पाकिस्तान के दो गिरजाघरों में ब्लास्ट, 15 की मौत, 68 घायल

लाहौर : पाकिस्तान के लाहौर में बसी देश की सबसे बड़ी ईसाई कॉलोनी में रविवार को दो गिरिजाघरों में प्रार्थना के दौरान तालिबान द्वारा किए गए आत्मघाती हमलों में कम से कम 15 लोग मारे गए और 68 अन्य घायल हो गए।

पाकिस्तान के लाहौर में तालिबानी ब्लॉस्ट के बाद रोते-बिलखते मृतकों के परिजन

पाकिस्तान में ब्लॉस्ट के बाद रोते-बिलखते मृतकों के परिजन

वह चर्च जहां रविवार को ब्लॉस्ट हुआ

मीडिया की तरह राजनीति को भी सर्कस बनाना चाहते हैं आशुतोष

आशुतोष ने एक ट्वीट किया है जिसमें उन्होंने मीडिया को माफ़ी मांगने की सलाह दी है. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है – “Will media apologise?ASIF KHAN claimed a sting on Sanjay Singh.He has none.It ran as headline/every channel has his interview.#MediaFooled”.

दूसरा ट्वीट कर आशुतोष फिर लिखते हैं- 

मेरठ में ‘भारतीय साहित्य और हिंदी’ विषय पर राष्ट्रीय संगोष्ठी

मेरठ : चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ में 27 और 28 मार्च 2015 को ‘भारतीय साहित्य और हिंदी’ विषय पर राष्ट्रीय संगोष्ठी आयोजित की जा रही है।

प्रख्यात गांधीवादी नारायण देसाई का निधन

सूरत / अहमदाबाद : जाने माने गांधीवादी और गुजरात विद्यापीठ के पूर्व कुलाधिपति नारायण देसाई का सूरत में आज एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। नब्बे वर्षीय देसाई महात्मा गांधी की डायरी लिखने वाले महादेव देसाई के पुत्र थे। उनके पीछे उनकी बेटी संघमित्रा और बेटे नचिकेता एवं अफलातून हैं।

फ़्री प्रेस सोसाइटी ने पैगंबर का कार्टून बनाने वाले विल्क्स को किया सम्मानित

डेनिश फ़्री प्रेस सोसाइटी ने पैग़ंबर मोहम्मद का कार्टून बनाने वाले स्वीडिश कार्टूनिस्ट लार्स विल्क्स को ‘सैफ़ो’ पुरस्कार से सम्मानित किया है. 

‘आम’ नहीं ‘खास’ हो गए ‘आप’

आम आदमी पार्टी के साथ जो हो रहा है उसे लेकर मुख्यधारा के राजनीतिक दलों में खासी प्रसन्नता है। राजनीति के क्षेत्र में ऐसा कम ही होता है जब कोई नया दल मुख्यधारा के राजनीतिक दलों को इस तरह हिलाकर रख दे। राजनीति के बने-बनाए तरीके से अलग काम करने और उसके अनुरूप आचरण से किसी को समस्या नहीं होती किंतु जब कोई दल नए विचारों के साथ सामने आता है तो समस्या खड़ी होती है।

मजीठिया पर बहस के संकेत नकारात्मक

मजीठिया वेतनमान को लेकर राज्य सभा टीवी पर बहस नकारात्मक संकेत दे रही है। इस बहस से साफ हो गया है कि सरकार भी यह मानती है कि मजीठिया वेतनमान देना छोटे समाचार पत्रों के लिए संभव नहीं। और बड़े प्रेस मालिक छोटों का रोना रोकर अपनी तिजोरी भरने के प्रयास में है। लेकिन यह सब भ्रमक बातें है, मजीठिया वेतनबोर्ड की अनुशंसा में प्रेस मालिक, पत्रकार और जज शामिल होते है। लंबे समय के मंथने के बाद आय के आधार पर पत्रकारों और गैर पत्रकारों के वेतन की अनुशंसा की गई। इस अनुशंसा को बड़े समाचार पत्रों ने चुनौती दी और सुप्रीम कोर्ट ने 4 साल की बहस के बाद इसे बाजिब माना। 

कपिल की कॉमेडी फिर पहले पायदान पर

मुंबई : एक बार फिर ‘कॉमेडी नाइट्स विद कपिल’ ने पहले नंबर पर वापसी की है. इस शो में अभिनेत्री अनुष्का शर्मा की पहली बार एंट्री हुई और कपिल ने भी उनका जमकर स्वागत किया. कपिल के शो को एक वक़्त में टाइप्ड मान लिया गया था और लोग उन्हें चुका हुआ मान रहे थे, लेकिन ‘कॉमेडी नाइट्स’ की वापसी कपिल के लिए राहत की ख़बर है क्योंकि जल्द ही वह एक फ़िल्म में हीरो के तौर पर आ रहे हैं और ऐसे में दर्शकों का उनकी तरफ़ प्यार उनकी फ़िल्म के लिए अच्छा संकेत हो सकता है.

देश में फासीवाद के लिए ज़मीन तैयार की जा रही है : मंगलेश डबराल

नई दिल्‍ली : ’अन्‍वेषा’ की ओर से यहां आयोजित विचार-गोष्‍ठी में जुटे विभिन्‍न लेखकों-पत्रकारों और संस्‍कृतिकर्मियों के बीच इस बात पर आम सहमति बनी कि देश में बढ़ते फासीवादी ख़तरे को पीछे धकेलने के लिए आज लेखकों-कलाकारों-बुद्धिजीवियों को अभिव्‍यक्ति के सारे ख़तरे उठाकर सामने आना होगा। नरेन्‍द्र मोदी के सत्ता में आने के साथ ही एक तरफ देसी-विदेशी कारपोरेट घरानों के हित में आम अवाम के हितों की बलि चढ़ाई जा रही है और दूसरी तरफ’लव-जिहाद’, ’घरवापसी’ आदि के जरिए लोगों को बाँटने तथा शिक्षा-संस्‍कृति के भगवाकरण के जरिए दिमागों में ज़हर भरने की कोशिशें जारी हैं। इसका व्‍यापक तथा जुझारू प्रतिरोध खड़ा करना होगा।

‘अन्‍वेषा’ की ओर से 13 मार्च की शाम दिल्ली में आयोजित विचार-गोष्‍ठी में जुटे विभिन्‍न लेखकों-पत्रकारों और संस्‍कृतिकर्मियों के बीच इस बात पर आम सहमति बनी कि देश में बढ़ते फासीवादी ख़तरे को पीछे धकेलने के लिए आज लेखकों-कलाकारों-बुद्धिजीवियों को अभिव्‍यक्ति के सारे ख़तरे उठाकर सामने आना होगा।

दिल्ली में एआईपीएफ की ललकार : जन जन की है ये आवाज, नहीं चलेगा कंपनी राज

नई दिल्ली : दिल्ली में बदले हुए राजनैतिक माहौल में यहां झंडेवालान स्थित आंबेडकर भवन प्रांगण में शुरू हुए ऑल इंडिया पीपुल्स फोरम ( एआईपीएफ ) के स्थापना सम्मेलन ने कारपोरेट घरानों की लूट के खिलाफ देश भर में प्रतिरोध का साझा और व्यापक मंच बनाने की दिशा में नई उम्मीद जगा दी है। ‘जन जन की है ये आवाज, नहीं चलेगा कंपनी राज’ के नारे के साथ शुरू हुए एआईपीएफ का स्थापना सम्मेलन में करीब पंद्रह राज्यों के कार्यकर्त्ता शामिल हुए जिनमे नौजवानो और महिलाओं की संख्या ज्यादा थी। यह सम्मेलन देश में विभिन्न धारा के वामपंथियों, समाजवादियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, किसान संगठनों और जन आंदोलन के कार्यकर्ताओं की साझा पहल है, जिसकी तैयारी करीब छह महीने से चल रही थी।

सामान्य मृत्यु पर भी झारखंड के पत्रकारों को मिलेगा बीमा का लाभ

रांची : झारखंड सरकार ने वित्तीय वर्ष 2015-16 के बजट में राज्य के पत्रकारों के लिए 5 लाख रुपये तक का मेडिक्लेम इंस्योरेंस स्कीम लागू करने की घोषणा की गई है। अब बीमित पत्रकारों की सामान्य मृत्यु की स्थिति में भी बीमा राशि के भुगतान के प्रावधान के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित दे दिया गया है।

गांधी, सुभाष और संसद से भी बड़े हो गए मार्कंडेय काटजू!

खबरों में बने रहने की कला कोई सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश मार्कंडेय काटजू से सीखे। एक चुंबक की तरह वे हर एक-दो सप्ताह में किसी न किसी विवाद को आकर्षित कर लेते हैं। इस विवादप्रियता ने न्यायाधीश के दायित्व से सेवानिवृत्त होने के बाद भी उन्हें सार्वजनिक जीवन से ओझल नहीं होने दिया। कई बार वे खरी बात कह जाते हैं। ऐसी, जो शायद सच है और जिसे कहने का साहस किसी और ने अब तक नहीं दिखाया। उनकी छवि एक ईमानदार जज की रही है। लेकिन रिटायरमेंट से पहले और रिटायरमेंट के बाद उनके ज्यादातर सार्वजनिक बयान कभी मनोरंजक तो कभी विस्फोटक होते रहे हैं। प्रायः बहुत बड़े मुद्दों पर दिए जाने वाले ये बयान उनकी निजी मान्यताओं और पूर्वग्रहों पर आधारित होते हैं- ऐसे बातें जो हम आपसी बातचीत में अनायास ही कह जाते हैं लेकिन जिन्हें सार्वजनिक रूप से कहा जाना उचित नहीं है। कम से कम देश की सर्वोच्च अदालत के न्यायाधीश रहे व्यक्ति के लिए जिसे इस बात का अच्छी तरह अंदाजा होना चाहिए कि लक्ष्मण रेखा कहाँ है।

दैनिक जागरण प्रबंधन पर घरेलू हिंसा का मामला दर्ज होना चाहिए

दैनिक जागरण तो ‘ जागरण परिवार और करोड़ों पाठकों का पत्र ही नहीं मित्र भी’ के रूप में जाना जाता रहा है। ‘महान’ पत्रकार विष्णु त्रिपाठी ने ऐसा क्या कर दिया है कि वही अपने परिवार और पाठकों का शत्रु बनता जा रहा है। कर्मचारियों की प्रताड़ना की बात की जाए तो दैनिक जागरण प्रबंधन पर घरेलू हिंसा का मामला दर्ज होना चाहिए, क्योंकि वह अपने कर्मचारियों से जबरन दस्तखत करा कर उन पर हमले करा रहा है।

डीएम की कांफ्रेंस में सूचना अधिकारी ने पत्रकारों को बुलाया ही नहीं

देवरिया : जिलाधिकारी शरद कुमार सिंह की प्रेस वार्ता में उस समय अजीबोगरीब स्थिति पैदा हो गई, जब कुछ पत्रकारों से उन्हें पता चला कि सूचना अधिकारी ने कांफ्रेंस के संबंध में सूचित ही नहीं किया था। जिलाधिकारी ने सूचना अधिकारी की हरकत पर नाराजगी जताते हुए पत्रकारों से खेद व्यक्त किया। 

