क्लब हाउस आडियो पर साक्षी जोशी का क्या कहना है, पढ़िए

Sakshi joshi- प्रशांत किशोर ने नहीं कहा था मोदी की सरकार बनेगी। गोदी मीडिया का झूठ सफ़ेद झूठ मत मानना। ये सिर्फ मोदी की सरकार बनाने के लिए गुलामों की तरह काम कर रहे हैं। चाहे सत्य की आहुति ही क्यों न deni पड़े।

जीत गए उमाकांत लखेड़ा! देखें पूरी लिस्ट

अरविंद कुमार सिंह- प्रेस क्लब आफ इंडिया के चुनाव में मित्र उमाकांत लखेड़ा की जीत हिंदी पत्रकारिता में बेहतरीन काम करने वालों की सभी भाषाओं में स्वीकार्यता का एक अहम संकेतक भी है। एक बेहतरीन इंसान होने के साथ लखेड़ा जी जुझारू हैं और नाइंसाफी के खिलाफ खड़े होते हैं।

ये महिला पत्रकार शामिल हो ग़ई आम आदमी पार्टी में

संजय सिंह- कई प्रमुख टीवी चैनलों में काम कर चुकी वरिष्ठ पत्रकार भारती नागपाल जी आज आम आदमी पार्टी परिवार में शामिल हुईं। गरीबों और वंचितों के अधिकारों की लड़ाई के आंदोलन में आपका स्वागत है।

स्पा वाली लड़की को ही ब्लैकमेल करने लगा ये रिपोर्टर!

गाजियाबाद के लिंक रोड थाने में ब्लैक मेलिंग व महिला के साथ छेड़छाड़ मामले में तथाकथित पत्रकार के खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर।

दिव्य भास्कर ने तो ग़ज़ब कर दिया! बधाई इस प्रयोग और साहस के लिए!!

ऐसे प्रयोग कभी कभी देखने को मिलते हैं। दिव्य भास्कर के जिस भी सम्पादक ने ये साहस किया है, वह बधाई का पात्र है।

क्लब हाउस कांड : लीक होने जैसी बात करना मूर्खता है!

अशोक कुमार पांडेय- क्लबहाउस के बारे में कम जानते हैं शायद लोग। आई फ़ोन यूज़र्स के लिए एक ऐप है यह जहाँ लिख के नहीं, बोल के बातचीत होती है। अभी वहाँ एंट्री भी तभी है जब आपको कोई इन्वाइट करे। मुझे मित्र और फ़िल्म कलाकार दानिश हुसैन ने जोड़ा था।

कोरोना से ताबड़तोड़ मर रहे मीडियाकर्मी

कौशाम्बी : आज तक के पत्रकार शिवनंदन शाहू का हुआ निधन। सांस लेने में दिक्कत के चलते अस्पताल में कराया गया था भर्ती। प्रयागराज के एसआरएन में हुई मौत।

मेरठ, बरेली समेत कई जगहों के अमर उजाला के संपादक बदले

अमर उजाला में कई संपादकों के तबादले हुए हैं। राजेन्द्र सिंह को अमर उजाला मेरठ का संपादक बनाया गया है। वे अभी तक लखनऊ स्टेट ब्यूरो में कार्यरत थे।

क्लब हाउस : खेल पलट गया है!

जे. सुशील- क्लबहाउस में पत्रकारों और प्रशांत किशोर की बातचीत के बारे में जानकारी जुटाने के बाद इस पूरे प्रकरण को ऐसे देखिए कि दिल्ली का पत्रकार काम कैसे करता है. वो चुनाव कवर करने जाता है तो पहले मैनेजरों से जांच टटोल लेता है. पहले ये काम दफ्तर में बैठ कर होता था और …

वीडियो वायरल करने के नाम पर ब्लैकमेलिंग का धंधा जोरों पर, एक ने ख़ुदकुशी कर ली

संजय कुमार सिंह- इंडियन एक्सप्रेस में आज पहले पन्ने पर एक खबर है जो बताती है कि आजकल कैसे-कैसे अपराध हो रहे हैं। इनपर मीडिया की नजर नहीं है, सो अलग। पुलिस तो मास्क नहीं लगाने वालों से जुर्माना वसूलने में लगा दी गई है। यह अलग बात है कि सोशल मीडिया पर कुछ लोगों …

उदय सिन्हा की याद (पार्ट एक)

यशवंत सिंह- आज उदय सिन्हा जी के गुज़रे एक साल हो गए। पिछले बरस आज के ही दिन भयानक लॉकडाउन की गड़बड़ियों-हड़बड़ियों के समय में वे चल बसे थे। उनका पुत्र नोएडा में फँसा हुआ था। बहुत कोशिशों के बाद लखनऊ जाने का पास बना। फिर कार मैनेज करने में काफ़ी मशक़्क़त हुई। जब बालक …

भास्कर के मालिकों को पत्र- न हटा रहे न रख रहे न ही ग्रेच्युटी दे रहे!

श्री सुधीर अग्रवाल जी, श्री गिरीश अग्रवाल जी, श्री पवन अग्रवाल जी, आपको अवगत कराना है कि आपके मानव संसाधन विभाग के काबिल अफसरों ने न तो मुझे आज दिनांक तक सेवा में वापस लिया है और न ही पूर्णतः सेवा मुक्त किया है।

दीपक अरोड़ा ने जनता टीवी को अलविदा कह थामा इंडिया न्यूज ग्रुप का हाथ

दीपक अरोड़ा करीब पांच वर्ष से जनता टीवी में मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) के रूप में काम कर रहे थे। उन्होंने अब इस्तीफ़ा दे दिया है।

Film दि ग्रेट इंडियन किचेन : एक औरत की किचेन के इर्द गिर्द सिमटी ज़िंदगी का दस्तावेज

जया निगम- दि ग्रेट इंडियन किचेन फिल्म कल प्राइम पर देखी. इसे देखना और सोचना लगातार चलता रहा. ये फिल्म कब एक नये शादीशुदा जोड़े की जिंदगी और उनके किचेन से निकल कर, हमारे अपने घर, हमारी अपनी जिदगियों में पहुंच जाती है, पता ही नहीं चलता.

उमाकांत लखेड़ा को प्रेस क्लब आफ इंडिया के प्रेसीडेंट पद के लिए क्यों वोट देना चाहिए?

दीपक शर्मा- दक्षिण भारत की इतनी सटीक जानकारी तो नहीं लेकिन उत्तर भारत में जितना भ्रष्टाचार उत्तराखंड जैसे छोटे राज्य में है शायद ही कहीं और होगा ? सीबीआई, विजिलेंस और अदालतों के निर्देश पर जितनी जांचे बीते कुछ बरसों में यहाँ मुख्यमंत्री कार्यालय (CMO) की हुई हैं वे खुद में चौंकाने वाली है ! …

मुख़्तार द्वारा फोटोग्राफरों के जरिए भेजे गए संदेश को सुनने के बाद संपादकों की हिम्मत नहीं हुई वो तस्वीर छापने की!

दिनेश पाठक- सजायाफ़्ता क़ैदी मुख़्तार जब इलाज के बहाने KGMU गए और फिर DGP आफ़िस पहुँचकर ढाई सौ पुलिसवालों के तबादले की लिस्ट थमा दी! राजनीति के अपराधीकरण पर वार करने का सही समय, अन्यथा अनेक मुख़्तार तैयार मिलेंगे… आख़िरकार मुख़्तार अंसारी के उत्तर प्रदेश आगमन का रास्ता साफ़ हो गया| उम्मीद की जानी चाहिए …

मोदी राज में एक और ‘evm कांड’ : 90 वोटरों वाले बूथ पर पड़ गए कुल 171 वोट!

