10वां साल : आजमगढ़ में 26 मई से 31 मई तक ‘अवाम का सिनेमा’

इसे संयोग नहीं कहा जा सकता कि जिस दिन इस देश की जनविरोधी सत्‍ता अपनी जीत की पहली सालगिरह का जश्‍न मना रही होगी, ठीक उसी दिन मेहनतकश अवाम भी अपने संघर्षों के एक अध्‍याय का दस साल पूरा कर रही होगी, वो भी उस सरज़मीं पर जिसे बीते एक दशक में सबसे ज्‍यादा बदनाम करने की साजि़शें रची गयी थीं। मंगलवार 26 मई को ‘अवाम का सिनेमा’ अपने आयोजन के दस साल होने पर उत्‍तर प्रदेश के आज़मगढ़ में हफ्ते भर का एक भव्‍य समारोह करने जा रहा है। इस समारोह में किसान होंगे, मजदूर होंगे, जनता की संस्‍कृति होगी, काकोरी के शहीदों की याद होगी, भारतीय क्रांतिकारी आंदोलन की विरासत होगी, कबीर होंगे, जनसंघर्षों की एकजुटता होगी और सबसे बढ़कर वे फिल्‍में होंगी जिन्‍होंने कदम-दर-कदम अपनी रचनात्‍मकता से सत्‍ता के ज़हर को हलका करने का काम किया है।

एसीबी पर हाईकोर्ट के फैसले से मोदी के मंसूबों पर पानी फिरा, केजरीवाल सरकार की बांछें खिलीं

पहला जूता दिल्ली हाई कोर्ट ने दे मारा । एसीबी को दिल्ली पुलिस के घूसखोरों को पकड़ने का पूरा अख़्तियार है। कोर्ट ने नोटिफिकेशन रद्द कर दिया है। इस फैसले पर मीडिया (टी वी) के क़ानूनी विशेषज्ञ बिलों में दुबक लिए हैं। दरअसल हाईकोर्ट ने 21 मई 2015 के नोटिफिकेशन को भी रद्दी का टुकड़ा बता दिया, जैसाकि कानूनविद कह रहे थे पर मीडिया के ख़ुद गढ़ें फ़र्ज़ी विशेषज्ञ जो क़ानून की उल्टी पट्टी पढ़ा रहे थे, अब बिलों में हैं! इस फैसले से नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा गृहमंत्रालय की आड़ से पाले जा रहे मंसूबों पर पानी फिर गया है और केजरीवाल सरकार का कदम उचित ठहराया गया है। 

हेम मिश्रा की गिरफ्तारी पर संस्कृति कर्मियों की चुप्पी ठीक नहीं

दिल्ली : अत्यंत यातनापूर्ण स्थिति में नागपुर जेल में रखे गए हेम मिश्रा की रिहाई के लिए संस्कृतिकर्मियों से आह्वान करते हुए आनंदस्वरूप वर्मा ने कहा है कि धरना, प्रदर्शन आदि का कोई कार्यक्रम लेना चाहिए। इस पर खामोशी ठीक नहीं। यह कबीलावाद जब तक रहेगा, फासीवाद के खिलाफ कोई लड़ाई हम नहीं लड़ सकते.

ट्राई के खिलाफ स्टार पहुंचा दिल्ली हाईकोर्ट, सुनवाई आज

मुंबई : भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (ट्राई) के खिलाफ स्टार इंडिया दिल्ली हाईकोर्ट पहुंच गया है। ट्राई ने ब्रॉडकास्टरों को निर्देश दिया था कि वे व्यावसायिक सब्सक्राइबरों को सीधे सिग्नल न उपलब्ध कराएं। यह आवेदन मुख्य याचिका के अंतर्गत दाखिल किया गया है जिसके ज़रिए ब्रॉडकास्टर स्टार इंडिया ने ट्राई के उस टैरिफ आदेश को चुनौती दी है जिसमें व्यावसायिक सब्सक्राइबरों को सामान्य सब्सक्राइबरों के समान माना गया है। 

प्रशांत मिश्रा पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली महिला से जागरण परिसर में मारपीट

दैनिक जागरण के नोएडा कार्यालय में जागरण की ही एक महिला कर्मचारी से मारपीट की गई। इस कर्मचारी ने संस्‍थान के उस वरिष्‍ठ पत्रकार प्रशांत मिश्रा पर यौन शोषण का आरोप लगाया है, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करीबी बताए जाते हैं और वह इस समय मोदी जी की इमेज चमकाने में लगे हैं, ताकि उनके खिलाफ दिल्‍ली पुलिस कोई कार्रवाई न करे। इससे पहले संस्‍थान के गेट पर संस्‍थान के मुख्‍य उपसंपादक श्रीकांत सिंह से मारपीट की गई थी और पुलिस ने दैनिक जागरण के प्रभाव के कारण एसएसपी के आदेश के बावजूद तीन महीने बाद भी मामला दर्ज नहीं किया है।

अब यह

झुंझुनू में शराब पीकर उत्पात मचाते पत्रकार समेत तीन गिरफ्तार

झुंझुनू (राजस्थान) : स्थानीय पुलिस ने रविवार को शराब पीकर उत्पात मचाने के आरोप में एक पत्रकार को गिरफ्तार कर लिया। वह अन्य लोगों के साथ शराब पीकर ऊधम काट रहा था। पुलिस ने उनका मेडिकल भी करवाया है।

न्यायपालिका की विश्वसनीयता सबसे निचले स्तर पर

सलमान खान और जयललिता प्रकरण से भारतीय न्यायपालिका विश्वसनीयता की उस पायदान पर जा पहुँची है जहाँ उसके विषय में की गई हर सरगोशी सच लगती है। बहुत बड़े साइज़ के अति विश्वसनीय क़िस्म के सूत्र के अनुसार जयललिता के लिये देश की सर्वोच्च न्यायालय में क्या क्या होना है यह scripted है ” लिख के ले लो, उधर कर्नाटका सरकार अपील करेगी इधर सुप्रीम कोर्ट में जयललिता की “ग्रान्ट लीव” का फ़ैसला आ जायेगा और मामला आठ दस साल के इंतज़ार के ब्रेकेट में जा गिरेगा”, ऐसा दावा किया गया है । अम्माँ” इस अरेंजमेंट की राजनैतिक क़ीमत चुकायेंगीं । वे राज्यसभा में “केन्द्र सरकार के बिल पास कराने में सहयोग देंगी “।

पत्नी की मोबाइल चैटिंग से रिश्ता टूटने के कगार पर

आगरा : पत्नी का सोशल मीडिया प्रेम दांपत्य जीवन में खलल डाल गया। व्हाट्स एप पर ग्रुप एड्मिन पत्नी की चैटिंग से आजिज पति ने विरोध जताया तो दोनो के बीच कलह पैदा हो गया। विवाद इतना बढ़ गया कि पुलिस ने सुलह समझौते के लिए उनका मामला परिवार परामर्श केंद्र के हवाले कर दिया।

बंद पड़ी बेवसाइटें बेच कर 147 करोड़ रुपए कमाने का लक्ष्य

ब्रिटेन की सरकार अब लंबे समय से बंद पड़ीं वेबसाइटों के पते बेच रही है। पहली खेप में डेढ़ लाख वेबसाइट पतों को नॉर्वे की कंपनी एल्टीबॉक्स ने लगभग छह लाख पाउंड में ख़रीदा है. इन वेबसाइटों का महत्व इसलिए काफ़ी बढ़ गया है, क्योंकि 1970 में वेबसाइट बनाने के लिए जो योजना लाई गई थी, उनकी तादाद अब बहुत ज़्यादा हो गई है.

प्रसार भारती के छह आला अफसरों के खिलाफ जांच करेगी सीबीआई

सीबीआई प्रसार भारती के छह बड़े अधिकारियों के खिलाफ जांच करेगी। डिप्‍टी डायरेक्‍टर जनरल से लेकर प्रोग्राम के एग्जिक्‍यूटिव प्रोड्यूसर तक जांच के दायरे में हैं। ‘द एशियन एज’ के मुताबिक केंद्रीय सतर्कता आयोग श्रीनगर में दूरदर्शन केंद्र के संचालन में बड़े पैमाने पर गोलमाल मिलने के बाद इस मामले में सक्रिय हुआ है। 

जिस दिन इस दुनिया में आया था, उसी दिन हादसे में चल बसा भास्कर कर्मी

दैनिक भास्कर के जालंधर कार्यालय में कार्यरत सुरेश ठाकुर की एक सड़क हादसे में मौत हो गई। वह अपनी बहन, पिता और भांजी के साथ होशियारपुर से वापस जालंधर लौट रहा था। माहलपुर के पास पीछे से किसी वाहन ने सुरेश की कार में टक्कर मार दी। कार सामने से आ रही बस से टकरा गई। हादसा ऐसे समय हुआ जब, सुरेश को जन्मदिन पर बधाइयां मिल रही थीं। 

केजरीवाल को खुला खत : ‘आप की टोपी रखी मेरे पास, जरा सुन लो अरज हमारी’

दिल्ली : प्रदेश सरकार के काम काज से असंतुष्ट आम आदमी देवेश वशिष्ठ ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को रोष भरा पत्र लिखते हुए उन्हें अवगत कराया है कि अब आपसे और आपके मंत्रियों से मिलना बहुत मुश्किल हो गया है और हमारे विधायक कभी न घर मिलते हैं, न फोन उठाते हैं। इसलिए आपको ये खुला खत लिखना पड़ रहा है।

फुलवारीशरीफ में प्रेस फोटो ग्राफर के सिर में गोली मारी, हालत गंभीर

पटना : फुलवारीशरीफ थाना क्षेत्र में महावीर कैंसर अस्पताल के पास बदमाशों ने स्वतंत्र प्रेस फोटोग्राफर पवन सिंह को गोली मार दी। स्थानीय लोगों ने पवन को अस्पताल पहुंचाया। हालत चिंताजनक बताई गई है। घटनास्थल से पुलिस को जिंदा कारतूस बरामद हुआ है। नेशनल यूनियन ऑफ़ जर्नलिस्ट्स, बिहार, ने इस घटना की कठोर शब्दों में …

किसके आदेश पर वाहन धारकों को इस तरह लूट रहीं मोबाइल कंपनियां!

बदायूं (उ.प्र.) : लोगों को कार, मोटरसाइकिल या अन्य वाहन उसकी बिलिंग पर मिलने चाहिए, न कि ऑन रोड व्यवस्थाओं के तहत, लेकिन डीलर उसमें अपने अन्य चार्जेज जोड़ देते हैं। कम्पनी का स्पष्ट कहना है कि गाड़ी की शुरूआती कीमत, जैसा उसके पेपर प्रचार या टीवी प्रचार में आता है, साथ ही लिखा होता है। उदाहरण के लिए बदायॅू में हीरो मोटोकार्प की पैशन प्रो. मोटरसाइकिल की एक्स शोरूम कीमत 49249 रुपए है, जबकि डीलर ऑन रोड 58590 रुपए में बेचता है। इसमें आरटीओ का पैसा, बीमा का पैसा, एसेसरीज का पैसा, गुडलाइफ कार्ड का पैसा, आदि जोड़ कर दिया जाता है। सवाल उठ रहे हैं कि डीलर को गाड़ी की एक्सशोरूम प्राइस के अन्दर ही प्राफिट होता है तो वह क्यों अन्य सामान जबरिया देकर उसका पैसा चार्ज करता है?

