पत्रकार काजमी के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल

 

नई दिल्ली। इजरायली राजनयिक पर हुए हमले के मामले में पुलिस की स्पेशल सेल ने मंगलवार को पत्रकार सैयद मोहम्मद काजमी के खिलाफ तीस हजारी अदालत में चार्जशीट दाखिल कर दी। तकरीबन साढ़े पांच सौ पन्नों की चार्जशीट में पुलिस ने केवल काजमी को आरोपी बनाया है। इसके अलावा इस मामले में शामिल कई ईरानी नागरिकों को संदिग्धों की सूची में डाला है। पुलिस की अर्जी पर सुनवाई के बाद सीएमएम विनोद यादव की अदालत ने संदिग्धों से पूछताछ में सहयोग के लिए ईरान, जॉर्जिया, मलेशिया, बैंकाक समेत कई देशों को पत्र जारी किए हैं। 

टैम पर फिक्सिंग का आरोप, एनडीटीवी ने किया मुकदमा

टीआरपी को लेकर काफी समय से सवाल उठते रहे हैं. आलोचक पहले भी टीआरपी की विश्‍वसनीयता पर संदेह करते रहे हैं. अब खुद चैनल वाले टैम की विश्‍वसनीयता पर सवाल उठा रहे हैं. ताजा आरोप एनडीटीवी इंडिया ने लगाया है. एनडीटीवी प्रबंधन ने टैम को कोर्ट में घसीटा है. टैम पर आरोप लगाया गया है कि पैसे लेकर इस संस्‍था ने टीवी रेटिंग में फेरबदल किया है. यह मुकदमा न्‍यूयार्क स्‍टेट ला के तहत अमेरिका में दायर किया गया है. चैनल पिछले आठ सालों (2004-12) में टैम द्वारा जारी रिपोर्ट व्‍यूअरशिप डाटा से खुश नहीं है. एनडीटीवी ने निल्‍सन और कंटर मीडिया पर मुकदमा किया है. उल्‍लेखनीय है कि इंडिया में टीआरपी मापने वाली टैम इंडिया इंन्‍हीं दोनों कंपनियों का संयुक्‍त वेंचर है. 

मु्गलसराय में तेल माफियाओं ने मीडियाकर्मियों पर हमला किया, मामला दर्ज

: दो आरोपियों की हुई गिरफ्तारी : मुगलसराय से खबर है कि एक घटना का कवरेज करने पहुंचे मीडियाकर्मियों की तेल माफियाओं ने जमकर धुनाई की. इतने से भी मन नहीं भरा तो पत्रकारों को दौड़ा दौड़ा कर पीटा गया. पीटे जाने से नाराज पत्रकार अलीनगर थाना पहुंच कर धरना दिया. पत्रकारों के पीटे जाने की खबर सुनकर डीएम व एसपी भी मौके पर पहुंचे. पत्रकारों की तहरीर पर पुलिस ने मामला दर्ज कर दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. मामले की जांच की जा रही है. 

चार महीने के बकाए वेतन को लेकर हमार एवं फोकस टीवी के कर्मी भी आंदोलित

: महीनों से ब्‍लैक आउट चल रहे हैं समूह के चैनल : पटना कार्यालय पर ताला लगा : महुआ न्‍यूज लाइन के बाद अब पहले से ही बदहाल चल रहे मतंग सिंह के फोकस टीवी और हमारा टीवी के कर्मचारी भी बगावत पर उतर गए हैं. इन लोगों को मार्च के बाद से सैलरी नहीं मिली है. समूह के सारे चैनल भी लम्‍बे समय से ब्‍लैक आउट चल रहे हैं. चैनल क्‍यों चल रहा है और क्‍यों चलाया जा रहा है, ये भगवान को भी नहीं पता है. बैंक भी रिकवरी आदेश निकाल चुका है. खबर है कि अब दोनों चैनलों के लगभग सौ कर्मचारी प्रबंधन से वेतन की मांग को लेकर आंदोलन की रणनीति तैयार कर रहे हैं. 

बरेली में आई नेक्‍स्‍ट के फोटोग्राफर टोनी समेत कई पर मामला दर्ज

 

बरेली के सदर थाने में आई नेक्‍स्‍ट के कई लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है. यह मुकदमा बरेली में कांग्रेस के मेयर पद के प्रत्‍याशी एडवोकेट अमजद सलीम ने दर्ज कराई है. पुलिस ने आई नेक्‍स्‍ट के एक अज्ञात अधिकारी, फोटोग्राफर टोनी तथा कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. मामले की जांच की जा रही है. इस एफआईआर के बाद से ही जागरण समूह के इस वेंचर के लोगों में हड़कम्‍प मचा हुआ है. 

महुआ प्रबंधन ने मानी गलती, सौ फीसदी मांग कबूल

 

महुआ न्यूज़लाइन के पत्रकारों की लड़ाई जीत की तरफ है। हो सकता है देर रात तक ये ख़बर मिले कि उनकी सौ फीसदी मांगें मान ली गई हैं। प्रबंधन के दूत ने धरने पर बैठे पत्रकारों के बीच डेढ़ बजे दिन में इसका ऐलान किया है। प्रबंधन ने अपनी तरफ से हुई किसी भी गलती के लिए बिना शर्त खेद जाहिर किया और कहा कि हम चाहते हैं कि हर गतिरोध आज दूर हो जाए और आपकी मांग हमने स्वीकार करने का फैसला किया है। जिसके बाद महुआ न्यूजलाइन के पत्रकारों ने इसका स्वागत किया। लेकिन ये भी साफ कर दिया कि जब तक बकाए वेतन की राशि अकाउंट में कैश नहीं होती न्यूज़रूम में उनका सांकेतिक धरना जारी रहेगा। और उनकी तरफ से ऐसा कुछ नहीं होगा जिससे परिसर में चल रहे महुआ समूह के बिहार में नंबर वन चैनल हुआ न्यूज़ बिहार-झारखंड के प्रसारण में कोई दिक्कत नहीं हो।

हिंदुस्‍तान विज्ञापन घोटाला : हिंदुस्‍तान विज्ञापन घोटाले का मास्‍टरमाइंड कौन?

मुंगेर। विश्व के अब तक के सनसनीखेज दैनिक हिन्दुस्तान विज्ञापन घोटाले में बिहार के पुलिस अधीक्षक पी0 कन्नन के निर्देशन में उपाधीक्षक अरूण कुमार पंचालर ने जो पर्यवेक्षण -टिप्पणी समर्पित की है. उस पर्यवेक्षण-टिप्पणी की पृष्ठ संख्या-03 ने विश्व के समक्ष उजागर कर दिया है कि भारत सरकार और बिहार सरकार सहित अन्य राज्यों के खजानेको लूटने के लिए भारत का कारपोरेट प्रिंट मीडिया किस हद तक नीचे गिर सकता है, मीडिया हाउस किस हद तक जालसाजी, फरेबी और धोखाधड़ी कर सकता है? हम यह भी कह सकते हैं कि भारत सरकार और राज्य सरकारों के खजाने को बुद्धि से लूटने के हथकंडे भारत के इन कारपोरेट प्रिंट मीडिया घराने से सीखने की दूसरों को जरूरत है।

अन्‍ना ने मीडिया से बदसलूकी के लिए माफी मांगी

 

जनलोकपाल आंदोलन के समर्थकों द्वारा मीडिया के साथ हुई बदसलूकी के लिए अन्‍ना हजारे ने मीडिया से हाथ जोड़कर माफी मांगी है. अन्‍ना ने कहा कि मीडिया के साथ जिस तरीके से बदसलूकी की बात सामने आई है वह निंदनीय है और इसके लिए हम माफी मांगते हैं. साथ ही अन्‍ना ने कहा कि अगर फिर से मीडिया के साथ किसी तरीके की बदसलूकी हुई तो वह अपना अनशन यही खत्‍म कर देंगे.

महुआ ग्रुप की इमोशनल ब्लैकमेलिंग : आंदोलनरत पत्रकारों का दो टूक जवाब

 

महुआ न्यूज़लाइन के पत्रकारों के आंदोलन का दूसरा दिन यादगार रहा। न्यूज़रूम में अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे पत्रकारों ने अपनी धार और तेज़ कर दी है। सोमवार को पूरे दिन आंदोलनरत पत्रकार ज़मीन पर बैठे थे और वे इस बात अड़े थे कि किसी भी स्तर की बातचीत न्यूज़रूम में सबके बीच होगी। प्रबंधन के दूतों ने पूरी कोशिश की कि पत्रकारों के प्रतिनिधि बंद कमरे में महुआ समूह की वर्तमान प्रमुख मीना तिवारी से बात करें। लेकिन आर-पार की लड़ाई लड़ रहे पत्रकारों ने इससे साफ इनकार कर दिया। आखिरकार प्रबंधन को झुकना पड़ा।

मुझ पर दबाव बनवाने के लिए भिजवाया गया नोटिस : अर्चना यादव

अनिल त्रिपाठी और सतीश प्रधान द्वारा विगत कई दिनों से उनके द्वारा की गयी छेड़खानी का विरोध एवं दर्ज मुकदमा वापस लेने हेतु अनेक प्रकार से मेरे ऊपर मानसिक दवाब बनाया जा रहा था. जब मेरे द्वारा मुकदमा वापस नहीं लिया गया तो दिनांक 30 जुलाई 2012 को मेरे निवास पर किसी रेहान मुबस्सिर एडवोकेट से मुझे नोटिस भिजवाया गया, जिसमें किन्हीं आसिफ राजा जाफिरी, विजय शर्मा, सचिदानंद गुप्ता उर्फ़ सच्चे व हिसामुल सिद्दीकी पर ये आरोप लगाया गया है कि उन्होंने मुझे एक मोटी रकम दी है. 

अन्‍ना समर्थकों का मीडिया पर हमला, बीईए ने माफी मांगने को कहा

 

नई दिल्ली। टीम अन्ना के वरिष्ठ सदस्य शांति भूषण द्वारा मीडिया पर पक्षपात का आरोप लगाने के बाद भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई ने एक नया मोड़ ले लिया है। शांति भूषण के बयान के बाद अन्‍ना समर्थकों ने मीडियाकर्मियों से बदसलूकी की तथा नारे लगाए। इसके बाद से अब लड़ाई टीम अन्ना और मीडिया के बीच भी होती दिखाई दे रही है। 

बीच रास्‍ते में नहीं छोड़ सकता अपनी टीम को : राणा यशवंत

  महुआ न्यूज़ के समूह संपादक राणा यशवंत के न्यूज़ 24 जाने की ख़बरें हर तरफ चर्चा में हैं। लेकिन महुआ न्यूज़लाइन के आंदोलनरत पत्रकारों को संबोधित करते हुए राणा यशवंत ने कहा कि ऐसे वक्त में जब हमारी पूरी टीम मुश्किल में है मैं इन्हें बीच रास्ते में नहीं छोड़ सकता। उन्होंने दो टूक …

असम के चैनल ने आरोप लगाने वाले संगठनों के खिलाफ दर्ज कराई प्राथमिकी

 

असम के गुवाहाटी में एक युवती के साथ खुलेआम छेड़छाड़ के लिए भीड़ को उकसाने के मामले में एक अन्य टीवी पत्रकार का नाम सामने आया है। हालांकि टीवी चैनल ने इस आरोपी पत्रकार के साथ किसी प्रकार के संबंध से इनकार किया है और उन संगठनों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई, जिन्होंने उन पर उंगली उठाई है। इस मामले में पहले ही एक स्थानीय न्यूज चैनल के पत्रकार को गिरफ्तार किया जा चुका है। 

अमरपाल सिंह वर्मा का राजस्थान पत्रिका से इस्तीफा

 

राजस्थान पत्रिका के जयपुर मुख्यालय में मुख्य उप संपादक अमरपाल सिंह वर्मा ने आज राजस्थान पत्रिका से त्यागपत्र दे दिया। उन्होंने पत्रिका के प्रबंध निदेशक नीहार कोठारी को भेजे त्यागपत्र में इस्तीफे के लिए डिप्टी एडिटर भुवनेश जैन को जिम्मेदार ठहराया है। वर्मा का कहना है कि अपने खिलाफ पत्रिका प्रबंधन तक पहुंचे किसी पत्र को लेकर भुवनेश जैन उनसे कई सालों से नाराज थे और परेशान कर रहे थे। 

महुआ न्‍यूज रूम में अनशन, ठप हो सकता है महुआ बिहार-झारखंड का प्रसारण

 

बकाए वेतन और एक महीने की क्षतिपूर्ति की मांग पर महुआ प्रबंधन के अड़ियल रवैये के बाद अब महुआ न्यूज़लाइन के पत्रकारों ने भी आर पार की लड़ाई का ऐलान कर दिया है। सोमवार की दोपहर से न्यूज़रूम में चैनल से जुड़े दो वरिष्ठ पत्रकार अन्न- जल त्याग कर अनशन पर बैठ गए हैं और उनके साथ न्यूज़लाइन का पूरा परिवार खड़ा है। ये महज़ शुरुआत है अगर प्रबंधन अपने अड़ियल रवैये पर कायम रहता है तो हर दिन ये संख्या बढ़ती जाएगी। 

टीवी चैनल के स्‍टूडियो में आग, पांच की मौत

  लाहौर : लाहौर के एक टीवी स्टूडियो में सोमवार सुबह आग लगने से कम से कम पांच लोगों की मौत हो गई और 12 घायल हो गए। यह जानकारी एक मीडिया रिपोर्ट में दी गई है। जियो न्यूज ने खबर दी है कि गढ़ी शाहू क्षेत्र में एक निजी टीवी चैनल के स्टूडियो में …

क्‍या राणा यशवंत को रजनीश कुमार से सीख नहीं लेनी चाहिए?

खबर है कि महुआ न्यूज लाइंन बंद हो गया है। एक और चैनल जो हुआ है मैनजमेंट के कोप का शिकार। महुआ से पहले सीएनईबी चैनल भी बंद हो चुका है। तकरीबन 300 से ज्यादा कर्मचारी अब तक सड़कों की खाक छान रहे हैं। लगातार बंद हो रहे चैनल कई सवालों को खड़ा करता है। बड़े बड़े उद्योग घराने बड़े ही ताम झाम के साथ चैनल खोलते हैं। मैनजमेंट को लगता है कि चैनल के खुलते ही ही उनके बिजनेस में चार चांद लग जाएगा और समाजिक रूतबा अगल से। लेकिन उन्हे ये सफलता चंद दिनों में ही चाहिए होती है। 

फोन हैकिंग मामले में एक और पत्रकार की गिरफ्तारी

 

लंदन : ब्रिटेन में बहुचर्चित फोन हैकिंग मामले में एक और पत्रकार की गिरफ्तारी की गई है। बीते साल मीडिया में फोन हैकिंग विवाद के सामने आने के बाद ‘आपरेशन ट्यूलेटा’शुरू किया गया था। इसी अभियान के तहत पत्रकार की गिरफ्तारी की गई है। अभी पत्रकार की पहचान सार्वजनिक नहीं हो पाई है।

पत्रकार काजमी मामले में कोर्ट ने किया हस्‍तक्षेप से इनकार

 

नई दिल्ली : इजरायली दूतावास कार विस्फोट मामले में तीस हजारी कोर्ट ने पत्रकार काजमी की अपील पर निचली अदालत के फैसले पर हस्तक्षेप करने से इन्कार कर दिया। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश एसएस राठी ने कहा कि मामले की सुनवाई दिल्ली उच्च न्यायालय में नौ अक्टूबर को होनी है। वे उच्च न्यायालय का आदेश आने तक मामले में हस्तक्षेप नहीं कर सकते। लिहाजा, वे अगली सुनवाई 12 अक्टूबर को करेंगे।

अनुज पोद्दार के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी

 

लखनऊ। सम्‍मन का तामीला होने के बावजूद अदालत के समक्ष उपस्थित नहीं होने पर मुख्‍य न्यायिक मजिस्टे्रट राजेश उपाध्याय ने हिन्दी दैनिक जनसंदेश टाइम्‍स के प्रबंध निदेशक अनुज पोद्दार के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया है। इससे पहले अदालत ने निदेशक के खिलाफ जमानती वारंट जारी किया था। इस मामले में अदालत ने अखबार की एचआर हेड रिया चक्रवर्ती के खिलाफ भी जमानती वारंट जारी किया है। अदालत ने यह आदेश अखबार के विधि संवाददाता रहे अम्बरीष श्रीवास्तव की ओर से दाखिल परिवाद पर दिया है। मामले की सुनवाई 27 अगस्त को नियत है।

उत्तराखंड : आज तक के रिपोर्टर और कैमरामैन के खिलाफ मामला दर्ज

 

देहरादून। देहरादून में आज तक चैनल के संवाददाता और कैमरामैन के खिलाफ पुलिस चौकी में घुसकर हंगामा मचाने का मामला दर्ज किया गया है। आज तक के संवाददाता दिलीप रौठोर और कैमरामैन मुजम्मिल के खिलाफ देहरादून के कोतवाली थाना क्षेत्र के धारा चौकी में मामाला दर्ज किया गया है। मामला खुद धारा चौकी इंचार्ज पीडी भट्ट ने दर्ज कराया है।

कर्मचारियों के मजबूरियां गिनाने के बाद भी नहीं पिघलीं मीना तिवारी

 

महुआ न्यूज़लाइन बंद करने के ऐलान के 25 घंटे बाद महुआ ग्रुप की निदेशक मीना तिवारी बेरोज़गार हुए कर्मचारियों से मुखातिब हुईं। कर्मचारियों को उम्मीद थी कि पढ़ी-लिखी, शालीन सी दिखनेवाली मीना तिवारी कर्मचारियों के साथ संवेदनशील और सौहार्दपूर्ण तरीके से बात करेंगी लेकिन उनका रवैया उम्मीदों के विपरीत और अहंकार से भरा था। उन्होंने बात की शुरुआत में ही कहा कि –‘हम तुम्हे एक महीने का वेतन तो दे रहे हैं ना… फिर क्यों ये तमाशा कर रहे हो, तुमलोगों को शर्म नहीं आती। 

न्‍यूजमैन हूं और अपनी पूरी टीम के साथ रहूंगा : राणा यशवंत

 

: और ऐसे बंद हो गया महुआ न्‍यूज लाइन : हां, महुआ न्यूज़लाइन चैनल को बंद करने का ऐलान कर दिया गया है। नोएडा के दफ्तर में न्यूज़रूम से यूपी-उत्तराखंड चैनल के सभी पत्रकारों को एचआर के कॉन्फ्रेंस रूम में बुलाकर चैनल को बंद करने की घोषणा की गई। प्रबंधन की तरफ से एचआर विभाग की प्रमुख संगीता और महुआ न्यूज़ के समूह संपादक राणा यशवंत ने इसका ऐलान किया। प्रबंधन ने अपनी मजबूरियों की फेहरिस्त गिनाई जिस पर उसके प्रतिनिधि को सवालों की बौछार से रू-ब-रु होना पड़ा लेकिन जवाब उनके पास नहीं था। 

महुआ न्यूज़ लाइन के कर्मचारियों का अनिश्चितकालीन धरना जारी

 

महुआ न्यूज़चैनल के कर्मचारियों ने पहली रात न्यूज़रूम में बिता ली है। मस्त माहौल में। अब दूसरे दिन आंदोलन को निर्णायक मोड़ पर पहुंचाने की तैयारियां परवान पर हैं। जिसके तहत सामाजिक क्षेत्र से जुड़े लोगों, वरिष्ठ पत्रकारों, पत्रकार यूनियनों और राजनीतिक दलों के मुखर नेताओं को महुआ न्यूज़चैनल के न्यूज़रूम में आंदोलनरत पत्रकारों को संबोधित करने बुलाया जा रहा है। इनमें एनबीए के प्रतिनिधि भी शामिल हैं। ताकि न्यूज़चैनल खोलकर अचानक इस पर ताला लगानेवाले धन्नासेठों की आगे से हिम्मत न हो कि वो दूसरों को उसका हक दिलाने की लड़ाई लड़नेवाले पत्रकारों के साथ ऐसा सलूक फिर कर सकें।

जालौन से शीघ्र प्रकाशित होगा हिंदी दैनिक बुंदेलखंड न्यूज़

 

बुँदेलखण्‍ड क्षेत्र से जल्‍द ही 'बुंदेलखंड न्यूज़' नाम के हिंदी दैनिक का प्रकाशन शुरू होने जा रहा है। यह अखवार जालौन जनपद के उरई मुख्यालय से प्रकाशित किया जाएगा जो बारह पेज का रंगीन अखबार होगा, जिसका प्रकाशन दैनिक जागरण झाँसी एडिशन के पूर्व ब्यूरो चीफ मुकेश उदैनिया करने जा रहे हैं। यह अखबार उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र जालौन, झाँसी, ललितपुर, महोबा, हमीरपुर, बांदा, चित्रकूट, औरैया, कानपुर देहात, कानपुर, इटावा के अलावा मध्य प्रदेश के दतिया, भिंड में प्रसारित किया जायेगा। 

एक ही खबर को दो बार छाप रहा बठिंडा भास्‍कर

 

दैनिक भास्‍कर बठिंडा का बुरा हाल हो रखा है। रिपोर्टरों के टोटे के चलते भास्‍कर के बठिंडा सिटी भास्‍कर के इतने बुरे दिन आ गए हैं कि पहले इंटरनेट से खबरें उठाकर उन्‍हें बठिंडा की क्रेडिटलाइन से छापने के बाद अब समाज सेवी संगठनों की तरफ से भेजे जाने वाले प्रेस नोट की खबरों को भी डबल छापा जा रहा है। बताया जा रहा है कि भास्‍कर की सिटी टीम में सिटी इंचार्ज समेत अब सिर्फ चार रिपोर्टर ही रह गए हैं और उन पर खबरों की संख्‍या बढ़ाने का दबाव डाला जा रहा है। जिसके चलते वह एक ही खबर को अलग- अलग तरीके से परोसकर आगे भेज रहे हैं और उन्‍हें प्रकाशित भी किया जा रहा है। 

आजतक के रिपोर्टर अमित के खिलाफ मुकदमा दर्ज

 

: यूपी में एक और पत्रकार पुलिसिया उत्‍पीड़न का शिकार : यूपी में गुंडाराज से ज्‍यादा पुलिस का आतंक राज कायम हो गया है. पत्रकारों का यूपी में जमकर पुलिसिया उत्‍पीड़न हो रहा है. ताजा मामला झांसी का है. झांसी में आजतक के रिपोर्टर अमित श्रीवास्‍तव पर पुलिस ने दो मुकदमे दर्ज किए हैं. यह मुकदमे एक महिला ने दर्ज कराई है. जबकि अमित से उस महिला का सीधे सीधे कुछ भी लेना देना नहीं है. 

टीओआई ने किया खुलासा : लगभग दिवालिया हो चुका है डेक्‍कल क्रानिकल

 

HYDERABAD: Deccan Chronicle Holdings Limited (DCHL) has liabilities running into thousands of crores of rupees that may lead to the erosion of the entire net worth of the company and make it commercially unviable and insolvent, Industrial Finance Corporation of India Ltd (IFCI) has said in the winding-up petition which it has filed in the high court against the Hyderabad-based company.

पत्रकार पर निराधार आरोप से गुवाहाटी प्रेस क्लब में हंगामा

 

गुवाहाटी। जीएस रोड कांड में एक और पत्रकार के शामिल होने का दावा करने वाले तीन संगठनों के प्रतिनिधियों को रविवार को संवादकर्मियों के भारी विरोध का सामना करना पड़ा। संगठन के पदाधिकारी अपने आरोप के पक्ष में पुख्ता सबूत और तर्क नहीं दे सके। जिसके बाद संवाददाताओं खासकर आरोपी चैनल डीवाई 365 के संवाददाताओं की संगठन के पदाधिकारियों के साथ भारी बक-झक हो गई। बाद में मामले को देखते हुए गुवाहाटी प्रेस क्लब को पुलिस बुलानी पड़ी। पुलिस ने बड़ी मशक्कत से संगठन के पदाधिकारियों को बचा कर बाहर ले गई। 

क्‍या न्‍यूज24 जाएंगे राणा यशवंत?

महुआ समूह के चेयरमैन पीके तिवारी और उनके पुत्र की गिरफ्तारी के बाद महुआ न्यूज़ लाइन यूपी चैनल पर ताला लग गया है। चैनल के पूरे स्टाफ को दो माह से वेतन नही दिया गया है। ब्यूरो चलाने वाले सभी स्टाफ रिर्पोटर सैलरी के अलावा पिछले तीन माह के बकाया ऑफिस खर्च को लेकर भी परेशान हैं। सभी ब्यूरो कार्यालय किराये की जगहों पर चल रहे थे और किराया ना मिलने से सभी ब्यूरो प्रमुखों के सामने एक नई दिक्कत और खड़ी हो गयी है। महुआ न्यूज़ यूपी में कुछ ब्यूरो प्रमुख तो ऐसे हैं जो अच्छे मीडिया संस्थानों को छोड़कर राणा यशवंत के कहने पर यहां आये थे। हालात ये हैं कि जब कोई ब्यूरो चीफ असाइनमेंट हैड़ या ग्रुप एडिटर राणा यशवंत से बात करने की कोशिश कर रहा है तो वो फोन तक पिक नही कर रहे हैं।

महुआ न्‍यूजलाइन पर ताला, डेढ़ सौ कर्मचारी बेरोजगार

 

: नोएडा मुख्‍यालय के एचआर में देर शाम तक कर्मचारियों ने किया हंगामा : बड़े तोपचियों ने पहले ही कर्मचारियों तक लीक कर दिया था प्रबंधन का फैसला : नोएडा : महुआ समूह को लेकर आशंकाएं आखिरकार सच साबित हुईं। महुआ न्‍यूज लाइन नामक चैनल बंद कर दिया गया है। करीब डेढ सौ कर्मचारियों को संस्‍थान से निकाला दिया गया है। देर शाम तक नोएडा मुख्‍यालय में एचआर विभाग के दफ्तर में इन कर्मचारियों ने हंगामा किया। उधर पता चला है कि प्रदेश के कई मंडल मुख्‍यालयों पर कर्मचारियों ने इस तालाबंदी की भनक लगते ही अपने दफ्तर में मौजूद सारा साज-सामान जब्‍त कर लिया है। इन कर्मचारियों का कहना है कि जब तक उनके बकाया देयकों का भुगतान नहीं किया जाएगा, वे दफ्तर का सामान वापस नहीं करेंगे। 

गूगल लाया सबसे तेज नेट कनेक्शन

 

लंदन : इंटरनेट के सरताज गूगल ने सबसे तेज गति से नेट एक्सेस का रास्ता निकाल लिया है। दुनिया में सबसे गति वाला गूगल फाइबर इंटरनेट कनेक्शन प्रति सेकेंड एक गीगा बाइट की रफ्तार से चलेगा। यानी पलक झपकते ही 1024 मेगा बाइट डाटा आप एक्सेस कर लेंगे। एक गीगा बाइट में 1073741827 बाइट्स होते हैं। डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार गूगल की नई इंटरनेट सेवा रफ्तार के लिए ऑप्टिकल फाइबर का इस्तेमाल करती है। इससे परंपरागत वेब सेवाओं से कहीं अधिक रफ्तार से पूरी दुनिया में आप इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

शैक्षिक चैनलों को एनओसी देने को तैयार नहीं सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय

 

नई दिल्ली : सूचना संचार तकनीक ने पूरी दुनिया में पढ़ाई-लिखाई की राह भले ही आसान कर दी हो, लेकिन भारत में यह अब भी कम बड़ी चुनौती नहीं है। तभी तो सरकार चाहकर भी सेटेलाइट के जरिये उच्च शिक्षा, खासतौर से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की कोशिशों को हकीकत में नहीं बदल पा रही है। आलम यह है कि पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर 50-60 शैक्षिक टीवी चैनलों को शुरू करने की मुहिम प्रधानमंत्री कार्यालय के दखल के बाद भी अब तक परवान नहीं चढ़ सकी है। 

मृदुल त्‍यागी का आई नेक्‍स्‍ट से इस्‍तीफा

  आई नेक्‍स्‍ट, मेरठ से खबर है कि सीनियर र्जनलिस्‍ट मृदुल त्‍यागी ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे आई नेक्‍स्‍ट के सभी एडिशनों का न्‍यूज कोआर्डिनेशन देख रहे थे. मृदुल की गिनती तेजतर्रार पत्रकारों में होती है. वे अमर उजाला, हिंदुस्‍तान एवं जागरण को सेवा देने के बाद आई नेक्‍स्‍ट से जुड़े थे. उनको लेकर …

सपा का फैसला पत्रकारिता पर हमला है : शाहिद सिद्दीकी

 

नई दिल्ली। नरेंद्र मोदी का इंटरव्यू लेने पर समाजवादी पार्टी से निकाले गए शाहिद सिद्दीकी ने मुलायम सिंह पर पलटवार किया है। एक अखबार से बातचीत में सिद्दीकी ने कहा कि मुलायम हकीकत से अनजान हैं। शाहिद के मुताबिक, एसपी सुप्रीमो मुस्लिम मन को नहीं समझते और उन्हें वोट हासिल करने के पुराने हथकंडे छोड़कर अपने वादों को पूरा करना चाहिए। 

दैनिक भास्कर में एक खबर दो आँकड़े

 

मध्यप्रदेश के हरदा जिले के खिरकिया में भारी बारिश की खबर दैनिक भास्कर के ही संस्करणों में अलग-अलग आँकड़ों में प्रकाशित की गई। इटारसी संस्करण के प्रथम पेज पर प्रकाशित खबर में लिखा है कि खिरकिया में 10 घंटे में 9 इंच बारिश, जबकि इंदौर सिटी के मुख्य पेज पर उसी खबर में लिखा है 24 घंटे में 9 इंच बारिश। इसी प्रकार खिरकिया के पुलआउट के प्रथम पेज पर लिखा है कि आधा खिरकिया कमर तक डूबा, जबकि जबलपुर के प्रथम पेज पर लिखा है कि खिरकिया में सड़क पर 6 फीट तक पानी। अब समझ में यह नहीं आया कि दैनिक भास्कर समाचार पत्र में इस प्रकार की गलती, वह भी पेज 1 पर कैसे हुई। 

आप ही बताएं- नेशनल न्यूज़ चैनल्स इन्हें क्यों कहा जाए?

