योग का नया तरीका “एरियल योग”

योगपैथी, योग मेडिटेशन “द योग चक्र’ सेंटर दिल्ली में पहली बार योग की नई तकनीक ‘एरियल योग हैं, जो स्वास्थ्य के साथ-साथ शरीर को सुंदरता भी प्रदान करती है। योग गुरु कविता और मनीषा ने कहा की हाल ही में प्रदर्शित हुई हिन्दी फिल्म ‘हैपी न्यू ईयर’ में दीपिका पादुकोण ने लवली गीत में एरियल योग का ही प्रदर्शन किया था। इससे शरीर में लचकता के साथ-साथ कई बीमारियों से छुटकारा भी मिलेगा। 

भास्कर बोकारो में सुरेंद्र की एंट्री, राहुल ईटीवी से जुड़े, आशुतोष का तबादला

सुरेंद्र साव उर्फ सावंत ने दैनिक भास्कर, बोकारो के साथ फिर नई पारी की शुरुआत की है. वे पहले भी भास्कर में काम कर चुके हैं. दैनिक भास्कर बोकारो के ब्यूरो चीफ अशोक अकेला ने सुरेंद्र सावंत को 20 मार्च की सुबह दैनिक भास्कर, बोकारो कार्यालय में एंट्री करा दी.

भास्कर प्रबंधन बड़प्पन दिखाये ओर सभी पत्रकारों को काम पर वापस ले : संभागीय श्रम आयुक्त

जयपुर। दैनिक भास्कर प्रबंधन की प्रताड़ना झेल रहे वरिष्ठ  पत्रकार संजय कुमार सैनी समेत 23 पत्रकारों की ओर से दायर औधोगिक वाद के मामले की सुनवाई श्रम आयुक्त के यहां हुई। सुनवाई में सवेरे 11. 30 बजे से लेकर 12 30 बजे तक दैनिक भास्कर प्रबंधन की ओर से जब कोई नहीं आया तो समभागीय श्रम आयुक्त जी पी कुकरेती ने 24 मार्च की अगली तारीख तय कर दी। पत्रकारों की ओर से अनुरोध किया कि भास्कर प्रबंधन के प्रतिनिधि के नहीं आने पर सेक्शन 11 में अरेस्ट वारंट जारी कर कंपनी के अधिकारियों को तलब किया जाये।

पंडित नेहरू ने कृपलानी से कहा था- तुमसे पूछने की जरूरत क्या है?

नई दिल्ली : प्रख्यात स्वतंत्रता सेनानी एवं महात्मा गाँधी के अनन्य सहयोगी आचार्य जेबी कृपलानी की ३३वीं पुण्यतिथि पर आचार्य कृपलानी मेमोरियल ट्रस्ट द्वारा ‘कृपलानी स्मृति व्याख्यान’ का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए राज्य सभा सांसद जनार्दन द्विवेदी ने मौजूदा राजनीति पर करारा प्रहार किया। उन्होंने कहा कि आज राजनीति व्यक्तिवादी हो गई है। इससे कोई दल अछूता नहीं है। सब एक ही तरह की राजनीतिक धारा में बह रहे हैं। यह स्वस्थ लोकतांत्रिक परंपरा के विपरीत है। एक ज़माने में समाजवादी कार्यकर्ता रहे जनार्दन द्विवेदी का कहना था कि वर्तमान राजनीतिक परिदृश्य में ऐसा सिलसिला चल गया है, जिसमें व्यक्ति बिना कार्यकर्ता हुए पार्टी के शीर्ष पद पर पहुंच जाता है। यह तो वैसे ही है जैसे आप कभी विद्यार्थी रहे नहीं और अध्यापक बन गए।

रीता बहुगुणा जोशी के घर आगजनी मामले में डीजीपी एके जैन को भी बनाएं मुलजिम : नूतन ठाकुर

सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर ने मुख्य सचिव आलोक रंजन से रीता बहुगुणा जोशी के घर पर आगजनी मामले में डीजीपी ए के जैन को भी मुलजिम बनाने की मांग की है. उन्होंने कहा है कि सीबी-सीआईडी द्वारा 28 जुलाई 2014 को गृह विभाग को भेजे पत्र और 361 पृष्ठ के अंतिम प्रगति आख्या  से श्री जैन की आपराधिक संलिप्तता स्पष्ट हो जाती है. उन्होंने कहा कि जब श्री जैन रात 12.30 बजे किरायेदारी के मामले में ठाकुरगंज जा सकते हैं तो उनके जैसे तेजतर्रार अधिकारी के लिए यह संभव नहीं था कि यह घटना उनके संज्ञान में न आई हो. अतः अधीनस्थ पुलिस अफसरों पर कार्यवाही और मुख्य अभियुक्त को बचाने को गलत मानते हुए उन्होंने श्री जैन को अभियुक्त बनाते हुए तत्काल डीजीपी पद से हटाने की मांग की है.

लोकायुक्त ने कहा- जौहर संस्थान का पट्टा सक्षम कोर्ट से निरस्त कराएं

लखनऊ : मंत्री आज़म खान के निजी ट्रस्ट को सौंपे गए जौहर अली शोध संस्थान के सम्बन्ध में सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर द्वारा दायर परिवाद में लोकायुक्त एन के मल्होत्रा ने जहां यह कहा है कि वह मुख्यमंत्री और मंत्रिपरिषद के निर्णय की जांच नहीं कर सकते हैं, वहीँ उन्होंने कहा कि शिकायतकर्ता शिकायती पट्टा निरस्त कराने और दोषी अधिकारियों को दण्डित कराने के लिए सक्षम न्यायालय जा सकती है.

उर्दू पत्रकार को पुलिस ने धमकाया- मीडिया में वीडियो लीक हुआ, तो चीर कर रख देंगे

मुंबई से खबर है कि मालवणी पुलिस इलाके में एक दैनिक उर्दू अखबार के पत्रकार से पुलिसकर्मी ने बदतमीजी की. पुलिस ने पत्रकार को अश्लील गालियां देते हुए न्यूज कवरेज से रोका. इस मामले में मालवणी पुलिस के सीनियर पीआई प्रकाश पाटील और जोन-11 के डीसीपी बालसिंग राजपूत ने कानून के अनुसार मामले की जांच कर आरोपी पुलिसकर्मी जयेश केनी के खिलाफ कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है.

गाजियाबाद में टीवी पत्रकार शिवम त्रिपाठी को लूटने के बाद पेड़ में बांध दिया

यूपी में कानून व्यवस्था की स्थिति बहुत खराब है. पूरे सूबे में जंगलराज कायम है. राजधानी लखनऊ हो या दिल्ली के करीब का जिला गाजियाबाद. हर कहीं बदमाश हावी हैं और पुलिस पर भारी पड़ रहे हैं. गाजियाबाद में टीवी पत्रकार के साथ जिस तरह की घटना हुई है वह रोंगटे खड़ा करने वाला है. क्रॉसिंग रिपब्लिक मोड़ के पास कट्टे और तमन्चे की नोक पर नोएडा में एक न्यूज चैनल में कार्यरत पत्रकार को हथियारबंद लुटेरों ने लूट लिया और उन्हें जंगल में पेड़ से बांधकर छोड़ दिया.

सालों, इतनी जल्‍दी भूल गए… अभी बताता हूं…

Abhishek Srivastava : कुछ लोग जीते-जी पीछा नहीं छोड़ते, लेकिन ऐसे लोग कम हैं जो जाने के बाद भी जबरन अपनी याद दिलाते रहते हैं। मुझे वाकई नहीं याद था कि चार साल पहले 20 मार्च को ही आलोकजी की मौत हुई थी। किसी ने दिन भर याद भी नहीं दिलाया, लेकिन रात ढलते-ढलते आलोकजी ने सोचा, ”सालों, इतनी जल्‍दी भूल गए… अभी बताता हूं।”

पत्रकार सौम्या विश्वनाथन के हत्यारे अमित शुक्ला ने मुंबई की महिला से मांगा 50 लाख रुपये का हफ्ता

दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद अमित शुक्ला नामक आरोपी ने मुंबई की एक महिला को फोन कर 50 लाख रुपये हफ्ते के रूप में मांगे। मुंबई क्राइम ब्रांच की यूनिट-तीन ने इस मामले में गणेश कुप्पूस्वामी नाम के एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। अमित शुक्ला की कस्टडी के लिए एक टीम जल्द ही तिहाड़ जेल जाने वाली है। अमित शुक्ला महिला पत्रकार सौम्या विश्वनाथन के मर्डर में मुख्य आरोपी है।

पत्रकार चंचल भट्टाचार्य को सीएम राहत कोष से एक लाख की सहायता

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने राँची एक्सप्रेस के वरीय खेल पत्रकार एवं फुटबाल के ख्याति प्राप्त खिलाड़ी और पत्रकार चंचल भट्टाचार्या के स्वास्थ्य की जानकारी लेने उनके आवास गए। वे विगत लगभग एक साल से बीमार हैं और अब चलने में भी लाचार हैं।

विभिन्न पुरस्कारों के लिए पत्रकार महेश चांडक, मनीष, किशन, लक्ष्मीनारायण, संजय, सुधीर, प्रेमशंकर, दिनेश का चयन

छिन्दवाड़ा : राज्य शासन द्वारा गठित जूरी ने राज्य स्तरीय एवं आंचलिक ग्रामीण पत्रकारिता पुरस्कारों के लिये पत्रकारों का चयन कर लिया है। इन पुरस्कारों का चयन वर्ष 2008 से वर्ष 2014 तक के लिये किया गया है। राज्य स्तरीय पुरस्कार के रूप में प्रत्येक को एक लाख रुपये एवं आंचलिक पत्रकारिता पुरस्कार में 51 हजार रुपये और स्मृति चिन्ह भेट किया जायेगा। चयनित पत्रकारों को राज्य स्तरीय समारोह में पुरस्कृत किया जायेगा।

13 गुजराती पत्रकारों को मोदी ने किया पुरस्कृत, शेखर गुप्ता व रजत शर्मा को राष्ट्रीय पुरस्कार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को 13 गुजराती पत्रकारों को बतुकभाई दीक्षित पुरस्कार से सम्मानित किया। एक आधिकारिक बयान के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को 13 गुजराती पत्रकारों को सूरत शहर पत्रकार कल्याण निधि का सालाना बतुकभाई दीक्षित पुरस्कार प्रदान किया। इस पुरस्कार जीतने वाले सभी विजेताओं को मोदी ने बधाई दी। इस मौके पर सी.आर.पाटिल सहित कुछ संसद सदस्य भी उपस्थित थे।

भड़ास की पहल पर दायर याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट में स्वीकार, 27 मार्च को होगी सुनवाई

उन सभी मीडियाकर्मियों के लिए खुशखबरी है जिन्होंने भड़ास की पहल पर मजीठिया वेज बोर्ड का अपना हक हासिल करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में अवमानना याचिका दायर करने की हिम्मत जुटाई. खुलेआम और गोपनीय, इन दो तरीकों से याचिका दायर करने के लिए सैकड़ों लोग भड़ास के पास आए. भड़ास ने जाने-माने वकील उमेश शर्मा के जरिए याचिकाएं तैयार करा के सुप्रीम कोर्ट में दायर कराई. दोनों याचिकाएं रजिस्ट्री से लेकर लिस्टिंग तक में महीने भर तक दौड़ती रहीं.

