Newspaper employees of Madhya Pradesh pledge to fight for Majithia Award

Prophets of doom have been proved wrong. They have been spreading rumours that there was no enthusiasm for the Wage Board Award among the newspaper employees. But on the contrary, hundreds of newspaper employees assembled to listen and interact with Advocates Parmanand Pandey and Colin Gonsalves on 16th May 2015 at Bhopal regarding the state of Majithia Wage Award.

 

दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्रा ने अश्लील संदेश का दिया करारा जवाब

दिल्ली विश्वविद्यालय की एक छात्रा को एक व्यक्ति ने फ़ेसबुक पर अश्लील संदेश देते हुए उनके जननांगों पर टिप्पणी की। छात्रा ने इसका जवाब दिया और अपने जवाब का स्क्रीनशॉट लेते हुए उसे अपनी वॉल पर पोस्ट कर दिया। उनकी पोस्ट को छह हज़ार से ज़्यादा बार शेयर किया जा चुका है।

क़तर में बीबीसी टीम गिरफ़्तार, दो रातों तक पूछताछ

क़तर में 2022 विश्व कप के निर्माण कार्यों पर आधिकारिक रूप से रिपोर्टिंग कर रही बीबीसी टीम को गिरफ़्तार कर लिया गया है. यह टीम निर्माण कार्यों में शामिल अप्रवासी मज़दूरों के हालात पर रिपोर्टें कर रही थी. चार सदस्यों की टीम को प्रधानमंत्री कार्यालय ने ही बुलाया था. बीबीसी के मध्यपूर्व संवाददाता मार्क लोबेल …

केजरीवाल सरकार के मीडिया परिपत्र आरएसएस का निशाना

मीडिया के खिलाफ छह मई को जारी किए गए मानहानि संबंधी परिपत्र को तानाशाही वाला करार देते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के मुखपत्र आर्गनाइजर में अरविंद केजरीवाल सरकार की आलोचना की गयी है. इसमें कहा गया है कि यह भाषण एवं अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता छीनने का कथित प्रयास है जो संदेश देता है कि  सिक्के के दोनों पहलू मेरे हैं.

आलिया का ‘डबस्मैश’ वीडियो सोशल मीडिया की सुर्खियों में

नई दिल्ली: वॉलीवुड की क्यूट गर्ल आलिया भट्ट एक बार फिर सोशल मीडिया की सुर्खियों में हैं. उनकी सुर्खी की वजह है स्मार्टफोन एपलीकेशन ‘डबस्मैश’ पर डाला गया उनका एक वीडियो, जिसमें वह अपनी एक दोस्त आकांक्षा राजन के साथ नज़र आ रहीं हैं. 

कानपुर ‘लाल इमली महाघोटाले’ पर हाईकोर्ट के रुख से वस्त्र मंत्रालय हिला

कानपुर (उ.प्र.) : वस्त्र मंत्रालय (भारत सरकार) के अधीन बीआईसी कानपुर (उ.प्र.) के पुनरुद्धार में हुए लगभग हजार करोड़ के भूखंडीय महाघोटाले ने लाल इमली के लगभग ढाई हजार अधिकारियों, कर्मचारियों की रोजी रोटी पर ऐसी डाकाजनी की है कि उनकी कमर ही टूट गई है। बताते हैं कि हाईकोर्ट के फैसलों के बावजूद इतना बड़ा घोटाला आजतक कानपुर से दिल्ली तक सुर्खियों में न आ पाने की खास वजह है, पर्दे के पीछे इस खेल में एक बड़े मीडिया घराने का मुख्य रूप से संलिप्त होना। सूत्रों के मुताबिक इस मामले पर कोई ठोस कदम उठाने के लिए हाल में ही 8 मई 2015 को दिल्ली में पीएमओ में संयुक्त सचिव स्तर की बैठक में बीआईसी के एमडी श्रीनिवासन पिल्लई के स्थान पर निर्मल सिह्ना को लाये जाने का निर्णय लेना पड़ा है। मामला इलाहाबाद हाईकोर्ट में भी विचाराधीन है। इस समय सारी हड़बड़ी इसलिए है कि हाईकोर्ट की जवाब तलबी की पूर्व निर्धारित समय सीमा भी पार हो चुकी है।

धर्मशाला में छात्रा से बर्बर गैंग रेप, बड़बोले मीडिया ने पूंछ चुराई

हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला डिग्री कॉलेज में दिल्ली के निर्भया कांड जैसी वीभत्स घटना शुक्रवार को हुई। कॉलेज के चार सीनियर छात्रों ने प्रथम वर्ष की छात्रा को कॉलेज से उठाकर उसके साथ दुष्कर्म किया और मरणासन्न हालत में सड़क किनारे फेक दिया। इस मामले की चर्चा पूरे हिमाचल में लोगों की जुबान पर है लेकिन निर्भया कांड पर दस-दस पेज के सप्लीमेंट छापने वाले प्रिंट मीडिया में एक सिंगल कॉलम खबर तक नहीं है। 

‘गांव कनेक्शन’ टीवी शो और अख़बार के लिए पत्रकारों की जरूरत

देश के उभरते ग्रामीण अख़बार ‘गांव कनेक्शन’ की लोकप्रियता का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है। आम आदमी की आवाज उठाने और गांव की बदलती कहानियों को लोगों के सामने लाने के लिए अख़बार ने अपने ढाई वर्ष के छोटे के कार्यकाल में पत्रकारिता के सर्वोच्च पुरस्कार रामनाथ गोयनका और दो लाडली मीडिया ऑवार्ड जीते हैं। हाल ही में जर्मन मीडिया हाउस ‘डायचे विले’ ने दुनियाभर से 4800 नामांकनों में से ‘गांव कनेक्शन’ की वेबसाइट (www.gaonconnection.com) को 14 अंतराष्ट्रीय प्रविष्टियों में चुना है। यह भारत से इस कैटेगरी में एक मात्र नामांकन है।

ट्विटर पर यौन उत्पीड़न, फेसबुक पर दोस्ती कर छात्रा से दुष्कर्म

एक अध्ययन में पता चला है कि ट्विटर पर उत्पीड़न के मामलों में बढ़ीत्तरी हो रही है और फेसबुक पर भारत का गलत नक्शा लगाने पर भारतीय नागरिकों ने फेसबुक के संस्थापक एवं सीईओ मार्क जकरबर्ग पर जमकर भड़ास निकाली है। 

आईपीएस अमिताभ ठाकुर की मुख्यमंत्री से गुहार, मिलने का समय मांगा

आये दिन लगे रहे मुकदमों से आजिज आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर ने उनकी पत्नी सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर द्वारा खनन मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति के खिलाफ अवैध खनन के परिवाद के बाद लगातार उनको प्रताड़ित करने और फर्जी मुकदमे में फंसाए जाने का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से अपने प्राणों की रक्षा की गुहार लगाई है.

बांका के ऐसे मीडिया कर्मियों के तो दोनो हाथ में लड्डू

बांका (बिहार) : अखबार में एक नए अवैध परंपरा की यहां शुरूआत हो गयी है। सरकार में बहाल लोग मजे से अखबारों व चैनलों में संवाददाता की नौकरी कर रहे हैं। यह परंपरा मुख्यतः जिला और प्रखंड स्तर पर देखी जा रही है। हैरानी की बात है कि दैनिक जागरण, प्रभात खबर, हिन्दुस्तान जैसे बड़े अखबार यह जानते हुए भी कि उनके संवाददाता सरकारी नौकरी में हैं, उनको पाल रहे हैं। ऐसा करें भी क्यों नहीं। तकरीबन मुफ्त में या कम पैसे में इन्हें संवाददाता जो मिल रहे हैं। इस तरह के शिक्षक, कंम्प्यूटर ऑपरेटर अपने सरकारी कार्यालय से फरार होकर पूरे दिन समाचार संकलन में लगे रहते हैं। मुद्दा ये है कि अगर यह परंपरा चल निकली तो इसके परिणाम कितने भयावह हो सकते हैं इसका सहज हीं आकलन किया जा सकता है। 

ब्रदरहुद का एजेंडा और वाल्टीमोर का सच

अमेरिका की एक संस्था ने भारत में धार्मिक आजादी को लेकर कई गंभीर सवाल खड़े करते हुए राष्ट्रपति बराक हुसैन ओबामा से कहा है कि वे भारत पर इस बात के लिए दबाव बनाये कि वहां की सरकार धार्मिक अल्पसंख्यकों की आजादी की सुरक्षा सुनिश्चित करें। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में दलित ईसाइयों के घर गिरिजाघर में तब्दील हो गए है क्योंकि बहुसंख्यक हिन्दू समाज के भय से ये लोग गिरिजाघरों में नहीं जा पा रहे हैं।

अब सूट-बूट के कलेक्टर चाहिए भाजपा सरकार को

कुछ साल पहले मैं छत्तीसगढ के रायगढ गया था तो वहां शहर में अतिक्रमण के चलते टूटे पक्के मकानों,विशाल ईमारतों को देख दंग रह गया था,क्योंकि अपने देा दशक के पत्रकारिता जीवन में मैंने गरीबों के झोपडे टूटते देखा है,अमीरों के पक्के अतिक्रमण कभी—कभार एक—दो तब टूटते हैं जब वो अमीर किसी नेता या अधिकारी से पंगा लेता है। लेकिन इसके विपरीत रायगढ में कलेक्टर अमित कटारिया का बुलडोजर बिना  किसी बीपीएल सूची के चला।

उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलपति की अंकतालिकाएं कहां हैं

जन आंदोलनों से अस्तित्व में आये उत्तराखंड राज्य में घोटालों व भ्रष्टाचार के अलावा पिछले डेढ दशकों में कोई बडी उपलब्धि नहीें हैं। राज्य में उच्च पदों पर बैठे लोगों की उपाधियों पर उठ रहे सवालों के बीच राज्य में प्रमुख मीडिया समूहों की कार्य प्रणाली भी सवालों के घेरे में घिरी हुई है। सारे साक्ष्य उपलब्ध कराने के बावजूद राज्य के कुछ प्रमुख अखबार जनहित से जुडे समाचारों को तवज्जो नहीं दे रहे हैं। राज्य सरकार से तो विज्ञापन मिलता है इसलिए मीडिया की यह एक मजबूरी हो सकती है लेकिन यदि किसी विश्वविद्यालय के कुलपति की शैक्षिक योग्यता पर अंगुली उठ रही है और प्रेस वार्ता में सारे साक्ष्य उपलब्ध कराये जाने के बाद समाचार गायव होना अंदर खाने की सेटिंग बयां करती है।

राजस्थान में दैनिक नवज्‍योति ने एरियर बांटना शुरू किया

राजस्‍थान के पांच शहरों जयपुर, अजमेर, कोटा, जोधपुर और उदयपुर से प्रकाशित दैनिक नवज्‍योति समाचार पत्र ने अपने कर्मचारियों को पिछला बकाया एरियर की राशि का भुगतान करना शुरू कर दिया है। प्रबंधकों और कर्मचारियों के बीच हुए समझौते के अनुसार एरियर का भुगतान चार किश्‍तों में किया जाना है। 

डीआइजी को धमकाने वाला कथित पत्रकार गिरफ्तार

कथित पत्रकार अब किसी भी पुलिस अधिकारी को धमकी देने से भी नहीं डर रहे हैं। ताजा प्रकरण पीलीभीत का है। जहां डीआइजी बरेली को प्रधानमंत्री कार्यालय में तैनात एक आइएएस अधिकारी बताकर धमकी देने के मामले में एक कथित पत्रकार को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस की पूछताछ में सामने आया कि नवीन इससे पहले गाजियाबाद में डीएम के स्टेनो को फोन करके धमका चुका है। तब उसके खिलाफ कविनगर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी और वह जेल भी गया था।

