अवमानना, कामरा और टेलीग्राफ

-संजय कुमार सिंह- अधिकारों का ऐसा दुरुपयोग हुआ कि सुप्रीम कोर्ट के अधिकारों को चुनौती मिलने लगी… सुप्रीम कोर्ट की अवमानना के मामले में कॉमेडियन कुणाल कामरा का स्टैंड न सिर्फ बड़ी खबर है बल्कि उन वकीलों और वकालत के छात्रों के लिए सीख भी है जो कतिपय कम महत्वपूर्ण मुद्दों पर मुकदमा चलाने की …

कुणाल कामरा और सुप्रीम कोर्ट की जंग में कौन जीतेगा?

-मुकेश कुमार- सुप्रीम कोर्ट को थोड़ा आलोचना झेलने की आदत डालनी चाहिए। वह राज्य सरकारों को नसीहत देकर खुद उनका पालन न करके कोई अच्छी मिसाल नहीं बना रहा है। कुणाल कामरा ने चुभने वाली चीज़ें ज़रूर कही हैं, मगर उनमें सचाई भी है।

भारत की जमीन पर काबिज चीन से ये कैसा समझौता कर लिया मोदीजी ने!

-सौमित्र रॉय- वाह नरेंद्र मोदी जी। अपनी गोदी में बिकी हुई मीडिया के ज़रिए बढ़िया झूठ फैला रहे हैं आप। बिहार चुनाव की आड़ में आपने चीन के साथ चुपके से समझौता कर लिया कि पूर्वी लद्दाख से भारतीय सेना पहले पीछे हटेगी!

सुप्रीम कोर्ट दबाव में फैसले लेने को मजबूर!

-CHARAN SINGH RAJPUT- माननीय कामरा ही नहीं इन परिस्थिति में तो अब आम आदमी की भी सुप्रीम कोर्ट के बारे में ऐसी ही धारणा है… निश्चित रूप से कुणाल कामरा कई बार ज्यादा बोल जाते हैं पर क्या सुप्रीम कोर्ट केंद्र सरकार के दबाव में काम नहीं कर रहा है ? क्या सुप्रीम कोर्ट के …

अमित चौधरी दैनिक भास्कर के लिए आस्ट्रेलिया में काम करेंगे, प्रियम सिन्हा इनशार्ट्स पहुंचे

स्टार न्यूज़ और आईबीएन7 में डेढ़ दशक तक काम कर चुके पत्रकार अमित चौधरी ने अब प्रिंट मीडिया में अपने करियर की शुरुआत की है। ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में बस चुके अमित चौधरी अब दैनिक भास्कर के लिए ऑस्ट्रेलिया समेत एशिया पैसिफिक के देशों से खबरें कवर करेंगे।

राकेश के साथ खेल हो गया, विकास बन गए राष्ट्रीय सहारा लखनऊ के आरई

सहारा समूह अप्रत्याशित साजिशों और सधी शतरंजी चालों का गढ़ है. यहां किसके साथ कब क्या हो जाए, कुछ पता नहीं. राष्ट्रीय सहारा लखनऊ के स्थानीय संपादक राकेश कुमार सिंह को राष्ट्रीय सहारा लखनऊ का स्थानीय संपादक बनाए जाने का लिखित आर्डर पारित हो गया. लेकिन लखनऊ के स्थानीय संपादक की कुर्सी पा गए विकास …

संजॉय घोष मीडिया अवार्ड 2020 के लिए इन पत्रकारों को चुना गया

नई दिल्ली : दिल्ली स्थित एनजीओ ‘चरखा विकास संचार नेटवर्क’ ने ‘संजॉय घोष मीडिया अवार्ड्स 2020’ के लिए चयनित प्रतिभागियों के नामों की घोषणा कर दी है। इनमें केंद्रशासित राज्य जम्मू और कश्मीर से सुश्री बिस्मा भट्ट और रुखसार कौसर, बिहार से सुश्री सुमेधा पॉल, राजस्थान से श्रीमती रमा शर्मा और उत्तर प्रदेश से राजेश …

अनुराग श्रीवास्तव जनतंत्र टीवी पहुंचे, रामजीत चंदन ने हिंदुस्तान अखबार छोड़ा

लखनऊ से खबर है कि अनुराग श्रीवास्तव ने नोएडा से प्रसारित न्यूज चैनल जनतंत्र टीवी में ज्वाइन कर लिया है. उन्हें मैनेजिंग एडिटर बनाए जाने की सूचना है. अनुराग ने काम संभालते ही इंटरव्यूज का दौर शुरू कर दिया है. उन्होंने यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का साक्षात्कार जनतंत्र टीवी पर प्रसारित किया. …

डिजिटल न्यूज चैनल में महिला पत्रकार से मारपीट, आरोपी ने लिखित रूप से माफी मांगी

अलौकिक भारत न्यूज नामक एक डिजिटल न्यूज चैनल है जो दो महीने पहले लांच हुआ. बताया जा रहा है कि वहां पर डायरेक्टरों की दादागिरी ना मानने की वजह से एक महिला पत्रकार से हाथापाई कर दी गई. चैनल के आफिस में पुलिस भी घुस आई. बाद में एक वरिष्ठ पत्रकार आर आर पांडेय को …

बिना कारण पत्रकारों को निकालने पर राज्यसभा टीवी को नोटिस

हाईकोर्ट ने राज्यसभा सचिवालय और राज्यसभा टीवी के अधिकारियों से मांगा जवाब दिल्ली : हाल ही में राज्यसभा टीवी से बिना कारण बाहर किये गये कर्मचारियों की याचिका पर हाईकोर्ट ने संज्ञान लिया है। हाईकोर्ट ने राज्य सभा सचिवालय और राज्य सभा टीवी के अधिकारियों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

हिंदुस्तान अखबार में ‘स्वर्ग बांड योजना’!

हिंदुस्तान के लखनऊ संस्करण में 9 नवंबर को बिज़नेस पेज पर दिल्ली से एक ख़बर छपी है जिसकी हेडिंग है “धनतेरस से पहले गोल्ड बॉन्ड खरीदने का मौका”।

लाइव टुडे के पॉलिटिकल एडिटर अभिनव पांडेय ने दिया इस्तीफा

लखनऊ। लखनऊ के लाइव टुडे चैनल के पॉलिटिकल एडिटर अभिनव पांडेय ने 12 नवंबर को इस्तीफा दे दिया। मई में चैनल हेड विवेक तिवारी के इस्तीफा देने के बाद से अभिनव चैनल की कमान संभाल रहे थे।

सुप्रीम कोर्ट का संदेश- व्यक्तिगत स्वतंत्रता सिर्फ अर्नब जैसे चंद VVIP लोगों की जागीर है!

Soumitra Roy : अर्नब को सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिलनी थी, सो मिल गई। लेकिन इसके पीछे सुप्रीम कोर्ट का जो तर्क है, वह हैरतअंगेज़ है। इसे यूं समझें। एक बाप के दो बेटे थे। बड़ा बेटा ढीठ, तुनकमिजाज और कुतर्की। छोटा वाजिब सवाल पूछने वाला।

उद्धव ठाकरे ने अर्नब गोस्वामी को नेशनल हीरो बना ही दिया!