न्यूज चैनलों का फर्जी प्रचार और दोगुना बढ़ी महंगाई की मार

टी वी चैनलों पर लाये गये फ़र्ज़ी प्रचार, एकदम झूठे लगने वाले सर्वेक्षणों और चीख़ते एंकरों से जो समवेत शोर पैदा हो रहा है, उससे लगता है कि लोग मंहगाई दो गुना हो जाने से ख़ुश हैं।

यूपीः तेज हुई पंचायत चुनावों की रस्साकशी

उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की सरगर्मी बढ़ने लगी है। 2017 के विधान सभा चुनाव से पूर्व पंचायत चुनाव तमाम उन राजनैतिक दलों के आकाओं लिये अपनी ताकत नापने का पैमाना बन सकता है जो 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के हाथों बुरी तरह पिटने के बाद भी 2017 में यूपी की सत्ता हासिल करने का सपना देख रहे हैं।लोकसभा चुनाव में बुरी तरफ ‘पिटे’ सपा-बसपा,कांगे्रस और अन्य छोटी-छोटी राजनैतिक पार्टियों के लिये भी पंचायत चुनाव अमर बूटी साबित हो सकते हैं।पंचायत चुनाव की बिसात गांव की चैपालों पर सजती है और इसकी गूंज घर के भीतर तक सुनाई देती है।

अधिकारियों की मनमानी से विधवा उर्मिला का जीना दुःश्वार, न्याय की दरकार

शासन-प्रशासन ने एक विधवा का जीवन सांसत में डाल रखा है। उर्मिला जायसवाल मौजा खैरूद्दीनगं, शिवाजी नगर, मडि़याहूं की रहने वाली एक गरीब विधवा महिला हैं। उनके पति राम दुलार गुप्ता का नगर पंचायत मडि़याहूं में ट्यूबेवैल ऑपरेटर के पद पर रहते हुए निधन हो चुका है। उसके बाद से उर्मिला को अपनी आजीविका चलाने में बेहद परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उर्मिला अपने पति के स्थान पर प्रशासन से नौकरी मांग रही हैं। 

वेबसाइट के माध्यम से एकेडमिक मीडिया शिक्षण-प्रशिक्षण की नई पहल

आज हम सूचना युग में रह रहे हैं। इस युग की एक विशेषता यह है कि इसमें पत्रकारिता और जन-संचार का तेजी से विस्‍तार हुआ है। मीडिया ने आज एक बड़े उद्योग का रूप धारण कर लिया है। हमारे देश में समाचारपत्रों और टेलीविजन समाचार चैनलों का तेजी से विस्‍तार हो रहा है और इसी के अनुरूप मानव संसाधनों की मांग भी बढ़ती चली जा रही है। इन मानव संसाधनों की पूर्ति के लिए अनेक विश्‍वविद्यालयों और संस्‍थानों में पत्रकारिता और जन-संचार के अनेक पाठ्यक्रम चल रहे हैं। इन पाठ्यक्रमों की गुणवत्‍ता पर प्रश्‍नचिन्‍ह उठते रहे हैं और यह भी माना जाता है कि समाचार मीडिया की जरूरतों और इन पाठ्यक्रमों में दिये जाने वाले शिक्षण-प्रशिक्षण के बीच एक दूरी बनी हुई है।

सरकारें किसी की भी रही हों, भारतीय होने पर कभी शर्म महसूस नहीं हुई मोदीजी!

कभी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी से विदेशी धरती पर कांग्रेस के बारे में सवाल किया गया था तो उन्होंने कहा था कि इस बारे में मैं सिर्फ भारत में ही बोलूंगा। यहां मुद्दा यह नहीं है कि प्रधानमंत्री मोदी ने विदेशी धरती पर कांग्रेस की बुराई की। मुद्दा यह है कि प्रधानमंत्री शंघाई में अप्रवासी भारतीयों को संबोधित करते हुये ये बोल गये कि पहले लोग भारतीय होने पर शर्म करते थे लेकिन अब देश का प्रतिनिधित्व करते हुए गर्व होता है।

लोक को खारिज कर रहा टीवी-तंत्र अर्थात् भारतीय मीडिया की दोगलई

मीडिया स्वयं को जनता का वक़ील नियुक्त करके शुरुआत करता है ! सारे सवाल जो वह तंत्र के सामने दरपेश करता है, वह “लोक” के लिये करने का बैनर माथे पर लगाकर करता है। तभी लोकतंत्र बनता है। देश का सबसे तेज़ चिल्लाने वाला टाइम्स नाउ का एंकर अरनब गोस्वामी कहता है “नेशन वान्ट्स टु नो” ! “नेशन”देश के 125 करोड़ लोग हैं। 

अंडाशय कैंसर के खिलाफ पॉर्न फिल्म करेगी जागरूक, अब तक 15 लाख लोग देख चुके

सिडनी (ऑस्ट्रेलिया) : दुनिया में पहली बार यह भी एक अजीब तरह का प्रयास होगा। एक पॉर्न फिल्म के जरिए अंडाशय कैंसर के खिलाफ जागरूकता फैला जा रही है। यहां की एक विज्ञापन एजेंसी के साथ मिलकर पॉर्न फिल्में बनाने वाले एक फिल्म स्टूडियो ने अपनी आने वाली पॉर्न फिल्म में अंडाशय कैंसर के बारे में जागरूकता फैलाने की कोशिश की है।

छत और दीवारों में छेद कर अश्लील वीडियो बनाने वाला सैनिक गिरफ्तार

लखनऊ (उत्तरप्रदेश) : एक फौजी के कारनामों ने तो सबको दंग कर दिया। वह फौजियों के आवास की दीवारों और छतों में छेद कर अपने सीनियर्स की पत्नियों के अश्लील वीडियो बनाने के बाद ब्लैकमेल करता था। उसने गत दिनो एक हवलदार की पत्नी का अश्लील वीडियो बना कर उसके घर ब्लैकमेलिंग के लिए चिट्ठी भेज दी। शिकायत पर सैन्य खुफिया तंत्र ने जांच की। मामला सही पाए जाने पर एसटीएफ ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

राज्य सभा टीवी में बैक डोर से इंट्री, भर्तियां चोरी-चोरी चुपके-चुपके!

राज्य सभा टीवी ने जनवरी माह में पत्रकारों की भर्ती के लिए जो मैराथन इंटरव्यू आयोजित किये थे उनके परिणाम तो अभी तक घोषित नहीं किये  हैं, लेकिन पिछले दरवाज़े से अपने लोगों के लिए रास्ता ज़रूर खोल दिया है. 

विनोद व्यास निर्देशित फिल्म ‘दॅ आर्टिकल’ के पोस्टर की पहली झलक जारी

हरियाणा : ‘परिंदों को नहीं दी जाती तालीम उडऩे की, वो खुद ही तय करते हैं मंजिल आसमानों की, रखते हैं जो हौसला आसमां को छूने का, उन्हें फिर नहीं होती परवाह गिर जाने की’। उक्त पंक्तियां हरियाणा के दो भाइयों प्रमोद रिसालिया और विनोद व्यास पर बिल्कुल सटीक बैठती हैं। विपरीत परिस्थितियों व कठिन परीक्षाओं से गुजरने के बाद दोनों ने स्वंय को इस मुकाम तक पंहुचाया है कि वह वॉलीबुड में अपनी दखल देने की लिए तैयार हैं।

ताक पर पत्रकारिता, तकनीकी दौर में रास्ता रेशमी कालीन पर

30 मई हिन्दी पत्रकारिता दिवस पर विशेष : साल 1826, माह मई की 30 तारीख को ‘उदंत मार्तंड’ समाचार पत्र के प्रकाशन के साथ हिन्दी पत्रकारिता का श्रीगणेश हुआ था. पराधीन भारत को स्वराज्य दिलाने की गुरुत्तर जवाबदारी तब पत्रकारिता के कांधे पर थी. कहना न होगा कि हिन्दी पत्रकारिता ने न केवल अपनी जवाबदारी पूरी निष्ठा के साथ पूर्ण किया, अपितु भविष्य की हिन्दी पत्रकारिता के लिये एक नयी दुनिया रचने का कार्य किया. स्वाधीन भारत में लोकतंत्र की गरिमा को बनाये रखने तथा सर्तक करने की जवाबदारी हिन्दी पत्रकारिता के कांधे पर थी. 

अमरीकी राजदूत रिचर्ड पहुंचे पंजाब केसरी के कार्यालय

भारत में अमरीका के राजदूत रिचर्ड राहुल वर्मा अपने जालंधर दौरे के दौरान पंजाब केसरी कार्यालय में आए. इस दौरान उन्होंने अख़बार के संपादक विजय चोपड़ा, संयुक्त संपादक अविनाश चोपड़ा ,निदेशक अभिजय चोपड़ा के साथ भारत और अमेरिका के रिश्तों को लेकर बात चीत की। 

राज्यपाल इतने बीमार हैं, तो पद क्यों नहीं छोड़ देते ?

भोपाल : पिछले हफ्ते ही बंसल अस्पताल से स्वस्थ होकर राजभवन लौटे राज्यपाल रामनरेश यादव बुधवार को फिर वहीं भर्ती हो गए। समझा जा सकता है कि बेटे के निधन से वे सामान्य और सहज नहीं हो पा रहे हैं। इसके बावजूद मैं इस तथ्य की तह तक जाना चाहूँगा कि जब से सूबे के राज्यपाल बने हैं, उनका अधिकतर समय भोपाल के अस्पतालों में गुजरता है। पहले वे अक्सर नेशनल अस्पताल में भर्ती हो जाते थे क्योंकि तब वहीं सबसे बेहतर अस्पताल माना जाता था। जब से बंसल अस्पताल खुला है राज्यपाल वहीं भर्ती होने लगे हैं। उनके अस्पताल में भर्ती होने कि खबरें अखबारों मे छपती ही हैं, जो बताती हैं की राज्यपाल कोई दस-बारह बार तो अस्पताल मे भर्ती हो ही चुके हैं..! 

टीवी टुडे ग्रुप का नया अंग्रेजी चैनल INDIA TODAY लॉन्च

दिल्ली : पत्रिका ‘इंडिया टुडे’ ने आज टेलीविजन की दुनिया में भी दस्तक दे दी। अंग्रेजी का नया न्यूज चैनल INDIA TODAY टेलीविजन शनिवार शाम को लॉन्च कर दिया गया. लॉन्च‍िंग के मौके पर इंडिया टुडे के चेयरमैन और एडिटर इन चीफ अरुण पुरी ने INDIA TODAY टेलीविजन की शुरुआत को आने वाले कल की शुरुआत से जोड़ा. इंडिया टुडे ग्रुप का अब इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में नए अंदाज के साथ INDIA TODAY टेलीविजन दाखिल हो गया है.

गुड़गांव में टीवी रिपोर्टर के खिलाफ अवैध वसूली का मामला दर्ज

गुड़गाँव : जनता टीवी के पूर्व रिपोर्टर और तथाकथित स्ट्रिंगर गुलशन ग्रोवर के खिलाफ गुड़गाँव के सिविल लाईन थाने में धारा 384 के तहत मामला दर्ज किया गया है। गुड़गाँव में एक रिटायर्ड एयरफोर्स अधिकारी की पत्नी से गुलशन ग्रोवर अपने सहयोगी स्ट्रिंगर रोशन भारद्वाज और एक महिला मित्र की मदद से उगाही कर रहे थे। पुलिस ने गुलशन ग्रोवर, रोशन भरद्वाज और इनकी सहयोगी महिला के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

दिल्ली प्रेस क्लब चुनाव में राहुल जलाली-नदीम पैनल की तरफदारी

दिल्ली : प्रेस क्लब ऑफ इंडिया का 30 मई, 2015 को चुनाव होने जा रहा है। चुनाव में राहुल जलाली-नदीम पैनल के लिए वोट मांग रहे पैरोकारों का कहना है कि इस बार का चुनाव काफी अहम है। इस साल प्रेस क्लब की नई इमारत की नींव रखी जानी है। पैनल का दावा है कि क्लब की बेहतरी के लिए कार्यकारिणी के तहत कई उप-समितियां गठित करेंगे और उनमें कर्मठ सदस्यों को मनोनीत करेंगे। मीडिया से जुड़ी गतिविधियों को भी बढ़ावा दिया जाएग। फिल्म क्लब, गोष्ठियां, सेमीनार और खेलों से जुड़ी गतिविधियों को बढ़ावा दिया जाएगा। प्रेस क्लब में कीमतों को तर्कसंगत बनाए रखने के लिये गंभीर प्रयास किये जाएंगे। वैट, सेल टैक्स, सर्विस टैक्स जैसे सरकारी करों में रियायत के लिए सरकार से बातचीत की जाएगी।

तामझाम के साथ डाक बंगले पहुंचे जाली पत्रकार को सीओ ने बाहर निकाला

बदलापुर (जौनपुर): आईपीएस होने का रौब गांठते हुए पूरे पुलिसिया लाव-लश्कर के साथ डाक बंगले पहुंचे कथित पत्रकार को सीओ ने भेद खुलने पर बाहर का रास्ता दिखा दिया। वह अर्द्धसैनिक बल और लग्जरी वाहनों के काफिले के साथ पहुंचा था। एसडीएम ममता मालवीय ने बताया कि पूरे प्रकरण की जांच की जा रही है। 

यूपी में जंगलराज : सुनिए समाजवादी पार्टी के शिक्षा मंत्रीजी के श्रीमुख से एक नौजवान को धाराप्रवाह गालियां

यूपी की समाजवादी पार्टी सरकार के मंत्री पंडित सिंह उर्फ विनोद सिंह

मंत्री जी की नाम हैं विनोद सिंह. गोंडा में इनका आतंक है. आतंक हो भी क्यों न. जब उनका मन करता है तो सीएमओ का अपहरण कर लेते हैं. मन करता है तो फोन मिलाकर किसी को गालियां देने लगते हैं. ताजा मामले में गोंडा के एक युवक आकाश अग्रवाल को मंत्रीजी ने सिर्फ इसलिए दर्जनों गालियां दे दी क्योंकि उस युवक ने हिंदुस्तान अखबार में छपी मंत्री जी की एक हरकत वाली खबर को अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट कर दिया था. दरअसल हिंदुस्तान अखबार ने गोंडा में एक खबर छापी थी कि किस तरह मंत्री की गाड़ी में लगी काली फिल्म उतार दी गई. इसी खबर को गोंडा के नौजवान आकाश अग्रवाल ने अपनी फेसबुक पर लगा दिया.