श्याम सिंह रावत- जो लोग ईवीएम को बूथ लूटने का इलाज बताते हैं उन्हें असम से आई इस खबर से जरूर आघात लगा होगा। सिर्फ 90 मतदाताओं वाले बूथ में 171 वोट यानी लगभग दोगुने पड़ गये।

योगी सरकार NSA लगाने में दिमाग़ का इस्तेमाल नहीं करती!

कृष्णकांत- इंडियन एक्सप्रेस ने एक दिलचस्प खबर छापी है जो यूपी सरकार के अंग्रेज बहादुर हो जाने का पुख्ता प्रमाण पेश करती है. जनवरी 2018 से लेकर दिसंबर 2020 तक यूपी सरकार ने 120 मामलों में नेशनल सिक्योरिटी एक्ट यानी एनएसए लगाया. इनमें 94 पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने एनएसए लगाने के आदेश को …

योगी गाली कांड पर एडिटर्स गिल्ड की औक़ात नहीं एक शब्द बोलने की!

धर्मवीर- नीधे के दो चित्र देखिए । ध्यान से पढ़िए । ANI के पत्रकार को राहुल गांधी ने Pliable अर्थात् लचीला कह दिया था। ना जाने क्या क्या आरोप लगाते हुए स्मिता आंटी और एडिटर्स गिल्ड ओफ़ इंडिया ने पेज़ रंग डाले थे ।

क्या ani और abp ganga पर मुक़दमा दर्ज करेंगे योगी सरकार के सलाहकार?

श्याम सिंह रावत- दबंगई और झूठ का कब तक न होता खुलासा… क्याANI और ABP न्यूज ने आदित्यनाथ के खिलाफ मिल कर साज़िश रची थी? क्या ANI ने ‘वीडियो एडिट’ किया और ‘ABP गंगा’ ने उसको सीधे प्रसारित कर दिया?

दीपक चौरसिया को सूर्य प्रताप सिंह ने ‘छम्मकछल्लो’ कह दिया!

दीपांकर पटेल- नेता लोग फाइनली पत्रकारों को यही समझते हैं- “चूतिया”. ANI के रिपोर्टर को लाइव एक मुख्यमंत्री चूतिया कहता है.लेकिन ANI के लोग नेता से माफ़ी की उम्मीद भी नहीं रखते ऊपर से चुप्पी साध लेते हैं. मुख्यमंत्री का पैर छूकर पत्रकारिता करने वाले संस्थानों की इतनी ही इज्ज़त मिलनी भी थी.

मुख़्तार पर नकेल कसने वाले पूर्व अफ़सर ने योगी से मिलकर मुक़दमा वापसी पर जताया आभार

शैलेंद्र प्रताप सिंह- अभी अभी मा. मुख्यमंत्री पूज्यनीय योगी जी से मिलकर निकला। अपने परिवार की तरफ से आभार व्यक्त किया।साथ ही मेरे साथ वाराणसी के मुकदमे में अन्य सभी के विरुद्ध चल रहे अभियोग को भी वापस करने का निवेदन किया, जिसे उन्होने तत्काल वापस लेने का निर्देश दिया।

दैनिक भास्कर वाले कमबख़्तों की हिंग्लिश भी फ़ज़ीहत!

अजित वडरनेकर- ◆कमबख़्तों की हिंग्लिश भी फ़ज़ीहत◆हिन्दी ने तो कब का साथ छोड़ा ∆हिंग्लिश लिखवाने का दबाव इतना है कि गलत-सलत कुछ भी लिख दो, सम्पादक जी ख़ुश। क्योंकि हिन्दी कौन पढ़ता है। हिंग्लिश चलाओ। चाहे पेडेस्ट्रिअन (पैदल चलने वाले) की पीठ पर सिंधिया की प्रतिमा जड़ दी जाए।

फ़्रांस के अख़बार चिल्ला रहे हैं लेकिन मोदीजी में हिम्मत नहीं कि भारतीय दलाल का नाम खोल सकें!

गिरीश मालवीय- राफ़ेल दलाल का नाम सुषेण गुप्ता है! रॉफेल के मामले में मोदी सरकार का झूठ पकड़ा गया है। फ़्रांस की वेबसाइट मीडियापार्ट ने रविवार को ‘राफेल पेपर्स’ नाम की रिपोर्ट जारी की है जिसमें राफेल सौदे को लेकर कई और खुलासे किए। इस रिपोर्ट में बेहद स्पष्ट रूप से कहा गया कि राफेल …

iimc वाले पढ़ाई कराए जाने के लिए आंदोलन कर रहे हैं!

दीपांकर पटेल- IIMC तो आंदोलन की भूमि बन चुका है, यहां हर साल आंदोलन होते ही हैं, और हर आंदोलन वाजिब मुद्दों के लिए होते हैं. छात्रों ने पूरी कोर्स फीस पूरी भरी, लाखों में भरी, इस कोर्स फीस में गेस्ट फैकल्टी के आने जाने का हवाई खर्च भी शामिल होता है, ना गेस्ट फैकल्टी …

हेमंत शर्मा समझा रहे ‘चूतिया’ शब्द के पीछे छिपे असली दर्शन को!

हेमंत शर्मा- ‘चूतिया’ शब्द से पिण्ड नहीं छूट रहा है। कल से सोशल मीडिया की दीवारों से लेकर चाय-पान की गुमटियों तक बस इसी ‘चूतियापे’ की चर्चा है। किसने किसको कहा? क्यों कहा? इस बहस में नहीं पड़ना चाहता। पर सत्य यही है कि इस बहुआयामी शब्द पर जमकर कोहराम मचा हुआ है। विद्वानों में …

यूपी के मीडिया वालों को इन तारीख़ों को लगेगा कोरोना टीका

लखनऊ : प्रदेश के मीडिया कर्मियों को आठ और नौ अप्रैल को कोरोना टीका लगाए जाने के लिए आदेश निर्गत किया गया है। 45 साल से ऊपर के मीडिया कर्मियों को ये टीका इन तारीख़ों को लगाए जाने के लिए प्रेरित करने की बात इस आदेश में उल्लखित है।

पत्रकार संजय शर्मा के पीछे पड़ी STF!

Amitabh Thakur- इस लिए नहीं बनाया गया था STF ! 4PM Editor Sanjay sharma के ये आरोप अत्यंत गंभीर व सरकारी ताकत का खुले दुरूपयोग दिखते हैं. मामला 10 दिन पुराना, STF के बड़े अफसर से जुड़ा बताया गया है.

वरिष्ठ पत्रकार जुगनू शारदेय बेबस हैं!

चंचल- लिखने में अच्छा नही लग रहा है, पर मजबूरी है। जिनके बारे में लिख रहा हूँ उन्हें तो शायद एवज में गाली देने तक बुरा लगेगा। जानता हूँ उस शख्स को। उसका नाम है जुगनू शारदेय।

अमिताभ बच्चन एहसान फ़रामोश है!

