पंजाब केसरी का मालिक अश्विनी कुमार भाजपा से लड़ रहा करनाल से लोस चुनाव, पेड न्यूज को लेकर नोटिस

हरियाणा के करनाल से पंजाब केसरी के मालिक अश्विनी कुमार भाजपा के टिकट से चुनाव लड़ रहे हैं. चूंकि मालिक चुनाव लड़ रहा है तो अखबार को इसके पक्ष में बिछ ही जाना है. सो, इन दिनों करनाल में पंजाब केसरी अखबार अपने मालिक अश्विनी कुमार का गुणगान करने में जुटा है. ये खबरें पेड न्यूज की कैटगरी में आती हैं. इसी कारण बीजेपी उम्मीदवार अश्विनी कुमार को उपायुक्त और जिला निर्वाचन अधिकारी बलराज सिंह ने आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप में दोबारा कारण बताओ नोटिस जारी किया है.

सहारा कर्मियों के लिए संकट, मार्च के वेतन में होगी देरी

सुब्रत राय के तिहाड़ जेल में बंद होने का असर सहारा के कर्मचारियों पर पड़ने लगा है. बताया जा रहा है कि सहारा कर्मियों को मार्च की तख्वाह देर से मिलेगी. निवेशकों का पैसा लौटाने के मुद्दे पर भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के साथ कानूनी लड़ाई का दबाव झेल रहे सहारा समूह ने कर्मचारियों को सूचित किया है कि मौजूदा प्रतिकूल परिस्थितियों तथा बैंक खातों पर रोक की वजह से उनको मार्च का वेतन मिलने में देरी हो सकती है.

बुद्ध और अंबेडकर के विचारों का प्रसार करता देश का पहला दलित चैनल ‘लॉर्ड बुद्धा टीवी’

नागुपर से देश के पहले ऐसे सेटेलाइट चैनल का प्रसारण होता है जो गौतम बुद्ध और डॉ. अंबेडकर के विचारों और संस्कारों का प्रसार करता है। चैनल का नाम है ‘लॉर्ड बुद्धा टीवी’। दलितों को मुख्यधारा के मीडिया में उचित जगह नहीं मिलती इसलिए दलितों का भी एक मीडिया होना चाहिए, इस विचार को लेकर नागपुर के दो भाइयों राजू मून और सचिन मून ने इस चैनल की शुरुआत की है। बहुत ही सीमित संसाधनों से चलने वाले इस सैटेलाइट चैनल की शुरुआत 18 मई 2012 को हुई थी।

चंडीगढ़ प्रेस क्लब चुनाव : नानकी बने अध्यक्ष, राजेश ढल्ल ज्वाइंट सेक्रेटरी

चंडीगढ़ प्रेस क्लब के चुनाव रविवार को संपन्न हुए. चुनाव में नानकी हंस को प्रधान (अध्यक्ष) निर्वाचित घोषित किया गया. संजय शर्मा को सीनियर वाइस प्रधान (उपाध्यक्ष), बरींद्र रावत को वाइस प्रधान (उपाध्यक्ष) और दवी दविंदर कौर वाइस प्रधान वुमन (उपाध्यक्ष महिला) चुना गया.

करण थापर अब हेडलाइंस टुडे के हिस्से होंगे

सीएनएन-आईबीएन से लंबे समय से जुड़े जाने माने पत्रकार व एंकर करण थापर के बारे में खबर है कि अब वे हेडलाइंस टुडे के हिस्से बनेंगे. सूत्रों का कहना है कि उन्होंने मार्च माह के आखिरी सप्ताह में संस्थान को गुडबाय बोल दिया है. पहली तारीख से वे नई पारी की शुरुआत करेंगे.

Delhi Advertising Club (DAC) announces winners of Excellence in Advertising Awards 2014

New Delhi : The most outstanding media initiatives of the year gone by were recognized and awarded at the “DAILY EXCELSIOR and LEHAR ADVERTISING  present DAC – Excellence in Advertising Awards 2014” held at a glittering ceremony today at Ashoka Hotel, New Delhi. Seventeen Agencies received forty DAC Excellence in Advertising Awards. The Agency of the Year Award begged by Innocean Worldwide India, whereas Campaign of the Year  Award gone to McCann, New Delhi.

औरंगाबाद में पत्रकारों की एक एक हजार में लगी बोली

औरंगाबाद के समाहरणालय के सामने 'सरस्वती होटल इन' में एक राजनीतिक पार्टी द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में जिले के कई छोटे बड़े अख़बारों और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। प्रेस कॉन्फ्रेंस करने का मुख्य उद्देश्य यह था कि उस राजनीतिक पार्टी के बड़े नेता का चुनाव प्रचार होने वाला है और उस नेता की बेहतर खबरें अखबारों और टीवी चैनलों पर दिखे। इसको लेकर पार्टी के कई लोगों ने प्रेस को सम्बोधित किया।

चुनावी उफान में पुरबिया तान : लोकगीतों को संरक्षित-विकसित करने का ऑनलाइन अभियान

: गायिका चंदन की आवाज में महेंदर मिसिर के गीतों का पहला अलबम ‘पुरबिया तान’ होगा ऑनलाइन : गलियों में बिखरे हुए लोकगीतों का ऑनलाइन जंक्शन ‘लोकराग’ गुमनाम गायकों का बनेगा मंच : लोकसंगीत में अश्लीलता विद्रूपता को दूर करने के लिए देश दुनिया के कोने में रह रहे लोकसंगीत के रसियों के सहयोग से शुरू हुआ है अभियान

‘वायस आफ मूवमेंट’ नहीं छापेगा पेड न्यूज : प्रभात रंजन दीन

लखनऊ से प्रकाशित अखबार वायस आफ मूवमेंट की तरफ से इसके प्रधान संपादक प्रभात रंजन दीन ने एलान किया है कि उनका अखबार पेड न्यूज नहीं प्रकाशित करेगा. दीन ने इस बाबत अखबार में विशेष संपादकीय लिखकर अपनी प्रतिबद्धता की घोषणा की है. पढ़िए, दीन ने क्या लिखा है…

गाजीपुर पत्रकार एसोसिएशन के नवनिर्वाचित पदाधिकारियों का शपथ ग्रहण समारोह संपन्न

गाजीपुर । गाजीपुर पत्रकार एसोसिएशन के नवनिर्वाचित पदाधिकारियो का शपथ ग्रहण समारोह जिला मुख्यालय स्थित रायफल क्लब में आयोजित किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि जिलाधिकारी चन्द्रपाल सिंह ने दीप प्रज्जवलन कर मां सरस्वती के चित्र पर माल्यापर्ण कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। एसोसिएसशन के नवनिर्वाचित पदाधिकारियों जिसमें अध्यक्ष अनिल कुमार उपाध्याय, वरिष्ठ उपाध्यक्ष कमलेश कुमार यादव, महामंत्री चन्द्र कुमार तिवारी, सहसचिव अजय शंकर तिवारी, कोषाध्यक्ष विनोद गुप्ता तथा आय-व्यय निरीक्षक प्रमोद कुमार सिंघानिया को शपथ दिलाया।  एसोसिएशन के नवनिर्वाचित अध्यक्ष अनिल कुमार उपाध्याय ने अपने कार्यकारिणी सदस्यों जिसमें अशोक कुमार श्रीवास्तव, वेद प्रकाश श्रीवास्तव, अखिलेश यादव, राजेश दूबे, सूर्यबीर सिंह, अनिल कश्यप, रविकान्त पाण्डेय, पंकज पाण्डेय को भी शपथ दिलाया।

अमृत भारत में कम्पोजीटर रहे ओपी सिंह अब बिजली मीटर की स्पीड स्लो करने का काम करते हैं, वह भी निःशुल्क

लखनऊ : आप आज यहां जिस शख्स को देख रहे हैं ना, उसके बाबा के पास कभी सात गांवों की जमीन्दारी थी। यह कहानी है यूपी में गाजीपुर जिले के सादात इलाके की। परिवार था ठाकुरों का, और जमींदार साहब इन गांवों के किसानों से मालगुजारी वसूला करते थे। मनचाही वसूली होती थी इन जमींदार साहब की। इसके पहले भी यह ठाकुर साहब अंग्रेजों के तलवे चाटा करते थे। उनकी खुशामदी देख कर अंग्रेजों ने इन ठाकुर साहब को यह जमीन्दारी अता फरमायी थी।

लगता है लफ्फाजी में राजनाथ सिंह ने नरेंद्र मोदी को पीछे छोड़ दिया है

बाबू राजनाथ सिंह ने लखनऊ में मीडिया के सामने कहा कि वे हफ्ते में दो-तीन दिन अपने पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी के घर जाकर उनका हालचाल लेते हैं पर अभी टाइम्स आफ इंडिया ने एक खबर छापी थी जिसमें बताया गया था कि अटल जी के घर कुल तीन लोग हफ्ते में दो-तीन दिन आ जाते हैं और वे हैं- प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह, एमएन घटगे और श्री लालकृष्ण आडवाणी।

जब साबिर अली के पांच करोड़ रुपये के बहकावे में आ गए थे महुआ के मालिक पीके तिवारी

Vikas Mishra : पूर्व जेडीयू और पूर्व बीजेपी नेता साबिर अली के कुछ संस्मरण मेरे पास भी हैं। बात करीब ढाई साल पहले की है, जब महुआ न्यूज में मैं था। चैनल संकट में था, पैसे के लिए साबिर अली से डील चलने लगी। मेरी जानकारी के मुताबिक साबिर अली ने चैनल के मालिक पीके तिवारी को पांच करोड़ रुपये देने की बात कही थी।

नरेंद्र मोदी के लिए अवैध रूप से धन उगाही के रैकेट का पर्दाफाश (देखें तस्वीरें और प्रमाण)

भोपाल में इनकम टैक्स की अधिकारी पूनम राय एक बिल्डर से दस लाख रुपये लेती धरी गईं. पूनम राय का पति गणेश मालवीय भी इस रिश्वतखोरी का पार्ट था, इसलिए उसे भी सीबीआई ने अरेस्ट कर लिया. गणेश मालवीय भाजपा का नेता है और नरेंद्र मोदी का खास है. इससे संबंधित प्रमाण और तस्वीरें मध्य प्रदेश कांग्रेस की तरफ से उसके प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी ने जारी की है. साथ ही कांग्रेस की तरफ से एक प्रेस नोट भी है. सब कुछ नीचे प्रकाशित किया जा रहा है.

एक चिटफंडिया चैनल के हेड ने मुझसे सीबीआई डायरेक्टर रंजीत सिन्हा से मीटिंग फिक्स कराने का अनुरोध किया : दीपक शर्मा

Deepak Sharma : इमरजेंसी का इन्डिया टुडे या बोफर्स काल का द हिंदू …या फिर धीरूभाई अंबानी के वक्त के रामनाथ गोयनका और अरुण शोरी …..ये वो मीडिया संगठन और पत्रकार हैं जिनकी राजनीतिक विचारधारा पर मतभेद हो सकते है लेकिन उनके जिगर और पत्रकारिता की रीड का इस दौर में कोई सानी नही. इनके शौर्य और यश के आगे मै नतमस्तक हूँ. लेकिन आज के दौर में पत्रकारिता की गंगा उलटी बह रही है. राजनीति के रसातल में सरकती आज की पत्रकारिता या तो बिकी हुई है या किसी सोच की गिरवी है या फिर किसी ओछे मकसद से की जा रही है.

चुनाव आयोग को यशस्वी यादव की शिकायत की जांच शुरू

चुनाव आयोग ने सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर द्वारा आईपीएस अफसर यशस्वी यादव के नीली बत्ती लगी सरकारी गाडी में लखनऊ स्थित समाजवादी पार्टी मुख्यालय में जाने सम्बन्धी कथित घटना की शिकायत का संज्ञान लिया है और उनके आदेश पर राजेश कुमार, एसपी पूर्वी, लखनऊ द्वारा इस मामले की जांच शुरू कर दी गयी है. 

उमेश डोभाल स्मृति समारोह : विनय बहुगुणा, सुरेंद्र रावत ‘अंशु’ समेत कई पुरस्कृत

इस बार का 24वां उमेश डोभाल स्मृति समारोह प्रकृति की उपत्यिका के मध्य उत्तराखंड के केंद्र गैरसैण में सम्पन्न हुआ। इसमें पत्रकारिता, साहित्य और जनसरोकार के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाली प्रतिभाओं को सम्मानित किया गया। साथ में ‘गैरसैण के मायने’ पर चर्चा के साथ पत्रकारिता के बदलते स्वरूप पर भी चर्चा हुई।

टीआरपी न मिलने से सुनील ग्रोवर का कॉमेडी शो ‘मैड इन इंडिया’ बंद होगा

मुंबई से सूचना है कि टीआरपी न आने से कॉमेडियन सुनील ग्रोवर का स्टार प्लस पर प्रसारित होने वाला कॉमेडी शो 'मैड इन इंडिया' जल्द ही बंद होगा. कमजोर टीआरपी की वजह से चैनल इस शो को तय वक्त से पहले ही खत्म कर देगा. सूत्रों ने बताया कि मैड इन इंडिया के 28 एपिसोड आने थे लेकिन अब इसे 13 एपिसोड पूरे होने पर ही खत्म किया जाएगा.

बिल्डर से घूस लेने में 2007 बैच की आईआरएस अफसर पूनम राय और उसका भाजपा नेता पति गणेश मालवीय गिरफ्तार

भोपाल से खबर है कि आयकर विभाग में डिप्टी कमिश्नर के रूप में कार्यरत 2007 बैच की आईआरएस अधिकारी पूनम राय को एक बिल्डर से 10 लाख रुपये रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है. आईआरएस अफसर पूनम राय के पति गणेश मालवीय जो भाजपा नेता है, साथ ही उनके चार्टर्ड अकाउंटेंट और उनके नौकर को भी अरेस्ट किया गया है. यह रकम इनकम टैक्स असेसमेंट का मामला निपटाने के एवज में एक बिल्डर से वसूली जा रही थी.

यूपी मानवाधिकार आयोग ने फिरोजाबाद पुलिस लाठीचार्ज पर रिपोर्ट मांगी

उत्तर प्रदेश मानवाधिकार आयोग ने फ़िरोजाबाद पुलिस द्वारा किये गए लाठीचार्ज के सम्बन्ध में सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर द्वारा भेजी शिकायत पर डीजीपी, यूपी से रिपोर्ट मांगी है. 19 मार्च 2014 के आदेश द्वारा आयोग के अध्यक्ष जस्टिस तरुण चटर्जी ने डीजीपी, यूपी को आदेश की तिथि से दो माह में प्रकरण की जांच कर 30 मई तक अपनी रिपोर्ट उपलब्ध कराये जाने और उसके बाद  रिपोर्ट सहित शिकायत आयोग के समक्ष प्रस्तुत किये जाने ने निर्देश दिए हैं.

साबिर अली प्रकरण भाजपा की अंतर्कलह को दे गया नई ‘खुराक’

लोक कहावत है, ‘सिर मुंड़ाते ही ओले पड़े’। यह लोक मुहावरा चर्चित नेता साबिर अली पर एकदम चस्पा हो गया है। जदयू के तेज-तर्रार प्रवक्ता रहे साबिर अली पिछले दिनों अपनी पार्टी से नाराज हुए थे। क्योंकि, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्यसभा में उन्हें दोबारा नामित करने की सिफारिश नहीं की थी। राज्यसभा में दोबारा भेजने के बजाए उन्हें ऐसी सीट से लोकसभा का टिकट पकड़ा दिया था, जिसमें साबिर अपनी हार तय मान रहे थे। ऐसे में, उन्होंने अपने खांटी सेक्यूलर तेवरों से एकदम ‘यू-टर्न’ लिया और भाजपा के ‘पीएम इन वेटिंग’ नरेंद्र मोदी की तारीफ करने लगे। साबिर की ‘मोदीभक्ति’ देखकर जदयू नेतृत्व ने बगैर किसी देरी के उन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया।

पिंकसिटी प्रेस क्लब चुनाव : राधारमण शर्मा अध्यक्ष और रोशनलाल शर्मा महासचिव बने

जयपुर से खबर है कि पिंकसिटी प्रेस क्लब के सालाना 2014-15 के चुनाव में अध्यक्ष पद पर राधारमण शर्मा और महासचिव पद पर रोशन लाल शर्मा निर्वाचित घोषित किए गए हैं. मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल.एल.शर्मा ने बताया कि रविवार को हुई मतगणना में अध्यक्ष पद के प्रत्याशी राधारमण शर्मा को 323, मांगी लाल पारीक को 225, पंकज सोनी को 111, और निशांत मिश्रा को 28 मत मिले है.  महासचिव पद पर रोशन लाल शर्मा को 263, हरीश गुप्ता 229 और राहुल जैमन को 189 मत मिले.

गैंगरेप पीड़िता पत्रकार को लेकर उत्तराखंड गई पुलिस टीम

विंध्याचल (मीरजापुर) से सूचना है कि सामूहिक दुष्कर्म की शिकार पीड़िता महिला पत्रकार जंगल के उस स्थान की शिनाख्त नहीं कर पाई जहां उसके साथ दुष्कर्म हुआ था। युवती को उसके घर पहुंचाने के लिए पुलिस टीम शनिवार की रात उत्तराखंड रवाना हो गई।

मुंबई में पुलिसकर्मियों ने पत्रकार को गाली दी और हिरासत में लिया

मुंबई : बांगुर नगर पुलिस स्टेशन के अंतर्गत शनिवार की रात तकरीबन डेढ़ बजे कुछ पुलिसकर्मियों द्वारा एक महिला से बदसलूकी करने का मामला सामने आया है। पीड़ित महिला के अलावा घटना को कवरेज करने पुहंचे एक पत्रकार को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

राहुल ने पत्रकार से पूछा क्या आपको पानी मिला ?

गाजियाबाद : सुरक्षा चक्र की परवाह किए बगैर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी कल अपना भाषण समाप्त करने के बाद मीडियाकर्मियों से घुले मिले। कांग्रेस उम्मीदवार राज बब्बर के पक्ष में चुनाव प्रचार करने आए राहुल यहां रामलीला मैदान में मंच से नीचे उतरे और पत्रकारों से बातचीत की। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने एक पत्रकार से पूछा कि आप कब से यहां हैं, क्या आपको पीने का पानी मिला, क्या बोतलबंद पानी था।

मिस्र में हुई झड़प में पत्रकार सहित तीन लोगों की मौत

काहिरा। मिस्र में आतंकवादी संगठन मुस्लिम ब्रदरहुड के सैकड़ों समर्थकों को मौत की सजा सुनाए जाने के एक दिन बाद विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई झड़प में कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई।
मिस्र के समाचार पत्र अल दस्तूर ने अपनी वेबसाइट पर कहा है कि मुस्लिम ब्रदरहुड के इस विरोध प्रदर्शन को कवर करने गई उसकी एक पत्रकार मयादा अशरफ की झड़प के दौरान मौत हो गई है। हालांकि सुरक्षा बलों का कहना है कि वह ब्रदरहुड के समर्थकों में शामिल थी।

सीरिया में आतंकियों ने छह महीने बाद रिहा किए दो पत्रकार

मैड्रिड। सीरिया में अलकायदा से संबद्ध आतंकवादियों ने स्पेन के दो पत्रकारों को लगभग छह माह तक अपने कब्जे में रखने के बाद रिहा कर दिया है। स्पेन के एक अखबार में रविवार को छपी एक खबर के अनुसार उसके स्टाफ रिपोर्टर जावियर एस्पोनेसा तथा फ्रीलांस फोटो पत्रकार रिकार्दो गाशिया विलानोवा को आतंकवादियों ने तुर्की के अधिकारियों को सौंप दिया है।

नीली पगड़ी वाले अभय का जाना…

Navin Kumar : जीवन को लेकर मन एक विरक्ति से भर उठा है.. सिर्फ 20 दिन पहले एक ज़िंदादिल इंसान से मुलाकात हुई थी.. नीली पगड़ी वाले अभय ओए एफएम में रेडियो जॉकी थे.. उन्होंने रेडियो छोड़कर टीवी में कदम रखा था.. न्यूज़ एक्सप्रेस पर वो दिव्या के साथ सुबह का कार्यक्रम पेश करते थे.. नमस्कार इंडिया.. आज एक सड़क दुर्घटना में अभय का निधन हो गया..

फर्रुखाबाद से ‘आप’ उम्मीदवार मुकुल त्रिपाठी ने भी लौटाया टिकट

केजरीवाल को और उनकी आम आदमी पार्टी का नौसिखियापन सामने आता जा रहा है. ऐसे ऐसे लोगों को टिकट दे दिया जो अब चुनाव लड़ने से ही इनकार करने लगे हैं. एक के बाद एक कई लोगों ने टिकट लौटाया है. ताजा मामला यूपी के फर्रुखाबाद का है. यहां 'आप' उम्मीदवार मुकुल त्रिपाठी ने पार्टी को लोकसभा टिकट लौटा दिया है.

मैंने एफबी पर जो व्यंग्य पोस्ट किया, उसे राजकिशोर ने उड़ाकर अपने नाम से दैनिक जागरण में छाप दिया!

यशवंत भाई नमस्कार, आपको एक लिंक भेज रहा हूं। मामला दैनिक जागरण में प्रकाशित एक लेख का है। बनारस की चुनावी फिज़ा पर एक व्यंग्य मैने फेसबुक पर 20 मार्च को डाला था। आज सुबह बनारस और लखनऊ से मेरे दो पत्रकार मित्रों ने फोन कर बताया कि हुबहू वही लेख "महासमर" पेज पर राजकिशोर जी के नाम से छपा है। मैने वेब पर जाकर ई-पेपर पढ़ा तो चौंक गया। सिवाए कुछ पात्रों के नाम बदलने के वो लेख वैसे का वैसा ही नकल किया हुआ है।

अमर उजाला के युवान के बंद होने की चर्चाएं

यशवंत व्यास के अमर उजाला से चले जाने के बाद नई खबर ये है कि अमर उजाला का 'युवान' भी जल्द बंद होने जा रहा है…  हालाँकि कंपनी इस खबर को बाहर नहीं आने देना चाहती क्योंकि इससे उसकी प्रतिष्ठा पर असर होगा…  24 जनवरी 2011 को शिक्षा के प्रति युवाओं की रूचि और जानकारी बढ़ाने के लिए इस मैग्जीन की नींव रखी गयी थी… परन्तु बढ़ते समय के साथ इसकी प्रति बढ़ने के बजाये घटने लगी…

दूरदर्शन में केजुअल कर्मचारियों का शोषण, फटकार के बाद भी नियमों का हो रहा उल्लंघन

नई दिल्ली : दूरदर्शन के केंद्रीय कार्यक्रम निर्माण केंद्र में कार्यरत दर्जनों केजुअल कर्मचारियों को नियमों के विपरीत काम कराया जा रहा है। दूरदर्शन में केजुअल (रिसोर्स पर्सन) के तौर पर नियुक्त कर्मचारियों को पूरे-पूरे महीने आना पड़ रहा है जबकि अनुबंध के नियमानुसार सिर्फ महीने में 7 आसाइनमेंट होते हैं, जिसके तहत एक माह में सात दिन ही उपस्थिति दर्ज कराना अनिवार्य है।

तरुण तेजपाल कांड : महिला पत्रकार के आरोपों की सच्चाई पर आउटलुक पत्रिका में उठा सवाल

तरुण तेजपाल कांड में महिला पत्रकार ने जो आरोप लगाया है उसकी सच्चाई पर आउटलुक पत्रिका में सवाल उठाया गया है। सीसीटीवी फ़ुटेज में तेजपाल एक बार भी उस पत्रकार को लिफ़्ट में खींचते नहीं दिखते हैं। आश्‍चर्य तो इस बात पर भी होता है कि इस फ़ुटेज में महिला पत्रकार दौड़कर उस लिफ़्ट में घुसते हुए नज़र आती हैं जिसमें तरुण तेजपाल मौजूद थे।

गैंगरेप की शिकार पीड़िता हिंदी पत्रकार है, इसीलिए अंग्रेजीदां नारीवादियों ने चुप्पी साध रखी है!

Samar Anarya : एक पत्रकार का काम करते हुए (in the line of duty) मिर्जापुर में गैंगरेप होता है, पुलिस से लेकर नारीवादियों तक को सूचना होती है पर बस….. बात यहीं ख़त्म। इस बार कोई गुस्से में उबलता नहीं दिखता, नारीवादियों तक. क्यों? मुम्बई के शक्तिनगर मिल्स मामले से लेकर तहलका के गोवा थिंक फेस्ट मामले में उबले गुस्से से इस मामले में ऐसा क्या फर्क था कि गुस्सा छोड़िये, यह खबर अखबारों के भीतरी पन्नों में बॉक्स तक सिमट के रह गयी.

प्रेस क्लब आफ इंडिया में आनंद-नदीम पैनल की जोरदार जीत (देखें पूरी लिस्ट)

प्रेस क्लब आफ इंडिया के इलेक्शन में आनंद सहाय – नदीम अहमद काजमी पैनल ने जोरदार जीत दर्ज की. विरोधियों का सूपड़ा साफ कर दिया. पूरा पैनल भारी मतों से जीता है. एशियन एज में कार्यरत आनंद सहाय, जो बिहार के रहने वाले हैं, प्रेस क्लब आफ इंडिया के अध्यक्ष बने हैं. बिहार के ही निवासी और एनडीटीवी में कार्यरत नदीम अहमद काजमी महासचिव बने हैं.

झील में डूब कर मरे अपने एंकर अभय सिंह भामरा को विनोद कापड़ी ने फेसबुक पर यूं दी श्रद्धांजलि

Vinod Kapri : कल से ये मुस्कुराता हुआ अभय का चेहरा कभी नहीं दिखेगा। रोज़ सुबह जिस वक़्त वो शो करके घर पहुँच जाता था, कल सुबह ठीक उसी समय अभय को अंतिम विदाई दी जाएगी। तुमसे मैं बहुत नाराज़ हूँ अभय। सिर्फ़ 20 दिन की सबसे छोटी पारी खेलकर तुम बिना बताए क्यों चले गए अभय? सब जानते हैं कि तुम एक जाने माने RJ थे, टीवी की तुम्हारी पारी बस शुरू ही हुई थी और तुम चले गए।

ये एक महीना जी गया तो जी जाउंगा : वीरेन डंगवाल

Rising Rahul : वीरेन दा, आपसे तो मुझे न जाने कि‍तने सालों पहले मि‍लना था, पर मैं खुद में बंद आदमी खुद से कभी इतना बाहर ही न आ पाया कि उस यायावरी से जुड़ सकूं, जि‍सने ताजिंदगी आपको बखूबी बरता। अभी भी मुझे खुद से बाहर आने में काफी दि‍क्‍कत है, पर सुख ये है कि अब आप खुद को फिर से पूरे दमखम के साथ सामने आने के लिए तैयार किए हुए हैं.

रायपुर प्रेस क्लब की बागडोर फिर एक बार अनिल पुसदकर के हाथों में

: संजय शुक्ला उपाध्यक्ष, संदीप पुराणिक महासचिव पद पर काबिज : रायपुर : प्रदेश के सबसे महत्वपूर्ण एवं प्रतिष्ठित रायपुर प्रेस क्लब के संगठन की बागडोर एक बार फिर वरिष्ठ पत्रकार अनिल पुसदकर के हाथों में आ गई है। उन्होंने प्रेस क्लब के संगठनात्मक चुनाव में अपने निकटतम प्रतिद्वंदी सुशील अग्रवाल को कड़े मुकाबले में 3 मतों से पराजित करते हुए अध्यक्ष पद पर कब्जा कर लिया। उपाध्यक्ष पद पर संजय शुक्ला काबिज हुए। वहीं महासचिव के पद पर संदीप पुराणिक काबिज हुए हैं।

सोशल मीडिया के लिए भी कंटेंट को लेकर मानदंड निर्धारित होना चाहिए

: लोकसभा चुनाव में सोशल मीडिया की भूमिका पर हुई चर्चा : पटना : इलेक्ट्रानिक व प्रिंट मीडिया की तरह सोशल मीडिया के लिए भी कंटेंट को लेकर मानदंड निर्धारित होना चाहिए, ताकि खबरों की मर्यादा आहत न हो। ई-पत्रिका 'आह्वान' के पांच वर्ष पूरा होने के मौके पर रविवार को पटना में आयोजित सेमिनार को संबोधित करते हुए संपादक वीरेंद्र कुमार यादव ने कहा कि सोशल मीडिया ने वैचारिक अभिव्यक्ति को व्यापक, तीव्र और बहुआयामी विकल्प उपलब्ध कराया है। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया की भाषा, कंटेंट और कमेंट सकारात्मक, सार्थक और मर्यादित होना चाहिए। सेमिनार का विषय लोकसभा चुनाव में सोशल मीडिया की भूमिका पर केंद्रित था।

पाकिस्तान दौरे पर गए कोलकाता प्रेस क्लब के पदाधिकारियों के खिलाफ गृह मंत्रालय करा रहा खुफिया जांच!