प्रधानमंत्री मोदी 26 मई को डीडी किसान की शुरुआत करेंगे

नयी दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई एक बैठक में राजग सरकार के एक साल पूरा होने के मौके पर 26 मई को दूरदर्शन के किसान टीवी चैनल की शुरुआत की तैयारियों पर चर्चा हुई.

मजीठिया : सुप्रीम कोर्ट के आदेश से चंडीगढ़ श्रम विभाग के होश फाख्ता

अपने हक के प्रति सचेत होने, उसके लिए उठ खड़े होने और अंतत: जंग-ए-मैदान में उतर पडऩे के दौरान जितने तरह के अनुभव होते हैं, हैरानियां होती हैं, चौंकाने वाले वाकये होते हैं, विस्मय होते हैं, जितने तरह की शंकाएं-आशंकाएं घेरती-उपजती-डराती-परेशान करती हैं, मजीठिया वेज बोर्ड की संस्तुतियों के मुताबिक वेतन एवं सुविधाएं पाने-हासिल करने के लिए चल रही कानूनी लड़ाई ने हमें तकरीबन इन सबसे परिचित-अवगत करा दिया है। इसने, खासकर व्यवस्था के उन सभी रंग-रूपों को देखने का मौका मुहैया करा दिया है, जिसे पत्रकार होने के बावजूद अब तक हम उन लोगों की जुबानी सुनकर शब्दाकार देते रहे हैं जो भुक्तभोगी-पीडि़त होते हैं। 

 

सोशल मीडिया में उछले गैंगरेप कांड को पुलिस ने झूठा करार दिया

धर्मशाला (हिमाचल) में गत दिनों पहले हुए गैंगरेप की जांच में एसआईटी को कुछ भी नहीं मिला है। पुलिस ने घटना को झूठा करार दिया है। पुलिस का दावा है कि उसने शिकायतकर्ता तथा  कथित पीडि़ता दोनों को ढूंढ़ निकाला है। 

आज के युग में मीडिया की अहम भूमिका : विधानसभा अध्यक्ष

शिमला : विधानसभा अध्यक्ष बृज बिहारी लाल बुटेल ने कहा कि मीडिया कर्मियों से निष्पक्ष व निडर बनकर कार्य करने की जरूरत है। आज के युग में मीडिया की अहम भूमिका है। निर्भीक कार्य करते हुए मीडिया को जनता के समक्ष सच्चाई लानी चाहिए। 

मेरी बेटी को तो अब मीडिया की आदत पड़ गई : ऐश्वर्य राय

मुंबई : ऐश्वर्य राय बच्चन का कहना है कि उनकी साढ़े तीन साल की बेटी आराध्या मीडिया एवं फोटोग्राफरों की आदी हो गई है। ऐश्वर्य कांस के लिए रवाना होने से पूर्व मुंबई हवाई अड्डे पर आराध्या को गोद में लिए देखी गईं। वहां हमेशा की तरह ही तमाम फोटोग्राफर मौजूद थे।

दूरदर्शन के नए D.G. अक्षय रावत और कैन्थोला ने जीना हराम कर दिया है…

यशवंत जी मेरा प्रणाम स्वीकार करें…. भड़ास एक ऐसा platform है जहां हम अपने मन की बात और मी़डिया में हो रही तकलीफों को शेयर कर सकते हैं… मैं दूरदर्शन में कार्यरत हूं काफी सालों से….. पर जब से कांग्रेस की सरकार गई है तब से वहां पर आए नए D.G. अक्षय रावत और कैन्थोला ने जीना हराम कर दिया है… चुन-चुन के कांग्रेस वालों को किसी न किसी बहाने से FIRE किया जा रहा है…हर एंकर को टारगेट किया जाता है और बिना गलती memo पकड़ा दिया जाता है….

भास्कर, पत्रिका में खबरें बासी और चोरी की मगर दावा नंबर एक होने का

अपने मुंह मियां मिट्ठू बनने मे भोपाल के दो हिन्दी दैनिक अखबारों दैनिक भास्कर और पत्रिका का कोई मुक़ाबला नहीं है। हर दो तीन महीने में पूरे और आधे पेज के विज्ञापन खुद के अखबार में छाप कर दोनों अपने अपने को नंबर एक होने का ऐलान कर देते हैं। भारी-भरकम आंकड़ों से पाठकों का ब्रेन वाश किया जाता है। भास्कर ने तो अपने मत्थे पर ही उद्घोषणा कर रखी है कि आप देश का सबसे विश्वसनीय और नंबर-1 अखबार पढ़ रहे हैं। नंबर-1 होने के दावे पर यकीन कर भी लें पर दूसरा दावा थोथा ही लगता है। 

पत्रिका ने नौकरी से निकाला, बकाया भी देने को तैयार मगर मजीठिया पर चुप्पी

खंडवा (म.प्र.) : तथाकथित मुहिम और मुद्दों का संचालन कर विज्ञापन के नाम पर माल कूटने वाले पत्रिका अखबार के मालिक कर्मचारियों का बकाया देने को तैयार हैं लेकिन मजीठिया वेज बोर्ड के मुताबिक निर्धारित वेतनमान, एरियर और अन्य लाभ देने के लिए उनकी मंशा संदिग्ध प्रतीत होती है। खंडवा में अपनी धुंआधार पत्रिकारिता के दम पर पत्रिका अखबार को ऊंचाई दे चुके शेख वसीम द्वारा पत्रिका प्रबंधन के विरुद्ध मुख्यमंत्री, प्रभारी मंत्री, मानव अधिकार आयोग, इंदौर श्रमायुक्त और श्र पदाधिकारी से की गई शिकाय त के बाद अब अब भुगतान की सहमति जताई जा रही है लेकिन मजीठिया वेज बोर्ड के मुताबिक भुगतान नहीं करना चाहते हैं। 

बैंड, बाजा और मोदी : ओम थानवी

केंद्र सरकार के पहले वर्ष पर ब्रिटेन से प्रकाशित मशहूर पत्रिका ‘द इकोनॉमिस्ट’ का क्या कहना है? कि देश में बदलाव का जबरदस्त मौका है, पर मोदी इसके लिए तैयार नहीं। कि मोदी सरकार एक अकेले शख्स का बैंड-बाजा है। मोदी इस तरह काम करते हैं मानो छोटे-छोटे सुधारों से बड़े बदलाव का जलवा हासिल कर लेंगे। मगर यह मुमकिन नहीं है।

मोदी के दो प्रिय ‘यौन शोषण के आरोपी’ पत्रकारों पर कार्रवाई क्यों नहींं!

देश के कई बड़े संस्‍थानों में कार्यस्‍थल पर महिलाओं के यौन शोषण की घटनाएं दिन प्रति दिन बढ़ती जा रही हैं। सबसे खतरनाक और दुखद है, ऐसे मामलों में पीडि़ता को न्‍याय न के बराबर मिलता है। इससे इन संस्‍थानों में यौन शोषकों के हौसले बढ़ते जा रहे हैं। यहां तक कि महिलाओं के हितों की रक्षा करने वाला राष्‍ट्रीय महिला आयेाग या प्रदेश महिला आयोग का रुख भी बहुत ही नकारात्‍मक है। पुलिस की तरह वहां भी एक तरह से पीडि़ता को जलील होना पड़ता है। 

सैलरी न मिलने से क्षुब्ध सहारा कर्मियों ने मीडिया हेड राजेश सिंह को घेरा, जमकर बवाल काटा

नोएडा : सहारा में मीडिया कर्मियों का धैर्य अब दिनोदिन जवाब देता जा रहा है। भीतर ही भीतर इतना आक्रोश पनप रहा है कि हवा का रुख भांपते हुए संस्थान के शीर्ष पदों पर बैठे अधिकारी भी डरने लगे हैं। गत दिवस इस मीडिया हाउस के नोएडा कार्यालय में संस्थान के टीवी मीडिया कर्मियों ने टीवी एवं अखबार, दोनो के प्रभारी राजेश सिंह को घेर लिया। चारो तरफ से सवालों की बौछार में उनकी बोलती ही बंद हो गई। आखिर हार कर मौके की नजाकत देखते हुए उन्हें यहां तक कहना पड़ा कि दस जून तक साहाराश्री (सुव्रत रॉय) तिहाड़ जेल से छूट कर आ रहे हैं। तब तक कुछ नहीं होता तो मैं खुद 12 जून को आप से मिलकर अपना आखिरी फैसला सुना दूंगा कि अब क्या करना है। 

मजीठिया पर इस तरह के सवाल-जवाब के लिए तैयार रहें पत्रकार

मजीठिया वेतनमान पर अगर पत्रकारों से ये सवाल पूछे जाएं तो उन्हें दृढ़ता से जवाब देना चाहिए। सुप्रीम कोर्ट में केस चल रहा है। अखबार मालिक पत्रकारों का कुछ भी नहीं बिगाड़ पाएंगे।

कालपी में जुआ खेलते रिपोर्टर गिरफ्तार, जमानत पर छोड़ा गया

जालौन : कालपी कोतवाली में स्थानीय पुलिस ने कल के न्यूज के क्षेत्रीय प्रतिनिधि मोहित शुक्ला को कई अन्य आरोपियों के साथ जुआ खेलते हुए गिरफ्तार कर लिया। इस तरह की भी चर्चाएं हैं कि पुलिस किसी बात पर मोहित शुक्ला से पहले से खुन्नस खाए हुई थी। मौका मिलते ही उसने बदला चुका लिया है।

मजीठिया वेतनमान पर अखबारों के रवैये से नरेंद्र मोदी अनजान तो नहीं, फिर खामोश क्यों?