गोलेश स्वामी- कहते हैं न सच्चा प्यार, प्यार ही होता है। वो छुपता नहीं। खासकर आज प्रसिद्ध फिल्म अभिनेत्री रेखा का अमिताभ बच्चन से प्यार। जया भादुड़ी लाख चाहें,लेकिन रेखा के जज्बात को छुपा नहीं सकते। आज के इंडियल आयल के एपिसोड में रेखा ने अमिताभ के प्रति अपने प्यार का सरेआम इजहार किया।

अवनीश अवस्थी पर सवाल उठाते ही अमिताभ ठाकुर से सुरक्षा छीन ली गई!

अमिताभ ठाकुर- अभी-अभी ज्ञात हुआ कि केंद्र सरकार के निर्देशों पर UPGovt द्वारा दिसंबर 2016 से मुझे प्रदत्त सुरक्षा कल 01/04 रात्रि को यकबयक @CPLucknow @lucknowpolice के आदेशों से हटा दिया गया. बताया गया कि “ऊपर” से आदेश था- “संवेदनशील मामला है, तत्काल सुरक्षा हटाई जाये”.

‘पहल’ मैगजीन के अंत का ऐलान

ईशमधु तलवार- ज्ञानरंजन जी का अभी-अभी फोन आया। बताया कि “पहल” का आने वाला 125 वां अंक, आखिरी अंक होगा! सुनकर अच्छा नहीं लगा, लेकिन क्या करें! हिंदी साहित्य की इस प्रतिष्ठित पत्रिका का इस तरह अवसान होना मन को दुखी कर गया। ज्ञानजी ने बताया कि संसाधनों की भी दिक्कत नहीं थी, लेकिन स्वास्थ्य …

फ़िल्म पत्रकार मोहन अय्यर की कोरोना से मौत

शशिकांत सिंह- मुंबई : लोगों को चकाचौंध कर देने वाली मायानगरी मुंबई में फिल्म जगत के जाने-माने पत्रकार और पीआरओ मोहन अय्यर का सोमवार शाम को निधन हो गया।

लखनऊ में कोविड जांच में पॉज़िटिव पाए गए पत्रकारों की सूची इस प्रकार है

नवेद शिकोह- पत्रकार झेल रहे हैं, और अब कोरोना के ख़तरों में पंचायत चुनाव ! पहले से भी खतरनाक सूरत में कोरोना रिटर्न हो चुका है। करीब आठ सौ लोगों की सहभागिता वाला उ.प्र.राज्य मुख्यालय संवाददाता समिति का चुनाव करवाकर पत्रकार झेल रहे हैं। पछता रहे हैं कि जब कोरोना ने दुबारा दस्तक दे दी …

अपने वेतन से दस हज़ार गुना अवैध कमाई करने वाले सब इंस्पेक्टर की कहानी पढ़िए

दीपक शर्मा- सचिन वाझे के बॉस… क्राइम ब्रांच मुंबई के इंस्पेक्टर असलम मोमिन से मिलकर, मैं ज्यूँ ही थाने के बाहर निकला कि वाझे टकरा गए। सादे कपड़ों में दुबले पतले सचिन वाझे को करीब से देखकर यकीन नहीं हुआ कि ये आदमी, दाऊद इब्राहिम के तीन दर्ज़न शूटरों को मौत के घाट उतार सकता …

एक वक्त कानपुर में अमर उजाला का मतलब ही कमलेश दीक्षित था!

शम्भूनाथ शुक्ला- कमलेश दीक्षित अमर उजाला कानपुर के जीएम थे, 2002 में जब मैं वहाँ स्थानीय संपादक बन कर पहुँचा। मेरे जॉइन करते ही वे बोले कि शुक्ला जी आप मुझसे दो वर्ष छोटे हैं। इसलिए मैं आपका बड़ा भाई हूँ। दूसरे गाँव के रिश्ते से आप मेरे मामा के बेटे हैं अतः मैं आपका …

अमित शाह और शरद पवार की मीटिंग में क्या ‘पका’?

Pankaj Chaturvedi- ‘खेला’ महाराष्ट्र का, देशमुख पर चुप्पी और पर्दे के पीछे…. परसों रात शरद पवार जयपुर एक निजी समारोह में शामिल होने आये, वे निजी विमान से थे — फिर उनका जहाज रात बारह बजे अहमदाबाद हवाई अड्डे पर उतरा, वहां पर पूर्व उड्डयन मंत्री प्रफुल्ल पटेल पहले से थे — दो गाड़ियों में …

इस वेब सीरीज को देखने के बाद ओशो और उनके दर्शन के प्रति नज़रिया ही बदल गया!

अश्विनी कुमार श्रीवास्तव- नेटफ्लिक्स पर कुछ अच्छा देखना हो तो रजनीश यानी ओशो पर बनी वाइल्ड वाइल्ड कंट्री नाम से बनी डॉक्यूमेंट्री सीरीज जरूर देखें। इसे जब मैंने देखा था तो बहुत कुछ ऐसा मुझे पता चला , जिसके कारण ओशो और उनके दर्शन को सुनने समझने का मेरा नजरिया ही बदल गया।

गृहमंत्री पर आरोपों के बाद कोई सौदेबाज़ी चल रही है!

संजय कुमार सिंह- दया, कुछ तो गड़बड़ है! आज के अखबारों में दो दिलचस्प खबरें हैं। एक तो मुंबई में अंटालिया के बाहर बम रखने की घटना से संबंधित कुछ बरामदगी। दूसरी अमित शाह और शरद पवार की मुलाकात की खबरें। अमित शाह ने इससे इनकार नहीं किया और एनसीपी के प्रवक्ता नवाब मलिक ने …

गजरौला में दैनिक जागरण के पत्रकार पर पॉक्सो एक्ट का मुकदमा

उत्तर प्रदेश के जनपद अमरोहा के थाना गजरौला में प्रमुख हिंदी दैनिक समाचार पत्र दैनिक जागरण के पत्रकार व एजेंट पर पॉक्सो एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।

पीलीभीत में एनबीटी संवाददाता पर दबंगों ने किया प्राणघातक हमला

उत्तर प्रदेश के जनपद पीलीभीत में नवभारत टाइम्स के जिला संवाददाता असित शुक्ला व उनके परिवार पर दबंगों ने प्राणघातक हमला कर दिया। पुलिस ने मामले में रिपोर्ट दर्ज कर दो हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया है।

पत्रकार रेणु अगाल दुर्घटनाग्रस्त

श्याम मीरा सिंह- आप लोगों में से कई लोग रेणु अगाल को जानते होंगे. वो बीबीसी में सीनियर पत्रकार रही हैं और इस समय प्रिंट हिंदी की संपादक हैं.