कोलकाता से प्रकाशित एक बंगला पत्रिका ने अपने मार्च के अंक में एक खबर को लीड स्टोरी के रूप में प्रकाशित किया है। यह खबर कोलकाता के पत्रकारों में इन दिनों चर्चा का विषय है। दिल्ली डेटलाइन से पत्रकार अर्ध्य कुसुम ने खबर में लिखा है कि भारत सरकार के गृह मंत्रालय ने खुफ़िया तरीके से कोलकाता प्रेस क्लब के पदाधिकारियों के पाकिस्तान सफर की जाँच शुरू कर दी है। जांच में क्लब के कई पदाधिकारियों का नाम शामिल किया गया है।

‘न्यूज एक्सप्रेस’ के एंकर अभय भामरा की झील में डूबने से मौत, सदमे में जीजा को हार्ट अटैक

फरीदाबाद के सूरजकुंड क्षेत्र में रविवार सुबह दिल्ली से चार दोस्तों के साथ पिकनिक मनाने आए 'न्यूज एक्सप्रेस' न्यूज चैनल के एंकर की झील में डूबकर मौत हो गई। अभय भामरा की मौत की खबर मिलते ही उसके जीजा सुरजीत सिंह सूरजकुंड थाने पहुंचे। वहां हार्ट अटैक से उनकी भी मौत हो गई। दो सदस्यों की मौत से परिवार में मातम पसरा हुआ है। पुलिस के मुताबिक दिल्ली के मोती नगर के सुदर्शन पार्क निवासी अभय पांच दोस्तों के साथ पिकनिक मनाने पहुंचे थे।

गुवाहाटी से प्रकाशित ‘संगबाद लहरी’ बंद, 100 कर्मचारी बेरोज़गार

गुवाहाटी और शिलांग से प्रकाशित बंगाली दैनिक 'संगबाद लहरी' का प्रकाशन प्रबंधन ने बंद कर दिया है। प्रबंधन के इस फैसले से करीब 100 कर्मचारी बेरोज़गार हो गए हैं। इसके विरोध में कल गुवाहाटी के समाचार पत्रों औऱ न्यूज़ चैनल्स के पत्रकारों और ग़ैर-पत्रकार कर्मियों ने गुवाहाटी प्रेस क्लब के सामने मुंह पर काली पट्टी बांध कर विरोध प्रदर्शन किया।

एनटी अवार्ड में आजतक के हिस्‍से आए छह पुरस्‍कार

देश का सबसे तेज और चहेता न्यूज चैनल आज तक 'न्यूज टेलीविजन अवॉर्ड्स' में छाया रहा. आज तक को अलग-अलग श्रेणियों में कुल 6 अवॉर्ड्स से नवाजा गया. इसके अलावा हमारे सहयोगी चैनल हेडलाइंस टुडे को भी 2 अवॉर्ड्स मिले.

एनटी अवॉर्ड में एनडीटीवी ने 23 पुरस्कार अपने नाम किए

नई दिल्ली: न्यूज टेलीविजन अवॉर्ड्स (एनटी अवॉर्ड्स) की शाम एनडीटीवी के नाम रही। बेस्ट न्यूज एंकर से लेकर बेस्ट न्यूज रिपोर्टर तक, बेस्ट मोबाइल ऐप से लेकर गेम चेंजर 2013 तक हर अवॉर्ड एनडीटीवी के नाम रहा। कुल मिलाकर एनडीटीवी की झोली में 23 अवॉर्ड आए।

एनटी अवॉर्ड में नेटवर्क 18 को 34 अवॉर्ड मिले

नई दिल्ली। न्यूज टेलीवीजन अवॉर्ड में एक बार फिर नेटवर्क18 की धूम रही और पूरे नेटवर्क को कुल 34 अवॉर्ड मिले। आईबीएन7 को दो अवॉर्ड मिले। आईबीएन7 के शो जिंदगी लाइव के लिविंग विद कैंसर एपिसोड को बेस्ट न्यूज टॉक शो का अवॉर्ड मिला। इसके अलावा जिंदगी लाइव के लिए ही बेस्ट न्यूज इनिशिएटिव टेकेन बाइ न्यूज चैनल का अवॉर्ड मिला।

लखनऊ में हवा और जमीन पर लिखने वाले पत्रकारों की भीड़ बढ़ी

लखनऊ। लोकसभा चुनाव नजदीक आने के साथ ही लखनऊ में पत्रकारों की संख्‍या में अचानक इजाफा हो गया है. हवा और जमीन पर लिखने वाले तथा आसमान में खबर दिखाने वाले पत्रकारों की भीड़ कई राजनीतिक दलों के कार्यालयों में दिखने लगी है. ये पत्रकार किसी भी प्रेस कांफ्रेंस (पीसी) में निर्धारित समय से पहले पहुंच जाते हैं तथा कुर्सियों पर जम जाते हैं. राजनीतिक दलों के मीडिया मैनेज करने वाले लोग भी इस भीड़ को देखकर परेशान होते हैं, लेकिन इन लोगों की तथाकथित नाराजगी के डर से कुछ कहते-सुनते नहीं हैं.

डाल्‍टनगंज के पत्रकार मनोज कुमार की हत्‍या करने वाला शूटर अरेस्‍ट

झारंखड के डाल्‍टनगंज जिले के मेदिनीनगर पुलिस और सदर थाना पुलिस ने संयुक्‍त कार्रवाई में मोहम्‍मदगंज के पत्रकार मनोज कुमार की हत्‍या करने वाले कुख्‍यात शूटर को अरेस्‍ट किया है. मेदिनीनगर थाना के बहलोलवा गांव से शूटर विजय शर्मा उर्फ गुरुजी उर्फ उदय को गिरफ्तार किया गया. वह मोहम्‍मदगंज थाना के गाजीबिहरा का मूल निवासी है. पुलिस ने उसके पास से नाइन एमएम की पिस्‍टल और चार कारतूत बरामद किए हैं.

अरे! ये आपदा पीडि़त या भिखारी नहीं, पत्रकार हैं भाई

लखनऊ। अगर आपको लग रहा है कि नीचे के फोटो में सामान के लिए मारामारी करती भीड़ उत्‍तराखंड आपदा की है, या फिर ये लोग बाढ़ पीडि़त हैं या गरीब और भिखारी तबके के लोग हैं, तो आप बिल्‍कुल गलत सोच रहे हैं. ये ना तो भिखारी हैं और ना ही आपदाग्रस्‍त इलाकों के लोग. ये लोग देश के सबसे बड़े प्रदेश यूपी की राजधानी लखनऊ के बड़े बड़े पत्रकार हैं. जी हां, पत्रकार. चौंकिए नहीं, ऐसे दृश्‍य आए दिन लखनऊ की सरजमीं पर नुमाया होते रहते हैं.

जनसंदेश टाइम्‍स की हालत पतली, तीन दिन बंद रही सीयूजी की आउटगोइंग

बनारस। जनसंदेश टाइम्‍स की हालत दिन प्रतिदिन बिगड़ती जा रही है. प्रबंधन ने डाक्‍टर बदला, इलाज बदला, फिर भी इस अखबार की सांसें उखड़ती जा रही हैं. कोई फायदा होता नहीं दिख रहा है. ताजा सूचना है कि अखबार के उपर मोबाइल फोन का लाखों रुपए बकाया होने और पेमेंट न करने के कारण कंपनी की सीयूजी मोबाइल की आउटगोइंग तीन दिन तक बंद रही. किसी तरह पैसा जमा कराकर प्रबंधन ने रविवार से आउटगोइंग शुरू कराया है.

The Dirty Corporate world

It is now two month I am roaming for a job in Bangalore. I am still unemployed. People call Bangalore as IT hub, City filled with International companies, but still there are no job opportunities. People all around are greedy. I completed my MCA. I came to Bangalore for a job in a company named “impetus”, but once I reached here I came to know that I lost it. Lost it for asking two days extension while joining.

लॉन्च हुआ ईटीवी न्यूज़ हरियाणा/ हिमाचल प्रदेश

जैसा कि नेटवर्क18 द्वारा पूर्व में घोषणा की गई थी, ईटीवी ग्रुप ने हरियाणा और हिमाचल प्रदेश के लिए नए 24X7 न्यूज़ चैनल को लॉन्च कर दिया। लॉन्चिंग के मौके पर वरिष्ठ पत्रकार हरिशंकर व्यास ने कहा कि ये दोनों ही राज्य भारत की राजनीति को प्रतिबिंबित करते हैं। उन्होने कहा कि भले ही हरियाणा …

दुराचार पीड़ित महिला पत्रकार ने मजिस्ट्रेट के सामने बयान दर्ज़ कराया

मिर्जापुर। बलात्कार की शिकार महिला पत्रकार ने शनिवार को सीजेएम न्यायालय में सीआरपीसी की धारा 164 का कलमबंद बयान दर्ज कराया। इसके पहले महिला का पुलिस ने जिला अस्पताल में मेडिकल परीक्षण कराया था। इस मामले में पुलिस ने तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। जबकि घटना में प्रयुक्त स्कार्पियों को पुलिस ने सीज कर आरोपी अश्विनी तिवारी को जेल भेज दिया। मजिस्ट्रेट को बयान देने के बाद महिला पत्रकार ने बताया कि उसके साथ बुरा हुआ है। घटना में तीन लोग शामिल थे। एक की पहचान वह कर चुकी है, एक फरार है, और तीसरे को सामने आने पर पहचान लेगी।

कांग्रेस ने पत्रकारों को बंद लिफाफों में नकदी पेश की

इटानगर। अरूणाचल प्रदेश के मीडिया संगठनों ने चुनाव आयोग के समक्ष शिकायत दर्ज कराई है कि कांग्रेस ने पत्रकारों को धन की पेशकश की है। अरूणाचल प्रेस और अरूणाचल प्रदेश यूनियन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट ने कल दायर अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि कांग्रेस ने 27 मार्च को राजीव गांधी भवन में पार्टी चुनाव घोषणापत्र जारी करने के दौरान मीडियाकर्मियों को धन की पेशकश की थी।

क्या कहती हैं राजनेताओं की ग्रहदशा, देखिए 4रीयल न्यूज का नया कार्यक्रम ‘सत्ता का योग’

कुण्डली का छठा, सांतवा, दसवां व ग्यारहवां भाव राजनीति के लिए विचारणीय होते है। जबकि इनमें से सबसे प्रमुख दशम भाव ही होता है। अगर दशमेश उच्च का हो या दशम भाव में कोई ग्रह उच्च का हो तो सत्ता से जुड़ना आसान रहता है। अब जबकि 16वीं लोकसभा चुनाव को मुश्किल से कुछ दिन ही बचे हैं, लोकसभा चुनाव की बिसात बिछ चुकी है, ऐसे में कौन बनेगा प्रधानमंत्री इसको लेकर कयासों का बाजार गर्म होने लगा है। जहां एक ओर कांग्रेस सत्ता विरोधी लहर का सामना कर रही है, वहीं बीजेपी नरेंद्र मोदी की हवा का भरपूर फायदा उठाने को बेताब है। इसी बीच राजनीतिक हलकों की नई पार्टी "आप" भी इन दोनों पार्टियों के समीकरण को बिगाड़ने की भी पूरी तैयारी कर चुकी है। ऐसे में यह अनुमान लगाना दिलचस्प होता है कि आखिर चुनाव के परिणाम क्या होने वाले है। कौन होगा 7 आरसीआर का प्रबल दावेदार।

मेरे दिवंगत चाचा को न्याय दिलाने में मेरी मदद कीजिए

प्रिय मित्रों,
         मेरे
चाचा श्री भानु कुमार ओझा जयपुर में पीओपी के ठेकेदार थे। वे दिल के बहुत ही अच्छे इंसान थे। रामपाल के 'हिप्नोटिज़्म'(सम्मोहन) के कारण बरवाला आश्रम में जाने की ज़िद किया करते थे। ये घटना करीब 6 दिन पहले का है। अंतिम बार जब वो आश्रम गए तो 10 दिनों तक उनका फ़ोन बंद आया। मन में शंका हुई तो हम सब उनको ढूंढने आश्रम पहुंचे।

अखिलेश बाबू, महिला पत्रकार गैंगरेप कांड में आपकी पुलिस और नेता भी कम दोषी नहीं

यूपी में जंगलराज होने की एक बार फिर पुष्टि हो गई। उत्तराखंड की महिला पत्रकार को लबेरोड स्कार्पियो से अगवा कर, उसके साथ गैंगरेप किया गया। उसके बाद पुलिस ने लीपपोती कर केस को हल्का करने की उससे भी बड़ी शर्मनाक हरकत की। इन सबसे यह साफ हो गया है कि इस जंगलराज में महिलाएं किस कदर असुरक्षित हैं और यूपी की पुलिस अपनी कार्रवाई कितनी जिम्मेदारी से करती है। अगर मामला किसी सत्ताधारी वीआईपी नेता आजम खां के भैंसों के लापता हो जाने सरीखे हो तो नौकरी बचाने के लिए पुलिस अफसरों का कार्य कौशल देखने लायक हो जाता है। पहले तो यूपी के थानों में रिपोर्ट दर्ज कराना ही टेढ़़ी खीर है। अगर किसी तरह रिपोर्ट हो भी जाए तो अपराधियों का साथ देना और उल्टे भुक्तभोगी को परेशान करना पुलिस की आदतों में शुमार हो गया है।

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली को राज्य का दर्जा देने हेतु दायर पीआईएल ख़ारिज की

लखनऊ की सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. नूतन ठाकुर तथा अधिवक्ता प्रतिमा पाण्डेय द्वारा दिल्ली तथा पुदुचेरी को राज्य का दर्जा दिए जाने हेतु अनुच्छेद 32 के अंतर्गत दायर पीआईएल सुप्रीम कोर्ट ने आज ख़ारिज कर दी।

लिबरेशन में दीपांकर जैसा सोचने वालों की संख्या अधिक ही नहीं, बल्कि प्रभावी नियंत्रण में भी है

: सीपीआई एमएल-लिबरेशन : पार्टी कार्यक्रम और पार्टी ढांचे में बदलाव पर एक रिपोर्ट : गंगानगर कदवा, भागलपुर में किए गए सर्वेक्षण पर आधारित : बिहार में भूमि आन्दोलन का इतिहास बहुत ही पुराना रहा है। झारखंड को अलग करके भी इस इतिहास को लिखा जाय तब भी यह पौराणिक अख्यानों से जाकर मिलता है। असुर लोगों का प्रतिरोध संघर्ष से लेकर अंग्रेजों की सत्ता के साथ सीधी भीड़ंत करने का सिलसिला कभी खत्म नहीं हुआ। इसका एक बड़ा कारण नदी की बहुलता और जमीन का उपजाऊपन के साथ साथ खनिज और वन संपदा की प्रचुरता भी रही है।

संदेश अखबार, सुरेंद्रनगर (गुजरात) के ब्यूरो चीफ देवजीभाई भरवाड़ पर रिश्वत मांगने का आरोप (सुनें टेप)

गुजरात में एक जिला है सुरेंद्रनगर. यहां संदेश अखबार के ब्यूरो चीफ हैं देवजी भाई भरवाड़. इनका एक आडियो टेप बाहर आया है जिसमें ये रिश्वत मांग रहे हैं. बताया जाता है कि इस साजिश में संदेश अखबार के प्रबंधन के लोग भी शामिल हैं.

नूतन ठाकुर द्वारा दायर पीआईएल पर कोर्ट आदेश के बाद 358 अनधिकृत लोगों की सुरक्षा हटायी गयी

इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच द्वारा सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर  की सुरक्षाकर्मियों के दुरुपयोग के सम्बन्ध में दायर पीआईएल में दिए आदेश पर राज्य सरकार ने अब तक 358 अनधिकृत लोगों की सुरक्षा हटा ली है. एएसपी सुरक्षा कुमार ज्ञानंजय सिंह द्वारा दायर हलफनामे के अनुसार बिना जिला सुरक्षा समिति की संस्तुति के प्रदान किये गए 163 लोगों में 150 की सुरक्षा वापस ले ली गयी है.

टाटा स्काई, डिश टीवी समेत छह डीटीएच ऑपरेटरों को केंद्र सरकार ने भेजा 2000 करोड़ का नोटिस

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने 6 डीटीएच ऑपरेटरों से 2000 करोड़ रुपये से ज्यादा रकम चुकाने के लिए कहा है। इनमें टाटा स्काई और डिश टीवी भी शामिल हैं। मंत्रालय का कहना है कि लाइसेंस फी के तौर पर उन पर यह रकम बकाया है। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने टाटा स्काई, डिश टीवी, सन डायरेक्ट, एयरटेल डिजिटल टीवी, रिलायंस डिटिजल टीवी और वीडियोकॉन डी2एच को नोटिस भेजकर उनसे 15 दिनों में यह पैसा चुकाने के लिए कहा है। इससे पहले मंत्रालय ने इन 6 ऑपरेटरों के इंडिपेंडेंट ऑडिट का आदेश दिया था। मंत्रालय ने ऑपरेटरों को पैसा देने के लिए 15 दिन की मोहलत दी है।

सुब्रत राय को रिहा कराने के लिए सहारा कर्मी जुटाएंगे 5,000 करोड़ रूपये!

सेबी-सहारा विवाद में एक नया मोड़ आया है जिसमें समूह के प्रमुख सुब्रत राय सहारा को दिल्ली की तिहाड़ जेल से छुड़वाने के लिए 5,000 करोड़ रूपये की राशि जुटाने के लिए समूह के कर्मचारियों तथा शुभचिंतकों से एक एक लाख रूपये की राशि प्राप्त करने का आज एक अनूठा उपाय सुझाया गया. इस प्रस्ताव के तहत मनोरंजन से खुदरा कारोबार क्षेत्र में कार्यरत सहारा समूह के कर्मचारियों को उनके इस योगदान के लिए सहारायिन ए-मल्टीपरपज सोसायटी लि. के शेयर दिए जाने की बात है. सहारा समूह का दावा है कि उसके 11 लाख वेतनभोगी व फील्ड कर्मचारी है.

मोदी को धमकी देने वाले मसूद गिरफ्तार, राहुल की रैली रद्द

उत्तर प्रदेश में सहारनपुर संसदीय सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार इमरान मसूद की शनिवार तड़के हुई गिरफ्तारी के बाद पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी की सहारनपुर रैली रद्द कर दी गई है। राहुल की शनिवार को सहारनपुर, गाजियाबाद और मुरादाबाद में जनसभाएं होनी थी, लेकिन मसूद की गिरफ्तारी के बाद उनकी सहारनपुर रैली स्थगित कर दी गई है। राहुल की बाकी दोनों रैलियां तय समय पर ही होंगी।

पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार, विश्लेषक और लेखक रजा रूमी पर हमला, चालक की मौत

लाहौर से खबर है कि दो अज्ञात बंदूकधारियों ने आज पाकिस्तान के वरिष्ठ विश्लेषक और लेखक रजा रूमी पर गोलियां चला दीं जिसमें उनके चालक की मौत हो गई और सुरक्षाकर्मी घायल हो गया. लाहौर पुलिस के प्रवक्ता नियाब हैदर ने कहा कि मोटरसाइकिल पर सवार दो लोगों ने गार्डन टाउन के राजा बाजार में रूमी की कार रोकी और गोलियां चलाना शुरू कर दिया. रूमी को नुकसान नहीं पहुंचा लेकिन उनके चालक मुस्तफा और अंगरक्षक अनवर को छर्रे लगे.

अमर उजाला से ए. खान, कमल और दिव्य का इस्तीफा, शीतल अक्षय व भंवर पुष्पेंद्र की नई पारी

अमर उजाला, देहरादून की मार्केटिंग टीम में एजुकेशन हेड अब्दुल्लाह खान के बारे में सूचना है कि उन्होंने इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने नई पारी की शुरुआत हिंदुस्तान, कानपुर के साथ की है.  देहरादून अमर उजाला से ही एक अन्य खबर के मुताबिक कमल सत्यावली ने इस्तीफा देकर इंडियन एक्सप्रेस, देहरादून के साथ जुड़ गए हैं. वे अमर उजाला में मार्केटिंग हेड गवर्नमेंट हुआ करते थे.

महाराष्ट्र ‘पेड न्यूज़ की राजधानी’ हैः चुनाव आयुक्त

लोकसभा चुनावों की तैयारियों का जायजा लेने के लिए केंद्रीय चुनाव आयोग इन दिनों महाराष्ट्र दौरे पर है। शुक्रवार को मुख्य चुनाव आयुक्त वीएस संपत, चुनाव आयुक्त एचएस ब्रह्मा और डॉ. नसीम जैदी व राज्य के अन्य चुनाव अधिकारियों ने पत्रकारों से बातचीत की। मीडिया से बात करते हुए चुनाव आयुक्त एचएस ब्रह्मा ने कहा …

‘आप’ पर विदेशी पैसे लेने का आरोप लगाने वाली पार्टियां भाजपा और कांग्रेस खुद इसके लपेटे में आ गई

Abhishek Parashar : आम आदमी पार्टी पर फोर्ड फाउंडेशन से पैसा लेने का आरोप लगाने वाली भाजपा और कांग्रेस खुद ही इसके लपेटे में आ गई हैं। दोनों दल भाजपा और कांग्रेस वेदांत और सेसा गोवा जैसी कंपनियों से चंदा लेने की दोषी पाई गई हैं।

हिसार में कुलदीप बिश्नोई और आईएनएलडी प्रत्याशी को पेड न्यूज़ प्रकाशन के लिए नोटिस

हिसार के जिला निर्वाचन अधिकारी ने हरियाणा जनहित कांग्रेस-बीएल के मुखिया कुलदीप बिश्नोई औऱ आईएनएलडी के प्रत्याशी दुष्यंत चौटाला को 'पेड न्यूज़' के प्रकाशन के लिए नोटिस जारी किया है।

नेगी जी ऐसे एसएचओ रहे कि लोग उन्हें प्यार से ‘नेकी’ जी कहते थे

Vinod Singh Sirohi : श्री महेंद्र सिंह नेगी जी रिटायर होने जा रहे हैं. उतर प्रदेश और अब उत्तराखंड में बतौर एसएचओ बेहद लोकप्रिय रहे हैं. काफी थानों में रहे. इनके स्थानांतरण पर जनता विरोध में सड़कों पर आ जाती थी और बाजार बंद होते थे.

भाजपा और सपा का आपसी भाईचारा लखनऊ में दिख गया

Siddharth Kalhans : भाई गजब का भाई चारा है। जरा याद करो भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह 2009 में पिछली बार जब गाजियाबाद से लोकसभा का चुनाव लड़े थे तो समाजवादी पार्टी ने उनके खिलाफ किसको खड़ा किया था। कोई नहीं। बदले में राजनाथ ने तब के सपा के अजीज अमर सिंह की खास जया प्रदा के खिलाफ रामपुर से कैंडिडेट नही उतारा था। इस बार राजनाथ के खिलाफ पंडित विरोध को कैश कराने और मुसलमान वोट बंटवाने सपा ने उतार दिया मंत्री अभिषेक मिश्रा को। अपने जवांर के शादानी साहब कह गए न…

तुम देखत हो भाई चारा उल्लू हो
दिन ही मां देखत हो तारा उल्लू हो…

विंध्याचल में महिला पत्रकार से दुराचार करने वाला आरोपी गिरफ्तार

मिर्जापुर : उत्तर प्रदेश की मिर्जापुर पुलिस ने विन्ध्याचल देवी दर्शन के लिए आयी महिला पत्रकार का अपहरण कर उससे बलात्कार करने वाले एक आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.  पुलिस प्रवक्ता ने यहां बताया कि उत्तराखणड के 'हरिद्वार केसरी' दैनिक पत्र की महिला पत्रकार 24 मार्च को विन्ध्याचल में दर्शन करने के लिये आयी थी.  महिला पत्रकार शाम को रत्नाकर होटल से अष्टभुजा मंदिर में दर्शन करने गयी थी.

‘हम दोनो’ नंदा के फिल्मी सफ़र की एक महत्वपूर्ण फिल्म है

“अपने हाथों की कमाई हुई सुखी रोटी भी…” “तुम भी सुखी रोटी में यकीन करने वाले हो!! जिसने हमेशा पुलाव खाएँ हो, उसे सुखी रोटी मे कविता नज़र आती है, जो गरीबी से कोसों दूर रहा हो उसे गरीबी मे ‘रोमांस’ नज़र आता है। लेकिन कविता और रोमांस अमीरों के दिल बहलाव की चीज़े हैं, और सुखी रोटी……उसे चबाना पड़ता है, निगलना पड़ता है, पचाना पड़ता है। गरीबी ज़िन्दगी का एक श्राप है आनंद( देवआनंद) साहब! जिससे निकलना इंसान का फ़र्ज़ है, जानबुझ कर पड़ना हिमाकत। जो अपने प्यार के खातिर सौ रुपए तक की नौकरी ना पा सका, वह प्यार का मतलब समझाने आया है। तुम आए हो मीता(साधना) से उसका आराम और सुख छीनने, एक सुखी रोटी का वादा लेकर, तो ले जाओ। वह तो है ही नादान। कितने दिनो तक अपने साथ रखोगे, तुम ज़िन्दगी भर उसे इतना नहीं दे पाओगे, जितना मीता अपने एक जन्मदिन पर खर्च कर देती है।

लोसल नगर पालिकाध्यक्ष ने मीटिंग के बहाने पत्रकारों को अपमानित

लोसल(सीकर), प्रेस क्लब द्वारा हाल ही में आयोजित किए गए होली स्नेह मिलन फागोत्सव कार्यक्रम में शेखावाटी एज्युकेशन ग्रुप के चेयरमैन बीएल रणवां के हाथों दीप प्रज्वलित कराया गया था। इसको लेकर स्वयं को अपमानित महसूस करने वाले लोसल नगर पालिकाध्यक्ष ने शनिवार को पत्रकारों को मीटिंग के बहाने अपने चैम्बर में बुलाया। पालिकाध्यक्ष ने शिक्षण संस्थानों के संचालकों की मौजूदगी में पत्रकारों को भलाबुरा कहकर अपमानित किया।

आशुतोष महाराज की समाधि, सत्य या असत्य?

आज बार-बार एक ही प्रश्न मन मे उठ रहा है कि क्या धर्म अंध विश्वास है? क्या धर्म केवल और केवल एक अंधी आस्था ही है, जिसका कोई आधार नहीं? क्या धर्म केवल एक प्रश्न ही है कि जिसका ठोस उत्तर आज किसी के पास नहीं। और अगर है तो कोई उसे स्वीकार करने को तैयार ही नहीं। आज धर्म और आस्था के नाम पर जो हो रहा है, आज सत्य और असत्य के नाम का जो ढ़ोल पीटा जा रहा है, क्या धर्म उसके शोर में दब जाएगा?

नईदुनिया भिंड के ब्यूरोचीफ और रिपोर्टर पर रिश्वत मांगने का आरोप

भिंड जिले के कुछ प्राइवेट स्कूल संचालको ने नईदुनिया के सीईओ को इंदौर पत्र भेज कर शिकायत की है कि बोर्ड परीक्षाओं के बहाने नईदुनिया, भिंड के ब्यूरो चीफ और रिपोर्टर द्वारा उनसे रिश्वत की मांग की गई। संचालकों का कहना है कि उन्होने कुछ रुपए दे भी दिए हैं लेकिन फिर भी उन्हे धमकाया जा रहा है। आरोप है कि रुपए न देने पर संचालकों के खिलाफ झूठी खबरें भी छापी गईं।

प. बंगाल में शारदा फर्जीवाड़े को मुद्दा नहीं बना पा रहा विपक्ष

शारदा फर्जीवाड़े मामले को सुप्रीम कोर्ट ने व्यापक साजिश का नतीजा बताकर भले ही बंगाल की मां-माटी सरकार को कटघरे में खड़ा कर दिया है, लेकिन इसका आगामी लोकसभा चुनाव नतीजों पर कोई खास असर पड़ने वाला नहीं है। न निवेशकों को उनका पैसा वापस मिल रहा है, न रिकवरी की कोई सूरत है और न चिटफंड कारोबार केंद्रीय एजंसियों की सक्रियता के बावजूद बंद हो पाया है।

झूठ और सनसनी का व्यापार कर रहा है वर्तमान मीडिया

बात तब की है तब में एक अंतर्राष्ट्रीय न्यूज चैनल के लिए अपने जिले का प्रतिनिधि संवाददाता हुआ करता था। सर्दी के मौसम में मेरे पास उक्त चैनल के राजस्थान हैड का फोन आया और ठंडक पर एक खबर करके भेजने को कहा जबकि उस समय बीकानेर में इतनी ठंड नहीं थी। परंतु हैड साहब ने मुझे यह कहकर समझाया कि मैं चार मफलर लूं और राष्ट्रीय राजमार्ग पर जाकर किसी ऊॅंटगाड़ी वाले को पकडूं और एक मफलर ऊॅंट को पहनाऊ एक गाड़ी वाले को पहनाऊं और स्वयं पहनकर कर पीटीसी करूं कि बीकानेर में भयंकर ठंड का मौसम है। मैंने स्पष्ट तौर पर इस तरह की खबर करने से मना कर दिया लेकिन उस समय मेरे समझ में यह बात जरूर आ गई कि मीडिया में जो दिखता है वह होता नहीं है बल्कि वह दिखाया जाता है जो कि बिकता है।

राजगढ़ से भाजपा प्रत्याशी को विज्ञापनों के संबंध में नोटिस जारी

मध्यप्रदेश में राजगढ़ के कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार शर्मा ने भोपाल से प्रकाशित दैनिक समाचार-पत्रों में प्रकाशित विज्ञापनों के मामले में राजगढ़ संसदीय निर्वाचन क्षेत्र के भाजपा प्रत्याशी को विज्ञापनों के सम्बंध में नोटिस जारी कर 96 घंटे के भीतर जवाब माँगा है।

रुद्रपुर के पत्रकारों ने गले मिलकर गिले शिकवे दूर किए

रुद्रपुर। पत्रकारों के बीच चल रहे विवाद का शहर के पत्रकारों की बैठक में पटाक्षेप हो गया। बैठक में सभी पत्राकारों द्वारा पूरे मामले पर चर्चा करने के बाद आपस की गलत-फहमियों को दूर कर एक दूसरे के गले मिलकर एक साथ सहयोग कर काम करने का निर्णय लिया गया। उल्लेखनिय है कि पिछले दिनों शहर के पत्राकारों के बीच में मनमुटाव हुआ जिसका प्रशासन ने फायदा उठाते हुये पत्राकारों के उत्पीड़न में कोई कमी नहीं छोड़ी। प्रशासन के साथ-साथ शहर के अन्य लोगों ने भी पत्राकारों की आपस की लड़ाई का फायदा उठाया।

आईपीएस की ट्रांसफर याचिका पर कैट ने आदेश सुरक्षित किया

केन्द्रीय प्रशासनिक अधिकरण (कैट) की लखनऊ बेंच ने आज आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर द्वारा आईजी अभियोजन से आईजी नागरिक सुरक्षा के पद पर हुए ट्रांसफर के विरुद्ध दायर याचिका में अंतिम सुनवाई के बाद अपना आदेश सुरक्षित कर लिया

पुण्य-बरखा-राजदीप-अर्नब-सुधीर आदि पत्रकारों का आर्थिक-इतिहास सार्वजनिक हो

REEL PICTURE: न्यूज़ चैनल्स पर मठाधीशनुमा बड़े-बड़े पत्रकार, भ्रष्टाचार के दायरे से इतर, 20-30 साल या 30-40 साल सार्वजनिक जीवन में रहने वाले किसी नेता के पास 4-5 करोड़ की संपत्ति होने की खबर को ऐसा कह कर बताते हैं मानो ये अरबों-खरबों के बराबर है। बड़े-बड़े पैनल डिस्कशन कराये जाते हैं कि आखिर नेता करोड़पति कैसे हो जा रहे हैं? अंदाज़ कुछ ऐसा रहता है, जैसे लगता हो कि ये नामचीन पत्रकार उधार मांगकर गुज़ारा कर रहे हैं और 4-5 करोड़ पर हैरान-परेशान हैं या इनके पास सपने में भी नहीं होगा।

सरकारी ज़मीन पर ‘बरिस्ता’ चला रहा है मुंबई प्रेस क्लब

मुंबई प्रेस क्लब अपने साफ सुथरे प्रशासन की बड़ी डींगें हांकता है। लेकिन असलियत में यहां कमेटी मेंम्बर्स की मनमर्जी के चलते नियम कायदों को ताक पर रख दिया गया है। कमेटी ने बिजली बचाने के उद्देश्य से दोपहर 3.30 से शाम 6.00 बजे तक एसी बंद रखने का निर्णय लिया है। तपती गर्मी के दिनों में भी ऐसा उटपटांग निर्णय लागू कर उस पर अमल किया जा रहा है। औऱ बिजली बचाने में अपने योगदान के लिए कमेटी अपनी पींठ खुद ही थपथपा रही है।

क्या मध्य प्रदेश में बंसल न्यूज रीजनल चैनलों में नंबर एक पर आ गया?