कोतवाल ने किया पत्रकार से दुर्व्यवहार, एसपी खामोश

देवरिया : एक दैनिक समाचार पत्र के संवाददाता के साथ कोतवाली प्रभारी अभद्र हरकत की। इस संबंध में कुछ पत्रकारों ने पुलिस अधीक्षक से मिल कर कोतवाल के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। दो दिन बीत जाने के बाद भी जब कोई कार्रवाई नहीं हुई तो पत्रकारों ने प्रदेश के राज्यपाल, मुख्यमंत्री सहित पुलिस विभाग के अन्य आला अधिकारियों को पत्र भेजकर कार्रवाई की मांग की है।

भास्कर बोकारो में ब्यूरो चीफ की दबंगई, महिला कर्मी से अभद्रता, स्टॉफ में रोष

दैनिक भास्कर प्रबंधन ने बोकारो संस्करण (झारखंड) की कमान अशोक अकेला के हाथों में सौंप दी है, जिसके बाद से ही कार्यालय में उथल-पुथल मची हुई है। इस ब्यूरो चीफ की कारस्तानियों की वजह से एडिटोरियल और विज्ञापन विभाग में लोग सहमे हुए हैं। सबसे पहले भास्कर बोकारो के पहले ब्यूरो चीफ अभय मिश्र गौतम को हटाने के लिए एक या दो महीने पहले से ही प्रयास शुरू दिए थे और सफलता भी मिल गई। हटाते ही खुद के ब्यूरो चीफ बनने का रास्ता साफ हो गया।

नई दुनिया इंदौर में अंदर ही अंदर उबल रहा संपादकीय कर्मियों का गुस्सा

इंदौर : ‘नई दुनिया’ इंदौर मे स्टेट एडिटर के अभद्र बर्ताव और संस्थान का माहौल खराब करने के खिलाफ रिपोर्टर फोटोग्राफरो ने अनोखा विरोध शुरू कर दिया है। लगातार हो रही दुर्व्यवहार की घटनाओं के बाद गुरूवार शाम से सभी रिपोर्टर फोटोग्राफरों ने अपने वाट्स एप dp में विरोध का ब्लैक डॉट लगा लिया। सिटी के साथ पुल आउट और फिर डेस्क के लोग भी विरोध में शामिल हो गए।

हिन्‍दुस्‍तान की बजाते रहो

दिल्ली : शुक्रवार 13 मार्च 2015 हिन्‍दुस्‍तान का एस्‍टेट फीचर परिशिष्‍ट का पेज-4, 18 अक्‍तूबर 2013 के हिन्‍दुस्‍तान एस्‍टेट से हूबहू लिया गया है। श्री विजय मिश्र पेज इंचार्ज हैं तो श्री राजीव रंजन श्रीवास्‍तव उनके दो-दो साल बासी-तिवासी कंटेंट सप्लायर।

‘कारवां’ मैग्जीन में प्रकाशित हुई जागरण मैनेजमेंट के शोषण और मीडियाकर्मियों के संघर्ष की कहानी

हिंदी समाचारपत्र ‘दैनिक जागरण’ प्रबंधन द्वारा संस्थान के मीडिया कर्मियों के शोषण और संघर्ष की कहानी अब आए दिन चर्चाओं में आ रही है। इसी क्रम में मजीठिया वेज बोर्ड की सिफारिशों के अमल को लेकर उसके कर्मचारी विरोधी कदम पर संदीप भूषण ने ताजा सविस्तार टिप्पणी की है। ‘द कारवां’ (The Karavan) मैग्जीन में प्रकाशित पूरी कहानी हम साभार यहां अविकल रूप से प्रकाशित कर रहे हैं –

हिन्दुस्तान अनीति की गुलामी से कभी मुक्त न होगा

हिन्द स्वराज्य नामक किताब में गांधी ने मार्क्सवादी विचारधारा का समर्थन करते हुए लिखा ‘‘गरीब हिन्दुस्तान तो गुलामी से आजाद हो सकेगा, लेकिन अनीति से पैसे वाला बना हुआ हिन्दुस्तान कभी गुलामी से नहीं छुटेगा‘‘, हम चाहें तो आजादी के असलीपन और नकलीपन से सहमत या असहमत हो सकते हैं। लेकिन हिन्दुस्तान अनीति से भर गया है।

असांज को मौत की सज़ा का डर, स्वीडन का रुख बदला

विकिलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज से स्वीडन के अभियोजक लंदन में पूछताछ करने को तैयार हो गए हैं. असांज पर यौन उत्पीड़न और बलात्कार के आरोप हैं. अभियोजक पहले असांज से स्वीडन में पूछताछ करना चाहते थे. लेकिन असांज ने आरोपों को खारिज करते हुए 2012 से लंदन स्थित इक्वेडोर के दूतावास में शरण ले रखी है. स्वीडन 2010 से असांज को गिरफ़्तार कर अपने देश में पूछताछ करना चाह रहा है. असांज को डर है कि अगर उन्हें प्रत्यर्पित किया जाता है तो स्वीडन पहुंचते ही उन्हें गिरफ़्तार कर अमरीका भेज दिया जाएगा, जिसके बाद उन्हें मौत की सज़ा तक सुनाई जा सकती है.

हरिभूमि भोपाल में आंतरिक बदलाव

भोपाल (म.प्र.) : हरिभूमि के मैनेजिंग एडिटर डॉ.हिमांशु द्विवेदी ने अखबार के भोपाल संस्करण में आंतरिक बदलाव किए हैं। अब तक अखबार में डिप्टी न्यूज एडिटर का दायित्व निभा रहे भोजराज उच्चसरे को महत्वपूर्ण जिम्मेदारी देते हुए सेंट्ल डेस्क इंचार्ज बना दिया गया है। वह बतौर रिजनल इंचार्ज का भी दायित्व निभाते रहेंगे। 

सुज़ैट जॉर्डन : साहस का अंत

कोलकाता में दो साल पहले सामूहिक बलात्कार का शिकार हुई सुज़ैट जॉर्डन का निधन हो गया. कुछ दिनों से उनकी तबियत ख़राब थी. उनके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था. सुज़ैट फ़रवरी 2012 में बलात्कार का शिकार हुई थीं.

मजीठिया वेज बोर्ड पर हरिवंश अभी भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार कर रहे हैं!

नीचे राज्यसभा टीवी पर मजीठिया वेज बोर्ड पर हुई बहस का लिंक दिया जा रहा है। बहस में हरिवंश (संपादक, प्रभात खबर) और सुप्रीम कोर्ट में वकील कोलिन गोंसाल्विस भी शामिल हैं। जब हरिवंश से एंकर गिरीश निकम ने पूछा कि आपके अखबार में लागू हुआ तो बोले क‌ि अभी हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इतंजार कर रहे हैं। इस पर गोंसाल्विस ने कहा क‌ि एक साल पहले फैसला आ चुका है। बहस में जागरण, इंडियन एक्सप्रेस और भास्कर पर सीधे नाम लेक‌र आरोप लगाए गए हैं।

मजीठिया वेज बोर्ड को लेकर राज्यसभा टीवी पर बहस : हरिवंश संपादक हैं या मालिक ?

दिल्ली : राज्यसभा टीवी पर मजीठिया वेज बोर्ड की सिफारिश लागू करने, न करने को लेकर एक ‘मालिकाना’ किस्म की बहस प्रायोजित की गई। बहस में प्रभात खबर के संपादक एवं राज्यसभा सदस्य हरिवंश, डीयूजे के एसके पांडे, कोलिन गोंजाल्विस, अजय उपाध्याय ने भाग लिया। ‘मजीठिया मंच’ फेसबुक पेज से साभार प्राप्त बहस-सामग्री यहां वक्ताओं के कथन और उस पर मजीठिया मंच के प्रति-कथन के साथ प्रस्तुत है….

भारतीय मीडिया की परिपक्वता पर प्रश्नचिह्न

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता प्रमुख हो या विचाराधीन मामलों में मीडिया का संयम, भारत में फटाफट खबर ब्रेक करने की अंधाधुंध होड़ ने प्रेस की परिपक्वता पर सवालिया निशान लगा दिया है. मीडिया की खबरें न्यायाधीशों के फैसलों पर असर डालती हैं. निर्भया मामले में विवादास्पद डॉक्यूमेंट्री के प्रसारण पर रोक हटाने की अपील पर सुनवाई में जज ने कहा कि खबरों से दबाव बनता है और फैसलों का रुख भी बदल जाता है. 

नर्मदा बांध सुनवाई : मध्य प्रदेश के हलफनामे पर सुप्रीम कोर्ट की फटकार

नई दिल्ली : सरदार सरोवर पुनर्वास संबंधी याचिका, नर्मदा बचाओ आंदोलन एवं विस्थापित आदिवासी-किसानों के मामले पर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट की सामाजिक न्याय खंडपीठ के समक्ष सुनवाई हुई। न्यायपीठ ने नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण के मध्य प्रदेश शासन की ओर से पेश किए हलफनामे पर कड़ी फटकार लगाई। नाराज कोर्ट ने म.प्र. शासन के खिलाफ 25000 रुपये अर्थ दंड का आदेश दिया। 

सोशल मीडिया पर कॉरपोरेट दिग्गजों में पंगेबाजी

नई दिल्‍ली। सोशल मीडिया कॉरपोरेट दिग्गजों के बीच छींटाकशी और आरोप-प्रत्‍यारोपों का अखाड़ा बनता जा रहा है। इन दिनों ऐसा ही एक मामला रियल एस्‍टेट पोर्टल के संस्‍थापकों में से एक और सीईओ राहुल यादव और अमेरिकी वेंचर कैपिटल फर्म सिक्‍वाया के इंडिया हेड शैलेंद्र जे. सिंह के बीच तूल पकड़ रहा है।

डिबेट में अर्णब ने जब किया आशुतोष को शर्मसार

दिल्ली : अर्णव गोस्वामी को दाद तो देनी ही पड़ेगी. साथ ही उनकी प्रोडक्शन टीम को. जिस तरह आशुतोष की कही बात को उन्होंने Live झूठा करार दिया और उस दिन के फुटेज को तुरंत चला दिया, आशुतोष हतप्रभ रह गए. इसे कहते हैं तेजी. टीवी की तेजी, जवाब देने की तेजी, टीम की तेजी… और अर्णब के तेवर देखिए. वो भी पूरे रौ में हैं. मजा आ गया.

https://www.youtube.com/watch?v=xCRn6Rmxcn8

‘ऑर्गेनाइजर’ संघ का मुखपत्र नहीं, ‘मूर्खपत्र’ है : शिवसेना

मुंबई : शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर प्रहार करते हुए उसके मुखपत्र  ‘ऑर्गेनाइजर’ को ‘मूर्खपत्र’ कहा है।

उजागर हुआ AAP के स्टिंग में शामिल संपादक का नाम, अन्ना बोले-अरविंद ने देश का विश्वास तोड़ा

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह और मनीष सिसोदिया का स्टिंग करने का दावा करने वाले कांग्रेस के पूर्व विधायक आसिफ मोहम्मद शुक्रवार को टेप जारी करने के वादे से मुकर गए। आसिफ का कहना है कि स्टिंग में एक संपादक की बातचीत भी शामिल है और वह नहीं चाहते कि उनकी बदनामी हो। उधर, कांग्रेस के पूर्व विधायक आसिफ मोहमम्द खान दो दिनों से संजय सिंह के स्टिंग होने का दावा कर रहे हैं. लेकिन सबूत सामने नहीं रख रहे. हां दोनों नेता इस बात को जरूर कबूल रहे हैं कि नोएडा में एक पत्रकार के घर पर मुलाकात हुई थी. अब सवाल ये है कि स्टिंग जारी नहीं करने के पीछे क्या मंशा केवल उस पत्रकार की नौकरी बचाने की है या फिर माजरा कुछ और है ?