-Dheeraj Singh- उद्धव ठाकरे ने आखिर अर्नब गोस्वामी को नेशनल हीरो बना ही दिया। पूरी जिंदगी शायद वे अपनी इस गलती को कभी भूल नहीं पाएंगे। जेल से रिहा होने के बाद अर्नब की छवि महानायक जैसी हो गई है। उनके लिए नारे लग रहे थे कि “महाराष्ट्र का CM कैसा हो,अर्नब गोस्वामी जैसा हो।”

यूपी में दो पत्रकार मिलकर अवैध तरीके से चला रहे हैं अस्पताल और पैथालॉजी, स्वास्थ्य विभाग ने की छापेमारी

पत्रकारिता की हनक दिखा कर स्वास्थ्य विभाग में बिना रजिस्ट्रेशन कराये अवैध तरीके से चल रहे अपना हॉस्पिटल व अपना पैथोलॉजी लैब पर स्वास्थ्य विभाग की कार्यवाही… अस्पताल संचालक ई टीवी भारत के रिपोर्टर सुरजीत कुशवाहा को स्वास्थ्य विभाग का कारण बताओ नोटिस… अस्पताल के एमडी हिंदी खबर कन्नौज के रिपोर्टर अनुराग सिंह है… फर्जी …

जेल से निकलते ही अर्नब ने उन्मादी रोड शो कर जमानत की शर्तों का उल्लंघन किया है! देखें वीडियो

Siddharth Vimal : ज़मानत मिल जाने का मतलब यह नहीं होता कि अभियुक्त आरोप से बरी हो गया। इसका मतलब सिर्फ़ और सिर्फ़ इतना ही होता है कि जबतक मुक़दमे का फ़ैसला नहीं हो जाता, आरोपी को क़ानून के दायरे में रहते हुए अनुशासन पूर्वक रहना है। उसे अपने प्रतिपक्ष और समाज के लिए ख़तरा …

न्यूज़ पोर्टल और डिजिटल कंटेंट पर लगाम लगाने के लिए मोदी सरकार ने जारी कर दिया आदेश

केंद्र सरकार ने ऑनलाइन कंटेंट, फ़िल्म और न्यूज़ को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के तहत लाने का फ़ैसला ले लिया है।

बिहार में सारे अनुमान धरे रह गए!

-शिशिर सिन्हा- बिहार में रैली हार गया। नुक्कड़ सभा जीत गया। इसी को जनादेश कहते हैं। तेजस्वी की सभाओं की भीड़ वोट में परिणत कम हुई। सारे अनुमान धरे रह गए। जमीन पर काम करने वाले गलत साबित हुए। पत्रकार, फनकार, कलाकार गलत साबित हुए। ओपिनियन पोल सही साबित हुआ। Exit Poll गलत साबित हुआ।

नंद कुमार नायर दैनिक जागरण में बने कंसल्टिंग एडिटर, शिवम् पाण्डेय ANB News पहुंचे

नंद कुमार नायर ‘सैम’ ने हाल ही में जागरण न्यू मीडिया में बतौर कंसल्टेंट एडीटर (ऑटो) ज्वाइन किया है…सैम ने ज़ी मीडिया में करीब 14 वर्षों तक अपनी सेवाएं दी हैं..

रजत शर्मा के इस ट्वीट के डबल मीनिंग निकाले जा रहे हैं!

रजत शर्मा ने लिखा तो ट्रम्प के लिए है लेकिन लोग इसे अरनब गोस्वामी के लिए शर्मा जी के दिल की भड़ास बता रहे हैं.

क्या पंडित पत्रकार ब्राह्मणों की आबादी को बढ़ा-चढ़ा कर लिखते रहते हैं?

ऐसा समरेंद्र सिंह कहते हैं. समरेंद्र एनडीटीवी समेत कई संस्थानों में लंबे समय तक कार्यरत रहे. कई वर्षों से सेल्फ एंप्लायड मोड में हैं. इन दिनों ‘बोले भारत’ नाम से डिजिटल चैनल शुरू करके विभिन्न विषयों पर खूब बोल रहे हैं.

सुधीर चौधरी को इतना गुस्सा आया कि खुद को मालिक मान बैठे!

ट्वीटर पर दो ब्लू टिक वालों के बीच भिड़ंत हो गई. किन्हीं अभिषेक बख्शी ने सुधीर चौधरी को लेकर थोड़ा आनंद क्या लिया कि सुधीर चौधरी एकदम से भड़क गए.

हिंदुस्तान के प्रसार प्रतिनिधि द्वारा मुफ्त खाने पर विवाद मामले में दोनों पक्षों में हुआ समझौता

सहारनपुर में हिंदुस्तान अखबार के प्रसार प्रतिनिधि ने खाना खाकर पैसा नहीं दिया तो दुकानदार ने अपनी व्यथा पुलिस अधिकारी को सुनाई. इसके बाद हिंदुस्तान अखबार के प्रसार प्रतिनिधि पर मुकदमा हो गया.

टीवी जर्नलिस्ट एसोसिएशन के चुनाव में न्यूज़ 24 के विनोद जगदाले दुबारा अध्यक्ष बने, देखें कौन-कौन जीता

मुंबई : टीवी पत्रकारों के संगठन टी वी जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन के चुनाव में न्यूज़ 24 के मुंबई ब्यूरो चीफ विनोद जगदाले दुबारा बहुमत से विजयी हुये. जगदाले ने नेटवर्क18 के नितिन सोनवणे को 46 वोटों से पराजित किया.

कथित पत्रकार अनुज भूमिया मूलत: जालसाज है, पहले भी कई ठगी कर चुका है, देखें कारनामें और रहें सावधान

बिहार के फारबिसगंज के एक होटल में कई दिन रुककर बिना बिल दिए ही भाग जाने वाले कथित पत्रकार अनुज भूमिया की जालसाजी की खबर भड़ास पर छपने के बाद उसकी कुंडली खुलने लगी है. लोगों ने जो नए विवरण दिए हैं उससे पता चलता है कि यह आदमी पत्रकार नहीं है, ये मूलत: ठग …

सांसद अतुल राय को फंसाने के खेल को उजागर करने पर आईपीएस अमिताभ ठाकुर के घर पहुंच गई लड़की!

सांसद अतुल राय को किस तरह गहरी साजिश रचकर रेप आदि के केस में फंसाया गया, इसको आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने उजागर किया. उन्होंने इससे संबंधित आडियो-वीडियो फेसबुक पर अपलोड किए.

रिपब्लिक टीवी के एक और वरिष्ठ पदाधिकारी गिरफ्तार

बिहार चुनाव नतीजों के बीच एक बड़ी खबर मुंबई से आ रही है। टीआरपी घोटाले में रिपब्लिक टीवी के असिस्टेंट वाईस प्रेसिडेंट (डिस्ट्रीब्यूशन) घनश्याम सिंह को आज मुम्बई पुलिस ने दबोच लिया है।

उत्पन्ना का आरोप- अविनाश दास ने मछली फंसाने के लिए जाल फेंका था!

भड़ास संचालक ने मुझसे बिना अनुमति लिये कॉल टैप करके अपने पोर्टल पर डाल दिया! –Uttpanna Chakravorty– कल मैंने फेसबुक पर अविनाश दास और मेरे वॉट्सऐप चैट के तीन स्क्रीनशॉट शेयर किए थे, सिर्फ इसलिये कि आप सब को इनकी मंशा समझ आये तो मुझे भी समझायें. कल मैंने आरोप नहीं लगाये थे और आज …

‘रिपोर्टर है प्रभारी हेडमास्टर’ शीर्षक खबर पर अभय श्रीवास्तव का पक्ष पढ़ें

सादर नमस्कार ‘रिपोर्टर है प्रभारी हेडमास्टर, इसलिए स्कूल विवाद की खबर दैनिक जागरण में नहीं छपी’ शीर्षक से एक खबर का प्रकाशन भड़ास4मीडिया डाट काम पर किया गया है. इस खबर को लिखने से पूर्व सत्यता भी पता लगाना चाहिए था. सम्मानित संपादक महोदय,आपका ध्यान आपके पोर्टल पर चल रहे इस समाचार ”रिपोर्टर है प्रभारी …

जनवरी मध्य में लांच होगा ‘संसद टीवी’

लोकसभा टीवी और राज्यसभा टीवी को मिलाकर संसद टीवी बनाया जाएगा केंद्र सरकार ने खर्च बचाने और केंद्रीयकृत गतिविधि के उद्देश्य से लोकसभा टीवी और राज्यसभा टीवी के विलय का प्रस्ताव तैयार कर लिया है. इस प्रस्ताव में कहा गया है कि दोनों चैनलों के विलय के बाद नया चैनल संसद टीवी नाम से अगले …

अल्लामा शायर बड़े रहे होंगे पर आदमी कट्टर ही थे

-विवेक सिंह- आज अल्लामा इकबाल की यौम-ए-पैदाइश है। हम लोग अल्लामा इकबार को सारे जहां से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा से जानते हैं.. ये लाइन ही सारा कन्फ्यूजन पैदा करती है। लगता है कोई भारत से बहुत प्यार करने वाले शख्स ने इसे लिखा है। मैं हमेशा कहता हूं कि कोई अच्छा लिखने वाला आदमी भी …

मोदी से नफरत करने वाले ही ट्रम्प की विदाई, अर्णब की पिटाई और नीतीश की संभावित हार पर जश्न मना रहे हैं!