राज चाहे हेमंत सोरेन का हो या रघुवर दास का, ऐश अरूप चटर्जी की चल रही है…

Gunjan Sinha : दयामनि जी नमस्ते, गूँगों के शहर में कोई तो बोला. बोलने के लिये बधाई. लेकिन आप निरीह लाचार पेटपालक से उम्मीद कर रही हैं – खुशी है कि किसी पत्रकार ने अपने कानूनी हक के लिये आवाज उठाई. उसे भी बधाई. और मुझे भी कि चेक बाउँस केस में अदालत ने न्यूज 11 के अरूप चटर्जी की जमानत रद्द कर दी है – लेकिन रांची पुलिस उसे गिरफ्तार करने की हिम्मत नहीं कर रही है.

ज़ी के CEO पहुंचे मप्र के माइनिंग माफिया के कॉलेज में

बीजेपी के नेताओं ने माइनिंग माफिया और व्यापम घोटाले के सरगना सुधीर शर्मा से भले ही कन्नी काट ली हो लेकिन बिज़नेस बढ़ाने के चक्कर में ज़ी म.प्र. के नए हेड दिलीप तिवारी ने वो कर दिया जो किसी ने नहीं किया। तिवारी ज़ी न्यूज़ के ceo आशीष पंडित को सुधीर शर्मा के VNS कॉलेज के कार्निवाल में मुख्य अतिथि बनाकर ले गए। बेचारे ceo को माइनिंग और व्यापम माफिया सुधीर शर्मा के बारे में क्या पता हो।

मजीठिया वेज बोर्ड न देने पर प्रभात खबर के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई 27 मार्च को

प्रभात खबर, रांची में समाचार संपादक सत्य प्रकाश चौधरी और उनके कुछ अन्य सहकर्मियों ने मजीठिया को लेकर अवमानना की याचिका अपने प्रबंधन के खिलाफ फरवरी के पहले हफ्ते में दायर की थी. अब इस पर सुनवाई होने जा रही है. सुप्रीम कोर्ट की वेबसाइट के मुताबिक सुनवाई 27 मार्च को होगी. इस बीच प्रभात खबर प्रबंधन अपने चिंटुओं के जरिये यह अफवाह फैला रहा है कि कर्मचारी जितना मर्जी हो लड़ लें, मजीठिया का फायदा उन्हें मिलने वाला नहीं है, बड़े-बड़े वकील आखिर बैठे किसलिए हैं.

आदिवासी महिला ने शोषण के खिलाफ ‘खबर मंत्र’ पर किया केस

Aloka Ranchi : आदिवासी महिला के शोषण पर एसटी-एसी थाना में खबर मंत्र पर केस हुआ.. अखबार खबर मंत्र का प्रबंधन यहां कार्यरत लोगो से काम तो लेते हैं पूरे महीने लेकिन जब मानदेय मांगने कोई जाता है तो उसे कोल कुकूर जैसे जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल करके गाली देते हैं… इसी के बाद महिला आदिवासी कर्मचारियों ने अखबार खबर मंत्र के खिलाफ एसटी एसी थाना में केस ठोक दिया..

पीएफ, ईएसआई और मजीठिया मांगा तो पत्रकार पर कई धाराओं में कर दिया मुकदमा

Aloka Ranchi : सथियों इस देश में अपना हक मांगना सबसे बड़ा अपराध बनता जा रहा है. अगर आप किसी अखबार में काम कर रहे हैं तो श्रम कानून का हो रहे उल्लंघन के खिलाफ खड़े होंगे तो अखबार प्रबंधक आपको अपने पैसे और प्रभाव के बल पर कई आपराधिक मामलों में (जहां आप सोच भी नहीं सकते हैं) वहां फसा सकता है। यह घटना रांची से प्रकाशित दैनिक अखबार खबर मंत्र की है।

आभार यशवंत जी, मेरी 40 साल से दबी भड़ास को bhadas4media के मुख पृष्ठ पर स्थान देने के लिए

Ma Jivan Shaifaly : 2007 की बात है पत्रकारिता की दुनिया में पहला दूसरा कदम ही था… उन दिनों Yashwant जी के bhadas4media के बारे में बहुत कुछ सुन रखा था… बिंदास और बेबाक… फिर फेसबुक की दुनिया ने हमें मित्र बनाया तो मैं उनकी राजनीतिक पोस्ट्स से ज़्यादा प्रभावित उन पोस्ट्स से हुई जिनमें उन्होंने अपने ध्यान के क्षणों में हुए अनुभव साझा किए…

आउटलुक वालों ने टाइम्स नाऊ वाले अर्नब गोस्वामी को विलेन बना दिया…

Arnab Goswami होने का मतलब… आउटलुक वालों ने टाइम्स नाऊ वाले अर्नब गोस्वामी को विलेन बना दिया. घोषणा कर दी कि अर्णब ने भारत में टीवी न्यूज की -हत्या- कर दी. ठीक है, मान लेते हैं कि आउटलुक वाले बहुत समझदार हो गए हैं (विनोद मेहता के जाने के बाद) और मैगजीन निकालते-निकालते अब उन्हें टीवी न्यूज की भी अच्छी खासी समझ हो गई है. हो सकता है कि इसके एडिटर साब ने टीवी न्यूज इंडस्ट्री में खबरों की महत्ता-गुणवत्ता पर कोई पीएचडी भी लिख डाली हो और कोई बड़ा सर्वे भी कराया हो (शायद सपने में).

अबे चिरकुट आपियों, खुद को अब मोदी-भाजपा से अलग कैसे कहोगे…

Yashwant Singh : चोरकट केजरी और सिसोदिया का असली रूप आया सामने.. दिल्ली में पानी के दाम में 10 परसेंट वृद्धि। अबे चिरकुट आपियों, मोदी-भाजपा से खुद को अलग अब कैसे कहोगे। सत्ता पाकर तुम लोग भी आम जन विरोधी हो गए! अरे करना ही था तो चोर अफसरों के यहाँ छापे मरवाकर उनकी संपत्ति जब्त कराते और उस पैसे को बिजली पानी में लगाते। जल बोर्ड के करप्ट अफसरों और पानी माफिया की ही घेराबंदी कर देते तो इनके यहाँ से हजार करोड़ निकल आता। पर अमेरिकी फोर्ड फाउंडेशन के धन पर करियर बनाने वाले इन दोनों नेताओं से अमेरिकी माडल के पूंजीवाद से इतर काम करने की उम्मीद नहीं की जा सकती।

‘खबरें अभी तक’ बंद… उमेश जोशी, नितेश सिन्हा, मनीष मासूम समेत कई बेरोजगार

आखिरकार ‘खबरें अभी तक’ चैनल पर लटका ही दिया ताला… शाम 5.15 पर एक नोटिस चस्पा कर चैनल बंद करने की सूचना चैनल कर्माचारियों को दे दी गई… इसी चैनल के प्रबंधन ने नवंबर में कई कर्मचारियों को यह कह कर निकाल दिया था कि कंपनी का पुनर्गठन हो रहा है. इस बहाने कुछ चाणक्यों ने नौकरी बचा ली थी. अब मालिक ने ऐसे चाटुकारों को भी नहीं छोड़ा. चैनल के मालिक सभापा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुदेश अग्रवाल हैं जो बिजली के खोपचे की दुकान का धंधा करते हैं. इन्होंने अपने चैनल से अपने आपको हरियाणा का भावी मुख्यमंत्री घोषित कर दिया था. मात्र 500 के लगभग वोट पाने वाले अग्रवाल अब अपने औकत में आ गए हैं.

बड़ी खबर : गुज़रे ज़माने के न्यूज़ चैनल TVI के मुख्यालय की कुर्की-ज़ब्ती के आदेश

दिल्ली की एक लेबर कोर्ट ने बिज़नेस इंडिया टेलीविज़न इंटरनेशनल के मुख्यालय ‘268, मस्जिद मोठ, उदय पार्क, नयी दिल्ली’ की कुर्की-ज़ब्ती यानी एटैचमेंट के आदेश दिये हैं। इसी जगह से देश का पहले न्यूज़ एंड करेंट अफ़ियर्स चैनल ‘टीवीआई’ का प्रसारण होता था, जिसे अनमाने तरीके से फरवरी 2000 में मैंनेज़मेंट ने बन्द कर दिया था और चैनल में कार्यरत सैकड़ों कर्मचारियों का बक़ाया ढ़कार लिया था।

प्रदीप श्रीवास्तव और विनोद शील का विरोध करने के कारण मैं निशीकांत ठाकुर का चहेता बन गया

: दैनिक जागरण के चिंटू, मिंटू और चिंदीचोर : अवधी की एक कहावत है-केका कही छोटी जनी, केका कही बड़ी जनी। घरा लै गईं दूनौ जनी। अर्थात किसे छोटी बहू कहूं और किसे बड़ी बहू कहूं। घर तो दोनों बहुओं ने बर्बाद किया है। यह बात दैनिक जागरण पर सटीक बैठती है। 1995 की बात है, जब टीवी चैनलों की धूम मची थी। अखबार इस बात से डर गए थे कि कहीं इलेक्ट्रानिक मीडिया उन्हें निगल न जाए। ऐसे समय में मैं इलेक्ट्रानिक मीडिया से काम छोड़ कर दैनिक जागरण में नौकरी के लिए आ गया था।

जितेंद्र सूर्यवंशी ने ‘दबंग दुनिया’ को थमाया त्यागपत्र

भोपाल : दैनिक भास्कर, नवदुनिया और पत्रिका जैसे बड़े अखबारों में काम कर चुके जितेंद्र सूर्यवंशी ने अपने वर्तमान संस्थान दैनिक दबंग दुनिया भोपाल से इस्तीफा दे दिया है। वे यहां बतौर राजनीतिक संवाददाता अपनी सेवाएं दे रहे थे। जितेंद्र सूर्यवंशी की योग्यता और उनकी काबिलियत को देखते हुए दबंग दुनिया ने उन्हें रायपुर एडीशन …

JFA decries Outlook terming it bias

Guwahati : Journalists’ Forum Assam (JFA), while expressing concern at the attitude of a national magazine to portray the editor of a satellite news channel in negative light, argues that the magazine only shows its bias against Arnab Goswami rather than highlighting bigger causes of ruin in the Indian television media. Reacting to the latest issue of Outlook, where an article on the editor-anchor of Times Now is published as a cover page story with the highlight ‘The Man Who Killed TV News’,  the Assam based journalist forum pointed out ‘criticizing a particular editor of a news channel as being the murderer of the television journalism is uncalled for’.

अमर उजाला के पीटीएस विभाग पर वज्रपात, दूर तबादला करके मशीन विभाग में काम करने को मजबूर किया

अमर उजाला के पीटीएस विभाग के कर्मचारियों की मुश्किलें खत्म होने का नाम नहीं लेती। अगर एक खत्म हो तो दूसरी मुश्किल सामने ही खड़ी होती है। कुछ महीने पहले ही अमर उजाला में पीटीएस विभाग खत्म करने का निर्देश जारी किया गया था। उसके बाद से ही अमर उजाला के हर यूनिट से पीटीएस में कांट्रैक्ट पर रखे सभी कर्मियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। कुछ पीटीएस कर्मचारियों को बिना कारण नोएडा ऑफिस बुलाकर इस्तीफा मांग लिया गया। जब किसी कर्मी ने इस्तीफा नहीं दिया तो उन सभी कर्मचारियों का ट्रांसफर कर दिया गया। बात यहीं खत्म नहीं होती। कुछ पीटीएस कर्मचारियों का ट्रांसफर बरेली से रोहतक यूनिट के मशीन में कर दिया गया।

DUJ welcomes the Bombay High Court’s judgement

The Delhi Union of Journalists welcomes the Bombay High Court’s judgement upholding the right of citizens to freedom of speech and expression in the case against cartoonist Aseem Trivedi who was wrongly charged with sedition. The Court has held that “the freedom of speech and expression…could not have been encroached upon when there is no allegation of incitement to violence or intention to create public disorder.”  