मान्यता प्राप्त पत्रकार समिति के चुनाव जीते सदस्य प्रमोद श्रीवास्तव का निधन

संजय शर्मा- लखनऊ : सभी साथियों के लिए बहुत दुःख और सदमे की घड़ी है। उत्तर प्रदेश मुख्यालय मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति के नवनिर्वाचित कार्यकारिणी सदस्य प्रमोद श्रीवास्तव अब हमारे बीच नहीं रहे।

उप्र मान्यता प्राप्त समिति चुनाव में कौन क्यों हारा, बता रहे नवेद शिकोह

नवेद शिकोह- उ.प्र.राज्य मुख्यालय संवाददाता समिति चुनाव में विभिन्न पदों पर हारे टॉप टेन पोजीशन पर रहे रनरअप प्रत्याशियों की हार की समीक्षा-

प्रधानमंत्री झूठ बोलते हैं : रवीश कुमार

रवीश कुमार- तथ्यों को लेकर झूठ और ग़लत बोलने के रिकार्ड के चलते मोदी का उड़ा मज़ाक़ प्रधानमंत्री इतिहास को लेकर झूठ बोलते रहे हैं। ग़लत भी बोलते रहे हैं। आधा सच और आधा झूठ बोल कर उलझाते भी रहे हैं। अगर झूठ और ग़लत बोलने में उनकी सरकार को भी शामिल कर लें तो …

मायावती ने एक भ्रष्ट ज़िला जज को हाईकोर्ट का न्यायाधीश बनाने के लिए संदेशा भिजवाया था!

Markandey Katju- Appointing a Scheduled Caste person as a High Court judge When I was in the Collegium of the Allahabad High Court ( the body which recommends names for appointment of Judges of the High Court, and consists of the Chief Justice of the High Court and two senior most judges ), one day …

पीएम के लिए टेलीग्राफ ने ये क्या हेडिंग लगा दिया!

संजय कुमार सिंह- प्रधानमंत्री के भाषण पर आज के द टेलीग्राफ का शीर्षक है, “देखने में पीएम, बोलेने में सड़क छाप लड़के जैसा”।

दिल्ली के अस्पताल में पुलिस पर हमला बोल शूटर को छुड़ा ले गए बदमाश!

शीतल पी सिंह- गृहमंत्री जी बंगाल फतह करने में व्यस्त हैं और यह देश की राजधानी की कानून व्यवस्था का हाल है। वे बंगाल की स्त्रियों को सुरक्षा का आश्वासन बेच रहे हैं इस योग्यता पर!

टीवी9 वाले हेमंत शर्मा की होली महफ़िल की चंद तस्वीरें देखें

शम्भूनाथ शुक्ला- हेमंत की होली! पिछले साल की होली कोरोना की भेंट चढ़ गई थी। और होली बस ‘हो’ ही ली थी। लेकिन इस वर्ष होली का आग़ाज़ हो गया। कल रंगभरी एकादशी अपने मित्र श्री Hemant Sharma के नोएडा, सेक्टर 44 स्थित आवास पर पूरे जोशों-खरोश के साथ मनी।

अमिताभ ठाकुर ने घर के आगे ‘जबरिया रिटायर्ड आईपीएस’ का बोर्ड लगवाया

जबरन रिटायर किए जाने से दुखी होने के बजाय आईपीएस अमिताभ ठाकुर इसे एंजोय कर रहे हैं। ऐसा लग रहा जैसे वो खुद की मुक्ति के लिए प्रतीक्षारत थे।

ग़ज़ब! मोदीजी तो पाकिस्तान प्रेमी हो गए!! देखें ये पत्र

विजय शंकर सिंह- हमारे प्रधानमंत्री जी ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को, पाकिस्तान दिवस, जो 23 मार्च को हर साल मनाया जाता है, के अवसर पर अपनी शुभकामनाएं प्रेषित करते हुए एक पत्र भेजा है।

…और आज 4PM के संपादक संजय शर्मा पर टेढ़ी हो गई योगी पुलिस की निगाह!

यूपी में चुन चुन कर ऐसे लोगों को निशाना बनाया जा रहा है जो योगी सरकार के शासन-प्रशासन के ख़िलाफ़ सवाल उठाते हैं। कल सिस्टम की आँख में गड़ने वाले IPS अमिताभ ठाकुर को जबरन रिटायर किया गया और आज लखनऊ से प्रकाशित 4पीएम अख़बार के संपादक संजय शर्मा को योगी पुलिस ने लपेटे में …

हरामखोर न्यूज़ चैनल्स और दल्ले अख़बारों के पुत्तू संपादकों, जरा ये भी पढ़ लो!

गिरीश मालवीय- इन दिनों एंटीलिया केस को लेकर मीडिया बहुत उत्साह दिखा रहा है। बंगाल में बीजेपी के चुनाव लड़ने की खबरो के बाद यह टीवी पर दूसरा सबसे बड़ा मुद्दा है। सुबह- शाम एंकर्स इस मुद्दे को लेकर बैठ जाते हैं। बीजेपी के नेताओं की प्रेस कॉन्फ्रेंस लाइव दिखाई जाती है। इस केस का …

अमिताभ ठाकुर को जबरिया रिटायर किए जाने का पहले से आभास था, देखें ये पत्र

Amitabh Thakur- “जबरिया सेवानिवृति” के संबंध में 04 दिसंबर 2019 को सरकार को लिखे मेरे पत्र के कुछ अंश आज अत्यंत प्रासंगिक दिख रहे हैं.

पत्रकार और फ़िल्मकार विनोद कापड़ी की नई डाक्यूमेंट्री हॉटस्टार पर रिलीज़

यशवंत सिंह- लॉकडाउन के साल भर बीतने के मौक़े पर पलट कर वो मंज़र फ़ील करने के लिए बस दो ढाई घंटे निकालें और ये फ़िल्म ‘1232kms’ देख डालें। विनोद जी ने उन भयानक दिनों के दौरान घर में खुद को छिपा बचाकर सेफ़ रखने की बजाय सड़कों पर दौड़े, लगातार।

राजनीतिक टेस्ट रखने वालों के लिए एक अच्छी फ़िल्म आई है- मैडम चीफ़ मिनिस्टर!

अभिषेक प्रकाश- राजनीति कैसे परिवर्तन के दरवाज़े खोलती हुई अंत मे क्रूर सत्ता की कुंडी लगा देती है, उस तरह की कहानी है मैडम चीफ़ मिनिस्टर!

अमिताभ ठाकुर को सलाम करने का मन करता है!

चंचल- हर सियासी लिबास के अंदर ‘ एक नंगा ‘ नाचता है। आज ‘उत्तर प्रदेश’ ने, (अगर राजनीतिक घरानों की अलग अलग पुरवों में बंटी , पर सामूहिक बसावट को ही उत्तर प्रदेश समझा जाए तो) ने एक बदमाश , नटखट , अनुशासनहीन , उस पुलिस कर्मी से मुक्ति पा ली, जो अपनी रीढ़ के …

अमिताभ ठाकुर को भाजपा झेल नहीं पाई!

विजय शंकर सिंह- अमिताभ ठाकुर की जबरन सेवनृवित्ति…. यूपी सरकार ने अमिताभ ठाकुर को जबरन सेवा निवृत्त कर दिया। 50 साल की उम्र या 30 साल की सेवा पूरी करने के बाद, आमालनामे ( चरित्र पंजिका ) में हुयी प्रविष्टियों के आधार पर सरकार किसी को जबरन सेवानिवृत्त कर सकती है। अमिताभ ठाकुर के आमालनामे …

मान्यता प्राप्त समिति चुनाव : युवाओं के जोश के आगे गैंडा स्‍वामी जैसे मठाधीश भी हिल गये

अनिल सिंह- उत्‍तर प्रदेश राज्‍य मुख्‍यालय मान्‍यता समिति का चुनाव इस बार ऐतिहासिक रहा है। दो चुनाव कराने को आतुर तथाकथित वरिष्‍ठों के प्रयास को युवाओं ने दरकिनार कर दिया। वरिष्‍ठों की साजिशों को नकारते हुए उन्‍हें एक मंच पर आने को मजबूर किया, फिर अपनी भागीदारी सुनिश्‍चत की। नहीं तो आलम यह था कि …

अमर उजाला बर्बादी की ओर!

