एक्जिट पोल क्या इसीलिए हैं?

टॉप करने वाला बच्चा फेल कर जाए तो आत्महत्या कर लेता है। अचानक किसी अनहोनी की सूचना मिले तो हार्ट फेल हो जाता है। ऐसे में 100 सीट की उम्मीद करने वाले को 300 सीट मिलने की सूचना मिले और ऐसे लाखों लोग हों तो वो क्या करेंगे इसकी कल्पना नहीं की जा सकती है। …

टेलीग्राफ को छोड़ किसी अखबार ने केदार यात्रा को चुनावी तीर्थ बताने की हिम्मत नहीं की

आज के लगभग सभी अखबारों में पहले पन्ने पर देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की फोटो छपी है जो गेरुआ वस्त्र पहने पांच मीटर लंबी और तीन मीटर चौड़ी ध्यान गुफा में हैं। अंग्रेजी दैनिक द टेलीग्राफ ने इस बारे में बताया है कि एएनआई ने यह तस्वीर ट्वीट की और लिखा, (अंग्रेजी से अनुवाद …

“पूर्व तड़ीपार” अध्यक्ष और हर हफ्ते हाजिरी लगाने वाली उम्मीदवार !

राष्ट्रवादी पार्टी का दावा भगवा आंतकवाद के खिलाफ सत्याग्रह का आज के अखबारों से क्या आपको पता चला कि मालेगांव ब्लास्ट केस में भाजपा उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर को हर हफ्ते कोर्ट में हाजिरी लगानी पड़ेगी। अदालत ने यह आदेश दिया है और पहली तारीख 20 मई को ही है। वैसे तो मैं किसी व्यक्ति को …

प्रमुख खबरें छोड़कर बंगाल चुनाव, ममता पर आरोप पहले पन्ने को घेरे हुए हैं

दिल्ली के अखबारों में बंगाल का चुनाव छाया हुआ है। 12 मई को छठे चरण के मतदान के बाद बाकी बची 59 सीटों के लिए मतदान 19 मई को है। छठे चरण में पश्चिम बंगाल की आठ सीटें थीं। इस बार नौ सीटों के लिए मतदान है। 2014 में ये नौ सीटें टीएमसी ने जीती …

आज के ज्यादातर अखबारों ने साबित किया, नाम बड़े दर्शन छोटे

कोलकाता की घटना को दिल्ली के अखबारों में ज्यादा महत्व दिए जाने पर मैंने कल लिखा था। आज भी उसका असर दिल्ली के अखबारों में है। आज ये नहीं कहा जा सकता कि मामला सिर्फ कोलकाता का रह गया है। चुनाव आयोग का फैसला है, अंतिम चरण के चुनाव की खबर है, पहली बार हुई …

अमित शाह के रोड शो में हिंसा का सच – जनसत्ता और राजस्थान पत्रिका के हवाले से

आज दिल्ली के अखबारों में आपने पढ़ा कि कोलकाता में भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान तृणमूल कार्यकर्ताओं ने हिंसा की – इस कारण रैली नहीं हो पाई। इसपर भाजपा ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री, पुलिस और तृणमूल कार्यकर्ताओं के खिलाफ शिकायत की है और तृणमूल पार्टी ने भाजपा …

भाजपाइयों की तोड़फोड़ को तृणमूल कार्यकर्ताओं से झड़प बताते दिल्ली के अखबार!

आज के अखबारों में भाजपा से जुड़ी दो खबरें हैं और दोनों गौर करने लायक हैं। पहली पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की फोटो का मीम शेयर करने के लिए गिरफ्तार प्रियंका शर्मा को सुप्रीम कोर्ट ने जमानत पर रिहा करने का आदेश है। इस मामले को अखबारों में एक जीत की तरह पेश …

रेडार और बादल वाले इंटरव्यू के सवाल जवाब तय थे फिर भी ढेरों गलतियां

अखबार छाप नहीं रहे और लोग “शिक्षित समर्थकों” पर हंस रहे हैं तय सवाल-जवाब वाले टेलीविजन इंटरव्यू में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा दिए गए गलत, झूठे और अविश्वसनीय जवाब पर तरह-तरह के चुटकुले चल रहे हैं और दिल्ली के अखबार बता रहे हैं ममता बनर्जी की मीम बनाने वाली महिला सुप्रीम कोर्ट पहुंची और इसपर …