आप प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी जी की विदेश यात्राओं के चुंबकत्‍व से बाहर आ गए होंगे। उनकी मीठी-मीठी, चिकनी-चुपड़ी और गोल-मोल बातों से अपना दु:ख-दर्द भूल गए होंगे। अब जरा तंद्रा तोड़ें और सोचें कि मोदी की वजह से हमने क्‍या खोया और क्‍या पाया। खोने की जहां तक बात है तो हम अपना अधिकार खोते जा रहे हैं। जीने का अधिकार, अपनी भूमि पर खेती करने का अधिकार और शोषण के खिलाफ लड़ने का अधिकार। पाने की जहां तक बात है तो हमें मिली है महंगाई, बेरोजगारी और शोषण की अंतहीन विरासत। 

व्हाट्सएप पर आपत्तिजनक फोटो शेयर करते ही बरेली में तनाव, पुलिस चौकी घेरी

बरेली (उ.प्र.) : धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाली आपत्तिजनक फोटो कराटे चैंपियन दीपक सागर के व्हाट्सएप ग्रुप पर डालने पर रिठौरा में बखेड़ा हो गया। लोगों ने पुलिस चौकी घेर कर हंगामा करने के साथ ही हाइवे जाम करने की भी कोशिश की। आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। कस्बे में कई थानों की फोर्स तैनात की गई है।

जनता से सीधे संवाद के लिए विधि आयोग अब सोशल मीडिया पर

नई दिल्ली : अपने फेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पेज की शुरूआत की घोषणा करते हुए विधि आयोग के अध्यक्ष और दिल्ली उच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश ए पी शाह ने कहा कि यह आयोग की विभिन्न परियोजनाओं पर जनता की राय लेने में मदद करेगा.

सुनंदा मर्डर पर झूठे मीडिया से नहीं, सिर्फ पुलिस से बात करूंगा : शशि थरूर

तिरुवनंतपुरम: पूर्व केंद्रीय मंत्री व कांग्रेस सांसद शशि थरूर को पत्नी सुनंदा पुष्कर मर्डर मामले में  पत्रकारों के पूछने पर कहा- मैं पुलिस से बात करूंगा, झूठे मीडिया से नहीं। उन्होंने मीडिया को झूठा और गिरा हुआ करार दिया।

एक और खैरलांजी : दलितों की कब्रगाह बनता जा रहा राजस्थान का नागौर जिला

राजस्थान की राजधानी जयपुर से तक़रीबन ढाई सौ किलोमीटर दूर स्थित अन्य पिछड़े वर्ग की एक दबंग जाट जाति की बहुलता वाला नागौर  जिला इन दिनों दलित उत्पीडन की निरंतर घट रही शर्मनाक घटनाओं की वजह से कुख्यात हो रहा है. विगत एक साल के भीतर यहाँ पर दलितों के साथ जिस तरह का जुल्म हुआ है और आज भी जारी है ,उसे देखा जाये तो दिल दहल जाता है ,यकीन ही नहीं आता है कि हम आजाद भारत के किसी एक हिस्से की बात कर रहे है .ऐसी ऐसी निर्मम और क्रूर वारदातें कि जिनके सामने तालिबान और अन्य आतंकवादी समूहों द्वारा की जाने वाली घटनाएँ भी छोटी पड़ने लगती है .क्या किसी लोकतान्त्रिक राष्ट्र में ऐसी घटनाएँ संभव है ? वैसे तो असम्भव है ,लेकिन यह संभव हो रही है ,यहाँ के राजनीतिक और प्रशासनिक ढांचें की नाकामी की वजह से …

खबर छापने पर bhadas4media को मिले पांच हजार के नोट !

ये तो बड़ी अजीब सी बात, कि हम आप के लिए खबर लिखें और उसके बदले लिफाफे में पांच हजार रुपए डाल कर हमे उसे कोरियर से भेजें। कुछ ऐसा ही वाकया गुजरा आज भड़ास4मीडिया के साथ। ये चौंकाने वाला घटनाक्रम है, 18 मई, 2015 को भड़ास4मीडिया पर प्रकाशित ‘कानपुर ‘लाल इमली महाघोटाले’ पर हाईकोर्ट के रुख से वस्त्र मंत्रालय हिला’ शीर्षक समाचार के संबंध में।

डीएम ने प्रवासी पीड़ितों की मदद करने पहुंचे पत्रकार का कार्ड छीना

प्रतापगढ़ (उ.प्र.) : असम के पीड़ित मजदूरों की फरियाद पर जिलाधिकारी अमृत त्रिपाठी पत्रकार कृष्णभान सिंह का पहचान पत्र ही छीन लिया। धमकी भी दी कि जाओ, जो चाहो छाप देना। इस घटना से जिले के पत्रकारों में रोष है। 

अपने ही समूह के अखबार के बारे में लिखना : ओम थानवी

देश का सबसे अच्छा अंगरेजी अखबार कौन-सा है? ‘हिन्दू’ और ‘इंडियन एक्सप्रेस’ में मेरे लिए चुनाव थोड़ा मुश्किल होता था, अब नहीं है। मेरी नजर में इंडियन एक्सप्रेस अब अव्वल ठहरता है – उसका बौद्धिक कलेवर अचानक निखरा है।

हाय अरुणा, तुमको कैसे मिलेगा इंसाफ

अरुणा शानबाग इस दुनिया में नहीं है। हां वही अरुणा जो अपने सहकर्मी की यौन प्रताड़ना का शिकार होने से बचने के लिए उसके गुस्से का इस कदर शिकार हुई कि पूरे 42 साल हर रोज मरती रही, फिर भी जिन्दा रही। अब तक ज्ञात जानकारी के अनुसार महिला प्रताड़ना की शिकार शायद अरुणा ही वो अकेली ज़िन्दा लाश थी जो 23 नवंबर 1973 यानी लगातार 42 वर्षों से एक बिस्तर पर सिमटी रही। सचमुच किसी कहानी के जैसे है अरुणा की हकीकत लेकिन सच्चाई यही है कि यह कहानी नहीं हकीकत है। 

एक साल से सिर्फ सपने बेच रही मोदी सरकार, जनता के हाथ कुछ नहीं लगा

मोदी सरकार के एक साल पूरे हो गए। सब इस पर चिंतन कर रहे कि हमने क्या पाया क्या खोया, लेकिन जमीनी हकीकत यही है आम लोगों के हाथ में सपनों के अलावा कुछ नहीं आया। हां विदेशी मुद्रा भंडार बढ़ा लेकिन विदेशी निवेश से नहीं अपिंतु मोदी सरकार द्वारा खर्चों में बेतहाशा कटौतियों के कारण। वर्तमान हालात यह है कि मोदी जितना काम नहीं कर रहे है उससे ज्यादा प्रचार और प्रोपेगेंडा फैला रहे है जैसे सरकार ने बहुत बड़ी तीर मार ली हो और कुछ मीडिया के दलाल बड़े ठेके और जमीन पाने की लालच में प्रधानमंत्री का गुणगान कर रहे है। 

दो पत्रकारों पर हमले, धरना-प्रदर्शन के बाद बाजार बंद

रायपुर : दैनिक अखबार के संवाददाता अजय साहू पर शहर के मुख्य चौक पर जानलेवा हमला करने के विरोध में मंगलवार को भानुप्रतापपुर, संबलपुर व दुर्गूकोंदल बंद रहा। इसे व्यापारियों का पूरा समर्थन मिला। भानुप्रतापपुर सहित कांकेर व जगदलपुर से आए पत्रकारों ने एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर इस घटना की कड़ी निंदा की। इस दौरान सभी आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर उन पर कड़ी कार्रवाई की मांग की गई। अजय साहू पर हमले के तीन युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। 

हादसे के शिकार अपने ही कर्मियों को ‘नेशनल दुनिया’ ने खबर में अपने संस्थान का बताने से परहेज किया

नोएडा : तेज रफ्तार जाइलो कार ने गत दिनो नेशनल दुनिया में कार्यरत एक मीडिया कर्मी की जान ले ली, जबकि तीन घायल हो गए। पुलिस ने घायलों को देर रात ओम अस्पताल में भर्ती कराया गया। नेशनल दुनिया की इस गंदी चालाकी के पीछे मकसद ये बताया जाता है कि यदि वह हादसे के शिकार लोगों को अपने संस्थान का लिख देता तो मुआवजा देना पड़ जाएगा। 

राजभवन में वो शख्स कौन है, जो प्रो महावीर अग्रवाल को बचा रहा

देहरादून : राजभवन उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय,हरिद्वार के कुलपति प्रो महावीर अग्रवाल से संबधित जानकारियां उपलब्ध कराने में जिस तरह से लेट लटीफी कर रहा है उससे राजभवन सचिवालय की कार्यप्रणाली पर सवाल उठने लगे हैं। बडा सवाल उभरकर यह आ रहा है कि राजभवन में आखिर वो सख्श कौन है जो कुलपति के शैक्षणिक अभिलेखों को अपीलकर्ता को उपलब्ध नहीं कराना चाहता है। यहां यह समझना जरूरी है कि राज्यपाल संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलाधिपति हैं और राजभवन सचिवालय से ही कुलपति की नियुक्ति की जाती है। फिर क्यों प्रो महावीर अग्रवाल के दस्तावेजों को उपलब्ध कराने के लिए उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलसचिव को बार बार लिख कर समय वर्बाद कराया जा रहा है। क्या राजभवन में कुलपति के दस्तावेज नहीं हैं या फिर अपनी गर्दन बचाने के लिए गेंद कुलसचिव के पाले में डाली जा रही है। इस पूरे प्रकरण में कुलपति प्रो महावीर अग्रवाल की चुप्पी संदेह को और भी गहरा रही हैं। 

भ्रष्ट प्रधान के सपोर्ट में जागरण ने छापी उल्टी खबर, पीड़ित ने दी चेतावनी

गोंडा (उ.प्र.) : सेमराजमालखानी तरबगंज निवासी कौशल पाण्डेय ने मीडिया को लिखे पत्र में अवगत कराया है कि उनकी पत्नी प्रतिभा पाण्डेय सेमरा जमालखानी की ग्राम रोजगार सेवक हैं। उनके गांव के प्रधान लादूराम हैं, जिन्होंने बड़े पैमाने पर घोटाले किये हैं। उन्होंने इसकी शिकायत सीडीओ औा डीपीआरओ से कर रखी है। इसकी जांच लम्बित है, जिससे बचने के लिए प्रधान लादूराम ने दैनिक जागरण में स्वयं को जिले का बड़ा पत्रकार बताने वाले वरुण यादव से सांठगांठ कर प्रतिभा पाण्डेय के विरुद्ध खबर छपवाई है।

जीडीए वीसी का स्वागत कर पत्रकारिता की मर्यादा को किया तार तार

गाजियाबाद : सरकारी अधिकारियों को अपने दबाव में रखने के लिए हाल ही में गाजियाबाद के कुछ मुट्ठीभर पत्रकारों द्वारा गठित की गई पत्रकार एसोशिएशन के स्वंभू अध्यक्ष अजेय जैन और महासचिव संदीप सिंघल जीडीए के नवनियुक्त उपाध्यक्ष विजय यादव का स्वागत करने नौएडा पहुंच गये । 

ओंकारेश्वर पांडेय की तानाशाही के कारण ‘सन स्टार’ में उठापटक जारी

दिल्ली विधानसभा चुनाव के दौरान दिल्ली से शुरू होने वाले छत्तीसगढ़ के अखबार ‘सन स्टार’ की ग्रह दशा ओंकारेश्वर पांडेय के आने के बाद से खराब होना शुरू हो गया। अपने लोगों को लाने के चक्कर में उन्होंने पुराने लोगों को परेशान करना शुरू कर दिया। आजिज आकर अब तक करीब दर्जन भर लोग संस्थान …

उपेंद्र राय ने जी न्यूज चैनल और राजेश उपाध्याय ने हिंदुस्तान अखबार ज्वाइन किया

दो बड़ी खबरें आवाजाही की आ रही हैं. सहारा मीडिया के हेड रह चुके पत्रकार उपेंद्र राय अब जी समूह से जुड़ गए हैं. सूत्रों के मुताबिक उपेंद्र राय को बतौर एडवाइजर जी न्यूज का हिस्सा बनाया गया है. चर्चा है कि उपेंद्र राय के जी न्यूज में आने के बाद से सुधीर चौधरी लॉबी के कान खड़े हो गए हैं. फिलवक्त जी न्यूज में स्थिति पूरी तरह सुधीर चौधरी के अनुकूल है. सुधीर जो चाहते हैं वही होता है. लेकिन उपेंद्र राय को जी ग्रुप का हिस्सा बनाकर प्रबंधन ने सबको चौंका दिया है. इसको लेकर कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं. माना जा रहा है कि सुधीर चौधरी लॉबी किसी हालत में उपेंद्र राय को बर्दाश्त नहीं कर पाएगी और इन्हें परेशान करने की भरसक कोशिशें की जाएंगी.