जेटली देंगे फोटोग्राफी पुरस्कार

नयी दिल्ली : सूचना एवं प्रसारण मंत्री अरुण जेटली प्रख्यात फोटोग्राफरों को राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उनके उल्लेखनीय योगदान के लिये राष्ट्रीय फोटोग्राफी पुरस्कार से सम्मानित करेंगे। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने आज एक विज्ञप्ति में बताया कि चौथा राष्ट्रीय फोटोग्राफी पुरस्कार तीन श्रेणियों में दिया जायेगा। ‘बेस्ट फोटोग्राफर आफ द ईयर’, पेशेवर एवं …

महिला अफसर के यौन शोषण का प्रयास, आरोपी अधिकारी का तरफदार बना अमर उजाला

बुलंदशहर (उ.प्र.) : ‘अमर उजाला’ एक ओर जहां बेटियों को बचाने की आवाज उठा रहा है, वहीं बुलंदशहर में उसने यौन उत्पीड़न की शिकार एक महिला को दोषी ठहराते हुए अफसर को क्लीन चिट दे दी है. इस वाकये से अखबार की पूरे जिले में खूब किरकिरी हो रही है.

उपजा ने शासन-प्रशासन को लगाया लाखों का चूना

लखनऊ : उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट एसोसिएशन (उपजा) पदाधिकारियों के कारनामे अब आए दिन सुर्खियां बनने लगे हैं। इसी क्रम में संगठन के नाम पर लखनऊ और बरेली में उत्तर प्रेदश शासन से  लाखों रुपये लेकर उसका ब्योरा सार्वजनिक न किए जाने का मामला प्रकाश में आया है। बताया गया है कि वर्ष 2005 में उपजा से जुड़े रहे जिस रमेश जैन ने मृत पंजीयन संख्या-2946 वाले यूपी जर्नलिस्ट्स एसोसियशन के बी-ब्लाक दारुलशफा, लखनऊ स्थित कार्यालय पर लाखों की धोखाधड़ी कर लिए जाने का आरोप उछाला था, वही, वर्तमान में संगठन महामंत्री होते हुए भी उस प्रकरण पर अब चुप्पी साध गए हैं।

हिमाचल में मजीठिया संघर्ष मंच ने सीएम को ज्ञापन सौंपा, कर्मचारियों से एकजुटता का आह्वान

धर्मशाला (हिमाचल) : प्रदेश में मजीठिया वेज बोर्ड की सिफारिशें लागू करने की लड़ाई तेज करने के लिए मजीठिया वेज बोर्ड क्रियान्वयन संघर्ष मंच का गठन किया गया है। रविंद्र अग्रवाल ने अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाली है। बाकी आंदोलनकारियों के नाम फिलहाल गोपनीय रखे गए हैं। मंच ने पूरे प्रदेश के मीडिया कर्मियों से एकजुट होने के आह्वान के साथ ही मुख्यमंत्री से वेज बोर्ड की सिफारिशें लागू करने की गुहार लगाई है। 

रुद्रपुर में सांध्य दैनिक ‘वसुंधरा दीप’ का विमोचन

रुद्रपुर (उत्तराखंड) : केंद्रीय कपड़ा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) संतोष गंगवार ने कहा कि चैनलों के आने के बाद तेजी से खबरें लोगों तक पहुंच रही हैं, लेकिन अखबारों का अपना महत्वपूर्ण स्थान है। आज भी लोग अखबार पढऩा चाहते हैं। वह गत दिनों सिटी क्लब हाल में सांध्य दैनिक वसुंधरा दीप के विमोचन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि समाज और तकनीकी में कितना भी परिवर्तन हो, लेकिन अखबारों को जीवन से अलग नहीं किया जा सकता। आज हम जिस दौर में जी रहे हैं, उसमें अखबारों को अलग नहीं किया जा सकता।

मजीठिया वेतनमान की मांग पर दिव्य भास्कर ने 20 को बाहर किया, चार टर्मिनेट, मामला हाईकोर्ट में

मेहसाना (गुजरात) : बीते माह दो फरवरी को जब गुजरात हाईकोर्ट में मेहसाना यूनिट के 20 कर्मचारियों ने ‘दिव्य भास्कर’ के खिलाफ मजीठिया का हक न देने का केस दायर किया था, उसी वक्त छह फरवरी को मेहसाना यूनिट हेड गौरव बिसारिया और एचआर हेड राहुल खेमानी ने 20 कर्मियों में से चार को टर्मिनेट कर अपना रंग दिखा दिया था। बाकी सोलह कर्मियों को मौखिर रूप से ऑफिस आने से मना कर दिया गया। उनसे ये कहा गया कि कंपनी के सामने सर ऊंचा करने की कोशिश की है तो यहां आने की कोई जरूरत नहीं है। आपको अभी से नौकरी से निकाल दिया जा रहा है। टर्मिनेशन लेटर दो दिन में आपके घर पहुंच जाएगा।

पत्रकार ताबीना अंजुम को नेशनल अवॉर्ड

जयपुर : सूचना और प्रसारण मंत्रालय के फोटो डिवीजन विभाग ने गत दिनो चौथा राष्ट्रीय फोटोग्राफी अवॉर्ड-2013 घोषित किया। इसके तहत पांच पेशेवर और शौकिया श्रेणी में विजेताओं का चयन किया गया। 

Protest in arrest on FB comment on Azam Khan’s pressure

Social activists, led by Dr Nutan Thakur, today protested at Gandhi Statue, Hazratranj, Lucknow against arbitrary arrest of Class XI student for FB comment saying that this is complete State highhandedness undertaken purely on Azam Khan’s pressure. They included Devendra Dixit, Sharad Mishra, Anupam Pandey, Rohit Tripathi, Dr Praveen and others.

झूठ, घंटा और मोदी (चुटकुला)

यमराज : हे चित्रगुप्त, हर आदमी के नाम पर एक ऐसी मशीन बना जो झूठ बोलने पर बजने लगे ताकि पता चल सके कौन बदमाश झूठ बोल रहा है…!!

चित्रगुप्त : ठीक है प्रभु…!!

चित्रगुप्त ने एक घंटा बनवाया. उसमें लाई-डिटेक्टर समेत कई तरह के एप इंस्टाल किए. प्रत्येक घंटा का सेंसर संबंधित व्यक्ति से ब्लूटूथ-वाईफाई के जरिए मैनुवली कनेक्ट-अटैच किया.

आंचलिक पत्रकारिता पुरस्कार के लिए गोविन्द बड़ोने का चयन

राजगढ़ (म.प्र.) : राज्य शासन द्वारा गठित जूरी द्वारा आंचलिक ग्रामीण पत्रकारिता पुरस्कार के लिए जिला प्रेस क्लब के अध्यक्ष और वरिष्ठ पत्रकार गोविन्द बड़ोने का चयन किया गया है. पुरस्कार का चयन वर्ष 2009 के लिए किया गया है. आंचलिक पत्रकारिता पुरस्कार में 51 हजार रुपए और स्मृति-चिन्ह भेंट किया जायगा. चयनित पत्रकार गोविन्द बड़ोने को राज्य–स्तरीय समारोह में पुरस्कृत किया जायगा.

नई तकनीक से घुटने-कूल्हे के ट्रांसप्लांट की उम्र तीन गुना तक बढ़ाना संभव

घुटने और कूल्हे के ट्रांसप्लांट की एक नयी तकनीक आई है, जिसकी मदद से लगाये गए ट्रांसप्लांट की उम्र तीन गुना तक बढ़ाई जा सकती है. इस नयी टेक्नोलॉजी की जानकारी आर्थोपेडिक एंड जॉइंट रिप्लेसमेंट सर्जन डा. रमणीक महाजन ने दी. डॉक्टर महाजन ने ये जानकारी नवीं एशिया पैसिफिक हिप और घुटना  संगोष्ठी “द ग्रेट एक्सपेक्टेशन २०१५” के दौरान दी. संगोष्टी के दौरान डॉक्टर महाजन ने लगभग ३०० डॉक्टरों को सम्बोधित करते हुए इस नयी तकनीक के बारे में विस्तार से बताया।

भास्कर प्रबंधन का उत्पीड़न झेल रहे पत्रकारों की सुनवाई 27 मार्च को सुप्रीम कोर्ट में

जयपुर। मजीठिया वेज बोर्ड को लागू करने लिए आंदोलन कर रहे दैनिक भास्कर जयपुर के वरिष्ठ पत्रकार संजय कुमार सैनी व उनके साथियों की याचिका पर 27 मार्च को सुनवाई होगी। सैनी अपने साथियों के साथ भास्कर प्रबंधन का उत्पीड़न झेल रहे हैं। इस याचिका में उन्होंने भास्कर की ओर से की जा रही प्रताड़ना को बंद करने की भी गुहार लगाई है। प्रबंधन ने सैनी और उनके साथी सुधीर कुमार शर्मा को डेपुटेशन पर रांची भेजने का आदेश जारी कर रखा है। इसके खिलाफ सैनी ने श्रम आयुक्त के यहाँ भी औधोगिक वाद दायर किया हुआ है जिसकी सुनवाई 20 मार्च को है।

सबसे ज्यादा नुकसान के बाद भी ‘आजतक’ बना हुआ है नंबर वन, सर्वाधिक फायदा ‘न्यूज24’ को

11वें हफ्ते की टीआरपी में कोई खास उठापटक नहीं है. सारे राष्ट्रीय हिंदी न्यूज चैनल अपनी-अपनी जगह मौजूद हैं. अगर बात नुकसान और फायदे के अर्थ में करें तो आजतक को सबसे बड़ा लूजर है. पूरे 1.3 के नुकसान के बावजूद यह न्यूज चैनल नंबर वन बना हुआ है. इसकी टीआरपी 17.4 है. नंबर दो पर मौजूद एबीपी न्यूज को भी झटका लगा है, 0.5 का. एबीपी न्यूज 14.5 की टीआरपी के साथ नंबर दो पर कायम है.

गर्भवती महिला पत्रकार से क्यों होता है भेदभाव?

महाराष्ट्र की एक अदालत ने एक टीवी चैनल को आदेश दिया है कि ‘गर्भवती होने के बाद कंपनी की नौकरी से निकाली गईं’ पत्रकार को वापस काम पर रखा जाए और बक़ाया वेतन भी दिया जाए. पत्रकार ने अदालत से गुहार की थी कि उन्हें साल 2012 में गर्भवती होने के कुछ समय बाद ही कंपनी से निकाल दिया गया था. उनका दावा था कि ऐसा उनके गर्भवती होने की वजह से हुआ. लेकिन टीवी कंपनी का कहना है कि पत्रकार को ख़राब काम की वजह से बाहर किया गया था.