केंद्र सरकार की नजर अब क्षेत्रीय पत्रकारों पर

जयपुर : सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने राजस्थान के जोबनेर में प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के पत्रकारों एवं स्ट्रिंगर्स को सम्बोधित करते हुए बताया कि केंद्र सरकार में क्षेत्रीय पत्रकारों की राय को अब महत्व दिया जाएगा। सरकार गांवों, कस्बों और जिलों के पत्रकारों तक पहुंच बनाने जा रही है।

दोनो सदनों में गूंजा टीवी चैनल पर हमले का मामला

नयी दिल्ली  : ‘मंगल सूत्र’ की जरूरत पर सवाल उठाती एक बहस के प्रोमो दिखाने के लिए चेन्नई में एक तमिल टीवी चैनल के कार्यालय पर हमले का मामला शुक्रवार को संसद में उठा। लोकसभा में शून्यकाल के दौरान कांग्रेस के केसी वेणुगोपाल ने यह मुद्दा उठाते हुए इस पर चिंता जाहिर की और आरोप लगाया कि इस हमले के पीछे किसी कट्टरपंथी हिंदू संगठन का हाथ है। 

सुप्रीम कोर्ट से ‘सहारा’ को आखिरी मौका वरना रिहाई भी खतरे में

नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट ने सहारा को 23 मार्च तक पैसों के इंतजाम के लिए तीसरा और आखिरी मौका दिया है। अगर इस मर्तबा भी सहारा प्रबंधन ने पैसों का इंतजाम नहीं किया तो सुप्रीम कोर्ट सहारा की संपत्ति नीलाम करने में देर न लगाएगा। साथ ही, सहारा प्रमुख की रिहाई भी खतरे में पड़ सकती है।

शिक्षामित्र, पुलिसमित्र…. और अब प्रेसमित्र !

आज आप को तीन मित्रों की कहानी बताता हूं. दो मित्र तो पहले से हैं लेकिन तीसरे मित्र की एंट्री मैं कराऊंगा. एंट्री कराना लाजमी भी है क्योंकि तीसरे मित्र की विशेषता भी पहले दो मित्रों की ही तरह है. वह दो मित्र हैं शिक्षामित्र और पुलिसमित्र। जिस मित्र की एंट्री हो रही है, वह है प्रेसमित्र. शुरुआत करते हैं शिक्षामित्र से.

अमर उजाला ने हिमाचल हाईकोर्ट में दाखिल कर दिया अपना जवाब

आखिर अमर उजाला ने सात महीनों से अपनाए जा रहे टालमटोल रवैये के बीच हिमाचल प्रदेश हाई कोर्ट की सख्ती के चलते मजीठिया वेज बोर्ड से संबंधित मामले में अपना जवाब दाखिल कर दिया है। रविंद्र अग्रवाल की याचिका पर 11 मार्च को कोर्ट में सुनवाई हुई। इस दौरान हालांकि अमर उजाला की रिप्लाई की फाइल आन रिकार्ड नहीं आ पाई थी, मगर अमर उजाला के वकील ने कोर्ट को बताया कि जवाब दाखिल कर दिया गया है। सुनवाई के दौरान कोर्ट ने रविंद्र के वकील को रिज्वाइंडर फाइल करने के लिए तीन सप्ताह का समय दिया है। अगली तारीख एक अप्रैल को रखी गई है।

जी मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ से राजेंद्र शर्मा का इस्तीफा, दिलीप तिवारी बने हेड

ज़ी मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ में इन दिनों बुरे दिन चल रहे हैं। कुछ दिनों पहले चैनल हेड राजेन्द्र शर्मा ने इस्तीफा दे दिया था। चैनल छोड़ने का मुख्य कारण चैनल की आमदनी में कमी बताई जा रही है। चैनल में काम करने वाले मार्केटिंग के लोगों ने चैनल को डुबोने में कोई कसर नहीं छोड़ी। राजेन्द्र शर्मा के जाते ही चैनल हेड का पद दिलीप तिवारी को दे दिया गया। दिलीप ने आते ही तानाशाही शुरू कर दी और सभी रिपोर्टरों को धमकाना शुरू कर दिया।

स्वतंत्र मिश्रा ‘समाचार प्लस’ में भारी भरकम पद पर विराजे

स्वतंत्र मिश्रा को नौकरी मिल गई है. कई किस्म के आरोपों के बाद सहारा से निकाले जाने पर स्वतंत्र मिश्र लंबे समय तक खाली रहे और मीडिया मार्केट से गायब रहे. अब उन्हें ठिकाना मिल गया है. वे ‘समाचार प्लस’ न्यूज चैनल से जुड़ गए हैं. बताया जाता है कि यहां स्वतंत्र ने प्रेसीडेंट आपरेशंस और एक्जिक्यूटिव एडिटर का पद हासिल किया है. यानि मार्केटिंग और संपादकीय, दोनों विभाग एक साथ संभालेंगे.

2003 बैच की आईएएस अफसर ममता कैंसर से जीत नहीं पाईं, दिल्ली में निधन

Vinayak Vijeta : झारखंड कैडर की आईएएस अधिकारी ममता का लंबी बीमारी के बाद आज दिल्ली में निधन हो गया। ममता ने झारखंड में प्राथमिक शिक्षा की निदेशक सहित कई महत्वपूर्ण ओहदे पर काम किया था। वह लंबे समय से बीमार थीं जिनका इलाज दिल्ली में चल रहा था पर मौत के आगे जिंदगी हार गई। इससे पहले उन्हें सरकार में सर्विस नियम में राहत देते हुए उन्हें न्यूयार्क में एजुकेशनल कॉउंसल का पद दिया गया ताकि वह वहां इलाज करा सकें।

आईपीएस अमिताभ ठाकुर बोले- आत्मरक्षार्थ गोली न मारता तो दरोगा की कचहरी परिसर में हत्या हो जाती (देखें गोली मारने का वीडियो)

लखनऊ : इलाहाबाद कचहरी गोलीकांड पर आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर और सामाजिक कार्यकर्ता नूतन ठाकुर ने डीजीपी को वीडियो समेत पूरा सौंपा है। घटनाक्रम की छानबीन के बाद उन्होंने बताया है कि वारदात के दौरान दारोगा शैलेन्द्र सिंह को आत्मरक्षा के लिए गोली चलानी पड़ी थी वरना उस दिन कचहरी परिसर में ही उनकी हत्या कर दी जाती। उन्होंने बताया कि चौकी नारीबारी, थाना शंकरगढ़ तथा अन्य स्थानों पर दारोगा के बारे में उन्होंने अपने स्तर से छानबीन की। उन्हें लगभग सभी पुलिसवालों ने बताया कि मौके पर ऐसे हालात बन गए थे कि दारोगा के पास आत्मरक्षा के लिए गोली चलाने के अलावा अन्य कोई विकल्प नहीं बचा था, वरना उन्हें मार डाला जाता।

अवैध वसूली करते दो रिपोर्टरों को विजिलेंस टीम ने दबोचा

जयपुर : फरीदाबाद (हरियाणा) के चैनल ‘खबर 24 ऑवर्स’ के जयपुर प्रतिनिधि तोषी शर्मा समेत दो रिपोर्टरों को आरटीओ के सिपाही से पांच हजार रुपये अवैध वसूली करते विजिलेंस टीम ने रंगेहाथ दबोच लिया।

मां ने समझाया, पुत्र निश्चिन्त रहो, अब तुम सूअरों के देश में हो…

  Ajit Singh : मेरी एक साली साहिबा हैं । UK में रहती हैं । उत्तराखंड में नही united kingdom में । दो बच्चे हैं उनके । वहीं UK के ही जन्मे पले हैं । साली साहिबा सपरिवार छुट्टी मनाने देस आयीं । अमृतसर एअरपोर्ट पे उतरीं । Innova से जालंधर आ रही थी । …

आओ बेटा, पब्लिक अप्राकृतिक इलाज करने को तैयार बैठी है….

Ajit Singh :  मेरी साली साहिब …..छोटी वाली …..एक बार विपासना कर आई । और कर क्या आई भैया , एकदम आशिक हो गयी । जब देखो तब विपासना । सोते जागते उठते बैठते खाते पीते बस विपासना । विपासना ये विपासना वो ……और मैं …..जस जस सुनूं मेरा खून खौले ……अबे साले पागल हो बे ? सुबह 4 बजे आँख मून के बैठ जाओ और रात 10 बजे तक बैठे रहो ……ध्यान करो …..और सबसे बड़ी बात …..10 दिन मौन …..

सोनिया और मनमोहन वो दिन भूले न होंगे जब SIT ने मोदी से CM रहते 8 घंटे पूछताछ की थी

Ajit Singh : बहुत पहले सुविख्यात उपन्यासकार Ken Follet का एक उपन्यास आया था ….. JackDaws …… बड़ा फाडू उपन्यास था। मेरी माँ हॉस्पिटल में भर्ती थी। उनकी पथरी की सर्जरी हुई थी। मैं और धर्मपत्नी उनके पास गए। रस्ते से मैंने ये किताब खरीद ली। किताब इतनी जबरदस्त की छोड़ी न जाए। ऊपर से धर्मपत्नी बार बार रोक टोक करे। माँ की सेवा करने आये हो या किताब पढ़ने। अंत में मैंने तंग आ के उनसे कहा की अब सास की सेवा तुम करो 3 घंटा। मैं अभी आया। और अस्पताल के बाहर फुटपाथ पे बैठ के मैंने 3 घंटे में Jackdaws खत्म की। ज़बरदस्त किताब थी। एक बार अगर शुरू कर दी तो छोड़ नहीं सकते।

इंडिया टुडे के एडिटोरियल डाइरेक्टर (पब्लिशिंग) बने राज चेंगप्पा

दिल्ली : इंडिया टुडे ग्रुप के मालिक अरुण पुरी ने राज चेंगप्पा को एडिटोरियल डाइरेक्टर (पब्लिशिंग) नियुक्त किया है। वह आगामी 15 जून 2015 से अपना कार्यभार संभालेंगे। राज चेंगप्पा इंडिया टुडे ग्रुप के लिए नये नहीं हैं। उन्होंने वर्ष 1981 में इंडिया टुडे के बंगलौर ब्यूरो में कॉरेस्पांडेंट के रूप में ज्वॉइन किया था और 29 वर्ष से अधिक समय तक अपनी सेवाओं के दौरान वह मैनेजिंग एडिटर भी रह चुके हैं। वह 2010 में चंडीगढ़ में ट्रिब्यून अखबार समूह के एडिटर-इन-चीफ का पदभार संभाला था। अब वह पुनः जून में एडिटोरियल डाइरेक्टर (पब्लिशिंग) के रूप में इंडिया टुडे ग्रुप को ज्वाइन करने जा रहे हैं। ग्रुप के मालिक अरुण पुरी ने राज चेंगप्पा के पुनः इंडिया टुडे ग्रुप से जुड़ने का स्वागत किया है।