न्यूज़ एक्सप्रेस चैनल पर लेबर कोर्ट का चला डंडा, 5 जून तक करना होगा फुल एंड फाइनल हिसाब

साईं प्रसाद मीडिया ग्रुप के न्यूज चैनल न्यूज एक्सप्रेस से खबर है कि आज करीब 123 मीडियाकर्मियों को प्रबंधन ने थ्री प्लस वन के हिसाब से सेलरी देकर फुल एंड फाइनल सेटलमेंट करने पर सहमति जताई है. ऐसा लेबर कोर्ट के आदेश के बाद किया गया. दर्जनों मीडियाकर्मियों ने नोएडा स्थित श्रम विभाग में लिखित शिकायत की थी कि उनका मैनेजमेंट सेलरी नहीं दे रहा जिससे मीडियाकर्मियों की आर्थिक स्थिति बेहद खराब है. पत्र में कई अन्य बातें भी लिखी गई हैं. दर्जनों मीडियाकर्मियों के हस्ताक्षर वाले इस पत्र के मिलने के बाद श्रम विभाग सक्रिय हुआ और न्यूज एक्सप्रेस प्रबंधन को नोटिस जारी किया. कई तारीखों पर सुनवाई के बाद श्रम विभाग ने आदेश सुनाया कि प्रबंधन 5 जून तक इच्छुक मीडियाकर्मियों का फुल एंड फाइनल सेटलमेंट करके सूचित करे.

दैनिक भास्कर, जयपुर के वरिष्ठ पत्रकार संजय सैनी का भास्कर मैनेजमेंट को करारा जवाब

दैनिक भास्कर के वरिष्ठ पत्रकार संजय सैनी को भास्कर मैनेजमेंट ने एक बार फिर रिमाइंडर देकर 21 मई तक रांची के लोहरडागा में ज्वाइन करने की अंतिम चेतावनी दी है जिसका सैनी ने भास्कर मैनेजमेंट को करारा जवाब दिया है। उनके जवाब पर भास्कर मैनेजमेंट अब बगले झांक रहा है। संजय सैनी की ओर से दिया गया जवाब इस प्रकार है-

अंबानी और मोदी भक्त पत्रकार उमेश उपाध्याय किसे बता रहे हैं पुश्तैनी पत्रकार और सुपर दरबारी पत्रकार!

उमेश उपाध्याय आईबीएन7 चैनल के संपादक हैं. मुकेश अंबानी ने जब नेटवर्क18, टीवी18, ईटीवी आदि को खरीदा तो उमेश उपाध्याय को अपनी पसंद के बतौर ले आए और अपने मीडिया वेंचर में सबसे उपर बिठा दिया. जाहिर है, जब अंबानी जी मोदी के भक्त हैं तो उनके जरिए लाए गए उमेश उपाध्याय भला कैसे मोदी के खिलाफ कलम चला सकते हैं. वैसे भी उमेश उपाध्याय के भाई सतीश उपाध्याय दिल्ली भाजपा के नेता हैं. इन दोनों भाइयों पर कई तरह के आरोप भी लगे हैं, अंबानी की बिजली कंपनियों को फायदा पहुंचाने और इनकी लाबिंग करने का.

दैनिक जागरण बरेली के सिटी चीफ ज्ञानेंद्र का इलाहाबाद तबादला, अभिनव नए सिटी चीफ

दैनिक जागरण बरेली में सिटी इंचार्ज का काम देख रहे सीनियर सब एडिटर ज्ञानेंद्र सिंह का तबादला इलाहाबाद कर दिया गया है। तबादले के साथ ही तुरंत रिलीव करने का आदेश मिला है। ज्ञानेंद्र ने इलाहाबाद जाकर ज्वाइन कर लिया है। ज्ञानेंद्र के बाद सिटी की जिम्मेदारी राजस्थान पत्रिका घूमकर आए अभिनव सिंह को दे दी गई है। उधर, मैनेंजमेंट के एक उच्चाधिकारी के हस्तक्षेप से श्यामेंद्र कुश्वाह जागरण में फिर वापस आ गए हैं. वहीं संपादकीय प्रभारी प्रदीप शुक्ला के साथ ही वसीम, साजिद और आशीष त्रिपाठी का प्रमोशन हो गया है.

‘जानो दुनिया’ चैनल चलाने वाला पूर्व आईएएस संजय गुप्ता गिरफ्तारी के बाद कर रहा मीडिया कवरेज रोकने की मांग

अहमदाबाद। करीब 113 करोड़ रुपये के मेट्रो घोटाला मामले में गिरफ्तार किए गए पूर्व आईएएस अधिकारी संजय गुप्ता, जो जागो दुनिया नामक न्यूज चैनल का संचालन करता था, ने इस मामले में मीडिया कवरेज रुकवाने के लिए अदालत से अपील की है। मेट्रोलिंक एक्सप्रेस फॉर गांधीनगर एंड अहमदाबाद (एमईजीए) प्रोजेक्ट के कार्यकारी अध्यक्ष रहे गुप्ता ने सत्र न्यायालय में याचिका दायर करके यह गुहार लगाई है।

उत्पीड़न से परेशान मेरठ के दैनिक ‘प्रभात’ का आईटी इंचार्ज सत्यम पहुंचा थाने

मेरठ के सुभारती लिमिटेड द्वारा एक हिंदी दैनिक समाचार पत्र दैनिक प्रभात के नाम से चल रहा है. इसमें अभी कुछ दिन पहले इसी अखबार के छायाकार का खुलकर उत्पीड़न किया जा रहा था. इससे वह मानसिक रूप तनावग्रस्त है. अब आईटी विभाग के इंचार्ज सत्यम कुमार को प्रताड़ित किया जा रहा है. परेशान सत्यम थाना जानी पहुंचा और उसने आफिस में कार्यरत कुछ वरिष्ठ लोगों के खिलाफ तहरीर दी है.

अब राजनीति में भड़ास, 7वें स्थापना दिवस पर लांच कर दी जाएगी नई राजनीतिक पार्टी

Yashwant Singh : अब राजनीतिक पार्टी मुझे बनाना ही पड़ेगा. देश चलाने के लिए हम सबों को आगे आना ही पड़ेगा. क्यों न भड़ास के सातवें स्थापना दिवस के मौके पर एक नई राजनीतिक पार्टी लांच कर दी जाए. कांग्रेस के खात्मे, मोदी के पतन, केजरी की चिरकुटई, क्षेत्रीय दलों के करप्शन आदि के कारण पूरे देश में फिर से निराशा का चरम माहौल है. नागनाथ और सापनाथ के बीच चुनने के मजबूरी के कारण हालात बहुत दूर दूर तक बदलते नहीं दिख रहे.

शशि थरूर ने मीडिया वालों को ‘झूठे और गिरे हुए लोग’ कहा

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता शशि थरूर ने एक बार फिर मीडिया पर जमकर निशाना साधा है। पत्नी सुनंदा पुष्कर की संदिग्ध मौत पर सवाल पूछे जाने पर थरूर ने मीडिया को झूठा और गिरा हुआ करार दिया। तिरुवनंतपुरम एयरपोर्ट पर जब पत्रकारों ने सुनंदा पुष्कर की मौत पर उनसे सीधे सवाल पूछे तो थरूर ने कहा कि वो सिर्फ पुलिस से बात करेंगे। झूठों और गिरे हुए लोगों से नहीं।

जल्द आ रहा है अंग्रेजी न्यूज चैनल India Today

हिंदी समाचार चैनलों में ‘आजतक’ के तौर पर अपनी बादशाहत कायम करने के बाद टीवी टुडे ग्रुप अब अंग्रेजी में भी दमदार दस्तक के लिए तैयार है. अंग्रेजी माध्यम में सबसे तेज और सबसे बेहतर खबरों के प्रसारण और विश्लेषण के लिए जल्द ही India Today के नाम से अंग्रेजी न्यूज चैनल लॉन्च होने वाला है.

‘न्यूज़ किलर एडिटर एसोसिएशन’ अंत की ओर!

मुझे नहीं पता कि आप न्यूज चैनलों में होने वाली एक बड़ी आहट को पढ़ पा रहे है या नहीं। ‘न्यूज़ किलर एडिटर एसोसिएशन’ (अजीत अंजुम, विनोद कापड़ी, सतीश के सिंह, आशुतोष, मिलिंद खांडेकर आदि का गैंग) अपने अंत की ओर बढ़ रही है। इस बात की आहट न्यूज़ 24 चैनल के एक नये फैसले में झलकती है। न्यूज़ 24 ने इंडिया टीवी के प्रखर श्रीवास्तव को अपना नया आउटपुट हेड बनाने का फैसला लिया है। अगर आप ध्यान से देखें तो पिछले एक साल में ये चौथी बार हो रहा है जब किसी मेन स्ट्रीम के चैनल ने नए युवा लोगों पर भरोसा किया है। पिछले एक साल के अंदर आजतक ने मनीष कुमार, ज़ी न्यूज ने रोहित सरदाना, आईबीएन 7 ने आर सी शुक्ला और अब न्यूज़ 24 ने प्रखर श्रीवास्तव को आउटपुट हेड बनाया है।

मीडिया ने तो ऋतिक की पर्सनल लाईफ को तिल का ताड़ बना दिया : राकेश रोशन

मुंबई। अपने जमाने के अभिनेता डॉयरेक्टर प्रोड्यूसर और रितिक के पिता राकेश रोशन ने कहा है कि जिंदगी में उतार-चढ़ाव तो आते रहते हैं। डुग्गू और सुजैन आज भी एक-दूसरे के साथ हैं। उनके अलग होने की खबरें महज अफवाह हैं। मुझे लगता है कि अब लोगों को उनकी निजी जिंदगी के बारे में बातें बनाना छोड़ देना चाहिए

सारे चैनल जश्ने बहारा, लो आ गए अच्छे दिन उनके लिए

सारे चैनल प्रिंट मीडिया इवेंट्स मैनेजमेंट कंपनियाँ जश्ने बहार की मुद्रा में आ गई हैं या कहिए कि ला दी गई हैं ! सरकार का एक साल जो पूरा हुआ है ! क़रीब बीस हज़ार के क़रीब आत्महत्या कर चुके किसानों के परिवार और करोड़ों की संख्या में निराश कृषि क्षेत्र की आबादी इस जश्न के शोर में अपने घावों पर नमक छिड़कवाने के लिये अभिशप्त है ।

एक्सप्रेस वे पर दो बार उतरा एयरफोर्स का फाइटर प्लेन

 

मथुरा (उ. प्र.) : दिल्ली से आगरा जाने वाले यमुना एक्सप्रेस वे पर गुरुवार को इंडियन एयरफोर्स का फाइटर प्लेन उतारा गया। सुबह साढ़े छह बजे के करीब एयरफोर्स के दो फाइटर प्लेन ‘विराज-2000 ‘ को यमुना एक्सप्रेस वे पर उतारा गया। 

हंगेरी के लैजलो क्रास्जनहोरकई को ‘मैन बुकर’ पुरस्कार

हंगेरी के लेखक लैजलो क्रास्जनहोरकई को ब्रिटेन का प्रतिष्ठित मैन बुकर अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार मिला है। इस शीर्ष साहित्यिक पुरस्कार की दौड़ में भारत के अमिताव घोष सहित आठ अन्य भी थे।

उत्तर प्रदेश में 17 एडिश्नल एसपी बदले, सुभाषचन्द्र बने नए एटीएस एसएसपी

उत्तर प्रदेश सरकार ने पांच जिलों के एसपी समेत 15 आईपीएस के तबादले कर दिए हैं। लखनऊ के एसएसपी की नियुक्ति पर ऊहापोह बना हुआ है। प्रदेश में कुल 17 एडिश्नल एसपी के कार्यक्षेत्र बदल दिए गए। सुभाष चन्द्र दुबे को एटीएस का एसएसपी नियुक्त किया गया है। 

लगातार टूट रहे जागरण के पाठक, विज्ञापनदाता और शुभचिंतक

हमेशा रावणत्‍व की पराकाष्‍ठा पर रामत्‍व का आविर्भाव अवश्‍यंभावी होता है। यह नित्‍य नियम है। इससे कोई भी बच नहीं सकता। भले ही वह कितना भी साधन संपन्‍न अथवा शक्तिशाली हो। रावण के पास साधनों की कमी नहीं थी तो राम साधनहीन थे। इसी पर तुलसीदास जी ने लिखा- रावण रथी विरथ रघुबीरा। देखि विभीषन भयो अधीरा।। राम-रावण युद्ध में रावण को रथ पर सवार और राम को बिना रथ के देख विभीषण विचलित होने लगे। लेकिन परिणाम क्‍या हुआ—रावण का अंत हुआ और…आप सब जानते हैं।

लुधियाना जागरण महाप्रबंधक के तुगलकी फरमान से पत्रकार परेशान

दैनिक जागरण लुधियाना के पत्रकार आज कल बहुत परेशान हैं. कारण है नव नियुक्त्त महाप्रबंधक का तुगलकी फरमान। दैनिक जागरण लुधियाना में नव नियुक्त महाप्रबंधक राहुल मित्तल ने पद संभालते ही जागरण के लिए पैसा वसूली शुरू कर दी है। महा प्रबंधक ने आते ही सभी पत्रकारों के हाथ जबरदस्ती  50-50 कूपन की कॉपी थमा दी हैं। एक एक कूपन 1000 रुपए का है। मतलब हर एक पत्रकार 50,000 रुपए इकट्ठे कर जागरण को देगा.