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के रेडार ज्ञान पर आज कोई फॉलोअप नहीं

डिवाइडर इन चीफ पर भी अखबारों में चर्चा नजर नहीं आ रही है; अमर उजाला में टॉप बॉक्स है, “अलवर दुष्कर्म कांड पर उत्तर प्रदेश में दलित वोट के लिए सियासी जंग” और नभाटा में लीड है “कांग्रेस ने जवानों के सिर कटवाए अब वोट कटवा रही है” आज के अखबारों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी …

प्रधानमंत्री की पीआर एजेंसी की तरह काम कर रहा है मीडिया

इंडियन एक्सप्रेस में आज प्रधानमंत्री का इंटरव्यू छापना संपादकीय विवेक और आजादी को गिरवी रखना ही है आज सुबह नीन्द खुली तो लगा कुछ जल्दी है। कमरे में अंधेरा था, समय देखने के लिए लाइट जलाने की बजाय मैंने फोन उठा लिया। छह बज रहे थे। अमूमन छह बजे ही उठता हूं पर आज इतवार …

सबसे अच्छी प्रस्तुति दैनिक भास्कर की, सबसे चौंकाने वाला टाइम्स और एक्सप्रेस!

क्या 1984 याद करने वालों के लिए 2002 भूल जाना सामान्य है 34 साल बाद हुआ तो हुआ – ऐसे ही नहीं हो जाता है आइए आज उसे समझते हैं। दिल्ली, हरियाणा और पंजाब की 30 लोकसभा सीटों के लिए क्रम से 12 और 19 मई को मतदान होने हैं। 12 को दिल्ली की सात …

द टेलीग्राफ और इंडियन एक्सप्रेस गालियों पर खेल गए!

दिल्ली के अखबारों में खबरों को मिलने वाली प्राथमिकता देखने के लिहाज से 8 मई का दिन महत्वपूर्ण है। आम दिनों से बहुत अलग क्योंकि आठ मई को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली में रैली की और प्रियंका गांधी का रोड शो था। प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में कई बातें कहीं जो आप आगे पढ़ेंगे …

भाजपा नेताओं द्वारा लेह के पत्रकारों को रिश्वत देने की खबर दबा गए ज्यादातर अखबार

लेह के पत्रकारों ने भारतीय जनता पार्टी के नेताओं पर रिश्वत देने का आरोप लगाया है। अपने आप में यह अनूठा मामला है। इसके अलावा, इससे संबंधित कई और तथ्य हैं जो इस खबर को महत्वपूर्ण बनाते हैं। पांच मई को मैंने लिखा था कि टेलीग्राफ में पहले पन्ने पर एक महत्वपूर्ण खबर है जो …

सोनिया गांधी की संपत्ति को लेकर दैनिक जागरण में छपी खबर अफवाह साबित हुई!

सोनिया गांधी की संपत्ति को लेकर भक्त लोग अफवाह फैलाते रहते हैं। ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल से मालूम हुआ था कि 14 मार्च 2012 को दैनिक जागरण ने एक खबर छापी थी, दुनिया की चौथी सबसे अमीर राजनेता सोनिया! इसके अलावा इस दावे के समर्थन में कोई ठोस तथ्य नहीं मिला। ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल …

आज के अखबारों में दो चीजें गौरतलब हैं

प्रधानमंत्री को चुनाव आयोग के क्लीन चिट, सुप्रीम कोर्ट में मामला और अखबारों में खबर आज के अखबारों में दो चीजें गौरतलब हैं। मुख्य न्यायाधीश बेदाग करार दिया जाना और प्रधानमंत्री तथा भाजपा अध्यक्ष को चुनाव आयोग से मिल रहे क्लीन चिट पर सवाल। कहने की जरूरत नहीं है कि मुख्य न्यायाधीश वाली खबर सभी …

प्रधानमंत्री ने जो कहा – सो कहा, अखबारों ने क्या किया?