जब माननीय ही बांटे फर्जी डिग्री तो फिर रोकेगा कौन

बात सिर्फ दक्षिण कश्मीर के एक स्कूल शिक्षक मो. इमरान खान की नहीं है। जो गाय पर निबंध नहीं लिख पाए। इसे सरकारी स्कूलों पर तंज कहिए या व्यवस्था का दंश, हकीकत यही है कि हर जगह हर कहीं सरकारी स्कूल क्या हरेक विभाग में ऐसे नमूने देखने को मिल जाएंगे। अगर कायदे से जांच हुई तो देश भर में न जाने कितनें फर्जी नौकरशाहों पर गाज गिरेगी जो दुनिया में चौंकाने वाला बड़ा आंकड़ा होगा।  

एंकर को ‘भूकंप का झटका’

“नमस्कार! आप देख रहें हैं ABC News आपके साथ मैं हूँ शिवांशु शुक्ला। इस वक़्त की बड़ी खबर आपको बता दें…तेज़ भूकंप के झटके महसूस किये गए हैं… जी हाँ फिर भूकंप आया है और इसकी तीव्रता रिक्टर स्केल पर 7.4 माँपी गयी है। 

कठघरे में क्यों है न्याय पालिका

हाल में कुछ ऐसे अदालती फैसले आए हैं जिनसे न्याय पालिका खुद कठघरे में खड़ी हो गई है। वैसे तो न्याय पालिका को अवमानना कानून के तहत आलोचना से बहुत हद तक संरक्षण प्राप्त है लेकिन इस बार भड़ास के संपादक यशवंत सिंह जैसे पत्रकार न्याय पालिका के इस रक्षा कवच को हर जोखिम उठाकर भेदने का साहस दिखा रहे हैं। शायद लोगों का नैतिक समर्थन भी उनके साथ है जो कि सोशल मीडिया पर उनके समर्थन में आ रही प्रतिक्रियाओं से स्पष्ट है। दूसरी ओर खुलेआम हो रहे हमलों के बावजूद न्याय पालिका संयम की मुद्रा अख्तियार किए हुए है जिसकी वजह को लेकर सोचा जाए तो बहुत कुछ अनुमानित किया जा सकता है। 

हरियाणा के पत्रकारों की मांग पर जल्द विचार करेंगे सीएम खट्टर

चंडीगढ़ : हरियाणा यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स का एक प्रतिनिधिमंडल प्रदेश अध्यक्ष संजय राठी के नेतृत्व में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से मिला। प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री को प्रदेश के पत्रकारों के शोषण तथा उनकी मांगों से अवगत करवाया। मुख्यमंत्री ने भरोसा दिलाया कि पत्रकारों की मांगों पर जल्द ही कार्यवाही की जायेगी।

मोदी और केजरी : आइए, दो नए नेताओं के शीघ्र पतन पर मातम मनाएं…

Yashwant Singh : यथास्थितिवाद और कदाचार से उबी जनता ने दो नए लोगों को गद्दी पर बिठाया, मोदी को देश दिया और केजरीवाल को दिल्ली राज्य. दोनों ने निराश किया. दोनों बेहद बौने साबित हुए. दोनों परम अहंकारी निकले. पूंजीपति यानि देश के असल शासक जो पर्दे के पीछे से राज करते हैं, टटोलते रहते हैं ऐसे लोग जिनमें छिछोरी नारेबाजी और अवसरवादी किस्म की क्रांतिकारिता भरी बसी हो, उन्हें प्रोजेक्ट करते हैं, उन्हें जनता के गुस्से को शांत कराने के लिए बतौर समाधान पेश करते हैं. लेकिन होता वही है जो वे चाहते हैं.

‘टोटल टीवी’ से मैनेजिंग एडिटर शशि रंजन का इस्तीफा

एनसीआर और हरियाणा केंद्रित न्यूज चैनल टोटल टीवी से सूचना है कि साढ़े चार वर्षों से मैनेजिंग एडिटर के पद पर कार्यरत शशि रंजन ने इस्तीफा दे दिया है. चैनल के मालिक अनिल गाबा ने शशि रंजन की लंबी और यादगार पारी को याद करते हुए उनके योगदान को अमूल्य बताया व नई पारी के लिए शुभकामनाएं दी. शशि रंजन के बारे में चर्चा है कि वे डिजिटल मीडिया में कुछ नया करने जा रहे हैं.

हाशिमपुरा जनसंहार की पुनर्विवेचना के लिए सड़क पर उतरेगा आईएनएल : मोहम्मद सुलेमान

कानपुर : मेरठ के हाशिमपुरा जनसंहार पर हालिया आए अदालती फैसले के बाद, पीडि़तों के इंसाफ के सवाल पर इंडियन नेशनल लीग ने यहां प्रेस क्लब कानपुर में एक प्रेस काफ्रेंस का आयोजन किया। प्रेस काफ्रेंस को इंडियन नेशनल लीग के राष्ट्रीय अध्यक्ष मोहम्म्द सुलेमान, रिहाई मंच के अध्यक्ष मोहम्मद शुऐब एडवोकेट तथा सामाजिक कार्यकर्ता एखलाक हुसैन चिश्ती ने संबोधित किया।

भूमिका ने फेसबुक मित्रों से पूछा, ऐसे पति को आप क्या कहेंगे..?

किसी भी पति के द्वारा अपनी धर्मपत्नी को पीटना एक जघन्य अपराध है. ये अपराध यदि कोई चोर-उचक्का, गुंडा-मवाली या फिर डाकू-हत्यारा करता है, तो एक बार माफ किया जा सकता है, लेकिन यदि अपने आप को “कवि”, “साहित्यकार” या फिर बार बार ख़ुद को “सर्जक” कहने वाला करता है तो ये अपराध कहीं ज़्यादा संगीन और वीभत्स बन जाता है.

कान फिल्म फेस्टविल पर मीडिया के तौर-तरीके से शबाना नाराज

कान फिल्म फेस्टिवल एक गंभीर आयोजन माना जाता है. इस तरह के महोत्सव से फिल्म बनाने वाले और अभिनय के क्षेत्र में नाम कमाने वाले लोगों को बढ़ावा मिलता है. ऐसे में मीडिया की कवरेज कैटरीना कैफ के लाल रंग के गाऊन पर फोकस रहने से शबाना नाराज हैं.  

असमिया अखबार के खिलाफ 10 करोड़ की मानहानि का दावा

गुवाहाटी हाईकोर्ट ने ‘असमिया प्रतिदिन’ को असम प्रदेश भाजपा के नेता जीतू गोस्वामी के खिलाफ कुछ भी लिखने पर रोक लगा दी है।

अखबार मालिकों ने पत्रकारों का उत्पीड़न तेज किया, किसी का तबादला, किसी का पदनाम बदला

उत्तर प्रदेश, राजस्थान, बिहार, मध्यप्रदेश, हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश आदि लगभग उन सभी प्रदेशों में बड़े अखबारों ने मजीठिया मामलों को लेकर मीडिया कर्मियों का उत्पीड़न तेज कर दिया है। किसी के तबादले किए जा रहे हैं तो किसी डेप्युटेशन पर दूर दूर स्थानांतरित किया जा रहा है। 

श्रीनगर के पत्रकार इम्तियाज बख्शी और देवास के पत्रकार रविंद्र सिंह का निधन

इंडियन एक्सप्रेस और सहारा सहित जाने माने समाचार पत्रों के साथ काम कर चुके श्रीनगर के वरिष्ठ पत्रकार इम्तियाज बख्शी का निधन हो गया. वह 60 वर्ष के थे. जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद ने श्री बख्शी के निधन पर शोक व्यक्त किया.

न्यूज एक्सप्रेस में अपने साथियो की दुर्गति देख एडिटर इन चीफ प्रसून शुक्ला ने इस्तीफा दिया

{jcomments off}

न्यूज एक्सप्रेस चैनल के एडिटर इन चीफ प्रसून शुक्ला और मैनेजिंग डायरेक्टर शशांक भापकर : आछे दिन पाछे गए… ! (फाइल फोटो)


एक बड़ी खबर साईं प्रसाद मीडिया के न्यूज चैनल ‘न्यूज एक्सप्रेस’ से आ रही है. चैनल के सीईओ और एडिटर इन चीफ प्रसून शुक्ला ने दुबारा व फाइनली इस्तीफा दे दिया. उन्होंने अपने अधीनस्थ मीडियाकर्मियों को सेलरी न दिए जाने पर पहले भी इस्तीफा दे दिया था लेकिन प्रबंधन ने सेलरी संकट दूर करने और सब कुछ स्मूथ करने का पूरी गंभीरता से वादा किया था जिस पर भरोसा करने के बाद प्रबंधन के अनुरोध पर प्रसून काम पर लौट आए. लेकिन प्रबंधन लगातार वादाखिलाफी करता रहा. चैनल संचालन के लिए जरूरी प्रत्येक मद में पैसे देने का काम बंद कर दिया गया. इसके कारण देखते ही देखते चैनल ब्लैकआउट हो गया.

रेलवे के बुरे दिन : दो बार पैसा एकाउंट से कट गया लेकिन रेल टिकट बुक न हो सका

Yashwant Singh : दो बार एकाउंट से पैसा कट गया, रेलवे की वेबसाइट आईआरसीटी पर टिकट बुक करने के प्रयास में, लेकिन टिकटवा ससुरा न मेल पर न ही एसएमएस पर आ रहा. एकाउंट से पैसा डिडक्ट करने के बाद आईआरसीटीसी का सर्वर गड़बड़ा जा रहा है. तीसरी बार ट्राई करना शुरू किया तो पता चला कि पूरी वेबसाइट मेंटेनेंस मोड में चली गई है. ये अच्छे दिन हैं. दिल्ली से गोरखपुर चला तो गोरखधाम एक्सप्रेस ढाई घंटे लेट दिल्ली आई. गोरखपुर में दोपहर बाद ढाई बजे पहुंची जबकि इसके पहुंचने का टाइम सुबह साढ़े नौ है.

श्री टाइम्स, श्री न्यूज चैनल की तीसरी वर्षगांठ 18 को, यशवंत सिंह सहित कई विशिष्ट जनों का राज्यपाल के हाथों सम्मान एवं संगोष्ठी

{jcomments off}लखनऊ में श्री मीडिया वेंचर्स प्राइवेट लिमिटेड परिवार आगामी 18 मई 2015 को हिंदी दैनिक ‘श्री टाइम्स’ एवं ‘श्री न्यूज’ चैनल की तृतीय वर्षगांठ को संकल्प दिवस के रूप में मना रहा है। उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक कार्यक्रम के मुख्य अतिथि एवं कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव विशिष्ट अतिथि होंगे। हिंदी संस्थान के अध्यक्ष उदयप्रताप सिंह कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे। 

नीलाभ अश्क ने दुखी मन से चुप्पी तोड़ी, भूमिका की चौंकाने वाली अनकही दास्तान से पर्दा उठाया

प्रसिद्ध साहित्यकार उपेंद्रनाथ अश्क के पुत्र एवं जाने माने लेखक-रंगकर्मी नीलाभ अश्क ने कई दिन बाद आज अपने घरेलू घटनाक्र में चुप्पी तोड़ी। भड़ास4मीडिया से अपना दुख-दर्द साझा करते हुए उन्होंने कहा कि जो कुछ हो रहा है, ठीक नहीं है। मेरे लिए असहनीय है। मैं मर्यादाओं की सीमा तोड़कर ऐसी नीजी बातें सार्वजनिक रूप से साझा नहीं करना चाहता था लेकिन मुझे विवश किया गया है। बाकी जिन्हें करीब से सारी सच्चाई मालूम है, वे भी मेरी अप्रसन्नता के साथ भूमिका द्विवेदी उनकी मां की ताजा घिनौनी हरकतों पर क्षुब्ध और अचंभित हैं। मेरा पूरा अतीत देश के ज्यादातर हिंदी साहित्यकारों, पत्रकारों, रंगकर्मियों, सामाजिक सरोकार रखने वाले लोगों के बीच सुपरिचित है। मुझे अपने रचनाकर्म, अपनी आदमीयत और अपने शानदार पारिवारिक अतीत के बारे में कुछ नहीं बताना है। मुझ पर थोपे जा रहे घटिया लांछन विचलित करते हैं, इसलिए अब कुछ कहना आवश्यक हो गया है। 

