वीरेंद्र यादव की चुनाव यात्रा (पंद्रह) : हजार समस्या का एक समाधान मुखिया जी

पर्ची बांटने के दौरान व्यक्ति और समाज दोनों के अलग-अलग रूप देखने को मिले। सबकी अपनी-अपनी समस्या, अपना-अपना दर्द। और सबका एकमात्र समाधान मुखिया जी। बेटा सम्मान नहीं देता है तो दिलाएं मुखिया जी। पड़ोसी ने नाली तोड़ दी है तो बनवाएं मुखिया जी। खेत में पानी नहीं आ रहा है तो पानी लाएं मुखिया जी। इंदिरा आवास नहीं मिला तो दिलवाएं मुखिया जी। स्कूल में मास्टर साहब नहीं आते हैं तो बुलवाएं मुखिया जी। हजार समस्या का एक समाधान मुखिया जी। पंचायत की हर समस्या के समाधान का जिम्मा है मुखिया जी के हवाले।

‘प्रेस क्लब ऑफ मध्य प्रदेश’ की स्थापना हुई

इंदौर। मध्य प्रदेश के विभिन्न प्रेस क्लबों तथा पत्रकार संगठनों को एक सूत्र में पिरोने के उद्देश्य से ‘प्रेस क्लब ऑफ मध्य प्रदेश’ की स्थापना की गई है। प्रेस क्लब ऑफ मध्य प्रदेश में जिला स्तर पर सक्रिय एक प्रेस क्लब या जिला पत्रकार संगठन को सम्बद्धता प्रदान की जाएगी। प्रेस क्लब ऑफ मध्य प्रदेश का संचालन २१ सदस्यीय संचालन समिति करेगी, जिसमें प्रदेश के १० संभागों से दो-दो सदस्य शामिल रहेंगे। प्रत्येक जिले से सम्बद्ध क्लब या संगठन के अध्यक्ष/सचिव प्रेस क्लब ऑफ मध्यप्रदेश के सदस्य रहेंगे।

अरे बीबीसी! मत करो नुक़्ता का गलत यूज, लोग हो रहे हैं कंफ्यूज!

बीबीसी में उर्दू के नुक़्तों का भरपूर इस्तेमाल हो रहा है। ऐसे नुक़्ते जहां नहीं लगने चाहिए, वहां भी लगाए जा रहे हैं। फिलहाल बीबीसी के होमपेज की सबसे प्रमुख खबर में नुक़्ते के अराजक इस्तेमाल की बानगी देखिए।

जनता टीवी से जुड़ीं नवजोत सिद्धू, राम मिलन समाचार प्‍लस पहुंचे

वरिष्‍ठ पत्रकार नवजोत सिद्धू के बारे में खबर है कि वो जनता टीवी से जुड़ गई हैं. नवजोत मल्‍टी टैलेंटेड पत्रकार मानी जाती हैं. उन्‍हें जनता टीवी में प्रोग्रामिंग हेड बनाया गया है. इसके अलावा वे एंकरिंग भी करेंगी. नवजोत इसके पहले आजतक, एएनआई, पीटीवी, हिंदुस्‍तान टाइम्‍स, प्रज्ञा, जैन टीवी, ट्रिब्‍यून के अलावा रेडियो को भी अपनी सेवाएं दे चुकी हैं. वे पिछले बारह सालों से मीडिया में सक्रिय हैं. माना जा रहा है कि नवजोत के आने से जनता टीवी को मजबूती मिलेगी.

काश मैं भी संजय दत्त होता..!

फिल्म अभिनेता संजय दत्त के लिए राहत भरी खबर है… अरे भई सुप्रीम कोर्ट से सरेंडर करने के लिए चार सप्ताह की मोहलत जो मिल गई है। पांच साल की सजा के बचे हुए साढ़े तीन साल के लिए जेल में सजा काटनी थी… ऐसे में चार सप्ताह की मोहलत के बहाने साढ़े तीन साल की एडवांस कमाई करने का मौका जो मिल गया..! संजय दत्त ने भी तो यही दलील दी थी कि बॉलीवुड का 278 करोड़ रुपया उनकी फिल्मों में लगा है, लिहाजा फिल्मों को पूरा करने के लिए उन्हें 6 माह की मोहलत दी जाए। हालांकि कोर्ट ने संजय दत्त को 6 माह की तो नहीं लेकिन एक माह की मोहलत तो दे ही दी है।

आरपी सिंह रायपुर में बने सन स्‍टार के संपादकीय प्रभारी

वरिष्‍ठ पत्रकार तथा द पायनियर, रायपुर के न्‍यूज को-आर्डिनेटर आरपी सिंह ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे लंबे समय से इस अखबार के साथ जुड़े हुए थे. आरपी सिंह ने अपनी नई पारी रायपुर में ही हिंदी दैनिक सन स्‍टार के साथ शुरू की है. उन्‍हें अखबार का संपादकीय प्रभारी बनाया गया है. आरपी सिंह ने अखबार के लिए अपनी टीम तैयार करना शुरू कर दिया है. सन स्‍टार का प्रकाशन रायपुर से जल्‍द ही होने जा रहा है. आरपी सिंह लंबे समय से छत्‍तीसगढ़ की पत्रकारिता में सक्रिय हैं.

इंडियन मुजाहिदीन के आतंकी हिमायत बेग को फांसी की सजा

पुणे। महाराष्ट्र के पुणे में तीन साल पहले हुए जर्मन बेकरी ब्लास्ट के मास्टरमाइंड हिमायत बेग को पुणे की सेशन कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई है। ये पहला मौका है जब इंडियन मुजाहिदीन के किसी आतंकी को सजा सुनाई गई है। जर्मन बेकरी धमाके में 17 लोगों की मौत हुई थी। पुणे के जर्मन बेकरी बम विस्फोट मामले में मिर्जा हिमायत बेग को अदालत ने दोषी ठहराया है। बेग इस मामले में इकलौता गिरफ्तार दोषी है। बेग को हत्या, हत्या की कोशिश, आपराधिक षड़यंत्र और विस्फोटक पदार्थ कानून जैसे मामलों के तहत दोषी ठहराया गया था।

हिंदुस्तान अलीगढ़ में क्यों नहीं रुक पा रही हैं महिला रिपोर्टर?

: कानाफूसी : हिंदुस्तान, अलीगढ़ इन दिनों नई समस्या से जूझ रहा है। समस्या वहां महिला रिपोर्टरों के अधिक दिनों तक न रुक पाने की है। किसी की समझ में नहीं आ पा रहा है कि माजरा क्या है। वहीं कुछ महिला रिपोर्टरों का कहना है कि माहौल खराब होने के चलते उन्हें ऐसा करना पड़ रहा है। कुछ समय पूर्व यहां महिला रिपोर्टरों की संख्या पांच तक थी। इसके बाद संपादकीय में परिवर्तन हुआ और उसका असर इन महिला रिपोर्टरों की संख्या पर दिखने लगा। एक-एक कर सभी छोड़ती चली गई।

जागरण, रामगढ़ के प्रभारी बने तरुण बागी, महाराजगंज में भी होंगे बदलाव

दैनिक जागरण, रामगढ़ से खबर है कि तरुण बागी को फिर से ब्‍यूरोचीफ बना दिया गया है. जागरण के संपादक मुकेश भूषण ने सभी सहयोगियों की उपस्थिति में उनकी ताजपोशी की है. तरुण इसके पहले भी जागरण के रामगढ़ ब्‍यूरोचीफ रह चुके हैं. तत्‍कालीन संपादक संत शरण अवस्‍थी ने उन्‍हें 2007 में हटा दिया था. 2010 में अवस्‍थी ने ही उन्‍हें रामगढ़ रिपोर्टर के तौर पर बहाल कर दिया था. तरुण लंबे समय से जागरण से जुड़े हुए हैं.

आजतक नम्‍बर वन, इंडिया न्‍यूज ने डीडी और तेज को पीछे छोड़ा

पंद्रहवें सप्‍ताह की टीआरपी आ गई है. पिछले सप्‍ताह के झटके से आईबीएन7 अब तक नहीं उबर पाया है. उसे इस सप्‍ताह भी नुकसान हुआ है. आजतक नम्‍बर वन बना हुआ है लेकिन इंडिया टीवी ने उससे अपनी दूरी कम कर ली है. पिछले सप्‍ताह आंशिक नुकसान में रहा इंडिया न्‍यूज इस सप्‍ताह फिर से बढ़त की राह पर लौट आया है. इंडिया न्‍यूज डीडी न्‍यूज, तेज को पीछे छोड़ दिया है, जो पिछले सप्‍ताह इसके ऊपर आ गए थे. दीपक चौरसिया और राणा यशवंत की जोड़ी एक बार फिर फार्म में आ गई है.

लिपिक का वेतन 20 वर्षों से एक हजार

अम्बेडकरनगर : उत्तर प्रदेश के जपनद अम्बेडकरनगर स्थित सहायक महानिरीक्षक निबंधन कार्यालय में एक शिविर सहायक पिछले दस वर्षों से भी अधिक समय से नियत वेतन पर सेवारत है, उसके साथ के नियुक्त सभी कर्मचारियों को तो नियमित शिविर सहायक के रूप में नियुक्त कर दिया गया है, किन्तु सभी औपचारिकताएं एवं अर्हताएं पूरी करने के बावजूद एक शिविर सहायक को विनियमितीकरण के लिए भटकना पड़ रहा है।

रीवां से लांच हुआ मध्‍य प्रदेश में पत्रिका का आठवां एडिशन

पत्रिका ने एमपी से अपना नया एडिशन रीवां से लांच कर दिया है. मध्‍य प्रदेश में पत्रिका का यह आठवां एडिशन होगा. कुछ दिन पहले ही पत्रिका ने सतना से अपना सातवां एडिशन लांच किया था. इसके बाद ही प्रबंधन ने घोषणा की थी कि अगला कदम रीवा में रखा जाएगा. रीवां में अखबार की शुरुआत 21 हजार कॉपियों के साथ की गई है.

टीआरपी सिस्‍टम में पारदर्शिता के लिए ट्राई ने जा‍री किए दिशा-निर्देश

टीआरपी यानी टेलीविजन रेटिंग को लेकर लगातार मिल रही शिकायतों के बाद ट्राई ने टेलीविजन रेटिंग एजेंसियों के लिए दिशा-निर्देश जारी किया है. रेटिंग एजेंसियों में पारदर्शिता एवं जवाबदेही तय करने के लिए सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने ट्राई से दिशा-निर्देश तैयार करने के लिए कहा था. टीआरपी रेटिंग को लेकर हमेशा से ही सवाल खड़े होते रहे हैं. कई चैनलों ने सरकार से टैम की शिकायत भी कर चुकी हैं.

अरेस्‍ट आर्डर के बाद कोर्ट परिसर से भाग निकले परवेज मुशर्रफ

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ की जमानत अर्जी को इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने ठुकरा दिया है। जजों की नजरबंदी के मामले में हाईकोर्ट ने मुशर्रफ को झटका देते हुए उनकी गिरफ्तारी के आदेश दिए हैं। स्थानीय मीडिया के मुताबिक कोर्ट का आदेश आते ही कथित रूप से उनके निजी सुरक्षाकर्मी उन्हें कोर्ट से बाहर ले आए, और वह अपनी बुलेटप्रूफ एसयूवी में सवार होकर चले गए। कोर्ट से मुशर्रफ चक शहजाद स्थित फॉर्म हाउस पहुंचे हैं।

फारवर्ड प्रेस से जुड़े आशीष एवं कोमल ठाकुर

संवाददाताओं की दूसरे चरण की नियुक्तियों के आरंभ के साथ ही फारवर्ड प्रेस कोमल ठाकुर को कालका, दिल्‍ली संवाददाता नियुक्‍त किया है। सुश्री ठाकुर इससे पहले रफ्तार टाइम्‍स तथा आईबीएन 7 के लिए कुछ समय तक काम कर चुकी है। दूसरी तरफ आशीष फारवर्ड प्रेस गया (बिहार) संवाददाता बनाए गये हैं। वे इससे पहले नई दुनिया में बतौर संवाददाता तथा प्रभात खबर में बतौर ब्‍यूरो चीफ, सीवान काम कर चुके हैं।

वो खुद को झुलसाता रहा और मंत्री जी बैठे तमाशा देखते रहे

चंदौली में अंधविश्वास के नाम पर आस्था का ऐसा खेल हुआ जिसके बारे में जानकर आपकी रुह कांप जाएगी. वो भी राज्‍य के एक मंत्री के सामने. विशेष पूजा के लिए भोले-भाले लोगों ने अपने ऊपर खौलता हुआ दूध डालकर खुद को आग झुलसा सा लिया. यही नहीं मंत्रीजी इसे जायज भी ठहरा रहे हैं. उनका कहना है कि इसमें कहीं कोई गलत बात नहीं है. यह दिखावा नहीं बल्कि श्रद्धा से जुड़ा मामला है. उन्‍होंने कहा, 'इस तरह के कार्यक्रमों से सबका उत्साह बढ़ता है. यह आस्था है और इसमें हम सभी को जब भी मौक़ा मिले शामिल होना चाहिए. हम यहां आए हैं क्‍योंकि हमारी भी इसमें श्रद्धा है. हमें बहुत अच्छा लगा.'

दबंग दुनिया से अनिल धूपर का इस्‍तीफा

कुछ महीने पहले ही दबंग दुनिया में सलाहकार के रूप में ज्‍वाइन करने वाले अनिल धूपर ने संस्‍थान को अलविदा कह दिया है. हालांकि अनिल धूपर के इस्‍तीफा देने के कारणों का पता नहीं चल पाया है. वे कहां ज्‍वाइन करने वाले हैं इसकी भी जानकारी नहीं मिल पाई है. वे नईदुनिया से इस्‍तीफा देकर दबंग दुनिया से जुड़े थे लेकिन वे यहां भी ज्‍यादा दिन तक टिक नहीं पाए. किसी जमाने में दैनिक भास्‍कर के मार्केटिंग हेड रहे अनिल धूपर की मीडिया जगत में तूती बोलती थी.

नवरंग व रसरंग को बंद करना चाहता है भास्‍कर! दो लोग न्‍यूज सेक्‍शन में शिफ्ट

दैनिक भास्‍कर पंजाब से खबर मिली है कि पंजाब मैगजीन सेक्‍शन में बड़े स्‍तर पर बदलाव किए गए हैं। बुधावार को दैभा के चंडीगढ़-पंजाब के संपादक दीपक धीमान ने पंजाब मैगजीन हेड नव्‍यवेश नवराही से बात कर टीम में से दो सदस्‍य हटकार समाचार सेक्‍शन में शिफ्ट कर दिए। पंजाब मैगजीन सेक्शन अभी श्री नवराही ही देखेंगे। सूत्रों से यह जानकारी भी मिली है कि दैनिक भास्‍कर ग्रुप सभी एडिशनों में रसरंग और नवरंग को बंद करना चाहता है। इसकी जगह कोई और विकल्‍प ढूंढ़ा जा रहा है।

सहारा से पहले ओसियान पर गिरी गाज, तीन महीने में लौटाने होंगे पैसे

मुंबई : नियामक से मंजूरी लिए बिना आम लोगों से धन जुटाने वाले कला कोषों के खिलाफ अपनी पहली कार्रवाई में बाजार नियामक सेबी ने ओसियान के आर्ट फंड को अपनी ‘सामूहिक निवेश योजना’ बंद करने और 3 महीने के भीतर निवेशकों को 10 प्रतिशत ब्याज के साथ पैसा लौटाने को कहा।

शर्मसार दिल्‍ली महफूज नहीं! स्कूल जा रही छात्रा को अगवा कर गैंगरेप

: एक आरोपी अरेस्‍ट : नई दिल्ली। चार्टर्ड बस में नाबालिग से बलात्कार की वारदात के बाद दिल्ली में एक बार फिर गैंगरेप का मामला सामने आया है। दिल्ली के न्यू अशोक नगर में तीन लड़कों ने दसवीं की छात्रा को स्कूल जाते वक्त गाड़ी में अगवा कर लिया और उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया। शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है जो कि रिश्ते में लड़की का भाई लगता है, जबकि उसके दो दोस्त अभी फरार हैं। लड़की को मेडिकल जांच के लिए भेज दिया गया है। पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है।

EIILM Pharma और उमर मंजूर ने छात्रों से ठगे लाखों रुपये

This Education Scam/fraud in J&K at Ramban District which we hear and see happen ending year of 2011 when few members of EIILM Pharma, Kolkata (www.eiilmpharma.com), came in our college namely GDC, Ramban recognized by University of Jammu, Jammu and they (visiting members of EIILPharma) interact with students for their programme namely MBA in Pharma after the said interaction they assured us, college is UGC-AICTE recognized etc. but later stage all of these are fraud.

महुआ छोड़कर आईबीएन7 से जुड़ीं स्‍नेहा, विवेक का तबादला

महुआ न्‍यूज से खबर है कि स्‍नेहा मिश्रा ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे इनपुट से जुड़ी हुई थीं. स्‍नेहा महुआ को पिछले चार सालों से अपनी सेवाएं दे रही थीं. इन्‍होंने अपनी नई पारी आईबीएन7 के साथ शुरू की है. यहां भी इन्‍हें इनपुट में जिम्‍मेदारी सौंपी गई है. बताया जा रहा है कि स्‍नेहा महुआ में अपने वरिष्‍ठों के व्‍यवहार से परेशान थीं. इसलिए मौका मिलते ही उन्‍होंने इस्‍तीफा दे दिया.

नेशनल दुनिया में प्राण को सिगरेट पीते दिखाना निंदनीय है

महोदय, देश के एक राष्ट्रीय अख़बार ने वो किया जिससे उसे शर्म आनी चाहिए। मेरा 5 साल का भतीजा जब उसे देख कर प्रभावित हो सकता तो देश का कोई भी नौजवान टशन में इस रास्ते जा सकता है। दिल्‍ली के नेशनल दुनिया में 13 अप्रैल 2013 को अभिनेता प्राण का बड़ा पिक्चर सिगरेट पीते दिखाया गया। यहाँ कोई चेतावनी नहीं दी गई। आज फिल्मों और टीवी सीरियल्‍स तक में ऐसा नहीं दिखाया जाता है, अगर दिखाया जाता भी तो उससे ब्‍लर कर दिया जाता है।

अश्‍लील कार्यक्रम दिखाने वाले चैनलों पर बीसीसीसी कसेगा शिकंजा

नई दिल्ली। इस देश में टीवी चैनलों पर दिखाए जाने वाले कार्यक्रमों, विज्ञापनों में फूहडता, अश्लीलता को लेकर कई बार गंभीरता से सवाल खडे किए जाते हैं। लोकसभा में भी इस पर चिंता जताई जाती रही है। अब चैनलों की प्रसारण सामग्री पर नजर रखने वाली संस्था ब्रॉडकास्टिंग कंटेंट कम्पलेंट्स काउंसिल-बीसीसीसी ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। बीसीसीसी ने दो म्यूजिक चैनल्स के साथ कई सामान्य मनोरंजन कार्यक्रम प्रसारित करने वाले चैनलों को, उनके आपत्तिजनक कंटेंट को वयस्क टाइम स्लॉट में शिफ्ट करने को कहा है। इन चैनल्स को उसका आदेश ना मानने पर भारी जुर्माना भरने की भी चेतावनी दी गई है।

बादशाहपुर गैंगरेप मामले में चैनल के पत्रकार का बयान दर्ज

पटियाला के बादशाहपुर सामूहिक दुष्कर्मकांड के बर्खास्त सब इंस्पेक्टर नसीब सिंह सहित सभी आरोपी बुधवार को अतिरिक्त सेशन जज एनएस गिल की अदालत में पेश हुए। अदालती कार्यवाही के दौरान समाना निवासी एक चैनल के पत्रकार के भी बयान दर्ज हुए। बयान पूरे होने के बाद अदालत ने बादशाहपुर सामूहिक दुष्कर्मकांड की एफआईआर नंबर 96 और एफआइआर नंबर 187 की सुनवाई के लिए जारी रखते हुए 18 अप्रैल की तिथि निर्धारित कर दी है।

लखनऊ में राजभवन कालोनी में पीटे गए श्रीन्यूज अखबार के जीएम पंकज वर्मा

लखनऊ की बेहद सुरक्षित कहने जाने वाली राजभवन कालोनी में रहने वाले एक पत्रकार ने खुद को पीटे जाने का मामला हजरतगंज थाने में दर्ज कराया है। रिपोर्ट के मुताबिक कुछ लोगों ने इस पत्रकार के घर के सामने गालियां दीं, धमकी दी, फिर मारपीट की। राज्यपाल के आवास राजभवन से सटी कालोनी को राजभवन कालोनी के तौर पर पहचाना जाता है।

”लखनऊ की पत्रिका ने कमाल खान, जगदीश शुक्ला और शरत प्रधान के खिलाफ भ्रामक खबरें प्रकाशित की”

लखनऊ की एक मासिक पत्रिका द्वारा लखनऊ के प्रतिष्ठित प्रत्रकारों श्री कमाल खान, जगदीश नरायन शुक्ला और शरत प्रधान के खिलाफ अनर्गल एवं भ्रामक खबरें प्रकाशित करना न सिर्फ निन्दनीय है बल्कि पत्रकारिता की लक्ष्मण रेखा का खुला उल्लंघन है। लखनऊ में दो दशकों से मुख्यधारा की पत्रकारिता कर रहे कमाल खान की ख्याति किसी परिचय की मोहताज नहीं है।

सहारा के सभी आरई और एडिटोरियल हेड अब रणविजय सिंह को रिपोर्ट करेंगे (देखें सुर्कलर)

सहारा मीडिया एंड एंटरटेनमेंट के हेड संदीप वाधवा ने एक सर्कुलर जारी कर रणविजय सिंह को नई जिम्मेदारी सौंपी है. रणविजय अब सहारा के सभी संपादकों के संपादक होंगे. सहारा के सभी रेजीडेंट एडिटर्स और एडिटोरियल हेड अब रणविजय सिंह को रिपोर्ट करेंगे. सभी यूनिटों के यूनिट हेड और गैर-संपादकीय अधिकारी पहले की तरह संदीप वाधवा को रिपोर्ट करते रहेंगे.

कैमरा लिया और बन गए टीवी रिपोर्टर

श्रीगंगानगर (राजस्थान)। जिले में इन दिनों टीवी रिपोर्टरों की बाढ़ सी आ गई है। ऐसे अनेक लोग हें, जो सिर्फ नाम के ही टीवी रिपोर्टर हैं। अपने आप को टीवी रिपोर्ट बताकर वे विभिन्न सरकारी और गैर सरकारी कार्यक्रमों में पहुंचकर कवरेज करते हैं। जब इनसे कोई पूछता हे कि आप कौन से चैनल से हैं, तो वे ऐसे चैनलों के नाम लेते हैं, जिनका गंगानगर में प्रसारण ही नहीं होता। … और यदि प्रसारण होता भी है, तो उन पर रिपोर्ट नहीं दिखाई जाती। कुछ तथाकथित मीडिया कर्मियों की वजह से आज गंगानगर में सही मीडियाकर्मी भी बदनाम हो रहे हैं।

सीता पुरस्कार के लिए प्रविष्टियाँ आमंत्रित, अंतिम तिथि- 15 मई, 2013

हिंदी साहित्य-लेखन के प्रोत्साहन व संवर्धन हेतु तृतीय सीता-पुरस्कार के लिए प्रविष्टियाँ आमंत्रित की जाती हैं। राशि रुपये 1,00,001/- के इस पुरस्कार के लिए सर्वश्रेष्ठ लेखक का चयन उनकी पुस्तकों के आधार पर किया जाएगा। तद्नुसार देश-विदेश के हिन्दी-साहित्य में सृजनरत सभी विद्वत्जनों  से  प्रविष्टि  के  रूप  में वर्ष 2010 और 2011 में प्रकाशित रचना की 3 प्रतियाँ एक सहमति पत्र के साथ 15 मई, 2013 तक नीचे लिखे पते पर डाक द्वारा अथवा सीधे उपलब्ध कराने का अनुरोध है।

बैल की मौत पर किसान को गांव निकाला

सीहोर (मध्य प्रदेश) । गलती से अपने हाथ से हुई मवेशी की मौत का खामियाजा किसान पुत्र को अब सवा महीने का वनवास काट कर झेलना पड़ेगा। यह वनवास गांव के उन दबंगों ने सुनाया है जिनके सामने बोलने की हिम्मत कोई नहीं करता। मामला जिला मुख्यालय के नजदीकी गांव सेवनिया में सामने आया है। जिला प्रशासन और पुलिस की नाक के नीचे पिछले दो दिनों से यह किसान पुत्र गांव के बाहर जंगल मे सोने-खाने को मजबूर है।

जनता और पत्रकारों के सामने रखूंगा खुद का लेखा-जोखा : जगदीश नारायण शुक्ला

: पत्रकारिता में भी सफाई हो : देश की आजादी की लड़ाई में पत्रकारिता ने कई मापदण्ड स्थापित किये थे जिसमें भाषाई समाचार पत्रों की बहुत बड़ी भूमिका थी। इसीलिए न्यायपालिका, कार्यपालिका, संसदीय कार्य तथा पत्रकारिता क्षेत्र को चौथा स्तम्भ माना गया है। लेकिन आज जिस तरह से राजनीति और नौकरशाही में भ्रष्टाचार व अपराधीकरण बढ़ा है उससे पत्रकारिता भी अछूती नहीं बची।

हंस, हंसिनी, उल्लू और पंच की कहानी

एक बार एक हंस और हंसिनी हरिद्वार के सुरम्य वातावरण से भटकते हुए उजड़े, वीरान और रेगिस्तान के इलाके में आ गये. हंसिनी ने हंस से कहा कि ये किस उजड़े इलाके में आ गये हैं ? यहाँ न तो जल है, न जंगल और न ही ठंडी हवाएं हैं. यहाँ तो हमारा जीना मुश्किल हो जायेगा. भटकते २ शाम हो गयी तो हंस ने हंसिनी से कहा कि किसी तरह आज कि रात बिता लो, सुबह हम लोग हरिद्वार लौट चलेंगे.

बैंक से बाहर निकलते ही पत्रकार की गोली मारकर हत्‍या

पुएब्ला। मेक्सिको में एक पत्रकार की गोली मारकर हत्या कर दी गई। अधिकारियों ने बताया कि मध्य मैक्सिको के शहर, प्यूब्ला में एक बैंक से निकलते ही पत्रकार की हत्या कर दी गई। समाचार एजेंसी ईएफई के अनुसार, दक्षिणी राज्य ग्युरेरो में एक टीवी शो के एंकर रहे अलोंसो डी ला कॉलिना सॉरडो की सोमवार को गोली मारकर हत्या कर दी गई।

Pak Hindus reaches UN office for rights, Inhuman nature of Pakistan exposed, submitted Memo after Demo

New Delhi. April 17, 2013. Inhuman nature of Pakistan today exposed before the world community when Pak Hindus narrated their heartfelt story of atrocities at the office of the United Nations in New Delhi. Pakistani Hindus in India lead by Vishwa Hindu Parishad(VHP) demonstrated before UN Office against violation of their human rights in Pakistan.