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को भ्रष्टाचारी नंबर वन कहकर प्रधानमंत्री ने जो किया सो किया अखबारों ने क्या किया यह देखने लायक है। मेरा साफ मानना है कि नरेन्द्र मोदी जैसे नेताओं का झूठ इसीलिए चल जाता है कि वो अखबारों में छप जाता है। अखबार अगर खबर के साथ ही वास्तविक स्थिति बता रहे …

आरोप प्रत्यारोप के दौर में झूठा साबित करने की होड़ और नवभारत टाइम्स का योगदान !

चुनाव चल रहे हैं। हिन्दी पट्टी में मतदान होने हैं। इसलिए आरोप-प्रत्यारोप का दौर तेजी पर है। ऐसे में यह देखना दिलचस्प है कि किसने किस आरोप को कितनी प्रमुखता दी। खासकर तब जब प्रधानमंत्री पर झूठ बोलने का आरोप है और अखबारों को पता है कि किस आरोप में कितना दम है। इन खबरों …

एक तूफान नाम अनेक – फणी से लेकर फनि तक

जानिए कैसे रखे जाते हैं तूफान के नाम और सही नाम फनी क्यों है उड़ीशा में 20 साल का सबसे भयंकर तूफान आया है लेकिन नुकसान सबसे कम हुआ है। दैनिक भास्कर ने इस खबर को अपने दूसरे फ्रंट पेज पर लीड बनाया है। पहले पन्ने पर आधा विज्ञापन है। आज मैं पहले पन्ने की …

येति युग की भारतीय सेना और सत्तारूढ़ नेताओं की आस्था में पिसती पत्रकारिता

भारतीय सेना के कार्यों का श्रेय लेने और महिमामंडन की चुनावी कोशिशों के बीच सेना की हास्यास्पद भूमिका की पोल खुल गई है। हालांकि, अखबारों ने इसे ऐसे प्रस्तुत नहीं किया है। सेना की निन्दा वैसे भी देशद्रोही करार दिए जाने का जोखिम लेना है। फिर भी दुनिया भर में इसकी चर्चा है। आपने भी …

सेना और सैनिक के शोर में शहीद होने और नामांकन रद्द होने की खबरें

वाराणसी से चुनाव लड़ने के लिए दाखिल बीएसएफ के बर्खास्त जवान का नामांकन रद्द कर दिए जाने की खबर मुझे कल शाम मिली। विस्तार जानने के लिए रात में मैंने टेलीविजन भी देख लिया। टेलीविजन पर तीन खबरें मुझे आज के अखबारों के लिहाज से पहले पन्ने की लगीं। मैं अपनी प्राथमिकता बताता हूं आप …

आज की दो खबरों से अपने अखबार को जानिए

“राहुल बोले, फाइलें जलने से आप नहीं बचने वाले मोदी जी” “बकवास है राहुल की नागरिकता पर सवाल” चुनाव का मौसम है और आज के अखबारों में कई चुनावी खबरें हैं। इनमें राहुल गांधी की नागरिकता पर सवाल उठाने की भरपूर बेशर्मी है और गृहमंत्रालय की हद दर्जे की नालायकी। पर सब खबरों के रूप …

हिन्दुस्तान टाइम्स की खबर ने दैनिक जागरण की पुरानी खबर की याद दिला दी

आज (30 अप्रैल 2019) के हिन्दुस्तान टाइम्स में पहले पन्ने पर सिंगल कॉलम में एक खबर है, जिसका शीर्षक हिन्दी में लिखा जाए तो कुछ इस तरह होगा, “मसूद अजहर को इस हफ्ते अंतरराष्ट्रीय आतंकी का दर्जा मिलने की उम्मीद।” वैसे तो यह उम्मीद ही है। मिल भी जाए तो आम पाठक के किस काम …

दो साल से दोहराया जा रहा फूहड़ दावा हिन्दुस्तान और नवोदय टाइम्स में पहले पन्ने पर

आज हिन्दुस्तान अखबार के पहले पन्ने पर दो कॉलम में एक खबर है, “शाह ने कहा, सर्जिकल स्ट्राइक से विपक्ष परेशान”। ऐसा ही एक शीर्षक नवोदय टाइम्स में प्रकाशित खबर का है। इसके मुताबिक, “पाकिस्तान से अगर गोली आई तो यहां से गोला जाएगा”। आज की अन्य खबरों के आलोक में इन दो खबर की …