भोपाल से राजेश मिश्रा ने एक पत्र भेजकर भड़ास को सूचित किया है कि बंसल न्यूज नामक चैनल मध्य प्रदेश में रीजनल न्यूज चैनलों में नंबर वन पर आ गया है.

निवेशकों का पैसा लौटाने के लिए लेमन टीवी और चैनल वन से नासिर खान का हिस्सा बेच दे सीबीआई : नांबियार

भड़ास के पास न्यूज एक्सप्रेस समूह में कार्यरत प्रदीप नांबियार ने कुछ दस्तावेज भेजे हैं. ये वही नांबियार हैं जो पहले कभी लेमन टीवी और चैनल वन में हुआ करते थे, और इन चैनलों के मालिक जहीर अहमद के बहुत करीबी हुआ करते थे. तब ये दोनों मिलकर साझा आपरेशंस किया करते थे. नांबियार अब आजकल लेमन टीवी, चैनल वन और जहीर अहमद के खिलाफ तरह-तरह से मोर्चा खोले हुए हैं.

राजस्थान पत्रिका में तबादला महाकुंभ, कई संपादक बदले

राजस्थान पत्रिका में तबादला महाकुंभ चल रहा है। पत्रिका में राजस्थान के सभी संपादकों को हटा दिया गया है। अजमेर के चीफ रिपोर्टर अमित वाजपेयी को कोटा का संपादक बनाया गया है। वे भुवनेश जैन के करीबी हैं इसलिए पहली पोस्टिंग में ही बड़ी ब्रांच दी गई है। गौरव जैन को भीलवाडा, अरविंद मोहन को पाली, उपेन्द्र शर्मा को बीकानेर, सिकंदर पारीक को बांसवाडा, ज्ञानेश उपाध्याय को अजमेर, अनिल कैले को सीकर, प्रदीप शेखावत को अलवर, राजेश कसेरा को जोधपुर का संपादक बनाया गया है।

आपसी सिर-फुटौव्वल ने भाजपा का बनता राजनीतिक खेल बिगाड़ा

एक तरफ भाजपा के रणनीतिकार यह प्रचार करने में जुटे हैं कि पूरे देश में मोदी के पक्ष में हवा बहने लगी है। इसको लेकर जीत के बड़े-बड़े दावे भी पेश किए जा रहे हैं। देशभर में घूम-घूमकर नरेंद्र मोदी रैलियों में विपक्षी दलों पर जमकर निशाने साध रहे हैं। उनकी रैलियों में खूब भीड़ भी जुट रही है। लेकिन, पार्टी के अंदर जगह-जगह टिकटों को लेकर जो बवाल शुरू हुआ है, वह शांत होने का नाम नहीं ले रहा। यहां तक कि बड़े नेताओं के बीच के अंतर विरोध भी सिर उठाने लगे हैं।

वीरेन डंगवाल का नया पता- इंदिरापुरम, गाजियाबाद (दो नई कविताएं और डायरी के कुछ अधूरे पन्ने)

मशहूर कवि, पत्रकार और शिक्षक डा. वीरेन डंगवाल का नया पता गाजियाबाद स्थित इंदिरापुरम है. यहां के अहिंसा खंड में स्थित जयपुरिया सनराइज ग्रीन अपार्टमेंट स्थित अपने छोटे बेटे प्रफुल्ल के घर पर रह रहे हैं. इसके पहले वे दिल्ली के दूसरे छोर पर स्थित तीमारपुर में अपने बड़े बेटे प्रशांत के यहां रहा करते थे. जीवन का ज्यादातर समय बरेली में गुजारने वाले वीरेन डंगवाल डेढ़ साल से कैंसर की चपेट में होने के कारण लगातार दिल्ली रहने को मजबूर हैं. कैंसर के इलाज के लिए उन्हें गुड़गांव जाना पड़ता है.

कांग्रेस के उम्मीदवार इमरान मसूद की गंदी मानसिकता

Muhammad Naved Ashrafi : कांग्रेस के उम्मीदवार इमरान मसूद ने बौखलाहट भरे अंदाज़ में अपनी जंगली मानसिकता का सुबूत दिया है। वो नरेंद्र मोदी जी को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। उनकी कड़ी निंदा होनी चाहिए… और निंदा ही क्यूँ उनसे चुनाव में लड़ने के अधिकार तुरंत छीन लिए जाने चाहिए !!! मोदी इसलिए दोषी हैं क्यूंकि गुजरात के ख़ूनख़राबे में उनकी भूमिका रही है लेकिन अब जो काम मसूद साब अंजाम देने की बात कर रहे हैं वो क्या है।

एसएन विनोद और नवीन कुमार की नौकरी बची, इनके लाए कई लोगों की गई

जिया न्यूज से खबर है कि एसएन विनोद और उनके खासमखास नवीन कुमार की नौकरी तो बच गई है लेकिन उनके द्वारा लाए गए कई लोगों की नौकरी जा चुकी है. जिया न्यूज इन दिनों युद्द का अखाड़ा बन चुका है. धीरज नामक प्रबंधन के एक आदमी नोएडा आफिस में बैठकर अपने हिसाब से चैनल चलाते हैं. जेपी दीवान की अपनी टीम और स्टाइल है. ज्वाय सेबस्टियन के लोग भी इस चैनल में हैं.

दीपक चौरसिया धूल चाटने लगे, शैलेष बने नए टीआरपीबाज संपादक, विनोद कापड़ी लापतागंज में

दीपक चौरसिया का इंडिया न्यूज जब जी न्यूज को भी पीछे छोड़कर नंबर चार का चैनल बन गया तो सभी ने मान लिया कि देश के अब नए सबसे बड़े टीआरपीबाज संपादक दीपक चौरसिया हैं. लेकिन यह घटनाक्रम, यह सुख, यह उंचाई उन्हें ज्यादा दिनों तक नसीब न हो सकी. दीपक की पेड पत्रकारिता, एजेंडा पत्रकारिता, सुपारी पत्रकारिता के कारण ढेर सारे पढ़े-लिखे दर्शकों ने इस चैनल से मुंह मोड़ लिया. इस कारण चैनल की टीआरपी धड़ाम हो गई है.

यूपी के विंध्याचल में कवरेज करने गई महिला पत्रकार के साथ गैंगरेप

उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर जिले में विंध्याचल मंदिर के कवरेज के लिए आई एक महिला पत्रकार को कथित रूप से तीन लोगों ने अगवा कर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। उत्तराखंड के 'केसरी न्यूज' में कार्यरत महिला पत्रकार मिर्जापुर स्थित विंध्याचल मंदिर में कवरेज के लिए आई थी। वह गुरुवार देर शाम गेरुआ तालाब घूमने गई थी।

प्रेस क्लब आफ इंडिया की मेंबरशिप देने के लिए पैसे लेने वालों को हराओ

Yashwant Singh : प्रेस क्लब आफ इंडिया में कल वोट पड़ेंगे. यहां जो लोग सत्ता में हैं, उन्हीं का पैनल जीतता हुआ दिखाई पड़ रहा है. लेकिन इस पैनल के लोगों पर कई गंभीर आरोप है. सबसे गंभीर आरोप है पैसे लेकर नए मेंबर बनाने का. खुद मुझसे भी एक पत्रकार ने पैसे मांगे थे प्रेस क्लब का मेंबर बनाने के लिए. राजीव शर्मा से भी एक मैनेजिंग कमेटी मेंबर ने पैसे मांगे थे सदस्य बनाने के लिए.

प्रेस क्लब आफ इंडिया के चुनाव में दिनेश शर्मा निर्विरोध उपाध्यक्ष चुने गए

दिल्ली में रायसीना रोड पर स्थित प्रेस क्लब आफ इंडिया के चुनाव को लेकर सक्रियता इन दिनों चरम पर है. जो लोग इस वक्त प्रेस क्लब में सत्ता में हैं, उन्हीं का पैनल जीत का सबसे प्रबल दावेदार है. हालांकि इन लोगों पर कई तरह के आरोप लग रहे हैं. प्रेस क्लब को शराबखोरी का अड्डा बनाते हुए कई तरह के घपले-घोटाले करने के आरोप इन लोगों पर है. कई लोग तो ऐसे हैं जिन्होंने नए मेंबर बनाने के लिए उनसे पैसे तक लिए हैं.

प्रेस क्लब की पैनल पालिटिक्स : सत्ताधारियों ने जीतने के लिए चुनाव से ठीक पहले पांच सौ नए मेंबर बना डाले!

प्रेस क्लब आफ इंडिया में चुनाव कल यानि 29 मार्च को है. पैनल के अलावा बिना पैनल भी लोग लड़ रहे हैं. बिना पैनल लड़ने वालों में से महिला पत्रकार करुणा मदान भी हैं. वे कोषाध्यक्ष पद की उम्मीदवार हैं. उनका कहना है कि देश दुनिया में महिलाएं जाने कहां कहां पहुंच गई हैं लेकिन आजतक कोई भी महिला प्रेस क्लब में कोषाध्यक्ष नहीं बन सकी है.

मोदी तो पहुंच गए हैदराबाद, अब कहां छुप गए ओवैसी जी!

एक है ओवैसी, उसने कहा था कि कुछ समय के लिए पुलिस हटा लो फिर दिखाता हूँ औकात. उसका जबाब सुब्रमन्यम स्वामी ने दिया था की आरोप तो यही है कि गुजरात में हटा तो ली गयी थी पुलिस कुछ समय के लिए. दूसरी बात का जबाब खुद मोदी जी ने बोल कर नहीं बल्कि कर के दिया था. ओवैसी ने कहा था मोदी कभी हैदराबाद आ कर देखे तो दिखाता हूँ. मोदी जी न केवल गए हैदराबाद बल्कि लाखों लोग इकट्ठा भी हुए, वो भी टिकट लेकर. लेकिन सभा से कुछ समय पहले और उसके कुछ समय बाद तक भी सांसद होते हुए भी पता नहीं था कि आखिर छुपे हुए कहाँ थे ओवैसी जी.

पांच करोड़ निवेशकों से 45 हजार करोड़ रुपये ठगने वाला PEARL और PACL का मालिक Nirmal Singh Bhangoo भारत से फरार, मीडिया चुप

Yashwant Singh : पांच करोड़ निवेशकों के पैंतालीस हजार करोड़ रुपये के घोटाले पर न कोई चैनल खबर दिखा रहा और न कोई अखबार फालोअप कर रहा… सब के सब चुप… आरोपी सरदार निर्मल सिंह भंगू विदेश फरार… पैंतालीस हजार करोड़ रुपये का घोटाला करने वाला पर्ल ग्रुप का मालिक Nirmal Singh Bhangoo देश से बाहर जा चुका है. आज से नहीं, जमाने से. उसने अपना सारा कारोबार आस्ट्रेलिया समेत कई देशों में शिफ्ट कर लिया है. भारत में छोड़ दिया है अपने मैनेजरों को.

बुढ़ापे में राजदीप सरदेसाई स्मृति लोप के शिकार होने लगे? देखिए आशा पारिख के बारे में उन्होंने क्या लिखा

Rohini Gupte : मोदी की भक्‍ति और अंबानी की शक्‍ति अगर साथ हो तो इस वक्‍त मुल्‍क की जो फिजा है, कि‍सी का भी दि‍माग फि‍र सकता है। सैकड़ों पत्रकारों की जिंदगी तबाह कर देने वाले आइबीएन7 और सीएनएन-आईबीएन के एडिटर इन चीफ राजदीप सरदेसाई नाम के अफवाहबाज ने आज गुरुवार को अफवाह उड़ाई कि फि‍ल्‍म अभि‍नेत्री नंदा के अलावा साठ के दशक की मेरी मीठी सहेली आशा पारि‍ख का भी नि‍धन हो गया है।

साहब-सेवक संवाद: राम भरोसे बोला आप पत्रकार हो, जरा सोंच समझ कर बोला करो

विवाद कभी खत्म नहीं होते। उन स्थितियों में तो कभी खत्म नहीं होंगे जब दोनों पक्षों में एक भी झुकने को तैयार नहीं हो। इस हफ्ते फिर राम भरोसे से जम कर लड़ाई हुई। मैं कह रहा था कि नेताओं का कोई भरोसा नहीं। उनकी जिंदगी बेहद अनिश्चित होती है। पता नहीं, अगला चुनाव जीतें या न जीतें। राम भरोसे बोला कौन से जन्म की बातें करते हैं। अगर नेता एक्सपर्ट है तो वह चुनाव जीतेगा ही। इस पार्टी में नहीं तो उस पार्टी में ही सही।

मोदी की हवा निकालने के लिए राजनाथ का यूपी गेमप्लान

भाजपा के लिए कहा जाता है कि उसे दुश्मनों की जरूरत नहीं है। यह काम पार्टी के नेता ही पूरा कर लेते हैं। इस बार यह काम पार्टी के अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने कर दिया है। मोदी को प्रधानमंत्री बनने से रोकने और खुद को दावेदार पेश करने के लिए उन्होंने यूपी की एक दर्जन सीटों पर ऐसे लोगों को टिकट दे दिए जिनके जीतने की उम्मीद नहीं है।

सहारा क्रेडिट कोआपरेटिव सोसायटी पीआईएल की हाई कोर्ट में होगी सुनवाई

इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच द्वारा सहारा क्रेडिट कोआपरेटिव सोसायटी लिमिटेड के स्तर पर, कथित रूप से की जा रही अनियमितताओं के सम्बन्ध में, आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर तथा सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर द्वारा दायर पीआईएल की सुनवाई उस सम्बन्ध में दायर पुनरीक्षा याचिका के साथ की जाएगी।

एनसीपी के एमएलए का फतवा, चुनाव तक न टीवी देखो न पेपर पढ़ो

माजलगांव से एनसीपी के एमएलए और पूर्व मंत्री प्रकाश सोलंके ने कल माजलगांव के पास किट्टी आडगांव मे एक जनसभा को संबोधित करते हुए पार्टी के कार्यकर्ताओं से 17 अप्रैल तक टीवी देखने और न्यूज़ पेपर पढ़ना बंद करने को कहा है। सोलंके ने कहा कि कोका कोला के विज्ञापन की तरह मोदी को बार-बार टीवी पर दिखाया जा रहा है। बीड में गोपीनाथ मुंडे की तस्वीर के सिवा मिडिया को कुछ दिखता ही नहीं है। रोजाना यह सब खबरें पढ़ के और देख के सर दर्द बढ़ता जा रहा है इससे अच्छा की न्यूज़ पेपर पढ़ना आौर टीवी देखना बंद करना चाहिए।

मुजफ्फरनगर दंगे रोकने में यूपी सरकार ने लापरवाही बरतीः सुप्रीम कोर्ट

इस चुनावी मौके पर उत्तर प्रदेश की अखिलेश सरकार को एक बड़ा झटका लगा है। बहुचर्चित मुजफ्फरनगर के दंगों के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने प्रदेश सरकार को घोर लापरवाह ठहराया है। साफ-साफ कह दिया है कि यदि सरकारी तंत्र ने समय से कार्रवाई की होती, तो दंगे की आग इतनी नहीं भड़कती। अदालत की यह टिप्पणी सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव की राजनीतिक मुश्किलें और बढ़ा सकती है। क्योंकि, जो आरोप विपक्षी दल लगा रहे थे एक तरह से उसी पर सर्वोच्च न्यायालय ने अपनी मुहर लगा दी है।

मोहन थपलियाल ने अनुकम्पा की नौकरी को छोड़ बेरोजगारी का दामन थाम लिया था

लखनऊ: बहुत बरसों बाद आज सुबह-सुबह जानकीपुरम के अपने भूले-भटके दोस्‍तों-भाइयों को खोजने निकला। और मिल गया स्‍वर्गीय मोहन थपलियाल का घर। बेटी और बेटा तो काम पर निकल चुके थे, लेकिन उनकी पत्‍नी से भेंट हो गयी।

फर्रूखाबाद के पत्रकार अखिलेश शर्मा के पिता का निधन

फर्रूखाबाद : कानपुर से प्रकाशित दैनिक अमर उजाला के पत्रकार अखिलेश शर्मा के 60 वर्षीय पिता जगतराम शर्मा का बीती रात 10 बजे लम्बी बीमारी के दौरान प्राइवेट अस्पताल में निधन हो गया.  नगर के मोहल्ला शिवनगर कालोनी निवासी पत्रकार अखिलेश शर्मा के आवास पर पत्रकारों ने बैठक की. 

नहीं छूटे सुब्रत रॉय, सहारा के पास नहीं है ज़मानत के लिए पैसा

सुब्रत रॉय को आज भी सुप्रीम कोर्ट से ज़मानत नहीं मिली। अब सुब्रत रॉय को अगली सुनवाई तक जेल में रहना होगा। मामले की अगली सुनवाई 3 अप्रैल को होगी। सहारा ग्रुप ने उनकी जमानत के लिए 10,000 करोड़ रुपये की रकम देने में असमर्थता जताई है। सहारा ग्रुप का कहना है कि सुब्रत रॉय और सहारा कंपनियों की नेटवर्थ जमानत की रकम से कम है।

आगामी चुनाव दो कुंवारों की अग्नि परीक्षा से कम नहीं है

बदलती राजनीति, बदलते लोग और उनके बदलते मिजाज ने राजनीति को एक ऐसे मुकाम पर लाकर खड़ा कर दिया है जिसमें नेताओं की अस्मिता ही खतरे में पड़ती जा रही है। सालों साल तक देश की राजनीति को अपने इशारे पर नचाने वाले और जनता को धोखा देकर अपना उल्लू सीधा करने वाले नेता अब यकीन के साथ यह नहीं कह सकते कि जनता उन पर विश्वास कर लेगी और उन पर सब कुछ न्योछावर कर देगी। यह राजनीतिक बदलाव का ऐसा संक्रमण काल है कि बड़े सुरमा भी जनता और उनकी अपेक्षा के सामने पस्त होकर घिघियाते नतर आ रहे है।

कालाहांडी में अब भूख से लाशें नहीं बिछतीं, बचपन नहीं बिकते

समाज में दलाल और दलाली को हिकारत की नजर से भले ही देखा जाता हो, लेकिन जब दलाल किसी समाज और व्यवस्था की काया पलट कर दें तो इसे आप क्या कहेंगे। जी हां, केबीके के नाम से दुनिया में बदनाम उड़ीसा का कालाहांडी, बोलांगीर और कोरापुट जिले पिछले पांच सालों में विकास की नई इबारत लिख रहे है। हांलाकि इस विकास की कहानी में सरकार की नीति, सरकारी पहल, किसान, किसानी व सिंचाई के लिए बेहतर व्यवस्था और साथ ही किसानों की सोंच में आई तब्दीली की काफी अहमियत हैं। लेकिन इन सबसे उपर इस इलाके की तकदीर बदलने में दलालों की भूमिका को कमतर नहीं आंका जा सकता। आइए आपको ले चलते हैं देश में भूखमरी के लिए अभिशप्त कालाहांडी के भूगोल पर जहां अब कंगाली नहीं हर जगह हरियाली है, रूदन के स्थान पर मंगल गीत गाए जा रहे हैं और लगभग हर घर में टीवी, फ्रीज, रेडियों, डिश एंटिना साइकिल के बदले मोटरसाइकिल और नंग धरंग बच्चें और अधनंगे बुढे चमचमाते कपड़ों से लैस हैं। मानों पूरा का पूरा कालाहांडी मुस्कुरा रहा हो।

NM-56 यानी झूठ का पुलिंदा!

NM-56 यानी झूठ का पुलिंदा. जो इंसान भारत का नक्शा ठीक से नहीं पढ़ सकता, वह उस देश का पीएम बनने का ख्वाब पाले बैठे हैं. नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर गलत बयानी की. कहा आम आदमी पार्टी की वेबसाइट पर कश्मीर भारत के नक्शे से गायब है. लेकिन वह चालाकी से छुपा गए कि जिस वेबसाइट पर ऐसा है, वह आप को मिलने वाले चंदे से संबंधित है और उसी को कलर-कोड में नक्शे पर अंकित किया गया है. आप की आॉफिशियल वेबसाइट पर कश्मीर भारत के नक्शे में दिखाया गया है.

‘एनडीटीवी’ की शानदार चुनावी रिपोर्टिंग और ‘इंडिया न्यूज’ में सूत्रों का खेल!

शंभूनाथ शुक्ल : NDTV की चुनाव रिपोर्टिंग देखकर लगता है काश अब मैं एक रिपोर्टर होता तो ऐसी ही बेधड़क और बेबाक चुनाव रिपोर्टिंग करता जैसी कि एनडीटीवी में हो रही है। अगर कोई चमत्कार हो जाए और मुझे इस उम्र में रिपोर्टिंग करनी पड़ी तो मैं एनडीटीवी से शुरू करूं।

नीरा राडिया की फर्मों पर चल सकता है मुकदमा

नई दिल्ली : गंभीर धोखाधड़ी जांच कार्यालय (एसएफआईओ) ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट को बताया कि वह कंपनी कानून के कथित उल्लंघन के लिए वैष्णवी समूह की विभिन्न कंपनियों पर मुकदमा करने की तैयारी में है। वैष्णवी समूह, विवादास्पद पूर्व कारपोरेट लाबिस्ट नीरा राडिया का समूह है।

पर्ल ग्रुप के 45 हजार करोड़ रुपये के घोटाले में यूपी के 1.3 करोड़ और महाराष्ट्र के 61 लाख निवेशकों का पैसा (डीएनए में खबर प्रकाशित)

पैंतालीस हजार करोड़ रुपये के घोटाले में निर्मल जीत सिंह भंगू जेल जाएंगे या नहीं, ये तो सीबीआई की रिपोर्ट और कोर्ट की सक्रियता पर निर्भर करता है लेकिन इस घाटोले से देश के करोड़ों निवेशकों का धन दांव पर लग गया है. अंग्रेजी अखबार डेली न्यूज एक्टिविस्ट के मुताबिक महाराष्ट्र के करीब 61 लाख निवेशकों का पैसा फंसा है. इसी तरह इन कंपनियों में उत्तर प्रदेश के 1.3 करोड़ निवेशकों का पैसा लगा हुआ है. डीएनए में प्रकाशित पूरी रिपोर्ट ये है….

पत्रकार साई रेड्डी की हत्या को नक्सलियों ने बहुत बड़ी भूल बताया, कई अन्य मुद्दों पर अपना नजरिया स्पष्ट किया

जगदलपुर : देशबन्धु अखबार के पत्रकार साई रेड्डी की हत्या के बाद देश भर में पत्रकारों द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया. नक्सलियों की मांद कहे जाने वाले बासागुड़ा पहुंचकर पत्रकारों ने नक्सली नेताओं से इस घटना पर स्पष्टीकरण मांगा था. बीते दिनों ओरछा से बीजापुर तक पत्रकारों ने पदयात्रा निकाल कर पत्रकारों पर हो रहे नक्सली हमले का विरोध किया था और पदयात्रा के दौरान नक्सली नेताओं से मिलने का प्रयास भी किया था. चार दिनों की इस पदयात्रा में नक्सली लगातार पत्रकारों का सामना करने से बचते रहे जबकि जिन इलाकों से यह पदयात्रा गुजरी वो सारा इलाका नक्सलियों का गढ़ माना जाता हैं.

पहले कांग्रेस के प्रवक्ता रहे पत्रकार एमजे अकबर अब भाजपा के प्रवक्ता बने

दिल्ली : वरिष्ठ पत्रकार एम.जे. अकबर को भारतीय जनता पार्टी का राष्ट्रीय प्रवक्ता बनाया गया है. भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने यह घोषणा की. एमजे अकबर 1989 से 1991 के बीच बिहार के किशनगंज से कांग्रेस के सांसद थे. 1989 के लोकसभा चुनावों से पहले वह कांग्रेस के प्रवक्ता भी रहे चुके हैं.

‘भंगू चिटफंड घोटाले’ की रकम ‘टूजी स्पेक्ट्रम’ और ‘कोल ब्लाक घोटाले’ से कम नहीं

चंडीगढ़ : जयपुर स्थित पर्ल्स एग्रोटैक कार्पोरेशन लिमिटड व पर्ल्स गोल्डन फोरेस्ट के प्रमोटर निर्मल सिंह भंगू तथा कंपनी के निदेशक सुखदेव सिंह द्वारा देश के लाखों लोगों के साथ किया गया घपला अब 2 जी स्पेक्ट्रम तथा कोल ब्लॉक घोटाले के समीप पहुंच चुका है. इन कंपनियों की योजनाओं से करीब पांच करोड़ निवेशक ठगे गए हैं.

मीडिया में ‘मत्स्य न्याय’ : अंबानी, भास्कर और जागरण समूह की खतरनाक प्रवृत्ति

नेटवर्क18 और टीवी18 समूह के पास जो सात चैनल हैं उनमें समाचार और वाणिज्य समाचारों के चैनल शामिल हैं। कंपनी के पास इनाडु टीवी (इटीवी) का भी नियंत्रण है.  इस तरह से रिलायंस की पकड़ दस राज्यों में दिखलाए जानेवाले 12 क्षेत्रीय भाषाई चैनलों पर भी हो गई है. यद्यपि अब तक समाचार चैनलों को चलाने वालों में अखबार निकालने वाली कंपनियों के अलावा मुख्यतः छोटी पूंजी के कंट्रेक्टर, बिल्डर आदि शामिल रहे हैं. पर यह पहली बार है जब किसी गैर-मीडिया कंपनी ने इतने बड़े पैमाने पर निवेश कर किसी मीडिया कंपनी पर नियंत्रण हासिल किया हो.

पीएसीएल ने केरल के हजारों लोगों की खून-पसीने की कमाई को लूटा (द हिंदू में प्रकाशित रिपोर्ट)

हाल में ही केंद्रीय जांच ब्यूरो ने पीएसीएल, पीजीएफ, पर्ल्स नामक कंपनियों के ठिकानों पर छापेमारी की. ये सभी कंपनियां मूलतः एक ही मदर कंपनी के अधीन हैं या एक ही व्यक्ति के निर्देश पर संचालित हैं. पीएसीएल ने कहीं जमीन के नाम पर तो कहीं अच्छे रिटर्न के नाम पर देश भर के आम लोगों से पैसे की उगाही की. केरल से खबर है कि यहां के हजारों लोगों ने अपनी बचत की रकम इस कंपनी के हवाले कर दिया और कंपनी इसे गटक गई.

कबड्डी कबड्डी कबड्डी करते हुए पर्ल्स वालों ने अरबों रुपये इधर-उधर कर दिए!

चंडीगढ़ : कबड्डी पंजाब का पारंपरिक खेल है. इस प्रदेश में इस खेल के आगे बढ़ने की बहुत सम्भावनाएं हैं लेकिन यह इन दिनों खेल गलत कारणों से घिरा हुआ है. पहले तो इस खेल से जुड़े लोगों के अंतर्राष्ट्रीय सिंथेटिक ड्रग्स रैकेट में शामिल होने का आरोप लगा और अब इसमें धन की हेराफेरी (मनी लाउंडरिंग) की बात सामने आई है. केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने पंजाब सरकार ने बीते सालों में यहां आयोजित कबड्डी विश्व कप के आयोजन के सम्बंध में विस्तृत ब्यौरा मांगा है.