गहलोत से मिल रहे इन पत्रकारों की आंखों से कृतज्ञता टपक रही है! (देखें तस्वीर)

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत फेसबुक पर पूरी दमदारी के साथ मौजूद हैं. उनके नाम का जो पेज है, उस पर रोजाना कुछ न कुछ अपडेट किया जाता है. आज वहां पत्रकारों की एक फोटो और इससे जुड़ी खबर का प्रकाशन किया गया है. फोटो में पत्रकार लोग सीएम की ओर मुखातिब होकर और सीएम साब पत्रकारों की तरफ देखते हुए हाथ जोड़े हैं. यह हाथ जोड़ाई कार्यक्रम इसलिए चला क्योंकि सीएम ने पत्रकारों को प्लाट दे दिया.

नवनीत गुर्जर ने जयपुर में जुगाड़े सब्सिडी वाले तीन प्‍लाट!

: अपडेट : कानाफूसी : दैनिक भास्‍कर, मध्‍य प्रदेश के स्‍टेट हेड हैं नवनीत गुर्जर. कल्‍पेश याज्ञनिक के खास माने जाते हैं. भड़ास के पास एक ई मेल आया है जिसमें बताया गया है कि नवनीत गुर्जर ने नियम-कानूनों से इतर जयपुर में पत्रकारों को सब्सिडी के रूप में मिलने वाले तीन प्‍लाट जुगाड़ लिए हैं. ये प्‍लाट इन्‍हें जयपुर विकास प्राधिकरण ने उपलब्‍ध करवाया है, जिसमें एक पर इन्‍होंने मकान बनवाया है तथा दूसरा अभी खाली पड़ा हुआ है. तीसरा हाल ही में विवादों के बीच इन्‍हें एलाट किया गया है.

नोएडा से दिल्‍ली शिफ्ट हुआ डीएलए का ऑफिस, बढ़ेगी पेजों की संख्‍या

मिड डे अखबार डीएलए का आफिस नोएडा से आईएनएस बिल्डिंग, दिल्‍ली में शिफ्ट हो गया है. इसके अलावा गाजियाबाद में भी एक नया कार्यालय खोल दिया गया है. खबर थी कि आर्थिक दिक्‍कतों के कारण अखबार प्रबंधन अपने नोएडा आफिस को बंद कर रहा है. लेकिन सूत्रों का कहना है कि आर्थिक दिक्‍कत या घाटे के चलते नहीं बल्कि एग्रीमेंट पूरा हो जाने के चलते डीएलए को अपना ऑफिस बदलना पड़ा है. मालिक ने अपना एग्रीमेंट आगे नहीं बढ़ाया, जिसके चलते डीएलए को नोएडा से दिल्‍ली शिफ्ट होना पड़ा.

संघ के इशारे पर दिसंबर तक फैसला लेगी भाजपा

जनता दल यूनाइटेड (जदयू) और भाजपा के बीच नरेंद्र मोदी के बहाने अब राजनीतिक अहम का टकराव शुरू हो गया है। जदयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी और राष्ट्रीय परिषद की बैठक में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश ने नरेंद्र मोदी की जमकर खबर ली थी। उन्होंने गुजरात के विकास मॉडल पर भी तमाम तीखे कटाक्ष कर डाले। इसी के साथ भाजपा नेतृत्व को मोदी के मुद्दे पर उन्होंने सीधे तौर पर खबरदार कर दिया था। साफ-साफ कहा था कि ‘पीएम इन वेटिंग’ के लिए कोई धर्म-निरपेक्ष चेहरा ही स्वीकार्य हो सकता है। यदि भाजपा ने बात नहीं मानी, तो उनकी पार्टी अपना रास्ता अलग करने के लिए स्वतंत्र होगी। जदयू के इन कड़े तेवरों से संघ का नेतृत्व काफी कुपित हो गया है। संघ के आकाओं का संकेत समझकर भाजपा की एक मजबूत लॉबी ने कड़ा रुख अपना लिया है।

जी न्‍यूज से इस्‍तीफा देकर लाइव इंडिया में एडिटर बने प्रमोद राघवन

वरिष्‍ठ पत्रकार प्रमोद राघवन ने जी न्‍यूज से इस्‍तीफा दे दिया है. वे बंगलुरु में जी न्‍यूज के ब्‍यूरो के रूप में कार्यरत थे. वे पिछले आठ सालों से जी न्‍यूज को अपनी सेवाएं दे रहे थे. प्रमोद इसके पहले काफी समय तक इंदौर में भी कार्यरत रहे हैं. खबर है कि उन्‍होंने अपनी नई पारी लाइव इंडिया के साथ शुरू की है. उन्‍हें साउथ का एडिटर बनाया गया है. माना जा रहा है कि उन्‍हें सतीश के सिंह ने लाइव इंडिया के साथ जोड़ा है. प्रमोद राघवन इसके पहले भी कई संस्‍थानों को अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

शौकीन मंत्री की जुबान फिसली तो खुद भी फिसले

शिवराज सिंह ने ठीक किया। विजय शाह को निकाल दिया। नहीं निकालते तो संदेश कुछ और ही जाता। वैसे, भी सीएम की पत्नी के बारे में कोई सपने पाले, उनको साफ साफ कहे कि भैया के साथ तो रोज ही जाती है, कभी देवर के साथ भी जाया करो… तो बवाल तो मचना ही था। पर, लगता है कि बीजेपी वालों की जुबान बिगड़ गई है। मध्य प्रदेश सरकार के आदिवासी कल्याण मंत्री विजय शाह को बिगड़ी जुबान के बाद घर बैठना पड़ा है। अब सब समझ में आ रहा है। माफी मांग रहे हैं। कह रहे हैं कि जुबान फिसल गई थी।

प्रधानमंत्री के नाम की घोषणा में क्या रखा है?

सारे देश में यह माना जा रहा है कि जनता दल (यू) ने नरेंद्र मोदी के विरुद्ध शंखनाद कर दिया है| यदि भाजपा नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित कर देगी तो यह गठबंधन टूट जाएगा| यह सोच सतही है और तर्क की तुला पर खरा नहीं उतरता| सबसे पहला प्रश्न तो यही है कि जनता दल ने अपने प्रस्ताव में भावी प्रधानमंत्री की अर्हताएं गिनाने में कोई संकोच नहीं किया लेकिन मोदी का नाम लेकर उनको रद्द करने में उसकी कलम क्यों कांप गई? कलम से ज्यादा लचीली जुबान होती है| लेकिन जुबान भी मोदी के नाम पर नहीं हिल पाई?

परवेज अहमद जागरण एवं अंकुर तिवारी अमर उजाला पहुंचे

: अमर उजाला, अलीगढ़ में होगा बदलाव : हिंदुस्‍तान, लखनऊ से खबर है कि परवेज अहमद इस्‍तीफा देकर दैनिक जागरण से जुड़ने जा रहे हैं. परवेज हिंदुस्‍तान में लखनऊ के सिटी इंचार्ज भी रह चुके हैं. वे लंबे समय से हिंदुस्‍तान से जुड़े हुए थे. संभावना जताई जा रही है कि जल्‍द ही वे लखनऊ में अमर उजाला ज्‍वाइन कर लेंगे.

भोपाल से इंदौर शिफ्ट होगा भास्‍कर का नेशनल न्‍यूज रूम!

दैनिक भास्‍कर, भोपाल से खबर है कि अब कल्‍पेश याज्ञनिक इंदौर में ही बैठेंगे. नवनीत गुर्जर भोपाल से जिम्‍मेदारी संभालेंगे. बताया जा रहा है कि इंदौर के भास्‍कर परिसर में ही एक नई बिल्डिंग बनकर तैयार हो रही है. नेशनल न्‍यूज रूम इसी नई बिल्डिंग में शिफ्ट होने जा रहा है. अब नेशनल न्‍यूज रूम भोपाल की बजाय इंदौर से संचालित होगा. कल्‍पेश याज्ञनिक इंदौर में ही महीनों से जमे हुए हैं तथा पूरी जिम्‍मेदारी देख रहे हैं.

पीपुल्‍स समाचार, इंदौर के संपादक बने देवी कुंडल, महेश कजोडिया को हटाया गया

पीपुल्‍स समाचार, इंदौर से खबर है कि प्रभारी संपादक के रूप में जिम्‍मेदारी देख रहे महेश कजोडिया को हटा दिया गया है. पीपुल्‍स समाचार के स्‍थानीय संपादक प्रवीण खारीवाल के इस्‍तीफा देने के बाद से इस पद पर किसी की नियुक्ति नहीं की गई थी. सेंट्रल डेस्‍क इंचार्ज तथा वरिष्‍ठ पत्रकार महेश कजोडिया ही इंदौर में पीपुल्‍स समाचार की जिम्‍मेदारी संभाल रहे थे. बताया जा रहा है कि पिछले कई दिनों से लगातार रि‍पिटेशन के चलते महेश को हटाया गया है.

”पीसीआई का अध्‍यक्ष रिटायर्ड जज की बजाय पत्रकार को बनाया जाए”

जस्टिस मार्केण्डय काटजू के इस कहे पर गौर करना चाहिए कि पत्रकार बनने के लिए किसी व्यक्ति के पास इसकी व्यावसायिक डिग्री जरूर हो। मुझे लगता है कि मौजूदा पत्रकारिता संस्थानों के पास इसका कोई निर्धारित पाठ्यक्रम भी नहीं है इसलिए प्रेस कौंसिल ऑफ इंडिया (पीसीआई) इसका कोर्स भी तय करे तथा पीसीआई एक दिखावटी संस्था होने की बजाय यह भी ठीक मेडिकल कौंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) या बार कौंसिल ऑफ इंडिया (बीसीआई) की तरह सक्षम संवैधानिक संस्था होनी चाहिए।

इंदौर में नईदुनिया के नए ऑफिस के लिए भूमि पूजन, संजय गुप्‍ता भी पहुंचे

जागरण समूह अपने समूह के अखबार नईदुनिया के के लिए इंदौर में नया ऑफिस बनवा रहा है. इसके लिए इंदौर में आज भूमि पूजन हो रहा है. जागरण समूह के सीईओ और संपादक संजय गुप्‍त इसके लिए इंदौर में जमे हुए हैं. नईदुनिया का कारपोरेट तथा संपादकीय ऑफिस इसी नई बिल्डिंग में शिफ्ट होगा. उल्‍लेखनीय …

बेंगलुरु में बीजेपी कार्यालय के पास धमाका, 16 लोग घायल

बेंगलुरु : बेंगलुरु के मल्लेश्वरम इलाके में बीजेपी दफ्तर के समीप एक मोटरसाइकिल में हुए धमाके के बाद तीन गाड़ियां बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई और कई मोटरसाइकिल और स्कूटर धमाके की चपेट में आ गए। कई गाड़ियों में आग लग गई। धमाके में वहां तैनात आठ पुलिसकर्मी और आठ अन्य नागरिक घायल हुए हैं, जिनमें दो नाबालिग लड़कियां भी शामिल हैं। इनमें से दो की हालत गंभीर है। बताया जा रहा है कि धमाके में आईईडी और छर्रों का इस्तेमाल हुआ।

दिल्‍ली प्रेस ने खरीदी बीएस समूह की ऑटोमोबाइल पत्रिका ‘बीएस मोटरिंग’

बिजनेस स्‍टैंडर्ड समूह के ऑटो मोबाइल मैगजीन 'बीएस मोटरिंग' अब दिल्‍ली प्रेस का हो चुका है. दिल्‍ली प्रेस ने इस पत्रिका को बिजनेस स्‍टैंडर्ड से खरीद लिया है. इसी साल जनवरी से दोनों समूहों में इसके सौदे के लिए बातचीत चल रही थी. यह डील दो दिनों पहले ही फाइनल हुई है. सूत्रों का कहना है कि इस मैगजीन के लिए दस करोड़ की डील फाइनल हुई है. अप्रैल इश्‍यू को बिजनेस स्‍टैंडर्ड ने प्रकाशित किया लेकिन मई का अंक दिल्‍ली प्रेस प्रकाशित करेगा. 

अमर उजाला में चीफ सब बने शरद मिश्र, अमित एवं रश्मि की नई पारी

दैनिक भास्‍कर, लुधियाना से खबर है कि शरद मिश्र ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर चीफ सब एडिटर थे. शरद ने अपनी नई पारी अमर उजाला, नोएडा के साथ शुरू की है. उन्‍हें यहां पर भी चीफ सब एडिटर बनाया गया है. भास्‍कर से पहले शरद दिल्‍ली में ही नेशनल न्‍यूज सर्विस, आज समाज, नईदुनिया और नेशनल दुनिया को अपनी सेवाएं दे चुके हैं. पिछले तेरह सालों से पत्रकारिता में सक्रिय शरद की गिनती अच्‍छे और सुलझे हुए पत्रकारों में की जाती है. 

अखबार में नौकरी दिलावाने का झांसा देकर युवती का रेप करता रहा पत्रकार

गुड़गांव। एक नेशनल इंग्लिश न्यूज पेपर में काम करने वाले युवक पर पुलिस ने रेप और जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज किया है। आरोप है कि मीडियाकर्मी युवती को मीडिया हाउस में काम दिलवाने व शादी का झांसा देकर 2 साल से उसके साथ रेप कर रहा था। पुलिस को दी शिकायत में युवती ने युवक के साथ-साथ उसकी पत्नी को भी इस पूरी साजिश में शामिल बताया है। पुलिस ने इस दंपती के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

आकाशवाणी यौन शोषण मामले में दो अधिकारी बर्खास्‍त, एक निलंबित

आकाशवाणी के दिल्ली केंद्र में महिला रेडियो जॉकी के यौन उत्पीड़न और उनसे अनुचित व्यवहार का मामले में प्रसार भारती ने दो कर्मचारियों को बर्खास्त और एक को निलंबित कर दिया है। इसके साथ ही केंद्र के निदेशक को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। पिछले महीने आकाशवाणी की 25 से ज्यादा महिला रेडियो जॉकी ने इस बात की शिकायत की थी कि उन्हें काम के बंटवारे एवं वेतन को लेकर भेदभाव का शिकार बनाया जा रहा है। साथ ही इन आरजे ने यह भी आरोप लगाया कि उन्हें पिछले दो वर्षों से संकेतिक रूप से यौन संबंध बनाने के लिए मजबूर किया जा रहा है।

भड़ास ने संदीप नागर द्वारा संपादक को भेजी गई लीगल नोटिस भी छापी थी

तमाम प्रतिक्रियाएं इस वाल पर आईं। इसीलिए मैंने इस वाल को पुन शेयर किया है। किसी विशाष दत्त ने लिखा कि आपने इस वाल पर यशवंत व्यास और अजय उपाध्याय का जिक्र क्यों नहीं किया क्या आप उन्हें पत्रकार नहीं मानते हैं। हालांकि बाद में पता नहीं क्यों उन्होंने अपनी प्रतिक्रिया डीलिट कर दी। मैंने इस वाल में उन्हीं लोगों का जिक्र किया है जिन्होंने सन् २००० के बाद के दशक में हिंदी अखबारों को टीवी के मुकाबले मजबूती से खड़ा किया।

दुर्गा प्रसाद, ओमकार नाथ एवं प्रवीण की नई पारी

पिछले दिनों दैनिक जागरण, महराजगंज में हुए ताबड़तोड़ कार्रवाई में लगभग डेढ़ दर्जन लोगों को बाहर कर दिया गया था. इनमें से कई लोगों ने अपनी नई पारी शुरू कर दी है. लक्ष्मी पुर खुर्द के संवाद सूत्र दुर्गा प्रसाद गुप्त ने एनडीए व हिन्द मोर्चा तथा ठूठीबारी में प्रतिनिधि रहे डाक्टर ओमकार नाथ पाण्डेय ने निष्पक्ष प्रतिदिन ज्वाइन कर लिया है. वहीं एनडीए से निकाले गए प्रवीण मिश्रा अब ऑपरेटर के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे हैं.

पत्रकार विनायक विजेता को धमकी देने वाले को गिरफ्तार करने का आदेश

अपने फेसबुक प्रोफाइल में कई पूर्व मंत्रियों के साथ की तस्वीर डालकर पहले फेसबुक पर युवतियों को फ्रेंड बनाने और बाद में उनके मैसेज बाक्स में गंदे संदेश भेजने, पीडित युवतियों द्वारा उसे फ्रेंड लिस्ट से हटाने पर उनके मोबाइल पर भद्दे और गंदे संदेश भेजने वाला सचिन मिश्रा के दुर्दिन के दिन आ गए। सचिवालय डीएसपी मनीष कुमार सिंह ने 16 अप्रैल को सचिन मिश्रा को गिरफ्तार करने का आदेश जारी कर दिया।

आगरा के नगर निगम ने हिंदुस्‍तान के चेहरे पर पोता रंग! (देखें तस्‍वीरें)

समाचार पत्र खुद को कानून और नियम के दायरे से ऊपर समझते हैं. इसकी बानगी देखने को मिली आगरा में. आगरा में एक पुल के दीवार पर बड़े शब्‍दों में हिंदुस्‍तान ने अपना प्रचार करने के लिए अपने नाम का पेंट करा रखा था. नगर निगम की तरफ से इसे मिटवाने को कहा गया था, पर हिंदुस्‍तान प्रबंधन ने इस पर कोई ध्‍यान नहीं दिया. बताया जा रहा है कि इसके बाद नगर निगम प्रबंधन ने हिंदुस्‍तान के प्रचार स्‍थान पर पेंट पुतवा कर उसका नाम मिटवा दिया गया.

”सोशल मीडिया पर बंदिश नहीं लेकिन गाली देने वालों पर होगी कार्रवाई”

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने सोशल मीडिया पर गाली गलौच करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी दी है। आईबीएन7 से खास बातचीत में गृह राज्य मंत्री आरपीएन सिंह ने कहा कि सरकार सोशल मीडिया पर कोई सेंसरशिप नहीं चाहती, लेकिन उसका गैरवाज़िब इस्तेमाल करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। अगर आप ट्वीटर या फेसबुक पर बेबाकी से राय रखते हैं तो कई बार आपको इतनी गालियां पड़ सकती हैं कि आप निराश होकर सोशल मीडिया छोड़ने की बात सोचने लगें। लेकिन अब गाली गलौच करने वालों की खैर नहीं।

हिंदुस्‍तान : बृजेश का इस्‍तीफा, सुधांशु की नई पारी

हिंदुस्‍तान, जालौन से खबर है कि प्रबंधन ने बृजेश मिश्रा से इस्‍तीफा ले लिया है. वे यहां पर प्रभारी थे. बृजेश लंबे समय तक हिंदुस्‍तान से जुड़े हुए थे. बृजेश से इस्‍तीफा मांगे जाने के कारणों का पता नहीं चल पाया है. वे अपनी नई पारी कहां से शुरू करने वाले हैं इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है.

कोडनानी, बाबू बजरंगी समेत 10 के लिए फांसी मांगेगी गुजरात सरकार

अहमदाबाद। गुजरात की नरेंद्र मोदी सरकार नरोडा पाटिया जनसंहार केस में दोषी अपनी पूर्व मंत्री माया कोडनानी और पूर्व वीएचपी नेता बाबू बजरंगी समेत 10 दोषियों को फांसी देने की अपील करने जा रही है। सरकार के पास स्पेशल कोर्ट के फैसले के इन दोनों को दी गई सजा के खिलाफ अपील करने के लिए तीन महीने का समय है। गौरतलब है कि कोडनानी एक समय मोदी की काफी खासमखास थीं। दंगों के दौरान कत्लेआम में नाम आने के बावजूद 2008 में कोडनानी महिला और बाल विकास मंत्री बनाया गया था।

मुलायम-आजम को अपने दर्द से प्‍यार है मुसलमानों के दर्द से नहीं

पिछले एक महीने से खुलकर भाजपा की शान में कसीदे गढ़ने वाले सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव की इस राजनीति को कुछ लोग भले ही दूसरे चश्मे से देख रहे हों, मगर उनका भाजपा के प्रति प्रेम का इजहार का सिलसिला कल्याण सिंह के समय से ही चालू है। उत्तर प्रदेश में सपा और भाजपा में यह गठजोड़ था कि भाजपा हिन्दुओं की राजनीति करेगी तो सपा मुसलमानों की। दिन में दोनों राजनैतिक मंच से एक-दूसरे को पानी पी-पी कर कोसते जरूर थे, लेकिन शाम को मुलायम और कल्याण सिंह अमीनाबाद में एक साथ बैठकर लस्सी पीते थे।

ट्राई के दफ्तर के सामने केबल ऑपरेटरों का भूख हड़ताल

नई दिल्ली। राजधानी के केबल ऑपरेटर अपने कारोबार को बचाने तथा एमएसओ की मनमानी पर रोक लगाने की मांग को लेकर सड़कों पर उतर आये हैं। केबल ऑपरेटरों के संगठन 'ट्रांस यमुना केबल टीवी ऑपरेटर एसोसिएशन' के बैनर तले मंगलवार से केबल ऑपरेटरों ने ट्राई के दफ्तर के बाहर भूख हड़ताल भी शुरू कर दी है, जो बुधवार तक जारी रहेगी। इसके बाद भी अगर ट्राई की ओर से केबल ऑपरेटर और एमएसओ के बीच के विवाद को नहीं सुलझाया जाता है तो केबल ऑपरेटर 24 अप्रैल को जंतरमंतर पर सेट टॉप बाक्स की होली जलाकर अपना विरोध प्रदर्शन करेंगे।

वीरेंद्र यादव की चुनाव यात्रा (चौदह) : नाम का छाप छोड़ने को था बेहाल

हमने लोगों तक पहुंचने का नया तरीका अपनाया था। इसके दो मकसद थे। पहला यह कि वोटरों से सीधा परिचय होगा और उन्हें उनके मतदान केंद्र तथा क्रम संख्या आसानी से मिल जाएगी। मेरा यह मानना था कि जिन लोगों तक हम यह सुविधा पहुंचाएंगे, वह मेरे प्रति एक सकारात्मक सोच बनाएंगे और हमारे पक्ष में मतदान भी करेंगे। चुनाव अभियान में मेरा एक सूत्री कार्यक्रम बन गया था घर-घर पर्ची पहुंचाना। यह अपने आप में नया अनुभव था।

सुब्रत रॉय की गिरफ्तारी याचिका को टालने के लिए कोर्ट पहुंचा सहारा

नई दिल्ली : सहारा समूह ने सेबी की अपील पर 22 अप्रैल को होने वाली सुनवाई को टालने के लिये उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाया। सेबी ने न्यायालय से सहारा समूह के अध्यक्ष सुब्रत रॉय सहारा को हिरासत में लेने और उनके खिलाफ अवमानना की कार्यवाही शुरु करने के लिये अर्जी दायर की थी।

मीडिया ‘बड़े लोग’ या ‘आइकॉन’ बनाने का आदी हो चुका है

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है, जब मीडिया की भूमिका, सरोकार और प्राथमिकताओं पर गंभीर सवाल उठाए गए हैं। देश के प्रधान न्यायाधीश ने भी इन सवालों पर चिंता व्यक्त की है। पहले भी यह सवाल उठते रहे हैं कि मीडिया किसका है, किसके लिए है, इसके सरोकार और देश के मुद्दे क्या हैं? न्यायमूर्ति अल्तमस कबीर ने कोलकाता हाईकोर्ट के कार्यक्रम में मीडिया की भूमिका पर जो कुछ कहा, वह मीडिया के लिए आत्मचिंतन और आत्ममंथन का विषय होना ही चाहिए।

पूर्व सांसद साक्षी महाराज समेत पांच पर हत्‍या का मुकदमा

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के पूर्व सांसद साक्षी महाराज के उत्तर प्रदेश के एटा स्थित आश्रम से निकलते समय सोमवार रात कल्याण समिति की सदस्य सुजाता वर्मा की हत्या को लेकर सच्चिदानंद हरि साक्षी महाराज सहित पांच लोगों पर हत्या तथा आपराधिक षड्यंत्र रचने का मुकदमा मंगलवार को दर्ज किया गया।

कर्नाटक में पेड न्‍यूज रोकने के लिए जिला स्‍तर पर होगी कमेटी गठित

बेंगलुरु। कर्नाटक में आगामी पांच मई को होने वाले विधानसभा चुनाव के दौरान 'पेड न्यूज' पर निर्वाचन अधिकारियों की कड़ी नजर रहेगी। राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अनिल कुमार झा ने विधानसभा चुनाव के दौरान 'पेड न्यूज' की रोकथाम के लिए सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों (डीईओ) को जिला स्तर पर मीडिया प्रमाणन और निगरानी समिति गठन करने का निर्देश जारी किया है।

”दोनों पुरुष और दोनों महिला पत्रकार गेस्‍ट हाउस में संदिग्‍ध परिस्थितियों में मिले”

आज मोबाइल की घंटी ने जगाया। ख़बर सुन सुबह से चिंतन में पड़ गया हूँ। कुछ मित्र जो फील्ड रिपोर्टिंग में हैं फोन करके सुबह से एक जानकारी साझा कर रहे हैं। मिली जानकारी यह है कि 'एक ख्यातिनाम अंग्रेजी अखबार" के स्थानीय संस्करण में देर रात तकरीबन 12 बजे करीब पुलिस पहुंची। पुलिस के आने का कारण डेस्क की एक महिला का दिन भर गायब रह अपने स्वजनों का फ़ोन नहीं उठाना रहा। चिंतित परिवारजनों ने फ़ोन कर थाने में जानकारी दे खोजबीन की दरख्वास्त की।

पश्चिम बंगाल में 1300 मीडियाकर्मी हुए बेरोजगार

पश्चिम बंगाल में शारदा समूह ने अचानक अपने मीडिया संस्थानों को बंद करने की घोषणा कर दी जिससे तकरीबन 1,300 मीडियाकर्मियों को नौकरी चली गई। हालांकि इसके एक दिन के बाद राज्य सरकार ने मदद का हाथ बढ़ाते हुए इस मामले के समाधान के लिए बैठक बुलाने की पेशकश की है। राज्य के उद्योग मंत्री पार्थ चटर्जी ने कहा, 'हम कोशिश कर रहे हैं कि स्थिति कैसे बेहतर हो। इस मामले के समाधान के लिए एक या दो बैठक बुलाई जाएगी।' हालांकि चटर्जी की बात से कर्मचारियों को कोई खास राहत मिलती नहीं दिख रही है।

प्रिंसिपल और शिक्षकों ने की पत्रकार के साथ मारपीट, पुलिस से शिकायत

हरियाणा के बागपुर में सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल में मंगलवार बाद दोपहर एक मामले की कवरेज करने पहुंचे पत्रकार पर प्रिंसिपल सहित तमाम अध्यापक टूट पड़े। वे लोग अपनी पिछली गलतियों को छिपाने के लिए पत्रकार के साथ मारपीट की। कैमरे छीन लिए। रील को भी निकालकर खुर्द-बुर्द करने की कोशिश की तथा उन्होंने उसमें कैद स्कूल प्रबंधकों की ज्यादतियों को भी डिलीट करवा डाला। इस संबंध में पुलिस को शिकायत की गई है। घायल पत्रकार का मेडिकल भी कराया गया है। पत्रकार को कई स्‍थानों पर चोटें आई हैं।

बच्‍चों की सुरक्षा के लिए प्राइमरी स्‍कूलों में बनेगी बाउंड्री वॉल

इलाहाबाद। सरकारी प्राइमरी स्कूल के छात्र-छात्राओं और उनके अभिभावकों के लिए खुशखबरी। पिछले साल डॉ. राम मनोहर लोहिया समग्र विकास गांव के लिए चयनित किए गए इलाहाबाद जिले के सभी प्राइमरी स्कूलों में अब बाउंड्रीवाल का निर्माण किया जाएगा। उम्मीद की जा रही है कि इससे स्कूल भवनों की सुरक्षा हो सकेगी। इसके अलावा पठन-पाठन का भी माहौल बनेगा। यह निर्णय जिला प्रशासन ने लिया है।

तलवार दंपति ने ही किया था आरुषि का मर्डर

नोएडा : देश के चर्चित आरुषि-हेमराज हत्याकांड में नया खुलासा हुआ है। आरुषि-हेमराज दोहरे हत्याकांड मामले में सीबीआई पुलिस अधीक्षक एजीएल कौल ने गाजियाबाद कोर्ट में कहा है कि उस समय बाहर से आकर कोई इस दोहरे हत्याकांड को अंजाम नहीं दे सकता था। यह हत्या राजेश और नुपुर तलवार द्वारा किया गया है। कौल गाजियाबाद कोर्ट में अपनी गवाही दे रहे थे।

पुरस्‍कार की राजनी‍ति से कविता के जनतंत्र को खतरा : प्रो.निर्मला जैन

इलाहाबाद। महात्‍मा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय हिंदी विश्‍वविद्यालय, वर्धा के इलाहाबाद क्षेत्रीय केंद्र द्वारा ‘कविता का जनतंत्र और जनतंत्र की कविता’ विषय पर गोष्‍ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्‍यक्षता करते हुए हिंदी की सुप्रसिद्ध आलोचक प्रो. निर्मला जैन ने कहा कि पुरस्‍कार की राजनी‍ति से कविता के जनतंत्र को खतरा है। कविता मनुष्‍य बनाने का काम करती है। तुलसीदास बड़े कवि इसलिए हैं कि वे पंडितों, चौक-चौराहों और विद्वानों के बीच भी पढ़े जाते हैं। कविता में लय की उपस्थिति अनिवार्य है और इसकी लय गद्य से बिल्‍कुल अलग होनी चाहिए।

पत्रकारों एवं साहित्यकारों का न्यूनतम वेतन निर्धारित हो

पत्रकारिता और साहित्य दोनों एक दूसरे के पूरक माने जाते हैं। दोनों के इतिहास पर गौर करें तो यह लगभग 150 साल पुराना है, तब से आज तक इसके महत्व एवं योगदान को किसी न किसी रूप में हमेशा स्वीकारा गया है। देश में जब चारों ओर औद्योगीकरण एवं निजीकरण का दौर चल रहा है, हर क्षेत्र प्रतिस्पर्धा से भरा हुआ है साहित्य एवं पत्रकारिता भी ऐसे क्षेत्र हैं जहॉं प्रतिस्पर्धा खूब फल- फूल रही है और इसी प्रतिस्पर्धा का असर है कि पत्रकारों और साहित्यकारों का निरन्तर शोषण किया जा रहा है। देश में हर साल हजारों की संख्या में कालेजों से पत्रकारिता के विद्यार्थी पास होकर बाहर निकलते हैं, जिनकी प्राथमिक जरूरत नौकरी पाना होता है।

यादें (3) : वो जमाना जब दूध सस्ता और मनोरंजन महंगा था!