मजीठिया मामले पर सुप्रीम कोर्ट गंभीर, 28 अप्रैल को अंतिम फैसला

दिल्ली : सर्वोच्च न्‍यायालय ने अखबार मालिकों द्वारा अपने कर्मचारियो को मजीठिया वेज बोर्ड का लाभ न देने के मामले को गंभीरता से लिया है। न्यायालय ने कर्मचारियों की ओर से दायर याचिका मंजूर कर सभी अखबार मालिकों को 28 अप्रैल 2015 तक अपना पक्ष रखने का निर्देश दिया है। मामले पर ‘अगली और अंतिम’ सुनवाई 28 अप्रैल 2015 को होगी और उसी दिन फैसला सुना दिया जाएगा। सुप्रीम कोर्ट ने आगाह किया है कि उसके बाद कोई सुनवाई नहीं होगी।

 

कलेक्टर ने निरस्त की भोपाल पत्रकार भवन की लीज

भोपाल : जिला कलेक्टर निशान्त बरवडे ने पत्रकार भवन समिति की शिकायत पर ‘पत्रकार भवन, भोपाल’ की लीज निरस्त कर दी है। इससे पूर्व कलेक्टर ने पत्रकार भवन में संदिग्ध गतिविधियों को लेकर पत्रकार भवन प्रबंधन को एक नोटिस दिया था।

लोकसभा को पूर्व न्यायाधीश काटजू की चुनौती

नई दिल्ली : उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश मार्कण्डेय काटजू ने राज्यसभा को ललकारने के बाद लोकसभा को भी चुनौती दी है कि वह उन्हें सजा देने के लिए उनके खिलाफ ‘लूनेटिक्स कानून’ के तहत मामला दर्ज करे।

 

सुनंदा हत्याकांड : पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार का जांच में सहयोग से इनकार

नई दिल्ली : सुनंदा पुष्कर हत्याकांड की छानबीन में पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार ने दिल्ली पुलिस का किसी तरह का सहयोग करने से मना कर दिया है। उन्होंने दो टूक कह दिया है कि वह मुजरिम नहीं, जो दिल्ली पुलिस के सवालों से जूझें। 

 

जिया न्यूज के मालिक रोहन जगदाले और संपादक एसएन विनोद को लेबर कोर्ट का नोटिस

मीडिया कर्मियों का महीनों का पैसा दबाने और अचानक ‘जिया इंडिया’ पत्रिका को बंद कर देने के मामले में नोएडा की लेबर कोर्ट ने जिया न्यूज प्रबंधन, चेयरमैन रोहन जगदाले और संपादक एसएन विनोद को नोटिस जारी कर हर हाल में 17 मार्च को कोर्ट में उपस्थित होने का हुक्म सुनाया है। कोर्ट ने अपने आदेश में साफ तौर पर कहा है कि नोटिस के तालीम होने के बाद रोहन जगदाले, एसएन विनोद कोर्ट में हाजिर हों।

चैनल पर हमले के बाद मंगलसूत्र पर टीवी बहस

चेन्नई में एक टेलीविज़न चैनल के कार्यालय पर गुरुवार सुबह बम हमले के बाद से हिंदू सेना नाम का संगठन चर्चा में है. दरअसल पुथियाथालैमुरई चैनल ने अपने एक कार्यक्रम में इस बात पर सवाल खड़े किए थे कि खुद को शादीशुदा दिखाने के लिए क्या महिलाओं को मंगलसूत्र पहनना चाहिए? चैनल के सीईओ श्यामकुमार ने हमले के बारे में बताया, ”यह बहुत बड़ा विस्फोट नहीं था लेकिन जैसे ही आवाज़ आई, हमारे सुरक्षा गार्डों ने पुलिस को सूचना दे दी. रविवार को हमें एक खास कार्यक्रम प्रसारित करना था लेकिन हम नहीं कर सके क्योंकि हमारे ऑफ़िस के बाहर प्रदर्शन हो रहा था.”

बरामद वो टिफिन, जिसमें हथगोला रख कर चैनल के दफ्तर पर फेका गया

मीडिया ट्रायल्‍स से फैसलों पर असर : हाई कोर्ट

मीडिया में दिखाई गई खबरें न्यायधीश के फैसलों पर असर डालती हैं। खबरों से न्यायधीश पर दबाव बनता है और फैसलों का रुख भी बदल जाता है। पहले मीडिया अदालत में विचाराधीन मामलों में नैतिक जिम्मेदारियों को समझते हुए खबरें नहीं दिखाता था, लेकिन अब नैतिकता को हवा में उड़ा दिया गया है। यह टिप्पणी हाई कोर्ट ने निर्भया गैंगरेप मामले में दोषी करार दिए गए मुकेश के साक्षात्कार पर तैयार डॉक्यूमेंट्री के प्रसारण पर रोक हटाने की मांग को लेकर दायर जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए की।

खबर से नाराज हरदोई के बीएसए ने फोन पर पत्रकार को जमकर धमकाया-हड़काया (सुनें टेप)

हरदोई जिले के बेसिक शिक्षा अधिकारी ब्रजेश मिश्रा ने एक पत्रकार को जमकर धमकाया और हड़काया. पत्रकार कोई गुप्ता जी हैं जो एक मैग्जीन निकालते हैं लखनऊ से. उन्होंने हरदोई के शिक्षा विभाग बेसिक शिक्षा अधिकारी पर कोई आलेख प्रकाशित किया. इसे पढ़कर बेसिक शिक्षा अधिकारी बौखला गए. उन्होंने लीगल नोटिस तो भिजवाया ही, पत्रकार को फोन कर जमकर धमकाया और हड़काया. पत्रकार ने बड़ी विनम्रता और साहस के साथ अपनी बात रखी और अफसर के धमकाने की परवाह न करते हुए कोर्ट में साक्ष्य प्रस्तुत करने की बात कही.

यूपी में जंगल राज : पुलिस वाले ने आठ साल के इस बच्चे के साथ क्या किया, देखें वीडियो

यूपी में पुलिस पहले से ही हैवान थी और आज भी है. कोई बदलाव सुधार नहीं आया है. फिरोजाबाद के थाना सिरसागंज में थाने के अन्दर पुलिस 8 वर्ष के मासूम बच्चे पर जुल्म ढा रही है. मासूम बच्चे को पट्टे से बर्बरता से मारती पुलिस इसे अपनी मर्दानगी का सबूत समझ रही है. पुलिस ने पॉकेट मारी के आरोप में 8 वर्ष के बच्चे पकड़ा था. थाने का हेड कांस्टेबल धनीराम इस बच्चे के लिए कैसे यमराज बन जाता है, देखिये यह कुछ सेकेंड्स का वीडियो…

‘इंडिया टीवी’ को सर्वाधिक नुकसान, ‘डीडी न्यूज’ तो ‘तेज’ से भी पिछड़ गया, न्यूज नेशन और आईबीएन7 को फायदा

इस साल के दसवें हफ्ते की टीआरपी में सबसे ज्यादा नुकसान इंडिया टीवी को दिख रहा है. पूरे एक अंक गिरकर इस चैनल की टीआरपी 13.4 रह गई है और बहुत तेजी से यह जी न्यूज से भी नीचे गिरने की तैयारी कर रहा है यानि नंबर तीन से नंबर चार पर जाने को उतावला दिख रहा है. ऐसा इस चैनल के मोदी मोह और मोदी मय होने के कारण हुआ है. पूरी तरह से भाजपा और मोदी का प्रवक्ता बन जाने के कारण इंडिया टीवी की साख पर बेहद खराब असर पड़ा है. यही कारण है कि वहां अजीत अंजुम जैसे पत्रकार के होने का भी फायदा चैनल नहीं उठा पा रहा है.

टीवी चैनल के दफ्तर पर हिंदूवादी समूह का बमों से हमला, एक न्यायिक हिरासत में

चेन्नई : एक दक्षिणपंथी संगठन के संदिग्ध सदस्यों ने गुरुवार को ‘थाली’ (मंगल सूत्र) पर एक प्रस्तावित शो को लेकर एक लोकप्रिय तमिल टीवी समाचार चैनल के स्थानीय कार्यालय पर देसी बमों से हमला बोल दिया। मीडिया संगठनों और राजनीतिक दलों ने इस हमले को अभिव्यक्ति की आजादी पर हमला करार देते हुए इसकी निंदा की है। पुलिस ने कहा कि मोटरसाइकिल पर सवार होकर आए चार लोगों ने आज सुबह टिफिन में बंद दो देसी बम फेंके लेकिन इस हमले में कोई घायल नहीं हुआ। यह घटना सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गई है।

चेन्नई के पुथिया थलैमुरई चैनल पर हिंदूवादी समूह के अटैक का विरोध करते स्थानीय पत्रकार

यूपी में जंगलराज : दबंगों ने दबा ली गाजियाबाद के सायरा बानो की जमीन, मारापीटा

गाजियाबाद : दो बेटियों और एक बेटे के साथ निर्वासन का जीवन जी रही सायरा बानो के सौ गज प्लाट पर दो दबंगों ने जबरन कब्जा कर लिया। ऐतराज जताने पर उन्होंने महिला के साथ मारपीट कर मौके से खदेड़ दिया। सायरा ने उसी प्लाट को बेचकर अपनी बेटियों की शादी का सपना देखा था। अब न्याय पाने के लिए मीडिया, पुलिस और वकीलों के चक्कर लगाती डोल रही है। 

दिल्ली में कई मंत्रालयों पर सीबीआई छापा

दिल्ली : केंद्र सरकार के मंत्रालयों में कारपोरेट घरानों की जासूसी के मामले को लेकर सीबीआई ने गुरुवार 12 मार्च को दोपहर बाद दिल्ली में कई मंत्रालयों पर दनादन छापे मारे। सूत्रों के मुताबिक सीबीआई को कुछ मंत्रालयों से संवेदनशील दस्तावेजों की चोरी की सूचना मिली थी। छापेमारी में दस्तावेजों के अलावा 60 लाख रुपये भी बरामद …

कप्तान की कांफ्रेन्स में अति आकुल-व्याकुल पत्रकार

सुल्तानपुर : पुलिस अधीक्षक सोनिया सिंह द्वारा बैंक लूट की योजना बनाते गिरफ्तार छह बदमाशों के खुलासे के दौरान कुलाचे मार पत्रकार पहले तो आगे की जगह घेरकर बैठ गए, उसके बाद जब कप्तान पहुंची तो चेहरा दिखाने के फेर में वह मेज पर भी बैठने को आतुर हो गए।

बीजेपी कार्यकारिणी से हेमा, स्मृति, नजमा बाहर

नई दिल्ली : बीजेपी की नई राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी का गठन कर लिया गया है। नए सिरे से गठित कार्यकारिणी से दो महिला केंद्रीय मंत्रियों स्मृति ईरानी और नजमा हेपतुल्‍ला और एक राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। 111 सदस्यों वाली इस नई राष्ट्रीय कार्यकारिणी में इन तीनों के नाम नहीं हैं। इनके अलावा और जिन जाने-माने चेहरों को राष्ट्रीय कार्यकारिणी से हटाया गया है, उनमें हेमा मालिनी, शाइना एनसी और सुधांशु त्रिवेदी हैं।

थिएटर को नए मायने दे रहे मंजुल भारद्वाज

थियेटर ऑफ रेलेवेंस के माध्यम से मंजुल भारद्वाज ने थियेटर को मंचों से उतारकर आम जीवन में प्रतिस्थापित किया है. उनके नाटक महज शो भर नहीं होते, बल्कि पल-प्रति-पल आपको उद्वेलित करते हैं, विचारों के केन्द्र में आपको बिठाते हैं और आपके जीवन और आपके समाज की समीक्षा आप से ही करवाते हैं. यह मंजुल का अपना सृजन है.