हर्ष कुमार- कभी सबसे बेहतरीन व्यवस्थाओं के लिए जाने जाते रहे अमर उजाला में इन दिनों तबाही मची हुई है। 22 साल पहले जब मैंने अमर उजाला ज्वाइन किया था तो बहुत गर्व महसूस होता था।

थानों और पुलिस की पोल खोलने के कारण जबरन रिटायर किए गए अमिताभ ठाकुर?

समीरात्मज मिश्रा- अमिताभ ठाकुर को सरकार ने वीआरएस दे दिया। कारण यह था कि वो सेवा के लिए उपयुक्त नहीं थे।

आईजी अमिताभ ठाकुर ने जबरन रिटायरमेंट क़ुबूल किया!

IPS अमिताभ ठाकुर ने जबरन रिटायरमेंट को लगभग क़ुबूल कर लिया है। उन्होंने फ़ेसबुक पोस्ट के ज़रिए जानकारी दी है कि उन्होंने पद भार छोड़ दिया है और सरकारी गाड़ी व गनर लौटा दिया है।

जबरन रिटायर कर दिए गए ips अमिताभ ठाकुर!

“अमिताभ ठाकुर को लोकहित में सेवा में बनाये रखे जाने के उपयुक्त न पाते हुए लोकहित में तात्कालिक प्रभाव से सेवा पूर्ण होने से पूर्व सेवानिवृत किये जाने का निर्णय लिया गया है.”

भास्कर में इन दिनों दो पत्रों को लेकर काफी हलचल है!

आदित्य द्विवेदी- दो पत्रों की है ये कहानी भास्कर में इन दिनों दो पत्रों को लेकर काफी हलचल है। पहला है सुधीर अग्रवाल का कर्मचारियों के नाम और दूसरा डिप्टी मैनेजर (लीगल) जितेंद्र सिंह का अग्रवाल बंधुओं के नाम। सुधीर बाबू ने अपने पत्र में कर्मियों से कहा है कि अपने बीच जो अखबारकर्मी वसूली …

कार्यकारिणी के लिए सबसे ज़्यादा वोट महिला छायाकार रितेश सिंह को मिले

लखनऊ : उत्तर प्रदेश राज्य मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति 2021 के चुनाव में श्री हेमन्त तिवारी को अध्यक्ष और श्री शिवशरण सिंह को सचिव चुना गया है।

आज पूरे दस साल हो गए तुम्हारे बिना प्रिय आलोक तोमर!

हरीश पाठक- मेरे हिस्से का अंधेरा…. आज पूरे दस साल हो गए तुम्हारे बिना प्रिय आलोक तोमर। इन दस सालों में एक बात जो बिलकुल नहीं बदली है तो वह है महाशोक का वह जटिल अंधियारा जो 20 मार्च की दोपहर से शुरू हो कर 21 मार्च की रात एक बजे तक मुझे यादों के …

Ips अफ़सर के ख़िलाफ़ खबर लिखने पर छत्तीसगढ़ के पत्रकार सुनील नामदेव गिरफ़्तार

ब्नेशनल चैनल आज तक के कभी छत्तीसगढ़ के रिपोर्टर रहे सुनील नामदेव को रायपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल में दाखिल कर दिया है। बताया जा रहा है कि सुनील पर ब्लैकमेल करने का आरोप लगा है।

हेमंत तिवारी अध्यक्ष बने और शिवशरण सिंह सचिव, देखें किसे कितने वोट मिले

लखनऊ : उत्तर प्रदेश मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति के चुनाव के नतीजे आ गए हैं। हेमंत तिवारी अध्यक्ष पद पर निर्वाचित हुए हैं। शिवशरण सिंह सचिव के पद पर जीते हैं।

संघियों ने iimc को बर्बाद कर दिया!

ऋषिकेश शर्मा- IIMC में जो मौजूदा स्थिति है वो जल्द ही यहां पढ़ने वाले छात्रों की मौलिक चेतना को गटक जाएगा। संघियों ने कैसे शैक्षणिक संस्थानों को बर्बाद करने का सोचा है उसका सबसे बेहतरीन उदाहरण इन दिनों IIMC है। फर्जी तरीके से एक अयोग्य व्यक्ति की डीजी के रूप में एंट्री होती है। फिर …

साइबर अपराधियों का नया माड्यूल : लड़की व्हाट्सएप कॉल रिसीव होते ही कपड़े उतारने लगती है!

विकास मिश्र- आधी रात कॉल आई…। व्हाट्सएप पर वीडियो कॉल..। कोई नंबर फ्लैश नहीं हो रहा था। इधर से फोन उठा लिया गया। उधर से एक लड़की प्रगट हुई। परिचय के साथ उसने कपड़े उतारने शुरू कर दिए। इधर जो फोन पर था, वो हतप्रभ था। उसने कुछ ही देर बाद कॉल काट दी। कॉल …

अमेजन ने अम्बानी को नाक रगड़ने पर मजबूर कर दिया!

अश्विनी कुमार श्रीवास्तव- अमेज़न चला रही अंबानी पर ‘सिस्टम‘ की तलवार, सरकार बेबस !! कोई भी व्यक्ति किसी और की बड़ी से बड़ी चीज को अगर खुद तबाह नहीं कर सकता तो एक छोटे से कागज और भारत के लचर सिस्टम का सहारा लेकर उसे तबाह होने पर मजबूर तो कर ही सकता है। बिल्कुल …

देखें कौन कौन है उप्र मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति के चुनाव मैदान में!

लखनऊ : उत्तर प्रदेश मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति के 21 मार्च 2021 को होने वाले चुनाव में निम्नलिखित लोगों ने नामांकन पत्र दाखिल किया है।

मंदिर में पानी पीने गए मुस्लिम बच्चे की पिटाई का video वायरल, आरोपी यादव गिरफ़्तार

मनोज खरे- शर्म से कहो हम हिंदू हैं… उत्तर भारत के तेजी से बीमार होते जा रहे हिंदीभाषी हिन्दू समाज का एक थर्मामीटर है यह वीडियो। मंदिर प्रांगण में लगे नल से पानी पी लेने के ‘अपराध’ पर अपनी उम्र से आधी उम्र के अल्पवय मुस्लिम बच्चे को क्रूरता से मारने वाले श्रृंगी यादव उर्फ …

हिंदी समाज की ऐसी प्रतिक्रिया अनामिका के व्यक्तित्व की हर तरफ स्वीकार्यता का द्योतक है!

उमेश चतुर्वेदी- अनामिका को लेकर हिंदी समाज में उत्साही हर्ष है..साहित्य अकादमी पुरस्कार से उन्हें सम्मानित किए जाने की घोषणा के बाद वादों-विचारों और खेमों में बुरी तरह विभक्त हिंदी समाज की ऐसी प्रतिक्रिया एक तरह से अनामिका के व्यक्तित्व की हर तरफ की स्वीकार्यता का द्योतक है..