कभी इलेक्ट्रॉनिक्स चीजें ‘स्टेट्स सिम्बल’ हुआ करती थीं, जिन्हें पाने के लिए हर कोई तरसता था.आज ये सबकी जरूरत बन गई हैं. अधिकतर मिडिल क्लास के पास कलर टीवी, डीवीडी, लैपटॉप, मोबाइल, डीटीएच…, कहें तो सारी आधुनिक गैजेट्स उपलब्ध हैं. बस नहीं है…तो इनका लुत्फ़ उठाने के लिए किसी के पास फालतू समय. हम वैसे वक्त में जी रहे हैं, जिसमें तकनीकी सामान जुटाना किसी के भी बाएं हांथ का खेल है. पर दो वक्त की रोटी की जुगाड़ करने में सबको कठिन जद्दोजहद करनी पड़ रही है. पैसे खर्चने के बावजूद भी ग्वाले का पानी मिला दूध व सब्जीवाले से, रसायनिक खाद की बदौलत उपजाई गई सब्जियां खरीदना मजबूरी है.

भारत में देसी-विदेशी फिल्‍मों की शूटिंग के लिए बनेगा सिंगल विंडो

भारत ने देसी-विदेशी फिल्‍मों की शूटिंग से संबंधित सारी जरूरतों को सिंगल विंडो पर हल करने की दिशा में कदम बढ़ाया है. इसके लिए सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने वरिष्‍ठ अधिकारियों की एक समिति बनाने की घोषणा की है, जो सारी चीजों पर रिसर्च कर अपना रिपोर्ट देगी. इस समिति के अध्‍यक्ष सूचना एवं प्रसारण सचिव को बनाया जाएगा. जबकि संयुक्‍त सचिव इसके सदस्‍य होंगे. इस खबर को हिंदू ने भी प्रमुखता से प्रकाशित की है.

महाराष्‍ट्र में मीडिया से जुड़ा साप्‍ताहिक तथा पोर्टल लांच

महाराष्ट्र में पत्रकारों के उपर बढ़ते हमले आौर मीडियाकर्मियों की अन्य मांगों के तरफ सरकार का ध्यान आकर्षित करने हेतु पत्रकार हमला विरोधी कृति समिती के मार्गदर्शन में 'उद्याचा बातमीदार' नामक एक वीकली शुरू किया गया है. इसके प्रत्‍येक अंक में मीडिया से संबंधित हर पहलू की जानकारी दी जाएगी. महाराष्ट्र में पत्रकार हमला विरोधी कृति समिती के नेतृत्व में पत्रकार संरक्षण कानून और वरिष्ठ पत्रकारों के लिए पेन्शन की मांग को लेकर मीडियाकर्मी आंदोलन कर रहे हैं.

जगदीश शर्मा बने पंचकूला के अध्‍यक्ष, बैठक में जनसंपर्क अधिकारी पर लगे कई आरोप

पंचकूला : हरियाणा यूनियन आफ जर्नलिस्ट्स (रजि.) की बैठक किसान भवन सेक्टर-14 में हुई। इसकी अध्यक्षता एचयूजे के प्रदेशाध्यक्ष संजय राठी और मुख्य अतिथि प्रदेश उपाध्यक्ष संजय राय ने की। इसमें एचयूजे की जिला इकाई के एक दर्जन से ज्यादा सदस्य मौजूद थे। इस मौके पर पत्रकार जगदीप शर्मा को एचयूजे की पंचकूला इकाई का अध्यक्ष मनोनीत किया गया। शर्मा ने आभार जताते हुए कहा कि वह इस अहम जिम्मेवारी का बेहतर तरीके से निर्वहन करने का प्रयास करेंगे। संगठन की मजबूती के लिए नई रणनीति बनाएंगे और सदस्यता अभियान चलाकर ज्यादा लोगो को जोड़ने का प्रयास करेंगे।

राष्‍ट्र खबर चैनल के मालिक ने दो महिलाकर्मियों को बनाया बंधक, की बदसलूकी

फरीदाबाद से संचालित राष्‍ट्र खबर चैनल में दो महिला कर्मचारियों के साथ चैनल मालिक महेश बैसोया के द्वारा बदसलूकी करने की सूचना है. महेश ने दो महिला कर्मचारियों को काफी समय तक बंधक भी बनाए रखा. किसी तरह महिला कर्मचारी वहां से निकलने में सफल रहीं. महिलाकर्मियों का आरोप है कि बैसोया ने धमकी दी है कि जो करना है कर लो तुम लोगों की सैलरी नहीं मिलेगी. 

पूर्वोत्‍तर के बाद दिल्‍ली समेत कई राज्‍यों में भूकंप के झटके

नई दिल्ली : राजधानी नई दिल्ली समेत उससे सटे एनसीआर और देश के कई हिस्‍सों में मंगलवार को शाम लगभग सवा चार बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए। दिल्‍ली के अलावा, पंजाब, गुजरात, हरियाणा, यूपी के साथ पड़ोसी देश पाकिस्तान के कराची शहर से भी भूकंप के झटके लगने की खबरें हैं। देश में गुजरात के अहमदाबाद, सौराष्ट्र और भुज इलाकों समेत राजस्थान  के भी बड़े हिस्से में इन झटकों को महसूस किया गया। अभी किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है।

प्रेस क्लब टाइम्स का विमोचन 20 अप्रैल को

इंदौर। स्वर्ण जयंती वर्ष में इंदौर प्रेस क्लब ने राष्ट्रीय मासिक पत्रिका ‘प्रेस क्लब टाइम्स’ का प्रकाशन आरंभ किया है। इंदौर प्रेस क्लब अध्यक्ष प्रवीण कुमार खारीवाल एवं महासचिव अरविंद तिवारी ने बताया कि समसामयिक एवं राजनैतिक विषयों पर केंद्रित पत्रिका का विमोचन २० अप्रैल २०१३ को सायं ०४ बजे इंदौर प्रेस क्लब के राजेंद्र माथुर सभागृह में होगा। इस अवसर पर इंदौर की स्वर्णिम पत्रकारिता विषय पर परिसंवाद भी होगा।

जगमोहन, अभिषेक, पीयूष एवं सुजीत हिंदुस्‍तान, बरेली से जुड़े

हिंदुस्‍तान, बरेली ने अमर उजाला को कई झटके दिए हैं. खबर है कि चार लोगों ने बरेली में हिंदुस्‍तान के साथ अपनी नई पारी शुरू की है, जिसमें तीन अमर उजाला से जुड़े रहे हैं. अमर उजाला, गाजियाबाद से जुड़े पिलखुआ ब्‍यूरोचीफ जगमोहन शर्मा ने इस्‍तीफा दे दिया है. उन्‍होंने बरेली में हिंदुस्‍तान के साथ अपनी नई पारी शुरू की है. उन्‍हें यहां पर सीनियर रिपोर्टर बनाया गया है. अमर उजाला, नोएडा के डिजिटल सेक्‍शन में कार्यरत अभिषेक कुमार ने भी इस्‍तीफा दे दिया है. वे भी सब एडिटर के रूप में हिंदुस्‍तान, बरेली से जुड़ गए हैं. उन्‍हें सब एडिटर बनाया गया है.

जगदीश नारायण शुक्ला और शरत प्रधान के खिलाफ ‘दृष्टांत’ मैग्जीन में कवर स्टोरी- ‘पत्रकारिता के रंगे सियार’

दिव्य संदेश मैग्जीन के बाद अब दृष्टांत मैग्जीन ने लखनऊ के दो पत्रकारों जगदीश नारायण शुक्ला और शरत प्रधान पर गहरी चोट की है. इन्हें ब्लैकमेलर, रंगा सियार, भ्रष्ट जैसे कई विशेषणों से नवाजा गया है. इन दोनों की संपत्ति और भ्रष्टाचार पर लंबी रोशनी फेंकी गई है. मैग्जीन के संपादक अनूप गुप्ता हैं. अनूप कोबरा पोस्ट से भी जुड़े हुए हैं. अनूप दावा करते  हैं कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं लिखा है. उनके पास ऐसे ऐसे सबूत हैं कि ये दोनों पत्रकार कहीं मुंह दिखाने लायक नहीं रहेंगे. उन्होंने चुनौती दी कि अगर मैग्जीन में कुछ भी गलत छपा है तो दोनों पत्रकार कोर्ट जाएं.

नईदुनिया में चीफ सब एडिटर बने महेश यादव

राजस्थान पत्रिका, सीकर से महेश यादव ने इस्तीफा देकर नई दुनिया, ग्वालियर ज्वाइन किया है। उन्हें चीफ सब एडिटर बनाया गया है। बांदा के करने वाले महेश की गिनती तेज तर्रार पत्रकारों में होती है। वह इससे पहले दिल्ली के कई अखबारों में काम करने के बाद जोधपुर भास्कर से जुड़े। यहीं से वह राजस्थान पत्रिका अजमेर गए और फिर वहां से अमर उजाला नोएडा होते हुए राजस्थान पत्रिका सीकर पहुंचे थे। अब नई दुनिया ग्वालियर के साथ है। 

सिक्‍ता देव को स्‍व. वेद अग्रवाल पत्रकारिता/साहित्‍य सम्‍मान की घोषणा

उत्‍त्‍र प्रदेशीय महिला मंच अपने संस्‍थापक की स्‍मृति में दिया जाने वाला ‘स्‍व. वेद अग्रवाल पत्रकारिता/साहित्‍य सम्‍मान 2013’ इस बार तेज तर्रार महिला पत्रकार सिक्‍ता देव को प्रदान करेगा। उत्‍तर प्रदेशीय महिला मंच महिलाओं की एक गैर राजनैतिक संस्‍था है। मंच पिछले 28 वर्षों से महिलाओं में आत्‍मविश्‍वास जागृत करने, आत्‍मनिर्भर बनाने की दिशा में सजग है।

मनरेगा घोटाले में 16 अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर

बड़वानी। बड़वानी जिला पंचायत के अधिकारियों की शिकायत पर जिले मे मनेरेगा के भ्रष्टाचार को लेकर दोषियो पर एफआईआर दर्ज हो गयी है। निवाली ब्लॉक में आर्थिक अनियमियता करने वाले 16 अधिकारियों पर गाज गिरी है। उल्लेखनीय है कि मनरेगा घोटाला को लेकर शासन स्तर से पूर्व में निवाली ब्लॉक के 16 अधिकारियों सहित 21 ग्राम पंचायत के सरपंच सचिव के खिलाफ 6 करोड रुपये वसूली के आदेश हुए थे। इसके तहत निवाली टीआई संजय रावत ने गबन व भ्रष्टाचार के विभिन्‍न धाराओं के तहत मामला र्दज किया है।

भारत में शिक्षा – ‘एक सिक्के के दो पहलू’

अंग्रेज़ कहते है भारत एक गरीब देश है और यहाँ के लोग अनपढ़-गंवार। क्या वो सही है? जवाब मिलेगा नहीं, क्योंकि उच्च शिक्षा के लिए पूरी दुनिया में भारत का एक अतुलनीय स्थान है। यहाँ से तकनीकी शिक्षा ग्रहण करने वाले छात्र हर जगह अपनी पहचान बना रहे हैं। शिक्षा एक ऐसा धन है जिसे कोई चुरा नहीं सकता। मगर ये तो सिक्के का एक पहलू है। सिक्के का दूसरा पहलू ये भी है कि भारत में ही निरक्षरों की सबसे बड़ी आबादी है। आज भले ही गाँव में शिक्षा कि रोशनी दिखाई देने लगी है। स्कूल खुल गए हैं, टीचर्स भी पहुँच रहे हैं लेकिन उसके बाद भी हमारे देश में करोड़ों लोग अशिक्षित हैं, निरक्षर हैं।

वीरेंद्र यादव की चुनाव यात्रा (तेरह) : दिन भर में चंदा में मिला 30 रुपये

चंदा के सहारे घरों में अपनी पैठ बनाने की कोशिश कर रहा था। इस काम में रिश्तेदारी भी एक बड़ा फैक्टर साबित हो रही थी। हमारे गांव की एक लड़की की शादी कुराईपुर में हुई है। उसका बड़ा परिवार है। उस परिवार का ओबरा में परिचय था शेरवाला घर। ओबरा की मुख्य सड़क पर एक पुराना मकान है। इसके दरवाजे की दीवार पर एक शेर की आकृति बनी हुई है। यह घर उन्हीं लोगों का है। यह परिवार भी धनी माना जाता है। सुरेंद्र जी से मेरा परिचय पहले भी हो चुका था। चंदा मांगने के क्रम में उनके घर भी पहुंच गया। वह घर पर ही थे। छत पर धूप का आनंद ले रहे थे।

वीरेंद्र यादव की चुनाव यात्रा (बारह) : ब्रह्मस्थान से आशीर्वाद लेकर मांगने निकला वोट

नामांकन पत्र की जांच और उम्मीदवारी पक्का होने के बाद चुनाव को लेकर हर तहर की आशंका किनारे हो गई थी। अब सिर्फ अधिकतम लोगों तक अपनी बात पहुंचाने का प्रयास करना था। मैंने पंचायत के वोटरों से वायदा किया था कि जनता से प्राप्त चंदा से चुनाव लड़ूंगा। अब इसकी शुरुआत का समय आ गया था। उम्मीदवारी वैध होने के अगले दिन एक झोला लेकर मैदान में उतरा। कुराईपुर का बिगहा है ब्रह्म स्थान। पंचायत के दक्खिनवारी छोर पर नहर किनारे बसा है। यहां रहने वाला परिवार कुराईपुर से आकर बसा है। उनके अन्य गोतिया परिवार गांव में ही रहते हैं।

साक्षी मीडिया के चेयरमैन जगन ने की सभी आरोपों पर एक साथ सुनवाई की मांग

हैदराबाद। साक्षी मीडिया के चेयरमैन एवं वाईएसआर कांग्रेस के प्रमुख जगनमोहन रेड्डी ने अपने खिलाफ भ्रष्टाचार के सभी मामलों में एक साथ सुनवाई के लिए विशेष सीबीआई अदालत में याचिका दाखिल की है। जगन ने यह भी मांग की है कि सीबीआई द्वारा अंतिम चार्जशीट दाखिल करने के बाद ही सभी मामलों में सुनवाई शुरू हो। जबकि सीबीआई हर आरोप पत्र पर अलग-अलग सुनवाई पर जोर दिया है। दोनों पक्षों की जिरह सुनने के बाद अदालत ने सुनवाई 24 अप्रैल तक स्थगित कर दी है।

दिनेश कुमार एवं दिनेश वशी की नई पारी

दिनेश कुमार ने अपनी नई पारी वैवाहिक चैनल शगुन के साथ शुरू की है। वे यहां पर कॉपी डेस्‍क की जिम्‍मेदारी संभालेंगे। 2001 में आईआईएमसी पॉस आउट शगुन में कॉपी डेस्‍क की जिम्‍मेदारी संभालेंगे। दिनेश इसके पहले भी कई संस्‍थानों को अपनी सेवाएं दे चुके हैं।

पत्रकार गणेश रावत ने किया निकाय चुनाव में नामांकन

हल्द्वानी। उत्तराखंड में हो रहे निकाय चुनावों से राजनीतिक सरगर्मियां काफी बढ़ी हुई हैं। सभी राजनैतिक पार्टियां अपने प्रत्याशी को धनबल के साथ चुनाव लड़ा रही है। रामनगर नगरपालिका चुनाव में श्रमजीवी पत्रकार यूनियन अध्यक्ष व पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष गणेश रावत भी किस्मत आजमा रहे हैं। गणेश ने सैकड़ों समर्थकों के साथ शहर में शक्ति प्रदर्शन कर बतौर निर्दलीय नामांकन दाखिल किया है। परिवर्तन के नारे के साथ चुनाव मैदान में उतरे गणेश छात्र संघ में भी सफल पारी खेल चुके हैं।

सड़क पर बीबी-बच्‍ची के शव के पास वो मदद को चिल्‍लाता रहा, लोग आते जाते रहे

जयपुर। यहां संवेदनहीनता का वो नजारा देखने को मिला जो बेहद दर्दनाक और दिल दहला देने वाला था। जब सोमवार दोपहर सड़क हादसे के बाद एक व्यक्ति अपनी पत्नी और आठ माह की बच्ची की लाश के साथ सड़क पर मदद के लिए चिल्ला रहा था लेकिन किसी ने उसकी एक नहीं सुनी। इस वाक्ये ने एक बार फिर से ये साबित कर दिया कि लोगों के भीतर से इंसानियत खत्म हो गई है। जब वो असहाय पति अपनी पत्नी और बच्ची को बचाने के लिए करीब पौन घंटे तक दौड़-दौड़कर लोगों से मदद की गुहार लगाता रहा। लेकिन लोग रुकते, देखते और आगे बढ़ते रहे। किसी ने भी उन्हें अस्पताल पहुंचाने की जहमत नहीं उठाई।

लखनऊ के मान्‍यता प्राप्‍त पत्रकारों को हाउस टैक्‍स में मिलेगी छूट

लखनऊ। लखनऊ के मेयर दिनेश शर्मा ने राज्य मुख्यालय पर मान्यता प्राप्त संवाददाताओं को उनके स्वामित्व वाले मकानों के हाउस टैक्स में छूट देने तथा उनसे वाहन पार्किंग शुल्क नहीं लेने का ऐलान किया है। शर्मा ने बताया कि उत्तर प्रदेश मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति की मांग पर नगर निगम प्रशासन ने राज्य मुख्यालय पर मान्यता प्राप्त संवाददाताओं को उनके स्वामित्व वाले मकान के हाउस टैक्स में छूट देने का फैसला किया है।

छायाकार एवं आपरेटर ने जागरण छोड़ा, सुधाकर शर्मा की अमर उजाला में वापसी

दैनिक जागरण के बदायूं कार्यालय में तैनात ब्यूरो चीफ लोकेश प्रताप सिंह के दुर्व्यवहार से तंग आकर छायाकार कुलदीप शर्मा, कंप्यूटर आपरेटर दिनेश यादव और चपरासी ललित ने जागरण को छोड़ दिया, लेकिन पुलिस की मदद से ब्यूरो चीफ़ ने चपरासी को वापस बुला लिया, जबकि कुलदीप शर्मा ने अमर उजाला ज्वाइन कर लिया है। वहीं कंप्यूटर आपरेटर ने जिला उद्यान कार्यालय में निजी तौर पर काम शुरू कर दिया है। इसके अलावा अमर उजाला में ब्राह्मणों के साथ बरती जा रही उदारता चर्चा का विषय बनी हुई है।

‘बदायूं अमर प्रभात’ ने बना दिया है खबरों को चुटकुला

बदायूं जनपद से 'बदायूं अमर प्रभात' नाम का एक अखबार प्रकाशित होता है, जो खबरों का पोस्टमार्टम करने के लिए कुख्यात हो चुका है। ऐसी ही एक खबर नीचे दी जा रही है, जिसका शीर्षक पढ़ कर खुद ही अंदाज़ा लग जाएगा कि अखबार क्या स्तर है। इस अखबार को लोग चुटकुलों की जगह पढ़ कर खूब मनोरंजन करते देखे जा सकते हैं। यह अखबार पत्रकारिता का भला करने की बजाय उसकी हत्‍या करता दिख रहा है। आप भी देखिए 'बदायूं अमर प्रभात' का चुटकुला…

लखनऊ में एक लड़की की अकेली लड़ाई

लखनऊ में एक ऐसी लड़की है जो पिछले दो महीने से अपने खोये हुए मान सम्मान के लिए उत्तर प्रदेश की भ्रष्ट पुलिस और और भ्रष्ट कानून व्यवस्था से लड़ रही है. दर दर की ठोकरें खाने के बाद कल १२.४.१३ को मेरे ऑफिस आयी और उनकी कहानी सुनने के बाद मैं और मेरे वरिष्ठ पत्रकार मित्र पवन कुमार सिंह जी ने उसको इसाफ दिलाने का निर्णय लिया और इसके बाद जब नाका थाना के एसआई से बात की गई तो उसका एकतरफ़ा रुख देखकर दुःख हुआ.

एक न्यूज चैनल में भड़ैती के कुछ सीन (पार्ट एक)

'चांपना न्यूज' में यूं तो न्यूज के नाम पर भड़ैती का नंगा नाच संपादक के रूप में कार्यरत सिंह साहब की विदाई और सीईओ शर्मा जी (आदमी कम भांड़ जादा) की एंट्री के साथ शुरू हो गया था। लोग जानने और समझने भी लगे थे। लेकिन आपसी गुटबाजी, टॉप मैनेजमेंट के तलवे चाट कर अपने समकक्ष की छीलने का अधिकार हासिल करने का लालच ने उन सबकी समझ पर पर्दा डाल दिया। नए संपादक के आने के बाद लगा था कि ब्लैकमेलिंग की डगर पर बढ़ रहे चैनल को अब नई राह मिलेगी, लेकिन ऐसा क्यों नहीं हुआ। यह समझ से परे की बात है क्योंकि नए संपादक, जो वरिष्ठ पत्रकार के रूप में विख्यात हैं, ब्लैकमेलिंग के धंधे में तो शामिल नहीं हो सकते। चलिए, नए संपादक की ज्वाइनिंग से पहले और बाद की कुछ बैठकों और 'चांपना न्यूज' चैनल के भीतरी दृश्यों का कोलाज यहां दिखाते हैं….

बदायूं के प्रधानाचार्यों ने दी हिंदुस्तान के बहिष्कार की चेतावनी

बदायूं के हिंदुस्तान कार्यालय में अमर उजाला के बर्खास्त लोगों को भर्ती किया गया  है, तब से हिंदुस्तान अखबार पंपलेट बन गया है। किसी न किसी खबर को लेकर आए दिन बवाल होता रहता है। खुद लिखी खबरों की तो बात ही छोड़िए, सूचना कार्यालय के प्रेस नोट पर भी बवाल हो गया है। शहर के प्राचीन हाफ़िज़ सिद्दीकी इसलामिया इंटर कालेज के प्रधानाचार्य खिजर अहमद के अपमान को लेकर जिले भर के प्रधानाचार्यों में रोष व्याप्त है।

तुम्हारे इस अमल से इस्लाम की तौहीन होती है

पिछले दो चार सालों से मीडिया में बार ये खबर  आ रही हैं कि पाकिस्तान  में अल्पसंख्यकों के साथ  दौगला व्यवहार किया जा रहा है. अमर उजाला में 15.4.2013 को प्रकाशित फोकस पृष्ठ पर सुभाष कश्यप, विवेक गोयल, और कमल खत्री जैसे बुद्धीजीवी लोगों ने इस मुद्दे पर महत्वपूरण लेख लिखे हैं. उन्होंने पाकिस्तान से आये लोगों की पीड़ा को महसूस किया, और अपने विवेक का इस्तेमाल करते हुऐ अपनी कलम चलायी है. विवेक गोयल ने कई लोगों की दास्तानें सुनाईं हैं.

अति उत्साह में किरकिरी करा बैठा आगरा का हिंदुस्तान

आगरा स्थित दयालबाग एजुकेशनल इंस्टीट्यूट में शोध छात्रा नेहा शर्मा की सनसनीखेज मौत के बाद वाहवाही बटोरने के फेर में आगरा के हिंदुस्तान ने जमकर अपनी किरकिरी करवा ली। एक के बाद एक गलत खबरों की बदौलत दयालबाग क्षेत्र में पाठकों को जोड़ने की बजाय यह रहे-सहे पाठक भी खोने को बैठा है। असल में मार्च में हुई इस घटना के बाद हिंदुस्तान ने प्रथम पृष्ठ पर हेडिंग में रेप होने की बात लिखी थी। अन्य किसी अखबार ने इतनी गंभीरता के साथ इस बात को नहीं उठाया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद रेप की बात गलत साबित हुई। इससे आगरा हिंदुस्तान की काफी फजीहत हुई।

पी7 के एमपी-सीजी न्यूज चैनल से जुड़ेंगे रजनीश झा

टीवी टु़डे ग्रुप के दिल्ली आजतक में बतौर प्रोड्यूसर काम करनेवाले रजनीश झा ने संस्थान से इस्तीफा दे दिया है. फिलहाल वे नोटिस पीरियड पर चल रहे हैं. रजनीश झा सीनियर प्रोड्यूसर के तौर पर पी 7 एमपी-सीजी से जुड़ने जा रहे हैं. झा 12 वर्षों से देश के विभिन्न रीजनल न्यूज चैनल में सक्रिय हैं.