 

हिन्दुस्तान की जनसंख्या १२० करोड़ के करीब. कुल राज्य ३५ (७ केंद्र-शाषित सहित). पर तवज्जो सिर्फ दिल्ली-एन.सी.आर. और मुंबई की खबरों को. जी हाँ- ये हाल है भारत के न्यूज़ चैनल्स का जो अपने साथ "नेशनल न्यूज़ चैनल" का टैग लगाते हैं. न्यूज़ का सामान्य अर्थ इस तरह से लिया जा सकता है – नॉर्थ+ईस्ट+वेस्ट+साउथ की खबरों का प्रसारण. पर कौन सा ऐसा चैनल है जो इस परिभाषा के करीब भी है? कभी-कभी अंग्रेजी चैनल्स, एन.डी.टी.वी. इंडिया और ज़ी न्यूज़ जैसे चैनल इस और कदम बढ़ाते दिखते हैं. पर "कभी-कभी" एक औपचारिकता का नाम होता है. ज़्यादातर चैनल्स तो इस "कभी-कभी" से भी कभी इत्तेफाक नहीं रखते. क्यों? 

दैनिक भास्कर पलामू कार्यालय में दो लाख का घपला

 दैनिक भास्कर के मेदिनीनगर (पलामू) कार्यालय से प्रकाशित विज्ञापन का दो लाख रुपये घपला किए जाने का मामला प्रकाश में आया है. मेदिनीनगर कार्यालय के प्रभारी राणा अरूण सिंह ने अपने चैनपुर प्रखंड रिर्पोटर धर्मेंद्र प्रसाद जायसवाल को एड एजेंसी दिलवा दी. इस एजेंसी द्वारा प्रकाशित विज्ञापन का दो लाख रुपए विज्ञापन विभाग के जीएम व मैनेजर अकाउंटस के पास नहीं पहुंचा. भास्कर के दोनों पदाधिकारियों ने संबंधित लोगों के पास नोटिस जारी कर दो लाख रुपये की मांग की है. 

कलिंग सेना ने हिंदुस्‍तान टाइम्‍स की प्रतियां जलाई

 

भुवनेश्वर : अंग्रेजी अखबार हिन्दुस्तान टाइम्स में राष्ट्रपति चुनाव के संबंध में ओडिया विरोधी लेख प्रकाशित करने को लेकर प्रदेश में तीखी प्रतिक्रिया हुई है। राजधानी भुवनेश्वर में कलिंग सेना के बैनर तले प्रदर्शनकारियों ने हिन्दुस्तान टाइम्स की प्रतियां जलाकर अपने गुस्से का इजहार किया। कलिंग सेना की ओर से सैकड़ों कार्यकर्ता मास्टर कैंटीन चौक में जमा हुए और हिन्दुस्तान टाइम्स की प्रतियां जलाई। 

फिर निकलेगी ज्ञानरंजन की ‘पहल’

 

हिंदी साहित्य जगत की अनिवार्य पत्रिका के रूप में मान्य 'पहल' को विख्यात साहित्यकार, संपादक और कहानीकार ज्ञानरंजन ने पुन: निकालने का निश्चय किया है। उन्होंने तीन वर्ष पहल का प्रकाशन स्थगित कर दिया था। पहल का प्रकाशन बंद करते समय ज्ञानरंजन की टिप्पणी थी कि उन्होंने पहल को किसी आर्थिक दबाव या रचनात्मक संकट के कारण बंद नहीं किया है, बल्कि उनका कहना था-‘‘पत्रिका का ग्राफ निरंतर बढ़ना चाहिए। वह यदि सुन्दर होने के पश्चात् भी यदि रूका हुआ है तो ऐसे समय निर्णायक मोड़ भी जरूरी है।’’ 

गुवाहाटी में युवती वस्त्र हरण मामले में एक अन्य पत्रकार पर गिर सकती है गाज

 

गुवाहाटी। जीएस रोड कांड में एक अन्य पत्रकार पर गाज गिर सकती है। असम अनुसूचित जाति युवा छात्र परिषद, समता सैनिक दल और अखिल असम कृषक कल्याण परिषद ने गुवाहाटी के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को आज घटना की सीडी सौंपी। सीडी की कापी कल मीडिया को दी जाएगी। आज यहां गुवाहाटी प्रेस क्लब में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए परिषद के महासचिव नित्यानंद दास, सलाहकार अमरेन्द्र दास तथा अखिल असम कृषक कल्याण परिषद के महासचिव प्रदीप कलिता ने कहा कि जीएस रोड कांड में सरकार पक्षपात कर रही है। घटना में दूसरा पत्रकार भी शामिल था। लेकिन पुलिस उससे नहीं पकड़ रही है।

आई नेक्‍स्‍ट : कुणाल की देहरादून वापसी, धर्मेंद्र बरेली के नए प्रभारी

 

आई नेक्‍स्‍ट, बरेली से खबर है कि प्रभारी कुणाल वर्मा को एक बार फिर देहरादून की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है. कुणाल इसके पहले भी देहरादून के प्रभारी थे. उन्‍हें बरेली में आई नेक्‍स्‍ट को मजबूत करने के लिए लाया गया था. बताया जा रहा है कि बरेली में तो कुणाल के नेतृत्‍व में आई नेक्‍स्‍ट के सर्कुलेशन में सुधार हुआ परन्‍तु देहरादून में स्थिति गड़बड़ हो गई थी. निदेशक तरुण गुप्‍ता के खास माने जाने वाले कुणाल को देहरादून में आई नेक्‍स्‍ट को फिर से पटरी पर लाने के लिए भेजा गया है. 

यशवंत-जेल : कुमार मधुकर के नेतृत्‍व में निकला रोड मार्च, पत्रकारों में रोष

भड़ास4मीडिया के संपादक यशवंत सिंह की गिरफ़्तारी के विरोध में जिला झज्जर के बहादुरगढ़ में बैठक हुई. बाद में दर्जनों पत्रकारों ने यशवंत की गिरफ़्तारी के विरोध में रोड मार्च निकालकर कर रोष प्रकट किया. बैठक व रोड मार्च के आयोजनों का नेतृत्व भांडा फोड़ इंडिया के ग्रुप एडिटर कुमार मधुकर किया. इस दौरान पत्रकार अजेश कुमार ने संबोधित करते हुए कहा कि विजय सत्य की होगी. यशवंत के साथ जिसने जो भी किया अच्छा नहीं किया. इसलिए अच्छा हो कि मामले को वापस लिया जाये. दो पत्रकारों को आपस में लड़ना ठीक नहीं. जिस प्रकार कि घटना भड़ास4मीडिया के संपादक यसवंत के साथ हुआ है. वह किसी और के साथ भी हो सकता है.

टारगेट तो क्राइम का भी होता है भाई!

 

प्रोफशनल और कारपोरेट कल्चर वाला अखबार ज्वाइन किया. एडिटर ने उसे पहले ही दिन एक रिपोर्ट थमायी. रिपोर्ट के मुताबिक दूसरे अखबार में रोज अपराध की औसत 19 खबरें थी. उसे हर दिन 31 खबर का टारगेट दिया गया. वह चकराया. इतना क्राइम होगा, तभी तो इतनी खबरें बनेगी. वह इस बात की गारंटी देने को तैयार था कि उससे कोई खबर छूटेगी नहीं, लेकिन हर दिन गिन कर 31 खबरें कहां से लायेगा? एडिटर कुछ भी सुनने को तैयार नहीं था. झक मार कर उसने टारगेट पूरा करने की कसम खायी और निकल पड़ा खबर खोजने.

मैय्या मोय तो “एनडी” सो ही “पापा” ला के दे

सादर नमन। देश के कानून को। दिल्ली हाईकोर्ट की उस बेंच को, जिसने रोहित शेखर के पापा (नारायण दत्त तिवारी) की पहचान कराने में अहम भूमिका अदा की। इस अदालती निर्णय ने साबित कर दिया, कि देश का अब कोई भी “रोहित शेखर”,बिना “पापा”के नहीं रहेगा। चाहे डीएनए परीक्षण “जबरिया” ही क्यों न कराना पड़े।

अन्‍ना समर्थकों ने की पत्रकारों से बदतमीजी

 

नई दिल्ली : टीम अन्ना के तमाम अपीलों के बावजूद आज जंतर मंतर पर समर्थकों की बहुत कम मौजूदगी देखने को मिल रही है वहीं अनशन स्थल पर कुछ लोगों ने न्यूज चैनल की एक महिला संवाददाता के साथ धक्का मुक्की की। टीम अन्ना के समर्थकों ज़ी न्यूज के रिपोर्टर कुलदीप सिंह से भी बदसलूकी की। इसके अलावा कई महिला रिपोर्टर के साथ भी बदसलूकी की गई। 

मीडियाकर्मियों ने टाल दिया फैजाबाद में संभावित बवाल

 

उत्तर प्रदेश का फैजाबाद जिला, जो की अयोध्या की वजह से ज्यादा मशहूर है, इस जिले में 23 जुलाई की रात इस शहर का माहौल कुछ इस तरह बिगड़ गया की उसको संभालने में प्रशासन नाकाम हो गया था. मामला था कि फैजाबाद के सहादतगंज ईलाके में दो समुदाय के लोगो में झगडा हो गया जिसको लेकर P.A.C के जवानों ने एक समुदाय के व्यक्ति को झापड़ मार दिया और उसको भगा दिया. तभी ये अफवाह उडी कि पुलिस ने मस्जिद में जाने से रोक लगा दी है और वो भी इस रमजान के महीने में.

नईदुनिया : जगह और प्रिंट लाइन दोनों बदलेगी?

 

कभी हिंदी अखबारों का आदर्श रहा 'नईदुनिया' आज इस हाल मे है कि यहाँ काम कर रहे पत्रकारों और गेरपत्रकारों का भी अपने संस्थान पर से भरोसा उठ गया है. जब से नईदुनिया कि बागडोर जागरण के हाथ में आई है, इंदौर समेत सभी संस्करणों में असुरक्षा का माहौल है. कब किसकी नौकरी पर विराम लग जाये कहा नहीं जा सकता! सबसे गर्म खबर ये है कि 'नईदुनिया' का करीब पांच दशक पुराना दफ्तर बदले जाने कि तेयारी है. इसे करीब १२-१४ किलोमीटर दूर ले जाने की कोशिश चल रही है. जहां अभी नईदुनिया का दफ्तर है उस ४ बीघा जमीन पर शोपिंग माल बनाया जा सकता है. 

जेडे मर्डर : जिग्‍ना वोरा को मिली जमानत

 

मुंबई। अंग्रेजी दैनिक 'मिड-डे' के पत्रकार जेडे की हत्या के मामले में गिरफ्तार महिला पत्रकार जिग्ना वोरा को शुक्रवार को कोर्ट ने जमानत दे दी। जिग्ना वोरा के खिलाफ मुम्बई पुलिस ने महाराष्ट्र संगठित अपराध नियंत्रण कानून (मकोका) की अदालत में आरोप-पत्र दाखिल किया था।

समाचार प्‍लस से जुड़े अनुराग, रेयाज का इस्‍तीफा, नवल की नई पारी

उन्‍नाव से खबर है अनुराग बाजपेयी ने न्‍यूज एक्‍सप्रेस से इस्‍तीफा दे दिया है. उन्‍होंने कुछ महीने पहले ही इस चैनल को ज्‍वाइन किया था. अनुराग ने अपनी नई पारी समाचार प्‍लस के साथ शुरू की है. अनुराग की गिनती जिले के तेजतर्रार पत्रकारों में की जाती है. वे इसके पहले जनसंदेश टाइम्‍स तथा राष्‍ट्रीय सहारा को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं. 

मीडिया पर नियंत्रण के लिए सशक्‍त स्‍वायत संस्‍थान की जरूरत : प्रांजय

गुवाहाटी। जानेमाने पत्रकार प्रांजय गुहा ठाकुरता ने मीडिया पर एक सीमा तक नियंत्रण की जरूरत बताते हुए इसके लिए एक सशख्त स्वायत संवैधानिक संस्था बनाए जाने की वकालत की है। उन्होंने कहा है कि ब्रिटेन और अमेरीका की तरह यहां भी मीडिया पर नियंत्रण करने वाली संस्था होनी चाहिए जो चुनाव आयोग या सुप्रीम कोर्ट की तरह होनी चाहिए। गुवाहाटी प्रेस क्लब के मासिक कार्यक्रम "इस माह के अतिथि' में और उससे पहले "मीडिया की नैतिकता' विषय पर आयोजित कार्यशाला में भाग लेते हुए प्रांजय ने कहा कि हर चीज की एक लक्ष्मण रेखा होती है और इसे याद दिलाने के लिए एक सशख्त संस्था की जरूरत है। भारतीय प्रेस परिषद और सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय मीडिया को लक्ष्मण रेखा पार करने से रोक नहीं पा रहे हैं क्योंकि इनके पास कार्रवाई करने का कोई अधिकार नहीं है।

पीके तिवारी को महुआ के तोपचियों ने ही जेल भिजवाया

: महुआ समूह-जहाज में बेहिसाब बिल खोदे हैं तोपची-चूहों ने : नोएडा : किसी ऐसे कथित विनय आर्यदेव नामक शख्‍स ने मेरी निष्‍पक्षता और निजी आग्रह-पूर्वाग्रह आदि पर टिप्‍पणी की है। अनर्गल प्रलाप। मेरी आपत्ति है कि ऐसे शख्‍स सीधे मेरे सामने क्‍यों नहीं आते हैं। बहरहाल, ऐसे नाम पर कोई टिप्‍पणी करने के बजाय मैं अब सीधे मुद्दे पर आना चाहता हूं। हां, यह तो सब को पता है कि महुआ समूह के मुखिया पीके तिवारी को उनके बेटे आनंद तिवारी के साथ सीबीआई ने गिरफ्तार किया है।

असम को जलाने में मीडिया की भूमिका!

गुजरात दंगों को आज तक जिस मीडीया ने जिंदा रखा हैं, उसे जलते असम की तस्वीरें क्यों नजर नहीं आ रही हैं? पिछले एक हफ्ते से असम के तीन जिलों मे मार-काट मची हैं. हालात कश्मीर से भी बदतर हो चले हैं. कई लोगों को की जानें जा चुकी हैं, लेकिन मीडिया इसे सिर्फ अपनी बुलेटिन की खबरों मे डालकर या दूसरे पेज पर लिखकर खानापूर्ति कर रहा है. हिन्दुस्तान में अब तक हुए हर दंगे के पीछे से राजनीतिक बू आती रही है। हो सकता है असम में हो रहे तांडव के पीछे कोई राजनैतिक चाल ना हो, लेकिन किसी प्रदेश मे लगातार एक हफ्ते तक दंगे होते रहे और स्थिति को काबू ना कर पाने के पीछे तो सरकार की विफलता साफ झलकती है। तो क्या दंगाइयों को सह दिया जा रहा है?

जेडे मर्डर की सीबीआई जांच कराई जाए : तावड़े

मुंबई : महाराष्ट्र विधान परिषद में विपक्ष के नेता विनोद तावड़े ने मिड डे के वरिष्ठ पत्रकार जेडे की हत्या की जांच सीबीआई से कराने की मांग की. तावड़े ने पत्रकारों से कहा कि अगर सरकार संवेदनशील है और सच्चाई सामने लाना चाहती है तो उसे सीबीआई जांच की मदद लेनी चाहिए. उन्होंने कहा कि हत्या के कारण और शामिल लोगों को सामने लाने का काम केंद्रीय जांच एजेंसी ही कर सकती है.

गिरती साख : जागरण के मुनाफे में 14 करोड़ का झटका

नई दिल्ली। आर्थिक सुस्ती और डॉलर के मुकाबले रुपये की कीमत में तेज गिरावट ने जागरण प्रकाशन लिमिटेड [जेपीएल] के मुनाफे की रफ्तार को भी धीमा कर दिया है। देश के सबसे बड़े अखबार दैनिक जागरण का प्रकाशन करने वाली इस कंपनी को रुपये की कीमत कम होने से विदेशी मुद्रा नुकसान उठाना पड़ा। इससे चालू वित्त वर्ष 2012-13 की पहली तिमाही में कंपनी के मुनाफा भी कम हो गया है।

आज निकलेगा यूपी मिड डे का डमी

आगरा से जल्द ही बड़े स्तर पर प्रकाशित होने जा रहे लक्ष्मी मीडिया पब्लिकेशन के अखबार यूपी मिड डे की डमी शुक्रवार को निकलेगी, जिसको लेकर आगरा के पत्रकारिता जगत में हलचल है. वर्तमान में इसमें श्याम अनजान, जगत शर्मा, रमेश साहनी जैसे बड़े पत्रकार इस अखबार में अपना पद भार ग्रहण कर चुके हैं. …

यूपी में अराजकता : मायावती की मूर्ति तोड़ी गई, आक्रोश में बसपाई

लखनऊ में मायावती के स्वप्नों के अंबेडकर पार्क में तमाशा खड़ा हो गया है। मनबढ़ शैतानों ने मायावती की सफेद संगमरमरी मूरत का सिर और हाथ उखाड़ डाला। बाद में मौके पर पहुंचे प्रशासन-पुलिसवालों ने आननफानन सिरविहीन मूर्ति को प्रशासन ने ठीक उसी रंग का कफन मुहैया करा दिया, जो उनका मनपसंद यानी नीला है। अंबेडकर पार्क से जुड़ी सड़कों को बंद कर दिया गया है और मौके पर कड़ी सुरक्षा बंदोबस्त हैं। फिलहाल बसपाइयों में जबर्दस्त रोष है और कई शहरों में प्रदर्शन की खबर आ रही है। प्रशासन का दावा है कि किसी हालात से निपटने के लिए प्रशासन और पुलिस ने कमर कस ली है। लेकिन इस घटना ने प्रशासन और पुलिस की तो किरकिरी करा ही दी है। लेकिन कठघरे में पुलिस, प्रशासन के साथ ही पत्रकार बिरादरी भी आ गयी है।

यशवंत-जेल : सात तालों के भीतर चैन की नींद

कल शाम यानी 21 तारीख की शाम 5-6 बजे के आसपास जब बैरक की फील्‍ड में टहलकर थकने के बाद चबूतरे पर आराम फरमाने बैठा तो एक बुजुर्ग और अपरिचित बंदी साथी पूछ बैठे- क्‍या हुआ आपके मामले में? मैंने जवाब दिया – कल 20 को बेल डेट थी, अभी कोई सूचना नहीं मिली है. उन्‍होंने तपाक से कहा – आपकी बेल डेट सुनवाई नहीं हो सकी, वकीलों के हड़ताल से, अब 3 अगस्‍त को नई बेल डेट है.

जुलाई के आखिर में हिंदुस्‍तान से विदा हो जाएंगे आशीष व्‍यास!

हिंदुस्‍तान, बरेली से खबर है कि स्‍थानीय संपादक आशीष व्‍यास जुलाई के बाद यहां से विदा हो जाएंगे. सूत्रों का कहना है कि उन्‍होंने इसकी सूचना अपने करीबियों को दे दी है. फिलहाल वे कहीं ज्‍वाइन करने नहीं जा रहे हैं. कहा जा रहा है कि वे अपने पिता जी का हाथ बंटाने के लिए अखबार से इस्‍तीफा दिया है. हालांकि भड़ास से बातचीत में आशीष व्‍यास ने कुछ समय पहले इस्‍तीफा देने की बात को निराधार बताया था, परन्‍तु सूत्रों का कहना है कि अगले महीने से हिंदुस्‍तान का संपादक बदल जाएगा.

बैजनाथ मिश्रा ने की सन्‍मार्ग में वापसी, संपादक बने

रांची से खबर है कि बैजनाथ मिश्रा ने फिर सन्‍मार्ग ज्‍वाइन कर लिया है. उन्‍हें फिर एडिटर बनाया गया है. कुछ महीने पहले बैजनाथ मिश्रा सन्‍मार्ग छोड़कर न्‍यूज11 चले गए थे. झारखंड के वरिष्‍ठ पत्रकार हरिनारायण सिंह के सन्‍मार्ग से इस्‍तीफा देने के बाद बैजनाथ मिश्रा ने वापसी की है. उल्‍लेखनीय है कि हरिनारायण सिंह …

ये देखिए बठिंडा के पत्रकारों की हरकत

यह तस्‍वीर बठिंडा के गोनियाना रोड पर स्थित झील की है। जिसमें बठिंडा की मीडिया से जुडे कई तथाकथित वरिष्‍ठ पत्रकार शामिल हैं। असल में बुधवार रात को झील के सामने स्थित एक होटल हांडी में पत्रकारों को निजी ट्रांसपोर्ट कंपनी ने लैग-पैग की पार्टी दी थी। जिसका लुत्‍फ उठाने के बाद कुछ मीडिया कर्मी इस तरह बेकाबू हो गए। यह फोटो बठिंडा के ही एक मीडिया कर्मी ने फेसबुक पर अपलोड की है, जिसका लिंक नीचे दिया जा रहा है।

अनिल त्रिपाठी पत्रकार या व्‍यवसायी?

अनिल त्रिपाठी द्वारा पत्रकारिता को एक व्यवसाय की तरह इस्‍तेमाल किया जा रहा है, जिसके साक्ष्य में अनिल त्रिपाठी द्वारा चलाये जा रहे समाचार पत्रों का विवरण आप सभी के सन्मुख है. अनिल त्रिपाठी द्वारा अपने को एक साधारण पत्रकार बताया जा रहा है, परन्तु वास्तव में वो युग जागरण नाम के समाचार पत्र अपनी पत्नी का नाम पर दिखाकर एक बड़ा व्‍यवसाय कर रहे हैं. वे एक बड़े व्यवसायी हैं. जहाँ एक समाचार पत्र का प्रकाशन एवं संचालन करना वित्तीय दृष्टि से लाभकारी नहीं है वहीं अनिल त्रिपाठी द्वारा अपनी पत्नी के नाम से ५-५ समाचार पत्रों का संचालन किया जा रहा है. आप स्वयं निर्णय लीजिये कि अनिल त्रिपाठी पत्रकार हैं या व्यवसायी????

हिंदुस्‍तान विज्ञापन घोटाला : डीएसपी ने पर्यवेक्षण रिपोर्ट में छापखाना और संपादकीय कार्यालय का ब्‍योरा पेश किया

मुंगेर। विश्व के सनसनीखेज दैनिक हिन्दुस्तान विज्ञापन घोटाले में पुलिस अधीक्षक पी. कन्नन के निर्देशन में पुलिस उपाधीक्षक अरूण कुमार पंचालर की ओर से समर्पित ‘पर्यवेक्षण-टिप्पणी‘ में 200 करोड़ के सरकारी विज्ञापन घोटाले में शामिल नामजद अभियुक्तों के भागलपुर और मुंगेर मुख्यालय स्थित घटनास्थलों क्रमशः प्रिंटिंग प्रेस, संपादकीय कार्यालय, व्यापारिक कार्यालय, मुंगेर कार्यालय, कम्प्यूटर कक्ष, प्रिंटिंग प्रेस की मशीन आदि का पूर्ण ब्‍योरा पेश किया गया है।

अवधेश गुप्‍ता का इलाहाबाद तथा सदगुरु शरण का बरेली तबादला

दैनिक जागरण, बरेली से खबर है कि संपादकीय प्रभारी अवधेश गुप्‍ता का तबादला इलाहाबाद के लिए कर दिया गया है. इलाहाबाद के संपादकीय प्रभारी सदगुरु शरण को बरेली का संपादकीय प्रभारी बनाया गया है. बताया जा रहा है कि प्रबंधन दोनों लोगों के परफार्मेंस से खुश नहीं था. पिछले दिनों एक युवती को लेकर हुए मारपीट के बाद प्रबंधन की भौंहे और तन गई थी, जिसके बाद अवधेश गुप्‍ता का जाना तय माना जा रहा था.

भोपाल दूरदर्शन व आकाशवाणी के स्ट्रिंगर्स और पीटीसी की हालत दयनीय

भोपाल। प्रसार भारती के महत्वपूर्ण अंग भोपाल दूरदर्शन और आकाशवाणी की हालत काफी खराब है। बात भुगतान की हो तो समझ आती है कि शासकीय प्रक्रिया में देरी हो सकती है, लेकिन 2012 के परिचय पत्र न तो आकाशवाणी से बने हैं और न ही दूरदर्शन से। वहां बैठे अधिकारी और सम्पादक सरकार को चूना लगाने में माहिर हो गए हैं और हालात यह है कि स्ट्रिंगर्स या पीटीसी को किसी न किसी बात से ब्लैकमेल कर रहे हैं।

पीडि़त महिला को थाने में बुलाकर कौन सी जांच की पुलिस ने

ज़रा सोचिये इंसान की शक्ल में घूमने वाले न जाने कितने भेडियों की शिकार होती है यह नारी, जिसका ज़िक्र तक नहीं होता समाज में, न ही उसके बारे में किसी को जानकारी हो पाती है. बहुत से लोग तमाम घडियाली आंसू बहते है महिलाओं की स्थिति पर, उनमें महिलाओं की संख्या भी खूब होती है. महिलाओं के साथ हो रहे अत्याचार एवं अपराध से निपटने के लिए जटिल कानूनी प्रक्रिया भी एक बाधा है, जिससे उन्हें न्याय देरी से मिलते है और बहुत से मामलों में वो न्याय से वंचित रह जाती है. आज भी महिलाओं की स्थिति हमारे समाज में दोयज दर्जे की है.

बरेली में हिंदुस्‍तान के पाठकों को गलत सूचना ने कराई फजीहत

बरेली में हिंदुस्‍तान अखबार की गलत सूचना से हिंदुस्‍तान पढ़ने वालों की खूब फजीहत हुई. बरेली शहर इन दिनों दंगे की चपेट में है. दंगों को रोकने असफल सरकार तथा पुलिस प्रशासन ने बिगड़े हालात पर काबू पाने के लिए बरेली शहर में कर्फ्यू लगा दिया है. बुधवार को प्रशासन ने कर्फ्यू में दो घंटे की ढील की घोषणा की थी. अमर उजाला और दैनिक जागरण ने खबर में दो घंटे की छूट की जानकारी दी थी, परन्‍तु हिंदुस्‍तान ने सुबह दस बजे से लेकर दो बजे तक छूट की खबर प्रकाशित कर दी. यानी चार घंटे की छूट.