ये डिब्बा यानि मीडिया देश के अस्सी फीसदी के खिलाफ है और इसे लूटता है

Chanchal Bhu : डिब्बे की हकीकत देखें… यह डिब्बा न देसी है न देश का है, यह लूट की संस्कृति पर उतारी गयी जहर की पुड़िया है. और यह सब इसकी मजबूरी है. ठीक उसी तरह जैसे शराब की दुकान में जाकर आप पाव भर गुड़ मांगें तो वह कहाँ से देगा. यह उसकी मजबूरी है. कमोबेश अब यह मजबूरी समूची मीडिया की बन चुकी है. गुस्साइये मत, ज़रा गौर से इनके करतब देखिये.

क्वालिस की टक्कर से इंजीनियरिंग छात्र घायल, मालिक के दबाव में पुलिस नहीं कर रही कार्यवाही

भुवनेश्वर में इंजीनियरिंग के फाइनल इयर के छात्र नीरज कुमार को होली के दिन एक गाड़ी ने टक्कर मार दी। टक्कर इतनी तेज़ थी कि नीरज की जांघ की हड्डी ज्वाइंट से अलग हो गई और उसमें पांच फ्रैक्चर हो गए। टक्कर मारने वाली गाड़ी 'क्वालिस(नं. OR 02 T 9000)' उड़ीसा के चर्चित गुप्ता केबल्स के मालिक की है।

गुलाबी गैंग में अब सड़क पर ‘गैंगवार’ : संपत पाल और जय प्रकाश शिवहरे में जूतम पैजार (देखें तस्वीरें)

Ashish Sagar Dixit : यह तस्वीरें गत मंगलवार की हैं. बुंदेलखंड के बहुचर्चित गुलाबी गैंग में हुई दो-फाड़ के बाद बीते एक माह से संपत पाल और गुलाबी गैंग के राष्ट्रीय संयोजक जय प्रकाश शिवहरे में जुबानी जंग चल रही थी. रुपयों के घालमेल को लेकर संपत पाल सबके निशाने पर थीं. यहाँ तक कि गुलाबी गैंग के सदस्यों ने जय प्रकाश शिवहरे के साथ मिलकर संपत पाल को कमांडर पद से हटा दिया था. अब संपत पाल अपने बल बूते ही गुलाबी गैंग को बुलंदी पर पहुचाने का डंका पीट रही थी.

सीपीएम के पत्र में मोदी का विज्ञापन छपने से कम्यूनिस्ट नाराज़

सीपीआई(एम) के मलयाली समाचारपत्र 'देशाभिमानी' में मोदी सरकार का फुल पेज विज्ञापन छपने से केरल के कम्युनिस्टों में गुस्सा है। गुजरात के महात्मा गांधी स्वच्छता मिशन के इस विज्ञापन को मोदी के एक बड़े फोटो के साथ छापा गया है।

जब टीवी जर्नलिस्ट अस्पताल के डाक्टरों को धमकाते हुए जबरन इंजेक्शन लेकर चल पड़ा (देखें वीडियो)

मैनपुरी में एक पत्रकार ने ऐसा कारनामा कर दिया कि हिस्ट्रीशीटर भी शरमा जाएं. इनने सरकारी डॉक्टर से घूस के तौर पर कई इंजेक्शन जबरन ले लिए. ये आइडिया अभी तक किसी बदमाश या हिस्ट्रीशीटर के दिमाग में न आया होगा. एक टीवी चैनल के रिपोर्टर महोदय मैनपुरी जिला चिकित्सालय के आपात कालीन विभाग में आये तथा अलमारी में इंजेक्शन सेफ्ट्रिकसन व एमिकशिन के छह छह वायल निकाल कर चल दिए.

चर्च की घटना को कवर करने गए मीडिया कर्मियों से बदसलूकी

नवाबगंज(उन्नाव): मंगलवार को चर्च में हुई एक घटना की सूचना पर मीडिया कर्मी कवरेज के लिए चर्च पहुंचे तो उन्हे चर्च में घुसने नहीं दिया गया। जो मीडिया कर्मी अंदर घुसने में सफल रहे उनके कैमरे छीन कर मेमोरी डिलीट करा दी गई। कुछ मीडिया कर्मियों के कैमरे चर्च स्टाफ ने अपने पास ही रख लिए। चर्च के कार्यक्रम आयोजकों ने मीडिया कर्मियों के साथ जमकर अभद्रता की और वहां पर खड़ी पुलिस तमाशबीन बनी देखती रही।

कानपुर के पत्रकार ने वृद्धा की ज़मीन और मकान पर कब्जा किया

सर, हम बहुत दुखी हो कर आपको ये मेल कर रहे हैं। आपके चैनल की वजह से हमारा सब कुछ लुटा जा रहा है। आपके चैनल में कानपुर में एक पत्रकार है आश्विन निगम, इन्होने हमारी नानी इन्द्राणी की ज़मीन और मकान पर कब्ज़ा करा है।

उपजा की बैठक में मीडिया डायरेक्टरी के प्रकाशन औऱ सदस्यों के जीवन बीमा पर चर्चा

इलाहाबाद। कलम के सिपाहियों की जाति नहीं होती है। इसके बाद भी मीडिया को अमीर गरीब, जाति, धर्म, कार्य विभेद के सहारे पत्रकारों को उपेक्षित करने की नापाक कोशिश पत्रकार हित के नाम पर चल रहे संगठनों के द्वारा की जाती रही है। इस परंपरा को मिटाने के लिए युवा पत्रकारों ने जो कदम उठाया है, उसे बनाये रखने की जरुरत है। उक्त बातें वरिष्ठ पत्रकार शचीन्द्र श्रीवास्तव ने कहीं।

लोकसभा चुनाव-2014 – हाँ, हमें चुनना तो है! लेकिन किन विकल्पों के बीच?

साथियों! 16वें लोकसभा चुनाव सिर पर हैं। हमें फिर चुनने के लिए कहा जा रहा है। लेकिन चुनने के लिये क्या है? झूठे आश्वासनों और गाली-गलौच की गन्दी धूल के नीचे असली मुद्दे दब चुके हैं। दुनिया के सबसे अधिक कुपोषितों, अशिक्षितों व बेरोज़गारों के देश भारत के 66 साल के इतिहास में सबसे महँगे और दुनिया के दूसरे सबसे महँगे चुनाव (30 हज़ार करोड़) में कुपोषण, बेरोज़गारी या भुखमरी मुद्दा नहीं है! बल्कि “भारत निर्माण” और देश के “विकास” के लिए चुनाव करने की दुहाई दी जा रही है! विश्व पूँजीवादी व्यवस्था गहराते आर्थिक संकट तले कराह रही है और इसका असर भारत के टाटा, बिड़ला, अम्बानी-सरीखे पूँजीपतियों पर भी दिख रहा है। ऐसे में, भारत का पूँजीपति वर्ग भी चुनाव में अपनी सेवा करने वाली चुनावबाज़ पार्टियों के बीच चुन रहा है। पूँजीवादी जनतंत्र वास्तव में एक धनतंत्र होता है, यह शायद ही इससे पहले किसी चुनाव इतने नंगे रूप में दिखा हो। सड़कों पर पोस्टरों, गली-नुक्कड़ों में नाम चमकाने वाले पर्चों और तमाम शोर-शराबे के साथ जमकर दलबदली, घूसखोरी, मीडिया की ख़रीदारी इस बार के चुनाव में सारे रिकार्ड तोड़ रही है। जहाँ भाजपा-कांग्रेस व तमाम क्षेत्रीय दल सिनेमा के भाँड-भड़क्कों से लेकर हत्यारों-बलात्कारियों-तस्करों-डकैतों के सत्कार समारोह आयोजित करा रहे हैं, तो वहीं आम आदमी पार्टी के एनजीओ-बाज़ “नयी आज़ादी”, “पूर्ण स्वराज” जैसे भ्रामक नारों की आड़ में पूँजीपतियों की चोर-दरवाज़े से सेवा करने की तैयारी कर रही है; भाकपा-माकपा-भाकपा(माले) जैसे संसदीय वामपंथी तोते हमेशा की तरह ‘लाल’ मिर्च खाकर संसदीय विरोध की नौटंकी के नये राउण्ड की तैयारी कर रहे हैं। उदित राज व रामदास आठवले जैसे स्वयंभू दलित मसीहा सर्वाधिक सवर्णवादी पार्टी भाजपा की गोद में बैठ कर मेहनतकश दलितों के साथ ग़द्दारी कर रहे हैं। ऐसे में प्रश्न यह खड़ा होता है कि हमारे पास चुनने के लिए क्या है?

बीवी को छोड़ कर भागे मोदी से केजरीवाल के जीवन की उपलब्धियां बेहतर हैं

अरविन्द केजरीवाल को मैं भी पसंद नही करता और हो सकता है बहुत सारे अन्य लोग भी उन्हें पसंद न करते हो, पर उनके खिलाफ़ अपनी भाषा पर संयम तो रखिये। कोई बंदर कहता है, तो कोई कहता है कि भाग गया, कोई स्याही फेंक देता है तो कोई अंडे। केजरीवाल को सोशल मीडिया में हर राजनीतिक चुटकुले का संता-बंता बना रखा गया है। अरे मेरे विद्वान विचारक बंधुओं!! नरेद्र मोदी अभी प्रधानमंत्री बने नहीं है, सभी लोग अभी विकल्पहीनता में केवल उनसे उम्मीदें ही लगाये हैं। अभी मोदी को आपकी उम्मीदों को पूरा होना बाकी है।

शहीदों पर बनी फिल्मों में, मनोज कुमार की ‘शहीद’ आज भी प्रभावित करती है

हालीवुड ने यथार्थ व अतीत की यादगार जीवनियों पर अनेक फिल्में बनाई हैं। महात्मा गांधी से लेकर नेपोलियन और फिर महारानी एलिजाबेथ के जीवन को परदे पर लाने का दुर्लभ साहस किया। इतिहास से प्रेरित होकर अनुकरणीय कहानियों को याद करने की ख्याति उनके पास है। हिन्दी सिनेमा ने भी ऐतिहासिक कहानियों पर बहुत सी फिल्म बनाई, चंगेज खां तथा मुगल बादशाह अकबर से लेकर ‘जहांगीर’ एवं ‘शाहजहां की गाथा को प्रस्तुत किया। लेकिन फिल्मों की गुणवत्ता को अधिक सकारात्मक समीक्षा नहीं मिली। हां, ‘कोटनिस की अमर कहानी’ मील का पत्थर जरूर कही जा सकती है। कह सकते हैं कि पीरियड कहानियों को जमीन पर लाने का हमारा अंदाज हालीवुड से अलग होकर पोपुलर की तरफ अधिक झुक जाता है। ऐतिहासिक कहानियों को प्रस्तुत करने में उससे से इतर होने पर कहानी की विश्वसनीयता व लय टूट सकता है।

AAP popularity in Varanasi has increased: Prof Anand Kumar

FROM THE OFFICE OF PROF ANAND KUMAR
LOK SABHA CANDIDATE, NORTH EAST DELHI CONSTITUENCY

New Delhi, March 26, 2014: Aam Aadmi Party is getting historic support from Delhi to Varanasi and the wave is likely to sweep the country, said Prof Anand Kumar, senior AAP leader and party’s candidate for North East Delhi Parliamentary constituency. Prof Kumar returned to Delhi after addressing a rally in Varanasi along with AAP convenor Shri Arvind Kejriwal on Tuesday.

वाराणसी से कार्पोरेट घरानों के इशारे पर मीडिया द्वारा हो रही एकतरफा रिपोर्टिंग ‘पेड न्यूज़’ है

कार्पोरेट जगत द्वारा राजनीति में प्रत्यक्ष हस्तक्षेप और नियंत्रण की सुनियोजित साजिश से चिंतित साझा संस्कृति मंच, वाराणसी से जुड़े सामाजिक कार्यकर्ताओं, चिंतकों एवं बुद्धिजीवियों ने सांकेतिक ढंग से इसका विरोध दर्ज करते हुए आज एक ज्ञापन जिला निर्वाचन अधिकारी / जिलाधिकारी को प्रेषित किया, इसकी प्रति पोस्ट द्वारा एवं मेल द्वारा राष्ट्रीय एवं राज्य चुनाव आयोग तथा राष्ट्रीय प्रेस परिषद् को भी आवश्यक कार्यवाही हेतु प्रेषित की गयी। मंच का मानना है कि इन दिनों कतिपय कार्पोरेट घरानों के इशारे पर मीडिया (विशेषकर इलेक्ट्रानिक मीडिया) द्वारा एकतरफा समाचार प्रसारित/प्रकाशित करके काशी की गंगा जमुनी तहजीब को प्रभावित करने की कोशिश की जा रही है और वाराणसी में तनाव पैदा करने की साजिश की जा रही है, इस तरह समाचारों का प्रसारित/प्रकाशित करना प्रायोजित समाचार की श्रेणी में आता है और स्पष्ट रूप से आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन है इस पर विधि सम्मत कार्यवाही आवश्यक है।

जिया न्यूज के बिकने की चर्चा, एसएन विनोद एंड कंपनी आउट

जिया न्यूज से बड़ी खबर आ रही है. यहां एडिटर इन चीफ और सीईओ के रूप में ज्वाइन करने वाले वरिष्ठ पत्रकार एसएन विनोद महीने भर भी नहीं चल पाए. प्रबंधन ने एसएन विनोद समेत उनके लाए सभी लोगों को आउट कर दिया है. कुल दर्जन भर लोगों को हटाए जाने की जानकारी भड़ास को मिली है. हालांकि इसकी पुष्टि अभी तक नहीं हुई है.

भारी विरोध के बावजूद केजरी के हौसले ने काशी वासियों को किया हैरान!

नई दिल्ली/वाराणसी। आम आदमी पार्टी (आप) के चर्चित नेता अरविंद केजरीवाल, नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनावी खूंटा गाड़ने के लिए काशी पहुंच ही गए। यहां के पहले ही ‘शो’ में संघ परिवार के कार्यकर्ताओं ने भारी विरोध की तैयारी कर ली थी। ऐसे में, रेलवे स्टेशन से लेकर बाबा विश्वनाथ मंदिर तक केजरीवाल के खिलाफ विरोध-प्रलाप जारी रहा। उन पर अंडे और काली स्याही से भी हमला किया गया।

क्या इस बार फूलपुर संसदीय क्षेत्र में कमल खिला पाएगी भाजपा?

इलाहाबाद। काशी, अयोध्या, प्रयाग सरीखी धार्मिक नगरी के बीच स्थित फूलपुर संसदीय क्षेत्र में मतदाताओं ने कभी खुद पर धर्म-मजहब का मुद्दा हावी नहीं होने दिया। देश की अहम संसदीय सीट में शामिल फूलपुर क्षेत्र में आज तक कभी भी कमल नहीं खिल सका। अयोध्या के राममंदिर आंदोलन में देशभर की राजनीति में चाहे जो उबाल आया हो पर यहां भाजपा तापमान काफी कम रहा। भाजपा के थ्री स्टार नेताओं में कभी नाम दर्ज कराने व बगल की सीट इलाहाबाद से लगातार तीन बार जीत दर्ज कराने वाले चाहे डॉ. मुरली मनोहर जोशी रहे हों या विहिप के अंतर्राष्ट्रीय नेता अशोक सिंघल या फिर आरएसएस के सर्वेसर्वा राजेंद्र सिंह रज्जू भइया इन दिग्गजों के घर के बगल की सीट फूलपुर में भाजपा की हालत ज्यादातर चुनावों में पतली ही रही।

भाषा तथा उर्दू शिक्षकों की नियुक्ति निरस्त करने के लिए पीआईएल

भाषा शिक्षकों से सम्बंधित उत्तर प्रदेश शिक्षक अर्हता परीक्षा (यूपी-टीईटी) के खिलाफ सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर द्वारा इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच में एक पीआईएल दायर की गयी है।

ट्रायल ड्रग से हुई मौत में पीजीआई के दो डॉक्टरों पर एफआइआर

एसजीपीजीआई, लखनऊ के गैस्ट्रोइंटेरोलोजी विभाग के डॉ. विवेक आनंद सारस्वत और डॉ. श्रीजीथ वेणुगोपाल द्वारा लापरवाह ढंग से इंजेक्शन देने के कारण एक महिला की मौत होने के सम्बन्ध में पीजीआई थाना, लखनऊ में एफआइआर दर्ज की गयी है।

कपूरथला के डीएसपी ने महिला पत्रकार से दुर्व्यवहार किया

पंजाब के उपमुख्यमंत्री सुखबीर बादल के एक कार्यक्रम को कवर करने गई महिला पत्रकार के साथ डीएसपी द्वारा कथित तौर पर दुर्व्यवहार व धक्का-मुक्की की गई। पीड़ित महिला पत्रकार प्रोमिला कौशल ने पंजाब के डीजीपी को शिकायत भेज कर डीएसपी के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।

ईटीवी रिपोर्टर ने सरकारी डॉक्टर से मार-पीट की, रिपोर्ट दर्ज़

अलिराजपुर जिले के जोबट ब्लाक से सूचना है कि वहां के स्वास्थ्य केन्द्र पर किसी बात को लेकर ईटीवी के पत्रकार गोविन्द गुप्ता औऱ ब्लॉक मेडिकल अधिकारी आनंद अतुलकर के बीच कहासुनी हो गई। बात बढ़ने पर ईटीवी पत्रकार गोविन्द ने बीएमओ के साथ गाली-गलौच करते हुए उन्हे थप्पड़ मारे औऱ वहां से चला गया। बीएमओ ने तुरन्त अपने उच्चाधिकारियों को घटना की सूचना दी औऱ थाने जा कर इस संबंध में प्राथमिकी दर्ज़ कराई। घटना से डॉक्टरों और अन्य स्वास्थ्य कर्मचारियों में भारी रोष है। ईटीवी के रिर्पोटर गोविन्द पर, पूर्व मे अलिराजपुर की जिला चिकित्सा अधिकारी से हुए विवाद में जोबट थाने में इसी प्रकार के दुर्व्यवहार की रिर्पोट है।

सुप्रीम कोर्ट ने सुब्रत रॉय को सशर्त ज़मानत दी

सुप्रीम कोर्ट ने आज सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय को सशर्त अंतरिम ज़मानत दे दी। सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार सहारा की ओर से निवेशकों को पैसे लौटाने को लेकर आज एक फार्मूला पेश किया गया। सुप्रीम कोर्ट ने उस पर विचार किया औऱ सहारा समूह को आदेश दिया है कि वह सेबी को 10 हजार करोड़ रूपए दें। पांच हजार करोड़ नगद और पांच हजार करोड़ की बैंक गारंटी के रूप में। कोर्ट ने अपनी टिप्‍पणी में कहा कि कुल दस हजार करोड़ रुपये जमा होने पर उन्‍हें जमानत दे दी जाएगी। ऐसे में गुरुवार को सुब्रत रॉय को जमानत मिल सकती है।

क्या त्रिपुंड लगाने के लिए गोधरा और गुजरात काण्ड कराने पड़ते हैं?

मैं आप पार्टी की समर्थक नहीं हूँ पर,
केजरीवाल के गंगा स्नान करने, त्रिपुंड लगाने पर जिन राष्ट्रवाद के ठेकेदारों को बड़ा ऐतराज़ है वे यह बताएं कि इन हिन्दू कर्मकाण्डो को करने के लिए कितने गोधरा काण्ड और कितने गुजरात काण्ड कराने पड़ते हैं?? कितनी हत्याओं से दामन दागदार करना होता है ?? कितने पीड़ितों की आह लेनी पड़ती है?

शादी का प्रलोभन देकर युवक ने किया जर्नलिज्म छात्रा का शारीरिक शोषण

रायपुर(छत्तीसगढ़) में पत्रकारिता की एक छात्रा से बलात्कार का मामला सामने आया है। युवती ने न्यू राजेन्द्र नगर थाना पुलिस को रिपोर्ट लिखाई है कि शादी करने का प्रलोभन देकर युवक डेढ़ साल तक उसका शारीरिक शोषण करता रहा। पुलिस ने मामला दर्ज कर युवक की तलाश शुरू कर दी है।

बताइये थानवी जी, अब आप गोयनका से माफ़ी मंगवाएंगे या खुद इस्तीफ़ा देंगे?

कल (24 मार्च को) इंडियन एक्सप्रेस समूह के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक विवेक गोयनका राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुखपत्र पाञ्चजन्य के कार्यक्रम में आये। संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत के साथ मंच साझा किया। अपने भाषण में बताया कि उन्हें आदेश मिला और वे आ गए। गोयनका जी का मन परिवर्तन क्यों हुआ यह तो वे ही जाने। पर जनसत्ता के सम्पादक ओम थानवी के पास क्या जवाब है। याद रखना चाहिए कि थानवी धुर संघ विरोधी हैं।

ये फिल्मी सितारे राजनीति में क्यों आते हैं?

यह सचमुच विडंबना ही है कि एक आइपीएल मैच खेल कर कोई क्रिकेट खिलाड़ी करोड़पति बन सकता है, और महज एक अंतरराष्ट्रीय मैच में भाग लेकर विख्यात। जबकि दूसरे कई खेलों के चैंपियन हमारे बगल में भी खड़े हों, तो शायद हम उन्हें पहचान न पाएं। इसी तरह बालीवुड की एक फिल्म में काम करके कोई कलाकार समूचे देश में पहचान पा लेता है। जबकि भाषाई और क्षेत्रीय सिने जगत के महानायकों व महानायिकाओं को पड़ोसी राज्यों के लोग भी नहीं पहचानते। यह विडंबना समाज के हर क्षेत्र में कदम-कदम पर नजर आती है।

एक से अधिक सीटों से चुनाव लड़ने से रोक संबंधी पीआईएल पर हाई कोर्ट ने मांगा जवाब

इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने संसद तथा विधान मंडलों में सांसद और विधायक पद पर एक ही चुनाव में एक से अधिक सीटों पर चुनाव लड़ने पर पूर्ण प्रतिबन्ध लगाए जाने हेतु आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर तथा सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर द्वारा दायर पीआईएल में विधि एवं न्याय मंत्रालय और चुनाव आयोग …

26 को लॉन्च होगा ईटीवी न्यूज़ हिमाचल प्रदेश/हरियाणा

नेटवर्क18 का ईटीवी ग्रुप 26 मार्च को हिमाचल प्रदेश औऱ हरियाणा के लिए एक क्षेत्रीय 24×7 हिन्दी चैनल ईटीवी न्यूज़ हिमाचल प्रदेश/हरियाणा लॉन्च करने जा रहा है। सोंची समझी रणनीति के तहत बांग्ला और कन्नड ईटीवी न्यूज़ चैनलों की तरह चुनाव के ठीक पहले इस चैनल को लॉन्च किया जा रहा है। चैनल अपनी 80 प्रतिशत न्यूज़ हिमाचल और हरियाणा से कवर करेगा औऱ शेष 20 प्रतिशत राष्ट्रीय न्यूज होगी। बलवंत तक्षक को एडिटर तथा नरेन्द्र भास्कर को चैनल का मार्केटिंग हेड बनाया गया है।

डरे हुए हैं केजरीवाल का प्रायोजित विरोध कर रहे नमो समर्थक लफ़ंगे

बनारस में केजरीवाल का जिस तरह से प्रायोजित विरोध हो रहा है, वह भाजपा की घबराहट को दिखाता है। वे बहुत बड़ी भूल कर रहे हैं और पछताएँगे। भाजपा और नमो समर्थकों में इतनी भी हिम्मत नहीं है कि वे सामने आकर अरविंद केजरीवाल का विरोध करें। लेकिन लोग देख और समझ रहे हैं। बनारस में विचारों की लड़ाई में नमो समर्थक लफ़ंगे इतने डरे हुए हैं कि सवालों को डरा-धमकाकर और स्याही फेंक कर चुप कराने की कोशिश कर रहे हैं। अरविंद केजरीवाल पर अंडे या स्याही फेंकने वाले नमो समर्थक पोंगापंथी-गुंडे नहीं जानते हैं कि वे बनारस के लोगों की चेतना का अपमान कर रहे हैं।

केजरीवाल के साथ न चलें न सही, पर उनके हौसले को सलाम ज़रूर कीजिए

मोदी के खिलाफ केजरीवाल का गुस्सा जायज है। पर उस गुस्से को जाहिर करने की सीमा कहां खत्म होती है, यह गहरा सवाल है। ….बनारस आये केजरीवाल आखिर चुनाव लड़ने का ही तो गुनाह कर रहे हैं, तो क्या इस अपराध के लिए उनको डराने की कोशिश की जायेगी, सार्वजनिक तौर पर अण्डे फेंके जायेंगे, कालिख पोती जायेगी? अगर उठती आवाजों को दबाने का यह भगवा तरीका कोई संकेत है, तो इस संकेत को इस देश को समझने की जरूरत है। लेखों में, फेसबुकिया विचारों में और बहसों में भी कई बार लोगों को कहते सुना है कि केजरी पलायनवादी हैं, 49 दिनों में ही सरकार छोड़कर भाग गये, आदि आदि। भली कही, पर अगर बौने बनकर सरकार चलाते तो क्या अलग करते?