यूट्यूबरों-वेबसाइटरों पर लगाम लगाने के लिए आ गया फ़रमान, पढ़ें पत्र

रवीश कुमार- यू ट्यूबर और अपनी वेबसाइट चलाने वालों पर लगाम लगाने की तैयारी… तैयारी तो हो चुकी है। सरकार ने आई टी एक्ट के तहत नए नियम बनाए हैं। इन नियमों के बारे में कहा जा रहा है कि आचार संहिता के नाम पर डिजिटल मीडिया का गला घोंटा जा रहा है।

अनामिका के यहाँ भी आपको अपनी ही दुनिया मिलेगी

रवीश कुमार- 2020 का साहित्य अकादमी पुरस्कार अनामिका को मिला है। कविता की श्रेणी में अनामिका हिन्दी की पहली स्त्री कवि हैं जिन्हें यह पुरस्कार मिला है। इसलिए भी गौरव की बात है। पुरस्कार किसी कवि की रचना संसार के लिए पूर्ण विराम नहीं होता है। एक घंटी होती है जो चारों तरफ़ बज जाती …

अनामिका : कविता, स्त्री, मुज़फ़्फ़रपुर और अवॉर्ड

अमरेंद्र राय- अनामिका जी को मैंने पढ़ा नहीं है पर बहुत बार सुना है कि वे बड़ी कवियत्री हैं। सबसे पहले मैंने उन्हें शायद टोटल टीवी पर देखा था। संवाददाता बड़ी कवित्री होने के नाते उनसे उनकी दिनचर्या को लेकर बात कर रहा था और जानना चाह रहा था कि क्या आप भी किचन में …

अनामिका जी में एक स्टाइल है!

दीपक कबीर- अनामिका जी मे एक स्टाइल है..वो जिसे हम “अदा” कहते हैं। इनका स्त्रीवाद ..तरक़्क़ीपसन्द खेमों के प्रगतिशील डिस्कोर्स को छूता हुआ भी उससे अलग है, ये कई भंगिमाओं, प्रतीकों या कार्यों को पितृसत्ता के दमन के रूप में न देखकर बल्कि कई बार उन्हें “स्त्रीत्व की विशेष उपलब्धि” के रूप में देख कर …

इस मराठी लेखक ने साहित्य अकादमी पुरस्कार लेने से मना कर दिया

अमितेश कुमार- “मैंने चार सालों से पुरस्कार लेना बंद कर दिया है। समाज ने मुझे बहुत कुछ दिया है। तो मुझे नहीं लगता कि मुझे और पुरस्कार लेना चाहिए। यह नितांत निजी कारण है और इसमें कोई राजनीति नहीं पढ़नी चाहिए।”

राजस्थान पत्रिका ने अपने प्रकाशन के 65 वर्ष पूरे कर लिये

राजेंद्र बोरा- राजस्थान पत्रिका का स्थापना दिवस… राजस्थान पत्रिका ने आज अपने प्रकाशन के 65 वर्ष पूरे कर लिये। यह कोई छोटा वक़्त नहीं है राजस्थान में किसी दैनिक अखबार के लिये। वैसे ‘पत्रिका’ से भी पुराने अखबार इस प्रदेश में अब भी अपनी पूरी हैसियत और रुतबे के साथ प्रकाशित हो रहे हैं और …

अनामिका में किसी के भी प्रति कटुता का भाव कभी नहीं पाया

ओम थानवी- अनामिका को साहित्य अकादेमी मिला। इस घोषणा का व्यापक स्वागत हुआ है। मुझे निजी ख़ुशी भी कम नहीं हुई है। उनकी कविताओं का ही नहीं, गद्य और आलोचना का भी प्रशंसक रहा हूँ। वे भीड़ से सदा अलग रही हैं।

त्रिवेंद्र को हटाने से लेकर तीरथ की ताजपोशी तक का पूरा घटनाक्रम बेहद शर्मनाक रहा!

योगेश भट्ट- जनादेश का मखौल, लोकतंत्र की हार… त्रिवेंद्र सिंह रावत की मुख्यमंत्री पद से विदाई के साथ ही उत्तराखंड के सियासी इतिहास में एक ‘काला अध्याय’ और दर्ज हो चुका है। समय इसका साक्षी बना कि किस तरह प्रचंड जनादेश के बावजूद उत्तराखंड एक बार फिर से सियासी अस्थिरता का शिकार हुआ। इस बार …

लखनऊ के लोकभवन का प्रेस रूम पत्रकारों के लिए बंद

राघवेंद्र प्रताप सिंह- आज से लोक भवन में पत्रकार प्रेस रूम पत्रकारों के लिए बंद, प्रेस रूम में सीएम कंट्रोल रूम फिर से हुआ स्थापित। कर्मचारी अरुण , रजनीश, को एनेक्सी में शिफ्ट किया गया। लोक भवन में अब पत्रकारों के बैठने की व्यवस्था समाप्त।

अनामिका यूँ ही नहीं बना जा सकता है!

अणु शक्ति सिंह- अनामिका यूँ ही नहीं बना जा सकता है। अनामिका जी का अनूठापन उनके विस्तृत अध्ययन में है। उनकी सौम्यता में है। उनके निश्छल प्रेम में है।

अनामिका जी के बोलने का अन्दाज़ मैं कभी भूल नहीं पाता!

रंगनाथ सिंह- फहमीदा रियाज और अनामिका दो ऐसी लेखक हैं जिनके बोलने का अंदाज मैं कभी नहीं भूल पाता। दोनों एक लय में बोलती हैं। सवाल चाहे जैसा हो, सिद्ध गायक की तरह वो अपनी लय साधकर ही जवाब अदायगी करती हैं। इनके लिए ही शायद अहमद फराज ने लिखा होगा-

अनामिका को साहित्य अकादमी सम्मान मिलने पर सोशल मीडिया संसार में महोत्सव का माहौल!

प्रियदर्शन- अनामिका को साहित्य अकादेमी सम्मान मिलने की घोषणा के साथ ही हिंदी के सोशल मीडिया संसार में जैसे जश्न शुरू हो गया है। मुझे याद नहीं आता, हिंदी में किसी पुरस्कार पर ऐसे सामूहिक उल्लास का माहौल पहले कब बना था। यह उनको हासिल व्यापक स्वीकृति और स्नेह का सूचक है। इसका श्रेय जितना …

हे हेमंत तिवारी, आपकी हर जीत पत्रकारिता की हार का सबब बनी है!

खुला खत श्री हेमंत तिवारी जी के नाम महोदय, आपको सदैव अग्रज कहकर संबोधित किया लेकिन आपने अग्रज-अनुज के पवित्र रिश्तों को भी तिजारत का हिस्सा बना दिया इसलिए इस संबोधन से परहेज किया है. आपने एक चुनाव एक समिति का पुरजोर समर्थन किया है. लिखा है कि दो चुनाव होने पर आप नहीं लड़ेंगे, …

प्रांशु मिश्रा को चुनाव से डर क्यों लगता है?

आदरणीय अजय जी लोकतंत्र में चुनाव एक प्रक्रिया है..मंजिल नहीं। वह साधन है..साध्य नहीं। मेरा स्पष्ट मत है कि मौजूदा वक्त पर उप्र मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति का यह चुनाव, जो आप करा रहे हैं..वह एक जिद्द है, एक मशीनी प्रक्रिया सी है..लोकतंत्र कतई नहीं..

‘रामचरितमानस’ को धर्मग्रंथ बनाने के नुक़सान!