-अनुरंजन झा- अर्नबगोस्वामी की गिरफ्तारी के तरीके पर सवाल उठाए तो कई मित्रों और ‘बुद्धिजीवियों’ ने कहा कि आप कैसे अर्नब की तरफदारी कर सकते हैं। पत्रकारिता को बदनाम किया है, कई तथाकथितों ने कहा कि वो पत्रकार ही नहीं है.. और न जाने क्या क्या ? तो इसको ऐसे समझिए ट्रंप के हारने से …

अल्लामा इकबाल जो आज होते तो मुसलमान उनके खून के प्यासे होते!

-मशाहिद अब्बास- जन्मदिन विशेष – सारे जहां से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा, हम बुलबुले हैं इसके ये गुलसितां हमारा. ये गीत है मुहम्मद इकबाल का, जिसे पूरी दुनिया अल्लामा इकबाल के नाम से जानती और पहचानती है. अल्लामा कहते हैं विद्वान को. मोहम्मद इकबाल को उनकी शायरी देख कर अल्लामा के खिताब से नवाज़ा गया था. …

बीजेपी मीडिया प्रभारी पर विधवा महिला का आरोप- बदनीयत है ये! (देखें वीडियो)

यूपी के महोबा जिले से खबर है कि बीजेपी के जिला मीडिया प्रभारी के रूप में कार्यरत शशांक गुप्ता पर एक विधवा महिला ने बदनीयत रखने और उसे व उसके बच्चों को प्रताड़ित करने का गंभीर आरोप लगाया है. महिला ने जान से मारने की साजिश का आरोप लगाते हुए पुलिस के आला अधिकारियों से …

जेल में कटती अर्नब की रातों की खबरें रजत शर्मा कब दिखाएंगे!

संजय कुमार, वरिष्ठ पत्रकार अर्नब गोस्वामी। बेचारे की जमानत अर्जी बॉम्बे हाई कोर्ट ने आज फिर ठुकरा दी। निर्दयता से कह दिया, देश भले ही तुम्हारे साथ हो हम तुम्हारे अपराधों के साथ नहीं हैं। निष्ठुर की तरह साफ बोल दिया कि बेल चाहिए तो सेशंस कोर्ट जाओ। संतोष की बात इतनी सी रही कि …

साल भर से केंद्र की छात्रवृत्ति न मिलने से परेशान छात्रा ने खुदकुशी की, निशंक के घर के बाहर प्रदर्शन

एलएसआर कालेज की छात्रा को न्याय दिलाने के लिए प्रदर्शन दिल्ली विश्वविद्यालय के लेडी श्रीराम कॉलेज की छात्रा ऐश्वर्या को इंसाफ दिलाने के लिए छात्रों ने शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के घर के बाहर प्रदर्शन किया। ऐश्वर्या एलएसआर कालेज की छात्रा है और वह इसलिए आत्महत्या कर लेती है क्योकि उसे पिछले एक साल …

यूनिट हेड और संपादक की लापरवाही से अमर उजाला के रोहतक आफिस में कोरोना का अटैक

खबर है कि अमर उजाला अखबार के रोहतक आफिस में कोरोना ने जबरदस्त हमला किया है. इस महामारी के प्रकोप से यूनिट हेड, संपादक और 10 पत्रकार एवं डेस्क कर्मी संक्रमित हो गए हैं.

छत्तीसगढ़ के पत्रकार ने मां की तेरहवीं को यूं बना दिया यादगार

–अशोक कुमार साहू– रायपुर।छत्तीसगढ़ के जिला महासमुन्द में एसपी बंगला के पीछे स्थित है हाऊसिंग बोर्ड कॉलोनी। यहां परसकोल रोड, दीनदयाल नगर में शोकसभा आयोजित था। यहाँ का नजारा गमगीन करने वाला था। लेकिन, यह क्या.. यहां तो उपस्थित लोगों ने तालियां बजाना शुरू कर दिया। मैंने अपने जीवन में अनेक सुख-दुख के कार्यक्रमों में …

बिहार चुनाव कवरेज के लिए गई पत्रकारों की एक टीम बिना बिल दिए होटल से फरार

बिहार के वरिष्ठ पत्रकार कन्हैया भेलारी ने खबर दी है कि बिहार के फारबिसगंज के होटल ज्योति से पत्रकारों की एक टीम बिना पेमेंट किए रफूचक्कर हो गई. होटल का कुल चौबीस हजार रुपये का बिल बकाया है.

‘यह आदमी गलत खबर जनसत्ता में छपवाना चाहता है ताकि अखबार बदनाम हो जाए’

राजेश त्रिपाठी (वरिष्ठ पत्रकार, पूर्व संपादक ‘सन्मार्ग’) श्रीश जी अच्छे पत्रकार, लेखक और आला इनसान थे वरिष्ठ पत्रकार और संपादक श्रीश मिश्र जी के निधन की खबर से मर्माहत हूं। ‘जनसत्ता’ के कलकत्ता संस्करण में कार्य करते समय उनसे परिचय हुआ और उनके साथ कुछ दिन काम करने का मौका भी मिला। बात 1994 की …

ट्रक से 18 लाख रुपये की कार पार्ट्स लूट कराने वाले गिरोह के सरगना निकले ये दो पत्रकार!

जोधपुर पुलिस ने दो पत्रकारों के नाम का खुलासा किया है जो ट्रक से कार पार्ट्स लूट में शामिल हैं. गुड़गांव से अहमदाबाद ट्रक से जा रहे 18 लाख रुपये के कार पार्ट्स लूट में जिन पत्रकारों का नाम सामने आया है, वो हैं- जुगल नवल जटिया और हनुमान पटेल. जुगल नवल ‘लाइव टूडे’ न्यूज …

रिपोर्टर है प्रभारी हेडमास्टर, इसलिए स्कूल विवाद की खबर दैनिक जागरण में नहीं छपी

अपने रिपोर्टर के खिलाफ खबर नहीं छापने पर जिला प्रभारी की लगी क्लास रिपोर्टर के बंधक बनाने की खबर न छापने पर संपादक व स्टेट हेड को लिखा पत्र सिद्धार्थनगर। उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर जिले के उस्का बाजार ब्लॉक के गंगाधरपुर पूर्व माध्यमिक विद्यालय का प्रभारी हेडमास्टर अभय कुमार श्रीवास्तव दैनिक जागरण का उस्का बाजार …

छंटनी केस की सुनवाई : पत्रिका अखबार के यूनिट हेड को श्रम अधिकारी ने लगाई फटकार

कोरोना संक्रमण के चलते लॉकडाउन में राजस्थान पत्रिका प्रबंधन द्वारा नौकरी से निकाले गए कर्मचारियों की लड़ाई जारी है. बीते दो नवंबर को सहायक श्रम आयुक्त दुर्ग के यहां मामले की सुनवाई थी. इस दूसरी पेशी में दुर्ग भिलाई के अलावा कवर्धा, राजनांदगांव के पत्रिका के मीडिया कर्मचारी भी उपस्थित थे.

छटपटाते अर्णब को हाईकोर्ट ने उनके हाल पर छोड़ा, अब दिवाली बाद ही कुछ होगा!

-अविनाश पांडेय समर- Big Breaking: Bombay High Court denies bail to Arnab Goswami. Asks him to approach Sessions Court, asks Sessions Court to decide within 4 days if he approaches. Diwali Mubarak, Arnab.

अर्णब की यात्रा : मुंहनोचवा पत्रकारिता से ललकार पत्रकारिता तक!

-सत्येंद्र पीएस- अर्णव गोस्वामी की पत्रकारिता नाज करने वाली बात है। एनडीटीवी से कैरियर शुरू करके वह आज जिस मुकाम पर पहुंचे हैं, बहुत कम लोगों को यह नसीब होता है।

अर्णब की गिरफ्तारी क्या वाकई पत्रकारिता पर हमला है?