‘द सन’ के खिलाफ मानहानि का मुकदमा करेगा पाक

इस्लामाबाद : पाकिस्तान की सरकार ने ओलिंपिक में आतंकवादी हमले की आशंका से जुड़ी ‘फर्जी खबर’ को लेकर ब्रिटेन के मशहूर टैबलॉयड ‘द सन’ के खिलाफ 10 अरब रुपये के हरजाने की मांग करते हुए मानहानि का मुकदमा करने का फैसला किया है। प्रधानमंत्री राजा परवेश अशरफ के नेतृत्व में हुई संघीय मंत्रिमंडल की बैठक में ब्रिटेन की अदालत में इस अखबार के खिलाफ मुकदमा दायर करने का फैसला किया गया है।

सड़क हादसे में पंजाबी जागरण के पत्रकार नवदीप घायल

पटियाला में हुए एक सड़क हादसे में पंजाबी जागरण के पत्रकार नवदीप ढींगरा घायल हो गए. उन्‍हें इलाज के लिए राजिंदरा अस्‍पताल में भर्ती करवाया गया है. आशंका जताई जा रही है कि उनके नाक की हड्डी टूट गई है. बीती रात लगभग नौ बजे नवदीप शेरावाल गेट स्थित अपने ऑफिस से निकलकर राघोमाजरा स्थित अपने घर जा रहे थे. जब वे चांदनी चौक पहुंचे तो सामने से आ रही एक बाइक से उनकी बाइक टकरा गई. वे बाइक समेत सड़क पर गिर पड़े और घायल हो गए. उनके नाक से लगातार खून का रिसाव होता रहा.

आईपीएल की फिक्सिंग के चलते हुई पत्रकार जेडे की हत्‍या!

मुंबई : पिछले वर्ष 11 जून को मुंबई में हुई मिड डे के वरिष्‍ठ पत्रकार जे. डे की हत्या का मामला बुधवार को महाराष्ट्र विधान परिषद में गूंजा। विधान परिषद में विपक्ष के नेता विनोद तावड़े ने कहा कि जे. डे की हत्या आईपीएल मैचों की सट्टेबाजी के कारण हुई। विप में इस मुद्दे को उठाते हुए तावड़े ने कहा कि जेडे आईपीएल क्रिकेट में चलने वाले सट्टेबाजी को उजागर करना चाहते थे। उनके पास इस संबंध में पुख्‍ता जानकारी थी, इसलिए उनकी हत्‍या कर दी गई।

पत्रकार काजमी की याचिका पर स्‍पेशल सेल को नोटिस जारी

नई दिल्ली : इजरायली दूतावास कार विस्फोट मामले में आरोपी पत्रकार सैयद मोहम्मद अहमद काजमी की अपील पर तीसहजारी कोर्ट के अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश एसएस राठी ने स्पेशल सेल को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है। काजमी ने अपने मामले की जांच अवधि बढ़ाए जाने के निचली अदालत के फैसले के खिलाफ सेशन कोर्ट में याचिका दायर की है। जिस पर अदालत ने पुलिस को 30 जुलाई तक अपना जवाब दाखिल करने को कहा है।

ओम ठाकुर ने फ्रीलांसर रिपोर्टर को केबिन में बुलाकर बेइज्‍जत किया

आगरा से प्रकाशित हो रहे दैनिक पुष्प सवेरा में आये दिन रिपोर्टर ओम सिंह कुशवाहा उर्फ ओम ठाकुर की जलीलता का शिकार हो रहे हैं. वो समय समय पर रिपोर्टरों को बुलाकर चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों के सामने उनकी बेईज्ज़ती करते हैं और अपनी जीहजूरी करवाने की जिद करते हैं. बुधवार को उसने सागर गुजराती नामक युवा रिपोर्टर के साथ बदतमीजी की और उसे धमकी दे डाली. सागर गुजराती ने कुछ महीने पहले पुष्पसवेरा को रिपोर्टर के तौर पर ज्वाइन किया था. लेकिन आंतरिक राजनीति और बेवजह दोषारोपण से कई बार वो हतोत्साहित हुआ.

फोन हैकिंग मामले में ब्रुक्‍स और कॉलसन बनाए गए आरोपी

ब्रिटेन के मीडिया जगत में तूफान लाने वाले फोन हैकिंग मामले में आज एक नया मोड़ उस वक्त आ गया जब मीडिया मुगल रूपर्ट मर्डोक की करीबी रहीं रेबेका ब्रुक्स और ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरन के मीडिया निदेशक रह चुके एंटी कॉलसन को आपराधिक साजिश का आरोपी बनाया गया। बीते साल ब्रिटेन की मीडिया में फोन हैकिंग का मामला सामने आया था। सनसनीखेज खबरों की चाहत में बड़े अखबारों ने घूस देकर सूचनाएं एकत्र कीं।

यशवंत ऐसे नहीं हैं कि धक्‍का दिया और टूट गए

बिहार के ग्रामीण क्षेत्रों में एक कहावत सदियों से कही-सुनी जाती है 'सच्चा राजपूत वहीं जो इक्कीस साल जीए'. इस लोकोक्ति का आशय प्राचीन राजघराने के लड़ाकू राणाओं (क्षत्रिय वंशजों) से है. जब राजपूत जवान अपने मान-सम्मान व सल्तनत की हिफाजत के लिए कम उम्र में ही जान गंवा देते थे. भले ही आज यह कहावत अप्रसांगिक हो चली है. लेकिन इतना जरूर है कि मर्दानगी आज भी राजपूतों के रग-रग में समाई है. जोश व जज्बा ऐसा कि किसी से वादा किया तो निभाने के लिए जान की बाजी लगाने से भी गुरेज नहीं. जो लड़ने का चैलेंज मिला तो पटखनी देने तक लड़ेंगे. और अपने (राणा) यशवंत भी इससे अछूते नहीं.

प्रेस नोट में खबरें छुपाती है नोएडा पुलिस

शहर में बढ़ रहे क्राइम ग्राफ को नोएडा पुलिस रोक पाने में नाकामयाब हो रही है। ऐसे में पुलिस ने क्राइम ग्राफ को कम दिखाने के लिये पत्रकारों को मुहैया कराने वाले प्रेस नोट में ही सूचनाएं देनी कम कर दी है। जो सूचनाएं प्रेस नोट के माध्यम से पत्रकारों को दी जाती है वो अपराध निम्न स्तर के होते है। मसलन आधे ब्लेड के साथ एक गिरफ्तार, चाकू, गांजा, लैपटॉप चोरी, बिजली चोरी, मारपीट, गाली गलौच सरीखे जैसी खबरें प्रेस नोट में होती है। ये ऐसी सूचनाएं है जिन्हें कोई भी अखबार जगह नहीं देता है। लिहाजा प्रेस नोट में से कोई न्यूज अखबार या टीवी पर नहीं आती।

बिहार में पिछले बारह सालों से अवैध प्रकाशन कर रहा है दैनिक जागरण

देश का नम्‍बर वन बताने वाला अखबार फर्जीवाड़ा करके करोड़ों रुपये का सरकारी विज्ञापन डकार चुका है. इस बात का खुलासा एक आरटीआई के माध्‍यम से हुआ है. यह अखबार भी हिंदुस्‍तान की तरह एक रजिस्‍ट्रेशन नम्‍बर पर कई यूनिट लांच करके नियम कानून की धज्जियां उड़ा चुका है. मुजफ्फरपुर में जागरण के पूर्व कर्मचारी रमन कुमार यादव द्वारा मांगी गई जानकारी के आधार पर आरएनआई ने स्‍पष्‍ट किया है कि जागरण ने सिर्फ पटना के लिए अखबार का रजिस्‍ट्रेशन कराया था. इसके अलावा अन्‍य यूनिटों के लिए उसका कोई रजिस्‍ट्रेशन नहीं है.

सुलगती उम्‍मीदें : बारुद के ढेर पर प्रदेश

अखिलेश सरकार के चार महीने पूरा होते-होते कानून व्यवस्था की भारी समस्या खड़ी हो गयी है। दुःख की बात यह है कि प्रदेश के आला अफसरों को आपसी गुटबाजी के चलते फुरसत ही नहीं मिली कि वह कानून व्यवस्था के विषय में कुछ सोचे। वीकएंड टाइम्स ने अपने चौदह जुलाई के अंक में जो खुलासा किया, अगर पुलिस अफसर उस पर गौर कर लेते तो बरेली में हुए भंयकर हादसे को टाला जा सकता था। वीकएंड टाइम्स प्रदेश का इकलौता ऐसा अखबार है जिसने 14 जुलाई को छापा था कि प्रदेश इस समय बारुद के ढेर पर है और यहॉ सांप्रदायिक तनाव की स्थिति पैदा की जा रही है। इस रिपोर्ट के तीन दिन बाद ही बरेली में हुए दंगे ने साबित कर दिया कि वीकएंड टाइम्स की रिपोर्ट सही थी। आप भी पढ़े वीकएंड टाइम्स की यह रिपोर्ट।

अजीत का रिपोर्ट क्‍यों नहीं दर्ज कर रही है नोएडा पुलिस?

: वरिष्‍ठ पत्रकार नवीन लाल सूरी के चैन लुटेरे का क्‍यों नहीं चला पाया पता? : कहां चली गई नोएडा पुलिस की बहादुरी? यशवंत को फर्जी एफआईआर दर्ज होने के दो घंटे के भीतर गिरफ्तार करवाने वाले एसएसपी प्रवीण कुमार अब तक सहारा समय के सीनियर क्राइम रिपोर्टर नवीन लाल सूरी की चैन लूटने वालों का पता नहीं लगा सके, जबकि उनके पास सीसी टीवी का फुटेज भी मौजूद था. वहीं सेक्‍टर 58 के तेजतर्रार और बहुत तेजी से एफआईआर दर्ज करने वाले प्रभारी की तेजी को क्‍या हो गया, जो ताला तोड़कर हुई चोरी की घटना को दर्ज करने से इनकार कर रहा है.

भास्‍कर से वरिंदर राणा व अखिलेश बंसल का इस्‍तीफा

बठिंडा : पहले ही रिपोर्टरों की कमी से जूझ रहा दैनिक भास्कर, बठिंडा यूनिट का कार्यालय खाली होने के कगार में पहुंच गया है। हाल ही में बठिंडा कार्यालय में क्राइम देखते सीनियर रिपोर्टर वरिंदर राणा व अखिलेश बंसल ने भास्कर प्रबंधन को अपना इस्तीफा भेज दिया है। बताया जाता है कि इस्तीफा दे चुके वरिंदर राणा पंजाब में जल्द लांच होने जा रहे पंजाब की शक्ति से अपनी नई पारी की शुरुआत कर सकते हैं वहीं अखिलेश बंसल ने प्रिंट मीडिया को अलविदा कह कर अपनी पारी एक न्यूज चैनल से की है। चैनल का नाम नेटवर्क १० बताया जाता है। इन दोनों रिपोर्टरों के जान से भास्कर सिटी टीम में रिपोर्टरों का टोटा हो गया है।

आओ मिल कर जश्न मनायें, समाजवाद मजबूत हो रहा है

देश के मालिक के नाम से प्रख्यात आम आदमी की दशा चरित्र-चित्रण करने लायक भी नहीं बची है। गांव का राशन डीलर पंक्तिबद्ध खड़ा कर नागरिकों के नाम ऐसे पुकारता है, जैसे खैरात बांट रहा हो। अस्पताल में पर्ची बनाने से लेकर डाक्टर के पास जाने तक दस से ज्यादा बार झिडक़ दिया जाता है इसी आम आदमी को। रेलवे स्टेशन पर टिकट लेते समय बीस हजार का नौकर इसी आम आदमी से गुलाम से भी बदतर व्यवहार करता देखा जा सकता है।

पत्रकार सम्‍पूर्णानंद दूबे के पिता का निधन

मऊ। पत्रकार सम्पूर्णानंद दूबे के पिता कैलाश नाथ दूबे का निधन मंगलवार की सुबह उनके पैतृक आवास बगली पिज़ा पर हो गया. वे 75 वर्ष के थे तथा लम्‍बे समय से बीमार चल रहे थे.  निधन की जानकारी होते ही उनके पैतृक आवास पर पत्रकारों ने पुंचकर शोक जताया और शोक संतप्‍त परिवार को ढांढस बंधाया. देर रात जनसंदेश कार्यालय में हुई शोकसभा में पत्रकारों ने दो मिनट मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की और परमपिता परमेश्वर से प्रार्थना की कि शोक संत परिवार को इस असीम दुख को सहन करने की शक्ति प्रदान करें.

यशवंत-जेल : आगामी बुधवार को जिला मुख्‍यालयों पर धरना देंगे पत्रकार

फरीदाबाद : भड़ास4मीडिया के संपादक यशवंत की गिरफ़्तारी के विरोध में पत्रकारों की बैठक फरीदाबाद के धर्मशाला में आयोजित की गई. कार्यक्रम की अध्‍यक्षता भांडा फोड़ इंडिया के ग्रुप एडिटर कुमार मधुकर ने की. बैठक में शामिल दर्जनों पत्रकारों ने एक स्वर से भड़ास4मीडिया  के संपादक यशवंत के गिरफ़्तारी की आलोचना की. साथ ही पत्रकारों की आवाज को बुलंद करने के लिए अगले सप्ताह के बुधवार को जिला मुख्यालय के सामने धरना देने का फैसला किया गया.

इशान टाइम्‍स के पत्रकार कमल पर जानलेवा हमला

जीरकपुर : कल शाम इशान टाइम्‍स संवाददाता कमल कलशी को जीरकपुर में एक ढाबा मालिक द्वारा देह व्यापार के लिये रूम देने की सूचना मिली. इसकी जानकारी के लिए वे शिमला रोड पर स्थित प्रधान ढाबा पर पहुंचे. अभी वे जानकारी ले ही रहे थे कि चार व्‍यक्तियों ने उनके ऊपर जानलेवा हमला कर दिया. आस पड़ोस के लोगों द्वारा अपराधियों का मुकाबला करने से पत्रकार कमल कलशी की जान बच गयी. घटना की जानकारी पुलिस को देने के एवज में उन्‍हें अज्ञात व्यक्तियों द्वारा गंभीर रूप से घायल कर दिया गया.

महुआ को लेकर गलत रिपोर्ट पेश कर रहे हैं कुमार सौवीर

महुआ समूह के प्रमुख पीके तिवारी को उनके बेटे आनंद तिवारी के साथ सीबीआई ने गिरफ्तार किया है और कोर्ट ने उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। ये खबर सोलह आने सच है। लेकिन महुआ न्यूज के कभी यूपी के वरिष्ठ संवाददाता रहे कुमार सौवीर जिस तरह से इस पूरे मामले को झूठ की चाशनी के साथ चटखारे लेकर परोस रहे हैं वो उनकी तथ्यों पर आधारित पत्रकारिता पर सवाल खड़े करने को काफी है। इस पूरे मामले में उनका व्यक्तिगत पूर्वाग्रह उनकी निष्पक्षता पर हावी दिखता है।

पत्रकार के भाई के हत्यारोपी विधान पार्षद गिरफ्तार

 

पत्रकार नीरज के भाई धीरज हत्याकांड मामले में मुख्य आरोपी विधान पार्षद अशोक अग्रवाल को 22 जुलाई के रात करीब 12 बजे कटिहार के पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। सुबह साढ़े छह बजे मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी राघवेन्द्र मणि त्रिपाठी के समक्ष विधान पार्षद अशोक अग्रवाल को पेश किया गया। श्री त्रिपाठी ने उनपर लगाए आरोपों को विस्तृत से बताया तथा उनसे रास्ते में पुलिस के द्वारा किसी भी दु‌र्व्यवहार के विषय में पूछा। एमएलसी ने दु‌र्व्यवहार से इंकार किया। श्री त्रिपाठी ने उन्हें 4 अगस्त 2012 तक के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। 

ए राम पाण्डेय को पत्रकारिता में पीएचडी उपाधि

 

नोयडा शारदा विश्वविद्यालय में अध्यापन कर रहे ए राम पाण्डेय को लखनऊ विश्वविद्यालय के जनसंचार एवं पत्रकारिता विभाग से पीएचडी उपाधि प्रदान की गयी है। श्री पाण्डेय ने प्रो0 एसपी दीक्षित के निर्देशन में जनमत निर्माण में मीडिया की भूमिका-चुनाव के विशेष सन्दर्भ में शीर्षक पर शोध कार्य किया। वर्ष 2007 में ही उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में सबसे लोकप्रिय हिन्दी अखबारों की प्रति भारतीय प्रेस परिषद को जांच एवं कार्यवाही करने के लिये भेजा। जिसमें इस बात की जांच करनी थी कि तमाम समाचार पत्र भी पत्रकारिता कर्म से दूर अलग-अलग राजनीतिक दलों के साथ खड़े दिख रहे थे। यह अलग बात है कि प्रेस परिषद ने पत्र का संज्ञान लेना भी उचित नहीं समझा। 

हिंदुस्‍तान विज्ञापन घोटाला : संसद सत्र में मामले को उठाने की मांग

 

: सुप्रीम कोर्ट से भी संज्ञान लेने की प्रार्थना  : मुंगेर। विश्व की संभवतः पहली आपराधिक घटना है जिसमें भारत की सबसे शक्तिशाली मीडिया हाउस ‘‘मेसर्स हिन्दुस्तान मीडिया वेन्चर्स लिमिटेड’’, जो पूर्व में ‘मेसर्स हिन्दुस्तान टाइम्स लिमिटेड’ और ‘मेसर्स एचटी मीडिया लिमिटेड’के नाम से जाना जाता था, के विरूद्ध जालसाजी और धोखाधड़ी से केन्द्र और राज्य सरकारों को सरकारी विज्ञापन प्रकाशन मद में लगभग दो सौ करोड़ रुपए के चूना लगाने का आरोप लगाया गया है।

मारिया टीवी : बुर्का में हो रही है एंकरिंग

काइरो। मिस्र में बुर्का पहने महिलाएं इन दिनों एक टीवी न्यूज चैनल का संचालन कर रही हैं। बृहस्पतिवार से शुरू हुए मारिया टीवी चैनल की खासियत यह है कि इसमें सिर्फ महिलाएं काम कर रही हैं। इस चैनल के किसी भी कार्यक्रम और बतौर स्टाफ पुरुषों के काम करने पर पाबंदी है। यहां तक की फोन पर भी वह बात नहीं कर सकते। मारिया देश का ऐसा पहला सैटेलाइट न्यूज चैनल है, जहां महिलाएं बुर्का पहनकर समाचार प्रस्तुत करती हैं। 

जयपुर में पत्रकार बेचेंगे 50-50 अखबार

पत्रकारिता के गरिमामय पेशे में यह दिन भी आना था। जयपुर में हॉकर हड़ताल पर क्या गए कुछ अखबारों के प्रबंधन ने पत्रकारों पर हॉकरों का काम लादना शुरू कर दिया है। पुख्ता खबर है कि राजस्थान के एक प्रमुख अखबार ने अपने रिपोर्टरों को पचास-पचास कॉपियां बेचने का हुक्म जारी किया है। सिद्धांतों की पत्रकारिता का ढिंढोरा पीटने और आदर्श तथा मूल्यों का गुणगान करने वाले इस अखबार के प्रबंधन की इस नीति से पत्रकार मानसिक तौर पर परेशान और सदमे में हैं। मन में गुस्सा तो है परंतु मन मसोसने के अलावा और उनके पास कोई विकल्प भी तो नहीं है।

महुआ चैनल समूह के अध्‍यक्ष पीके तिवारी अपने पुत्रों समेत गिरफ्तार

: फर्जी दास्‍तावेजों के बल पर करोंडो के घोटाला का आरोप : 14 दिनों की न्‍यायिक हिरासत में जेल भेजे गये समूह संचालक : नोएडा : महुआ चैनल समूह के मुखिया को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आज दिल्‍ली की एक अदालत ने पीके तिवारी को 14 दिन तक जेल भेज देने का आदेश दिया। कोर्ट के फैसले के बाद पुलिस ने तिहाड़ जेल में पहुंचा दिया है। अनेक बैंकों से कर्ज हासिल करने के लिए फर्जी कागजातों का इस्‍तेमाल करने के समेत कई आरोपों पर पीके तिवारी और उनके दो बेटों पर यह पुलिस ने कार्रवाई की है।

सहारा समय, देहरादून के ब्‍यूरोचीफ बने मनोज कंडवाल

देहरादून। सहारा समय टीवी चैनल के देहरादून ब्यूरो चीफ के रूप में पत्रकार मनोज कंडवाल को नई जिम्मेदारी दी गई है। पिछले कई सालों से पत्रकारिता जगत में मनोज कंडवाल संस्थान में रहकर बेहतर प्रदर्शन करते रहे हैं जिसकी बदौलत उन्हें ब्यूरो चाफ के पद पर बैठाया गया है। कंडवाल के ब्यूरो चीफ बनने पर …

भ्रष्ट तंत्र के खिलाफ एक लड़ाई और!

सरकार जनता को मूर्ख समझती है या जनता वास्तव में भोली है जो इन राजनेताओं की बातों में आ जाती है। अन्ना के आंदोलन और सरकार के नाटक से तो यही बात सामने आ रही है कि राजनेता नहीं चाहते कि इस देश में कोई ऐसा कानून बने जो आम आदमी को भ्रष्टाचार के विरुद्घ लडऩे की ताकत दे। मगर सवाल यह है कि क्या यह व्यवस्थायें ऐसी ही चलती रहेंगी या इसमें परिवर्तन होगा। क्या इस देश का आम आदमी अपना शोषण होते यूं ही देखता रहेगा या व्यवस्था के विरुद्घ उठ खड़े होने का संकल्प लेगा। इस बार रामदेव और अन्ना दोनों मिलकर आंदोलन की शुरुआत कर रहे हैं। अगर यह आंदोलन सफल हो गया तो इस देश में परिवर्तन का एक नया दौर शुरू होगा। जिसमें भ्रष्टाचारियों को इस व्यवस्था में कोई जगह नहीं होगी।

ये पत्रकारिता है अथवा नौकरी?

अभी अभी एक साथी से मुलाकात हुई. जाहिर सी बात है कि एक पत्रकार साथी से मुलाकात होगी तो बात भी इसी के इर्द-गिर्द रहेगी. यह वह साथी है जब वह अपने शुरुआती दिनों में पत्रकारिता को लेकर बड़ा जज्बाती था. उसे उम्मीद थी कि वह अपनी कोशिशों से समाज को बदल डालेगा लेकिन आज वह निराश है. उसे समझ में नहीं आ रहा है कि जिस समाज को बदलने के लिये वह आया था, आज वह खुद बदल गया है. पत्रकार से वह एक मामूली कर्मचारी बन गया है. अपने तीन दशक की पत्रकारिता में वह यायावर बन कर रह गया है. कभी उसकी काबिलियत का लाभ लेने की बात कह कर उसे अपने शहर से दूर भेज दिया जाता रहा है तो कभी सजा के तौर पर. वह यह बात समझने में अपने आपको नाकामयाब समझ रहा है कि आखिर वह पत्रकारिता कर रहा है अथवा नौकरी. यह सवाल इस समय पत्रकारिता के समक्ष यक्ष प्रश्र के तौर पर मौजूद है. हर पत्रकार इस परेशानी से जूझ रहा है. उन्हें यह समझ ही नहीं आ रहा है कि वे पत्रकारिता कर रहे हैं अथवा नौकरी. इस सवाल पर मैं काफी दिनों से गौर कर रहा था क्योंकि पत्रकार के स्थानीय होने में ही पत्रकारिता का अस्तित्व होता है. 

क्‍या वाकई लापता हैं डेली-प्रॉब्‍लम्‍स न्‍यूज चैनल के मुखिया?

 : गुरुवार शाम से लापता होने की चर्चाएं भड़कीं : न खाना, न पीना और अब तो सांस भी नहीं ले रहा हाथी : नोएडा : खबर है कि यह हाथी न कुछ खा-पी रहा है, न चल रहा है और न अपनी सूंड़ हिला रहा है। और तो और, यह तो अब सांस भी रोकने के व्‍यायाम पर जुट गया लगता है। अफवाहों का बाजार बेहद गरम है, लेकिन इस हाथी की इस हालत पर टिप्‍पणी पर कोई जिम्‍मेदार व्‍यक्ति बोलने पर भी तैयार नहीं है। तो, लब-ओ-लुआब यह कि डेली-प्रॉब्‍लम्‍स न्‍यूज चैनल समूह के मुखिया फिलहाल लापता हैं। बीते गुरुवार की दोपहर से मुखिया का कोई अता-प‍ता नहीं मिल पा रहा है। इस समाचार संस्‍थान के इस मुखिया के गायब हो जाने के चलते माहौल हंगामे की तरह हो गया है।

रूपर्ट मर्डोक ने निदेशक मंडल से इस्‍तीफा दिया

लंदन। मीडिया मुगल रूपर्ट मर्डोक ने न्यूज कॉरपोरेशन के ब्रिटेन, भारत, अमेरिका व ऑस्ट्रेलिया के प्रकाशनों के निदेशक मंडलों से इस्तीफा दे दिया है। यह अटकलें भी लगाई जा रही हैं कि फोन हैकिंग मामले के बाद वे समाचार पत्र समूह को बेचने की तैयारी कर रहे हैं। मर्डोक ने जून में ही घोषणा की थी कि वे अपने समाचार पत्र कारोबार को मूल कंपनी न्यूज कार्प के लाभदायक फिल्म एवं टेलीविजन कारोबार से अलग करेंगे।

फोन हैकिंग मामले में कई और अखबार संदेह के घेरे में

लंदन : मीडिया मुगल ‘न्यूज ऑफ द वर्ल्‍ड’ के बाद ब्रिटेन के कई अखबार फोन हैकिंग मामले को लेकर चल रही जांच के घेर में आ गए हैं। स्कॉटलैंड यार्ड की जांच के घेरे में आने वाले अखबार ‘डेली मिरर’, ‘संडे मिरर’, ‘डेली स्टार’ और ‘स्टार ऑन संडे’ हैं। ब्रिटेन में प्रेस की संस्कृति और व्यवहार को लेकर चल रही जांच समिति के समक्ष पेश हुए वरिष्ठ पुलिस अधिकारी सू एंकर्स ने कहा कि जेल के अधिकारियों को इन अखबारों और मर्डोक के स्वामित्व वाले प्रकाशनों की ओर से रकम दी गई ताकि सनसनीखेज स्टोरी के लिए सूचनाएं ली जा सकें।

लापता पत्रकार को खोजने बहन भारत पहुंची

ऋषिकेश : पांच माह से लापता 28 वर्षीय विदेशी पत्रकार का अभी तक कुछ पता नहीं चल पाया है। लापता युवक की तलाश में उसके परिजन इन दिनों ऋषिकेश की खाक छान रहे हैं। उल्लेखनीय है कि आयरलैंड निवासी 28 वर्षीय पत्रकार जौनाथन लियोनार्ड स्पोलन ऋषिकेश से रहस्यमय परिस्थितियों में लापता हो गया था। उसका बैग, पासपोर्ट व कुछ सामान पुलिस ने गरुड़चट्टी झरने के पास से 12 फरवरी को बरामद किया था।

दारूबाजी कर हंगामा करने में पिटे जागरण के सिस्‍टम इंजीनियर

मुरादाबाद : एक तरफ दैनिक जागरण के सम्पादकीय विभाग पर छंटनी  की तलवार लटक रही है तो दूसरी तरफ जागरण के ही दूसरे विभाग के लोग दारू पीकर मारपीट करने में तल्लीन हैं. ताज़ा मामला मुरादाबाद का है. मुरादाबाद में दैनिक जागरण के सिस्टम इंजीनियर शराब और शबाब के खासे शौक़ीन बताये जाते हैं. इसी साल की शुरुआत में इन्हें इनके घर में घुसकर कुछ लोगो ने जमकर पीटा था. मारपीट के पीछे किसी लड़की से छेड़छाड़ को लेकर पैदा हुआ वैमनस्य था. जिनकी लड़की को इन्होंने छेड़ा था, उन लोगो ने न सिर्फ इनकी पिटाई की, बल्कि थाने में मुकदमा लिखाने पहुंच गए. उस वक्त क्राइम रिपोर्टर की मदद से मामला निपटा. 

यूपी महुआ से रमा सोलंकी का इस्‍तीफा, तालाबंदी के आसार

लखनऊ : यूपी महुआ न्‍यूज में तालाबंदी के आसार पुख्‍ता हो गये हैं। संस्‍थान में पसरी आर्थिक बदहाली और जबर्दस्‍त आंतरिक उठापटक के चलते हुई इस हालत में आखिरकार ब्‍यूरो प्रमुख रमा सोलंकी ने महुआ न्‍यूज से पल्‍ला झाड़ लिया है। फिलहाल इस चैनल में भारी अनिश्चितता का माहौल है। संवाददाता और कैमरामैन जैसे कर्मचारियों को वेतन तक के लिए भी पैसा मुहैया नहीं है। जाहिर है, श्रमिक असंतोष खूब है।

यशवंत-जेल : ये रहा विनोद कापड़ी का एफआईआर और इंटरव्‍यू

इंडिया टीवी के मैनेजिंग एडिटर विनोद कापड़ी द्वारा दर्ज कराए गए एफआईआर की कॉपी को भी नीचे पब्लिश किया जा रहा है ताकि सारे मामले को लोग समझ सकें, जान सकें. इसमें पुलिस का कितना अच्‍छा रोल है इसकी भी जानकारी लोगों को हो सके. हालांकि कापड़ी द्वारा कराए गए एफआईआर की कॉपी के साथ इस घटना के बाद इस मामले पर किए गए उनके इंटरव्‍यू का लिंक भी दिया जा रहा है ताकि लोग एफआईआर की असलियत और सच्‍चाई जान सकें.