मंजुल भारद्वाज

मंचन का एक भावपूर्ण दृश्य

‘सनसनी’ के एंकर श्रीवर्धन त्रिवेदी के पिता पं. गोवर्धन प्रसाद त्रिवेदी का निधन

एबीपी के मशहूर कार्यक्रम ‘सनसनी’ के एंकर श्रीवर्धन त्रिवेदी के पिता पं. गोवर्धन प्रसाद त्रिवेदी का 25 फरवरी को निधन हो गया। उनके त्रयोदशी कार्यक्रम में परिवार से संबंधित लोगों के अलावा मीडिया और फिल्म जगत की भी तमाम हस्तियां पहुंची। शाजी जमां, राजपाल यादव, संजय जोशी, संतोष भारती, अनुराग दर्शन, संजीव दुबे, मनोज रघुवंशी आदि लोगों ने यहां पहुंच कर श्रीवर्धन जी के पिता जी को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर स्व. जी. पी. त्रिवेदी जी के जीवन परिचय को भी वहां मौजूद लोगों के सामने रखा गया। 82 वर्ष की उम्र में भी वे नियमित दिनचर्या के साथ अपना जीवन जी रहे थे।

नई दुनिया के कर्मचारियों में रोष

दिल्ली : ‘नई दुनिया’ दिल्ली के आइएनएस स्थित कार्यालय में दो महीने में तीसरी बार संपादकीय प्रमुख के आदेश पर टायलेट बंद करवा दिया गया है। टायलेट के बाहर नोटिस लगा दिया गया है, कि अगले आदेश तक टायलेट बंद रहेगा। इससे पूर्व 15 दिनों के लिए टायलेट बंद करवा दिया गया था। उल्लेखनीय है …

दैनिक ‘नव ज्योति’ के अखबारकर्मी भारी दबाव में

जयपुर। दीनबंधु चौधरी की ओर से शुरू किया गया दैनिक नव ज्योति का जयपुर संस्करण बंद होने की कगार पर है। बताया गया है कि प्रबंधन की नीतियों से क्षुब्ध कई पत्रकार नौकरी छोड़ने के मूड में हैं।

सी एक्सप्रेस कर्मियों को सशर्त नौकरी की 31 मार्च तक मोहलत

आगरा : यहां से प्रकाशित सी एक्सप्रेस के बारे में खबर है कि दो दिन पहले एक बैठक में प्रबंधन ने स्टॉफ के पत्रकारों को सशर्त नौकरी के साथ 31 मार्च, 2015 तक का समय दिया है। अंदेशा जताया गया है कि ये अखबार बन्द करने की पूर्व-रणनीति हो सकती है।

मंजुनाथ फैसले का स्वागत, पद्म विभूषण की मांग

लखनऊ : आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने आईआईएम लखनऊ के पूर्व छात्र और पारदर्शिता से काम करने वाले व्यक्ति के रूप में मंजुनाथ मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश का हार्दिक स्वागत किया है। साथ ही उन्होंने पारदर्शिता के क्षेत्र में उनके द्वारा स्थापित उच्चतम आदर्शों के मद्देनज़र मंजुनाथ और सत्येन्द्र दुबे के लिए द्वितीय सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म विभूषण …

यूपी अभिसूचना विभाग : ट्रान्सफर में भ्रष्टाचार, यौन उत्पीड़न की शिकायत

लखनऊ : आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर ने अभिसूचना विभाग में होने वाली नियुक्तियों के सम्बन्ध में कथित भ्रष्टाचार की जांच के लिए प्रमुख सचिव गृह देबाशीष पांडा को पत्र लिखा है।

वैद्यनाथ, गजेंद्र, प्रशांत, सचिन उज्ज्वल, मधुर के बारे में सूचनाएं

मध्यप्रदेश में ‘नईदुनिया’ से पिछले कुछ ही दिनों में संपादकीय विभाग से छह लोगों ने इस्तीफ़ा दे दिया। इनमें से पांच ने ‘दैनिक भास्कर’ ज्वाइन कर लिया है। इस्तीफ़ा देने वाले एक वरिष्ठ पत्रकार गजेन्द्र शर्मा ने अभी कहीं ज्वाइन नहीं किया है। ‘नईदुनिया’ को बॉय-बॉय बोलने वाले हैं वागीश मिश्रा और प्रशांत वर्मा (नेशनल एडीशन), …

सुनंदा मर्डर केस : अब होगी पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तराड़ से पूछताछ

नई दिल्ली : दिल्ली पुलिस कमिश्नर बी एस जस्सी ने बताया कि दिल्ली पुलिस की एसआईटी टीम सुनंदा पुष्कर मामले में पाकिस्तान की पत्रकार मेहर तराड़ से पूछताछ कर सकती है। यद्यपि उन्हें अभी ऐसा कोई नोटिस नहीं भेजा गया है। इस बीच मेहर ने एक भारतीय न्यूज़ चैनल से बातचीत में कहा है कि वह मामले में दिल्ली पुलिस का सहयोग करना चाहेंगी। 

पाकिस्तान की पत्रकार मेहर तराड़ 

इलाहाबाद हत्याकांड के बाद पूरे यूपी में वकीलों का गुस्सा फूटा, हड़ताल के दौरान तोड़फोड़

इलाहाबाद : यूपी बार कौंसिल द्वारा गुरुवार को प्रदेश भर के वकीलों से हड़ताल पर रहने का आह्वान का मिलाजुला असर रहा। गुरुवार को वकीलों ने बहिष्कार कर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। केंद्र तथा प्रदेश सरकार के खिलाफ इलाहाबाद में वकील की हत्या के विरोध में आज प्रदेश भर में वकीलों की हड़ताल से लोग हलकान देखे गए। 

राज्यसभा में गूंजी मजीठिया आयोग की सिफारिश

नई दिल्ली : मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के पी. राजीव ने श्रमजीवी पत्रकारों के लिए गठित मजीठिया वेतन बोर्ड की सिफारिशों को कई संस्थानों द्वारा लागू न किये जाने का मुद्दा आज राज्यसभा में उठाया।

अंग्रेजी में आरटीआई नियमावली के ड्राफ्ट पर आपत्ति

लखनऊ : सामाजिक कार्यर्ता डॉ. नूतन ठाकुर ने आरटीआई कार्यकर्ताओं महेन्द्र अग्रवाल, देवेन्द्र दीक्षित, सलीम बेग, अनुपम पाण्डेय के साथ मुख्य सूचना आयुक्त जावेद उस्मानी को आरटीआई नियमावली, 2015 और उसके संलग्नकों के ड्राफ्ट मात्र अंग्रेजी भाषा में होने के सम्बन्ध में अपनी प्राथमिक आपत्ति प्रस्तुत की है. 

टीआरपी के ढर्रे में बदलाव शीघ्र : पुनीत गोयनका

बीएआरसी (ब्रॉडकॉस्ट ऑडियो रिसर्च कौंसिल) के अध्यक्ष और आईबीएफ बोर्ड के उपाध्यक्ष श्री पुनीत गोयनका का कहना है कि ट्रांसपेरेंट गर्वनेंस और व्यापक रेटिंग सिस्टम के लिए सारी तैयारियां हो चुकी हैं। मौजूदा सिस्टम में कुछ दर्शकों को ही कवर किया जाता है। इस समय सिर्फ छह करोड़ घरों को कवर किया जाता है जबकि बीएआरसी के बाद पहले चरण में ही 15 करोड़ 30 लाख घरों को कवर किया जा सकेगा। तो इससे टीवी व्यूअरशिप के मौजूदा बेस के करीब ढाई गुना बढने की संभावना है।

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का सवाल

मानव समाज ने स्वयं को अनुशासित रखने के लिये अधिकार और दायित्व शब्द का निर्माण किया है किन्तु यही दो शब्द वह अपनी सुविधा से उपयोग करता है. पुरुष प्रधान समाज की बात होती है तो अधिकार शब्द प्राथमिक हो जाता है और जब स्त्री की बात होती है तो दायित्व उसके लिये प्रथम. शायद समाज के निर्माण के साथ ही हम स्त्री को दायित्व का पाठ पढ़ाते आ रहे हैं और यही स्त्री जब अधिकार की बात करती है तो हमें नहीं सुहाता है लेकिन हम इतने दोगले हैं कि खुलकर इस बात का विरोध भी नहीं करते हैं. बल्कि इससे बचने का  रास्ता ढूंढ़ निकाल लेते हैं. कदाचित विश्व महिला दिवस का मनाया जाना इसी दोगलेपन का एक अंश है. ऐसा एक दिवस पुरुषों ने अपने लिये क्यों नहीं सोचा या साल के पूरे 365 दिन स्त्रियों के लिये क्यों नहीं दिया जाता? बातें कड़ुवी हैं और शायद एक बड़ा वर्ग इन बातों से असहमत हो लेकिन सच से आप कब तक मुंह छिपाते रहेंगे?

स्टिंग-दर-स्टिंग : अब आसिफ उछालेंगे संजय सिंह की टोपी

नई दिल्ली। अब कांग्रेस के पूर्व विधायक आसिफ मोहम्मद खान ने नया दावा कर हलचल मचा दी है। आसिफ का कहना है कि उनकी संजय सिंह से मुलाकात हुई थी और उन्होंने इसका स्टिंग भी किया था। जल्द इसे लोगों के सामने लाऊंगा।

मंत्री कैलाश चौरसिया मामला : डीजीसी ने अपील का विरोध क्यों नहीं किया?

लखनऊ : सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर ने मंत्री कैलाश चौरसिया के तीन साल की सजा के खिलाफ सत्र न्यायालय में दायर अपील में जिला शासकीय अधिवक्ता (डीजीसी) फौजदारी द्वारा कोई भी विरोध नहीं करने के सम्बन्ध में जिला मजिस्ट्रेट, मिर्जापुर और प्रमुख सचिव न्याय को शिकायत भेजी है.