-अविनाश पांडेय ‘समर अनार्या’- अर्नब गोस्वामी से 12 घंटे की पूछताछ के बाद अब गिरफ्तारी को पत्रकारिता पर हमला बता तड़प रहे लिबरलों, ज़रा ठहरो और अब कुछ तथ्य सही कर लो-

एक नए केस में फंसते जा रहे हैं अरनब गोस्वामी

हाईकोर्ट ने नोटिस जारी कर जवाब तलब किया अरनब गोस्वामी बुरी तरह फंसते जा रहे हैं. उनके न्यूज चैनल को हाईकोर्ट ने नोटिस भेजा है. प्रमुख फिल्म निर्माताओं की याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट ने रिपब्लिक टीवी और टाइम्स नाउ को जारी नोटिस में सख्त टिप्पणी करते हुए जवाब मांगा है. बताया जाता है कि रिपब्लिक …

क्या वाकई जेल में जूते से पीटे जा रहे हैं अर्णब गोस्वामी?

जेल बदलने के दौरान अरनब गोस्वामी ने जेल की गाड़ी से ही चिल्लाकर बताया कि उन्हें जेल में जूते से पीटा जा रहा है. इसके बाद सोशल मीडिया पर अरनब को लेकर अलग अलग प्रतिक्रियाएं आ रही हैं. कई लोग तो जैसे को तैसा बताकर खुश हो रहे हैं क्योंकि अर्नब गोस्वामी ने रिया चक्रवर्ती …

अर्णब के वकील ने जज से कहा- छूटेगा तो टीवी पर परमवीर के खिलाफ बोलेगा!

-संजय कुमार सिंह- अर्नब की तरफ से तर्क और हाथरस मामले में बंद पत्रकार का दर्द… बार एंड बेंच डॉट कॉम के अनुसार अर्नब गोस्वामी की तरफ से वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश साल्वे ने अदालत में कहा, मेरा स्पष्ट आरोप है कि जो मामला बंद हो चुका था उसे गलत इरादे से फिर खोला गया है। …

मैं इस्लाम विरोधी क्यों हूं?

-देवेंद्र सिंह सिकरवार- जो धूर्तता दुर्योधन में वैयक्तिक तौर पर थी वह मुसलमानों में सामूहिक तौर पर है और वह है घोर घृणित अपराध करने के बाद भी स्वयं को विक्टिम प्रदर्शित करने की कुटिलता और इसी के सातत्य में इन्होंने एक नया जुमला, एक नया नैरेटिव गढ़ा और वह है- इस्लामोफोबिया।

अरनब को मझधार में छोड़ दिया भाजपा ने!

-पुष्य मित्र- हम जिस विचारधारा के विरोध में हैं, उनसे सम्बंधित कुछ मित्र आजकल परेशान हैं। उनका दुख है कि भाजपा अपने समर्थकों की कद्र नहीं करती। जो विचारक या पत्रकार उनके पक्ष में लगातार काम करते हैं, उन पर संकट आने पर वह उन्हें मंझधार में छोड़ देती है।

विवाहित स्त्रियों में इतनी असुरक्षा क्यों है!

-चंद्रभूषण- शादी से पहले तय करें, टूटी तो गुजारा कैसे होगा… अपने नजदीकी दायरे में आने वाले कई परिवारों में कुछ स्त्रियों को राक्षसी शक्लों में पेश किए जाते देख रहा हूं। सारे मामले सीधे तौर पर तलाक, संपत्ति की मांग और गुजारा राशि से जुड़े हैं। यह भी एक संयोग है कि जिन स्त्रियों …

यूपी में बीजेपी के खिलाफ खबर लिखने वाले पत्रकार की जमकर पिटाई

-शीतल पी सिंह- उत्तर प्रदेश में बीजेपी नेता के खिलाफ खबर लिखने पर पत्रकार पर जानलेवा हमला हुआ है। सत्ताधारी दल के नेता के दबंग बेटों ने पत्रकार विनय तिवारी को लाठी-डंडों से पीट-पीटकर घायल कर दिया है।

छूट जाओगे, पर टाइम तो लगेगा, अर्नब!

-विनोद चंद- तहलका के लिए आशीष खेतान ने बाबू बजरंगी का एक स्टिंग किया था। अगर आप उसे वीडियो को देखें तो आप समझ जाएंगे कि मोदी जी कैसे काम करते हैं। आशीष खेतान पत्रकार हैं फिर आम आदमी पार्टी के नेता रहे। उनने 2002 के गुजरात नरसंहारके संबंध में स्टिंग किया था।

सहारनपुर में हिंदुस्तान के प्रसार प्रतिनिधि पर मुफ्तखोरी की एफआईआर

रेहड़ी वाले ने खाने के पैसे मांगे तो गुर्राया मीडिया कर्मी, मामला डीआईजी तक पहुंचा प्रसार प्रतिनिधि खुद को लोगों में बताता है हिंदुस्तान का पत्रकार थाना पुलिस ने नहीं सुनी फरियाद तो डीआईजी के आदेश पर दर्ज हुई एफआईआर सहारनपुर। कोई भी मीडिया संस्थान हो, पत्रकार तो कम संस्थान के अन्य कर्मचारी खुद को …

राजस्थान के मुख्य सूचना आयुक्त आशुतोष को सराहना के साथ दी गई विदाई

जयपुर। राजस्थान सूचना आयोग में मुख्य सूचना आयुक्त आशुतोष शर्मा का शानदार कार्यकाल गुरुवार को समाप्त हो गया। इस अवसर पर सूचना आयोग में गुरुवार को एक गरिमा में गरिमामय कार्यक्रम में शर्मा की प्रशंसा करते हुए विदाई दी गई।

पत्रकारों को मिल रहे इस कनसेशन पर मोदी राज में गिरी गाज

मोदी राज अमीरों की जेब भरने और बाकियों को लूटने के लिए जाना जाएगा. समाज के विभिन्न हिस्सों को वर्षों से जो कई किस्म की छूट-रियायत मिलती थी, उसे एक-एक कर खत्म किया जा रहा है.

विश्ववार्ता अखबार में कई महीने से नहीं मिल रहा है वेतन

लखनऊ से खबर आ रही है कि विश्ववार्ता अखबार में काम करने वालों को कई महीनों से वेतन नहीं दिया जा रहा है. इस अखबार के एमडी आशीष नामक कोई शख्स है जो लोगों को झांसे देकर अखबार से जोड़ रहा है पर उनको वेतन नहीं दे पा रहा है.

फर्जी ओपिनियन पोल के लिए माफी मांगेगा ‘आजतक’ और ‘लोकनीति-सीएसडीएस’?

संजय कुमार, वरिष्ठ पत्रकार बात दो हफ्ते पहले की है। बिहार चुनावों की घोषणा के बाद प्रथम चरण के चुनावों के ठीक पहले आजतक न्यूज चैनल ने लोकनीति-सीएसडीएस नाम की संस्था के साथ मिलकर एक ओपिनियन पोल कराया। जिसके काबिल डायरेक्टर ने बताया कि बिहार में इस बार मोदी-नीतीश की लहर चल रही है और …

50 हजार रुपये कर्ज न मिलने पर उत्पन्न चक्रवर्ती ने चैट सार्वजनिक की! सुनें आडियो

अविनाश दास और उत्पन्न चक्रवर्ती के बीच का प्रकरण अब नया मोड़ ले चुका है. अविनाश दास का कहना है कि उत्पन्न चक्रवर्ती ने उनसे पचास हजार रुपये कर्ज मांगे थे, कोई किराए पर मकान ले रहीं थीं, उसकी पगड़ी देने के लिए. पर उत्पन्न के बारे में कुछ जो फीडबैक अचानक से मिले, वो …

फोन इस्तेमाल करने के बाद बदल दी गयी अर्णब गोस्वामी की जेल

-सौमित्र/मनोज- अर्नब गोस्वामी ने अलिबाग क्वारेंटीन सेंटर (अस्थाई जेल) में मोबाइल फ़ोन का इस्तेमाल किया। इसके बाद पुलिस उन्हें अभी तलोजा जेल पटक आई है। मुम्बई से 50 किमी दूर तलोजा जेल को अंडरवर्ल्ड का ठिकाना माना जाता है। आर्थर रोड जेल से खूंखार अपराधियों को तलोजा भेजा गया है। क्लास अब शुरू होगी। (पूछता …

इस लड़की ने सावर्जनिक कर दी अविनाश दास से हुई चैट!

नाम उत्पन्न चक्रवर्ती है. इनके एफबी प्रोफाइल पर लिखा है ‘वर्क्स एट न्यूज18इंडिया. लिव्स इन मुंबई महाराष्ट्रा. फ्राम कानपुर उत्तर प्रदेश. सिंगल.’

विधानसभा (एक) : योगी भी नहीं हिला सकते रिटायर प्रमुख सचिव की कुर्सी!

-अनिल सिंह– कोर्ट में गलत हलफनामा दिये जाने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं नेताओं के रिश्‍तेदारों का नौकरी जोन बना विस सचिवालय सुप्रीम कोर्ट तक जा चुका है प्रमुख सचिव विधानसभा की नियुक्ति का मामला सीएम के ओएसडी पर शिकायतों को छुपाने का आरोप मेरी छवि खराब करने के लिये की जाती हैं शिकायतें : …

मोदी और उनकी पालतू मीडिया को बिहार वालों ने धूल चटा दिया!

-सौमित्र रॉय- सिर्फ़ एक साल पहले की ही तो बात है। बिहार ने मोदी को 40 में से 39 सांसद चुनकर दिए थे। उसी बिहार में आज एग्जिट पोल के नतीज़े उस महागठबंधन को सत्ता के करीब बता रहे हैं, जिसे एक महीने पहले तक मीडिया खारिज़ कर रही थी?

अर्णब की दिवाली जेल में ही बीतेगी!

-संजय कुमार सिंह- अंधेरे में बीतेगी अर्नब की दीपावली! नहीं मिली आज हाईकोर्ट से ज़मानत! जेल में ही रहेंगे अर्नब। आज दिन भर बहस चली। पर फ़ैसला न हुआ। देश के सबसे मंहगे वकीलों की फ़ौज कम से कम आज आज़ादी न हासिल कर सकी। अर्नब को ज़मानत नहीं मिली। हाईकोर्ट ने कह दिया है …

बिजनेस शो को एंकर करने लगे खोजी पत्रकार दीपक शर्मा!

-दीपक शर्मा- नौकरी और एंटरप्राइज में बुनियादी फर्क ये है कि नौकरी में सब कुछ मन से नहीं होता और एंटरप्राइज बिना मन के आगे नहीं बढ़ता। यानि नौकरी में आपको वो सबकुछ करना है जो परिस्थितयां चाहती हैं।…तो इस नियम को समझिये, इस कड़वे सच का सामना करिये। अगर आप नौकरीपेशा हैं तो ये …

दल्लागिरी के अवार्ड पाकर खुश हैं न्यूज़ चैनल्स!

-दीपांकर पटेल- NT वालों के पास देने के लिए 120 से ज्यादा अवार्ड हैं… आसमान से फेंक दें तो हर न्यूज चैनल में 8-10 अवार्ड यूं ही गिर जाएंगे…

रवीश को एनडीटीवी वालों का बंगला क्यों नहीं दिख रहा है?

-समरेंद्र सिंह- रवीश कुमार जी ने अर्णब के सुंदर मकान की तारीफ की है। जिन दिनों मैं एनडीटीवी में था उन दिनों डॉ प्रणय रॉय भी बंगले में रहते थे। दिल्ली की पॉश कॉलोनी ग्रेटर कैलाश में उनका बंगला था। किराए का था या खरीदा हुआ ये मैं नहीं जानता। लेकिन रहते वो बंगले में …

भारतीय न्यूज़ चैनलों के रीढ़विहीन और दलाल सम्पादकों, जरा अमेरिकी मीडिया से कुछ सबक ले लो!

-गिरीश मालवीय- एक तरफ इण्डिया का मीडिया है और एक तरफ अमेरिका का! चुनाव नतीजे सामने आने के बाद हार को सामने देख ट्रम्प ने पहली बार व्हाइट हाउस से बयान दिया। इसे कवर करने के लिए मीडिया भी मौजूद था। ट्रम्प ने जैसे ही अपनी बात रखना शुरू की, वे झूठे दावे करने लगे।

LSTV के संपादक की कुर्सी नौकरशाह के हवाले, फिल्म पत्रकार आशीष मित्रा की नई पारी

खबर है कि लोकसभा टीवी के प्रधान संपादक की कुर्सी पर एक नौकरशाह आसीन करा दिया गया है. इनका नाम है मनोज कुमार अरोड़ा. अरोड़ा साहब फिलहाल लोकसभा सचिवालय में ओएसडी (आफिसर आन स्पेशल ड्यूटी) के पद पर कार्यरत हैं.

अरनब गोस्वामी के लिए सुधीर चौधरी रो रहा है!

-हिमांशु शरण- स्वयंघोषित ईमानदार पत्रकार की गिरफ्तारी के बाद जिस तरह का हाल मीडिया जगत में दिखाई दे रहा है वो आने वाले दिनों के विनाश की तस्वीर पेश कर रहा है…वो विनाश जिसमें जनता के हक की बात नहीं होगी बल्कि जनता का हक मारने वालों से पैसे लेकर जनता को ही गलत ठहराया …

दैनिक जागरण लखनऊ में बड़ी छंटनी की शुरुआत हो गई

कोरोना महामारी की आड़ लेकर छंटनी करने का दौर हर ओर समाप्त हो गया है तो दैनिक जागरण लखनऊ में ये सिलसिला शुरू होने जा रहा है. पता चला है कि दैनिक जागरण के लखनऊ संस्करण से संबद्ध जिलों में कार्यरत कंप्यूटर आपरेटर्स सहित कुल 18 मीडियाकर्मियों को नौकरी से निकाला गया है. चर्चा है …

हिंदू धर्म को बदनाम करने का आरोप लगा मिर्जापुर-2 के खिलाफ कोर्ट में केस दायर किया

न्यायालय श्रीमान सीजीएम महोदय लखनऊ शमशेर यादव जगराना राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री कृष्ण सेना उत्तर प्रदेश भारत निवासी कल्ली पश्चिम थाना पीजीआई जनपद लखनऊ प्रार्थी / वादी बनामनिर्माता-निर्देशक मिर्जापुर सीजन 2 वेब सीरिजफरहान अख्तर प्रोडक्शन हाउस एक्सेल इंटरटेनमेंट मुंबईरितेश सिधवानीगुरमीत सिंह निर्देशक मिर्जापुर सीजन दोपंकज त्रिपाठी काल्पनिक नाम कालीन भैयाराजेश तैलंग काल्पनिक नाम रमाकांत पंडितअली फजलश्वेता …

अमेरिकी मीडिया ने ऐतिहासिक काम किया, झूठ बोल रहे ट्रंप का लाइव प्रसारण रोका (देखें वीडियो)

-Abhishek Parashar- लोकतंत्र को बचाने के मामले में सबसे बड़ी भूमिका चौथे पिलर की होती है. यानी पत्रकारिता की. कल जब अमेरिकी राष्ट्रपति टीवी पर बेबुनियाद दावे कर रहे थे तब अमेरिकी टेलीविजन ने एक ऐतिहासिक काम किया और उन्होंने ट्रंप के भाषण को बीच में यह कहते हुए रोक दिया कि ट्रंप बेहूदा और …

माफिया मुख्तार अंसारी और उसके गुर्गों द्वारा फर्जी मुकदमों में फंसाए गए मऊ वासियों की दास्तान

–त्रिवेणी प्रसाद– यह माफिया विधायक मुख्तार अंसारी के जुर्मो की एक दास्तान है| सन् 2005 में हुए मऊ शहर के दंगा में अपने विरोधियों पर दहशत पैदा करने के लिए दंगा के एक महीने बाद एक गरीब मुस्लिम लड़की को यूज करके उससे फर्जी बलात्कार का मुकदमा दर्ज कराता है, पुलिस पर नाजायज दबाव बनाने …

कोर्ट में मजीठिया वेज बोर्ड की दमदार लड़ाई लड़ने वाले एडवोकेट हरीश शर्मा का निधन

नई दिल्ली । कर्मचारियों के मसीहा हरीश शर्मा का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। हरीश शर्मा को दिल का दौरा पड़ने के बाद अस्पताल ले जाया गया। वहां पर डाक्टरों ने उन्हें म़ृत घोषित कर दिया। हरीश शर्मा के बेटा और बेटी इस समय विदेश में होने के कारण उनके अंतिम संस्कार …

अमर उजाला के पीलीभीत ब्यूरो चीफ सुधाकर का तबादला

बरेली से खबर आ रही है कि अमर उजाला कारपोरेट ऑफिस नोयडा ने पीलीभीत के ब्यूरो चीफ सुधाकर शुक्ला को हटा दिया है। उनको आगरा यूनिट में स्थानांतरित किया गया है।

ट्रम्प की हार : जो जो मित्र बने मोदी के, कुर्सी ने छोड़ा उनका साथ!

-प्रकाश के रे- हमारे मोदी जी की जिन नेताओं से गलबहियाँ हुई, उनका करियर तबाह हो गया. कनाडा गये, तो हार्पर चुनाव हार गये. फ़्रांस के ओलाँ से दोस्ती गहराई, तो उनका पत्ता साफ़ हो गया. उनकी जगह आये मैकराँ से छनने लगी, तो उनकी लोकप्रियता का गुब्बारा फट गया. जर्मनी की मर्केल से नज़दीकी …

राष्ट्रीय सहारा में दीप्ति भानु डे को बड़ी जिम्मेदारी, अरुण प्रताप शाही का पद बदला

राष्ट्रीय सहारा अखबार से दो बदलावों की सूचना आई है। राकेश कुमार सिंह को लखनऊ संस्करण का स्थानीय सम्पादक बनाए जाने के बाद गोरखपुर में स्थानीय संपादक का पद खाली हो गया। इस पद पर अब नई तैनाती कर दी गयी है।

अर्णब अरेस्ट प्रकरण पर वरिष्ठ पत्रकार ओम थानवी क्या सोचते हैं, पढ़िए

-ओम थानवी- अर्णब गोस्वामी को ज़मानत नहीं मिली। अफ़सोस होता है कि एक पत्रकार — भले इस बीच पथभ्रष्ट पत्रकारिता करने लगा हो — जेल में है। इस बीच बहुत से संजीदा पत्रकार भी (जैसे हाल में हाथरस में) पुलिस ने पकड़े। तब पकड़ने वालों के विवेक पर तरस आया था। पर अर्णब पर किसी …

ऑपरेशन मिडनाईट रेस्क्यू पगला!

-यशवंत सिंह भड़ासानंद- हम भक्तों को अब भी विश्वास है कि हमारी पार्टी के पत्रकार गोस्वामी जी को मोदीजी-शाहजी 14 दिन से पहले ही जेल से निकलवा लेंगे।

कोर्ट ने डांटा तब पगला अरनब की नौटंकी बंद हुई!

कोर्ट को भी स्टूडियो समझ लिया था, इजलास की फटकार सुन काबू आया… जानिए कोर्ट में क्या क्या हुआ… कोर्ट में आते ही अर्नब चीखने चिल्लाने लगा. उसने पुलिस पर मारपीट का आरोप लगाया. अदालत ने आदेश दिया कि अर्नब की दोबारा मेडिकल जाँच कराई जाए. आदेश के अनुसार जाँच कराई गई. इसके बाद पुलिस …

न तो तरुण तेजपाल प्रकरण प्रेस पर हमला था और न ही अरनब गोस्वामी कांड अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर अटैक है!

-पंकज मिश्रा- रिया और उसके परिवार के खिलाफ जो कुछ भी हो रहा था वह पर्याप्त कारण था या कहें उससे भी ज्यादा , कि उंस घर मे भी कोई suicide जैसा हादसा हो जाता | और तब भी आप abetment to suicide के केस को पत्रकारिता पर हमला कहते.

पूछता है भारत- क्या अर्णब कोर्ट कानून से ऊपर है!

-रत्नाकर दीक्षित- कई दिनों से अर्णब गोस्वामी की गिरफ्तारी को लेकर हाय-तौबा मची हुई है। इन पर आरोप है कि इनकी कंपनी रिपब्लिक भारत निर्माण के दौरान अन्वय नाइक नामक इंटीरियर डिज़ाइनर के करीब पांच करोड़ रुपये बार-बार मांगने के बावजूद नहीं दिए। ऐसे में अन्वय ने अर्णब और उनके साथी फिरोज पर आरोप लगाते …

अरनब अरेस्ट कांड के बाद मीडिया के तीन खेमे बन गए हैं

-विद्या शंकर तिवारी- अच्छा लगे या बुरा पर सच यही है कि सत्ता का चरित्र एक जैसा होता है… अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी के बाद मीडिया के तीन खेमे बन गये हैं। एक खेमा जश्न मना रहा है। दूसरा आपातकाल की याद दिला रहा है। तीसरा कह रहा है कि अर्नब की पत्रकारिता से सहमत …

idonotsupportarnab

-पंडित आयुष गौड़- मज़ा अकेले ले रहे हो तो सजा भी अकेले झेलो बिरादरी से समर्थन क्यों माँग रहे हो? पत्रकारों के न जाने कितने ऐसे मामले होते हैं जिन्हें प्रशासन और शासन दबा देता है। जिस वक्त अर्णब गोस्वामी के ऊपर आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज हुआ था उस वक्त क्या प्रशासन …

अर्णब पत्रकार नहीं बल्कि एक पार्टी का पेड प्रवक्ता है, इसलिए परेशान न होइए, ये पत्रकारिता पर कतई कोई हमला नहीं है!

-ममता मल्हार- अगर अर्णव गोस्वामी के इस कांड को जानने के बाद भी आप अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की दुहाई दे रहे हैं तो फिर आपकी पत्रकारिता का भगवान ही मालिक है। आपके पास पैसा होगा, चैनल होगा, आप एक पार्टी के पेड प्रवक्ता बन जाएंगे। चैनल में आने वाले वक्ताओं को हड़काएँगे, डांट डपट करेंगे। …

अर्नब मामले में एक नया कुतर्क

-संजय कुमार सिंह- बात-बात पर हत्या करवाने वाले आत्महत्या के लिए मजबूर किए जाने के मामले में कार्रवाई से हिल गए लगते हैं। कुछ भक्त मित्र दलील दे रहे हैं कि एक बार बंद कर दिए गए मामले को पुलिस दोबारा नहीं खोल सकती है। इसके लिए अदालत की अनुमति चाहिए। मुझे नहीं पता वास्तविक …

अर्णव की गिरफ्तारी के एक दिन बाद रवीश ने लंबी और जबरदस्त टिप्पणी लिखी है, नफ़रती सेना के पिंटू-चिंटू जरूर बांचें

-रवीश कुमार- मैं आज क्यों लिख रहा हूं, अर्णब की गिरफ्तारी के तुरंत बाद क्यों नहीं लिखा? आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला संगीन है लेकिन सिर्फ नाम भर आ जाना काफी नहीं होता है। नाम आया है तो उसकी जांच होनी चाहिए और तय प्रक्रिया के अनुसार होनी चाहिए। एक पुराने केस में इस …

आज प्रभाष जोशी जी की पुण्यतिथि है, शम्भूजी बयान कर रहे हैं कुछ अदभुत वाकये!

-शंभूनाथ शुक्ल- अख़बार को आम लोगों तक पहुँचाया प्रभाष जोशी ने… आज प्रभाष जोशी की पुण्यतिथि है। साल 2009 में आज के ही दिन टीवी पर क्रिकेट मैच देखते हुए उन्हें दिल का दौरा पड़ा और वे नहीं रहे। जीवित होते तो 83 वर्ष के होते। प्रभाष जोशी ने अख़बार में सिर्फ़ कागद ही कारे …

भाजपा सरकारें छोटे-छोटे लेकिन असली पत्रकारों को अरेस्ट करती हैं, उन्होंने तो बड़े और आत्महत्या कराने वाले आरोपी पत्रकार को पकड़ा है!