इंडियन एक्सप्रेस में छपा रिबेरो का लेख हर पाठक को हिला गया : ओम थानवी

1989 में जब मैंने चंडीगढ़ जनसत्ता का कार्यभार संभाला, जूलियो रिबेरो आतंकवाद से जूझ रहे पंजाब में राज्यपाल के सलाहकार थे। राष्ट्रपति राज में राज्यपाल और उनके सलाहकार ही शासन चलाते थे। राजभवन के एक आयोजन में जब मैं रिबेरो से मिला, वे कहीं से ‘सुपरकॉप’ नहीं लगते थे; उनमें अत्यंत सहजता और विनम्रता थी, खीज या उत्तेजना उनसे कोसों दूर नजर आती थी। मेरी जिज्ञासा पर अपने पर हुए एक जानलेवा हमले का किस्सा उन्होंने हंसते हुए सुनाया था।

राजेश विक्रांत व्यंग्य लेखन में बेजोड़ : संजीव

मुंबई : कवि-पत्रकार और महाराष्ट्र टीवी के कांसेप्ट एडिटर अमर त्रिपाठी के नेतृत्व एवं ‘दोपहर का सामना’ के मुख्य उप सम्पादक अभय मिश्र के अतिथि सम्पादन में विलेपार्ले के सन्यास आश्रम सभागार में राजेश विक्रांत के व्यक्तित्व-कृतित्व पर आधारित ‘राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक विकलांग की पुकार” के “बन्धु विशेषांक” का विमोचन हुआ। इस अवसर पर प्रसिद्ध कथाकार संजीव ने कहा कि राजेश विक्रांत व्यंग्य लेखन में बेजोड़ हैं।

दिल्ली की यौन शोषित छात्रा न्याय के लिए जंतर-मंतर पर धरना देगी, पढ़ें प्रेस स्टेटमेंट

 (रेपिस्ट, धोखेबाज और चीटर मनोज कुमार की तस्वीर दिखाती पीड़ित मेडिकल छात्रा)

I am a student of ICMR DELHI. Mr Manoj Kumar, THE ACCUSSED also pursuing PhD in dept of Lab Medicine AIIMS came in my contact during academic interactions and induced me and repetitively raped on the false promise of marriage. He used to call me to his hostel room at AIIMS under the guise of guiding me for studying and forced upon me physically several times as a result of which I got pregnant. Due to his influence and clout in the academic circles I had no option then to serve his physical needs as per his dictates forcibly.

पिंकसिटी प्रेस क्‍लब जयपुर के वार्षिक चुनाव 30 मार्च को

पिंकसिटी प्रेस क्‍लब जयपुर के वार्षिक चुनाव 30 मार्च को होंगे। चुनाव संपन्‍न कराने के लिए एल एल शर्मा को मुख्‍य निर्वाचन अधिकारी नियुक्‍त किया गया है। शर्मा इस क्‍लब के चार बार अध्‍यक्ष रह चुके हैं और दैनिक नवज्‍योति समाचार पञ के मुख्‍य संवाददाता है। मुख्‍य निर्वाचन अधिकारी ने चुनाव कार्यक्रम घोषित कर दिया है। उसके अनुसार 23 और 24 मार्च 2015 को नामांकन पञ स्‍वीकार किए गए जाएंगे।

चुनाव जीतने के बाद सामने आने लगी अहंकारी केजरीवाल की असलियत

Mukesh Kumar : अहंकारी कौन? केजरीवाल या प्रशांत-योगेंद्र?? मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद केजरीवाल ने कहा था कि राष्ट्रीय स्तर पर चुनाव लड़ने का फ़ैसला अहंकार से प्रेरित था। फिर उन्होंने इस फ़ैसले को नकारते हुए इसके पैरोकारों को पीएसी से बाहर कर दिया। अब वे कह रहे हैं कि पार्टी राष्ट्रीय स्तर पर अपना विस्तार करेगी। सवाल उठता है कौन अहंकारी है? कहीं ये केजरीवाल का अहंकार तो नहीं बोल रहा था कि मेरे होते हुए फ़ैसला करने वाले तुम तुच्छ लोग कौन होते हो? फैसला करने का हक मेरा और मेरे चमचों का है, किसी और का नहीं इसलिए अब का फ़ैसला सही है और अहंकार रहित है। इस पाखंड पर बलिहारी जाने का मन करता है।

xxx

मजीठिया, मालिक, पत्रकार और एक मेढक की कहानी

(यह कहानी उन लोगों के लिए सबक है, जो मानते हैं कि अखबार मालिकों के शक्तिशाली तंत्र के चलते मजीठिया वेज बोर्ड के लिए लड़ी जा रही लड़ाई की सफलता नामुमकिन है। चारों ओर फैली भीतरी नकारात्मकता उनके हौसले तोड़ती है। इस कहानी को पढि़ए और अपने भीतर झांक कर सफलता का मार्ग ढूंढिए, क्योंकि हिम्मत करने वालो की कभी हार नहीं होती…)

सभी में होती है काबिलियत 

एक  सरोवर में बहुत सारे मेंढक रहते थे। सरोवर के बीचोबीच पुराना धातु का खंभा भी था, जिसे सरोवर बनवाने वाले राजा ने लगवाया था। उसकी सतह चिकनी थी। एक दिन मेंढकों के दिमाग में आया कि क्यों न एक रेस करवाई जाए। प्रतियोगियों को खंभे पर चढऩा होगा और जो पहले ऊपर पहुंच जाएगा, वही विजेता होगा।

तेलंगाना के व्यवसायी जेबी सिंह ने खरीदा ‘शुक्रवार’, अंबरीश कुमार और एसके सिंह जुड़े

‘शुक्रवार’ मैग्जीन जल्द फिर बाजार में… शुक्रवार पत्रिका फिर प्रकाशित होने जा रही है… दिल्ली से निकलने वाली इस पत्रिका को पत्रकार अंबरीश कुमार अब नया रूप देने जा रहे हैं… हिंदी पट्टी के साथ पूर्वोत्तर और दक्षिण भारत की राजनैतिक कवरेज के साथ जन आन्दोलन, पर्यावरण, साहित्य, संस्कृति आदि पर खास जोर रहेगा… बिहार के चुनाव की विशेष कवरेज की तैयारी भी की जा रही है…

यमन के वरिष्ठ पत्रकार अब्दुल करीम अल खैवानी की गोली मारकर हत्या

यमन के एक वरिष्ठ पत्रकार की हत्या आज एक अज्ञात हमलावर ने गोली मारकर कर दी. बताया जा रहा है कि मारे गए पत्रकार का नाम अब्दुल करीम अल खैवानी है. वे हाउथी मिलीशिया के करीबी थे. उनके मारे जाने की खबर भी हाउथी मिलीशिया के टेलीविजन चैनल अल मसीराह ने दी है.

भास्कर, हिंदुस्तान, जागरण समेत कई अखबारों में भड़ास पर पाबंदी

खुद को अभिव्यक्ति की आजादी का नेता बताने वाले और इस हक के लिए लड़ाई लड़ने का दावा करने वाले मीडिया समूह अब उन छोटे व नए मीडिया माध्यमों की आवाज अपने यहां दबाने में लगे हैं जो बड़े बड़े मीडिया हाउसों की पोल खोलते हैं. ताजी सूचना के मुताबिक दैनिक भास्कर और दैनिक हिंदुस्तान अखबार के दफ्तरों में भड़ास4मीडिया डॉट कॉम को ब्लाक कर दिया गया है. इन संस्थानों के प्रबंधकों ने ऐसा फैसला मालिकों के निर्देश के बाद लिया है. मालिकों ने मजीठिया वेज बोर्ड को लेकर भड़ास4मीडिया द्वारा चलाए गए अभियान और आम मीडियाकर्मियों को उनका हक दिलाने से संबंधित मुहिम से नाराज होकर इस पोर्टल को अपने संस्थान के अंदर बंद कराने का आदेश दिया ताकि उनके यहां काम करने वाला कोई कर्मचारी इस पोर्टल को पढ़कर सुप्रीम कोर्ट न चला जाए.

साहित्य अकादमी का राष्ट्रीय अनुवाद पुरस्कार प्रोफेसर फूलचंद मानव को

चण्डीगढ़ :  कवि, कथाकार और हिन्दी के शिरोमणि साहित्यकार प्रो. फूलचंद मानव को 2014 का अनुवाद पुरस्कार घोषित हुआ है। साहित्य अकादेमी की तरफ से हर साल 24 भारतीय भाषाओं से हिन्दी में अनूदित किसी एक पुस्तक पर यह इनाम दिया जाता है। अकादेमी सचिव के पत्रानुसार फूलचंद मानव की अनूदित किताब ‘अन्नदाता’ ज्ञानपीठ प्रकाशनद्ध के लिए उन्हें पचास हजार रूपये, प्रशस्ति पत्रा, स्मारिका और उत्तरीय अंग वस्त्रा आदि प्रदान करके सम्मानित किया जाएगा।

पंजाब केसरी से मजीठिया संबंधी जानकारी के लिए गिड़गिड़ा रही महिला श्रम निरीक्षक

पालमपुर (हिमाचल) : मजीठिया वेज बोर्ड लागू करने के मामले में श्रम विभाग के इंस्पेक्टर किस तरह अखबार वालों से खौफजदा होकर अपनी ड्यूटी को अंजाम दे रहे हैं, इसका उदाहरण पंजाब केसरी की परौर स्थित हिमाचल यूनिट है। मजीठिया की लड़ाई लड़ रहे पत्रकार रविंद्र अग्रवाल की आरटीआई पर यहां के श्रम निरीक्षक को भी पंजाब केसरी में वेज बोर्ड लागू किए जाने संबंधी रिपोर्ट देनी थी। अखबार के कथित दबाव में श्रम निरीक्षक ने अभी तक जानकारी नहीं दी है। पत्रकार अब इस संबंध में श्रमायुक्त से शिकायत का मन बना रहे हैं। 

देवरिया में तैनात दरोगा शांति भंग के अपराध में भेजा गया मेरठ जेल

मवाना (मेरठ) : जनपद देवरिया में तैनात एस टी एफ के दरोगा को शान्ति भंग की आंशका के चलते उप जिलाधिकारी ने पुलिस हिरासत में जेल भेज दिया। जनपद मेरठ की मवाना तहसील के ग्राम तिगरी में रास्ते को लेकर सुबह के समय दो पक्षो में विवाद हो गया। सूचना पर उपजिलाधिकारी अरविन्द कुमार सिंह पुलिस क्षेत्राधिकारी डी पी सिंह व तहसीलदार भूपेन्द्र बहादुर पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे।

योगेंद्र और प्रशांत को निपटाने के लिए जी-जान से जुटे केजरी कैंप के नेता

  • ‘आप’ के अंदरखाने एक दूसरे को नीचा दिखाने की जबरदस्त राजनीति चल रही है
  • सत्ता पाते ही आम आदमी पार्टी का चरित्र खास राजनीतिक पार्टियों जैसा हो गया है
  • योगेंद्र और प्रशांत को राष्ट्रीय कार्यकारिणी से बाहर निकालने के लिए लामबंदी

आम आदमी पार्टी के अंदरखाने जबरदस्त खेल चल रहा है. केजरीवाल के इशारे पर उनके भक्त नेता गण प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए तैयार बैठे हैं और इसी रणनीति के तहत चालें चल रहे हैं. पूरे मामले को समझने के लिए आपको अंदर के खेल को समझना होगा. टीवी व अखबारों पर जो दिख रहा है, जो छप रहा है, वह बता रहा है कि सब कुछ ठीक रास्ते पर जा रहा है. लेकिन अंदर की कहानी कुछ अलग है. आइए एक एक कर मामले को समझते हैं.