प्रसून लतांत सहित सात को स्वामी प्रणवानंद शांति एवं साहित्य पुरस्कार

नई दिल्ली। जनसत्ता के वरिष्ठ पत्रकार प्रसून लतांत को गांधी शांति प्रतिष्ठान के सभागार में आयोजित समारोह में रचनात्मक कार्यों के लिए स्वामी प्रणवानंद शांति पुरस्कार लोकसभा की पूर्व अध्यक्ष मीरा कुमार ने प्रदान किया। राष्ट्रीय स्तर पर दिए जाने वाले इस पुरस्कार से टीपीआर नाथ(केरल), गोपाल लोधियाल(उत्तराखंड) और मोहन हीराबाई हीरालाल(महाराष्ट्र) और साहित्य के लिए वाग्देवी प्रकाशन(दीपचंद, राजस्थान), उमेश कुमार(झारखंड) और भारतीय विद्या भवन(अशोक प्रधान, मुंबई) को सम्मानित किया।

क्या यह महज सिद्धांतों और विचार-भिन्नता की भिड़ंत है!

आम आदमी पार्टी (आप) के शीर्ष नेताओं ने योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण को पार्टी की राजनीतिक मामलों की समिति ( पीएसी) से बाहर करने पर पहली बार आप पार्टी के नेताओं  मनीष सिसौदिया, गोपाल राय, पंकज गुप्ता और संजय सिंह की ओर से एक बयान जारी किया गया है जिसमें योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण के ख़िलाफ़ हुई कार्रवाई की वजहें बताते हुए उन पर दिल्ली के चुनावों के दौरान पार्टी को हराने का प्रयास करने का आरोप लगाया है। बयान में कहा गया है, प्रशांत भूषण ने दिल्ली में बीजेपी को हराने के लिए प्रचार करने आ रहे नेताओं को रोकने की कोशिश की और योगेंद्र यादव पर मीडिया में ख़बरें प्लांट कराने का आरोप लगाया। पार्टी ने इसके लिए अपने पास सबूत होने का भी दावा किया है। इस पर योगेंद्र यादव ने ट्वीट किया कि चार सहयोगियों की तरफ से जारी बयान ने खुली, पारदर्शी बातचीत की संभावना शुरू की है, सच्चाई की जीत होगी। वहीँ प्रशांत भूषण का कहना है कि ये अच्छा है कि जो बातें दूसरे लोगों की तरफ़ से कही जा रही थीं, जिस तरह के आरोप लग रहे थे वो अब पार्टी के शीर्ष नेताओँ की तरफ़ से लग रहे हैं। मेरे ख़्याल से अब वक्त आ गया है कि पूरा देश इस बारे में जान ले।

बीबीसी डॉक्‍यूमेंट्री से पाबंदी हटाने पर दिल्ली हाईकोर्ट का इनकार

दिल्ली : हाईकोर्ट ने दिल्ली गैंगरेप पीड़िता ‘निर्भया’ पर बनाई गई बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री के प्रसारण पर लगे प्रतिबंध को हटाने से इनकार कर दिया है। इस मामले में अपील सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन है। ऐसे में ये केस प्रभावित हो सकता है। मामले में बीते 9 मार्च को हाई कोर्ट ने लॉ स्टूडेंट विभोर आनंद, अरूण मेनन व कृतिका की अलग-अलग दो जनहित याचिकाओं पर जल्द सुनवाई से इन्कार कर दिया था। हाईकोर्ट ने मामले को मुख्य न्यायाधीश की अदालत में भेजा है। अब इस मामले में सुनवाई 18 मार्च को होगी।

बीबीसी का टीवी प्रजेंटर सस्पेंड, अगले दो एपीसोड भी रद्द

बीबीसी ने भारत के खिलाफ एक नस्लवादी टिप्पणी करने वाले टीवी प्रजेंटर को एक प्रोड्यूसर के साथ झगड़ा करने के आरोप में सस्पेंड कर दिया है। पता चला है कि ‘टॉप गियर’ कार्यक्रम के प्रजेंटर जेरेमी क्लार्कसन को निलंबित किया गया है। बीबीसी ने मोटरों पर आधारित कार्यक्रम ‘टॉप गियर’ के अगले दो एपीसोड भी रद्द कर दिए हैं। कार्यक्रम का तीसरा एपीसोड प्रसारित होना अब संदिग्ध हो चला है। 

मनमोहन के आवास तक सोनिया का समर्थन मार्च

दिल्ली : गुरुवार की सुबह, सोनिया गांधी के साथ पार्टी के शीर्ष नेताओं ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के प्रति एकजुटता व्यक्त करने के लिए उनके आवास तक मार्च किया। पूर्व प्रधानमंत्री के आवास तक मार्च का नेतृत्व करने के बाद सोनिया गांधी ने कहा कि हम यहां मनमोहन सिंह के प्रति पूर्ण समर्थन और एकजुटता व्यक्त करने आए हैं। सोनिया ने कहा कि हम अपने पास मौजूद सभी कानूनी संसाधनों के साथ लड़ाई लड़ेंगे, मुझे यकीन है कि हम सही साबित होंगे।

RSS के ‘ऑर्गनाइजर’ ने ये क्या छाप दिया !!

नई दिल्ली : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मीडिया मोर्चे पर एक ऐसी चूक उजागर हो गई है, जिस पर उसे भारत ही नहीं, पूरी दुनिया में शर्मिंदगी का सामना करना पड़ सकता है। संघ के अंग्रेजी मुखपत्र ‘ऑर्गनाइजर’ में जम्मू-कश्मीर का एक भाग पाकिस्तान में दर्शाया गया है। 

‘आप’ पर स्टिंग वार ; अब लड़ाई आर-पार

दिल्ली : अब तो सचमुच यकीन सा होने लगा है कि सियासत भी एक-की-तीन बातों से चलती है- इंटरटेनमेंट, इंटरटेनमेंट और इंटरटेनमेंट। देखिए न कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी की परेशानियां थमने का नाम नहीं ले रही हैं। पार्टी में महाभारत गहराती जा रही है। केजरीवाल के खिलाफ ऑडियो टेप जारी होने के बाद पार्टी पूरी तरह से बिखरती दिख रही है। किसी ने खबर पर टिप्पणी की है – ‘हम तो नई, साफसुथरी राजनीति करने आये है जी, लेकिन क्या करें, हमाम में नंगा होना पडता है….

अभिव्यक्ति को नई धार देता सोशल मीडिया

आज का दौर सोशल मीडिया का है। हर आयु-वर्ग के लोगों में सोशल नेटवर्किंग साइट्स का क्रेज दिनों-ब-दिन बढ़ता जा रहा है। आज सोशल नेटवर्किंग दुनिया भर में इंटरनेट पर होने वाली नंबर वन गतिविधि है, इससे पहले यह स्थान पोर्नोग्राफी को हासिल था। सोशल नेटवर्किंग साइट्स संचार व सूचना का सशक्त का जरिया हैं, जिनके माध्यम से लोग अपनी बात बिना किसी रोक-टोक के रख पाते हैं। यह बात देश और दुनिया के हर कोने तक पहुँच जाती है। आप खुद के विचार रखने के साथ-साथ दूसरों की बातों पर खुलकर अपनी राय भी व्यक्त कर पाते हैं। एक परिभाषा के अनुसार, ”सोशल मीडिया को परस्पर संवाद का वेब आधारित एक ऐसा अत्यधिक गतिशील मंच कहा जा सकता है जिसके माध्यम से लोग संवाद करते हैं, आपसी जानकारियों का आदान-प्रदान करते हैं और उपयोगकर्ता जनित सामग्री को सामग्री सृजन की सहयोगात्मक प्रयिा के एक अंश के रूप में संशोधित करते हैं।” 

राज्यसभा में काटजू के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित

नई दिल्ली: प्रेस काउंसिल के पूर्व अध्यक्ष मार्कंडेय काटजू अपने ब्लॉग पर लिखी विवादित टिप्पणी को लेकर फंस गए हैं। उनके खिलाफ राज्यसभा में निंदा प्रस्ताव पारित हो गया है। महात्मा गांधी से मुलाकात कर चुके एवं सदन में मौजूद एक अदद ऐसे सदस्य कांग्रेस सदस्य करन सिंह ने इस मामले को सदन में उठाया।

हत्या के शिकार ब्लॉगर अविजीत की पत्नी राफ़िदा फिर से आवाज़ उठाएंगी

अमेरिकी प्रवासी एवं बांग्लादेशी मूल के ब्लॉगर अविजीत रॉय की पत्नी राफ़िदा बोन्या अहमद धर्मनिरपेक्षता और विज्ञान के संबंध में अपने पति के मिशन पर कायम रहेंगी। उनका कहना है कि ये दोनों विषय उनके पति के लिए बहुत मायने रखते थे। उल्लेखनीय है कि अविजीत रॉय की हाल ही में बांग्लादेश की राजधानी ढाका में पुस्तक मेले से लौटते समय हत्या कर दी गई थी। हमलावरों ने राफ़िदा को भी गंभीर रूप से घायल कर दिया था। 

मुंबई में करोड़पति भिखारी, हर महीने 75 हजार की कमाई

मुंबई : सपनों के इस शहर में देश के सबसे अमीर उद्योगपति अंबानी घराना ही नहीं रहता, बल्कि देश का सबसे अमीर भिखारी भी रहता है। भारत जैन नाम का ये भिखारी भी करोड़पति है। इसके पास 80 लाख रुपये का एक फ्लैट और हर महीने भीख से 75 हजार रुपये की कमाई।

अब किसानों के बच्चे चपरासी, ड्राइवर नहीं बनेंगे

….तो भूमि अधिग्रहण कानून लोकसभा में पास हो गया। अब किसानों के बच्चे चपरासी ड्राईवर नहीं बनेंगे। केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र सिंह ने कहा कि 70 प्रतिशत किसानों के पास बहुत छोटे आकार की ज़मीन है। वह कहीं भी जाता है तो सिफारिश करता फिरता है कि मेरे बेटे को चपरासी ड्राईवर, कंडक्टर या पुलिस में लगवा दो। किसानों को भी आगे बढ़ने का मौका मिलना चाहिए। कांग्रेस सहित विरोधी दल 50 साल से किसानों को टुकड़े तो डालती रही है ताकि वे मरे नहीं, लेकिन इन्हें आगे बढ़ने का मौका मत दो। दूसरी तरफ विरोधी ठीक उल्टा आरोप लगा रहे थे कि ये बिल किसान विरोधी है। इससे किसान बरबाद हो जाएंगे।

एड्स के अंदेशे में पत्नी और दो बेटियों को कार में जिंदा फूंका

बेतूल (मध्यप्रदेश) : एचआईवी पॉजिटिव होने के अंदेशे में एक इंजीनियर ने अपनी पत्नी और दो बेटियों को कार में जिंदा जला दिया। 

मनमोहन सिंह हाजिर हों ! कोयला घोटाले में पूर्व पीएम को कोर्ट का समन

नई दिल्‍ली : कोल ब्‍लॉक आबंटन केस में नया मोड़ आ गया है। पटियाला हाऊस कोर्ट ने बुधवार को कोयला घोटाले में एक बड़ा फैसला दिया है। विशेष अदालत ने आज पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को आरोपी के तौर पर समन जारी किया है।

झांसी में उमा भारती के लिए बार-बार चेन पुलिंग

उत्तर प्रदेश के झांसी में 9 मार्च की रात लगभग 12 बजे रेलवे स्टेशन पर केंद्रीय मंत्री उमा भारती के स्टॉफ वालों ने बार बार गुरुद्वारा एक्सप्रेस में चेन पुलिंग की।