ईवीएम पर भाजपा के चुनाव निशान के नीचे बीजेपी लिखे होने की शिकायत

ईवीएम हैक किए जाने, ठीक काम नहीं करने और किसी को भी वोट देने पर भाजपा को जाने जैसी शिकायतों के बाद खबर आई थी कि ईवीएम की गड़बड़ी की शिकायत करने वाले मतदाताओं को कानून का डर दिखाने और फिर भी शिकायत पर टिके रहने पर जांच में शिकायत गलत जाने पर गिरफ्तार कर …

मोदी जी की आय : बाकी अखबारों में खबर गोल, भास्कर के शीर्षक में झोल

आज (शनिवार, 27 अप्रैल 2019) ) के दैनिक भास्कर की लीड है – मोदी का बैंक बैलेंस 26 लाख रुपए से चार हजार रुपए हुआ, एफडी 32 लाख से बढ़कर 1.27 करोड़ रुपए हुए। इस शीर्षक को पढ़कर ग्यारहवीं में पढ़ने वाली मेरी बेटी ने पूछा कि बैंक बैलेंस इतना कम कैसे हो गया। उसके …

आज दो एक्सक्लूसिव खबरें – पहले हिन्दुस्तान टाइम्स और फिर द टेलीग्राफ की

अभिव्यक्ति की आजादी और असली-नकली गालीबाजों को मंच-माइक-स्टूडियो मुहैया कराना! आज हिन्दुस्तान टाइम्स में पहले पन्ने से पहले के अधपन्ने पर सबसे नीचे एक छोटी सी खबर है। तीन लाइन के शीर्षक और नौ लाइन की यह खबर दरअसल अंदर विस्तृत खबर होने की सूचना है। पर पहले पन्ने की खबर का शीर्षक हिन्दी में …

पीएम का हेलीकॉप्टर सर्च करने वाले आईएएस अफसर के निलंबन खत्म होने की खबर अखबारों ने गोल कर दी!

वीआईपी किसी भी चीज या सब चीज के योग्य नहीं है – ये कौन बताए क्या आप जानते हैं कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हेलीकॉप्टर की जांच करने के आरोप में निलंबित आईएएस अधिकारी का निलंबन खत्म कर दिया गया है और चुनाव आयोग ने उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की सिफारिश की है। यह खबर …

शिकायत करने वाले पर ही कार्रवाई होने के डर से पूर्व डीजीपी ने ईवीएम की आंखों देखी गड़बड़ी की शिकायत ही नहीं की!

पूर्व डीजीपी ने नहीं की ईवीएम की शिकायत… प्रज्ञा ठाकुर के मामले में एनआईए की खिंचाई खबर नहीं है! आज के टाइम्स ऑफ इंडिया में पहले पन्ने पर खबर है, “जेल जाने के डर से वीवीपैट पर सही वोट नहीं दिखने की शिकायत नहीं की – पूर्व डीजीपी”। यह असम की राजधानी गुवाहाटी की खबर …

प्रधानमंत्री के मुकाबले राहुल गांधी कैसे?

हमारे देश में प्रधानमंत्री का चुनाव नहीं होता है। आम जनता संसद के निचले सदन लोक सभा के लिए सदस्यों का चुनाव करती है और चुने गए सदस्यों में सबसे बड़े दल का नेता प्रधानमंत्री होता है। अगर किसी एक दल को बहुमत न मिले तो भिन्न दलों का समूह अपना नेता चुनता है वही …

बिलकिस बानो के दोषियों के धर्म की बात नहीं की अखबारों ने

ईवीएम की गड़बड़ी और शिकायत से संबंधित नियम 49एमए जानने लायक है सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को गुजरात सरकार को आदेश दिया कि वह बिलकिस बानो को 50 लाख रुपये मुआवजा, नौकरी व घर मुहैया कराए। बिलकिस 2002 के गुजरात दंगों के दौरान सामूहिक दुष्कर्म की शिकार हुई थीं। मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता …