के समय हर अखबार और मैगजीन का कलेवर, विषयों का चयन, प्रस्तुतिकरण और भाषा का व्याकरण अलग-अलग था। यहां तक कि फॉन्ट और ले आउट भी, जैसे धर्मयुग और साप्ताहिक हिंदुस्तान या दिनमान और रविवार। आज भी इंडियन एक्सप्रेस और द हिंदू या इकोनॉमिक्स टाइम्स और बिजिनेस स्टेण्डर्ड देख कर इसे समझा जा सकता है ।

जागरण दफ्तर पहुंचे लेबर इंस्पेक्टर तो उमड़ पड़े फरियादी

नोएडा : मोदी जी, देखिए क्‍या सीन है…..आपके बल पर दैनिक जागरण अपने कर्मचारियों से दादागीरी कर रहा है। आप सिर्फ एक बार डपट दें तो उसकी क्‍या मजाल। जब जागरण कर्मचारियों का हुजूम भरी दोपहरी में कार्यालय परिसर से बाहर निकल आया। मौका था- 30 मई को लेबर इंस्‍पेक्‍टर के नोएडा के सेक्‍टर 63 स्थित दैनिक जागरण कार्यालय के दौरे का। 

समाज में जारी रहेगा पत्रकारिता का मिशन : मनोज रावत

देहरादून : पत्रकारिता दिवस के उपलक्ष्य में आईएफडब्लूजे की प्रदेश इकाई स्टेट यूनियन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट एवं जनजागरण अभियान समिति के संयुक्त तत्वावधान में मीडिया पर विचार मंथन किया गया। इस मौके पर स्टेट यूनियन आफ वर्किंग जर्नलिस्ट के प्रदेश महासचिव एवं वरिष्ठ पत्रकार मनोज रावत ने कहा कि आज भी समाज में पत्रकारिता का मिशन जारी है।  

आगरा के नजीर और तबस्सुम ने अपने छह बच्चों के लिए राष्ट्रपति से मांगी इच्छा-मृत्यु

आगरा के नाईं की मंडी गालिबपुरा इलाके के रहने वाले नजीर और तबस्सुम के बच्‍चे लाइलाज बीमारी से जूझ रहे हैं। बच्चों को तिल-तिल तड़पते देखकर नजीर ने राष्ट्रपति के लिए पत्र लिखा है जिसमें अपने छह बच्चों के लिए इच्छा मृत्यु की मांग की है। 

मजीठिया : ‘प्रभात खबर’ अपने कर्मियों के शोषण में जुटा, जबरन हस्ताक्षर अभियान शुरू

लोकतंत्र का चौथा सतम्भ प्रेस मीडिया पूरी तरह से अब संवेदनहीन हो गया है. ये न सिर्फ सुप्रीम कोर्ट के फैसले एवं देश के संविधान को ठेंगे पर रखने लगा है, बल्कि देश में अराजक स्थितियां भी पैदा करने लगा है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के अनुसार पत्रकारों एवं गैर पत्रकारों को 11 नवंबर 2011 से 31 मार्च 2014 तक एरियर का भुगतान करते हुए अप्रैल 2014 से नया वेतनमान लागू करना था. 

आजीविका और सामाजिक सुरक्षा के लिए अपराध, दहेज के लिए डकैती

एक थोड़ा चौंकानेवाला समाचार आया है। बिहार के भागलपुर जिले में एक पिता ने बेटी का दहेज जुटाने के लिए बैंक में डाका डाला। पुलिस ने इस मामले में चार लोगों की गिरफ़्तारी की और उनके पास से छह लाख रुपये बरामद किए हैं। 

विधवाओं के कल्याण के लिए ‘भगवान भजनाश्रम ‘ की जाँच जरूरी

धार्मिक भावनाओं की तुष्टि के सिलसिले में वृन्दावन का नाम कुछ ज्यादा ही श्रद्धा से लिया जाता है। बंगाल में तो बहुत पहले से मान्यता रही है कि स्वर्ग के दरवाजे पर दस्तक वृन्दावन में रहकर ही दी जा सकती है। वैधव्य की आपदाओं से घिरी बंगाली स्त्रियों को बाकी जीवन जीने के लिए वृन्दावन ताकत देता रहा है। यही कारण है कि वृन्दावन में बंगाली विधवाओं की उपस्थिति एक शताब्दी से लगातार बनी हुई है। विडम्बना यह है कि ये विधवाएँ सारा जीवन नारकीय यातनाओं को भोगते गुजार देती हैं। इन अनपढ़, सीधी-सच्ची और दुखी औरतों को इस बात का तनिक आभास नहीं होता कि उनकी वर्तमान हालत पुराने जन्मों के पापों का फल न होकर सुनियेाजित ढंग से धर्म के नाम पर खड़े किए गए आडंबर के कारण है। वृन्दावन में बंगाली विधवाओं की स्थिति एक बार जाल में फँसने के बाद कभी न निकलने वाली मछली की मानिंद है।

मजीठिया वेतनमान के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचे एचटी मीडिया के पांच कर्मियों की सेवा समाप्त

पिछले सप्ताह हिन्दुस्तान टाइम्स नोएडा-दिल्ली में इंकऱीमेंट के लैटर सबको बांट दिए गए, लेकिन साथ ही यहां के एचटी आफिस दिल्ली से 4-5 लोगों को तुरंत प्रभाव से नौकरी से टरमिनेट भी कर दिया गया। इन लोगों का एक कसूर था कि इन बेचारे भोले कर्मचारियों ने पिछले दिनों यहां प्रबंधन के खिलाफ मजीठिया वेतनमान न देने पर सुप्रीम कोर्ट में शिकायत कर दी थी, जो कि यहां कि उच्च प्रबंधकीय वर्ग को कतई पसंद नहीं। 

भ्रष्टाचार में डूबे हैं देश के बड़े मीडिया घराने, अब भरोसा सिर्फ सोशल मीडिया पर : यशवंत सिंह

मथुरा (उ.प्र.) के चन्द्रलेखा कैम्पस में 31 मई को आईएमए के पत्रकार सम्मान समारोह को संबोधित करते भड़ास4मीडिया के संस्थापक संपादक यशवंत सिंह  

मथुरा (उ.प्र.) : पत्रकारिता दिवस पर एक सम्मान समारोह को मुख्यवक्ता के रूप में सम्बोधित करते हुए भड़ास4मीडिया के संपादक यशवंत सिंह ने कहा कि इस बड़े मीडिया घराने पूरी तरह से भ्रष्टाचार में डूबे हुए हैं। मजीठिया आयोग की शिफारिशों को आज तक इन मीडिया घरानों ने लागू नहीं किया है। सत्ता एवं भ्रष्ट तंत्र के साथ जोड़तोड़ बनाकर मीडिया कर्मियों को उनके श्रम का न्याय संगत एवं वेज बोर्ड से निर्धारित वेतनमान नहीं दिया जा रहा है। इसीलिए अब सोशल मीडिया पर ही लोगों का भरोसा बढ़ रहा है। ऐसे हालात में एक सच्चाई ये है कि सोशल मीडिया ने अब परम्परागत मीडिया को पीछे छोड़ दिया है। 

 

चन्द्रलेखा कैम्पस में दीप प्रज्ज्वलन कर पत्रकार सम्मान समारोह एवं विचारगोष्ठी के शुभारंभ की झलक।

संपादकीय सामग्री अब दैनिक अखबारों तक सीमित नहीं

ब्रिटेन के प्रमुख अखबार द गार्डियन के मशहूर संपादक एलन रसब्रिजर ने दो दशक बाद इस 29 मई को पाठकों को जो विदाई चिट्ठी लिखी, उसकी शुरुआत थी : ‘यदि आप (आज का छपा हुआ) अखबार पढ़ रहे हैं, जो कि आप निश्चित ही नहीं पढ़ रहे होंगे, तो यह संपादक के रूप में मेरा अंतिम संस्करण है।’ ये पंक्तियां आज मीडिया बन चुके प्रेस में आए एक बड़े बदलाव की प्रतीक हैं। भारत और पूरे विश्व में समाचारपत्र अब भी उसी तत्परता और सत्यता से समाचार और विविध विचार-अभिमत देते हैं। पर हर पल संवर्धित होने वाली संपादकीय सामग्री दैनिक अखबार तक सीमित नहीं है। 

रामेंद्र लखनऊ सहारा से पहुंचे हिंदुस्तान, राजीव भी दो माह से गैरहाजिर

राष्ट्रीय सहारा के लोकल रिपोर्टिंग इंचार्ज रामेंद्र सिंह ने दैनिक हिंदुस्तान ज्वॉइन कर लिया है। वहां भी उन्हें रिपोर्टिंग हैड का ही दायित्व सौंपा गया है। रामेंद्र सिंह पहले भी हिंदुस्तान में लोकल रिपोर्टिंग में रह चुके हैं। गौरतलब है कि केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के निजी सचिव के पी सिंह के सगे छोटे भाई हैं। उन्हीं के माध्यम से वह सहारा में भी आए थे। सहारा के बदलते हालात में उन्होंने फिर उसी माध्या से पाला बदला है।