‘डैमेज कंट्रोल’ की कवायद तेज: भाजपा में बढ़ चली विद्रोह की बयार

‘चाल-चरित्र और चिंतन’ के अपने जुबानी एजेंडे पर इतराने वाली भाजपा इन दिनों गहरे आंतरिक संकट से गुजर रही है। पार्टी का नेतृत्व अपने आंतरिक अनुशासन को लेकर इतराता रहा है। लेकिन, इस चुनावी दौर में भाजपा के अनुशासन तंत्र की पोल खुल गई है। टिकटों के झगड़े में यहां दूसरे दलों के मुकाबले ज्यादा ‘लट्ठम-लट्ठ’ की स्थिति दिखाई पड़ने लगी है। मन चाही चुनावी टिकट न मिलने के कारण पार्टी की तमाम तपे-तपाए बुजुर्ग नेता भी ‘धुर कांग्रेसी’ तेवर दिखाने लगे हैं। इन लोगों के व्यवहार में इनके चाल-चरित्र और चिंतन के नारे को भी गैर-मौजूं बना दिया है। टिकटों को लेकर पार्टी के अंदर विद्रोह की बयार तेजी से बहने लगी है। हालांकि, पार्टी के रणनीतिकार ‘डैमेज कंट्रोल’ की कवायद तेजी से कर रहे हैं। लेकिन, अंदरूनी संकट थमने का नाम नहीं ले रहा है।

एनडीटीवी ने 900 करोड़ की आय को सरकार से छुपाया

एनडीटीवी के फर्ज़ीवाड़े औऱ काली कमाई के बारे में एक बड़ा खुलासा हुआ है। यथावत मैगजीन में छपी जितेन्द्र चतुर्वेदी की एक रिपोर्ट के मुताबिक एनडीटीवी ने अपनी करीब 900 करोड़ रुपए की आय को सरकार से छुपाया है। पूर्व में एक आयकर अधिकारी संजय श्रीवास्तव ने गहरी छानबीन के बाद दावा किया था कि एनडीटीवी ने बही-खातों में अपनी वास्तविक आय का खुलासा नहीं किया है। संजय श्रीवास्तव के इस आरोप को आयकर विभाग के अर्द्ध-न्यायिक संगठन 'विवाद निस्तारण पैनल(डीआरपी)' ने सही पाया। इस पूरे विवाद की जड़ एनडीटीवी औऱ अमरीकी कंपनी एनबीसीयू के बीच हुआ फर्ज़ी लेन-देन है। डीआरपी के मुताबिक 2009-10 की सालाना रिपोर्ट में एनडीटीवी ने तकरीबन 900 करोड़ रुपए की आय छुपाई है, जिस पर उचित कार्यवाही करने का आदेश निर्धारण अधिकारी को दिया गया है।

गांव-गिरांव की चुनावी चर्चाः तब नेता होते थे अब लुक्खों की फौज है

16वीं लोकसभा चुनाव की रणभेरी क्या बजी, उसका असर शहर कस्बे से लेकर गांव-गिरांव तक दिखने लगा है। शहर के नुक्कड़, गांव गली-गलियारे व खेत खलिहान चारों तरफ एक अजीब सा रंग दिखने लगा है। चुनावी चर्चा और कयासबाजी तेज है। सियासत भी अजीब-सी होती है। चुनाव आयोग के ऐलान के बाद दलों ने उम्मीदवार सामने ला पटके। ले दही, ले दही….हमारा माल चोखा, हमारा माल चोखा है, नहीं, नहीं हमारा माल उससे भी बड़ा चोखा। लीजिए चखकर तो देखिए। चखने का कोई पैसा नहीं। एक अजीब सी नौटंकी।

आचार संहिता उल्लंघन मामले में बीजेपी विधायक संजय सिंह को सज़ा

आराः आदर्श आचार संहिता उल्लंघन के एक मामले में बीजेपी विधायक और प्रवक्ता संजय सिंह 'टाइगर' को कोर्ट ने एक महीने की सज़ा सुनाई है। संजय सिंह पर 2010 के विधानसभा चुनावों में आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप था। उन पर उदवंतनगर थाने में केस दर्ज़ हुआ था। आरा के प्रथम श्रेणी मजिस्ट्रेट आशुतोष ने संजय सिंह को आचार संहिता के उल्लंघन का दोषी पाते हुए एक महीने की सजा का एलान किया।

सुब्रत रॉय की जमानत पर सुनवाई कल तक के लिए स्थगित

सुप्रीम कोर्ट ने आज सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय की की ज़मानत याचिका पर सुनवाई कल तक के लिए स्थगित कर दी। रॉय अभी न्यायिक हिरासत में ही रहेंगे।

कलकत्ता हाई कोर्ट ने कहा राज्य सूचना आयोग 45 दिन में सेकेंड अपील पर निर्णय करें

स्वतंत्र भारत के इतिहास में सूचना का अधिकार अधिनियम को मील का पत्थर माना जा रहा है। निश्चित तौर पर इस कानून को बनाने में जनहित का काफी ध्यान रखा गया है किन्तु फिर भी इसमें, अन्य भारतीय कानूनों की ही तरह, नौकरशाही के मनमानेपन पर अंकुश लगाने का इस कानून में भी कोई प्रावधान नहीं है। मेरे विचार से भारतीय शासन को आज भी वास्तव में ब्रिटिश राज की भांति नौकरशाह ही संचालित करते हैं और कोई कानून बनाने से पहले उनसे सलाह मशविरा किया जाता है कि इससे उनको तो कोई तकलीफ नहीं है मानो कि जनप्रतिनिधियों को जनता की बजाय नौकरशाहों की तकलीफें सुनने के लिए चुना गया हो। सूचना कानून की उद्देशिका में जो उद्देश्य बताये गए हैं उनको पूरा करने का किसी का कोई दायित्व नहीं बताया गया है और न ही इन शब्दों की आगे अधिनियम में कोई पुनरावृति की गयी है।

सच्ची आजादी के लिए जरूरी है भगत सिंह और पाश के सपने को जिन्दा रखना

शहीद भगत सिंह और उनके साथियों तथा पंजाबी के क्रान्तिकारी कवि अवतार सिंह पाश के शहादत दिवस की पूर्व संध्या पर 22 मार्च 2014 को जन संस्कृति मंच, लखनऊ की ओर से लेनिन पुस्तक केन्द्र, लालकुंआ, लखनऊ में ‘खतरनाक होता है सपनों का मर जाना’ कार्यक्रम हुआ। इसके अन्तर्गत पाश की तीन कविताएं ‘हम लड़ेंगे साथी’, ‘मेहनत की लूट’ तथा ‘हर किसी को सपने नहीं आते’ प्रस्तुत की गई। इस अवसर पर वक्ताओं ने भगत सिंह के विचारों, पाश की कविताओं तथा आज के राजनीतिक संकट के दौर में इन क्रान्तिकारियों के महत्व पर अपने विचार रखे।

पीलीभीत में नामांकन के दौरान मीडिया से भिड़ गए कांग्रेस नेता सुखलाल

पीलीभीत: जनपद में दूसरे चरण में मतदान है। ऐसे में जहां मेनका गांधी जीत की ओर कदम बढ़ा रही है तो वहीं कांग्रेसी नेता अपनी हार सहन नहीं कर पा रहे है। पीलीभीत में वैसे तो कल बसपा, कांग्रेस व आम आदमी पार्टी समेत कई निर्दलीय प्रत्याशियों ने अपना-अपना नामांकन कराया। जहां एक ओर बसपा से अनीस अहमद खां, आम आदमी पार्टी से राजीव अग्रवाल ने नामांकन कराया तो वहीं इस बार जहां कांग्रेस के पर्यवेक्षक रहे जनपद रामपुर के विधायक व कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय सचिव संजय कपूर ने अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। आपको बता दे कि संजय बीते दिनों बरेली मण्डल के लोकसभा पर्यवेक्षक बने थे उन्होने पीलीभीत से 5 प्रत्याशियों के नामांकन लिये थे जिन्हे कांग्रेस का टिकट मिलना था। मगर अचानक कांग्रेस की राजनिति में एक नया मोड़ आया और संजय स्वंय कांग्रेस प्रत्याशी बन गये। हाल ही में संजय के प्रत्याशी बनते ही, भाजपा के बरखेडा से विधायक रहे और 2012 में पूरनपुर से कांग्रेस के प्रत्याशी रहे सुखलाल, बीती 18 मार्च को मेनका के होली मिलन समारोह के दौरान दोबारा भाजपा में शामिल हुये। मगर तीसरे ही दिन सुखलाल वापस कांग्रेस में आ गये।

यूपी में समाचार प्लस नंबर 1 बना

भाई उमेश कुमार जी,
                               सच
कहूं शुरुआत में यकीन नही था कि कितना चल पाएगा। रफ्तार पकड़ी तो लगा कब तक। केबिल पर दिखने लगा तो सोचा सब पैसा डिजायन, डेकोर में ही फेंक रहे हैं। कुछ हफ्ते बीते और चैनल की चर्चा सरे राह होने लगी। कुंभ गया, समाचार प्लस के कैंप में ही रुका। हैरान होता था आपके बच्चों का जज्बा देखकर। मेरे जैसे उम्रदराज को भी उठा ले जाते थे। संगम लाइव पर। जो जूनून देखा वो आपका पैदा किया हुआ है। जो भरोसा दिया है आपने, कि हर कार्यकर्त्ता खुद को समाचार प्लस से जुड़ा मानता है।

क्या आम आदमी को त्वरित न्याय दिलाने का मुद्दा किसी पार्टी के एजेंडे में है?

भारत सरकार के न्याय विभाग की ताज़ा रिपोर्ट के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट में 56 हजार से ज्यादा, उच्च न्यायालयों में 43 लाख और निचली अदालतों में पौने तीन करोड़ मामले लंबित हैं। इसके विपरीत उच्च न्यायालयों में कुल 252 पद जजों के खाली पड़े हैं।

गांव के सुख-दुख : विपदा, सड़कें, चुनाव और मीडिया

: गांव में चर्चा है इस बार एक बाहुबली प्रत्याशी प्रति वोट हजार-हजार के दो नोट का रेट खोलेगा : जब गांव पहुंचिए तभी पता चल पाता है कि खेती-किसानी में क्या चल रहा है अन्यथा हम शहरी तो खाली वक्त में कामेडी विथ कपिल को न्यूज चैनलों पर देख-देख के हंसते मटकते रहते हैं… कुछ और वक्त बचा तो अपने शहर की अखबारों में छपी शहरी चिंताओं से रूबरू हो पाते हैं… जिन जगहों, जमीनों से हम लोग आए हैं, वहां के हालात के बारे में अखबार और चैनल हम शहरियों से शायद साजिशन बातें नहीं करते…

दबंग दुनिया ने पत्रकार का फोटो छाप उसे अपराधी बताया

भोपाल: दबंग दुनिया अखबार ने 19 मार्च को फ्रंट पेज पर छपी एक खबर में सीहोर के पत्रकार आमिर खान को अपराधी बता दिया। 17 मार्च को भोपाल के नवाब खानदान से ताल्लुक रखने वाले और होटल Imperial Sabre के मालिक सईदुल्ला खान के बेटे साद खान, जो राष्ट्रीय स्तर का शूटिंग खिलाड़ी भी हैं, को सीहोर जिले के गांव कतपोन के पास, दुर्लभ काले हिरण और राष्ट्रीय पक्षी मोर का शिकार करते हुए ग्रामीणों ने रंगे हाथों पकड़ था। साद खान और उसके दो साथियों मो. उवेस और निशाद खान के पास से दो जर्मन मेड टेलिस्कोपिक बंदूके तथा पाईन्ट 270 के कारतूस भी बरामद किए गए थे। इस खबर को दबंग दुनिया ने फ्रंट पेज पर तानों आरोपियों के चित्र के साथ प्रकाशित किया। खबर के कैप्शन में लिखा "इनसेट में साद खान" और फ़ोटो पत्रकार आमिर खान का लगा दिया।

गिलानी ने टीओआई पर मानहानी के लिए 50 करोड़ का दावा किया

ऑल पार्टी हुर्रीयत कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष सैय्यद अली गिलानी ने द टाइम्स ऑफ इंडिया पर झूठी और आधारहीन ख़बर छापने और मानहानी के लिए पर 50 करोड़ के हर्जाने का दावा किया है। टीओआई को भेजे नोटिस में कहा गया है कि समाचार पत्र के जिन लोगों ने झूठी खबर छाप कर उनकी मानहानी करने का प्रयास किया है वे उन सबके खिलाफ कानूनी कार्यवाही करने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं। नोटिस टीओआई के एडिटर और जम्मू-कश्मीर के रिपोर्टर सलीम पंडित को भेजा गया है।

तानाशाही, शोषण, मतलब परस्त राजनीति के विरोध में खड़े होने का नाम ही भगत सिंह है

इतिहास के कालखण्ड का ये वो दौर था जब भारतीय जनमानस दिशाहीन गुलामी के घने कुहासे में बेड़ियों में जकड़ा मुक्ति के लिए अंधेरे में हाथ-पैर मार रहा था। तत्कालीन दिग्रभमित राजनीति आजादी का कोई मुक्कमल रास्ता नहीं तलाश पा रही थी। कुछ छ्दम स्वतंत्रा सेनानी परोक्ष रूप से बरतानिया हुकूमत की मदद ही कर रहे थे। योर हाईनेस कहकर हुकूमत के चरणों में शीश नवाने वाले राजा, महाराजाओ, जोतदार, जागिरदार, जमीदारों की भी कमी नहीं थी। यानि अपने ही घर के भेदिये सात समंदर पार से आये गोरे अंग्रेजो के हुकूमत को महफूज बनाने के लिए पूरी तरह से मदद कर रहे थे।

‘आकाशवाणी’ मतदान प्रतिशत को बढ़ाने में अहम भूमिका निभा सकता है

लोक सभा चुनाव में मीडिया की अहम भूमिका को रेखांकित करते हुए बिहार के अपर निर्वाचन पदाधिकारी आर लक्ष्मणन ने कहा कि यह लोकतंत्र के चैथे स्तम्भ के रूप में चुनाव की गतिविधियों पर पैनी नजर रखता है। लिहाजा मीडिया में चुनाव को लेकर आयी खबरों पर आयोग की नजर रहती है और आयोग इसे संज्ञान में लेकर कार्रवाई भी करता है।

हिन्दुस्तान के पत्रकार ने छापा अपने पिता का इंटरव्यू

मुरादाबाद के अमरोहा संस्करण में 20 मार्च को पेज नंबर दो पर गजरौला के संवाददाता पुसविंदर छीतरा ने अपने पिता जी राम चरन छीतरा का पांच कॉलम इंटरव्यू छाप दिया। खबर के माध्यम से पुराने समय में हुए चुनावों पर बुज़ुर्गों की राय जनता के सामने पेश करनी थी। आश्चर्य इस बात का है कि पुसविंदर ने अपने पिता का इंटरव्यू छापा लेकिन ब्यूरो चीफ और संपादक, किसी की भी नज़र इस पर नहीं पड़ी।

चुनावों में पत्रकारों की सुरक्षा का क्या इंतजाम किया है चुनाव आयोग ने?

पत्रकारिता में खतरा अब पेड न्यूज के जमाने में सबसे ज्यादा है। जो पेड हैं, उन्हें खबरों के लिए ज्यादा जोखिम उठानी होती नहीं है क्योंकि खबरे उनके प्लेट में यूं ही सज जाती हैं कि जैसे वे पाठकों के लिए परोसने खातिर पेड किये जाते हैं।असली अग्निपरीक्षा तो प्रतिबद्ध, निष्पक्ष और ईमानदार कलमचियों की होती है,जिनकी ईमानदारी पक्ष विपक्ष किसी पक्ष को रास नहीं आती है। जाहिर है कि आज ऐसा वक्त आ गया है कि कि सही मायने में पत्रकारों की कोई सुरक्षा है ही नहीं।

य़ूपी पुलिस के आधे से ज्यादा पद खाली, आरटीआई में हुआ खुलासा

यूपी की बदहाल कानून व्यवस्था के लिए सरकार सीधे-सीधे जिम्मेदार हैं। वर्तमान सरकार के दो साल के कार्यकाल में सर्वोच्च प्राथमिकता वाले कार्य अर्थात बदहाल कानून व्यवस्था को सुधारने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है। सरकार ने पुलिस के खाली पड़े स्वीकृत पदों को भरने के लिए कोई कार्यवाही नहीं की हैं। एक आरटीआई के जवाब में उत्तर प्रदेश पुलिस मुख्यालय द्वारा दिए गए आंकड़ों से पता चलता है कि यूपी पुलिस के 54 प्रतिशत पद खाली हैं अर्थात महज 46 प्रतिशत पद ही भरे हुए हैं।

राष्ट्रीय उजाला की हालत खराब, सैलरी न मिलने से नाराज़ कई लोगों ने छोड़ा अख़बार

नोएडा से प्रकाशित हिन्‍दी दैनिक राष्‍ट्रीय उजाला के चार प्रमुख लोगों ने अखबार छोड़ दिया है। इससे अखबार के दफ्तर में हड़कम्‍प मचा हुआ है। अब इस अखबार में लोग जाने से कतरा रहे हैं। पता चला है कि होली के त्‍यौहार पर स्‍टाफ को सेलरी नहीं दिए जाने से नाराज लोगों ने अखबार को छोड़ दिया। पता तो यह भी चला है कि अखबार के मालिक सुरेन्‍द्र सिंह नाहटा और कार्यकारी सम्‍पादक निर्मलेन्‍दू से स्‍टाफ ने सेलरी की बात की तो मालिक यहां तक कह दिया कि अगर सेलरी की बात करेंगे तो अखबार बंद कर देंगे।

राजनीति में कार्पोरेट जगत के हस्तक्षेप को बेनकाब करेगा साझा संस्कृति मंच

काशी की साझा संस्कृति को विकृत रूप से पेश किये जाने के विरुद्ध साझा संस्कृति मंच रचनात्मक अभियान चलाएगा। आगामी लोकसभा निर्वाचन में कार्पोरेट जगत द्वारा राजनीति में प्रत्यक्ष हस्तक्षेप तथा नियंत्रण के प्रयास को मंच बेनकाब करेगा। गत पांच वर्षों में देश में हुए समस्त घोटालों का उदारीकरण, निजीकरण की आर्थिक नीतियों से सीधा सम्बन्ध है। मुख्यधारा की राजनीती द्वारा महगाई, बेरोजगारी, किसानो की बदहाली जैसे मुद्दों को पीछे ढकेलने से मंच चिंतित है।

भोपाल से शुरू हुआ ‘फाइन न्यूज’ चैनल बंद होने की ओर

भोपाल से शुरू हुए फाइन न्यूज चैनल ने आखिर कार छह माह में ही दम तोड़ दिया. ताजा जानकारी के अनुसार लगभग दो माह से सैलरी सही समय पर न मिलने के कारण पहले ही बहूत से लोगों ने फाइन न्यूज को अलविदा कह दिया था. अब चैनल मालिक ने यह फैसला लिया है कि सैलरी देने के साथ चैनल बंद कर दिया जाए. ऐसे में लगभग 40 पत्रकार बेरोजगार होने वाले हैं. ये लोग अभी से कहीं अपनी व्यवस्था जमाने में जुट गए हैं.

आलोक, वशु, अनूप, रोशन और नीरज सनन के बारे में सूचनाएं

अमर उजाला, वाराणसी, के सीनियर सब-एडिटर आलोक श्रीवास्तव का तबादला इलाहाबाद हो गया है। आलोक को इलाहाबाद में कॉम्पैक्ट की जिम्मेदारी दी गई है।  वहीं सूचना है कि आई नेक्स्ट, आगरा, में जूनियर रिपोर्टर रहे वशु जैन ने कल्पतरु एक्सप्रेस ज्वाइन कर लिया है। वशु यहां बतौर सब-एडिटर कार्य करेंगे।

मोदी समर्थकों ने एंकर अभिसार शर्मा को ‘केबीपी’ बंद करने पर मजबूर कर दिया

Abhishek Srivastava : कल शाम बनारस के अस्‍सी घाट पर जब ABP News के अभिसार शर्मा ''कौन बनेगा प्रधानमंत्री'' की चौपाल लगाने पहुंचे, तो किसी क्‍लास टीचर की तरह जनता को निर्देश देने लगे कि प्रोग्राम में नारेबाज़ी नहीं चलनी चाहिए। हमेशा की तरह बनारस की जनता ''दिल्‍ली से आए मीडिया वाले'' के उपदेश पर भड़क गई। शो के पहले तो हर-हर महादेव चल रहा था लेकिन जैसे ही शो चालू हुआ, ''हर हर मोदी'' ने घाटों को गुंजा दिया।

एनडीटीवी भी करेगा अफगान तालिबान की खबरों का बायकॉट

नई दिल्ली: अंतरराष्ट्रीय मीडिया द्वारा दुनिया भर में अफगान तालिबान से जुड़ी खबरों के बायकॉट में एनडीटीवी भी शामिल हो गया है। अफगान तालिबान ने गुरुवार को काबुल के सेरीना होटल में नौ निर्दोष लोगों की बेरहमी से हत्या कर दी थी। इनमें अफगानिस्तान के एक जाने-माने पत्रकार सरदार अहमद, उनकी पत्नी और दो छोटे बच्चे शामिल हैं। इसके बाद एनडीटीवी अगले 15 दिन तक अफगान तालिबान से जुड़ी खबरों को प्रसारित ना करने के अंतरराष्ट्रीय बायकॉट का हिस्सा बन गया है।

टीवी चैनल के पत्रकार के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज

दिल्ली: एक चैनल के संवाददाता अतीक मलिक के खिलाफ 20 वर्षीय महिला ने दुष्कर्म का आरोप लगाया है। पीड़ित का कहना है कि आरोपी ने चाकू के बल पर दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया। इस दौरान आरोपी का साथी चाकू लिए था। मौके पर ही लोगों ने मुख्य आरोपी को दबोच लिया, जबकि उसका साथी फरार हो गया। आरोपी को कड़कड़डूमा अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेज दिया गया।

मुसलमान नेताओं ने पत्रकार एमजे अकबर का पुतला फूंका

अहमदाबाद: मुस्लिम नेताओं के एक समूह और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आज वरिष्ठ पत्रकार एमजे अकबर का पुतला फूंका जो कल भाजपा में शामिल हुए थे। प्रदर्शनकारी आज यहां लाल दरवाजा पर जमा हुए और उन्होंने अकबर का पुतला फूंका। उन्होंने अकबर के खिलाफ नारेबाजी भी की, जो 1989 में कांग्रेस प्रवक्ता रहे थे और बिहार से सांसद चुने गए थे।

नेशनल दुनिया ने उप्र के पूर्व मंत्री को आतंकी बना दिया

नेशनल दुनिया में किस तरह के लोग काम कर रहे हैं, इसका जीता जागता प्रमाण 21 मार्च के अंक में पहले पेज ही देखने को मिला, जिसमें आतंकी याकूब मेमन के समाचार में उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री हाजी याकूब कुरैशी की फोटो छाप डाली है। यह खबर दिल्ली मेरठ समेत हर एडीशन में इसी तरह गई है। हद तो ये है कि किसी भी एडीशन के जिम्मेदार लोगों ने इस तरफ़ कोई ध्यान देने के बजाय लगता है आंख मूंद ली है। हाजी याकूब कुरैशी की ओर से अखबार के खिलाफ़ कानूनी कार्रवाई की बात कही जा रही है।

दैनिक भास्कर में साहस है तो पैगंबर मोहम्मद या गुरु गोविंद सिंह की तस्वीर को इसी तरह दो फाड़ करते हुए छापे

Pradeep Shekhawat : जयपुर के दैनिक भास्कर में रविवार को अदभुत प्रयोग हुआ है। पहले पेज से पहले छपने वाली जैकेट पर मां सरस्वती की तस्वीर है और उसके नीचे श्लोक है। अखबार की जैकेट बीच में से खुलती है, जिससे सरस्वतीजी की तस्वीर के दो भाग हो जाते हैं। यह अत्यंत अपमानजनक प्रयोग है, जो सनातन धर्म का सत्यानाश करने की इच्छा रखने वाले ही कर सकते हैं।

फोटो जर्नलिस्ट गैंग रेप केस में दोषियों के लिए मृत्यु दण्ड की मांग

मुंबई स्थित शक्ति मिल में हुए फोटो जर्नलिस्ट गैंगरेप मामले में कोर्ट ने आज अभियोग पक्ष की तीनो दोषियों पर आईपीसी की धारा 376(ई) लगाने की दरख्वास्त स्वीकार कर ली। इससे पहले शक्ति मिल में महिला फोटो जर्नलिस्ट के साथ गैंगरेप में सजा के एलान का समय आया तो लोक अभियोजल उज्जवल निकम ने धारा 376(ई) के अंतर्गत सजा बढ़ाने की मांग कोर्ट से की। इसके बाद कोर्ट ने ये कहकर सुनवाई रोक दी थी कि शक्ति मिल रेप केस में उक्त धारा को जोड़ा जाना है। इस मामले में सरकारी वकील ने सभी दोषियों के लिए फांसी की सजा की मांग की है।

ज्वालामुखी में पत्रकार की जूतों से पिटाई, माफी मांग कर जान छुड़ाई

ज्वालामुखी के एक हिन्दी दैनिक के पत्रकार की उस समय धुनाई हो गई, जब वह एक खबर के मामले में दूसरे पक्ष के सामने आ गया। दरअसल नगर के एक इलाके, सराय में बिजली कुनैक्शन के मामले में इस पत्रकार के हवाले से खबर छपी थी कि बिजली बोर्ड कुछ नहीं कर रहा। लेकिन ऐसा कोई मामला था ही नहीं, यही वजह थी कि इस पत्रकार को मोटरसाईकल पर जाते समय बोहण चौक पर खबर से प्रभावित परिवार ने घेर लिया। अपने आपको अकेला देख पत्रकार ने पहले अपनी गलती मान ली। लेकिन इतने में ही महौल बिगड़ गया, व परिवार के छह सात लोग पत्रकार पर टूट पड़े। उसकी जूतों से पिटाई की गई।

न्यूज़ फर्स्ट टीवी के साथ चंदन प्रताप, अर्जुन, विनय, कपिल, देवेन्द्र आदि की नई पारी

भारत में शुरू होने जा रहे सबसे नए इंटरनेट टीवी न्यूज़ चैनल 'न्यूज़ फर्स्ट' टीवी के लिए उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के सभी ज़िलों के लिए संवाददाता/ स्ट्रिंगर की ज़रुरत है। इसके लिए कम से कम स्नातक और छह महीने का अनुभव होना ज़रुरी है। समूह को बड़े पैमाने पर एंकर, डेस्क और प्रोडक्शन से जुड़े लोगों की ज़रुरत है। इच्छुक लोग newsfirst.tv2014@gmail.com पर अपना बॉयोडाटा ईमेल कर सकते हैं।

विप्र फाऊण्डेशन का आरोप, भास्कर ने छापा मां सरस्वती का बीच से कटा हुआ चित्र

जयपुर(राजस्थान) के विप्र फाऊण्डेशन ने भड़ास4मीडिया को एक विज्ञप्ति भेज कर भास्कर पर आरोप लगाया है कि 23.03.2014 को मुख्य पृष्ठ पर छपे विज्ञापन में मां सरस्वती के चित्र को बीच में से काट कर छापा गया है। फाऊण्डेशन ने प्रदेश कार्यकारिणी के प्रमुख पदाधिकारियों की एक आपात बैठक बुलाई जिसमें शहर के गणमान्य व्यक्ति भी शामिल हुए, सभी ने कहा कि हिन्दु देवी देवताओं का इस तरह से किया गया अपमान सहन नहीं किया जाएगा। उन्होने कहा कि ये बड़े दुख की बात है कि जिस शिक्षण संस्थान के विज्ञापन में शिक्षा मंत्री फोटो छपा है उसी में मां सरस्वति का अपमान किया गया है। फाऊण्डेशन के कार्यकर्ताओं के द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया। खबर है कि भास्कर की प्रतियां भी जलायी गयीं।

दबंग दुनिया ने फिर चुरायी दैनिक भास्कर की खबर

मुंबई। हिंदी अखबार दंबग दुनिया द्वारा दैनिक भास्कर की खबरें चोरी करके छापने का सिलसिला जारी है। 22 मार्च को दैनिक भास्कर के महाराष्ट्र संस्करणों में चुनाव विशेष पेज पर भाजपा उम्मीदवारों को मनसे का खुला समर्थन शीर्षक वाली विनय यादव की बाईलाईन से खबर प्रकाशित हुई थी। यहीं खबर 23 मार्च को दंबग दुनिया(मुंबई) के पेज 2 पर बीजेपी-मनसे का गेम प्लान शीर्षक से छपी। शीर्षक को छोड़कर बाकी पूरी खबर को शब्दश: कॉपी कर दंबग दुनिया ने छाप दिया।

दूसरों के एटीएम से पैसे निकालने वाला पत्रकार गिरफ्तार

लखनऊ : उत्तर प्रदेश की लखनऊ पुलिस ने धोखाधडी कर दूसरों के एटीएम कार्ड से पैसे निकालने वाले एक तथाकथित पत्रकार को अमेठी कस्बे से गिरफ्तार किया है. मोहनलालगंज के पुलिस उपाधीक्षक अशोक कुमार ने यहां बताया कि ग्रामीणों के साथ धोखाधडी कर उनके एटीएम कार्ड को बदलकर खाते से पैसा निकालने वाले आशियाना निवासी अमित श्रीवास्तव नामक युवक को कल अमेठी कस्बे से गिरफ्तार किया.

मीडिया वाकई सच्चाई उजागर कर दे तो बड़े-बड़े नेता और अफसर चौराहे पर पीटे जाएं : यशवंत सिंह

चंदौली। ''अब व्यापार और मुनाफे का काम सिर्फ व्यापारी ही नहीं कर रहे। इसे राजनेताओं और अफसरों ने भी अपना लिया है। नेता राजनीति के जरिए टर्नओवर बढ़ा रहा है तो अफसर प्रशासनिक अधिकारों के माध्यम से धन उगाही में लिप्त है। जिस दिन मीडिया वाकई सच्चाई उजागर कर दे, बड़े-बड़े भष्ट लोग सड़कों-चौराहों पर पीटे जाएंगे। पर मीडिया घराने अब सच्चाई उजागर करने का काम नहीं बल्कि छुपाने का काम कर रहे हैं। इसकी वजह मीडिया घरानों पर कार्पोरेट घरानों का कब्जा है। एक-एक कर कई बड़े मीडिया घराने या तो कार्पोरेट के हाथों बिक गए या फिर कार्पोरेट से आर्थिक सांठगांठ कर उनके साथ कदमताल कर रहे हैं।''

डिप्रेशन के कारण अस्वस्थ चल रहे अंबाला के वरिष्ठ पत्रकार अश्वनी कोहली का चंडीगढ़ में निधन

अंबाला के वरिष्ठ पत्रकार अश्वनी कोहली का रविवार को कच्चा बाजार अंबाला छावनी स्थित उनके निवास स्थान पर स्वर्गवास हो गया. करीब 60 वर्षीय श्री कोहली लंबे समय से एक प्रमुख समाचार पत्र के संवाददाता थे और हरियाणा सरकार से मान्यता प्राप्त थे तथा पिछले कुछ समय से डिप्रेशन के कारण अस्वस्थ चल रहे थे.

खुशवंत ने कभी भी वैसे लोगों को गंभीरता से नहीं लिया, जो खुद को बहुत गंभीरता से लेते थे : एमजे अकबर

खुशवंत सिंह कभी पत्रकारिता वाले पत्रकार नहीं थे, वे एक लेखकीय पत्रकार थे. वे अखबारी लेखन में कलात्मक दास्तानगोई का पुट लेकर आये. टाइम्स ऑफ इंडिया समूह के मुख्य प्रकाशन इलस्ट्रेटेड वीकली ऑफ इंडिया के संपादक बनने के लिए जब उन्हें आमंत्रित किया गया, तब तक ‘ट्रेन टू पाकिस्तान’ के साथ वे एक उपन्यासकार के रूप में प्रसिद्धि प्राप्त कर चुके थे. लेकिन यह पत्रिका ब्रिटिश राज की मानसिकता से उपजे पारंपरिक साज-सज्जा में जकड़ी हुई थी.

मीडिया को भी आरटीआई के दायरे में लाएं : यशवंत सिंह

: शस्त्र बना सूचना का अधिकार : चंदौली : आदर्श जन चेतना समिति उत्तर प्रदेश व भारतीय पत्रकार संघ जनपद इकाई के संयुक्त तत्वावधान में सूचना के अधिकार में मीडिया की भूमिका पर दो दिवसीय सेमिनार का शनिवार को समापन हुआ। इस मौके पर भड़ास4मीडिया के चीफ एडीटर यशवंत ने कहा कि जिस दिन मीडिया सच्चाई उजागर कर दे, भ्रष्ट लोगों की जगह जेल होगी। इस भ्रष्टाचार के दौर में सच्चाई का गुजारा नहीं हो पा रहा है। उन्होंने आरटीआई के दायरे में मीडिया को भी रखने की वकालत की।

तालिबानी हमले में पत्रकार सरदार अहमद और उनके परिजनों की मौत, पंद्रह दिन तक तालिबान का बहिष्कार

अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल के सेरेना होटल में हुए तालिबान के चरमपंथी हमले में समाचार एजेंसी एएफ़पी के 40 वर्षीय पत्रकार सरदार अहमद और उनके परिवार के लोगों की मौत हो गई है. पत्रकार की हत्या के विरोध में अफ़ग़ानिस्तान के पत्रकारों ने तालिबान की ख़बरों का बहिष्कार करते हुए 15 दिन तक तालिबान की कोई ख़बर प्रसारित न करने का फ़ैसला किया है.