प्लेटफार्म टिकट के बढ़े दाम को जायज ठहराने के लिए बिहारियों को गाली दे रहे नमो भक्त!

जिला गाजीपुर उत्तर प्रदेश के रहने वाले अजीत सिंह वैसे तो फेसबुक पर बेबाक लिखते पढते बोलते हैं लेकिन जब बात नरेंद्र मोदी की आती है तो वो हर हाल में उनके पक्ष में तर्क जुटा लेते हैं. ताजा मामला प्लेटफार्म टिकट बढ़ाने का है. इसे जायज ठहराने के लिए अजीत सिंह बिहारियों को गरियाने से भी नहीं चूके. अजीत सिंह सोशल एक्टिविस्ट हैं. ‘उदयन’ नामक संस्था चलाकर गरीबों का कल्याण करते हैं. शिक्षण से लेकर आंदोलन तक के काम को बखूबी निभाते हैं. पर जब बात मोदी की आती है तो वो किसी की कुछ नहीं सुनते, सिर्फ अपनी फेंकते हैं. पढ़िए वो क्या लिखते हैं और इस मसले यानि प्लेटफार्म टिकट बढ़ाने के मुद्दे पर कुछ अन्य पत्रकार साथी क्या लिखते हैं…

आलोक श्रीवास्तव को दुष्यन्त कुमार अलंकरण

युवा कवि, लेखक और टीवी पत्रकार आलोक श्रीवास्तव को साल 2014 के ‘राष्ट्रीय दुष्यंत कुमार अलंकरण’ से सम्मानित किया जाएगा. दुष्यंत कुमार स्मारक पाण्डुलिपि संग्रहालय, भोपाल की ओर से हर साल दिए जाने वाले इस प्रतिष्ठित अलंकरण की घोषणा 17 मार्च को भोपाल में की गई. साल 1998 में राष्ट्रीय स्तर पर स्थापित यह अलंकरण पहली बार दुष्यंत के ही तेवर के शायर अदम गोंडवी को दिया गया था.

‘शुक्रवार’ मैग्जीन को नए तेवर-कलेवर में लेकर आ रहे हैं पत्रकार अंबरीश कुमार

जनसत्ता अखबार के लखनऊ ब्यूरो चीफ रहे पत्रकार अंबरीश कुमार ‘शुक्रवार’ मैग्जीन को नए रंग-रूप में लेकर सामने आ रहे हैं. ‘शुक्रवार’ मैग्जीन चिटफंड कंपनी पीएसीएल की मीडिया कंपनी पर्ल ग्रुप से संबंधित थी. चिटफंड कंपनी पीएसीएल के मुश्किल में पड़ने से इसका मीडिया वेंचर भी ध्वस्त हो गया और पत्रिका से लेकर चैनल तक बिक गए या बंद हो गए. अंबरीश कुमार ने फेसबुक पर डाले अपने ताजे स्टेटस में ‘शुक्रवार’ से अपने जुड़ाव को न सिर्फ स्वीकारा है बल्कि इसे बेहतर बनाने के लिए लोगों से सुझाव भी मांगे हैं.

जाति, जेंडर और क्लास, दलित स्त्रीवाद की धुरी : सुजाता

गया (बिहार) : जातिवाद के विरोध में हर समय में अपने यहां लड़ाई लड़ी गईं। सबसे पहले बुद्ध ने यह लड़ाई लड़ी। फिर कर्नाटक में बशेश्वर ने, ज्योतिबा फुले ने 18वीं सदी में और डा. भीमराव आंबेडकर ने 19वीं सदी में इसके खिलाफ आंदोलन किया। इन सब की जाति और वर्ग अलग-अलग थे। बुद्ध क्षत्रीय कुल से थे, बशेश्वर ब्राहमण और फुले की पृष्ठभूमि व्यापारी वर्ग से थी। जाति व्यवस्था और गुलामी पर प्रहार का ऐसा उदाहरण विश्व में कहीं नहीं मिलता। 

आईएएस रविकुमार की रहस्यमय हालात में मौत की सीबीआई जांच का अनुरोध

लखनऊ : आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने आईएएस डी. के. रविकुमार की रहस्यमय स्थितियों में मौत की सीबीआई जांच की मांग की है। 

पंकज श्रीवास्तव ने ‘अमर उजाला’ को कहा बॉय-बॉय, पहुंचे ‘आज तक’

‘अमर उजाला डॉट कॉम’ के साथ लंबे समय से काम कर रहे पंकज कुमार श्रीवास्तव ने संस्थान को अलविदा कह दिया है। उन्होंने सोमवार से अपनी नई पारी ‘आज तक’ के साथ शुरू कर दी है। वह ‘आजतक’ के आनलाइन पोर्टल पर बतौर असिस्टेंट एडिटर काम करेंगे। पंकज पिछले नौ वर्षों से ‘अमर उजाला’ से जुड़े …

छात्र-छात्रा का अश्लील वीडियो वायरल, चार गिरफ्तार, दो की तलाश

हाथरस (उत्तर प्रदेश) : क्षेत्र के एक गांव में दबंगों द्वारा बनाई गई किशोरी छात्रा की छात्र के साथ अश्लील वीडियो क्लिपिंग वायरल होने पर सीओ नरेंद्र देव और प्रभारी निरीक्षक मनोज शर्मा ने किशोरी के गांव और आसपास के संभावित ठिकानों पर दबिश दी। पुलिस दो अभियुक्तों संजय और रवि को खोज रही है। इस पूर्व चार आरोपी जेल भेजे जा चुके हैं। किशोरी की क्लिपिंग बनाने के आरोपियों ईलू, दारा सिंह, पंकज, रामू, संजय और रवि के विरुद्ध यूपी गुंडा एक्ट 2/3 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

फेसबुक पर आजम खां पर टिप्पणी करने वाला 11वीं का छात्र गया जेल

रामपुर : स्थानीय पुलिस ने उत्तर प्रदेश के शहरी विकास मंत्री आजम खान के खिलाफ फेसबुक पर टिप्पणी करने वाले बरेली के वुडरो स्कूल के 11वीं के छात्र गुलरेज खान उर्फ विक्की (18) को गिरफ्तार  जेल भेज दिया। 

तमिल लेखकों पर हमलों के पीछे कौन?

अभिव्यक्ति की आज़ादी की लड़ाई में सरकार से किसी भी रूप में जुड़े लोगों की आक्रामक भूमिका की बात छोड़ दी जाए तो पेरुमल मुरुगन और पुलियुर मुरुगेसन जैसे तमिल लेखकों पर हुए हालिया हमलों में कोई नई बात नहीं दिखती है.

झालावाड़ ‘भास्कर’ झुका, सभी कर्मचारी काम पर लौटे

झालावाड़ (राजस्थान) : दैनिक भास्कर झालावाड़ के कर्मचारियों की गत 16 मार्च को झालावाड़ लेबर आफिस में समझौता वार्ता के दौरान अखबार के वकील ने मजीठिया को लेकर संघर्षरत कर्मचारियों को झूठा और कामचोर कहा। गाली की भाषा में वकील के आग बबूला होने पर लेबर इंस्पेक्टर ने हस्तक्षेप करते हुए कहा कि – हमें पता है, आप लोगों की हकीकत क्या है। आप चुप रहें तो ही अच्छा होगा। अंतत: भास्कर प्रबंधन को सशर्त झुकना पड़ा। बताया गया है कि समझौते के बाद सभी कर्मचारियों ने काम करना शुरू कर दिया है।

हमलावर हाथ हिन्दुत्व के साथ, हिन्दू बनो संविधान तोड़ो

हिसार में चर्च पर हमले से दो काम हुए हैं, पहला 1857 के शहीदों का अपमान हुआ है, दूसरा धार्मिक हमलावरों की अंतर्राष्ट्रीय बिरादरी में हमलावरसेना शामिल हुई है। अब उनके आईएसआईएस और अलकायदा के बराबर दर्जा मिलने की संभावनाएं बढ़ गयी हैं। सारी दुनिया में मीडिया गौरवगुरु का पद उनको मिल गया है। अब वे अलकायदा आदि के बराबर 56 इंच का सीना तानकर खड़े हो सकते हैं। 

पी7 न्यूज और उसके अफसरों को जो सड़क पर उतर कर गरियाएगा, वो फुल एंड फाइनल पेमेंट पाएगा !

पी 7 न्यूज के बंद होने के बाद बकाया भुगतान को लेकर रोजाना नई नई कहानियां सामने आ रही है। चैनल बंद करते समय प्रबंधन ने सभी का फुल एंड फायनल पेमेंट करने का लिखित में वादा किया था, लेकिन जब ऐसा नहीं हुआ तो पत्रकारों ने धरना प्रदरेशन से कोर्ट में प्रबंधन के लोगों को घसीटा। तब करीब 160 लोगों का भुगतान किया गया। डायरेक्टर केसर सिंह, बिधु शेखर के खिलाफ गाली गलौज और मोर्चा खोलने वालों को ही पेमेंट किया गया।

मनरेगा की मजदूरी हड़पने वाले अफसरों को बचा रही सरकार

लखनऊ : रिहाई मंच ने बलरामपुर जिले के सोहेलवा वन्य जीव प्रभाग के अन्तर्गत बनकटवा रेंज के मनरेगा मजदूरों की मजदूरी वन विभाग द्वारा हड़पे जाने के मामले पर प्रदेश सरकार पर भ्रष्टाचार को संरक्षण देने का आरोप लगाया है।

दूरदर्शन, आकाशवाणी के 3067 पद बहाल

मुंबई : सरकार ने दूरदर्शन (डीडी) और ऑल इंडिया रेडियो (एआईआर) में आवश्यक श्रेणी के 3067 पदों को बहाल कर दिया है। सूचना व प्रसारण मंत्री का भी प्रभार संभाल रहे वित्त मंत्री अरुण जेटली ने संसद में प्रश्नकाल के दौरान एक पूरक सवाल के जवाब में यह जानकारी दी।

जागरण के भरोसे अपना भविष्य तय करने से पहले जरा सोच लेना

बहुत से लोग इस समय दैनिक जागरण में नौकरी कर रहे होंगे, तो कुछ नौकरी छोड़ चुके होंगे या कुछ को नौकरी छोड़ने के लिए बाध्य कर दिया गया होगा। यहां तक कि कुछ को तो क्रूरतापूर्वक निकाल दिया गया होगा। कुछ ऐसे भी होंगे जो नौकरी के लिए प्रयास कर रहे होंगे। नौकरी आपका पूरा भविष्य तय करती है। इसलिए नौकरी में आने से पहले कंपनी की प्रोफाइल जानना बहुत जरूरी होता है। आपको बताना चाहता हूं कि दैनिक जागरण की ब्रांडिंग पर भरोसा करके अपना भविष्य तय करने से पहले एक बार जरूर सोचें।

टीवी चैनलों की ‘सुरक्षा मंज़ूरी’ को सरकार ने सुगम बनाया

मुंबई: सरकार ने केबल टीवी कंपनियों, टेलिविज़न चैनलों और सामुदायिक रेडियो स्टेशनों से जुड़ी सुरक्षा मंजूरी की प्रकिया को सुगम कर दिया है। सुरक्षा मंजूरी तीन साल के बजाय अब 10 साल तक के लिए वैध होगी। 