यशवंत-जेल : यह है दैनिक जागरण द्वारा दर्ज कराए गए एफआईआर का मजमून

यशवंत की गिरफ्तारी को लेकर अक्‍सर पूरे मामले को न जानने वाले लोग कारण पूछते हैं. लिहाजा सबको पूरी कहानी रिपीट कर पाना म‍ुश्किल होता है. इसलिए लोगों की सहूलियत के लिए दैनिक जागरण द्वारा नोएडा के सेक्‍टर 58 में दर्ज कराए गए मामले की एफआईआर की कापी ही भड़ास पर पब्लिश किया जा रहा है ताकि लोगों को पता चल सके कि मामला क्‍या है, पुलिस इस मामले को लेकर कितनी संवेदनशील है तथा धाराओं का कितना अच्‍छा उपयोग किया गया है.

कैलेण्डर में जारी यशवंत की गिरफ्तारी

नई दिल्ली : यशवंत की खबरों से खार खाने वाले संस्थानों की संख्या कम नहीं है. फ़िलहाल लगभग सभी संस्थानों में एक जैसी स्थिति ही है. कोई यशवंत की गिरफ़्तारी को हलके में ले रहा है तो कोई बाकायदा इन्टरनल प्रोग्राम चला रहा है. नेशनल दुनिया, दैनिक जागरण और हिंदुस्तान ने तो यशवंत की हर पेशी को कैलेण्डर में दर्ज करना शुरू कर दिया है. बात यही तक सीमित होती तो गनीमत थी. इंडिया टीवी पर तो यशवंत डेट बाई डेट फालो किये ही जा रहे हैं, आलोक मेहता, शशि शेखर और विष्णु त्रिपाठी की भी यशवंत पर खास नजर बनी हुई है. सब अपने अधिनस्‍थों को मामले का न सिर्फ फालोअप करने को कह रहे हैं, बल्कि पूरे समूह में रोजाना यशवंत का कैलेण्डर फारवर्ड हो रहा है.

दैनिक जागरण ने लिखी फर्जी खबर, अमर उजाला ने खोला पोल

मुरादाबाद : मुरादाबाद से निकलने वाले दैनिक जागरण और अमर उजाला में तीन दिन से खबरों में जबरदस्त जंग देखने को मिल रही है. शुरुआत दैनिक जागरण ने एक फर्जी और भ्रामक खबर को पहले पेज पर प्रकाशित करके की. अब अमर उजाला ना सिर्फ बड़े अधिकारियों के मुंह से दो दिन से उस खबर को फर्जी बता रहा है, बल्कि सीधे लिख रहा है कि महानगर के एक अखबार ने इस शीर्षक से फर्जी समाचार प्रकाशित कर सनसनी फ़ैलाने की कोशिश की.

मीडिया ने महिलाओं के सम्‍मान में अहम योगदान दिया है

गुवाहाटी में एक लड़की के साथ जो हुआ वह बहुत बुरा हुआ। आज सारी दुनिया को मालूम है कि किस तरह से अपने पुरुष प्रधान समाज में महिलाओं को अपमानित किया जाता है।  टेलीविज़न और अखबारों में खबर के आ जाने के बाद ऐसा माहौल बना कि गुवाहाटी की घटना के बारे में सबको मालूम हो गया। लेकिन यह भी सच्चाई है कि इस तरह की घटनाएं देश के हर कोने में होती रहती हैं। ज्‍यादातर मामलों में किसी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होती। चर्चा तब होती है जब यह घटनाएं मीडिया में चर्चा का विषय बन जाती हैं।

इटावा में पुलिस बनकर अखबार विक्रेता को लूट लिया

इटावा : यूपी में अपरा‍धी किस कदर बेखौफ हो चुके हैं इसकी बानगी इटावा में देखने को मिली. बाइक सवार लुटेरों ने पुलिस बनकर अखबार विक्रेता को धमकाकर उसकी तलाशी लेकर वसूली करके लाए गए रुपये लूट लिए. अब लुटेरे पुलिस के भेष में हैं या पुलिस लुटेरों के भेष में है कहना मुश्किल है. पर सीएम के गृह जनपद में हुई इस घटना ने सरकार पर भी सवाल उठा दिया है. शहर में थाना सिविल लाइन क्षेत्र में ओवरब्रिज के उत्तरी ओर शुक्रवार रात बाइक सवार 3 लुटेरों ने इस वारदात को अंजाम दिया.

गुवाहाटी में युवती के साथ बदसलूकी की आंखों देखी कहानी पत्रकार मुकुल की जुबानी

गुवाहाटी। रात करीब 9.30 के आसपास मैं अपने दफ्तर से घर जा रहा था। कुछ ही आगे बढ़ने के बाद अपने कपड़े संभालती हुई एक युवती मेरी गाड़ी की ओर अंकल बचाओ, अंकल बचाओ चिल्लाती हुई दौड़ रही थी। मैंने गाड़ी पार्क किया। लेकिन तब तक दो दर्जन के करीब भीड़ लड़की की ओर टूट पड़ी। वे उनके कपड़े और बाल नोंच रहे थे। मैंने लड़की को बचाने का प्रयास किया। लेकिन हमलावर मुझे धक्का दे रहे थे। मैंने फटाफट एक आदमी के हाथ से मोबाइल छीना, वे संभवत: पुलिस को फोन कर रहे थे।

सीएमओ ने की पत्रकार के साथ अभद्रता, एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

जावद : नगर पंचायत सीएमओ का पत्रकारों के प्रति रवैया ठीक नहीं है। उनसे किसी योजना के संबंध में जानकारी मांगी जाती है, तो वे अभद्रता करते हैं। यह बात शुक्रवार को जावद एसडीएम एनके वीरवाल से क्षेत्र के पत्रकारों ने कही। पत्रकारों ने बताया सीएमओ एआर सिद्दीकी से जब पत्रकार बनवारीलाल झरिया ने जानकारी …

निशंक के चेले अपना सामान्‍य ज्ञान दुरुस्‍त करें : उमेश कुमार

समाचार प्‍लस चैनल के कई खुलासों ने उत्‍तराखंड की राजनीति में हलचल मचा रखा है. इसकी जद में भ्रष्‍टाचार के कई मामलों को लेकर चर्चा में आने वाले पूर्व मुख्‍यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक और उनके चेले चपाटी भी हैं. निशंक के कार्यकाल में उनकी स्‍टेट मशीनरी और पुलिस के निशाने पर रहे पत्रकार उमेश कुमार के चैनल समाचार प्‍लस ने राज्‍य में भ्रष्‍टाचार के गड़े मुर्दे उखाड़ने शुरू किए तो निशंक के चेलों के पेट में दर्द शुरू हो गया है. पिछले दिनों उनके खास माने जाने वाले गढ़वाल मंडल विकास निगम (जीएमवीएन) के पूर्व उपाध्‍यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने भी उमेश कुमार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया. उमेश की गिरफ्तारी की मांग भी की.

अर्चना की शिकायत पर अनिल त्रिपाठी एवं सतीश प्रधान के‍ खिलाफ मामला दर्ज

लखनऊ: राजधानी पत्रकारों पर चढ़ा आशिक-मिजाजी का नशा आखिरकार काफूर हो गया है। लखनऊ पुलिस ने अर्चना यादव नामक पत्रकार की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए मुकदमा दर्ज कर लिया है। हुसैनगंज थाना कोतवाली में अभी-अभी दर्ज कराये गये इस मुकदमे में अर्चना ने छत्‍तीसगढ़ के रायपुर से प्रकाशित देशबंधु के पत्रकार अनिल त्रिपाठी और …

यौन विद्रूप मानसिकता से ग्रसित पत्रकार हैं अनिल त्रिपाठी : अर्चना यादव

: फेसबुक का पता देकर अर्चना ने किया खुलासा : कुमार सौवीर की रिपोर्टिंग पर भी उठाये कड़े सवाल : लखनऊ : अर्चना यादव ने अब लखनऊ के प्रतिष्ठित पत्रकारों के चरित्र का खुलासा किया है। अपने पक्ष में अर्चना ने पत्रकार अनिल त्रिपाठी का दावा है कि वे विद्रूप यौन-मानसिकता से ग्रसित हैं। और पिछले दिनों अनिल त्रिपाठी ने अपनी इसी मानसिकता के तहत ही उनके साथ अश्‍लील हरकत की थी। उधर इस मामले की रिपोर्ट लिखने के मामले में पत्रकार कुमार सौवीर पर भी पत्रकारिता में गुटबाजी और ऐसे शर्मनाक हादसों पर पीडि़तों के खिलाफ रहने का आरोप लगाया है। बहरहाल, अर्चना का दावा है कि इस मामले में हजारों स्‍वयंसेवी संस्‍थाओं और सामाजिक कार्यकर्ताओं को एकजुट किया जाएगा ताकि पत्रकारिता के नाम पर धंधा करने वाले कुत्सित लोगों का पर्दाफाश किया जा सके।

हिंदुस्‍तान के फोटोग्राफर की बहादुरी से बड़ा हादसा टला

भदोही नगर के एक प्राथमिक विद्यालय में अपनी बहादुरी के चलते एक मीडियाकर्मी ने भीषण दुर्घटना होने से बचा लिया, उसकी बहादुरी से प्रभावित होकर नगर के समाजसेवी इश्तियाक डायर ने उसका सम्मान किया. हुआ यूँ कि नगर के मशाल रोड स्थित पीरखानपुर प्राथमिक विद्यालय में खाना बनाया जा रहा था, तभी सिलेंडर से निकली पाईप में आग लग गयी. आग का रुख सिलेंडर की तरफ होता देख रसोइयाँ भाग निकला. साथ ही अध्यापकों और बच्चों में भी भगदड़ मच गयी.

हिंदुस्‍तान, पटना में जूनियर फोटोजर्नलिस्‍ट ने सीनियर से की बदतमीजी

हिन्दुस्तान, पटना के पूर्व संपादक अक्कू श्रीवास्तव के तबादले के कुछ दिनों बाद ही उनके करीबी लोग नए संपादक केके उपाध्याय को रिझाने के लिए वर्चस्व जमाना शुरू कर दिया है. इसको लेकर रिपोर्टरों व फोटोग्राफरों के पुराने गुटों ने फिर से खेमाबंदी शुरू हो गई है. यूनिट में चर्चा है कि इसी क्रम में अक्‍कू श्रीवास्‍तव के खास रहे जूनियर फोटोग्राफर आशीष ने शुक्रवार को सीनियर फोटोग्राफर अनिल कुमार के साथ न सिर्फ बदतमीजी बल्कि हाथापाई भी की. अब देखना है प्रबंधन इस मामले को किस तरह टैकल करता है.

प्रभाष जी ने आम आदमी की भाषा को स्थापित किया : आरिफ मोहम्मद खान

: पत्रकार संजीव पांडेय की पुस्‍तक पेड न्‍यूज का विमोचन : नई दिल्ली। पूर्व केन्द्रीय मंत्री आरिफ मोहम्मद खान ने कहा कि प्रभाष जोशी को इस बात का श्रेय जाता है कि उन्होंने आम आदमी की भाषा को एक बड़े अखबार की भाषा बना दिया। वे यहां प्रभाष परंपरा न्यास और गांधी स्मृति एवं दर्शन समिति के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित किए गए ‘प्रभाष प्रसंग’ कार्यक्रम में बोल रहे थे। कार्यक्रम का आयोजन प्रभाष जोशी के 76 वें जन्मदिन के मौके पर राजघाट स्थित गांधी दर्शन में किया गया था। इस मौके पर प्रभाष जोशी पर केन्द्रित डाक्‍युमेंट्री फिल्म दिखाई गई और संजीव पांडेय की पुस्तक 'पेड न्यूज', पाखी के प्रभाष जोशी पर केंद्रित अंक तथा जनसत्ता व राष्ट्रीय सहारा के प्रभाष जोशी पर केंद्रित परिशिष्टों का लोकार्पण भी किया गया।

महिला पत्रकार अर्चना यादव के साथ हुई घटना अब संदेह के घेरे में

लखनऊ : महिला पत्रकार अर्चना यादव के साथ हुई घटना अब संदेहों में है। कारण यह कि इस मामले में अर्चना यादव ने बेहद संदेहास्‍पद तरीके से अपना बयान तोड़-मरोड़कर पेश किया। अपने पहले के पूर्ववर्ती ईमेल पर दर्ज सूचना के बजाय अर्चना ने पुलिस को जो तथ्‍य पेश किये हैं, वे अधिकांशत: बदले हुए हैं। वैसे इस प्रकरण पर नार्थईस्‍ट स्‍टेट्समैंट अखबार के विशेष संवाददाता सतीश प्रधान ने ईमेल भेजते हुए अर्चना पर जवाब-तलब किया है। अपने मेल में अर्चना ने पूछा है कि आखिर किन आधारों पर अर्चना यादव ने उन पर यह आरोप लगाया है। उधर इस प्रकरण पर लखनऊ पुलिस ने अब तक कोई भी कार्रवाई नहीं की है।

Media Orientation Program on July 26 at Guwahati Press Club

: Paranjoy Guha Thakurta will attend Guest of the Month program : Guwahati : A daylong media orientation program with an aim for encouraging and developing ethical journalism has been organized on Thursday (July 26, 2012) at Guwahati Press Club. Paranjoy Guha Thakurta, an independent journalist and  educator spanning 35 years of experiences in print, radio, television and documentary film-making, will attend the program as the resource person.

धीरज हत्‍याकांड : एमएलसी ने पत्रकार नीरज पर कराया रंगदारी मांगने का मुकदमा

: सत्‍ता के दबाव में कानून का दुरुपयोग : कटिहार के पत्रकार नीरज के भाई धीरज हत्‍या कांड में एक नया मोड आया है। पीडि़त पक्ष की आवाज को दाबाने के लिये भाजपा एमएलसी अशोक अग्रवाल ने अपने एक स्टाफ से भाजपा एमएलसी अशोक अग्रवाल गिरफ्तारी की मांग कर रहे मृतक के पत्रकार भाई नीरज पर कटिहार के नगर थाना में रंगदारी का मामला दर्ज कराया है। कटिहार में भाजपा एमएलसी अशोक अग्रवाल पर उनके ही कर्मी धीरज महतो को गोली मारकर हत्या करने क़ा आरोप है।

संपादक जी, क्यों न आपके खिलाफ फर्ज़ी एफआईआर लिए मामला दर्ज हो?

: यशवंत की गलती है लेकिन संपादक जी आपकी मंशा क्या है? : यशवंत सिंह मामले में तीन पक्ष हैं, तीन में से सबसे पहला पक्ष है उनका जो ये मानते हैं कि यशवंत ने जो कुछ किया गलत किया लेकिन उसके बदले में जो कुछ किया वो गलत ही नहीं बल्कि आपराधिक होने की अतिरेकता है। दूसरा पक्ष है जो ये मानता है कि यशवंत ने कुछ गलत किया ही नहीं और तीसरा पक्ष है जो ये मानता है कि इससे फर्क नहीं पड़ता कि क्या अनैतिक और गलत हुआ, यशवंत के साथ ऐसा ही होना चाहिए। चलिए बात करते हैं इन तीन पक्षों की और यशवंत की, जिन्हें इन तीनों ही बातों से ज़्यादा फ़र्क नहीं पड़ता।

झांसा देकर पत्रकार से 34 हजार रुपये की ठगी

मंदसौर : मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले में अज्ञात बदमाश ने एक पत्रकार को झांसा देकर 34 हजार रुपये ठग लिए। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जिले के ग्राम बुढ़ा के पत्रकार सज्जन सिंह सोनगरा बीमे की किश्त जमा कराने के लिए बुढ़ से बस से पिपल्या मंडी आ रहे थे।

रेव पार्टियों के मीडिया कवरेज के लिए गाइडलाइन बनाएगी महाराष्‍ट्र सरकार

मुंबई। रेव पार्टियों से पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई भारत में टेरर फैलाने के लिए फंड जमा करती है। इस बात का खुलासा महाराष्ट्र के गृहमंत्री आर. आर. पाटिल ने किया है। गृहमंत्री ने रेव पार्टियों पर हाल के दिनों की गईं छापेमारी का बचाव करते हुए दोनों सदनों में कहा कि मुंबई सहित राज्य के कई ठिकानों पर आयोजित की गईं रेव पार्टियों से जमा होने वाले फंड्स आतंकवादी गतिविधियों के लिए उपयोग किया जानेवाला था।

गुवाहाटी छेड़खनी को कवर करने वाले पत्रकार गौरव गिरफ्तार

गुवाहाटी। असम में एक किशोरी के साथ नौ जुलाई को हुई छेड़छाड़ की घटना के सिलसिले में शुक्रवार को टेलीविजन पत्रकार गौरव ज्योति नियोग का गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने यह जानकारी दी। समाचार चैनल न्यूज लाइव के लिए काम करने वाले संवाददाता नियोग पर पब के बाहर किशोरी के कपड़े फाड़ने के लिए भीड़ को उकसाने का आरोप है। घटना की जांच किए जाने की घोषणा के बाद नियोग ने रविवार को इस्तीफा दे दिया था।

आखिर जी न्‍यूज से विदा हो गए सतीश के सिंह, मेल जारी

जी न्‍यूज में तय हो गया है कि एडिटर सतीश के सिंह का संबंध अब समाप्‍त हो चुका है. इसके लिए बाकायदा मेल जारी कर दिया गया है. सूत्रों का कहना है‍ कि जी न्‍यूज को अलग पहचान दिलाने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाने वाले सतीश के सिंह को जिस अपमानजक परिस्थितियों में विदा होना पड़ा …

एक बार फिर विवादों में आए लखनऊ के पत्रकार

लखनऊ : दो पत्रकारों की पिटाई को लेकर लखनऊ की पत्रकारिता एक बार फिर विवादों से छा गयी है। खबर है कि गुरुवार को एक महिला ने इन पत्रकारों पर हमला बोल दिया। आरोप है कि यह महिला इन पत्रकारों की कथित छेड़खानी से तंग थी। जबकि सूत्र बताते हैं कि इस मामले को पत्रकारों की आपसी जंग के चलते खूब रंग भर दिया गया है। खबर है कि इस मामले को भड़काने में पत्रकारिता के कई दिग्‍गज सरपरस्‍तों का हाथ है। बहरहाल, सत्‍ता के गलियारों पर चटखारा लगाने वाली इस घटना पर एक पत्रकार से तो अब संपर्क नहीं हो पाया है, लेकिन एक अन्‍य पत्रकार का आरोप है कि ऐसे फर्जी अपमानजनक खबर को फैलाने वाले ईमेल को पुलिस के हवाले किया जाएगा, ताकि भविष्‍य में ऐसी हरकतों पर कड़ी कार्रवाई की जा सके।

आउटलुक ने दिया टाइम को जवाब, बराक ओबामा को बताया अंडरएचिवर

आउटलुक' पत्रिका के नये अंक में बराक ओबामा के कामकाज का जायजा लेते हुए उन्‍हें अंडरअचीवर घोषित किया है. पत्रिका के नये अंक के कवर पर उसी तरीके से बराक ओबामा को दिखाया गया है जैसा कि मनमोहन सिंह का टाइम मैग्‍जीन के कवर पेज पर दिखाया गया था. पत्रिका के नये अंक के कवर पेज पर लिखा गया है कि अमेरिका को नये शुरूआत की जरूरत है. ओबामा ने बदलाव लाने का वादा किया था, लेकिन चार वर्ष हो गए हैं और ओबामा की चमक चली गई है. क्या अपने बड़बोलेपन के जरिए वह वापसी कर पाएंगे?

खेल पत्रकारों गठित किया स्‍पोर्ट्स मीडिया इंडिया, एमआर‍ मिश्रा बने अध्‍यक्ष

सभी पेशेवर खेल पत्रकारों के लिये गुरूवार को नयी राष्ट्रीय संस्था का गठन किया गया है जिसे स्पोर्ट्स मीडिया इंडिया नाम दिया गया है. इसके कार्यकारी बोर्ड में देश के चोटी के संगठनों के मीडियाकर्मी शामिल हैं.स्पोर्ट्स मीडिया इंडिया में प्रिंट, टीवी, रेडियो और इंटरनेट पत्रकारों को शामिल किया गया है. इसका उद्देश्य हर तरह की मीडिया से जुड़े खेल पत्रकारों के बीच तालमेल और एकजुटता को बढ़ावा देना और देश में खेल पत्रकारिता को आगे बढ़ाना है.

रिलायंस मीडिया वर्क्‍स जुटाएगी 650 करोड़ रुपये

अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस मीडियावर्क्स एक विदेशी प्राइवेट इक्विटी फंड के जरिए 650 करोड़ रुपये जुटाएगी। सूत्रों का कहना है कि दो कंपनियों ने डील साइन कर ली है। बस इसकी आधिकारिक घोषणा होनी बाकी है। इस सौदे के जरिए विदेशी प्राइवेट इक्विटी कंपनी रिलायंस मीडियावर्क्‍स में कुछ हिस्‍सा खरीदेगी। रिलायंस मीडिया वर्क्‍स इस …

किसी चैनल या पत्रकार पर कार्रवाई के लिए नहीं बनाया दबाव : गोगोई

गुवाहाटी : मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने गुरुवार को इस बात से इन्कार कर दिया कि उनके दबाव में न्यूज लाइव चैनल के एडिटर इन चीफ अतनु भूयां ने इस्तीफा दिया है। विस परिसर स्थित अपने कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने साफ किया कि उन्‍होंने किसी पत्रकार और एडिटर को हटाने के लिए किसी के ऊपर दबाव नहीं डाला। इसलिए न्यूज चैनल के प्रबंधन को अपनी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए ताकि बातें साफ हो सकें। 

काका, एबीपी न्‍यूज वालों की करतूत से मैं शर्मसार हूं!

ख़बरों के नाम पर इस दौर में कोई भी कुकर्म किया जा सकता है… लोग करते भी हैं लेकिन कुकर्म के साथ ही महापाप का नायब और बेहद घिनौना चेहरा एबीपी न्यूज़ का बुधवार की  रात सामने आया… लाश को लेकर डिस्को डांस की परंपरा शायद ही दुनिया में कहीं हो…. लेकिन देश के प्रतिष्ठित चैनलों में शुमार इस न्यूज़ चैनल ने कुछ ऐसा ही किया है… राजेश खन्ना अब इस दुनिया में नहीं है …अगर होते भी तो शर्म से मर गये होते. 

पूर्वांचल प्रेस क्‍लब की कमेटी भंग

पूर्वांचल प्रेस क्लब के अध्यक्ष हरीश सिंह ने क्लब के कुछ पदाधिकारियों तथा सदस्यों द्वारा संविधान के खिलाफ किये जा रहे क्रियाकलापों से झुब्ध होकर गुरुवार की शाम कमेटी को भंग कर दिया. यह जानकारी प्रेस क्लब के संस्थापक/संरक्षक श्री हरीन्द्रनाथ उपाध्याय को देते हुए कहा कि प्रेस क्लब की स्थापना एक स्वस्थ उद्देश्‍य के तहत हुयी थी न कि निजी स्वार्थ को संरक्षण देने के लिए.

कम्‍प्‍यूटर हैकिंग के संदेह में एक पत्रकार गिरफ्तार

लंदन। ब्रिटेन की पुलिस ने मीडिया मुगल के नाम से मशहूर रूपर्ट मर्डोक के प्रमुख टेबलाइड अखबार 'द सन' के एक पत्रकार को कंप्यूटर हैकिंग के संदेह में गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बताया कि उत्तरी लंदन में आज सुबह ऑपरेशन टूलेटा के तहत एक घर पर मारे गये छापे में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। ऑपरेशन टूलेटा के अंतर्गत ब्रिटेन के फोन हैकिंग कांड से जुडे़ कंप्यूटर हैकिंग मामले की जांच की जा रही है।

इंडिया टीवी के मालिक रजत शर्मा को धमकी

मशहूर हिंदी टीवी पत्रकार को पिछले कुछ दिनों से कुछ अज्ञात लोग धमकीभरा फोन और एसएमएस कर रहे हैं। उनके चैनल ने एक स्वयंभू बाबा से संबंधित खबर प्रसारित की थी, जिसके बाद से ऐसी धमकियां मिल रही हैं। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इंडिया टीवी चैनल ने पुलिस में 26 जून को शिकायत दर्ज कराई थी कि इसके प्रधान संपादक रजत शर्मा को धमकीभरे फोन और संदेश मिल रहे हैं और दो दिन पहले अज्ञात लोगों के खिलाफ सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया।

फर्जी मामले में फंसाने वाले अधिकारियों के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचा पत्रकार

एनडीपीएस का कथित फर्जी मुकदमा दर्ज करने वाले पुलिस अफसरों के खिलाफ लखनऊ के एक पत्रकार ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। सर्वोच्च अदालत में दायर याचिका में इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती दी गई है। पीड़ित ने ट्रायल कोर्ट से बरी होने के बाद मुकदमा दर्ज करने वाले पुलिस अफसरों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 182 के तहत मुकदमा चलाने की मांग हाईकोर्ट से की थी। लेकिन हाईकोर्ट ने इस आग्रह को जांच स्थानांतरित करने का मसला मानते हुए किसी अन्य शाखा से जांच कराने से इंकार कर दिया था।

युवती से बदसलूकी मामले में आरोपित पत्रकार की जमानत याचिका खारिज

गुवाहाटी की सड़कों पर युवती के साथ हुई बदसलूकी मामले में आरोपित स्थानीय चैनल के संवाददाता गौरव ज्योति नेउग की अंतरिम जमानत को आज गुवाहाटी हाई कोर्ट ने खारिज कर दिया। गौरव ने न्यायाधीश सीआर शर्मा की अदालत में अंतरिम जमानत की अर्जी दी थी। अदालत ने अर्जी पर सुनवाई करते हुए जज महोदय ने पुलिस को अगले 30 जुलाई को मामले की पूरी रिपोर्ट न्यायालय के समक्ष रखने का निर्देश दिया। 

वरिष्‍ठ पत्रकार गिरीश मिश्र को पैरलाइसिस अटैक, अस्‍पताल में भर्ती

 

पुणे से खबर है कि लोकमत समाचार के संपादक व वरिष्‍ठ पत्रकार गिरीश मिश्र को पैरलाइसिस अटैक हुआ है. बुधवार की सुबह उन्‍हें अचानक यह अटैक हुआ. गिरीशजी को पुणे के एक अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है. जहां उनका इलाज चल रहा है. खबर है कि उनकी हालत स्थिर बनी हुई है. डाक्‍टरों ने जल्‍द ही सुधार होने की उम्‍मीद जताई है. 

प्रबुद्धनगर में व्‍यापारियों ने पत्रकारों पर हमला किया

प्रबुद्धनगर के शामली में चार पत्रकारों पर व्‍यापारियों दलाली और घूसखोरी का आरोप लगाया तथा उनके साथ धक्‍कामुक्‍की भी की. इस घटना के बाद नाराज पत्रकारों ने शामली कोतवाली में तहरीर देकर मामला दर्ज किए जाने की गुहार लगाई है. घटना बुधवार की शाम की है. गुप्‍त सूचना के आधार पर एसडीएम शामली व सेल टैक्‍स अधिकारी ने गेहूं व चावल भरे टाला पर छापा मारा.

हत्‍यारोपी भाजपा एमएलसी ने दी पत्रकारों को धमकी

कटिहार में पत्रकार के भाई की हत्‍या की खबर दिखाए जाने से नाराज भाजपा एमएलसी अशोक अग्रवाल अब पत्रकारों को भी धमकाने लगे हैं. इस हत्‍या में अशोक अग्रवाल को भी आरोपी बनाया गया है. मामला सत्‍ता पक्ष के एमएलसी से जुड़े होने के कारण पुलिस भी दबाव में है. पत्रकार संभावना जता रहे हैं कि एमएलसी जांच प्रभावित कर सकते हैं. अशोक अग्रवाल इसी चलते पत्रकारों से नाराज हैं. बताया जा रहा है कि भाजपा एमएलसी ने अपने आवास पर पत्रकारों को धमकी दी.