-प्रभाकर मिश्रा- कहब त लागि जाई धक् से .. -उन्होंने बहुत बड़े पत्रकार को गिरफ्तार किया है .. *ये छोटे छोटे को गिरफ्तार करते हैं … -उन्होंने आत्महत्या के मामले में आरोपी को गिरफ्तार किया है .. *ये ख़बर लिखने ( नून रोटी) वाले पत्रकार को गिरफ्तार करते हैं .. और आप इतने मासूम हैं …

अपराधी अर्णब को हर कदम पर बचाने-संरक्षण देने वाले भाजपाई ही पत्रकारिता के असल दुश्मन हैं!

-संजय कुमार सिंह- जज लोया की मौत की जांच नहीं, अर्नब के खिलाफ मामला बंद – महाराष्ट्र में क्या होता रहा है, फडणवीस जी ? अब यह साफ हो चुका है कि अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी पत्रकारिता के लिए नहीं, अपना स्टूडियो बनाने वाले इंटीरियर डिजाइनर के पैसे नहीं देने और उसके आत्महत्या कर लेने …

खुद को भक्त पत्रकार दर्शाकर सत्ता की मलाई खाने वाले अर्णब दरअसल दिल से कम्युनिस्टों के पुजारी हैं!

-दीपांकर पटेल- अरनब गोस्वामी सालों से भक्तों को बेवकूफ बनाते रहे, कम्यूनिस्टों को गाली देते रहे, जबकि वो स्वयं दुनिया के एक महान कम्यूनिस्ट चे ग्वेरा के पुजारी हैं..!!

पीली पन्नी वाले साहित्य की याद दिलाती ये खबरें

-अमरेंद्र किशोर- शीर्षक 1: सेक्स के दौरान पोजीशन बदल रही थी महिला, तभी हुआ कुछ ऐसा कि मार गया लकवा। शीर्षक 2: मुर्गियों के साथ सेक्स करता था ये शख्स, पत्नी बनाती थी VIDEO शीर्षक 3: दुनिया की सबसे सेक्सी डॉक्टर, जिनसे इलाज कराने के लिए लाखों लोग जानबूझ कर पड़ते हैं बीमार ये तीनों …

आ गया कोर्ट का फैसला, अर्णब गोस्वामी 14 दिन तक ध्वनि प्रदूषण न फैला सकेंगे!

अर्नब गोस्वामी को चौदह दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। यानि 14 दिन तक वे अपने हिंदी इंग्लिश चैनलों पर चीख चिल्ला कर देश भर के घरों में ध्वनि प्रदूषण न फैला पाएंगे। अर्णब को संतोष बस इस बात की है कि उन्हें पुलिस से ज्ञान पाने से मुक्ति मिल गई है। कोर्ट …

लाखों रुपए हड़प कर इंटीरियर डिजाइनर को मरने के लिए मजबूर करने वाले अर्णब के खिलाफ कार्रवाई गलत कैसे?

-श्वेता सिंह- सुशांत को इंसाफ दिलाने के बहाने टीआरपी बटोरने वाला चैनल अब चीख-चीख कर अपने एडिटर को इंसाफ दिलाने की दुहाई दे रहा है। अपनी दमदार आवाज के पीछे कितनों की आवाज दबाई है, इसका अंदाजा अर्नब को भी है। शानदार आफिस में धमाकेदार इंट्री कर जनता को सच से रूबरू कराने वाले ने …

जौनपुर में पत्रकार और परिजनों पर गुंडों ने किया हमला, पुलिस निष्क्रिय

लखनऊ के पत्रकार कौशलेंद्र उपाध्याय के गृह जनपद जौनपुर थाना पवारा गांव कुंवरपुर में उनके घर पर चढ़कर गुंडे किस्म के लोगों ने कौशलेंद्र और उनके पूरे परिवार को बुरी तरह से मारा पीटा और अभद्रता भी की।

राष्ट्रीय सहारा, लखनऊ को मिला नया स्थानीय संपादक

लखनऊ से खबर है कि राकेश कुमार सिंह को राष्ट्रीय सहारा का नया स्थानीय संपादक बनाया गया है। राकेश अभी तक गोरखपुर में राष्ट्रीय सहारा अखबार के स्थानीय संपादक हुआ करते थे।

चंगुल में आए अर्णब गोस्वामी पर नया मुकदमा भी दर्ज

मुंबई पुलिस की तरफ से बुधवार शाम को रिपब्लिक भारत टीवी न्यूज चैनल के संपादक अर्नब गोस्वामी और उनकी पत्‍नी के खिलाफ के खिलाफ एक ताजा एफआईआर दर्ज कर लिया गया है।

अर्णब के झूठ का कोर्ट में हो गया खुलासा

-सौमित्र राय- अर्नब गोस्वामी को अभी आलीबाग कोर्ट में दोबारा पेश किया गया है। इससे पहले अर्नब ने कोर्ट में पुलिस पर हिंसा का आरोप लगाया था। इस पर कोर्ट ने उन्हें मेडिकल के लिए भेजा।

यह पत्रकारिता पर हमला कैसे कहा जा सकता है?

-राजकेश्वर सिंह- 1-किसी आपराधिक मामले में पुलिस किसी को गिरफ्तार कर ले…. और गिरफ्तार किया गया व्यक्ति पत्रकार हो… तो यह पत्रकारिता पर हमला कैसे कहा जा सकता है?

R9 टीवी से यूपी के रेजिडेंट एडिटर का इस्तीफा

सूचना आ रही है कि R9 टीवी के उत्तर प्रदेश के रेजिडेंट एडिटर और वरिष्ठ पत्रकार हरेंद्र चौधरी ने इस्तीफा दे दिया है।

जो अर्णब की गिरफ्तारी को प्रेस पर हमला बता रहे, उन्हें पहचान लीजिए!

-रमेश चंद्र राय- सुशांत ने न कोई सुसाइड नोट छोड़ा था न किसी का नाम लिया था फिर भी अर्णब ने रिया चक्रवर्ती समेत कई को जेल पहुंचा दिया। लेकिन एक इंटीरियर डिज़ाइनर ने अपनी मां के साथ खुदकुशी करने से पहले सुसाइड नोट में अर्णब को ज़िम्मेदार ठहराया तो उन्हें पूछताछ भी मंज़ूर नहीं! …

मैं अर्नब गोस्वामी की गिरफ़्तारी की निंदा करने वालों की निंदा करता हूँ!

-मुकेश कुमार- मैं अर्नब गोस्वामी की गिरफ़्तारी की निंदा करने वालों की निंदा करता हूँ। एक संगीन मामले के अभियुक्त का बचाव करने का कोई आधार नहीं है, चाहे वह पत्रकार ही क्यों न हो।

मैं अपनी ताकत एक सुपारी किलर के पक्ष में नहीं खर्च करूंगा!

-पुष्य मित्र- दिलचस्प माहौल है- जिस अर्नब के पास रिपब्लिक जैसा नम्बर वन टीआरपी वाला भोंपू है। जिसके पीछे पूरी मोदी सरकार डट कर खड़ी है। जिसकी गिरफ्तारी का विरोध पत्रकारों और संपादकों के बड़े संगठन कर रहे हैं। उसके लिए हम पर और आप पर दबाव बनाया जा रहा है कि हम उस गिरफ्तारी …

अर्णब गोस्वामी अपने कर्मियों को गुलाम समझता है, नीरज सिंह और राहुल सिंह ने भी दिया इस्तीफा

रिपब्लिक भारत में उठापटक का दौर जारी है। 2 साल से अर्नब गोस्वामी के वादों के पूरा होने का इंतजार कर रहे रिपब्लिक भारत के कर्मचारियों ने अब संस्थान की इस ज्यादती को और न सहने का फैसला किया है। दो लोगों ने इस्तीफा दे दिया है। इनके नाम हैं नीरज सिंह और राहुल सिंह।

कैंसर पीड़ित पत्रकार की पीड़ा भड़ास पर छपने के बाद प्रसार भारती वाले नौकरी खाने में जुटे!