पत्रकार मकबूल अहमद मंसूरी का मिशन है गरीबों को मुफ्त में खाना खिलाना

भोपाल में एक पत्रकार हैं जिनका मिशन है गरीबों का पेट भरना. आजकल के भौतिकतावादी युग में लोग निर्धनों की तरफ देखते तक नहीं है और निहित स्वार्थों के लिए धर्म के नाम पर मतभेद पैदा करने का प्रयास करते हैं. पर एक पत्रकार ऐसा है जो भोपाल जैसे शहर में बिना किसी भेदभाव के गरीबों को मुफ्त में भोजन मुहैया कराते आ रहे हैं. हर शाम 8 बजे से 200 से 250 लोगों के लिए बनाया गया खाना 48 वर्षीय मकबूल अहमद मंसूरी अपने नाज होटल पर नि:शुल्क वितरित करते हैं. यह होटल नादरा बस स्टैंड के सामने स्थित है और चौबीसों घंटे खुला रहता है.

दिल्ली खेल पत्रकार संघ के अध्यक्ष बने चंद्रशेखर लूथरा, सचिव चुने गए धर्मेंद्र पंत

नई दिल्ली : डीएनए समाचार पत्र के वरिष्ठ पत्रकार चंद्र शेखर लूथरा को रविवार को सर्वसम्मति से दिल्ली खेल पत्रकार संघ (डीएसजेए) का अध्यक्ष चुना गया. पीटीआई-भाषा के धर्मेंद्र पंत को संघ का सचिव चुना गया है. फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में रविवार को हुई डीएसजीए की वार्षिक आम बैठक में लूथरा और पंत का चयन निर्विरोध हुआ जबकि पायनीयर के अमित चौधरी को कोषाध्यक्ष चुना गया.

कार्पोरेट के हाथों फिक्स मीडिया के बड़े हिस्से पर केजरीवाल ने फिर साधा निशाना

कार्पोरेट के हाथों फिक्स मीडिया के एक बड़े हिस्से पर फिर से हमला करते हुए आप प्रमुख अरविन्द केजरीवाल ने रविवार को आरोप लगाया कि मीडिया का बड़ा हिस्सा नरेन्द्र मोदी को बढ़ावा दे रहा है. उन्होंने कहा कि मीडिया को भाजपा से प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार, मुकेश अंबानी और अडानी समूह से वित्तीय सहायता मिल रही है. भीम नगर रामलीला मैदान में रैली को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा, ‘‘ज्यादातर मीडिया प्रतिष्ठान मोदी को बढ़ावा दे रहे हैं क्योंकि इन मीडिया घरानों को उनसे (मोदी), मुकेश अंबानी और अडानी समूह से वित्तीय सहायता मिल रही है.’’

महा मीडिया और कार्पोरेट दलाल राडिया के वैष्णवी समूह पर कार्रवाई नहीं चाहता कार्पोरेट मंत्रालय

नई दिल्ली : कंपनी मामलों का मंत्रालय महा मीडिया और कार्पोरेट दलाल नीरा राडिया के वैष्णवी समूह की कंपनियों के खिलाफ मुकदमा चलाने के पक्ष में नहीं है क्योंकि उसे सपना आ रहा है कि इन कंपनियों पर वित्तीय लेखाजोखा में गड़बड़ी करने के आरोप अदालत में शायद ही टिक पाए. इस मंत्रालय के तहत काम करने वाले गंभीर धोखाधड़ी जांच कार्यालय (एसएफआईओ) ने वैष्णवी समूह की कुछ कंपनियों की जांच की है.

गाजीपुर पत्रकार एसोसिएशन के चुनाव में दिखा सियासी रंग, अनिल बने अध्‍यक्ष

गाजीपुर पत्रकार एसोसिएशन के विभिन्न पदों के लिए 23 मार्च को चुनाव सम्पन्न हुआ। एसोसिएशन के द्विवार्षिक निर्वाचन को लेकर पिछले दो हफ्ते से पत्रकारों के बीच भारी गहमागहमी बनी हुई थी। चुनाव के लिए मतदान के पूर्व तक विभिन्न पदों के प्रत्याशी अपनी-अपनी जीत के लिए जोड़ जुगत लगाते रहे। पत्रकारों के विभिन्न खेमे अपने-अपने प्रत्याशियों की जीत के लिए चुनाव की पूर्व संध्या तक शहर के विभिन्न होटलों में सियासी गणित में जुटे रहे। चुनाव को लेकर मतदाताओं को रिझाने के लिए प्रत्याशियों ने राजनेताओं की तर्ज पर कई तरह के हथकंडे भी अपनाए।

असोसिएट एडिटरों की लड़ाई के चलते आज समाज का बंटाधार, कई ने बोला गुडबाय

आज समाज अम्बाला में सब ठीक नहीं चल रहा है। दोनों असोसिएट एडिटर की लड़ाई अब पूरी तरह से सतह पर आ गई है। दोनों सीएमडी और सम्पादक को दोषी बता रहे हैं। असोसिएट एडिटर राज शेखर मिश्रा तो कर्मचारियो को पूरा विश्वास में लेकर उनको कहीं और जाने तक का सुझाव दे रहे है। इसकी वजह से पूरा डर बना है कि अख़बार अब बंद हो जायेगा। चीफ सब रमेश सिद्धू चन्द्र प्रकाश मणि और सब एडिटर पवन राजपूत उर्फ चांदी ने अख़बार को बाय बोल दिया है। लगभग एक दर्जन लोग जल्द ही बाय बोलने वाले हैं। एचआर पूरी तरह से राजशेखर मिश्रा के अधीन हो कर काम कर रहा रहा है। मेहनत करने वालों का पैसे काट रहा हैं।

प्रदूषित ईकोतंत्र से पंजाब में बढ़ रहा कैंसर, स्थिति भयावह, सरकारें नहीं दे रहीं ध्यान

चुनावी डुगडुगी बजते ही नेताओं के मन में बाजी मारने की लहर उठ रही है। एक दूसरे का पोल खोलने की बाजी लगी हुई है। कल तक जिस मसले को लेकर एक नेता दूसरे कासे नंगा करते फिर रहे थे और देश, समाज में सभी समस्याओं के लिए एक दूसरे को गरिया रहे थे, चुनाव के आते ही सबकी बोलती बंद हो गई है। पंजाब में नजारा कुछ और ही है। हर चुनाव के समय पंजाब में कैंसर पीड़ितों की राजनीति शुरू होती है लेकिन लेकिन चुनाव के बाद कैंसर की राजनीति बंद हो जाती है। आलम ये है कि आज पंजाब का हर इलाका कैंसर की चपेट में है। आइए पंजाब में कैंसर के हालात पर एक नजर डालते है।

आईपी प्रेस क्लब ने पेड न्यूज़ के खिलाफ अभियान छेड़ा

नई दिल्ली। इंद्रप्रस्थ प्रेस क्लब ऑफ इंडिया ने भुगतानशुदा खबरों(पेड न्यूज़) के खिलाफ अभियान छेड़ दिया है। इस अभियान की शुरुआत 2013 के दिल्ली विधान सभा के चुनावों के समय की गई थी। अभियान के चलते भुगतानशुदा खबरों की शिकायतों में काफी कमी आयी थी। आईपी प्रेस क्लब ने अभियान को 2014 के लोक सभा चुनावों में भी जारी रखने का फैसला किया है। क्लब ने एक ज्ञापन जारी कर सभी से सहयोग की अपील की है।

राय बरेली में सोनिया को टक्कर देंगी न्यूज़ एंकर अंजू सिंह

लखनऊ। तृणमूल कांग्रेस ने राय बरेली से कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के विरुद्ध इंडिया न्यूज़ की पत्रकार औऱ एंकर अंजू सिंह को मैदान में उतारा है। पार्टी अध्यक्ष ममता बनर्जी ने उमेश कुमार मिश्रा का टिकट निरस्त कर अंजू सिंह की उम्मीदवारी की घोषणा की। अंजू पिछले नौ वर्षों से पत्रकारिता कर रही हैं।

वरिष्ठ पत्रकार के. नीलकांत का निधन

चेन्नई, 22 मार्च: पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे वरिष्ठ पत्रकार के. नीलकांत, 86, का आज यहां निधन हो गया । वह विभिन्न अखबारों में वरिष्ठ संपादकीय पदों पर रहे। वह टाइम्स ऑफ इंडिया के स्थानीय संपादक, लखनउ और बेंगलूर, चंडीगढ़ में ट्रिब्यून के सहायक संपादक, इंडियन एक्सप्रेस में चेन्नई सहित विभिन्न केंद्रों में समाचार संपादक रहे।

मीडिया और मुसलमान

मुसलमान बदल गए मगर मीडिया के कैमरों का मुसलमान आज तक नहीं बदला। उसके लिए मुसलमान वही है जो दाढ़ी, टोपी और बुढ़ापे की झुर्रियाँ के साथ दिखता है। इस चुनाव के कवरेज में मीडिया ने एक और काम किया है। मोदी के ख़िलाफ़ विपक्ष बना दिया है। जैसे बाक़ी समुदायों में मोदी को लेकर शत् प्रतिशत सहमति है सिर्फ मुसलमान विरोध कर रहे हैं। पूरे मुस्लिम समुदाय का एक ख़ास तरह से चरित्र चित्रण किया जा रहा है ताकि वह मोदी विरोधी दिखते हुए सांप्रदायिक दिखे। जिसके नाम पर मोदी के पक्ष में ध्रुवीकरण की बचकानी कोशिश हो।

‘आप’ के आठ करोड़ी आशुतोष

भूतपूर्व पत्रकार और चांदनी चौक से आम आदमी पार्टी के लोक सभा उम्मीदवार आशुतोष ने अपना नामांकन दाखिल करते हुए अपनी और अपनी पत्नी की  7.7 करोड़ से अधिक की संपत्ती घोषित की है।

सिगरेट, तम्बाकू उत्पादों पर पूर्ण प्रतिबन्ध के लिए पीआईएल

सिगरेट तथा सभी प्रकार के तम्बाकू पदार्थों के निर्माण, बिक्री, आयात आदि पर पूर्ण प्रतिबन्ध लगाए जाने हेतु आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर तथा सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. नूतन ठाकुर द्वारा इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच में एक पीआईएल दायर किया गया है।

राजनीतिक दल पत्रकारों से संबंधित मुद्दों को अपने घोषणा पत्र में शामिल करें

जर्नलिस्ट्स यूनियन ऑफ आसाम(जेयूए) ने सभी राजनीतिक दलों से अपील की है कि वे अपने चुनावी घोषणा पत्रों में पत्रकारों से संबेधित मुद्दों को शामिल करें औऱ उन्हे एक निश्चित समयावधि में पूरा करने का आश्वासन दें।

वसुंधरा की ‘त्रिया हठ’ का शिकार हो गए जसवंत सिंह

जसवंत सिंह एक बार फिर अकेले हैं। पिछले चुनाव में भी निर्दलीय थे। और इस बार भी बीजेपी ने उनको अकेला कर दिया। टिकट नहीं दिया। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे भले ही उन्हें पसंद ना करें। संघ परिवार को खुश रखने की कोशिश में बहुत सारे भाजपाई भी भले ही जसवंत सिंह को हमेशा …

गलत खबर चला सहारा समय ने भाजपा नेता को मुश्किल में डाला

सहारा समय(मध्य प्रदेश/ छत्तीसगढ़) ने सिंगरौली के भाजपा नेता और पूर्व जिला अध्यक्ष कांति देव सिंह के बारे में एक गलत खबर चला उन्हें मुश्किल में डाल दिया। चैनल ने बिना किसी ठोस जानकारी के कांति देव के भाजपा छोड़ किसी और पार्टी को ज्वाइन करने की खबर चला दी।

फरार हुआ लाइव इंडिया चैनल का मालिक

जीवन समृद्धि चिटफंड घोटाले में पुलिस को कंपनी के मालिक महेश मोटेवार की तलाश है। पुलिस उसे अभी तक गिरफ्तार नहीं कर पाई है। उसे फरार घोषित कर पुलिस ने उसके ऊपर दो हज़ार रुपए का ईनाम घोषित कर दिया गया है। इस मामले में महेश मोटेवार के अतिरिक्त दो आरोपी औऱ हैं। ग्वालियर के एसएसपी वीरेंद्र जैन ने बताया कि फरार चल रहे मुख्य आरोपी मोटेवार को पकड़ने के लिए पुलिस टीम पुणे भेजी गई थी पर वह गिरफ्तार नहीं हो सका। उम्मीद है कि मोटेवार को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

अब भाजपा में शामिल होकर नीति से राजनीति करेंगे वरिष्ठ पत्रकार एमजे अकबर

नयी दिल्ली। वरिष्ठ पत्रकार, लेखक और कांग्रेस के भूतपूर्व सांसद एमजे अकबर आज राजनाथ सिंह की उपस्थिति में भाजपा में शामिल हो गये। इस अवसर पर अकबर ने कहा कि वो नीति के लिए राजनीति में वापस आए हैं। इस समय देश के सामने जो चुनौतियां है वो सबके सामने हैं। ये देश के लिए कार्य करने का एक अवसर है। उन्होनें साथ काम करने का मौका देने के लिए भाजपा को धन्यवाद दिया।

पुलिस ज़िया न्यूज़ की महिला पत्रकार से छेड़छाड़ मामले की दोबारा जांच करेगी

महाराष्ट्र के गृहमंत्री आरआर पाटिल ने ज़िया न्यूज़ की महिला पत्रकार से हुई बदसलूकी के मामले में नए सिरे से जांच के आदेश दिॆए हैं। इस मामले में मुंबई पुलिस ने 5 लोगों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया था, लेकिन आरेपियों के खिलाफ कोई ठोस बात कोर्ट के सामने नहीं रखी गई। कोर्ट ने सभी आरोपियों को ज़मानत दे दी। इसके चलते पुलिस की भूमिका की आलोचना हो रही थी।

इंडिया न्‍यूज को न्‍यूज नेशन ने पछाड़ा, आजतक नंबर वन

न्‍यूज चैनलों की ग्‍यारहवें सप्‍ताह की टीआरपी आ गई है. आजतक लगातार पहले नंबर पर काबिज है. रजत शर्मा की लाख कोशिशों के बावजूद इंडिया टीवी तीसरे नंबर से ऊपर नहीं चढ़ पा रहा है. जी न्‍यूज चौथे स्‍थान पर बना हुआ है. इस सप्‍ताह सबसे बड़ा उलटफेर न्‍यूज नेशन ने किया है. इस चैनल ने इंडिया न्‍यूज को छठे स्‍थान पर धकेल कर खुद टॉप फाइव में काबिज हो गया है. अब न्‍यूज 24 भी इंडिया न्‍यूज के गले तक पहुंच गया है.

बाड़मेर से टिकट कटने से नाराज़ जसवंत सिंह निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे

बाड़मेर। लोकसभा चुनावों को लेकर भाजपा द्वारा जारी दूसरी सूची में बाड़मेर-जैसलमेर लोकसभा क्षेत्र में भूचाल आ गया है। भाजपा ने बाड़मेर से जसवंत सिंह के नाम को काट कर हाल ही में भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने वाले कांग्रेस के नेता रहे कर्नल सोनाराम चौधरी को टिकट दे चुनावी मैदान में उतारा है। जसवंत सिंह का टिकट कटने के बाद उनके पुत्र मानवेन्द्र सिंह के निवास पर उनके समर्थकों का जुटना शुरू हो गया, सैंकड़ों समर्थक उनके घर के बाहर मौजूद नजर आए। टिकट कटने को लेकर जसवंत सिंह खेमे में मायूसी छाई नजर आई। जसवंत सिंह के समर्थकों का कहना है कि आयातित उम्मीदवार उन्हें स्वीकार नहीं, जिस आदमी ने अपना पूरा जीवन पार्टी के लिये समर्पित कर दिया और पार्टी में रह देश की सेवा की और पार्टी हित में कार्य किये। कईं सम्मानजनक पदों पर रहे, ऐसे व्यक्ति का पार्टी द्वारा एन वक्त पर टिकट काटना न सिर्फ उस व्यक्ति का अपमान है, बल्कि यह भाजपा और भाजपा के हर कार्यकर्ता का अपमान है। जिसे कार्यकर्ता कभी बर्दाश्त नहीं करेंगे।

मुंबई पुलिस ने ‘twocircles.net’ को नोटिस भेज वकील पराचा का इंटरव्यू हटाने को कहा

लखनऊ 21 मार्च 2014। क्राइम ब्रांच और सीआईडी, मुम्बई द्वारा वकील महमूद पराचा का साक्षात्कार तत्काल प्रभाव से हटाने और उसे प्रकाशित करने के खिलाफ प्रतिष्ठित न्यूज पोर्टल टू सर्किल्स डॉट नेट को नोटिस भेजने को प्रेस की आजादी पर हमला करार देते हुए रिहाई मंच ने इसे मुम्बई पुलिस की आपराधिक कार्यशैली का एक और प्रमाण बताया है।

खुशवंत सिंह का जीवन शब्दों का मायाजाल रहा और वो भी सिर्फ दिल्ली वाली सेटिंग के साथ

मरने के बाद सरदार खुशवंत सिंह की तारीफ का एंगल समझ में नही आया। बड़ी-बड़ी फोटो और एक जैसे चर्चे, किसी को जैसे पता ही नही की क्या कहे? सही भी है आखिर खुशवंत ने या उनके परिवार ने इस देश को दिया ही क्या। लेकिन चूँकि छपना है सो सब के सब लग गए अपने छपास के ट्रीटमेंट में। एक ने तो हद ही कर दी, अमर उजाला के गोरखपुर संस्करण में एक ने कहा कि खुशवंत इसलिए महान थे क्योंकि उन्होंने मुझे बड़ी आत्मीयता से गले लगाया था, गोया कोई कांटे का पेड़ हों। सब जगह एक ही बात कि खुशवंत ने अपनी शर्तों पे जीवन जिया और सबका इशारा वही कि लिखा अपने मन का और दारु पीया अपने मन का। पीने को लेकर इतने मशहूर कि मरने वाले दिन भी IBN-7 पर संजय पुगलिया ने कह दिया कि मरने से ठीक एक दिन पहले शाम में भी उन्होंने जरुर पी होगी।

शिष्य से फजीहत कराने के बाद भी आडवाणी औऱ उनकी टीम समर्पण को तैयार नहीं

संघ परिवार के शीर्ष नेतृत्व को हो सकता है कि कुछ चैन मिल गया हो। क्योंकि, दो दिन से रुठे चले आ रहे लालकृष्ण आडवाणी मान गए हैं। तमाम मनुहार के बाद वे गांधीनगर से ही चुनाव लड़ने की ‘कृपा’ पार्टी पर करने को राजी हुए हैं। जबकि, इसी सीट को लेकर पार्टी के अंदर सियासी महाभारत शुरू हो गया था। इसी के चलते उन्होंने कह दिया था कि वे गांधीनगर के बजाए भोपाल की सीट से लड़ना पसंद करेंगे। उनके बयान के बाद ही भोपाल में उनके ‘स्वागत’ में पोस्टर और होर्डिंग्स रातों-रात लग गए थे। इस ड्रामे के चलते भाजपा नेतृत्व के अंदर काफी बवाल बढ़ा था। ‘डैमेज कंट्रोल’ के लिए बड़े नेताओं ने आडवाणी के घर की गणेश परिक्रमा बढ़ा दी थी। यहां तक कि ‘पीएम इन वेटिंग’ नरेंद्र मोदी को भी उनके दरबार में मत्था टेकने जाना पड़ा। इसके बाद भी बात बनती नहीं दिखी, तो संघ प्रमुख मोहन भागवत के सीधे दखल से आडवाणी पार्टी लाइन मानने को तैयार हुए।

राजनीति सब समस्याओं के समाधान की चाभी हैः पूर्व आईजी एसआर दारापुरी

राबर्टसगंज लोकसभा क्षेत्र से आल इणिडया पीपुल्स फ्रंट (आइपीएफ) के प्रत्याशी उप्र पुलिस के पूर्व आर्इजी आर्इपीएस एसआर दारापुरी(सरवण राम दारापुरी) से दैनिक 'भवदीय प्रभात' के प्रबंध सम्पादक अवनिंद्र ठाकुर  की संक्षिप्त बातचीत।

बेगुनाह मुस्लिम युवकों को आतंकवाद के आरोप में पकड़ने वाले विक्रम सिंह और बृजलाल पर कार्यवाही हो

लखनऊ 20 मार्च 2014। रिहाई मंच ने लखनऊ सेशन कोर्ट द्वारा आतंकवाद के नाम पर फंसाए गए नासिर को बेगुनाह करार देने पर उस वक्त के तत्कालीन डीजीपी विक्रम सिंह, एडीजी कानून व्यवस्था बृजलाल और यूपी एसटीएफ के अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाई करने की मांग करते हुए कहा कि विक्रम सिंह और बृजलाल के उपरोक्त पदों पर रहते हुए आतंकवाद के नाम पर हुई गिरफ्तारियों और मुठभेड़ों की जांच के लिए विशेष न्यायिक आयोग गठित किया जाए। क्योंकि इनके कार्यकाल में ही सबसे ज्यादा बेगुनाह मुस्लिम युवक आतंकवाद के आरोप में पकड़े गए, जिनमें से कई अदालतों से बरी हो चुके हैं। रिहाई मंच ने वर्तमान में डीजी नागरिक सुरक्षा जैसे महत्वपूर्ण ओहदे पर बृजलाल की तैनाती पर सपा सरकार पर सवाल उठाते हुए उन्हें तत्काल पद से हटाने की मांग की।

न पाठक न पत्रकार, अखबार मालिक औऱ नौकरशाह करेंगे ‘पेड न्यूज’ की जांच

सोनभद्र। लोकसभा चुनाव-2014 के दौरान पेड न्यूज की मॉनिटरिंग के लिए सोनभद्र में पत्रकारों का टोटा हो गया है। यह हम नहीं कह रहे, बल्कि यह सच्चाई जिला निर्वाचन अधिकारी की ओर से 'पेड न्यूज' की मॉनिटरिंग के लिए गठित 'मीडिया सर्टिफाइंग मॉनिटरिंग कमेटी (एमसीएमसी)' के दस्तावेज बयां कर रहे हैं। लोकसभा चुनाव-2014 के दौरान पेड न्यूज की निगरानी के लिए जिला निर्वाचन अधिकारी ने गत 17 फरवरी को छह सदस्यीय एमसीएमसी का गठन किया था। इसमें पत्रकारिता एवं सामाजिक क्षेत्र से नामित होने वाले सदस्य के रूप में इलाहाबाद से प्रकाशित हिन्दी दैनिक समाचार-पत्र 'न्यायाधीश' के स्वत्वाधिकारी स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक एवं संपादक डॉ. रघुवीर चंद्र जिंदल को शामिल किया गया है।

हाय ! हम क्यों न हुए खुशवंत !

खुशवंत सिंह की याद तो हमेशा ही आएगी। हमारे दिल से वह कभी नहीं जाएंगे। और कि यह आह भी मन में कहीं भटकती ही रहेगी कि, हाय! हम क्यों न हुए खुशवंत! लेखक और पत्रकार तो वह बड़े थे ही, आदमी भी बहुत बड़े थे वह। जितने अच्छे थे वह, उतने ही सच्चे भी थे वह। एकदम खुली तबीयत के आदमी। लोग अब उन का औरतबाज़ और शराबी आदमी के रुप में ज़िक्र करते हैं तो मुझे यह बहुत बुरा लगता है। सच यह है कि वह सच्चे आदमी थे। बहुत ही सच्चे। अपनी खूबी-खामी हर चीज़ के बारे में वह खुल कर बोलते और लिखते थे। अगर वह खुद अपने बारे में इतने खुलेपन से न बताते या लिखते तो वह ऐसी तोहमत से बच सकते थे। पर दिखावा उन की तासीर में नहीं था। कितने लोग हैं आज की तारीख में जो इतना खुला जीवन जिएं और उसे कुबूल भी करें। हिप्पोक्रेटों से दुनिया भरी पड़ी है। भीतर कुछ, बाहर कुछ। कथनी कुछ, करनी कुछ।

खुशवंत सिंह को पाकिस्तान, बाग्लादेश और नेपाल में बेहद प्यार से पढ़ा जाता है: डॉ. केके रत्तू

वरिष्ठ पत्रकार औऱ स्तंभकार खुशवंत सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए लेखक व मीडिया विशेषज्ञ और दूरदर्शन केन्द्र देहरादून के निदेशक डॉ. कृष्ण कुमार रत्तू ने कहा कि खुशवंत सिंह हरफनमौला व्यक्तित्व के धनी औऱ हरदिल अज़ीज लेखक थे। डॉ. रत्तू के अनुसार खुशवंत सिंह उन भारतीय लेखकों में से एक थे जिन्होंने अंग्रेजी साहित्य में अपनी अलग शैली एवं विषय वस्तु से समूचे विश्व में अपनी पहचान बनाई।

आरएसएस, मोदी, राजनाथ, जेटली…ये सब भाजपा की कब्र खोद रहे हैं

न्यूटन का सिद्धांत हमेशा न्यूटन से बड़ा रहा। यही सिद्धांत आइन्स्टीन के लॉ पर लागू है। लेकिन व्यक्ति, अगर खुद को संस्था या सिद्धांत से बड़ा करने की जुगत में हो तो संस्था या सिद्धांत, ताक़त की बजाय औपचारिक उपस्थिति का आभास कराती है। आज भाजपा कैम्पेन नहीं बल्कि नमो-कैम्पेन चल रहा है पर इसका कारण भाजपा की सामूहिक एकजुटता नहीं, बल्कि मीडिया कनेक्शन है और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ(आरएसएस) का वरदहस्त है। आरएसएस के दुलारे नरेंद्र मोदी वर्तमान में भाजपा को राजनीतिक ताक़त का प्रतीक भले ही बनाते दिख रहे हों मगर भविष्य के मद्देनज़र इस पार्टी की कब्र खोदते जा रहे हैं।

सोशल मीडिया के जरिए केजरीवाल के आरोपों का खंडन कर रही रिलायंस

नयी दिल्ली: रिलायंस इंडस्टरीज ने आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल के आरोपों का सोशल मीडिया के जरिए आज खंडन किया और कहा कि ये आरोप निराधार हैं और राजनीति से प्रेरित हैं. केजरीवाल ने आरोप लगाया है कि गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुकेश अंबानी से नजदीकियों के चलते अंबानी के दामाद सौरभ पटेल को उर्जा, पेट्रोकेमिकल्स व खनन मंत्री बनाया.

भारतीय पत्रकार शुभांशु चौधरी ने जीता ‘डिजिटल एक्टिविस्ट अवार्ड’

लंदन : भारतीय पत्रकार शुभांशु चौधरी इस वर्ष के वल्र्ड डिजिटल एक्टिविस्ट अवार्ड के लिए चुने गए हैं। श्री चौधरी ने एक विश्वव्यापी मतदान मे इंटरनेट एक्टिविस्ट एडवर्ड स्नोडेन सहित दो और संस्थाओ को भी हराया है। लंदन की इंडेक्स ओन सेसरशिप नामक संस्था हर साल इस अवार्ड का आयोजन करती है। श्री चौधरी मध्य भारत के आदिवासी इलाको मे पिछले कई वर्षों से सीजीनेट स्वर नामक प्रयोग से जुडे हैं।

मीडिया हिंदी भाषा के साथ खिलवाड़ कर रहा है, जिसे रोकने की जरूरत है : अशोक वाजपेयी

नई दिल्ली : मौजूदा समय में हिंदी भाषा का स्वरूप बिगड़ रहा है और इसे बचाने और समृद्ध बनाने की जिम्मेदारी पत्रकारों की है। यह बात कवि व आलोचक अशोक वाजपेयी ने पत्रकार आलोक तोमर की तीसरी पुण्यतिथि के मौके पर कांस्टीट्यूशन क्लब में आयोजित एक कार्यक्रम में कही। 'आलोक की याद में' नाम से आयोजित कार्यक्रम में चर्चा के लिए विषय रखा गया था- पत्रकारिता की मर्यादा। इसमें पत्रकारिता जगत में हिंदी भाषा के क्षरण पर चर्चा की गई। इस मौके पर अशोक वाजपेयी ने कहा कि मीडिया हिंदी भाषा के साथ खिलवाड़ कर रहा है, जिसे रोकने की जरूरत है।

पत्रकार उमा का उपन्यास ज्ञानपीठ में चयनित

जयपुर। भारतीय ज्ञानपीठ की ओर से आयोजित 2013 की नौवीं नवलेखन प्रतियोगिता के परिणाम घोषित कर दिए गए हैं। उपन्यास विधा पर केंद्रित इस प्रतियोगिता में पांच उपन्यासों को ज्ञानपीठ की ओर से प्रकाशित किया जाएगा। इन चयनित उपन्यासों में डेली न्यूज की पत्रकार उमा का उपन्यास "जन्नत जाविदाँ" भी शामिल है। उपन्यास विधा में कविताओं के सहारे उमा ने बदलते समय की नब्ज को टटोलने की कोशिश की है।

निशांत चतुर्वेदी आजतक में डिप्टी एडिटर बने, दीपक सेनगुप्ता की न्यूज एक्सप्रेस में वापसी

निशांत चतुर्वेदी आजतक जा रहे हैं. पता चला है कि वे डिप्टी एडिटर के पद पर आजतक ज्वाइन करेंगे. निशांत न्यूज एक्सप्रेस के चैनल हेड थे. विनोद कापड़ी के आने के बाद स्थितियां उनके अनुकूल नहीं रह गईं तो उन्होंने धैर्य के साथ दूसरे चैनलों में प्रयास शुरू किया और आजतक में उनकी बात बन गई. निशांत तेजतर्रार और प्रतिभाशाली एंकरों में शुमार किए जाते हैं. यही कारण है कि आजतक प्रबंधन ने उन्हें अपने यहां ज्वाइन कराने पर सहमति दी.