हिंदुस्‍तान, आगरा ने सेना को दी डिजास्‍टर मैनेजमेंट की नसीहत

डिजास्टर मैनेजमेंट का महत्वपूर्ण हिस्सा माने जानी वाली सेना को यदि यही बात सिखाई जाए तो कैसा लगेगा। शायद उल्टा बांस बरेली को। मगर कुछ ऐसा ही किया हिंदुस्तान आगरा संस्करण ने। हुआ यूं कि आगरा में सेना की भर्ती रैली के दौरान भगदड़ में एक युवक की मौत हो गई। मुद्दा था। राष्ट्रीय स्तर पर उठा। अतः हिंदुस्तान के स्थानीय संपादक पुष्पेंद्र शर्मा ने इस पर इतवारी टिप्पणी कर डाली। उन्होंने सेना और स्थानीय प्रशासन को इस बात के लिए कोसा कि आखिर डिजास्टर मैनेजमेंट के उपाय क्यों नहीं अपनाए।

यशवंत की गिरफ्तारी के विरोध में फरीदाबाद पहुंचे पत्रकार : कुमार मधुकर

भड़ास4मीडिया के संपादक यशवंत की गिरफ़्तारी की विरोध में भांडा फोड़ इंडिया के ग्रुप एडिटर कुमार मधुकर के नेतृत्व चल रहे आन्दोलन की ख़बरें लगातार भड़ास पर छपने से आन्दोलन को मजबूती मिल रही है. अबतक लगभग तीन सौ पत्रकारों ने कुमार मधुकर से संपर्क कर अपना समर्थन दिया है. संपर्क करने वाले इन पत्रकारों में फुल टाइम के अलावा पार्ट टाइम काम करने वाले पत्रकार भी शामिल हैं.  

इंडोनेशिया में दस लाख से अधिक वेबसाइटें बंद

जकार्ता : रमजान के पवित्र इस्लामिक महीने से पहले इंडोनेशिया के संचार और सूचना मंत्रालय ने 10 लाख से अधिक अश्लील वेबसाइट बंद कर दी। मंत्री टिफाटुल सेम्बिरिंग ने बुधवार को कहा कि उनका कार्यालय आने वाले महीने में और वेबसाइटों को निशाना बनाएगा। उन्होंने कहा कि जिन वेबसाइटों को बंद किया गया, वे सभी विदेश से संचालित होते थे।

बीईए की तीन सदस्‍यीय टीम करेगी गुवाहाटी छेड़खानी मामले में मीडिया की भूमिका की जांच

नई दिल्ली : टेलीविजन संपादकों की शीर्ष संस्था ब्रॉडकास्ट एडिटर्स एसोसिएशन ने गुवाहाटी छेड़खानी मामले की जांच करेगी. इसके लिए  तीन सदस्यीय टीम बनाई है. यह फैक्ट फाइंडिग टीम गुवाहाटी जाएगी और छेड़खानी मामले में टेलीविजन कवरेज और मीडियाकर्मी या मीडियाकर्मियों की भूमिका की जांच करेगी. तीन सदस्यीय टीम में बीईए के जनरल सेक्रेट्री एनके सिंह के अलावा वरिष्ठ टीवी पत्रकार दिबांग और आशुतोष शामिल हैं.

नील करी बने बीबीसी हिंदी सेवा के प्रमुख

बीबीसी हिंदी सेवा का नया प्रमुख नील करी को बनाया गया है. अमित बरुआ के इस्‍तीफे के बाद यह पद खाली चल रहा था. नील को अस्‍थाई तौर पर हिंदी सेवा का प्रमुख नियुक्‍त किया गया है. स्‍थाई नियुक्ति होने के बाद नील वापस लंदन में अपनी भूमिका निभाएंगे. नील वर्ष 2006 से बीबीसी वर्ल्ड सर्विस के एशिया पैसेफिक बिजनेस डेवलपमेंट हेड के साथ ही ईस्‍ट एशिया के एक्‍जीक्‍यूटिव एडिटर के तौर पर काम संभाल रहे हैं. उन्होंने बीबीसी चाइनीज, इंडोनेशियन, वियतनामी और बर्मी सेवा के संपादकीय विभाग का नेतृत्व भी किया है.

षड़यंत्रकारी यशवंत से माफी मांगकर झूठे मुकदमे वापस लें

: गिरफ्तारी के विरोध में बैठक और निंदा जारी : नई दिल्ली : भड़ास4मीडिया के संपादक यशवंत की गिरफ़्तारी के विरोध में भांडा फोड़ इंडिया के ग्रुप एडिटर कुमार मधुकर के नेतृत्व चल रहे आन्दोलन को जबरदस्त समर्थन मिल रहा है.  आन्दोलन के समर्थन में दक्षिणी हरियाणा पत्रकार संघ की बैठक गुडगाँव के स्थानीय कार्यालय में हुई. इस बैठक की अध्यक्षता संघ के उपाध्‍यक्ष व आज तक गुडगाँव के एडिटर सतबीर भारद्वाज कर रहे थे. इसमें न सिर्फ यशवंत की गिरफ़्तारी की निंदा की गई बल्कि यह भी तय किया गया कि भांडा फोड़ इंडिया के ग्रुप एडिटर कुमार मधुकर के नेतृत्व में चल रहे  आन्दोलन को और तेज किया जाये.

न्‍यूज लाइव के पूर्व संपादक अतनु भुइयां करेंगे बरखा दत्‍त पर मुकदमा

गुवाहाटी। युवती के साथ बदसलूकी मामले को लेकर अपने पद से इस्तीफा देने वाले असम के स्थानीय न्यूज चैनल के मुख्य संपादक अतनु भुइयां ने अपने ऊपर जानलेवा हमले की आशंका जताई है। उन्होंने इस पूरे मामले में साजिश की आशंका जताते हुए घटना की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है। मंगलवार को इस्तीफा देने वाले वरिष्ठ पत्रकार ने आज एनडीटीवी के पत्रकार बरखा दत्त के खिलाफ मुकदमा दायर करने की बात भी कही।

भाषा पर पकड़ और सामाजिक सिद्धांतों का बोध ही बनाता है सफल पत्रकार : विकास मिश्रा

: हिंदी विवि के सीसीएमएस में मीडिया विशेषज्ञों के व्याख्यान से सत्रारंभ : वर्धा : पत्रकारिता की पढ़ाई में कदम रखने वाले छात्रों में सामाजिक, राजनीतिक, आर्थिक चुनौतियों से जूझने का जज़्बा होना चाहिए। इन चुनौतियों से जूझने के साहस के बिना पत्रकारिता के मूल्यों को स्थापित कर पाना संभव नहीं है। जुझारू पत्रकारों के बदौलत ही पत्रकारिता अपने मानक स्तर को पा सकेगी। पत्रकारिता के छात्रों के लिए आवश्यक है कि समाज में घटित हो रही घटनाएं उन्हें भीतर से उद्वेलित करे और वे उस पर सोचने को विवश हों। उक्त विचार पत्रकार अजीत अंजुम (संपादक न्यूज 24) ने संचार एवं मीडिया अध्ययन केंद्र (सीसीएमएस) के नवांगुतक छात्रों को उद्बोधित करते हुए कहा।

जागरण, रांची में फेरबदल : शशिभूषण गए पटना, मुकेश भूषण होंगे प्रभारी

दैनिक जागरण, रांची से एक खबर है। यहां के संपादकीय प्रभारी शशिभूषण का तबादला पटना कर दिया गया है। उनकी जगह यहां पहले से तैनात मुकेश भूषण लेंगे। दो दिन पहले एक बैठक में इसका विधिवत घोषणा भी कर दी गई। जल्द ही वे पटना जाकर कामकाज संभाल लेंगे हालांकि उन्हें पटना में क्या पोस्ट मिलेगा यह पता नहीं है। रांची से इनके जाने के बाद यहां कुछ फेरबदल भी होंगे। अरसे से जमे कुछ लोग इधर उधर किए जा सकते हैं।

दबंग दुनिया खतरे में, डेढ़ दर्जन से ज्‍यादा की छंटनी

इंदौर से प्रकाशित दबंग दुनिया में छंटनी का दौर शुरू हो गया है। पिछले तीन दिनों में संपादकीय विभाग के लगभग २० दिग्गजों को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। डेढ़ वर्ष पूर्व शुरू हुए दबंग दुनिया में अधिकांश पत्रकार दैनिक भास्कर छोड़कर आए थे। दबंग दुनिया प्रबंधन ने इन्हें मोटा वेतन देकर नौकरी पर रखा था। दबंग दुनिया प्रबंधन गुटका व्यवसाय से जुड़ा है और हाल ही में गुटके पर लगी देशव्यापी रोक के चलते दबंग दुनिया प्रबंधन सकते में आ गया है।

सैयद फैजल अली बने सहारा के उर्दू वेंचर के एडिटोरियल हेड

सहारा न्यूज़ नेटवर्क से एक बड़ी खबर है की लम्बे इंतज़ार के बाद सहारा उर्दू मीडिया ने एक नए हेड को ज्वाइन कराया है. वरिष्ठ पत्रकार सैयद फैसल अली ने कल सहारा उर्दू अखबार और आलमी सहारा टीवी चैनल के एडिटोरिअल हेड का कार्यभार संभाल लिया. अब सहारा उर्दू मीडिया की ज़िम्मेदारी पूरी तरह से फैसल अली के कन्धों पर होगी. रोजनामा राष्ट्रीय सहारा से सम्पादक के पद से अज़ीज़ बर्नी को हटाये जाने के बाद से यह पद खली चल रहा था. पिछले कई महीनों से फैसल अली की सहारा से जुड़ने की चर्चा गरम थी, किन्हीं कारणों से इसमें देरी हुई, पर सहारा मीडिया को एक बड़ा नाम मिल ही गया. इस संदर्भ में सहारा के नोएडा कैम्पस में एक सर्कुलर भी लगा दिया गया है.

लं‍दन ओलंपिक में कवरेज के लिए रिकार्ड संख्‍या में जाएंगे भारतीय पत्रकार

लंदन ओलंपिक कवरेज के मामले में भारतीय पत्रकारों ने नया रिकॉर्ड बनाया है. अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के अध्यक्ष जाक रोगे के अनुसार अब तक भारत से रिकॉर्ड संख्या में पत्रकारों को एक्रीडेशन दिये गए हैं. रोगे ने भारतीय खेल पत्रकार महासंघ को भेजे संदेश में कहा, ‘‘भारतीय खेल पत्रकारिता के लिये यह खेल काफी अहम हैं क्योंकि अभी तक इतनी तादाद में भारतीय पत्रकारों को किसी ओलंपिक में एक्रीडेशन नहीं मिले हैं.’’

हमारा महानगर में छंटनी का दौर शुरू

मुंबई से प्रकाशित होने वाले हिंदी दैनिक हमारा महानगर में बड़े पैमाने पर छंटनी का दौर शुरू होने जा रहा है. जब से प्रबंधन की बागडोर अमरजीत सिंह ने संभाली है वे स्टाफ को साइज़ में लाने की कोशिशों में जुटे हुए हैं. ताज़ा मामले में वरिष्‍ठ पत्रकार सुधांशु शेखर, उदयराज यादव, सुनील आनंद, भृगुनाथ …

जीएनएन न्‍यूज से चैनल हेड अनंत मित्‍तल का इस्‍तीफा

जीएनएन न्‍यूज से खबर है कि वरिष्‍ठ पत्रकार और चैनल हेड अनंत मित्‍तल ने इस्‍तीफा दे दिया है. कुछ महीने पहले ही उन्‍होंने चैनल ज्‍वाइन किया था. अपने अलहदा पत्रकारीय अंदाज के लिए पहचाने जाने वाले अनंत मित्‍तल को जीएनएन की पारी रास नहीं आई. तीन दशक से पत्रकारिता में सक्रिय अनंत मित्‍तल ने करियर की शुरुआत 1980 में स्‍वतंत्र भारत से की थी. इसके बाद वे टाइम्‍स ऑफ इंडिया से जुड़े. इसके बाद नवभारत टाइम्‍स, पंजाब केसरी, न्‍यूज एजेंसी भाषा, जनसत्‍ता, आउटलुक, करियर 360, दैनिक भास्‍कर के रेडिया माई एफएम जैसे संस्‍थानों के साथ वरिष्‍ठ पदों पर जुड़े रहे.

न्‍यूज लाइव के संपादक अतनु भुइयां ने इस्‍तीफा दिया

असम के उस स्थानीय टीवी चैनल न्‍यूज लाइव के प्रधान संपादक ने इस्तीफ़ा दे दिया है जिसके पत्रकार ने पिछले सप्ताह गुवाहाटी में एक युवती के साथ छेड़छाड़ का वीडियो रिकॉर्ड किया था. संपादक अतनु भुइयां ने ये क़दम प्रदेश के मुख्यमंत्री तरूण गोगोई के बयान के बाद उठाया है जिसमें मुख्यमंत्री ने पत्रकार की पुलिस को सूचना नहीं देने के लिए आलोचना की थी.

भाजपा एमएलसी पर पत्रकार के भाई की हत्‍या का आरोप

कटिहार में भाजपा एमएलसी अशोक अग्रवाल पर उनके ही कर्मी धीरज महतो को गोली मारकर हत्या करने क़ा आरोप है। मृतक धीरज क़ा भाई नीरज प्रभात खबर के कटिहार जिला के वरीय संवाददाता हैं और इस घटना के प्रत्‍यक्षदर्शी भी हैं, उसका आरोप है कि धीरज एमएलसी अशोक अग्रवाल के कंस्ट्रक्शन कंपनी के अररिया साईट पर मुंशी (मैनेजर) के पद पर कार्यरत था। कार्य में गुणवत्ता की शिकायत को लेकर मुंशी धीरज ने कहा कि अररिया के लोगों के गुस्सा का शिकार उसे होना पड़ता हैं और साथ ही अररिया साईट पर जाने से मना कर दिया। 

जब स्‍वयंभू ‘भगवान’ नंगे होने लगे तो षड़यंत्र से यशवंत और मुकेश को जेल भिजवाया

मुंगेर। भड़ास4मीडिया डाट काम के संपादक और ई-हिन्दी न्यूजपेपर के इतिहास पुरूष यशवंत सिंह और राजनामा डाट काम के संपादक मुकेश भारतीय की गिरफ्तारी ने विश्व के सामने यह प्रमाणित कर दिया है कि देश के कारपोरेट प्रिंट और इलेक्‍ट्रानिक मीडिया हाउसों के मालिकों और संपादकों को जब ‘भगवान’ से ‘आदमी’ बनाने की मुहिम चली तो उनलोगों ने सरकार में शामिल कुछ प्रमुख और प्रभावशाली लोगों और भ्रष्ट पुलिस पदाधिकारियों को प्रभाव में लेकर उनकी गिरफ्तारी की घटना को अंजाम दिया।

आइये “कपड़ा-फाड़” फाइट में सब नंगे हो लें!

अंधा बांटे रेवड़ी, बार-बार अपने को दे। कहावत सबने सुनी है। उस्ताद का जितना बड़ा या खास चेला होगा, उस्ताद अंधा होने के बाद भी, बार-बार मेवा की मात्रा उसी शिष्य के हाथों में ज्यादा से ज्यादा परोसेगा-भरेगा। देखने-कहने को उस्ताद भले ही अंधा हो। मेरी आंखों के सामने और जेहन में जो भगदड़ मची है, उसमें न कोई अंधा उस्ताद है। न कोई किसी का खास  चेला या शिष्य।

वरिष्‍ठ पत्रकार सतीश जैकब होंगे न्‍यूज एक्‍स के हेड!

एक बड़ी खबर आ रही है कि न्‍यूज एक्‍स के नए हेड सतीश जैकब होंगे. हाल ही में इंडिया टीवी समूह का संचालन करने वाली कंपनी आईटीवी ने अंग्रेजी न्‍यूज चैनल न्‍यूज एक्‍स का अधिग्रहण किया है. सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि इस चैनल का हेड सतीश जैकब को बनाया जा रहा है. हालांकि आधिकारिक रूप से अभी कोई मुंह नहीं खोल रहा है पर खबर पक्‍की बताई जा रही है. सतीश जैकब भी पी7 न्‍यूज से इस्‍तीफा देने के बाद फिलहाल खाली हैं.

यशवंत ने जिनकी मदद की है उन्‍हें तो साथ देना ही चाहिए

यशवंत की गिरफ्तारी पत्रकार बिरादरी के लिए एक सबक है कि कहीं न कहीं इस पत्रकारिता जगत के शोषण को कहना गलत है और सहना सही है। अगर कोई पत्रकार शोषित हो रहा है तो सही है, अगर मीडिया मालिक वेतन नहीं दे रहे तो और भी सही है। इन्‍हीं पत्रकारों के शोषण और हक की लड़ाई के लिए यशवंत ने भड़ास4मीडिया के लिए अपने जीवन का कीमती समय समर्पित किया और उन्होंने बड़े मीडिया घरानों से लड़ाई लड़ी।

यशवंत की गिरफ्तारी के विरोध में कुमार मधुकर के नेतृत्‍व में उपमहापौर का घेराव

भड़ास4मीडिया के संपादक यशवंत की गिराफ़्तारी के विरोध में आन्दोलन और तेज हो गया. भांडा फोड़ इंडिया के ग्रुप एडिटर कुमार मधुकर के नेतृत्‍व में दर्जनों पत्रकारों ने नगर निगम गुडगाँव के उप महापौर परमिंदर कटारिया का घेराव उनके घर पर ही किया. पत्रकारों ने उप महापौर से मांग की कि संपादक यशवंत की गिरफ़्तारी का मामला हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के सामने उठायें. ध्यान रहे कि नगर निगम गुडगाँव के उप महापौर परमिंदर कटारिया स्थानीय सांसद राव इन्द्रजीत सिंह और हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नजदीकी माने जाते हैं.

महिला पत्रकार के हमलावर का स्‍केच होगा जारी, हमला के विरोध में बंद का एलान

ईटानगर : ईटानगर में अरुणाचल टाइम्स की महिला पत्रकार पर जानलेवा हमले के विरोध में यहां के पत्रकारों ने बुधवार को बंद का एलान किया है. पत्रकार हमलावरों की जल्द गिरफ्तारी के साथ  सरकार से अपने लिए सुरक्षा की मांग भी कर रहे हैं. दूसरी तरफ पुलिस ने टंगम रीना के हमलावरों का स्‍केच जारी किया है. हालांकि अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

टीवी टुडे से सीईओ जॉय च्रकवर्ती का इस्‍तीफा

टीवी टुडे और रेडिया टुडे के सीईओ जॉय चक्रवर्ती ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे नोटिस पीरियड पर चल रहे हैं. जॉय ने आठ महीने पहले जी से इस्‍तीफा देकर टीवी टुडे पहुंचे थे. जॉय को टीवी टुडे के पूर्व सीईओ जी कृष्‍णन के स्‍थान पर लाया गया था. टीवी टुडे नए सीईओ की तलाश कर रही है. बताया जा रहा है कि जॉय ने अपने इस्‍तीफे का कारण पारिवारिक बताया है. वे दिल्‍ली की बजाय मुंबई में काम करना चाहते हैं.

सुधीर चौधरी पहुंचे जी न्‍यूज, सतीश के सिंह के इस्‍तीफे के चर्चा

हाल फिलहाल लाइव इंडिया को अलविदा कहने वाले एडिटर इन चीफ व सीईओ सुधीर चौधरी ने अपनी नई पारी जी न्‍यूज से शुरू कर दी है. उन्‍होंने चैनल में एडिटर व बिजनेस हेड के रूप में ज्‍वाइन किया है. 1993 में पत्रकारिता की शुरुआत करने वाले सुधीर चौधरी की यह जी संग दूसरी पारी है. उन्‍होंने करियर की शुरुआत ही जी न्‍यूज से की थी. एक दशक तक इस चैनल को अपनी सेवाएं देने के बाद सहारा समय चले गए थे. इस चैनल के लांचिंग टीम के सदस्‍य थे. इसके बाद वे इंडिया टीवी में एक्‍जीक्‍यूटिव एडिटर बन गए थे. यहां से इस्‍तीफा देने के बाद  वे जनमत चैनल चले गए थे, जिसे बाद में लाइव इंडिया के नाम से रिलांच किया गया.

अब पत्रकारों के खिलाफ अपशब्‍द बोले ओमपुरी

जयपुर। बॉलीवुड अभिनेता ओमपुरी एक नए विवाद में फंस गए हैं। इस बार उन्होंने पत्रकारों के खिलाफ अपमानजनक शब्द का प्रयोग किया है। इस पर विरोध जताते हुए जयपुर के प्रेस क्लब ने उसने माफी मांगने की मांग की है। मंगलवार को जयपुर में ओमपुरी अगस्त में हुए अन्ना आंदोलन के बारे में बात कर रहे थे। उस आंदोलन में वह भी भाग लेने पहुंचे थे। बताया कि उसी दौरान उन्होंने एक पत्रकार से अन्ना व उनके आंदोलन पर बातचीत की थी।

बदहाल नई दुनिया : सरकारी विज्ञापन में छाप दी गई गालियां

नईदुनिया को जागरण समूह द्वारा टेक ओवर करने के बाद कर्मचारियों की हालत खराब हो गई है. यह इसी बात से समझा जा सकता है कि प्रबंधन से नाराजगी और फ्रस्‍ट्रेशन में ऑपरेटर ने सरकारी विज्ञापन के नियम एवं शर्तें कॉलम में गालियां टाइप कर दी. मजा यह कि प्रूफ रीडर ने भी उसे नहीं पकड़ा और ओके कर दिया. नतीजतन सरकारी विज्ञापन गालियों सहित छप भी गया. इन गालियों को नईदुनिया के रायपुर एडिशन के सोलह जुलाई के अखबार के पांच नम्‍बर पेज पर आसानी से देखा जा सकता है. इसके बाद से ही समूह और अखबार की थू थू हो रही है.

पत्रकार कुंवर प्रसून के बहाने मुद्दों की पड़ताल

जाने माने पत्रकार सामाजिक कार्यकर्ता कुंवर प्रसून की छठीं पुण्य तिथि पर प्रोग्रेसिव जर्नलिस्ट यूनियन द्वारा एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। उत्तराखण्ड के जाने माने सामाजिक आंदोलनकर्ता तथा प्रखर लेखनी वाले कुंवर प्रसून किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। उनका देहांत 2006 साल के 15 जुलाई की रात को हुआ था। उत्तराखंड के जौनसार बावर से वेश्यावृत्ति के लिए ले जाई जा रही महिलाओं की मुक्ति का सवाल हो या फिर उसी इलाके में अफीम की खेती को नेताओं के संरंक्षण को सवाल। चाहे बात अवैज्ञानिक व घातक खनन की हो या फिर बीजों को बचाने का आंदोलन।

समाचार प्‍लस के चक्रव्‍यूह से यूपी सरकार को निकालने के लिए मोहन सिंह खुद आए आगे

समाचार प्‍लस न्‍यूज चैनल के कार्यक्रम चक्रव्‍यूह में फंसी सरकार को बचाने के लिए खुद आगे आना पड़ा है. सपा के राष्‍ट्रीय महासचिव एवं सांसद मोहन सिंह ने चक्रव्‍यूह में स्‍वीकार किया था कि अखिलेश यादव रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया को मंत्री नहीं बनाना चाहते थे, लेकिन पार्टी के दबाव में उन्‍हें यह कदम उठाना पड़ा. मोहन सिंह ने यह भी कहा कि अखिलेश अभी गलती करने और सीखने के दौर से गुजर रहे हैं. साथ ही उन्‍होंने साफगोई से कहा था कि यूपी के नौकरशाह अखिलेश को गुमराह कर रहे हैं. उन्‍होंने अखिलेश द्वारा विधायकों को निधि से बीस लाख की गाड़ी खरीदने की छूट दिए जाने के फैसले से मुलायम सिंह यादव के नाराज होने की बात भी स्‍वीकार की थी.

वरिष्‍ठ पत्रकार कृष्‍णभानु बने शिमला पत्रकार सहकारी सभा के अध्‍यक्ष

शिमला पत्रकार सहकारी सभा लि. के चुनावों में वरिष्ठ पत्रकार कृष्णभानु निर्विरोध अध्यक्ष चुने गए हैं। वे शिमला पत्रकार सहकारी सभा के लगातार चौथी बार अध्यक्ष बने हैं। पत्रकार सहकारी सभा का कार्यकाल पांच वर्ष का है। सोमवार को सभा के चुनाव निर्वाचन अधिकारी सीताराम खजूरिया की देखरेख में हुए। श्री खुशीराम शर्मा उपप्रधान और …

इस दौर में खामोश नहीं रहते प्रभाष जोशी

आज प्रभाष जोशी का ७५ वां जन्मदिन है लेकिन फर्क यह है कि उनके न रहने के बावजूद उनका जन्मदिन है। इसलिए भी यह महत्वपूर्ण है क्योंकि वे बेजोड़ परंपरा छोड़ गए हैं। यह बेजोड़ परंपरा है साहसिक और लोकोन्मुखी पत्रकारिता की। यह दोनों ही बात आज की पत्रकारिता में नजर नहीं आती है। आज की पत्रकारिता में तमाम तरह का समर्पण दिखता है जो एक ओर कारपोरेट घरानों, निगमों और सरकारों के प्रति है। दूसरी ओर लोकोन्‍मुखता के नाम पर बाजार के प्रति समर्पण। सवाल यह है कि अगर आज वे होते तो उनकी भूमिका में क्या क्या होता जो हिंदी समाज के ज्यादातर बड़े हिस्से को जागरूक बनाते हुए उसमे प्रतिरोध, आलोचनात्मक निगाह और सवाल उठाने की क्षमता का विकास करता।

एक और प्रभाष जोशी की जरूरत है

प्रभाष जोशी हिंदी पत्रकारिता जगत के वह अनमोल स्तंभ हैं, जिसकी भरपाई कोई नहीं कर सकता। इस समय का कोई भी संपादक उनके आसन के आसपास भी नहीं पहुंच पाया है। प्रभाष जोशी ने अपने समय में हिंदी पत्रकारिता जगत के बौद्धिक समाज का नेतृत्व किया है। वह ऐसे व्यक्तित्व के धनी थे जिनके बोलने और लिखने की शैली में कोई अंतर नहीं था। उनकी तरह के व्यक्तित्व का व्यक्ति मिलना आजकल के समाज में असंभव है।

पत्रकार निहाल सिंह के साथ दिल्‍ली ट्रैफिक पुलिस ने की बदतमीजी

दिल्‍ली और यूपी में पत्रकारों के पुलिसिया उत्‍पीड़न की घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही हैं. ताजा मामला दिल्‍ली का है. हिंदुस्‍थान समाचार के संवाददाता निहाल सिंह के साथ दिल्‍ली के ट्रैफिक पुलिस वालों ने बदतमीजी की. गाला गलौच की गई. उनके साथ मारपीट की भी कोशिश की गई. पुलिस ने उनकी शिकायत भी नहीं लिखी. पूरे मामले में परेशान होकर निहाल सिंह ने एक शिकायती पत्र पूर्वी जिला के पुलिस उपायुक्‍त को भेजी है.  

युवती बदसलूकी मामले की आग से भस्म हो रही इमफा

गुवाहाटी। जीएस रोड पर युवती के साथ बदसलूकी मामले की आग दवानल की तरह इलेक्ट्रानिक मीडिया के पत्रकारों की संस्था "असम इलेक्ट्रानिक मीडिया फोरम' में फैलती जा रही है। करीब आधा दर्जन सदस्यों के इस्तीफे के बाद संस्था के अध्यक्ष नव ठाकुरिया ने भी संस्था से नाता तोड़ने का फैसला कर लिया है। सूत्रों के अनुसार श्री ठकुरिया ने संस्था से अपनी मुक्ति का आग्रह किया है। उन्होंने गत रविवार को संस्था को एक पत्र लिख कर कहा था कि वे अब इस संस्था में बने रहना नहीं चाहते हैं। क्योंकि युवती के साथ बदसलूकी मामले में आरोपित संस्था के सदस्य गौरव ज्योति नेउग के मामले पर सर्वसम्मति से फैसला लिया गया था। मामले पर संस्था का बयान था न कि उनका (नव ठाकुरिया का) अपना।

भोपाल संभागीय कार्यसमिति की बैठक में यशवंत की गिरफ्तारी की निंदा

भोपाल। बैठक में बहुचर्चित वेब साइट भड़ास4मीडिया डॉट कॉम के साहसी एवं जांबाज़ पत्रकार यशवंत सिंह की गिरफ्तारी की कड़े शब्दों में निंदा की गई एवं उन्हें तुरंत रिहा करने की मांग की गई। 'जिलों में पत्रकार एकजुट होकर स्वच्छपत्रकारिता के हित में हर स्तर पर संघर्ष करें और लोकतंत्र के इस महत्वपूर्ण स्तम्भ को प्रतिष्‍ठा दिलाने हरपल प्रतिबद्ध रहें'। उक्त विचार मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ के अध्यक्ष शलभ भदौरिया ने पत्रकार भवन स्थित सभागार में भोपाल संभाग की एक बैठक में व्यक्त किये।

बदसलूकी मामले में चैनल के पत्रकार की भूमिका अनैतिक थी : तरुण गोगोई

असम के मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का कहना है कि लड़की के साथ बदसलूकी के मामले में स्थानीय समाचार चैनल के पत्रकार की भूमिका अनैतिक थी. सूचना के अधिकार पर काम करने वाले कार्यकर्ता अखिल गोगोई ने भी पत्रकार पर आरोप लगाया था कि उन्होंने पब के बाहर खड़ी लड़की के साथ बदसलूकी करने के लिए लोगों को उकसाया था. इन आरोपों के बीच पत्रकार गौरव ने चैनल तथा पत्रकार संगठन से इस्‍तीफा दे दिया है. 