वीरेंद्र यादव- एक खामख्याली यूं ही। मुझे लगता है कि तुलसी की उत्कृष्ट साहित्यिक काव्य रचना ‘रामचरितमानस’ को धर्मग्रंथ बनाने का एक बड़ा नुकसान हिंदी कथा साहित्य को इस तरह झेलना पड़ा कि जो जनता अपने खाली समय में किस्सा कहानी पढ़ती वह रामचरित मानस में उलझी रही कि रामकथा पढ़ने के साथ उसे पुण्य …

तो सपाइयों ने इसलिए किया अखिलेश के सामने पत्रकार पर हमला!

महेंद्र यादव- मुरादाबाद में जब अखिलेश यादव ने पत्रकारों से कहा कि कभी भाजपा से भी सवाल पूछ लिया करो, महंगाई के बारे में, रोजगार के बारे में, पत्रकारों पर हमले के बारे में, अपराधों के बारे में..

अपनी नई पारी के बारे में वरिष्ठ पत्रकार अरविंद कुमार सिंह ने क्या कहा, पढ़िए

अरविंद कुमार सिंह- आदरणीय मित्रों, भारतीय संसद में राज्य सभा में नेता प्रतिपक्ष श्री मल्लिकार्जुन खड़गे के मीडिया सलाहकार की भूमिका में मैने अपना कामकाज संभाल लिया है। कुछ मित्रों को यह खबर अपने स्रोतों से पता चल गयी थी और उन्होंने फेसबुक पर इसे डाल दिया था। लेकिन मेरा मानना था कि जब तक …

अखिलेश यादव के सामने network18 के पत्रकार से भयंकर बदसलूकी, देखें वीडियो

मुरादाबाद में सपा मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के सामने network18 के पत्रकार के साथ भयंकर बदसलूकी की गई। पूर्व मुख्यमंत्री के गार्डों-बाउंसरों ने पत्रकार पर हमला कर दिया। पत्रकार फरीद शम्सी को चोट आने की सूचना है।

हमारा मुख्यधारा का मीडिया ठीक से अनुमान भी नहीं लगा पाया!

सुशील उपाध्याय- गॉसिप ही खबर है! यह ठीक है कि मीडिया न तो ईश्वर है और न ही कोई नजूमी, जो हर बात को ठीक वैसा ही बता दे जैसा कि वह अपने मूल में है। वैसे, ऊपर कही गई बात के साथ एक समानांतर तथ्य यह है कि मीडिया की सच्ची और अच्छी ट्रेनिंग …

पत्रकारिता के क्षेत्र में वे हमारे रामकृष्ण परमहंस थे!

जयंत सिंह तोमर- प्रोफेसर कमल दीक्षित…. हम उनके स्वामी विवेकानंद तो नहीं थे, लेकिन पत्रकारिता के क्षेत्र में वे हमारे रामकृष्ण परमहंस जरूर थे. प्रोफेसर कमल दीक्षित का हमसे विदा होना पत्रकारिता की उस परंपरा के प्रतिनिधि से बिछड़ना है जो हमें ऋषितुल्य सम्पादक रामानंद चटर्जी से जोड़ती रही.

बिड़ला पुरस्कार का ग़ुरूर/कुलीनता तोड़ने के लिए कुछ किया जाना चाहिए!

कृष्ण कल्पित- जिस तरह जयपुर लिटरेचर फ़ेस्टिवल (JLF) का साहबी गुरूर तोड़ने के लिए प्रगतिशील लेखक संघ के लेखक साथियों ने समानांतर साहित्य उत्सव (PLF) का आविष्कार किया था (जो अब जन साहित्य उत्सव के नाम से जारी है), उसी तरह बिड़ला पुरस्कार का गुरूर/कुलीनता तोड़ने के लिए भी कुछ किया जाना चाहिए । राजस्थान …

किस व्यक्ति को बेनक़ाब करने की बात कह रहे हैं लखनऊ के पत्रकार मोहम्मद कामरान?

मोहम्मद कामरान- (लिख रहा हूँ मैं जो आज अपनी पत्रकार समिति के हाल,पढ़ लेना, आज नही तो कल इन्किलाब ज़रूर आयेगा) हर रोज अपनी ही बातो को बदलने लगें सरकार यहां,तमाशा है या फिर तानाशाह कोई बताए एक बार यहां।

बसों की ख़रीद के लिए रिश्वत माँगने वाला ये कौन भारतीय मंत्री है?

संजय कुमार सिंह- अब रिश्वत लेने-देने की खबर तब मानी जाएगी जब रसीदी टिकट के साथ रसीद होगी। वीडियो तो लोग ब्लैकमेल करने के लिए बना लेते हैं और जब मुख्यमंत्री सच बताते हैं तो शिकायत ही वापस ले ली जाती है।

उज्जवला योजना का सच – अखबारों ने नहीं बताया

संजय कुमार सिंह- सीईईडब्ल्यू के सर्वेक्षण से पता चला छह भारतीय राज्यों के शहरी झुग्गियों में रहने वाले परिवारों में आधे ही एलपीजी का एक्सक्लूसिव उपयोग करते हैं – ग्रामीणों की कल्पना कर लीजिए!

बड़े टीवी में मत जाओ, मोबाइल पर खबर देने वाला काम करो!

शेष नारायण सिंह- टीवी पत्रकारिता में ग़लतबयानी का रिकॉर्ड बन रहा है। अफसोस कि मैं भी उसमें शामिल हूं। कुछ और करना पड़ेगा। आज गांव में एक शुभचिंतक ने सलाह दी कि बड़े टीवी में मत जाओ, मोबाइल पर खबर देने वाला काम करो, वहां बहस सही होती है।

प्रेस क्लब कोटा के चुनाव अवैधानिक, जिला कलेक्टर को ज्ञापन दिया

कोटा । प्रेस क्लब कोटा की साधारण सभा में अवैधानिक रूप से गठित कार्यकारिणी को लेकर वरिष्ठ सदस्यों का रोष मुखर हो गया है। क्लब के दो भूतपूर्व अध्यक्षों सहित वरिष्ठ सदस्यों ने जिला कलेक्टर से मुलाकात कर उन्हें वस्तुस्थिति से अवगत कराया और नए सिरे से चुनाव करवाने की मांग का ज्ञापन दिया।

हराम

मोहम्मद अफ़ज़ल खान- यूरोप में जब प्रिंटिंग प्रेस का आविष्कार हुआ तो उसे हराम करार दे दिया गया। क्योंकि उससे पहले मुस्लिम उलेमा वज़ू करके कुरान व हदीस की किताबों को हाथों से लिखते थे। उलेमाओं का मानना था कि ये नापाक मशीन है जिस पर अल्लाह और रसूल का कलाम छापना हराम है लेकिन …

प्रो. कमल दीक्षित ने जीवन भर नैतिक मूल्यों पर आधारित पत्रकारिता की

भोपाल । वरिष्ठ पत्रकार और माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय के पूर्व विभागाध्यक्ष प्रोफेसर कमल दीक्षित का बुधवार शाम भोपाल में एक निजी अस्पताल में उपचार के दौरान निधन हो गया। आप डीएनएन के एसोसिएट एडिटर श्री गीत दीक्षित के पिता जी थे।

मेरे सिर से साया उठ गया : अवधेश बजाज

अवधेश बजाज हे गुरुदेव मैंने चौदह महीने पहले ही आपसे ये कहा था कि आपको कुछ नहीं होगा पर आप तो हार मान बैठे। मुझे आज ऐसा लग रहा है कि जैसे छह साल पहले मेरे पिता का साया मेरे सिर से उठा था वैसा ही साया आज उठ गया है।पत्रकारिता के संक्रमण काल में …