‘आप’ के 60 विधायकों ने लिखी केजरी को चिट्ठी, योगेंद्र-शांति-प्रशांत को बर्खास्त करो

नई दिल्‍ली : आम आदमी पार्टी की अंतर्कलह उस समय परवान चढ़ने के और करीब पहुंच गई, जब  पार्टी के 60 से अधिक विधायकों ने योगेन्द्र यादव, शांति भूषण और प्रशांत भूषण को पार्टी से बर्खास्त करने के लिए पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल को पत्र लिख दिया। 

आज नीतीश की परीक्षा की घड़ी, विश्वास-मत के लिए ह्विप जारी

पटना : आज बुधवार से बिहार विधानमंडल का बजट सत्र शुरू हो रहा है। राज्यपाल के अभिभाषण के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विधानसभा में विश्वासमत पेश करेंगे। विश्वासमत के समर्थन में मतदान करने के लिए जदयू ने अपने विधायकों के लिए व्हिप जारी कर दिया है।

पत्रकार उमेश शुक्ला लापता, भाई दर-दर खोज रहा, पुलिस खामोश

वाराणसी : आंखों में आंसू, मन में विश्वास लिए दिनेश शुक्ला अपने 48 वर्षीय छोटे भाई एवं पत्रकार उमेश शुक्ला को दर-दर तलाश रहे हैं। अपने परिचितों-सुपरिचितों से मदद की गुहार लगाते डोल रहे हैं, पुलिस के दरवाजे पर भी बार-बार दस्तक दे चुके हैं, जिलाधिकारी से लेकर गृह मंत्रालय तक गुहार लगा चुके हैं …

भविष्य के मीडिया की चुनौतियों पर आलोक तोमर स्मृति-विमर्श 20 मार्च को

दिल्ली : हिंदी पत्रकारिता के आधुनिक स्तंभ माने जाने वाले वरिष्ठ पत्रकार स्व. आलोक तोमर के चतुर्थ स्मृति दिवस पर शुक्रवार, 20 मार्च, 2015 को ‘भविष्य के मीडिया की चुनौतियां’ विषय पर एक विशेष कार्यक्रम आयोजित किया गया है। रफी मार्ग, नई दिल्ली स्थित कांस्टीट्यूशन क्लब के स्पीकर हॉल में कार्यक्रम का समय अपराह्न 4:00 बजे से सायं 7:00 बजे तक है। 

मजीठिया वेज बोर्ड संघर्ष : सुप्रीम कोर्ट के सख्त रुख से जागरण के वकील कपिल सिब्बल कुछ न बोल पाए

नई दिल्‍ली । सुप्रीम कोर्ट नंबर आठ। केस नंबर 411 ऑफ 2014 एवं अन्‍य। पहले लगा कि इस बार भी दैनिक जागरण की ओर से वरिष्‍ठ वकील पीपी राव पैरवी के लिए आएंगे। लेकिन हैरानी हुई कि इस बार पीपी राव की जगह कपिल सिब्‍बल 411 की पैरवी के लिए प्रबंधन की ओर से हाजिर हुए। लेकिन अफसोस इस बार भी अदालत का रुख पहले ही जैसा था।

विनोद मेहता, NDTV और चुनिंदा चुप्पियां

कल भारतीय मीडिया जगत के हिसाब से दो बड़ी अहम घटनाएं हुईं। एक, विनोद मेहता की मौत और दूसरे, एनडीटीवी का एक घंटे तक अपनी स्क्रीन को ब्लैंक रखना। दोनों पर बात होनी चाहिए। एक-एक कर के इन दोनों परिघटनाओं के मायने ज़रा तलाशे जाएं। विनोद मेहता का जब देहान्‍त हुआ, तो कई के मुताबिक, जिन्होंने उनका स्मृतिशेष पढ़ा, वह इस पीढ़ी के अंतिम ‘अक्खड़, ईमानदार, अड़ियल, साफगो और निर्भीक संपादक’ थे। हमारी भारतीय संस्कृति में मौत के बाद किसी की बुराई करने या पंचनामा करने का चलन नहीं है, इसलिए ज़ाहिर तौर पर विनोद मेहता को भी महानता की श्रेणी में धकेल ही दिया जाएगा। बहरहाल, विनोद मेहता इस लेखक के लिए हमेशा उस वामपंथी(?) बौद्धिक बिरादरी का हिस्सा रहे, जो ‘चुनिंदा विस्‍मरण’ (सेलेक्टिव एमनेज़िया) का शिकार रहा है। इसके अलावा भी उनका व्यक्तित्व कोई शानदार नहीं रहा, और इसे पूरी शिद्दत से समझने की ज़रूरत है।

KBC : Expert Advisor की जगह Triguni फार्मेट

Though I am not a permenent viewer of Kaun Banega Crorepati. This programme fetches money to the contestant while the viewers receive a lot of information & knowledge. Two superstars of the Indian film industry Amitabh Bachchan & Shahrukh Khan have hosted the programme. The KBC has later introduced the Expert Advice to the contestant. The best brains in Indian Medan industry & in their own field besides media also participated as the expert advisor with the KBC.

‘जश्न-ए-रेख्ता’ में होगा उर्दू का जश्न

नयी दिल्ली : यहां 14 मार्च से शुरू हो रहे दो दिन के समारोह ‘जश्न ए रेख्ता’ में उर्दू के बेहतरीन शायरों, अफसानानिगारों और फनकारों का जमावड़ा होने जा रहा है। उर्दू के इस जश्न में भारत, पाकिस्तान, अमेरिका और कनाडा से उर्दू के बेहतरीन शायर, अफसानानिगार, अदाकार और फनकार शिरकत करेंगे। जश्न में शिरकत …

स्टार इंडिया ने किया ‘स्क्रीन’ का अधिग्रहण

मुंबई : प्रमुख मीडिया और मनोरंजन कंपनी स्टार इंडिया ने फिल्म पत्रिका ‘स्क्रीन’ का अधिग्रहण करने के लिए इंडियन एक्सप्रेस ग्रुप के साथ एक समझौता किया है। रूपर्ट मडरेक द्वारा संचालित भारत में स्टार ग्रुप का यह दूसरा सौदा है जबकि उसकी मूल कंपनी न्यूज कार्प ने व्यावसायिक न्यूजपोर्टल वी सी सर्ल को खरीदने की …

रुखसत : कंधे पर पहाड़ लिए चले गए भवानी भाई

किसी भी व्यक्ति का दुनिया से रुखसत हो जाना उसके आत्मीय जनों के लिए तो दुखद एवं पीड़ादायक होता ही है लेकिन ऐसा व्यक्ति जो समाज की बेहतरी में योगदान दे सकते है, उसका जाना पूरे समाज की क्षति होता है. श्रीनगर (गढ़वाल) से निकलने वाली मासिक पत्रिका ‘रीजनल रिपोर्टर’ के सम्पादक भवानी शंकर थपलियाल समाज और आम जन की बेहतरी के लिए सोचने वाले ऐसे ही व्यक्ति थे. 17 फरवरी 2015 की सुबह उनका देहावसान उनके परिजनों के लिए ही नहीं, पूरे समाज और ख़ास तौर पर उत्तराखंड के प्रति चिंतनशील समुदाय के लिए एक बड़ा आघात रहा. उस आघात ने उसी दिन उनके पत्रकार पिता डा.उमाशंकर थपलियाल के प्राण भी ले लिए थे.

सच्चाई जान जाएंगे तो आप भी कहेंगे- ”केजरी ने अब तक भूषण तिकड़ी और योगेंद्र यादव को पार्टी से बाहर निकाला क्यों नहीं!”

(लेखक यशवंत सिंह भड़ास4मीडिया डॉट कॉम के संस्थापक और संपादक हैं.)


उन दिनों मेरे पास अंदर से कोई खबर नहीं थी. सिर्फ मीडिया द्वारा परोसे दिखाए जा रहे तथ्यों-खबरों पर निर्भर था. उस निर्भरता के जरिए ये राय बना ली कि केजरीवाल तो चुनाव जीतने के बाद अहंकारी हो गए हैं और इन्हें योगेंद्र व प्रशांत को कतई पोलिटिकल अफेयर्स कमेटी से नहीं निकालना चाहिए. जब इन दोनों को निकाल दिया गया तो मुझे भी बहुत धक्का लगा कि आखिर ये क्या हो रहा है, कहीं ‘आप’ नेता केजरीवाल तानाशाही की तरफ तो नहीं बढ़ रहे, कहीं केजरीवाल आलाकमान सिस्टम तो नहीं लागू कर रहे, कहीं केजरीवाल वन मैन पार्टी तो नहीं बना दे रहे ‘आप’ को…

धार्मिक चैनल के सीओओ ने एंकर के साथ ऋषिकेश के होटल में की छेड़छाड़, मामला दबा दिया गया

मानव जीवन को दिशा देने हेतु अध्यात्म, आस्था, धर्म, साधना आदि का ज्ञान पहचान कराने वाले धार्मिक न्यूज चैनलों के अंदर खुद कितनी अनैतिकता-अधार्मिकता है, इसे कोई मीडिया के बाहर का सीधा सच्चा आदमी जान जाए तो उसे पूरे धर्म से ही घृणा-वितृष्णा हो जाए. बाबाओं से पैसे लेकर उनके भाषण प्रवचन प्रसारित करने वाले धार्मिक चैनलों में से एक चैनल के सीओओ पर आरोप लगा है कि उन्होंने अपने सहकर्मी के साथ यौन दुर्व्यवहार किया है. हालांकि पीड़िता खुलकर सामने नहीं आ पा रही है लेकिन उसके साथ काम करने वाली महिलाओं का कहना है कि पीड़िता एंकर के पद पर है और उसने चैनल के अंदर कंप्लेन की हुई है.

‘लाइव इंडिया’ न्यूज चैनल : सेलिब्रिटी कॉन्ट्रेक्ट के नाम पर चैनल के अंदर-बाहर के लोगों ने बनाया पैसा!

पूरी कहानी को समझने के लिए सबसे पहले इस यूट्यूब लिंक ( https://www.youtube.com/watch?v=KZPOILhTRf4 ) पर क्लिक करके वीडियो देखें जो महाराष्ट्र टीवी पर प्रसारित खबर है. इसमें रोशनी चोपडा, जो एकंर हैं, इस समय लाइव इंडिया के साथ वर्ल्ड कप के लिए जुडी हैं, की चीटिंग की कहानी है. आरोप है कि प्रोडक्शन हाउस को धोखा इस वजह से किया गया क्योंकि इस कांट्रेक्ट के जरिए लाइव इंडिया चैनल से जुड़े टॉप लोगों ने पैसे बनाए.

मजीठिया वेज बोर्ड : सुप्रीम कोर्ट ने अखबार मालिकों से कहा- क्यों न तुम सभी के खिलाफ कंटेप्ट आफ कोर्ट का मुकदमा शुरू किया जाए!