इंडिया न्‍यूज ने किया अंग्रेजी चैनल न्‍यूज एक्‍स का अधिग्रहण

इंडिया न्‍यूज के कई चैनलों का संचालन करने वाली आईटीवी मीडिया समूह अंग्रेजी न्‍यूज चैनल न्‍यूज एक्‍स का अधिग्रहण करने जा रही है. सूत्रों ने बताया कि सारी प्रक्रिया पूरी की जा चुकी है. बस आधिकारिक घोषणा बाकी रह गया है. बताया जा रहा है कि आईटीवी ने यह सौदा लगभग 75 करोड़ के आसपास किया है. सूत्रों का कहना है कि कंपनी पूरे सेटअप के साथ न्‍यूज एक्‍स की बिल्डिंग भी खरीदने जा रही है और इसकी डील अलग से होगी. यह पूरी डील एक अरब से ज्‍यादा में किए जाने की चर्चा है.

अमर उजाला के संपादक यशवंत व्‍यास के पिता का निधन

अमर उजाला के सलाहकार समूह संपादक यशवंत व्‍यास के पिता नंदकिशोर जी का सोमवार की सुबह निधन हो गया. वे 72 वर्ष के थे. पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे. उनका इलाज दिल्‍ली के गीतांजलि अस्‍पताल में चल रहा था. यहीं पर उन्‍होंने अंतिम सांस ली. नंद किशोर जी मूल रूप से मध्‍य …

यशवंत हिजड़ों के लिए अपना जीवन व्‍यर्थ गंवा रहे हैं!

यशवंत सिंह को फंसाने की खबर पढऩे के बाद से मैं असमंजस की स्थिति में हूं। मैं समझ ही नहीं पा रहा कि क्या करूं? कभी मन कहता है कि धरना-प्रदर्शन कर हाय-हाय या मुर्दाबाद-मुर्दाबाद कर दो, तो कभी मन कहता है कि हथियार रूपी कलम से ही काम चलाओ, इस सबके बीच यह भी सोच रहा हूं कि गलती करने वाले इंसान को गलती का अहसास करा दिया जाये, तो वह मान लेता है, लेकिन जो जानबूझ कर गलती करता है, उसे तो पता ही है कि वह गलती कर रहा है, ऐसे व्यक्ति को गलती का अहसास कराने में अपनी ऊर्जा का क्षय करना ही है। यही बात यशवंत को फंसाने के मामले में लागू होती है, क्योंकि यशवंत को सुनियोजित तरीके से फंसाया गया है, तो किसी भी तरह के आंदोलन का या लिखने का पुलिस या शासन पर क्या असर पड़ेगा?

समाचार प्‍लस के ‘चक्रव्‍यूह’ में फंस गई यूपी सरकार

नये नवेले न्‍यूज चैनल समाचार प्‍लस के चक्रव्‍यूह ने यूपी की सत्‍ता में भूचाल ला दिया है. संगठन और सरकार के लोग अखबारों में सफाई दे रहे हैं. सत्‍ता के गलियारों में इसके असर का नाप तौल किया जा रहा है. मामला सपा के राष्‍ट्रीय महासचिव और सांसद मोहन सिंह के बयान से जुड़ा हुआ है. मोहन सिंह ने समाचार प्‍लस के साप्‍ताहिक कार्यक्रम चक्रव्‍यूह में चैनल के एडिटर अमिताभ अग्निहोत्री से बातचीत में माना कि अखिलेश यादव रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया को मंत्री नहीं बनाना चाहते थे, लेकिन पार्टी के दबाव में उन्‍हें यह कदम उठाना पड़ा.

यशवंत की गिरफ्तारी की निष्‍पक्ष तरीके से जांच कराएं सीएम अखिलेश यादव

बड़े भाई यशवंत जी, आपकी गिरफ्तारी की खबर सुन कर मुझे यकीन नहीं हो रहा है कि यह सच है। लेकिन जिस तरह से आपकी गिरफ्तारी नोयडा पुलिस ने की है उसके पीछे कोई न कोई ऐसी साजिश है, जिसका पर्दाफाश होना बहुत जरूरी है। मैं इस पूरी घटना की निंदा करता हूं और उत्‍तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मांग करता हूं कि इस घटना की पूरी जांच साफ सुथरे तरीके से निष्‍पक्ष कराया जाना चाहिए। किसी पत्रकार को अगर गिरफ्तार करना हो तो उसका तौर तरीका अच्छा होना चाहिए। 

लड़की से बदसलूकी मामला : वीडियो बनाने वाले पत्रकार गौरव का न्‍यूज लाइव और इएमफा से इस्‍तीफा

गुवाहाटी की सड़कों पर एक लड़की के साथ खुलेआम बदसलूकी के कारण टेलीविजन चैनल के पत्रकारों की संस्था असम इलेक्ट्रानिक मीडिया फोरम का अस्तित्व खतरे में पड़ गया है। मामले को लेकर संस्था में दो फाड़ हो गया है। शनिवार को संस्था के कई सदस्यों ने यह कहते हुए इस्तीफा दे दिया था कि संगठन लड़की के साथ बदसलूकी मामले में फंसे संवाददाता गौरव ज्योति नेउग को बचाने में लगा हुआ है। जिससे देखते हुए बदसलूकी के मामले में आरोपित संवाददाता गौरव ज्योति नेउग ने स्थानीय चैनल न्यूज लाइव तथा इलेक्ट्रानिक मीडिया फोरम, असम से इस्तीफा दे दिया है। उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया गया है।

सन्‍मार्ग, रांची को फिर एक संपादक की तलाश

: लेट-लतीफ मिल रहा है कर्मचारियों को वेतन : सन्मार्ग के रांची संस्करण को फिर एक संपादक की तलाश है. पांच महीने तक साथ देने के बाद झारखंड के वरिष्‍ठ पत्रकार तथा संपादक हरि नारायण सिंह 30 जून को संस्थान से इस्‍तीफा दे चुके हैं. उनके पूर्ववर्ती संपादक वैजनाथ मिश्र न्यूज़ 11 से वापस लौटने को तैयार नहीं हैं. इस संस्करण के फ्रेंचाइजी प्रेम चाहकर भी इस पद पर स्वयं को ज्यादा दिनों तक विराजमान नहीं रख सकते. कारण उनकी छवि है. उन्हें संपादक के रूप में मीडिया जगत स्वीकार नहीं करेगा. प्रशासनिक महकमे में भी इसका कोई लाभ नहीं मिलेगा.

हिंदुस्‍तान, गोरखपुर में कई लोगों के बीट बदले

हिंदुस्‍तान, गोरखपुर से खबर है कि कई रिपोर्टरों जिम्‍मेदारियां बदली गई हैं. सीनियर क्राइम रिपोर्टर अरविंद राय को अब रेलवे की जिम्‍मेदारी दी गई है. उनकी जगह सीनियर रिपोर्टर हरि प्रकाश क्राइम बीट देखेंगे. अब तक प्रशासन बीट देख रहे इंद्रमणि पांडेय से यह जिम्‍मेदारी ले ली गई है. उनकी जगह प्रशासन बीट की जिम्‍मेदारी …

अमर उजाला, मुजफ्फरपुर के ब्‍यूरोचीफ बने कपिल

अमर उजाला, मेरठ के क्राइम इंचार्ज कपिल सिकेरा को मुजफ्फरनगर में अमर उजाला का ब्यूरो चीफ बनाया गया है। उन्‍होंने अपनी जिम्‍मेदारी संभाल ली है। कपिल ने करियर की शुरुआत मवाना से अमर उजाला के साथ ही की थी। इसके बाद कपिल अमर उजाला, मेरठ आ गए। फिर वहां से उन्हें आगरा में डेस्क पर …

अरुणाचल प्रदेश में महिला पत्रकार को गोली मारी गई

ईटानगर: अरुणाचल प्रदेश के ईटानगर में एक अखबार की महिला रिपोर्टर को अज्ञात हमलावर ने गोली मार दी है और वो अस्पताल में भर्ती है. अभी तक आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो सकती है. ईटानगर में 'द अरुणाचल टाइम्स' की पत्रकार पर जानलेवा हमला हुआ है. ये सनसनीखेज वारदात रविवार शाम करीब 6:15 बजे की है. अखबार की एसोसिएट एडिटर टंगम रीना अपने दफ्तर में दाखिल हो रही थीं कि तभी एक अज्ञात हमलावर ने उन्हें पीछे से गोली मार दी. उन्‍हें फौरन ईटानगर के रामकृष्ण अस्पताल में भर्ती कराया गया. हमलावर इसके बाद फरार होने में कामयाब रहा.

सहारनपुर में आजतक के पत्रकार समेत नौ के खिलाफ मुकदमा

सहारनपुर के वरिष्‍ठ पत्रकार व आजतक चैनल के रिपोर्टर अनिल भारद्वाज समेत नौ लोगों पर मुकदमा कायम हुआ है. यह मुकदमा भोलानाथ नामक व्‍यक्ति ने दर्ज कराया है. अनिल पर आरोप लगाया गया है कि वे फर्जी त‍रीके से पॉवर आफ अटार्नी बनवाए एक व्‍यक्ति से जमीन खरीद रहे थे. इस मामले की जानकारी जब भोला नाथ को हुई तो उन्‍होंने सदर थाने में आईपीसी की धारा 420, 467, 471, 504 व 506 के तहत मुकदमा दर्ज कराया है.  

आकाशवाणी महानिदेशक ने फिर दी प्रस्‍तोताओं को बाहर करने की धमकी

आकाशवाणी के महानिदेशक लीलाधर मंडलोई ने एक बार फिर दिल्ली के बेहद लोकप्रिय रेडियो चैनल ऍफ़ एम गोल्ड के प्रस्तोताओं को धमकी देते हुए कहा है कि दो महीने बाद ऍफ़एम गोल्ड चैनल का रीलॉन्च होना है, जिसके पश्चात दो महीने के अन्दर अगर उन्हें प्रस्तोताओं के प्रस्तुतीकरण में सुधार नहीं दिखता तो वे उन्हें चैनल से निकाल बाहर करेंगे. हालांकि जानकारों की राय में ऐसा संभव नहीं है मगर एक समय आकस्मिक उद्घोषक रह चुके मंडलोई महानिदेशक बनने के बाद इस तरह का व्‍यवहार कर्मचारियों को खटनके लगा है. 9 जुलाई 2012 को ऍफ़ एम गोल्ड दिल्ली के प्रस्तोताओं के साथ मीटिंग के दौरान मंडलोई ने उन्हें यह धमकी दी.

आजतक को मिला बेस्‍ट न्‍यूज चैनल का अवार्ड

आजतक को एक बार फिर सर्वेश्रेष्ठ न्यूज चैनल के खिताब से नवाजा गया है. ज़ी गोल्ड अवार्ड के पांचवे संस्करण में आजतक को बेस्ट हिंदी न्यूज चैनल घोषित किया गया है. गौरतलब है कि साल 2008 से जी गोल्ड, टेलीविजन पर अपनी अलग छाप छोड़ने वालों को सम्मानित करता आ रहा है. पिछले 11 सालों …

पाकिस्‍तानी चैनलों से प्रतिबंध हटाएगा भारत!

नई दिल्ली। भारत ने पाकिस्तान को आश्वस्त किया है कि वह उसके चैनल्स पर लगी रोक को हटाने के प्रस्ताव पर जल्द ही विचार करेगा। पिछले सप्ताह दोनों देशों के विदेश सचिव स्तर की वार्ता के दौरान पाकिस्तान के विदेश सचिव जलिल अब्बास ने इस मुद्दे को जोरदार तरीके से उठाया था। उन्होंने मांग की थी कि भारत में न केवल पाकिस्तान के सरकारी चैनल [पीटीवी] बल्कि निजी चैनल्स के प्रसारण की भी अनुमति दी जाए।

यशवंत की गिरफ्तारी के विरोध में आंदोलन होगा तेज : कुमार मधुकर

भड़ास4मीडिया के संपादक यशवंत की गिरफ़्तारी के विरोध में भांडा फोड़ इंडिया के ग्रुप एडिटर कुमार मधुकर दर्जनों पत्रकारों के साथ दिल्ली से गुडगाँव पहुंचे. जहाँ स्थानीय पत्रकारों की बैठक बुलाकर यशवंत की गिरफ़्तारी के विरोध में पूरी ताकत से आन्दोलन तेज करने का फैसला लिया. बैठक में पत्रकारों का कहना था कि आन्दोलन से पहले एक और बैठक दिल्ली स्थित होटल मोनार्क में सोमवार को बुलाई जायेगी. इसमें आन्दोलन के लिए दिन तिथि निश्चित होगी. साथ ही आन्दोलन स्थल जंतर-मंतर या वोट क्लब पर किया जाए इस पर गहन विचार-विमर्श होगा.

अंबाला में बाल्टियों के सहारे भास्‍कर की दुकानदारी

वैसे अखबार तो सारे ही लगभग दुकान में तबदील हो चुके हैं। लेकिन दैनिक भास्कर तो अम्बाला में सरे बाजार अपनी दुकान सजाकर बैठ गया है। आते जाते राहगीरों का आवाज लगाकर कह रहा है कि भाइयों भास्कर खरीदने में बड़ा फायदा है। अम्बाला कैंट के मुख्य राय मार्केट में ठीक बिग बाजार के सामने प्राइम लोकेशन पर सड़क किनारे भास्कर का स्टाल लगा है। वहां कर्मचारी भास्कर के साथ प्लास्टिक की बाल्टी मुफ्त मिलने का आफर राहगीरों को बता रहा है। भास्कर की टी शर्ट पहने ये कर्मचारी हर आए गए को कहता है कि छोडि़ए अन्‍य अखबार, आपको भास्‍कर के अलावा कोई दूसरा अखबार इतनी अच्छी बाल्टी फ्री में नहीं दे सकता।

समाचार प्‍लस ने खोली मायावती के खास रहे सीपी सिंह की पोल

लांच होने के एक महीने के भीतर ही यूपी-उत्‍तराखंड में अपनी अलग पहचान बना चुके न्‍यूज चैनल समाचार प्‍लस ने एक और धमाका किया है. उत्‍तर प्रदेश में निर्माण निगम के अध्‍यक्ष रहे तथा भ्रष्‍टाचार के मामले में संदिग्‍ध रहे सीपी सिंह की पोल खोली है. मायावती के खासमखास रहे सीपी सिंह के निर्माण निगम के अध्‍यक्ष रहने के दौरान विभाग में जमकर भ्रष्‍टाचार तथा धांधली हुई. पुलिस ने इस धांधली की कम से कम आधा दर्जन एफआईआर दर्ज कर चुकी है.

लाइव इंडिया से एडिटर इन चीफ सुधीर चौधरी का इस्‍तीफा

लाइव इंडिया न्‍यूज चैनल से बड़ी खबर है कि सुधीर चौधरी ने इस्‍तीफा दे दिया है. वरिष्‍ठ पत्रकार तथा चैनल के एडिटर इन चीफ रहे सुधीर चौधरी का इस्‍तीफा चैनल के सामने और मुश्किल ला सकती है. सुधीर पिछले पांच सालों से चैनल के साथ जुड़े हुए थे तथा इसे अहम पहचान दिलाने में महत्‍वपूर्ण योगदान दिया था. इंडिया टीवी के एक्‍जीक्‍यूटिव एडिटर के पद से इस्‍तीफा देकर सुधीर ने लाइव इंडिया ज्‍वाइन किया था. हालांकि उस समय यह चैनल जनमत के नाम से जाना जाता था तथा इसका स्‍वामित्‍व अधिकारी ब्रदर्स के पास था.

गोंडा में गूगल के सीईओ के खिलाफ धोखाधड़ी व जालसाजी का मुकदमा

गोंडा : सोशल साइट गूगल के सीईओ के खिलाफ यहां के नगर कोतवाली में धोखाधड़ी व जालसाजी के लिए प्रेरित करने का मुकदमा दर्ज कराया गया है। यह मुकदमा राघवेन्द्र प्रताप पाण्डेय पुत्र स्व. श्री गोपाल चंद्र पाण्डेय की ओर से नगर कोतवाली में दी गयी तहरीर के आधार पर दर्ज किया गया है। प्राथमिकी में राघवेन्द्र प्रताप ने कहा है कि गूगल पर फोन फेरिक साफ्टवेयर लोड है साथ ही इसका प्रयोग कोई भी व्यक्ति मोबाइल में डाउनलोड कर मनचाहे कालर नम्बर से किसी को भी फोन कर सकता है। इससे उसका नम्बर फोन करने वाले के मोबाइल में नहीं जायेगा बल्कि जिस कालर का नम्बर वह प्रयोग करना चाहता है उसका नम्बर जायेगा।

समाचार बनाने के लिए लड़की का चीरहरण करवाया चैनल के पत्रकार ने

गुवाहाटी। टीम अन्ना के सदस्य और आरटीआई कार्यकर्त्ता अखिल गोगोई ने स्थानीय टेलीविजन चैनल न्यूज लाइव को ब्लैक लिस्टेड करने के साथ चैनल के मालिक, प्रबंधक और संपादक के साथ घटना का कवर करने वाले संवाददाता गौरव ज्योति नेउग को गिरफ्तार करने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि पिछले 9 जुलाई की रात एक लड़की के साथ सरेआम बदसलूकी की घटना को न्यूज लाइव के पत्रकार गौरव ज्योति नेउग ने न्यूज तैयार करने के लिए घटना को अंजाम दिया था और पत्रकारिता को कलंकित करने वाले इस पत्रकार को न्यूज लाइव प्रबंधन बचाने का कार्य किया है।

यशवंत को संघर्ष से ही मिली है शक्ति और समर्थन

भड़ास ब्‍लॉग से शुरुआत कर भड़ास4मीडिया तक के सफर में इसके संस्थापक-संचालक यशवंत सिंह ने सच्चाई सामने लाने के जिस ध्येय और संकल्प को लेकर अविचलित और सतत संघर्ष किया है, उसी से उन्हें शक्ति और भड़ास को व्यापक समर्थन मिला है। व्यक्ति हो या संस्था, चुनौतियों से ही चमक मिलती है। कम से कम भारतीय संदर्भ में, खासकर हिन्दी में न्यू मीडिया का ठोस आधार और मजबूत भूमिका बनाने में यशवंत के भड़ास के अवदान को भुलाया नहीं जा सकेगा।

सौ साल का हो गया साप्‍ताहिक ‘अल हिलाल’, वर्षगांठ मनाई गई

रांची : मौलाना आजाद बड़ी मुश्किल से आए चिराग थे, जो इस जहां को रोशन कर चले गए। उनके द्वारा निकाला गया साप्ताहिक अखबार 'अल हिलाल' महज एक अखबार नहीं, बल्कि आजादी का पैगाम था। यह बातें राज्यपाल सैयद अहमद ने शुक्रवार को कही। राज्यपाल 'अल हिलाल' पत्रिका की सौवीं वर्षगांठ पर रांची विवि के सीनेट हॉल में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। यह साप्ताहिक अखबार 13 जुलाई 1912 को कलकत्ता से निकाला गया था।

माधवकांत मिश्रा का दिशा चैनल से इस्‍तीफा, एडवाइजर बने रहेंगे

दिशा टीवी से खबर है कि माधवकांत मिश्रा ने खुद को दैनिक जिम्‍मेदारी से मुक्‍त कर लिया है. कुछ दूसरे प्रोजेक्‍टों को देखते हुए माधवकांत ने चैनल के सीईओ के पद से इस्‍तीफा दे दिया है. बताया जा रहा है कि वे चैनल के साथ एडवाइजर के रूप में जुड़े रहेंगे. माधवकांत मिश्र ने खुद इस बात की पुष्टि करते हुए कहा कि वे चैनल की जिम्‍मेदारी को खुद को मुक्‍त किया है, पर वे चैनल को एडवाइजर के रूप में अपनी सेवाएं प्रदान करते रहेंगे. उनका कहना है कि वे कुछ दूसरे बड़े प्रोजेक्‍टों के लिए समय चाह रहे थे, इसलिए यह कदम उठाया है.

माया के दुलारे कांग्रेस को प्यारे

‘‘उ.प्र. राजकीय निर्माण निगम के पूर्व एमडीसीपी सिंह ने उ.प्र. में हजारों करोड़ रुपये का गोलमाल किया। सूबे में सरकार बदलते ही निर्माण निगम के खिलाफ आधा दर्जन एफ.आई.आर. दर्ज करवा दी गयी और लखनऊ के एस.एस.पी. ने रीजनल पासपोर्ट आफीसर को उनका पासपोर्ट जब्त करने का आदेश कर दिया। सपा सरकार उनके विरूद्ध सीबीआई जांच की सोच ही रही थी कि उन्होंने कांग्रेस का दामन थामा और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने उन्हें अवस्थापना आयोग के सलाहकार के पद पर तैनात करके राज्समंत्री का दर्जा दिलवा दिया। उनके मीडिया मैनेजमेंट का कमाल ही था कि कहीं किसी चैनल या अखबार में एक भी खबर नहीं छपी। मगर वीकएंड टाइम्स ने अपने सात जुलाई के अंक के प्रथम पृष्ठ पर इस पूरे मामले की खबर छापकर सनसनी फैला दी। इस अखबार में छपी खबर के बाद तमाम चैनलों पर भी यह खबर आनी शुरू हो गयी। यह रही वीकएंड टाइम्स की सनसनीखेज रिर्पोट।’’

न्‍यूज चैनल के संचालक को गिरफ्तार करने की मांग

देहरादून: गढ़वाल मंडल विकास निगम (जीएमवीएन) के पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने एक न्यूज चैनल संचालक को विभिन्न अपराधों में नामजद बताते हुए, उसकी गिरफ्तारी की मांग की है। उन्होंने संबंधित चैनल संचालक पर तमाम आरोप भी जड़े। शुक्रवार को द्रोण होटल में पत्रकारों से रूबरू हुए जीएमवीएन के पूर्व उपाध्यक्ष श्री नेगी ने एक न्यूज चैनल संचालक पर ब्लैकमेलिंग, धोखाधड़ी, जालसाजी, मारपीट व भूमाफियागिरी का आरोप लगाते हुए तत्काल गिरफ्तारी की मांग की।

दबंग दुनिया को गैरों से ज्‍यादा अपनों से ही खतरा

: वरिष्‍ठ लोग लगा रहे हैं कंपनी को चूना : दबंग दुनिया के मालिक गुटखा किंग किशोर वाधवानी को इन दिनों कई तरह की परेशानियों ने घेर रखा है। मध्यप्रदेश सरकार ने सख्ती से गुटखे पर प्रतिबन्ध लगा दिया है और दूसरी तरफ दैनिक भास्कर और पत्रिका जैसे दो बड़े अखबारों ने किशोर वाधवानी पर सेंट्रल एक्साइज द्वारा की जा रही सख्ती की खबरों से धावा बोल दिया। ऐसे माहौल मे दबंग दुनिया की बड़ी कुर्सियों पर बैठे प्रबंधको ने भी चूना लगाने मे कोई कसर नहीं छोडी है।

रक्‍सौल प्रेस क्‍लब भी उतरा यशवंत के समर्थन में, एसडीओ को निंदा पत्र दिया

रक्‍सौल : भड़ास4मीडिया के संपादक यशवंत सिंह की गिरफ्तारी के खिलाफ शुक्रवार को रक्‍सौल प्रेस क्‍लब के सदस्‍यों ने एक बैठक की. वरिष्‍ठ पत्रकार रामपुकार सिंह के नेतृत्‍व में किए गए इस बैठक में पत्रकारों ने यशवंत को फर्जी मामले में फंसाए जाने की निंदा की. इसके बाद पत्रकारों ने रक्‍सौल के एसडीओ को एक …

गुवाहाटी में लड़की के कपड़े फाड़ने वालों में एक पत्रकार और एक कांग्रेसी भी शामिल!

गुवाहाटी : गुवाहटी की सड़क पर एक लड़की को अकेले पाकर जिन लोगों ने उसे सरेआम नंगा करने की कोशिश की थी, उसमें एक स्‍थानीय चैनल का पत्रकार और यूथ कांग्रेस का एक नेता भी शामिल था। यह दावा टीम अन्‍ना के सक्रिय सदस्‍य अखिल गगोई ने किया है। दूसरी ओर, पूरे मामले की जांच के लिए महिला आयोग की टीम आज गुवाहटी पहुंचने वाली है।

वीरभद्र सीडी मामला : दो पत्रकारों ने दर्ज कराए अपने बयान

शिमला : शिमला के मुख्‍य न्‍यायिक दंडाधिकारी पीएस पेमवाल की अदालत में वीरभद्र सिंह सिंह द्वारा दायर किए गए मानहानि याचिका के मामले में सुनवाई हुई. श्री सिंह ने सीडी प्रकरण में विजय सिंह मनकोटिया पर मुकदमा दायर किया है. शुक्रवार को हुई सुनवाई में पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह की ओर से दो समाचार पत्रों के पत्रकार गवाह के तौर पर पेश हुए. उन दोनों ने कोर्ट में दिए गए अपने बयान में कहा कि 27 मई 2007 को धर्मशाला में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में मनकोटिया ने यह तथाकथित सीडी जारी कर सभी पत्रकारों को सुनाई थी.

दैनिक जागरण से चीफ रिपोर्टर राजीव ओझा का इस्‍तीफा

दैनिक जागरण समूह में फिर उठापटक होने की खबर है। पता चला है कि लखनऊ में चीफ रिपोर्टर-विदाउट इंक्रीमेंट राजीव ओझा ने पल्‍ला से झाड़ लिया है। उनकी नई पारी अब हिन्‍दुस्‍तान के साथ शुरू हुई है। अपने इतने बड़े स्‍थापित खम्‍भे के खिसक जाने से जागरण में अफरातफरी का माहौल बताया जाता है। राजीव फैजाबाद के ब्‍यूरो चीफ के तौर पर काम कर रहे थे।

महुआ से इस्‍तीफा देकर टीवी18 पहुंचे हर्षवर्धन द्विवेदी

हाल ही में महुआ नेटवर्क से खबर है कि हर्षवर्धन द्विवेदी ने इस्‍तीफा दे दिया है. उन्‍हें हाल में ही प्रबंधन ने प्रमोट करके रीजनल सेल्‍स हेड (नार्थ) बनाया था. हर्षवर्धन ने अपनी नई पारी टीवी18 से शुरू की है. उन्‍हें ग्रुप के हिंदी चैनलों ईटीवी यूपी, ईटीवी राजस्‍थान, ईटीवी बिहार और ईटीवी मध्‍य प्रदेश के सेल्‍स की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है. उन्‍हें रिटेल सेल्‍स हेड बनाया गया है. हर्षवर्धन टीवी18 नेटवर्क के नेशनल सेल्‍स हेड मुकुंद सेटलूर को रिपोर्ट करेंगे.

सड़क हादसे में पत्रकार समेत तीन घायल

ब्रजराजनगर : गोमाडेरा से बेलपहाड़ आने वाली सड़क पर दुर्घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। बुधवार की शाम को स्कूटर व मोटरसाइकिल की भिड़ंत में पत्रकार समेत तीन लोग घायल हो गए। बेलपहाड़ के पत्रकार जयकृष्ण महापात्र अपनी स्कूटर संख्या ओएस 9426 से गोमाडेरा बाजार से सब्जियां खरीदने के लिए निकले थे। नगरपालिका कार्यालय के पास में एक बिना नंबर की टीवीएस स्टार सिटी मोटरसाइकिल ने पीछे से उनके स्कूटर को ठोक दिया। इस धक्के से स्कूटर का एक तरफ का हिस्सा पिचक गया एवं महापात्र छिटककर दूर जा गिरे।

मिड डे के पत्रकार ने बिल्‍डर के खिलाफ धमकी देने का मामला दर्ज कराया

मुंबई। मिड डे अखबार के एक पत्रकार ने एक बिल्डर के खिलाफ धमकी देने का मामला दर्ज कराया है। पुलिस बिल्डर सोनू उर्फ वफी खान से लैला खान के साथ उसके संबंधों पर पूछताछ कर रही है। बताया जाता है कि पत्रकार शिवा देवनाथ ने जब लैला हत्याकांड में अधिक जानकारी के लिए सोनू से संपर्क साधने की कोशिश की तब सोनू उसे डराने व धमकाने लगा। इसके बाद ही शिवा देवनाथ ने उसके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई।

नोएडा पुलिस को तो राष्‍ट्रपति पुरस्‍कार मिलना चाहिए!