दैनिक भास्कर, गुड़गांव छोड़कर हिंदुस्तान पहुंचे जतिन जैन

दैनिक भास्कर गुडगाँव को एक और झटका लगा है. पत्रकार जतिन जैन ने हिंदुस्तान ज्वाइन कर लिया है. जतिन जैन सोनीपत के निवासी हैं. गुडगाँव से पहले वे सोनीपत भास्कर के साथ रहे. कुछ दिन पंजाब केसरी के साथ भी काम किया था. जतिन से पहले भास्कर गुडगाँव चीफ राजीव दत्त पाण्डेय ने भी भास्कर …

अब है स्मार्टफोन पत्रकारिता का जमाना

एक पत्रकार के लिए स्मार्टफोन विलासिता नहीं वरन एक जरूरत है। मुझे भारत में मोबाइल टेलीफोनी के शुरुआती दिनों की याद आती है। नब्बे के दशक की शुरुआत में मुझे एक नोकिया हैंडसेट दिया गया था जो कि एक ईंट जैसा दिखाई देता था और इसका वजन करीब 400 ग्राम रहा होगा। तब मैं स्थानीय न्यायालयों की खबरों को कवर करता था और मुझे याद है कि मोबाइल फोन के आने से पहले मैं कोर्टरूम से भागकर एक लैंडलाइन कनेक्शन के लिए दौड़ लगाता था ताकि ब्रेकिंग न्यूज के बारे में ऑफिस से सम्पर्क कर सकूं। उस समय भारत में मोबाइल सर्विसेज बहुत महंगी होती थीं।

शशि शेखर ने छुटभैये और विचार शून्य लोगों को संपादक बना दिया : शंभूनाथ शुक्ला

Shambhunath Shukla : 2000 के बाद के दशक में टीवी अखबारों पर हावी होने लगा लेकिन किसी स्पष्ट नीति के अभाव में टीवी चैनलों में खबर कम भूत प्रेत की कहानियां, ज्योतिष तथा सिनेमा और क्रिकेट इस कदर हावी रहा कि टीवी कभी भी गंभीर न्यूज स्रोत नहीं बन सका न शुरू में और न अब। उलटे अखबार भी टीवी फोबिया के शिकार हो गए। गंभीर लेखन, रपटें अखबारों से गायब हो गईं। इसमें एक हद तक जनसत्ता ने अपने को साहित्य और उम्दा संपादकीय लेखों से बचाए तो रखा लेकिन बतौर अखबार उसकी भूमिका समाप्त हो गई क्योंकि जो अखबार अपनी खबरों व रपटों के कारण रोज लोकसभा में हंगामा करवाता था वह महज एक इतवारी पत्रिका बन कर रह गया। चूंकि आम अखबारी पाठकों के लिए उसमें कुछ भी नहीं बचा इसलिए २००० आते-आते जनसत्ता बाजार से गायब हो गया।

नाबालिग से शादी रचाने में छत्तीसगढ़ में तैनात डिप्टी एसपी यूपी में अरेस्ट, जेल गया (देखें तस्वीरें)

उत्तर प्रदेश के चंदौली में एक अधेड़ पुलिस अफसर ने नाबालिग लड़की से मंदिर में शादी रचा लिया. सूचना पर पुलिस पहुंची. पुलिस दूल्हा दुल्हन सहित उनके परिजनों को भी थाने ले आयी.  अधेड़ पुलिस अफसर चंदौली के बलुआ थाना क्षेत्र का रहने वाला है और छत्तीसगढ के बिलासपुर में डिप्टी एसपी के पद पर कार्यरत है. दूल्हे की उम्र पचास साल के करीब है. दुल्हन महज तेरह साल की है.

कुमार विश्वास ने तो किसी को नहीं छोड़ा… धन्य हैं.. जय हो! (सुनें टेप)

किसी मित्र ने मुझे मेरठ में यह सुनाया. लगभग एक घंटे के आसपास का यह टेप है. मैं सुना तो सुनता ही गया. हंसता गया. मुस्कराता रहा. तब सोचा था कि इसे भड़ास पर अपलोड करके सभी को सुनाउंगा. पर काम के दबाव और अन्य चिरकुट उलझनों के कारण भूल गया.

जिंदगी-मौत के बीच संघर्ष कर रहे ‘इंडिया टीवी’ चैनल के ओवी इंजीनियर की सुध लेने वाला कोई नहीं

एक दुखद समाचार इंडिया टीवी न्यूज चैनल से है. यहां आरएस इंजीनियर / ओवी इंजीनियर के रूप में काम करने वाले 35 वर्षीय चित्रपाल सिंह पिछले चार दिनों से जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रहे हैं. पर इंडिया टीवी से उनकी खैर खबर लेने कोई भी वरिष्ठ अधिकारी अस्पताल नहीं पहुंचा. चित्रपाल सिंह नोएडा के सेक्टर 27 स्थित कैलाश अस्पताल में भर्ती हैं.

जनसंदेश टाइम्‍स, संतकबीर नगर के ब्‍यूरोचीफ बने मुकेश पांडेय

: विज्ञापन प्रभारी ने दिया इस्‍तीफा : जनसंदेश टाइम्स गोरखपुर युनिट से जुड़े संतकबीरनगर जिले के ब्यूरो कार्यालय में फेरबदल किया गया है। गोरखपुर में कार्यरत मुकेश पाण्डेय को ब्‍यूरो प्रभारी बनाकर संत कबीर नगर भेजा गया है। उन्‍होंने अपनी जिम्‍मेदारी संभाल ली है। अब तक ब्‍यूरो प्रमुख की भूमिका जय प्रकाश ओझा संभाल रहे थे। अब वह सेकेंड मैन के रूप में काम करेंगे। हालांकि माना जा रहा है कि यहां जल्‍द ही जनसंदेश टाइम्‍स को बड़ा झटका लग सकता है।

सरफराज सैफी को सहाना मीडिया में मिला ठौर

पिछले कुछ समय से लगातार यहां वहां जुड़ते उखड़ते रहने वाले सरफराज सैफी ने नया ठिकाना सहाना मीडिया को बनाया है. उन्होंने वाइस प्रेसीडेंट (आपरेशन) पद पर ज्वाइन किया है. सहाना मीडिया कंपनी का मालिक मुंबई का बिल्डर सुधाकर शेट्टी है. उसकी रियल इस्टेट कंपनी का नाम है सहाना.

”सहारा ने गुजरात-महाराष्‍ट्र चैनल के स्ट्रिंगरों के पैसों का भुगतान नहीं किया”

यशवंत जी, नमस्‍कार, सर जी आप हमारी बात यदि आप के पोर्टल पर रखोग तो शायद हमें न्याय मिल सके. बात कुछ ऐसी है कि सहारा समय न्यूज ने 15 अगस्त 2012 को गुजरात में नया रीजनल चैनल शुरू किया गुजरात-महाराष्‍ट्र. गुजरात चुनाव के ठीक पहले शुरू हुए इस न्यूज चैनल में गुजरात के सभी स्ट्रिंगर ने खूब जी लगा के काम किया. खुद का कैमरा खुद का नेट और सारी खबर न्यूज़ के लिए भेजी.

हिंदी आलोचना में जिस साध्‍य की जरूरत है वह विरल होती जा रही है : नामवर सिंह

जोकहरा। जोकहरा स्थित श्री रामानन्‍द सरस्‍वती पुस्‍तकालय में ‘गोष्‍ठी : इतिहास और आलोचना’ विषय पर आयोजित एक भव्‍य समारोह में हिंदी के सुप्रसिद्ध आलोचक प्रो. नामवर सिंह ने प्रो.प्रदीप सक्‍सेना को शॉल, प्रशस्ति पत्र, नगद राशि प्रदान कर वर्ष 2012 का डॉ. रामविलास शर्मा आलोचना सम्‍मान से सम्‍मानित किया। श्री रामानन्‍द सरस्‍वती पुस्‍तकालय, जोकहरा, केदार शोध पीठ (न्‍यास), बॉंदा, डॉ. रामविलास शर्मा आलोचना सम्‍मान आयोजन समिति की ओर से प्रदान किए जाने वाले सम्‍मान समारोह के दौरान महात्‍मा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय हिंदी विश्‍वविद्यालय, वर्धा के कुलपति विभूति नारायण राय, वरिष्‍ठ साहित्‍यकार प्रो. निर्मला जैन, प्रो. चौथीराम यादव, भारत भारद्वाज, दिनेश कुशवाह, प्रदीप सक्‍सेना, रमेश कुमार मंचस्‍थ थे।

उपजा मुगलसराय ईकाई का गठन, वरिष्‍ठ पत्रकार सीबी सिंह बने संरक्षक

मुगलसराय : उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट एसोसिएशन मुगलसराय इकाई के अध्यक्ष राजेन्द्र प्रकाश यादव ने सोमवार को अपने इकाई का विस्तार करते हुए नई समिति गठित की। उन्‍होंने नवगठित इकाई के सदस्यों से उपजा के संविधान में दिये गये परिभाषा के अन्तर्गत कार्य करने की उम्मीद जताते हुए नगर इकाई का गठन किया। गठित इकाई में वरिष्‍ठ पत्रकार सीबी सिंह को संरक्षक बनाया गया है।

लखनऊ के पत्रकार संजय शर्मा ने यूं खोली मुख्यमंत्री के सचिव आलोक कुमार की पोल

केंद्र की प्रमुख योजना राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना में गरीबों को इलाज देने में किये गए भ्रष्टाचार को लेकर जिस तरह यूपी के मुख्यमंत्री के सचिव आलोक कुमार की वीकएंड टाइम्स के सम्पादक संजय शर्मा ने धुलाई की उसके लिए संजय शर्मा की जितनी भी तारीफ़ की जाये उतनी कम है. साथ ही लखनऊ की मीडिया भी बधाई की पात्र है कि उसने मुख्यमंत्री के सचिव का गरूर पल भर में ही निकाल दिया. इससे एक बात और साफ़ हो गई कि अगर पत्रकार किसी योजना की गहराई से पड़ताल करे तो अफसरों और नेताओ की पोल खुलते देर नहीं लगती. इस योजना में फर्जीवाड़े के खुलासे से यह भी साफ़ हो गया कि बड़े अफसर गरीबो के लिए आये रुपयों से अपना महल बनाने की कोई कोशिश नहीं छोड़ते.

पत्‍नी को पहले मारकर अधमरा किया, फिर फांसी पर लटका दिया

हमीरपुर के थाना जलालपुर ग्राम कुरैनी में पति ने महिला को इतना मारा कि उसकी हालात मरणासन्न जैसी हो गई। फिर लोगों की डर से उसे फांसी पर लटका फरार हो गया। सूचना पाकर मौके पर पहुँची पुलिस व महिला के मायके के पक्ष के लोगों ने शव को नीचे उतरवाया। इसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। महिला के मायके के लोगों ने उसके पति विनोद पर उसे जान से मारने का आरोप लगाया है।

प्रसार भारती वसूलेगी निजी चैनलों से शुल्‍क

नई दिल्ली. प्रसार भारती निजी चैनलों पर शुल्क लगाने और घरों में इस्तेमाल होने वाले टीवी सेटों पर लाइसेंस फीस वसूलने पर विचार कर रही है. गांवों में टेलीफोन उपलब्ध कराने के लिए सरकार टेलीकॉम सेक्टर पर यूएसओ यानि सार्वभौमिक सेवा दायित्व कोष शुल्क की तरह प्रसार भारती को घाटे से उबारने के लिए निजी चैनलों पर शुल्क लगाने और घरों में इस्तेमाल होने वाले टीवी सेटों पर लाइसेंस फीस वसूलने पर विचार कर रही है.

अनुरंजन झा का शादी-बियाह वाला चैनल इसी 26 तारीख को लांच होगा

कभी पत्रकार रहे और आजकल एक शादी-बियाह वाले चैनल शगुन के हेड अनुरंजन झा ने शगुन टीवी को 26 अप्रैल को लांच करने की घोषणा कर दी है. चैनल में मैट्रीमोनियल और लाइफ स्टाइल कॉन्सेप्ट पर खास फोसक रहेगा. बाद में देश भर में ब्रांच स्थापित किया जाएगा.

पीसीआई अध्यक्ष के बतौर काटजू के नाकारापन का सुबूत ये रहा

आरटीआई एक्टिविस्ट सुभाष अग्रवाल ने आरटीआई से पूछा कि प्रेस काउंसिल के पास पेड न्यूज की जो शिकायतें आती हैं, काउंसिल उन पर क्या ऐक्शन लेता है? इसके जवाब में काउंसिल की तरफ से कहा गया है कि ज्यादातर शिकायतों पर काउंसिल की तरफ से काम होता है, लेकिन उन्हें लंबे समय तक अनुसरण नहीं किया जाता इसलिए शिकायतों पर कोई कार्यवाही नहीं हो पाती.  भ्रामित करने वाले विज्ञापनों की शिकायतों पर एक्शन के सवाल पर जवाब दिया गया कि ऐसे मामलों को कुछ सेटेलमेंट के बाद बंद कर दिया जाता है.

भोपाल श्रमजीवी पत्रकार संघ भोपाल इकाई का गठन

मध्य प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ के अध्यक्ष साथी शलभ भदौरिया के निर्देश पर और प्रांतीय उपाध्यक्ष साथी के.के.अग्निहोत्री की अनुशंसा पर भोपाल संभाग इकाई के अध्यक्ष साथी आशीष दुबे की सहमति से भोपाल श्रमजीवी पत्रकार संघ के अध्यक्ष अरशद अली खान ने नवगठित कार्यकारिणी की घोषणा इस प्रकार की है।

हिंदुस्तान में तो यह खबर छप गई, दैनिक जागरण व अमर उजाला में नहीं, आखिर क्यों?

यशवंत जी नमस्कार , आज हिंदुस्तान बरेली में प्रष्ठ तीन पर एक खबर प्रकाशित हुई है 'जांच में फेल हुई किप्स की बर्फी '. ये खबर इसलिए महत्वपूर्ण है क्यूंकि 'किप्स ' बरेली शहर का एक बड़ा हलवाई ब्रांड है . इनकी दो या इससे अधिक मिष्टान्न की दुकाने हैं , एक बड़ी क़िराने  की दुकान है जिसे ये सुपर मार्केट  कहते हैं , अपने नाम का बिस्कुट नमकीन आदि भी बेचते हैं, कुल मिला के बड़े हलवाई हैं .

सजायाफ्ता मुलजिमों के पक्ष में खड़े काटजू को पीसीआई अध्‍यक्ष पद से हटाया जाए

प्रेस काउन्सिल अध्यक्ष मार्कंडेय काटजू के कई लोमहर्षक और गंभीर अपराधों के सजायाफ्ता मुज्लिमों के पक्ष में खड़े होने के बाद लखनऊ स्थित सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. नूतन ठाकुर और देवेन्द्र कुमार दीक्षित ने भारत के राष्ट्रपति और प्रधानमन्त्री को प्रत्यावेदन भेज कर उन्हें तत्काल पद से हटाये जाने की मांग की है.

नीतीश ने कर दिया मोदी को ‘रेस’ से बाहर करने का खेल!

अंतत: नीतीश कुमार ने वही कर डाला, जिसकी तैयारी वे महीनों से कर रहे थे। यहां जदयू के दो दिवसीय सम्मेलन में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पूरी तरह छाए रहे। उन्होंने बड़ी राजनीतिक होशियारी से भाजपा नेता नरेंद्र मोदी की राह में निर्णायक अंडगा लगाने का खेल कर दिया है। मोदी का बगैर नाम लिए हुए उन्होंने कह दिया है कि प्रधानमंत्री पद के लिए ऐसा ही उम्मीदवार उनकी पार्टी को स्वीकार्य होगा, जिसका चाल-चरित्र सेक्यूलर हो और वह पूरे देश को जोड़े रखने की कूवत रखता हो। भाजपा नेतृत्व को थोड़ी राहत देते हुए जदयू नेतृत्व ने पीएम उम्मीदवार के फैसले के लिए पर्याप्त समय दे दिया है। ऐलान कर दिया है कि भाजपा नेतृत्व इस साल दिसंबर तक यह बता दे कि ‘पीएम इन वेटिंग’ के लिए उनका चेहरा कौन होगा?

कोर्ट ने सुनाया फैसला – विदेशी पत्रकारों के लिए मिलेंगी सीटें

एनएसयू मुकदमे में विदेशी पत्रकारों के लिए सीट रखने पर हफ्तों के विवाद के बाद अब जर्मन संवैधानिक अदालत ने फैसला सुनाया है और तुर्की के पत्रकारों के लिए जगह रखने का आदेश दिया है. म्यूनिख के हाईकोर्ट और मीडिया के बीच हफ्तों चले विवाद के बाद जर्मनी में अपनी तरह के इस अनोखे मामले का अंत हो गया है. तुर्क दैनिक सबह ने संवैधानिक अदालत में अपील की थी. संवैधानिक अदालत ने फैसला सुनाया है कि एनएसयू मुकदमे के दौरान तुर्की और ग्रीस के पत्रकारों को उचित संख्या में जगह दी जानी चाहिए.

मासिक पत्रिका केपी एस्‍ट्रो साइंस लांच

केपी एस्ट्रो साइंस (मासिक हिंदी पत्रिका) आज रविवार को लॉन्च हो गयी. आज से यह मार्केट में उपलब्ध है. पहले अंक में कई खास बात हैं और यह काफी आकर्षक बन पड़ा है. इस अंक में कई शोध परक लेख हैं और सोनिया गाँधी, राजनाथ सिंह, परवेज मुशर्रफ के बारे में चौंकाने वाली जानकारियां हैं. सोनिया गाँधी भारतीय राजनीति में आगे क्या गुल खिलाएंगी, यह उनकी कुंडली पर रिसर्च करके बताया गया है तो क्या राजनाथ सिंह आने वाले चुनाव में नरेन्द्र मोदी की राह का रोड़ा बनेगे, यह भी है.

पिता दस सालों से कर रहा था नाबालिग बेटी का रेप

नई दिल्ली। ग्रेटर कैलाश के जमरुदपुर में पिता द्वारा 17 साल की बेटी के साथ रेप करने का मामला प्रकाश में आया है। पिता दस सालों से बेटी को हवस का शिकार बना रहा था। लेकिन डर व लोकलाज के भय से किशोरी किसी को आपबीती नहीं बता पा रही थी। उसने हिम्मत कर जब स्कूल के एक शिक्षक से आपबीती बताई तब जाकर चाइल्ड वेलफेयर कमेटी के पास पेश करने पर सारा भेद खुल गया। किशोरी की शिकायत पर ग्रेटर कैलाश थाना पुलिस ने पिता सीताराम के खिलाफ रेप का मामला दर्ज कर शनिवार को गिरफ्तार कर लिया।

डिप्‍टी कलेक्‍टर कर रहा था बेटी से रेप, बीबी ने पकड़ कर भिजवाया जेल

पटना। बेटी से रेप के मामले में बिहार के वरिष्ठ डिप्टी कलेक्टर फंस गए हैं। प्रारंभिक जांच के बाद शनिवार को पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। मामले में उनकी पत्नी ने शुक्रवार को तहरीर दी थी। इस घटना के बाद बिहार की नौकरशाही में तरह तरह की चर्चा है। हालांकि आरोपी डिप्‍टी कलेक्‍टर ने अपने पत्‍नी को मानसिक रूप से विक्षिप्‍त बताते हुए आरोपों को गलत करार दिया है। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

पी7 न्‍यूज में एसोसिएट प्रोड्यूसर बने वृजनंदन चौबे

पी7 न्‍यूज से वृजनंदन चौबे ने अपनी नई पारी शुरू की है. उन्‍हें यहां पर एसोसिएट प्रोड्यूसर बनाया गया है. इसके पहले वे सोनी इंटरटेनमेंट चैनल पर प्रसारित होने वाले कार्यक्रम 'कौन बनेगा करोड़पति' से जुड़े हुए थे. वृजनंदन इसके पहले मेडिटेक प्रोडक्‍शन हाउस, आईबीएन7 एवं डीडी न्‍यूज को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं. उनकी गिनती अच्‍छे पत्रकारों में की जाती है.

इटली के अपहृत चारों पत्रकार सुरक्षित वापस लौटे

इटली के प्रधानमंत्री मारियो मोंटी ने कहा कि एक सप्ताह से अधिक समय तक सीरिया में बंधक बनाकर रखे गए इटली के चार पत्रकार मुक्त होने के बाद घर लौट आए हैं। इटली की मीडिया ने खबर दी है कि चारों पत्रकार एक छोटे सरकारी जेट विमान से रोम पहुंचे। मोंटी ने इससे पहले उनके मुक्त होने का बयान जारी किया था, लेकिन उन्होंने कोई विस्तृत जानकारी नहीं दी थी।

क्‍या जदयू नरेंद्र मोदी के बहाने आत्‍मघाती कदम उठाएगी!

बिहार में एनडीए की बहुमत की सरकार चला रहे जेडीयू के नितीश कुमार को कुछ अधिक ही छटपटाहट सी लगी हुई जान पड़ती है. वैसे यह कोई नई बात नहीं है. समाजवादियों के लिए किसी भी दल या गठबंधन में अधिक दिन तक बने रहना बहुत ही कठिन है. इनका पूर्व का इतिहास इस बात का गवाह है कि यह अपनी छटपटाहट के कारण ठीक-ठाक चल रही सरकार की बलि देने से भी गुरेज नहीं करते. दोहरी सदस्यता के नाम पर जयप्रकाश के सपनों को साकार करने के लिए चार मुख्य दलों को मिला कर बनाई गई जनतापार्टी का विघटन और मोरारजी भाई देसाई के नेतृत्व में जनतापार्टी की सरकार को गिराने का कारण प्रमुख रूप से यही पूर्व के समाजवादी ही थे.

हिंदुस्‍तान के संपादक सूर्यकांत द्विवेदी ने हड़पे अपने रिपोर्टर के साढ़े पांच लाख रुपये

: रिपोर्टर ने भिजवाया नोटिस : हिन्दुस्तान, मेरठ के स्थानीय सम्पादक सूर्यकान्त द्विवेदी ने मवाना तहसील के अपने ही रिपोर्टर संदीप मवाना के साढे पाँच लाख रुपये हड़प लिये हैं। संदीप ने सूर्यकांत द्विवेदी को यह पैसे उधार दिए थे, पर वे पैसे वापस नहीं कर रहे हैं। जब रिपोर्टर ने तकादा किया तो रिपोर्टर संदीप नागर को पुलिस से धमकी दिलाने का प्रयास किया गया। लेकिन रिपोर्टर सम्पादक की धमकी में आने की बजाय सूर्यकांत को अपने अधिवक्ता मो. शरीफ वजीर से नोटिस भिजवाया है।

वीरेंद्र यादव की चुनाव यात्रा (ग्यारह) : सिंबल के लिए तीन दिनों का इंतजार

दस दिसंबर, 12 को नाम वापसी की तिथि समाप्त होने के बाद सभी उम्मीदवारों को चुनाव चिह्न का इंतजार था। जनसंपर्क में सभी उम्मीदवार जुटे हुए थे। लेकिन चुनाव चिह्न के साथ जनता के बीच जाना हर कोई चाह रहा था। वोटर चुनाव चिह्न के आधार पर ही वोट डालता है। चुनाव के दौरान वही पहचान बन जाता है उम्मीदवार की। सिंबल को लेकर चुनाव में नारे भी बन जाते हैं और कई बार ये नारे चुनाव के माहौल को बदल देते हैं। नाम वापसी के दिन सिंबल का वितरण नहीं किया। सबको अपने सिंबल और क्रम संख्या का इंतजार था।

सरकार आकाशवाणी पर शुरू करेगी 24 घंटे का न्‍यूज चैनल

केंद्रीय सूचना व प्रसारण सचिव उदय कुमार वर्मा ने कहा कि सरकार डीडी न्यूज की तरह आकाशवाणी पर 24 घंटे चलने वाले एक न्यूज चैनल को शुरू करेगी। शनिवार को श्री वर्मा अमृतसर में सूचना व प्रसारण मंत्रालय विभाग के पंजाब में अलग-अलग मीडिया संस्थानों के मुखियों के एक बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आकाशवाणी पर 24 घंटे समाचार प्रसारित करने वाले एक न्यूज चैनल को शुरू किए जाने की संभावनाओं का पता लगाने के लिए मंत्रालय द्वारा अलग-अलग सुझाव व विकल्पों पर विचार किया जा रहा है।

नन्‍हें प्रधान के बेटे ने मारी थी डीएसपी को गोली!

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कुंडा में तिहरे हत्याकांड की जांच कर रही केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने पुलिस उपाधीक्षक जिया उल हक की हत्या में शामिल होने के आरोप में शनिवार को बबलू यादव को गिरफ्तार किया। बबलू मृत ग्राम प्रधान नन्हें यादव का बेटा है। पुलिस उपाधीक्षक की हत्या के संबंध में सीबीआई की तरफ से की गई यह पहली गिरफ्तारी है। सीबीआई सूत्रों का कहना है कि अरेस्‍ट बबलू (20 वर्ष) की निशानदेही पर जिया उल हक का लापता मोबाइल भी बरामद कर लिया गया है।

धर्मेंद्र सिंह एवं विकास पाठक ने करा दिया बनारस की पत्रकारिता में दो फाड़!