कॉरपोरेट हमले के खिलाफ एकजुट हुए लेखक, संस्‍कृतिकर्मी और पत्रकार

नई दिल्‍ली : नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व में पिछले साल केंद्र की सत्‍ता में आयी एनडीए सरकार को साल भर पूरा होते-होते साहित्यिक-सांस्‍कृतिक क्षेत्र भी अब उसके विरोध में एकजुट होने लगा है। बीते रविवार इसकी एक ऐतिहासिक बानगी दिल्‍ली में देखने को मिली जब दस हिंदीभाषी राज्‍यों से आए लेखकों, संस्‍कृतिकर्मियों, कवियों और पत्रकारों ने एक स्‍वर में कॉरपोरेटीकरण व सांप्रदायिक फासीवाद की राजनीति के खिलाफ अपनी आवाज़ बुलंद की और अपने-अपने इलाकों में भाजपा-आरएसएस द्वारा फैलायी जा रही अपसंस्‍कृति के खिलाफ मुहिम चलाने का संकल्‍प लिया। यहां स्थित इंडियन सोशल इंस्टिट्यूट में ”16 मई के बाद की बदली परिस्थिति और सांस्‍कृतिक चुनौतियां” विषय से तीन सत्रों की एक राष्‍ट्रीय संगोष्‍ठी का आयोजन किया गया जिसके मुख्‍य अतिथि बंबई से आए मकबूल फिल्‍मकार सागर सरहदी थे।  

डॉ. जी. एन. साईबाबा की जमानत के लिए वैंकूवर में कैंडल जुलूस

कनाडा के वैंकूवर नगर में 19 मई 2015 को दिल्ली विश्वविद्यालय के रामलाल आनंद कॉलेज में अंग्रेजी के लेक्चरर, डॉ. जी. एन. साईबाबा को एक वर्ष से अधिक समय तक जेल में रखे जाने के विरोध में किंग जॉर्ज स्टेशन के बाहर मैदान में स्थानीय बुद्धिजीवियों द्वारा एक कैंडल जुलूस का आयोजन किया गया जिसमें बड़ी संख्या में लोग उपस्थित रहे। 

मैत्रेयी पुष्पा बनी हिंदी अकादमी की उपाध्यक्ष : अकादमिक चयन में केजरीवाल सरकार के कदम ज्यादा स्वीकार्य

एक अच्छी और लोकप्रिय सरकार का काम है कि कम से कम अकादमिक संस्थाओं में काबिल और अविवादास्पद लोगों को बिठाए। इन पर कैडर को बिठा देने का मतलब होता है कि सरकार के पास योग्य व्यक्तियों का अकाल है। एनडीए की पूर्व अटल बिहारी सरकार इस मामले में खरी उतरी थी। अकादमिक संस्थाओं में दक्षिणपंथी विद्वान बिठाए जरूर गए थे मगर उनकी योग्यता पर कोई अंगुली नहीं उठी थी। पर मोदी सरकार के वक्त ऐसे लोग बिठा दिए गए हैं जो योग्यता में बौने तो हैं ही विवादास्पद भी हैं। 

तो क्या नीलाभ डूब जाएंगे भूमिका के इस भंवर में ?

कभी राजेंद्र यादव-ज्योति कुमारी, कभी नीलाभ अश्क-भूमिका द्विवेदी….यह हिंदी वाले अंगरेजी वालों से रचना के स्तर पर प्रेरणा बहुत लेते हैं , जीवन के स्तर पर भी क्यों नहीं लेते? यह वी एस नायपाल, यह सलमान रुश्दी वगैरह तो यह सब करते हुए भी अभी जीवित हैं। और बिना किसी थुक्का-फज़ीहत के । यह नारायण दत्त तिवारी बनने की फज़ीहत ज़रुरी है ? और फिर नीलाभ अश्क तो लंदन वगैरह भी रह चुके हैं और एक शानदार लेखक भी हैं। एक बड़े लेखक उपेन्द्र नाथ अश्क के पुत्र हैं। पिता की चार पत्नियां देख जान चुके हैं । उन पर लिख चुके हैं । अश्क जी पर लिखे संस्मरण के बहाने । बहुत ही दिलचस्प संस्मरण । हालां कि लखनऊ से लगायत इलाहाबाद , बनारस और दिल्ली आदि तक हिंदी में भी कई चैंपियन हैं जो यह सब कुछ बड़ी शालीनता से कई-कई जगह निभा रहे हैं। क्रीज़ पर डटे हुए हैं बाक़ायदा बैटिंग करते हुए , बाऊंसर झेलते हुए। असल में यह शौक पालने से पहले महिलाओं के बाऊंसर झेलने की क्षमता जो नहीं रखेगा , ऐसे ही शर्मसार होता रहेगा । 

संदीप गुरुमूर्ति को ईटी नाऊ में बनाया गया एग्जीक्यूटिव एडिटर

बिजनेस न्यूज चैनल ईटी नाऊ में कार्यरत संदीप गुरुमूर्ति को प्रमोशन देकर एग्जीक्यूटिव एडिटर बना दिया गया है. चैनल के एडिटोरियल ऑपरेशन की जिम्मेदारी संभालने के अतिरिक्त गुरुमूर्ति रात 9 बजे के डेली प्राइमटाइम शो ‘बिजनेस टूनाइट’ की एंकरिंग करते हैं. निकुंज डालमिया को फाइनेंशियल मार्केट्स के चीफ एडिटर के पद पर प्रमोट किया जा …

मजीठिया वेतन बोर्ड ने फाइनल रिपोर्ट सौंप दी लेकिन पत्रकारों को मिला बाबाजी का ठुल्लू!

मजीठिया वेतन आयोग की फाइनल रिपोर्ट आ गई लेकिन मीडियाकर्मियों को बाबाजी का ठुल्लू ही मिल पाया है. मालिकों ने इतने प्रकार की साजिशें, छल, धोखा, उछाड़ पछाड़ की है कि मीडियाकर्मियों को लाभ शून्य के बराबर मिला. कई मीडिया हाउसों ने हर यूनिट को कंपनी के रूप में तब्दील कर दिया तो कुछ ने अपने कर्मियों से लिखा लिया कि उन्हें मजीठिया वेज बोर्ड का लाभ नहीं चाहिए. सारा मामला अब सुप्रीम कोर्ट में है. सुप्रीम कोर्ट ने गेंद फिर से प्रदेश सरकारों और लेबर विभाग पर डाल दिया है. कुल मिलाकर मजीठिया वेज बोर्ड एक ऐसी परिघटना है जिसके बहाने पूरे देश में लोकतंत्र के चरम पतन को देखा जा सकता है.

 

‘प्रजातंत्र लाइव’ के मीडियाकर्मियों ने कैंडल मार्च निकाल कर अपने चिटफंडिये मालिक को ललकारा

विवादित चिटफंड कंपनी समृद्ध जीवन द्वारा संचालित न्यूज चैनल लाइव इंडिया के अखबार ‘प्रजातंत्र लाइव’ के छंटनी के शिकार कर्मचारियों ने कैंडल मार्च निकाल कर अपना गुस्सा प्रकट किया और अपने चिटफंडिये मालिकों को ललकारा. हिंदी दैनिक अखबार प्रजातंत्र लाइव के प्रबंधन पर कर्मचारियों ने प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है. दिल्ली पत्रकार संघ का समर्थन पाकर उत्साहित आंदोलनकारी कर्मियों ने लाइव इंडिया कार्यालय से जंतर मंतर तक कैंडल मार्च निकाला. मार्च में बड़ी संख्या में मीडियाकर्मियों ने भाग लिया. लाइव इंडिया प्रबंधन ने 12 मई 2015 को लगभग 50 कर्मचारियों को बिना कारण बताए संस्थान में प्रवेश पर रोक लगा दी थी. मार्च में शामिल पत्रकारों को डीजेए महसचिव आनंद राणा और प्रेस एसोसिएशन के सचिव (पीआईबी) मनोज वर्मा और डीजेए अध्यक्ष अनिल पांडे ने भी संबोधित किया.

Weekly Relative Share टीआरपी 19वें सप्ताह की Source : BARC

19वें हफ्ते की टीआरपी में इंडिया न्यूज नहीं है. यानि इस चैनल का डाटा एनालाइज नहीं किया गया है. इस कारण तेज, आईबीएन7 समेत कई चैनलों को अच्छी खासी बढ़त दिख रही है. इंडिया टीवी नंबर तीन पर है. न्यूज नेशन नंबर पांच पर. आजतक हिंदी न्यूज चैनलों का सरदार बना हुआ है. पूरे आंकड़े इस प्रकार हैं…

हाशिमपुरा कांड : वरिष्ठ पत्रकार प्रवीण जैन की प्रामाणिक तस्वीरों तक को नजरअंदाज कर दिया गया

लखनऊ, 20 मई 2015। ”वरिष्ठ पत्रकार प्रवीण जैन की तस्वीरें जो कि कोर्ट के प्रामाणिक दस्तावेज हैं, में हाशिमपुरा की गलियों में तलाशी के दौरान मुस्लिम युवाओं को निकालने की सेना के जवानों की स्पष्ट तस्वीरें होने के बावजूद उनसे पूछताछ तो दूर उन्हें इस मामले से हर संभव स्तर पर बचाने की कोशिश की गई। पीएसी के उन्नीस जवानों को ही सिर्फ हाशिमपुरा जनसंहार में सामने लाया गया, वहीं इस मामले में सेना और स्थानीय प्रशासन की भूमिका को नजर अंदाज कर दिया गया। सेना के मेजर सतीशचन्द्र कौशिक ने अपने दो अन्य अफसरों मेजर बीएस पठानिया और कर्नल पीपी सिंह के साथ हाशिमपुरा में घरों की तलाशी के नाम पर मुस्लिम युवाओं को घरों से खींच कर सांप्रदायिक जेहेनियत वाली पीएसी के जवानों के सुपुर्द कर दिया था। इसके बाद उन युवाओं को ट्रकों में ले जाकर गंग नहर में मार गिराया गया।”

सैय्यद आक़िब रज़ा ने खुद का वीकली न्यूजपेपर लांच किया, आफिस इलाहाबाद में

जनमत चैनल (अब ‘लाइव इंडिया’ न्यूज चैनल) से अपने पत्रकारीय करियर की शुरुआत करने वाले सैय्यद आक़िब रज़ा ने अपनी नयी पारी खुद का एक न्यूज़ पेपर लांच करके शुरू की है। ‘लीडिंग द वर्ल्ड’ नाम से सैय्यद रज़ा ने अखबार निकाला है और खुद इसके संपादक बन बैठे हैं। इस अख़बार को आरएनआई नंबर मिल चुका है। साथ ही इलाहबाद के साथ बनारस, कौशाम्बी, सुल्तानपुर, कानपुर, लखनऊ, प्रतापगढ़ में संवाददाताओं का भी चयन हो गया है।

कभी-कभी सोचता हूं क्या इसीलिए लोन लेकर जर्नालिज़्म की पढ़ाई की थी!