आलोक तोमर ने जनपक्षधर पत्रकारिता के नए प्रतिमान स्थापित किए

यह मत सोचना कि मैं आलोक तोमर का मित्र हूं इसलिए ऐसा कह रहा हूं, पर इसमें कोई शक नहीं कि न आलोक के बाद कोई, न आलोक के पहले कोई। हमारे संपादक प्रभाष जोशी जी ने जिस एक आदमी को जनसत्ता के जरिए खड़ा किया वह आलोक तोमर था। आलोक कोई शक्तिमान नहीं था। ऐसा भी नहीं था कि आलोक ने नए प्रतिमान खड़े हुए हों, पर फिर भी आलोक ने कुछ तो नया किया हो। उसने पत्रकारीय भाषा में लालित्य पैदा किया, उसने पत्रकारीय मर्यादा ही नहीं जन पक्षधरिता के नए प्रतिमान स्थापित किए।

भास्कर की खबरें चुरा कर छाप रहा मुंबई का दबंग दुनिया

मुंबई। एक तो चोरी उस पर सीना जोरी। कुछ ऐसा हाल है मुंबई से प्रकाशित हिंदी अख़बार दबंग दुनिया का। यह अख़बार लगातार दैनिक भास्कर की खबरे चोरी कर के छाप रहा है वह भी अपने रिपोर्टर की बाइलाइन के साथ। बीते रविवार 16 मार्च को दैनिक भास्कर ने अपने सन्डे फर्स्ट पेज पर "देश के तीन चौथाई सीसीटीवी कैमरों की हो सकती है हैकिंग" शीर्षक से एक्सक्लूसिव् खबर छापी थी। खबर कोटा व् दिल्ली डेटलाइन तथा शैलेश माथुर की बाइलाइन के साथ छपी थी। 19 मार्च को यही न्यूज़ दबंग दुनिया(मुंबई) के फर्स्ट पेज पर सुमन पाल की बाइलाइन के साथ छपी। सिर्फ डेट लाइन कोटा/ दिल्ली की जगह मुंबई हो गई।

फरेबी और धोखेबाज मनोज तिवारी

माननीय मनोज तिवारी मृदुल जी आप नाक से गाते हैं फिर भी लोगों ने आपकी गायन शैली को पसंद किया और मुझे भी पसंद है। देखते-देखते आप गायक से नायक बन गए, बकवास अभिनय के बाद भी लोगों ने आपको सराहा लेकिन अभिनेता से नेता बनने का मामला लोगों के समझ से बाहर है। पहले सपा में शामिल हुए तो गोरखपुर में वहां की जनता से फिल्म सिटी बनवाने का झूठा वादा करते हुए आपने कहा कि मनोज तिवारी सपा पार्टी के पुत्र हैं। आज आप भाजपा में शामिल हो गए तो क्या आप बतायेंगे कि ये माता-पिता बदलने की परम्परा आपने कहाँ से सीखी।

उत्तराखंडी मीडिया का वेश्यापन, पैसे के बूते कुछ भी छपवाइए, छुपाइए

अपने दोगलेपन, पक्षपात और अतिव्यावसायिकता के चलते मीडिया ने अपनी विश्वसनीयता खो दी है। उत्तराखंड में तो हालत ज्यादा ही खराब हैं। नेता तो जनता को धोखा दे ही रहे हैं, मीडिया भी कम नहीं है। हाल ही में एक पूर्व मुख्यमंत्री पर एक महिला ने चरित्रहनन का आरोप लगाया, लेकिन यह मसला फेसबुक के सिवा न तो किसी चैनल पर प्रसारित हुआ और न ही किसी अखबार में। उत्तराखंड आंदोलन के साथ जिन दो बड़े अखबारों ने इस राज्य में अपनी समृद्धि-प्रसिद्धि और प्रसार बढ़ाने की पताका फहराई, वे भी उत्तराखंड को छल रहे हैं। उन्हें यहां के सरोकारों से अधिक अपने विज्ञापनों की चिंता है। एक बार एक मंत्री के खिलाफ मामला दर्ज हुआ, पर अखबारों की सुर्खियों में नहीं आ पाया।

वसूली का धंधा कर रहे बस्ती के न्यूज़ चैनल औऱ उनके रिपोर्टर

बस्ती में इलेक्ट्रानिक मीडिया के दो पत्रकार अक्सर जिले में अपने कारनामों से चर्चा में रहने के लिये जाने जाते हैं। अभी हाल ही में बोर्ड परीक्षा के दौरान एक विद्यालय में नकल होने का हवाला देकर वसूली करने गये इन्ही पत्रकारों को स्कुल प्रबंधन ने बीच सड़क पर दौडा-दौड़ा कर पीटा था। अब दलाल पत्रकार के इसी ग्रुप ने हमारी कौम को बदनाम करने का नया अजूबा कर दिखाया। बस्ती नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी आरपी श्रीवास्तव के घर दो दिन पूर्व एक सनसनीखेज वारदात हुई, जहां कुछ ठेकेदार अपने आधा दर्जन समर्थकों के साथ एक फाईल पर जबरन साईन कराने पहुंचे। असलहों से लैस इन दो ठेकेदारों के साथ इलेक्ट्रानिक मीडिया के वही दोनो पत्रकार भी अपने कैमरे के साथ पहुंच गये।

जल्द लांच होगा इंटरनेट चैनल ‘न्यूज़ फर्स्ट टीवी,’ विभिन्न पदों के लिए आवेदन मांगे

गौरी मीडिया प्राइवेट लिमिटेड जल्द ही इंटरनेट पर टीवी चैनल की शुरूआत करने जा रहा है। ये भारत का सबसे नया 24/7 इंटरनेट न्यूज़ चैनल होगा, जो विशुद्ध तौर पर केवल इंटरनेट के लिए ही ख़बरों की कवरेज़ करेगा। 'न्यूज़ फर्स्ट टीवी' के नाम से लॉंच होने वाला ये चैनल उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के लिए होगा। ये समूह पहले से ही मासिक पत्रिका 'दि सिटी इंडिया' और साप्ताहिक समाचार पत्र 'विशिष्ट समाचार' का प्रकाशन कर रहा है।

‘हंगर-इंडेक्स’ में गुजरात व ओडिशा बराबरी पर हैं, लेकिन मीडिया ये सच नहीं दिखाता

मोदी के योजनाकारों का यकीन रहा है कि ऊपर के विकास का फायदा नीचे तक जायेगा, लेकिन हुआ इसका उल्टा। गुजरात में अमीरी बहुत तेजी से बढ़ी है, पर गरीबी कम नहीं हुई। इसलिए प्रति व्यक्ति आय में भी गुजरात अभी कई राज्यों से पीछे है। नागपुर में धन-संग्रह के लिए आयोजित अपने रात्रिभोज में आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने मीडिया को जिस तरह धमकाया, उसकी सर्वत्र निंदा हुई। लेकिन धमकाने से पहले उन्होंने जिन मुद्दों को लेकर मीडिया के एक हिस्से की आलोचना की, उन्हें नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए। उनके इस आरोप को पूरी तरह निराधार नहीं कहा जा सकता कि मीडिया(का एक बड़ा हिस्सा) गुजरात की विकास-गाथा के हवाले से मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की जो तसवीर पेश कर रहा है, वह हकीकत से परे है। मीडिया का एक हिस्सा मोदी का भोंपू-सा बन गया लगता है। लगातार ‘लाइव-कवरेज’ यूं ही तो नहीं हो रहा है?

पत्रकार संजय परमार प्रकरणः PCI औऱ IJU सदस्यों ने की कुलपति की गिरफ्तारी की मांग

बिहार के मधेपुरा स्थित बीएन मण्डल विश्वविद्यालय के कुलपति आरएन मिश्रा ने पिछले दिनों हिन्दुस्तान संवाददाता संजय परमार को अपमानित कर उनका कैमरा छीन लिया था। इस सिलसिले में मधेपुरा सदर थाना में दोनों ओर से प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी। कुलपति के आदेश पर संजय परमार पर परीक्षा की गोपनीयता भंग करने तथा अवैध प्रवेश करने का आरोप लगाया गया था। जबकि संजय परमार द्वारा दर्ज़ कराई गई प्राथमिकी में कुलपति पर पत्रकार से गाली-गलौच, मार-पीट, धमकी देने और कैमरा छीन लेने का आरोप लगाया गया था।

चुनाव आयोग को भेजी शिकायत, यशस्वी यादव बैग लेकर सपा के दफ्तर गए

सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. नूतन ठाकुर ने आईपीएस अफसर यशस्वी यादव के नीली बत्ती लगी सरकारी गाड़ी में लखनऊ स्थित समाजवादी पार्टी मुख्यालय में जाने सम्बन्धी कथित घटना की चुनाव आयोग को शिकायत भेजी है।

ज़ी उत्तर प्रदेश/ उत्तराखंड का नया नाम ‘ज़ी संगम’

ज़ी मीडिया कॉर्प. ने अपने ज़ी उत्तर प्रदेश/ उत्तराखण्ड न्यूज़ चैनल को 'ज़ी संगम' के नाम से री-लांच किया है। 18 मार्च की मध्य रात्री से नाम परिवर्तन प्रभावी हो गया। 24 घंटे के इस न्यूज़ चैनल को 2009 में लांच किया गया था। ज़ी मीडिया की ओर से कहा गया है कि फिलहाल ज़ी …

धीरेन भगत ने 30 वर्ष पहले लिखा था खुशवंत सिंह का शोक समाचार

आज 'भारतीय पत्रकारिता के डर्टी ओल्ड मैन'  और जाने माने लेखक खुशवंत सिंह का निधन हो गया। वे 99 वर्ष के थे। आज से 30 वर्ष पहले पत्रकार धीरेन भगत ने संडे ऑबज़र्वर में खुशवंत सिंह की 'प्री-ऑबिट्युरि'(मृत्यु-पूर्व शोक समाचार) लिखी थी। जीवन की विडंबना देखिए, धीरेन भगत ने 1990 में ही इस दुनिया को …

जिंदल के खिलाफ मानहानि वाली सुधीर चौधरी की याचिका खारिज

नई दिल्ली : अदालत ने मानहानि मामले में कांग्रेस सांसद एवं जिंदल स्टील के चेयरमैन नवीन जिंदल और उनकी कंपनी के बोर्ड निदेशकों को राहत प्रदान कर दी है। अदालत ने जी न्यूज संपादक सुधीर चौधरी की उस याचिका को खारिज कर दिया है, जिसमें जिंदल व अन्य के खिलाफ मानहानि का मुकदमा चलाने का आग्रह किया गया था। पटियाला हाउस स्थित मैट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट धीरज मित्तल ने फैसले में कहा कि याची सुधीर ऐसा कोई भी साक्ष्य पेश करने में असफल रहे हैं, जिससे साबित हो कि मानहानि हुई है।

मुंबई में महिला पत्रकार से गैंगरेप मामले में चार आरोपी दोषी करार, सजा शुक्रवार को

मुंबई के शक्ति मिल में महिला पत्रकार से सामूहिक बलात्कार के मामले में सत्र अदालत ने सभी चारों आरोपियों को दोषी करार दिया है. इस बलात्कार कांड का पूरे देश में जबरदस्त विरोध हुआ था. सजा का एलान शुक्रवार को होगा. मामला 22 वर्षीय फोटो पत्रकार के साथ सामूहिक बलात्कार का है. 22 अगस्त 2013 को वह मध्य मुंबई स्थित शक्ति मिल परिसर में किसी खबर के सिलसिले में गयी थी.

फर्जी स्टिंग मामले में ‘आप’ नेता ने दीपक चौरसिया, अनुरंजन झा के खिलाफ कोर्ट में बयान दर्ज कराया

: विधानसभा चुनाव में ‘आप’ के खिलाफ स्टिंग के मामले को पार्टी को बदनाम करने की कोशिश बताया: नई दिल्ली। आपराधिक मानहानि मामले में आम आदमी पार्टी (आप) के सदस्य ने बुधवार को अदालत में बयान दर्ज कराए। पंकज ने अदालत को बताया कि यह स्टिंग पार्टी को बदनाम करने के लिए किया गया था, जबकि उसमें ऐसा कहीं नहीं था कि प्रत्याशियों ने फंड के रूप में पैसे मांगे हों। इस स्टिंग से छेड़छाड़ कर कुछ मुख्य अंशों को हटाकर उसका रूप बदल दिया गया व इंडिया न्यूज ने उसे इस तरह दिखाया जैसे उनके प्रत्याशी व नेता भ्रष्टाचार में लिप्त हैं।

जाने-माने पत्रकार और स्तंभकार खुशवंत सिंह का निधन

अभी अभी सूचना मिली है कि देश के जाने माने पत्रकार और स्तंभकार खुशवंत सिंह हम लोगों के बीच नहीं रहे. उनका निधन आज दिन के बारह बजकर पचपन मिनट पर हुआ. उनके पुत्र राहुल सिंह ने बताया कि पिताजी ने 12.55 पर अंतिम सांसें ली. खुशवंत सिंह के निधन पर देश के हर क्षेत्र के लोगों ने दुख प्रकट किया है.

आईआरएस 2013 के आंकड़ों के पुनःप्रमाणीकरण तक पुराने आंकड़ों से चलेगा काम

देश के प्रमुख अखबारों की रीडरशिप के गलत व भ्रामक आंकड़े पेश कर विवादों में घिरे इंडियन रीडरशिप सर्वे (आईआरएस) 2013 के नतीजों पर रीडरशिप स्टडीज काउंसिल ऑफ इंडिया (आरएससीआई) की प्रबंध समिति और मीडिया रिसर्च यूजर्स काउंसिल (एमआरयूसी) ने 31 मार्च तक रोक लगा दी थी। रोक के दौरान आंकड़ों का पुनः प्रमाणीकरण/ पुनर्वैधीकरण किया जाना है।

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के इएमएमसी में निर्माण घोटाला, चहेतों को बांटे टेंडर

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अधीन कार्यरत इलैक्ट्रॉनिक मीडिया मॉनिटरिंग सेन्टर(इएमएमसी) के नवनिर्मित हॉल के निर्माण में नया घोटाला सामने आया है। हॉल का निर्माण औऱ खरीददारी ब्रॉडकास्टिंग इंजीनियरिंग कंसल्टेंट इंडिया लिमिटेड(बेसिल) और इएमएमसी द्वारा संयुक्त रूप से की गई थी। हॉल का निर्माण, पर्नीचर, एसी आदि लगाने का कार्य बेसिल ने किया तथा कम्प्यूटर आदि की खरीद इएमएमसी ने की।

सहारा का पेड न्यूज प्लेटफॉर्म है टाइम्स ऑफ इंडिया?

लोग कहते हैं कि टाइम्स ग्रुप में सहारा का पैसा लगा है। करीब 50 करोड़ रु। यकीन नहीं होता था। लेकिन ग्रुप के अखबार खासकर टाइम्स ऑफ इंडिया ने जिस तरह से सेबी-सहारा की रिपोर्टिंग की है उससे यह तो साफ है अरविंद और दिवाकर नाम के बड़े बाबुओं के जरिए सहारा खबरें छपवाता है। उससे साफ है कि कुछ बड़ा चक्कर तो जरूर है। हम रिपोर्ट के बायस होने की बात को तीन बिंदुओं (ABC) के जरिए रखेंगे। अंत में हम ठोस सबूत के साथ बताएंगे कि कैसे टाइम्स ग्रुप की पीआर एजेंसी हमारे इस महिम को चुप कराने की कोशिश की।

क्‍या लेखक काशीनाथ सिंह को बनारस से कांग्रेसी / निर्दलीय उम्‍मीदवार बनाया जा सकता है?

Abhishek Srivastava : यह मज़ाक नहीं है। मैं पूरी गंभीरता से एक सवाल आप सब के सामने रख रहा हूं: क्‍या लेखक काशीनाथ सिंह को बनारस से कांग्रेसी / निर्दलीय उम्‍मीदवार बनाया जा सकता है? ज़रा इन बिंदुओं पर सोचिए…

नैतिकता के नाम पर केजरीवाल को गरियाने वाले राजनीतिक दल अपने यहां अवसरवादियों को पनाह क्यों दे रहे हैं?

Virendra Yadav :  यह भी अजीबोगरीब है कि भारत का जो मध्यवर्ग मिज़ाज से अराजनीतिक था वोट देने से भी गुरेज करता था .वह राजनीतिक हो गया है. यहाँ तक कि कमोबेश उसकी अपनी पोलिटिकल पार्टी भी बन गयी है और उसका नेता प्रधानमंत्री पद के एक दावेदार को चुनौती देने की भी मुद्रा में है.. लेकिन हमारे राष्ट्रीय राजनीतिक दल अराजनीतिक आचरण क्यों कर रहे हैं?

हरे प्रकाश उपाध्याय के उपन्यास ‘बखेड़ापुर’ को ज्ञानपीठ नवलेखन पुरस्कार

भारतीय ज्ञानपीठ का वर्ष-2013 का नव लेखन पुरस्कार हरे प्रकाश उपाध्याय को उनके उपन्यास 'बखेड़ापुर' पर देने की घोषणा हुई है। भारतीय ज्ञानपीठ की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार नौंवी नवलेखन प्रतियोगिता उपन्यास विधा पर केंद्रित थी, जिसके लिए उपाध्याय के उपन्यास 'बखेड़ापुर' को सर्वश्रेष्ठ कृति के तौर पर चुना गया।

पत्नी से मनमुटाव के बाद दैनिक हरिभूमि के पत्रकार गुलाब बघेल ने जहर खाकर जान दी

बैकुंठपुर : दैनिक हरिभूमि के पत्रकार गुलाब बघेल का शव बैकुंठपुर में उनके कचहरी पारा स्थित किराए के मकान में मिला. पुलिस अधीक्षक बीएस ध्रुव की मौजूदगी में शव का पंचनामा कर पुलिस जांच में जुट गयी है. मृतक के पास सल्फास की कुछ गोलियां भी पुलिस ने बरामद की है, पहली नजर में पुलिस इसे आत्महत्या का मामला मान रही है. बुधवार की सुबह हरिभूमि के पत्रकार गुलाब बघेल ने जब अपने घर का दरवाजा नहीं खोला, तो मकानमालिक ने हरिभूमि जिला प्रतिनिधि प्रवीन्द्र सिंह सहित पत्रकार उत्तम कश्यप सहित पुलिस को बुलाया.

आलोक तोमर खुलकर कहते थे कि वो पक्षधर पत्रकार हैं, लेकिन जन का

Shambhunath Shukla : 'यादों में आलोक' वह कार्यक्रम है जो आज बीस मार्च को शाम पौने चार बजे से दिल्ली के कांस्टीट्यूशन क्लब में होगा। हालांकि मेरा मानना है कि यादों में आलोक की बजाय यादों का आलोक होना चाहिए। आलोक तोमर की कल तीसरी पुण्यतिथि है। आलोक हमारे बीच नहीं है, यह सोचना भी असहज कर देता है और लगता है कि बस अभी-अभी आलोक घर आ धमकेगा और मलकिन से कहेगा 'भौजाई आज बस कढ़ी चावल खाऊँगा।'

ऐसे नेता को सामने से आकर चुनौती देने वाले केजरीवाल मैं तुम्हारे साथ हूं…

Sheetal P Singh : जिसकी पार्टी का सबसे बुज़ुर्ग नेता जिसने पार्टी ख़ुद पैदा की हो इस बात पर भरोसा न कर सके कि गांधी नगर में उसकी पीठ पर छुरा न भौंका जायगा! जिसके पूर्व गृहमंत्री (पंडया) का परिवार उसे बेटे की हत्या का षड्यंत्रकारी माने! जिसकी पार्टी का एक दूसरा बूढ़ा (सोनी) यह जानते हुए कि उसी की पार्टी का मुख्यमंत्री उसकी जवान बेटी पर बदनीयत था अपने को अपनी बेटी को डर के मारे छुपाता घूमे और जिससे दबाव डाल कर फ़र्ज़ी ख़त प्रेस में जारी कर लिये जायं!

भारतीय मीडिया के टॉप पावरफुल लोगों में अर्नब अकेले पत्रकार (देखें इंडियन एक्सप्रेस की सूची)

इंडियन एक्सप्रेस अखबार ने भारत के टॉप 100 पावरफुल लोगों कि इस वर्ष की सूची जारी की है। इस सूची में भारतीय मीडिया जगत के 12 लोग शामिल हैं। इसमें ख़ास बात ये है के 12 में से 10 मीडिया हाउसेस के मालिकान हैं, शेष दो में एक पत्रकार है और दूसरा भूतपूर्व पत्रकार है। …

एक सिविल सर्विस प्रतियोगी छात्र की, देश की मीडिया से जनहित में मदद की अपील

To,
   All News Papers and TV Channels

    
जैसा कि यह सर्वसत्य है कि मीडिया भारतीय लोकतन्त्र का चौथा स्तम्भ है। मीडिया समाज का दर्पण है। समाज में क्या औऱ क्यों हो रहा है ये सब मीडिया ही समाज के समक्ष प्रस्तुत करता है। भारतीय लोकतन्त्र में मीडिया का अमूल्य योगदान है। भारतीय लोकतन्त्र को मजबूत बनानें में मीडिया की भागीदारी श्रेष्ठ है। मै (प्रार्थी) सिविल सर्विसेज का छात्र हूँ और ‘‘गणित’’ विषय से सिविल सर्विसेज की परीक्षा देने जा रहा हूँ। भारतीय लोकतन्त्र का जागरूक नागरिक हूँ। लोकतंत्र के हित, समाज हित, गरीबों और किसानों, दबे-कुचलों और असहायों तथा न्याय से वंचितों, समाजिक न्याय, मानवाधिकारों, शिक्षा, कानून के पालन, अपराधों की निगरानी कर कानून की सहायता करना, समाज में शांति, भाई-चारा आदि विभिन्न विषयों पर मेरी विशेष रूचि है। जब भी मुझे पढ़ाई से खाली टाइम मिलता है और जहां भी समाज में आते-जाते कुछ इस तरह की गतिविधियां होती प्रतीत होती हैं तो मैं उन पर विशेष ध्यान देता हूँ और उन्हें समाधान हेतु प्रयास भी करता हूँ। ये सभी कार्य मैं अपनी स्वेच्छा से, निःस्वार्थभाव से, समाज और देशहित तथा प्रगति के लिये करता हूं।

इंडिया टुडे के फोटो जर्नलिस्ट भास्कर पॉल का निधन

इंडिया टुडे के फोटो जर्नलिस्ट भास्कर पॉल का कल मुंबई के KEM हॉस्पीटल में निधन हो गया। 57 वर्षीय भास्कर मस्तिष्क में रक्त के थक्के की समस्या के चलते पिछले कुछ दिनों से अचेतावस्था में हॉस्पीटल में भर्ती थे। अनके परिवार में पत्नी औऱ एक पुत्र है।

कोयले की तस्करी में लिप्त हैं रामगढ़ के पत्रकार

रामगढ़ में कोयला तस्करी कोई नई बात नहीं है। लेकिन इस बार अलग यह  है कि सीधे एसपी के संरक्षण में होने वाला यह काला धंधा मीडिया वालो में आपसे कलह का कारण बना गया है। पिछले एक सप्ताह से अखबारों की सुर्खियों में कोयला तस्करी के धंधे में मीडिया कर्मियों की संलिप्तता की खबर बनी हुई है। इस मामले में कई प्रमुख हिन्दी दैनिकों के पत्रकारों का नाम सामने आया है। दरअसल कोयला लदा एक ट्रक वन विभाग ने पकड़ा, जिसमें हिरासत में लिए गए आरोपी को तीन अखबारों के प्रभारियों ने हाज़त कटवा कर भगवा दिया। इन्हें इस बात की चिंता हो गई कि उन लोगों का नाम कोयला तस्करी में सामने न आ जाये।

दक्षिणा प्राप्त टीवी चैनल्स की कृपा के बाद भी मोदी काशी से हार गए तो?

राजनीति में बड़ी मेहनत लगती है और किसी राष्ट्रीय पार्टी से टिकट पाने में तो मुद्दतों बाद मौक़ा मिलता है। गांधी परिवार को छोड़ कर बहुत कम ऐसे लोग होंगे जो बहुत कम राजनीतिक सफ़र में बड़ा मुक़ाम हासिल कर लें। मगर नरेंद्र मोदी उस पायदान पर, आज, खड़े हैं। महज़ 15-20 साल में। आडवाणी जी जैसे तो 50 साल बाद भी "दिल की तमन्ना दिल में रहेगी" गुनगुनाते रह गए और उनके चेले, नरेन्द्र मोदी, आज प्रधानमंत्री पद की रेस में सबसे ऊपरी पायदान पर हैं।

यूपी-बिहार में मोदी एंड कंपनी की राह आसान नहीं

बिहार की तीन लोक सभा सीटें बेहद रोचक मुकाम पर है। ये सीटें है- छपरा, पाटलीपुत्र और सासाराम। छपरा में लालू यादव की पत्नी राबड़ी देवी और भाजपा नेता राजीव प्रताप रूढी के बीच प्रतिष्ठा की लड़ाई है। एक ओर यादव मुसलमानों की सेना तो दूसरी ओर राजपूतो और अन्य सवर्णों समेत भाजपा का अन्य पिछड़ा वोट बैंक। दूसरी सीट है पाटलीपुत्र। लालू यादव की बड़ी बेटी मीसा भारती यहां से खड़ी है। दूसरी तरफ लालू यादव के हनुमान रहे राम कृपाल यादव भाजपा से लड़ रहे है। कह सकते हैं चाचा भतीजी में लड़ाई है। तीसरी सीट है सासाराम। मीरा कुमार यहां से लड़ रही है। उनके विरोध में बसपा से खड़ी है उनकी भतीजी माधवी कीर्ति। बिहार में खेल तो कई हो रहे है। लेकिन यह खेल सबको चैंकाएगाए रूलाएगा और हंसाएगा भी। हम  इस बार आपको ले चलेंगे छपरा सीट की परिक्रमा कराने लेकिन सबसे पहले हिंदी पट्टी के दो प्रमुख राज्यों पर एक नजर।

दिव्य प्रकाश की दूसरी किताब ‘मसाला चाय’ युवाओं में लोकप्रिय

हिंदी किताबों को ऑनलाइन ख़रीदने का रुझान तेज़ी से बढ़ रहा है। इसी का परिणाम है कि दिव्य प्रकाश दुबे का पहला कहानी-संग्रह ‘टर्म्स एंड कंडीशन्स अप्लाई’ केवल ऑनलाइन माध्यमों से बिककर 1 साल से भी कम समय के अंतराल में बेस्ट सेलर हुआ है। हाल ही में दिव्य प्रकाश की दूसरी किताब ‘मसाला चाय’ की ऑनलाइन प्रीबुकिंग शुरू हुई है। इस किताब की प्रीबुकिंग फ्लिपकार्ट से भी की जा रही है। गौरतलब है कि फ्लिपकार्ट हिंदी साहित्यिक किताबों की प्रीबुकिंग में रुचि नहीं लेता। लेकिन दिव्य प्रकाश की पहली किताब की लोकप्रियता ने फ्लिपकार्ट जैसी कंपनियों का भी हिंदी किताबों की ओर ध्यान खींचा है।

सरकारी सेवा में होने के बावजूद मणिकांत वाजपेयी ने जेपी आंदोलनकारियों की खबर को प्रसारित किया

मणिकांत वाजपेयी नहीं रहे। जानकर अति दुःख हुआ, मर्मातंक पीड़ा हुई। सरकारी सेवा में रहने के बावजूद तत्कालीन बिहार की मीडिया में बड़े ही लोकप्रिय पत्रकार थे वाजपेयीजी। भारतीय सूचना सेवा के अधिकारी रहे मणिकांत वाजपेयी की सन 1975 में आपातकाल के बाद पोस्टिंग रांची और बाद में पटना में हुई। पत्र सूचना कार्यालय में सूचनाधिकारी तो रहे ही, लंबे समय तक आकाशवाणी के पटना केन्द्र में समाचार संपादक रहे। सरकारी सेवा में रहने के बावजूद सन 74 के जेपी आन्दोलनकारियों की खबर को प्रसारित करने से परहेज नहीं किया। हां शब्दों के चयन में सर्तकता अवश्य बरती।

अमिताव नरेश का दैनिक भास्कर, विनय कुमार झा का नेशनल दुनिया और नवीन लाल सूरी का सहारा समय से इस्तीफा

तीन मीडियाकर्मियों के इस्तीफे की सूचनाएं हैं. पहली खबर दैनिक भास्कर, राजस्थान से है. सूत्रों के मुताबिक स्टेट एचआर हेड अमिताव नरेश ने दैनिक भास्कर से इस्तीफा दे दिया है. वे ग्रुप के साथ करीब चार वर्षों से कार्यरत थे. बताया जाता है कि सीओओ संजय शर्मा के आने के बाद से लगातार इस्तीफे हो रहे हैं. इसी क्रम में अमिताव नरेश ने भी संस्थान छोड़ा है. खराब बर्ताव के कारण पुराने लोग जा रहे हैं.