गिलट बाजार में पिछले दिनों वाराणसी पत्रकारपुरम आवासीय योजना के लोकर्पण समारोह को लेकर स्थानीय पत्रकारों के बीच उपजी वैमनस्यता और गुटबाजी की गरमी अभी शांत भी नहीं हुई थी कि एक बार फिर यहां का पत्रकार समुदाय दो फाड़ हो गया है। इस बार इसका सबब बना है पत्रकारपुरम में आयोजित स्वर्गीय ईश्वरदेव मिश्र स्मृति सामुदायिक भवन शिलान्यास समारोह। पत्रकारपुरम आवासीय समिति की ओर से रविवार सात अप्रैल को आयोजित इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में आये सपा के मुखिया एवं पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने उक्त सामुदायिक भवन के निर्माण के लिए 60 लाख रुपये देने की घोषणा कर पत्रकारों का दिल खुश कर दिया।

गुवाहाटी में भी सकालबेला बंद, चार अधिकारियों के खिलाफ प्राथमिकी

गुवाहाटी। यहां भी वही हुआ जो कोलकाता में हुआ। कोलकाता की तरह गुवाहाटी से निकलने वाले शारदा समूह के बांग्ला दैनिक सकालबेला के कार्यालय में पहुंच कर कर्मचारियों ने हुडदंग किया और कंम्पयूटर और टेबल आदि तोड़ दिए और देर शाम तक हंगामा करते रहे। गनीमत रही कि मौके पर पुलिस पहुंच कर पत्रकारों को शांत किया और कार्यालय को सील कर दिया।

खुशवंत सिंह ने कहा कि बेटे रवीश तू बड़ा स्टार है, सुजान सिंह पार्क में रहा कर

महानगरों में आपके रहने का पता एक नई जाति है। दिल्ली और मुंबई जैसे बड़े शहरों में जाति की पहचान की अपनी एक सीमा होती है। इसलिए कुछ मोहल्ले नए ब्राह्मण की तरह उदित हो गए हैं और इनके नाम ऋग्वेद के किसी मंत्र की तरह पढ़े जाते हैं। पूछने का पूरा लहज़ा ऐसा होता है कि बताते हुए कोई भी लजा जाए। दक्षिण हमारे वैदिक कर्मकांडीय पंरपरा से एक अशुभ दिशा माना जाता है। इस पर एक पुराना लेख इसी ब्लाग पर है। सूरज दक्षिणायन होता है तो हम शुभ काम नहीं करते। जैसे ही उत्तरायण होता है हम मकर संक्रांति मनाने लगते हैं। लेकिन मुंबई और दिल्ली में दक्षिण की महत्ता उत्तर से भी अधिक है। दक्षिण मतलब स्टेटस। मतलब नया ब्राह्मण।

हेमा-माधुरी के ‘चिकने गाल’ ने राजाराम पांडेय को मंत्रिमंडल से बाहर ‘फिसला’ दिया

: अखिलेश ने किया बर्खास्‍त : लखनऊ। महिलाओं को लेकर समय-समय पर अपनी अभद्र बयानबाजी से विवादों में रहने वाले कैबिनेट मिनिस्‍टर राजाराम पाण्डेय की कुर्सी शनिवार चली गई। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने उन्हें बर्खास्त कर दिया है। वह खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री थे। राजाराम पाण्डेय ने बीते शुक्रवार को प्रतापगढ़ में कहा था कि उनके जिले की सड़कें हेमामालिनी और माधुरी दीक्षित के गाल जितनी चिकनी बनेंगी। सड़कों की खुदाई को उन्होंने फेशियल की संज्ञा दी थी। उन्होंने कहा था कि फेशियल के बाद जिस तरह महिलाओं की सुंदरता में निखार आ जाता है, उसी तरह सड़कों में निखार आ जाएगा।

पत्रकार की गोली मारकर हत्‍या

क्विटो। इक्वाडोर के पत्रकार फौस्तो वाल्दिवीजो की उस समय गोली मारकर हत्या कर दी गई जब वह कार में बैठे थे। समाचार एजेंसी ईएफई के मुताबिक, राष्ट्रपति राफेल कोरिया ने ट्विटर पर लिखा, "हम फौस्तो वाल्दिवीजो की हत्या से हतोत्साहित हैं। उनके परिवार के साथ हम एकता प्रकट करते हैं और वादा करते हैं कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।"

हमलावरों ने ‘उदयन’ अखबार के कार्यालय में आग लगाया

कोलंबो : श्रीलंका के जाफना स्थित तमिल भाषा के एक दैनिक अखबार के कार्यालय में आज तड़के हथियारबंद लोगों ने हमला कर आग लगा दी। पुलिस ने बताया कि ‘उदयन’ अखबार के जाफना स्थित कार्यालय में स्थानीय समयानुसार सुबह 5 बजे दो अज्ञात हथियारबंद लोगों ने हमला किया और सुरक्षाकर्मियों को वहां से भगा दिया।

सुधांशु त्रिवेदी बने बरेली में काम्‍पैक्‍ट के प्रभारी, पीयूष एवं विपिन की नई पारी

अमर उजाला, नोएडा से खबर है कि सुधांशु त्रिवेदी का तबादला बरेली के लिए कर दिया गया है. सुधांशु को बरेली में काम्‍पैक्‍ट का प्रभारी बनाया गया है. वे कैलाश सिंह की जगह लेंगे. अब तक काम्‍पैक्‍ट की जिम्‍मेदारी कैलाश सिंह संभाल रहे थे. अब उन्‍हें अमर उजाला में बुला लिया गया है. उन्‍हें क्‍या जिम्‍मेदारी सौंपी गई है इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है.

राजस्थान पत्रिका को करना पड़ा “जस्ट जयपुर” का प्रकाशन बंद

जयपुर से खबर है कि राजस्थान पत्रिका को अपने जयपुर सिटी के लाइफ स्टाइल न्यूज़ सप्लीमेंट "जस्ट जयपुर" के स्वामित्व व प्रकाशन संबंधी विवाद के चलते "जस्ट जयपुर" का प्रकाशन बंद करना पड़ा। वर्ष 2011 में राजस्थान पत्रिका प्राइवेट लिमिटेड ने अपर जिला एवं न्यायाधीश न्यायालय, क्रम-पांच (जयपुर महानगर) के यहां  "जस्ट जयपुर" टाइटल के उपयोग के लिए बीकानेर निवासी विनय जोशी के खिलाफ अस्थायी निषेधाज्ञा प्रार्थना पत्र दाखिल किया था, जिसे न्यायालय ने खारिज कर दिया था।

SUNLIFE कंपनी को हाई कोर्ट ने जारी किया नोटिस

: सन लाइफ ग्रुप आफ कंपनी का करोड़ों का फर्जीवाडा : लोगों की गाढ़ी मेहनत की कमाई पर डाका : लोगों को अल्प समय में पैसा दो गुना, तीन गुना करने का लालच देने वाली कम्पनी सन लाइफ ग्रुप आफ कंपनी को हाई कोर्ट द्वारा नोटिस जारी किया गया है। भारतीय रिजर्व बैंक की अनुमति बिना चिटफंड का कारोबार करने वाली सन लाइफ ग्रुप आफ कम्पनी के खिलाफ लोगों ने धोखधडी व अन्य अपराधों के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। निवेशकों के हित के सरक्षण अधिनियम 2000 की धारा 4 व आरबीआई एक्ट की धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया गया है, इसमें कम्पनी के संचालको कों भी आरोपी बनाया गया है।

सहारा की याचिका पर अब 20 अप्रैल को सुनवाई करेगा सैट

मुंबई : प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण (सैट) सेबी के कुर्की के आदेश के खिलाफ सहारा समूह के प्रमुख सुब्रत रॉय की याचिका पर आज होने वाली सुनवाई को रद्द कर दिया है। सैट अब इस मामले में 20 अप्रैल को सुनवाई करेगा। दिलचस्प है कि सेबी ने निवेशकों का धन लौटाने के मामले में सुब्रत रॉय के साथ समूह की दो कंपनियों और उनके शीर्ष अधिकारियों के बैंक खातों व संपत्तियों की कुर्की के आदेश दिए हैं। न्यायाधिकरण इस मामले से जुड़ी चार याचिकाओं पर अब 20 अप्रैल को आरंभिक सुनवाई करेगा।

जमीन के लिए मुसहरों ने निकाली पदयात्रा, कमिश्नर दफ्तर पर महापंचायत

गोरखपुर। हल्की लू के थपेड़ों और चिलचिलाती धूप में महराजगंज जिले से मंगलवार को गोरखपुर पहुंचे मुसहर समुदाय के लोगों ने अपने हक के लिए पदयात्रा निकाली और महापंचायत की। शहर के डा. भीमराव अम्बेडकर पार्क में सुबह 5 बजे से ही मुसहर इकट्ठा होना शुरू हो गए थे। स्वयंसेवी संस्था एडब्लूओ इंटरनेशनल, मानव सेवा संस्थान ‘सेवा’ और सेवा मुसहर विकास समिति के संयुक्त तत्वावधान में यह आयोजन अपराह्न एक बजे से शुरू हुआ।

”कौन है जो हवाओं में जहर घोल रहा है”

: उपजा का होली मिलन एवं हास्‍य कवि सम्‍मेलन : मुगलसराय : विगत कई वर्षों की भांति बुधवार को स्थानीय रेलवे स्टेशन परिसर में उप्र जर्नलिस्ट एसोसिएशन के होली मिलन समारोह एवं हास्य कवि सम्मेलन का आयोजन सम्पन्न हुआ। इस दौरान उत्‍तर प्रदेश के विभिन्न जनपदों से आये कवियों ने लोगों को गुदगुदाने के साथ ही हास्य की छंटा बिखेरी। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पुलिस अधीक्षक चंदौली शरद सचान, उपजा के प्रदेश उपाध्यक्ष अनिल अग्रवाल, एडीआरएम बीआर बिप्लवी, धवल प्रकाश व राधारमण चित्रांशी सदस्य एनयूजे रहे। वहीं कार्यक्रम की अध्यक्षता उपजा के प्रदेश अध्यक्ष रतन दीक्षित ने किया।

सेक्‍स क्षमता समेत भ्रामक विज्ञापन प्रकाशित करवाने पर 21 के विरुद्ध एफआईआर

सेक्स-क्षमता, मोटापा, सफ़ेद दाग आदि तमाम प्रतिबंधित विज्ञापन देने वालों पर थाना गोमतीनगर, लखनऊ में एफआईआर दर्ज किया गया है. यह एफआईआर लखनऊ स्थित आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर और सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. नूतन ठाकुर के प्रार्थनापत्र पर पंजीकृत हुआ है.

रामदेव के लापता गुरु के मामले में पत्रकार पुष्‍प शर्मा भी सीबीआई के सामने पेश होंगे

नई दिल्ली। बाबा रामदेव के गुरु के गुरु शंकरदेव के अपहरण और गायब होने के मामले में सीबीआई जल्द ही बाबा और उनके सहयोगी बालकृष्ण से पूछताछ कर सकती है। बाबा रामदेव के गुरु स्वामी शंकर देव 6 साल पहले रहस्यमय हालात में गायब हो गए थे। इस मामले को दुबारा खुलवाने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाने वाले पत्रकार पुष्‍प शर्मा भी सीबीआई के सामने पेश होंगे। पुष्‍प शर्मा ही स्टिंग के जरिए इस मामले को दुबारा सुर्खियों में लाए थे, जिसके बाद प्रदेश सरकार ने सीबीआई जांच की सिफारिश की थी।  

भ्रष्‍ट पत्रकारिता (25) : अपात्र पत्रकारों को खदेड़ने के लिए पीआईएल के इंतजार में सरकार!

लखनऊ। अपात्र पत्रकारों से सरकारी आवास खाली कराने से सरकार हिचक रही है। खुद का निजी आवास होने के बाद फर्जी हलफनामों के सहारे सरकारी आवासों में मौज कर रहे पत्रकारों के खिलाफ कार्रवाई के लिए सरकार जनहित याचिका का इंतजार कर रही है। यही वजह है कि भारी संख्या में सरकारी आवासों में अपात्र पत्रकारों रह रहे हैं। जबकि वाजिब पत्रकार सरकारी आवास के लिए मारे-मारे घूम रहे हैं।

काम शुरू : सर्जरी के बाद टीवी पर लौटे दीपक चौरसिया

तेज तर्रार टीवी पत्रकार और इंडिया न्यूज के एडिटर-इन-चीफ दीपक चौरसिया टीवी पर लौट आए हैं. नरेंद्र मोदी की दावेदारी पर जेडीयू के तेवर को लेकर शनिवार की सुबह 11 बजे से ही दीपक लगातार अपने चैनल पर चल रही बहस में हिस्सा ले रहे हैं. इंदौर हवाई अड्डे पर 28 मार्च को एक दुर्घटना के बाद से वो टीवी पर नहीं दिख रहे थे. दिल्ली के एम्स ट्रॉमा सेंटर में उनकी सर्जरी हुई थी. अस्पताल से छूटने के हफ्ते भर के अंदर ही दीपक आराम और काम दोनों एक साथ करने के मूड में दिख रहे हैं.

डीडी उर्दू ने दिखाया ‘सुअर सूप’ की रेसिपी, मुसलमान नाराज

मुंबई। दूरदर्शन के उर्दू चैनल पर प्रसारित होने वाले एक प्रोग्राम से विवाद खड़ा हो गया है। डीडी उर्दू पर एक कूकिंग शो प्रोग्राम 'टेस्ट की बात है' नाम से प्रसारित होता है। 9 अप्रैल को इस प्रोग्राम का एक एपिसोड सुअर की रेसिपी पर फोकस था। इसमें खास करके सुअर के सूप बनाने और उसके टेस्ट को लेकर नुस्खे बाताए जा रहे थे। लेकिन, इस प्रोग्राम में खास करके सुअर की रेसिपी को शामिल करने की बात मुस्लिम दर्शकों के गले नहीं उतर रही है।

रॉबर्ट वाड्रा याचिका में पीएमओ का सूचना देने से मना

प्रधानमंत्री कार्यालय रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ इलाहाबाद हाई कोर्ट में दायर याचिका से सम्बंधित तथ्य छिपाना चाहता दिखता है. पीएमओ के जन सूचना अधिकारी ने इस केस की याची सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. नूतन ठाकुर को इस केस से जुड़े नोट शीट की प्रति यह कहते हुए देने से मना किया था कि मामला न्यायालय में विचाराधीन है. इस पर ठाकुर ने प्रथम अपीलीय अधिकारी को लिखा था कि आरटीआई एक्ट बिना न्यायालय के स्पष्ट आदेश के कहीं भी विचाराधीन मामलों में सूचना दिये जाने से मना नहीं करता.

PLEASE HELP in GETTING JUSTICE

On April 3, 2013, a shocking incident took place at Rajkot in Gujarat. Seven people, poor migrants, went to the Rajkot Municipal Corporation office. They were being tortured and coerced into vacating a piece of land. They had threatened self immolation. Two were rescued before they set themselves on fire but five others set themselves ablaze. All five of them are dead.

हवा में झूल रहे आला कमान के फरमान, गणेश परिक्रमा में जुटे हैं अफसर

: पुलिस व प्रशासनिक हर महकमे में मनमानी चरम पर : कार्यालयों में धूल फांक रही हैं लोगों की हजारों शिकायतें : गाजीपुर। जिले भर में केन्द्र व प्रदेश सरकार के निर्देश पर तकरीबन 4 दर्जन योजनाएं चलायी जा रही हैं लेकिन आला कमान के फरमानों की हवाई उड़ रही है। किसी विभाग की ओर से योजनाओं का लाभ आम लोगों को दिलाने के लिए प्रयास नहीं किये जा रहे हैं। कई विभागों के अधिकारी तो दोपहर तक अपने कार्यालयों में भी नहीं पहुंच रहे हैं। एक तरफ प्रदेश सरकार ने यहॉ के दो विधायकों को मंत्री बना रखा है ताकि विकास सुनिश्चित हो जबकि हाकिम मंत्रियों की ही गणेश परिक्रमा में समय जाया करने के आदी हो गये हैं।

हिन्दू कालेज में आयोजित संगोष्ठी में साहित्य की धूम

नई दिल्ली। हिन्दी कालेज की हिन्दी साहित्य सभा द्वारा आयोजित वार्षिक संगोष्ठी अभिधा का विषय 'विधाओं का अर्थ' था। उद्घाटन भाषण में दिल्ली विश्वविद्यालय के हिन्दी विभाग के अध्यक्ष प्रो गोपेश्वर सिंह ने विस्तार से विधाओं के अंत:संबंधों और वैशिष्ट्य पर चर्चा की। कविता, कहानी, उपन्यास और नाटक अजिसी विधाओं के साथ साथ उन्होंने अन्य विधाओं के महत्त्व को प्रतिपादित करते हुए कहा कि साहित्य के विद्यार्थियों को साहित्येतर कारणों को जानने समझने की कोशिश करनी चाहिए जिनके कारण बड़े परिवर्तन होते हैं।

Andolan lays Seize to CM Residence in Mumbai

: Protests in Different parts of Maharashtra : Dialogue with Secretary Housing Over, now Over to CM : New Delhi : Today is the ninth day of indefinite fast by Medha Patkar and 7th day of indefinite fast by Madhuri Shivkar in Golibar, Mumbai. Late in the evening yesterday Sanjay Nirupam, MP came to the dharna site and expressed his solidarity with the Andolan and said he will do his best to address the issues at hand. People from different Bastis had kept pouring in to the dharna site but also getting restless and so they decided to lay seize to Chief Minister's residence. Chief Minister, Shri Prithvi Raj Chavan spoke to Medha ji in the morning and agreed to meet a delegation.

हम विकास कर रहे हैं या हमारे दिल छोटे हो रहे हैं?

क्या रेलवे स्टेशन पर मर रहे किसी आदमी को बचाने वाला कोई नहीं है। हम किस समाज में रहते हैं? किस व्यवस्था के अंग हैं? यह कैसा लोकतंत्र है? कैसी संवेदनहीनता है? क्या इक्कीसवीं शताब्दी का यही प्राप्य है? ये कई सवाल मेरे जेहन में तब उभरे जब मैंने एक आदमी को मरते हुए देख कर आया। हम विकास कर रहे हैं या हमारा विनाश हो रहा है? वहां रेलवे सुरक्षा बल के दो जवान खड़े थे। वे चुपचाप उस आदमी को मरते देख रहे थे। निर्विकार भाव से। रेल का भाड़ा बढ़ गया है। लेकिन सुविधाओं में क्या फर्क पड़ा? कहां हैं टेलीविजन पर बहस करने वाले देश की चिंता में कथित रूप से मरे जा रहे राजनीतिक नेता?

जागरण, कानपुर में यौन उत्‍पीड़न मामले में महिला आयोग ने मांगी रिपोर्ट

: इसी खबर में पक्ष लेने के लिए किए गए फोन पर जागरण ने रंगदारी का फर्जी मामला दर्ज कराया था : दैनिक जागरण, कानपुर की एक महिला कर्मचारी रवीना मिश्रा (बदला हुआ नाम) के यौन उत्‍पीड़न के आरोपों के मामले में महिला आयोग ने एक महीने में जवाब-रिपोर्ट मांगी है. पिछले साल जून में दैनिक जागरण में कार्यरत रवीना मिश्रा ने आरोप लगाया था कि यूनिट हेड नितेंद्र श्रीवास्‍तव, सीजीएम सतीश चंद्र मिश्रा तथा आईटी सेक्‍शन के हेड प्रदीप अवस्‍थी ने उनका यौन शोषण किया. इसकी शिकायत भी उन्‍होंने महिला पुलिस थाने तथा महिला आयोग के अलावा कई जगहों पर की थी.

जागरण का नईदुनिया बना गलतियों की दुनिया

जो नईदुनिया कभी अपनी भाषा की शुद्धता और खबरों की विश्वसनीयता के लिए जाना जाता था, उसमें प्रूफ की ढेरों गलतियां तो काफी पहले शुरू हो चुकी थीं, लेकिन अब तथ्यों की गलतियां भी बहुतायत में मिलने लगी हैं। आंतरिक राजनीति, खराब माहौल और नौसिखिया तथा अधकचरे रिपोर्टरों की भर्ती का असर अखबार में साफ दिखाई देने लगा है। अखबार का कोई ऐसा पेज नहीं होता, जिसमें गलतियां न हों। इंदौर संस्करण के 13 अप्रैल के अंक से दो उदाहरण संलग्न हैं।

वीरेंद्र यादव की चुनाव यात्रा (दस) : 13 में से तीन उम्मीदवार थे बाहरी

उपचुनाव के लिए कुल तेरह उम्मीदवारों ने नामांकन का पर्चा दाखिल किया था। स्क्रूटनी में सभी पर्चों को सही पाया गया। नाम वापसी की तारीख दस दिसंबर, 12 थी। किसी भी उम्मीदवार ने नाम वापस नहीं लिया। यानी सभी तेरह के तेरह उम्मीदवार मैदान में थे। कोई किसी से कम नहीं था। सबके अपने-अपने चुनाव जीत लेने के दावे और समीकरण थे। सबको अपनी जातीय गोलबंदी का भरोसा था। हम भी उससे अलग नहीं थे।

”कलम के सिपाही” अवार्ड से सम्‍मानित किए गए राजस्‍थान के दर्जनों पत्रकार

जयपुर। भारत के समाचार पत्रों का प्रखर प्रतिनिधित्व करने वाली न्यूजपेपर्स एसोसिएशन ऑफ़ इण्डिया की राजस्थान इकाई प्रदेश के युवा पत्रकारों में व्यावसायिकता, नैतिकता, कर्मठता आदि नैसर्गिक गुणों का विकास करने के उद्देश्‍य से वार्षिक युवा पत्रकार सम्मान समारोह ‘‘कलम के सिपाही-2013’’ आयोजित किया। 10 अप्रैल 2013 को दोपहर 1 बजे से जयपुर में टोंक रोड स्थित सूचना केन्द्र में आयोजित इस भव्य समारोह में पत्रकारिता के क्षेत्र में विषेष उपलब्धियों के बतौर युवा पत्रकारों का अभिनंदन किया गया।

पैसे लेने वाले पत्रकारों के नाम जारी करेगा कोर्ट!

इस्लामाबाद। पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट उन पत्रकारों और मीडिया संगठनों की गोपनीय सूची जारी करेगा जिन्होंने राष्ट्रीय सुरक्षा के नाम पर संघीय सरकार से कथित तौर पर पैसे लिए हैं। यहां की सबसे बड़ी अदालत इस संबंध में आगामी 17 अप्रैल को उस वक्त फैसला कर सकती है, जब सरकार एक संशोधित सूची सौंपेगी।

जिंदल को समिति से हटाने के लिए जी न्‍यूज के रिपोर्टर करा रहे सांसदों से हस्‍ताक्षर

जी न्‍यूज प्रबंधन कांग्रेसी सांसद नवीन जिंदल से बुरी तरह नाराज है. नवीन ने ही जी न्‍यूज के ब्‍लैकमेल करने का स्टिंग सबके सामने रखते हुए समूह के दो संपादकों एवं मालिक सुभाष चंद्रा एवं उनके पुत्र पुनीत गोयनका के खिलाफ मामला दर्ज कराया था. इसमें जी न्‍यूज और सुभाष चंद्रा की तो जमकर किरकिरी हुई ही, सुधीर चौधरी तथा समीर आहलूवालिया को जेल भी जाना पड़ा था. कोर्ट में भी दोनों ब्‍लैकमेलर संपादकों की कई अर्जियां भी खारिज हुईं. यानी जी समूह और उसके संपादकों को कई मोर्चे पर नवीन जिंदल से मात खानी पड़ी है.

दो मंत्रियों ने दी थी मेरी हत्‍या की सुपारी : अन्‍ना हजारे

समाजसेवी अन्ना हजारे ने कहा कि उन्हें मारने के लिए दो मंत्रियों ने 30-30 लाख की सुपारी दी थी। उन्होंने कहा जनता ने अपनी शक्ति का अहसास पिछले आंदोलनों में सरकार को करा दिया है। अब वह चाहकर भी उसकी अनदेखी नहीं कर सकती। सरकार और संसद के ऊपर जनता होती है। लेकिन सरकार यह मानने को तैयार नहीं है, इसका खामियाजा उसे भुगतना पड़ेगा। सेवी अन्ना हजारे ने शुक्रवार को धौलाना और पिलखुवा से केंद्र सरकार को निशाने पर लिया।

जिसके बेटी का अपहरण हुआ, पुलिस ने उसके मुंह में ही नींद की गोलियां ठूंस दी

बागपत : यूपी पुलिसवालों की ही करतूतें हैं, जो महकमे को बदनाम कर रही हैं। बड़ौत थाना पुलिस की शर्मसार करतूत सुनिए, जिस शख्स की बेटी का अपहरण हुआ, पुलिस ने उसके मुंह में नींद की गोलियां ठूंस दी। उसपर यह कहर इसलिए टूटा क्योंकि एक तो मुल्जिम दारोगा का रिश्तेदार है। दूसरा, इस शख्स ने पुलिस की शिकायत एसपी से कर दी थी। तीन दिन अस्पताल में रहने के बाद अब वह इतना भयभीत है कि अपना घर छोड़कर रिश्तेदारी में रह रहा है।

आईबीएन7 से ऋचा अनिरुद्ध का इस्‍तीफा, ‘जिंदगी लाइव’ करती रहेंगी

आईबीएन7 से खबर है कि 'जिंदगी लाइव' प्रोग्राम को होस्‍ट करने वाली वरिष्‍ठ पत्रकार ऋचा अनिरुद्ध ने इस्‍तीफा दे दिया है. उन्‍होंने मार्च के पहले सप्‍ताह में आईबीएन7 को बाय किया है. ऋचा पिछले आठ सालों से आईबीएन7 के साथ जुड़ी हुई थीं तथा चैनल के मशहूर 'जिंदगी लाइव' शो को होस्‍ट कर रही थीं. आईबीएन7 के इस कार्यक्रम ने अपनी एक अलग पहचान बनाई थी. इसे कई पुरस्‍कार भी मिले थे. खबर है कि यह शो बंद नहीं होगा.

सिपाही कर रहे थे गैंगरेप, पीडिता ने बना ली वीडियो

आगरा में मंगेतर को मिलने गई युवती से क्राइम ब्रांच के तीन सिपाहियों ने नशे की हालत में गैंगरेप किया। युवती ने अपने साथ हुए कृत्य की वीडियो रिकार्डिंग कर ली। मामला चर्चा में आते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मचा है। जांच जारी है। हालांकि पुलिस इस पूरे मामले को दबाने की कोशिश कर रही है लेकिन युवती द्वारा वीडियो बना लिए जाने से पुलिस की स्थिति खराब हो गई है।

पिटाई के विरोध में सिलीगुड़ी के पत्रकारों ने निकाला कैंडिल मार्च

दिल्‍ली में बंगाल का हक मांगने गईं ममता बनर्जी पर बामो समर्थित एसएफआई ने योजना भवन पर हमला कर दिया. इसका असर बंगाल में भी दिखा. सिलीगुड़ी में बामो एवं तृणमूल के कार्यकर्ता सड़कों पर भिड़ गए. इसके बाद पुलिस ने लाठी चार्ज कर दिया. इसी दौरान घटना का कवरेज कर रहे पत्रकारों पर अंधेरे का लाभ उठाकर लाठियां चटकाईं गईं. चार पत्रकार इस हमले में बुरी तरह पीटे गए. वे लोग घायल हो गए.

चरैवेति प्रकरण : कौन असली-कौन नकली में उलझा मामला, भास्‍कर भी कूदा

मध्‍य प्रदेश में भाजपा के मुख पत्र चरैवेति के वेबसाइट को लेकर मचा बवाल अब भी जारी है। आज के भास्कर में फिर एक खबर आई है। यह कल के ही खबर का फालोअप है। इस खबर से कई लोग कटघरे में आ गये हैं। परत दर परत झूठ उजागर होने लगा है। एक तरफ जनसंपर्क की विज्ञापन शाखा से मिली जानकारी से यह स्पष्ट हुआ है कि चरैवेति या इससे मिलती-जुलती किसी अन्य वेबसाइट को कोई भी विज्ञापन आदेश या राशि का भुगतान नहीं हुआ है।

न्‍यूज नेशन के पत्रकार को डीसीएम से कुचलने का प्रयास, बाल-बाल बचा

मुरादाबाद में टीवी चैनल न्यूज़ नेशन और एनएनआईएस न्यूज़ एजेन्सी के रिपोर्टर मुज़म्मिल दानिश को डीसीएम से कुचलने का प्रयास किया गया। राहगीरों ने किसी तरह पत्रकार की जान बचाई। इस घटना को वाहन चोरों की साजिश बतया जा रहा है। पुलिस ने डीसीएम को कब्ज़े में लेकर चालक को हिरासत में ले लिया है। मुज़म्मिल दानिश -मुरादाबाद, संभल, अमरोहा जनपदों की कवरेज न्यूज़ नेशन और एनएनआईएस न्यूज़ एजेन्सी के लिए करते हैं। 

कल सैट करेगा सहारा इंडिया और सुब्रत रॉय के भाग्‍य का फैसला

मुंबई : प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण (सैट) सेबी के कुर्की के आदेश के खिलाफ सहारा समूह के प्रमुख सुब्रत राय की याचिका पर शनिवार को सुनवाई करेगा। सेबी ने निवेशकों का धन लौटाने के मामले में राय के बैंक खातों एवं अन्य संपत्तियों के साथ समूह की दो कंपनियों और उनके शीर्ष अधिकारियों के बैंक खातों व संपत्तियों के कुर्की के आदेश दिए हैं।

अमर उजाला को डबल झटका, श्रीकृष्‍ण एवं नवीन हिंदुस्‍तान से जुड़े

हिंदुस्‍तान ने उत्‍तराखंड में अमर उजाला को दो झटके दिए हैं. खबर है कि श्रीनगर में अमर उजाला के लिए लंबे समय से काम कर रहे श्रीकृष्‍ण उनियाल ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे अपनी नई पारी हिंदुस्‍तान के साथ श्रीनगर में ही शुरू करने जा रहे हैं. वे सात सालों से अमर उजाला से जुड़े हुए थे. श्रीकृष्‍ण का इस्‍तीफा अमर उजाला के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है. अमर उजाला को दूसरा झटका देहरादून में लगने जा रहा है.