मैं ‘भड़ास 4 मीडिया’ का बेहद शुक्रगुज़ार हूं कि वह मीडिया जगत की हर छोटी-बड़ी ख़बर से हमें रु-ब-रु कराता है. हमें अपनी बात कहने का मौका देता है. साथ ही हमारे दुख-दर्द को बांटने का काम करता है. यूं तो मैंने पहले भी अपनी उलझन को सुल्झाने के लिए B4M का सहारा लिया है लेकिन आज फिर से इसकी ज़रूरत आन पड़ी है. उम्मीद है इस बार भी ‘भड़ास 4 मीडिया’ मुझे उम्मीद की किरण दिखाएगा. मेरे करियर की डूबती नैय्या को पार लगाएगा.

फेसबुक पर फर्जी प्रोफाइल, कई बेतुके और फूहड़ मित्र

दरियादिली जागी और अनब्लॉक करने लगा, तब पूछा गया कि ब्लॉक करते ही क्यों हैं। इसका एक जवाब तो यह कि गरिमाहीनता या फूहड़ता को किसी सीमा तक ही बरदाश्त किया जा सकता है। दूसरे, मित्रों की तादाद फेसबुक ने खुद पांच हजार पर लॉक कर रखी है। तो ईमानदार संवाद के ख्वाहिशमंद मित्रों को क्यों न जोड़ा जाय।

मजीठिया मामले पर अखबार मालिकों ने हरकत से बाज न आने की ठानी, नोटिस लेने से इंकार

दिल्‍ली सरकार द्वारा मजीठिया वेज बोर्ड को लागू करने के प्रयास को अखबार मालिक असफल करने का हर संभव प्रयास कर रहे हैं। पहले ही दिन टाइम्‍स ऑफ इंडिया ने केजरीवाल सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। आइएनएस के हवाले से इस निर्णय पर ही सवाल खड़ा कर दिया।

केजरी से जंग : जवाब में मीडिया ने कुछ जंग लगे औज़ार पेश कर लड़ाई में बने रहने की कोशिश की

सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठतम अधिवक्ताओं राजीव धवन, राम जेठमलानी,गोपाल सुब्रमण्यम, के टी एस तुलसी,इंदिरा जय सिंह और एच एस फुल्का द्वारा दिल्ली के LG की कार्रवाई को ग़लत ठहराने से बैकफ़ुट पर आये मीडिया ने जवाब में कुछ जंग लगे औज़ार पेश कर लड़ाई में बने रहने की कोशिश की है ।

ये देक्खो जी, दुनिया के नंबर वन अखबार दैनिक जागरण ने तो जितिन प्रसाद को मार दिया !

शाहजहांपुर (उ.प्र.) : दैनिक जागरण ने तो आज पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री जितिन प्रसाद के निधन पर शोक मना लिया। दरअसल, जितिन प्रसाद के चाचा जसवंत प्रसाद का हृदय गति रुक जाने से 75 वर्ष की आयु में निधन हो गया लेकिन जागरण ने आज 20 मई के अपने शाहजहांपुर संस्करण में पेज नौ पर खबर छाप दी – ‘पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन के निधिन पर शोक’।

अफसरों की छुट्टी की खबर बनी मुद्दा, न्यूज चैनलों पर बरसे मनीष

दिल्ली सरकार का झमेला बढ़ता ही जा रहा है। दिल्ली सरकार और उपराज्यपाल के बीच चल रही खींचतान अब आर-पार की लड़ाई में बदल गई है। बुधवार को एक ओर जहां मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सरकारी अफसरों के साथ बैठक कर रहे थे तो दूसरी ओर उपराज्यपाल नजीब जंग ने पिछले एक हफ्ते में सरकार द्वारा किए गए सभी ट्रांसफर-पोस्टिंग को रद्द करने का आदेश दे दिया। रोजाना पार्टी प्रमुखों की किसी न किसी बात पर मीडिया से भी ठन जा रही है। इस बीच आज उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया ने न्यूज चैनलों पर नजला उतारा। वह इस बात से काफी नाराज दिखे कि दिल्ली सरकार के पास किसी अधिकारी की छुट्टी का आवेदन नहीं पहुंचा है जबकि टीवी चैनल खबर चला रहे हैं, 45 अधिकारी विरोध में छुट्टी पर चले गए हैं।

कोतवाली प्रभारी ने न्यूज चैनल के रिपोर्टर को लात मारी

उरई (जालौन) : न्यूज24 के रिपोर्टर अखिलेश कुमार सिंह ने जिला कोतवाली मुख्यालय में अपने साथ कोतवाली प्रभारी द्वारा की गई बदसलूकी की शिकायत पुलिस उच्चाधिकारियों से की है। उन्होंने बताया है कि बेवजह गुस्से में कोतवाली प्रभारी ने सबके सामने उन्हें लात मारी।  

आईनेक्स्ट के प्रोग्राम में विधायक की तौहीन, संपादक पर बरसे

गोरखपुर (उ.प्र.) : दैनिक जागरण के बच्चा अखबार ‘आईनेक्स्ट’ द्वारा यहां पिछले दिनों आयोजित प्रोग्राम में नगर विधायक डॉ.राधामोहनदास अग्रवाल बदइंतजामी से काफी भड़क गए। पुलिस वाले ने उन्हें अंदर जाने से रोक दिया। किसी तरह वह अंदर पहुंचे भी तो डीएम-एसएसपी को एक साथ देख उनकी संपादक अश्विनी पांडे से झड़प हो गई। नगर विधायक का आरोप था कि कार्यक्रम में बुलाकर उन्हें बेइज्जत किया गया है। इस घटना के बाद तो अखबार के प्रोग्राम की धज्जियां उड़ गईं। 

शायद वो अखिलेश था

खास मित्र से क्षमायाचना सहित। …….शायद वो सन 1990 था। मैं होली पर जयपुर से भरतपुर गया था। वहां पहुंचने पर पत्रकार मित्रों से पता चला कि मुलायम सिंह यादव का पुत्र धौलपुर के मिलिट्री स्कूल में पढ़ता है और उसने वहां कोई कांड कर दिया है। इस खबर की डिटेल कहीं नहीं छपी थी पर इसने मेरे मन में क्लिक किया, हर कीमत पर की जाने वाली स्टोरी की तरह।

सेक्स रैकेट्स के पालनहार बने अखबार, वर्गीकृत विज्ञापनों से गंदी सूचनाओं की तिजारत

आज तकरीबन हर बड़ा अखबार जो वर्गीकृत विज्ञापन छापता है, उसमें मनोरंजन या फिर पार्ट टाइम जॉब को लेकर इस्तिहार दिए जाते हैं। उनमें अमूमन मसाज पार्लर या फिर फ्रेन्डशिप क्लब के बारे में भी बताया जाता है। असलियत में ये सभी जिस्म के सौदागरों के विज्ञापन होते हैं, जिसका मीडिया के माध्य से प्रचार कर सैक्स रैकट्स को खुलेआम चलाया जा रहा है।

ऐसी ही करतूतों के कारण मीडिया को कहा जाता है प्रेस्टीट्यूट

प्रधानमंत्री को खुश करने के लिए राज्य सरकार ने कलेक्टर को नोटिस दिया और राज्य सरकार को खुश करने के लिए एक अखबार ने अमित कटारिया के खिलाफ पत्नी को जिन्दल का पायलट बनाने की खबर छाप दी। और खूब प्रमुखता से रंग-रोगन व फोटो के साथ छापी गई। अखबार लिखता है- ‘सलमान स्टाइल में प्रधानमंत्री की अगवानी करने के बाद सुर्खियों में आए जगदलपुर कलक्टर अमित कटारिया के बारे में चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं।’

सबसे सफल मोदी का सोशल मीडिया मैनेजमेंट : शोध रिपोर्ट

वॉशिंगटन/ नयी दिल्ली : भारत में सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने वाले नेताओं में सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम लिया जाता है. अपने लगभग सभी कार्यक्रम की जानकारी नरेंद्र मोदी अपने ट्विटर हैंडल पर देते हैं इतना ही नहीं वे इसपर फोटो भी शेयर करते हैं.

गजलों की गूंज के बीच झांसी टाइम्स की रंगारंग लांचिंग

उरई (उ.प्र.) : बुन्देलखण्ड का पहला न्यूज पोर्टल झांसी टाइम्स रविवार को झांसी के मुक्ताकाशी मंच पर आयोजित रंगारंग समारोह में लांच कर दिया गया। इस अवसर पर मण्डल मुख्यालय के सैकड़ों की संख्या में अधिकारी, जनप्रतिनिधि और गणमान्य नागरिक सपरिवार उपस्थित थे। दैनिक जागरण झांसी के सम्पादक यशोवर्धन ने भी इस अवसर पर झांसी टाइम्स की सफलता की शुभकामनायें कीं। 

कार्यक्रम को संबोधित करते के पी सिंह

मजीठिया वेतनमान : गोरखपुर के पत्रकारों ने थमाया उपश्रमायुक्त को मांगपत्र, जवाबदेही भी तलब

गोरखपुर जर्नलिस्ट्स प्रेस क्लब के अध्यक्ष अशोक चौधरी के नेतृत्व में पत्रकारों और मीडिया संस्थानों में कार्य करने वाले कर्मचारियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने 19 मई को उप श्रमायुक्त को ज्ञापन देकर मीडिया संस्थानों में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार मजीठिया वेतनमान लागू कराने की कार्यवाही की मांग की।

चावला कांड में फोकस आसाराम एंगल पर : एसपी पानीपत

आसाराम मामले के पानीपत निवासी गवाह महेंद्र चावला ने अपने ऊपर हुए हमले के बाद आज मुज़फ्फरनगर के गवाह अखिल गुप्ता की हत्या मामले में न्याय दिलाने में मदद कर रहे आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर से फोन पर संपर्क किया.

कहां जा छिपे नीलाभ, अब और किसकी जिंदगी बिगाड़ोगे : भूमिका

रंगकर्मी एवं लेखक नीलाभ अश्क की मार-पिटाई से उनकी पत्नी भूमिका अश्क के बाएं हाथ में फ्रैक्चर हो गया है। घटना के दिन से लगतार दर्द बने रहने पर आज उन्होंने एक्स-रे कराया तो फ्रैक्चर का पता चला। बाएं हाथ पर आज प्लास्टर चढ़ गया। इस बीच उन्होंने भड़ास4मीडिया से अपनी तकलीफें साझा करते हुए कहा है कि ”नीलाभ की पूरी तरह से बेबुनियाद मुझ पर लगाई गई आरोपों की झड़ी का जवाब लोगों ने दे दिया है, जिनमें कुछेक उनके मित्र भी हैं। भड़ास4 मीडिया पर प्रकाशित नीलाभ अश्क के बयान से वह काफी दुखी होते हुए कहती हैं – ‘चोर की तरह कहां जा छिपे हो नीलाभ, तुम्हारे झूठ और पाप का घड़ा फूटने वाला है। अब और किस औरत की जिंदगी बर्बाद करोगे।’ 

भड़ास4मीडिया के संस्थापक-संपादक यशवंत सिंह का उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने किया सम्मान

{jcomments off}: मीडिया क्षेत्र में पारदर्शिता के लिए सतत संघर्षरत भड़ास संपादक को सैकड़ों गणमान्य लोगों के बीच राज्यपाल ने शॉल ओढ़ाकर और समृति चिन्ह देकर किया सम्मानित :  चौथे स्तंभ यानि मीडिया क्षेत्र में पारदर्शिता के लिए सतत संघर्षरत भड़ास4मीडिया डॉट कॉम के संस्थापक व संपादक यशवंत सिंह को लखनऊ में बीते शाम सैकड़ों गणमान्य लोगों के बीच उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने सम्मानित किया. इस मौके पर यशवंत सिंह को शॉल ओढ़ाकर, प्रतीक चिन्ह देकर एवं प्रशस्ति पत्र देकर राज्यपाल ने उनकी हौसलाअफजाई की और भविष्य में ऐसे ही देश व समाज हित में कार्य करने का आह्वान करते हुए उज्जवल भविष्य की कामना की.

मैं इसलिए ‘बॉम्बे वेलवेट’ देखना चाहता हूं…

मैं बॉम्बे वेलवेट क्यों देखना चाहता हूँ! : हर तरफ नेगैटिविटी है! अनुराग कश्यप सबके निशाने पर है! बन्दे ने एक और फ़िल्म ही तो बनाई है. कोई गुनाह तो नहीं किया! नहीं? आखिर ऐसी भी क्या नाराजगी?

JFA decries bloggers’ killings in Bangladesh

Guwahati: Journalists’ Forum Assam (JFA) has expressed serious concern over the killing of third bloggers in Bangladesh this year and urged the Sheikh Hasina led government in Dhaka to probe into the matter authentically to book the culprits under the respective laws. The media reports from southeast Asian nation reveal that the miscreants killed the third Bangladeshi blogger named Ananta Bijoy Das (around 30 years old) in Sylhet  this week.

अमर उजाला रिटेनर्स को सैलरी के नाम पर कर रहा परेशान

हरियाणा में दैनिक भास्कर से टक्कर लेने के दावे करने वाले अमर उजाला पब्लिकेशन की ओर से अपने रिटेनर्स को सैलरी के नाम पर परेशान किया जा रहा है।

बयालीस साल में हजारों मौतें मरी होंगी अरुणा शानबाग

इंसानियत शर्मसार होती है हैवानियत के आगे हर बार जब भी ये खबर आती है कि फलां जगह पर फलां महिला या बच्ची या लड़की के साथ रेप या गैंगरेप हो गया। जहालत की हद भी यहां तब पार कर जाती है जब दरिंदे अपनी हवस की प्यास बुझाने के बाद शिकार को मारने के लिये निर्मम तरीके अपनाते हैं।

गायत्री प्रजापति केस: अवैध खनन पर एक और हलफनामा

लखनऊ : खनन मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति के खिलाफ दायर परिवाद में सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर ने लोकायुक्त जस्टिस एन के मल्होत्रा को शासन के सीधे हस्तक्षेप से अवैध खनन पट्टा दिए जाने के सम्बन्ध में एक और हलफनामा प्रस्तुत कर दिया है.

जनविरोधी है सचिवालय प्रवेश व्यवस्था, बदलने को प्रत्यावेदन

लखनऊ : आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर और सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर ने सचिवालय प्रवेश की वर्तमान व्यवस्था को पूरी तरह जनविरोधी, अव्यवहारिक और अनुचित बताते हुए इसे बदले जाने की मांग की है.

मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति का चुनाव जल्द कराने पर रायशुमारी

लखनऊ : उत्तर प्रदेश राज्य मुख्यालय के मान्यता प्राप्त संवाददाता प्रभात त्रिपाठी अपने सभी साथियों के सामने उत्तर प्रदेश राज्य मुख्यालय मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति के असंवैधानिक कार्यकाल और शीघ्र से शीघ्र नये चुनाव कराने के एलान के लिये राय लेना चाहते हैं। वह जानना चाहते हैं कि क्या वक्त नहीं आ गया कि इसका एलान जल्द से जल्द किया जाये। वह लिखते हैं कि मैंने अपने सभी साथियों के सामने कुछ सवाल रखे हैं, क्या यह सवाल सही है, अगर सही है तो मुझे मेल के माध्यम से अपनी राय दें कि इस कार्य के लिये आगे की रणनीति क्या रखी जाये और क्या होनी चाहिये। इस सप्ताह सभी की राय से कोई बैठक का आयोजन हो जाये तो सभी पत्रकारों के हितों के लिये अच्छा होगा। 

आजमगढ़ में छह दिवसीय अवाम का सिनेमा 26 से 31 मई तक

 आजमगढ़ (उ.प्र.) : जनपद में आगामी 26 से 31 मई तक आयोजित होने अन्तर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के लिए सोमवार को समारोह पूर्वक पोस्टरों को जारी किया गया। आम आवाम के किरदारों को दर्शाते हुए ये पोस्टर एक तरफ जहां फिरकापरस्ती से लड़ने से संदेश देते दिखे तो दूसरी तरफ समाज के शोषितों का दर्द उकेरते नज़र आये; इन पोस्टरों के जारी करने के दौरान आयोजन की रूप रेखा से लोगों को अवगत कराया गया।

दिल्‍ली जैसे निर्मम शहर में भी दस घंटे चली कविता 16 मई के बाद

दिल्ली : अभिषेक श्रीवास्तव लिखते हैं – ‘कविता : 16 मई के बाद’ का आयोजन कई मायनों में ऐतिहासिक रहा। पहला तो इसलिए कि जितने लोगों ने फेसबुक ईवेन्‍ट पर आने की पुष्टि की थी तकरीबन उतने लोग एक मौके पर वास्‍तव में मौजूद थे। दस घंटे तक चले कार्यक्रम में तकरीबन शाम छह बजे तक 90 लोग मौजूद रहे, जो दिल्‍ली जैसे निर्मम शहर में मुश्किल होता है।

बिना नाक वाला बच्चा सोशल मीडिया पर वायरल

नई दिल्ली। हैरानी हुई ना.. लेकिन विधाता के खेल के आगे हर कोई फेल है, अमेरिका के अलबामा शहर में एक बिना नाक वाले बच्चे ने जन्म लिया है, इस बच्चे के जन्म लेने के बाद इसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर तेजी से वाइरल हो रही हैं।

http://hindi.oneindia.com/news/bizarre/eli-thompson-baby-born-without-nose-is-the-center-attention-of-his-first-fundraiser-356391.html

मीडिया की स्वतंत्रता से और बेहतर होगा लोकतंत्र

गया: एपीआइ भवन में रोटरी, गया सिटी की ओर से प्रेस दिवस समारोह मनाया गया. इस मौके पर रोटरी व मीडिया से जुड़े लोगों ने राष्ट्रगान के साथ कार्यक्रम की शुरुआत की. कार्यक्रम की अध्यक्षता रोटरी सिटी के अध्यक्ष श्याम प्रकाश सरावगी ने की. डॉ रामसेवक प्रसाद ने स्वागत भाषण दिया. रोटरी की डॉ माहजबीन निशात अंजुम ने प्रेस दिवस के बारे में चर्चा करते हुए कहा कि इसी महीने अंतरराष्ट्रीय प्रेस की स्वतंत्रता का दिवस भी है. 

मजीठिया मुद्दे पर सीएम और मुख्य सचिव को पत्र लिखेंगे पत्रकार, आज उपश्रमायुक्त से मिलेंगे

गोरखपुर : मजीठिया वेज बोर्ड द्वारा निर्धारित वेतनमान व अन्य सुविधाओं का मीडिया घरानों द्वारा पालन न करने के सम्बन्ध में गोरखपुर जर्नलिस्ट्स प्रेस क्लब द्वारा अपने सभागार में बुलायी गयी बैठक में कई निर्णय लिए गए। बैठक में सुप्रीम कोर्ट के 28 अप्रैल के आदेश के दो हफ्ते बाद भी उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा विशेष श्रम अधिकारी की नियुक्ति नहीं होने पर क्षोभ प्रकट करते हुए इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव, श्रम मंत्री और श्रम आयुक्त को पत्र भेजने का निर्णय लिया गया। इसके अलावा गोरखपुर के पत्रकारों और न्यूज पेपर कर्मचारी 19 मई को गोरखपुर के उपश्रमायुक्त से मिलकर एक ज्ञापन देंगे।

मुकेश प्रभुदास पांडेय का कार्टून ‎मजीठिया मंच एफबी वॉल से साभार

आईपीएस अमिताभ ठाकुर से नहीं मिले मुख्यमंत्री, सचिवालय की अव्यवस्था से खिन्न हो लौटे

आईपीएस अमिताभ ठाकुर आज अपनी पत्नी एवं सामाजिक कार्यकर्ता डॉ.नूतन ठाकुर के साथ कालिदास मार्ग स्थित मुख्यमंत्री आवास गए, जहां ज्ञात हुआ कि वे एनेक्सी (मुख्यमंत्री सचिवालय) गए हुए हैं. सचिवालय में प्रवेश के लिए उनका पास नहीं बना। अपनी सुरक्षा और फर्जी मुकदमों से बचत की गुहार के लिए वह मुख्यमंत्री से मुलाक़ात.करना चाहते थे लेकिन संभव न हो सका। 

सचिवालय लखनऊ में आम आदमी की तरह मुख्यमंत्री से मिलने के लिए प्रयासरत डॉ.नूतन ठाकुर और उनके पति आईपीएस अमिताभ ठाकुर

दरिंदगी के बयालीस साल, अरुणा शानबाग की जिंदगी का आखिरी दिन रहा सोमवार

उफ्, ऐसा भी हो सकता है… अरुणा शानबाग की व्यथा दरिंदगी की हदों के पार की है। आज 18 मई उनकी जिंदगी का आखिरी दिन रहा। उन्हें एक सिरफिरे ने सिर्फ प्रतिशोध की सनक में 27 नवंबर 1973 को बयालीस वर्षों के लिए मुंबई के केईएम अस्पताल के बिस्तर पर सुला दिया था।

PNI न्यूज़ एजेंसी की खबरें चुरा रहा पंजाब केसरी, दिल्ली पुलिस कमिश्नर से कार्रवाई की फरियाद

PNI न्यूज़ एजेंसी के कार्यकारी निदेशक मयंक जोगी ने दिल्ली के पुलिस आयुक्त से पंजाब केसरी जालंधर (पंजाब केसरी टीवी ) पर धोखाधड़ी का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की है। उनका आरोप है कि पंजाब केसरी PNI न्यूज़ एजेंसी की खबरें चुराकर अपने नाम से चला रहा है। 

पुस्तक चर्चा : आचार्य कृपलानी स्वतंत्रचेता थे, विद्रोही नहीं : बनवारी

नई दिल्ली : वरिष्ठ पत्रकार राम बहादुर राय द्वारा लिखित पुस्तक ‘शाश्वत विद्रोही राजनेताः आचार्य जे बी कृपलानी’ पर आचार्य कृपलानी मेमोरियल ट्रस्ट की ओर से एक परिचर्चा आयोजित की गई। गांधी शांति प्रतिष्ठान में आयोजित इस परिचर्चा में बड़ी संख्या में लेखक, पत्रकार, समाजकर्मी एवं छात्र मौजूद थे।

सच्चिदानंद सत्यार्थी बने ब्यूरो प्रभारी

प्रभात खबर मुजफरपुर संस्करण से जुड़े जिलों में हिन्दुस्तान में ब्यूरो प्रभारी बनाने की होड़ लगी है। इसी कड़ी में उत्तर बिहार के सबसे बड़े सेंटर मोतिहारी में एक दशक से काम देख रहे ब्यूरो प्रभारी राकेश कुमार को हटा कर सचिदानंद सत्यार्थी को प्रभात खबर ने ब्यूरो प्रभारी बना दिया।

केजरीवाल सरकार के 100 दिन का रिपोर्ट कार्ड, पास हुए या फेल, क्या कहती है दिल्ली

केजरीवाल और मनीष सिसोदिया नहीं हैं दिल्ली के सबसे लोकप्रिय विधायक, लेकिन यदि आज चुनाव हों तो भारी बहुमत से सरकार बनाएगी आम आदमी पार्टी www.mlareportcard.com के ऑनलाइन सर्वे की रिपोर्ट ।

इंडिया टीवी से प्रखर पहुंचे न्यूज 24, रवि ने ज्वॉइन किया इंडिया न्यूज

इंडिया टीवी के डिप्टी इक्सक्यूटिव एडिटर प्रखर श्रीवास्तव ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने आउट पुट इक्सक्यूटिव प्रोड्यूसर के रूप में न्यूज 24 ज्वॉइन कर लिया है।