इंद्रजीत गुप्ता ने लांच किया डिजिटल कंटेंट प्लेटफार्म ‘फाउंडिंग फ्यूल’

मुंबई: ‘फोर्ब्स इंडिया’ के पूर्व संपादक इंद्रजीत गुप्ता ने पियर्सन के ऑनलाइन शिक्षण उपक्रम ट्यूटर विस्टा के पूर्व प्रमुख सीएस स्वामीनाथन के साथ एक डिजिटल कंटेंट प्लेटफार्म फाउंडिंग फ्यूल लॉन्च किया है़। फाउंडिंग फ्यूल सोल्यूशन अत्याधुनिक डिजिटल उपकरणों का उपयोग करेगा और प्रोडक्ट्स के लिए बाज़ार मुहैया कराएगा। अंग्रेज़ी अखबार मिंट और डिजिटल टीवी नेटवर्क पिंग के साथ कंटेंट संबंधी समझौतों पर इसका हस्ताक्षर हो चुका है।

‘आप’ की हरकतें कहीं से भी उसे देश की दूसरी पार्टियों से अलग नहीं करती है

नई दिल्ली। प्रेस क्लब ऑफ इंडिया और मीडिया स्टडीज ग्रुप (एमएसजी) ने मंगलवार को संयुक्त तौर पर “चर्चाः विकल्प की राजनीति का भविष्य” विषय पर एक कार्यक्रम का आय़ोजन किया। चर्चा का संचालन करते हुए मीडिया स्टडीज ग्रुप के अध्यक्ष अनिल चमड़िया ने कहा कि आम आदमी हमेशा अपनी राजनीतिक, सामाजिक तथा आर्थिक समस्याओं के समाधान के लिए एक नए और मजबूत, सुदृढ़ विकल्प की तलाश करता रहा है। इसी लिहाज से आम आदमी बनाम आम आदमी पार्टी की राजनीति को देखा जाना चाहिए। लेकिन ‘आप’ में प्रशांत भूषण औऱ योगेंद्र यादव को लेकर जो कुछ हो रहा है वह निराशाजनक है।

”ब्यूरो हेड ने विधायक को फोन कर खबर के बदले कंप्रोमाइज के लिए कहा”

उज्जैन के पत्रकार अनिल मांगुदास बैरागी ने शपथ पूर्वक आरोप लगाया है कि ईटीवी के मध्य प्रदेश हेड अजय त्रिपाठी ने उनके सामने ही भाजपा विधायक को फोन कर खबर के मामले में समझौता करने के लिए कहा. बैरागी की तरफ से भेजी गई चिट्ठी इस प्रकार है…

स्टिंगरों से अब खबर की जगह सरपंचों के फ़ोन नंबर मांगे जा रहे हैं

ज़ी मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ के नए चैनल हेड दिलीप तिवारी न जाने कौन सी दुश्मनी अपने ही चैनल के स्टिंगरों से निकाल रहे हैं. खबर तो दूर, चैनल में न्यूज़ स्क्रॉल तक नहीं चलाये जा रहे हैं. गिनती की स्टोरी पकड़ कर तीन-तीन दिनों तक रगड़ी जा रही हैं और कई मामलों में तो मीडिया ट्रायल तक किया जा रहा है. वो चाहे खंडवा के कलेक्टर द्वारा नरेंद्र मोदी के आगमन पर किये गए खर्च का मामला हो या बैतूल में एक व्यक्ति द्वारा एड्स की आशंका में परिवार की हत्या का फॉलोअप.

इन दुराचारियों के लिए रात हो या दिन, कितनी भी उम्र की हो, बस औरत होनी चाहिए

Manika Mohini : कोलकता के नडिया ज़िले के जीसस एंड मेरी कॉन्वेंट स्कूल की 71 वर्षीय नन के साथ दो दिन पूर्व हुए सामूहिक बलात्कार के दोषी हालाँकि स्कूल के CCTV कैमरे में देखे जा चुके हैं लेकिन अब तक पकडे नहीं गए. इन हवस के मारों के बारे में सोचिए, कितने ज़लील हैं ये, 71 वर्ष की महिला के झुर्रियों से भरे हुए शरीर और नन के कपड़ों में कौन सा स्त्री-सौंदर्य होगा जिसने इन मरदुओं को अपनी हवस मिटाने के लिए प्रेरित किया? कहाँ हैं वे लोग जो बलात्कारियों के पक्ष में तर्क देते हैं कि औरतें ऐसे कपडे पहनती हैं, वैसे मेकअप करती हैं, रात को घर से निकलती हैं आदि आदि.

केजरीवाल सरकार भी बांटने लगी रेवड़ियां, संसदीय सचिव बनाकार 21 MLA को मंत्री पद का दर्ज़ा दिया

Mukesh Kumar :  दिल्ली की केजरीवाल सरकार भी रेवड़ियां बाँटने लगी है। इक्कीस विधायकों को संसदीय सचिव बनाकार मंत्री पद का दर्ज़ा दे दिया गया है। इतने संसदीय सचिव देश के किसी भी राज्य में नहीं हैं। बहुत से राज्यों में तो ये हैं ही नहीं। लगता है किसी असंतोष को दबाने के लिए ऐसा किया गया है, क्योंकि दिल्ली जैसे आधे-अधूरे और छोटे से राज्य में तीन-चार संसदीय सचिवों से काम चल सकता था, इसके लिए इस पैमाने पर रिश्वत ब़ॉटने की ज़रूरत नहीं पड़ती।

भोपाल के शराबी ब्यूरो हेड की अय्याशी के चर्चे और जूनियर रिपोर्टर का भड़कना

भोपाल : इन दिनों एक न्यूज चैनल के शराबी भोपाल ब्यूरो की खूब चर्चा है. पत्रिका न्यूज़ पेपर से धक्के मारकर बहार निकले गए इन महाशय की अपनी ही टीम पर पकड़ ढीली है। दरअसल ये ब्यूरो साहब अपने बाप की मेहरबानी के चलते चैनल में जगह पा गए। लेकिन इनकी हरकतें वही छिछोरों टाइप की है जो कभी पहले भी हुआ करती थी। इनके बाप वरिष्ठ पत्रकार हैं जिन्होंने चैनल हैड के हाथ जोड़कर इन्हें यहाँ रखवाया लेकिन जनाब यहाँ भी अपनी हरकतों से बाज़ नहीं आ रहे।

आधी आबादी पर फिर उसी विमर्श को हवा

भारत को अंग्रेजी शासन से आज़ाद हुए छह दशक से भी अधिक का समय बीत चुका है, लेकिन आज भी लिंग आधारित भेदभाव और महिलाओं पर अत्याचारों में कोई कमी नहीं आई है। महिला सशक्तिकरण और महिला उत्थान के लिए आज भी ज्यादा कुछ नहीं किया जा रहा है। निर्भया कांड पर बीबीसी की वृत्त फिल्म ‘इंडिया डॉटर’ के औचित्य पर कई तरह के सवाल उठ खड़े हुए हैं। फिल्म के प्रसारण को रोकने की सरकारी स्तर पर की गई कोशिश ने उसे इतना प्रचारित कर दिया कि बलात्कार की समस्या पर एक बार फिर वैचारिक और सैद्धांतिक विमर्श का लंबा सिलसिला शुरू हो गया। संसद में भी आवाजें उठीं। वृत्त फिल्म में निर्भया कांड के दोषी से बातचीत और उसमें अपनी कायराना हरकत को जायज ठहराने की उसकी कोशिश ने एक कड़वा सच सामने ला दिया। 

‘गोजए’ के रंगोत्सव में कवि-कलाकारों का जलवा

जौनपुर। गोमती जर्नलिस्ट एसोसिएशन (गोजए) की ओर से शकुंतला सेण्ट्रल एडकेमी में आयोजित हिन्दी नव संवत्सर व होली मिलन समारोह में कलाकारों ने रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत कर लोगों को जमकर थिरकाया और गुदगुदाया। 

मीडिया का मोतियाबिंद : इसके आपरेशन का समय आ गया है…

Ambrish Kumar : कल जंतर मंतर पर जन संसद में कई घंटे रहा. दस हजार से ज्यादा लोग आए थे जिसमें बड़ी संख्या में किसान मजदूर थे. महिलाओं की संख्या ज्यादा थी. झोले में रोटी गुड़ अचार लिए. मंच पर नब्बे पार कुलदीप नैयर से लेकर अपने-अपने अंचलों के दिग्गज नेता थे. अच्छी सभा हुई और सौ दिन के संघर्ष का एलान. बगल में कांग्रेस का एक हुल्लड़ शो भी था. जीप से ढोकर लाए कुछ सौ लोग. मैं वहां खड़ा था और सब देख रहा था. जींस और सफ़ेद जूता पहने कई कांग्रेसी डंडा झंडा लेकर किसानों के बीच से उन्हें लांघते हुए निकलने की कोशिश कर रहे थे जिस पर सभा में व्यवधान भी हुआ.  एक तरफ कांग्रेस में सफ़ेद जूता और जींस वालों की कुछ सौ की भीड़ थी तो दूसरी तरफ बेवाई फटे नंगे पैर हजारों की संख्या में आये आदिवासी किसान थे.

टीडीसैट ने ताज टीवी पर एक लाख रुपए प्रतिदिन जुर्माना ठोका

मुंबई: दूरसंचार विवाद निपटान व अपीलीय ट्राइब्यूनल (टीडीसैट) ने टीवी डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी ताज टेलिविज़न पर एक लाख रुपए प्रतिदिन का जुर्माना लगा दिया है। जुर्माने की गिनती 3 फरवरी से शुरू होकर तब तक चलेगी, जब तक ताज अपने सिग्नल फास्टवे को देना नहीं शुरू कर देता। 

खुद को ‘माल’ कहे जाने पर शैफाली ने यूं दिखाया मर्दवादी समाज को आइना

Ma Jivan Shaifaly : लड़की की उम्र 6 साल. बगीचे में साइकिल चला रही है. 10-12 साल के लड़कों का एक झुण्ड आता है और उसको घेर लेता है. लड़की के चेहरे का रंग उड़ जाता है. उसमें से एक लड़का हंसता हुआ उसकी ओर बढ़ता है और उसका स्कर्ट उठा देता है. लड़की डर के साइकिल पकड़े-पकड़े दौड़ लगा देती है. वो उसके जीवन की इस प्रकार की पहली घटना रहती है लेकिन वो किसी को कुछ नहीं बताती. उसके अन्दर एक बीज पड़ जाता है, लड़की होने का बीज…

ताजमहल पर मंडराया पैराशूट, एजेंसियां जांच में जुटीं

आगरा। आगरा में ताजमहल के ऊपर पैराशूट मंडराने से खलबली मच गई है। नो फ्लाइंग जोन में ताजमहल के ऊपर पैराशूट दिखने से सुरक्षा एजेंसियों में खलबली मच गई है। अब एजेंसियां इसे लेकर जांच में जुटी हुई हैं। आखिर पैराशूट इसके उपर कैसे पहुंच गया। ताजमहल की सुरक्षा का जिम्मा देख रही सीआईएसफ ने थाना ताजगंज में इस संबंध में तहरीर दे दी है।

मंगलवार को आगरा में ताजमहल पर मंडराता पैराशूट

एप्पल कंपनी जल्‍द शुरू करेगी ऑनलाइन टेलीविजन सर्विस

आईफोन निर्माता कंपनी एप्‍पल जल्‍द ही अपनी टेलीविजन शुरू करने जा रही है. जिसके द्वारा अब यूजर एप्‍पल सर्विस के द्वारा टीवी पर अपना मन पसंदीदा शो देख पाएंगे. लेकिन इस सर्विस को इस्‍तेमाल करने के लिए अभी आपको कुछ समय इंतजार करना पड़ेगा क्‍योंकि यह इस साल सितंबर तक शरू हो सकता है.

जनसंसद में देशव्यापी संघर्ष का आह्वान, 23 मार्च से भूमि-अधिकार अभियान

दिल्ली : अखिल भारतीय लोक मंच (ऑल इंडिया पीपुल्स फोरम- एआईपीएफ) के दो दिवसीय स्थापना सम्मेलन के बाद जंतर-मंतर पर जन-संसद को वामपंथी-समाजवादी नेताओं, मानवाधिकार कार्यकर्ताओं और बुद्धिजीवियों ने संबोधित किया।

दिल्ली में जंतर-मंतर पर जन-संसद 

छत्तीसगढ़ में चिटफंड कम्पनियां बेलगाम

रायपुर : जशपुर प्रशासन कब नींद से जागेगा! रायपुर में सरकार ने भी चिटफंड कम्पनियों के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए हैं। समिति का गठन भी हो गया है लेकिन कोई ठोस कदम नहीं उठाए जाने से चिटफंड कम्पनियां सक्रिय हैं।

श्रीटाइम्स के कर्मचारियों को सैलरी मांगने पर मिल रहीं धमकियां

लखनऊ : दैनिक समाचार पत्र श्री टाइम्स के कर्मचारियों को सैलरी की जगह धमकियां मिल रही हैं। यहां कार्यरत कर्मचारियों को चार माह से सैलरी नहीं दी गई है, जिससे कर्मचारियों के सामने घोर आर्थिक संकट खड़ा हो गया है।

सोशल मीडिया पर छा गई एंकर की जैकेट

‘चैनल टेन’ के एक लाइव न्यूज शो में उतरीं ऑस्ट्रेलियाई न्यूज एंकर नतार्शा बेलिंग की जैकेट सोशल मीडिया पर छा गई। सारी कुदृष्टि जैकेट की ‘नेकलाइन’ में जा फंसी। इंटरनेट पर फोटो अपलोड होते ही कैप्शन पढ़कर प्रतिक्रिया परोसने वालों की लाइन लग गई। फोटो पर 110,000 से ज्यादा लाइक्स और 6000 से शेयर ने पूरी दुनिया में इसे सबसे रोचक खबरों में शुमार कर दिया। 

ऑनलाइन पत्रकार सुप्रिया को चमेलीदेवी पुरस्कार

नई दिल्ली : मीडिया फाउंडेशन ने सर्वश्रेष्ठ महिला पत्रकार को दिया जाने वाला प्रतिष्ठित चमेली देवी जैन पुरस्कार इस साल एक ऑनलाइन पत्रकार सुप्रिया शर्मा को दिए जाने की घोषणा की है। यह पुरस्कार ऑनलाइन न्यूज पोर्टल पर काम करने वाली किसी पत्रकार को पहली बार दिया जा रहा है। ‘स्क्रॉल डॉट इन’ की समाचार …

सहारा पर 40 करोड़ डॉलर का दावा ठोंकेगी ‘मिराच’ कंपनी

न्यूयार्क : अमेरिका की कंपनी मिराच कैपिटल ने मंगलवार को कहा कि वह सहारा समूह के खिलाफ 40 करोड़ डालर का मानहानि मुकदमा दायर करने की तैयारी कर रही है। मिराच का आरोप है कि सहारा समूह के साथ वित्तीय सौदा नाकाम रहने के कारण उसने अपूरणीय क्षति हुई है और उसके निवेशकों का भरोसा हिला है।

अब मीडिया की अदालत में अंशु : सुहाग लुटा फिर पूरी वसीयत, ‘मेरे मासूम की मदद करिए’ !

आगरा : ससुराल में पांव रखते ही किसी नवविवाहिता को पता चले कि उसके पति को तो कैंसर है….कुछ दिन बाद पति उसे हमेशा के लिए इस दुनिया में अकेला छोड़ जाए ! और उस पर लगातार वक्त कुछ ऐसी मार पड़ती जाए कि सुहाग लुट जाने से कुछ माह पूर्व वह संतान को जन्म दे, और फिर, उसे नवजात के साथ ससुराल से मायके खदेड़ दिया जाए !..उसके बच्चे के नाम बैंक में जमा सारे रुपये निकालने के साथ ही जालसाजी कर उसकी पूरी वसीयत उसके ही ननद-देवर एक कॉलेज के नाम पर हड़प लें तो ? और वह लाचार नवविवाहिता दस साल से न्याय की गुहार लगाते हुए हाईकोर्ट की चौखट तक पहुंच जाए….!! 

अमर उजाला ने लखनऊ में दैनिक जागरण को पटका, बना नंबर वन

लखनऊ : हिंदी दैनिक ‘अमर उजाला’ ने दावा किया है कि उत्तर प्रदेश के लखनऊ जिले में उसकी प्रसार संख्या अन्य समाचारपत्रों की प्रसार संख्या की तुलना में सबसे अधिक हो गई है। अपने 17 मार्च 2015 के अंक में प्रथम पृष्ठ पर अखबार ने लखनऊ के पाठकों का शुक्रिया अदा करते हुए लिखा है कि ‘जुलाई से दिसंबर 2014 तक की ऑडिट ब्यूरो ऑफ सर्कुलेशन (एबीसी-ABC) की रिपोर्ट के अनुसार अमर उजाला अपने सभी प्रतिद्वंद्वियों की तुलना में आगे निकल गया है।’

फेसबुक सामग्री पर पाबंदी की मांग करने वालों में भारत नंबर वन

नई दिल्ली : सोशल नेटवर्किग वेबसाइट फेसबुक ने जुलाई दिसंबर 2014 की अवधि में भारत सरकार के आदेश पर सबसे ज्यादा 5,832 सामग्री को अपनी वेबसाइट से हटाया है। इसमें धर्मविरोधी सामग्री तथा भड़काऊ भाषण शामिल हैं।

रेडियो तरंगों पर अब राज्य नहीं, जनता का अधिकार

नई दिल्‍ली : विज्ञान भवन में सामुदायिक रेडियो स्‍टेशनों के पांचवें राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन का उदघाटन करते हुए वित्‍त एवं सूचना और प्रसारण मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि सामुदायिक रेडियो, संचार के एक माध्यम के रूप में बोलने तथा अभिव्यक्ति की आजादी के अधिकार का आतंरिक तत्व है। सूचना के प्रसार के माध्यम के रूप में इसकी ‘रेडियो तरंगें’ राज्य नहीं, बल्कि लोगों के अधिकार क्षेत्र में आती हैं, ये तरंगें सार्वजनिक होती हैं और सरकार का इस पर एक छत्र अधिकार होने का मुद्दा अब समाप्त हो गया है। 

तेलंगाना के केबलवाले टीडीसैट में, सुनवाई 19 मार्च को

मुंबई: तेलंगाना केबल ऑपरेटर्स फेडरेशन अनधिकृत तरीके से स्टार इंडिया के चैनलों को बंद करने के कारण मल्टी सिस्टम ऑपरेटर इंडसइंड मीडिया एंड कम्युनिकेशंस लिमिटेड (आईएमसीएल) के खिलाफ दूरसंचार विवाद निपटान व अपीलीय ट्राइब्यूनल (टीडीसैट) में चला गया है।

प्राइवेट न्यूज चैनल प्राइम टाइम पर सिर्फ चिल्लपों मचाते हैं : ए.सूर्य प्रकाश

दिल्ली : पब्लिक रिलेशंस काउंसिल ऑफ इंडिया की कम्युनिकेशन इंडस्ट्री बॉडी के ग्लोबल कम्युनिकेशन कॉन्क्लेव में प्रसार भारती के चेयरमैन ए. सूर्य प्रकाश ने प्रेस काउंसिल को और अधिक अधिकार मिलने वकालत करते हुए कहा कि उसे न सिर्फ अधिक प्रतिनिधित्व बल्कि उसे ज्यादा हक भी दिए जाने चाहिए। प्राइवेट न्यूज चैनल प्राइम टाइम पर सिर्फ चिल्लपों मचाते हैं। न्यूज से उनका कोई ताल्लुक नहीं होता। प्रसार भारती में हर भारतीय की हिस्सेदारी है।

जश्ने-रेख्ता में शख्सियतों का मेला… इस तरह बरसात का मौसम कभी आया न था

दिल्ली : दो दिवसीय ‘जश्ने-रेख्ता’ में पाकिस्तान, भारत, अमेरिका, कनाडा आदि देशों के 60 से अधिक उर्दू शायर, लेखकों और फ़नकारों ने शिरक़त की. जश्ने-रेख्ता के जरिए उर्दू के कई दिलचस्प पहलू देखने को मिले. दास्तानगोई, शायरी, कव्वाली, ग़ज़ल और क़िस्सागोई ने उर्दू के चाहने वालों के दिल खुश कर दिए. जश्ने-रेख्ता में उर्दू किताबों के बुक स्टाल, कैलीग्राफ़ी, शायरी की महफ़िल और खाने पीने के इंतजाम भी थे. पैनल डिस्कशन और इंटरैक्टिव सत्र के माध्यम से उर्दू के विभिन्न पहलुओं को जानने का और चर्चा करने का मौका मिला. उर्दू नाटकों ने दर्शकों को खूब लुभाया.

यादव सिंह प्रकरण : सीबीआई जांच आदेश का हलफनामा दायर

लखनऊ : यादव सिंह मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. नूतन ठाकुर द्वारा पीआईएल में आज महाधिवक्ता विजय बहादुर सिंह की अनुपस्थिति के कारण सुनवाई नहीं हो सकी. मामले में अगली सुनवाई 23 मार्च को होगी.

एचटी की एडिटर सुनीता एरन के पति की हार्ट अटैक से मृत्यु

लखनऊ : इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरप्रेन्योरशिप डेवलपमेंट उत्तर प्रदेश के चेयरमैन एवं हिंदुस्तान टाइम्स लखनऊ की संपादक सुनीता एरन के पति कंचन एरन की आज हार्ट अटैक से मौत हो गई। वह 62 वर्ष के थे। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एरन परिवार में पहुंच कर परिजनों को ढांढस बंधाने के साथ ही मृतात्मा की शांति की …

यशवंत सिंह, इरा झा और विनायक विजेता ने अपनी-अपनी खराब सेहत के बारे में जानकारी दी

Yashwant Singh : हाई बीपी के कारण अस्पताल में भर्ती होना पड़ा। ecg से लेकर कई किस्म के चेकअप हुए। डॉक्टर ने पांच दिन तक अल्कोहल, नमक, अचार से दूर रहने और दी गयी दवाएं नियम से खाते रहने को कहा है। रोज एक निश्चित टाइम पर बीपी नापते हुए छठें रोज फिर मिलने का आदेश किया है। उसने ह्रदय और दिमाग में मचे आड़ोलन को किसी किस्म का अटैक या हैमरेज होने या इनकी आहट की आशंका होने को खारिज किया है। लेकिन अलर्ट की चेतावनी जारी कर दी है। नार्मल से एलर्ट मोड में जीवन को रख दिया है।

एक न्यूज चैनल जहां महिला पत्रकारों को प्रमोशन के लिए मालिक के साथ अकेले में ‘गोल्डन काफी’ पीनी पड़ती है!