पेड़ न्यूज़ पर चर्चा करते हुए वरिष्‍ठ पत्रकार कुदीप नैयर ने कहा है कि पत्रकार साहसी बने सिस्टम का हिस्सा नहीं. आज हमारे बीच का एक भाई यशवंत सिंह साहसी बना तो जेल की कोठरी में पहुंच गया. मैं तो हमेशा से पत्रकार भाइयों को कहता हूं कि केवल साहसी बनने से काम नहीं चलेगा, सिस्टम में साहसी बनना पड़ेगा. सिस्टम यानी एकजुटता, जिसे चाटुकार और दलाल पत्रकार बनाने नहीं दे रहे है.

भ्रष्‍ट मीडिया व सिस्‍टम को बेनकाब करने की कीमत है यशवंत की गिरफ्तारी : प्रभात

लखनऊ। भाई यशवंत आपकी तथाकथित गिरफ्तारी की खबर सुन कर मुझे यकीन नहीं हो रहा है कि यह सच है। लेकिन आपकी गिरफ्तारी जिस तरह से नोयडा पुलिस ने की है उसके पीछे कोई न कोई ऐसी साजिश है, जिसका पर्दाफाश होना बहुत जरूरी है। मैं इस पूरी घटना की निंदा करता हूं। और प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मांग करता हूं कि इस घटना की पूरी जांच साफ सुथरे तरीके से निष्‍पक्ष होना चाहिए। किसी पत्रकार को अगर गिरफ्तार करना हो तो उसका तौर तरीका अच्छा होना चाहिए।

कापड़ी साहब लांछन लगाने से पहले एक बार अपने गिरेबान में तो झांक लेते

प्रिय यशवंत भाई, काफी दिनों से काम की व्यस्तता के कारण आज भड़ास खोला…तो पता चला कि भाई यशवंत जेल की हवा खा रहे हैं…एक बार तो दुख हुआ कि संकट की इस घड़ी में मैं यशवंत के साथ नहीं हूं… लेकिन जब पूरी कहनी पढ़ी तो यशवंत पर गर्व भी हुआ… क्योंकि विनोद कापड़ी जैसे जिनका खुद का कोई चरित्र ही नहीं है वो दूसरों का चरित्र उछालने की बात कर रहे हैं… अरे कापड़ी साहब कम से कम दूसरों पर लांछन लगाने से पहले अपने गिरेबान में तो एक बार झांक लेते.

भड़ास पर पोल खुलने से घबरा गए हैं बड़े चैनलों के संपादक

नोएडा पुलिस द्वारा भड़ास4मीडिया के संपादक को गिरफ्तार किया जाना साबित करता है कि बड़े चैनल के सम्पादक भड़ास पर छप रहे उनके लेखों से घबरा गए हैं और अब ओछी हरकतों पर उतर आये हैं. सहारनपुर में समाचार प्लस चैनल के दफ्तर पर उपस्थित तमाम पत्रकार साथियों को संबोधित करते हुए फैसल खान ने कहा कि नोएडा पुलिस फर्जी आरोप लगाकर यशवंत का उत्पीड़न कर रही है. ज़मानत पर छूटने के बाद भी यशवंत जी के तेवरों में कोई कमी नहीं आने वाली है.

यशवंत के समर्थन में सड़क पर उतरें पत्रकार

प्रिय मित्रों भड़ास4मीडिया के संपादक यशवंत की फर्जी मामलों में गिरफ्तारी के बाद लगा कि एक ओर से सभी पत्रकार इस घटना को अंजाम दिलाने वाले षडयंत्रकारियों के खिलाफ आवाज बुलंद करेंगे. किंतु ऐसा नहीं हुआ जो बहुत ही दुखद है. यशवंत ने जिन पत्रकारों के लिए लड़ाई लड़ी वे भी सामने नहीं आए. अभी भी समय है कि निक्रिष्‍ट षणयंत्रकारियों के खिलाफ और यशवंत समर्थन में सभी पत्रकार सड़क पर उतरें.

बुर्काधारी महिलाओं के लिए चैनल शुरू

काहिरा। इस माह से शुरू होने वाले पवित्र रमजान के दौरान मिस्र में एक ऐसा सेटेलाइट टेलीविजन चैनल शुरू होने जा रहा है, जिसमें एक्टिंग से लेकर सारा काम बुर्कानशीन महिलाओं के ही हाथों में रहेगा। पूरी तरह पर्दानशीन महिलाओं द्वारा चलाये जाने वाले (मारिया) टीवी चैनल के मालिक अबु इस्लाम अहमद अब्दुल्ला ने उम्मीद जताई कि रमजान के पवित्र माह के दौरान यह टेलीविजन काफी देखा जाएगा।

सपा सरकार में मीडिया पर हमला बढ़ा, बुलंदशहर में दूसरे दिन भी पत्रकारों से मारपीट

बुलंदशहर : जिला अस्पताल में कर्मचारियों का नंगा नाच दूसरे दिन भी जारी रहा। पूरे दिन अराजकता का माहौल रहा। इमरजेंसी में बाइट लेने गए पत्रकारों पर एक डाक्टर व चैनल पर खबर दिखाए जाने से बौखलाए अस्पताल के कर्मचारियों ने हमला बोल दिया। पत्रकारों ने नगर कोतवाली में घुसकर जान बचाई। घंटों बवाल के दौरान अफरा-तफरी मची रही। दोनों पक्षों ने तहरीर दी है। अस्पताल में पीएसी तैनात है।

नीतीश अखबार मालिकों को खबर दबाने के लिए कहते हैं : लालू

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने वर्तमान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोला है. रांची में उन्‍होंने कहा कि नीतीश बेहद घमंडी हो गए हैं. इस मद में वे अखबार मालिकों से खबर दबाने को कहते हैं. वे मीडिया पर अंकुश लगाने की कोशिश करते हैं.

पत्रकार साहसी बनें, सिस्‍टम का हिस्‍सा नहीं : कुलदीप नैयर

वरिष्ठ पत्रकार कुलदीप नैयर ने ‘पेड न्यूज’ पर चिंता व्यक्त करते हुये पत्रकारों को सलाह दी कि वे ज्यादा साहसिक बने और व्यवस्था का हिस्सा नहीं बने. नैयर ने अपनी किताब ‘बियांड द लाइन्स’ जारी किये जाने के दौरान कहा, ‘‘अखबारों में आज जो भी समाचार आप देखते हैं उस पर आंख मूंद कर विश्वास नहीं करें क्योंकि पत्रकार, मालिक और स्थान खरीदे जा चुके हैं. पेड न्यूज बिक रहा है और पक्षपात दिखाई पड़ रहा है.’’

जेल में नई व कौतूहलपूर्ण दुनिया से रूबरू हूं : यशवंत

: भड़ास के चाहने वाले अपने तरीके से भ्रष्‍ट मीडिया, बेलगाम पुलिस और बिके सिस्‍टम की पोल खोलें : मैं जेल को इंज्‍वाय कर रहा हूं. मुझे खुशी है कि भड़ास की क्रांतिकारी पत्रकारिता के कारण भ्रष्‍ट कारपोरेट मीडिया ने अपना छुपा कालिख पुता चेहरा दिखा दिया है. उधार और चंदे के पैसे से चलाए जा रहे भड़ास के तेवर के कारण नानसेंस लिखे एमएमएस को छेड़छाड़ वाला एसएमएस और उधारी मांगने को रंगदारी मांगना बताना भ्रष्‍ट कारपोरेट मीडिया के लोगों की गहरी साजिश का हिस्‍सा है.

दैनिक भास्‍कर में रीजनल हेड बने संजय शर्मा

दैनिक भास्‍कर से खबर है कि संजय कुमार शर्मा ने रीजनल हेड (वेस्‍ट) के पद पर ज्‍वाइन किया है. वे वेस्‍ट रीजन में सेल्‍स की पूरी जिम्‍मेदारी संभालेंगे. शर्मा इसके पहले यूनिटेक वायरलेस के साथ जुड़े हुए थे. वे पहली बार मीडिया के साथ जुड़ रहे हैं. संजय भास्‍कर समूह के एमडी सुधीर अग्रवाल को …

नेशनल दुनिया में सीओओ बने संदीप, रवि ने आज समाज ज्‍वाइन किया

एसएसबी समूह के अखबार नेशनल दुनिया से खबर है कि संदीप विश्‍नोई ने सीओओ के रूप में ज्‍वाइन किया है. संदीप को समूह के नए एडिशनों के लांचिंग ऑपरेशन की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है. संदीप पिछले तेरह सालों से मीडिया के क्षेत्र में सक्रिय हैं. इसके पहले वे साकाल, लोकमत, दैनिक भास्‍कर तथा मिड डे जैसे ब्रांडों को अपनी सेवाएं दे चुके हैं. सिम्‍बोसिस से पास आउट संदीप एक अच्‍छे कार्टूनिस्‍ट भी हैं.

जी न्‍यूज की मीमांसा मलिक को एचआईएफए पुरस्‍कार

नई दिल्ली : ज़ी न्यूज की एंकर और प्रोड्यूसर मीमांसा मलिक को हाल ही में कर्मभूमि सम्मान से सम्मानित किया गया है। इस तरह ज़ी न्यूज परिवार एक और जश्न मनाने अवसर मिला। छठा एचआईएफए कर्मभूमि सम्मान अवॉर्ड आठ जुलाई 2012 को आयोजित किया गया। मीमांसा को टेलीविजन पत्रकारिता में बेहतरीन योगदान के लिए इस पुरस्कार से नवाज गया।

वरिष्‍ठ पत्रकार प्रदीप श्रीवास्‍तव बने प्रतिदिन अखबार के सहायक संपादक

वरिष्‍ठ पत्रकार प्रदीप श्रीवास्‍तव को महाराष्‍ट्र के अमरावती से प्रकाशित विदर्भ के नम्‍बर वन हिंदी दैनिक 'प्रतिदिन अखबार' में सहायक संपादक नियुक्‍त किया गया है. उन्‍होंने अपनी जिम्‍मेदारी संभाल ली है. इससे पहले वे आंध्र प्रदेश के निजामाबाद से प्रकाशित हिंदी दैनिक 'स्‍वतंत्र वार्ता' में स्‍थानीय संपादक थे. प्रतिदिन अखबार का प्रका‍शन पिछले बीस सालों से हो रहे हैं. इस अखबार के संस्‍थापक संपादक नानक आहूजा हैं. यह समूह मराठी दैनिक 'वृत्‍त केसरी' का भी प्रकाशन करता है.

नाकाबंदी के नाम पर नागपुर पुलिस की गुंडागर्दी, पत्रकार को पीटा

नागपुर। समय : रविवार रात एक बजे. स्थान- कामठी कंटोन्मेंट. पुलिस की नाकाबंदी जारी थी. इसकी आड़ में वाहन चालकों को पुलिस की गुंडागर्दी का सामना करना पड़ रहा था. कई लोग बेवजह पीटे गए. लोकमत समाचार के पत्रकार आशीष दुबे भी इसका शिकार हुए. रात को कार्यालय से घर लौटते समय यह वाकया हुआ. चर्च के पास नाकाबंदी के लिए पुलिस निरीक्षक दीपक डेकाटे समेत 7 पुलिस जवान तैनात थे. बेरिकेड के पास पहुंचते ही जवान ने गाड़ी रोकने को कहा.

नीतीश ने किया प्रभात खबर के पाक्षिक पंचायतनामा का लोकार्पण

पटना : अधिकारियों और कर्मचारियों से लैस होंगी राज्य की 8442 ग्रामसभाएं. इसके लिए राज्य सरकार ने पहल शुरू कर दी है. केंद्र से भी सहयोग करने को कहा गया है. केंद्र की सहमति मिल गयी, तो ग्रामसभाओं के कामकाज पर नजर रखने और उनके सुव्यवस्थित ढंग से कार्य करने का रास्ता साफ हो जायेगा. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को संवाद कक्ष में प्रभात खबर समूह के पाक्षिक अखबार पंचायतनामा के लोकार्पण समारोह को संबोधित करते हुए यह घोषणा की. उन्होंने कहा कि ग्रामसभा का संचालन ठीक से हो, इसके लिए पंचायत सरकार भवन का निर्माण कराया जा रहा है. अगले पांच वर्षों में सभी ग्रामसभाओं के लिए पंचायत सरकार भवनों का निर्माण पूरा कर लिया जायेगा.

टाइम ने दिखाया भारतीय मीडिया को आईना!

टाइम पत्रिका ने मनमोहन सिंह को फेल कर दिया और नरेन्द्र मोदी को पास। बतौर इक्नामिस्ट मनमोहन सिंह को फेल उस वक्त किया, जब प्रणव मुखर्जी वित्त मंत्रालय छोड़ रायसिना हिल्स की दौड़ में शामिल हुए और मनमोहन सिंह ने बतौर वित्त मंत्री अपना हुनर दिखाना शुरु किया। जबकि महज सोलह हफ्ते पहले ही नरेन्द्र मोदी को टाइम पत्रिका ने यह संकेत देते हुये पास किया कि जिस इक्नामी की जरूरत भारत को इस वक्त है, वह गुजरात के जरिये मोदी लगातार दे रहे हैं।

जेसीबी के चपेट में आने से दो टीवी पत्रकार घायल

गढ़वा में रंका चेकनाका के निकट बुधवार की दोपहर करीब बारह बजे जेसीबी की चपेट में आने से क्षेत्रीय न्यूज चैनल के दो पत्रकार गंभीर रूप से घायल हो गए। दोनों घायलों को गढ़वा के सदर अस्‍पताल में भर्ती कराया गया। इनमें एक चंदन कुमार की स्थिति गंभीर देखते हुए उन्‍हें प्राथमिक उपचार के बाद रिम्स रांची रेफर कर दिया गया। शैलेश कुमार का इलाज सदर अस्पताल में ही चल रहा है।

बुलंदशहर जिला अस्‍पताल में पत्रकारों पर हमला

बुलंदशहर के जिला अस्पताल में वार्ड ब्वॉय द्वारा मरीज को इंजेक्शन देने और सफाई कर्मचारी द्वारा घावों में टांका लगाने की घटना की जांच करने के लिए उत्तर प्रदेश के परिवार कल्याण महानिदेशक डॉ. चिरंजीलाल बुलंदशहर के बाबू बनारसी दास राजकीय अस्पताल में पहुंचे जबकि मीडियाकर्मियों पर अस्पताल के सफाईकर्मियों ने कथित तौर पर हमला किया। हमले के दौरान एक पत्रकार का कैमरा लूट लिया गया और दो के कैमरे तोड़ दिए गए। घटना का विरोध कर रहे एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने डीजी स्वास्थ्य और सीएमओ के विरुद्ध नारेबाजी भी की।

पुलिस ने दो और पत्रकारों को गिरफ्तार किया

ब्रिटेन में पुलिस अफसरों और मीडिया के बीच भ्रष्ट साठगांठ की जांच कर रही पुलिस ने पूछताछ के लिए दो और पत्रकारों को गिरफ्तार किया है. इन दोनों पत्रकारों पर जानकारी मुहैया कराने के लिए पुलिस अफसरों को रिश्वत देने का आरोप है. गिरफ्तार किए गए पत्रकारों में 'सनडे मिरर' अखबार के क्राइम रिपोर्टर भी …

आगरा में महुआ न्‍यूज लाइन की टीम पर हमला

आगरा के ज़िला अस्पताल में रिश्वत लेते कैमरे में कैद हो जाने के बाद एक बाबू ने महुआ न्यूज़ लाइन की टीम पर हमला कर दिया। इस हमले में टीम के किसी सदस्य को चोट तो नहीं आयी लेकिन कैमरे को थोड़ा नुकसान ज़रुर हुआ। मामला बुधवार की दोपहर करीब 12 बजे का है। जाने-माने टीवी पत्रकार और महुआ न्यूज़ लाइन के ब्यूरो प्रमुख परवेज़ सागर अपने केमरामैन सर्वोत्तम सिंह और एक सहायक के साथ ज़िला अस्पताल में एक स्टोरी करने के लिये गये थे।

इस खबर में काफी तथ्‍य अनछुए और अधूरे हैं

आदरणीय यशवंत जी, नमस्कार। मैंने आपके न्यूज पोर्टल पर "पहली ही प्रेस कांफ्रेंस में पत्रकारों पर उखड़ गए अंबाला के डीसी" नामक शीर्षक से प्रकाशित हुई एक खबर पढ़ी। जिसमें मुझे काफी तथ्य अनछुए हुए और अधूरे लगे। जिन पर प्रकाश डालने के लिए में पहली मर्तबा आपको मेल भेज रहा हूँ। वास्तव में आपके पोर्टल में प्रकाशित समाचार आपके सुप्रसिद्ध एवं निष्पक्ष पोर्टल की छवि को ग्रहण लगाने के प्रयास जैसा है।

अखिलेश के राज में अपराधियों से ज्‍यादा पुलिस का आतंक

सुल्‍तानपुर। अप्रचंड बहुमत पाकर सरकार बनाते ही प्रदेश के युवा तेज़ तर्रार मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने दावा किया था कि प्रदेश के अन्दर से अपराध खत्म कर दिया जायगा। लेकिन जनपद में दिनों दिन बढ़ते हुए अपराध के ग्राफ को देख ऐसा लग रहा है कि यहां तो लॉ-इन-आर्डर ही फेल हो चुका है। जिसकी मुख्य कुसूरवार कोई और नहीं बल्कि जनपद की पुलिस  अधिक्षिका हैं। बतौर बानगी टाटिया नगर कॉण्ड, लम्भुआ में सपा नेताओं द्वारा व्यापारी की ज़मीन पर कब्जे का मामला, सम्पन्न हुए निकाय चुनाव के बाद करौंदिया मोहल्ले में सभासद प्रत्याशी पर हमले का मामला या फिर ताज़ा तरीन ईटीवी के पत्रकार के घर लाखों की चोरी का मामला। इन सभी ने एसपी की लचरशीलता की पोल खोल कर रख दिया है।

मालिक के लिए लॉबिंग करने वाला अब बड़ा पत्रकार है

एक जमाना था जब मीडिया को समाज का दपर्ण कहा जाता था। जनता को समाज में हो रहे प्रत्येक छोटे-बड़े, अच्छे-बुरे बदलाव की जानकारी देना, पत्रकार का मिशन होता था। यह वह दौर था जब पत्रकारिता पैसा कमाने का माध्यम न होकर समाज सेवा का मिशन हुआ करता था। वे लोग ही पत्रकारिता में आते थे जिनमें सत्ता की खामियों को उजागर करने, नौकरशाहों के कारनामों की पोल खोलने और गुंडे-बदमाशों के खिलाफ लिखने और बोलने की ताकत एक जुनून की तरह होती थी। कंधें पर थैला, पैरों में मामूली सी चप्पल, मोटा पहनावा (अक्सर खादी का कुर्ता-पैजामा या फिर छोती-कुर्ता) और पैदल भ्रमण या फिर बहुत हुआ तो साइकिल की सवारी, पत्रकारों की मुफलिसी का दौर कभी खत्म नहीं होने वाला सिलसिला हुआ करता था।

राजस्‍थान पत्रिका के संस्‍थापक कर्पूरचंद्र कुलिश पर डाक टिकट जारी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने विश्वास प्रकट किया है कि अपने संस्थापक कर्पूरचन्द्र कुलिश द्वारा स्थापित सिद्धांतों पर चलते हुए राजस्थान पत्रिका समूह स्वस्थ और सकारात्मक पत्रकारिता की अपनी परम्परा को यूं ही आगे बढ़ाता रहेगा। बुधवार को साउथ ब्लाक स्थित प्रधानमंत्री कार्यालय में समूह के अध्यक्ष एवं प्रधान सम्पादक गुलाब कोठारी से चर्चा करते हुए डॉ. सिंह ने ये विचार प्रकट किए।

उर्दू अखबार हिंदुस्‍तान एक्‍सप्रेस ने भी की यशवंत के गिरफ्तारी की निंदा

उर्दू के प्रतिष्ठित तथा बहुचर्चित अखबार हिंदुस्‍तान एक्‍सप्रेस ने भी यशवंत की गिरफ्तारी तथा विरोध प्रदर्शन की खबर प्रकाशित की है. हिंदुस्‍तान एक्‍सप्रेस ने यशवंत को फर्जी मामले में फंसाए जाने की निंदा की है तथा पुलिस के रवैये पर एतराज जताया है. अखबार लिखता है कि जिस तरह से पत्रकार यशवंत के साथ व्‍यवहार किया गया वह पुलिस व कारपोरेट मीडिया दोनों के लिए शर्मनाक है. अखबार ने यशवंत की गिरफ्तारी के विरोध में जंतर मंतर पर हुए प्रदर्शन को भी जगह दी है.

एनडीटीवी से विजय त्रिवेदी का इस्‍तीफा, पत्रिका के नेशनल एडिटर बने

वरिष्ठ पत्रकार और एनडीटीवी इंडिया में सलाहकार संपादक रहे विजय त्रिवेदी ने इस्‍तीफा दे दिया है. इन्‍होंने अपनी नई पारी राजस्‍थान पत्रिका के साथ शुरू की है. उन्‍हें अखबार में नेशनल एडिटर बनाया गया है. वे दिल्‍ली ब्‍यूरो की जिम्‍मेदारी संभालेंगे. राजस्थान पत्रिका के साथ उनकी यह दूसरी पारी है. उन्‍होंने अपने करियर की शुरुआत ही राजस्‍थान पत्रिका से की थी. एनडीटीवी में विजय राजनीतिक खबरों को कवर करते थे. राजनीतिक विषयों पर इनकी जबर्दस्‍त पकड़ है.

प्रभात खबर के पाक्षिक अखबार पंचायतनामा का लोकार्पण आज

पटना : प्रभात खबर समूह का पाक्षिक अखबार पंचायतनामा (बिहार) का लोकार्पण बुधवार को होगा. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इसका लोकार्पण करेंगे. लोकार्पण समारोह एक, देशरत्न मार्ग स्थित मुख्यमंत्री सचिवालय के संवाद कक्ष में शाम 3:30 बजे होगा. उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और आद्री के सदस्य सचिव शैबाल गुप्ता विशिष्ट अतिथि के होंगे. इस मौके पर पंचायतीराज मंत्री डॉ. भीम सिंह, कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह और ग्रामीण विकास मंत्री नीतीश मिश्र समेत गण्यमान्य लोग उपस्थित रहेंगे. समारोह में सभी जिला पर्षद अध्यक्षों, मुखियाओं व वार्ड पार्षदों को विशेष तौर पर आमंत्रित किया गया है.

क्‍यों भूल गई नोएडा पुलिस 14 अगस्‍त 2005 की बहादुरी!

लगता है सरकार और खासतौर से सरकारी मशीनरी ने मीडिया को जलील करने और हर रोज नीचा दिखाने के लिए नित नये हथकंडे अपनाने की ठान ही ली है। मीडिया की सही तस्वीर दिखाने और मीडिया हाउसों में पत्रकारों के शोषण को उजागर करने वाले यशवंत को जेल भेजने वाली बहादुर नोएडा पुलिस भले ही 14 अगस्त 2005 की रात बहादुरी भूल गई हो, मगर जिन्हें वो घटना याद है वो आज भी बता सकते हैं कि किस तरह से इंडिया टीवी के पत्रकारों ने शराब के नशे में धुत होकर ना सिर्फ एक होटल के स्टाफ और वहां पर मौजूद बाउंसरों को जमकर धुना था, बल्कि जब सेक्टर बीस की पुलिस वहां पहुंची तो कई पुलिस वालों को भी शराब की बोतलों से ज़ख्म मिला था।

पहली ही प्रेस कांफ्रेंस में पत्रकारों पर उखड़ गए अंबाला के डीसी

 उत्तर भारत के सबसे पुराने पत्रकारिता स्थल अंबाला में मंगलवार को डिप्टी कमिश्रर की प्रेस कांफ्रेंस में जबरदस्त हंगामा हुआ। हालत ये हो गई कि डीसी कुर्सी को जोर से सरकार कर पूरे गुस्से में उठ खड़े हुए। उधर शहर में जलभराव में दो बच्चों व एक युवा की जान जाने पर अपना स्पष्टीकरण प्रेस कांफ्रेंस में देने से पहले पत्रकारों के लिए यहां मलिक होटल में प्रशासन ने करीब 25 हजार खर्च करके पत्रकारों का लंच रखा। पर विडंबना यह रही कि जिनके बच्चे मरे उनको महज पांच हजार का चेक थमाया गया।

आई नेक्‍स्‍ट को मिला वर्ल्‍ड यंग रीडर न्‍यूज पेपर का वैन इफ्रा अवार्ड

कानपुर : जागरण प्रकाशन लिमिटेड के बाईलिंगुअल कॉम्पैक्ट साइज अखबार आई नेक्स्ट को व‌र्ल्ड एसोसिएशन ऑफ न्यूजपेपर्स एंड न्यूज पब्लिशर्स (वैन-इफ्रा) ने व‌र्ल्ड यंग रीडर न्यूजपेपर ऑफ द ईयर-2012 का अवार्ड प्रदान किया है। यह अवार्ड मंगलवार को बैंकॉक में एशिया पैसिफिक यंग रीडर समिट में आयोजित समारोह में दिया गया। आई नेक्स्ट की तरफ से अवार्ड सीओओ व एडीटर आलोक सांवल और ब्रांड हेड चेतन सहगल ने प्राप्त किया।

सहारा के वरिष्‍ठ पत्रकार राजेंद्र लाल श्रीवास्‍तव का निधन

महराजगंज के पत्रकार राजेन्द्र लाल श्रीवास्तव का निधन लखनऊ में सोमवार की रात को हो गया। 74 वर्षीय श्री श्रीवास्तव पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे। उनका इलाज लखनऊ के एक अस्‍पताल में चल रहा था। राजेंद्र लाल का पार्थिव शरीर महारांजगंज में सरोजनीनगर स्थित उनके आवास पर लाया गया जहां पहले से उनके परिजन, रिश्‍तेदार व शुभचिन्तक मौजूद रहे। उनके निधन से पत्रकारिता जगत में शोक की लहर दौड़ गयी है। त्रिमुहानी घाट स्थित श्‍मशान पर उनका अंतिम संस्‍कार किया गया। उनके बड़े पुत्र अविनाश कुमार श्रीवास्तव ने उन्हें मुखाग्नि दी।

जागरण में रविभूषण एवं राजेश की जिम्‍मेदारियां बदलीं

दैनिक जागरण, मोतिहारी से खबर है कि रविभूषण सिन्‍हा का तबादला मुजफ्फरपुर यूनिट में कर दिया गया है. रवि यहां पर ब्‍यूरोचीफ की भूमिका निभा रहे थे. वे लम्‍बे समय से जागरण को अपनी सेवाएं दे रहे हैं. उनकी गिनती अच्‍छे पत्रकारों में की जाती है. रवि की जगह समस्‍तीपुर के वरिष्‍ठ पत्रकार राजेश श्रीवास्‍तव …

प्रेसवार्ता में 500 रुपये देने पर मचा बवाल

: युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्‍यक्ष के नाम पर बुलाया गया था पत्रकारों को : रेवाड़ी। जिले के सभी पत्रकारों को जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी द्वारा मंगलवार को दोपहर पश्चात 3 बजे के लगभग एक ई-मेल द्वारा निमंत्रण प्राप्त हुआ, जिसमें लिखा हुआ था कि स्थानीय लोकनिर्माण विश्राम गृह में मंगलवार को सांय 4 बजे प्रदेश कांग्रेस के युवा प्रदेश अध्यक्ष चिरंजीवराव एक पत्रकार वार्ता आयोजित करेंगे। अपने समाचारों का कीमती समय छोड़कर जिले के कुछ पत्रकार प्रदेश अध्यक्ष की पत्रकार वार्ता में भाग लेने के लिए लोकनिर्माण विश्राम गृह में पहुंचे।

लम्‍बी बीमारी के बाद पत्रकार सुधीर थपलियाल का निधन

मसूरी। लंबे समय से बीमार चल रहे क्षेत्र के वरिष्ठ पत्रकार एवं लेखक सुधीर थपलियाल का मंगलवार को निधन हो गया। वे 66 वर्ष के थे। उनके निधन की सूचना मिलते ही मसूरी में शोक की लहर छा गई। सुधीर अपने पीछे पत्नी और दो पुत्रियों को छोड़ गए। उनका इलाज देहरादून स्थित सीएमआई अस्पताल में चल रहा था। यहीं पर उन्‍होंने मंगलवार की दोपहर आखिरी सांस ली। शाम को उनका पार्थिव शरीर मसूरी स्थित उनके आवास क्लिफ काटेज लाया गया। सुधीर के निधन की सूचना मिलते ही उनके आवास पर अंतिम दर्शन के लिए भीड़ उमड़ पड़ी।

अमर उजाला, वाराणसी में राजेंद्र एवं आलोक का प्रमोशन

अमर उजाला, वाराणसी से खबर है कि दो लोगों का प्रमोशन कर दिया गया है. अखबार को लम्‍बे समय से अपनी सेवाएं दे रहे डीएनई राजेंद्र श्रीवास्‍तव को प्रमोट करके एनई बना दिया गया है. राजेंद्र लम्‍बे समय से सिटी इंचार्ज के रूप में जिम्‍मेदारी निभा रहे हैं. उनके अलावा सीनियर सब एडिटर आलोक श्रीवास्‍तव …

जेल से निकलने के बाद और भी खूंखार हो जाएगा यशवंत!