एसी शर्मा हटाए गए, देवराज नागर नए डीजीपी बने

लखनऊ : प्रदेश में गिरते कानून व्‍यवस्‍था और सरकार की होती किरकिरी की गाज यूपी के डीजीपीए एसी शर्मा पर गिरी है। उन्‍होंने अपराध ना रोक पाने की कीमत चुकानी पड़ी है। शुक्रवार की शाम प्रदेश सरकार ने उन्हें हटा दिया और उनकी जगह पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड के चेयरमैन देवराज नागर को राज्‍य का नया पुलिस महानिदेशक बनाया गया है। शर्मा को पीएसी का महानिदेशक बना दिया गया है। करीब एक साल तक सूबे के पुलिस महानिदेशक के पद पर रहे एसी शर्मा के कार्यकाल में पुलिस के साथ सरकार की कई बार किरकिरी हुई।

ड्यूटी ज्‍वाइन करनी है तो बनाओ शारीरिक संबंध!

इलाहाबाद। शिक्षा विभाग तो लोगों को शिक्षित बनाकर जिम्मेदार नागरिक बनाने का कार्य करता है। समाज में इनका सम्मान भी होता है। पर विभाग में ऐसे लोग भी घुस आए हैं जो बतौर हवस के पुजारी साबित हो रहे हैं। ताजा मामला इलाहाबाद के यमुनापार इलाके का है। यहां एक महिला टीचर के साथ जो कुछ, जिन परिस्थितियों में हुआ वो किसी भी सभ्य समाज के लिए कलंक तो है ही। इसके अलावा घटना के बाद जिले में बैठे शिक्षा विभाग के आला अफसर और कानून व्यवस्था के जिम्मेदार पुलिस का बयान तो किसी को भी हतप्रभ करने वाला है।

भाजपा को रियायत नहीं देना चाहती नीतीश लॉबी

एनडीए में बहुचर्चित नरेंद्र मोदी के विवादित मुद्दे पर जदयू की आंतरिक राजनीति में भी सरगर्मी तेज हो गई है। शनिवार और रविवार को पार्टी कार्यकारिणी और राष्ट्रीय परिषद की बैठक यहां होने जा रही है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सिपहसालारों ने तैयारी शुरू कर दी है कि पार्टी की इस बैठक में प्रधानमंत्री पद के मुद्दे पर एक, दो टूक राय जताता हुआ राजनीतिक प्रस्ताव पास कराया जाए। हालांकि, इस रणनीति को लेकर पार्टी में आम सहमति की स्थिति नहीं बन पा रही है। क्योंकि, पार्टी के प्रमुख शरद यादव चाहते हैं कि इस मुद्दे पर पार्टी अपना निर्णायक दबाव न बढ़ाए। वरना, एनडीए कमजोर पड़ जाएगा। इसका राजनीतिक फायदा कांग्रेस नेतृत्व को ही मिलेगा। ऐसे में, कोई ऐसा कदम नहीं उठाया जाना चाहिए, जिससे कि विपक्ष की धार और कमजोर पड़ जाए।

नीतीश की राजनीति का सच और भाजपा का दांव

भाजपा में प्रधानमंत्री पद की रार के बीच १३-१४ अप्रैल को हो रही जदयू राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक पर पार्टी की विशेष रूचि होगी। बैठक में यदि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनके सहयोगियों द्वारा आगामी लोकसभा चुनाव के लिए प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार का नाम स्पष्ट किए जाने को लेकर प्रस्ताव पारित होता है तो ऐसी स्थिति में राजग की एकजुटता खतरे में पड़ सकती है।

हिंदुस्‍तान वालों का दिमाग खराब क्‍यों हो गया है?

अखबारों में या उनके ऑन लाइन संस्‍करणों में छोटी मोटी गलती होती रहती है लेकिन हिंदुस्‍तान के लोग पता नहीं क्‍यों अब बड़ी गलती करने लगे हैं. शुक्रवार को हिंदुस्‍तान के ऑन लाइन संस्‍करण में शीर्षक कुछ और प्रकाशित है और खबर कुछ और. इसको पढ़ने के बाद कुछ लोग चुटकी भी लेने लगे हैं. इन लोगों का कहना है कि दो सौ करोड़ के विज्ञापन में उलझे हिंदुस्‍तान के लोगों की हालत ही नहीं दिमाग भी खराब हो गया है, इसीलिए वे लोग इस तरह की गलतियां कर रहे हैं.

भाजपा के मुख पत्र चरैवेति को लेकर बवाल, अनिल सौमित्र एवं डा. हितेश बाजपेयी उलझे

: भास्‍कर ने प्रकाशित की आधी-अधूरी खबर : मध्‍य प्रदेश के भाजपा के मुख पत्र चरैवेति को लेकर बवाल हो गया है। मुख पत्र के संपादक अनिल सौमित्र और भाजपा के मीडिया प्रभारी डा. हितेश बाजपेयी के बीच एक खबर को लेकर पैदा हुए वैचारिक टकराव ने व्‍यक्तिगत टकराव का रूप ले लिया है। इसमें भास्‍कर ने भी मीडिया प्रभारी का पक्ष लेते हुए अनिल सौमित्र के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। अब चरैवेति के असली और नकली वेबसाइट को लेकर मामला गरमा गया है।

ये पारस जैन का विजिटिंग कार्ड है या दीपक चौरसिया का!

जिलों में पत्रकारिता करने वाले खुद को प्रेस वाला दिखाने के लिए पता नहीं क्‍या क्‍या कसरत करते हैं. जिलों में शायद पत्रकारिता सबसे मुश्किल होती है. खबरों को पैदा करने से लेकर विरोधी गुट को किसी के सामने नीचा दिखाने से लेकर खुद की पहचान सबसे अलग रखने की. इस काम में न जाने क्‍या क्‍या जतन करने पड़ते हैं. कुछ पत्रकार तो विजिटिंग कार्ड या प्रेस कार्ड ऐसा बनवाते हैं कि उसे देखते ही सामने वाले की स्थिति खराब हो जाए.

एक चैनल के मालिक ने पत्रकार को काम करने दिया, दूसरे चैनल के मालिक ने पत्रकार के पर कतर दिए!

आज बात करते हैं दो पत्रकारों की… पहला पत्रकार एक बड़े चैनल में वरिष्ठ पत्रकार है और उनकी जिम्मेदारी है कुछ खोजी ख़बरें लायें और उनका खुलासा करें… आम तौर पर जब कहीं बम विस्फोट होता है या अंडरवर्ल्ड की कोई खबर होती तो वो पत्रकार महोदय तुरंत स्क्रीन पर दिख जाते और ऐसी जानकारियां देते जिन्हें सुन कर हर कोई दंग रह जाता…. इसी बीच कुछ नया करने के प्रयास में उन्होंने एक मंत्री जी पर हाथ डाल दिया… एक स्टोरी उनके खिलाफ कर दी.

देशद्रोही संपादक की गिरफ्तारी के विरोध बवाल, प्रदर्शन

बांग्लादेश में 'अमार देश' अखबार के संपादक महमुदुर रहमान की गिरफ्तारी का मामला गरमाने लगा है. विपक्ष ने कहा है कि यह लोकतंत्र को खत्म करने की कोशिश है. वहीं सरकार ने दावा किया है कि रहमान अपने लेखन से सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ रहे थे और यह देशद्रोह है. इधर देश और विदेश के कई पत्रकार संगठनों ने इस गिरफ्तारी को लेकर बांग्लादेश सरकार की निंदा की है. इस गिरफ्तारी के खिलाफ ढाका में कई जगह प्रदर्शन की खबर है.

क्या इस मुल्क में आदिवासी होना गुनाह है?

: झारखंड में आदिवासी कल्याण छात्रावास की दयनीय हालत : कुछ महीने पहले मैं झारखंड में आदिवासी कल्याण छात्रावास की दयनीय स्थिति पर रिपोर्ट/ख़बर तैयार करने के मक़सद से संथाल परगना (दुमका) गया था. वहां आदिवासी महिला छात्रावास की हालत आप इन तस्वीरों को देखकर बखूबी समझ सकते हैं, जहां सीलनयुक्त कमरे, टूटी-फूटी फर्श, मरम्मत के अभाव में बेकार पड़े शौचालय, ईंटों के सहारे टिकी चारपाई, खाना बनाने के लिए अपने सिर पर लकड़ी ढ़ोकर लाती छात्राएं और पानी के लिए घंटों कतार में लगीं आदिवासी छात्राएं. इसे क्या कहेंगे आप?

इंडिया टीवी, ईटीवी समेत कई चैनलों का ठेका इन भाइयों के पास है

ठेका प्रथा तो आप जानते ही होंगे, जो कि आज के समय में हर एक विभाग में चल रही है. लेकिन मीडिया लाइन में भी आज कल ऐसी ही प्रथा चल रही है. ऐसा ही कारनामा हमारे जनपद शामली में भी चल रहा है. हमारे यहां पर ईटीवी उत्तर प्रदेश, इण्डिया टीवी, आंखों देखी, टोटल टीवी व टीवी 24 ने जनपद में इन सब चैनलों को दो भाइयों को ठेके पर दे दिए है. और वह भी भारी भरकम सुविधा शुल्क लेकर.

अरबपति बनने की फैक्‍ट्री बनी राजनीति : पांच साल में अरबपति बन गए पूर्व मंत्री जी

अंबेडकरनगर। वर्ष 2007 में करोड़पति थे और 2012 तक अरबपति हो गए। यह अप्रत्याशित समृद्धि बहुजन समाज पार्टी की उत्तर प्रदेश इकाई के अध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री रामअचल राजभर ने हासिल की है। कोई बड़ा उद्यम न लगाने के बावजूद पांच साल में इनकी संपत्तियों में जबर्दस्त इजाफा हुआ। अब लोकायुक्‍त जांच में फंसे राजभर की कुर्सी पर भी खतरा मंडराता दिखने लगा है। संभावना है कि मायावती बवाल से बचने के लिए उनके नीचे से प्रदेश अध्‍यक्ष की कुर्सी खींच सकती हैं।

ओह माई गॉड : ये भगवान का यार है या खुद भगवान!

पिछले दिनों बहुत कुछ हुआ, कहीं आसाराम बापू ने भगवान को अपना यार बना लिया तो राहुल गाँधी ने देश को मधुमक्खी का छत्ता कह डाला, जहाँ रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया के गवर्नर साहब ने बढ़ती महंगाई का दोष गाँव वालों के अच्छे खाने पर मढ़ दिया, वहीँ मोदी महिलाओं की तारीफों के पुल बांधने में लगे थे, इन सबके बीच हर मुद्दे को ठेंगा दिखाते हुए IPL अपनी ही धुन में मग्न है।

समाचार प्‍लस यूपी-उत्‍तराखंड के कर्मचारियों को मिला इंक्रीमेंट का तोहफा

न्‍यूज चैनल की दुनिया में अक्‍सर कोई नया चैनल खुलता है और कुछ समय चलने के बाद आर्थिक दिक्‍कतों से जूझता और कर्मचारियों को तनाव-दबाव-बेरोजगारी देकर बंद हो जाता है. बाजार में दर्जनों उदाहरण मौजूद हैं कि बड़ी धूमधाम और बड़े बजट के साथ शुरू हुए चैनल बिना किसी योजना के धराशायी हो गए. समय के साथ सैलरी क्राइसिस भी शुरू हो गया. इस दौर में ऐसी परम्‍परा के उलट उमेश कुमार के नेतृत्‍व में संचालित समाचार प्‍लस ने अपने लांचिंग के एक साल पूरा होने से पहले ही कर्मचारियों को इंक्रीमेंट का तोहफा दिया है.

नेता-बिल्‍डर और पुलिस हमारी-आपकी जान से खिलवाड़ करने पर अमादा हैं

वर्दी की आड़ में किसी को डराना धमकाना अब आम बात हो गई है. देश का कोई भी हिस्सा हो और आप कहीं के भी रहने वाले हो आप ऐसी घटनाओं से दो चार ज़रूर हुए होंगे, लेकिन जिस तरह से मुंबई में वर्दी की आड़ में घूसखोरी के दृश्य कैमरों में कैद हुए हैं, वो हमारा हौसला तोड़ने के लिए काफी है. मुंबई पुलिस को देश की अव्वल पुलिस का दर्ज़ा हासिल है..और वक्त वक्त पर मुंबई पुलिस ने ये साबित भी किया है, लेकिन कुछ चुनिंदा पुलिसवालों ने मुंबई पुलिस की साख पर बट्टा लगा दिया है.

वीरेंद्र यादव की चुनाव यात्रा (नौ) : स्क्रूटनी में थम गयी थी सांस

नामांकन पत्रों की जांच को लेकर मैं आश्वस्त था। मुझे लगता था कि यह एक सामान्य प्रक्रिया है। स्क्रूटनी के दिन धीरे-धीरे उम्मीदवार उपस्थित होने लगे थे। सबको फॉर्मों की जांच को लेकर उत्सुकता थी। जांच के लिए पहला नामांकन पत्र हमारा ही उठाया गया। सब कुछ सामान्य था। अब वोटर लिस्ट मिलाने की बात आई। बात यहीं आकर उलझ गयी। मैंने अपने आवेदन के साथ विधान सभा की वोटर लिस्ट की कॉपी लगायी थी, जबकि पंचायत चुनाव की वोटर लिस्ट की कॉपी लगानी थी। नामांकन के दिन इसको लेकर कोई विवाद नहीं था। इसलिए विवाद की कोई गुंजाईश नहीं थी।

बैक डेट में विज्ञापन छपवाना हो तो पैसे देकर बैकडेट में पूरा का पूरा अखबार छपवा लें (सुनें टेप)

किन्हीं सज्जन ने एक आडियो टेप भेजा है. इसमें मीडिया वालों के एक खेल-तमाशे का खुलासा है. जैसे ये कि आप अगर बैकडेट में कोई विज्ञापन छपवाना चाहते हैं तो पीछे के डेट में पूरा अखबार छप जाएगा और वह विज्ञापन भी. साथ ही उस दिन के अखबार को आरएनआई आफिस भी नहीं भेजा जाएगा क्योंकि आरएनआई आफिस में कभी कंप्लेन जाए तो उसे मिलना करने के लिए उस दिन का कोई अखबार ही न मिल पाए. इसी सब पर बातचीत है इसमें.

ट्विटर और फेसबुक तय करेंगे देश का अगला प्रधानमंत्री!

नई दिल्ली। अगले आम चुनाव में फेसबुक और ट्विटर जैसे सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने वाले लोग खासा असर डाल सकते हैं। लोकसभा की तकरीबन 160 सीटों पर इसका असर दिखाई पड़ सकता है। आयरिश नॉलेज फाउंडेशन एंड इंटरनेट एंड मोबाइल एसोसिएशन ऑफ इंडिया के एक अध्ययन में ये दावा किया गया है। अगर यह बात सच साबित हुई तो कम से कम सोशल मीडिया प्रधानमंत्री तय करने की स्थिति में होगा। हालांकि अध्‍ययन के इतर कुछ लोग इसे कोरी कल्‍पना बता रहे हैं।

बरेली में चैनल के पत्रकार के साथ मारपीट, कैमरा छीना

बरेली में घटना की कवरेज के दौरान एक पत्रकार की पेट्रोल पंप कर्मचारियों में झड़प हो गई। हाथापाई की नौबत भी उत्‍पन्‍न हो गई। न्यूज चैनल के पत्रकार ने पंप कर्मचारियों पर कैमरा छीनने की रिपोर्ट दर्ज करा दी है। पुलिस ने दो आरोपियों को हिरासत में ले लिया है तथा मामले की जांच कर रही है।

मैंने पत्थर से जिनको बनाया सनम, वो खुदा हो गए देखते देखते… दो गानें (सुनें)

दो गानें.. पहला गाना ''रेयर इनस्ट्रुमेंट्स आफ इंडिया'' नाम वाली सीडी से है जिसमें ''धुन इन कहरवा'' नामक एक इंस्ट्रुमेंटल सांग है. इसके कांट्रीब्यूटींग आर्टिस्ट हैं आशीष बंदोपाध्याय. किसी मनुष्य की आवाज नहीं है. सिर्फ एक इनस्ट्रुमेंट है. वो अपन लोगों के देश का है. इसे आप सुख और दुख, दोनों के मनोभाव में सुनिए और लगेगा कि आपके दोनों मनोभावों में ये शरीक है. और, उन मनोभावों से उपर जाने की बात कह-समझा रहा हो जिसे कुछ कुछ हम आप समझ रहे हों और कुछ कुछ सुबह सुनने समझने की बात कह रहे हों.

पर्ल्‍स समूह 14 अप्रैल को लांच करेगा एमपी-सीजी रीजनल चैनल

पर्ल्‍स न्‍यूज नेटवर्क अब अपने रीजनल विस्‍तार के तहत मध्‍य प्रदेश-छत्‍तीसगढ़ से चैनल लांच करने जा रहा है. इस चैनल की लांचिंग 14 अप्रैल को बैशाखी के अवसर पर इस चैनल की लांचिंग होगी. चैनल का नाम 'पर्ल्‍स मध्‍य प्रदेश-छत्‍तीसगढ़' होगा. इस चैनल को पिछले साल अगस्‍त में ही लांचिंग करने की योजना थी, परन्‍तु कुछ दिक्‍कतों के चलते इसको लांच करने में देर हो गई. समूह इसके पहले रीजनल चैनलों की श्रेणी पी7 एनसीआर, पर्ल्‍स पंजाबी की लांचिंग कर चुका है.

अपने कर्मों से सफाए की तरफ बढ़ती सपा

इस बार विधान सभा चुनावों में उत्‍तर प्रदेश के मुस्लिम वोट के साथ ही दूसरे अमन पसन्द, सेक्‍युलर वोट भी समाजवादी पार्टी को मिले। समाजवादी पार्टी को उम्मीद से कहीं ज्यादा सीटें मिलने की एक खास वजह थी अखिलेश यादव का चेहरा। मतदाताओं में अखिलेश यादव से कुछ उम्मीदें जागीं थी, लोगों का मानना था कि जब पढ़ा लिखा मुख्यमंत्री होगा तो कुछ न कुछ तो सूबे का पहिया रफ्तार पकड़ेगा ही, लेकिन दिल के अरमां भत्तों में दबकर कुचल गये। अखिलेश यादव की सरकार भी सपा के पुराने ढर्रे पर ही चल रही है सूबे की भलाई के लिए तो कुछ हुआ नहीं उल्टे एक साल में 27 साम्प्रदायिक दंगों को नया रिकार्ड जरूर बन गया।

संघ परिवार के लिए नई चिंता का वक्त

बीजेपी की चिंता करनेवाले संघ परिवार के लिए नया जमाना, नई चिंताओं की चिता सजा रहा है। चिंता यह है कि संघ परिवार में स्वयंसेवकों की संख्या लगातार कम होती जा रही है। उसकी फौज में नई भर्ती नहीं हो रही है। हो भी रही है तो बहुत कम। इतनी कम कि आंकड़ा गिनाने पर संतोष तो नहीं होता, पर चिंता की लहर जरूर निकलती है। देश भर में लगनेवाली शाखाओं में कमी आई है और प्रचारकों की ताकतवर फौज भी पहले जितनी बड़ी नहीं रही।

रक्त बीज के वंशज : सच्ची घटनाओं का शिल्प

व्यंग्य विधा से कथा और उपन्यास के क्षेत्र में पदापर्ण करने वाले रामजी प्रसाद ‘भैरव’ अपनी पहली कृति ‘रक्त बीज के वंशज’ में औपन्यासिक मापदण्डों पर खरे उतरते हैं। उपन्यास की कथावस्तु पूर्वी उत्तर प्रदेश में चन्दौली जनपद के चहनियां ब्लाक के स्थानीय जनजीनवन का सजीव चित्रण है।

परवीन ने कहा- सुप्रीम कोर्ट से कराई जाए जांच की निगरानी, राजनीति में जाने के दिए संकेत

देवरिया। परवीन आजाद ने अपने पति के पैतृक गांव अर्थात खुखुन्दु थाने के जुआफर से लखनऊ के लिए रवाना होते समय देवरिया जिला मुख्यालय पर पहॅुचने पर पत्रकारों से बातचीत के दौरान यह मांग उठाई कि सीबीआई द्वारा किए जा रहे जांच की अवधि काफी लम्बी हो सकती है। इसलिए सर्वोच्च न्यायालय द्वारा सीबीआई द्वारा की जा रही इस जांच की निगरानी की जानी चाहिए तथा एक निश्चित समय सीमा के अन्दर जांच रिपोर्ट सौंपने के लिए सीबीआई को बाध्य करना चाहिए। परवीन आजाद ने बतौर उदाहरण गोण्डा जिले के पुलिस अधिकारी रहे केपी सिंह की हत्याकाण्ड की चर्चा की। उन्होंने कहा कि कुण्डा काण्ड का भी फैसला कहीं तीस साल बाद न हो इसलिए यह सब करना अत्यन्त आवश्यक है।

”मैं वेतन नहीं दूंगा लेकिन पचास लाख का विज्ञापन दूंगा, किसी के बाप का क्या जाता है’’

: मिसमैनेजमेंट गुरु ‘अरिंदम चौधरी’ ने किया वरिष्ठ पत्रकारों को बेईज्जत : घटना 28 मार्च की है। सुबह दस बजे तथाकथित मैनेजमेंट गुरु अरिंदम चौधरी ने पत्रकारों को मीटिंग के बहाने सतबरी ऑफिस में बुलाकर जमकर खरीखोटी सुनाई। पांच महीने का वेतन बकाया होने की बात बताने पर अरिंदम चौधरी अपना आपा खो बैठे और महज चार महीने का ही बकाया देने की बात कही। उन्हें याद दिलाने वाले वरिष्ठ अंतर्राष्ट्रीय मामले के पत्रकार सौरभ कुमार शाही को इस्तीफा देने के लिए ललकारा। यह अलग बात है हमेशा शांतचित रहने वाले सौरभ कुमार शाही ने ऐसा कुछ भी करने से इनकार कर दिया।

”साधना न्‍यूज की आईडी बेचने वालों के खिलाफ दर्ज कराएंगे मुकदमा”

आदरणीय यशवंत जी, बहुत जल्दी साधना न्यूज़ के लोग संगठित होकर साधना न्यूज़ की आईडी बेचने वालों के खिलाफ पूरे उत्तर प्रदेश में जगह-जगह आपराधिक मुक़दमे दर्ज करायेंगे. साधना न्यूज़ के सभी जिलों के लोग संपर्क में हैं. शिकायतों का निस्तारण करने में चैनल की  ऊंची कुर्सियों पर बैठे लोग नाकारा नज़र आ रहे हैं, इसलिए यह फैसला सामूहिक रूप से लिया गया है. लोकतंत्र के चौथे खम्बे की आड़ लेकर चौथ वसूलने वालों के खिलाफ हल्ला बोलने का वक़्त आ गया है. देश की कुछ बड़ी सामाजिक संस्थाएं भी इसमें हमारा साथ देने को तैयार हैं. आशा है आप का सहयोग बराबर मिलता रहेगा. 

नईदुनिया, ग्‍वालियर से एनई प्रवीण दुबे का इस्‍तीफा, न्‍यूज24 पहुंचे

नईदुनिया, ग्‍वालियर से खबर है कि प्रवीण दुबे ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर न्‍यूज एडिटर की जिम्‍मेदारी निभा रहे थे. प्रवीण तीन महीने पहले ही न्‍यूज24 से इस्‍तीफा देकर नईदुनिया से जुड़े थे. बताया जा रहा है कि प्रवीण को यहां की आंतरिक राजनीति और उठापटक रास नहीं आई, जिसके चलते वे वापस न्‍यूज24 से जुड़ गए हैं. हालांकि प्रवीण किसी राजनीतिक उठापटक के चलते अखबार छोड़ने की बात सिरे से खारिज करते हैं.

अमर उजाला, बनारस के नए संपादक बनेंगे अजित वडनेकर

भास्कर समूह में कार्यरत रहे अजित वडनेकर के बारे में सूचना मिली है कि वे अमर उजाला, वाराणसी के नए संपादक होंगे. अजित वडनेकर दैनिक भास्कर के साथ भोपाल समेत कई शहरों में रहे. इन दिनों वे भास्कर ग्रुप के मराठी अखबार दिव्य मराठी के एक्जीक्यूटिव एडिटर के रूप में महाराष्ट्र में कार्यरत हैं. उन्होंने भास्कर से इस्तीफा से संबंधित अपना नोटिस प्रबंधन के पास भेज रखा है.

विपक्ष समर्थक संपादक रहमान राष्‍ट्रद्रोह के आरोप में अरेस्‍ट

बांग्लादेश की पुलिस ने विपक्ष समर्थक बांग्ला समाचार पत्र ‘आमार देश’ के संपादक को गिरफ्तार कर लिया गया है. ढाका से प्राप्त एक ख़बर में कहा गया कि संपादक पर राष्ट्रद्रोह और धार्मिक तनाव को उकसाने के आरोप है. पुलिस के अनुसार महमूदुर रहमान को गुरुवार 11 अप्रैल की सुबह ढाका के कारवां बाजार इलाके में स्थित उनके कार्यालय से गिरफ्तार किया गया.

जिला अस्पताल में आगबबूला हुए मंत्री के पिता, मीडियाकर्मियों को भी दी गालियां

सहारनपुर में जिला अस्‍पताल में मौजूद अव्‍यवस्‍था पर बुधवार को ग्रामीण अभियंत्रण सेवा राज्‍य मंत्री राजेंद्र सिंह राणा के पिता मान सिंह राणा पूरे गुस्‍से में थे. उन्‍होंने डाक्‍टरों को भला बुरा कहने के बाद अपना गुस्‍सा मीडियाकर्मियों को गालियां देकर तथा उन्‍हें दौड़ाकर निकाली. मान सिंह अपने पोते को इलाज नहीं मिलने से नाराज थे. इस दौरान पूरे अस्‍पताल में अफरा तफरी का माहौल बना रहा.

बिकती मुंबई पुलिस का सच? तीन दर्जन हुए सस्‍पेंड

मुंबई : भ्रष्टाचार देश के लिए कोई अनोखी चीज़ नहीं है, लेकिन ठाणे में एक छोटे से मकान की तामीर के लिए जिस तरह पूरा सरकारी महकमा हाथ फैलाए सर्विस चार्ज मांगने बेशर्मी के साथ पहुंच जाता है उससे देखकर मुंब्रा की सात मंजिला इमारत के गिरने की वजह समझ में आ जाती है.

अमर उजाला ने किस संपादक के फर्जीवाड़े के बारे में लिखी खबर?