केजरीवाल को कांग्रेस नहीं देगी मान्यता

चुनाव के पहले ही नरेंद्र मोदी की आक्रामक सियासी रणनीति से कांग्रेस काफी खौफजदा हो गई है। इसके चलते ही पार्टी के कई दिग्गज नेता चुनावी मुकाबले से ही भागते नजर आ रहे हैं। तमाम बड़े नेताओं ने यह स्वीकार कर लिया है कि मोदी मुहिम का सामना करना मुश्किल होगा। ऐसे में, वे अपने सिपहसालारों से कहने लगे हैं कि पैसे संभालकर खर्च करो। ताकि, संसाधन आगे की राजनीति के लिए काम आ सकें। उत्तर प्रदेश सहित कई राज्यों के उम्मीदवारों ने शुरुआती दौर से ही केंद्रीय नेतृत्व से ज्यादा वित्तीय मदद के लिए गुहार शुरू कर दी है।

शरीफ ने पाकिस्तान में मीडिया आयोग बनाने की घोषणा की

इस्लामाबाद : पाकिस्तान को पत्रकारों के लिए दुनिया के सर्वाधिक खतरनाक जगहों में एक माने जाने को देखते हुए प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने मीडियाकर्मियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए आयोग बनाने की आज घोषणा की. शरीफ ने कहा कि पत्रकार समाज का जीवंत हिस्सा हैं और यह सरकार की जिम्मेदारी है कि उन्हें सुरक्षित माहौल मुहैया कराए.

Concern regarding this article “आसाराम की घटिया हरकतों पर बना ‘बिरहा’ पूर्वी यूपी और बिहार में मशहूर होने लगा (सुनें)”

Dear Yashwant ji,

I am big fan of your's articles and first time sending you mail having some concerns regarding your article '' आसाराम की घटिया हरकतों पर बना 'बिरहा' पूर्वी यूपी और बिहार में मशहूर होने लगा (सुनें) http://bhadas4media.com/article-comment/18478-birha-asaram-kand.html ''.

रोबोट पत्रकार की लिखी खबर छापने वाला पहला अखबार बना ‘दी लास एंजिल्स टाइम्स’

पत्रकारिता के क्षेत्र में क्रांतिकारी प्रयोग किया है अमेरिका के एक अखबार 'दी लास एंजिल्स टाइम्स' ने. किसी रोबोट पत्रकार और लेखक द्वारा लिखी गई खबर को छापने वाला यह पहला अखबार बन चुका है. रोबोट पत्रकार और लेखक बनने का प्रोग्राम विकसित किया है पत्रकार और प्रोग्रामर केन श्वेन्के ने. इन्होंने ऐसा प्रोग्राम विकसित किया है जो भूकंप आने की स्थिति में तुरंत स्वचालित रूप से एक छोटा लेख लिख देता है. रोबोट पत्रकार ने जो पहली खबर लिखी है, वह भूकंप के बारे में ही है.

सोशल मीडिया में चुनावी विज्ञापन जारी करने से पहले चुनाव आयोग की अनुमति लें

नयी दिल्ली : राजनीतिक दलों द्वारा आगामी लोकसभा चुनाव में प्रचार के लिए ट्विटर और फेसबुक जैसी सोशल नेटवर्किंग साइट के इस्तेमाल के बीच चुनाव आयोग ने आज ऐसे मंचों पर राजनीतिक विज्ञापनों के लिए विस्तृत दिशानिर्देश जारी किये। इनमें सोशल मीडिया पर चुनाव प्रचार से जुड़ा कोई भी विज्ञापन अपलोड करने से पहले आयोग से अनुमति हासिल करना शामिल है.

गुरुजी, काशीनाथ सिंह जी के नाम खुला पत्र

गुरुजी नमस्कार !  बीबीसी में आपका साक्षात्कार पढ़ा. पहले तो विश्वास ही नहीं हो रहा था. फिर सोचा, इन सालों के दौरान तो बहुत कुछ बदल चुका है. आप भी बदल गये होंगे. लेकिन इन सालों के दौरान भी तो आपसे यदा-कदा भेंट होती रही. इतने बदल चुके होंगे आप? ऐसा तो कभी लगा नहीं. 

काशीनाथ सिंह ने सहज भाव में अपनी प्रतिक्रिया दी और हम उन पर टूट पड़े

Avinash Das : हल्‍ला काफी था और काशीनाथ सिंह पर हमला भी फेसबुक पर कई जगह दिख रहा था। मैंने बीबीसी पर बाबा का बयान बड़े गौर से सुना। उन्‍होंने एक बार भी नहीं कहा है कि वे मोदी का समर्थन कर रहे हैं या कि बनारसवालों को मोदी के पक्ष में वोट करना चाहिए। वे अपने शहर का मिजाज बता रहे थे। साथ ही कमलापति त्रिपाठी के बाद बनारस पर राष्‍ट्रीय राजनीति की उपेक्षित निगाह के बारे में संवाददाता को अपनी फौरी प्रतिक्रिया दे रहे थे।

केजरीवाल और ‘आप’ को लेकर फिर खुली Zee News, India News और India TV की बायस्ड पत्रकारिता की पोल

Sheetal P Singh : TOI की आज दिल्ली edition की रिपोर्ट के अनुसार Delhi high court ने "आप" के ख़िलाफ़ दायर ML Sharma नाम के वक़ील की PIL पर पार्टी के खातों को ज़ब्त करने या उपयोग रोकने से इन्कार कर दिया। साथ ही केजरीवाल और शान्तिभूषण द्वारा किसी जवाब की आवश्यकता को नकार दिया। कोर्ट ने कहा कि हमने इन लोगों को जवाब देने का नोटिस ही नहीं दिया था, सिर्फ़ सरकार से जवाब माँगा है।

वह बेबस रण्डी नहीं, वाकई रणचण्डी निकली

: इस कॉल-गर्ल के तेवरों में है स्त्रीसशक्तिकरण का असली मन्त्र : अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस की उत्तर-कथा : सिकुची औरत छिनार हो जाती है, जबकि सतर्क वेश्या बन जाती है, अधिकार और आत्म-सम्मान सम्पन्न श्रमिक : एक बड़े होटल में इस महिला को तीन भेडि़यों ने रात भर नोंचा : इस मेहनत को रंडी कह कर पीटा गया, तो औरत ने कीमत वसूल ली : नेता जी उस औरत को बेबस समझ कर रण्डी कहा, लेकिन जब उसने तेवर दिखाये तो सरेआम उसका पैर छुआ और बहन कह कर माफी मांगी :

लखनऊ : पत्रकारों की नुमाइंदगी के लिए अभी से भिड़े हेमन्त और कलहंस

: चुनावी दौर में देवरानी-जेठानी के 'रिश्ते' आखिरी दहलीज तक पहुंचे : हेमन्त को तगड़ी चोट देने पर आमादा है कलहंस खेमा : लखनऊ : बेशुमार विवादों से घिरी यूपी मान्यताप्राप्त पत्रकार समि‍ति की नई कार्यकारिणी के चुनाव की भागा-दौड़ी अब तेजी पकड़ती जा रही हैं। साथ ही भनाभन साजिशें, पटका-पटकी। अरे नहीं यार, खुलेआम नहीं, बिलकुल चुपचाप। तो आइये, इसी मसले पर थोड़ा चकल्लस किया जाए। हुआ यह कि समिति चुनाव में मुखिया के पद के लिए अब वो दो बड़े लोग दावेदार हो गये हैं, जो पिछले चुनाव में एक-दूसरे के कटोरी-चम्मच बन गये थे।

आलोक तोमर छात्र फेलोशिप की घोषणा, IIMC के विवेकानंद और मीना को मिली पहली फेलोशिप

नई दिल्ली, १९ मार्च : मूर्धन्य पत्रकार स्वर्गीय आलोक तोमर की याद में पहली बार भारतीय जनसंचार संस्थान (आई.आई.एम.सी) के पत्रकारिता के दो विद्यार्थियों को फेलोशिप दी जा रही है।  यह फेलोशिप हिंदी पत्रकारिता के छात्र विवेकानंद सिंह और प्रसारण पत्रकारिता की छात्र मीना को दी जा रही है। इसके तहत इन विद्यार्थियों को इक्कीस हजार रूपये का चेक प्रदान किया जायेगा।

सलमान की फिल्म में नज़र आएंगे ‘फाइनेन्शियल टाइम्स’ के मुंबई ब्यूरो चीफ

लंदन बेस्ड 'फाइनेन्शियल टाइम्स' के मुंबई ब्यूरो चीफ जेम्स क्रैबट्री बॉलीबुड में धमाकेदार ऐन्ट्री करने जा रहे हैं। जेम्स सलमान खान की आने वाली फिल्म 'किक' में नज़र आएंगे। खबर है कि फिल्म निर्माता साजिद नादियादवाला ब्रिटिश डिप्लोमैट के रोल के लिए एक नया चेहरा तलाश रहे थे, तो फिल्म के स्क्रिप्ट राइटर चेतन भगत ने अपने दोस्त जेम्स का नाम सुझा दिया। बॉलीवुड फिल्मों के प्रशंसक जेम्स ने साजिद के ऑफर को तुरन्त स्वीकार कर लिया। फिल्म में सलमान की प्रेमिका के पिता का रोल निभा रहे जेम्स को बस एक बात का अफसोस है कि फिल्म में उनका सलमान के साथ कोई सीन नही है।

मीडिया नकारात्मक के साथ सकारात्मक खबरों को भी स्थान देः दौसा पत्रकार कार्यशाला

गुरूवार को दौसा में आयोजित राजस्थान मीडिया एक्शन फोरम की राज्य स्तरीय पत्रकार कार्यशाला में विधायक शंकरलाल शर्मा ने समाज में मीडिया की भूमिका को रेखांकित करते हुए कहा कि मीडिया की समाज के उत्थान में अहम भूमिका है। मीडिया जिस तरह से नकारात्मक खबरें प्रकाशित करता है उसी तरह से सकारात्मक खबरों को भी स्थान देना चाहिए। उन्होने कहा इसमें कोई दो राय नही है कि मीडिया समाज का सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण स्तम्भ है। पत्रकार कार्यशाला के मुख्य वक्ता वरिष्ठ पत्रकार वीर सक्सेना ने मीडिया, राजनीति और औधोगिक विकास विषय पर चर्चा करते हुये कहा कि मीडिया को सभी स्तर पर संतुलन बनाये रखने की जरूरत है।

नेपाल में भोजपुरी का चलन लंबे संघर्ष का परिणाम है

“इतिहास हमें सिखाता है कि किसी देश को बर्बाद करना है तो सबसे पहले वहां की मातृभाषा को नष्ट कर दो. शायद जर्मनी, चीन, फ्रांस व जापान के लोग इस हकीकत से अच्छी तरह वाकिफ थे। इसलिए उन्होंने अपनी मातृभाषा को मरने नहीं दिया। मातृभाषा का मतलब महज कुछ शब्द भर नहीं, यह हमारी पहचान, हमारा अभिमान और हमारी एकता का प्रतीक है। सही भी है कोई भी इंसान अपनी सभ्यता व संस्कृति को नजरंदाज कर एक अच्छा लेखक या कलाकार नहीं बन सकता।” विदेशी अस्पताल की गैलरी में एक कोने पर सूचना बॉक्स में चिपकाए गए इस कतरन को पढ़ नजरें उस ओर ठहर गई। उपरोक्त चंद पंक्तियां लेबनान की कवियित्री व सामाजिक कार्यकर्ता सुजैन टोलहॉक के स्तम्भ से ली गई है, जो 12 जनवरी वर्ष 14 को ‘हिन्दुस्तान’ अखबार के संपादकीय पृष्ठ पर छपा था।

इस देश में कौन सांप्रदायिक नहीं है?

संसद औऱ सड़क पर “सांप्रदायिक” शब्द बार-बार उछाला जाता रहा है। जब भी यह आवाज उठती है, चर्चा-ऐ-आम हो उठती है और आबोहवा के गर्म हो जाने का खतरा पैदा हो जाता है। कांग्रेस हो या भाजपा, सपा हो बसपा हो या राजद, सभी ने इस शब्द का इस्तेमाल अवश्य किया है। सियासी चालों मे इसका प्रयोग किया जाना भले ही सियासत के लिये मजबुरी हो लेकिन रियाया के स्वास्थ्य के लिये खतरनाक वायरस ही साबित हुआ है। धर्म व सम्प्रदाय की राजनीति नहीं करने का दावा देश के सभी राजनैतिक दल करते हैं। इस दावे के आधार पर ऐसा कोई भी राजनीतिक दल नहीं है जो सेक्यूलर न हो। इन सब दावों के बावजूद हिन्दूस्तान मे धर्म और सम्प्रदाय की सियासत बढ़ती ही जा रही है।

क्या यह चार विवादग्रस्त चैनलों के लिए पूरे टीवी समुदाय का ‘बदला’ है?

Om Thanvi : परसों जब बेंगलुरु में केजरीवाल जनसभा कर रहे थे, वरिष्ठ पत्रकार और राज्यसभा टीवी के संजीदा एंकर गिरीश निकम Girish Nikam ने दिल्ली में राष्ट्रीय टीवी चैनलों पर एक दिलचस्प नजारा देखा: केजरीवाल से चैनल शायद हिसाब चुकता कर रहे थे। निकम लिखते हैं कि केजरीवाल बेंगलुरु में कोई एक घंटे बोले (जहाँ बनारस से लड़ने की हुंकार भी भरी), उस जमावड़े को केवल दो चैनल लाइव दिखा रहे थे – ABP News और Headlines Today ।

मप्र में आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन, शिकार करते पकड़ा गया अभिनेता सैफ अली का रिश्तेदार

भोपाल के नबाब खानदान से ताल्लुक रखने वाले और होटल Imperial Sabre के मालिक सईदुल्ला खान के बेटे साद खान, जो राष्ट्रीय स्तर का शूटिंग खिलाड़ी भी हैं, को सोमवार की रात सीहोर जिले के गांव कतपोन के पास, दुर्लभ काले हिरण और राष्ट्रीय पक्षी मोर का शिकार करते हुए ग्रामीणों ने रंगे हाथों पकड़ लिया। साद खान और उसके दो साथियों मो. उवेस और निशाद खान के पास से दो जर्मन मेड टेलिस्कोपिक बंदूके तथा पाईन्ट 270 के कारतूस भी बरामद किए गए।

किसी अपने के बिना होली ही नहीं बाकी जिंदगी भी बेरंग होती है

फाग़ के दिनों में राजेन्द्र सिंह बेदी की फिल्म ‘फागुन’ याद आती है। फागुन, गोपाल(धर्मेन्द्र) एवं शांता दामले(वहीदा रहमान) के पति-पत्नी के मार्मिक रिश्ते की कहानी हैं। बेमेल शादी के पहलुओं से परिचित कराती यह कथा प्रेम में बंध कर भी तृष्णा की विडम्बना को दर्शाती है। प्यार अंधा होता है। वो किसी बंधन-अवरोध को नहीं जानता। धनवान शांता निर्धन गोपाल से प्रेम करती है, परिवार की इच्छा के खिलाफ दोनों शादी कर लेते हैं। विवाह बाद गोपाल पत्नी को छोड़ शहर चला जाता है। दिनों बाद होली के त्योहार पर घर पर लौटा है, रंगों की दुनिया में अपना कोई रंग तलाशने। पत्नी से रंग खेलने की हट में होली के रंग उस पर डाल कर नाराज़ कर देता है। रंगों के त्योहार में कपड़ा खराब हो जाने का ख्याल बहुत कम रहता है। इस डर में खेली होली बेरंग सीमाओं को तोड़ नहीं पाती। कीमती साड़ी खराब होने पर शांता काफी नाराज़ है, वह गोपाल को दो टूक कहती है ‘जब आप कीमती साड़ी खरीद नहीं सकते, फ़िर इसे खराब करने का अधिकार भी नहीं होता’। शांता के व्यवहार से पीड़ित ‘गोपाल’ तिरस्कार का बोध लिए घर छोड़ देता है। पर वह यह नहीं समझ पाया कि शांता ने उसका अपमान क्यूं किया होगा, पत्नी के खराब व्यवहार की वजह जाने बिना वो चला गया। दरअसल बेटी की बेमेल शादी से दुखी माता-पिता को खुश करने के लिए शांता ने यह नाटक किया था। लेकिन इस कोशिश में पति खफा हो गया। कपड़ा भले ही बहुत कीमती रहा हो लेकिन पति-पत्नी के रिश्ते से कीमती नहीं था। वो अपने प्रेम पर कायम रह सकती थी…उससे एक गलत निर्णय की भूल हो चुकी है।

बिजनौर प्रेस क्लब होली मिलन समारोह में पत्रकार सहायता कोष का गठन

बिजनौर प्रेस क्लब द्वारा आपसी सौहार्द बढ़ाने के उद्देश्य से होली मिलन समारोह का आयोजन किया गया। ऐजाज अली हाल की लाइब्रेरी में आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ पत्रकार वीरेश बल ने की व संचालन मरगूब रहमानी ने किया। इस मौके पर प्रेस क्लब के अध्यक्ष ज्योति लाल शर्मा ने पत्रकार साथियों से मिले सुझाव के आधार पर पत्रकार साथियो की विषम परिस्थितियों में सहायता के लिए पत्रकार सहायता कोष के गठन की घोषणा की और पहल करते हुए पांच हजार देने की बात कही। इस कोष में कई साथियो ने सहयोग की इच्छा जताई और कोष का धन वरिष्ठ साथियो की देखरेख में दिए जाने का निर्णय लिया गया ताकि धन का दुरूपयोग न हो सके।

पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी के पिता मणिकांत बाजपेयी का निधन

जाने-माने टीवी जर्नलिस्ट और आजतक न्यूज चैनल में वरिष्ठ पद पर कार्यरत पुण्य प्रसून बाजपेयी के पिता मणिकांत बाजपेयी का गाजियाबाद में आज निधन हो गया. वो 77 बरस के थे. श्री मणिकांत बाजपेयी अल्झाइमर रोग से पीड़ित थे. उनका 2011 से इस रोग का इलाज चल रहा था. श्री मणिकांत बाजपेयी दिल्ली में इंडियन इनफारमेशन सर्विस में हुआ करते थे. वे पीआईबी में डीपीआईओ के पद पर कार्यरत रहे. वे आल इंडिया रेडियो में न्यूज एडिटर के रूप में पदस्थ रहे. सन 1975 में इमरजेंसी के वक्त उनका ट्रांसफर पहले रांची फिर दो साल बाद पटना के लिए कर दिया गया था.

‘आप’ नेता आशुतोष को जब चांदनी चौक इलाके में जन विरोध देख भागना पड़ा (देखें वीडियो)

पत्रकार से नेता बने आशुतोष को अब राजनीति की कड़वी सच्चाइयों से रूबरू होना पड़ रहा है. वे पिछले दिनों चांदनी चौक इलाके में चुनाव प्रचार के उद्देश्य से पहुंचे तो उन्हें एक जगह कुछ भाजपाई-कांग्रेसी किस्म के लोगों ने घेर लिया. स्थानीय समस्याओं पर बात करते-करते ये लोग आशुतोष को जलील करने पर उतारू हो गए. ऐसे में आशुतोष ने माहौल भांपकर वहां से निकलना उचित समझा. आशुतोष भीड़ से हटकर आगे जाने लगे और उनके पीछे पीछे भीड़ आशुतोष और केजरीवाल के खिलाफ नारे लगाते हुए आगे बढ़ने लगी. इसी बीच एक आम आदमी पार्टी कार्यकर्ता वहां स्कूटर से आया और आशुतोष को बिठाकर वहां से नौ-दो ग्यारह हो गया.

आधुनिक समाज खुल कर भावनाएं व्यक्त करने से रोक रहा है : थॉमस शेफ

Sanjay Sinha : आधुनिक समाज लोगों को खुल कर भावनाएं व्यक्त करने से रोक रहा है। इससे रिश्ते टूट रहे हैं और समाज में हिंसा बढ़ रही है। ब्रिटेन के जानेमाने समाजशास्त्री थॉमस शेफ ने अपने कई वर्षों के अनुभव के बाद ये दावा किया है। उनके मुताबिक आज समाज में ऐसे लोगों को पसंद किया जाता है, जो अपनी भावानाएं व्यक्त नहीं करते।

नरेंद्र मोदी गच्चा खा गए राजनाथ सिंह से!

भाजपा के पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने ढुंढ़ाई तो बहुत की मगर बाबू राजनाथ सिंह से गच्चा खा गए। खुद तो राजनाथ लखनऊ ले गए और मोदी को दिलवा दी वाराणसी। लखनऊ भाजपा की परंपरागत सीट है। और १९९१ से लगातार वहां भाजपा ही जीत रही है। भाजपा के लिए सबसे मजबूत सीट तो गोरखपुर है जहां 1989 से गोरख मठ का कब्जा है। पहले हिंदू महासभा और फिर भाजपा।

भाजपा का नया रेडियो विज्ञापन : दिमागी दिवालिएपन का खुल्लम-खुल्ला प्रदर्शन

Sanjaya Kumar Singh : भाजपा का नया विज्ञापन सुना आप लोगों ने। मजेदार है। दिमागी दिवालिएपन का खुल्लम-खुल्ला प्रदर्शन। रेडियो पर आ रहे इन दो अलग-अलग विज्ञापनों में भ्रष्टाचार और महंगाई भारतवासियों को फोन करके बता रहे हैं कि ‘वो’ (उत्तर भारत में पति के लिए प्रचलित है पर इस विज्ञापन में मोदी के लिए प्रयोग किया गया है) आ रहे हैं। इसलिए इन दोनों को भारत छोड़ना पड़ेगा।

आसाराम की घटिया हरकतों पर बना ‘बिरहा’ पूर्वी यूपी और बिहार में मशहूर होने लगा (सुनें)

पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार के इलाके में बिरहा एक ऐसी गायन शैली है जिसमें किसी एक पौराणिक या सामाजिक या सम-सामयिक घटनाक्रम को कथा के रूप में शुरू से लेकर अंत तक सविस्तार सुनाया जाता है और इस दौरान विविध किस्म के धुनों, गानों, कोरस का सहयोग लिया जाता है. आसाराम कांड भी अब बिरहा का हिस्सा बन गया है.

‘जी न्यूज’ के अलावा ‘न्यूज नेशन’ पर भी धोनी ने मुकदमा ठोंका है

खबर है कि महेंद्र सिंह धोनी ने सिर्फ जी न्यूज पर ही नहीं बल्कि न्यूज नेशन चैनल पर भी मानहानि का मुकदमा किया है. इन दोनों न्यूज चैनलों के अलावा सस्पेंडेड आईपीएस आफिस जी. संपथ कुमार पर भी मानहानि का मुकदमा किया है. कुल सौ करोड़ रुपये का मानहानि का मुकदमा किया है.

‘खबर भारती’ चैनल और पोर्टल बंद, सैकड़ों बेरोजगार

'खबर भारती' नामक एक न्यूज चैनल बंद हो गया है. इस चैनल का न्यूज पोर्टल भी बंद हो चुका है. न्यूज पोर्टल 'खबरभारती.टीवी' खोलने पर लिखा मिलता है कि नान-पेमेंट के कारण इसे बंद कर दिया गया है. यह पोर्टल अपडेट नहीं हो रहा है. आखिरी खबर मंडेला के मरने पर दुनिया भर में शोक की लहर से संबंधित है. खबर भारती न्यूज चैनल के दम तोड़ देने से सैकड़ों मीडियाकर्मी बेरोजगार हो गए हैं.

जिया न्यूज की महिला पत्रकार के साथ छेड़छाड़ के मामले में चार लोग गिरफ्तार

मुंबई में जिया न्यूज टेलीविजन चैनल में काम करने वाली एक महिला पत्रकार के साथ छेड़छाड़ करने तथा कैमरामैन की पिटाई करने के मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया, ''हमने चार लोगों को गिरफ्तार किया है. करीब 30 से 40 लोग अभी वांछित हैं.''

घटिया और गलत खबर दिखाने पर जी न्यूज के खिलाफ नवीन जिंदल पहुंचे चुनाव आयोग

खबर है कि नवीन जिंदल ने जी न्यूज के खिलाफ चुनाव आयोग में शिकायत की है. उन्होंने खुद के बारे में लगातार बकवास, झूठी, भ्रामक खबरों के प्रसारण के चलते ऐसा कदम उठाया है. कांग्रेसी नेता और संसद सदस्य नवीन जिंदल उद्योगपति भी हैं और जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड के चेयरमैन हैं. नवीन जिंदल ने जी न्यूज पर कोड आफ कंडक्ट के उल्लंघन का आरोप लगाया है.

धोनी से जुड़ी निगेटिव खबरें नहीं दिखा पाएगा जी न्यूज

मद्रास हाईकोर्ट में महेंद्र सिंह धोनी ने सौ करोड़ रुपये का जो मानहानि का केस दायर किया है, उसके तहत एक सुनवाई के दौरान कोर्ट ने धोनी को अंतरिम राहत दी है. कोर्ट ने जी न्यूज को आदेश दिया है कि फैसला आने तक वह धोनी को लेकर कोई निगेटिव खबर चैनल पर न दिखाए.

जी न्यूज पर धोनी ने किया सौ करोड़ रुपये की मानहानि का मुकदमा

बड़ी खबर आ रही  है. जी न्यूज पर मानहानि का मुकदमा महेंद्र सिंह धोनी ने किया है. धोनी के खिलाफ जी न्यूज पर कई अनाप-शनाप खबरें दिखाई गई थीं. खासकर मैच फिक्सिंग को लेकर धोनी को संदेह के दायरे में जी न्यूज ने घोषित कर दिया था. इसको लेकर कई प्रोग्राम जी न्यूज पर चलाए गए.

बीएन मण्डल विवि के कुलपति ने हिन्दुस्तान के पत्रकार से मार-पीट की, कैमरा छीना

बिहार के मधेपुरा स्थित बीएन मण्डल विश्वविद्यालय के कुलपति आरएन मिश्रा ने हिन्दुस्तान संवाददाता संजय परमार को अपमानित कर उसका कैमरा छिन लिया। इस सिलसिलेमें मधेपुरा सदर थाना में दोनों ओर से प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। कुलपति के आदेश से संजय परमार पर परीक्षा की गोपनीयता भंग करने तथा अवैध प्रवेश करने का आरोप लगाया गया है। जबकि पत्रकार के द्वारा दर्ज़ कराई गई प्राथमिकी में  कुलपति पर पत्रकार से गाली-गलौच, मार-पीट, धमकी देने और कैमरा छीन लेने का आरोप लगाया गया है।

क्या वाकई रजत शर्मा ने इमरजेंसी के दौरान थाने में टार्चर सहा और जेल गए?

अरविंद केजरीवाल को झूठा बताने वाले रजत शर्मा खुद झूठ में उलझ गये हैं. इंडिया टीवी पर 14 मार्च को प्रसारित 9 बजे के कार्यक्रम “आज की बात” में रजत शर्मा ने अरविंद केजरीवाल के कई पेंच खोलने की कोशिश की. बुखार होने और बीमार होने के बाद भी रजत शर्मा ने पत्रकारिता के प्रति अपनी प्रतिबद्धता साबित करने के लिये 14 मार्च का कार्यक्रम एंकर किया. लेकिन कार्यक्रम के अंत में रजत शर्मा ने जो दावा किया, अब वह दावा सवालों के घेरे में है. रजत शर्मा का यह कार्यक्रम हर रोज दिखाया जा रहा है.

राजीव नयन बहुगुणा की बांसुरी और माधो दास की उदासीनता (देखें दो वीडियो)

Yashwant Singh : माधो दास जी उदासीन क्यों हैं? ये मैंने जाना उनके एक दिनी दिल्ली प्रवास के दौरान. तब ठीकठाक सर्दियों के दिन थे. फेसबुक से शुरू हुई दोस्ती दिल्ली में मुलाकात के बाद और प्रगाढ़ हुई. एक दूसरे के मन-मिजाज को नजदीक से जानने का मौका मिला. माधो दास जी उदासीन संप्रदाय से जुड़े हुए हैं. भिक्षाटन करके भोजन करते हैं.

देवरिया के एक्सईएन विद्युत और बीएसए के खिलाफ अलग अलग मामलों में एफआईआर

देवरिया। करन्ट लगने से एक किशोर की मौत हो जाने के मामले में बिजली विभाग के अधिशासी अभियन्ता सहित चार लोगों के खिलाफ 11 मार्च को पुलिस थाने में गैर ईरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। घटना के सम्बन्ध में पुलिस अधीक्षक डॉ. एस चनप्पा ने को बताया कि रामप्रभंस पुत्र जंगली चैहान निवासी वार्ड नं. 09, परशुराम धाम, जनपद देवरिया द्वारा सूचना दी गई कि बिजली विभाग की लापरवाही के कारण विद्युत तार टूटने से उसमें प्रवाहित करन्ट की चपेट में आने से उसका लड़का सोनू उम्र 20 वर्ष की मृत्यु हो गयी। उन्होने बताया कि इस सम्बन्ध में मृतक के परिजनों की तरफ से मिली तहरीर के आधार पर थाना सलेमपुर में मुकदमा दर्ज कर अधिशासी अभियन्ता उपखण्ड सलेमपुर, जेई विद्युत, सलेमपुर, शहर लाइनमैन सलेमपुर और एसडीओ सलेमपुर के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर विवेचना की जा रही है।

केजरीवाल को मैत्रेयी पुष्पा का खुला ख़त : भय के मारे लोग अरविंद को भगोड़ा, कायर और बेईमान कहकर भड़ास निकाल रहे हैं

प्रिय अरविन्द (केजरीवाल),

मेरा तुम से कोई संपर्क नहीं था, सम्बन्ध की तो नौबत ही कहाँ से आती? अचानक जनवरी की अंतिम तारीखों में मेरा नाम तुम्हारे कैबिनेट की ओर से आया जो मीडिया ने बड़ी मुस्तैदी से दो दिन तक चैनलों पर चलाया। जितना कुछ मुझे मालुम था, उससे कई गुना ज्यादा प्रचार में आ रहा था और य