दोस्तों दो खबरे हैं मगर उसकी कहानी एक ही है। कहानी यशवंत के जेल यात्रा की। अब जो होना था हो चुका। यशवंत जेल में हैं। बाहर भी आ जायेंगे। मगर यशवंत इतने परेशान नहीं होंगे जितने उन्हें जेल में भेजने वाले। यशवंत को जमानत मिलेगी। जी न्यूज़ में एक पाराशर साहब हैं उनकी कविता की चंद लाइने कुछ यूँ हैं- "है उस्तरे की धार पर लोकतंत्र की मूंछे, लेखनी की अब जमानत जब्त है"। तो जनाब लेखनी की जमानत बचाते बचाते यशवंत को खुद अब जमानत की जरुरत है। मगर सवाल इससे बड़ा है- जब यशवंत जेल से बाहर निकलेगा तो क्या होगा?

यशवंत व अन्य पत्रकारों को फंसाने के खिलाफ जनसत्‍ता ने भी खोला मोर्चा

पत्रकारों पर बढ़ते हमले और उनके उत्पीड़न पर एक बार फिर जनसत्ता ने मोर्चा खोला है। आम तौर पर जिले में काम कर रहे छोटे पत्रकारों का जब उत्पीड़न होता है तो उनके संस्थान ही उनसे पल्ला झाड़ लेते हैं। वह जिस अखबार में काम कर के लोगों की समस्याओं को उजागर करते हैं वही अखबार उनसे उस समय किनारा कर लेते हैं जब उनका उत्पीड़न होता है। मगर जनसत्ता हमेशा ऐसे पत्रकारों की आवाज आम तौर पर उठाता रहता है।

यशवंत की गिरफ्तारी के विरोध में जंतर मंतर पर प्रदर्शन

पहले पत्रकारों की लड़ाई सरकार और मालिकों के खिलाफ होती थी लेकिन आज ऐसे हालात हो गए हैं कि पत्रकारों को पत्रकारों के खिलाफ लड़ाया जा रहा है. आज भारत में दो प्रकार के पत्रकार हैं. एक वह जो मालिकों के लिए दलाली कर रहे हैं और दूसरे वे जो ईमानदारी से इस पेशे के साथ जुड़े हुए हैं. भड़ास4मीडिया के संपादक यशवंत सिंह को फर्जी आरोपों में फंसाकर गिरफ्तार करने के खिलाफ कल 9 जुलाई को जंतर मंतर, नई दिल्ली में दिल्ली-नोएडा के पत्रकरों ने काली पट्टी बांध कर प्रदर्शन किया. प्रदर्शन का आयोजन जनज्वार डॉट कॉम ने किया था.

पत्रकारों पर हमला मामला : पुलिस ने रेव पार्टी के मेहमानों का रिकार्ड मंगवाया

उदयपुर। जिले की नाई थाना पुलिस ने होटल रॉयल रिट्रीट में आयोजित रेव पार्टी में पत्रकारों पर हुए हमले में कार्यवाही करते हुए होटल से रिकार्ड मंगवाया है और शीघ्र ही आरोपियों के गिरफ्तारी की जाएगी। इधर शहर में भी इस घटना के विरोध में कई संगठनों और संस्थाओं ने पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को ज्ञापन देकर आक्रोश व्यक्त किया है। जिला कलेक्टर ने इस पार्टी की सारी रिकार्डिंग मंगवाई है।

बीटीवी भोपाल से फिर दो कर्मचारियों ने इस्‍तीफा दिया

बीटीवी भोपाल में पिछले दो महीने से रूका कर्मचारियों के चैनल छोड़ने का सिलसिला एक बार फिर शुरू हो गया है। एक हफ्ते के अंदर करीब दो लोगों ने चैनल को अलविदा कह दिया है। चैनल के एक काबिल वीडियो एडिटर ने संपादक के रवैये के चलते नौकरी छोड़ दी है। उस वीडियो एडिटर ने संपादक को नोटिस भी दिया लेकिन संपादक रवींद्र कैलासिया ने उसका नोटिस स्वीकार करने से ही मना कर दिया साथ ही उसकी तनख्‍वाह और बचा हुआ पैसा भी रोक लिया। इसके अलावा एक मामूली विवाद को सही तरीके से डील ना कर पाने के चलते एक कैमरा मैन ने भी चैनल को अलविदा कह दिया।

पीसीआई देगी उत्‍कृष्‍ट पत्रकारिता के लिए पुरस्‍कार

नई दिल्ली : भारतीय प्रेस परिषद ने अपने खुद के ‘पत्रकारिता में उत्कृष्टता के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार’ की स्थापना की है। प्रेस परिषद ने राजा राममोहन राय राष्ट्रीय पत्रकारिता उत्कृष्टता पुरस्कार की शुरुआत की है, जिसमें एक लाख रुपये का नगद पुरस्कार दिया जाएगा। इसके अलावा ग्रामीण पत्रकारिता, विकास पत्रकारिता तथा स्त्री शक्ति से संबंधित पुरस्कार हैं जिनमें विजेताओं को 50-50 हजार रुपये प्रदान किये जाएंगे।

सीडब्‍ल्‍यूजेयू के अध्‍यक्ष पद से अवस्‍थी हटे, देवदत्‍त को कमान

छत्तीसगढ़ की न्यायधानी में पत्रकारों की राजनाति में बडा उलट फेर हुआ है। संस्थापक सदस्यों ने प्रदेश अध्यक्ष के पद से अरविंद अवस्थी को हटा दिया और कार्यवाहक अध्यक्ष के रूप में कमान देवदत्त तिवारी को सौंप दिया गया है। सात माह पहले उनके हाथ से हुई नियुक्तियां भी रद्द कर दी गई हैं। छत्तसीगढ़ वर्किंग जर्नलिस्ट की विशेष सामान्य सभा की अध्यक्षता वरिष्ठ पत्रकार एनकेआर पिल्ले ने की, इसमें सात महीनों में छ.ग. वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन में किसी भी प्रकार की संगठनात्मक गतिविधियां शून्य रहने सामान्तर संगठन खड़ा करने के श्रमजीवी साथियों से सदस्यता शुल्क लेने के बावजूद सैकड़ों पत्रकारों के जीवन बीमा ना कराने, संविधान विरोधी कृत्यों की वजह से पंजीयक श्रम विभाग द्वारा पंजीयन समाप्त करने संबंधित नोटिस जारी होने जैसे गंभीर मामले उठे।

जेल की पाठशाला में यशवंत

किताबें और तस्‍वीरें जिस तरह किसी भी जिज्ञासु में लगातार जानकारियों की इमारत को तैयार करती हैं, ठीक वैसे ही जेल की दीवारों-सलाखों की भूमिका आत्‍मविश्‍लेषण के लिए अनिवार्य होती है। और फिर यशवंत सिंह तो जन्‍मजात जिज्ञासु है। 36 साल के यशवंत के बालमन ने गाजियाबाद की डासना जेल में खुद के लिए एक बेमिसाल और रोचक विद्यालय खोज लिया है। वह वहां पर खोज रहा है वहां बंद लोगों को, लोगों के व्‍यवहारों को, उनकी दिनचर्या को, उनके मकसद को, उनके लक्ष्‍य को। वह समझ रहा है कि आखिर वहां की ऊंची प्राचीरों में कैद लोगों को यहां क्‍यों और कैसे मुकाम किस तरह मिले और कैसे अब वे क्‍या करेंगे। छूटेंगे भी तो आखिर कैसे। छूटने के बाद क्‍या करेंगे।

खुद का वेंचर शुरू करेंगे अनिल पाण्‍डेय

जनसंदेश टाइम्‍स से इस्‍तीफा देने वाले सीजीएम अनिल पाण्‍डेय अब खुद का वेंचर शुरू करने जा रहे हैं. सूत्रों का कहना है कि वे मीडिया साल्‍यूशन्‍स नामक कंपनी की लांचिंग करने जा रहे हैं. गौरतलब है कि पिछले दिनों अनिल पाण्‍डेय ने इस्‍तीफा दे दिया था. आई नेक्‍स्‍ट, स्‍वतंत्र भारत समेत कई अन्‍य संस्‍थानों में वरिष्‍ठ पदों पर काम कर चुके अनिल पाण्‍डेय के बारे में खबर आई थी कि उन्‍होंने आंतरिक परिस्थितियों से परेशान होकर इस्‍तीफा दिया है.

एमएचवन, कुरुक्षेत्र के ब्‍यूरोचीफ केपीएस मरवाहा की सड़क हादसे में मौत

एमएचवन चैनल में कुरुक्षेत्र के प्रभारी कंवर पाल सिंह मरवाहा की रविवार को एक सड़क हादसे में असमय मौत हो गई. यह सड़क हादसा हरियाणा के हिसार में हुआ. कँवर पाल सिंह मरवाहा अपने शार्ट नाम केपीएस मरवाहा के नाम से ज्यादा मशहूर थे। उन्‍होंने मात्र तीन-चार सालों में इलेक्‍ट्रानिक मीडिया में अच्‍छा खासा मुकाम …

हत्‍यारों की गिरफ्तारी न होने पर हॉकरों ने दी अखबार बंद करने की चेतावनी

जौनपुर : खेतासराय थाना क्षेत्र के मैनुद्दीनपुर गांव में पिछले दिनों हुए हाकर चाचा और भतीजे की हत्या के बाद से अखबार विक्रेताओं में आक्रोश व्याप्त है। पुलिस अब तक हत्‍यारों का पता नहीं लगा सकी है। नाराज हॉकर अब अखबार वितरण बंद करने की तैयारी कर रहे हैं। गौरतलब है कि मैनुद्दीनपुर गांव निवासी हाकर लालजी गौतम और उनके भतीजे बब्‍लू की पिछले महीने हत्‍या कर दी गई थी।

पत्रकारों पर फर्जी मुकदमा किए जाने पर उरई में प्रदर्शन

जालौन में भयादोहन के मामले में पुलिस के द्वारा लगभग पचास पत्रकारों पर फर्जी मुकदमा दर्ज किये जाने पर पत्रकारों में रोष बढ़ता जा रहा है। ये मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है जिसके विरोध में सोमवार को उरई में सैकड़ों पत्रकारों ने इकट्ठा होकर पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन किया और झूठा फंसाए जाने के खिलाफ जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा। गौरतलब है कि 21 जून को गुटखा व्यापारी संजय गुप्ता ने अपने बच्चों को ट्यूशन पढ़ाने वाली शिक्षिका के साथ दुष्कर्म के मामले में सरेंडर किया था। इसमें उरई कोतवाली में मुकदमा भी दर्ज कराया गया था। लेकिन उरई पुलिस गुटखा व्यापारी को शुरू से ही बचाने में लगी थी, परन्‍तु मीडिया में कवरेज के चलते पुलिस व्यापारी को बचा नहीं पाई।

बहुत खतरनाक है ये इलाका, चार साल में मारे जा चुके हैं 22 पत्रकार

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में पिछले चार सालों के दौरान 22 पत्रकारों की हत्या की गई। 'डॉन' समाचारपत्र ने सोमवार को बताया कि क्वेटा में रविवार को मीडिया और नागरिक समाज पर अधारित एक कार्यशाला में वक्ताओं ने कहा कि बलूचिस्तान में मीडिया को आजादी नहीं है और पत्रकारों का उत्पीड़न किया जा रहा है।

क्या वास्तव में सही हुआ यशवंत के साथ?

देश की सबसे बड़ी मीडिया वेबसाइट भड़ास4मीडिया के संस्थापक यशवंत को गिरफ्तार किया गया। इंडिया टीवी के मैनेजिंग एडीटर विनोद कापड़ी और उनकी पत्नी साक्षी जोशी ने आरोप लगाया कि रात के दो बजे यशवंत ने उन्हें लगातार कई फोन और एसएमएस किये तथा अगले दिन उनसे रंगदारी मांगी। देश के बड़े मीडिया घराने जिनके शोषण की दास्तान यशवंत लगातार छापते रहते थे सक्रिय हो गये और अगले दिन यशवंत की गिरफ्तारी इतने बड़े कॉलम में छापी कि मानों यशवंत पाकिस्तान से आये खूंखार आतंकवादी हों। यशवंत के क्रिया कलापों को लेकर देश भर में बहस छिड़ी हुई है कि मीडिया के बड़े से बड़े नामों की हकीकत सामने लाने वाले इस नौजवान के साथ सही हुआ या नहीं।

अमर उजाला में एलएस भंडारी का प्रमोशन, एनई बने

अमर उजाला, बरेली से खबर है कि एलएस भंडारी को प्रमोट कर दिया गया है. भंडारी फिलहाल डीएनई की जिम्‍मेदारी निभा रहे थे. उन्‍हें एनई बना दिया गया है. वे पिछले लगभग तीन दशक से अमर उजाला को अपनी सेवाएं दे रहे हैं. वे जल्‍द ही अपनी जिम्‍मेदारी संभाल लेंगे.

जनसंदेश टाइम्‍स से सीजीएम अनिल पाण्‍डेय का इस्‍तीफा

जनसंदेश टाइम्‍स, कानपुर से खबर है कि अनिल पाण्‍डेय ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे कंपनी में बतौर सीजीएम अपनी सेवाएं दे रहे थे. वरिष्‍ठ तथा सुलझे हुए मीडिया मैनेजरों में गिने जाने वाले अनिल पांडेय के बारे में कहा जा रहा है कि उन्‍होंने अखबार के अंदर की आंतरिक राजनीति से तंग आकर इस्‍तीफा दिया है. सूत्रों ने बताया कि प्रबंधन ने उन्‍हें परेशान करने के उद्देश्‍य से तबादला लखनऊ के लिए कर दिया था, जहां जाने से इनकार करते हुए उन्‍होंने इस्‍तीफा दे दिया.

हाय रे संपादक! इस संपादन कला को प्रणाम

आज के अख़बारों में ईश्वरीय कण के खोजे जाने की खबरें प्रकाशित हुईं हैं. उत्तर भारत के तथाकथित बड़े अख़बारों ने सदी की इस महानतम खोज को जिस नीम समझ के साथ प्रस्तुत किया है, उसे पढ़ते हुए हंसी भी आती है और रोना भी. विश्व में सर्वाधिक प्रसार संख्या का दावा करने वाले एक अखबार ने लिखा है कि विज्ञान भगवान के करीब पहुँच गया है. एक दूसरे बड़े अखबार ने अहम ब्रह्मास्मि के शीर्षक के साथ लिखा है कि विज्ञान ने प्रमाणित कर दिया है कि भगवान कण-कण में व्याप्त है. जो लोग जानते हैं कि सत्येन्द्र नाथ बासु और पिटर हिग्स ने अपनी गणितीय संकल्पनाओं के दौरान जिस कण के होने की संभाव्यता जताई थी, उसे गाड पार्टिकिल क्यों कहा गया, उन्हें भी हिन्दी के इन मूर्धन्य संपादकों की समझ पर तरस आ रहा होगा.

जागरण ने इस्‍तीफा नहीं देने पर रामजीवन गुप्‍ता को जम्‍मू भेजा

दैनिक जागरण में कर्मचारियों को तबादला करके परेशान किया जा रहा है. ऐसे ही एक टीपी ऑपरेटर रामजीवन गुप्‍ता का तबादला प्रबंधन ने जम्‍मू के लिए कर दिया है. रामजीवन का कहना है कि प्रबंधन ने उनसे पहले इस्‍तीफा मांगा, इस्‍तीफा ना देने की स्थिति में मैनेजमेंट प्रताडि़त करने की नीयत से उनका तबादला जम्‍मू के लिए कर दिया, जबकि वे 1994 से ही दिल्‍ली कार्यालय में कार्यरत हैं. उनका कहना है कि उन्‍होंने इसके पहले भी प्रबंधन को अपने बीमारी का प्रमाण दे चुके हैं. इसके बावजूद प्रबंधन उनका तबादला जम्‍मू कर दिया है. नीचे रामजीवन द्वारा जागरण मैनेजमेंट को भेजा गया पत्र.

रेव पार्टी कवरेज कर रहे पत्रकारों के साथ मारपीट

उदयपुर। शहर के नजदीक बड़ी गांव स्थित होटल रॉयल रिट्रीट में आयोजित रेव पार्टी के कवरेज के लिए गए पत्रकारों के साथ होटल के गार्ड और पार्टी में आए लोगों ने मारपीट की। जिससे आक्रोशित पत्रकारों ने रात्रि को ही पुलिस महानिरीक्षक से वार्ता कर कार्यवाही की मांग की। नाई थाने में होटल के संचालक और इस कार्यक्रम के आयोजक के खिलाफ प्रकरण दर्ज करवाया गया है।

बड़े मीडिया हाउस अपने पत्रकारों को न्‍यूनतम मजदूरी भी नहीं देते : रास बिहारी

: जार का प्रांतीय सम्‍मेलन आयोजित : बालोतरा। जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन ऑफ राजस्थान (जार) का प्रांतीय सम्‍मेलन एवं प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक रविवार को औद्योगिक नगरी बालोतरा के अलतुलेश भांतगर हाऊस के कांफ्रेंस हॉल में आयोजित हुई। सम्‍मेलन में प्रदेश सहित दिल्ली से आए पत्रकारों व साहित्यकारों ने पत्रकारों के हितों को लेकर चर्चा की। सम्‍मेलन का शुभारंभ पूर्व गृह राज्यमंत्री अमराराम चौधरी, नेशनल यूनियन ऑफ र्जनलिस्ट्स इंडिया के महासचिव रासबिहारी, जार प्रदेशाध्यक्ष ललित शर्मा, उपाध्यक्ष वेदप्रकाश, भवानीशंकर जोशी आदि अतिथियों ने मॉ सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर किया।

अखिलेश सरकार में पत्रकारों का पुलिसिया उत्‍पीड़न बढ़ा, उरई में आज विरोध प्रदर्शन

जालौन के उरई में बलात्‍कार के आरोपी संजय गुप्‍ता के समर्थकों द्वारा मीडियाकर्मियों के साथ मारपीट की घटना में पुलिस ने पहले आरोपी समर्थकों के खिलाफ मामला दर्ज किया. अब खबर है कि पुलिस ने 12 नामजद पत्रकारों एवं 30 अज्ञात पत्रकारों के खिलाफ भयादोहन का मुकदमा कायम कर लिया है, जिससे पत्रकारों में रोष है. मीडियाकर्मी अखिलेश सरकार में पत्रकारों के उत्‍पीड़न बढ़ने का आरोप लगाते हुए 9 जुलाई को आंदोलन की रणनीति तैयार की है.

एसएमबीसी इनसाइट चैनल का टेस्‍ट सिग्‍नल शुरू

: किशोर बनाए गए इनपुट हेड, संदीप सिन्‍हा बने आउटपुट हेड : एसएमबीसी इनसाइट नेशनल न्यूज़ चैनल का टेस्ट सिग्नल शुरू हो चुका है. अभी यह चैनल मध्यप्रदेश के कई इलाके में दिखने लगा है. चैनल का मुख्यालय जबलपुर है. पहली बार नेशनल लेबल का न्यूज़ चैनल किसी प्रदेश से स्टार्ट हुआ है. चैनल न्यू कंटेंट के साथ बाज़ार में उतरा है. इस चैनल में कई नेशनल न्यूज़ चैनल सहित प्रिंट मीडिया के अनुभवी पत्रकारों की टीम  बनी है. जो नए कंटेंट के साथ अन्य दूसरे चैनल को टक्कर देने को तैयार है. जबलपुर में हाई टेक स्टूडियो और पीसीआर और न्यूज़ रूम के साथ देश भर में बने टीम तैयार होकर न्यूज़ और स्पेशल प्रोग्राम के साथ उतरी है. 

यशवंत की गिरफ्तारी के विरोध में आज 3 बजे पहुंचे जंतर मंतर

यशवंत की फर्जी धाराओं में गिरफ्तारी के विरोध में सोमवार को जंतर मंतर पर विरोध प्रदर्शन है. इस विरोध प्रदर्शन का आयोजन जनज्‍वार के संपादक अजय प्रकाश के नेतृत्‍व में किया गया है. अजय प्रकाश ने कहा कि आने वाले दिनों में पत्रकारों और न्यू मीडिया पर और हमले बढ़ेंगे. इसलिए वे यशवंत के मामले पर अपना प्रतिरोध दर्ज करें और 9 जुलाई को जंतर-मंतर पर होने जा रहे प्रदर्शन में प्रमुखता से भागीगदारी करें. यह प्रदर्शन दोपहर तीन बजे से होगा.

ईटीवी उर्दू पर नया प्रोग्राम ‘हिंदुस्‍तां हमारा’

हिन्दुस्तान के मुसलमानों की आवाज को परवान चढ़ाने, उसे एक नई बुलंदी देने के मकसद से ईटीवी उर्दू पर सोमवार से गुरुवार रात 8 बजे हिन्दुस्तां हमारा नामक एक नया प्रोग्राम 9 जुलाई से प्रसारित होने रहा है। इस प्रोग्राम का निर्माण एनटीआई टीवी प्रोडक्शन हाउस कर रहा है। यह वही प्रोडक्शन हाउस है जिसने उत्तर-प्रदेश विधान सभा चुनाव के दौरान ईटीवी उत्तर प्रदेश के लिए वोट करेगा यूपी का निर्माण किया था। ईटीवी के इस प्रोग्राम ने टीआरपी के मामले में यूपी के सभी रीजनल चैनलों के इलेक्शन प्रोग्राम को पीछे छोड दिया था।

शहीद पत्रकार छत्रपति की स्मृति में पुरस्कार

सिरसा। हरियाणा जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन की एक अहम बैठक जिला प्रधान सत सिंह की अध्यक्षता में उनके कार्यालय में हुई। बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। इस दौरान निर्णय लिया गया कि एसोसिएशन द्वारा हर वर्ष शहीद पत्रकार राम चंद्र छत्रपति के शहादत दिवस 21 नवंबर को शहीद राम चंद्र छत्रपति पत्रकारिता सम्मान पुरस्कार दिया जाएगा।

देखिए वीडियो – लाइव कार्यक्रम में सांसद ने आलोचक पर तान दी पिस्‍टल

टेलीविजन चैनलों पर लाइव बहस कार्यक्रम के दौरान अक्सर माहौल गरम हो जाता है, लेकिन जॉर्डन के एक चैनल पर बहस के दौरान जो हुआ वह अविश्वसनीय था। दरअसल जॉर्डन के एक सांसद ने बहस के दौरान ही दूसरे आलोचक पर बंदूक तान दी। बकौल 'द टाइम्स ऑफ इजरायल' सांसद मोहम्मद शावाब्गा सीरिया के प्रति जॉर्डन की नीतियों के बारे में चर्चा कर रहे थे। इस मुद्दे पर बात करते हुए अचानक शावाब्गा नाराज हो गए और उन्होंने साथ बैठे आलोचक पर जूता फेंक मारा।

रामकिशोर पंवार मध्य प्रदेश में आइसना के प्रदेश सचिव बने

बैतूल। आल इंडिया स्माल न्यूज पेपर्स एशोसियेशन आइसना की प्रदेश कार्य कारिणी की बैठक में बैतूल जिले के वरिष्ठ पत्रकार रामकिशोर पंवार को प्रदेश इकाई में सचिव मनोनित किया है। श्री पंवार बैतूल जिला इकाई के अध्यक्ष भी रह चुके है। भारतीय श्रमजीवी पत्रकार महासंघ की राष्टीय कार्य समिति के सदस्य रहे श्री पंवार देश एवं प्रदेश के एक दर्जन से अधिक संगठनों की राष्‍ट्रीय एवं प्रदेश इकाई से जुडे़ हुए हैं। दैनिक पंजाब केसरी दिल्ली के बैतूल ब्यूरो, एटूजेड न्यूज चैनल एवं टाइम टीवी के बैतूल ब्यूरो रामकिशोर पंवार बैतूल जिले से दो वेब न्यूज एवं टीवी पोर्टल का संचालन कर रहे है।

कलश टीवी करेगा अपना विस्‍तार

कलश मीडिया प्राइवेट लिमिटेड अपने धार्मिक और आध्यात्मिक चैनल कलश टीवी का विस्तार करने जा रहा है। प्रबंधन चैनल का डिस्‍ट्रीब्‍यूशन देश भर में करने की योजना पर काम कर रहा है। संभावना है कि इसे जल्‍द ही डीटीएच पर भी लाया जाएगा। सूत्रों का कहना है कि इस महीने के अंत तक कलश को डीटीएच नेटवर्क पर प्रसारित किए जाने की पूरी योजना है। प्रबंधन यह कदम चैनल को मिल रहे रिस्‍पांस को देखते हुए उठा रहा है।

पीएम के पूर्व मीडिया सलाहकार हरीश खरे के साथ लूट

नई दिल्ली। आम लोगों की तो बात छोड़िए राजधानी में खास लोग भी सुरक्षित नहीं है। अति सुरक्षित माने जाने वाले सिविल लाइंस में शुक्रवार शाम हथियारबंद बदमाशों ने प्रधानमंत्री के पूर्व मीडिया सलाहकार हरीश खरे को लूट लिया। वारदात के समय वे कमला नेहरू पार्क (बोंटा पार्क) में टहलने के लिए गए थे। बदमाशों ने उनसे कुछ कैश और उनकी कीमती घड़ी लूट ली। सूचना मिलते ही आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए। पीड़ित की शिकायत पर मामला दर्ज कर सिविल लाइंस पुलिस छानबीन कर रही है।

सैफ की पार्टी में मीडियाकर्मियों के साथ हाथापाई

मुंबई : अभिनेता और प्रोड्यूसर सैफ अली खान की पार्टी में बाउंसरों और मीडिया के बीच झड़प की खबर है। यह पार्टी सैफ की जल्द ही रिलीज होने वाली फिल्म ‘कॉकटेल’ के प्रमोशन के लिए आयोजित की गई थी। इस पार्टी में अभिनेत्री दीपिका पादुकोण और डायना पेंटी भी मौजूद थीं। पार्टी सांता क्रूज स्थित मिनी कूपर शोरूम में शुक्रवार रात लगभग 9.30 बजे के करीब शुरू हुई। 11 बजे के बाद जैसे ही सैफ, दीपिका और डायना पार्टी में पहुंचे, लोगों ने एक झलक पाने के लिए उन्हें घेर लिया। तभी उनके बाउंसरों ने भीड़ और मीडिया कर्मियों को धक्का देना शुरू कर दिया, जिसमें कुछ कैमरामैन के कैमरा, लाइट और हेड फोन टूट गए।

बाराबंकी के पत्रकार यशवंत की गिरफ्तारी से नाराज

बाराबंकी में शनिवार को पंजाब केसरी कार्यालय में पत्रकारों की एक आवश्यक बैठक संपन्न हुई। बैठक में पिछले दिनों भड़ास4मीडिया के संपादक यशवंत सिंह की फर्जी मुकदमों में गिरफ़्तारी पर रोष प्रकट किया गया। उपस्थित पत्रकारों ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से यशवंत सिंह की फर्जी मुकदमों में गिरफ़्तारी की उच्च स्तरीय जाँच तथा एक निर्भीक-बेबाक पत्रकार यशवंत सिंह के साथ आतंकवादियों सरीखा