आगरा से प्रकाशित एक अखबार के संपादक के खिलाफ फर्जीवाड़े के मामले में धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है. इस खबर को अमर उजाला ने प्रमुखता से प्रकाशित किया है. हालांकि जिस अखबार और संपादक के खिलाफ यह मामला दर्ज हुआ है, उसका संपादक अब दूसरे अखबार में कार्यरत हैं. जिस अखबार में संपादक जी कार्यरत हैं वह अखबार अपने डाइरेक्‍टर की कारगुजारियों के चलते काफी चर्चा में था.

”भगीरथी को बचाने के लिए भगीरथ बनना होगा”

इलाहाबाद। श्रृंगी ऋषि की कर्मस्थली व पौराणिक धाम श्रृंग्वेरपुर के गंगा तट पर अविरल गंगा-निर्मल गंगा को लेकर हुई संगोष्‍ठी में जन जागरूकता पर जोर दिया गया। विषय विशेषज्ञों का कहना था कि आम जनता के जुड़े बगैर सारी कवायद बेकार होगी। आमजन संकल्प के साथ आगे आएं और भगीरथी को बचाने के लिए भगीरथ की तरह प्रयास करें। गौरीशंकर स्मारक संस्कृत महाविद्यालय में चली संगोष्‍ठी में गंगा प्रदूषण के कारण और निवारण पर टिप्स दिए गए। खास बात यह कि कौशांबी, प्रतापगढ और इलाहाबाद जनपदों के सैकड़ों कर्मकांडी विद्वानों का यहां जुटान हुआ।

पत्रकारों को धैर्य धारण कर निर्भीकता कायम रखना होगा : राकेश त्रिपाठी

: गोजए का शपथ ग्रहण समारोह : गोरखपुर। अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता कभी भी स्वच्‍छंद न होने पाये, पत्रकारों को इस बात से सदैव सचेत रहना होगा। जोखिम भरे मार्ग में पत्रकारों को धैर्य धारण कर निर्भीकता को कायम रखना होगा। उक्त विचार गोरखपुर जर्नलिस्ट एसोसिएशन के सत्र 2013 के शपथ ग्रहण और प्रतिभा सम्मान समारोह में बतौर अध्यक्ष बोलते हुए साहित्यकार, भारतीय स्काउट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्वोत्तर रेलवे के सीसीएम (कैटरिंग और यात्री सुविधा) श्री राकेश त्रिपाठी ने व्यक्त किये।

साधना समूह पर इनकम टैक्स का छापा, हड़कंप

कई न्यूज चैनल संचालित करने वाले साधना समूह के बारे में सूचना मिली है कि कुछ रोज पहले इस ग्रुप के दफ्तरों पर इनकम टैक्स विभाग ने छापा मारा. सूत्रों के मुताबिक ग्रुप के झंडेवालान स्थित कारपोरेट आफिस पर इनकम टैक्स के अधिकारियों ने धावा बोला और आफिस को सील कर दिया. किसी को भी बाहर नहीं जाने दिया गया. सारे कागज, फाइल, कंप्यूटरों की तलाशी ली गई.

Modi is on a Bharat darshan and the TV news channels are on a Modi darshan

: Much ado about Narendra Modi : If it's Saturday, it must be Narendra Modi. If it's Sunday, it must be Modi. If it's Monday, it must be Modi and even if it's Tuesday, it must be Modi. You get the general drift? Every day is Modi-day on television news. One morning, they telecast his speech live from Ahmedabad, then it's Delhi, followed by Kolkata. Boy, does the chief minister of Gujarat get around. Looks like he's on a Bharat darshan and TV news is on Modi darshan.

एसएन श्याम बने वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन आफ बिहार के अध्यक्ष, शशिभूषण प्रसाद सिंह बने वरीय उपाध्यक्ष

इंडियन फेडरेशन आफ वर्किंग जर्नलिस्ट, नई दिल्ली ने वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन आफ बिहार को मान्यता प्रदान कर दी है। फेडरेशन के राष्ट्रीय  अध्यक्ष के विक्रम राव हैं। फेडरेशन के महासचिव परमानंद पांडेय ने बताया कि वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन आफ बिहार का अध्यक्ष वरीय पत्रकार एसएन श्याम को बनाया गया है। श्री श्याम को भेजे पत्र में परमांनद पांडेय ने उम्मीद जतायी है कि वह संगठन को मजबूत करने के लिए पूरा प्रयास करेंगे और उसको विस्तार प्रदान करेंगे।

बीबीसी हिंदी से दर्जन भर वरिष्ठ कनिष्ठ पत्रकारों की नौकरी गई, हाहाकार

बीबीसी के दिल्ली ऑफिस में इस समय मातम छाया हुआ है. पिछले महीने छह प्रोड्यूसर निकाले गए थे. अब पांच सबसे वरिष्ठ बीबीसी संवाददाताओं को एक महीने का नोटिस दे दिया गया है कि वे या तो दिल्ली आ जाएं या फिर इस्तीफा दे दें. बृहस्पतिवार सुबह बीबीसी के सबसे वरिष्ठ संवाददाताओं रामदत्त त्रिपाठी (लखनऊ), मणिकांत ठाकुर (पटना), उमर फारूक (हैदराबाद), जुबैर अहमद (मुंबई) और सलमान रावी (रायपुर) को नये सम्पादक निधीश त्यागी की चिट्ठी मिली है जिसमे कहा गया है कि उनका नोटिस पीरियड शुरू हो चुका है. वे इस एक महीने में या तो दिल्ली आफिस आकर ज्वाइन करें या फिर इस्तीफा दे दें. 

अ‍ब सियासत सीख गए हैं नवजोत सिंह सिद्धू

सरदारजी बीजेपी से नाराज हैं। और सरदारनी उनसे भी ज्यादा। इतनी ज्यादा कि खूब भड़ास निकाल रही हैं। सरदारजी की बोलती बंद है और सरदारनी बोले जा रही है। फेसबुक के जरिए भड़क रही हैं। अपन बात यहां अपनेवाले माननीय सरदार मनमोहन सिंह की नहीं, बीजेपीवाले सरदार नवजोत सिंह सिद्दू की कर रहे हैं। सरदारनी का नाम भी नवजोत ही है, नवजोत कौर सिद्धू। दोनों पति पत्नी हैं। पति क्रिकेटर तो पत्नी डॉक्टर। ऐसा कम ही होता है कि पति और पत्नी दोनों का नाम एक जैसा ही हो। लेकिन जो कहीं आसानी से संभव नहीं हो, वह पंजाब, पंजाबी और पंजाबियत में ही सहज संभव है।

सहारा में चैनल हेड्स को नहीं भा रहा डिप्‍टी हेडों का पॉवर

सहारा के चैनलों में इन दिनों जबरदस्त उठापटक चल रही है। समय के नेशनल चैनल और समय उत्तर प्रदेश को छोड़कर हर जगह पावर शेयरिंग का खेल जोरशोर से चल रहा है। जाहिर है कि इसका असर चैनल के आउटपुट पर पड़ रहा है और इसके नीचे के लोगों पर इसका बुरा असर पड़ रहा है। बल्कि इन दोनों चैनलों को छोड़कर बाकी सभी जगह एक बार फिर से जबरदस्त साजिश और सियासी माहौल बन गया है। यहां तक कि मीडिया-इंटरटेनमेंट हेड को उर्दू चैनल में आकर स्थिति स्पष्ट करनी पड़ी। सुब्रत राय के छोटे भाई जयव्रत राय ने भी तीन दिन पहले सभी चैनल हेड को बुलाकर चूड़ियां कसी हैं।

उपेंद्र राय का कथित भतीजा आशीष कुमार राय बेंगलोर से नोएडा अटैच

सहारा मीडिया बेंगलोर से खबर आ रही है कि खुद को सहारा मीडिया के न्यूज डायरेक्टर उपेंद्र राय का भतीजा बताने वाले आशीष कुमार राय (मैनेजर मार्केटिंग – टीवी) को नोएा एचआर में अटैच कर दिया गया है. बताया जाता है कि पिछले तीन साल से आशीष के आतंक से बेंगलोर यूनिट का स्टाफ परेशान था. जब भी आशीष की कारस्तानियों की शिकायत हेड आफिस नोएडा की जाती तो टीवी के मार्केटिंग हेड रुबल दत्ता बजा लिया करते.

मुख्यमंत्री एवं कैबिनेट मंत्री के जुआफर गांव आने पर हंगामा करने वालों के खिलाफ होगी जांच

देवरिया। हाई प्रोफाईल एवं प्रदेश सरकार को तनाव में डाल देने वाला काण्ड – सीओ जियाऊल हक की मौत के मामले में अब एक नई खबर यह आ रही है कि जिस दिन प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और उनके कैबिनेट मंत्री आजम खां शहीद के पैतृक गांव गए थे और वहां जिस तरीके से कुछ चुनिन्दा लोगों के द्वारा किए जा रहे विरोध का सामना मुख्यमंत्री और उनके कैबिनेट मंत्री को करनी पड़ी थी उसकी फाईल खुलने जा रही है अर्थात विरोध और हंगामा करने वालों के खिलाफ जिला प्रशासन ने जांच करने का आदेश दे दिया है। जांच में दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ कानूनी दण्डात्मक कार्रवाई भी हो सकती है।

हैकर ने वरिष्ठ पत्रकार अश्क का फेसबुक एकाउंट हैक कर ये क्या लिख दिया!

अंतरजाल यानी इंटरनेट की दुनिया जितनी सहूलियत देती है उतनी ही परेशानी भी पैदा कर देती है. बिहार-झारखंड के वरिष्‍ठ तथा जाने माने पत्रकार हैं ओम प्रकाश अश्‍क. प्रभात खबर, हिंदुस्‍तान को लंबे समय तक सेवा देने के बाद कोलकाता में एक अखबार को लांच कराने की तैयारियों में जुटे हुए हैं. पुराने दौर के पत्रकार हैं लिहाजा नई तकनीक का इस्‍तेमाल तो करना जानते हैं लेकिन इससे इतने फ्रेंडली नहीं हैं. इसी का नाजायज फायदा उठाते हुए कुछ शरारती लोगों ने उनके फेसबुक एकाउंट को एक तरीके से हैक करते हुए अनाप शनाप लिख डाला. जब इसकी असलियत जानने के लिए लोग ओम प्रकाश जी को फोन करने लगे तब उन्‍हें इस बात की जानकारी हुई.

आईबीएन7 को झटका देकर ऊपर पहुंचे एनडीटीवी और तेज

चौदहवें सप्‍ताह की टीआरपी आ गई है. इस बार सबसे ज्‍यादा झटका आईबीएन7 को लगा है. यह चैनल आठवें नम्‍बर पर पहुंच गया है. एनडीटीवी और तेज दोनों आईबीएन7 से ऊपर आ गए हैं. इस सप्‍ताह आजतक और इंडिया टीवी के बीच का फासला कम हुआ है. लगातार उपर की तरफ चढ़ रहे इंडिया न्‍यूज को इस बार झटका लगा है. चैनल को दीपक चौरसिया के न दिखने का असर टीआरपी के गिरने के रूप में दिखने लगा है.

सुधीर चौधरी की नजर में संपादक की कोई परिभाषा नहीं होती

सुधीर चौधरी. वही सुधीर चौधरी जो ब्लैकमेलिंग के चक्कर में तिहाड़ जेल गए थे. जिनकी ब्लैकमेलिंग वाली सीडी को सारे देश ने देखा. वे सुधीर चौधरी पिछले 20 सालों से पत्रकारिता जगत में सक्रिय हैं और कई बड़े मीडिया घरानों के साथ काम कर चुके हैं. ज़ी न्यूज में एक दशक तक रहे, फिर सहारा समय नेशनल गए. इंडिया टीवी के हिस्से बने फिर लाइव इंडिया के साथ जुड़े. इन दिनों फिर जी न्यूज के साथ हैं और एडिटर व बिजनेस हेड की डबल जिम्मेदारी निभा रहे हैं और इसी डबल यानि दो नावों में चलने की महती जिम्मेदारी के कारण वे नवीन जिंदल के हाथों ट्रैप हो गए.

‘चांपना न्यूज’ में बिना सेलरी के कार्यरत रहे थे ‘महीन कुमार’!

वो कलाकार है. कमाई करने और कराने का. मैनेज करने और कराने का. कभी 'चांपना न्यूज' में रहा तो कभी 'खैनन डन' में गया. ऐसे चिरकुट चैनलों में जाने के पीछे वजह यह रही कि वो मालिकों को लंबा चौड़ा झाम देकर पहुंचा था. उसे एक अदद नौकरी चाहिए थी, अपनी मार्केट इमेज बचाए रखने के लिए, और इन चिरकुट चैनलों के मालिकों को ऐसे फेंकू लोग, जो चांद तारे तोड़ लाने के दावे करें. खैर, 'चांपना न्यूज' में दलाल शिरोमणि इस शर्त पर पहुंचे थे कि वे इंटरव्यू का एक प्रोग्राम करेंगे और इस प्रोग्राम के जरिए चैनल को लाखों रुपये देंगे.

जी न्‍यूज में एडिटर (क्राइम एंड इंवेस्‍टीगेशन) बने नवीन कुमार

साधना न्‍यूज से इस्‍तीफा देने वाले वरिष्‍ठ पत्रकार नवीन कुमार ने अपनी नई पारी जी न्‍यूज के साथ शुरू की है. उन्‍हें यहां पर एडिटर (क्राइम एंड स्‍पेशल इंवेस्टिगेशन) बनाया गया है. जी न्‍यूज के साथ नवीन कुमार की यह दूसरी पारी है. पहली पारी में क्राइम हेड के रूप में जुड़े हुए थे. अबकी उन्हें जी न्यूज समेत ग्रुप के सभी न्यूज चैनलों व डीएनए अखबार का भी एडिटर (क्राइम एंड इनवेस्टीगेशन) बनाया गया है.

सुरक्षा कानून बनाने की मांग लेकर 8 मई को सीएम आवास पर प्रदर्शन करेंगे पत्रकार

महाराष्ट्र में पत्रकारों के उपर बढ़ते हमले रोकने के लिए पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने और राज्य के वरिष्ठ पत्रकारों के लिए पेन्शन योजना शुरू की जाने की मांग को लेकर महाराष्ट्र के पत्रकार महाराष्ट्र पत्रकार हमला विरोधी कृति समिति के नेतृत्व में मुख्यमंत्री का निवास स्थान वर्षा पर 8 मई के दिन मोटर साइकिल रैली निकालेंगे. व़र्षा के सामने धरना भी देंगे. महाराष्ट्र पत्रकार हमला विरोधी ऍक्शन कमेटी की कल मुंबई में हुई मीटिंग मे यह फैसला लिया गया. समिति प्रमुख एस.एम. देशमुख की अध्यक्षता में यह बैठक संपन्न हुई.

प्रदेश टुडे के संपादक डा. राकेश पाठक पत्रकार कल्‍याण समिति में

राज्‍य शासन ने जनसंपर्क विभाग की 24 सदस्‍यीय संचार प्रतिनिधि कल्‍याण समिति का गठन कर दिया है. इसमें ग्‍वालियर से प्रदेश टुडे के संपादक डा. राकेश पाठक को शामिल किया गया है. इनके अलावा समति में वरिष्‍ठ पत्रकार गिरिजा शंकर, मनीष दीक्षित, अजय त्रिपाठी, प्रशांत जैन, मनोज शर्मा, राजेंद्र शर्मा, दीपक तिवारी, शरद द्विवेदी, गणेश साकल्‍ले, सिकंदर अहमद, विनोद तिवारी, दिनेश गुप्‍ता, सीताराम ठाकुर और प्रकाश हिंदुस्‍तानी आदि सम्मिलित हैं.

जनसंदेश टाइम्‍स, भदोही के ब्‍यूरोचीफ सुरेश गांधी जिलाबदर

भदोही से खबर है कि जनसंदेश टाइम्‍स के ब्‍यूरोचीफ सुरेश गांधी के खिलाफ डीएम ने जिलाबदर की कार्रवाई की है. पिछले दिनों पुलिस ने उनपर रंगदारी मांगने के आरोप में मामला दर्ज किया था. पुलिस ने गुंडा एक्‍ट के तहत भी सुरेश गांधी पर मामला दर्ज किया था. उनके घर पर नोटिस भी चस्‍सा कराया गया. भदोही पुलिस पत्रकार सुरेश गांधी के साथ बिल्‍कुल अपराधियों जैसा व्‍यवहार कर रही है.

यूपी में दो साल में 1828 पीपीएस अफसर ट्रांसफर, 263 आदेश संशोधित

वर्ष 2011 और 2012 के मात्र दो साल की अवधि में उत्तर प्रदेश में कुल 1828  पीपीएस अधिकारियों के ट्रांसफर हुए. इनमे अपर पुलिस अधीक्षक रैंक के 478 और डिप्टी एसपी रैंक के 1350 हैं. लखनऊ स्थित आरटीआई कार्यकर्ता डॉ. नूतन ठाकुर द्वारा प्राप्त सूचना के अनुसार अपर पुलिस अधीक्षक रैंक में वर्ष 2012 में 307 और 2011 में 171 ट्रांसफर हुए. डिप्टी एसपी रैंक में वर्ष 2012 में 892 और 2011 में 458 ट्रांसफर हुए.

भुजंग भूषण एवं जीतेंद्र राज के बाद कुंदन कृतज्ञ का भी साधना न्‍यूज से इस्‍तीफा

साधना न्‍यूज को बिहार-झारखंड में बड़ा झटका लगा है. झारखंड से कुंदन कृतज्ञ ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर जीएम सेल्‍स के पद पर कार्यरत थे. इसके पहले स्‍टेट प्रभारी एवं वरिष्‍ठ पत्रकार भुजंग भूषण तथा एसाइनमेंट हेड जीतेंद्र राज भी साधना न्‍यूज से इस्‍तीफा दे दिया है. बताया जा रहा है कि तीनों लोगों के इस्‍तीफे प्रबंधन से मतभेद के चलते हुए हैं. प्रबंधन इन लोगों पर पैसा उगाहने का जबर्दस्‍त दबाव बना रहा था, जिसके बाद इन लोगों ने इस्‍तीफा दे दिया.

वीरेंद्र यादव की चुनाव यात्रा (आठ) : विरेंद्र व वीरेंद्र में फंसा पेंच

नाम के चक्कर में चुनाव से राम-राम की नौबत आ गई थी। नामांकन से जुड़े कागजों पर मैंने अपना नाम सही-सही भरा था। पर्चा से लेकर हस्ताक्षर तक एकदम सही जानकारी दी थी। लेकिन चुनाव अधिकारियों ने उसे सिरे से गलत करार दिया। ठंड के महीने में चेहरे पर पसीना आने लगा था। मैं बैचेन हो गया। क्योंकि फिर से पर्चा भरना व शपथ पत्र बनवाने के चक्कर में मेरी परेशानी बढ़ सकती थी। मेरी पेरशानी को अधिकारी समझ रहे थे। अधिकारियों ने मेरा नाम उस समय गलत करार दिया, जबकि नामांकन की प्रक्रिया पूरा हो चुकी थी।

अब ‘लड़की को बदनीयती से छूने की कोशिश’ नहीं करेंगे भास्कर डॉट कॉम के सीईओ ज्ञान गुप्ता

'मैं अब किसी लड़की को नहीं घूरूंगा, मैं अब किसी लड़की को कभी बदनीयती से छूने की कोशिश नहीं करूंगा, मैं अब ऐसा कुछ नहीं करूंगा जो उन्हें असुविधाजनक लगता हो।' यह बातें भास्कर डॉट कॉम के सीईओ ज्ञान गुप्ता ने अपने ब्लॉग में लिखी है। दिल्ली बलात्कार कांड से आक्रोशित ज्ञान गुप्ता गुस्से में लिखते-लिखते यह भूल गए कि वह क्या लिख रहे हैं? उनकी बातों से यही लगता है कि लड़कियों को घूरने और बदनीयती से छूने का काम पहले करते रहे हैं और अब शपथ ले रहे हैं कि आगे नहीं करेंगे।

नेटवर्क10 डूबता जहाज, स्‍वीचर बनवाने तक के लिए पैसे नहीं!

देहरादून से चलने वाले नेटवर्क 10 न्यूज चैनल की हालत ऑन एयर होने के एक साल बाद ही पतली हो गई है। सैलरी के संकट से तंग आकर इस चैनल से पहले ही ज्यादातर लोग अलविदा कह चुके हैं अब इस चैनल में वही लोग काम कर रहे हैं जो या तो देहरादून से ताल्लुक रखते हैं या फिर वो लोग जिनका पैसा चैनल पर बकाया है। कर्मचारियों के जाने के बाद ये चैनल पहले ही बैसाखियों के सहारे चल रहा था अब तो हालात और भी खराब हो गई हैं।

फारवर्ड प्रेस से 16 लोगों ने नई पारी शुरू की

नई दिल्‍ली : बाईलिंगुअल पत्रिका फारवर्ड प्रेस द्वारा विभिन्‍न शहरों व जिला मुख्‍यालयों के लिए जारी संवाददाता पद की रिक्तियों के आलोक में आज 16 लोगों को नियुक्‍त किया गया। इन नियुक्तियों के साथ ही फारवर्ड प्रेस में नियुक्तियों का पहला चरण संपन्‍न हो गया है। नियुक्तियों के दूसरे चरण के लिए साक्षात्‍कार की प्रकिया 15 अप्रैल के बाद आरंभ की जाएगी।

हिन्दुस्तान विज्ञापन घोटाला : 19 अप्रैल होगी सुप्रीम कोर्ट में मामले की सुनवाई

मुंगेर। और वह दिन आ गया जिसका इंतजार अधैर्य होकर सभी कानूनविद् कर रहे थे। विश्वस्तरीय दैनिक हिन्दुस्तान 200 करोड़ सरकारी विज्ञापन घोटाला में सर्वोच्च न्यायालय (नई दिल्ली) ने पीटिशन फोर स्पेशल लीव टू अपील (क्रिमिनल नं0 1603/2013) में आगामी 29 अप्रैल 13 को प्रातः साढ़े दस बजे सुनवाई की तारीख मुकर्रर कर दी है। सर्वोच्च न्यायालय के सहायक निबंधक ने इस संबंध में मुंगेर (बिहार) के कोतवाली कांड संख्या 445/2011 के सूचक मंटू शर्मा को निबंधित डाक से न्यायालय की नोटिस भेजी है और आगामी 29 अप्रैल 13 को अपना पक्ष रखने का निर्देश दिया है।

Buddhist can become Super Human Being

Six thousands years earlier some thinkers started to think what is different between people and animals. They understood that all of us are dealing with three things. These three things are food, housing, and reproducing. They show this as being the similarities, however animals are find food for themselves. For example, animals will kill a weaker one or whatever type of food they like.  Turn to yourself.  You are working and you do so many things for your food. Even kids are studying in order to obtain their future food.

दैनिक भास्‍कर, चंडीगढ़ से सीओओ आशु फाके का इस्‍तीफा

दैनिक भास्‍कर को चंडीगढ़ में कमलेश सिंह और अभिजीत मिश्रा के इस्‍तीफे के बाद एक और बड़ा झटका लगा है. सीपीएच2 में भास्‍कर के सीओओ आशु फाके ने इस्‍तीफा दे दिया है. आशु का इस्‍तीफा भास्‍कर के लिए बहुत बड़ी क्षति मानी जा रही है. आशु लंबे समय से भास्‍कर को अपनी सेवाएं दे रहे थे. सीपीएच2 में कमलेश सिंह और आशु ने मिलकर भास्‍कर को एक अच्‍छी पहचान और ऊंचाई दी थी. परन्‍तु भास्‍कर की आंतरिक राजनीति अब उस खुद ही भारी पड़ रही है.

मुंगेर के जांबाज ‘हिन्दुस्तान’ अखबार से लड़ाई लड़ने दिल्ली आ रहे, आपके सहयोग की जरूरत

दैनिक हिन्दुस्तान 200 करोड़ सरकारी विज्ञापन घोटाला की अदालती सुनवाई आगामी 29 अप्रैल 2013 से सर्वोच्च न्यायालय (नई दिल्ली) में होगी. इसे घोटाले को उजागर किया मुंगेर के पत्रकार व वकील श्रीकृष्ण प्रसाद ने. मुंगेर से चलकर यह मामला पटना हाईकोर्ट पहुंचा. वहां भी अपनी पैरवी और बहस खुद श्रीकृष्ण प्रसाद ने की.

मेरी व्यक्तिगत संपत्ति से सेबी को तकलीफ है : सुब्रत रॉय

मुंबई : शेयर बाजार नियामक सेबी ने तीन करोड़ से ज्यादा निवेशकों को करीब 24,000 करोड़ रुपये वापस करने के चर्चित मामले में बुधवार को सहारा समूह के प्रमुख सुब्रत राय और समूह के कुछ अन्य बड़े अधिकारियों से उनकी परिसंपत्तियों और निवेश के ब्यौरे मांगे।

ऐसे पत्रकारों का क्या होगा वे इलाज के अभाव में दम तोड़ते रहेंगे!

एक पत्रकार अपने जीवन में क्या कमा पाता है? कुछ थोड़ी बहुत स्टोरीज, ढेर सारी गल्प और थोथे दावे। रंगीन फोटो फेसबुक पर डालकर खुश भले हो लें लेकिन हकीकत यही है कि ताउम्र नौकरी की दरकार उसे होती है। पेंशन उसके पास होती नहीं और घर से अगर पोढ़े होते तो पत्रकारिता काहे को करते जिसके बारे में आज भी लोग कहते हैं कि अच्छा आप पत्रकारिता करते हैं तो रोटी के लिए और क्या करते हैं? यानी अगले आदमी को भरोसा ही नहीं होता कि पत्रकारिता से आदमी इज्जत की दो रोटी कमा सकता है।

न्‍यूज एक्‍सप्रेस से दिनेश कांडपाल का इस्‍तीफा, इंडिया टीवी जाएंगे

न्‍यूज एक्‍सप्रेस से खबर है कि दिनेश कांडपाल ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे फिलहाल नोटिस पीरियड पर चल रहे हैं. वे यहां पर सीनियर प्रोड्यूसर के पद पर कार्यरत थे. दिनेश अपनी नई पारी इंडिया टीवी के साथ शुरू करने जा रहे हैं. दिनेश जनसंदेश न्‍यूज चैनल से इस्‍तीफा देकर न्‍यूज एक्‍सप्रेस पहुंचे थे. …

लोकेंद्र लाइव इंडिया, दीपक न्‍यूज नेशन तथा सवाई एवं पंकज फारवर्ड प्रेस से जुड़े

फोकस टीवी से खबर है कि लोकेंद्र सिंह ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे चैनल की लांचिंग के समय से जुड़े हुए थे. वे पीसीआर की जिम्‍मेदारी संभाल रहे थे. लोकेंद्र ने अपनी नई पारी लाइव इंडिया के साथ शुरू की है. यहां भी इन्‍हें पीसीआर में जिम्‍मेदारी दी गई है. लोकेंद्र इसके पहले एस1 को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

अनंत पालीवाल ने फिर लाइव इंडिया ज्‍वाइन किया

मीडिया गुरु, भोपाल से अनंत पालीवाल ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर स्‍पेशल करेस्‍पांडेंट के पद पर कार्यरत थे. अनंत एक बार फिर लाइव इंडिया में वापस लौट आए हैं. वे लाइव इंडिया के वेब सेक्‍शन से जुड़े हैं. अनंत पी7 न्‍यूज का संचालन करने वाले पर्ल्‍स समूह के पीएनएन से इस्‍तीफा देकर मीडिया गुरु से जुड़े थे. अनंत की मीडिया गुरु के साथ भी दूसरी पारी थी.