मजीठिया वेतनमान : भोपाल के पत्रकार भी बुलंदी से उतरे मैदान में

भोपाल में आज मजीठिया इम्प्लीमेंटेशन समिति की मीटिंग आयोजित की गई, जिसमें पत्रिका, दैनिक भास्कर और नवदुनिया के कर्मचारियों ने सैकड़ों की संख्या में भागीदारी की। मीटिंग में याचिकाकर्ताओं के साथ साथ ही उन कर्मचारियों ने भी हिस्सा लिया जिन्होंने माननीय सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर नहीं की है। 

हमने चलना सिखाया, रफ्तार आपको पकड़नी है : यशवंत सिंह

वर्कशाप आगाज है मंजिल तक पहुंचने का: अशोक : वेब मीडिया कंटेंट मानेटाइजेशन वर्कशाप के दूसरे दिन यूट्यूब चैनल, ब्लाग पर एकाउंट बनाने के तरीके बताए

 

गोरखपुर : हमने चलना सिखाया है, रफ्तार आपको पकड़नी है। वर्कशाप उन लोगों के लिए तरक्की का जरिया बन सकता है, जो सीखना चाहते हैं, मुस्तकबिल संवारना चाहते हैं। अपने ऑनलाइन कामकाज को मानेटाइज करना चाहते हैं। 

वर्कशॉप में शामिल पत्रकार

उत्पातियों ने मुंगेर में लाइब्रेरी का ताला तोड़कर गंगा में बहा दीं 50 लाख की दुर्लभ किताबें

मुंगेर (बिहार) : जिले के बीकापुर स्थित ऊर्दू लाईब्रेरी, जिसमें करीब 11 हज़ार से ज्यादा किताबें रखी हुई थीं, उसे नवल किशोर और उसके पांच भाइयों ने गुरुवार को भोर में दुखद तरीके से नष्ट कर दिया। उन्होंने लाईब्रेरी का ताला तोड़ कर सारी किताबें ट्रक पर लादी और फिर उन्हें ले जाकर गंगा नदी में बहा दिया। नष्ट कर दी गईं ये किताबें करीब पचास लाख रूपए की बताई गई हैं। इनमें आज़ादी से पहले की बहुत सी पुरानी और दुर्लभ किताबें यहां सुरक्षित रखी थीं।

तीन साल से वेतन न मिलने पर लामबंद हुए मीडियाकर्मी, डिप्टी सीएम से मिलेंगे

कोक कम्पनी के बैनर तले पंजाब में बोटलिंग प्लांट से पानी को कोल्ड ड्रिंक का रूप देकर करोड़ो रुपये के वारे न्यारे करने वाले जसपाल कंधारी पिछले तीन सालों से मीडिया कर्मियों का शोषण कर रहे हैं। इसके खिलाफ अब पंजाब में पीड़ित मीडियाकर्मी मोर्चा खोलने जा रहे हैं और जल्द ही पंजाब के डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बादल से मिल कर जसपाल कंधारी और उनके चैनल टीम के खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग करेंगे.

दूरदर्शन अधिकारी को रिश्वत लेते सीबीआई ने दबोचा

दूरदर्शन के एक सहायक निर्देशक हनुमंत राव को सीबीआई ने विजयवाड़ा से गिरफ्तार किया है. उन पर एक धारावाहिक निर्माता से उसके बिलों को मंजूरी प्रदान करने के लिए डेढ़ लाख रुपए रिश्वत लेने का आरोप है. राव को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया. 

अमर उजाला ये क्या बेचने लगा, इतना पतन हो गया अखबार का !

सोशल मीडिया की बढ़ती पैठ में जगह बनाने के लिये प्रिन्ट मीडिया के इन्टरनेट संस्करण कितने स्तरहीन और लापरवाह हो गये हैं, इसकी एक बानगी अमरउजाला की साईट को देखकर लगाया जा सकता है । कभी भास्कर की बेवसाईट को पसन्द करने वाले खास दशर्कों को अब अपना मसाला अन्य समाचार पत्रों की पेजों पर भी मिलने लगा है ।

 

अनुराग कश्यप मुम्बई छोड़कर चले ही जाएं तो बेहतर

‘बॉम्बे वेलवेट’ अनुराग कश्‍यप की भारत में रहते हुए बनायी शायद आखिरी फिल्‍म होगी क्‍योंकि इसी महीने वे बोरिया-बिस्‍तर समेटकर पेरिस शिफ्ट हो रहे हैं। इस लिहाज से दो बातें कही जा सकती हैं। एक तो यह, कि बॉम्‍बे वेलवेट बंबई को दी गयी उनकी श्रद्धांजलि है। दूसरे, इस फिल्‍म के बजट और इसकी महत्‍वाकांक्षी योजना के चलते यह कश्‍यप के सिनेमाई विकास का पैमाना भी है। मेरे खयाल से इसकी जो भी आलोचना बनेगी, वह फ्रेम ऑफ रेफरेंस के फर्क से पैदा होगी। 

इसलिए पाठक अब शुरू करें दैनिक जागरण का बहिष्कार

लीजिए सबको समझाता हूं, क्‍या है मजीठिया वेतनमान और इस मुद्दे पर दैनिक जागरण के पाठक क्‍यों करें अखबार का बहिष्‍कार। अपने कुछ मित्रों के आग्रह पर आज मजीठिया वेतनमान के बारे में दैनिक जागरण के पाठकों को कुछ विस्‍तार से बता रहा हूं।

अब बिना मजीठिया वेतनमान के नहीं छप पाएंगे अखबार

सरकारी विज्ञापनों में मुख्‍यमंत्री की फोटो नहीं तो प्रधानमंत्री की फोटो क्‍यों—-जरा विचार कीजिए कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्‍लंघन करने के लिए अखबार मालिकों को कोई विशेषाधिकार मिला है क्‍या—- अखबार मालिक लगातार मजीठिया वेतनमान न देकर सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्‍लंघन कर उसकी अवमानना कर रहे हैं और सुप्रीम कोर्ट की गरिमा को गिरा रहे हैं।- और हर ओर चुप्‍पी है—सन्‍नाटा है—-सिर्फ कर्मचारियों के जीवन में न ज्‍वार है न भाटा है।

सूट-बूट यानी अंग्रेज गए लेकिन गुलामी की आदत नहीं गई

कुछ साल पहले मैं छत्तीसगढ के रायगढ गया था तो वहां शहर में अतिक्रमण के चलते टूटे पक्के मकानों,विशाल ईमारतों को देख दंग रह गया था,क्योंकि अपने देा दशक के पत्रकारिता जीवन में मैंने गरीबों के झोपडे टूटते देखा है,अमीरों के पक्के अतिक्रमण कभी—कभार एक—दो तब टूटते हैं जब वो अमीर किसी नेता या अधिकारी से पंगा लेता है। लेकिन इसके विपरीत रायगढ में कलेक्टर अमित कटारिया का बुलडोजर बिना  किसी बीपीएल सूची के चला। तब इन महोदय के बारे में पता किया तो पता चला कि ये मात्र एक रूपए वेतन लेते हैं। घर से संपन्न है और ज्यादा खर्च नहीं है इसलिए काम चल जाता है। रायपुर में भी इन्होंने निगम आयुक्त के रूप में बेहतरीन काम किया था,जिसका पता आज के रायपुर को देखकर लग सकता है। कुछ ऐसा ही नया रायपुर बनने पर गांव के युवाओं को प्रशिक्षण देकर किया।

मजीठिया मजीठिया मजीठिया, कान पक गया सुन-सुनकर

समाचार पत्र या पत्रिकाओं में काम करनेवाले कर्मचारियों के लिए सबसे जरुरी है उनका तनावमुक्त होकर काम करना। लेकिन ससुरा जबसे इ मजीठिया का लफड़ा लगा है, अखबारी लोगों की मानसिक शांति ऐसे गायब हो गयी है, जैसे मोदीजी के बदन से उ दस लाख वाला सूट। कर्मचारी दफ्तर इस उम्मीद से आता है कि आज तो मजीठिया के बारे में पता लगा ही लेंगे… और इस बात से मायूस होकर घर लौट जाते हैं कि आज तो भड़ास और जनसत्ता पर भी मजीठिया को लेकर कुछ अपडेट नहीं हुआ..। किसी के पास थोड़ी भी जानकारी होती है, जो बाकी लोग उसके आगे-पीछे डोलने लगते हैं। सुबह ऑफिस में हाजिरी के लिए पंच करने से लेकर दोपहर लंच करने तक और शाम को दो रुपये वाली मंच खाते हुए घर निकलने तक मजीठिया मजीठिया मजीठिया इतनी बार सुन लेता हूँ कि कान पक जाता है।

सलमान खान अवैध बेल के खिलाफ पीआईएल : मीडिया ने की भरपूर कवरेज, देखें किसने क्या छापा और दिखाया…

Yashwant Singh : खोजी पत्रकार दीपक शर्मा इन दिनों एक जुझारू टीम के साथ मीडिया में नया, जमीनी और बड़ा प्रयोग कर रहे हैं. बिना बड़ी पूंजी के वह मिशनरी भाव से एक छोटे से कमरे के जरिए ‘इंडिया संवाद’ नामक वेबसाइट संचालित कर रहे हैं. साथ ही यूट्यूब पर इंडिया संवाद नामक चैनल चला रहे हैं. सलमान खान को अवैध तरीके से जमानत दिए जाने के खिलाफ दायर पीआईएल को लेकर आयोजित मीडिया से बातचीत के कार्यक्रम में ‘इंडिया संवाद’ की टीम पहुंची. टीम के अगुवा वरिष्ठ पत्रकार नाजिम नकवी जी थे. उन्होंने विस्तार से बातचीत मुझसे और मेरे वकील उमेश शर्मा जी से की. नाजिम नकवी ने फौरन रिपोर्ट फाइल की और संबंधित वीडियो यूट्यूब पर अपलोड करा दिया. इंडिया संवाद पर प्रकाशित खबर गूगल सर्च में टॉप पर आने लगी. आप भी पढ़िए इंडिया संवाद में क्या छपा और क्या दिखाया गया…

Journalist files PIL in apex court, challenges relief given to Salman Khan

हिंदुस्तान मीडिया वेंचर्ल के शुद्ध लाभ में 27 प्रतिशत उछाल

मुंबई : विज्ञापन और सर्कुलेशन दोनों से अच्छी आय होने से हिंदी अखबार ‘हिंदुस्तान’ की प्रकाशक कंपनी, हिंदुस्तान मीडिया वेंचर्स लिमिटेड (एचएमवीएल) का शुद्ध लाभ 31 मार्च को समाप्त वित्त वर्ष में 27 प्रतिशत बढ़ गया है। कंपनी ने वित्त वर्ष 2014-15 में 140.9 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ हासिल किया है। इस दौरान उसकी कुल आय 15 प्रतिशत बढ़कर 875 करोड़ रुपए पर पहुंच गई। इसमें विज्ञापन से हुई आय जहां 12.5 प्रतिशत बढ़ी है, वहीं सर्कुलेशन से हुई आय में 12.6 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की गई।

दिल्ली के पत्रकार हत्या कांड में मुख्य आरोपी को सीबीआई ने दबोचा

नई दिल्ली : सीबीआई ने स्वतंत्र पत्रकार चंद्रिका राय और उनके परिवार के तीन सदस्यों की 2012 में हुयी हत्या के मामले में मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

यादव सिंह केस : 14 जुलाई को सीबीआई जाँच पर फैसला

यादव सिंह मामले में इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच में सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर द्वारा दायर पीआईएल में आज राज्य सरकार ने प्रमुख सचिव, अवस्थापना और औद्योगिक विकास महेश कुमार गुप्ता द्वारा उदय सिंह कुमावत, संयुक्त सचिव, वित्त मंत्रालय, भारत सरकार को भेजे पत्र दिनांक 06 अप्रैल 2015 की प्रति प्रस्तुत की.  