प्रसार भारती का क्रूर चेहरा : कैंसर पीड़ित वरिष्ठ पत्रकार आशीष अग्रवाल के साथ न्याय करने की बजाय उन्हें कष्ट देने के लिए सक्रिय हुए नौकरशाह कैंसर की चिकित्सा के बाद से रिकवरी का इंतजार कर रहे वरिष्ठ पत्रकार आशीष अग्रवाल ने अपने गृह जनपद तबादले का अनुरोध किया था। जब तक तबादला नहीं होता …

अर्णब की गिरफ्तारी के खिलाफ देश भर में विरोध की लहर

DUJ Condemns Journalist’s Arrest… The DUJ views with serious concern the arrest of journalist Arnab Goswami by the Maharashtra police. We condemn the growing tendency of state governments to file FIRs against journalists and arrest them arbitrarily. Such actions are an infringement of the right to free speech and expression.

हम तुम्हारे साथ हैं अर्नब गोस्वामी – हम जेनएयू हैं!

अर्नब, कितना गिरा दिया है तुमने- अपने साथ साथ हम सबको भी! तुम्हारी गिरफ़्तारी की ख़बर मिली अर्नब गोस्वामी। फिर कैसे हुआ ये देखा! इतनी बेइज़्ज़ती? ऐसे मार पीट के? धक्का दे कर? हाँ. हम तुम्हारे साथ हैं अर्नब. क्योंकि हम तुम नहीं हैं. हम जेनएयू हैं. याद तो होगा? नफ़रत तो तुम लगातार भड़का …

एडिटर्स गिल्ड ने अर्णब अरेस्ट कांड पर बयान जारी कर दिया, पढ़ें

-अम्बरीश कुमार- अर्णब गोस्वामी को लेकर मुंबई पुलिस ने बदले की कार्यवाई की है, यह साफ़ दिख रहा है वर्ना एक संपादक के साथ ऐसा बर्ताव तो नहीं किया जाता है.

अर्नब जब दोबारा स्टूडियो में लौटेंगे तो और ज्यादा ताकत और आक्रामकता के साथ!

-नीतेश त्रिपाठी- पिछले कुछ समय से पत्रकारिता का जो पतन हुआ है, अर्नब गोवास्मी ने उसे और रसातल में पहुंचा दिया है. अर्नब एक समय ठीक-ठाक पत्रकार कहे जा रहे थे, जब तक वह टाइम्स नाउ में थे. तब भी उनमें पत्रकारिता की गुंजाइश बची थी, लेकिन जैसे ही वो एक नया चैनल लेकर आए …

अर्णब ने स्टूडियो बनवाने के बाद भुगतान नहीं किया तो ठेकेदार ने मां समेत सुसाइड कर लिया था!

-आवेश तिवारी- क्यों हुआ अर्णब गिरफ्तार… अर्णब की गिरफ्तारी के बाद आज कांट्रेक्टर अक्षत नायक की आत्मा को शांति मिली होगी। इस तस्वीर को गौर से देखिए। अर्नब गोस्वामी के पाप की सजा यह स्त्री बरसों से भुगत रही हैं, अब सम्भवतः उसे न्याय मिल सके।

पत्रकारों की प्रतिक्रियाएं पढ़ें- अर्णव ने अतिवादी पत्रकारिता की तो मुंबई पुलिस ने अतिवादी पुलिसिंग!

अर्नब ने टीवी पत्रकारिता का जो स्वरूप बना दिया वैसा दुनिया के किसी समाचार चैनल पर नहीं होता। मर्यादा की सीमा लांघने के दुष्परिणाम तो होते ही हैं। पुलिस और अर्नब दोनों ने लक्ष्मण रेखा का उल्लंघन किया है। –विनीत नारायण (कालचक्र वीडियो न्यूज़ के माध्यम से 1989 में भारत में स्वतन्त्र हिंदी टीवी पत्रकारिता …

गिरफ्तारी के दौरान अर्णब गोस्वामी ने मुंबई पुलिस को गाली दी थी!

-पंकज चतुर्वेदी- अर्णव गोस्वामी का मुम्बई पुलिस ने आज “गुड़ मॉर्निंग” कर ही दिया। मॉमला 2018 का है, आत्महत्या के लिए उकसाने का धारा 306 का। अर्नब गोस्वामी को महाराष्ट्र सीआईडी ने 2018 में इंटीरियर डिजाइनर अन्वय नाइक और उनकी मां कुमुद नाइक की आत्महत्या की जांच के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया है। अर्णब …

मुंबई पुलिस की हरकत से कहीं आपको अर्नब गोस्वामी से सहानुभूति तो नहीं हो गई!

-श्याम मीरा सिंह- मुम्बई पुलिस(CID) अर्नब गोस्वामी को उनके घर से खचेरते हुए ले गई है। लेकिन मुम्बई पुलिस अर्नब को खचेरते हुए क्यों ले गई है, आइए इसके पीछे की कहानी जानते हैं। साल 2018 की बात है, अन्वय नाइक नाम के एक इंटीरियर डिजाइनर हुआ करते थे, अन्वय और उनकी माँ कुमुद नाइक …

पिंजड़े में कैद गोदी के पालतू तोते की तस्वीरें देखें!

-शिशिर सोनी- राजनेताओं की चरणपादुका बने वीर रस के पत्रकारों, देखो अर्णब का हाल! खरी खरी… पत्रकारिता में दुम दबाये जोकरों के समूह देख लो अर्णब गोस्वामी का हाल। वीर रस में पत्रकारिता को डुबा कर मारने वालों, देखो अर्णब कैसे है बेहाल। राजनेताओं के चरण पादुका बनने से बचो। इनकी कितनी भी जय, जय …

गोस्वामीजी की गिरफ्तारी से पत्रकारों में खुशी की लहर, भक्त स्तब्ध!

सुसाइड के लिए उकसाने में गिरफ्तार हुए गोस्वामीजी! रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अर्णब गोस्वामी को बुधवार की अल-सुबह मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. अर्णब गोस्वामी को महाराष्ट्र पुलिस ने 2018 में इंटीरियर डिजाइनर अन्वय नाइक और उनकी मां कुमुद नाइक की मौत की जांच के सिलसिले में उसके घर से हिरासत में लिया …

अर्णब को पीटते हुए गिरफ्तार कर ले गई पुलिस!

इंटीरियर डिज़ाइनर अन्वय नायक और उनकी मॉ की हत्या में संलिप्तता के आरोप में रिपब्लिक भारत के संपादक अर्णव गोस्वामी को मुंबई पुलिस ने आज सुबह उनके घर में मारपीट करते हुए गिरफ़्तार किया!

आजतक का फर्जी संवाददाता पकड़ा गया, देखें इन्हें और इनकी करतूत

आज तक का फ़र्ज़ी संवाददाता लहरपुर (सीतापुर) में धरा गया है। इन महोदय के खिलाफ मुक़दमा दर्ज करके जेल भेजा जा रहा है।

सहारनपुर में टीवी पत्रकार पर हमला

यूपी के सहारनपुर से जिले खबर आ रही है कि एक टीवी पत्रकार पर जानलेवा हमला हुआ है. पत्रकार का नाम कपिल धीमान है. एक बार फिर पत्रकार पर जानलेवा हमला होने से जिले के मीडियाकर्मी दहशत में हैं.

पत्रकार विवेक सिंह के हमलावरों की गिरफ्तारी के लिए डीजीपी से मिले मीडियाकर्मी

रांची: झारखण्ड जर्नलिस्ट एसोसिएशन के प्रतिनिधि मंडल ने हजारीबाग के पत्रकार विवेक सिंह पर 23 अक्टूबर की रात हुये जानलेवा हमले एवं आंचलिक पत्रकारों के विरुद्ध समाचार संकलन को लेकर दर्ज किए गए झूठे मुकदमों को लेकर आज झारखण्ड के पुलिस महानिदेशक श्री एमवी राव से मिलकर मांगपत्र सौंपा।

मनोरंजन भारती प्रबंध संपादक हो गए तो फिर रवीश कुमार क्या हो गए?

-Yashwant Singh- रवीश कुमार का पद अब तक प्रबंध संपादक का था. हालांकि वे खुद प्रबंध संपादकों का कई बार मखौल उड़ा चुके हैं कि ये जाने कैसे संपादक हैं जो प्रबंध में लगे रहते हैं. पर जब उन्हें प्रबंध संपादक का पद मिला तो चुप्पी साध गए. वे चुपचाप उस पद को जीते रहे. …