मंगल कलश से मनोज, विनीत, देवयानी, सुंदर एवं महेश का इस्‍तीफा

भक्ति चैनल मंगल कलश टीवी में इन दिनों उथल-पुथल चल रहा है. खबर है कि यहां से पिछले कुछ दिनों में कई लोगों ने इस्‍तीफा दिया है तो कुछ को प्रबंधन ने बाहर का रास्‍ता दिखाया है. हालांकि सभी लोगों के नाम पता नहीं चल पाए हैं, परन्‍तु जिन लोगों के नामों की जानकारी मिली है उसमें प्रोग्रामिंग हेड मनोज बेसरिया का नाम भी शामिल है. बेसरिया ने चैनल से इस्‍तीफा दे दिया है. वे अपनी नई पारी कहां से शुरू कर रहे हैं इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है.

सहारा मामले की जांच मुंबई पुलिस ने शुरू की

सहारा मामले की जांच अब मुंबई पुलिस ने भी शुरू कर दी है। मामला 3 करोड़ निवेशकों से गलत तरीके से जुटाए गए 24,000 करोड़ रुपये का है। सेबी की अर्जी पर मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने सहारा पर जांच बैठाई है।

अपने तीन डाइरेक्‍टरों के साथ सेबी के सामने पेश हुए सुब्रत रॉय

मुंबई : सहारा समूह के प्रमुख सुब्रत रॉय और समूह के तीन अन्य शीर्ष अधिकारी बुधवार को सेबी के समक्ष पेश हुए। यह मामला तीन करोड़ से ज्यादा निवेशकों को करीब 24,000 करोड़ रुपये की राशि लौटाए जाने का है। सेबी ने सुब्रत रॉय और सहारा के तीन अन्य निदेशकों को निजी तौर पर पेश होने का निर्देश दिया था, ताकि वह उनकी व्यक्तिगत और कंपनियों की संपत्तियों और निवेश के ब्योरे की जांच कर सके। सहारा समूह के अधिकारियों ने यह नहीं बताया कि रॉय और दूसरे अधिकारी आज सेबी के सामने हाजिर होंगे या नहीं।

अपना अगला जन्‍म क्‍यों बिगाड़ना चाहते हैं अमिताभ बच्‍चन?

भोपाल : बालीवुड स्टार अमिताभ बच्चन एक पत्रकार बनना चाहते हैं और उनका कहना है कि इस जन्म में तो नहीं लेकिन अगले जन्म में मौका मिला तो वे जरूर पत्रकार ही बनना चाहेंगे। अमिताभ कल रात यहां सत्याग्रह की टीम प्रकाश झा, अजय देवगन, करीना कपूर, अमृता राव, तथा अर्जुन रामपाल के साथ संवाददताओं से चर्चा कर रहे थे। करीना कपूर से सवाल किया गया था कि सत्याग्रह में उन्होंने पत्रकार की भूमिका निभायी है और क्या वे एक पत्रकार बनना चाहेंगी।

दूरदर्शन के पत्रकार निखिल कुमार सिंह को मातृशोक

दूरदर्शन के पत्रकार निखिल कुमार सिंह की माता सरोजनी सिंह का बीते दो अप्रैल को यूपी के बलरामपुर में निधन हो गया. वे 71 वर्ष की थीं. वे 10 मार्च को ब्रेन स्‍ट्रोक तथा पैरलाइसिस की शिकार हो गई थीं, जिसके बाद उन्‍हें लखनऊ के सहारा हास्‍पीटल में भर्ती कराया गया था. वे लगभग 20 …

जनसंपर्क विभाग हुआ सख्‍त, पांच पत्रकारों की मान्‍यता निरस्‍त

'देर आयद, दुरुस्त आयद' की उक्ति को बैतूल जनसंपर्क विभाग ने अमल में लाते हुए उन लोगों को सबक सिखाया है जिन्होंने येन- केन- प्राकरेण  सेटिंग से अधिमान्यता हासिल कर ली थी और कार्ड टांग कर उन लोगों को चिढ़ाते थे, जो नियम से इसकी लालसा लिए बैठे थे. ऐसे पांच लोगों के अधिमान्यता कार्ड निरस्त करने की कार्रवाई की गयी है. इस कार्रवाई का पत्रकारों ने स्वागत किया है.

ग्रापए, मुगलसराय ने मनाया होली मिलन समारोह

ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन की ओर से मंगलवार की रात्रि 8 बजे नई सट्टी स्थित आशीर्वाद लान में होली मिलन समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर गीत संध्या के दौरान सरस्वती वंदना ओर मॉ शेरा वाली के भजन से कार्यक्रम का शुभारम्भ जालधंर से पधारे गायक चमन चंचल ने की। तत्पश्चात चंचल द्वारा भजनों की बरसात कर माहौल को भक्तिमय करते हुए सुप्रसिद्ध गायक नरेन्द्र चंचल की याद कराई। अन्य गायकों में मुम्बई से आये रवि पाण्डेय ने होली गीत के साथ भजन और गजल सुना कर उपस्थित श्रोताओं की तालियां बटोरी।

अनंत टाइम्स न्यूज द्वारा एनआरएचएम घोटाले का खुलासा का सीबीआई ने लिया संज्ञान

एनआरएचएम अनुबंध नवीनीकरण में नियुक्ति पर संविदा कर्मियों से पैसा मांगने की खबरों का अनंत टाइम्स अखबार गाजीपुर के ब्यूरो इंचार्ज सुजीत कुमार सिंह प्रिंस द्वारा खुलासा करने की घटना को सीबीआई ने अपने संज्ञान में ले लिया है। गाजीपुर सीएमओ ऑफिस के बिलिंग बाबू राजेश यादव ने संविदाकर्मियों की नियुक्ति अनुबंध के नवीनीकरण के लिये एक महीने के वेतन की मांग थी। अनंत टाइम्स ने इस खबर को साक्ष्यों के साथ पेश किया था।

अपने पत्रकार अजय के निधन पर शोक मनाना भी जरूरी नहीं समझा दैनिक जागरण ने

क्‍या दैनिक जागरण जैसे अखबार में इंसानियत और संवेदनशीलता जैसी चीजों के लिए कोई स्‍थान नहीं रह गया है? ये सवाल कोडरमा में तमाम लोग उठा रहे हैं. खासकर जयनगर के पत्रकार अजय कुमार सिंह के जानने वाले और शुभचिंतक लोग. इसमें कोई शक नहीं है कि जागरण जैसा संस्‍थान अपने कर्मचारियों का जमकर शोषण करता है. इसी के संपादक रहे नरेंद्र मोहन ने संवाद सूत्र जैसी परिकल्‍पना को जन्‍म दिया था. यानी अखबार के लिए काम करो, समाचार दो, पैसे उगाहो, विज्ञापन जुटाओ, झिड़की-डांट सुनो, पर पैसे मांगो मत, जब तुम कहीं फंसोगे, मरोगे, कटोगे तो जागरण झट से अपना पल्‍ला झाड़ लेगा.

गोयल समूह के चैनल आईबीसी24 से विक्रांत एवं हरनीत का इस्‍तीफा

जी न्‍यूज से अलग होने के बाद गोयल समूह का चैनल आईबीसी24 के हालात खराब हो गए हैं. अब तक छोटे कर्मचारी इस्‍तीफा देकर दूसरे चैनलों से जुड़ रहे थे अब सीनियरों की बारी है. चैनल में सीनियर प्रोड्यूसर विक्रांत ने इस्‍तीफा दे दिया है. विक्रांत के साथ उनकी पत्‍नी हरनीत ने भी चैनल को बाय कर दिया है. ये लोग जी सीजी-एमपी के साथ जुड़ गए हैं. कई अन्‍य लोग जल्‍द ही आईबीसी24 से इस्‍तीफा देने को तैयार हैं. उनका इंटरव्‍यू जी एमपी-सीजी में हो चुका है.

हाई कोर्ट ने कहा – अवैध विज्ञापनों पर एफआईआर दर्ज कराएं, फिर कोर्ट आएं

औषधि एवं जादुई उपचार (आपत्तिजनक विज्ञापन) अधिनियम 1954 के प्रावधानों का उल्लंघन किये जाने सम्बंधित जनहित याचिका में इलाहाबाद हाई कोर्ट, लखनऊ बेंच ने याचीगण को एफआईआर दर्ज कराये जाने के वैकैल्पिक उपाय अपनाने के निर्देश देते हुए याचिका निस्तारित कर दिया.

हिंदुस्‍तान में नासिर जैदी का तबादला, जागरण में केपी सिंह छुट्टी पर

हिंदुस्‍तान, कन्‍नौज से नासिर जैदी को कानपुर बुला लिया गया है. वे कन्‍नौज में ब्‍यूरोचीफ की जिम्‍मेदारी संभाल रहे थे. उनकी जगह कानपुर में तैनात पुरुषोत्‍तम द्विवेदी को ब्‍यूरोचीफ बनाकर कन्‍नौज भेजा गया है. नासिर जैदी लंबे समय से हिंदुस्‍तान को अपनी सेवाएं दे रहे है. वे कन्‍नौज के अलावा कई अन्‍य जिलों में भी जिम्‍मेदारी संभाल चुके हैं.

पोर्न और मसाला बेचने वाले भास्कर.काम के कर्मी खुद को ‘सेक्स वर्कर्स’ कहे जाने पर चिढ़ गए

Mohammad Anas : भास्कर.काम पर पोर्न बेचने वाले सेक्स वर्कर्स अब कहां हैं… भास्कर.काम देख कर पोर्न साइट भी शर्म से पानी पानी हो जाये…. आज गूगल ने भास्कर.काम को प्रतिबंधित कर दिया … मुझे तो इतनी खुशी हो रही है कि गंगा में जा कर डुबकी लगाने का मन कर रहा है…. पर अफ्सोस कि दिल्ली में हूं… ये हम सबकी सामुहिक जीत है …. हर उस व्यक्ति की जीत है जो खबर में सिर्फ़ खबर खोजता है, नंगी तस्वीरें नहीं, अश्लील चित्र नहीं… भास्कर वालों अपने 'सेक्स वर्कर्स' से कहिये कि वो कुछ और करना शूरू कर दें क्योंकि सेक्स परोसने के जुर्म में आपके सारे 'सेक्स वर्कर्स' बैन कर दिये गये हैं …भास्कर. काम में काम करने वाले 'सेक्स वर्करो' को अब नौकरी छोड़ देनी चाहिये…. क्योंकि सबूत अब सामने है कि ये एक पोर्न साइट है, ना कि न्यूज़ पोर्टल…

गाजीपुर के सांसद राधेमोहन सिंह को शर्म नहीं आती (देखें तस्वीर)

Braj Bhushan Dubey : सांसद जी। जिला पंचायत का रिमोट वापस करिये। आपकी गन्‍दगी को करूंगा उजागर। ….सम्‍मानित साथियों। ये गाजीपुर संसदीय क्षेत्र के सांसद श्री राधेमोहन सिंह जी हैं। जिला पंचायत के चेयरमैन के रूप में श्रीमती पंचरतनी देवी को बनाने में इनकी महत्‍वपूर्ण भूमिका है इसलिये जिला पंचायत का रिमोट कण्‍टोल भी इनके हाथों में है। कारण कि बेचारी चेयरमैन पहले अंगूठा लगाती थी किन्‍तु अब किसी प्रकार हस्‍ताक्षर करने आ गया है। अब सांसद जी के हस्‍तक्षेप से जिला पंचायत में सदस्‍यों के निर्वाचन क्षेत्र में विकास कार्य कराये जा रहे हैं।

देश के ज्यादातर पत्रकार संगठन अब दलालों, लफंगों और पीआर वाले पत्रकारों का अड्डा है

Yashwant Singh : अगर तुम लोगों की तरह पत्रकारों का संगठन चला रहा होता या पत्रकारों की राजनीति कर रहा होता तो वह नहीं लिख पाता जो मैं लिखता आया हूं या जो लिख रहा हूं.. इसी बहाने मैं कहना चाहूंगा कि ज्यादातर पत्रकार संगठन सत्ता के दलाल, दलाली करने वालों के सूत्रधार, दलालों के संरक्षक, दलालों के दोस्त, सुख सुविधाओं का विस्तार करने को उत्सुक वालों के सदस्य, मीडिया के नाम पर नेताओं से झपटने को तैयार लोगों के हमराही, ज्ञापन मांगपत्र के नाम पर खुद को मीडिया के लाइमलाइट में रखने वाले लोगों का मुख्य अड्डा, मीडिया नेताओं नौकरशाहों के बीच का दलालपुल होने के कारण दलाली को हुंकारने और दलाली को सरोकार के नाम पर कायम रखने रहने के लिए तत्पर लोगों का आश्रयस्थल, मीडिया शब्द के जरिए मानवाधिकार, शोषण, संघर्ष, सरोकार जैसे शब्दों को बेचने का सबसे सुरक्षित स्थल मानने वालों का आखिरी व सुरक्षित शरणस्थली है….एक लाइन में कहें तो लफंगो, दलालों और पीआर वाले पत्रकारों का अड्डा है…. ज्यादा अच्छा है कि ये पत्रकार संगठन मर जाएं क्योंकि इन संगठनों और इससे जुड़े लोगों ने मीडिया मालिकों, नेताओं, अफसरों से सांठगांठ कर अच्छे पत्रकारों और अच्छी पत्रकारिता का जीना मुहाल कर दिया है….

खुद के लिए फ्री इलाज सुविधा मिलने पर लहालोट हुए जा रहे यूपी के पत्रकार, जनता के बारे में कब सोचेंगे ये?

Yashwant Singh : यूपी के चिरकुट पत्रकार, जो ज्यादातर मान्यताप्राप्त हैं, फ्री इलाज मिलने के बाद लहालोट हुए जा रहे हैं… अगर कहीं इन्हें अखिलेश यादव मिल गए तो उनका पांव धोकर पानी पी लेंगे… ये साले क्या सरकार के खिलाफ लिखेंगे… एक तो ये लोग जिन माध्यमों में काम करते हैं उनके मालिक खुद ब खुद डील किए हुए हैं मुलायम अखिलेश सपा आदि से.. तो, इऩ पत्रकारों के पास न तो डील करने की औकात बचती है और न विरोध में लिखने की. ऐसे में ये नौकर टाइप मान्यता प्राप्त पत्रकार अपने फ्री इलाज सुविधा से लहालोट न हों और जनम सुफल होई जाए जैसी यशोगाथा गाते हुए यूपी सरकार को बार बार थैंक्यू थैंक्यू न कहें तो बेचारे क्या कहें… मुझे इन पर तरस आ रहा है.. और, आजकल की पत्रकारिता पर भी..

Justice Katju: Retired Genius or Retarded Genius

If one really wish to assess the faces who have been in headlines since last time, he may come across a lot of names in his mind, but when it comes doing this in a very personal capacity- he will be none other than Mr. Katju. A self-claimed all-rounder of every possible subject on this earth. Professionally he is the chairman of Press Council of India, an ex-judge of Supreme Court. He is a man who tries to do everything other than what his duty is, a man who loves to be in headlines very consistently. Right now he is much in air due to his self-kicked campaign for clemency of Sanjay Dutt. As much has been written on Mr. Sanjay Dutt already regarding his case better would be to focus on Mr. Katju of this Katju-Dutt duo.

वीरेंद्र यादव की चुनाव यात्रा (सात) : हजार रुपये के लिए हजार वादे

दांपत्य जीवन में पति भले कमाता हो, खर्च करने का अधिकार सिर्फ पत्नी को होता है। कम से कम मेरे लिए यह नियम पूरी तरह लागू होता है। मेरे एटीएम पर पत्नी संजू का ही एकाधिकार है। मुखिया के नामांकन के लिए एक हजार रुपये का नाजिर रसीद कटवाना पड़ता है। मैंने पत्नी के समक्ष अपना प्रस्ताव रखा। एक हजार एक सौ रुपये की मांग रखी। वह मेरे चुनाव लड़ने के खिलाफ थी। लेकिन मेरी जिद के आगे उसके पास सहमति देने के अलावा कोई विकल्प नहीं था।

वीरेंद्र यादव की चुनाव यात्रा (छह) : एक प्रस्तावक की तलाश की मुश्किलें

दूसरी पंचायत में जाकर नामांकन के लिए एक व्यक्ति यानी एक प्रस्तावक की तलाश मेरे लिए काफी भारी पड़ रही थी। चुनाव के लिए जाति सबसे महत्वपूर्ण फैक्टर था। लेकिन अपनी ही जाति में एक प्रस्तावक मुझे नहीं मिल रहा था। पंचायत में मनोज कुमार सिंह के पिता महावीर बाबू का नाम का सम्मान के साथ लिया जाता था। उनके खिलाफ कोई यादव खड़ा होने को तैयार नहीं था।

पत्रकारों को पीजीआई में चिकित्सा सुविधा पर उपजा ने मुख्यमंत्री का आभार जताया

लखनऊ। राज्य मुख्यालय पर मान्यता प्राप्त पत्रकारों को संजय गांधी स्नातकोत्तर चिकित्सा संस्थान (एसजीपीजीआई) में नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा प्रदान करने के उत्तर प्रदेश सरकार के फैसले का उ.प्र.जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन (उपजा) ने स्वागत किया है। उपजा ने पत्रकारों को पीजीआई में नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और उनके मंत्रिपरिषद् के सदस्यों का आभार व्यक्त किया है।

परिवर्तन की चेतना कभी मात नहीं खाती : रामजी राय

वर्धा। दोस्‍त से ही बहस हो सकती है, दुश्‍मन का तो विरोध होता है। सरकारों ने तो भगत सिंह को मारा है, मगर देश के अवाम ने उन्‍हें जिन्दा रखा है, अपने दिलों में, परिवर्तन कामी चेतना में, भगत सिंह लोगों की जरूरत हैं और हमेशा रहेगा। आज भगत सिंह को याद करते हुए मुझे पाश, शांवेज और मुक्तिबोध की याद आ रही है। मुक्तिबोध ने अपनी कविता में कहा था कि मैं उस किताब का अगला पन्‍ना पढ़ना चाहता हूँ। ये आज भी सच है कि परिवर्तन कामी चेतना कभी मात नहीं खाती, इंची टेप से उसे नापा नहीं जा स‍कता, आंदोलन के जितने रंग रूप आज छिटके हैं वे आशा और उम्‍मीद जगाते हैं।

पूर्व मंत्री के पुत्र पर उत्‍पीड़न का आरोप लगाने वाली युवती ने खाया जहर

फर्रुखाबाद : नवाबगंज क्षेत्र के ग्राम परमनगर निवासी किशोरी ने अपने घर पर जहर खा लिया। उसे मंगलवार को लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया। इस किशोरी ने सूबे के पूर्व एक मंत्री के बेटे पर उत्पीड़न करने का आरोप लगाया था। उसका आरोप था कि अपहरण के बाद उसे सूबे के एक पूर्व मंत्री के बेटे सचिन सिंह यादव के आवास में रखा गया था। उसके साथ मारपीट की गई। पेट्रोल नहीं पीने पर जान से मारने का प्रयास किया गया था।

इटावा के रहने वाले सिपाही ने एसओ पर तानी रिवाल्वर

जालौन। माधौगढ़ थाने में तैनात मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के गृह जनपद इटावा के सिपाही ने शराब के नशे मे थानाध्यक्ष के ऊपर रिवाल्वर तान कर जमकर हंगामा काटा। दरअसल सिपाही वाहन चोरी के मामले में जेल जा चुके बदमाश के साथ बैठकर शराब पी रहा था। इसका पता चलने पर थानाध्यक्ष ने उसे डांट दिया। इसी से क्षुब्ध होकर सिपाही ने अनुशासनहीनता की हद पार करते हुए अपने अधिकारी पर ही रिवाल्वर तान दी। मामला संज्ञान में आने के बाद रिपोर्ट तलब कर एसपी ने तत्काल प्रभाव से सिपाही को निलंबित कर उसके विरुद्ध जांच का आदेश दे दिया है।

अब खुलेंगे अजित मूत्रालय तो उदघाटन कौन करेगा?

माफी का भी अपना अलग ही मायाजाल है। आप चाहे लाख माफी मांग लीजिए, पर मिल ही जाएगी, इसकी कोई गारंटी नहीं। अजित पवार इसीलिए एक अदद माफी को तरस रहे हैं। पर दुनिया है कि माफ कर ही नहीं रही। पेशाब करके बांध भरने के अपने कुख्यात बयान पर अजित ने खुद ने माफी मांग ली। महाराष्ट्र में खेतों में पानी न होने से परेशान धरने पर बैठे किसानों की बांध से पानी छोड़ने की मांग पर अजित पवार ने कहा था कि अगर बांधों में पानी नहीं है तो कहां से छोड़ें। क्या उन्हें पेशाब से भर दें।

नवरात्र में न्‍यूज एक्‍स की बिल्डिंग में शिफ्ट हो जाएगा इंडिया न्‍यूज नेशनल

इंडिया न्‍यूज का नेशनल चैनल नवरात्र के दौरान नोएडा में स्थित इसी समूह के अंग्रेजी चैनल न्‍यूज एक्‍स की बिल्डिंग में शिफ्ट होने जा रहा है. इसके लिए सारी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं. ड्राई टेस्‍ट रन भी शुरू हो चुका है. माना जा रहा है कि नोएडा में नेशनल चैनल का ऑफिस शिफ्ट होने के बाद की खबरें और उसकी प्रस्‍तुतिकरण पैनी व धारदार हो जाएंगी. नेशनल चैनल के न्‍यूज एक्‍स बिल्डिंग में शिफ्ट होने के बाद लाइव और गेस्‍ट पैनल जैसी कई सुविधाएं इंडिया न्‍यूज और न्‍यूज एक्‍स आसानी से शेयर कर सकेंगे.

सहारा के प्रोग्राम में खुद मौजूद था काटजू, कैसे करेगा निष्पक्ष जांच!

आदरणीय डॉ नूतन ठाकुर जी, बिलकुल सही सवाल उठाने और प्रेस परिषद चेयरमैन को पत्र भेजने के लिए धन्यवाद। पूरे पेज का यह पेड न्यूज अन्य अखबारों में भी छपा है। चूंकि आप लगातार ऐसे मामले उठा रही हैं, इसलिए मैं कई बिंदुओं पर आपका तथा अन्य मित्रों का ध्यान आकृष्ट करना चाहता हूं-

दिल्ली से मसूरी तक की राइड में आपका स्वागत है

नई दिल्ली। दिल्ली में वुमेन्स डे पर आयोजित हुई वुमेन बाइक रैली को समर्थन करने वाली दिल्ली डेयर डेविल बाइकर्स अब एक और नए राइडिंग टूर को करवाने जा रही है। मोटरसाइकिल को समर्पित यह संस्था उन बाइक प्रेमियों को नई दिल्ली से मसूरी तक की राइड करवाने जा रही है जो राइडिंग का आनंद उठाने के साथ-साथ सुरक्षा को सर्वोपरि मानते हैं। इस राइड को संस्था ने 'राइड फॉर सेफ्टी नॉट फॉर फन' का नाम दिया है। इसके तहत यह राइड 18 मई को नई दिल्ली से शुरू होगी तथा यह गाजियाबाद, मेरठ, मुजफ्फर नगर, रूडकी, हरिद्वार रिशिकेष, देहरादून होते हुए मसूरी तक जाएगी।

हादसे में जागरण के पत्रकार अजय की मौत, कोडरमा में शोक

कोडरमा जिले से बहुत ही बुरी खबर है। बांझेडीह स्थित कोडरमा थर्मल पावर प्लांट में मंगलवार को हुए एक हादसे में दैनिक जागरण के जयनगर प्रखंड संवाददाता अजय कुमार सिंह की मौत हो गयी। जयनगर के युवा पत्रकार अजय की मौत से इलाका शोक में है। बताया जाता है कि अजय सुबह वहां अपने काम के सिलसिले में गये हुए थे। इसी दौरान बोल्डर लदा ट्रैक्टर का ट्रेलर अजय पर गिर गया। इससे वह बुरी तरह घायल हो गये। आनन फानन में उन्हें पार्वती क्लिनिक झुमरीतिलैया लाया गया, जहां प्राथमिक चिकित्सा के बाद रांची रेफर कर दिया गया, परन्तु रास्ते में उनकी मौत हो गयी।

फारवर्ड प्रेस से जुड़े अशोक चौधरी एवं उपेंद्र मंडल

अशोक चौधरी को फारवर्ड प्रेस का दिल्‍ली संवाददाता बनाया गया। श्री चौधरी इससे पहले भी फारवर्ड प्रेस के लिए बतौर फ्रीलांसर काम कर रहे थे, अब उन्‍हें आधिकारिक दर्जा दे दिया गया है. श्री चौधरी इससे दैनिक 'आज समाज' में बतौर कॉपी एडिटर कार्यरत थे. इसके अलावा उन्‍होंने ANI TV, SHAHAR SAMATA, ATV NEWS आदि में काम किया है.

साक्षी मीडिया के मालिक जगन की कंपनियों में हवाला के जरिए 55 करोड़ रुपये का हुआ निवेश

साक्षी मीडिया के मालिक तथा वाईएसआर कांग्रेस नेता जगन मोहन रेड्डी के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति के मामले में सीबीआई की ओर से दायर आरोप-पत्र में आरोपी बनाए गए डालमिया सिमेंट्स ने जगन द्वारा प्रोत्साहित सिमेंट की कंपनियों में हवाला के जरिए कथित तौर पर 55 करोड़ रुपये का निवेश किया था. सीबीआई सूत्रों ने दावा किया कि उन्हें उस 55 करोड़ रुपये के सुराग का पता चला है जिसे डालमिया सिमेंट्स ने कथित तौर पर जगन की कंपनी में हवाला के जरिए निवेश किया था.

सहारा समूह और सुब्रत रॉय की किस्‍मत का फैसला आज

सहारा समूह के मुखिया सुब्रत रॉय और देश भर में फैले उनके कारोबारी समूह के भविष्य का क्या होगा? इस पर आज सबकी नजरें टिकी हुई हैं. दरअसल सुब्रत रॉय और उनकी कंपनी के प्रमुख अधिकारियों को सेबी ने बुधवार को ख़ुद पेश होने को कहा है. सेबी ने ये कदम सुब्रत रॉय की निजी संपत्तियों के आकलन के लिए बुलाया है ताकि उन संपत्तियों को बेचकर निवेशकों के पैसे लौटाए जाएं.

ठाणे हादसे में पत्रकार रफीक समेत दो अरेस्‍ट

ठाणे। शिल फाटा इलाके में एक भवन गिरने के मामले में मुम्बारा के एक पत्रकार सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इसके साथ ही मामले में गिरफ्तार लोगों की संख्या 11 पहुंच गई है। इस भवन के गिरने से 74 लोग मारे गए हैं। इसके साथ ही ठाणे नगर निगम ने अवैध ढांचा गिराने की कार्रवाई शुरू कर दी है। पुलिस ने मंगलवार को बताया कि ठाणे पुलिस की अपराध शाखा ने वास्तुकार फारूख अब्दुल (59) और पत्रकार रफीक दाउद कामदार (44) को सोमवार को गिरफ्तार किया था।