रिटेल एफडीआई पर क्या हैं केंद्र सरकार के यू-टर्न के मायने

भारतीय जनता पार्टी की मोदी सरकार ने खुदरा व्यापार में 51 प्रतिशत एफडीआई के पूर्ववर्ती सरकार के निर्णय को जारी रखने का फैसला किया है। कभी इसी भाजपा ने 8 दिन संसद रोककर, हर राज्य की राजधानी में बड़ा प्रदर्शन आयोजित कर यह कहा था कि वह सत्ता में आई तो तुरंत रिटेल सेक्टर में एफडीआई का फैसला वापस ले लेगी। भाजपा के चुनाव घोषणापत्र और चुनावी जुमलों में यह नारेबाजी जारी रही। 20 सिंतबर,2012 को 48 छोटी-बड़ी पार्टियों के साथ भारत बंद का आयोजन कर भाजपा ने इस नीति का विरोध किया था और एक मंच पर भाजपा-कम्युनिस्ट, सोशलिस्ट सब साथ आए थे।

मजीठिया वेतनमान : चंडीगढ़ का श्रम विभाग नहीं रखता मीडिया कर्मियों का कोई लेखा-जोखा

मजीठिया वेज बोर्ड की संस्तुतियों के क्रियान्वयन की जांच-पड़ताल के लिए नोडल अफसरों/इंस्पेक्टरों की नियुक्ति/तैनाती/मनोनयन/नामजदगी की खातिर निर्धारित अवधि पूरी होने में करीब डेढ़ हफ्ता रह गया है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में इस काम के लिए 28 अप्रैल 2015 से चार हफ्ते का समय दिया था। यह आदेश राज्य सरकारों को जारी किया गया था जो अपने मुख्य सचिवों के मार्फत काम-कार्यवाही करती हैं। कुछ या कई राज्य सरकारें इस आदेश पर अमल की दिशा में सक्रिय हो गई हैं। मसलन, हरियाणा के मुख्य सचिव ने श्रम विभाग के आला अधिकारियों के साथ बैठक, विचार-विमर्श शुरू कर दिया है।

टेक्नोलॉजी क्रांति के दौर में आज इंटरनेट मीडिया कमाई का बड़ा अवसर : यशवंत सिंह

गोरखपुर : गोरखपुर जर्नलिस्ट्स प्रेस क्लब व लेंस मैन के संयुक्त तत्वावधान में शुक्रवार को प्रेस क्लब सभागार में भड़ास4मीडिया के संस्थापक और संपादक यशवंत सिंह ने ’वेब मीडिया कंटेंट मानेटाइजेशन वर्कशाप’ में यूट्यूब चैनल, न्यूज पोर्टल, ब्लाग, फेसबुक, के जरिए पैसे कमाने के तरीके बताए। 

शुक्रवार को गोरखपुर प्रेस क्लब सभागार में वर्कशॉप के बाद भड़ास4मीडिया के संस्थापक संपादक यशवंत सिंह (बीच में) के साथ सहभागी मीडिया कर्मी

इंदौर ‘दंबग दुनिया’ में भगदड़, एक सप्ताह में चार ने नौकरी छोड़ी

इंदौर : यहां के हिंदी अखबार ‘दैनिक दंबग दुनिया’ में इन दिनो तो जैसे भगदड़ सी मची हुई है। पिछले एक सप्ताह के भीतर ही अखबार से एक एक कर चार लोगों ने नौकरी छोड़ दी है। पूरे स्टॉप में भारी असंतोष बताया जा रहा है।

दिल्ली के पत्रकार विभूति रस्तोगी के बुजुर्ग पिता से बिहार में 20 लाख की रंगदारी मांगी, मीडिया से मदद की गुहार

जब से बिहार में लालू प्रसाद यादव के मिलकर नीतीश कुमार का राज आया है तब से लूटपाट, फिरौती और दिनदहाड़े रंगदारी की मांग में दिनोंदिन बढोतरी होती जा रही है। या यूं कहें कि सुशासन राज की जगह अब बिहार में एक बार फिर से जंगलराज फैलता जा रहा है। वैसे तो रोज इस तरह के मामले बिहार में आ रहे हैं जिसमें धमकी देकर रंगदारी वसूलना और अपहरण-फिरौती मांगी जा रही है लेकिन ताजा मामला एक पत्रकार के परिवार से जुड़ा है और पूरा परिवार बेहद सदमे में है।

श्रम विभाग से खूब सजग रहें पत्रकार, आरटीआई में खुला उत्तरांचल के सूचना विभाग का झूठ

आज सूचना क्रांति के दौर में  भी उत्तराखंड का सूचना विभाग कितना चुस्त-दुरुस्त है, इसका अंदाजा इस बात से ही लग जाता है कि श्रम विभाग की नजर में देहरादून से प्रकाशित तीन अखबार अमर उजाला , दैनिक जागरण और हिंदुस्तान ने मजीठिया वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू कर दिया है। झूठ की भी एक हद होती है। 

नशे में नीलाभ अश्क ने पत्नी भूमिका द्विवेदी पर किया अटैक, गाली-गलौज, मारपीट

गाजियाबाद : पिछले एक सप्ताह से अधिक समय से लापता लेखक-रंगकर्मी एवं प्रसिद्ध साहित्यकार उपेंद्रनाथ अश्क के पुत्र नीलाभ अश्क ने कल घर पहुंचकर अपनी पत्नी भूमिका द्विवेदी से गाली-गलौज और मारपीट की। भूमिका का कहना है कि हमले के समय वह शराब के नशे में धुत्त थे। उन्होंने तुरंत पुलिस के अलावा आसपास के लोगों को मौके पर बुला लिया, जिससे कोई बड़ी वारदात होने से रह गई। 

इमरान खान की दूसरी पत्रकार पत्नी रेहम सोशल मीडिया से दुखी

इन दिनो इमरान खान की दूसरी पत्रकार पत्नी रेहम खान सोशल मीडिया पर आए दिन अपने बारे में होने वाली चर्चाओं से परेशान रहने लगी हैं। वह अपनी डायरी में लिखती हैं – ‘मैं अपनी शादी के बारे में क्या कहूं, जबकि अब तक इसके बारे में सैकड़ों ट्वीट हो चुके हैं। जब से मेरी और इमरान की शादी का खुलासा लोगों के सामने हुआ है, हैशटैग सेल्फीविदभाभी और रेहमदइविल जैसे ट्वीट से सोशल मीडिया पर चर्चा जारी है।’

बीबीसी संपादक आलोचनाओं के निशाने पर, चरमपंथियों से की गांधी, मंडेला की तुलना

लंदन : बीबीसी संपादक द्वारा महात्मा गांधी, नेल्सन मंडेला और विंस्टन चर्चिल की तुलना कथित तौर पर एक ब्रितानी कट्टरपंथी मुस्लिम धर्म प्रचारक से करने पर बीबीसी को कड़ी आलोचनाओं का शिकार होना पड़ रहा है.

अश्लील एमएमएस बनाने वाला देश का सबसे बड़ा गिरोह सीबीआई की गिरफ्तार, 500 से ज्यादा क्लिप बरामद

सीबीआई ने पोर्न क्लिप और अश्लील एमएमएस बनाकर वेबसाइट तथा सोशल मीडिया में जारी करने वाले देश के सबसे बड़े गिरोह का पर्दाफाश किया है. इसके सरगना को बंगलुरु से हिरासत में लिया गया है. उससे पास से 500 से अधिक पोर्न क्लिप मिली हैं, जिनमें महिलाओं के साथ ही बच्चों को भी आपत्तिजनक स्थिति में दिखाया गया है. 

‘जानो दुनिया’ न्यूज चैनल और नीसा ग्रुप के मालिक गिरफ्तार

गांधीनगर (गुजरात) : गांधीनगर-अहमदाबाद मेट्रो प्रोजेक्ट के करोड़ों रुपए के घोटाले में ‘जानो दुनिया’ न्यूज चैनल और नीसा ग्रुप के मालिक पूर्व आईएएस संजय गुप्ता को गुजरात पुलिस की सीआईडी टीम ने गांधीनगर में गिरफ्तार कर लिया। 

हरिद्वार में होटल मैनेजर से 15 लाख की रंगदारी मांगते तीन कथित पत्रकार कैमरे में कैद

हरिद्वार : खुद को न्यूज चैनल का रिपोर्टर बताकर यहां के एक होटल प्रबंधक से 15 लाख रुपए रंगदारी मांगने वाला सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया है। बताया जाता है कि रंगदारी मांगने वालों का पूरा एक गिरोह है। रंगदारी मांगने से आरोपियों ने होटल की पूरी रैकी की थी। इस संबंध में तहरीर मिलने के बाद पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है।

टैराकोटा वॉरियर्स म्यूज़ियम में नहीं घुस पाए भारत के कई रिपोर्टर

शियान : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दौरे को कवर करने यहां पहुंचे मीडियाकर्मियों को उस समय गहरा धक्का लगा, जब उन्हें शियान के ऐतिहासिक टैराकोटा वॉरियर्स म्यूजियम में नहीं घुसने दिया गया। ऐसा तब हुआ, जबकि इन तमाम मीडियाकर्मियों को चीनी ऑथोरिटी की तरफ से बकायदा पास भी जारी हो चुका था। 

सोशल मीडिया का कमाल : व्हाट्सएप से खबदार कर युवती बदमाशों से भिड़ी, सब दबोचे गए

हापुड़ (उ.प्र.)  : यहां बुधवार को एक युवती की समझदारी और बहादुरी से बदमाशों के पांव उखड़ गए। सभी बदमाश दबोच कर पुलिस के हवाले कर दिए गए। हुआ ये कि युवती को जैसे ही बदमाशों के आने की भनक लगी, उसने व्हाट्सएप पर सूचना प्रसारित कर दी। इसके बाद वह बदमाशों के पहुंचते ही उनसे भिड़ गई।

 

अरुण जेटली को तो चिंता है मीडिया के वित्तीय मॉडल की

दिल्ली : सूचना एवं प्रसारण मंत्री अरुण जेटली ने भारतीय जनसंचार संस्थान (आईआईएमसी) द्वारा आयोजित एक सेमिनार में ‘एक संचार विश्वविद्यालय की स्थापना’ विषय पर संबोधित करते हुए कहा कि समुचित वित्तीय मॉडल का अभाव कई मीडिया संगठनों के लिए चुनौती है। इससे पेड न्यूज का भी रास्ता खुल जाता है। डिजीटल माध्यम के पीछे क्या वित्तीय मॉडल है, यह अभी तक संघर्ष कर रहा है- इलेक्ट्रानिक मीडिया में असामान्य बात यह है कि इसकी वितरण लागत, इसकी विषय वस्तु (कंटेंट) की लागत से अधिक है।

लाइव इंडिया में मैनेजमेंट की गुंडई जारी, गार्ड से धक्के दिलवा कर छह को निकाला, लड़कियों से बदसलूकी

लाइव इंडिया के ‘प्रजातंत्र’ अखबार की भी हालत इन दिनो एकदम खस्ता चल रही है। प्रबंधन पूरी तरह मनमानी पर उतारू है। हाउस में भारी असंतोष और तनाव है। पिछले दिनों छह कर्मचारियों को गॉर्ड से धक्के दिलवाकर गेट से बाहर का रास्ता दिया गया। बताया जाता है कि लड़कियों के साथ बदसलूकी भी की गई। 

मीडिया से सरकार की जंग बरकरार

नई दिल्ली : आजकल मीडिया सवालों के घेरे में है। पिछले कुछ दिनों से मीडिया की कार्यप्रणाली और रुख पर सवाल उठने शुरू हो गए हैं। सवाल यह है कि क्या मीडिया बदल रहा है? क्या मीडिया के नैतिक पक्ष पर ऐसे सवाल जायज हैं?

सन टीवी के सिक्योरिटी लाइसेंस को लेकर राजनाथ और जेटली में ठनी

नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल दो शीर्ष चेहरे केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह और वित्त मंत्री अरुण जेटली के बीच इन दिनो कलानिधि मारन के सन टीवी नेटवर्क के सिक्योरिटी लाइसेंस को लेकर तनातनी है।  जेटली ने गृह मंत्री राजनाथ को पत्र लिखकर सन टीवी नेटवर्क की कंपनियों का लाइसेंस रद्द करने की वजह पूछी है।

जल, जंगल, जमीन और जमराज

‘जमराज’ जब गाँव में पहुँचते है तो वहाँ के कुत्ते निहायत समाजवादी ढंग से उनके साथ कोई वर्गभेद किये बगैर वैसे ही दौड़ाते हैं, जैसे वे रात्रिकाल में बड़े ही खतरनाक ढंग से आम इंसान की खोज-खबर लेते हैं। बेचारे यमराज का पारंपरिक वाहन जान बचाकर कहीं भाग जाता है, कुत्ते उनके कुर्ते को चीथ डालते हैं, उनका रत्नजड़ित गदा व मुकुट धराशायी हो जाता है और इस पर भी तुर्रा यह कि एक ग्रामीण उन्हें चोर समझकर दबोच लेता है। 

सड़क हादसे में महिला पत्रकार की मौत

मुंबई : एक सड़क दुर्घटना में मराठी दैनिक दिव्य भास्कर की महिला पत्रकार  प्रियंका  दहाले (26 )  की मौत हो गयी।  वह अपनी सगाई के लिए होम टाउन नाशिक जा रही  थीं। एक पत्रकार होने के साथ -साथ वह अच्छी लेखिका भी थीं। उनके असामयिक निधन से मुंबई में बॉलीवुड से जुड़े पत्रकारों में शोक …

गोरखपुर में वेब मीडिया कंटेंट मानेटाइजेशन वर्कशाप 15 मई को, आप भी आएं

गोरखपुर प्रेस क्लब ने 15 मई को नेटवीरों के लिए कंटेंट मानेटाइजेशन वर्कशाप का आयोजन किया है. वेब मीडिया फील्ड में सक्रिय लोग इस वर्कशाप में शिरकत कर अपने कंटेंट के माध्यम से पैसे कमाने का गुर सीख सकते हैं. कार्यक्रम का आयोजक गोरखपुर जर्नलिस्ट्स प्रेस क्लब है. आयोजन स्थल है प्रेस क्लब सभागार. आयोजन तिथि 15 मई और समय 11 बजे दिन है. आयोजन के मुख्य वक्ता यशवंत सिंह हैं जो दिल्ली स्थित वरिष्ठ पत्रकार हैं. साथ ही चर्चित वेबसाइट भडास4मीडिया डाट काम के सीईओ और एडिटर हैं. यशवंत सिंह इससे पहले दिल्ली में देश भर के नेटवीरों के लिए कंटेंट मानेटाइजेशन वर्कशाप का आयोजन कर चुके हैं जिसकी सराहना प्रत्येक भागीदार ने की.

पूर्व केंद्रीय गृह सचिव की जांच कैबिनेट सचिवालय विजिलेंस सेल को

आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर ने पूर्व केंद्रीय गृह सचिव अनिल गोस्वामी द्वारा सारधा घोटाले के आरोपी पूर्व मंत्री मतंग सिंह की गिरफ्तारी कथित रूप से रुकवाने के लिए सीबीआई पर दवाब बनाने की भूमिका के सम्बन्ध जांच करने हेतु केन्द्रीय सतर्कता आयोग में शिकायत भेजी थी। उस पर संज्ञान लेते हुए आयोग ने इसे कैबिनेट सचिवालय के सतर्कता और शिकायत सेल को जाँच के लिए सौंप दिया है.

घायल महेंद्र आसाराम आश्रम का राजफाश करने वाला था

आसाराम मामले के गवाह महेंद्र चावला पर कल पानीपत में हुए हमले पर मुज़फ्फरनगर में गवाह अखिल गुप्ता मामले में मृतक पक्ष की ओर से न्याय दिलाने में मदद कर रहे यूपी कैडर के आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर ने हरियाणा के डीजीपी को पत्र लिख कर इस घटना में आसाराम बापू एंगल देखने का अनुरोध किया है.

नीलाभ से विवाद के बाद भूमिका ने लिखी एक कविता- ”रहम कर मुझ पर मालिक, किसी कमसिन, किसी भोली से मिला दे”

पचहत्तर बरस के साहित्यकार नीलाभ अश्क और 25 वर्ष की उनकी पत्नी भूमिका द्विवेदी के बीच विवाद होने के बाद भूमिका ने अपने फेसबुक वॉल पर एक कविता पोस्ट की है. इस कविता में कहीं भी नीलाभ अश्क का नाम नहीं है लेकिन पढ़ने वाला हर कोई समझ रहा है कि यह कविता किसको लक्षित कर लिखी गई है. इस कविता को फेसबुक पर खूब लाइक और कमेंट्स मिल रहे हैं. आप भी पढ़िए…

सुप्रीम कोर्ट का झटका, जेल से बाहर नहीं आ सके सुब्रत रॉय, जमानत पर फैसला सुरक्षित

सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय को गुरुवार को भी कोई राहत नहीं मिल पाई। सुप्रीम कोर्ट ने उनकी जमानत पर फैसला सुरक्षित रख लिया है। उम्मीद की जा रही थी कि उनको जमानत मिल सकती है, क्योंकि ज़मानत के लिए पांच हज़ार करोड़ रुपये कैश और पांच हज़ार करोड़ रुपये की जो बैंक गारंटी मांगी गई थी, उसके लिए सहारा ग्रुप तैयार है। 

पत्रकार स्वप्नदास गुप्ता को अरुण जेटली ने रातोंरात बना दिया कारपोरेट किंग!

अरुण जेटली की कृपा से इंडिया टुडे के पूर्व मैनेजिंग एडिटर स्वप्न दास गुप्ता रातोंरात कारपोरेट किंग बन गए. उन्हें 26 बिलियन डालर वाली भारत की सबसे बड़ी कांस्ट्रक्शन कंपनी लारसेन एंड टर्बो (एल एंड टी) के बोर्ड आफ डायरेक्टर्स में शामिल कर लिया गया है. यह एंट्री उन्हें अरुण जेटली के कोटे से मिली है. बीते एक अप्रैल से दासगुप्ता L&T की लीडरशिप में शामिल हो चुके हैं.

ओम गौड़ बने भास्कर बिहार-झारखण्ड के हेड, वाईसी अग्रवाल हुए किनारे, नवीन जोशी भी जाएंगे

बिहार से एक बड़ी खबर. भास्कर का बिहार-झारखण्ड में बतौर प्रबंध संपादक काम देख रहे वाई. सी. अग्रवाल ने किनारा थाम लिया है. उनके द्वारा लाये गए एडिटोरियल हेड नवीन जोशी भी लखनऊ वापसी के लिए अपना बोरिया बिस्तर बाँधने लगे हैं. हिंदुस्तान को बिहार झारखण्ड में ऊँचाइयों पर ले जाने वाले अग्रवाल को गत वर्ष भास्कर के नेटवर्क विस्तार की जिम्मेवारी मिली थी लेकिन यहाँ के सक्रिय सिंडिकेट ने उनकी एक नहीं चलने दी.

गोरखपुर से महिलाओं का अखबार ‘मेरी दुनिया मेरा समाज’ लांच

गोरखपुर। ”महिलाओं को पूरा हक है कि वे विशिष्ट जानकारियां ले सकें। उन्हें पूरा हक है कि कम कीमत में भरपूर मनोरंजक सामग्रियां पढ़ सकें। यही वजह है कि हमने मेरी दुनिया मेरा समाज की कीमत मात्र 10 रुपये रखी। हम चाहते हैं कि समाज की हर महिला इसे पढ़ें ताकि उन्हें हर क्षेत्र में मदद मिल सके।” यह कहना है मेरी दुनिया मेरा समाज की प्रधान संपादक रिंकू सिंह का। वह ‘मेरी दुनिया मेरा समाज’ के लांचिंग के मौके पर अपनी बात रख रही थीं।

जी के चैनल ‘जिंदगी’ और फिल्म गब्बर के डायरेक्टर को नोटिस

धारावाहिक ‘वक्‍़त ने किया क्‍या हसीं सितम’ और फिल्म ‘गब्बर’ विवादों के घेरे में आ गए हैं। धारावाहिक ‘वक्‍़त ने किया क्‍या हसीं सितम’ पर बीसीसीसी के अध्‍यक्ष मुकुल मुद्गल ने जी के ‘ज़िंदगी’ चैनल को एक सम्‍मन भेजकर इसके कंटेंट पर जवाब-तलब किया है। दर्शकों ने इस धारावाहिक पर ऐतराज़ जताया है। उधर, इंडियन मेडिकल असोसिएशन ने फिल्म गब्बर के डायरेक्टर को लीगल नोटिस भेजकर आपत्ति जताई है कि इसमें मेडिकल प्रफेशन को अपमानजनक और गलत रूप में दिखाया गया है।   

फेसबुक का बीबीसी और न्यूयार्क टाइम्स समेत नौ मीडिया कंपनियों से करार

बेंगलुरु : फेसबुक इंक ने नौ प्रकाशकों के साथ करार किया है जिसके तहत उन प्रकाशनों के  ‘त्वरित लेख’ छापे जाएंगे. ये लेख सीधे सोशल मीडिया के फीड के माध्यम से पाठकों तक उपलब्ध होंगे. इस तरह के त्वरित लेख साधारण मोबाइल के नेटवर्क से 10 गुना तेज गति से काम पहुंचेंगे. फेसबुक के इस करार में न्यूयार्क टाइम्स, बज फीड और नेशनल ज्योग्राफिक जैसे प्रकाशक शामिल हैं.

सोशल मीडिया से निपटने के लिए यूपी सरकार मेरठ और लखनऊ में स्थापित करेगी दो लैबोरेट्रीज

लखनऊ : अखिलेश यादव सरकार सोशल मीडिया पर लखनऊ और मेरठ में दो लैबोरेट्रीज स्थापित करने जा रही है। पुलिस इनके माध्यम से सोशल मीडिया कंटेंट पर नजर रखेगी। 

मीडिया के खिलाफ दिल्ली सरकार के सर्कुलर पर सुप्रीम कोर्ट का ब्रेक

मीडिया पर अंकुश लगाने की कोशिश के तहत दिल्ली सरकार की ओर से जारी किए गए एक सर्कुलर पर सुप्रीम कोर्ट ने आज रोक लगा दी है। अरविंद केजरीवाल की सरकार ने 6 मई को जारी इस सर्कुलर के जरिए अपने अधिकारियों को सरकार, मुख्यमंत्री और मंत्रियों की छवि खराब करने वालों की खबरों की पहचान कर इसके लिए मीडिया के खिलाफ लीगल ऐक्शन लेने का निर्देश दिया था।

मजीठिया वेतनमान : राजस्थान के श्रममंत्री ने दिए इंस्पेक्टर की नियुक्ति के आदेश

जयपुर में गुरुवार को मजीठिया वेज बोर्ड इम्प्लीमेंटेशन संघर्ष समिति की ओर से राजस्थान के श्रममंत्री सुरेंद्रपाल सिंह टीटी को ज्ञापन दिया गया। उनको सुप्रीम कोर्ट के 28 अप्रैल को दिए गए आर्डर की कॉपी भी दी गई। साथ ही उनसे मांग की गई की कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार इंस्पेक्टर की नियुक्ति की जाए, जो सभी अखबारों की जाँच करे कि उन्होंने मजीठिया वेज बोर्ड की सिफारिशों के अनुसार अपने वर्कर / पत्रकारकर्मियों को बढ़ा हुआ वेतन दिया अथवा नहीं। 

राजस्थान के श्रममंत्री सुरेंद्रपाल सिंह टीटी को ज्ञापन देते दैनिक भास्कर के वरिष्ठं पत्रकार संजय सैनी, पत्रिका के राकेश शर्मा अमित मिश्रा, व उनके साथी 

ये तो ठीक बात नहीं, आउट लुक के संपादक को खेद प्रकट करना चाहिए

हिंदी आउटलुक पत्रिका के संपादक नीलाभ मिश्रा ने प्रो. जीएन साईबाबा पर अरुंधती रॉय के लिखे निबंध का जो अनुवाद अपनी वेबसाइट पर छापा है और शेयर किया है, उसमें अनुवादक का नाम ”दिव्‍यशिखा” लिखा है। मूल लेख का दो दिन पहले रियाजुल हक ने हिंदी में अनुवाद किया था जिसे ”हाशिया” ब्‍लॉग पर पढ़ा जा रहा है। {http://hashiya.blogspot.in/2015/05/blog-post_10.html?m=1}

आउट लुक संपादक नीलाभ मिश्रा

सुब्रतो की ज़मानत पर फ़ैसला आज, पांच माह से वेतन के बिना बे-सहारा स्टॉफ को बेचैनी से इंतजार

सहारा सुप्रीमो सुब्रत रॉय की जमानत पर सुप्रीम कोर्ट में आज गुरुवार को सुनवाई होने वाली है। सुब्रत रॉय के वकीलों ने दावा किया है कि उनकी जमानत की रकम का इंतजाम हो चुका है। इसके बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि करीब एक साल से तिहाड़ जेल में सजा काट रहे सहारा प्रमुख जमानत पर आज रिहा हो सकते हैं। सुब्रत राय की रिहाई का अगर सबसे ज्यादा बेचैनी से किसी को इंतजार है तो राष्ट्रीय सहारा के मीडिया कर्मियों को। उन्हें पांच-छह महीने से सैलरी ही नहीं दी जा रही है। 

जिन ढूंढा तिन पाइयां, मुद्दत बाद आखिर मिल ही गए वो स्टेट्समैन वाले जेके साहनी

करीब चार साल की नौकरी के बाद 2001 में मैंने पहली बार राष्ट्रीय सहारा की नौकरी को विदा कहा था। तब मैं रुड़की में संवाददाता हुआ करता था। मेरे करीबी मित्रों में, सबसे करीब थे जे.के.साहनी, दि स्टेट्समैन के रिपोर्टर। 2001 के बाद मैंने कभी पीछे मुड़कर रुड़की की तरफ नहीं देखा! पिछले दिनों करीब 13 साल बाद रुड़की में नाइट स्टे का संयोग बना। होटेल में वक्त बिताने की बजाय मैं साहनी साहब से मिलने को आतुर था।

भास्कर का कर्मचारी मासूम से करता था रेप, रिपोर्ट दर्ज, नौकरी गई, घर से फरार

दैनिक भास्कर इंदौर में कार्यरत सचिन श्रीवास्तव पर 13 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म करने का गंभीर आरोप लगा है। मामला प्रकाश में आते ही भास्कर ने उसे टर्मिनेट कर दिया है। 

नेताओं के फोटो वाले विज्ञापनों पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

सरकारी विज्ञापनों के नियमन से जुड़े दिशानिर्देश जारी करते हुए आज उच्चतम न्यायालय ने कहा कि इन विज्ञापनों में राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और प्रमुख न्यायाधीश जैसे कुछ ही पदाधिकारियों की तस्वीरें हो सकती हैं। 

Yashwant Singh Versus Salman Salim Khan

: सलमान खान को अवैध तरीके से जमानत दिए जाने के खिलाफ 13 मई 2015 को सुप्रीम कोर्ट में दायर PIL का संपूर्ण कंटेंट :

IN THE SUPREME COURT OF INDIA

(EXTRAORDINARY CRIMINAL WRIT JURISDICTION)

WRIT PETITION (CRIMINAL) NO. xxx 2015

In the matter of:

MEMO OF PARTIES

यह क्या… अपने डीजीपी तो खड़े हो गए गुंडों के साथ

लखनऊ। यह एक ऐसी खबर है जिस पर आपको भरोसा नहीं होगा, मुझे भी नहीं हुआ था। आइये आपको बताते हैं एक ऐसा वाक्या जिसने पूरी यूपी पुलिस के दामन पर ऐसा दाग लगाया है जो मुश्किल से छूटेगा। जब पुलिस का सबसे बड़ा अफसर गुंडों की पैरवी में दिन-रात एक कर दे तो भला कानून का ध्यान कौन रखेगा। अपने डीजीपी अरविंद कुमार जैन ने जो कारनामा कर दिया है वैसा कारनामा आज तक शायद किसी डीजीपी ने नहीं किया होगा।

सलमान खान को अवैध तरीके से जमानत दिए जाने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर

एडवोकेट उमेश शर्मा और पत्रकार यशवंत सिंह मीडिया को जनहित याचिका के बारे में जानकारी देते हुए.


एक बड़ी खबर दिल्ली से आ रही है. सलमान खान को मिली जमानत खारिज कर उन्हें जेल भेजे जाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में आज एक जनहित याचिका दायर की गई. यह याचिका चर्चित मीडिया पोर्टल Bhadas4Media.com के संपादक यशवंत सिंह की तरफ से अधिवक्ता उमेश शर्मा ने दाखिल की. याचिका डायरी नंबर 16176 / 2015 है. जनहित याचिका के माध्यम से इस बात को अदालत के सामने लाया गया है कि सेशन कोर्ट बॉम्बे ने इस मामले में पहले से निर्देशित कानून का पालन जानबूझ कर नहीं किया जिसकी वजह से सलमान खान को बेल आराम से मिल गयी और इससे भारत के पढ़े-लिखे लोग सन्न है. हर तरफ कोर्ट पर सवाल उठाए जाने लगे. सोशल मीडिया पर कोर्ट के खिलाफ नकारात्मक टिप्पणियों की बाढ़ सी आ गई.

‘दबंग दुनिया’ अखबार के खिलाफ अधूरी आरटीआई पर अपील की चेतावनी

इंदौर (म.प्र.) : मालवीयनगर निवासी राजेंद्र शर्मा ने आरटीआई के तहत ‘दबंग दुनिया’ अखबार के संबंध में अपीलीय अधिकारी एवं क्षेत्रीय भविष्य निधि आयुक्त से मिली अधूरी जानकारी के विरुद्ध कोर्ट में मामला दायर करने की चेतावनी दी है।

किसी बिल्ली का इंटरव्यू लेने वाले पहले पत्रकार बने राहुल पांडेय!

Yashwant Singh : दिल्ली के युवा, प्रतिभावान और तेजतर्रार पत्रकार राहुल पांडेय अपने घर पर रोज आने वाली बिल्ली से कुछ यूं दोस्ती गांठ चुके हैं कि वे अब उसके सुख-दुख को लेकर इंटरव्यू करने लगे हैं. जरा देखिए तो ये इस मीनू का इंटरव्यू. मीनू इन बिल्ली महोदया का नाम है. राहुल जी बिल्ली को बिल्ली नहीं कहते, मीनू जी कहकर पुकारते हैं. उसके लिए दूध हरवक्त तैयार रखते हैं. कब मीनू जा आ जाएं और खाने-पीने को लेकर आवाज लगा दें. सो, उनके लिए खाना-पीना सब तैयार रखते हैं. अकेले रहने वाले पत्रकार राहुल अपने लिए भले न कुछ पकाएं, लेकिन मीनू का मेनू तैयार रखते हैं.

(पत्रकार राहुल पांडेय के घर पर नए मेनू के लिए चिंतन करतीं मीनू जी की एक मुद्रा)

बच्चे सप्लाई कर रही हैं चार हज़ार अवैध एजेंसियाँ, धंधे में दिल्ली पुलिस भी शामिल, मीडिया खामोश

दिल्ली में कोई चार हज़ार अवैध प्लेसमेंट एजेंसियाँ घरेलू काम के लिये बच्चे सप्लाई करने का धंधा चला रही हैं । पाँच हज़ार से लेकर पचास हज़ार तक की रिश्वत प्रतिमाह पुलिस थाने को दे देने पर पुलिस इनकी मौजूदगी से आँख फेर लेती है । कई एन जी ओ इन मामलों को उठाते हैं तो पहले पुलिस टालमटोल करती है या काउन्सलिंग के नाम पर बच्चों को इस या उस एजेंसी में ट्रानसफर कर देती है । पूरे खेल पर मीडिया ने खामोश चुप्पी साध रखी है। रिपोर्ट इस प्रकार है…..

अपराध करा रहे दैनिक जागरण के कई अधिकारी, कर्मचारियों के विरोध पर लौट गए पुलिस वाले

दैनिक जागरण प्रबंधन एक ऐसी आग को हवा दे रहा है, जिससे आमतौर पर इतिहास बदल जाया करते हैं। हम आपको बता चुके हैं कि सोमवार को सर्बर बैठने के बाद हड़ताल की आशंका से दैनिक जागरण की नोएडा यूनिट के परिसर में पुलिस बुला ली गई थी। इसका कर्मचारियों ने कड़ा विरोध किया और …

‘अर्द्ध सत्य’ के इस शानदार एपिसोड के लिए राणा यशवंत बधाई के पात्र हैं

भड़ास4मीडिया के कामकाज की व्यस्तता और यहां-वहां की यात्राओं-भागदौड़ के कारण न्यूज चैनल देखने का कम ही मौका मिल पाता है. लेकिन जब भी देखता हूं तो ज्यादातर निराश होता हूं और तुरंत डिस्कवरी, डिस्कवरी साइंस, एनजीसी, हिस्ट्री आदि चैनलों पर जाकर टिक जाता हूं. बकवास की चीख पुकार की जगह धरती ब्रह्मांड समुद्र जीव जंतु आदि के बारे में जानना सुनना समझना श्रेयस्कर है. दो रोज पहले ऐसे ही हिंदी न्यूज चैनलों पर भटक रहा था तो इंडिया न्यूज चैनल के मैनेजिंग एडिटर राणा यशवंत का शो ‘अर्द्ध सत्य’ देखने लगा. शो अभी शुरू ही हुआ था. कंटेंट प्रभावित करता गया. रुक कर देखने को बाध्य हुआ.

भारतीय न्यायिक व्यवस्था के सबसे बड़े गड़बड़झाले के बारे में होगा खुलासा, आप भी आइए

अगर आप फेसबुक पर हैं, अगर आप ट्वीटर पर हैं, अगर आप ब्लागर हैं, अगर आप न्यूज पोर्टल संचालक हैं, अगर आप अखबार में हैं, अगर आप मैग्जीन में हैं, अगर आप न्यूज चैनल में हैं, अगर आप किसी भी रूप में मीडियाकर्मी हैं, अगर आप सिटीजन जर्नलिस्ट हैं, अगर आप सोशल एक्टिविस्ट हैं, अगर आप जनसरोकारी हैं, अगर आप न्यायपालिका के वर्तमान चाल चरित्र से नाखुश हैं तो आप का इस आयोजन में पहुंचना बनता है. आयोजन यानि एक नए किस्म की प्रेस कांफ्रेंस. इसमें कारपोरेट मीडिया हाउसों के पत्रकार साथियों के अलावा ब्लागरों, सोशल मीडिया के यूजरों समेत अन्य सोच-समझ वाले लोगों को भी बुलाया गया है.

बांग्लादेश में एक और ब्लॉगर को नकाबपोशों ने मार डाला

बांग्लादेश में मंगलवार को एक ब्लॉगर की जान ले ली गई। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि ब्लॉगर अनंत बिजॉय दास पर सिलहट शहर में नकाबपोश लोगों ने मांस काटने वाले चाकू से हमला किया। इस साल इस तरह की यह तीसरी घटना है। 

यूपी : अगले 48 घंटों में 48 से ज़्यादा IAS-IPS अफसरों के तबादले की संभावना

उत्तर प्रदेश के प्रशासनिक अमले में एक बार फिर बड़े पैमाने पर बदलाव की तैयारी चल रही है। सूबे के समाजवादी मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अगले 48 घंटों में 48 से ज़्यादा IAS और IPS अफसरों का तबादला करने जा रहे हैं। 

सोमवार को सर्वर क्‍या बैठा, जागरण प्रबंधन का तो जैसे आत्‍मविश्‍वास ही बैठ गया

सोमवार को दिन में दैनिक जागरण की नोएडा यूनिट का सर्वर बैठ गया और चापलूसी का रिकार्ड बना चुके प्रबंधकों की रूह कांप गई। उन्‍हें लगा कि हड़ताल के भूकंप का यह पहला झटका है। फिर क्‍या था, आनन फानन में पुलिस बुला ली गई। दरअसल, जब मन में चोर बसा होता है तो ऐसा ही होता है। प्रबंधकों को यह पता है कि उन्‍होंने क्‍या क्‍या गुनाह किए हैं, किस प्रकार कर्मचारियों को पाई पाई के लिए तरसाया है, किस तरह भेदभाव करके काबिल लोगों को कुंठित किया है।

एंटी-मदर कविता

मदर्स-डे पर माँ के बारे में बहुत कुछ लिखा गया… माँ बहुत महान होती है, माँ की पूजा करनी चाहिए, माँ जैसी कोई नहीं आदि आदि… लेकिन आज की मॉडर्न माँ के बारे में क्या कहेंगे? सभी अख़बारों ने परंपरागत रूप में “अच्छी माँ” के बारे में ही छापा- कविता, कहानी, लेख सब में… लेकिन सतना से प्रकाशित अख़बार “मध्यप्रदेश जनसंदेश” के रविवारीय परिशिष्ट “शब्दरंग” में इसका उल्टा देखने को मिला. मदर्स-डे पर प्रकशित रवि प्रकाश मौर्य की ये कविता इन दिनों काफी चर्चित हो रही है.

मजीठिया वेतनमानः मीडिया मालिकों पर बहुत भारी पड़ सकती है पत्रकारों की लड़ाई

28 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर पत्रकारों में हताशा है। कारण मालिकों को जेल नहीं हुई, जो जायज है। उम्मीद तो यही लगाई जा रही थी कि सुको मजीठिया वेज बोर्ड के लिए कोई समिति गठित कर सकती है और अवमानना के मामले में मालिकों को गिरफ्तार कर सकती है, लेकिन फैसला आधा ही हुआ। खैर अब आगे जो होने वाला है वह मालिकों को लिए रूह कंपा देने वाला होगा। क्योंकि श्रम अधिकारी की रिपोर्ट के बाद सुप्रीम कोर्ट सीधे वसूली पत्रक जारी कर सकता है। इसके लिए जरूरी है पत्रकार एकजुट हों और हर संस्थान में अपना संगठन बनाएं। नहीं तो लाभ मिलते-मिलते हाथ से चला जाएगा। 

मजीठिया वेतनमान : इन जानकारियों से लैस होकर अब बेखौफ लड़ाई लड़ें पत्रकार

प्रिंट मीडिया के सभी पत्रकार और गैर पत्रकार कर्मचारियों की मजीठिया वेज बोर्ड की सिफारिशों के अनुसार वेतन एवं सुविधाएं पाने की ललक-लालसा-ख्वाहिश-इच्छा-तमन्ना इस वक्त निश्चित रूप से सातवें आसमान पर पहुंची हुई है। सभी चाहते हैं कि मजीठिया उन्हें मिले। पर इसके लिए उनकी अभिव्यक्ति के तरीके अलग-अलग हैं- कोई दबे-छिपे ढंग से तो कोई थोड़ा खुलकर तो कोई सीना ठोंक कर मजीठिया की मांग कर रहा है।

ये मिताली आंटी वही बिहार के उन्मादी वकील तिवारी साहब हैं!

Sumant Bhattacharya : दाद दीजिए मुझे, साहस का काम है वॉल खुली रख विमर्श करना… दोस्तों आप क्या किसी Mitali sarkar को जानते हैं..? मैं भी नहीं जानता। दो-चार रोज पहले मेरे इनबॉक्स में देर रात एक झन्नाटेदार मैसेज गिरा। जिसमें कहा गया कि मैं फेसबुक साख को खत्म कर रहा हूं। मैं उनसे बात करता कि देखता हूं ब्लॉक कर दिया गया हूं। फिर दो दिन मेरी पोस्ट पर कुछेक कमेंट जड़ कर चली गईं। यानि वो ब्लॉक खोलने और बंद करने की कला में महारथनी हैं। फिर कल पता चला कि ये मोहतरमा Mitali sarkar मेरे मित्र सुरेंद्र सिंह सोलंकी, त्रिभुवन सिंह और संजय कोटियाल के साथ भी यह हरकत कर चुकी हैं।

अभी कुछ भी नहीं बिगड़ा, जल्द घऱ लौट आओ नीलाभ, सब ठीक हो जाएगा : भूमिका द्विवेदी

हिंदी के विख्यात साहित्यकार उपेंद्रनाथ अश्क के पुत्र एवं जानेमाने रंगकर्मी, लेखक नीलाभ अश्क की पत्नी भूमिका द्विवेदी का इन दिनो रो-रोकर बुरा हाल है। नीलाभ उन्हें एक सप्ताह पूर्व बिना कुछ बताए छोड़कर चले गए हैं। उनका कहीं कुछ अता-पता नहीं है। वह इस समय काफी डरी-सहमी हुई हैं। पिछले दो दिन अस्पताल में रही हैं। कई दिनों से खाना नहीं खाया है। किसी तरह भड़ास4मीडिया से बात करने पर सहमत होने के बाद वह पूरी वार्ता के दौरान एक ही बात की रट लगाती रहीं कि प्लीज, चाहे जैसे भी, नीलाभ से मुलाकात करा दीजिए। अभी कुछ नहीं बिगड़ा है। वह लौट आएं। सब ठीक हो जाएगा।

खबरों में फिर भूंकप, दो बार तेज झटके, सहम उठा उत्तर भारत, फिर केंद्र नेपाल रहा

नई दिल्ली : मंगलवार को पूरे उत्तर भारत में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। भूकंप दोपहर 12:38 बजे आया। इसके बाद, एक बजकर 11 मिनट पर भी झटके महसूस किए गए। इसका प्रभाव दिल्ली के अलावा उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश में भी महसूस किया गया। 

अमरीकी पत्रकार का दावा 25 मिलियन डॉलर में हुआ था लादेन की जान का सौदा

Hersh

सेमोर हर्ष

वरिष्ठ अमरीकी पत्रकार सेमोर हर्ष ने दावा किया है कि अमरीकी सरकार ने ओसामा बिन लादेन को मारने के संबंध में झूठ बोला था। हर्ष ने लंदन रिव्यू ऑफ बुक्स में लिखा है कि ओसामा पाकिस्तान के एबटाबाद के घर में छिप कर नहीं रह रहा था बल्की पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी की कैद में था। एक वरिष्ठ पाकिस्तानी खुफिया अधिकारी ने ओसामा की जानकारी का सौदा 25 मिलियन डॉलर में किया था। एबटाबाद के तथाकथित घर में जहां ओसामा रह रहा था वहां कोई लड़ाई और गोलीबारी नहीं हुई थी। उन्होने यह भी दावा कि ओसामा को समुद्र में दफ़न नहीं किया गया था।

केजरी बनाम मीडिया बहस में थानवी ने रख दीं दुखती रग पर उंगलियां, खूब निकला गुबार

 

अपने एफबी वॉल पर आज सुबह जनसत्ता के संपादक ओम थानवी ने आम आदमी पार्टी के शीर्ष नेता एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के ताजा मीडिया एक्शन पर गंभीर प्रतिप्रश्न का आगाज कर दिया। उनकी पोस्ट में उठाए गए सवाल पर सहमतियां कम, असहमतियां ज्यादा हैं। और इसी बहाने कारपोरेट मीडिया के चाल-चलन की जमकर लानत-मलामत भी हो रही है। 

नर्मदा घाटी के विस्थापितों के पुनर्वास का सरकारी दावा एकदम झूठा : जांच दल

बडवानी (म.प्र.) : नर्मदा घाटी में सरदार सरोवर बाँध से विस्थापितों का पूर्ण पुनर्वास (जैसा सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दावा किया है), एवं विथापितों को मिले पुनर्वास और मुआवजे की गुणवता एवं वस्तुस्तिथि को समझाने के लिए एक केन्द्रीय सत्य-शोधन दल ने मई 9-10 को नर्मदा घाटी के तीन जिलों के लगभग 10 गाँवों में दौरा किया। मध्य-प्रदेश, गुजरात और केन्द्रीय सरकार का दावा जो शत-प्रतिशत प्रभावित लोगो को पुनर्वास का है, उसकी पड़ताल की। बेक वाटर लेवल जिसके आधार पर सरकार ने लोगों का विस्थापन तय किया है और दावा किया है कि बाँध की ऊंचाई बढ़ने से कोई अतिरिक्त डूब नहीं आएगी, इसकी भी जांच की। नर्मदा घाटी के लोगो से मिली शिकायत कि हज़ारों लोग अभी भी पुनर्वास से वंचित है, सरकारी दावे पर प्रश्न चिन्ह खड़े करते हैं।

Delhi Government is conspiring to damage the fourth pillar of democracy

New Delhi : The Delhi Journalists Association (DJA) strongly condemned the Delhi Government’s move to curb Press freedom in the national capital. In an emergency meeting called at DJA office in New Delhi today, the senior members of the Association expressed grave concern over the circular issued by the Government of Delhi headed by Chief Minister Arvind Kejriwal. The DJA leaders said the Government is conspiring to damage the fourth pillar of democracy, and they are against any move on the part of the government which hits the press freedom in any sense.

कानपुर में बदमाशों ने एक और पत्रकार को लूटा

कानपुर नगर : बर्रा थानाक्षेत्र में देर रात शास्त्री चौक चौराहे के निकट एक पत्रकार से बदमाशों ने मोबाइल और पैसे लूट लिए। लुटेरों ने पत्रकार को मारपीट कर गंभीर रूप से घायल भी कर दिया। जिले में इससे पहले भी कई पत्रकार लुट चुके हैं लेकिन हर बार की तरह पुलिस का रवैया शायद वही पुराना ढाक के तीन पात जैसा निकले।  

आदिवासी बच्चे बने ‘संगवारी खबरिया’ के रिपोर्टर और कैमरामैन

सरगूजा जिले के बालमजूदर आदिवासी बच्चों को यूनिसेफ की अनूठी पहल पर हैदराबाद विश्वविद्यालय ने अपने मुद्दे उठाने के लिए मीडिया का जरिया प्रदान किया है। यूनिसेफ द्वारा शुरू किए गए कार्यक्रम संगवारी खबरिया यानी मित्र संवाददाता अब आदिवासी इलाकों में बच्चों में ही नहीं बल्कि वयस्कों में भी नई अलख जगा रहा है।

असांजे की गिरफ्तारी पर रोक से स्‍वीडन की सुप्रीम कोर्ट का इंकार

स्वीडन की शीर्ष अदालत ने विकिलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे की गिरफ्तारी पर रोक लगाने से इंकार कर दिया है। उच्चतम न्यायालय ने वारंट खारिज करने की उनकी याचिका सोमवार को यह कहते हुए ठुकरा दी कि इसकी कोई वजह नहीं है। 

भास्कर के नोटिस पर उपसंपादक का करारा जवाब, कहा- ये सुप्रीम कोर्ट की सरासर तौहीन है जनाब

इंदौर (म.प्र.) : दैनिक भास्कर इंदौर में कार्यरत उप-संपादक तरुण भागवत ने अदालत में विचाराधीन अपनी नौकरी के मामले में किशोर कुमार व्यास एडवोकेट के नोटिस के जवाब में कड़ा प्रतिवाद जताया है। उन्होंने लिखा है कि 30 अप्रैल 2015 को जारी पत्र 5 मई को स्पीड पोस्ट और 6 मई को रजिस्टर्ड पोस्ट से मिला। जैसा कि पत्र के पहले पैरा में उल्लेख किया गया है, डीबी कार्प प्रबंधन द्वारा मेरे और प्रबंधन के बीच चल रहे सर्विस मैटर में तथ्यों का पता लगाने और रिपोर्ट देने के लिए मेरे खिलाफ डोमेस्टिक इंक्वायरी हेतु नियुक्त किया गया है। इसमें प्रबंधन के प्रतिनिधि एचआर मैनेजर योगेश के. शर्मा होंगे।

बसंत झा ने लाइव इंडिया खबर को बनाया अंतर्वसना साइट

बसंत झा के निर्देशन में लाइव इंडिया की वेबसाइट पर किस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया जा रहा है, खुल्लमखुल्ला इससे पता चलता है कि वह दिल्ली और नोएडा में किस तरह का अखबार लाने की तैयारी कर रहे हैं। एक पूरी टीम इस वेबसाइट के लिए गठित हो चुकी है, जिसे बसंत झा अपने साथ ले आए हैं। 

दिल्ली में कविता : एक बार फिर 17 मई को विशेष सांस्‍कृतिक पहल

16 मई, 2014 को इस देश में निज़ाम बदलने के बाद कुछ कवियों, पत्रकारों और संस्‍कृतिकर्मियों ने मिलकर ”कविता: 16 मई के बाद” नाम की एक सांस्‍कृतिक पहल शुरू की थी, जिसके अंतर्गत दिल्‍ली, उत्‍तर प्रदेश, बिहार और झारखण्‍ड में अब तक कई कविता-पाठ आयोजन किए जा चुके हैं। इस आयोजन के मूल में यह चिंता थी कि केंद्र में आयी नयी सरकार के संरक्षण में तेज़ी से जो राष्‍ट्रवादी और विभाजनकारी माहौल हमारे समाज में बन रहा है, उसके बरक्‍स एक सांस्‍कृतिक प्रतिपक्ष खड़ा किया जा सके और सभी प्रगतिशील जमातों से असहमति के स्‍वरों को एक मंच पर लाया जा सके।

मजीठिया का महाभारत: साक्षात्‍कार कहीं सौ करोड़ रुपये मारने के लिए तो नहीं !

जोश मलीहाबादी का शेर है- वही करता है दुश्‍मन और हम शर्माए जाते हैं.. जी हां। कर्मचारियों का दुश्‍मन दैनिक जागरण प्रबंधन वही कर रहा है, जो करने में तमाम कर्मचारी शर्माते रहे। कभी जी हजूरी नहीं की। कभी किसी को मक्‍खन नहीं लगाया। कभी पूछ नहीं हिलाई। कभी किसी अधिकारी की उपासना नहीं की और भगवान भरोसे अपने को छोड़े रखा। अब वही सब दैनिक जागरण बड़ी ही बेशर्मी से कर रहा है। दैनिक जागरण का एक नियम है-आधे पेज से ज्‍यादा किसी का साक्षात्‍कार नहीं छपना है। लेकिन उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव का साक्षात्‍कार दिल्‍ली संस्‍करण में आधे पेज से ज्‍यादा स्‍पेश में छपा। 

‘आजतक’ के संवाददाता के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने वाला एसओ लाइन हाजिर

दिल्ली : नरेला फैक्ट्री वसूली मामले में राजेश खत्री के खिलाफ गलत तरीके से एफआईआर दर्ज करने के आरोपी यहां के एसओ को लाइन हाजिर कर दिया गया है। गौरतलब है कि गत दिनो विजय सिंह पुत्र महेंद्र सिंह निवासी श्रीश्याम अपार्टमेंट, नरेला ने पुलिस को दी तहरीर में बताया था कि राजेश खत्री ने धमकाते हुए उससे 50 हजार रुपए मांगे थे। अब घटनाक्रम की हकीकत कुछ और ही खुल कर सामने आ रही है। पुलिस, फैक्ट्री मालिक के बीच पूरा मामला किसी और सिरे से प्रायोजित कर खत्री को जाल में फंसाने का प्रयास किया गया था।  

नरैला क्षेत्र की वही है ये फैक्ट्री, जिसके मालिक विजय सिंह ने पत्रकार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी

कंटेम्प्ट ऑफ़ कोर्ट एक्ट और सलमान खान जमानत का विरोध

आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर के नेतृत्व में सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर, देवेन्द्र दीक्षित, त्रिपुरेश त्रिपाठी, शरद मिश्रा, राकेश शर्मा, हयात कादरी, संदीप सिंह आदि गाँधी प्रतिमा, हजरतगंज पर क्रिमिनल कंटेम्प्ट ऑफ़ कोर्ट के विरोध में एकत्र हुए.

संदीप शुक्ला बने न्यूज़ एक्सप्रेस के सीओओ

मुंबई : अब तक न्यूज़ एक्सप्रेस के महाराष्ट्र एडिटर व जीएम कारपोरेट की जिम्मेदारी संभाल रहे संदीप शुक्ला को एक और पदोन्नति मिली है। उको न्यूज़ एक्सप्रेस का मुख्य परिचालन अधिकारी यानि सीओओ बनाया गया है। 

‘एंटिलिया’ की बाहरी दीवार पर ख़त्म हो जाती है NDTV की सीमा

पत्रकार और एक बुलंद इन्सान निखिल वागले ने ट्वीट किया है कि NDTV के बिग फाइट नामके कार्यक्रम में “अम्बानी” के बारे उनके वक्तव्य को डिलिट कर दिखाया गया। यह कार्यक्रम रोडरेज/ सड़क पर कुचल कर मार दिये जाने वाली घटनाओं और व्यवस्था द्वारा उस पर की जा रही कार्रवाई के बाबत था।

पीकू, तुम इतनी देर से क्यों आई…?

कल पीकू देखी…कान्स्टीपेशन, लूज़-मोशन…ऐसे, शब्द जिनका हिंदी शब्द इस्तेमाल करने में भी हमें हिचक महसूस होती है, शुजीत सरकार ने उसे ही केंद्र बनाकर फिल्म बना डाली…एक ऐसी फिल्म जो आपको किसी एक मोशन में नहीं रखती है, बल्कि आपके भीतर पल रहे सैकड़ों इमोशन्स से आपको जोड़ती है.

प्रजातंत्र लाइव में जबर्दस्त उथल-पुथल, रासबिहारी सहित दर्जन भर लोगों का मुंबई स्थानांतरण

लाइव इंडिया ग्रुप के अतिमहत्वकांक्षी अखबार ‘प्रजातंत्र लाइव’ की महज एक साल के अंदर ही ऐसी दुर्गति होगी, किसी ने सपने में भी नहीं सोचा होगा। डा.प्रवीण तिवारी के नेतृत्व में अखबार को पहले ही दिन से संभालने वाले वरिष्ठ पत्रकार अनूप झा की असामयिक मृत्यु के बाद अखबार की ऐसी दुर्गति हुई है। अब अखबार की बंद होने के कगार पर है। 

मुकेश भारद्वाज होंगे जनसत्ता के अगले कार्यकारी संपादक

जनसत्ता के अगले कार्यकारी संपादक मुकेश भारद्वाज होंगे। वह ओम थानवी का स्थान लेंगे। थानवी जी लगभग तीन माह बाद सेवानिवृत्त हो रहे हैं। मुकेश के मनोनयन की सूचना का ई-मेल आ चुका है। मेल जनसत्ता एवं इंडियन एक्सप्रेस के बोर्ड अध्यक्ष विवेक गोयनका ने प्रेषित किया है। मुकेश भारद्वाज अभी जनसत्ता के चंडीगढ़ क्षेत्र के संपादक हैं। 

दलाई लामा ने लांच किया ‘हिमाचल अभी-अभी’

धर्मशाला : श्री बालाजी मीडिया इनोवेशन्स प्राइवेट लिमिटेड की मल्टी मीडिया कंपनी की बहुप्रतीक्षित एप हिमाचल अभी-अभी और वेबसाइट का शनिवार को आगाज हो गया। तिब्बती धर्मगुरु दलाईलामा ने एक समारोह में यह एप लांच की और कार्यालय का उद्घाटन किया। शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा ने वेबसाइट का शुभारंभ किया।  

लांचिंग के मौके पर फीता काटते धर्मगुरु दलाई लामा

हरीश बर्णवाल को नारद सम्मान

नोएडा में देवर्षि नारद जयंती का गत दिनो आयोजन किया गया। इसमें IBN7 के वरिष्ठ पत्रकार हरीश चंद्र बर्णवाल को देवर्षि नारद सम्मान दिया गया।

 

नोएडा में ‘इंडिया नॉउ’ के नाम से नए चैनल की तैयारी सुर्खियों में

{jcomments off}आजकल चर्चाएं ज़ोरों पर हैं कि ‘इंडिया नॉउ’ के नाम से कोई बड़ा ग्रुप जल्द आने वाला है, लेकिन अटकलें ज्यादा हैं, वास्तविक जानकारियां अभी अनुत्तरित हैं। ये भी पता नहीं कि चैनल को लाइसेंस मिला है या नहीं, उसका मालिक कौन है, कब से शुरू होगा आदि आदि। यद्यपि इतना बताया जा रहा है कि मूलत: उत्तर प्रदेश से ताल्लुक रखने वाले एवं मुंबई में रहने वाले एक युवा उद्योगपति का इसमें इन्वेस्टमेंट हो रहा है. शिपिंग तथा शिक्षा के क्षेत्र में सक्रिय इस कारोबारी समूह के कई स्कूल-कॉलेज बताए गए हैं. 

‘दैनिक दक्षिण मुंबई’ के कार्यकारी संपादक सुमंत मिश्र लड़की से छेड़छाड़ में गिरफ्तार, रिहा, आरोप झूठा करार दिया

मुंबई : बीते बुधवार ‘दैनिक दक्षिण मुंबई’ के कार्यकारी संपादक सुमंत मिश्र विनय भंग (सेक्सुअल हरासमेंट) के आरोप में आईपीसी की धारा 354A के तहत ताडदेव पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिए गए। हालांकि कि दस हजार रुपये नकद देकर उन्हें ज़मानत मिल गयी। सुमंत मिश्र का कहना है कि महिला का आरोप मिथ्या और मनगढ़ंत है। नौकरी से निकाले जाने के कारण उसने झूठमूठ के आरोप लगाए हैं। अब इन सारी बातों का निपटारा कोर्ट में ही होगा। न्यायालय के सामने ही वह सच्चाई का खुलासा करेंगे। मुझ पर गलत आरोप लगाकर मेरी छवि खराब करने की कोशिश की गई है। वह कोर्ट के सामने आरोपो के संबंध में वस्तुस्थिति से अवगत कराएंगे।