लगता है उंट पहाड़ के नीचे आने वाला है. अपने पैसे, धंधे, दलाली, लायजनिंग, शोषण, पावर से नजदीकी, सत्ता-सिस्टम में दखल के बल पर खुद को खुदा समझने वाले मीडिया मालिकों पर आम मीडियाकर्मियों की आह भारी पड़ने वाली है. लेबर डिपार्टमेंट, राज्य सरकारों, केंद्र सरकार, सीएम, पीएम, डीएम निचली अदालतों आदि तक को मेनुपुलेट करने की क्षमता रखने वाले मीडिया मालिकों को सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के आगे पसीना आने वाला है. आज मजीठिया वेज बोर्ड को लेकर सुप्रीम कोर्ट में लगी दस याचिकाओं की सुनवाई करते हुए अदालत ने संबंधित सभी मीडिया मालिकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है.

‘आप’ ने योगेंद्र, प्रशांत को षड्यंत्रकारी करार दिया, 28 को निष्कासन संभव

दिल्ली : आम आदमी पार्टी के रहनुमाओं ने एक बयान जारी कर योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण को षड्यंत्रकारी करार दिया है। आरोप है कि दोनो ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में ‘आप’ को हराने का दुष्प्रयास किया था। दिल्‍ली चुनाव के दौरान प्रशांत ने लोगों को चंदा देने और कार्यकर्ताओं को दिल्‍ली आने से रोका। योगेंद्र यादव ने पार्टी विरोधी समाचारों का प्रकाशन करवाया था। पता चला है कि आगामी 28 मार्च को पार्टी की नेशनल काउंसिल की बैठक में दोनों को नेशनल एग्‍जीक्‍यूटिव से हटाने की घोषणा हो सकती है।

 

‘एंकर’ की खोज के बहाने युवाओं के करिअर से खिलवाड़

छत्तीसगढ़ : एक पत्रकार ने अपने पत्र में ‘भड़ास4मीडिया’ को बताया है कि ‘IBC24 छत्तीसगढ़ का न्यूज चैनल है। युवाओं के करिअर से खिलवाड़ कर रहा है। इस चैनल में नए लोगों को मौका देने के नाम पर एंकर की खोज करायी जाती है। नए लोगों को मौका देने का ढोल पीटा जाता है। कुछ महीने बाद उसको निकाल दिया जााता है। अब तक चैनल की ओर से दो बार एकंरों की खोज हो चुकी है।

शेखर गुप्ता ने प्रभाष जोशी को कलंकित किया

ये भ्रष्ट पत्रकारिता की चरम सीमा है. शेखर गुप्ता ये कह रहे हैं कि पत्रकारों की उपस्थिति में, जिसमें वो स्वयं थे वहां पर, विश्‍वनाथ प्रताप सिंह ने यह पैसा लिया. उन्होंने अपने गवाही के तौर पर लिखा कि वहां पर इस साल पद्म पुरस्कार पाये हुए एक पत्रकार भी उपस्थित थे. इस साल तीन पत्रकारों को पद्मपुरस्कार मिला है, जिनमें श्री रजत शर्मा, श्री राम बहादुर राय और स्वपन दास गुप्ता शामिल हैं.

‘इंडियाज़ डॉटर’ पर सितारे बेलौस, परेश भी प्रदर्शन के पक्ष में

बॉलीवुड की कई हस्तियां लेज़्ली उडविन की डॉक्यूमेंट्री फ़िल्म ‘इंडियाज़ डॉटर’ पर प्रतिबंध के बावजूद उसे दिखाने की वकालत तो कर ही हैं, भाजपा सांसद एवं मशहूर अभिनेता परेश रावल की टिप्पणी विशेष मायने रखती है, क्योंकि केंद्र में उनकी ही सरकार है और फिल्म पर पाबंदी भी केंद्र सरकार ने ही लगा रखी है। रावल कहते हैं- मुझे लगता है कि डॉक्यूमेंट्री से प्रतिबंध हटना चाहिए। अगर आप नाथूराम गोडसे का बयान रिकॉर्ड कर सकते हो, उसे प्रकाशित कर सकते हो तो ऐसे लोगों का बयान भी दिखाया जाना चाहिए ताकि हमें पता तो लगे कि वह क्या सोचता है। 

परेश रावल, अनुष्का शर्मा, नसीरुद्दीन शाह और अन्नू कपूर

फिल्म लेखक संघ बनाम मुस्लिम लेखक संघ

फिल्म लेखक संघ के मुशायरे को संघ अध्यक्ष जलीस शेरवानी ने मुस्लिम लेखक संघ के मुशायरे में तब्दील कर दिया। यह नजारा देखने को मिला पिछले दिनों रंग शारदा हॉल (बांद्रा) में, जहां बड़े बैनर पर लिखा तो गया था कवि सम्मेलन/ मुशायरा मगर उसमें मुंबई की एक शायरा और एक अन्य हास्य कवि के अलावा एक पाकिस्तान और एक दुबई समेत 14 भारतीय मुस्लिम शायर थे, जिन्हें अच्छे खासे पैसे और प्लेन का टिकट देकर बुलाया गया था। इनमें नवाज देवबंदी और मुनव्वर राणा के अलावा अदब का कोई बड़ा नाम नहीं था। पता चला कि बाकी शायर वे हैं, जिनसे जलीस शेरवानी का मुशायरों का कथित लेनदेन चला करता है- मुझे तुम बुलाओ, तुम्हें मैं बुलाऊं। निमंत्रण पत्र पर लिखा था- फर्स्ट कम फर्स्ट सीट…लेकिन हॉल में पहुंचने पर पता चला कि आधा हॉल रिजर्व रखा गया है…बाद में उन सीटों पर अधिकांश वे लोग दिखे, जो उजले कुर्ते-पाजामे में सिर पर टोपी लगाये बार बार सुभान अल्ला, सुभान अल्ला चिल्ला रहे थे।

फिल्म राइटर्स संघ के समर्थन पत्र की प्रतिलिपि

दो समाचार संपादक स्वतः कार्य से पृथक

आगरा। यहां से प्रकाशित ‘द सी एक्सप्रेस’ और ‘पुष्प सवेरा’ के समाचार संपादकों ने स्वतः स्वयं को कार्य से पृथक कर लिया है। ‘द सी एक्सप्रेस’ के समाचार संपादक डॉ.भानुप्रताप सिंह अखबार के प्रकाशन के समय से ही इसके साथ जुड़े हुए थे जबकि ‘पुष्प सवेरा’ के समाचार संपादक डॉ. अनिल दीक्षित की अखबार में …

सत्ता प्रतिष्ठान से टकराते रहे विनोद मेहता

दिल्ली जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन ने ‘आउटलुक’ पत्रिका के संस्थापक संपादक विनोद मेहता के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करती है।

‘मीडिया समाचार’ के संपादक पवन कुमार दुबे का निधन

मुंबई : ‘मीडिया समाचार’ के संपादक और इंडियन प्रेस एसोसिएशन के अध्यक्ष पवन कुमार दुबे का रविवार को देहांत हो गया। वे लगभग 50 वर्ष के थे। सुबह उनके सीने में दर्द उठा। पत्नी ने उन्हें कूपर अस्पताल में भर्ती कराया लेकिन स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं हुआ। दोपहर में डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। उसी दिन शाम को उनके परिजनों, पत्रकार मित्रों ने अंधेरी के पारसी वाड़ा श्मशान स्थल पर उनका अंतिम संस्कार कर दिया। उनके निधन से पत्रकार जगत में शोक की लहर फैल गई।

महात्मा गांधी अंग्रेजों के एजेंट : काटजू

अपनी टिप्पणियों से प्रायः सुर्खियों में रहने वाले सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश मार्कण्डेय काटजू ने अब अपने ब्लॉग में महात्मा गांधी को ब्रिटिश हुकूमत का एजेंट लिखा है। उन्होंने लिखा है कि गांधी की सभाओं में हिंदू भजन रघुपति राघव राजा राम के बोल सुनाई देते थे। उनके भाषणों और अखबारों में छपे उनके लेख को देखकर यही लगता है कि उनका हिंदुओं के प्रति खास झुकाव था। गांधी अंग्रेजों के डिवाइड एंड रूल की पॉलिसी काम करते थे। महात्मा गांधी ने देश को बहुत नुकसान पहुंचाया है। राजनीति में धर्म को घुसाकर फूट डालो और राज करो की ब्रिटिश नीति को आगे बढाया था। गांधी हर भाषण में रामराज्य, ब्रह्मचर्य, गोरक्षा आदि हिन्दूवादी विषयों का जिक्र करते थे। इससे मुस्लिम लीग जैसे संगठनों की पहचान को बल मिला। मुसलमान आकर्षिक हुए। काटजू ने बापू पर निशाना साधते हुए लिखा है कि उनकी वजह से देश को काफी नुकसान हुआ। 

केजरीवाल की खांसी में सुधार

बेंगलुरू शहर (कर्नाटक) के एक प्राकृतिक चिकित्सा संस्थान में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की खांसी ठीक हो रही है। दस दिनो की चिकित्सा का कोर्स है, जिसे पूरा करने के बाद ही केजरीवाल दिल्ली लौटेंगे। चार वरिष्ठ डॉक्टरों की टीम केजरीवाल की देखभाल कर रही है जिनमें एक एक्यूपंक्चरिस्ट, एक फिजियोथेरेपिस्ट और एक योग अधिकारी शामिल हैं।

सृजन की विविधता ही हमारी ताकत है : केदारनाथ सिंह

नई दिल्ली : कमानी सभागार में आयोजित साहित्य अकादमी के छह दिवसीय साहित्य उत्सव एवं पुरस्कार वितरण समारोह में प्रो. विश्वनाथ प्रसाद तिवारी ने कहा कि लेखक का प्रतिपक्ष लेखक नहीं, सत्ता होती है। सत्ता तो हर समय जनता और लेखक विरोधी होती है। प्रसिद्ध साहित्यकार केदारनाथ सिंह ने कहा कि भारतीय साहित्य बीसवीं सदी के हैंगओवर से निकलकर नए रास्ते खोज रहा है। नए रास्ते का सूर्योदय पूर्वोत्तर से हो रहा है। सृजन की विविधता हमारी ताकत है।

दिल्ली में साहित्य अकादमी पुरस्कार वितरण समारोह को सम्बोधित करते प्रो.केदारनाथ सिंह 

आगरा में ‘इंडियाज डॉटर’ का प्रदर्शन, दो हिरासत में, प्रोजेक्टर जब्त

आगरा (उत्तर प्रदेश) के गांव रूपधनू में सामाजिक कार्यकर्ता केतन दीक्षित ने रविवार शाम प्रोजेक्टर पर  उडविन की डॉक्यूमेंट्री फ़िल्म ‘इंडियाज डॉटर’ ग्रामीणों को दिखाई। सूचना मिलते ही सोमवार को पुलिस ने लैपटॉप, प्रोजेक्टर जब्त कर दो लोगों को हिरासत में ले लिया। केतन समेत दो लोगों से थाने में पुलिस ने घंटों पूछताछ के बाद दोनों को एक ग्राम प्रधान की सुपुर्दगी में दे दिया। एसपी ने बताया कि फोरेंसिक रिपोर्ट के आधार पर आरोपियों के खिलाफ आगे की कार्रवाई की की जाएगी।

 आगरा (उ.प्र.) के गांव रूपधनू में फिल्म ‘इंडियाज डॉटर’ देखते ग्रामीण