एमपी के वरिष्ठ पत्रकार कमल दीक्षित का निधन

नई दिल्ली, 10 मार्च। मध्य प्रदेश के वरिष्ठ पत्रकार एवं माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल के पत्रकारिता विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष प्रो. कमल दीक्षित का आज भोपाल में निधन हो गया। उनके निधन पर भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) के महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी ने गहरा दु:ख व्यक्त किया है। प्रो. द्विवेदी …

भास्कर का सिटी इंचार्ज जेल भेज दिया गया

दैनिक भास्कर चंडीगढ़ के सिटी इंचार्ज रहे संजीव महाजन और मनीष गुप्ता को कोर्ट ने मंगलवार को जुडिशल कस्टडी में जेल भेज दिया। सतपाल डागर नामक तीसरे गिरफ्तार आरोपी को कोर्ट ने दो दिन के पुलिस रिमांड पर दे दिया।

शोभना भरतिया को पत्र लिख कर कह दिया- मेरे नाम पर विचार न करें!

कृष्ण कल्पित- सेवा में,शोभना भरतियाअध्यक्षके के बिरला फॉउंडेशनCaxton houseMejanine floor2E, Jhandewalan extensionNew Delhi 110055 विषय : बिहारी पुरस्कार के बारे में

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने BJP को चौराहे पर नंगा कर दिया!

यूसुफ़ किरमानी- उत्तराखंड के मुख्यमंत्री #त्रिवेंद्रसिंहरावत का इस्तीफ़ा बताता है कि मोदी की भाजपा ने खुद को कांग्रेसी संस्कृति में ढाल लिया है।

इस नेता को बड्डे विश करने डीएम, एसपी, डीआईजी खुद चलकर आए!

अरविंद कुमार सिंह- आज़मगढ़ : ये जो तस्वीर दिख रही है. यह कोई सामान्य तस्वीर नहीं है. इस तस्वीर के अपने संकेत और संदेश हैं. जो सियासी से ज्यादा इंसानी नजरिये से देखने की जरूरत है. एक इंसान का जमीनी स्तर से शुरू राजनीतिक और सार्वजनिक जीवन उसे आसमान की किस ऊंचाई तक पहुँचा सकता …

कैग को कोमा में डाल दिया मोदी सरकार ने!

गिरीश मालवीय- न रहेगा बाँस न बजेगी बाँसुरीन रिपोर्ट देगा कैग, न लगेगे आरोप प्रत्यारोप जी हां !… एक वक्त था जब UPA का शासनकाल था ओर तब हर दिन में संसद में हंगामा हो जाया करता था क्योंकि कैग की रिपोर्ट से सरकार की चूले हिल जाती थी और एक आज का दिन है …

अज्ञेय को CIA का जासूस बताया गया तो मैं मुक्तिबोध की तरफ़ मुड़ गया!

Abhishek Srivastava- खुजली-मोचन वाया अज्ञेय…. Rangnath Singh की युवाओं को सलाह है कि कम से कम 25 साल की उम्र तक उन्हें जीवित लेखकों की किताब पढ़ने से परहेज करना चाहिए। मैं खुद को इससे घोर सहमत पाता हूँ। चूंकि बीते तीन दिनों से हिन्दी साहित्य के ऐक्टिविस्ट लोग अज्ञेय जी के खिलाफ ज़हर उगल …

मोदी की भाषा सतही है : रवीश कुमार

रवीश कुमार- मिथुन कोबरा हैं, किसान आतंकवादी हैं, दीदी की स्कूटी गिर जाएगी कोलकाता में प्रधानमंत्री मोदी ने ममता बनर्जी के बारे में कहा कि हम हर किसी का भला चाहते हैं, हम नहीं चाहते कि किसी को चोट लगे लेकिन लेकिन जब स्कूटी ने नंदीग्राम में गिरना तय किया है तो हम क्या करें।

हाई बीपी या शुगर से ग्रस्त पत्रकार बाक़ियों से पहले लगवा लें कोरोना टीका

दया शंकर शुक्ल सागर- साठ साल की उम्र होने का इंतजार किए बिना आखिर हमने भी कोविड की वैक्सीन लगवा ली. सरकार ने नियम बनाया है कि 45 के ऊपर वाले भी अगर वे हाईबीपी या शुगर के मरीज हैं तो उन्हें भी ये वैक्सीन लग सकती है. अब इस नामुराद जमाने ने इतने तनाव …

यूपी में बिजली विभाग की लूट का शिकार हुआ ये वरिष्ठ पत्रकार

अरुण दीक्षित- उत्तरप्रदेश की योगी सरकार किसानों को बिजली के बिलों के जरिए लूट रही है। विभाग के अफसरों ने किसानों को बिना बताए उनका लोड बढ़ा दिया है।जिस किसान ने साढ़े सात हॉर्स पावर का कनेक्शन लिया था उसे साढ़े बारह हॉर्स पावर का बिल दिया जा रहा है। बिजली विभाग के अफसर सुनने …

विधवा अध्यापिका की बद्दुआ ले डूबी UK CM त्रिवेंद्र रावत को!

धर्मवीर- आज जब वह अपना इस्तीफ़ा देकर PC कर रहे थे तो मुझे रह रहकर उत्तरा बहुगुणा नाम की यह विधवा टीचर याद आ रहीं थीं । ढाई वर्ष पहले का ही तो वाक़या है । यह विधवा टीचर अपने ट्रान्स्फ़र की रिक्वेस्ट को लेकर CM साहब से मिली थीं और CM साहब ने बड़े …

कोलकाता यात्रा पर pm के लिए ऐसी हेडिंग टेलीग्राफ ही लगा सकता है

संजय कुमार सिंह- प्रधानमंत्री जी, स्वागत है, पर आपने कुछ किया नहीं… प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों के सिलसिले में आज कोलकाता में रैली करने वाले हैं। इस मौके पर आज द टेलीग्राफ का पहला पन्ना। इससे पहले एबीपी लाइव डॉट कॉम की खबर का एक अंश भी देख लीजिए-

ग्वालियर से सिलीगुड़ी तक का मुश्किल सफ़र करने वाले वरिष्ठ पत्रकार राजेंद्र खण्डेलवाल नहीं रहे

देव श्रीमाली- राजेन्द्र खंडेलवाल नही रहे। ये खबर हमारे उसी काल के पत्रकार दोस्त संजय मजूमदार ने दी तो झटका सा लगा। कोरोना काल में वे अक्सर फोन करते रहते थे। कुछ समय से उनकी तबीयत नाशाद थी लेकिन दुरुस्त हो रही थी कि काल के क्रूर गाल ने उन्हें अपने में समाहित कर लिया।

जिसके पास पैसा है, वो नौकरी देना नहीं चाहता, जिसके पास नौकरी है, वो पैसा देना नहीं चाहता!

दीपक गोस्वामी- सबको अच्छी #पत्रकारिता चाहिए. अच्छे रिपोर्टर चाहिए. लेकिन, पिछले डेढ़-दो महीने में कई संस्थानों/संपादकों से नौकरी के लिए संपर्क कर चुका हूं. कोई भी नौकरी/पैसा देने तैयार नहीं है.