चौथा स्तंभ आज खुद को अपने बल पर खड़ा रख पाने में नाक़ाम साबित हो रहा है…. आज ये स्तंभ अपना अस्तित्व बचाने के लिए सिसक रहा है… खासकर छोटे न्यूज चैनलों ने जो दलाली, उगाही, धंधे को ही असली पत्रकारिता मानते हैं, गंध मचा रखा है. ये चैनल राजनेताओं का सहारा लेने पर, ख़बरों को ब्रांड घोषित कर उसके जरिये पत्रकारिता की खुले बाज़ार में नीलामी करने को रोजाना का काम मानते हैं… इन चैनलों में हर चीज का दाम तय है… किस खबर को कितना समय देना है… किस अंदाज और किस एंगल से ख़बर उठानी है… सब कुछ तय है… मैंने अपने एक साल के पत्रकारिता के अनुभव में जो देखा, जो सुना और जो सीखा वो किताबी बातों से कही ज्यादा अलग था…. दिक्कत होती थी अंतर आंकने में…. जो पढ़ा वो सही था या जो इन आँखों से देखा वो सही है…

बुजुर्ग के खिलाफ दुर्व्यवहार का मुकदमा लिखाने वाली दो युवा महिला पत्रकारों को भास्कर ने नौकरी से निकाला

दैनिक भास्कर-भिलाई (छत्तीसगढ़) से खबर है कि यहां कार्यरत 2 युवा महिला पत्रकारों को नौकरी से बाहर निकाल दिया गया. इन लड़कियों ने दुर्व्यवहार के खिलाफ संघर्ष किया तो इनको संस्थान ने कार्यमुक्त कर दिया. दोनों लड़कियों ने आरोप लगाया कि इनके साथ एक बुजुर्ग ने दुर्व्यवहार किया जिसके कारण उन्होंने बुजुर्ग के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा दिया.

प्रिंट एंड इलेक्ट्रानिक्स जर्नलिस्ट एसोसिएशन’ से 21 पत्रकारों का इस्तीफा

अंबाला : यहां के पत्रकारों की संस्था ‘प्रिंट एंड इलेक्ट्रानिक्स जर्नलिस्ट एसोसिएशन’ की आपसी फूट अब खुलकर सामने आने लगी है। 21 पत्रकारों ने एसोसिएशन से इस्तीफा दे दिया है। 

Marx would have termed TV, social media as opium today : IAS Manoj Shrivastava

Bhopal : Karl Marx had said ‘religion is the opium’ when there was no television or social media in the world. Had he been alive today, he would probably have called television and social media as ‘opium’ of today’s society. Today, people have got addicted to television and social media. Today, they spend almost same amount of time on these mediums as they spend in their works. These views were expressed by the Principal Secretary of the Culture Department of the state, IAS Shri Manoj Shrivastava while addressing a two-day national symposium on the subject, ‘Value-based Communication and IT’ in Bhopal on Saturday.

‘आज समाज’ कर्मियों को अभी तक नहीं मिली जनवरी, फरवरी की सेलरी

‘आज समाज’ कर्मचारियों को अभी तक जनवरी और फरवरी माह की सेलरी नहीं मिली है।  इससे कर्मचारियों में भारी असंतोष है। आज समाज अख़बार की माली हालत पिछले काफी समय से ख़राब बताई जा रही है।

खंडवा पुलिस के खिलाफ पत्रकार एकजुट, रैली निकालकर झूठे मामले की मुखालफत

खंडवा : जिले के समस्त पत्रकारों ने मोघट पुलिस थाने में 13 मार्च 2015 की रात को पत्रकारों पर दर्ज हुए शासकीय कार्य में बाधा के झूठे प्रकरण के विरोध में वाहन रैली निकाली और उप पुलिस अधीक्षक को गृहमंत्री एवं आईजी के नाम ज्ञापन सौंपा।

मजीठिया वेज बोर्ड मामले में ‘नवदुनिया’ के सभी कर्मचारी लामबंद, 110 ने लगाई सुप्रीम कोर्ट में याचिका

भोपाल : मजीठिया वेतनमान को लेने के लिए देशभर के मीडियाकर्मियों ने संख्या में एकजुट कोकर सुप्रीमकोर्ट में अवमानना के खिलाफ याचिकाएं लगा रखीं हैं। पिछले एक साल से सुप्रीमकोर्ट द्वारा मजीठिया वेतनमान को लागू करने के सुनाए गए फैसले की प्रिंट मीडिया मालिक लगातार अवहेलना कर रहे हैं। भारतवर्ष में मीडिया को चौथे स्तंभ का दर्जा प्राप्त है, लेकिन इससे अधिक दुर्भाग्य की बात क्या होगी कि समाज के गरीब और कमजोर वर्ग के लोगों की आवाज को उठाने वाले इन मीडियाकर्मियों को अपना ही हक लेने के लिए अपने ही मालिकों से लगातार लड़ाई लड़नी पड़ रही है। मामले पर एक वर्ष से लगातार चली सुनवाई के बाद अब माननीय सर्वोच्च न्यायालय ने सभी मालिकों को अपना पक्ष रखने के लिए अंतिम और आखिरी तारीख 28 अप्रैल 2015 सुनिश्चित की है। 

आपकी ‘जानेमन जेल’ तो मेरा भी दिल लूटकर ले गई

आदरणीय यशवंत भाई, अमेजोन ब्वॉय ने आज आपकी जानमेन जेल हाथों में रखी तो पता नहीं था दिन इसी के नाम करने वाला हूं। आफिस में पहला पन्ना खोला तो फिर रुका नहीं गया। आपकी जानेमन तो मेरा भी दिल लूटकर ले गई। सबसे पहले तो कुछ बेहतरीन किताबों के नाम सुझाने के लिए धन्यवाद और अफसोस है कि आपको जेल में चीफ साहब अंगुली कर गया। …खैर ये तो मजाक है लेकिन किताब बहुत सीरियस है।

‘आप’ में घमासान जारी : केजरी का स्टिंग करने वाले राजेश गर्ग निकाले गए, कुमार विश्वास को लीगल नोटिस

आम आदमी पार्टी यानि ‘आप’ में आपसी घमासान जारी है. आम आदमी पार्टी ने बागी नेता और पूर्व विधायक राजेश गर्ग को पार्टी से निकाल बाहर कर दिया है. पार्टी का कहना है कि राजेश ने पार्टी के खिलाफ काम किया. एक टेप पिछले दिनों मीडिया में लीक किया गया जिसमें राजेश गर्ग और केजरीवाल की बातचीत थी. इसमें केजरीवाल कांग्रेस विधायकों को तोड़ने की बात कर रहे थे.

यादव सिंह केस : सीबीआई जांच-आदेश नहीं मानती यूपी सरकार, कोर्ट से धोखा

लखनऊ : यादव सिंह मामले में इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच में पीआईएल दायर करने वाली सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. नूतन ठाकुर ने उत्तर प्रदेश सरकार पर तथ्यों को छिपाने और हाई कोर्ट के सामने गलतबयानी का गंभीर आरोप लगाया है.

GoI order for CBI enquiry, UP govt Affidavit

मूल्य जानते सब हैं, पालन करने की जरूरत : सच्चिदानंद जोशी

भोपाल : प्रत्येक व्यक्ति मूल्यों की जानकारी रखता है। जरूरत बस मूल्यों को सदैव याद रखने और उनका पालन करने है। ये विचार कुशाभाऊ ठाकरे विश्वविद्यालय रायपुर के कुलपति डॉ. सच्चिदानंद जोशी ने व्यक्त किए। 

‘संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी में मूल्यनिष्ठता’ विषय पर आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय संविमर्श 

सूचना-प्रसारण मंत्रालय टीवी न्यूज़ को प्रेस काउंसिल के दायरे में लाने पर विचार करेगा : राठौड़

नई दिल्ली: सूचना व प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवर्धन राठौड़ ने कहा है कि इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को भारतीय प्रेस परिषद (पीसीआई) के अधिकार क्षेत्र में लाने के प्रस्ताव पर परिषद के अध्यक्ष की राय मिलने के बाद विचार किया जा सकता है।

सिवनी में तीन सौ रुपये में प्रेस कार्ड बना रहा ‘पत्रकार’

सिवनी (म.प्र.) : पत्रकारिता को बदनाम करने वालों की कमी नहीं है। यहां हर दसवां आदमी अपने आपको पत्रकार बताते हुए धन उगाही में लगा हुआ है। ऐसा ही एक तथाकथित पत्रकार दिलीप यादव, जो पहले दो-तीन हजार रुपये लेकर प्रेस कार्ड बनाता था, अब सिर्फ 300 रुपये में प्रेस कार्ड बनाने लगा है। 

लखनऊ में जागरण का रिपोर्टर बताकर पांच लाख मांग रहा जालसाज दबोचा गया

लखनऊ : लखनऊ विकास प्राधिकरण के क्लर्क अजय कुमार वर्मा से खुद को दैनिक जागरण का संवाददाता बताकर एक जालसाज ने जब पांच लाख रुपये मांग तो वर्मा ने पुलिस को सूचना दे दी। विनयखंड, गोमतीनगर निवासी आरोपी समेंद्र नाथ शुक्ला को बाद में मेडिकल कॉलेज चौराहे के निकट पुलिस ने दबोच लिया। रिपोर्ट भी दर्ज कर ली गई है। बताया जाता है कि आरोपी प्राधिकरण में ही ठेकेदारी करता है। 

दैनिक जागरण का काला पानी है ‘जम्मू यूनिट’

….दैनिक जागरण की जम्मू यूनिट में बिजली अव्यवस्था पर एक ऐसी बात बताते हैं, जिससे आपका कलेजा दहल जाएगा। जैसा कि पिछली किस्त में बता चुका हूं कि बड़ी ब्राह्मणा में दैनिक जागरण कार्यालय भवन का भूतल बहुत ही नीचे है। उसका एक नुकसान यह भी है कि विषैले जीव-जंतुओं का प्रवेश जागरण कार्यालय के अंदर होता रहता है। क्यों न हो, अब उन्हें फिंगर पंच तो करना है नहीं। 

बहुजनों की सक्रिय हिस्सेदारी के बिना मुक्तबाजारी कारपोरेट फासीवाद के खिलाफ लड़ाई असंभव

‘अन्‍वेषा’ की ओर से दिल्ली में आयोजित विचार-गोष्‍ठी में जुटे विभिन्‍न लेखकों-पत्रकारों और संस्‍कृतिकर्मियों के बीच इस बात पर आम सहमति बनी कि देश में बढ़ते फासीवादी ख़तरे को पीछे धकेलने के लिए आज लेखकों-कलाकारों-बुद्धिजीवियों को अभिव्‍यक्ति के सारे ख़तरे उठाकर सामने आना होगा। फासिस्ट कारपोरेट संघ परिवार ने इस पूरी बहुजन कवायद को न सिर्फ समझा है बल्कि उसे सिरे से आत्मसात करके महाबलि बनकर खड़ा है और हम चुनिंदे लोग फासीवाद के खिलाफ चीख चिल्ला रहे हैं जबकि बहुजन समाज के आकार में जो सर्वहारा वर्ग है,  वह केसरिया केसरिया कमल कमल है।